लोगो
यूनियनपीडिया
संचार
Google Play पर पाएं
नई! अपने एंड्रॉयड डिवाइस पर डाउनलोड यूनियनपीडिया!
डाउनलोड
ब्राउज़र की तुलना में तेजी से पहुँच!
 

हैदराबाद

सूची हैदराबाद

हैदराबाद (तेलुगु: హైదరాబాదు,उर्दू: حیدر آباد) भारत के राज्य तेलंगाना तथा आन्ध्र प्रदेश की संयुक्त राजधानी है, जो दक्कन के पठार पर मूसी नदी के किनारे स्थित है। प्राचीन काल के दस्तावेजों के अनुसार इसे भाग्यनगर के नाम से जाना जाता था। आज भी यह प्राचीन नाम अत्यन्त ही लोकप्रिय है। कहा जाता है कि किसी समय में इस ख़ूबसूरत शहर को क़ुतुबशाही परम्परा के पाँचवें शासक मुहम्मद कुली क़ुतुबशाह ने अपनी प्रेमिका भागमती को उपहार स्वरूप भेंट किया था, उस समय यह शहर भागनगर के नाम से जाना जाता था। भागनगर समय के साथ हैदराबाद के नाम से प्रसिद्ध हुआ। इसे 'निज़ामों का शहर' तथा 'मोतियों का शहर' भी कहा जाता है। यह भारत के सर्वाधिक विकसित नगरों में से एक है और भारत में सूचना प्रौधोगिकी एवं जैव प्रौद्यौगिकी का केन्द्र बनता जा रहा है। हुसैन सागर से विभाजित, हैदराबाद और सिकंदराबाद जुड़वां शहर हैं। हुसैन सागर का निर्माण सन १५६२ में इब्राहीम कुतुब शाह के शासन काल में हुआ था और यह एक मानव निर्मित झील है। चारमीनार, इस क्षेत्र में प्लेग महामारी के अंत की यादगार के तौर पर मुहम्मद कुली कुतुब शाह ने १५९१ में, शहर के बीचों बीच बनवाया था। गोलकुंडा के क़ुतुबशाही सुल्तानों द्वारा बसाया गया यह शहर ख़ूबसूरत इमारतों, निज़ामी शानो-शौक़त और लजीज खाने के कारण मशहूर है और भारत के मानचित्र पर एक प्रमुख पर्यटन स्थल के रूप में अपनी अलग अहमियत रखता है। निज़ामों के इस शहर में आज भी हिन्दू-मुस्लिम सांप्रदायिक सौहार्द्र से एक-दूसरे के साथ रहकर उनकी खुशियों में शरीक होते हैं। अपने उन्नत इतिहास, संस्कृति, उत्तर तथा दक्षिण भारत के स्थापत्य के मौलिक संगम, तथा अपनी बहुभाषी संस्कृति के लिये भौगोलिक तथा सांस्कृतिक दोनों रूपों में जाना जाता है। यह वह स्थान रहा है जहां हिन्दू और मुसलमान शांतिपूर्वक शताब्दियों से साथ साथ रह रहे हैं। निजामी ठाठ-बाट के इस शहर का मुख्य आकर्षण चारमीनार, हुसैन सागर झील, बिड़ला मंदिर, सालारजंग संग्रहालय आदि है, जो देश-विदेश इस शहर को एक अलग पहचान देते हैं। यह भारतीय महानगर बंगलौर से 574 किलोमीटर दक्षिण में, मुंबई से 750 किलोमीटर दक्षिण-पूर्व में तथा चेन्नई से 700 किलोमीटर उत्तर-पश्चिम में स्थित है। किसी समय नवाबी परम्परा के इस शहर में शाही हवेलियाँ और निज़ामों की संस्कृति के बीच हीरे जवाहरात का रंग उभर कर सामने आया तो कभी स्वादिष्ट नवाबी भोजन का स्वाद। इस शहर के ऐतिहासिक गोलकुंडा दुर्ग की प्रसिद्धि पार-द्वार तक पहुँची और इसे उत्तर भारत और दक्षिणांचल के बीच संवाद का अवसर सालाजार संग्रहालय तथा चारमीनार ने प्रदान किया है। वर्ष २०११ की जनगणना के अनुसार इस महानगर की जनसंख्या ६८ लाख से अधिक है। .

516 संबंधों: चन्दुलाल बारहदरी, चन्द्रबली पाण्डेय, चाँद रात, चारमीनार, चारमीनार एक्सप्रेस, चित्रशाला, चितौन, चौदहवीं लोकसभा, चूड़ी, चेन्नई, चेन्नई में यातायात, टाटा सामाजिक विज्ञान संस्थान, टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज, टकसाल, टॉमस आर्थर डी लैली, एचवाई टीवी, एन टी आर ट्रस्ट, एम॰ जे॰ अकबर, एयर कोस्टा, एलेन फोरस्ट जू, एशियाई बैडमिंटन प्रतियोगिता, एस आर शंकरन, एस॰एस॰ राजमौली, एक दिवसीय अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट के कीर्तिमानों की सूची, एक दिवसीय अंतरराष्ट्रीय के एक मैच में सबसे ज्यादा रन बनाने वालों की सूची, झिल्लू सिंह यादव, डाज्ज्ले स्पोर्ट्स वेर, डेविड वॉर्नर (क्रिकेटर), डेक्कन चार्जर्स, डॉ. रेड्डीज लेबोरेटरीज, डी एन ए अंगुली छापन, डीडी यादागिरी, तन्मय अग्रवाल, तबु, तलत अज़ीज़, ताण्डूर, ताराघर, तिपहिया साइकिल, तंदूरी पाककला, तुलजा भवानी मंदिर, उस्मानाबाद, तेरा इंतजार, तेलंगाना, तेलंगाना राष्ट्र समिति, तेलंगाना के जिले, तेजस्वी मादीवाड़ा, तीतर जैसी पूंछ वाला जल-कपोत, द टाइम्स ऑफ़ इण्डिया, द हिन्दू, दसलाखी नगर, दाराशा नौशेरवां वाडिया, ..., दवा कंपनियों की सूची, दक्षिण एशिया, दक्षिण एक्स्प्रेस, दक्षिण भारत, दक्षिण भारत हिन्दी प्रचार सभा, दक्षिण भारतीय व्यंजन, दक्षिणी कमान (भारत), दक्खिनी, दुरन्त एक्सप्रेस, दूरस्थ शिक्षा, देवी श्री प्रसाद, दीपक चाहर, दीया मिर्ज़ा, नथुराम विनायक गोडसे, नरेन्द्र प्रसाद सक्सेना, नानी (अभिनेता), नाभिकीय ईंधन सम्मिश्र, नारा चंद्रबाबू नायडू, नागपुर, नागा चैतन्य, नागार्जुनकोंडा, निर्मला श्योराण, निर्मला सीतारमन, निज़ाम-उल-मुल्क आसफजाह, निज़ामाबाद, नज़ीर अहमद देहलवी, नवाब मिर्ज़ा खान दाग़, नगमा, नंदमुरी कल्याण राम, न्यूज़ीलैंड क्रिकेट टीम का भारत दौरा 1955-56, न्यूज़ीलैंड क्रिकेट टीम का भारत दौरा 1999-00, नूर अंतर्राष्ट्रीय माइक्रोफिल्म केन्द्र, नीरा आर्य, नीरा आर्या, पद्मजा नायडू, परमाणु ऊर्जा शिक्षण संस्था, परमाणु ऊर्जा विभाग (भारत), परमाणु खनिज अन्वेषण एवं अनुसंधान निदेशालय, परिगि, परिकल्पना सम्मान, पायल रोहतगी, पार्क हयात हैदराबाद, पार्क होटल नई दिल्ली, पाकिस्तान क्रिकेट टीम का भारत दौरा 1986-87, पुणे, पुणे अन्तर्राष्ट्रीय विमानक्षेत्र, पुनर्नवी भूपलाम, पुरी जगन्नाध, पुलिस महानिदेशक, पुलिस अनुसंधान एवं विकास ब्यूरो, पुल्लेला गोपीचंद, प्रभास, प्रयुक्ति, प्राइसवॉटरहाउस कूपर्स, प्राकृतिक चिकित्सा का इतिहास, प्रजा राज्यम पार्टी, प्रजाशक्ति, प्रेमा माथुर, प्रो कबड्डी लीग, प्रोद्दटूरू, पीली-चोंच वाला बैबलर, पी॰ कश्यप, पी॰वी॰ सिंधु, फलकनुमा एक्स्प्रेस २७०४, फलकनुमा पैलेस, फहमीदा हुसैन, फ़िल्म नगर, फिलिप कोट्लर, फ्रांसीसी भारत, बड़वानी ज़िला, बड़े ग़ुलाम अली ख़ान, बशीराबाद, बाबरी मस्जिद, बाबा फकीर चंद, बाहुबली 2: द कॉन्क्लूज़न, बाहुबली: द बिगनिंग (2015), बांग्लादेश क्रिकेट टीम का भारत दौरा 2016-17, बाङ्ला भाषा, बिड़ला प्रौद्योगिकी एवं विज्ञान संस्थान, पिलानी, बिग एफएम (रेडियो), बुर्गुला रामकृष्ण राव, बुसी, ब्रह्मानन्दम, ब्रिटिश भारत में रियासतें, बेगमपेट विमानक्षेत्र, बोनालु, बोयापती श्रीनू, बोज्जा तारकं, बीडब्ल्युएफ विश्व प्रतियोगिताएँ, बीदरी, बीमा लोकपाल, बीमा विनियामक और विकास प्राधिकरण, भारत, भारत डायनेमिक्स लिमिटेड, भारत में ऊष्मा लहर २०१५, भारत में दशलक्ष-अधिक शहरी संकुलनों की सूची, भारत में पर्यटन, भारत में प्रकाशित होने वाले समाचार पत्रों की सूची, भारत में मस्जिदों की सूची, भारत में सर्वाधिक जनसंख्या वाले महानगरों की सूची, भारत में संचार, भारत में सैन्य अकादमियाँ, भारत में ज्वैलरी डिजाइन, भारत में विश्वविद्यालयों की सूची, भारत में इस्लाम, भारत में कार्यरत बैंकों की सूची, भारत इलैक्ट्रॉनिक्स लिमिटेड, भारत का भूगोल, भारत का राजनीतिक एकीकरण, भारत के दस लाख से अधिक जनसंख्या वाले नगर, भारत के प्रधान मंत्रियों की सूची, भारत के प्रशासनिक विभाग, भारत के प्रवेशद्वार, भारत के महानगरों की सूची, भारत के राष्ट्रीय राजमार्गों की सूची - संख्या अनुसार, भारत के राष्ट्रीय उद्यान, भारत के राज्य तथा केन्द्र-शासित प्रदेश, भारत के राज्यों और संघ क्षेत्रों की राजधानियाँ, भारत के शहरों की सूची, भारत के सर्वाधिक जनसंख्या वाले शहरों की सूची, भारत के सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रम, भारत के हवाई अड्डे, भारत के उच्च न्यायालयों की सूची, भारत की स्वास्थ्य समस्याएँ (2009), भारत की इंटरनेट प्रदाता कंपनियां, भारतीय थलसेना, भारतीय नेपाली, भारतीय पुलिस सेवा, भारतीय प्राणि सर्वेक्षण, भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान पटना, भारतीय भूवैज्ञानिक सर्वेक्षण, भारतीय मौसम विज्ञान विभाग, भारतीय मीडिया, भारतीय राष्ट्रीय फुटबॉल टीम, भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के अध्यक्षों की सूची, भारतीय रिज़र्व बैंक, भारतीय सिन्धी, भारतीय सिनेमा, भारतीय सिनेमा के सौ वर्ष, भारतीय सिविल सेवा, भारतीय सिक्के, भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण, भारतीय कदन्न अनुसनधान संस्थान, भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी, भारतीय क्रिकेट टीम, भारतीय क्रिकेट टीम का सीजन 2017, भारतीय क्रिकेट टीम के कीर्तिमानों की सूची, भार्गवी राव, भाई प्रताप दयालदास, भोपाल का इतिहास, मदार, मर्पल्लि, महात्मा आनन्द स्वामी, महानगरीय क्षेत्र, महावीर हरिण वनस्थली राष्ट्रीय उद्यान, महेश बाबु, माधव सदाशिव गोलवलकर, मानुषी छिल्लर, मार्कण्डेय, मासाब टैंक, मास्टर अमीर चंद, मासूमा बेगम, मिताली राज, मिश्र धातु निगम, मंजुला अनागनी, मंजू बंसल, मंजू क़मरैदुल्ल्ही, मक्का, मक्का मस्जिद, मक्का मस्जिद विस्फ़ोट, 2007, मुहम्मद क़ुली क़ुतुब शाह, मुख्तार अहमद अंसारी, मुंबई इंडियंस, मुकेश सिंह गहलोत, मौलाना आज़ाद राष्ट्रीय उर्दू विश्वविद्यालय, मृत्तिकाशिल्प, मृगवनी राष्ट्रीय उद्यान, मूसी नदी, मेड्चल, मेहदी ख्वाजा पीरी, मोयिनाबाद, मोहम्मद शहाबुद्दीन (राजनेता), मोहम्मद सिराज, मोहम्मद इरफान अली, मोहम्मद अजहरुद्दीन, मीठड़ी मारवाड़, याचारम, यामिनी रेड्डी, यवतमाल, रणजी ट्रॉफी 2016-17 ग्रुप ए, रणजी ट्रॉफी 2016-17 ग्रुप बी, रणजी ट्रॉफी ग्रुप ए 2017-18, रमेश बाबू, रशना भंडारी, राँची, राना दग्गुबाटि, राम पोथिनेनी, रामकृष्ण गोपाल भांडारकर, रामोजी फिल्म सिटी, रामोजी राव, राशी खन्ना, राष्ट्रपति निलयम, राष्ट्रीय फैशन टेक्नालॉजी संस्थान, राष्ट्रीय बाल श्री सम्मान, राष्ट्रीय भारतीय आयुर्विज्ञान संपदा संस्थान, राष्ट्रीय राजमार्ग (भारत), राष्ट्रीय राजमार्ग ४४ (भारत), राष्ट्रीय राजमार्ग ७, राष्ट्रीय सुदूर संवेदन केन्द्र, राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन के सदस्यों की सूची, राहुल द्रविड़, राजभवन (आन्ध्र प्रदेश), राजेश विवेक, राजीव गाँधी अंतर्राष्ट्रीय विमानक्षेत्र, राजीव गांधी अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम, रिचर्ड प्रसाद, रजनी वेणुगोपाल, रघु बाबू, रवि तेजा, रविंदर सिंह, रूपकुण्ड, रेडियो मिर्ची, रेडियो सिटी, रोहित खंडेलवाल, रोज़िड, लाल बहादुर शास्त्री स्टेडियम, लालजी सिंह, लाइव इंडिया, लिन डान, लखनऊ, लखनऊ की अर्थ व्यवस्था, लक्ष्मी कांठम, लेमन ट्री होटल्स, लेकर हम दीवाना दिल, शबाना आज़मी, शाबाद, शामी कबाब, शांतनु नारायण, शांता सिन्हा, शिव ब्रत लाल, शिवाय, श्रीपाद दामोदर सतवलेकर, श्रीलंका क्रिकेट टीम का भारत दौरा 1993-94, श्रीलंका क्रिकेट टीम का भारत दौरा 2014-15, श्रीशैलम्, श्रीकांत किदम्बी, शीर ख़ुर्मा, शीरमाल, सत्य नडेला, सत्यम कम्प्यूटर सर्विसेज़, सत्यात्म तीर्थ, सतीश आचार्य, सनराइजर्स हैदराबाद, सन्त कंवर राम, सबसे बड़े शहरों की सूची, सय्यद मुश्ताक अली ट्रॉफी, सय्यद अबिद अली, सय्यद अहमद क़ाद्री, सरला देवी चौधुरानी, सरोजिनी नायडू, सानिया मिर्ज़ा, सानिया मिर्ज़ा टेनिस अकादमी, सांस्‍कृतिक स्रोत एवं प्रशिक्षण केन्‍द्र, सांई धरम तेज, साइना नेहवाल, सिटी केबल, सिन्धु नदी, सिमी, सिंहाचलम मंदिर, विशाखापट्टनम, सिकंदराबाद जंक्शन, संध्या श्रीकांत विश्वेश्वरीया, संयुक्त विधि प्रवेश परीक्षा, सुदर्शन चक्र कॉर्प्स, सुधा कार संग्रहालय, सुष्मिता सेन, स्मिता सभरवाल, सेंटर फॉर डीएनए फिंगर‍प्रिंटिंग एण्‍ड डायग्‍नोस्टिक्‍स, हैदराबाद, सी-डैक, सीमा तोमर, सीरत कपूर, हमदर्द लैबोरेटरीज, हलीम, हिन्दुस्तान ऐरोनॉटिक्स लिमिटेड, हिन्दुस्तान मशीन टूल्स, हिन्दी, हिन्दी मिलाप, हिमायत सागर, हज़ार स्तम्भ मंदिर, हकिमपेट एयर फ़ोर्स स्टेशन, हुसैन सागर, हुसैनसागर एक्सप्रेस, हैदराबाद (पाकिस्तान), हैदराबाद (बहुविकल्पी), हैदराबाद डेकन रेलवे स्टेशन, हैदराबाद प्रांत, हैदराबाद मुक्ति संग्राम, हैदराबाद मेट्रो रेल, हैदराबाद विश्वविद्यालय, हैदराबाद की बुद्ध प्रतिमा, हैदराबाद उच्च न्यायालय, हैदराबादी बिरयानी, हेमलता लावानम, हीरो कप 1993-94, जमीला निशात, जय प्रकाश रेड्डी, जयाललिता, ज़ाकिर हुसैन (राजनीतिज्ञ), ज़िम्बाब्वे क्रिकेट टीम का भारत दौरा 2001-02, जवाहर नवोदय विद्यालय, ज्वाला गुट्टा, जूदी मस्जिद, जूनियर एनटिआर, जेट कनेक्ट, जेनपैक्ट, जॉनसन ग्रामर स्कूल, जॉनी व्हिस्की, जोधपुर, जोगिन्दर जसवन्त सिंह, जीनोम परियोजना, ईटीवी नेटवर्क, वल्लभ भाई पटेल, वानजा अय्यंगार, वाराणसी, वार्ता, वाई एस जगनमोहन रेड्डी, वाई एस आर कांग्रेस पार्टी, वाई॰ एस॰ राजशेखर रेड्डी, विधान सभा, विभिन्न उद्योगों का भारत में विकास, विश्‍वविद्यालय अनुदान आयोग (भारत), विजय हजारे ट्रॉफी ग्रुप डी 2018, विजया निर्मला, विकासपीडिया, वंडरला, व्यपगत का सिद्धान्त, वैज्ञानिक एवं औद्योगिक अनुसंधान परिषद, वेधशाला, वेन्नेला किशोर, वेस्ट इंडीज क्रिकेट टीम का भारत दौरा 2014-15, वी पी मेनोन, वी वी एस लक्ष्मण, वीणा पर्नाइक, खरगोन ज़िला, ख़ुबानी का मीठा, गनफ़ाउन्ड्री, गाँधी प्रौद्योगिकी एवं प्रबन्धन संस्थान, गिरीश कुमार संघी, गगन नारंग, गुरु दत्त, गुलबर्ग, गुलबर्ग किला, ग्रेन्युल्स इंडिया लिमिटेड, गौहर सुल्ताना, गोलमाल 3, गोलकोण्डा, ऑपरेशन पोलो, ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन, ऑस्ट्रेलिया क्रिकेट टीम का भारत दौरा 2007-08, ऑस्ट्रेलिया क्रिकेट टीम का भारत दौरा 2009-10, ऑस्ट्रेलिया क्रिकेट टीम का भारत दौरा 2017, ओड़िशा का इतिहास, आदिलाबाद, आधिकारिक आवास, आन्ध्र प्रदेश, आन्ध्र प्रदेश एक्सप्रेस, आन्ध्र प्रदेश के राज्यपालों की सूची, आयुर्वेद, आईगेट (IGATE), आंध्र प्रदेश के जिले, इच्छा-मृत्यु, इन्दिरा नाथ, इन्दिरा गांधी अन्तरराष्ट्रीय खेल स्टेडियम, हल्द्वानी, इलाहाबाद, इलेक्ट्रानिक्स कारपोरेशन आफ इंण्डिया लिमिटेड, इंडियन प्रीमियर लीग, इंडियन स्कूल ऑफ़ बिज़नेस, इंफोसिस, इंस्टिट्यूशन ऑव इंजीनियर्स (इंडिया), इंग्लैंड क्रिकेट टीम का भारत दौरा 1963-64, कन्हैयालाल माणिकलाल मुंशी, करणी माता मन्दिर, बीकानेर, करंज, करीमनगर जिला, कल्पना (मलयालम अभिनेत्री), कश्मीरा जोगळेकर, कासु ब्रह्मानन्द रेड्डी राष्ट्रीय उद्यान, कांथी सुरेश, किशनजी, किंगफिशर रेड, कंचन चौधरी भट्टाचार्या, कुर्नूल जिला, कुल्कचर्ल, क्यानन चेनई, क्रोमा, कृष्णा (अभिनेता), कृष्णा नदी, कैमरून व्हाइट, के शिवा रेड्डी, के के मुहम्मद, केन्द्रीय सरकार स्वास्थ्य योजना, केन्द्रीय हिन्दी निदेशालय, केन्द्रीय हिन्दी संस्थान, केन्द्रीय उपकरण अभिकल्पन संस्थान, के॰ चंद्रशेखर राव, कॉल्विन तालुकेदार्स कालेज, कॉग्निजेंट (Cognizant), कोमाराम भीम, कोलकाता पुल हादसा, कोशिकीय एवं आणविक जीवविज्ञान केन्द्र, कोका कोला त्रिकोणी सीरीज 1998, कीसर, अदिति राव हैदरी, अन्नपूर्णा स्टूडियो, अब्बास अली बेग, अमरावती, आन्ध्र प्रदेश, अमाला, अमजद हैदराबादी, अमीर मीनाई, अरुण कांबले, अरुप राहा, अलिस्मातालेस, अल्लू अर्जुन, अली (अभिनेता), अश्विनी पोनप्पा, असदुद्दीन ओवैसी, अस्मिता मारवा, अहिल्या हरजनी, अजित कुमार, अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद, अखिल भारतीय मराठी साहित्य सम्मेलन, अखिल भारतीय साहित्य परिषद, अखिल भारतीय हिंदी साहित्य सम्मेलन, अखिल अक्किनेनी, अग्नि पंचम, अग्नि-१, अग्नि-२, अंतरराष्ट्रीय सूचना प्रौद्योगिकी संस्थान, हैदराबाद, अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट 2014-15, अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट 2016-17, अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट 2017-18, अंजू बॉबी जॉर्ज, अंग्रेजी हटाओ आंदोलन, अंग्रेजी और विदेशी भाषाओ का केन्द्रीय संस्थान, अक्षांश पर शहर, अक्किनेनी नागार्जुन, उदय किरण, उदगीर, उस्मान सागर, उस्मान अली खान, उस्मानिया विश्वविद्यालय, १२ दिसम्बर, १३ जनवरी, १६ दिसम्बर, १७०९, १८५७ का प्रथम भारतीय स्वतंत्रता संग्राम, १९९२, १९९६ क्रिकेट विश्व कप, २००३ एफ्रो-एशियाई खेल, २००५ में पद्म भूषण धारक, २०१६ इंडियन प्रीमियर लीग, २०१७ इंडियन प्रीमियर लीग, २०१७ इंडियन प्रीमियर लीग फाइनल, २०१८ इंडियन प्रीमियर लीग, 1987 क्रिकेट विश्व कप, 2011 इंडियन प्रीमियर लीग, 2015 इंडियन प्रीमियर लीग सूचकांक विस्तार (466 अधिक) »

चन्दुलाल बारहदरी

चन्दुलाल बारहदरी हैदराबाद के पुराने शहर का एक मोहल्ला है। यह एक औद्योगिक स्थान है। .

नई!!: हैदराबाद और चन्दुलाल बारहदरी · और देखें »

चन्द्रबली पाण्डेय

चंद्रबली पांडेय (संवत् १९६१ विक्रमी - संवत् २०१५) हिन्दी साहित्यकार तथा विद्वान थे। उन्होने हिंदी भाषा और साहित्य के संरक्षण, संवर्धन और उन्नयन में अपने जीवन की आहुति दे दी। वे नागरी प्रचारिणी सभा के सभापति रहे तथा दक्षिण भारत में हिन्दी का प्रचार-प्रसार किया। उन्होने हिन्दी को भारत की राष्ट्रभाषा का दर्जा प्रदान कराने में ऐतिहासिक भूमिका निभायी। .

नई!!: हैदराबाद और चन्द्रबली पाण्डेय · और देखें »

चाँद रात

चाँद रात का चाँद चाँद रात हिन्दी-उर्दू शब्द है, जो भारत और पाकिस्तान में उपयोग होता है। चाँद रात वह समय होता है, जब परिवार और मित्र बाहर खुले जगह पर नए चाँद को देखते हैं। नया चाँद देखने की रात को "चाँद रात" कहते हैं। इस नए चाँद को देखने की रात के दुसरे दिन से इस्लामी कैलंडर के महीने की शुरूआत होती है। यानी चाँद रात उस महीने का आख़री दिन होता है, दुसरे दिन से अगले महीने की पहली तारीख शुरू होती है। .

नई!!: हैदराबाद और चाँद रात · और देखें »

चारमीनार

चारमीनार (उर्दू: چار مینار) 1591) ई. में बनाया, हैदराबाद, भारत में स्थित एक ऐतिहासिक स्मारक है। दो शब्द उर्दू भाषा के चार मीनार जो यह चारमीनार (चार टावर्स अंग्रेजी) के रूप में जाना जाता है संयुक्त रहे हैं। ये चार अलंकृत मीनारों संलग्न और चार भव्य मेहराब के द्वारा समर्थित हैं, यह हैदराबाद की वैश्विक आइकन बन गया है और सबसे ज्यादा मान्यता प्राप्त India.चारमीनार की संरचनाओं मूसी नदी के पूर्वी तट पर है के बीच में सूचीबद्ध है। पूर्वोत्तर Laad बाज़ार झूठ और पश्चिम अंत में स्थित ग्रेनाइट बनाया बड़े पैमाने पर मक्का मस्जिद मंडित. चारमीनार .

नई!!: हैदराबाद और चारमीनार · और देखें »

चारमीनार एक्सप्रेस

चित्र:|350px|। चारमीनार एक्सप्रेस देश के दो महत्वपूर्ण महानगरों, चेन्नई और हैदराबाद के बीच चलने वाली एक बहुत ही लोकप्रिय ट्रेन है। .

नई!!: हैदराबाद और चारमीनार एक्सप्रेस · और देखें »

चित्रशाला

National Gallery of Art चित्रशाला में प्रदर्शित कलाकृतियाँ चित्रशाला उस विशेष भवन को कहते हैं जिसमें विभिन्न कलाकृतियाँ (चित्र तथा मूर्तियाँ आदि) संरक्षित तथा प्रदर्शित की जाती हैं। प्राय: कलासंग्रहालय (अंग्रेजी: म्यूजियम) का प्रयोग चित्रशाला के लिये होता रहा है किंतु इसके लिये चित्र संग्रहालय अथवा चित्रशाला (आर्ट म्यूजियम या आर्ट गैलरी) अधिक उपयुक्त शब्द है और यही अधिक प्रचलित है। .

नई!!: हैदराबाद और चित्रशाला · और देखें »

चितौन

''एल्सटोनिया मैक्रोफाइला'' हैदराबाद (भारत) में '''Alstonia scholaris''' ''Alstonia spectabilis'' चितौन या सातिआन (एल्सटोनिया), एपोसाइनेसी कुल के सदाबहार वृक्ष और झाड़ियों का एक व्यापक वंश (जीनस) है। इसे वनस्पतिशास्त्री रॉबर्ट ब्राउन द्वारा 1811 में एडिनबर्ग के वनस्पति विज्ञान के प्रोफेसर चार्ल्स एल्सटन (1685-1760) के नाम पर नामित किया गया था (1716-1760)। .

नई!!: हैदराबाद और चितौन · और देखें »

चौदहवीं लोकसभा

भारत में चौदहवीं लोकसभा का गठन अप्रैल-मई 2004 में होनेवाले आमचुनावोंके बाद हुआ था। .

नई!!: हैदराबाद और चौदहवीं लोकसभा · और देखें »

चूड़ी

भारत में चूड़ियों का प्रदर्शन करती एक दुकान चूड़ियाँ (Bangles) एक पारम्परिक गहना है जिसे भारत सहित दक्षिण एशिया में महिलाएँ कलाई में पहनती हैं। चूड़ियाँ वृत्त के आकार की होती हैं। चूड़ी नारी के हाथ का प्रमुख अलंकरण है, भारतीय सभ्यता और समाज में चूड़ियों का महत्वपूर्ण स्थान है। हिंदू समाज में यह सुहाग का चिह्न मानी जाती है। भारत में जीवितपतिका नारी का हाथ चूड़ी से रिक्त नहीं मिलेगा। भारत के विभिन्न प्रांतों में विविध प्रकार की चूड़ी पहनने की प्रथा है। कहीं हाथीदाँत की, कहीं लाख की, कहीं पीतल की, कहीं प्लास्टिक की, कहीं काच की, आदि। आजकल सोने चाँदी की चूड़ी पहनने की प्रथा भी बढ़ रही है। इन सभी प्रकार की चूड़ियों में अपने विविध रंग रूपों और चमक दमक के कारण काच की चूड़ियों का महत्वपूर्ण स्थान है। सभी धर्मों एवं संप्रदायों की स्त्रियाँ काच की चूड़ियों का अधिक प्रयोग करने लगी हैं। .

नई!!: हैदराबाद और चूड़ी · और देखें »

चेन्नई

चेन्नई (पूर्व नाम मद्रास) भारतीय राज्य तमिलनाडु की राजधानी है। बंगाल की खाड़ी से कोरोमंडल तट पर स्थित यह दक्षिण भारत के सबसे बड़े सांस्कृतिक, आर्थिक और शैक्षिक केंद्रों में से एक है। 2011 की भारतीय जनगणना (चेन्नई शहर की नई सीमाओं के लिए समायोजित) के अनुसार, यह चौथा सबसे बड़ा शहर है और भारत में चौथा सबसे अधिक आबादी वाला शहरी ढांचा है। आस-पास के क्षेत्रों के साथ शहर चेन्नई मेट्रोपॉलिटन एरिया है, जो दुनिया की जनसंख्या के अनुसार 36 वां सबसे बड़ा शहरी क्षेत्र है। चेन्नई विदेशी पर्यटकों द्वारा सबसे ज्यादा जाने-माने भारतीय शहरों में से एक है यह वर्ष 2015 के लिए दुनिया में 43 वें सबसे अधिक का दौरा किया गया था। लिविंग सर्वेक्षण की गुणवत्ता ने चेन्नई को भारत में सबसे सुरक्षित शहर के रूप में दर्जा दिया। चेन्नई भारत में आने वाले 45 प्रतिशत स्वास्थ्य पर्यटकों और 30 से 40 प्रतिशत घरेलू स्वास्थ्य पर्यटकों को आकर्षित करती है। जैसे, इसे "भारत का स्वास्थ्य पूंजी" कहा जाता है एक विकासशील देश में बढ़ते महानगरीय शहर के रूप में, चेन्नई पर्याप्त प्रदूषण और अन्य सैन्य और सामाजिक-आर्थिक समस्याओं का सामना करता है। चेन्नई में भारत में तीसरी सबसे बड़ी प्रवासी जनसंख्या 2009 में 35,000 थी, 2011 में 82,7 9 0 थी और 2016 तक 100,000 से अधिक का अनुमान है। 2015 में यात्रा करने के लिए पर्यटन गाइड प्रकाशक लोनली प्लैनेट ने चेन्नई को दुनिया के शीर्ष दस शहरों में से एक का नाम दिया है। चेन्नई को ग्लोबल सिटीज इंडेक्स में एक बीटा स्तरीय शहर के रूप में स्थान दिया गया है और भारत का 2014 का वार्षिक भारतीय सर्वेक्षण में भारत टुडे द्वारा भारत का सबसे अच्छा शहर रहा। 2015 में, चेन्नई को आधुनिक और पारंपरिक दोनों मूल्यों के मिश्रण का हवाला देते हुए, बीबीसी द्वारा "सबसे गर्म" शहर (मूल्य का दौरा किया, और दीर्घकालिक रहने के लिए) का नाम दिया गया। नेशनल ज्योग्राफिक ने चेन्नई के भोजन को दुनिया में दूसरा सबसे अच्छा स्थान दिया है; यह सूची में शामिल होने वाला एकमात्र भारतीय शहर था। लोनाली प्लैनेट द्वारा चेन्नई को दुनिया का नौवां सबसे अच्छा महानगरीय शहर भी नामित किया गया था। चेन्नई मेट्रोपॉलिटन एरिया भारत की सबसे बड़ी शहर अर्थव्यवस्थाओं में से एक है। चेन्नई को "भारत का डेट्रोइट" नाम दिया गया है, जो शहर में स्थित भारत के ऑटोमोबाइल उद्योग का एक-तिहाई से भी अधिक है। जनवरी 2015 में, प्रति व्यक्ति जीडीपी के संदर्भ में यह तीसरा स्थान था। चेन्नई को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के स्मार्ट सिटीज मिशन के तहत एक स्मार्ट शहर के रूप में विकसित किए जाने वाले 100 भारतीय शहरों में से एक के रूप में चुना गया है। विषय वस्तु 1 व्युत्पत्ति 2 इतिहास 3 पर्यावरण 3.1 भूगोल 3.2 भूविज्ञान 3.3 वनस्पति और जीव 3.4 पर्यावरण संरक्षण 3.5 जलवायु 4 प्रशासन 4.1 कानून और व्यवस्था 4.2 राजनीति 4.3 उपयोगिता सेवाएं 5 वास्तुकला 6 जनसांख्यिकी 7 आवास 8 कला और संस्कृति 8.1 संग्रहालय और कला दीर्घाओं 8.2 संगीत और कला प्रदर्शन 9 सिटीस्केप 9.1 पर्यटन और आतिथ्य 9.2 मनोरंजन 9.3 मनोरंजन 9.4 शॉपिंग 10 अर्थव्यवस्था 10.1 संचार 10.2 पावर 10.3 बैंकिंग 10.4 स्वास्थ्य देखभाल 10.5 अपशिष्ट प्रबंधन 11 परिवहन 11.1 एयर 11.2 रेल 11.3 मेट्रो रेल 11.4 रोड 11.5 सागर 12 मीडिया 13 शिक्षा 14 खेल और मनोरंजन 14.1 शहर आधारित टीम 15 अंतर्राष्ट्रीय संबंध 15.1 विदेशी मिशन 15.2 जुड़वां कस्बों - बहन शहरों 16 भी देखें 17 सन्दर्भ 18 बाहरी लिंक व्युत्पत्ति इन्हें भी देखें: विभिन्न भाषाओं में चेन्नई के नाम भारत में ब्रिटिश उपस्थिति स्थापित होने से पहले ही मद्रास का जन्म हुआ। माना जाता है कि मद्रास नामक पुर्तगाली वाक्यांश "मैए डी डीस" से उत्पन्न हुआ है, जिसका अर्थ है "भगवान की मां", बंदरगाह शहर पर पुर्तगाली प्रभाव के कारण। कुछ स्रोतों के अनुसार, मद्रास को फोर्ट सेंट जॉर्ज के उत्तर में एक मछली पकड़ने वाले गांव मद्रासपट्टिनम से लिया गया था। हालांकि, यह अनिश्चित है कि क्या नाम यूरोपियों के आने से पहले उपयोग में था। ब्रिटिश सैन्य मानचित्रकों का मानना ​​था कि मद्रास मूल रूप से मुंदिर-राज या मुंदिरराज थे। वर्ष 1367 में एक विजयनगर युग शिलालेख जो कि मादरसन पट्टणम बंदरगाह का उल्लेख करता है, पूर्व तट पर अन्य छोटे बंदरगाहों के साथ 2015 में खोजा गया था और यह अनुमान लगाया गया था कि उपरोक्त बंदरगाह रोयापुरम का मछली पकड़ने का बंदरगाह है। चेन्नई नाम की जन्मजात, तेलुगू मूल का होना स्पष्ट रूप से इतिहासकारों द्वारा साबित हुई है। यह एक तेलुगू शासक दमारला चेन्नाप्पा नायकुडू के नाम से प्राप्त हुआ था, जो कि नायक शासक एक दमनदार वेंकटपति नायक था, जो विजयनगर साम्राज्य के वेंकट III के तहत सामान्य रूप में काम करता था, जहां से ब्रिटिश ने शहर को 1639 में हासिल किया था। चेन्नई नाम का पहला आधिकारिक उपयोग, 8 अगस्त 1639 को, ईस्ट इंडिया कंपनी के फ्रांसिस डे से पहले, सेन्नेकेसु पेरुमल मंदिर 1646 में बनाया गया था। 1 99 6 में, तमिलनाडु सरकार ने आधिकारिक तौर पर मद्रास से चेन्नई का नाम बदल दिया। उस समय कई भारतीय शहरों में नाम बदल गया था। हालांकि, मद्रास का नाम शहर के लिए कभी-कभी उपयोग में जारी है, साथ ही साथ शहर के नाम पर स्थानों जैसे मद्रास विश्वविद्यालय, आईआईटी मद्रास, मद्रास इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, मद्रास मेडिकल कॉलेज, मद्रास पशु चिकित्सा कॉलेज, मद्रास क्रिश्चियन कॉलेज। चेन्नई (तमिल: சென்னை), भारत में बंगाल की खाड़ी के कोरोमंडल तट पर स्थित तमिलनाडु की राजधानी, भारत का पाँचवा बड़ा नगर तथा तीसरा सबसे बड़ा बन्दरगाह है। इसकी जनसंख्या ४३ लाख ४० हजार है। यह शहर अपनी संस्कृति एवं परंपरा के लिए प्रसिद्ध है। ब्रिटिश लोगों ने १७वीं शताब्दी में एक छोटी-सी बस्ती मद्रासपट्ट्नम का विस्तार करके इस शहर का निर्माण किया था। उन्होंने इसे एक प्रधान शहर एवं नौसैनिक अड्डे के रूप में विकसित किया। बीसवीं शताब्दी तक यह मद्रास प्रेसिडेंसी की राजधानी एवं एक प्रमुख प्रशासनिक केन्द्र बन चुका था। चेन्नई में ऑटोमोबाइल, प्रौद्योगिकी, हार्डवेयर उत्पादन और स्वास्थ्य सम्बंधी उद्योग हैं। यह नगर सॉफ्टवेयर, सूचना प्रौद्योगिकी सम्बंधी उत्पादों में भारत का दूसरा सबसे बड़ा निर्यातक शहर है। चेन्नई एवं इसके उपनगरीय क्षेत्र में ऑटोमोबाइल उद्योग विकसित है। चेन्नई मंडल तमिलानाडु के जीडीपी का ३९% का और देश के ऑटोमोटिव निर्यात में ६०% का भागीदार है। इसी कारण इसे दक्षिण एशिया का डेट्रॉएट भी कहा जाता है। चेन्नई सांस्कृतिक रूप से समृद्ध है, यहाँ वार्षिक मद्रास म्यूज़िक सीज़न में सैंकड़ॊ कलाकार भाग लेते हैं। चेन्नई में रंगशाला संस्कृति भी अच्छे स्तर पर है और यह भरतनाट्यम का एक महत्त्वपूर्ण केन्द्र है। यहाँ का तमिल चलचित्र उद्योग, जिसे कॉलीवुड भी कहते हैं, भारत का द्वितीय सबसे बड़ा फिल्म उद्योग केन्द्र है। .

नई!!: हैदराबाद और चेन्नई · और देखें »

चेन्नई में यातायात

चेन्नई में आई.टी हाइवे, जिसके शिरोपरि एम आर टी एस (चेन्नई) निकलता हुआ दिखाई दे रहा है चेन्नई दक्षिण भारत के प्रवेशद्वार की भांति प्रतीत होता है, जिसमें अन्ना अन्तर्राष्ट्रीय टर्मिनल एवं कामराज अन्तर्देशीय टार्मिनल सहित चेन्नई अन्तर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा भारत का तीसरा व्यस्ततम विमानक्षेत्र है। चेन्नई शहर दक्षिण एशिया, दक्षिण-पूर्व एशिया, पूर्वी एशिया, मध्य पूर्व, यूरोप एवं उत्तरी अमरीका के प्रधान बिन्दुओं पर ३० से अधिक राष्ट्रीय और अन्तर्राष्ट्रीय विमान सेवाओं से जुड़ा हुआ है। यह विमानक्षेत्र देश का दूसरा व्यस्ततम कार्गो टार्मिनस है। वर्तमान विमानक्षेत्र में अधिक आधुनिकिकरण और विस्तार कार्य प्रगति पर हैं। इसके अलावा श्रीपेरंबुदूर में नया ग्रीनफील्ड एयरपोर्ट लगभग २००० करोड़ रु.

नई!!: हैदराबाद और चेन्नई में यातायात · और देखें »

टाटा सामाजिक विज्ञान संस्थान

टाटा समाजिक विज्ञान संस्थान भारत का एक प्रमुख सामाजिक विज्ञान संस्थान है। यह मुंबई के अन्दर देवनार में स्थित है। .

नई!!: हैदराबाद और टाटा सामाजिक विज्ञान संस्थान · और देखें »

टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज

टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेस लिमिटेड (टीसीएस) एक भारतीयबहुराष्ट्रीय कम्पनी सॉफ्टवेर सर्विसेस एवं कंसल्टिंग कंपनी है। यह दुनिया की सबसे बड़ी सूचना तकनीकी तथा बिज़नस प्रोसेस आउटसोर्सिंग सेवा प्रदाता कंपनियों में से है। साल २००७ में, इसे एशिया की सबसे बड़ी सूचना प्रोद्योगिकी कंपनी आँका गया। भारतीय आई टी कंपनियों की तुलना में टीसीएस के पास सबसे अधिक कर्मचारी हैं। टीसीएस के ४४ देशों में २,५४,००० कर्मचारी हैं। ३१ मार्च २०१२ को ख़त्म होने वाले वित्तीय वर्ष में कंपनी ने १०.१७ अरब अमेरिकी डॉलर का समेकित राजस्व हासिल किया। टीसीएस भारत के नेशनल स्टॉक एक्सचेंज तथा बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज में सूचीबद्ध कंपनी है। टीसीएस एशिया की सबसे बड़ी कंपनी समूह में से एक टाटा समूह का एक हिस्सा है। टाटा समूह ऊर्जा, दूरसंचार, वित्तीय सेवाओं, निर्माण, रसायन, इंजीनियरिंग एवं कई तरह के उत्पाद बनाता है। वित्त वर्ष 2009-10 में कंपनी का मुनाफा 33.19% बढ़कर 7,000.64 करोड़ रुपये हो गया। इस दौरान कंपनी की आमदनी करीब 8% बढ़कर 30,028.92 करोड़ रुपये हो गयी। अप्रैल 2018 में, टीसीएस बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज में अपनी एम-कैप 6,79,332.81 करोड़ रुपये (102.6 अरब डॉलर) के बाद 100 अरब डॉलर के बाजार पूंजीकरण करने वाली पहली भारतीय आईटी कंपनी बन गई, और दूसरी भारतीय कंपनी (रिलायंस इंडस्ट्रीज ने 2007 में इसे हासिल करने के बाद)। .

नई!!: हैदराबाद और टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज · और देखें »

टकसाल

टकसाल (Mint) उस कारखाने को कहते हैं जहाँ देश की सरकार द्वारा, या उसके दिए अधिकार से, मुद्राओं का निर्माण होता है। भारत में टकसालें कलकत्ता, मुंबई, हैदराबाद और नोएडा, उ॰प्र॰ में हैं। .

नई!!: हैदराबाद और टकसाल · और देखें »

टॉमस आर्थर डी लैली

टॉमस आर्थर डी लैली (Thomas Arthur, comte de Lally; १७०२ ई. - १७६६ ई.) निर्भीक फ्रांसीसी सेनापति था। सप्तवर्षीय युद्ध में उसने फ्रांसीसी सेना का नेतृत्व किया जिसमें उसके अपने लाल कोटधारी रेजिमेन्ट के दो बटालियन भी शामिल थे। १७२१ में वह सैनिक अफसर नियुक्त हुआ। आस्ट्रिया के उत्तराधिकारयुद्ध तथा जैकाबाइट विद्रोह में विशेष पराक्रम के पुरस्कारस्वरूप लुई पंद्रहवें ने उसे ब्रिगेडियर का पद दिया। सप्तवर्षीय युद्ध आरंभ होते ही अंग्रेज़ों को भारत से निकाल बाहर करने के लिए लैली को सर्वोच्च अधिकारी बनाकर पांडिचेरी भेजा गया। इस उद्देश्य की पूर्ति में पदाधिकारियों के ईर्ष्या-द्वेष तथा अपने अहंकार के कारण उसे किसी का हार्दिक सहयोग न मिला। जल सेनानायक ने उसे देर से पॉडिचेरी पहुँचाया और किसी अभियान में उसकी सहायता नहीं की। पाँडिचेरी के गवर्नर ने युद्ध के साधन नहीं जुटाए। अन्य पदाधिकारियों ने भी कोई उत्साह नहीं दिखाया। इसपर भी लैली ने गूडलूर, फोर्ट सेंट डेविड तथा देविकोट को अंग्रेजों से छीनकर अद्भुत कर्मण्यता दिखाई। धनाभाव के कारण मद्रास पर आक्रमण स्थापित करके उसे तंजोर पर आक्रमण करना पड़ा। किंतु पांडिचेरी पर संकट आने के भय से उसे छोड़ना पड़ा। दिसंबर, १७५८ में बुसी के सहयोग से कांचीपुरम् जीतकर लैली ने मद्रास का घेरा डाला, पर सफल न हुआ। बुसी को हैदराबाद से बुलाकर उसने बड़ी भूल की। इससे सलाबतर्जग ने अंग्रेजों के संरक्षण में आकर उत्तरी सरकार उन्हें सौंप दिया। १७६१ में पाँडिचेरी में उसे आत्मसमर्पण करना पड़ा। साधनों तथा सहयोग के अभाव से उसकी योजना विफल रही। पेरिस की संधि होने पर उसे फ्रांस भेज दिया गया। वहाँ राजद्रोह का झूठा अभियोग लगाकर १७१६ में उसे फाँसी दे दी गई। Template:फ्रांसीसी सेनापति.

नई!!: हैदराबाद और टॉमस आर्थर डी लैली · और देखें »

एचवाई टीवी

एचवाई चैनल हैदराबाद स्थित एक मनोरंजन सह समाचार चैनल है। यह हिंदी, उर्दू और अंग्रेजी में समाचार और मनोरंजन कार्यक्रम प्रसारित करता है। श्रेणी:समाचार चैनल.

नई!!: हैदराबाद और एचवाई टीवी · और देखें »

एन टी आर ट्रस्ट

एन टी आर ट्रस्ट या एन टी आर स्मारक ट्रस्ट एक गैरलाभकारी भारतीय सामाजिक भलाई की संस्था है। इसका मुख्यालय हैदराबाद, तेलंगाना, भारत में है। इसकी स्थापना 1997 में लोकोपकार और सामाजिक कल्याणकारी सहायता के लिए हुई थी। इस संस्था का नाम एन टी रामा राव पर रखा गया है जो दक्षिण भारत के अभिनेता, निर्देशक और अंध्र प्रदेश के पूर्व मुख्य मंत्री रह चुके हैं। .

नई!!: हैदराबाद और एन टी आर ट्रस्ट · और देखें »

एम॰ जे॰ अकबर

एम॰ जे॰ अकबर (अंग्रेजी: Mobashar Jawed Akbar,बांग्ला भाषा: মবাসের জাবেদ একবার) (जन्म: 11 जनवरी 1951) एक प्रमुख भारतीय पत्रकार, लेखक और राजनेता हैं। एम जे अकबर विदेश मामलों के राज्य मंत्री (एमओएस) और मध्य प्रदेश से राज्यसभा में संसद सदस्य हैं। 5 जुलाई 2016 को उन्हें प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा केंद्रीय मंत्रिपरिषद में शामिल किया गया था। वे अक्टूबर 2012 में अपने इस्तीफे तक लिविंग मीडिया समूह द्वारा प्रकाशित भारत के प्रमुख साप्ताहिक अंग्रेजी समाचार पत्रिका इंडिया टुडे के संपादकीय निदेशक रह चुके हैं। इस दौरान उन्हें मीडिया कंपनियों के संगठन तथा अंग्रेजी समाचार चैनल हेडलाइंस टुडे की देखरेख के लिए एक अतिरिक्त जिम्मेदारी भी मिली हुई थी। उन्होने 2010 में साप्ताहिक समाचार पत्र "दि संडे गार्जियन" का शुभारंभ किया और वे लगातार इसके प्रधान संपादक रहे। पूर्व के दिनों में वे दक्षिण भारत की प्रमुख अँग्रेजी पत्रिका "एशियन एज" के संस्थापक और वैश्विक परिप्रेक्ष्य के साथ इसके दैनिक मल्टी संस्करण भारतीय समाचार पत्र के प्रबंध निदेशक भी रह चुके हैं। वे हैदराबाद के दैनिक समाचार पत्र डेक्कन क्रॉनिकल के प्रधान संपादक रह चुके हैं। उन्होने कई पुस्तकें लिखी है, जिसमें जवाहर लाल नेहरू की जीवनी "द मेकिंग ऑफ इंडिया" और कश्मीर पर आधारित "द सीज विदिन" चर्चित रही है। वे "दि शेड ऑफ शोर्ड" और "ए कोहेसिव हिस्टरी ऑफ जिहाद" के भी लेखक हैं। उनकी हाल ही में प्रकाशित पुस्तक "ब्लड ब्रदर्स" है, जिसमें भारत में घटनाओं की जानकारी और दुनिया, खासकर हिंदू-मुस्लिम के बदलते संबंधों के साथ तीन पीढ़ियों की गाथा है। उनकी यह पुस्तक "फ्रेटेली डी संग" के नाम से इतालवी में अनुवादित हुई है, जो 15 जनवरी 2008 को रोम में जारी किया गया था। पाकिस्तान में पहचान के संकट और वर्ग संघर्ष पर आधारित उनकी पुस्तक "टिंडरबॉक्स: दि पास्ट एंड फ्यूचर ऑफ पाकिस्तान" जनवरी 2012 में प्रकाशित हुई है। अकबर राजनीति में भी सार्थक हस्तक्षेप रखते हैं। वे 1989 में भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के उम्मीदवार के रूप में पहली बार बिहार के किशनगंज से लोकसभा के लिए चुने गए थे। वे किशनगंज से दो बार सांसद रहे हैं। साथ ही पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी के प्रवक्ता भी रहे हैं। मार्च 2014 में वे भारतीय जनता पार्टी में शामिल हुये हैं और वर्तमान में इस पार्टी के प्रवक्ता हैं। .

नई!!: हैदराबाद और एम॰ जे॰ अकबर · और देखें »

एयर कोस्टा

एयर कोस्टा, भारत की एक क्षेत्रीय एयरलाइन है जो विजयवाड़ा, आंध्र प्रदेश में स्थित है। इसने अपनी पहली उड़ान अक्तूबर 2013 से चेन्नई से प्रारम्भ किया जो इसके मुख्य संचालन और रखरखाव के केन्द्रों में से एक है। यह एल ई पी एल समूह का हिस्सा है जो विजयवाड़ा में स्थित है। इसने अपनी अनुसूचित आपरेशन (उड़ान का प्रारम्भ) अक्टूबर 2013 में दो एमब्रेयर ई -170 विमान का उपयोग कर,300 कर्मचारियों के साथ की, जिसमे प्रवासी पायलटों और इंजीनियरों सम्मिलित थे। एयरलाइन, भारत में टियर टू और थ्री शहरों के बीच हवाई सम्पर्क व यातायात में सुधार लाने पर ध्यान केंद्रित करने की योजना बना रही है और इसने 2015 तक 1.5 करोड़ डॉलर के निवेश की घोषणा की है। इस एयरलाइन्स की 2015 तक विजयवाड़ा हवाई अड्डे पर एक विमान रखरखाव, मरम्मत और ओवरहाल (एमआरओ) सुविधा स्थापित करने की योजना है। वर्तमान में चेन्नई अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर इस एयरलाइन के रखरखाव केंद्र है। .

नई!!: हैदराबाद और एयर कोस्टा · और देखें »

एलेन फोरस्ट जू

1971 में खुला यह चिड़ियाघर भारत के सर्वोत्तम चिड़ियाघरों में एक है। क्षेत्रफल की दृष्टि से यह भारत का तीसरा सबसे बड़ा चिड़ियाघर है। यह कानपुर शहर में स्थित है। यहाँ पर लगभग 1250 जीव-जंतु है। कुछ समय पिकनिट के तौर पर बिताने और जीव-जंतुओं को देखने के लिए यह चिड़ियाघर एक बेहतरीन जगह है। .

नई!!: हैदराबाद और एलेन फोरस्ट जू · और देखें »

एशियाई बैडमिंटन प्रतियोगिता

बैडमिंटन एशिया प्रतियोगिता (2007 के संस्करण के बाद से यह नया नाम है, पहले इसे एशियाई बैडमिंटन प्रतियोगिताएँ के नाम से जान जाता था) बैडमिंटन एशिया परिसंघ द्वारा आयोजित एक बैडमिंटन प्रतियोगिता है जिसका लक्ष्य एशिया के सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ियों को पहचानना व पुरस्कृत करना है। प्रतियोगिता की शुरुवात १९६२ से हुई और १९९१ से यह हर वर्ष आयोजित की जाती रही है। इसमें व्यक्तिगत और टीम स्तरीय प्रतिस्पर्धाएँ होती रहे और १९९४ के बाद से टीम प्रतिस्पर्धाओं को बंद कर दिया गया। हालांकि २००३ के आयोजन में कुछ समस्या आ गयी जब चीन ने अंतिम समय में भाग लेने से इंकार कर दिया। शीर्ष प्रशिक्षक ली योंग्बो ने कहा कि यह प्रतियोगिता खिलाड़ियों को २००४ में होने वाले ओलम्पिक के लिये कोई वरीयता अंक नहीं दे रही है और इसलिए खिलाड़ियों को आराम का और समय मिलना चाहिए। प्रतिद्वंदिता कम होने की वजह से कुछ शीर्ष खिलाड़ी भी इसमें हिस्सा नहीं लेना चाहते थे। .

नई!!: हैदराबाद और एशियाई बैडमिंटन प्रतियोगिता · और देखें »

एस आर शंकरन

एस आर शंकरन को भारत सरकार द्वारा सन २००५ में प्रशासकीय सेवा के क्षेत्र में पद्म भूषण से सम्मानित किया था। ये हैदराबाद राज्य से हैं। श्रेणी:२००५ पद्म भूषण.

नई!!: हैदराबाद और एस आर शंकरन · और देखें »

एस॰एस॰ राजमौली

एस॰एस॰ राजामौली (अंग्रेजी:S. S. Rajamouli)(जन्म; १० अक्टूबर १९७३,कर्नाटक, कोडुरी श्रीसैला श्री राजमौली) एक भारतीय फ़िल्म निर्देशक तथा पटकथा लेखक है इन्होंने ज्यादातर तेलुगु फ़िल्मों में ही निर्देशन किया है। मघधीरा (२००९), ईगा (२०१२), बाहुबली: द बिगनिंग तथा २८ अप्रैल २०१७ को प्रदर्शित हुई बाहुबली २: द कॉन्क्लूज़न से अपनी पहचान बनाई। इनके पिता भी एक फ़िल्म निर्माता है। .

नई!!: हैदराबाद और एस॰एस॰ राजमौली · और देखें »

एक दिवसीय अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट के कीर्तिमानों की सूची

एक दिवसीय अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट जिसे अंग्रेजी में (वनडे/ODI) के नाम से जाना जाता है। इस प्रारूप में प्रायः पूर्ण सदस्यता वाली राष्ट्रीय क्रिकेट टीमें खेलती हैं। एक दिवसीय अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में वर्तमान में 50 ओवर रखे गए गए हैं हालांकि पूर्व में 55 तथा 60 ओवरों के मैच खेले जाते थे जो बाद में 50 ओवरों के कर दिए गए। एक दिवसीय अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट का पहला मैच ऑस्ट्रेलिया बनाम इंग्लैंड के बीच जनवरी १९७१ को खेला गया था। वनडे क्रिकेट अर्थात एक दिवसीय अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में सबसे ज्यादा शतक तथा सबसे ज्यादा रन बनाने का रिकॉर्ड भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व खिलाड़ी सचिन तेंदुलकर के नाम है, सचिन ने कुल  १८,४२६ बनाए है। जबकि सबसे ज्यादा विकेट लेने का श्रेय श्रीलंका क्रिकेट टीम के मुथैया मुरलीधरन को जाता है। इनके अलावा सबसे ज्यादा लगातार मैच जीतने का रिकॉर्ड ऑस्ट्रेलिया क्रिकेट टीम का है जिन्होंने लगातार २१ मैच जीते थे और लगातार सबसे हारने वाली टीम बांग्लादेश है जो लगातार २७ मैच हारी थी। व्यक्तिगत कीर्तिमानों में सचिन तेंदुलकर और मुथैया मुरलीधरन के अलावा रोहित शर्मा का नाम भी आता है जिन्होंने एक दिवसीय अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट २ दोहरे शतक लगाए तथा एक मैच में सबसे ज्यादा रन भी इन्होंने ने ही बनाए है जो २६४ रन बनाए थे। गेंदबाजी में श्रीलंका क्रिकेट टीम के चमिंडा वास ने १९ रन देकर ०८ विकेट लिए थे। एक ओवर में सबसे ज्यादा रन दक्षिण अफ्रीका के हर्शल गिब्स ने ३६ रन बनाए है तथा सबसे तेज शतक एबी डी विलियर्स ने मात्र ३१ गेंदों पर बनाया है। .

नई!!: हैदराबाद और एक दिवसीय अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट के कीर्तिमानों की सूची · और देखें »

एक दिवसीय अंतरराष्ट्रीय के एक मैच में सबसे ज्यादा रन बनाने वालों की सूची

एक दिवसीय अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट मैचों में जो आईसीसी की पूर्ण सदस्य टीम है उनमें भारतीय क्रिकेट टीम के रोहित शर्मा का सर्वश्रेष्ठ स्कोर है रोहित के नाम २६४ रन है जो श्रीलंका क्रिकेट टीम के खिलाफ बनाया था। .

नई!!: हैदराबाद और एक दिवसीय अंतरराष्ट्रीय के एक मैच में सबसे ज्यादा रन बनाने वालों की सूची · और देखें »

झिल्लू सिंह यादव

झिल्लू सिंह यादव (जन्म 1950) भारत के कार्बनिक रसायनज्ञ तथा टिकाऊ रसायन के लिये भारत-फ्रांस संयुक्त प्रयोगशाला के सह-संस्थापक हैं। इसके पूर्व वे भारतीय रासायनिक प्रौद्योगिकी सम्स्थान के निदेशक थे। .

नई!!: हैदराबाद और झिल्लू सिंह यादव · और देखें »

डाज्ज्ले स्पोर्ट्स वेर

डाज्ज्ले स्पोर्ट्स वेर एक भारतीय खेल परिधान निर्माता हैदराबाद, भारत में मुख्यालय है।.

नई!!: हैदराबाद और डाज्ज्ले स्पोर्ट्स वेर · और देखें »

डेविड वॉर्नर (क्रिकेटर)

डेविड एंड्रयू वार्नर (जन्म: 23 अक्टूबर 1986) एक ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटर हैं। तेज़ी से रन बनाने वाले बाएं हाथ के सलामी बल्लेबाज वार्नर,क्रिकेट इतिहास सालों ऐसे पहले क्रिकेटर हैं जिन्होंने ब्रिसबेन में शतक बनाया उससे पहले सर डाॅन ब्रेडमैन ने अपने आखिरी मैच में 80 रन बनाए थे। वाॅर्नर न्यू साउथ वेल्स, डरहम, हैदराबाद और सिडनी सिक्सर्स के लिए खेलते हैं। .

नई!!: हैदराबाद और डेविड वॉर्नर (क्रिकेटर) · और देखें »

डेक्कन चार्जर्स

डेक्कन चार्जर्स (तेलुगु: డెక్కన్ చార్జర్స్), इंडियन प्रीमियर लीग की हैदराबाद फ्रैन्चाइज़ी टीम है। ये आई.पी.एल.

नई!!: हैदराबाद और डेक्कन चार्जर्स · और देखें »

डॉ. रेड्डीज लेबोरेटरीज

डॉ॰ रेड्डीज लेबोरेटरीज लिमिटेड (Dr. Reddy's Laboratories Ltd.), जिसे डॉ रेड्डीज के नाम से ट्रेड किया जाता है, आज भारत की दूसरी सबसे बड़ी औषधि कंपनी है। इसकी स्थापना 1984 में डॉक्टर के.

नई!!: हैदराबाद और डॉ. रेड्डीज लेबोरेटरीज · और देखें »

डी एन ए अंगुली छापन

VNTR अलेले लंबाई 6 लोगों में. डीएनए फिंगरप्रिंटिंग तकनीक का उपयोग आपराधिक मामलों की गुत्थियां सुलझाने के लिए किया जाता है। इसके साथ ही मातृत्व, पितृत्व या व्यक्तिगत पहचान को निर्धारित करने के लिए इसका प्रयोग होता है।। हिन्दुस्तान लाइव। १९ जनवरी २०१० वर्तमान में पहचान ढूंढने के तरीकों में अंगुल छापन (फिंगरप्रिंटिंग) सबसे बेहतर मानी जाती है। जीव जंतुओं, मनुष्यों में विशेष संरचनायुक्त वह रसायन जो उसे विशिष्ट पहचान प्रदान करता है, उसे डीएनए (डाई राइबो न्यूक्लिक एसिड) कहते हैं। इस पद्धति में किसी व्यक्ति के जैविक अंशो जैसे- रक्त, बाल, लार, वीर्य या दूसरे कोशिका-स्नोतों के द्वारा उसके डीएनए की पहचान की जाती है। डीएनए फिंगरप्रिंट विशिष्ट डीएनए क्रम का प्रयोग करता है, जिसे माइक्रोसेटेलाइट कहा जाता है। माइक्रोसेटेलाइट डीएनए के छोटे टुकड़े होते हैं। शरीर के कुछ हिस्सों में इनकी संख्या अलग-अलग होती है। .

नई!!: हैदराबाद और डी एन ए अंगुली छापन · और देखें »

डीडी यादागिरी

डीडी यदागिरि तेलुगु भाषा का टेलीविजन चैनल है जो राज्य के स्वामित्व वाली भारत की राष्ट्रीय प्रसारक दूरदर्शन द्वारा संचालित है। यह दूरदर्शन द्वारा संचालित 11 भारतीय क्षेत्रीय भाषा के चैनलों में से एक है। इसका प्रसारण दूरदर्शन के हैदराबाद, तेलंगाना केंद्र से होता है। .

नई!!: हैदराबाद और डीडी यादागिरी · और देखें »

तन्मय अग्रवाल

तन्मय धरमचंद अग्रवाल (जन्म ०३ मई, १९९५) एक भारतीय क्रिकेटर है जो हैदराबाद के लिए खेलते हैं। ये एक बाएं हाथ के शीर्ष क्रम के बल्लेबाज, जिन्होंने अंडर-१४, अंडर-१६, अंडर-१९, अंडर-२२ और अंडर-२५ जैसे विभिन्न आयु वर्ग के स्तर पर हैदराबाद का प्रतिनिधित्व किया। उन्होंने २०१४ में हैदराबाद के लिए अपने प्रथम श्रेणी क्रिकेट और लिस्ट ए क्रिकेट दोनों की शुरुआत की। .

नई!!: हैदराबाद और तन्मय अग्रवाल · और देखें »

तबु

तब्बू (तब्बू) (तबस्सुम हाशमी (తబస్సుం హష్మి) का जन्म 4 नवम्बर 1970 को हुआ) एक भारतीय फिल्म अभिनेत्री है। हालांकि उन्होंने कई तमिल, तेलुगू, मलयालम, बंगला भाषा एवं साथ ही एक अमरीकी फिल्म में भी काम किया है, लेकिन मुख्यतः उन्होंने हिंदी फिल्मों में ही अभिनय किया है। उन्हें दो बार सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री का राष्ट्रीय फिल्म अवॉर्ड मिल चुका है एवं उन्हें सबसे अधिक बार सर्वश्रेष्ठ महिला कलाकार की श्रेणी में फिल्मफेयर का समीक्षक अवॉर्ड, चार बार, जीतने का रिकॉर्ड भी हासिल हैं। कुछ अपवादों के बावजूद, तब्बू मुख्यतः कलात्मक एवं कम बजट फिल्मों में अपने अभिनय के लिए जानी जाती हैं, जो बॉक्स ऑफिस पर आंकड़े (रुपये) जुटाने की बजाय कहीं अधिक आलोचनात्मक सराहना जुटाती हैं। व्यावसायिक तौर पर सफल फिल्मों में उनकी उपस्थिति कम ही रही है और ऐसी फिल्मों में उनकी भूमिका भी बहुत छोटी रही हैं, मसलन-बॉर्डर (1997), साजन चले ससुराल (1996), बीवी नंबर वन Hum Saath-Saath Hain: We Stand United (1999) आदि फ़िल्में.

नई!!: हैदराबाद और तबु · और देखें »

तलत अज़ीज़

तलत अजीज (उर्दू: طلعت عزیز) (जन्म ११ नवंबर १९५६) भारत के हैदराबाद के एक लोकप्रिय गज़ल गायक हैं। .

नई!!: हैदराबाद और तलत अज़ीज़ · और देखें »

ताण्डूर

भद्रेश्वर मन्दिर ताण्डूर (तेलुगू: తాండూర్) रंगारेड्डी जिले का एक नगर है। यह नगर रंगारेड्डी जिले के पश्चिम में है। यह पश्चिम रंगारेड्डी जिले में सबसे बड़ा शहर है। इस नगर की जनसंख्या ६० हजार से अधिक है। यहाँ दो बड़े सीमेंट के कारखाने हैं। यह नगर हैदराबाद से १०० किलॉमीटर दूरी पर है। यह पश्चिमी रंगारेड्डी जिले में सबसे बड़ा नगर भी है। यह पत्थर उद्योग, सीमेंट उद्योगों और तूर उत्पादन के लिए प्रसिद्ध है। यहाँ कई शिक्षा केन्द्र स्थित है। पीने का पानी काग्ना नदी से लिया जाता है, जो नगर से ४ किमी से दूर है। ताण्डूर नगर, ताण्डूर विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र और चेवेल्ला लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र का भाग है। यह पत्थर, सीमेंट और Redgram फसल के लिए प्रसिद्ध है। .

नई!!: हैदराबाद और ताण्डूर · और देखें »

ताराघर

---- नेहरू ताराघर, मुंबई ताराघर (अंग्रेज़ी में प्लेनेटेरियम) या तारामण्डल या नक्षत्रालय एक ऐसा भवन होता है जहाँ खगोलिकी व नाइट स्काई विषयक ज्ञानवर्धक व मनोरंजक कार्यक्रम प्रस्तुत किये जाते हैं। ताराघर की पहचान अक्सर उसकी विशाल गुंबदनुमा प्रोजेक्शन स्क्रीन होती है। भारत में ३० ताराघर हैं। इनमें से चार, जो क्रमशः मुंबई, नई दिल्ली, बंगलौर व इलाहाबाद में स्थित हैं, जवाहरलाल नेहरू के नाम से जाने जाते हैं। चार ताराघर बिड़ला घराने द्वारा पोषित हैं जो कोलकाता, चैन्नई, हैदराबाद व जयपुर में हैं। सितंबर १९६२ में प्रारंभ कोलकाता स्थित एम पी बिड़ला ताराघर देश का पहला ताराघर है। .

नई!!: हैदराबाद और ताराघर · और देखें »

तिपहिया साइकिल

बच्चोंकी तिपहिया साइकिल तिपहिया साइकिल अपने नाम के अनुसार मानव-संचालित तिन पहियोंवाली साइकिल है। .

नई!!: हैदराबाद और तिपहिया साइकिल · और देखें »

तंदूरी पाककला

तंदूरी पाककला तंदूरी पाककला मिट्टी की बेलनाकार भट्टी या तंदूर में लकड़ी के कोयले की आंच पर भोजन पकाने की एक पद्धति है। .

नई!!: हैदराबाद और तंदूरी पाककला · और देखें »

तुलजा भवानी मंदिर, उस्मानाबाद

महाराष्ट्र के उस्मानाबाद जिले में स्थित है तुलजापुर। एक ऐसा स्थान जहाँ छत्रपति शिवाजी की कुलदेवी माँ तुलजा भवानी स्थापित हैं, जो आज भी महाराष्ट्र व अन्य राज्यों के कई निवासियों की कुलदेवी के रूप में प्रचलित हैं। तुलजा भवानी महाराष्ट्र के प्रमुख साढ़े तीन शक्तिपीठों में से एक है तथा भारत के प्रमुख इक्यावन शक्तिपीठ में से भी एक मानी जाती है। मान्यता है कि शिवाजी को खुद देवी माँ ने तलवार प्रदान की थी। अभी यह तलवार लंदन के संग्रहालय में रखी हुई है। .

नई!!: हैदराबाद और तुलजा भवानी मंदिर, उस्मानाबाद · और देखें »

तेरा इंतजार

तेरा इंतजार (जिसका अंग्रेजी में मतलब होता है आई एम वेटिंग फॉर यू) एक आगामी 2017 की बॉलीवुड संगीत रोमांटिक फिल्म है, जिसका निर्देशन राजीव वालिया द्वारा किया गया है और फिल्म के निर्देशक अमान मेहता और बिजल मेहता है। इस फिल्म में अरबाज़ ख़ान और सन्नी लियोन प्रमुख भूमिका निभाते नजर आएंगे।  .

नई!!: हैदराबाद और तेरा इंतजार · और देखें »

तेलंगाना

तेलंगाना (తెలంగాణ, तेलंगाणा), भारत के आन्ध्र प्रदेश राज्य से अलग होकर बना भारत का २९वाँ राज्य है। हैदराबाद को दस साल के लिए तेलंगाना और आंध्र प्रदेश की संयुक्त राजधानी बनाया जाएगा। यह परतन्त्र भारत के हैदराबाद नामक राजवाडे के तेलुगूभाषी क्षेत्रों से मिलकर बना है। 'तेलंगाना' शब्द का अर्थ है - 'तेलुगूभाषियों की भूमि'। 5 दिसम्बर 2013 को मंत्रिसमूह द्वारा बनाये गए ड्राफ्ट बिल को कैबिनेट ने मंजूरी दे दी। 18 फ़रवरी 2014 को तेलंगाना बिल लोक सभा से पास हो गया तथा दो दिन पश्चात इसे राज्य सभा से भी मंजूरी मिल गयी। राष्ट्रपति के दस्तखत के साथ तेलंगाना औपचारिक तौर पर भारत का 29वां राज्य बन गया है। हालाँकि लोक सभा से इस विधेयक को पारित कराते समय आशंकित हंगामे के चलते लोकसभा-टेलिविज़न का प्रसारण रोकना पड़ा था। .

नई!!: हैदराबाद और तेलंगाना · और देखें »

तेलंगाना राष्ट्र समिति

तेलंगाना राष्ट्र समिति (तेरास) दक्षिण भारतीय राज्य तेलंगाना की क्षेत्रीय राजनीतिक पार्टी है जो वर्तमान में तेलंगाना राज्य में सरकार चला रही है। के॰ चंद्रशेखर राव पार्टी के अध्यक्ष और राज्य के पहले और वर्तमान मुख्यमंत्री है। .

नई!!: हैदराबाद और तेलंगाना राष्ट्र समिति · और देखें »

तेलंगाना के जिले

तेलंगाना के जिले: दक्षिण भारत में तेलंगाना राज्य 31 जिलों में विभाजित है। तेलंगाना राज्य में एक 'जिला' एक प्रशासनिक भौगोलिक इकाई है, जिसका नेतृत्व जिला कलेक्टर, भारतीय प्रशासनिक सेवा से संबंधित अधिकारी है। .

नई!!: हैदराबाद और तेलंगाना के जिले · और देखें »

तेजस्वी मादीवाड़ा

तेजस्वि मादीवाड़ा (తేజస్వి మదివాడ.; जन्म 3 जुलाई, 1991) एक भारतीय फिल्म अभिनेत्री और मॉडल है, जो मुख्यतः तेलुगू फिल्म उद्योग में काम करती है, वह एक तमिल फिल्म में दिखाई देती है। .

नई!!: हैदराबाद और तेजस्वी मादीवाड़ा · और देखें »

तीतर जैसी पूंछ वाला जल-कपोत

भरतपुर, राजस्थान, भारत में गैर प्रजनन पंख. तीतर जैसी पूंछ वाला जल-कपोत (हाइड्रोफेसियानस चिरुरगस) एक प्रतिरुपी प्रजाति हाइड्रोफेसियानस में आनेवाला एक जल-कपोत है। जल-कपोत, जकानिडे परिवार के लम्बे पैरों वाले पक्षी (वेडर) हैं, जिन्हें इनके बड़े पंजों द्वारा पहचाना जाता है जो इन्हें अपने पसंदीदा प्राकृतिक वास, छिछली झीलों में तैरती हुई वनस्पतियों पर चलने में समर्थ बनाते हैं। तीतर जैसी पूंछ वाला जल-कपोत तैर भी सकता है, हालांकि सामान्यतया यह वनस्पतियों पर चलना ही पसंद करता है। इस प्रजाति की मादाएं, नर की अपेक्षा अधिक रंगबिरंगी होती हैं और बहुनरगामी होती हैं। जल-कपोत एक Linnæus' की ब्राजीलियाई पुर्तगाली जकाना (इस पक्षी के टूपी नाम से लिया गया) के लिए मिथ्या लैटिन गलत वर्तनी है जिसका उच्चारण लगभग जैसा होता है। .

नई!!: हैदराबाद और तीतर जैसी पूंछ वाला जल-कपोत · और देखें »

द टाइम्स ऑफ़ इण्डिया

द टाइम्स ऑफ़ इण्डिया (The Times of India, TOI के रूप में संक्षेपाक्षरित) भारत में प्रकाशित एक अंग्रेज़ी भाषा का दैनिक समाचार पत्र है। इसका प्रबन्धन और स्वामित्व बेनेट कोलेमन एंड कम्पनी लिमिटेड के द्वारा किया जाता है। दुनिया में सभी अंग्रेजी भाषा के व्यापक पत्रों में इस अखबार की प्रसार संख्या सर्वाधिक है। 2005 में, अखबार ने रिपोर्ट दी कि (24 लाख से अधिक प्रसार के साथ) इसे ऑडिट बुरो ऑफ़ सर्क्युलेशन के द्वारा दुनिया के सबसे ज्यादा बिकने वाले अंग्रेजी भाषा के सामान्य समाचार पत्र के रूप में प्रमाणित किया गया है। इसके वावजूद भारत के भाषायी समाचार पत्रों (विशेषत: हिन्दी के अखबारों) की तुलना में इसका प्रसार बहुत कम है। टाइम्स ऑफ इंडिया को मीडिया समूह बेनेट, कोलेमन एंड कम्पनी लिमिटेड के द्वारा प्रकाशित किया जाता है, इसे टाइम्स समूह के रूप में जाना जाता है, यह समूह इकॉनॉमिक टाइम्स, मुंबई मिरर, नवभारत टाइम्स (एक हिंदी भाषा का दैनिक), दी महाराष्ट्र टाइम्स (एक मराठी भाषा का दैनिक) का भी प्रकाशन करता है। .

नई!!: हैदराबाद और द टाइम्स ऑफ़ इण्डिया · और देखें »

द हिन्दू

द हिन्दू (द हिन्दू) भारत में प्रकाशित होने वाला एक दैनिक अंग्रेज़ी समाचार पत्र है। इसका मुख्यालय चेन्नई में है और इसका साप्ताहिक पत्रिका के रूप में प्रकाशन वर्ष 1878 में आरम्भ हुआ। यह दैनिक के रूप में वर्ष 1889 में आरम्भ हुआ। यह भारत के शीर्ष दैनिक अंग्रेज़ी समाचार पत्रों में से एक है। भारतीय पाठक सर्वेक्षण के 2014 के अनुसार यह भारत में पढ़े जाने वाले अंग्रेज़ी समाचार पत्रों में तीसरे स्थान पर है। पहले दो स्थानों पर द टाइम्स ऑफ़ इंडिया और हिन्दुस्तान टाइम्स पाये गये। द हिन्दू मुख्य रूप से दक्षिण भारत में पढ़ा जाता है और केरल एवं तमिलनाडु में सबसे ज्यादा पढ़ा जाने वाला अंग्रेज़ी दैनिक समाचार पत्र है। वर्ष २०१० के आँकड़ों के अनुसार इस उद्यम में 1,600 से अधिक लोगों को काम दिया गया है और इसकी वार्षिक आय $200 मिलियन से अधिक है। इसकी आय के मुख्य स्रोतों में अंशदान और विज्ञापन प्रमुख हैं। वर्ष 1995 में अपना ऑनलाइन संस्करण उपलब्ध करवाने वाला, द हिन्दू प्रथम भारतीय समाचार पत्र है। नवम्बर 2015 के अनुसार, यह भारत के नौ राज्यों में 18 स्थानों से प्रकाशित होता है: बंगलौर, चेन्नई, हैदराबाद, तिरुवनन्तपुरम, विजयवाड़ा, कोलकाता, मुम्बई, कोयंबतूर, मदुरै, नोएडा, विशाखपट्नम, कोच्चि, मैंगलूर, तिरुचिरापल्ली, हुबली, मोहाली, लखनऊ, इलाहाबाद और मलप्पुरम। .

नई!!: हैदराबाद और द हिन्दू · और देखें »

दसलाखी नगर

जो शहर मोटे अक्षरों में लिखे हैं वो अपने राज्य या केंद्रशासित प्रदेश की राजधानी भी हैं .

नई!!: हैदराबाद और दसलाखी नगर · और देखें »

दाराशा नौशेरवां वाडिया

प्रोफेसर दाराशा नौशेरवां वाडिया (Darashaw Nosherwan Wadia FRS; 25 अक्तूबर 1883 – 15 जून 1969) भारत के अग्रगण्य भूवैज्ञानिक थे। वे भारतीय भूवैज्ञानिक सर्वेक्षण में कार्य करने वाले पहले कुछ वैज्ञानिकों में शामिल थे। वे हिमालय की स्तरिकी पर विशेष कार्य के लिये प्रसिद्ध हैं। उन्होने भारत में भूवैज्ञानिक अध्ययन तथा अनुसंधान स्थापित करने में सहायता की। उनकी स्मृति में 'हिमालयी भूविज्ञान संस्थान' का नाम बदलकर १९७६ में 'वाडिया हिमालय भूविज्ञान संस्‍थान' कर दिया गया। उनके द्वारा रचित १९१९ में पहली बार प्रकाशित 'भारत का भूविज्ञान' (Geology of India) अब भी प्रयोग में बना हुआ है। .

नई!!: हैदराबाद और दाराशा नौशेरवां वाडिया · और देखें »

दवा कंपनियों की सूची

स्वास्थ्य सेवा राजस्व द्वारा श्रेणित 50 सबसे बड़ी दवा और जैव प्रौद्योगिकी कंपनियों की सूची निम्नलिखित है.

नई!!: हैदराबाद और दवा कंपनियों की सूची · और देखें »

दक्षिण एशिया

thumb दक्षिण एशिया एक अनौपचारिक शब्दावली है जिसका प्रयोग एशिया महाद्वीप के दक्षिणी हिस्से के लिये किया जाता है। सामान्यतः इस शब्द से आशय हिमालय के दक्षिणवर्ती देशों से होता है जिनमें कुछ अन्य अगल-बगल के देश भी जोड़ लिये जाते हैं। भारत, पाकिस्तान, श्री लंका और बांग्लादेश को दक्षिण एशिया के देश या भारतीय उपमहाद्वीप के देश कहा जाता है जिसमें नेपाल और भूटान को भी शामिल कर लिया जाता है। कभी कभी इसमें अफगानिस्तान और म्याँमार को भी जोड़ लेते हैं। दक्षिण एशिया के देशों का एक संगठन सार्क भी है जिसके सदस्य देश निम्नवत हैं.

नई!!: हैदराबाद और दक्षिण एशिया · और देखें »

दक्षिण एक्स्प्रेस

१२७२१/१२७२२ दक्षिण एक्सप्रेस दक्षिण एक्स्प्रेस २७२२ भारतीय रेल द्वारा संचालित एक मेल एक्स्प्रेस ट्रेन है। यह ट्रेन ह निजामुद्दीन रेलवे स्टेशन (स्टेशन कोड:NZM) से १०:५०PM बजे छूटती है और हैदराबाद डेकन रेलवे स्टेशन (स्टेशन कोड:HYB) पर ०५:००AM बजे पहुंचती है। इसकी यात्रा अवधि है ३० घंटे १० मिनट। गाड़ी संख्या १२७२१/१२७२२ दक्षिण एक्सप्रेस भारतीय रेलवे से सम्बंधित एक सुपरफास्ट एक्सप्रेस है जो भारत में हैदराबाद डेक्कन और हजरत निजामुद्दीन के बीच चलती है। यह एक दैनिक सेवा है। यह हजरत निजामुद्दीन के लिए हैदराबाद डेक्कन से ट्रेन नंबर १२७२१ के रूप में और विपरीत दिशा में ट्रेन संख्या १२७२२ के रूप में चलती है। हज़रत निजामुद्दीन एवं हैदराबाद के बीस्क चलती यह ट्रेन 46 स्टेशनों पर रूकती हैI इस ट्रैन का रनिंग टाइम एक दिन और छः घंटे है! इस ट्रैन की औसत गति ५६ की.मि.

नई!!: हैदराबाद और दक्षिण एक्स्प्रेस · और देखें »

दक्षिण भारत

भारत के दक्षिणी भाग को दक्षिण भारत भी कहते हैं। अपनी संस्कृति, इतिहास तथा प्रजातीय मूल की भिन्नता के कारण यह शेष भारत से अलग पहचान बना चुका है। हलांकि इतना भिन्न होकर भी यह भारत की विविधता का एक अंगमात्र है। दक्षिण भारतीय लोग मुख्यतः द्रविड़ भाषा जैसे तेलुगू,तमिल, कन्नड़ और मलयालम बोलते हैं और मुख्यतः द्रविड़ मूल के हैं। .

नई!!: हैदराबाद और दक्षिण भारत · और देखें »

दक्षिण भारत हिन्दी प्रचार सभा

दक्षिण भारत हिन्दी प्रचार सभा एक प्रमुख हिन्दीसेवी संस्था है जो भारत के दक्षिणी राज्यों तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश, केरल और कर्नाटक में भारत के स्वतंत्रत होने के के काफी पहले से हिन्दी के प्रचार-प्रसार का कार्य कर रही है।;संगठन दक्षिण भारत हिन्दी प्रचार सभा का मुख्यालय टी नगर चेन्नै में है। इसके चार विभाग हैं जो दक्षिण के चार राज्यों स्थित में हैं। चार क्षेत्रीय मुख्यालय ये हैं-.

नई!!: हैदराबाद और दक्षिण भारत हिन्दी प्रचार सभा · और देखें »

दक्षिण भारतीय व्यंजन

दक्षिण भारतीय व्यंजन शब्द का प्रयोग भारत के चार दक्षिणी राज्यों आंध्रप्रदेश, कर्नाटक, केरल और तमिलनाडु में पाए जाने वाले व्यंजन के लिए होता है। .

नई!!: हैदराबाद और दक्षिण भारतीय व्यंजन · और देखें »

दक्षिणी कमान (भारत)

दक्षिणी कमान 18 9 5 से सक्रिय भारतीय सेना का गठन है। इसमें 1 9 61 के गोवा के भारतीय अनुबंध के दौरान, और 1 9 65 और 1 9 71 के भारत-पाकिस्तानी युद्धों के दौरान आधुनिक भारत में कई प्रिंसिपल राज्यों के एकीकरण के दौरान कार्रवाई हुई है। लेफ्टिनेंट जनरल पी.एम.

नई!!: हैदराबाद और दक्षिणी कमान (भारत) · और देखें »

दक्खिनी

दखनी या दक्कनी या दखिनी:Dakhni (Hindi: दक्खिनी), और Dakkhani, ये बोली उर्दू ज़बान की एक अहम बोली है, जो जनूबी हिंदूस्तान में बोली जाती है। दखनी हिंदी मूलतः हिंदी का ही पूर्व रूप है जिसका विकास ईसा की १४वी शती से १८बी शती तक दक्खिन के बहमनी, क़ुतुब शाही और आदिल शाही आदि राज्यों के सुल्तानों के संरक्षण मैं हुआ था। वह मूलतः दिल्ली के आस पास की हरियाणी एवं खडी बोली ही थी जिस पर ब्रजभाषा, अवधी और पंजाबी के साथ-साथ मराठी, गुजराती तथा दक्षिण की सहवर्ती भाषाओं तेलुगु तथा कन्नड आदि का भी प्रभाव पडा था और इसने अरबी फारसी तथा तुर्की आदि के भी शब्द ग्रहण किए थे। यह मुख्यत फारसी लिपि में ही लिखी जाती थी। इसके कवियों ने इस भाषा को मुख्यत 'हिंदवी', हिंदी और 'दक्खिनी' ही कहा था। इसे एक प्रकार से आधुनिक हिंदी और उर्दु की पूर्वगामी भाषा कहा जा सकता है। .

नई!!: हैदराबाद और दक्खिनी · और देखें »

दुरन्त एक्सप्रेस

दुरन्त एक्सप्रेस (बांग्ला: দুরন্ত "तुरंत"), भारतीय रेल की लंबी दूरी की गाड़ियों का एक वर्ग है। इन गाड़ियों की विशेषता यह है कि, तकनीकी विरामों को छोड़कर यह स्रोत से गंतव्य तक का सफर बिना रुके (अविराम) तय करती हैं। सभी दुरन्त एक्सप्रेस गाड़ियों को आसानी से उनके विशेष पीले हरे रंग के यात्री डिब्बों (परिच्छद) द्वारा पहचाना जा सकता है। कई दुरन्त एक्सप्रेस सेवायें भारत के महानगरों और प्रमुख राज्यों की राजधानियों के बीच संचालित होती। अधिकतर समय, किन्हीं दो शहरो के बीच दुरन्त एक्सप्रेस गाड़ियां सबसे तेज परिवहन उपलब्ध कराती हैं, हालांकि यह जरूरी नहीं कि यह तथ्य सभी सेवाओं के लिए सच हो। .

नई!!: हैदराबाद और दुरन्त एक्सप्रेस · और देखें »

दूरस्थ शिक्षा

दूरस्थ शिक्षा (Distance education), शिक्षा की वह प्रणाली है जिसमें शिक्षक तथा शिक्षु को स्थान-विशेष अथवा समय-विशेष पर मौजूद होने की आवश्यकता नहीं होती। यह प्रणाली, अध्यापन तथा शिक्षण के तौर-तरीकों तथा समय-निर्धारण के साथ-साथ गुणवत्ता संबंधी अपेक्षाओं से समझौता किए बिना प्रवेश मानदंडों के संबंध में भी उदार है। भारत की मुक्त तथा दूरस्थ शिक्षा प्रणाली में राज्यों के मुक्त विश्वविद्यालय, शिक्षा प्रदान करने वाली संस्थाएं तथा विश्वविद्यालय शामिल है तथा इसमें दोहरी पद्धति के परंपरागत विश्वविद्यालयों के पत्राचार पाठयक्रम संस्थान भी शामिल हैं। यह प्रणाली, सतत शिक्षा, सेवारत कार्मिकों के क्षमता-उन्नयन तथा शैक्षिक रूप से वंचित क्षेत्रों में रहने वाले शिक्षुओं के लिए गुणवत्तामूलक व तर्कसंगत शिक्षा के लिए अत्यधिक महत्वपूर्ण है। .

नई!!: हैदराबाद और दूरस्थ शिक्षा · और देखें »

देवी श्री प्रसाद

देवी श्री प्रसाद (దేవి శ్రీ ప్రసాద్, தேவி ஸ்ரீ பிரசாத், जन्म: 02 अगस्त 1979) तेलुगू और तमिल सिनेमा के संगीत निर्देशक, पार्श्व गायक और गीतकार हैं। उनके संगीत तमिल और तेलुगू के अलावा कई अन्य भाषाओं में भी पुनर्निर्मित किया गया है। उनकी फिल्मों के मुख्य भूमिका में मोहनलाल, अमिताभ बच्चन और सूर्या शिवकुमार जैसे सितारे रहे हैं। .

नई!!: हैदराबाद और देवी श्री प्रसाद · और देखें »

दीपक चाहर

दीपक लोकेन्द्र सिंह चाहर (जन्म 7 अगस्त 1992) एक भारतीय प्रथम श्रेणी क्रिकेट के खिलाड़ी है जो घरेलू क्रिकेट में राजस्थान के लिए खेलते हैं। ये एक आधिकारिक तौर पर मध्यम गति के तेज गेंदबाज हैं जो पहले इंडियन प्रीमियर लीग में मुंबई इंडियंस की टीम का हिस्सा रहे थे और अब इन्हें चेन्नई सुपर किंग्स ने खरीद लिया है। चाहर इससे पहले राजस्थान रॉयल्स के लिए भी खेल चुके है। चहर ने २०१०-११ के रणजी ट्रॉफी सीजन के पहले मैच में जयपुर में हैदराबाद के खिलाफ अपने प्रथम श्रेणी क्रिकेट की शुरुआत में१० रन देकर ८ विकेट लिए थे। उस मैच में हैदराबाद की टीम महज 21 रनों पर ऑल आउट हो गयी थी वह रणजी ट्रॉफी के इतिहास में सबसे कम स्कोर है। चहर की प्रभावशाली स्विंग गेंदबाजी ने उन्हें राजस्थान रॉयल्स ने खरीद लिया था। इसके बाद साल २०१८ इंडियन प्रीमियर लीग की नीलामी में चेन्नई सुपर किंग्स ने खरीदा। .

नई!!: हैदराबाद और दीपक चाहर · और देखें »

दीया मिर्ज़ा

दीया मिर्ज़ा भारतीय सिनेमा की एक प्रमुख अभिनेत्री हैं। वह मिस एशिया पैसिफिक भी रह चुकी हैं। उनका जन्म ९ दिसम्बर १९८१ को हैदराबाद, आंध्र प्रदेश, भारत में हुआ। उन्होंने २ दिसम्बर सन् २००० को मनीला, फिलीपींस में “मिस इंडीआ एशीआ पैसिफिक” जीता। इसी पुरस्कार समारोह में उन्होंने दो और पुरस्कार भी जीते, “मिस बिऊटीफुल स्माइल” एवं “द सोनी विऊअरज़ चोइस अवार्ड”। .

नई!!: हैदराबाद और दीया मिर्ज़ा · और देखें »

नथुराम विनायक गोडसे

नथुराम विनायक गोडसे, या नथुराम गोडसे(१९ मई १९१० - १५ नवंबर १९४९) एक कट्टर हिन्दू राष्ट्रवादी समर्थक थे, जिसने ३० जनवरी १९४८ को नई दिल्ली में गोली मारकर मोहनदास करमचंद गांधी की हत्या कर दी थी। गोडसे, राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के पुणे से पूर्व सदस्य थे। गोडसे का मानना था कि भारत विभाजन के समय गांधी ने भारत और पाकिस्तान के मुसलमानों के पक्ष का समर्थन किया था। जबकि हिंदुओं पर हो रहे अत्याचार पर अपनी आंखें मूंद ली थी। गोडसे ने नारायण आप्टे और ६ लोगों के साथ मिल कर इस हत्याकाण्ड की योजना बनाई थी। एक वर्ष से अधिक चले मुकद्दमे के बाद ८ नवम्बर १९४९ को उन्हें मृत्युदंड प्रदान किया गया। हालाँकि गांधी के पुत्र, मणिलाल गांधी और रामदास गांधी द्वारा विनिमय की दलीलें पेश की गई थीं, परंतु उन दलीलों को तत्कालीन प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू, महाराज्यपाल चक्रवर्ती राजगोपालाचारी एवं उपप्रधानमंत्री वल्लभभाई पटेल, तीनों द्वारा ठुकरा दिया गया था। १५ नवम्बर १९४९ को गोडसे को अम्बाला जेल में फाँसी दे दी गई। .

नई!!: हैदराबाद और नथुराम विनायक गोडसे · और देखें »

नरेन्द्र प्रसाद सक्सेना

पंडित नरेन्द्र (१० अप्रैल १९०७ - २४ सितंबर १९७६) प्रसिद्ध आर्यसमाजी थे जिन्होने हैदराबाद की निजामशाही के विरुद्ध बहुत संघर्ष किया। .

नई!!: हैदराबाद और नरेन्द्र प्रसाद सक्सेना · और देखें »

नानी (अभिनेता)

नवीन बाबू घन्टा (जन्म २४ फरबरी १९८४; थिएटर नाम नानी) एक भारतीय अभिनेता है जो मुख्य रूप से तेलुगू फिल्मों में काम करते है। .

नई!!: हैदराबाद और नानी (अभिनेता) · और देखें »

नाभिकीय ईंधन सम्मिश्र

नाभिकीय ईंधन सम्मिश्र (नाईंस) भारत सरकार, परमाणु ऊर्जा विभाग की बड़ी औद्योगिक स्थापना है जो भारत में प्रचालित सभी परमाणु ऊर्जा रिएक्टरों के लिए नाभिकीय ईंधन बण्डल और रिएक्टर कोर घटकों की आपूर्ति के लिए उत्तरदायी है। इसकी स्थापना वर्ष 1971 में की गई थी। इसका मुख्यालय हैदराबाद में है। यह यह एक अनुपम सुविधा है जहाँ एक ही छत के नीचे कच्चे पदार्थ से प्रारंभ करके यूरेनियम ईंधन, ज़र्केलॉय के बने आवरण और रिएक्टर कोर के विभिन्न घटक निर्मित किये जाते हैं। .

नई!!: हैदराबाद और नाभिकीय ईंधन सम्मिश्र · और देखें »

नारा चंद्रबाबू नायडू

नारा चंद्रबाबू नायडू(तेलुगू:నారా చంద్రబాబు నాయుడు) (जन्म: 20 अप्रैल, 1950) वर्तमान आन्ध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री हैं। उनके नाम आन्ध्र प्रदेश में सबसे लंबे समय तक मुख्यमंत्री रहने का कीर्तिमान भी है। वर्तमान में वे आन्ध्र प्रदेश विधान सभा में सदन के नेता हैं। चंद्रबाबू का जन्म चित्तूर जिले के नारावारिपल्ली नामक गाँव में 20 अप्रैल 1950 को हुआ था। उन्होंने श्री वेंकटेश्वर विश्वविद्यालय तिरुपति से अर्थशास्त्र में मास्टर्स की उपाधि हासिल की और आजकल इसी विश्वविद्यालय से पीएचडी के लिए अपना शोध कार्य कर रहे हैं। .

नई!!: हैदराबाद और नारा चंद्रबाबू नायडू · और देखें »

नागपुर

नागपुर (अंग्रेज़ी: Nagpur, मराठी: नागपूर) महाराष्ट्र राज्य का एक प्रमुख शहर है। नागपुर भारत के मध्य में स्थित है। महाराष्ट्र की इस उपराजधानी की जनसंख्या २४ लाख (१९९८ जनगणना के अनुसार) है। नागपुर भारत का १३वा व विश्व का ११४ वां सबसे बड़ा शहर हैं। यह नगर संतरों के लिये काफी मशहूर है। इसलिए इसे लोग संतरों की नगरी भी कहते हैं। हाल ही में इस शहर को देश के सबसे स्वच्छ व सुदंर शहर का इनाम मिला है। नागपुर भारत देश का दूसरे नंबर का ग्रीनेस्ट (हरित शहर) शहर माना जाता है। बढ़ते इन्फ्रास्ट्रकचर की वजह से नागपुर की गिनती जल्द ही महानगरों में की जायेगी। नागपुर, एक जिला है व ऐतिहासिक विदर्भ (पूर्व महाराष्ट्र का भाग) का एक प्रमुख शहर भी। नागपुर शहर की स्थापना गोण्ड राज्य ने की थी। फिर वह राजा भोसले के उपरान्त मराठा साम्राज्य में शामिल हो गया। १९वी सदी मैं अंग्रेज़ी हुकुमत ने उसे मध्य प्रान्त व बेरार की राजधानी बना दिया। आज़ादी के बाद राज्य पुनर्रचना ने नागपुर को महाराष्ट्र की उपराजधानी बना दिया। नागपुर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ और विश्व हिंदू परिषद जैसी राष्ट्रवादी संघटनाओ का एक प्रमुख केंद्र है। .

नई!!: हैदराबाद और नागपुर · और देखें »

नागा चैतन्य

नागा चैतन्य अक्किनेनी (तेलुगू: అక్కినేని నాగ చైతన్య; जन्म 23 नवंबर 1986) एक भारतीय फिल्म अभिनेता है जो तेलुगू सिनेमा में काम करते है। .

नई!!: हैदराबाद और नागा चैतन्य · और देखें »

नागार्जुनकोंडा

नागार्जुनकोंडा आंध्र प्रदेश राज्य के नलगोंडा ज़िले में स्थित एक ऐतिहासिक नगर है। हैदराबाद से 100 मील दक्षिण-पूर्व की ओर स्थित नागार्जुनकोंडा एक प्राचीन स्थान है। यह बौद्ध महायान के प्रसिद्ध आचार्य नागार्जुन (द्वितीय शताब्दी) ई. के नाम पर प्रसिद्ध है। प्रथम शताब्दी में यहाँ सातवाहन नरेशों का राज्य था। 'हाल' नामक सातवाहन राजा ने नागार्जुन के लिए श्री पर्वत शिखर पर एक विहार बनवाया था। यह स्थान बौद्ध धर्म की महायान शाखा का भी काफ़ी समय तक प्रचार केन्द्र रहा। सातवाहनों के पश्चात इक्ष्वाकु नरेशों ने यहाँ राज्य किया। नागार्जुनकोंडा इक्ष्वाकु राजाओं के समय एक सुन्दर नगर था। कृष्णा नदी के तट पर स्थित तथा चतुर्दिक पर्वत मालाओं से परिवृत्त यह नगर प्राकृतिक सौन्दर्य से समंवित होने के साथ ही दुर्भेद्य दुर्ग की भाँति सुरक्षित भी था। यहाँ से नौ बौद्ध स्तूपों के अवशेष लगभग 50 वर्ष पूर्व उत्खनित किये गये थे। ये इस नगर के प्राचीन गौरव एवं ऐश्वर्य के साक्षी हैं। उत्खनन में प्राप्त यहाँ के अवशेषों में एक स्तूप, दो चैत्य और एक विहार हैं। स्तूप के निकट बुद्ध के जीवन के दृश्यों को व्यक्त करने वाले चूने के पत्थर के टुकड़े मिले हैं। हिन्दू धर्म के पुनरुत्थान से नागार्गुनकोंडा का महत्त्व घटने लगा। नागार्जुनकोंडा से प्राप्त अभिलेखों से यह ज्ञात होता है, कि पहली शताब्दी ई. में भारत का चीन, यूनानी जगत तथा लंका से सम्बन्ध स्थापित था। नागार्जुनकोंडा के एक अभिलेख से स्थविरों के संघों का ज्ञान होता है, जिन्होंने कश्मीर, गांधार, चीन, किरात, तोसलि, यवन, ताम्रपर्णी द्वीपों में बौद्ध धर्म फैलाया था। श्रेणी:आन्ध्र प्रदेश के नगर.

नई!!: हैदराबाद और नागार्जुनकोंडा · और देखें »

निर्मला श्योराण

निर्मला श्योराण (Nirmala Sheoran) (जन्म १५ जुलाई १९९५) एक भारतीय महिला स्प्रिंटर है जो मुख्यतः ४०० मीटर दौड़ के लिए जानी जाती है। इन्होंने 2016 में ब्राजील के रियो डि जेनेरियो में आयोजित 2016 ग्रीष्मकालीन ओलम्पिक खेलों में क़्वालीफाई किया। .

नई!!: हैदराबाद और निर्मला श्योराण · और देखें »

निर्मला सीतारमन

निर्मला सीतारमन (Nirmala Seetharaman, நிர்மலா சீதாராமன்.) भारत की रक्षामंत्री हैं। सितंबर २०१७ में रक्षा मंत्री बनने से पहले वे भारत की वाणिज्य और उद्योग (स्वतंत्र प्रभार) तथा वित्त व कारपोरेट मामलों की राज्य मंत्री रह चुकी हैं। वे भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) से संबद्ध हैं तथा पार्टी की राष्ट्रीय प्रवक्ता भी रह चुकी हैं। निर्मला सीतारमन भारत की पहली पूर्णकालिक महिला रक्षा मंत्री हैं; हालांकि इंदिरा गांधी ने प्रधानमंत्री पद पर रहते हुए अतिरिक्त कार्यभार के रूप में यह मंत्रालय संभाला था। .

नई!!: हैदराबाद और निर्मला सीतारमन · और देखें »

निज़ाम-उल-मुल्क आसफजाह

मीर क़मर-उद-दीन ख़ान सिद्दिक़ी उर्फ़ निजाम-उल-मुल्क आसफजाह (२0 अगस्त १६७१- १ जून १७४८) मुग़ल शासक औरंगजेब के बाद के हैदराबाद का प्रसिद्ध निज़ाम था, जिसने आसफ़जाही राजवंश की नींव रखी। उसने १७२४ में हैदराबाद राज्य की स्थापना की तथा ३१ जुलाई १७२0 से लेकर १ जून १७४८ (मृत्युपर्यंत) तक शासन किया। औरंगज़ेब ने उसे चिंकिलिच ख़ान (१६९0-९१)), फ़र्रूख़सियर ने निज़ाम-उल-मुल्क (१७१३) तथा मुहम्मद शाह ने आसफ़जाह (१७२५)आदि उपाधियाँ प्रदान की। .

नई!!: हैदराबाद और निज़ाम-उल-मुल्क आसफजाह · और देखें »

निज़ामाबाद

प्राचीन काल में इन्‍द्रपुरी और इन्‍दूर के नाम से विख्‍यात तेलंगाना का निजामाबाद अपनी समृद्ध संस्‍कृति के साथ-साथ ऐतिहासिक स्‍मारकों और प्राकृतिक सुंदरता के लिए जाना जाता है। इस जिले की सीमाएं करीमनगर, मेडक और नंदेदू जिलों से मिलती और पूर्व में आदिलाबाद से मिलती हैं। .

नई!!: हैदराबाद और निज़ामाबाद · और देखें »

नज़ीर अहमद देहलवी

नज़ीर अहमद देहलवी (१८३०-१९१२), जिन्हें औमतौर पर डिप्टी नज़ीर अहमद (उर्दू) बुलाया जाता था, १९वीं सदी के एक विख्यात भारतीय उर्दू-लेखक, विद्वान और सामाजिक व धार्मिक सुधारक थे। उनकी लिखी कुछ उपन्यास-शैली की किताबें, जैसे कि 'मिरात-उल-उरूस' और 'बिनात-उल-नाश' और बच्चों के लिए लिखी पुस्तकें, जैसे कि 'क़िस्से-कहानियाँ' और 'ज़ालिम भेड़िया', आज तक उत्तर भारत व पाकिस्तान में पढ़ी जाती हैं। .

नई!!: हैदराबाद और नज़ीर अहमद देहलवी · और देखें »

नवाब मिर्ज़ा खान दाग़

नवाब मिर्जा खाँ 'दाग़', उर्दू के प्रसिद्ध कवि थे। इनका जन्म सन् 1831 में दिल्ली में हुआ। इनके पिता शम्सुद्दीन खाँ नवाब लोहारू के भाई थे। जब दाग़ पाँच-छह वर्ष के थे तभी इनके पिता मर गए। इनकी माता ने बहादुर शाह "ज़फर" के पुत्र मिर्जा फखरू से विवाह कर लिया, तब यह भी दिल्ली में लाल किले में रहने लगे। यहाँ दाग़ को हर प्रकार की अच्छी शिक्षा मिली। यहाँ ये कविता करने लगे और जौक़ को गुरु बनाया। सन् 1856 में मिर्जा फखरू की मृत्यु हो गई और दूसरे ही वर्ष बलवा आरंभ हो गया, जिससे यह रामपुर चले गए। वहाँ युवराज नवाब कल्ब अली खाँ के आश्रय में रहने लगे। सन् 1887 ई. में नवाब की मृत्यु हो जाने पर ये रामपुर से दिल्ली चले आए। घूमते हुए दूसरे वर्ष हैदराबाद पहुँचे। पुन: निमंत्रित हो सन् 1890 ई. में दाग़ हैदराबाद गए और निज़ाम के कविता गुरु नियत हो गए। इन्हें यहाँ धन तथा सम्मान दोनों मिला और यहीं सन् 1905 ई. में फालिज से इनकी मृत्यु हुई। दाग़ शीलवान, विनम्र, विनोदी तथा स्पष्टवादी थे और सबसे प्रेमपूर्वक व्यवहार करते थे। गुलजारे-दाग़, आफ्ताबे-दाग़, माहताबे-दाग़ तथा यादगारे-दाग़ इनके चार दीवान हैं, जो सभी प्रकाशित हो चुके हैं। 'फरियादे-दाग़', इनकी एक मसनवी (खंडकाव्य) है। इनकी शैली सरलता और सुगमता के कारण विशेष लोकप्रिय हुई। भाषा की स्वच्छता तथा प्रसाद गुण होने से इनकी कविता अधिक प्रचलित हुई पर इसका एक कारण यह भी है कि इनकी कविता कुछ सुरुचिपूर्ण भी है। .

नई!!: हैदराबाद और नवाब मिर्ज़ा खान दाग़ · और देखें »

नगमा

चित्र:C:\Documents and Settings\user\Desktop\images.jpg नंदिता मोरारजी या नम्रता सदाना, जो नगमा के रूप में विख्यात हैं, नघमाநக்மா (जन्म 25 दिसम्बर 1974), बॉलीवुड, टॉलीवुड और कॉलीवुड की एक भारतीय अभिनेत्री हैं। 1990 के दशक में अपने चरम पर, द हिन्दू अख़बार के उद्धरणानुसार, "तमिल सिनेमा पर उनका प्रभुत्व" था। उनका जन्म क्रिसमस दिवस पर, एक मुससमान मां और हिन्दू पिता के घर हुआ। उन्होंने बॉलीवुड में अपना अभिनय कॅरिअर शुरू किया और कुछ फ़िल्मों में अभिनय किया, लेकिन दक्षिण में स्थानांतरित हो गईं, जहां उनकी मुंबई वापसी से पहले तक, उन्हें बेशुमार सफलता मिली। हालांकि कभी-कभी फ़िल्म नामावलियों में उन्हें नग़मा के रूप में सूचीबद्ध किया गया है, पर उन्हें एक पुरानी अभिनेत्री न समझ लिया जाए, जिन्होंने इसी मंच नाम को अपनाया था - यह ग़लती इंटरनेट मूवी डेटाबेस वेबसाइट पर उनकी सूची में किया गया है। नगमा हिन्दी, तेलुगू, तमिल, कन्नड़, मलयालम, बंगाली, भोजपुरी, पंजाबी और अब मराठी जैसी भारतीय भाषाओं में विस्तृत रूप से काम करने के लिए उल्लेखनीय रही हैं। .

नई!!: हैदराबाद और नगमा · और देखें »

नंदमुरी कल्याण राम

नंदमुरी कल्याण राम एक भारतीय अभिनेता और फिल्म निर्माता है जो तेलुगू सिनेमा में काम करते है। .

नई!!: हैदराबाद और नंदमुरी कल्याण राम · और देखें »

न्यूज़ीलैंड क्रिकेट टीम का भारत दौरा 1955-56

न्यूजीलैंड क्रिकेट टीम 1955-56 सत्र में भारत का दौरा किया था। टीमों को पांच टेस्ट मैच खेले। भारत तीन टेस्ट ड्रॉ मैचों के साथ श्रृंखला 2-0 से जीत ली। श्रृंखला से पहले, न्यूजीलैंड टीम पाकिस्तान में तीन टेस्ट मैचों की श्रृंखला खेली थी। .

नई!!: हैदराबाद और न्यूज़ीलैंड क्रिकेट टीम का भारत दौरा 1955-56 · और देखें »

न्यूज़ीलैंड क्रिकेट टीम का भारत दौरा 1999-00

न्यूजीलैंड की राष्ट्रीय क्रिकेट टीम ने भारत का दौरा किया और सितंबर और नवंबर 1999 के बीच तीन टेस्ट मैचों और पांच सीमित ओवर्स इंटरनेशनल (एलओआई) खेला। .

नई!!: हैदराबाद और न्यूज़ीलैंड क्रिकेट टीम का भारत दौरा 1999-00 · और देखें »

नूर अंतर्राष्ट्रीय माइक्रोफिल्म केन्द्र

नूर अंतर्राष्ट्रीय माइक्रोफिल्म केन्द्र, इस्लामिक गणराज्य ईरान नई दिल्ली, के कल्चर हाउस में स्थित है। नूर अंतर्राष्ट्रीय माइक्रोफिल्म केन्द्र पुरानी पाण्डुलिपि की मरम्मत, उनकी माइक्रोफिल्म व तस्वीर तैयार करना व मुद्रित पृष्ठों को प्रकाशित करना, जैसे कार्यो में लिप्त रहा है। मेहदी ख्वाजा पीरी द्वारा किये गए प्रयासों के परिणाम स्वरूप 1985 में इस सेंटर को स्थापित किया गया था। केन्द्र की शैक्षिक व सांस्कृतिक गतिविधियों की शुरुआत अल्लामा क़ाज़ी नूरुल्लाह शुस्तरी की पुण्यतिथि (बरसी) के साथ हुई। वह अपने समय के विधिवेत्ता होने के साथ-साथ एक विद्वान, मोहद्दिस, धर्मशास्त्री, कवि व साहित्यिक व्यक्ति भी थे। उन्हें शहीद-ए-सालिस से भी जाना जाता है। इस महान व्यक्ति की याद में नूर अंतर्राष्ट्रीय माइक्रोफिल्म केन्द्र का नाम रखा गया। .

नई!!: हैदराबाद और नूर अंतर्राष्ट्रीय माइक्रोफिल्म केन्द्र · और देखें »

नीरा आर्य

नीरा आर्या नीरा आर्य (१९०२ - १९९८), आजाद हिन्द फौज में रानी झांसी रेजिमेंट की सिपाही थीं, जिन पर अंग्रेजी सरकार ने गुप्तचर होने का आरोप भी लगाया था। 1998 में इनका निधन हैदराबाद में हुआ। इन्हें नीरा ​नागिनी के नाम से भी जाना जाता है। इनके भाई बसंत कुमार भी आजाद हिन्द फौज में थे। नीरा नागिन और इनके भाई बसंत कुमार के जीवन पर कई लोक गायकों ने काव्य संग्रह एवं भजन भी लिखे हैं। .

नई!!: हैदराबाद और नीरा आर्य · और देखें »

नीरा आर्या

नीरा आर्या नीरा आर्य (१९०२ - १९९८), आजाद हिन्द फौज में रानी झांसी रेजिमेंट की सिपाही थीं, जिन पर अंग्रेजी सरकार ने गुप्तचर होने का आरोप भी लगाया था। 1998 में इनका निधन हैदराबाद में हुआ। इन्हें नीरा ​नागिनी के नाम से भी जाना जाता है। इनके भाई बसंतकुमार भी आजाद हिन्द फौज में थे। नीरा नागिन और इनके भाई बसंतकुमार के जीवन पर कई लोक गायकों ने काव्य संग्रह एवं भजन भी लिखे हैं। .

नई!!: हैदराबाद और नीरा आर्या · और देखें »

पद्मजा नायडू

पद्मजा नाइडू (1900 - 2 मई 1975) भारतीय राजनीतिज्ञ सरोजिनी नायडू की सुपुत्री थीं। उन्होने अपनी माँ की तरह भारत के हितों के लिए खुद को समर्पित कर दिया था। केवल इक्कीस वर्ष की उम्र में वे भारत की राष्ट्रीय राजनीति में प्रवेश कर कई थीं, जब उन्हें भारतीय राष्ट्रीय काँग्रेस की हैदराबाद इकाई का संयुक्त संस्थापक बनाया गया। उन्होने विदेशी सामानों के बहिष्कार करने और खादी को अपनाने हेतु लोगों को प्रेरित करने का संदेश दिया और समर्पित अभियान में शामिल हुई। वे 1942 में भारत छोड़ो आंदोलन में भाग लेने के कारण जेल भी गई। स्वतन्त्रता के पश्चात वे पश्चिम बंगाल की राज्यपाल बनीं। उन्होने आधी सदी से भी ज्यादा सार्वजनिक जीवन जिया, इस दौरान वे रेड क्रॉस से भी जुड़ीं और 1971 से 1972 तक वे इसकी अध्यक्ष भी रहीं। उनके नाम पर दार्जिलिंग में पद्मजा नायडू हिमालयन प्राणी उद्यान है। .

नई!!: हैदराबाद और पद्मजा नायडू · और देखें »

परमाणु ऊर्जा शिक्षण संस्था

परमाणु ऊर्जा शिक्षण संस्था (पऊशिसं), भारत सरकार के परमाणु ऊर्जा विभाग का स्वायत्त निकाय है जो परमाणु ऊर्जा विभाग एवं उसके अधीन संघटक इकाइयों में कार्यरत कर्मचारियों के संतानों को बारहवीं कक्षा (कनिष्ठ महाविद्यालय) तक शिक्षा देता है। परमाणु ऊर्जा केंद्रीय विद्यालय तथा कनिष्ठ महाविद्यालय भारत भर में फैले हुए हैं। ये विद्यालय केन्‍द्रीय माध्‍यमिक शिक्षा बोर्ड तथा अन्‍य राज्‍य के बोर्डों से सम्बद्ध हैं। परमाणु ऊर्जा शिक्षण संस्‍था के तहत इस समय 16 विभिन्‍न केन्‍द्रों पर 30 विद्यालय / कनिष्‍ठ महाविद्यालय हैं, जिनमें लगभग 28000 विद्यार्थी, 1547 शिक्षक और 300 गैर शिक्षक कर्मचारी कार्यरत हैं। परमाणु ऊर्जा शिक्षण संस्था की स्थापना वर्ष 1969 में की गई थी। इसका मुख्यालय मुम्बई में है। .

नई!!: हैदराबाद और परमाणु ऊर्जा शिक्षण संस्था · और देखें »

परमाणु ऊर्जा विभाग (भारत)

भारत का परमाणु ऊर्जा विभाग (पऊवि) एक महत्वपूर्ण विभाग है जो सीधे प्रधानमंत्री के आधीन है। इसका मुख्यालय मुंबई में है। यह विभाग नाभिकीय विद्युत ऊर्जा की प्रौद्योगिकी के विकास, विकिरण प्रौद्योगिकी के विभिन्न क्षेत्रों (कृषि, चिकित्सा, उद्योग, मूलभूत अनुसन्धान आदि) में उपयोग तथा मूलभूत अनुसंधान में संलग्न है। इस विभाग के अन्तर्गत ५ अनुसन्धान केन्द्र, ३ औद्योगिक संगठन, ५ सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रम, तथा ३ सेवा संगठन हैं। इसके अलावा इसके अन्दर दो बोर्ड भी हैं जो नाभिकीय क्षेत्र एवं इससे सम्बन्धित क्षेत्रों में मूलभूत अनुसन्धान को प्रोत्साहित करते हैं एवं उसके लिए फण्ड प्रदान करते हैं। परमाणु ऊर्जा विभाग ८ संस्थानों को भी सहायता देता है जो अन्तरराष्ट्रीय स्तर पर सम्मानित हैं। परमाणु ऊर्जा विभाग (पऊवि) की स्थापना राष्ट्रपति के आदेश के माध्यम से दिनांक 3 अगस्त 1954 को की गई थी। .

नई!!: हैदराबाद और परमाणु ऊर्जा विभाग (भारत) · और देखें »

परमाणु खनिज अन्वेषण एवं अनुसंधान निदेशालय

परमाणु खनिज अन्वेषण एवं अनुसंधान निदेशालय (एएमडीईआर) भारत का एक प्रमुख अनुसंधान संस्थान है जो परमाणु खनिजों व विरल मृदा तत्वों के बारे में अनुसंधानरत है। यह हैदराबाद में स्थित है। परमाणु खनिज अन्वेषण एवं अनुसंधान निदेशालय का मुख्य अधिदेश है, - भारत के परमाणु ऊर्जा कार्यक्रम के सफल क्रियान्वयन के लिए आवश्यक यूरेनियम संसाधनों की पहचान एवं मूल्यांकन करना। इस महत्वपूर्ण कार्य के क्रियान्वयन के लिए नई दिल्ली, बंगलुरु, जमशेदपुर, शिलांग, जयपुर, नागपुर और हैदराबाद (पखनि मुख्यालय और दक्षिण मध्य क्षेत्र) के क्षेत्रीय एवं अनुसंधान केन्द्रों द्वारा संपूर्ण देश में विभिन्न स्थानों पर अन्वेषण किया जा रहा है। .

नई!!: हैदराबाद और परमाणु खनिज अन्वेषण एवं अनुसंधान निदेशालय · और देखें »

परिगि

परिगि रंगारेड्डी जिला, आंध्र प्रदेशका ऍक शहर है। हैदराबाद से ६० किलॉमीटर दूरी पर है। श्रेणी:रंगारेड्डी जिला.

नई!!: हैदराबाद और परिगि · और देखें »

परिकल्पना सम्मान

परिकल्पना सम्मान हिन्दी ब्लॉगिंग का एक ऐसा वृहद सम्मान है, जिसे बहुचर्चित तकनीकी ब्लॉगर रवि रतलामी ने हिन्दी ब्लॉगिंग का ऑस्कर कहा है। यह सम्मान प्रत्येक वर्ष आयोजित अंतर्राष्ट्रीय हिन्दी ब्लॉगर सम्मेलन में देशविदेश से आए हिन्दी के चिरपरिचित ब्लॉगर्स की उपस्थिति में प्रदान किया जाता है। .

नई!!: हैदराबाद और परिकल्पना सम्मान · और देखें »

पायल रोहतगी

पायल रोहतगी (जन्म: 9 नवंबर, 1980) हिन्दी फ़िल्मों की एक अभिनेत्री हैं। .

नई!!: हैदराबाद और पायल रोहतगी · और देखें »

पार्क हयात हैदराबाद

पार्क हयात हैदराबाद पार्क हयात हैदराबाद २९ अप्रैल २०१२ को खोला गया एक लक्जरी होटल है जो भारत में बंजारा हिल्स के पास, हैदराबाद में स्थित है। ये ३२,२५६ वर्ग मीटर (३४७,२०० वर्ग फुट) के क्षेत्र पर बनाया हुआ होटल भारत में पहली शहरी पार्क हयात है और पार्क हयात पोर्टफोलियो में २९ होटल है। .

नई!!: हैदराबाद और पार्क हयात हैदराबाद · और देखें »

पार्क होटल नई दिल्ली

होटल पार्क नई दिल्ली, शहर के सबसे प्रसिद्ध लग्ज़री 5 सितारा होटलों में से एक है। इस होटल का स्वामित्व एपीजे सुरेंद्र ग्रुप के पास हैं जिसका मुख्यालय कोलकाता मे हैं। इस समूह के अन्य होटल बैंगलोर, चेन्नई, हैदराबाद, कोलकाता, मुंबई, विशाखापट्टनम और गोवा में स्थित हैं। भारत की राजधानी नई दिल्ली में स्थित होने के चलते इस होटल का एक अपना अलग ही महत्व हैं। .

नई!!: हैदराबाद और पार्क होटल नई दिल्ली · और देखें »

पाकिस्तान क्रिकेट टीम का भारत दौरा 1986-87

पाकिस्तान की राष्ट्रीय क्रिकेट टीम ने 1986-87 के मौसम में पांच टेस्ट मैचों और छह वनडे मैचों के लिए भारत का दौरा किया। उन्होंने तीन प्रथम श्रेणी के मैच भी खेले। श्रृंखला के अंतिम मैच में पाकिस्तानी टीम 16 टेस्ट से जीत के बाद 1-0 से टेस्ट सीरीज जीती थी, पिछले चार मैचों की श्रृंखला ड्रॉ की गई थी। इमरान खान ने पाकिस्तान की कप्तानी की थी, जिसे "मैन ऑफ द सीरीज" वोट दिया गया था। .

नई!!: हैदराबाद और पाकिस्तान क्रिकेट टीम का भारत दौरा 1986-87 · और देखें »

पुणे

पुणे भारत के महाराष्ट्र राज्य का एक महत्त्वपूर्ण शहर है। यह शहर महाराष्ट्र के पश्चिम भाग, मुला व मूठा इन दो नदियों के किनारे बसा है और पुणे जिला का प्रशासकीय मुख्यालय है। पुणे भारत का छठवां सबसे बड़ा शहर व महाराष्ट्र का दूसरा सबसे बड़ा शहर है। सार्वजनिक सुखसुविधा व विकास के हिसाब से पुणे महाराष्ट्र मे मुंबई के बाद अग्रसर है। अनेक नामांकित शिक्षणसंस्थायें होने के कारण इस शहर को 'पूरब का ऑक्सफोर्ड' भी कहा जाता है। पुणे में अनेक प्रौद्योगिकी और ऑटोमोबाईल उपक्रम हैं, इसलिए पुणे भारत का ”डेट्राइट” जैसा लगता है। काफी प्राचीन ज्ञात इतिहास से पुणे शहर महाराष्ट्र की 'सांस्कृतिक राजधानी' माना जाता है। मराठी भाषा इस शहर की मुख्य भाषा है। पुणे शहर मे लगभग सभी विषयों के उच्च शिक्षण की सुविधा उपलब्ध है। पुणे विद्यापीठ, राष्ट्रीय रासायनिक प्रयोगशाला, आयुका, आगरकर संशोधन संस्था, सी-डैक जैसी आंतरराष्ट्रीय स्तर के शिक्षण संस्थान यहाँ है। पुणे फिल्म इन्स्टिट्युट भी काफी प्रसिद्ध है। पुणे महाराष्ट्र व भारत का एक महत्त्वपूर्ण औद्योगिक केंद्र है। टाटा मोटर्स, बजाज ऑटो, भारत फोर्ज जैसे उत्पादनक्षेत्र के अनेक बड़े उद्योग यहाँ है। 1990 के दशक मे इन्फोसिस, टाटा कंसल्टंसी सर्विसे, विप्रो, सिमैंटेक, आइ.बी.एम जैसे प्रसिद्ध सॉफ्टवेअर कंपनियों ने पुणे मे अपने केंन्द्र खोले और यह शहर भारत का एक प्रमुख सूचना प्रौद्योगिकी उद्योगकेंद्र के रूप मे विकसित हुआ। .

नई!!: हैदराबाद और पुणे · और देखें »

पुणे अन्तर्राष्ट्रीय विमानक्षेत्र

पुणे अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा (पुणे आंतरराष्ट्रीय विमानतळ, लोहेगांव), भारत के महाराष्ट्र राज्य के पुणे से लगभग उत्तर-पूर्व में स्थित है। भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण द्वारा संचालित यह हवाई अड्डा लोहेगांव वायु केन्द्र के साथ अपने रनवे को साझा करता है। एयर इंडिया द्वारा पुणे से दुबई के बीच सीधी उड़ान शुरू करने और इंडियन एयरलाइंस द्वारा सिंगापुर की उड़ानें शुरू करने के साथ अब यह अंतरराष्ट्रीय स्तर का हो गया है। पुणे हवाई अड्डा पुणे को दिल्ली, मुंबई, बैंगलोर और हैदराबाद जैसे प्रमुख भारतीय शहरों से जोड़ने के लिए घरेलू उड़ानों को संचालित करने वाले इंडियन एयरलाइंस, जेट लाइट और जेट एयरवेज को भी सेवाएं प्रदान करने के साथ साथ स्पाइसजेट, इंडिगो, गोएयर जैसी सस्ती सेवाओं तथा लुफ्थैन्सा द्वारा फ्रैंकफर्ट तक की सीधी उड़ान भी प्रदान करता है। .

नई!!: हैदराबाद और पुणे अन्तर्राष्ट्रीय विमानक्षेत्र · और देखें »

पुनर्नवी भूपलाम

पुनर्नवी भूपलाम (तेलुगु - పునర్ణవి భూపాలం) एक दक्षिण भारतीय अभिनेत्री है और नाटक-कलाकर है, हैदराबाद से। .

नई!!: हैदराबाद और पुनर्नवी भूपलाम · और देखें »

पुरी जगन्नाध

पुरी जगन्नाध (जन्म 28 सितम्बर 1966) एक भारतीय फिल्म निर्देशक, पटकथा लेखक और निर्माता है, जो मुख्यतः तेलुगू सिनेमा में काम करते है। .

नई!!: हैदराबाद और पुरी जगन्नाध · और देखें »

पुलिस महानिदेशक

पुलिस महानिदेशक राज्य के पुलिस बल का मुखिया होता है। प्रशानिक दृष्टि से प्रत्येक राज्य को क्षेत्रीय मंडलों में बांटा जाता है, जिसे रेंज कहते है। और प्रत्येक पुलिस रेंज,पुलिस महानिरीक्षक के प्रशासनिक नियंत्रण में होता है। एक रेंज में अनेक जिले हो सकते हैं। जिला पुलिस को मुख्यतः पुलिस डिवीजन, सर्कलों और थानों में विभाजित किया जाता है। नागरिक पुलिस के अलावा राज्य के पास अपनी स्वयं की सशस्त्र पुलिस रखने का अधिकार भी हैं और उनमें अलग से गुप्तचर शाखायें, अपराध शाखायें आदि का प्रावधान भी होता हैं। दिल्ली, कोलकाता, मुंबई, चेन्नई, बैंगलोर,हैदराबाद, अहमदाबाद, नागपुर,पुणे, भुवनेश्वर,कटक जैसे बड़े महानगरों में पुलिस व्यवस्था का मुखिया,प्रत्यक्ष रूप से पुलिस आयुक्त होता है। विभिन्न राज्यों में उच्च पुलिस अधिकारी पदों पर भारतीय पुलिस सेवा (आईपीएस) द्वारा भर्ती की जाती है, जिसकी भर्ती परीक्षा में पूरे भारत के अभ्यर्थी शामिल होते हैं। .

नई!!: हैदराबाद और पुलिस महानिदेशक · और देखें »

पुलिस अनुसंधान एवं विकास ब्यूरो

पुलिस अनुसंधान एवं विकास ब्यूरो (अंग्रेज़ी:ब्यूरो ऑफ पुलिस रिसर्च एण्ड डवलपमेंट, लघु:बी.पी.आर एण्ड डी) की स्थापना पुलिस बलों के आधुनिकीकरण के बारे में भारत सरकार के उद्देश्य को पूरा करने के लिए २८ अगस्त, १९७० को की गई थी।- पुलिस अनुसंधान एवं विकास ब्यूरो अब यह बहुआयामी एवं परामर्शदाता संगठन है और इसके चार प्रभाग हैं। मूल रूप से संस्थान में दो प्रभाग होते थे: अनुसंधान एवं विकास प्रभाग। बाद में १९७३ में प्रशिक्षण प्रभाग जोड़ा गया। इसके बाद १९८३ में फॉरेन्ज़िक विज्ञान प्रभाग और १९९५ में दिष-सुधार प्रशासन प्रभाग जुड़े। इसके साथ साथ कुछ अन्य विभागों ने संस्थान के कुछ कार्य संभाले, जैसे १९७६ में अपराध विज्ञान एवं फॉरेन्ज़िक विज्ञान ने कुछ संबंधित कार्य संभाला। इस विभाग को बाद में लोक नायक जय प्रकाश नारायण राष्ट्रीय अपराध विज्ञान एवं फॉरेन्ज़िक विज्ञान नाम दिया गया। १९८६ में राष्ट्रीय अपराध अभिलेख ब्यूरो और २००२ में फॉरेन्ज़िक विज्ञान निदेशालय ने संभाला। .

नई!!: हैदराबाद और पुलिस अनुसंधान एवं विकास ब्यूरो · और देखें »

पुल्लेला गोपीचंद

पुल्लेला गोपीचंद (పుల్లెల గోపీచంద్) (इनका जन्म 16 नवम्बर 1973 को आंध्र प्रदेश के प्रकाशम जिले के नगन्दला में हुआ) एक भारतीय बैडमिन्टन खिलाडी हैं। उन्होंने 2001 में चीन के चेन होंग को फाइनल में 15-12,15-6 से हराते हुए ऑल इंग्लैंड ओपन बैडमिंटन चैंपियनशिप में जीत हासिल की। इस तरह से प्रकाश पादुकोण के बाद इस जीत को हासिल करने वाले दूसरे भारतीय बन गए, जिन्होंने 1980 में जीत हासिल की थी। उन्हें वर्ष 2001 के लिए राजीव गांधी खेल रत्न पुरस्कार से सम्मानित किया गया। लेकिन बाद में, उनकी चोटों के कारण उनके खेल पर प्रभाव पड़ा और वर्ष 2003 में उनकी रैंकिंग गिर कर 126 पर आ गयी। 2005 में उन्हें पद्म श्री से सम्मानित किया गया। अब, वे गोपीचंद बैडमिन्टन अकादमी चलाते हैं। अब वे एक जाने माने कोच हैं जिन्हें द्रोणाचार्य पुरस्कार से भी सम्मानित किया जा चुका है। और सायना नेहवाल को एक बैडमिन्टन खिलाडी के रूप में उभारने में मुख्य हाथ उनका ही है। पुलेला गोपीचंद भारत के एक शीर्ष बैडमिंटन खिलाड़ी व कोच हैं। 2014 में उन्हें पद्म भूषण से सम्मानित किया गया। .

नई!!: हैदराबाद और पुल्लेला गोपीचंद · और देखें »

प्रभास

प्रभास राजु उप्पालापाटि (जन्म:२३ अक्टूबर १९७९) अथवा प्रभास एक भारतीय फ़िल्म अभिनेता हैं जो मुख्य रूप से तेलुगु सिनेमा में कार्य करते हैं। ये प्रभास नाम से प्रसिद्ध हैं। हिंदुस्तान टाइम्स फ़िल्म परियोजना के अनुसार बाहुबली (फ़िल्म) भारतीय सिनेमा की इतिहास में सबसे महंगी फ़िल्म है। .

नई!!: हैदराबाद और प्रभास · और देखें »

प्रयुक्ति

प्रयुक्ति भारत का एक हिन्दी दैनिक समाचार पत्र है। यह भारत के दिल्ली, हरियाणा आदि राज्यों के विभिन्न नगरों से प्रकाशित होता है। सच सोच समाधान प्रयुक्ति की टैगलाइन है। .

नई!!: हैदराबाद और प्रयुक्ति · और देखें »

प्राइसवॉटरहाउस कूपर्स

1998 मर्जर के पहले पीडब्लू (PW) लोगो मर्जर के पहले सी&एल लोगो प्राइसवॉटरहाउस कूपर्स (या पीडब्ल्यूसी) दुनिया की सबसे बड़ी प्रोफेशनल सर्विसेज फर्मों में से एक और चार बड़ी लेखा फर्मों में से सबसे बड़ी फर्म हैं। इसका गठन 1998 में प्राइस वॉटरहाउस और कूपर्स एंड लेब्रैंड, दोनों लंदन में गठित हुईं कंपनियों के बीच विलय के बाद किया गया था। प्राइसवॉटरहाउस कूपर्स ने 2009 के वित्तीय वर्ष में दुनिया भर में 26.2 बिलियन अमेरिकी डॉलर का एकत्रित राजस्व अर्जित किया और 151 देशों में लगभग 163,000 लोगों को इसने रोजगार प्रदान किया है। संयुक्त राज्य अमेरिका में, जहां 2009 में यह सबसे बड़ा निजी स्वामित्व वाला आठवां संगठन था, यह प्राइसवॉटरहाउस कूपर्स एलएलपी (LLP) के रूप में संचालित होता है। प्राइसवॉटरहाउस कूपर्स के केपीएमजी, अर्नस्ट एंड यंग और डेलोटी टच तोहमात्सू सहित चार बड़े ऑडिटर हैं। .

नई!!: हैदराबाद और प्राइसवॉटरहाउस कूपर्स · और देखें »

प्राकृतिक चिकित्सा का इतिहास

प्राकृतिक चिकित्सा का इतिहास उतना ही पुराना है जितना स्वयं प्रकृति। यह चिकित्सा विज्ञान आज की सभी चिकित्सा प्राणालियों से पुराना है। अथवा यह भी कहा जा सकता है कि यह दूसरी चिकित्सा पद्धतियों कि जननी है। इसका वर्णन पौराणिक ग्रन्थों एवं वेदों में मिलता है, अर्थात वैदिक काल के बाद पौराणिक काल में भी यह पद्धति प्रचलित थी। आधुनिक युग में डॉ॰ ईसाक जेनिग्स (Dr. Isaac Jennings) ने अमेरिका में 1788 में प्राकृतिक चिकित्सा का उपयोग आरम्भ कर दिया था। जोहन बेस्पले ने भी ठण्डे पानी के स्नान एवं पानी पीने की विधियों से उपचार देना प्रारम्भ किया था। महाबग्ग नामक बोध ग्रन्थ में वर्णन आता है कि एक दिन भगवान बुद्ध के एक शिष्य को सांप ने काट लिया तो उस समय विष के नाश के लिए भगवान बुद्ध ने चिकनी मिट्टी, गोबर, मूत्र आदि को प्रयोग करवाया था और दूसरे भिक्षु के बीमार पड़ने पर भाप स्नान व उष्ण गर्म व ठण्डे जल के स्नान द्वारा निरोग किये जाने का वर्णन 2500 वर्ष पुरानी उपरोक्त घटना से सिद्ध होता है। प्राकृतिक चिकित्सा के साथ-2 योग एवं आसानों का प्रयोग शारीरिक एवं आध्यात्मिक सुधारों के लिये 5000 हजारों वर्षों से प्रचलन में आया है। पतंजलि का योगसूत्र इसका एक प्रामाणिक ग्रन्थ है इसका प्रचलन केवल भारत में ही नहीं अपितु विदेशों में भी है। प्राकृतिक चिकित्सा का विकास (अपने पुराने इतिहास के साथ) प्रायः लुप्त जैसा हो गया था। आधुनिक चिकित्सा प्राणालियों के आगमन के फलस्वरूप इस प्रणाली को भूलना स्वाभाविक भी था। इस प्राकृतिक चिकित्सा को दोबारा प्रतिष्ठित करने की मांग उठाने वाले मुख्य चिकित्सकों में बड़े नाम पाश्चातय देशों के एलोपैथिक चिकित्सकों का है। ये वो प्रभावशाली व्यक्ति थे जो औषधि विज्ञान का प्रयोग करते-2 थक चुके थे और स्वयं रोगी होने के बाद निरोग होने में असहाय होते जा रहे थे। उन्होने स्वयं पर प्राकृतिक चिकित्सा के प्रयोग करते हुए स्वयं को स्वस्थ किया और अपने शेष जीवन में इसी चिकित्सा पद्धति द्वारा अनेकों असाध्य रोगियों को उपचार करते हुए इस चिकित्सा पद्धति को दुबारा स्थापित करने की शुरूआत की। इन्होने जीवन यापन तथा रोग उपचार को अधिक तर्कसंगत विधियों द्वारा किये जाने का शुभारम्भ किया। प्राकृतिक चिकित्सा संसार मे प्रचलित सभी चिकित्सा प्रणाली से पुरानी है आदिकाल के ग्रंथों मे जल चिकित्सा व उपवास चिकित्सा का उल्लेख मिलता है पुराण काल मे (उपवास)को लोग अचूक चिकित्सा माना करते थे .

नई!!: हैदराबाद और प्राकृतिक चिकित्सा का इतिहास · और देखें »

प्रजा राज्यम पार्टी

प्रजा राज्यम पार्टी (तेलुगू: ప్రజా రాజ్యంअनुवाद: जनता का शासन) भारतीय राज्य आन्ध्र प्रदेश का एक राज्य स्तरीय राजनैतिक दल था जिसकी स्थापना तेलुगू फ़िल्म अभिनेता चिरंजीवी ने २६ अगस्त २००८ को की थी। ६ फ़रवरी २०११ को आधिकारिक रूप से इसकी घोषणा की गयी कि इस दल का भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस में विलय हो गया है। घोषणा के अनुरूप ही, अगस्त २०११ में इसका भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस में विलय हो गया। .

नई!!: हैदराबाद और प्रजा राज्यम पार्टी · और देखें »

प्रजाशक्ति

प्रजाशक्ति एक तेलुगू समाचार पत्र है जो आंध्र प्रदेश और तेलंगाना से प्रकाशित होता है। यह कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ इंडिया (मार्क्सवादी) का है। १९८१ में विजयवाडा से प्रकाशित होना शुरू हुआ। आज कल इस का प्रकाशन  नौ केंद्रों  हैदराबाद, विजयवाडा, विशाखपट्नम, तिरुपति (शहर), खम्मम, कर्नूल, राजमुंदरी, श्रीकाकुलम, करीमनगर और ओंगोल से होता है। यह ऑनलाइन भी प्रकाशित होता है।  .

नई!!: हैदराबाद और प्रजाशक्ति · और देखें »

प्रेमा माथुर

कोई विवरण नहीं।

नई!!: हैदराबाद और प्रेमा माथुर · और देखें »

प्रो कबड्डी लीग

प्रो कबड्डी लीग (पीकेएल) भारत में एक पेशेवर कबड्डी लीग, इंडियन प्रीमियर लीग टी -20 क्रिकेट टूर्नामेंट के प्रारूप पर आधारित है। यह प्रायोजन कारणों के लिए के रूप में स्टार स्पोर्ट्स प्रो कबड्डी में जाना जाता है। टूर्नामेंट के पहले संस्करण में भारत के विभिन्न शहरों का प्रतिनिधित्व करने वाले आठ फ्रेंचाइजी के साथ 2014 में खेला गया था। यह वर्तमान में मशाल स्पोर्ट्स द्वारा प्रबंधित किया जाता है। .

नई!!: हैदराबाद और प्रो कबड्डी लीग · और देखें »

प्रोद्दटूरू

प्रोद्दटूरू आंध्र प्रदेश राज्य के कडपा जिला में एक शहर है। यह पेन्ना नदी के तट पर स्थित है। यह शहर एक नगर पालिका है और प्रोद्दटूरू मंडल का मंडल मुख्यालय भी है । यह क्षेत्र के एतेबार से सबसे छोटा नगरपालिका है, लेकिन जनसंख्या के मामले में राज्य में 14 वें स्थान पर है। .

नई!!: हैदराबाद और प्रोद्दटूरू · और देखें »

पीली-चोंच वाला बैबलर

पीली-चोंच वाला बैबलर अथवा श्वेत सर वाला बैबलर (टर्डॉइडस एफिनिस) एक प्राचीन विश्व का बैबलर है जो की दक्षिण भारत तथा श्रीलंका में स्थानीय रूप से पाया जाता है। पीली-चोंच वाला बैबलर दक्षिणी भारत और श्रीलंका का आम निवासी प्रजनन करने वाला पक्षी है। इसके प्राकृतिक निवास झाड़ियां, कृषि एवं बगीचों की भूमि हैं। अन्य बैबलरों की तरह यह प्रजाति अप्रवासी नहीं है, इसके पंख छोटे तथा गोल होते हैं, जिससे इसकी उड़ान कमज़ोर होती है तथा इसे आमतौर पर समूह में चहचहाते तथा चारा खोजते देखा जाता है। इसके अक्सर जंगल बैबलर के रूप में पहचाना जाता है, जिसका क्षेत्र भी दक्षिणी भारत के भागों में ही होता है, हालांकि इसकी चहचहाहट अलग होती है तथा यह अधिक वनस्पति आच्छादित क्षेत्रों में रहता है। .

नई!!: हैदराबाद और पीली-चोंच वाला बैबलर · और देखें »

पी॰ कश्यप

पी.

नई!!: हैदराबाद और पी॰ कश्यप · और देखें »

पी॰वी॰ सिंधु

पुसरला वेंकट सिंधु (तेलुगु:పూసర్ల వెంకట సింధు, जन्म: 5 जुलाई 1995) एक विश्व वरीयता प्राप्त भारतीय महिला बैडमिंटन खिलाड़ी हैं तथा भारत की ओर से ओलम्पिक खेलों में महिला एकल बैडमिंटन का रजत पदक जीतने वाली वे पहली खिलाड़ी हैं। इससे पहले वे भारत की नैशनल चैम्पियन भी रह चुकी हैं। सिंधु ने नवंबर 2016 में चीन ऑपन का खिताब अपने नाम किया है। .

नई!!: हैदराबाद और पी॰वी॰ सिंधु · और देखें »

फलकनुमा एक्स्प्रेस २७०४

फलकनुमा एक्सप्रेस रूट मैप फलकनुमा एक्स्प्रेस २७०४ भारतीय रेल द्वारा संचालित एक मेल एक्स्प्रेस ट्रेन है। यह ट्रेन सिकंदराबाद जंक्शन रेलवे स्टेशन (स्टेशन कोड:SC) से 04:00PM बजे छूटती है और हावड़ा जंक्शन रेलवे स्टेशन (स्टेशन कोड:HWH) पर ०५:४५PM बजे पहुंचती है। इसकी यात्रा अवधि है २५ घंटे ४५ मिनट। फलकनुमा एक्सप्रेस हावडा (स्टेशन कोड:HWH) से सिकंदराबाद (स्टेशन कोड:SC) के बीच चलने वाली एक मेल एक्स्प्रेस ट्रेन हैं। दक्षिण मध्य रेलवे के अंतर्गत चलने वाली ये रेलगाड़ी हैदराबाद से कोलकाता यात्रा करने वालो के लिए जीवन रेखा बनी हुई हैं। .

नई!!: हैदराबाद और फलकनुमा एक्स्प्रेस २७०४ · और देखें »

फलकनुमा पैलेस

फलकनुमा पैलेस भारत में स्थित हैदराबाद के बहुत ही अधिक श्रेष्ठ स्थानों में से एक है। यह पैगाह हैदराबाद स्टेट से सम्बन्ध रखता है जिस पर बाद में निजामों द्वारा अधिपत्य किया गया। यह फलकनुमा में ३२ एकड़ क्षेत्र पर बना हुआ है तथा चारमिनार से ५ किमी की दूरी पर है। इसका निर्माण नवाब वकार उल उमर द्वारा किया गया था जो कि हैदराबाद के प्रधानमन्त्री थे। फलकनुमा का तात्पर्य होता है- “आसमान की तरह” अथवा “आसमान का आइना” .

नई!!: हैदराबाद और फलकनुमा पैलेस · और देखें »

फहमीदा हुसैन

डॉ फहमीदा हुसैन (मूल नाम: फहमीदा मेमन; जन्म: ०५ जुलाई, १९४८) (ڊاڪٽر فهميده حسين ميمڻ) सिन्धी साहित्यकार, शिक्षाविद एवं शिक्षक हैं। वे पाकिस्तान की सुप्रसिद्ध लेखिका, विद्वान, भाषाविद तथा बुद्धिजीवी हैं। उन्होने साहित्य, भाषाविज्ञान, स्त्री अध्ययन, तथा नृविज्ञान के क्षेत्र में कार्य किया है। उन्हें शाह अब्दुल लतीफ़ के काव्य में विशेषज्ञता प्राप्त है। सन २००८ से २०१५ तक वे सिन्धी भाषा प्राधिकरण (सिन्धी लैंग्वेज एथारिटी) की अध्यक्षा थीं। डॉ फहमीदा हुसैन का जन्म पाकिस्तान के सिन्ध प्रान्त के हैदराबाद जिले के टंडो जाम में हुआ था। उनके पिता मोहम्मद याकून 'नियाज' भी विद्वान थे जिन्होने हाफ़िज़ शिराज़ी के काव्य का फारसी से सिन्धी भाषा में अनुवाद किया था। उनके भाई सिराजुल हक़ मेमन भी एक प्रसिद्ध लेखक एवं शोधकर्ता थे। .

नई!!: हैदराबाद और फहमीदा हुसैन · और देखें »

फ़िल्म नगर

फ़िल्म नगर एक तेलंगाना का शहर है तथा टॉलीवुड के रूप में जाना जाता है तथा फ़िल्म नगर, हैदराबाद,तेलंगाना, भारत के पश्चिम में स्थित है। यह तेलुगू फ़िल्म उद्योग के ऐतिहासिक स्टूडियो सहित मनोरंजन उद्योग का घर है ' ये निम्न पड़ोसी क्षेत्र है जुबली हिल्स,बंजारा हिल्स,नानाक्रमगुड़ा और मधापुर हैं। ये क्षेत्र तेलुगू फ़िल्म उद्योग का मुख्यालय है, और तेलुगू फ़िल्म हस्तियों के आवासीय केंद्र है। .

नई!!: हैदराबाद और फ़िल्म नगर · और देखें »

फिलिप कोट्लर

फिलिप कॉट्लर (मई 27, 1931, शिकागो में) एक प्रख्यात अमेरिकी मार्केटिंग लेखक, सलाहकार और प्रोफेसर हैं। वे मार्केटिंग (विपणन) पर 55 से अधिक विपणन पुस्तकों के लेखक है। .

नई!!: हैदराबाद और फिलिप कोट्लर · और देखें »

फ्रांसीसी भारत

फ्रांसीसी भारत 17 वीं सदी के दूसरे आधे में भारत में फ्रांसीसी ईस्ट इंडिया कंपनी द्वारा स्थापित फ्रांसीसी प्रतिष्ठानों के लिए एक आम नाम है और आधिकारिक तौर पर एस्तब्लिसेमेन्त फ्रन्से द्दे इन्द्दए (फ़्रान्सीसी:Établissements français de l'Inde) रूप में जाना जाता, सीधा फ्रेंच शासन 1816 शुरू हुआ और 1954 तक जारी रहा जब प्रदेशों नए स्वतंत्र भारत में शामिल कर लिया गया। उनके शासक क्षेत्रों पॉन्डिचेरी, कराईकल, यानम, माहे और चन्दननगर थे। फ्रांसीसी भारत मे भारतीय शहरों में बनाए रखा कई सहायक व्यापार स्टेशन (लॉज) शामिल थे। कुल क्षेत्र 510 km2 (200 वर्ग मील) था, जिनमें से 293 km2 (113 वर्ग मील) पॉन्डिचेरी का क्षेत्र था। 1936 में, उपनिवेश की आबादी कुल 2,98,851 निवासिया थी, जिनमें से 63% (1,87,870) पॉन्डिचेरी के क्षेत्र में निवास करती थी। .

नई!!: हैदराबाद और फ्रांसीसी भारत · और देखें »

बड़वानी ज़िला

बड़वानी ज़िला भारत के मध्य प्रदेश राज्य का एक ज़िला है। ज़िला मुख्यालय बड़वानी में है। ज़िले का क्षेत्रफल 5,427 किमी² तथा जनसंख्या 1,385,881 (2011 जनगणना) है। यह ज़िला मध्य प्रदेश के दक्षिण पश्चिम में स्थित है, नर्मदा नदी इसकी उत्तरी सीमा बनाती है। सेंधवा इसका प्रसिद्ध नगर है। यह कपास के लिये प्रसिद्ध है। यह एक तहसील भी है। जिले का सर्वाधिक जनसंख्या वाला नगर है यहाँ के किले का ऐतिहासिक महत्व है। बड़वानी नगर से 8 किलोमीटर दूर सतपुड़ा की पहाड़ियों में भगवान ऋषभदेव की 84 फ़ीट की एक पत्थर से निर्मित प्रतिमा पहाड़ों से निकली है। जो बावनगजा के नाम से प्रसिद्ध है। तथा यहाँ पर धान उद्यान केंद्र है बड़वानी ज़िले की तहसील:- 1.

नई!!: हैदराबाद और बड़वानी ज़िला · और देखें »

बड़े ग़ुलाम अली ख़ान

बड़े गुलाम अली खां उस्ताद बड़े ग़ुलाम अली ख़ां (२ अप्रैल १९०२- २३ अप्रैल १९६८) हिन्दुस्तानी शास्त्रीय संगीत के पटियाला घराने के गायक थे। उनकी गणना भारत के महानतम गायकों व संगीतज्ञों में की जाती है। इनका जन्म लाहौर के निकट कसूर नामक स्थान पर पाकिस्तान में हुआ था, पर इन्होने अपना जीवन अलग समयों पर लाहौर, बम्बई, कोलकाता और हैदराबाद में व्यतीत किया। प्रसिद्ध ग़जल गायक गुलाम अली इनके शिष्य थे। इनका परिवार संगीतज्ञों का परिवार था। बड़े गुलाम अली खां की संगीत की दुनिया का प्रारंभ सारंगी वादक के रूप में हुआ बाद में उन्होंने अपने पिता अली बख्श खां, चाचा काले खां और बाबा शिंदे खां से संगीत के गुर सीखे। इनके पिता महाराजा कश्मीर के दरबारी गायक थे और वह घराना "कश्मीरी घराना" कहलाता था। जब ये लोग पटियाला जाकर रहने लगे तो यह घराना "पटियाला घराना" के नाम से जाना जाने लगा। अपने सधे हुए कंठ के कारण बड़े गुलाम अली खां ने बहुत प्रसिद्ध पाई। सन १९१९ के लाहौर संगीत सम्मेलन में बड़े गुलाम अली खां ने अपनी कला का पहली बार सार्वजनिक प्रदर्शन किया। इसके कोलकाता और इलाहाबाद के संगीत सम्मेलनों ने उन्हें देशव्यापी ख्याति दिलाई। उन्होंने अपनी बेहद सुरीली और लोचदार आवाज तथा अभिनव शैली के बूते ठुमरी को एकदम नये अंदाज में ढाला जिसमें लोक संगीत की मिठास और ताजगी दोनों मौजूद थी। संगीत समीक्षकों के अनुसार उस्ताद खां ने अपने प्रयोगधर्मी संगीत की बदौलत ठुमरी की बोल बनाव शैली से परे जाकर उसमें एक नयी ताजगी भर दी। उनकी इस शैली को ठुमरी के पंजाब अंग के रूप में जाना जाता है। वे अपने खयाल गायन में ध्रुपद, ग्वालियर घराने और जयपुर घराने की शैलियों का खूबसूरत संयोजन करते थे। बड़े गुलाम अली खां के मुँह से एक बार "राधेश्याम बोल" भजन सुनकर महात्मा गाँधी बहुत प्रभावित हुए थे। मुगले आजम फिल्म में तानसेन पात्र के लिए उन्होंने ही अपनी आवाज़ दी थी। भारत सरकार ने १९६२ ई. में उन्हें "पद्मभूषण" से सम्मानित किया था। २३ अप्रैल १९६८ ई. को बड़े गुलाम अली खां का देहावसान हो गया। .

नई!!: हैदराबाद और बड़े ग़ुलाम अली ख़ान · और देखें »

बशीराबाद

बशीराबाद रंगारेड्डी जिले का एक शहर है। यह हैदराबाद से १२० किलोमीटर दूरी पर है। श्रेणी:रंगारेड्डी जिला श्रेणी:तेलंगाना के नगर.

नई!!: हैदराबाद और बशीराबाद · और देखें »

बाबरी मस्जिद

बाबरी मस्जिद उत्तर प्रदेश के फ़ैज़ाबाद ज़िले के अयोध्या शहर में रामकोट पहाड़ी ("राम का किला") पर एक मस्जिद थी। रैली के आयोजकों द्वारा मस्जिद को कोई नुकसान नहीं पहुंचाने देने की भारत के सर्वोच्च न्यायालय से वचनबद्धता के बावजूद, 1992 में 150,000 लोगों की एक हिंसक रैली.

नई!!: हैदराबाद और बाबरी मस्जिद · और देखें »

बाबा फकीर चंद

बाबा फकीर चंद (१८ नवंबर, १८८६ - ११ सितंबर, १९८१) सुरत शब्द योग अर्थात मृत्यु अनुभव के सचेत और नियंत्रित अनुभव के साधक और भारतीय गुरु थे। वे संतमत के पहले गुरु थे जिन्होंने व्यक्ति में प्रकट होने वाले अलौकिक रूपों और उनकी निश्चितता के छा जाने वाले उस अनुभव के बारे में बात की जिसमें उस व्यक्ति को चैतन्य अवस्था में इसकी कोई जानकारी नहीं थी जिसका कहीं रूप प्रकट हुआ था। इसे अमरीका के कैलीफोर्निया में दर्शनशास्त्र के प्रोफेसर डॉ॰ डेविड सी. लेन ने नई शब्दावली 'चंदियन प्रभाव' के रूप में व्यक्त किया और उल्लेख किया। राधास्वामी मत सहित नए धार्मिक आंदोलनों के शोधकर्ता मार्क ज्यर्गंसमेयेर ने फकीर का साक्षात्कार लिया जिसने फकीर के अंतर्तम को उजागर किया। यह साक्षात्कार फकीर की आत्मकथा का अंश बना। .

नई!!: हैदराबाद और बाबा फकीर चंद · और देखें »

बाहुबली 2: द कॉन्क्लूज़न

बाहुबली 2: द कॉन्क्लूज़न, बाहुबली: द बिगनिंग फ़िल्म का दूसरा भाग है। यह एक ऐतिहासिक फिक्शन फ़िल्म है। इस फ़िल्म को तेलुगू और तमिल भाषा में बनाया गया है। हिन्दी, मलयालम और अन्य भाषाओं में इसकी डबिंग की गयी है। इसका निर्देशन एस॰एस॰ राजामौली ने किया है। यह 8 जुलाई 2016 को सिनेमाघरों में प्रदर्शित होने वाली थी। लेकिन इसके निर्माण में देरी के कारण यह समय और आगे बढ़ा दिया गया। और यह 28 अप्रैल 2017 में प्रदर्शित की गयी। शुरू में, दोनों भागों को संयुक्त रूप से ₹ ​​250 करोड़ (₹ 2.5 अरब) के बजट पर तैयार किया गया, हालांकि बाद में दूसरे भाग का बजट 200 करोड़ बढ़ा दिया गया और इस प्रकार कुल मिलकर दोनों फिल्मों का बजट 450 करोड़ हो गया। इस तरह, बाहुबली 2: द कॉन्क्लूज़न भारतीय सिनेमा इतिहास की सबसे महंगी फिल्म हो गयी। इस फ़िल्म ने रिलीज़ से पहले ही ₹ 500 करोड़ (₹ 5 अरब) का बिजनेस का कीर्तिमान बनाया है। फिल्म को 28 अप्रैल 2017 को दुनिया भर में प्रदर्शित किया गया। बाहुबली-2 4K हाई-डेफिनिशन में रिलीज़ होने वाली पहली तेलुगु फिल्म है। फ़िल्म की रिलीज की तारीख से पहले 200 स्क्रीन के करीब 4K प्रोजेक्टर्स को अपग्रेड किया गया। बाहुबली-2 पूरी दुनिया में पहली भारतीय फिल्म बन गई है, जिसने सभी भाषाओं में 1000 करोड़ (₹ 10 बिलियन) से अधिक कमाई की है। और पूरी दुनिया में पहली भारतीय फिल्म बन गई है, जिसने 3 दिनों में सभी भाषाओं में 500 करोड़ (₹ 5 बिलियन) से अधिक कमाई की है। यह पहले सप्ताह में 128 करोड़ रूपए से ज्यादा कमाई वाली पहली हिंदी फिल्म है। .

नई!!: हैदराबाद और बाहुबली 2: द कॉन्क्लूज़न · और देखें »

बाहुबली: द बिगनिंग (2015)

बाहुबली तेलुगू और तमिल भाषाओं में बनी एक भारतीय फ़िल्म है। यह हिन्दी, मलयालम व कुछ विदेशी भाषाओं में भी बनी है तथा इसे 10 जुलाई 2015 को सिनेमाघरों में दिखाया गया। इसे एस॰एस॰ राजामौली ने निर्देशित किया है। प्रभास, राणा डग्गुबती, अनुष्का शेट्टी और तमन्ना ने मुख्य किरदार निभाए हैं। इसमे रम्या कृष्णन, सत्यराज, नासर, आदिवि सेश, तनिकेल्ल भरनी और सुदीप ने भी कार्य किया है। फ़िल्म की कुछ खास बातों में से एक रही इस फिल्म में चित्रित कालकेय कबीले द्वारा बोली जाने वाली किलिकिलि नामक एक कृत्रिम भाषा जिसका निर्माण मधन कर्की ने लगभग 750 शब्दों और 40 व्याकरण के नियमों द्वारा किया। भारतीय फ़िल्म के इतिहास में यह पहली बार हुआ है, जब किसी फ़िल्म के लिए एक नई भाषा का निर्माण किया गया हो। .

नई!!: हैदराबाद और बाहुबली: द बिगनिंग (2015) · और देखें »

बांग्लादेश क्रिकेट टीम का भारत दौरा 2016-17

बांग्लादेश क्रिकेट टीम एक टेस्ट मैच खेलने के लिए फरवरी 2017 में भारत का दौरा करने का कार्यक्रम है।  यह पहली बार होगा कि बांग्लादेश ने भारत का दौरा किया था।   शुरू में दौरे अगस्त 2016 अनुसूचित था, लेकिन बीसीसीआई द्वारा की गई अन्य प्रतिबद्धताओं के कारण, बांग्लादेश क्रिकेट बोर्ड (बीसीबी) ने कहा है कि फरवरी के पहले सप्ताह में दौरे की होने की संभावना है।  तारीक अगस्त 2016 में पुष्टि की गई। जनवरी 2017 में बीसीसीआई ने 9 फ़रवरी को मैच स्थगित कर दिया  एक दो दिवसीय अभ्यास मैच में भारत ए और बांग्लादेश के बीच 5-6 फरवरी को खेला जाएगा।  .

नई!!: हैदराबाद और बांग्लादेश क्रिकेट टीम का भारत दौरा 2016-17 · और देखें »

बाङ्ला भाषा

बाङ्ला भाषा अथवा बंगाली भाषा (बाङ्ला लिपि में: বাংলা ভাষা / बाङ्ला), बांग्लादेश और भारत के पश्चिम बंगाल और उत्तर-पूर्वी भारत के त्रिपुरा तथा असम राज्यों के कुछ प्रान्तों में बोली जानेवाली एक प्रमुख भाषा है। भाषाई परिवार की दृष्टि से यह हिन्द यूरोपीय भाषा परिवार का सदस्य है। इस परिवार की अन्य प्रमुख भाषाओं में हिन्दी, नेपाली, पंजाबी, गुजराती, असमिया, ओड़िया, मैथिली इत्यादी भाषाएँ हैं। बंगाली बोलने वालों की सँख्या लगभग २३ करोड़ है और यह विश्व की छठी सबसे बड़ी भाषा है। इसके बोलने वाले बांग्लादेश और भारत के अलावा विश्व के बहुत से अन्य देशों में भी फ़ैले हैं। .

नई!!: हैदराबाद और बाङ्ला भाषा · और देखें »

बिड़ला प्रौद्योगिकी एवं विज्ञान संस्थान, पिलानी

बिड़ला प्रौद्योगिकी एवं विज्ञान संस्थान (बिट्स पिलानी / BITS Pilani), भारतवर्ष के सबसे पुराने और अग्रणी प्रौद्योगिकी संस्थानों में से एक है। पिलानी (राजस्थान, भारत) के अलावा बिट्स के कैम्पस गोआ, हैदराबाद और दुबई में भी हैं। यह संस्थान पूर्णतः स्ववित्तपोषित और आवासीय है। .

नई!!: हैदराबाद और बिड़ला प्रौद्योगिकी एवं विज्ञान संस्थान, पिलानी · और देखें »

बिग एफएम (रेडियो)

150px बिग एफएम (रेडियो), एक राष्ट्रव्यापी निजी एफएम रेडियो स्टेशन है। इस रेडियो स्टेशन के मालिक प्रसिद्द भारतीय व्यवसायी अनिल अम्बानी हैं। यह रेडियो स्टेशन ९२.७ मेगाहर्ट्स एफएम बैंड फ्रिकुएंसी पर प्रसारित होता है। वर्तमान में यह स्टेशन ४४ विभिन्न शहरों में प्रसारित होता है। यह एकमात्र ऐसा रेडियो स्टेशन है जो कि जम्मू और कश्मीर में भी प्रसारित होता है। १ जुलाई २००८ से बिग एफएम सिंगापूर में भी अपना प्रसारण शुरू कर दिया। सिंगापूर में यह सुबह ५ बजे से रत ८ बजे तक हर रोज़ ९६.३ मेगाहर्ट्स पर प्रसारित होता है। बिग एफएम रेडियो का टैगलाइन है - "सुनो सुनाओ, लाइफ बनाओ" .

नई!!: हैदराबाद और बिग एफएम (रेडियो) · और देखें »

बुर्गुला रामकृष्ण राव

डॉ॰ बुर्गुला रामकृष्ण राव (13 मार्च,1899 - 15 सितम्बर 1967), आन्ध्र प्रदेश के राजनैतिक नेता थे। वे 6 मार्च, 1952 से 31 अक्टूबर, 1956 तक हैदराबाद राज्य के मुख्यमंत्री रह चुके हैं। उनका जन्म महबूबनगर मे हुआ था। .

नई!!: हैदराबाद और बुर्गुला रामकृष्ण राव · और देखें »

बुसी

फ्रेंच सेनानायक '''बुसी''' बुसी (Charles Joseph Patissier, Marquis de Bussy-Castelnau; १७१८-१७८५ ई.) फ्रांस का यशस्वी सेनानायक तथा सफल कूटनीतिज्ञ था। प्रथम कर्नाटक युद्ध के समय वह लाबूर्दने के साथ पुद्दुचेरी पहुँचा। अंबर के युद्ध (१७४८) में वह डूप्ले का विश्वासपात्र बना। डूप्ले की साम्राज्य-निर्माण-योजना कार्यान्वित करने में बुसी ने विशेष कौशल दिखाया। इससे भारत में फ्रांसीसियों की प्रतिष्ठा बढ़ी। १७५० में जिंजी की विजय बुसी की पहली सफलता थी। १७५१ में पाँडिचेरी से औरंगाबाद तक उसका प्रयाण तथा मार्ग में मुजफ्फरजंग की मृत्यु के बाद सलाबतजंग को निज़ाम घोषित करके आन्तरिक तथा बाह्य शत्रुओं से उसे सुरक्षित बनाना उसकी बड़ी सफलता थी। इससे दक्षिण भारत में फ्रांसीसियों की धाक जम गई; सैनिक खर्च के लिए उन्हें उत्तरी सरकार के जिले मिले; डूप्ले को कृष्णा नदी के दक्षिण के प्रदेश की सूबेदारी मिली; तथा अंग्रेजों की सभी चालें विफल हुईं। तृतीय कर्नाटक युद्ध के समय बुसी को हैदराबाद से वापस बुलाया गया। फलत: फ्रांसीसी प्रभाव वहाँ से जाता रहा तथा उत्तरी सरकार प्रदेश उनसे छिन गया। मद्रास के घेरे तथा वांडीवाश के युद्ध में बुसी ने लैली को हार्दिक सहायता दी। सन् १७६० ई में अंग्रेजों ने उसे बंदी बना लिया और संधि हो जाने पर फ्रांस भेज दिया। सन् १७८३ ई. में वह पुन: भारत आया और कुदालोर में उसने अंग्रेजों से रक्षात्मक युद्ध किया। युद्ध समाप्त होने पर उसे भारत में फ्रांसीसियों का भविष्य निराशाजनक प्रतीत हुआ। १७८५ में उसका देहान्त हो गया। श्रेणी:सेनानायक.

नई!!: हैदराबाद और बुसी · और देखें »

ब्रह्मानन्दम

ब्रह्मानन्दम भारतीय फिल्म अभिनेता और हास्यकार हैं। यह मुख्य रूप से तेलुगू फिल्मों में काम करते हैं। यह हिन्दी, तमिल और कन्नड़ फिल्मों में भी कार्य कर चुके हैं। इनका नाम जीवित अभिनेताओं में सबसे अधिक फिल्में करने के कारण गिनीज़ पुस्तक में दर्ज हुआ है। इन्हें भारतीय सिनेमा में अपने योगदान करने के कारण 2009 में पद्म श्री से सम्मानित भी हुए। .

नई!!: हैदराबाद और ब्रह्मानन्दम · और देखें »

ब्रिटिश भारत में रियासतें

15 अगस्त 1947 से पूर्व संयुक्त भारत का मानचित्र जिसमें देशी रियासतों के तत्कालीन नाम साफ दिख रहे हैं। ब्रिटिश भारत में रियासतें (अंग्रेजी:Princely states; उच्चारण:"प्रिंस्ली स्टेट्स्") ब्रिटिश राज के दौरान अविभाजित भारत में नाममात्र के स्वायत्त राज्य थे। इन्हें आम बोलचाल की भाषा में "रियासत", "रजवाड़े" या व्यापक अर्थ में देशी रियासत कहते थे। ये ब्रिटिश साम्राज्य द्वारा सीधे शासित नहीं थे बल्कि भारतीय शासकों द्वारा शासित थे। परन्तु उन भारतीय शासकों पर परोक्ष रूप से ब्रिटिश शासन का ही नियन्त्रण रहता था। सन् 1947 में जब हिन्दुस्तान आज़ाद हुआ तब यहाँ 565 रियासतें थीं। इनमें से अधिकांश रियासतों ने ब्रिटिश सरकार से लोकसेवा प्रदान करने एवं कर (टैक्स) वसूलने का 'ठेका' ले लिया था। कुल 565 में से केवल 21 रियासतों में ही सरकार थी और मैसूर, हैदराबाद तथा कश्मीर नाम की सिर्फ़ 3 रियासतें ही क्षेत्रफल में बड़ी थीं। 15 अगस्त,1947 को ब्रितानियों से मुक्ति मिलने पर इन सभी रियासतों को विभाजित हिन्दुस्तान (भारत अधिराज्य) और विभाजन के बाद बने मुल्क पाकिस्तान में मिला लिया गया। 15 अगस्त 1947 को ब्रिटिश सार्वभौम सत्ता का अन्त हो जाने पर केन्द्रीय गृह मन्त्री सरदार वल्लभभाई पटेल के नीति कौशल के कारण हैदराबाद, कश्मीर तथा जूनागढ़ के अतिरिक्त सभी रियासतें शान्तिपूर्वक भारतीय संघ में मिल गयीं। 26 अक्टूबर को कश्मीर पर पाकिस्तान का आक्रमण हो जाने पर वहाँ के महाराजा हरी सिंह ने उसे भारतीय संघ में मिला दिया। पाकिस्तान में सम्मिलित होने की घोषणा से जूनागढ़ में विद्रोह हो गया जिसके कारण प्रजा के आवेदन पर राष्ट्रहित में उसे भारत में मिला लिया गया। वहाँ का नवाब पाकिस्तान भाग गया। 1948 में सैनिक कार्रवाई द्वारा हैदराबाद को भी भारत में मिला लिया गया। इस प्रकार हिन्दुस्तान से देशी रियासतों का अन्त हुआ। .

नई!!: हैदराबाद और ब्रिटिश भारत में रियासतें · और देखें »

बेगमपेट विमानक्षेत्र

बेगमपेट विमानक्षेत्र हैदरबाद में स्थित है। इसका ICAO कोडहै VOHY और IATA कोड है HYD। यह एक नागरिक हवाई अड्डा है। यहां कस्टम्स विभाग उपस्थित हाँ है। इसका रनवे पेव्ड है। इसकी प्रणाली यांत्रिक हाँ है। इसकी उड़ान पट्टी की लंबाई 9000 फी.

नई!!: हैदराबाद और बेगमपेट विमानक्षेत्र · और देखें »

बोनालु

बोनालु या देवी महाकाली बोनुलू (तेलुगु: బోనాలు) एक हिंदू त्योहार है, जिसमें देवी महाकाली की पूजा की जाती है। बोनालु, तेलंगाना का वार्षिक त्यौहार जो हैदराबाद, सिकंदराबाद और तेलंगाना के अलावा भारत के कई अन्य हिस्सों में मनाया जाता है। यह आषाढ़ महीने में अर्थात जुलाई / अगस्त में मनाया जाता है। त्योहार के पहले और अंतिम दिन येलम्मा के लिए विशेष पूजाएं की जाती हैं। प्रतिज्ञा की पूर्ति के लिए त्योहार को देवी को धन्यवाद भी माना जाता है। .

नई!!: हैदराबाद और बोनालु · और देखें »

बोयापती श्रीनू

बोयापती श्रीनू, एक भारतीय फिल्म निर्देशक हैं, जो मुख्य रूप से तेलुगू फिल्म उद्योग में काम करता है। वह अपने हिंसक कृत्य अनुक्रमों और मसाला शैली में उनकी सफलता के लिए जाना जाता है। 2005 में, श्रीनू ने भद्रा के साथ निर्देशक की शुरुआत की जिसमें रवि तेजा, मीरा जैस्मीन और प्रकाश राज को अभिनय किया। तुलसी उनकी दूसरी फिल्म थी 2010 में, श्रीनू का तीसरा रिलीज सिम्हा था, नंदमुरी बालकृष्ण द्वारा दोहरी भूमिका में अभिनीत, नयनतारा और स्नेहा उल्लाल 2012 में, उन्होंने जूनियर एनटीआर, त्रिशा, कार्तिक नायर अभिनीत अपनी चौथी फिल्म धम्मु बनाया। श्रीनु ने गुंटूर में जेकेसी कॉलेज से स्नातक किया और नागार्जुन विश्वविद्यालय में भाग लिया। उनका परिवार एक फोटो स्टूडियो चलाता है। श्रीनू फोटोग्राफी में रुचि रखते थे और एनाडू अख़बार के लिए अंशकालिक रिपोर्टर के रूप में काम करते थे। श्री नू और उनके चचेरे भाई पोसानी कृष्णा मुरली हैदराबाद गए और उन्होंने 1997 में मुथ्याल सुब्बिया स्टूडियो के निर्देशन विभाग में काम किया। श्रीनु ने उनके साथ ओका चिन्ना माटा, गोकुलाम्लो सेता, पेलि चेसुकुंडम, पवित्रा प्रेमा, अण्णाय और मानसनु मारराजु जैसी फिल्मों के लिए काम किया। .

नई!!: हैदराबाद और बोयापती श्रीनू · और देखें »

बोज्जा तारकं

बोज्जा तारकं (जून 27,1939 - सितंबर 16,2016) एक प्रसिद्ध कवि, लेखक, सामाजिक और राजनीतिक कार्यकर्ता और भारत के एक वरिष्ठ मानव अधिकार समर्थक थे। वह आंध्र प्रदेश उच्च न्यायालय में एक प्रतिबद्ध वकील होने के साथ साथ राज्य में दलितों की समस्याओं के लिए भी कड़ी लड़ाई लड़ रहे थे। .

नई!!: हैदराबाद और बोज्जा तारकं · और देखें »

बीडब्ल्युएफ विश्व प्रतियोगिताएँ

बीडब्ल्युएफ विश्व प्रतियोगिताएँ (पहले आईबीएफ विश्व प्रतियोगिताएँ, अन्य नाम विश्व बैडमिंटन प्रतियोगिताएँ) एक विश्व स्तरीय बैडमिंटन प्रतियोगिता है जो विश्व बैडमिंटन संघ/बीडब्ल्युएफ के द्वारा आयोजित करायी जाती है। ग्रीष्मकालीन ओलम्पिकों के साथ-साथ ये प्रतियोगिताएँ किसी अन्य प्रतियोगिता की तुलना में खिलाड़ियों को सर्वाधिक वरीयता अंक दिलाती हैं। विजेताओं को विश्व विजेता के खिताब से नवाजा जाता है और स्वर्ण पदक दिये जाते हैं। हालांकि इसमें कोइ पुरस्कार राशि नहीं मिलती है। प्रतियोगिता की शुरुवात 1977 में हुई और 1983 तक हर तीसरे साल आयोजित की जाती रहीं। आईबीएफ को पहले दो प्रतियोगिताओं को आयोजित करने में मशक्क्त करनी पड़ी क्योंकि विश्व बैडमिंटन संघ भी आईबीएफ प्रतियोगिताओं के एक साल बाद ही उसी मानदण्ड के अपने विश्व स्तरीय प्रतियोगिताएँ आयोजित करवाता था। बाद में आईबीएफ का विश्व बैडमिंटन संघ में विलय हो गया। 1985 से 2005 तक यह प्रतियोगिता हर दो साल पर होने लगी। 2006 से ज्यादा खिलाड़ियों को विश्व विजेता बनने का मौका देने के लिये यह प्रतियोगिता हर साल आयोजित की जाती है। हालांकि ओलम्पिक वर्षों में यह प्रतियोगिता नहीं होती है क्योंकि ओलम्पिक स्वयं में ही एक विश्व स्तरीय प्रतियोगिता है। .

नई!!: हैदराबाद और बीडब्ल्युएफ विश्व प्रतियोगिताएँ · और देखें »

बीदरी

बीदरी बीदरी एक लोककला है जो की कर्नाटक के बीदर शहर से शुरु हुआ था। और बाद मे धीरे-धीरे इस कला का उपयोग आन्ध्र प्रदेश के हैदराबाद शहर मे भी होने लगा। एक धातु हस्तशिल्प कि 14वीं सदी में बीदर, कर्नाटक, में उत्पन्न बीदर है, बहमनी सुल्तानों के शासन के दौरान शब्द 'Bidriware' बीदर, जो अभी भी निर्माण के लिए मुख्य केंद्र है की बस्ती से निकलती है द्वितीय metalware.

नई!!: हैदराबाद और बीदरी · और देखें »

बीमा लोकपाल

बीमा अनुबंध भारत सरकार .

नई!!: हैदराबाद और बीमा लोकपाल · और देखें »

बीमा विनियामक और विकास प्राधिकरण

इरडा से जुड़े हुए संसथान बीमा विनियामक और विकास प्राधिकरण (Insurance Regulatory and Development Authority / IRDA) भारत सरकार का एक प्राधिकरण (एजेंसी) है। इसका उद्देश्य बीमा की पालसी धारकों के हितों कि रक्षा करना, बीमा उद्योग का क्रमबद्ध विनियमन, संवर्धन तथा संबधित व आकस्मिक मामलों पर कार्य करना है। इसका मुख्यालय हैदराबाद में है। इसकी स्‍थापना संसद के अधिनियम आईआरडीए अधिनियम, 1999 द्वारा की गई थी। यह प्राधिकरण विनियमों को जारी कर रही है जिसमें बीमा एजेंटों, विलेयता लाभ, पुन: बीमा, बीमाकर्ताओं का पंजीकरण, ग्रामीण और सामाजिक क्षेत्र के बीमाकर्ताओं के दायित्‍व, लेखांकन की प्रक्रियाओं आदि सहित बीमा उद्योग को लगभग सम्‍पूर्ण भाग शामिल है। बीमा विनियामक विकास प्राधिकरण (आईआरडीए) उपभोक्ता के हितों को सुनिश्चित करने के लिए बीमा कंपनियों का निरीक्षण करती है। वह आईआरडीए अधिनियम, 1999 की धारा 14(2) (ज) द्वारा प्रदत्त शक्तियों के अनुसार, सभी कंपनियों का मौके पर और मौके के अलावा निरीक्षण करता है। आईआरडीए मौके के अलावा निरीक्षणों के माध्यम से उनके शोध क्षमता मामलों और वित्तीय रिर्पोटिंग मानदडों की नियमित निगरानी करता है। आईआरडीए ने बीमा कंपनियों के कार्यालयों का स्थल पर निरीक्षण करने के लिए एक निरीक्षण विभाग की अलग से स्थापना की है। स्थल पर निरीक्षणों के दौरान, आईआरडीए, बीमा कंपनियों के माकिर्ट संचालन, परिचालन के तरीके और अभिशासन के मानदंडों सहित उनके सांविधिक प्रावधानों और विनियामक निर्देशों के अनुपालन की सीमा का निरीक्षण करता है। आईआरडीए पर बीमा पॉलिसी धारकों के हितों की रक्षा करने की ज़िम्‍मेदारी है। इस उद्देश्‍य को हासिल करने के लिए, प्राधिकरण ने निम्‍नलिखित उपाय किए हैं:-.

नई!!: हैदराबाद और बीमा विनियामक और विकास प्राधिकरण · और देखें »

भारत

भारत (आधिकारिक नाम: भारत गणराज्य, Republic of India) दक्षिण एशिया में स्थित भारतीय उपमहाद्वीप का सबसे बड़ा देश है। पूर्ण रूप से उत्तरी गोलार्ध में स्थित भारत, भौगोलिक दृष्टि से विश्व में सातवाँ सबसे बड़ा और जनसंख्या के दृष्टिकोण से दूसरा सबसे बड़ा देश है। भारत के पश्चिम में पाकिस्तान, उत्तर-पूर्व में चीन, नेपाल और भूटान, पूर्व में बांग्लादेश और म्यान्मार स्थित हैं। हिन्द महासागर में इसके दक्षिण पश्चिम में मालदीव, दक्षिण में श्रीलंका और दक्षिण-पूर्व में इंडोनेशिया से भारत की सामुद्रिक सीमा लगती है। इसके उत्तर की भौतिक सीमा हिमालय पर्वत से और दक्षिण में हिन्द महासागर से लगी हुई है। पूर्व में बंगाल की खाड़ी है तथा पश्चिम में अरब सागर हैं। प्राचीन सिन्धु घाटी सभ्यता, व्यापार मार्गों और बड़े-बड़े साम्राज्यों का विकास-स्थान रहे भारतीय उपमहाद्वीप को इसके सांस्कृतिक और आर्थिक सफलता के लंबे इतिहास के लिये जाना जाता रहा है। चार प्रमुख संप्रदायों: हिंदू, बौद्ध, जैन और सिख धर्मों का यहां उदय हुआ, पारसी, यहूदी, ईसाई, और मुस्लिम धर्म प्रथम सहस्राब्दी में यहां पहुचे और यहां की विविध संस्कृति को नया रूप दिया। क्रमिक विजयों के परिणामस्वरूप ब्रिटिश ईस्ट इण्डिया कंपनी ने १८वीं और १९वीं सदी में भारत के ज़्यादतर हिस्सों को अपने राज्य में मिला लिया। १८५७ के विफल विद्रोह के बाद भारत के प्रशासन का भार ब्रिटिश सरकार ने अपने ऊपर ले लिया। ब्रिटिश भारत के रूप में ब्रिटिश साम्राज्य के प्रमुख अंग भारत ने महात्मा गांधी के नेतृत्व में एक लम्बे और मुख्य रूप से अहिंसक स्वतन्त्रता संग्राम के बाद १५ अगस्त १९४७ को आज़ादी पाई। १९५० में लागू हुए नये संविधान में इसे सार्वजनिक वयस्क मताधिकार के आधार पर स्थापित संवैधानिक लोकतांत्रिक गणराज्य घोषित कर दिया गया और युनाईटेड किंगडम की तर्ज़ पर वेस्टमिंस्टर शैली की संसदीय सरकार स्थापित की गयी। एक संघीय राष्ट्र, भारत को २९ राज्यों और ७ संघ शासित प्रदेशों में गठित किया गया है। लम्बे समय तक समाजवादी आर्थिक नीतियों का पालन करने के बाद 1991 के पश्चात् भारत ने उदारीकरण और वैश्वीकरण की नयी नीतियों के आधार पर सार्थक आर्थिक और सामाजिक प्रगति की है। ३३ लाख वर्ग किलोमीटर क्षेत्रफल के साथ भारत भौगोलिक क्षेत्रफल के आधार पर विश्व का सातवाँ सबसे बड़ा राष्ट्र है। वर्तमान में भारतीय अर्थव्यवस्था क्रय शक्ति समता के आधार पर विश्व की तीसरी और मानक मूल्यों के आधार पर विश्व की दसवीं सबसे बडी अर्थव्यवस्था है। १९९१ के बाज़ार-आधारित सुधारों के बाद भारत विश्व की सबसे तेज़ विकसित होती बड़ी अर्थ-व्यवस्थाओं में से एक हो गया है और इसे एक नव-औद्योगिकृत राष्ट्र माना जाता है। परंतु भारत के सामने अभी भी गरीबी, भ्रष्टाचार, कुपोषण, अपर्याप्त सार्वजनिक स्वास्थ्य-सेवा और आतंकवाद की चुनौतियां हैं। आज भारत एक विविध, बहुभाषी, और बहु-जातीय समाज है और भारतीय सेना एक क्षेत्रीय शक्ति है। .

नई!!: हैदराबाद और भारत · और देखें »

भारत डायनेमिक्स लिमिटेड

भारत डायनामिक्स लिमिटेड (Bharat Dynamics Limited (BDL)) भारत का सार्वजनिक क्षेत्र का एक उपक्रम है। इसका मुख्यालय हैदराबाद में है। यहाँ भारत का गोलाबारूद एवं प्रक्षेपात्र (मिसाइल) बनता है। इसकी स्थापना सन् १९७० में हुई थी। .

नई!!: हैदराबाद और भारत डायनेमिक्स लिमिटेड · और देखें »

भारत में ऊष्मा लहर २०१५

भारत में अप्रैल/मई २०१५ ऊष्मा लहर २६ मई तक १००० से अधिक लोगों की मृत्यु हो गयी और विभिन्न क्षेत्र इससे प्रभावित हुये। भारतीय शुष्क मौसम में ऊष्मीय लहरें चलती हैं जिन्हें लू भी कहा जाता है। ये मुख्यतः मार्च से आरम्भ होकर मई तक चलती हैं। .

नई!!: हैदराबाद और भारत में ऊष्मा लहर २०१५ · और देखें »

भारत में दशलक्ष-अधिक शहरी संकुलनों की सूची

भारत दक्षिण एशिया में एक देश है। भौगोलिक क्षेत्र के अनुसार, वह सातवाँ सबसे बड़ा देश है, और १.२ अरब से अधिक लोगों के साथ, वह दूसरा सबसे अधिक जनसंख्या वाला देश है। भारत में उनतीस राज्य और सात संघ राज्यक्षेत्र हैं। वह विश्व की जनसंख्या के १७.५ प्रतिशत का घर हैं। .

नई!!: हैदराबाद और भारत में दशलक्ष-अधिक शहरी संकुलनों की सूची · और देखें »

भारत में पर्यटन

हर साल, 3 मिलियन से अधिक पर्यटक आगरा में ताज महल देखने आते हैं। भारत में पर्यटन सबसे बड़ा सेवा उद्योग है, जहां इसका राष्ट्रीय सकल घरेलू उत्पाद (GDP) में 6.23% और भारत के कुल रोज़गार में 8.78% योगदान है। भारत में वार्षिक तौर पर 5 मिलियन विदेशी पर्यटकों का आगमन और 562 मिलियन घरेलू पर्यटकों द्वारा भ्रमण परिलक्षित होता है। 2008 में भारत के पर्यटन उद्योग ने लगभग US$100 बिलियन जनित किया और 2018 तक 9.4% की वार्षिक वृद्धि दर के साथ, इसके US$275.5 बिलियन तक बढ़ने की उम्मीद है। भारत में पर्यटन के विकास और उसे बढ़ावा देने के लिए पर्यटन मंत्रालय नोडल एजेंसी है और "अतुल्य भारत" अभियान की देख-रेख करता है। विश्व यात्रा और पर्यटन परिषद के अनुसार, भारत, सर्वाधिक 10 वर्षीय विकास क्षमता के साथ, 2009-2018 से पर्यटन का आकर्षण केंद्र बन जाएगा.

नई!!: हैदराबाद और भारत में पर्यटन · और देखें »

भारत में प्रकाशित होने वाले समाचार पत्रों की सूची

भारत में प्रकाशित होने वाले समाचार पत्रों की सूची। भारत ने सर्वाधिक हिंदी भाषा के समाचार पत्र सर्कुलेट होते हैं उसके बाद इंग्लिश और उर्दू समाचारपत्रों का स्थान है। .

नई!!: हैदराबाद और भारत में प्रकाशित होने वाले समाचार पत्रों की सूची · और देखें »

भारत में मस्जिदों की सूची

साँचा:देशानुसार एशिया में मस्जिदें यह भारत में मस्जिदों की सूची है:;Group ! भारत में मस्जिदें श्रेणी:देशानुसार मस्जिदें श्रेणी:अधूरी सूचियाँ.

नई!!: हैदराबाद और भारत में मस्जिदों की सूची · और देखें »

भारत में सर्वाधिक जनसंख्या वाले महानगरों की सूची

इस लेख में भारत के सर्वोच्च सौ महानगरीय क्षेत्रों की सूची (२००८ अनुसार) है। इन सौ महानगरों की संयुक्त जनसंख्या राष्ट्र की कुल जनसंख्या का सातवां भाग बनाती है। .

नई!!: हैदराबाद और भारत में सर्वाधिक जनसंख्या वाले महानगरों की सूची · और देखें »

भारत में संचार

भारतीय दूरसंचार उद्योग दुनिया का सबसे तेजी से बढ़ता दूरसंचार उद्योग है, जिसके पास अगस्त 2010http://www.trai.gov.in/WriteReadData/trai/upload/PressReleases/767/August_Press_release.pdf तक 706.37 मिलियन टेलीफोन (लैंडलाइन्स और मोबाइल) ग्राहक तथा 670.60 मिलियन मोबाइल फोन कनेक्शन्स हैं। वायरलेस कनेक्शन्स की संख्या के आधार पर यह दूरसंचार नेटवर्क मुहैया करने वाले देशों में चीन के बाद दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा देश है। भारतीय मोबाइल ग्राहक आधार आकार में कारक के रूप में एक सौ से अधिक बढ़ी है, 2001 में देश में ग्राहकों की संख्या लगभग 5 मिलियन थी, जो अगस्त 2010 में बढ़कर 670.60 मिलियन हो गयी है। चूंकि दूरसंचार उद्योग दुनिया में तेजी से बढ़ रहा है, इसलिए यह अनुमान लगाया जा रहा है कि 2013 तक भारत में 1.159 बिलियन मोबाइल उपभोक्ता हो जायेंगे.

नई!!: हैदराबाद और भारत में संचार · और देखें »

भारत में सैन्य अकादमियाँ

भारतीय सैन्य सेवा ने पेशेवर सैनिकों को नई पीढ़ी के सैन्य विज्ञान, युद्ध कमान तथा रणनीति और सम्बंधित प्रौद्योगिकियों में प्रशिक्षण देने के उद्देश्य से भारत के विभिन्न हिस्सों में कई प्रतिष्ठित अकादमियों और स्टाफ कॉलेजों की स्थापना की है। .

नई!!: हैदराबाद और भारत में सैन्य अकादमियाँ · और देखें »

भारत में ज्वैलरी डिजाइन

ज्वैलरी डिजाइन कला या डिजाइन और आभूषण बनाने का पेशा है। यह सभ्यता की सजावट की जल्द से जल्द रूपों में से एक है, मेसोपोटामिया और मिस्र का सबसे पुराना ज्ञात मानव समाज के लिए कम से कम सात हजार साल पहले डेटिंग। कला परिष्कृत धातु और मणि काटने आधुनिक दिन में ज्ञात करने के लिए प्राचीन काल की साधारण पोत का कारचोबी से सदियों भर में कई रूपों ले लिया है। इससे पहले कि आभूषणों के एक लेख बनाई गई है, डिजाइन अवधारणाओं विस्तृत तकनीकी एक आभूषण डिजाइनर, जो सामग्री, निर्माण तकनीक, संरचना, पहनने और बाजार के रुझान के स्थापत्य और कार्यात्मक ज्ञान में प्रशिक्षित किया जाता है एक पेशेवर द्वारा उत्पन्न चित्र द्वारा पीछा किया गाया जाता है। पारंपरिक हाथ ड्राइंग और मसौदा तैयार करने के तरीकों अभी भी विशेष रूप से वैचारिक स्तर पर, आभूषण डिजाइन में उपयोग किया जाता है। हालांकि, एक पारी गैंडा 3 डी और मैट्रिक्स की तरह कंप्यूटर एडेड डिजाइन कार्यक्रमों के लिए हो रही है। जबकि परंपरागत रूप से हाथ से सचित्र गहना आम तौर पर एक कुशल शिल्पकार द्वारा मोम या धातु सीधे में अनुवाद किया है, एक सीएडी मॉडल आम तौर पर रबर मोल्डिंग में इस्तेमाल किया है या मोम खो दिया जा एक सीएनसी कट या 3 डी मुद्रित 'मोम' पैटर्न के लिए आधार के रूप में इस्तेमाल किया जाता है कास्टिंग प्रक्रियाओं। .

नई!!: हैदराबाद और भारत में ज्वैलरी डिजाइन · और देखें »

भारत में विश्वविद्यालयों की सूची

यहाँ भारत में विश्वविद्यालयों की सूची दी गई है। भारत में सार्वजनिक और निजी, दोनों विश्वविद्यालय हैं जिनमें से कई भारत सरकार और राज्य सरकार द्वारा समर्थित हैं। इनके अलावा निजी विश्वविद्यालय भी मौजूद हैं, जो विभिन्न निकायों और समितियों द्वारा समर्थित हैं। शीर्ष दक्षिण एशियाई विश्वविद्यालयों के तहत सूचीबद्ध विश्वविद्यालयों में से अधिकांश भारत में स्थित हैं। .

नई!!: हैदराबाद और भारत में विश्वविद्यालयों की सूची · और देखें »

भारत में इस्लाम

भारतीय गणतंत्र में हिन्दू धर्म के बाद इस्लाम दूसरा सर्वाधिक प्रचलित धर्म है, जो देश की जनसंख्या का 14.2% है (2011 की जनगणना के अनुसार 17.2 करोड़)। भारत में इस्लाम का आगमन करीब 7वीं शताब्दी में अरब के व्यापारियों के आने से हुआ था (629 ईसवी सन्‌) और तब से यह भारत की सांस्कृतिक और धार्मिक विरासत का एक अभिन्न अंग बन गया है। वर्षों से, सम्पूर्ण भारत में हिन्दू और मुस्लिम संस्कृतियों का एक अद्भुत मिलन होता आया है और भारत के आर्थिक उदय और सांस्कृतिक प्रभुत्व में मुसलमानों ने महती भूमिका निभाई है। हालांकि कुछ इतिहासकार ये दावा करते हैं कि मुसलमानों के शासनकाल में हिंदुओं पर क्रूरता किए गए। मंदिरों को तोड़ा गया। जबरन धर्मपरिवर्तन करा कर मुसलमान बनाया गया। ऐसा भी कहा जाता है कि एक मुसलमान शासक टीपू शुल्तान खुद ये दावा करता था कि उसने चार लाख हिंदुओं का धर्म परिवर्तन करवाया था। न्यूयॉर्क टाइम्स, प्रकाशित: 11 दिसम्बर 1992 विश्व में भारत एकमात्र ऐसा देश है जहां सरकार हज यात्रा के लिए विमान के किराया में सब्सिडी देती थी और २००७ के अनुसार प्रति यात्री 47454 खर्च करती थी। हालांकि 2018 से रियायत हटा ली गयी है। .

नई!!: हैदराबाद और भारत में इस्लाम · और देखें »

भारत में कार्यरत बैंकों की सूची

यहाँ सहकारी बैंको को छोड़कर भारत में कार्यरत अन्य बैंकों की सूची दी गयी है। .

नई!!: हैदराबाद और भारत में कार्यरत बैंकों की सूची · और देखें »

भारत इलैक्ट्रॉनिक्स लिमिटेड

भारत इलेक्ट्रॉनिक्स लिमिटेड, भारत सरकार के रक्षा मंत्रालय के अधीन एक सैन्य एवं नागरिक उपकरण एवं संयंत्र निर्माणी है। भारत सरकार द्वारा सन १९५४ में सैन्य क्षेत्र की विशेष चुनौतीपूर्ण आवश्यकताऐं पूरी करने हेतु रक्षा मन्त्रालय के अधीन इसकी स्थापना की गई थी। इलेक्ट्रानिक उपकरण व प्रणालियों का विकास तथा उत्पादन देश में ही करने के उद्देश्य से इसका पहला कारखाना बंगलुरू में लगाया गया था, किन्तु आज यह अपनी नौ उत्पादन इकाईयों, कई क्षेत्रीय कार्यालय तथा अनुसन्धान व विकास प्रयोगशालाओं से युक्त सार्वजनिक क्षेत्र का एक विशाल उपक्रम है, जिसे अपने व्यावसायिक प्रदर्शन के फलस्वरूप भारत सरकार से नवरत्न उद्योग का स्तर प्राप्त हुआ है। .

नई!!: हैदराबाद और भारत इलैक्ट्रॉनिक्स लिमिटेड · और देखें »

भारत का भूगोल

भारत का भूगोल या भारत का भौगोलिक स्वरूप से आशय भारत में भौगोलिक तत्वों के वितरण और इसके प्रतिरूप से है जो लगभग हर दृष्टि से काफ़ी विविधतापूर्ण है। दक्षिण एशिया के तीन प्रायद्वीपों में से मध्यवर्ती प्रायद्वीप पर स्थित यह देश अपने ३२,८७,२६३ वर्ग किमी क्षेत्रफल के साथ विश्व का सातवाँ सबसे बड़ा देश है। साथ ही लगभग १.३ अरब जनसंख्या के साथ यह पूरे विश्व में चीन के बाद दूसरा सबसे अधिक जनसंख्या वाला देश भी है। भारत की भौगोलिक संरचना में लगभग सभी प्रकार के स्थलरूप पाए जाते हैं। एक ओर इसके उत्तर में विशाल हिमालय की पर्वतमालायें हैं तो दूसरी ओर और दक्षिण में विस्तृत हिंद महासागर, एक ओर ऊँचा-नीचा और कटा-फटा दक्कन का पठार है तो वहीं विशाल और समतल सिन्धु-गंगा-ब्रह्मपुत्र का मैदान भी, थार के विस्तृत मरुस्थल में जहाँ विविध मरुस्थलीय स्थलरुप पाए जाते हैं तो दूसरी ओर समुद्र तटीय भाग भी हैं। कर्क रेखा इसके लगभग बीच से गुजरती है और यहाँ लगभग हर प्रकार की जलवायु भी पायी जाती है। मिट्टी, वनस्पति और प्राकृतिक संसाधनो की दृष्टि से भी भारत में काफ़ी भौगोलिक विविधता है। प्राकृतिक विविधता ने यहाँ की नृजातीय विविधता और जनसंख्या के असमान वितरण के साथ मिलकर इसे आर्थिक, सामजिक और सांस्कृतिक विविधता प्रदान की है। इन सबके बावजूद यहाँ की ऐतिहासिक-सांस्कृतिक एकता इसे एक राष्ट्र के रूप में परिभाषित करती है। हिमालय द्वारा उत्तर में सुरक्षित और लगभग ७ हज़ार किलोमीटर लम्बी समुद्री सीमा के साथ हिन्द महासागर के उत्तरी शीर्ष पर स्थित भारत का भू-राजनैतिक महत्व भी बहुत बढ़ जाता है और इसे एक प्रमुख क्षेत्रीय शक्ति के रूप में स्थापित करता है। .

नई!!: हैदराबाद और भारत का भूगोल · और देखें »

भारत का राजनीतिक एकीकरण

१९४७ में स्वतन्त्रता के तुरन्त बाद भारत की राजनीतिक स्थिति १९०९ में 'ब्रितानी भारत' तथा देसी रियासतें स्वतंत्रता के समय 'भारत' के अन्तर्गत तीन तरह के क्षेत्र थे-.

नई!!: हैदराबाद और भारत का राजनीतिक एकीकरण · और देखें »

भारत के दस लाख से अधिक जनसंख्या वाले नगर

* अमृतसर.

नई!!: हैदराबाद और भारत के दस लाख से अधिक जनसंख्या वाले नगर · और देखें »

भारत के प्रधान मंत्रियों की सूची

भारत के प्रधानमंत्री भारत गणराज्य की सरकार के मुखिया हैं। भारत के प्रधानमंत्री, का पद, भारत के शासनप्रमुख (शासनाध्यक्ष) का पद है। संविधान के अनुसार, वह भारत सरकार के मुखिया, भारत के राष्ट्रपति, का मुख्य सलाहकार, मंत्रिपरिषद का मुखिया, तथा लोकसभा में बहुमत वाले दल का नेता होता है। वह भारत सरकार के कार्यपालिका का नेतृत्व करता है। भारत की राजनैतिक प्रणाली में, प्रधानमंत्री, मंत्रिमंडल में का वरिष्ठ सदस्य होता है। .

नई!!: हैदराबाद और भारत के प्रधान मंत्रियों की सूची · और देखें »

भारत के प्रशासनिक विभाग

प्रशासनिक दृष्टि से भारत राज्यों या प्रान्तों में विभक्त है; राज्य, जनपदों (या जिलों) में विभक्त हैं, जिले तहसील (तालुक या मण्डल) में विभक्त हैं। यह विभाजन और नीचे तक गया है। .

नई!!: हैदराबाद और भारत के प्रशासनिक विभाग · और देखें »

भारत के प्रवेशद्वार

प्रवेशद्वार:भारत के सभि राज्य व केन्द्र शासित प्रदेश १. प्रवेशद्वार:अरुणाचल प्रदेश (इटानगर) २. प्रवेशद्वार:असम (दिसपुर) ३. प्रवेशद्वार:उत्तर प्रदेश (लखनऊ) ४. प्रवेशद्वार:उत्तरांचल (देहरादून) ५. प्रवेशद्वार:उड़ीसा (भुवनेश्वर) ६. प्रवेशद्वार:अंडमान और निकोबार द्वीप* (पोर्टब्लेयर) ७. प्रवेशद्वार:आंध्र प्रदेश (हैदराबाद) ८. प्रवेशद्वार:कर्नाटक (बंगलोर) ९. प्रवेशद्वार:केरल (तिरुवनंतपुरम) १०.

नई!!: हैदराबाद और भारत के प्रवेशद्वार · और देखें »

भारत के महानगरों की सूची

भारत के महानगरों की सूची.

नई!!: हैदराबाद और भारत के महानगरों की सूची · और देखें »

भारत के राष्ट्रीय राजमार्गों की सूची - संख्या अनुसार

भारत के राष्ट्रीय राजमार्गों की सूची (संख्या के क्रम में) भारत के राजमार्गो की एक सूची है। .

नई!!: हैदराबाद और भारत के राष्ट्रीय राजमार्गों की सूची - संख्या अनुसार · और देखें »

भारत के राष्ट्रीय उद्यान

नीचे दी गयी सूची भारत के राष्ट्रीय उद्यानों की है। 1936 में भारत का पहला राष्ट्रीय उद्यान था- हेली नेशनल पार्क, जिसे अब जिम कोर्बेट राष्ट्रीय उद्यान के रूप में जाना जाता है। १९७० तक भारत में केवल ५ राष्ट्रीय उद्यान थे। १९८० के दशक में वन्यजीव संरक्षण अधिनियम और प्रोजेक्ट टाइगर योजना के अलावा वन्य जीवों की सुरक्षार्थ कई अन्य वैधानिक प्रावधान लागू हुए.

नई!!: हैदराबाद और भारत के राष्ट्रीय उद्यान · और देखें »

भारत के राज्य तथा केन्द्र-शासित प्रदेश

भारत राज्यों का एक संघ है। इसमें उन्तीस राज्य और सात केन्द्र शासित प्रदेश हैं। ये राज्य और केन्द्र शासित प्रदेश पुनः जिलों और अन्य क्षेत्रों में बांटे गए हैं।.

नई!!: हैदराबाद और भारत के राज्य तथा केन्द्र-शासित प्रदेश · और देखें »

भारत के राज्यों और संघ क्षेत्रों की राजधानियाँ

यह सूची भारत के राज्यों और केन्द्र-शासित प्रदेशों की राजधानियों की है। भारत में कुल 29 राज्य और 7 केन्द्र-शासित प्रदेश हैं। सभी राज्यों और दो केन्द्र-शासित प्रदेशों, दिल्ली और पौण्डिचेरी, में चुनी हुई सरकारें और विधानसभाएँ होती हैं, जो वॅस्टमिन्स्टर प्रतिमान पर आधारित हैं। अन्य पाँच केन्द्र-शासित प्रदेशों पर देश की केन्द्र सरकार का शासन होता है। 1956 में राज्य पुनर्गठन अधिनियम के अन्तर्गत राज्यों का निर्माण भाषाई आधार पर किया गया था, और तबसे यह व्यवस्था लगभग अपरिवर्तित रही है। प्रत्येक राज्य और केन्द्र-शासित प्रदेश प्रशासनिक इकाईयों में बँटा होता है। नीचे दी गई सूची में राज्यों और केन्द्र-शासित प्रदेशों की विभिन्न प्रकार की राजधानियाँ सूचीबद्ध हैं। प्रशासनिक राजधानी वह होती है जहाँ कार्यकारी सरकार के कार्यालय स्थित होते हैं, वैधानिक राजधानी वह है जहाँ से राज्य विधानसभा संचालित होती है, और न्यायपालिका राजधानी वह है जहाँ उस राज्य या राज्यक्षेत्र का उच्च न्यायालय स्थित होता है। .

नई!!: हैदराबाद और भारत के राज्यों और संघ क्षेत्रों की राजधानियाँ · और देखें »

भारत के शहरों की सूची

कोई विवरण नहीं।

नई!!: हैदराबाद और भारत के शहरों की सूची · और देखें »

भारत के सर्वाधिक जनसंख्या वाले शहरों की सूची

यह सूचियों भारत के सबसे बड़े शहरों पर है। .

नई!!: हैदराबाद और भारत के सर्वाधिक जनसंख्या वाले शहरों की सूची · और देखें »

भारत के सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रम

कोई विवरण नहीं।

नई!!: हैदराबाद और भारत के सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रम · और देखें »

भारत के हवाई अड्डे

यह सूची भारत के हवाई यातायात है। .

नई!!: हैदराबाद और भारत के हवाई अड्डे · और देखें »

भारत के उच्च न्यायालयों की सूची

भारतीय उच्च न्यायालय भारत के उच्च न्यायालय हैं। भारत में कुल २४ उच्च न्यायालय है जिनका अधिकार क्षेत्र कोई राज्य विशेष या राज्यों और केन्द्र शासित प्रदेशों के एक समूह होता हैं। उदाहरण के लिए, पंजाब और हरियाणा उच्च न्यायालय, पंजाब और हरियाणा राज्यों के साथ केंद्र शासित प्रदेश चंडीगढ़ को भी अपने अधिकार क्षेत्र में रखता हैं। उच्च न्यायालय भारतीय संविधान के अनुच्छेद २१४, अध्याय ५ भाग ६ के अंतर्गत स्थापित किए गए हैं। न्यायिक प्रणाली के भाग के रूप में, उच्च न्यायालय राज्य विधायिकाओं और अधिकारी के संस्था से स्वतंत्र हैं .

नई!!: हैदराबाद और भारत के उच्च न्यायालयों की सूची · और देखें »

भारत की स्वास्थ्य समस्याएँ (2009)

वर्ष 2009 में भारत के लोगों को पोलियो, एचआईवी और मलेरिया जैसी चिरपरिचित बिमारियों के साथ ही स्वाइन फ्लू नामक नई बीमारी का भी सामना करना पडा। इस वर्ष की दस प्रमुख स्वास्थ्य समस्याएँ निम्नलिखित हैं- .

नई!!: हैदराबाद और भारत की स्वास्थ्य समस्याएँ (2009) · और देखें »

भारत की इंटरनेट प्रदाता कंपनियां

यह भारत में इंटरनेट प्रदाता कंपनियों की सूची है। भारत में १४२ इंटरनेट सेवा प्रदाता (आईएसपी) हैं जो ३० जून २०१६ के अनुसार ब्रोडबैण्ड और नैरोबैण्ड सेवायें प्रदान करते हैं। .

नई!!: हैदराबाद और भारत की इंटरनेट प्रदाता कंपनियां · और देखें »

भारतीय थलसेना

भारतीय थलसेना, सेना की भूमि-आधारित दल की शाखा है और यह भारतीय सशस्त्र बल का सबसे बड़ा अंग है। भारत का राष्ट्रपति, थलसेना का प्रधान सेनापति होता है, और इसकी कमान भारतीय थलसेनाध्यक्ष के हाथों में होती है जो कि चार-सितारा जनरल स्तर के अधिकारी होते हैं। पांच-सितारा रैंक के साथ फील्ड मार्शल की रैंक भारतीय सेना में श्रेष्ठतम सम्मान की औपचारिक स्थिति है, आजतक मात्र दो अधिकारियों को इससे सम्मानित किया गया है। भारतीय सेना का उद्भव ईस्ट इण्डिया कम्पनी, जो कि ब्रिटिश भारतीय सेना के रूप में परिवर्तित हुई थी, और भारतीय राज्यों की सेना से हुआ, जो स्वतंत्रता के पश्चात राष्ट्रीय सेना के रूप में परिणत हुई। भारतीय सेना की टुकड़ी और रेजिमेंट का विविध इतिहास रहा हैं इसने दुनिया भर में कई लड़ाई और अभियानों में हिस्सा लिया है, तथा आजादी से पहले और बाद में बड़ी संख्या में युद्ध सम्मान अर्जित किये। भारतीय सेना का प्राथमिक उद्देश्य राष्ट्रीय सुरक्षा और राष्ट्रवाद की एकता सुनिश्चित करना, राष्ट्र को बाहरी आक्रमण और आंतरिक खतरों से बचाव, और अपनी सीमाओं पर शांति और सुरक्षा को बनाए रखना हैं। यह प्राकृतिक आपदाओं और अन्य गड़बड़ी के दौरान मानवीय बचाव अभियान भी चलाते है, जैसे ऑपरेशन सूर्य आशा, और आंतरिक खतरों से निपटने के लिए सरकार द्वारा भी सहायता हेतु अनुरोध किया जा सकता है। यह भारतीय नौसेना और भारतीय वायुसेना के साथ राष्ट्रीय शक्ति का एक प्रमुख अंग है। सेना अब तक पड़ोसी देश पाकिस्तान के साथ चार युद्धों तथा चीन के साथ एक युद्ध लड़ चुकी है। सेना द्वारा किए गए अन्य प्रमुख अभियानों में ऑपरेशन विजय, ऑपरेशन मेघदूत और ऑपरेशन कैक्टस शामिल हैं। संघर्षों के अलावा, सेना ने शांति के समय कई बड़े अभियानों, जैसे ऑपरेशन ब्रासस्टैक्स और युद्ध-अभ्यास शूरवीर का संचालन किया है। सेना ने कई देशो में संयुक्त राष्ट्र के शांति मिशनों में एक सक्रिय प्रतिभागी भी रहा है जिनमे साइप्रस, लेबनान, कांगो, अंगोला, कंबोडिया, वियतनाम, नामीबिया, एल साल्वाडोर, लाइबेरिया, मोज़ाम्बिक और सोमालिया आदि सम्मलित हैं। भारतीय सेना में एक सैन्य-दल (रेजिमेंट) प्रणाली है, लेकिन यह बुनियादी क्षेत्र गठन विभाजन के साथ संचालन और भौगोलिक रूप से सात कमान में विभाजित है। यह एक सर्व-स्वयंसेवी बल है और इसमें देश के सक्रिय रक्षा कर्मियों का 80% से अधिक हिस्सा है। यह 1,200,255 सक्रिय सैनिकों और 909,60 आरक्षित सैनिकों के साथ दुनिया की दूसरी सबसे बड़ी स्थायी सेना है। सेना ने सैनिको के आधुनिकीकरण कार्यक्रम की शुरुआत की है, जिसे "फ्यूचरिस्टिक इन्फैंट्री सैनिक एक प्रणाली के रूप में" के नाम से जाना जाता है इसके साथ ही यह अपने बख़्तरबंद, तोपखाने और उड्डयन शाखाओं के लिए नए संसाधनों का संग्रह एवं सुधार भी कर रहा है।.

नई!!: हैदराबाद और भारतीय थलसेना · और देखें »

भारतीय नेपाली

भारतीय नेपाली या भारतीय गोरखा वह लोग हैं जो नेपाली मूल के लोग हैं लेकिन भारत में रहते आ रहें हैं, जिन्हें भारतीय नागरिकता प्राप्त है। वह लोग नेपाली भाषा के अलावा भी कई भाषाएं बोलते हैं, नेपाली भाषा भारत के कार्यालयी भाषाओं में से एक है, इतिहास में नेपाल अधिराज्य के वह भाग जो ब्रिटिश राज के समय भारत में आ गये जैसे, पश्चिम बंगाल का दार्जीलिंग जिला जो सिक्किम का भू-भाग था और कुछ समय के लिए नेपाल का भी भू-भाग रहा, सिक्किम-एक मात्र ऐसा राज्य है जहाँ मुख्य रूप से नेपाली रहते हैं जो 1975 में भारत का हिस्सा बना। दूसरे राज्य जहाँ नेपालीयों कि बहुलता है वह हैं:- उत्तराखण्ड, असम, हिमाचल प्रदेश, मणिपुर और मेघालय। भारत के कई बड़े शहरों में भी नेपालीयों कि बहुलता पाई जाती है, मुख्यत: दिल्ली, कोलकाता, बैंगलोर, मुम्बई, चेन्नई, हैदराबाद और विशाखापटनम। .

नई!!: हैदराबाद और भारतीय नेपाली · और देखें »

भारतीय पुलिस सेवा

भारतीय पुलिस सेवा, जिसे आम बोलचाल में भारतीय पुलिस या आईपीएस, के नाम से भी जाना जाता है, भारत सरकार के अखिल भारतीय सेवा के एक अंग के रूप में कार्य करता है, जिसके अन्य दो अंग भारतीय प्रशासनिक सेवा या आईएएस और भारतीय वन सेवा या आईएफएस हैं जो ब्रिटिश प्रशासन के अंतर्गत इंपीरियल पुलिस के नाम से जाना जाता था। .

नई!!: हैदराबाद और भारतीय पुलिस सेवा · और देखें »

भारतीय प्राणि सर्वेक्षण

भारतीय प्राणि सर्वेक्षण (जूलोजिकल सर्वे ऑफ इण्डिया / जेडएसआई) पर्यावरण और वन मंत्रालय का एक अधीनस्थ संगठन है। इसकी स्थापना १९१६ में की गयी थी ताकि पशुवर्ग संबंधी असाधारण विविधता के धनी भारतीय उपमहाद्वीप के प्राणियों के बारे में हमारा ज्ञानभण्डार बढ़ सके। इसका मुख्यालय कोलकाता में है और इसके 16 क्षेत्रीय स्टेशन देश के विभिन्न भौगोलिक स्थानों में स्थित है। सबसे पहले १८७५ में कोलकाता के भारतीय संग्रहालय में प्राणि प्रभाग स्थापित किया गया। .

नई!!: हैदराबाद और भारतीय प्राणि सर्वेक्षण · और देखें »

भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान पटना

भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान पटना, बिहार का एकमात्र भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान है जो उन आठ भारतीय प्रौद्योगिक संस्थानों में से एक है, जिसे केंद्र सरकार ने वर्ष 2008- 2009 के मध्य स्थापित किया था। भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान का परिसर पटना शहर से 25 किलोमीटर दूर स्थित बिहटा में स्थित है।भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान पटना का परिसर राजधानी पटना से 25 किलोमीटर दूर बिहटा नामक स्थान पर लगभग 500 एकड़ भूमि पर निर्मित किया गया है। .

नई!!: हैदराबाद और भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान पटना · और देखें »

भारतीय भूवैज्ञानिक सर्वेक्षण

कोलकाता में जी एस आई का मुख्यालय १८७० में भारतीय भूवैज्ञानिक सर्वेक्षण के सदस्यगण भारतीय भूवैज्ञानिक सर्वेक्षण (Geological Survey of India) भारत सरकार के खान मंत्रालय के अधीन कार्यरत एक संगठन है। इसकी स्थापना १८५१ में हुई थी। इसका कार्य भूवैज्ञानिक सर्वेक्षण और अध्ययन करना है। ये इस तरह के दुनिया के सबसे पुराने संगठनों में से एक है। .

नई!!: हैदराबाद और भारतीय भूवैज्ञानिक सर्वेक्षण · और देखें »

भारतीय मौसम विज्ञान विभाग

भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (भा॰मौ॰वि॰वि॰) भारत सरकार के पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय के अंतर्गत मौसम विज्ञान प्रक्षेण, मौसम पूर्वानुमान और भूकम्प विज्ञान का कार्यभार सँभालने वाली सर्वप्रमुख एजेंसी है। मौसम विज्ञान विभाग का मुख्यालय नई दिल्ली में स्थित है। इस विभाग के द्वारा भारत से लेकर अंटार्कटिका भर में सैकड़ों प्रक्षेण स्टेशन चलाये जाते हैं। .

नई!!: हैदराबाद और भारतीय मौसम विज्ञान विभाग · और देखें »

भारतीय मीडिया

भारत के संचार माध्यम (मीडिया) के अन्तर्गत टेलीविजन, रेडियो, सिनेमा, समाचार पत्र, पत्रिकाएँ, तथा अन्तरजालीय पृष्ट आदि हैं। अधिकांश मीडिया निजी हाथों में है और बड़ी-बड़ी कम्पनियों द्वारा नियंत्रित है। भारत में 70,000 से अधिक समाचार पत्र हैं, 690 उपग्रह चैनेल हैं (जिनमें से 80 समाचार चैनेल हैं)। आज भारत विश्व का सबसे बड़ा समाचार पत्र का बाजार है। प्रतिदिन १० करोड़ प्रतियाँ बिकतीं हैं। .

नई!!: हैदराबाद और भारतीय मीडिया · और देखें »

भारतीय राष्ट्रीय फुटबॉल टीम

भारतीय राष्ट्रीय फुटबॉल टीम अखिल भारतीय फुटबॉल महासंघ के द्वारा शासित है। 1948 से अखिल भारतीय फुटबॉल महासंघ फीफा द्वारा संबद्ध हो गयी। 1948 से भारतीय फुटबॉल महासंघ एशियाई फुटबॉल महासंघ के संस्थापक सदस्यों में है। भारतीय फुटबॉल टीम ने पहली और अंतिम बार 1950 में फीफा विश्व कप किया था परन्तु कुछ कारणों से वह इस प्रतियोगिता में हिस्सा न ले पाई। भारतीय टीम ने अब तक दो एशियाई खेलों में स्वर्ण तथा एएफसी एशिया कप में एक बार रजत जीता है। .

नई!!: हैदराबाद और भारतीय राष्ट्रीय फुटबॉल टीम · और देखें »

भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के अध्यक्षों की सूची

१९३८ के हरिपुरा सम्मेलन में (बाएं से दाएं) महात्मा गांधी, राजेन्द्र प्रसाद, सुभाष चन्द्र बोस और वल्लभ भाई पटेल। गले में फीता पहने बोस इस सम्मेलन के अध्यक्ष थे। भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस स्वतंत्र भारत का प्रमुख राजनीतिक दल है और इस की स्थापना स्वतंत्रता से पूर्व १८८५ में हुई थी। भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के अध्यक्ष दल के चुने हुए प्रमुख होते है जो आम जनता के साथ दल के रिश्ते को प्रबंधित करने के लिए जिम्मेदार होते है। .

नई!!: हैदराबाद और भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के अध्यक्षों की सूची · और देखें »

भारतीय रिज़र्व बैंक

भारतीय रिजर्व बैंक (Reserve Bank of India) भारत का केन्द्रीय बैंक है। यह भारत के सभी बैंकों का संचालक है। रिजर्व बैक भारत की अर्थव्यवस्था को नियन्त्रित करता है। इसकी स्थापना १ अप्रैल सन १९३५ को रिजर्व बैंक ऑफ इण्डिया ऐक्ट १९३४ के अनुसार हुई। बाबासाहेब डॉ॰ भीमराव आंबेडकर जी ने भारतीय रिजर्व बैंक की स्थापना में अहम भूमिका निभाई हैं, उनके द्वारा प्रदान किये गए दिशा-निर्देशों या निर्देशक सिद्धांत के आधार पर भारतीय रिजर्व बैंक बनाई गई थी। बैंक कि कार्यपद्धती या काम करने शैली और उसका दृष्टिकोण बाबासाहेब ने हिल्टन यंग कमीशन के सामने रखा था, जब 1926 में ये कमीशन भारत में रॉयल कमीशन ऑन इंडियन करेंसी एंड फिनांस के नाम से आया था तब इसके सभी सदस्यों ने बाबासाहेब ने लिखे हुए ग्रंथ दी प्राब्लम ऑफ दी रुपी - इट्स ओरीजन एंड इट्स सोल्यूशन (रुपया की समस्या - इसके मूल और इसके समाधान) की जोरदार वकालात की, उसकी पृष्टि की। ब्रिटिशों की वैधानिक सभा (लेसिजलेटिव असेम्बली) ने इसे कानून का स्वरूप देते हुए भारतीय रिजर्व बैंक अधिनियम 1934 का नाम दिया गया। प्रारम्भ में इसका केन्द्रीय कार्यालय कोलकाता में था जो सन १९३७ में मुम्बई आ गया। पहले यह एक निजी बैंक था किन्तु सन १९४९ से यह भारत सरकार का उपक्रम बन गया है। उर्जित पटेल भारतीय रिजर्व बैंक के वर्तमान गवर्नर हैं, जिन्होंने ४ सितम्बर २०१६ को पदभार ग्रहण किया। पूरे भारत में रिज़र्व बैंक के कुल 22 क्षेत्रीय कार्यालय हैं जिनमें से अधिकांश राज्यों की राजधानियों में स्थित हैं। मुद्रा परिचालन एवं काले धन की दोषपूर्ण अर्थव्यवस्था को नियन्त्रित करने के लिये रिज़र्व बैंक ऑफ इण्डिया ने ३१ मार्च २०१४ तक सन् २००५ से पूर्व जारी किये गये सभी सरकारी नोटों को वापस लेने का निर्णय लिया है। .

नई!!: हैदराबाद और भारतीय रिज़र्व बैंक · और देखें »

भारतीय सिन्धी

सिन्धी (सिन्धी: سنڌي‎) उन लोगों को कहते हैं जिनका मूल सिन्ध है। वर्तमान समय में सिन्ध, पाकिस्तान का एक प्रान्त है किन्तु अंग्रेजों के काल में तथा उससे हजारों वर्ष पूर्व सिन्ध नाम का भौगोलिक क्षेत्र प्रसिद्ध था। १९४७ में भारत एवं पाकिस्तान के अलग होने पर सिन्ध के अधिकांश हिन्दुओं को सिन्ध छोड़कर भारत आना पड़ा। ये लोग भारत के विभिन्न भागों में बस गये। कुछ सिन्धी विश्व के अन्य देशों में जाकर बस गये। भारत में सिन्धी लोगों की प्रसिद्ध बस्तियाँ इन स्थानों पर हैं-.

नई!!: हैदराबाद और भारतीय सिन्धी · और देखें »

भारतीय सिनेमा

भारतीय सिनेमा के अन्तर्गत भारत के विभिन्न भागों और भाषाओं में बनने वाली फिल्में आती हैं जिनमें आंध्र प्रदेश और तेलंगाना, असम, बिहार, उत्तर प्रदेश, गुजरात, हरियाणा, जम्मू एवं कश्मीर, झारखंड, कर्नाटक, केरल, महाराष्ट्र, ओडिशा, पंजाब, राजस्थान, तमिलनाडु, पश्चिम बंगाल और बॉलीवुड शामिल हैं। भारतीय सिनेमा ने २०वीं सदी की शुरुआत से ही विश्व के चलचित्र जगत पर गहरा प्रभाव छोड़ा है।। भारतीय फिल्मों का अनुकरण पूरे दक्षिणी एशिया, ग्रेटर मध्य पूर्व, दक्षिण पूर्व एशिया और पूर्व सोवियत संघ में भी होता है। भारतीय प्रवासियों की बढ़ती संख्या की वजह से अब संयुक्त राज्य अमरीका और यूनाइटेड किंगडम भी भारतीय फिल्मों के लिए एक महत्वपूर्ण बाजार बन गए हैं। एक माध्यम(परिवर्तन) के रूप में सिनेमा ने देश में अभूतपूर्व लोकप्रियता हासिल की और सिनेमा की लोकप्रियता का इसी से अन्दाजा लगाया जा सकता है कि यहाँ सभी भाषाओं में मिलाकर प्रति वर्ष 1,600 तक फिल्में बनी हैं। दादा साहेब फाल्के भारतीय सिनेमा के जनक के रूप में जाना जाते हैं। दादा साहब फाल्के के भारतीय सिनेमा में आजीवन योगदान के प्रतीक स्वरुप और 1969 में दादा साहब के जन्म शताब्दी वर्ष में भारत सरकार द्वारा दादा साहेब फाल्के पुरस्कार की स्थापना उनके सम्मान में की गयी। आज यह भारतीय सिनेमा का सबसे प्रतिष्ठित और वांछित पुरस्कार हो गया है। २०वीं सदी में भारतीय सिनेमा, संयुक्त राज्य अमरीका का सिनेमा हॉलीवुड तथा चीनी फिल्म उद्योग के साथ एक वैश्विक उद्योग बन गया।Khanna, 155 2013 में भारत वार्षिक फिल्म निर्माण में पहले स्थान पर था इसके बाद नाइजीरिया सिनेमा, हॉलीवुड और चीन के सिनेमा का स्थान आता है। वर्ष 2012 में भारत में 1602 फ़िल्मों का निर्माण हुआ जिसमें तमिल सिनेमा अग्रणी रहा जिसके बाद तेलुगु और बॉलीवुड का स्थान आता है। भारतीय फ़िल्म उद्योग की वर्ष 2011 में कुल आय $1.86 अरब (₹ 93 अरब) की रही। जिसके वर्ष 2016 तक $3 अरब (₹ 150 अरब) तक पहुँचने का अनुमान है। बढ़ती हुई तकनीक और ग्लोबल प्रभाव ने भारतीय सिनेमा का चेहरा बदला है। अब सुपर हीरो तथा विज्ञानं कल्प जैसी फ़िल्में न केवल बन रही हैं बल्कि ऐसी कई फिल्में एंथीरन, रा.वन, ईगा और कृष 3 ब्लॉकबस्टर फिल्मों के रूप में सफल हुई है। भारतीय सिनेमा ने 90 से ज़्यादा देशों में बाजार पाया है जहाँ भारतीय फिल्मे प्रदर्शित होती हैं। Khanna, 158 सत्यजीत रे, ऋत्विक घटक, मृणाल सेन, अडूर गोपालकृष्णन, बुद्धदेव दासगुप्ता, जी अरविंदन, अपर्णा सेन, शाजी एन करुण, और गिरीश कासरावल्ली जैसे निर्देशकों ने समानांतर सिनेमा में महत्वपूर्ण योगदान दिया है और वैश्विक प्रशंसा जीती है। शेखर कपूर, मीरा नायर और दीपा मेहता सरीखे फिल्म निर्माताओं ने विदेशों में भी सफलता पाई है। 100% प्रत्यक्ष विदेशी निवेश के प्रावधान से 20वीं सेंचुरी फॉक्स, सोनी पिक्चर्स, वॉल्ट डिज्नी पिक्चर्स और वार्नर ब्रदर्स आदि विदेशी उद्यमों के लिए भारतीय फिल्म बाजार को आकर्षक बना दिया है। Khanna, 156 एवीएम प्रोडक्शंस, प्रसाद समूह, सन पिक्चर्स, पीवीपी सिनेमा,जी, यूटीवी, सुरेश प्रोडक्शंस, इरोज फिल्म्स, अयनगर्न इंटरनेशनल, पिरामिड साइमिरा, आस्कार फिल्म्स पीवीआर सिनेमा यशराज फिल्म्स धर्मा प्रोडक्शन्स और एडलैब्स आदि भारतीय उद्यमों ने भी फिल्म उत्पादन और वितरण में सफलता पाई। मल्टीप्लेक्स के लिए कर में छूट से भारत में मल्टीप्लेक्सों की संख्या बढ़ी है और फिल्म दर्शकों के लिए सुविधा भी। 2003 तक फिल्म निर्माण / वितरण / प्रदर्शन से सम्बंधित 30 से ज़्यादा कम्पनियां भारत के नेशनल स्टॉक एक्सचेंज में सूचीबद्ध की गयी थी जो फिल्म माध्यम के बढ़ते वाणिज्यिक प्रभाव और व्यसायिकरण का सबूत हैं। दक्षिण भारतीय फिल्म उद्योग दक्षिण भारत की चार फिल्म संस्कृतियों को एक इकाई के रूप में परिभाषित करता है। ये कन्नड़ सिनेमा, मलयालम सिनेमा, तेलुगू सिनेमा और तमिल सिनेमा हैं। हालाँकि ये स्वतंत्र रूप से विकसित हुए हैं लेकिन इनमे फिल्म कलाकारों और तकनीशियनों के आदान-प्रदान और वैष्वीकरण ने इस नई पहचान के जन्म में मदद की। भारत से बाहर निवास कर रहे प्रवासी भारतीय जिनकी संख्या आज लाखों में हैं, उनके लिए भारतीय फिल्में डीवीडी या व्यावसायिक रूप से संभव जगहों में स्क्रीनिंग के माध्यम से प्रदर्शित होती हैं। Potts, 74 इस विदेशी बाजार का भारतीय फिल्मों की आय में 12% तक का महत्वपूर्ण योगदान हो सकता है। इसके अलावा भारतीय सिनेमा में संगीत भी राजस्व का एक साधन है। फिल्मों के संगीत अधिकार एक फिल्म की 4 -5 % शुद्ध आय का साधन हो सकते हैं। .

नई!!: हैदराबाद और भारतीय सिनेमा · और देखें »

भारतीय सिनेमा के सौ वर्ष

3 मई 2013 (शुक्रवार) को भारतीय सिनेमा पूरे सौ साल का हो गया। किसी भी देश में बनने वाली फिल्में वहां के सामाजिक जीवन और रीति-रिवाज का दर्पण होती हैं। भारतीय सिनेमा के सौ वर्षों के इतिहास में हम भारतीय समाज के विभिन्न चरणों का अक्स देख सकते हैं।उल्लेखनीय है कि इसी तिथि को भारत की पहली फीचर फ़िल्म “राजा हरिश्चंद्र” का रुपहले परदे पर पदार्पण हुआ था। इस फ़िल्म के निर्माता भारतीय सिनेमा के जनक दादासाहब फालके थे। एक सौ वर्षों की लम्बी यात्रा में हिन्दी सिनेमा ने न केवल बेशुमार कला प्रतिभाएं दीं बल्कि भारतीय समाज और चरित्र को गढ़ने में भी महत्वपूर्ण योगदान दिया। .

नई!!: हैदराबाद और भारतीय सिनेमा के सौ वर्ष · और देखें »

भारतीय सिविल सेवा

भारतीय सिविल सेवा भारत सरकार की नागरिक सेवा तथा स्थायी नौकरशाही है। सिविल सेवा देश की प्रशासनिक मशीनरी की रीढ है। भारत के संसदीय लोकतंत्र में जनता द्वारा चुने गए प्रतिनिधियों, जो कि मंत्रीगण होते हैं, के साथ वे प्रशासन को चलाने के लिए जिम्मेदार होते हैं। ये मंत्री विधायिकाओं के लिए उत्तरदायी होते हैं जिनका निर्वाचन सार्वभौमिक वयस्क मताधिकार के आधार पर आम जनता द्वारा होता है। मंत्रीगण परोक्ष रूप से लोगों के लिए भी जिम्मेदार हैं। लेकिन आधुनिक प्रशासन की कई समस्याओं के साथ मंत्रीगण द्वारा व्यक्तिगत रूप से उनसे निपटने की उम्मीद नहीं की जा सकती है। इस प्रकार मंत्रियों ने नीतियों का निर्धारण किया और नीतियों के निर्वाह के लिए सिविल सेवकों की नियुक्ति की जाती है। कार्यकारी निर्णय भारतीय सिविल सेवकों द्वारा कार्यान्वित किया जाता है। सिविल सेवक, भारतीय संसद के बजाए भारत सरकार के कर्मचारी हैं। सिविल सेवकों के पास कुछ पारंपरिक और सांविधिक दायित्व भी होते हैं जो कि कुछ हद तक सत्ता में पार्टी के राजनैतिक शक्ति के लाभ का इस्तेमाल करने से बचाता है। वरिष्ठ सिविल सेवक संसद के स्पष्टीकरण के लिए जिम्मेवार हो सकते हैं। सिविल सेवा में सरकारी मंत्रियों (जिनकी नियुक्ति राजनैतिक स्तर पर की गई हो), संसद के सदस्यों, विधानसभा विधायी सदस्य, भारतीय सशस्त्र बलों, गैर सिविल सेवा पुलिस अधिकारियों और स्थानीय सरकारी अधिकारियों को शामिल नहीं किया जाता है। .

नई!!: हैदराबाद और भारतीय सिविल सेवा · और देखें »

भारतीय सिक्के

शेर शाह सूरी (१५४०-१५४५) द्वारा प्रचालित सिक्के भारत में सिक्के ढालने का एकमात्र अधिकार भारत सरकार को है। सिक्का निर्माण का दायित्व समय-समय पर यथासंशोधित सिक्का निर्माण अधिनियम, 1906 के अनुसार भारत सरकार का है। विभिन्न मूल्यवर्ग के सिक्कों के अभिकल्प तैयार करने और उनकी ढलाई करने का दायित्व भी भारत सरकार का है। सिक्कों की ढलाई भारत सरकार के चार टकसालों यथा मुंबई, अलीपुर (कोलकाता), सैफाबाद (हैदराबाद), चेरियापल्ली (हैदराबाद) और नोयडा (उ.प्र.) में की जाती है। भारतीय रिजर्व बैंक अधिनियम के अनुसार परिचालन के लिए सिक्के भारतीय रिजर्व बैंक के माध्यम से जारी किए जाते हैं। .

नई!!: हैदराबाद और भारतीय सिक्के · और देखें »

भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण

भारतीय विशिष्‍ट पहचान प्राधिकरण (Unique Identification Authority of India) सन २००९ में गठित भारत सरकार का एक प्राधिकरण है जिसका गठन भारत के प्रत्येक नागरिक को एक बहुउद्देश्यीय राष्ट्रीय पहचान पत्र उपलब्ध करवाने की भारत सरकार की एक महत्वाकांक्षी योजना के अन्तर्गत किया गया। भारत के प्रत्येक निवासियों को प्रारंभिक चरण में पहचान प्रदान करने एवं प्राथमिक तौर पर प्रभावशाली जनहित सेवाऐं उपलब्ध कराना इस परियोजना का प्रमुख उद्देश्य था। इस बहुउद्देश्यीय राष्ट्रीय पहचान पत्र (Multipurpose National Identity Card) का नाम "आधार" रखा गया। .

नई!!: हैदराबाद और भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण · और देखें »

भारतीय कदन्न अनुसनधान संस्थान

भारतीय कदन्न अनुसनधान संस्थान (Indian Institute of Millets Research (IIMR)) हैदराबाद के राजेन्द्रनगर क्षेत्र में स्थित एक कृषि अनुसन्धान संस्थान है जो कदन्नों पर अनुसन्धान करती है। .

नई!!: हैदराबाद और भारतीय कदन्न अनुसनधान संस्थान · और देखें »

भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी

भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (भाकपा) (Communist Party of India) भारत का एक साम्यवादी दल है। इस दल की स्थापना 26 दिसम्बर 1925 को कानपुर नगर में हुई थी। भारतीय कम्युनिष्ट पार्टी की स्थापना एम एन राय ने की। 1928 ई. में कम्युनिस्ट इण्टरनेशनल ने ही भारत में कम्युनिस्ट पार्टी की कार्य प्रणाली निश्चित की। इस दल के महासचिव एस. सुधाकर रेड्डी है। यह भारत की सबसे पुरानी कम्युनिस्ट पार्टी है। चुनाव आयोग द्वारा इसे राष्ट्रीय दल के रूप में मान्यता प्राप्त है। यह दल 'न्यू एज' (New Age) का प्रकाशन करता है। इस दल का युवा संगठन 'आल इंडिया यूथ फेडरेशन' है। २००४ के संसदीय चुनाव में इस दल को ५ ४३४ ७३८ मत (१.४%, १० सीटें) मिले। २००९ के संसदीय चुनाव में इस दल को मात्र ४ सीटें मिली। 2014 के संसदीय चुनाव में दल को मात्र 1 सीटें मिली .

नई!!: हैदराबाद और भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी · और देखें »

भारतीय क्रिकेट टीम

भारतीय क्रिकेट टीम भारत की राष्ट्रीय क्रिकेट टीम है। भारतीय क्रिकेट नियंत्रण बोर्ड (बीसीसीआई) द्वारा संचालित भारतीय क्रिकेट टीम अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद की पूर्णकालिक सदस्य है। भारतीय टीम दो बार क्रिकेट विश्वकप (१९८३ और २०११) अपने नाम कर चुकी है। वर्तमान में भारतीय क्रिकेट टीम के कोच रवि शास्त्री हैं। .

नई!!: हैदराबाद और भारतीय क्रिकेट टीम · और देखें »

भारतीय क्रिकेट टीम का सीजन 2017

भारतीय क्रिकेट टीम ने 2017 में खेले गए क्रिकेट का लेखा जोखा हैं। .

नई!!: हैदराबाद और भारतीय क्रिकेट टीम का सीजन 2017 · और देखें »

भारतीय क्रिकेट टीम के कीर्तिमानों की सूची

यह सूची भारतीय क्रिकेट टीम के कीर्तिमानों (रिकॉर्ड्स) की है। .

नई!!: हैदराबाद और भारतीय क्रिकेट टीम के कीर्तिमानों की सूची · और देखें »

भार्गवी राव

भार्गवी प्रभंजन राव (14 अगस्त 1944 – 23 मई 2008), तेलुगू भाषा की प्रख्यात अनुवादक थी, जिन्हें साहित्य अकादमी पुरस्कार प्राप्त था। अपने जीवन कल में वे सक्रिय रूप से लेखक और नाटककार गिरीश कर्नाड के विभिन्न कार्यों के अनुवाद में शामिल रही थीं। उनके सृजन कर्म के अंतर्गत प्रकाशित नूरेला पांटा उनकी सर्वाधिक चर्चित कृतियों में से एक है, जो बीसवीं सदी की महिला लेखिकाओं की सौ छोटी कहानियों का तेलगु भाषा में एक संकलन है। .

नई!!: हैदराबाद और भार्गवी राव · और देखें »

भाई प्रताप दयालदास

भाई प्रताप दयालदास एक भारतीय उद्यमी, और स्वतंत्रता सेनानी थे। वे आदिपुर शहर के संस्थापक थे। स्वतंत्रता संघर्ष के दिनों के बाद से भाई प्रताप सिंह का पंडित जवाहरलाल नेहरू, महात्मा गांधी और सरदार पटेल जैसे बड़े हस्तियों के साथ करीबी संबंध थे। इनका जन्म हैदराबाद, सिंध में 14 अप्रैल 1908 को हुआ था। भाई प्रताप अपनी समृद्धि के लिए जाने जाते थे और एक रईस परिवार से थे। .

नई!!: हैदराबाद और भाई प्रताप दयालदास · और देखें »

भोपाल का इतिहास

ऐसा समझा जाता है कि भोपाल की स्थापना परमार राजा भोज ने १०००-१०५५ ईस्वी में की थी। उनके राज्य की राजधानी धार थी, जो अब मध्य प्रदेश का एक जिला है। शहर का पूर्व नाम 'भोजपाल' था जो भोज और पाल के संधि से बना था। परमार राजाओं के अस्त के बाद यह शहर कई बार लूट का शिकार बना। इसके बाद भोपाल शहर की स्थापना अफ़गान सिपाही दोस्त मोहम्मद (1708-1740) ने की थी। ऒरंगजेब की मृत्यु के बाद की अफ़रातफ़री में जब दोस्त मोहम्मद दिल्ली से भाग रहा था, तो उसकी मुलाकात गोंड रानी कमलापती से हुई जिसने दोस्त मोहम्मद से मदद माँगी। वह अपने साथ इस्लामी सभ्यता ले कर आया जिसका प्रभाव उस काल के महलों और दूसरी इमारतों मे साफ़ दिखाई देता है। आज़ादी के पहले भोपाल हैदराबाद के बाद सबसे बड़ा मुस्लिम राज्य था। सन् 1819 ईस्वी से ले के 1926 ईस्वी तक भोपाल का राज चार बेगमों ने संभाला। कुदसिया बेगम सबसे पहली महिला शासक बनीं। वे गौहर बेगम के नाम से भी मशहूर थीं। उनके बाद, उनकी इकलौती संतान, नवाब सिकंदर जहां बेगम शासक बनीं। सिकंदर जहां बेगम के बाद उनकी पुत्री शाहजहाँ बेगम ने भोपाल रियासत की बागडोर संभाली। अंतिम मुस्लिम महिला शासक पुत्री सुल्तान जहां बेगम थीं। बाद में उनके पुत्र हमीदुल्ला खान गद्दीनशीं हुए, जिन्होंने मई १९४९ तक भोपाल रियासत के विलीनीकरण तक शासन किया। बेगमों के राज मे भोपाल राज्य को रेलवे, डाक-विभाग जैसे अनेक उपहार मिले। सन् 1903 मे नगर निगम का भी गठन हुआ। श्रेणी:भोपाल.

नई!!: हैदराबाद और भोपाल का इतिहास · और देखें »

मदार

मदार का वृक्ष आक के पुष से बनीं मालाएँ मदार (वानस्पतिक नाम:Calotropis gigantea) एक औषधीय पादप है। इसको मंदार', आक, 'अर्क' और अकौआ भी कहते हैं। इसका वृक्ष छोटा और छत्तादार होता है। पत्ते बरगद के पत्तों समान मोटे होते हैं। हरे सफेदी लिये पत्ते पकने पर पीले रंग के हो जाते हैं। इसका फूल सफेद छोटा छत्तादार होता है। फूल पर रंगीन चित्तियाँ होती हैं। फल आम के तुल्य होते हैं जिनमें रूई होती है। आक की शाखाओं में दूध निकलता है। वह दूध विष का काम देता है। आक गर्मी के दिनों में रेतिली भूमि पर होता है। चौमासे में पानी बरसने पर सूख जाता है। आक के पौधे शुष्क, उसर और ऊँची भूमि में प्रायः सर्वत्र देखने को मिलते हैं। इस वनस्पति के विषय में साधारण समाज में यह भ्रान्ति फैली हुई है कि आक का पौधा विषैला होता है, यह मनुष्य को मार डालता है। इसमें किंचित सत्य जरूर है क्योंकि आयुर्वेद संहिताओं में भी इसकी गणना उपविषों में की गई है। यदि इसका सेवन अधिक मात्रा में कर लिया जाये तो, उल्दी दस्त होकर मनुष्य की मृत्यु हो सकती है। इसके विपरीत यदि आक का सेवन उचित मात्रा में, योग्य तरीके से, चतुर वैद्य की निगरानी में किया जाये तो अनेक रोगों में इससे बड़ा उपकार होता है। .

नई!!: हैदराबाद और मदार · और देखें »

मर्पल्लि

मर्पल्लि रंगारेड्डी जिले का एक शहर है। यह हैदराबाद से ६५ किलोमीटर दूरी पर है। श्रेणी:रंगारेड्डी जिला श्रेणी:तेलंगाना के नगर.

नई!!: हैदराबाद और मर्पल्लि · और देखें »

महात्मा आनन्द स्वामी

महात्मा आनन्द स्वामी सरस्वती (15 अक्टूबर 1882 - 24 अक्टूबर 1977) आर्य समाज के नेता एवं 'आर्य गजट' तथा 'मिलाप' आदि पत्रों के सम्पादक थे। वे अविभाजित पंजाब की पत्रकारिता के पितामह तथा संघर्षशील संन्यासी थे। उनका मूल नाम 'खुशहालचन्द खुरसंद' था। .

नई!!: हैदराबाद और महात्मा आनन्द स्वामी · और देखें »

महानगरीय क्षेत्र

ग्रेटर टोक्यो एरिया, विश्व का सबसे घनी आबादी वाला महानगरीय क्षेत्र है, जिसकी जनसंख्या ३ करोड़ पचास लाख है। महानगरीय क्षेत्र एक विशाल जनसंख्या केंद्र और उसके पड़ोसी क्षेत्र को मिलाकर होता है। इसमें एकदम निकटता से जुड़े शहर एवं अन्य प्रभावित क्षेत्र भी गिने जा सकते हैं। इसमें सबसे बड़े शहर के नाम से ही इस क्षेत्र के नाम को जाना जाता है। .

नई!!: हैदराबाद और महानगरीय क्षेत्र · और देखें »

महावीर हरिण वनस्थली राष्ट्रीय उद्यान

महावीर हरिण वनस्थली राष्ट्रीय उद्यान भारत के आंध्र प्रदेश राज्य की राजधानी हैदराबाद में वनस्थलीपुरम इलाके में स्थित एक राष्ट्रीय उद्यान है। श्रेणी:भारत के राष्ट्रीय उद्यान श्रेणी:राष्ट्रीय उद्यान, भारत श्रेणी:भारत के अभयारण्य.

नई!!: हैदराबाद और महावीर हरिण वनस्थली राष्ट्रीय उद्यान · और देखें »

महेश बाबु

महेश बाबू एक भारतीय तेलुगू फ़िल्म अभिनेता हैं ' इनका जन्म 9 अगस्त 1975 चेन्नई,तमिल नाडू में हुआ था,इन्होंने अपने फ़िल्मी कैरियर की शुरूआत बाल्यकाल में ही कर दी थी 'उनकी 2003 की ब्लॉकबस्टर फ़िल्म ओक्काडू उस समय की सबसे बड़ी तेलुगू फ़िल्मों में से एक थी उस फ़िल्म में इन्होंने एक युवा कबड्डी खिलाड़ी की भूमिका निभाई थी ' फ़िल्म बाद में विभिन्न भारतीय भाषाओं में पुनर्निर्माण किया गया था। इनकी 2005 की फ़िल्म अथाडु तेलुगू सिनेमा में एक और उच्च कमाई के साथ अंतरराष्ट्रीय मान्यता प्राप्त थी। महेश बाबू प्रोडक्शन हाउस जी महेश बाबू एंटरटेनमेंट प्राइवेट लिमितेदड के मालिक है। दिग्गज तेलुगू अभिनेता कृष्णा के छोटे बेटे महेश ने अपने कैमियो नीडा में एक बाल कलाकार (1979) के रूप में अपने फिल्मी कैरियर की शुरुआत की छर वर्ष की आयु में की और एक बाल कलाकार के रूप में आठ अन्य फिल्मों में अभिनय किया। उन्होंने राजाकुमरुडू (1999) के साथ एक मुख्य अभिनेता के रूप में अपने कैरियर की शुरुआत की और सर्वश्रेष्ठ पुरुष कलाकर का अपनी पहली फिल्म के लिए राज्य नंदी पुरस्कार जीता। महेश ने फिल्म मुरारी(2001), और एक्शन फिल्म ओक्काडू (2003) के साथ सफलता प्राप्त की। मुरारी के अपने अभिनय के बल पर अपने पहले नंदी विशेष जूरी पुरस्कार प्राप्त किया और बाद में उसे सर्वश्रेष्ठ अभिनेता के लिए अपनी पहली फिल्म फेयर अवार्ड दिलवाया - तेलुगु एक्शन थ्रिलर के अथूडू(2005) और पोकिरी (2006) की व्यावसायिक सफलता के लिए उन्की राष्ट्रीय स्तर पर पहचान है, और अपने विदेशी बाजार की स्थापना की। 1ननेक्कोडाइन (2014), और सरिमंथुडू (2015): बाद में उन्होंने इस तरह के दूकुडू (2011), व्यापारी (2012) सीथम्मा वकितलो सरिमल्ले चेट्टू(2013), के रूप में अन्य व्यावसायिक रूप से सफल फिल्मों में अभिनय किया। आज की तारीख में वह सात नंदी पुरस्कार, पांच फिल्मफेयर पुरस्कार, तीन सिनेमा पुरस्कार, तीन दक्षिण भारतीय अंतरराष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार और एक अंतर्राष्ट्रीय भारतीय फिल्म अकादमी पुरस्कार जीते हैं। .

नई!!: हैदराबाद और महेश बाबु · और देखें »

माधव सदाशिव गोलवलकर

माधवराव सदाशिवराव गोलवलकर उपाख्य श्री गुरूजी (मराठी: माधव सदाशिव गोळवलकर; जन्म: १९ फ़रवरी १९०६ - मृत्यु: ५ जून १९७३) राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के द्वितीय सरसंघचालक तथा महान विचारक थे। उन्हें जनसाधारण प्राय: 'गुरूजी' के ही नाम से अधिक जानते हैं। .

नई!!: हैदराबाद और माधव सदाशिव गोलवलकर · और देखें »

मानुषी छिल्लर

मानुषी छिल्लर (जन्म; १४ मई १९९७) एक भारतीय मॉडल व सौन्दर्य प्रतियोगिता की विजेता हैं जिन्हें विश्व सुन्दरी २०१७ के ताज से नवाज़ा गया हैं। इससे पहले २५ जून २०१७ को उन्हें फेमिना मिस इंडिया सम्मान से भी नवाजा गया था।इस प्रतियोगिता में उन्होंने दिल्ली सहित देश के अन्य राज्यों की 30 प्रतियोगियों के बीच हरियाणा का प्रतिनिधित्व किया। फेमिना मिस इंडिया २०१७ के फाइनल में मानुषी से अंतिम सवाल पूछा गया कि " ३० प्रतिभागियों के साथ एक महीने का वक्त बिताने के बाद वो क्या सबक लेकर वापस जाएंगी?" इसके जवाब में उन्होंने कहा कि प्रतियोगिता के दौरान उनके पास एक दृष्टिकोण था जिससे उन्हें ये विश्वास हासिल हुआ कि वो दुनिया में बदलाव ला सकती हैं। उनके इस जवाब ने निर्णायकों का दिल जीत लिया और इसी के साथ फेमिना मिस इंडिया 2017 के ताज पर उनका अधिकार हो गया। फेमिना मिस इंडिया होने के नाते इन्होंने नवम्बर २०१७ में चीन के सायना सिटी एरेना में सम्पन्न हुई "मिस वर्ल्ड २०१७" की प्रतियोगिता में भारत का प्रतिनिधित्व किया और विजेता बनीं। .

नई!!: हैदराबाद और मानुषी छिल्लर · और देखें »

मार्कण्डेय

कथाकार मार्कण्डेय मार्कण्डेय (2 मई 1930 - 18 मार्च 2010) हिन्दी के जाने-माने कहानीकार थे। वे 'नयी कहानी' के दौर के प्रमुख हस्ताक्षर थे। वे 'नयी कहानी' के सिद्धान्तकारों में से एक थे।अपने लेखन में वे सदैव आधुनिक और प्रगतिशील मूल्यों के हामीदार रहे। उनका जन्म उत्तर प्रदेश में जौनपुर जिले के बराईं गाँव में हुआ था। इनकी कहानियाँ आज के गाँव के पृष्ठभूमि तथा समस्यायों के विश्लेषण की कहानियाँ हैं। इनकी भाषा में उत्तर प्रदेश के गाँवों की बोलियों की अधिकता होती है, जिससे कहानी में यथार्थ पृष्ठभूमि का निरुपण होता है। अब तक इनके कई कहानी-संग्रह प्रकाशित हो चुके हैं। इनके 'अग्निबीज','सेमल के फूल' उपन्यास तथा 'पानफूल','हंसा जाई अकेला','महुए का पेड़','भूदान','माही','सहज और शुभ','बीच के लोग','हलयोग' कहानी-संग्रह प्रसिद्ध हैं।इसके अलावा 'पत्थर और परछाइयां'(एकांकी-संग्रह),'यह पृथ्वी तुम्हें देता हूँ','सपने तुम्हारे थे'(कविता-संग्रह),'हिन्दी कहानी:यथार्थवादी नजरिया','कहानी की बात','प्रगतिशील साहित्य की जिम्मेदारी'(आलोचना),'चक्रधर की साहित्यधारा'(साहित्य-संवाद)प्रकाशित।अनियतकालीन पत्रिका 'कथा' की 1969ई.में स्थापना।उनके सम्पादन में निकले 'कथा' के 14 अंक हिन्दी भाषा की साहित्यिक पत्रकारिता में मील के पत्थर हैं।साथ ही मित्र प्रकाशन की पत्रिका 'माया' के दो विशेषांक 1965ई.

नई!!: हैदराबाद और मार्कण्डेय · और देखें »

मासाब टैंक

मासाब टैंक या माँ साहिब टैंक का क्षेत्र हैदराबाद शहर के बंजारा हिल्ज़ सड़क नम्बर 1, हुमायूँ नगर और लकड़ी के पुल के बीच स्थित है। व्यापारिक दृष्टि से यह स्थान बहुत महत्वपूर्ण है। .

नई!!: हैदराबाद और मासाब टैंक · और देखें »

मास्टर अमीर चंद

मास्टर अमीर चंद (१८६९ - ८ मई १९१५) भारत की स्वतंत्रता-संग्राम के क्रांतिकारी थे। अमीर चंद का जन्म 1869 में हैदराबाद की विधानसभा के सेक्रेटरी के घर हुआ था। उनके मन में देश भक्ति की मान्यता इतनी प्रबल थी कि स्वदेशी आंदोलन के दौरान हैदराबाद के बाजार में उन्होंने स्वदेशी स्टोर खोला जहां वह देशभक्तों की तस्वीरें तथा क्रांतिकारी साहित्य बेचते थे। 1919 में दिल्ली में भी स्वदेशी प्रदर्शनी लगाई। 1912 में दिल्ली में उस समय के वापसरोय लार्ड हार्डिग पर बम फेंकने की घटना में सक्रिय भूमिका निभाई। 1914 में उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया। 1915 में उन्हें तीन साथियों (अवध बिहारी, बाल मुकुंद, बसन्त कुमार बिस्वास) के साथ दिल्ली केंद्रीय जेल में फांसी दे दी गई। .

नई!!: हैदराबाद और मास्टर अमीर चंद · और देखें »

मासूमा बेगम

मासूमा बेगम (1902-1990) हैदराबाद, दक्षिण भारत से संबंध रखने वाली एक महिला कार्यकर्ता, राजनीति में सक्रिय और अपने समय की एकमात्र महिला मंत्री रही हैं। .

नई!!: हैदराबाद और मासूमा बेगम · और देखें »

मिताली राज

मिताली राज (जन्म: 3 दिसम्बर 1982) भारतीय महिला क्रिकेट की मौजूदा कप्तान हैं। वे टेस्ट क्रिकेट मैच में दोहरा शतक बनाने वाली पहली महिला है। जून 2018 में, मिताली राज ट्वेन्टी-२० अंतर्राष्ट्रीय में 2000 रन बनाने वाले पहले भारतीय बल्लेबाज बने। मिताली राज भारत की पहली ऐसी महिला खिलाड़ी है जिन्होंने टी२० अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में २ हजार या इससे ज्यादा रन बनाये। .

नई!!: हैदराबाद और मिताली राज · और देखें »

मिश्र धातु निगम

मिश्र धातु निगम (मिधानि) भारत में विशेष प्रकार की धातुएं एवं मिश्रधातुएँ बनाने का कारखाना है। यह आंध्रप्रदेश के हैदराबाद में स्थित है। सार्वजनिक क्षेत्र का यह उपक्रम भारत के नाभिकीय, अंतरिक्ष और प्रक्षेपास्त्र कार्यक्रमों के लिए महत्वपूर्ण उपकरणों का उत्पादन करता है। 'मिधानि अब दुनिया का सबसे बढ़िया मैरेजिंग इस्पात (लोहे और निकल का कम कार्बन वाला मजबूत मिश्रधातु) तैयार कर रहा है। इसका इस्तेमाल नाभिकीय रिएक्टरों, ईंधन संवर्द्धन सेंट्रीफ्यूजों, प्रक्षेपास्त्रों और रॉकेटों में होता है। इसरो का जीएसएलवी रॉकेट भी इसी धातु से लिपटा होता है।' मिधानि की स्थापना 1972 में हुई थी। इसकी स्थापना का उद्देश्य देश के रणनीतिक कार्यक्रमों के लिए उत्पाद तैयार करना था। आज मिधानि न केवल संवेदनशील उत्पादों को बना रही है, बल्कि भारी मुनाफा भी अर्जित कर रही है। यह कंपनी मिनीरत्न की श्रेणी-1 में आती है। पिछले 4 साल में कंपनी का मुनाफा 6 गुना हो चुका है। वित्त वर्ष 2008-09 में कंपनी का मुनाफा 40 करोड़ रुपये था। .

नई!!: हैदराबाद और मिश्र धातु निगम · और देखें »

मंजुला अनागनी

मंजूला अनागणी एक भारतीय स्त्री रोग विशेषज्ञ और कम से कम आक्रामक शल्यचिकित्सक में विशेषज्ञ हैं। उन्होंने गांधी मेडिकल कॉलेज अनागणी से स्नातक उपाधि प्राप्त की दक्षिण भारतीय राज्य तेलंगाना से और उस्मानिया मेडिकल कॉलेज, हैदराबाद से एमडी। बाद में उन्हें प्रसूतिपूर्व आनुवंशिक मूल्यांकन, बांझपन, अल्ट्रासोनोग्राफी और हाइरोर्सोस्कोपी और लैपरोस्कोपी जैसे न्यूनतम इनवेसिव प्रक्रियाओं में उच्च प्रशिक्षण प्राप्त की। उन्होंने केयर अस्पताल में २००४ से २०११ तक काम किया फिर उन्होंने बीमस अस्पताल में कम किया २०११ से २०१४ तक। वह सनशाइन सुपर स्पेशलिटी इंस्टीट्यूट, हैदराबाद में शामिल हुई जहां वह विभाग की प्रमुख थी। उन्होंने १०००० से अधिक लैप्रोस्कोपिक सर्जरी की है। उन्हें पद्म श्री से २०१५ में भारत सरकार द्वारा सम्मानित किया गया था, चौथा सबसे बड़ा भारतीय नागरिक पुरस्कार। .

नई!!: हैदराबाद और मंजुला अनागनी · और देखें »

मंजू बंसल

मंजू बंसल (जन्म. 1 दिसंबर, 1950) आण्विक बायोफिज़िक्स के क्षेत्र में माहिर हैं और वर्तमान में  वह भारतीय विज्ञान संस्थान, बंगलौर के आणविक बायोफिज़िक्स इकाई में सैद्धांतिक बायोफिज़िक्स समूह  की प्रोफेसर हैं। वह जैविक सूचना विज्ञान और अनुप्रयुक्त जैव प्रौद्योगिकी, बैंगलोर संस्थान की संस्थापक निर्देशक हैं। .

नई!!: हैदराबाद और मंजू बंसल · और देखें »

मंजू क़मरैदुल्ल्ही

मंजू क़मरैदुल्ल्ही (अंग्रेजी: Manju Qamaraidullāhī,1908–1983) एक उर्दू नाटककार, नाट्य पटकथाकार और शायर थे। उनका जन्म 1908 में चन्नापटना,कर्नाटक में हुआ और उन्होंने हैदराबाद डेक्कन में अपने कैरियर की शुरुआत की। उन्होंने सामाजिक और ऐतिहासिक महत्व के विभिन्न नाटकों को उर्दू में लिखा.

नई!!: हैदराबाद और मंजू क़मरैदुल्ल्ही · और देखें »

मक्का

*मक्का (शहर)- सउदी अरब पवित्र शहर.

नई!!: हैदराबाद और मक्का · और देखें »

मक्का मस्जिद

देर 19वीं शब्दाती में मक्का मस्जिद मक्का मस्जिद, हैदराबाद, भारत में सबसे पुरानी मस्जिदों में से एक है। और यह भारत के सबसे बड़ी मस्जिदों में से एक है। मक्का मस्जिद पुराने शहर हैदराबाद में एक सूचीबद्ध विरासत इमारत है, जो चौमाहल्ला पैलेस, लाद बाजार और चारमीनार के ऐतिहासिक स्थलों के नजदीक है। मक्का मस्जिद हैदराबाद, भारत में स्थित एक मस्जिद और ऐतिहासिक इमारत है। मुहम्मद क़ुली क़ुत्ब शाह, हैदराबाद के 6वें सुलतान ने 1617 मे मीर फ़ैज़ुल्लाह बैग़ और रंगियाह चौधरी के निगरानी मे इसका निर्माण शुरू किया था। यह काम अब्दुल्लाह क़ुतुब शाह और ताना शाह के वक़्त में ज़ारी रहा और 1694 में मुग़ल सम्राट औरंग़ज़ेब के वक़्त में पूरा हुआ। कहते है कि इसे बनाने मे लगभग 8000 राजगीर और 77 वर्ष लगे। कुतुब शाही राजवंश के पांचवें शासक मोहम्मद कुली कुतुब शाह ने इस्लाम की सबसे पवित्र जगह मक्का से लाई गई मिट्टी से बने ईंटों से इसका निर्माण शुरू किया, और उन्हें मस्जिद के केंद्रीय कमान के निर्माण में इस्तेमाल किया, इस प्रकार मस्जिद को मक्काह मस्जिद रखा गया। मोहम्मद कुली कुतुब शाह ने इस मस्जिद का निर्माण शहर के केंद्रपंथ में करके इसके आसपास शहर की योजना की थी । .

नई!!: हैदराबाद और मक्का मस्जिद · और देखें »

मक्का मस्जिद विस्फ़ोट, 2007

मक्का मस्जिद - फ़ाइल चित्र मक्का मस्जिद विस्फ़ोट 18 मई, 2007 को इस्लामी पूजा नमाज़ के वक़्त पुराने हैदराबाद, भारतीय राज्य आंध्र प्रदेश की राजधानी में हुआ एक बम धमाका था। विस्फ़ोट मक्का मस्जिद के अन्दर हुआ, जो चारमीनार के पास स्थित है। विस्फ़ोट एक मोबाइल फ़ोन-विलोचित क्रूड बम के कारण था।1 16 अप्रिल 2018 को एन.ई.ये (NIA) के न्यायलय ने अपना निर्णय सुनाया और तथाकथित दोषियों को निर्दोष पाया.

नई!!: हैदराबाद और मक्का मस्जिद विस्फ़ोट, 2007 · और देखें »

मुहम्मद क़ुली क़ुतुब शाह

मुहम्मद क़ुली क़ुतुब शाह (1580–1612 CE) (محمد قلی قطب شاہ.) गोलकोंडा के क़ुतुब शाही वंश के पांचवें सुल्तान थे। इनहों ने हैदराबाद शहर की नींव रखी और चार मिनारा का भी निर्माण करवाया। वह एक सक्षम प्रशासक थे और उनके शासन को कुतुब शाही राजवंश के उच्च दौर में से एक माना जाता है। वह 1580 में 15 साल की उम्र में सिंहासन पर बैठे और 31 साल तक शासन किया। .

नई!!: हैदराबाद और मुहम्मद क़ुली क़ुतुब शाह · और देखें »

मुख्तार अहमद अंसारी

डॉ॰ मुख्तार अहमद अंसारी (मुख़्तार अहमद अंसारी, مُختار احمد انصاری) एक भारतीय राष्ट्रवादी और राजनेता होने के साथ-साथ भारतीय स्वतंत्रता आंदोलन के दौरान भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस और मुस्लिम लीग के पूर्व अध्यक्ष थे। वे जामिया मिलिया इस्लामिया विश्वविद्यालय के संस्थापकों में से एक थे, 1928 से 1936 तक वे इसके कुलाधिपति भी रहे। .

नई!!: हैदराबाद और मुख्तार अहमद अंसारी · और देखें »

मुंबई इंडियंस

मुंबई इंडियंस, इंडियन प्रीमियर लीग में एक क्रिकेट टीम है। इस टीम का नेतृत्व रोहित शर्मा करते हैं, जो इस टीम के आइकॉन प्लेयर भी हैं। यह टीम रॉबिन सिंह द्वारा प्रशिक्षित है और इसका स्वामित्व इंडियाविन स्पोर्ट्स (IndiaWin Sports) में 100% हिस्सेदारी के द्वारा भारत के सबसे बड़े समूह, रिलायंस इंडस्ट्रीज, के पास है। .

नई!!: हैदराबाद और मुंबई इंडियंस · और देखें »

मुकेश सिंह गहलोत

मुकेश सिंह गहलोत (जन्म: 1978) एक पेशेवर भारतीय बॉडी बिल्डर हैं, जिन्होंने भारत का प्रतिनिधित्व करते हुए, पावरलिफ्टिंग चैंपियनशिप २०१६ में १२५ किलो ग्राम रॉ कैटिगरी में स्वर्ण पदक जीता। गहलोत ने २०१३ में भी गोल्ड मेडल जीता था और अब वह २०१६ में जीतकर दूसरी बार विश्व चैंपियन बने हैं। इनका ४ बार मिस्टर इंडिया बन्ने का नेशनल रिकॉर्ड हैं। .

नई!!: हैदराबाद और मुकेश सिंह गहलोत · और देखें »

मौलाना आज़ाद राष्ट्रीय उर्दू विश्वविद्यालय

मौलाना आज़ाद राष्ट्रीय उर्दू विश्वविद्यालय हैदराबाद, तेलंगाना में स्थित केन्द्रीय विश्‍वविद्यालय है। इसका नामकरण अबुल कलाम आज़ाद के ऊपर किया गया है। इसको राष्ट्रीय मूल्यांकन एवं प्रत्यायन परिषद द्वारा A ग्रेड दिया गया है। श्रेणी:भारत के विश्वविद्यालय.

नई!!: हैदराबाद और मौलाना आज़ाद राष्ट्रीय उर्दू विश्वविद्यालय · और देखें »

मृत्तिकाशिल्प

चीनी पोर्सलीन का पात्र (किंग वंश, १८वीं शती) खपरैल मेक्सिको से प्राप्त योद्धा की मृतिकाशिल्प (तीसरी शती ईसापूर्व से चौथी शती ई के बीच) मृत्तिकाशिल्प 'सिरैमिक्स' (ceramics) का हिन्दी पर्याय है। ग्रीक भाषा के 'कैरेमिक' का अर्थ है - 'कुंभकार का शिल्प'। अमरीका में मृद भांड, दुर्गलनीय पदार्थ, कांच, सीमेंट, एनैमल तथा चूना उद्योग मृत्तिकाशिल्प के अंतर्गत हैं। गढ़ने तथा सुखाने के बाद अग्नि द्वारा प्रबलित मिट्टी या अन्य सुधट्य पदार्थ की निर्मिति को यूरोप में 'मृत्तिका शिल्प उत्पादन' कहते हैं। मृत्पदार्थो के निर्माण, उनके तकनीकी लक्षण तथा निर्माण में प्रयुक्त कच्चे माल से संबंधित उद्योग को हम मृत्तिकाशिल्प या सिरैमिक्स कहते हैं। मिट्टी के उत्पाद अनेक क्षेत्रों में, जैसे भवन निर्माण तथा सजावट, प्रयोगशाला, अस्पताल, विद्युत उत्पादन और वितरण, जलनिकास मलनिर्यास, पाकशाला, ऑटोमोबाइल तथा वायुयान आदि में काम आते हैं। .

नई!!: हैदराबाद और मृत्तिकाशिल्प · और देखें »

मृगवनी राष्ट्रीय उद्यान

मृगवनी राष्ट्रीय उद्यान भारत के आंध्र प्रदेश राज्य की राजधानी हैदराबाद में स्थित एक राष्ट्रीय उद्यान है। इसका कुल क्षेत्रफल ३.६ वर्ग कि॰मी॰ है। यहाँ कुछ छोटे स्तनधारी जीव पाए जाते हैं। श्रेणी:भारत के राष्ट्रीय उद्यान श्रेणी:राष्ट्रीय उद्यान, भारत श्रेणी:भारत के अभयारण्य.

नई!!: हैदराबाद और मृगवनी राष्ट्रीय उद्यान · और देखें »

मूसी नदी

मूसी नदी मूसी नदी, कृष्णा नदी की एक सहायक नदी है जो भारत के तेलंगाना राज्य बहती है। हैदराबाद नगर मूसी नदी के तट पर खड़ा है और नदी नगर को पुराने शहर और नए शहर में बांटती है। हिमायत सागर और उस्मान सागर, नदी पर बनाया गया बांध हैं, जो हैदराबाद के लिए पानी के स्रोत के रूप में कार्य करते हैं। नदी विकाराबाद के निकट अनंतगिरि पहाड़ियों से निकलती है जो हैदराबाद से ९० किलोमीटर पश्चिम मे है, नदी पूर्व की ओर बहती है और १४० किलोमीटर की दूरी तय करने के बाद यह कृष्णा नदी में मिलती है। .

नई!!: हैदराबाद और मूसी नदी · और देखें »

मेड्चल

मेड्चल रंगारेड्डी जिले का एक शहर है। यह हैदराबाद से १५ किलोमीटर दूरी पर है। श्रेणी:रंगारेड्डी जिला श्रेणी:तेलंगाना के नगर.

नई!!: हैदराबाद और मेड्चल · और देखें »

मेहदी ख्वाजा पीरी

मेहदी ख्वाजा पीरी (फ़ारसी), नूर अंतर्राष्ट्रीय माइक्रोफिल्म केन्द्र, नई दिल्ली के संस्थापक है। इनका जन्म (1955) में तेहरान में स्थित याहिया मज़ार (इमाम जादा) के पास एक धार्मिक परिवार में हुआ। मरम्मत, पेस्टिंग और एक ही पाण्डुलिपि (हस्तलिपि) की दूसरी प्रतिलिपियों के प्रिंट के नए तरीको का अविष्कार किया जो प्राचीन ग्रंथो के संरक्षण में एक अभिनव कदम है। उन्होंने भारत में पुस्तको के पुनरुद्धार (पुनर्जीवन) में अपने जीवन के 35 वर्ष बिताये। इस अवधि के दौरान वह भारत की विविध संस्कृतियों से परिचित हुए। और इसके अलावा हिंदी, अंग्रेजी, और अरबी में भी महारत हासिल की। .

नई!!: हैदराबाद और मेहदी ख्वाजा पीरी · और देखें »

मोयिनाबाद

मोयिनाबाद रंगारेड्डी जिले का एक शहर है। यह हैदराबाद से २५ किलोमीटर दूरी पर है। श्रेणी:रंगारेड्डी जिला श्रेणी:तेलंगाना के नगर.

नई!!: हैदराबाद और मोयिनाबाद · और देखें »

मोहम्मद शहाबुद्दीन (राजनेता)

अंगूठाकार शाहबुद्दीन साहब (जन्म 10 मई 1967) भारत के एक आपराधिक राजनीतिज्ञ नेता हैं। राष्ट्रीय जनता दल के प्रमुख नेताओं में से एक हैं, एवं लालू प्रसाद यादव के करीबी माने जाते हैं। 30 अगस्त 2017 को, पटना उच्च न्यायालय ने सिवान हत्या के मामले में मोहम्मद शहाबुद्दीन की मौत की सजा को बरकरार रखा। .

नई!!: हैदराबाद और मोहम्मद शहाबुद्दीन (राजनेता) · और देखें »

मोहम्मद सिराज

मोहम्मद सिराज (जन्म १३ मार्च १९९४) एक भारतीय क्रिकेट खिलाड़ी है जो हैदराबाद के लिए घरेलू क्रिकेट खेलते है जबकि २०१८ इंडियन प्रीमियर लीग में ये रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर की तरफ से खेलते हुए नजर आयेंगे और ये भारतीय क्रिकेट टीम के लिए भी खेलते है। .

नई!!: हैदराबाद और मोहम्मद सिराज · और देखें »

मोहम्मद इरफान अली

मोहम्मद इरफान अली (Mohammad Irfan Ali); (जन्म १ जुलाई १९८४) एक भारतीय गायक.

नई!!: हैदराबाद और मोहम्मद इरफान अली · और देखें »

मोहम्मद अजहरुद्दीन

मोहम्मद अजहरुद्दीन (८ फरवरी, १९६३, हैदराबाद) भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान रहे थे। इनका जन्म ८ फरवरी, १९६३ को हैदराबाद में हुआ था। अजहरुद्दीन ने अपने अंतर्राष्ट्रीय टेस्ट कॅरियर की शुरुआत १९८४-८५ में इंग्लैंड के विरुद्ध की थी। उन्होंने ९९ टेस्ट मैचों में ४५.०३ की औसत से कुल ६२१५ रन बनाए हैं। इसमें १९९ रन उनका सर्वाधिक व्यक्तिगत स्कोर रहा है। अजहरुद्दीन ने टेस्ट मैचों में २२ शतक एवं २१ अर्धशतक लगाए हैं। अजहरुद्दीन ने अपने एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय कॅरियर की शुरुआत १९८५ में इंग्लैंड के विरुद्ध बेंगलुरु में की थी। उन्होंने ३३४ एकदिवसीय मैचों की ३०८ पारियों में ५४ बार नाबाद रहते हुए ३६.९२ की औसत से कुल ९३७८ रन बनाए हैं। इसमें नाबाद १५३ रन उनका सर्वाधिक व्यक्तिगत स्कोर रहा है। अजहरुद्दीन ने एकदिवसीय मैचों में ७ शतक एवं ५८ अर्धशतक लगाए हैं। उन्होंने २२९ प्रथम श्रेणी मैचों में ५१.९८ की औसत से कुल १५,८५५ रन बनाए हैं। बचपन- मोहम्मेद अऴरुद्दिन हैद्राबाद के आल सैन्त्स है स्कूल में अप्नी पुर्व सिक्शा हासिल की। वह निज़ाम कोलेज, ओस्मानिया उनिवेर्सैटी, अन्ध्र प्रदेश में बी कम पास किये। अपनी परिवार और निजी- जब अऴरुद्दिन ५० साल के हुवे तब ह्य्द्रबाद के नाउरिन नामक एक युवाती से विवाह किया जिन्हे ९ साल के बाद प्रथाक कर दिया। और (१९९६ मे) सग्गिता बिज्लानि नमाक एक प्र्बल-कलकार से विवाह किया। बिज्लानि के साथ सिर्फ १४ साल बिताये। और फिर उन्से २०१० में प्रथाक कर दी। उन्की पहली पत्नी नौरीन के दो दो पुत्र हैन जिन्का नाम असद और अयाज़ जिन्मे अयाज़ अप्ने १९ साल के उम्र में एक अप्घात में अप्नी प्राण दिये। अज़र एक प्रमुख खिलाडी है। वह अप्ने खेल जी-जान से खेल्ते हैं। वह टेस्ट में २२ शतक लगाये और और ओ-डी-आई में ७ शतक लगाये हैं। और वह एक उत्तम फिल्डर है। उनहोने १५६ केचेस पक्डे है। यह एक ममुली साधन नहि है मगर इस को स्री लन्का के महेला जयवर्धने ने इसे तोड दिया। उन्होंने यह साधन भी किया है कि कम समय में उन्होंने ज़्यदा शतक बनाये हैं जिसे आज के वीरो ने तोड दिया। १९९० में जब इन्ग्ग्लानड में साथ टेस्ट खेले थे तब उन्होंने सिर्फ ८७ ग्गेन्दो में शताक बनया और यह एक उत्तम इन्निंस थी पर वह खेल वह हार गये। एडेन गर्डन जो की कोल्कत्ता में है अज़र के लिये एक पसन्दिदा मैदान है, जह उन्होंने सात टेस्ट में ५ शतक बनये थे। १९९१ में इन्हे विस्डम क्रिकेटर ओफ द यर का पुरस्कार मिला था। वे भरत के जवान वीरो के लिये एक आदर्श थे। जब अज़र ९९ टेस्ट खेल चुके थे तब उन्कि ज़िन्दगी में बद्लाव आगया और उन्हे मेच फिकसिग्ग के आरोप में झुट्लाया और फसा दिया और उन्की खेल कि ज़िन्दगी यह पर खत्म् हो गयी। मगर आन्ध्र प्रदेश की सर्कार ने इसे सरासर झूट साबित कर दिया और अजहरुद्दीन औतर मसूम साबित कर दिया। ८ नोवेम्बेर २०१२ को अन्ध्र प्रदेश कि सर्कार ने पर्दा फाश किया और उन्हके ऊपर लगये गये आरोप को बेकार और बेव्कूफी करार किया। भारत टीम म बहुत कप्तान थे मगर जो काम अजहर ने कप्तान बन के किय है वो आज तक भी एक रेकार्ड रह है। उन्होंने १०३ ओ-डी - आई मेच कप्तान बन कर जिताये हैं। और १४ टेस्ट मेच जिताये हैं जिसको सौरव गग्गुली ने फिर तोड दिया। मोहम्मेद अऴरुद्दिन ने हर एक क्रिकेट टीम के खिलाफ बहुत अच्छा खेला है। राजनीती- जिस तरह अजहर एक अच्छे खिलाडी रहे उसि तरह वह एक अच्छे नेता भी रहे। १९ फ़रवरी २००९ में वह भारतीया काग्ग्रेस पार्टी में भाग लिये। वे २००९ में मोरादाबाद नामक शहर उत्तर प्रदेश के नेता चुनाव में भाग लिया। और वह भारातिय जनता पार्टी के कुन्वर सर्वेश कुमार् सिन्ग्घ को हराया और वह जीत गये थे। उन्हे वह चुनाव से ५०००० से ज़्यदा मत मिले थे। उन्होंने मुरदबाद के लोगो को यह वचन दिया है कि वह मुरादाबाद में एक युनिवेर्सिटी और एक मैदान खोलेग्गे और मुरादाबाद में जो बिज्ली कि तक्लीफ है उसे वह दूर करेग्गे। जब उन्के मेच फिक्सिन्ग्ग के बारे में पुछा गया तो उन्होंने बताया कि उन्हे लोग निशाना बना रहे थे क्यु क वह निच्लि वर्ग के थे। अभी हाल में सुना गया है कि वह २०१४ में लोक सभा चुनाव वेस्ट बन्ग्गल से भाग लेग्गे। मुहम्मद अज़र उद्दिन के कहि साहस -क्रिक्केट इतिहास में मुहम्मद अज़र उद्दिन ही पेह्ला वीर जो ३ शतक लगातार ३ तेस्त खेल में बनाये थे। -अज़हर एक ऐसे खिलाडी है जो ओ-डी-आइ खेल में १५६ केच पक्डे है। -वे एक ऐसे कप्तान जिस्ने अपनी कातप्तानी में १४ टेस्ट और १०३ ओ-डी-आइ जीताये हैं। -अज़हरुद्दिन एक ऐसे खिलाडी है जिस्ने ६२ गेन्दो में शतक लगाया है नियु ज़ेलान्ड के खिलाफ। -अज़हरुद्दिन एक ऐसे खिलाडी है जिस्ने अप्नी क्रिकेट खेलो में ३०० से ज़्यदा मेच खेले है। -सन १९९१ में मुहम्मद अज़र उद्दिन को उस साल कि कि विस्देन च्रिच्केतेर नामक सम्पथि मिली। -मुहम्मद अज़र उद्दिन ही उन वीरो के नायक थे जिन्हे इंलैन्द् को उन्के मात्र भूमी पर परास्थ किये। -मुहम्मद अज़र उद्दिन ९९ तेस्त खेल में २२ शतक बनये थे। -मुहम्मद अज़र उद्दिन ने ३३४ odi में ७ शतक और समान्य में ३४ रन बनाये थे। -मुहम्मद अज़र उद्दिन ही पेहला खिल्लाडी थे जो अप्नी पेह्ला और आख्री तेस्त खेल में शतक बनाये थे। -मोहम्मद अज़र् उद्दिन ने भारतीय कग्ग्रेस में जा कर मोरदबाद में चुनाव जीता। उनका एक बेत जिसका नाम अब्बास है। अब्बास का असली नाम मोहम्मद अशाउद्दिन है। .

नई!!: हैदराबाद और मोहम्मद अजहरुद्दीन · और देखें »

मीठड़ी मारवाड़

ध्रुवीय निर्देशांक: 27°57'5975"N 74°68'7235"Eध्रुवीय निर्देशांक मीठड़ी मारवाड़ मीठड़ी मारवाड़http://www.fallingrain.com/world/IN/24/Mitri.htmlमीठड़ी मारवाड़ राजस्थान के नागौर जिले की लाडनूं तहसील का एक गाँव है। .

नई!!: हैदराबाद और मीठड़ी मारवाड़ · और देखें »

याचारम

याचारम रंगारेड्डी जिले का एक शहर है। यह हैदराबाद से २० किलोमीटर दूरी पर है। श्रेणी:रंगारेड्डी जिला श्रेणी:तेलंगाना के नगर.

नई!!: हैदराबाद और याचारम · और देखें »

यामिनी रेड्डी

यामिनी रेड्डी एक भारतीय शास्त्रीय नर्तक और कुचीपुड़ी व्याख्यान है, जिनका जन्म १ सितम्बर १९८२ में हुआ था। यामिनी रेड्डी का जन्म नई दिल्ली में कुचीपुडी नर्तक और पद्म भूषण पुरस्कार विजेता डॉ राजा रेड्डी और राधा रेड्डी के घर हुआ था। उन्होंने अपने माता-पिता से नृत्य का प्रशिक्षण लिया और जब वह केवल तीन साल की थी तब उन्होंने नई दिल्ली में अपना पहला प्रदर्शन दिया। यमीनी रेड्डी ने एक युवा उम्र में प्रदर्शन करना शुरू कर दिया। मुश्किल संतुलित संतुलन रखने की उनकी क्षमता से वह अपने लय के लम्बे भाव से भाव को आसानी से दर्शकों को चकाचौंध कर सकती है। दुनिया भर में प्रदर्शन देने के अलावा, यमीनी रेड्डी हैदराबाद के नाट्यतरंगीनी नृत्य स्कूल से कुचीपुड़ी का अधयन्न कर रही हैं। उन्होंने यूनाइटेड किंगडम, फ्रांस, संयुक्त राज्य अमेरिका, दक्षिण पूर्व एशिया, रूस और संयुक्त अरब अमीरात का दौरा किया है। और डबलिन में, डबलिन के मेयर ने उन्हें स्वर्णिम कुंजी प्रस्तुत कि उनका मशहूर कुचीपुडी नृत्य देखने के बाद। उन्होंने इसके अलावा युवा रत्न अवार्ड, युवा वोकेशनल एक्सलंस अवार्ड, FICCI युवा प्राप्तकर्ता पुरस्कार, देवदासी राष्ट्रीय पुरस्कारऔर संगीत नाटक अकादेमी कुश्ती के लिए समर्पण के लिए बिस्मिल्ला खान युवा पुरस्कार भी प्राप्त किया है। .

नई!!: हैदराबाद और यामिनी रेड्डी · और देखें »

यवतमाल

यावतमल महाराष्ट्र प्रान्त का एक शहर है। यवतमाल शहर, पूर्वोत्तर महाराष्ट्र राज्य के दक्षिण-पश्चिम भारत में स्थित है। यवतमाल शहर नागपुर, मुंबई और हैदराबाद जाने वाले प्रमुख मार्गों पर स्थित है। यवतमाल कृषि क्षेत्र का क्षेत्रीय केंद्र है और यहाँ अमरावती विश्वविद्यालय से संबद्ध कुछ महाविद्यालय हैं। आसपास के क्षेत्र उत्तर और दक्षिण की नदी घाटियों तथा बीच के शुष्क पठार के कारण विषम दृश्य उपलब्ध कराते हैं। समूचा क्षेत्र विकास की राह ताक रहा है। यवतमाल की कुल जनसंख्या (2001 की जनगणना के अनुसार) 1,22,906; है। यवतमाल की कुल ज़िले की जनसंख्या 24,60,482 है। श्रेणी:महाराष्ट्र के शहर श्रेणी:यवतमाल जिला.

नई!!: हैदराबाद और यवतमाल · और देखें »

रणजी ट्रॉफी 2016-17 ग्रुप ए

रणजी ट्रॉफी 2016-17 रणजी ट्रॉफी, की भारत में प्रथम श्रेणी क्रिकेट टूर्नामेंट के 83 वें मौसम है। यह तीन समूहों में विभाजित 28 टीमों ने चुनाव लड़ा जा रहा है। ग्रुप ए और बी नौ टीमों का समावेश है और ग्रुप सी दस टीमों के शामिल हैं। .

नई!!: हैदराबाद और रणजी ट्रॉफी 2016-17 ग्रुप ए · और देखें »

रणजी ट्रॉफी 2016-17 ग्रुप बी

रणजी ट्रॉफी 2016-17 की रणजी ट्रॉफी, भारत में प्रथम श्रेणी क्रिकेट टूर्नामेंट के 83 वें मौसम है। यह तीन समूहों में विभाजित 28 टीमों ने चुनाव लड़ा जा रहा है। ग्रुप ए और बी नौ टीमों का समावेश है और ग्रुप सी दस टीमों के शामिल हैं। राजस्थान और सौराष्ट्र के बीच पहला दौर स्थिरता वरिष्ठ महिलाओं की एकदिवसीय लीग की वजह से चेन्नई से विजयनगरम के लिए ले जाया गया था। झारखंड और कर्नाटक के बीच 2 दौर स्थिरता कावेरी नदी जल विवाद की वजह से ग्रेटर नोएडा के लिए तमिलनाडुसे ले जाया गया था। .

नई!!: हैदराबाद और रणजी ट्रॉफी 2016-17 ग्रुप बी · और देखें »

रणजी ट्रॉफी ग्रुप ए 2017-18

रणजी ट्रॉफी 2017-18 भारत की प्रथम श्रेणी क्रिकेट टूर्नामेंट रणजी ट्रॉफी का 84 वां सत्र है। यह 28 टीमों द्वारा चार समूहों में विभाजित किया जा रहा है, जिनमें से प्रत्येक में सात टीम हैं। .

नई!!: हैदराबाद और रणजी ट्रॉफी ग्रुप ए 2017-18 · और देखें »

रमेश बाबू

कोई विवरण नहीं।

नई!!: हैदराबाद और रमेश बाबू · और देखें »

रशना भंडारी

रंजन भंडारी सेल सिग्नलिंग प्रयोगशाला जो डीएनए फिंगरप्रिंटिंग एवं निदान केन्द्र, हैदराबाद में है, वहाँ की वह प्रमुख हैं। उन्होंनेने भारतीय विज्ञान संस्थान से जैव विज्ञान से स्नातकोत्तर और डॉक्टरेट की उपाधि प्राप्त की। भंडारी एक कर्मचारी वैज्ञानिक के रूप में २००८ में डीएनए फिंगरप्रिंटिंग और डायग्नॉस्टिक्स के लिए केंद्र में शामिल हुईं। २००१ में, वह यूनिवर्सिटी ऑफ कैलिफ़ोर्निया, बर्कले में डॉक्टरेट फेलो के रूप में जॉन कुरियन प्रयोगशाला में शामिल हुई थी। .

नई!!: हैदराबाद और रशना भंडारी · और देखें »

राँची

राँची भारत का एक प्रमुख नगर और झारखंड प्रदेश की राजधानी है। यह झारखंड का तीसरा सबसे प्रसिद्ध शहर है। इसे झरनों का शहर भी कहा जाता है। पहले जब यह बिहार राज्य का भाग था तब गर्मियों में अपने अपेक्षाकृत ठंडे मौसम के कारण प्रदेश की राजधानी हुआ करती थी। झारखंड आंदोलन के दौरान राँची इसका केन्द्र हुआ करता था। राँची एक प्रमुख औद्योगिक केन्द्र भी है। जहाँ मुख्य रूप से एच ई सी (हेवी इंजिनियरिंग कारपोरेशन), भारतीय इस्पात प्राधिकरण, मेकन इत्यादि के कारखाने हैं। राँची के साथ साथ जमशेदपुर और बोकारो इस प्रांत के दो अन्य प्रमुख औद्योगिक केन्द्र हैं। राँची को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के स्मार्ट सिटीज मिशन के अन्तर्गत एक स्मार्ट सिटी के रूप में विकसित किये जाने वाले सौ भारतीय शहरों में से एक के रूप में चुना गया है। राँची भारतीय क्रिकेट कप्तान महेंद्र सिंह धोनी का गृहनगर होने के लिए प्रसिद्ध है। झारखंड की राजधानी राँची में प्रकृति ने अपने सौंदर्य को खुलकर लुटाया है। प्राकृतिक सुन्दरता के अलावा राँची ने अपने खूबसूरत पर्यटक स्थलों के दम पर विश्व के पर्यटक मानचित्र पर भी पुख्ता पहचान बनाई है। गोंडा हिल और रॉक गार्डन, मछली घर, बिरसा जैविक उद्यान, टैगोर हिल, मैक क्लुस्किगंज और आदिवासी संग्राहलय इसके प्रमुख पर्यटक स्थल हैं। इन पर्यटक स्थलों की सैर करने के अलावा यहां पर प्रकृति की बहुमूल्य देन झरनों के पास बेहतरीन पिकनिक भी मना सकते हैं। राँची के झरनों में पांच गाघ झरना सबसे खूबसूरत है क्योंकि यह पांच धाराओं में गिरता है। यह झरने और पर्यटक स्थल मिलकर राँची को पर्यटन का स्वर्ग बनाते हैं और पर्यटक शानदार छुट्टियां बिताने के लिए हर वर्ष यहां आते हैं। राँची का नाम उराँव गांव के पिछले नाम से एक ही स्थान पर, राची के नाम से लिया गया है। "राँची" उराँव शब्द 'रअयची' से निकला है जिसका मतलब है रहने दो। पौराणिक कथाओं के अनुसार, आत्मा के साथ विवाद के बाद,एक किसान ने अपने बांस के साथ आत्मा को हराया। आत्मा ने रअयची रअयची चिल्लाया और गायब हो गया। रअयची राची बन गई, जो राँची बन गई। राची के ऐतिहासिक रूप से एक महत्वपूर्ण पड़ोस में डोरांडा (दुरन "दुरङ" का अर्थ है गीत और दाह "दएः" का अर्थ मुंदारी भाषा में जल है)। डोरांडा हीनू (भुसूर) और हरमू नदियों के बीच स्थित है, जहां ब्रिटिश राज द्वारा स्थापित सिविल स्टेशन, ट्रेजरी और चर्च सिपाही विद्रोह के दौरान विद्रोही बलों द्वारा नष्ट किए गए थे। .

नई!!: हैदराबाद और राँची · और देखें »

राना दग्गुबाटि

राणा दग्गुबती (जन्म 14 दिसंबर, 1984), पेशेवर रूप से राणा के रूप में जाना जाता है, एक भारतीय अभिनेता, निर्माता, दृश्य प्रभाव सह-समन्वयक और फोटोग्राफर है। वह तेलुगू सिनेमा, तमिल सिनेमा और हिंदी सिनेमा में उनके कामों के लिए जाना जाता है। दृश्य प्रभाव निर्माता के रूप में, 2006 में तेलुगू फिल्म सैनीकुडू के लिए महेश बाबू की भूमिका निभाते हुए राणा ने सर्वश्रेष्ठ विशेष प्रभावों के लिए राज्य नंदी पुरस्कार जीता। 2006 में, उन्होंने सह-उत्पादक बोम्माटाट - ए बेलीफुल ऑफ़ ड्रीम्स के लिए राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार प्राप्त किया। 2010 में, उन्होंने तेलुगू ब्लॉकबस्टर लीडर के साथ अपनी अभिनय की शुरुआत की, जिसके लिए उन्होंने सर्वश्रेष्ठ पुरुष पदार्पण - दक्षिण के लिए फिल्मफेयर अवॉर्ड जीता। उन्होंने बिपाशा बसु के साथ दम मारो दम के माध्यम से अपनी हिंदी फिल्म की शुरुआत की, जहां उनके प्रदर्शन के लिए सकारात्मक समीक्षा मिली। उन्हें 2012 के अपराध थ्रिलर फिल्म कृष्णम वंदे जगदगुरुम में अपने प्रदर्शन के लिए आलोचकों की प्रशंसा मिली। 2015 में, उन्होंने बाहुबली: द बिगनिंग में मुख्य विरोधी के रूप में अभिनय किया, जिसने भारतीय फिल्म के लिए दूसरा सबसे बड़ा सकल खिताब दर्ज किया। 4 अप्रैल 2017 को उन्होंने खुलासा किया कि वह केवल अपनी बाईं आंख के माध्यम से देख सकता है। .

नई!!: हैदराबाद और राना दग्गुबाटि · और देखें »

राम पोथिनेनी

राम पोथिनेनी (Rām Pōthinēni; जन्म 15 मई 1988) तेलुगू फिल्म उद्योग का एक भारतीय फिल्म अभिनेता है। .

नई!!: हैदराबाद और राम पोथिनेनी · और देखें »

रामकृष्ण गोपाल भांडारकर

रामकृष्ण गोपाल भांडारकर रामकृष्ण गोपाल भांडारकर (6 जुलाई 1837 – 24 अगस्त 1925) भारत के विद्वान, पूर्वात्य इतिहासकार एवं समाजसुधारक थे। वे भारत के पहले आधुनिक स्वदेशी इतिहासकार थे। दादाभाई नौरोज़ी के शुरुआती शिष्यों में प्रमुख भण्डारकर ने पाश्चात्य चिंतकों के आभामण्डल से अप्रभावित रहते हुए अपनी ऐतिहासिक कृतियों, लेखों और पर्चों में हिंदू धर्म और उसके दर्शन की विशिष्टताएँ इंगित करने वाले प्रमाणिक तर्कों को आधार बनाया। उन्होंने उन्नीसवीं सदी के मध्य भारतीय परिदृश्य में उठ रहे पुनरुत्थानवादी सोच को एक स्थिर और मज़बूत ज़मीन प्रदान की। भण्डारकर यद्यपि अंग्रेज़ों के विरोधी नहीं थे, पर वे राष्ट्रवादी चेतना के धनी थे। वे ऐसे प्रथम स्वदेशी इतिहासकार थे जिन्होंने भारतीय सभ्यता पर विदेशी प्रभावों के सिद्धांत का पुरज़ोर और तार्किक विरोध किया। अपने तर्कनिष्ठ और वस्तुनिष्ठ रवैये और नवीन स्रोतों के एकत्रण की अन्वेषणशीलता के बदौलत भण्डारकर ने सातवाहनों के दक्षिण के साथ-साथ वैष्णव एवं अन्य सम्प्रदायों के इतिहास की पुनर्रचना की। ऑल इण्डिया सोशल कांफ़्रेंस (अखिल भारतीय सामाजिक सम्मलेन) के सक्रिय सदस्य रहे भण्डारकर ने अपने समय के सामाजिक आंदोलनों में अहम भूमिका निभाते हुए अपने शोध आधारित निष्कर्षों के आधार पर विधवा विवाह का समर्थन किया। साथ ही उन्होंने जाति-प्रथा एवं बाल विवाह की कुप्रथा का खण्डन भी किया। प्राचीन संस्कृत साहित्य के विद्वान की हैसियत से भण्डारकर ने संस्कृत की प्रथम पुस्तक और संस्कृत की द्वितीय पुस्तक की रचना भी की, जो अंग्रेज़ी माध्यम से संस्कृत सीखने की सबसे आरम्भिक पुस्तकों में से एक हैं। .

नई!!: हैदराबाद और रामकृष्ण गोपाल भांडारकर · और देखें »

रामोजी फिल्म सिटी

रामोजी फिल्म नगरी का प्रवेशद्वार रामोजी फिल्म सिटी (तेलुगू:రామోజీ ఫిలిం సిటీ) दुनिया का सबसे बङा फिल्म स्टूडियो परिसर माना जाता है। यह भारत के राज्य आंध्र प्रदेश की राजधानी हैदराबाद से २५ किलो मीटर दूर नल्गोंडा मार्ग में स्थित है। यह स्टूडियो 2000 एकड़(8.2वर्ग किलोमीटर) से भी अधिक क्षेत्रफल में फैला हुआ है। इस स्टूडियो में ५० शूटिंग फ्लोर है। इस स्टूडियो की शुरुवात १९९६ में हुई थी। यहाँ एक साथ १५ से २५ फिल्मों की सकती है। आरएफसी में फिल्म की प्री-प्रोडक्शन से पोस्ट प्रोडक्शन तक की तमाम सुविधाएं एक जगह मौजूद हैं यानी फिल्म का आइडिया लेकर आइये और फिल्म कैन करके जाइये.फिल्म-निर्माण के अलावा रामोजी फिल्म सिटी एक प्रसिद्ध पर्यटन केंद्र भी है, जहां हरसाल दस लाख से भी ज्यादा लोग आते हैं। आरएफसी को मानव-निर्मित आश्चर्य की श्रेणी में भी रखा जा सकता है। .

नई!!: हैदराबाद और रामोजी फिल्म सिटी · और देखें »

रामोजी राव

चेरूकुरी रामोजी राव रामोजी राव के नाम से जाने जाते हैं। रामोजी का जन्म 16 नवम्बर 1936 को आंध्रप्रदेश के कृष्णा जिले में एक मध्यमवर्गीय कृषक परिवार में हुआ। रामोजी राव आज देश के जाने माने-माने व्यवसायी और मीडिया महारथी हैं। रामोजी राव को भारत का रुपर्ट मर्डोक कहा जाता है। वे रामोजी ग्रुप के चैयरमैन है। रामोजी ग्रुप में दुनिया का सबसे बड़ा फिल्म स्टूडियों रामोजी फिल्म सिटी, मार्गदर्शी चिटफंड, ईनाडू तेलुगु अखबार, ईटीवी नेटवर्क, प्रिया फूड्स, डॉल्फिन हॉटल्स, उषाकिरण मूवीज आदि शामिल है। रामोजी ग्रुप का मुख्यालय हैदराबाद में स्थित है। रामोजी राव के पुत्र सुमन ईटीवी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी हैं। .

नई!!: हैदराबाद और रामोजी राव · और देखें »

राशी खन्ना

राशी खन्ना एक भारतीय अभिनेत्री और मॉडल हैं जो मुख्यतः तेलुगू फिल्म उद्योग में काम करती हैं। उन्होंने हिंदी फिल्म मद्रास कैफे के साथ एक अभिनेत्री के रूप में शुभारंभ किया और तेलुगू फिल्मों में सफलतापूर्वक ओहलु गुसागुलादेड (2014) फिल्म के साथ अपनी शुरुआत की। वह मनम (2014) में एक कैमियो उपस्थिति के साथ इसका पालन किया। और फिर बाद में वह बंगाल टाइगर (2015), सुप्रीम (2016) और जय लवा कुसा (2017) जैसी व्यावसायिक रूप से सफल फिल्मों में दिखाई दी। .

नई!!: हैदराबाद और राशी खन्ना · और देखें »

राष्ट्रपति निलयम

राष्ट्रपति निलयम को रेजीडेंसी हाउस भी कहते हैं। यह भवन भारत के तेलंगाना राज्य के हैदराबाद शहर (बोलारम, सिकंदराबाद) में स्थित है।इस भवन में भारत के राष्ट्रपति वर्ष में कम से कम एक बार अवश्य ठहरते हैं तथा यहां से अपने सरकारी कार्य भी करते हैं हैं।इस भवन के उद्यान को जनता के दर्शनार्थ 1 जनवरी से 10 जनवरी तक निशुल्क प्रवेश दिया जाता है.

नई!!: हैदराबाद और राष्ट्रपति निलयम · और देखें »

राष्ट्रीय फैशन टेक्नालॉजी संस्थान

राष्ट्रीय फैशन टेक्नालॉजी संस्थान (National Institute of fashion Technology / NIFT) भारत में फैशन डिजाइन, प्रबंधन और तकनीकी के क्षेत्र में एक प्रमुख संस्थान हैं। वर्ष 1986 में भारत सरकार के वस्त्र मंत्रालय के तत्वावधान में राष्ट्रीय फैशन टैक्नालॉजी संस्थान की एक शीर्ष निकाय के रूप में स्थापना की गई थी। भारत की संसद द्वारा पारित निफ्ट अधिनियम 2006 के माध्यम से निफ्ट को अन्य प्रतिष्ठित संस्थानों की भांति फैशन प्रौद्योगिकी में शिक्षा के विकास और अनुसंधान के लिए सांविधिक दर्जा प्रदान किया गया है जिससे यह संस्थान अपने विद्यार्थियों को डिग्री और अन्य शैक्षिक प्रमाण पत्र प्रदान कर सकेगा। इस संस्थान ने भारतीय फैशन उद्योग को विश्व के उत्कृष्ट निपुण डिजाइनरों, प्रबंधन और विनिर्माण प्रौद्योगिकी की जानकारी दी है। इस संस्थान ने शिक्षा प्राप्त करने का वातावरण तैयार किया है इससे नवीनता, संरचनात्मक और श्रेष्ठता प्राप्त करने में प्रोत्साहन मिलता है। निफ्ट एक बहुशिक्षा प्रदान करने का बहुआयामी संस्थान है, जो निरंतर पथप्रदर्शक की भूमिका अदा करता है। .

नई!!: हैदराबाद और राष्ट्रीय फैशन टेक्नालॉजी संस्थान · और देखें »

राष्ट्रीय बाल श्री सम्मान

राष्ट्रीय बाल श्री सम्मान, ०९ से १६ वर्ष के आयु वर्ग के रचनात्मक बच्चों के लिए भारत सरकार द्वारा प्रदत्त सम्मान है। मानव संसाधन विकास मंत्रालय (भारत सरकार) के स्वायत्त निकाय द्वारा राष्ट्रीय बाल भवन द्वारा दिए जाने वाले सम्मान में एक पट्टिका, एक प्रमाण पत्र शैक्षिक संसाधन और नकद पुरस्कार सम्मिलित हैं। राष्ट्रीय बाल श्री सम्मान प्रायः नई दिल्ली स्थित राष्ट्रपति भवन में भारत के राष्ट्रपति द्वारा दिया जाता है। बालश्री सम्मान भारत के ३ राष्ट्रपति पुरस्कारों में से एक है, बाल श्री देश का सर्वोच्च बाल पुरस्कार हैं। .

नई!!: हैदराबाद और राष्ट्रीय बाल श्री सम्मान · और देखें »

राष्ट्रीय भारतीय आयुर्विज्ञान संपदा संस्थान

राष्ट्रीय भारतीय आयुर्विज्ञान संपदा संस्थान (National Institute of Indian Medical Heritage) भारत का एक संस्थान है जो आयुर्वेद, योग, यूनानी, सिद्ध, होमियोपैथी, सोवा रिग्पा (आयुष) एवं आधुनिक चिकित्सा के ऐतिहासिक दृष्टि से अध्ययन एवं प्रलेखन में रुचि रखने वाले इतिहासकारों, वैज्ञानिकों एवं अन्य लोगों के लिए सामग्री उपलब्ध कराता है। यह संस्थान केन्द्रीय आयुर्वेदीय विज्ञान अनुसन्धान परिषद् (के.आ.वि.अनु.प.), आयुष विभाग, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मन्त्रालय, भारत सरकार के प्रशासकीय नियन्त्रण के अधीन कार्य कर रहा है। दक्षिण-पूर्वी एशिया का अपनी तरह का एक मात्र यह संस्थान गड्डिअन्नारम्, दिलसुखनगर, हैदराबाद में नवीन भवन में स्थित है। .

नई!!: हैदराबाद और राष्ट्रीय भारतीय आयुर्विज्ञान संपदा संस्थान · और देखें »

राष्ट्रीय राजमार्ग (भारत)

भारत के राजमार्ग भारत के राष्ट्रीय राजमार्ग, भारत की केन्द्रीय सरकार द्वारा संस्थापित और सम्भाले जानी वाली लंबी दूरी की सड़के है। मुख्यतः यह सड़के 2 पंक्तियो की है, प्रत्येक दिशा में जाने के लिए एक पंक्ति। भारत के राजमार्गो की कुल दूरी लगभग 58,000 किमी है, जिसमे से केवल 4,885 किमी की सड़को के मध्य पक्का विभाजन बनाया गया है। राजमार्गो की लंबाई भारत के सड़को का मात्र 2% है, लेकिन यह कुल यातायात का लगभग 40% भार उठाते है। 1995 में पास संसदीय विदेहक के तहत इन राजमार्गो को बनाने और रख-रखाव के लिए निजी संस्थानो की हिस्सेदारी को मंजूरी दी गई। हाल के समय में इन राजमार्गो का तेजी से विकास हुआ जिनके तहत भारत के शहर और कस्बो के बीच यातायात के समय में गिरावट आई। कुछ शहरो के बीच 4 और 6 पंक्तियों के राजमार्गो का भी विकास हुआ। भारत का सबसे बड़ा राजमार्ग राष्ट्रीय राजमार्ग ७ (NH7) है, जो उत्तर प्रदेश के वाराणसी शहर को भारत के दक्षिणी कोने, तमिलनाडु के कन्याकुमारी शहर के साथ जोड़ता है। इसकी लंबाई 2369 किमी है। सबसे छोटा राजमार्ग 5 किलोमीटर लंबा राष्ट्रीय राजमार्ग NH71B (NH71B) है,। काफ़ी सारे राजमार्गों का अभी भी विकास हो रहा है। ज्यादतर राजमार्गों को कंक्रीट का नहीं बनाया गया है। मुम्बई पुणे एक्सप्रेस-वे इसका एक अपवाद है। .

नई!!: हैदराबाद और राष्ट्रीय राजमार्ग (भारत) · और देखें »

राष्ट्रीय राजमार्ग ४४ (भारत)

राष्ट्रीय राजमार्ग ४४ (National Highway 44, NH 44) भारत का सबसे लम्बा राजमार्ग है। यह उत्तर में श्रीनगर से आरम्भ होकर दक्षिण में कन्याकुमारी में समाप्त होता है। .

नई!!: हैदराबाद और राष्ट्रीय राजमार्ग ४४ (भारत) · और देखें »

राष्ट्रीय राजमार्ग ७

यह भारत का सबसे बड़ा राजमार्ग है, जो उत्तर प्रदेश के वाराणसी शहर को भारत के दक्षिणी कोने, तमिलनाडु के कन्याकुमारी शहर के साथ जोड़ता है। इसकी लंबाई 2369 किमी है। इसका रूट वाराणसी - मंगावन – रीवा - जबलपुर – लख्नादों - नागपुर – हैदराबाद – कुरनूल - बैंगलोर – कृश्णागिरि - सलेम – डिंडीगुल – मदुरई – तिरुनावली - कन्याकुमारी है। श्रेणी:भारत के राष्ट्रीय राजमार्ग.

नई!!: हैदराबाद और राष्ट्रीय राजमार्ग ७ · और देखें »

राष्ट्रीय सुदूर संवेदन केन्द्र

राष्ट्रीय दूरसंवेदी केंद्र भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) का एक प्रमुख केंद्र है। यह हैदराबाद में स्थित है। यहाँ दूरसंवेदी गतिविधियाँ होती हैं। यहाँ उपग्रह द्वारा लिए गए चित्रों को उपयोगकर्ताओं एवं जनसामान्य तक पहुँचाने का कार्य किया जाता है। नगरीय योजना, कृषि, खनन और मात्स्यिकी में इस केंद्र का योगदान उल्लेखनीय है। .

नई!!: हैदराबाद और राष्ट्रीय सुदूर संवेदन केन्द्र · और देखें »

राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन के सदस्यों की सूची

राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) एक केंद्र-दक्षिणपंथी राजनीतिक गठबंधन है। इसका नेतृत्व भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) करती है। २०१५ के अनुसार, यह प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में भारतीय संसद का सत्तारूढ़ गठबंधन है, और १३ राज्यों पर राज करता है। राजग का निर्माण १९९८ के आम चुनावों में भाजपा द्वारा किया गया था; इसमें भाजपा के तत्कालीन सहयोगी दलों (जैसे समता पार्टी, शिरोमणि अकाली दल और शिवसेना) के अलावा ऑल इंडिया अन्ना द्रविड़ मुनेत्र कड़गम और बीजू जनता दल शामिल थे। इन क्षेत्रीय दलों में केवल एक शिवसेना ही थी, जिसकी विचारधारा भाजपा की विचारधारा के समान थी। गठबंधन पहली बार केन्द्र में सत्ता पर १९९८ के आम चुनाव के बाद आया, और २००४ तक शासन किया। सितंबर २०१५ की स्थिति के अनुसार, राजग में पैंतीस सदस्य दल है (उनमें से दो राजनीतिक मोर्चे हैं और एक संगठन है), जिसमें से भाजपा एकमात्र राष्ट्रीय दल है। तेरह राजग सदस्यों (शिवसेना, तेलुगु देशम पार्टी, शिरोमणि अकाली दल, जम्मू और कश्मीर पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी, ऑल इंडिया एन॰आर॰ कांग्रेस, नागा पीपुल्स फ्रंट, लोक जनशक्ति पार्टी, राष्ट्रीय लोक समता पार्टी, देसिया मुरपोक्कु द्रविड़ कड़गम, महाराष्ट्रवादी गोमांतक पार्टी, ऑल झारखण्ड स्टूडेंट्स यूनियन, नेशनल पीपुल्स पार्टी, और पाट्टाली मक्कल कॉची) को भारत निर्वाचन आयोग द्वारा "राज्यीय दल" का दर्जा दिया गया है। सितंबर २०१५ की स्थिति के अनुसार, राजग के पास लोकसभा और राज्यसभा में क्रमानुसार ३३७ और ६४ सदस्य हैं। .

नई!!: हैदराबाद और राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन के सदस्यों की सूची · और देखें »

राहुल द्रविड़

राहुल शरद द्रविड़ (कन्नड़: ರಾಹುಲ್ ಶರದ್ ದ್ರಾವಿಡ,राहुल शरद द्रविड) (11 जनवरी 1973 को जन्मे) भारतीय राष्ट्रीय टीम के सबसे अनुभवी क्रिकेटरों में से एक हैं, 1996 से वे इसके नियमित सदस्य रहें हैं।अक्टूबर 2005 में वे भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान के रूप में नियुक्त किये गए और सितम्बर 2007 में उन्होंने अपने इस पद से इस्तीफा दे दिया। १६ साल तक भारत का प्रतिनिधित्व करते रहने के बाद उन्होंने वर्ष २०१२ के मार्च में अंतर्राष्ट्रीय और राष्ट्रीय क्रिकेट के सभी फॉर्मैट से सन्यास ले लिया। द्रविड़ को वर्ष 2000 में पांच विसडेन क्रिकेटरों में से एक के रूप में सम्मानित किया गया। द्रविड़ को 2004 के उद्घाटन पुरस्कार समारोह में इस वर्ष के आईसीसी प्लेयर और वर्ष के टेस्ट प्लेयर के पुरस्कार से सम्मानित किया गया। लम्बे समय तक बल्लेबाजी करने की उनकी क्षमता के कारण उन्हें दीवार के रूप में जाना जाता है, द्रविड़ ने क्रिकेट की दुनिया में बहुत से रिकॉर्ड बनाये हैं। द्रविड़ बहुत शांत व्यक्ति है। "दीवार" के रूप में लोकप्रिय द्रविड़ पिच पर लम्बे समय तक टिके रहने के लिए जाने जाते हैं। सुनील गावस्कर और सचिन तेंदुलकर के बाद वे तीसरे ऐसे बल्लेबाज हैं जिन्होंने टेस्ट क्रिकेट में दस हज़ार से अधिक रन बनाये हैं, 14 फ़रवरी 2007 को, वे दुनिया के क्रिकेट इतिहास में छठे और भारत में सचिन तेंडुलकर और सौरव गांगुली के बाद तीसरे खिलाड़ी बन गए जब उन्होंने एक दिवसीय अन्तरराष्ट्रीय क्रिकेट में दस हज़ार रन का स्कोर बनाया वे पहले और एकमात्र बल्लेबाज हैं जिन्होंने सभी 10 टेस्ट खेलने वाले राष्ट्र के विरुद्ध शतक बनाया है। 182 से अधिक कैच के साथ वर्तमान में टेस्ट क्रिकेट में सबसे ज्यादा कैच का रिकॉर्ड द्रविड़ के नाम है। द्रविड़ ने 18 अलग-अलग भागीदारों के साथ 75 बार शतकीय साझेदारी की है, यह एक विश्व रिकॉर्ड है। .

नई!!: हैदराबाद और राहुल द्रविड़ · और देखें »

राजभवन (आन्ध्र प्रदेश)

राजभवन हैदराबाद भारत के आन्ध्र प्रदेश राज्य के राज्यपाल का आधिकारिक निवास है। यह राज्य की राजधानी हैदराबाद के सोमजीगुदा नामक इलाके में स्थित है। .

नई!!: हैदराबाद और राजभवन (आन्ध्र प्रदेश) · और देखें »

राजेश विवेक

राजेश विवेक (३१ जनवरी, १९४९ से १४ जनवरी, २०१६)भारतीय नाटक अभिनेता थे जो लगान नामक फ़िल्म में अपने ज्योतिषी गुरन अथवा स्वदेश में डाकिये के अभिनय के लिए जाने जाते हैं। इसके अतिरिक्त लोकप्रिय भारतीय धारावाहिक महाभारत में उन्होंने महाभारत के रचयिता वेदव्यास का अभिनय किया था। उन्होंने वीराना और जोशीले जैसी फ़िल्मों में खलनायक की भूमिका में भी अभिनय किया। इसके अतिरिक्त उन्होंने मुझसे शादी करोगी, वॉट्स यॉर राशी? और बंटी और बबली जैसी फ़िल्मों में अभिनय किया। राजेश ने टीवी धारावाहिक भारत एक खोज में भी उल्लेखनीय अभिनय किया। .

नई!!: हैदराबाद और राजेश विवेक · और देखें »

राजीव गाँधी अंतर्राष्ट्रीय विमानक्षेत्र

हैदराबाद अंतर्राष्ट्रीय विमानक्षेत्र (హైదరాబాద్ అంతర్జాతీయ విమానాశ్రయము., حیدرآباد انٹرنیشنل ائرپورٹ) जिसका पूरा नाम है राजीव गांधी अन्तर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा है शम्साबाद, हैदराबाद में स्थित एक अंतर्राष्ट्रीय विमानक्षेत्र है। ये शहर से दूर स्थित है। इसका ICAO कोड है HYD और IATA कोड है VOHS। यह एक नागरिक हवाई अड्डा है। यहां कस्टम्स विभाग उपस्थित नहीं है। इसका रनवे अनपेव्ड है। इसकी प्रणाली यांत्रिक नहीं है। इसकी उड़ान पट्टी की लंबाई 3000 फी.

नई!!: हैदराबाद और राजीव गाँधी अंतर्राष्ट्रीय विमानक्षेत्र · और देखें »

राजीव गांधी अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम

राजीव गांधी अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम हैदराबाद के एक प्रसिद्ध क्रिकेट स्टेडियम है। यह सनराइजर्स हैदराबाद टीम का मूल-स्थान भी है। .

नई!!: हैदराबाद और राजीव गांधी अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम · और देखें »

रिचर्ड प्रसाद

रिचर्ड प्रसाद (जन्म: 30 नवम्बर 1986) दक्षिण भारतीय फिल्म छायाकार है। .

नई!!: हैदराबाद और रिचर्ड प्रसाद · और देखें »

रजनी वेणुगोपाल

रजनी वेणुगोपाल (Rajani Venugopal/ರಜನಿ ವೇಣುಗೋಪಾಲ್) (जन्म; २८ मई १९६९, हैदराबाद,भारत) जो कि एक पूर्व भारतीय महिला क्रिकेट खिलाड़ी है इन्होंने भारतीय महिला क्रिकेट टीम की और से छः टेस्ट क्रिकेट और नौ एक दिवसीय अंतर्राष्ट्रीय मैच खेले थे। रजनी वेणुगोपाल मुख्यतः बल्लेबाजी के लिए जानी जाती है जो बाएं हाथ से बल्लेबाजी करती थीं। .

नई!!: हैदराबाद और रजनी वेणुगोपाल · और देखें »

रघु बाबू

रघु बाबू एक हास्य अभिनेता हैं जो अपने हास्य अभिव्यक्ति और समय के लिए प्रसिद्ध हैं। उन्होंने तेलुगू उद्योग में कई सफल फिल्मों में काम किया है वह प्रसिद्ध कॉमेडियन और चरित्र अभिनेता गिरि बाबू के सबसे बड़े बेटे हैं। उनका मूल गांव रवीन्नाथ है। उन्होंने 1988 में शादी की। उन्होंने फिल्मों में कॉमेडी भाग में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाई, खुद को कई तेलुगू फिल्मों में निर्देशक के चयन के रूप में स्थापित किया। वह एक तेलुगू फिल्म के लिए एक नंदी पुरस्कार नामांकित व्यक्ति हैं। वह जल्द ही एक निर्देशक के रूप में आने के लिए तैयार हैं। .

नई!!: हैदराबाद और रघु बाबू · और देखें »

रवि तेजा

रवि तेजा (जन्म: 26 जनवरी, 1968) तेलुगु फ़िल्मों के एक अभिनेता हैं। .

नई!!: हैदराबाद और रवि तेजा · और देखें »

रविंदर सिंह

रविंदर सिंह (जन्म:४ फ़रवरी १९८२) एक प्रसिद्ध अंग्रेजी भाषा के भारतीय उपन्यासकार व लेखक हैं। .

नई!!: हैदराबाद और रविंदर सिंह · और देखें »

रूपकुण्ड

रूपकुंड (कंकाल झील) भारत उत्तराखंड राज्य में स्थित एक हिम झील है जो अपने किनारे पर पाए गये पांच सौ से अधिक कंकालों के कारण प्रसिद्ध है। यह स्थान निर्जन है और हिमालय पर लगभग 5029 मीटर (16499 फीट) की ऊंचाई पर स्थित है। इन कंकालों को 1942 में नंदा देवी शिकार आरक्षण रेंजर एच.

नई!!: हैदराबाद और रूपकुण्ड · और देखें »

रेडियो मिर्ची

रेडियो मिर्ची भारत का एक लोकप्रिय गैर सरकारी एफ.

नई!!: हैदराबाद और रेडियो मिर्ची · और देखें »

रेडियो सिटी

150px रेडियो सिटी भारत का एक गैर शासकीय रेडियो स्टेशन है। इसका प्रसारण ९१.१ मेगाहर्ट्ज़ पर होता है। इस रेडियो स्टेशन कि शुरुआत सबसे पहले मुंबई से २००४ में हुई। अब यह भारत के कई शहरों और महानगरों में एक प्रचलित रेडियो स्टेशन है। इसकीं मुख्य कार्यकारी अधिकारी मिस.

नई!!: हैदराबाद और रेडियो सिटी · और देखें »

रोहित खंडेलवाल

रोहित खंडेलवाल एक भारतीय मॉडल और अभिनेता हैं। उन्होंने 2016 में मिस्टर वर्ल्ड का ख़िताब को जीता। वह मिस्टर वर्ल्ड ख़िताब के पहले एशियाई विजेता हैं। .

नई!!: हैदराबाद और रोहित खंडेलवाल · और देखें »

रोज़िड

रोज़िड (Rosid) सपुष्पक पौधों (यानि फूल देने वाले पौधों) का एक बड़ा क्लेड परिवार है, जिसमें ७०,००० से अधिक जातियाँ आती हैं। सारे फूलने वाले पौधों की जातियों में से एक-चौथाई इसी क्लेड की सदस्य हैं। रोज़िड क्लेड को अलग-अलग जीववैज्ञानिकों की मतानुसार १६ से २० गणों में विभाजित किया जाता है। रोज़िड और ऐस्टरिड​ सारे युडिकॉट​ (दो बीजपत्रों वाले फूलदार पौधे) के परिवार के दो सबसे बड़े क्लेड हैं और इन दोनों में हज़ारों सदस्य जातियाँ आती हैं।, Joel Cracraft, Michael J. Donoghue, pp.

नई!!: हैदराबाद और रोज़िड · और देखें »

लाल बहादुर शास्त्री स्टेडियम

लाल बहादुर शास्त्री स्टेडियम हैदराबाद शहर का एक प्रमुख खेल का मैदान हैं। यह स्टेडियम पूर्व में फतेह मैदान के रूप में जाना जाता था। .

नई!!: हैदराबाद और लाल बहादुर शास्त्री स्टेडियम · और देखें »

लालजी सिंह

लालजी सिंह डॉ लालजी सिंह (5 जुलाई 1947 – 10 दिसम्बर 2017) हैदराबाद स्थित 'कोशिकीय एवं आणविक जीवविज्ञान केन्द्र' (CCMB) के भूतपूर्व निदेशक थे। सम्प्रति वे बनारस हिन्दू विश्वविद्यालय के कुलपति भी रहे। वह भारत के नामी नू-जीवविज्ञानी थे। लिंग निर्धारण का आणविक आधार, डीएनए फिंगरप्रिंटिंग, वन्यजीव संरक्षण, रेशमकीट जीनोम विश्लेषण, मानव जीनोम एवं प्राचीन डीएनए अध्ययन आदि उनकी रुचि के प्रमुख विषय रहे। .

नई!!: हैदराबाद और लालजी सिंह · और देखें »

लाइव इंडिया

लाइव इंडिया, जिसे पहले जनमत नाम से जाना जाता था, एक भारतीय हिन्दी समाचार चैनल है। जिसके प्रधान संपादक सतीश के सिंह है। लाइव इंडिया ग्रुप डेली अखबार औऱ मैगजीन का भी संचालन करता है। इसने अगस्त 2007 में अहमदाबाद, लखनऊ, श्रीनगर, चंडीगढ़, भोपाल, हैदराबाद, बैंगलोर, चेन्नई, भुवनेश्वर, कोलकाता और गुवाहाटी में अपने विभाग खोले। इससे पहले इनका कार्यालय मुंबई और दिल्ली में था। .

नई!!: हैदराबाद और लाइव इंडिया · और देखें »

लिन डान

लिन डान (जन्म अक्टूबर 14, 1983 लोंग्यान, फुजिआन) चीन से एक पेशेवर बैडमिंटन खिलाड़ी हैं। वह दो बार के ओलम्पिक स्वर्ण पदक विजेता हैं, पांच बार के विश्व विजेता हैं, और पांच बार के ऑल इंग्लैंड विजेता हैं। कई लोगों द्वारा सर्वकालिक महान एकल बैडमिंटन खिलाडी के रूप में पहचाने गये, 28 वर्ष की ही उम्र में लिन ने बैडमिंटन जगत के सभी ९ मुख्य खिताब जीतकर सुपर ग्रैंड स्लैम जीत लिया था। ओलम्पिक खेल, विश्व प्रतियोगिताएँ, विश्व कप, थॉमस कप, सुदिरमान कप, सुपर सीरीज़ मास्टर्स फ़ाइनल्स, ऑल इंग्लैंड ओपेन, एशियाई खेल, और एशियाई प्रतियोगिताएँ जीतकर ऐसा करने वाले वो पहले और एकमात्र खिलाड़ी बने हुए हैं। वह पहले पुरुष बैडमिंटन खिलाडी भी हैं जिन्होंने ओलम्पिक पुरुष एकल का स्वर्ण पदक लगातार दो बार पहले 2008 और बाद में 2012 में जीता है। २००४ में ऑल इंग्लैंड ओपेन जीतने पर लिन डान को प्रतिद्वंदी पीटर गेड ने "सुपर डान" के नाम से नवाज़ा। इसके बाद से ही यह नाम उनके लिये उनके प्रशंसकों व मीडिया द्वारा उन्हें पुकारने या पहचानने के लिये किया जाता है। Lin has been in a relationship with झी झिंगफैंग, herself a former world champion, since 2003.

नई!!: हैदराबाद और लिन डान · और देखें »

लखनऊ

लखनऊ (भारत के सर्वाधिक आबादी वाले राज्य उत्तर प्रदेश की राजधानी है। इस शहर में लखनऊ जिले और लखनऊ मंडल के प्रशासनिक मुख्यालय भी स्थित हैं। लखनऊ शहर अपनी खास नज़ाकत और तहजीब वाली बहुसांस्कृतिक खूबी, दशहरी आम के बाग़ों तथा चिकन की कढ़ाई के काम के लिये जाना जाता है। २००६ मे इसकी जनसंख्या २,५४१,१०१ तथा साक्षरता दर ६८.६३% थी। भारत सरकार की २००१ की जनगणना, सामाजिक आर्थिक सूचकांक और बुनियादी सुविधा सूचकांक संबंधी आंकड़ों के अनुसार, लखनऊ जिला अल्पसंख्यकों की घनी आबादी वाला जिला है। कानपुर के बाद यह शहर उत्तर-प्रदेश का सबसे बड़ा शहरी क्षेत्र है। शहर के बीच से गोमती नदी बहती है, जो लखनऊ की संस्कृति का हिस्सा है। लखनऊ उस क्ष्रेत्र मे स्थित है जिसे ऐतिहासिक रूप से अवध क्षेत्र के नाम से जाना जाता था। लखनऊ हमेशा से एक बहुसांस्कृतिक शहर रहा है। यहाँ के शिया नवाबों द्वारा शिष्टाचार, खूबसूरत उद्यानों, कविता, संगीत और बढ़िया व्यंजनों को हमेशा संरक्षण दिया गया। लखनऊ को नवाबों के शहर के रूप में भी जाना जाता है। इसे पूर्व की स्वर्ण नगर (गोल्डन सिटी) और शिराज-ए-हिंद के रूप में जाना जाता है। आज का लखनऊ एक जीवंत शहर है जिसमे एक आर्थिक विकास दिखता है और यह भारत के तेजी से बढ़ रहे गैर-महानगरों के शीर्ष पंद्रह में से एक है। यह हिंदी और उर्दू साहित्य के केंद्रों में से एक है। यहां अधिकांश लोग हिन्दी बोलते हैं। यहां की हिन्दी में लखनवी अंदाज़ है, जो विश्वप्रसिद्ध है। इसके अलावा यहाँ उर्दू और अंग्रेज़ी भी बोली जाती हैं। .

नई!!: हैदराबाद और लखनऊ · और देखें »

लखनऊ की अर्थ व्यवस्था

लखनऊ उत्तरी भारत का एक प्रमुख बाजार एवं वाणिज्यिक नगर ही नहीं, बल्कि उत्पाद एवं सेवाओं का उभरता हुआ केन्द्र भी बनता जा रहा है। उत्तर प्रदेश राज्य की राजधानी होने के कारण यहां सरकारी विभाग एवं सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रम ही यहां मध्यम-वर्गीय वेतनभोगियों के नियोक्ता हैं। सरकार की उदारीकरण नीति के चलते यहां व्यवसाय एवं नौकरियों तथा स्व-रोजगारियों के लिए बहुत से अवसर खोल दिये हैं। इस कारण यहां नौकरी पेशे वालों की संख्या निरंतर बढ़ती रहती है। लखनऊ निकटवर्ती नोएडा एवं गुड़गांव के लिए सूचना प्रौद्योगिकी एवं बीपीओ कंपनियों के लिए श्रमशक्ति भी जुटाता है। यहां के सू.प्रौद्योगिकी क्षेत्र के लोग बंगलुरु एवं हैदराबाद में भी बहुतायत में मिलते हैं। शहर में भारतीय लघु उद्योग विकास बैंक (एसआईडीबीआई) तथा प्रादेशिक औद्योगिक एवं इन्वेस्टमेंट निगम, उत्तर प्रदेश (पिकप) के मुख्यालय भी स्थित हैं। उत्तर प्रदेश राज्य औद्योगिक विकास निगम का क्षेत्रीय कार्यालय भी यहीं स्थित है। यहां अन्य व्यावसायिक विकास में उन्मत्त संस्थानों में कॉन्फेडरेशन ऑफ इंडियन इंडस्ट्री (सीआईआई) एवं एन्टरप्रेन्योर डवलपमेंट इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (ईडीआईआई) हैं। .

नई!!: हैदराबाद और लखनऊ की अर्थ व्यवस्था · और देखें »

लक्ष्मी कांठम

माननेपल्ली लक्ष्मी कांठम एक भारतीय वैज्ञानिक हैं। वह सीएसआईआर-आईआईसीटी की निर्देशक हैं और १९८२ में प्रो.

नई!!: हैदराबाद और लक्ष्मी कांठम · और देखें »

लेमन ट्री होटल्स

कोई विवरण नहीं।

नई!!: हैदराबाद और लेमन ट्री होटल्स · और देखें »

लेकर हम दीवाना दिल

लेकर हम दीवाना दिल एक भारतीय बॉलीवुड फिल्म है। जिसका निर्देशन आरिफ़ अली और निर्माण दिनेश विजन व सैफ़ अली ख़ान ने किया है। यह फ़िल्म 4 जुलाई 2014 में प्रदर्शित हुई थी। .

नई!!: हैदराबाद और लेकर हम दीवाना दिल · और देखें »

शबाना आज़मी

शबाना आज़मी (जन्म: 18 सितंबर, 1950) हिन्दी फ़िल्मों की एक अभिनेत्री हैं। .

नई!!: हैदराबाद और शबाना आज़मी · और देखें »

शाबाद

शाबाद रंगारेड्डी जिले का एक शहर है। यह हैदराबाद से ५० किलोमीटर दूरी पर है। श्रेणी:रंगारेड्डी जिला श्रेणी:तेलंगाना के नगर.

नई!!: हैदराबाद और शाबाद · और देखें »

शामी कबाब

शामी कबाब एक मुगलाई पकवान है। यह भारत एवं पाकिस्तान मे बहुत प्रचलित है। शामी कबाब भारतीय उपमहाद्वीप मे खाया जाने वाले कबाब का एक खास प्रकार है.

नई!!: हैदराबाद और शामी कबाब · और देखें »

शांतनु नारायण

शांतनु नारायण शांतनु नारायण एक भारतीय अमेरिकी  व्यवसायिक अधिकारी हैं तथा से अडोबी सिस्टम्स के प्रमुख कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) हैं। इससे पहले सन २००५ से वे  इसी कंपनी में प्रसीडेंट व सीईओ थे। वे अडोबी फाऊण्डेशन के बोर्ड के भी प्रेसीडेंट हैं।  .

नई!!: हैदराबाद और शांतनु नारायण · और देखें »

शांता सिन्हा

प्रो.

नई!!: हैदराबाद और शांता सिन्हा · और देखें »

शिव ब्रत लाल

शिव ब्रत लाल वर्मन का जन्म सन् 1860 ईस्वी में भारत के राज्य उत्तर प्रदेश के भदोही ज़िला में हआ था। वे 'दाता दयाल' और महर्षि जी' के नाम से भी प्रसिद्ध हुए.

नई!!: हैदराबाद और शिव ब्रत लाल · और देखें »

शिवाय

शिवाय (अंग्रेजी: Shivay) एक भारतीय हिन्दी एक्शन थ्रिलर फ़िल्म है, जो २८ अक्टूबर २०१६ को दीपावली के मौके पर सिनेमाघरों में प्रदर्शित हुई। इस फ़िल्म का निर्देशन अजय देवगन ने किया है। शिवाय फ़िल्म में मुख्य किरदार के रूप में अजय देवगन तथा सायेशा सैगल है। शिवाय फ़िल्म ने अब तक लगभग ₹99 करोड़ की कमाई केवल भारत में की है .

नई!!: हैदराबाद और शिवाय · और देखें »

श्रीपाद दामोदर सतवलेकर

वेदमूर्ति श्रीपाद दामोदर सातवलेकर (19 सितंबर 1867 - 31 जुलाई 1968) वेदों का गहन अध्ययन करनेवाले शीर्षस्थ विद्वान् थे। उन्हें 'साहित्य एवं शिक्षा' के क्षेत्र में सन् 1968 में भारत सरकार ने पद्म भूषण से सम्मानित किया था। .

नई!!: हैदराबाद और श्रीपाद दामोदर सतवलेकर · और देखें »

श्रीलंका क्रिकेट टीम का भारत दौरा 1993-94

श्रीलंका की राष्ट्रीय क्रिकेट टीम को तीन टेस्ट मैचेस और तीन वन-डे अंतरराष्ट्रीय (वनडे) खेलने के लिए जनवरी और फरवरी 1994 में भारत का दौरा किया गया। यह दौरा 1993 में हीरो कप में श्रीलंका की भागीदारी के बाद हुआ, जहां वे सेमीफाइनल तक पहुंचे और विवाद से घिरे हुए थे। पाकिस्तान की राष्ट्रीय क्रिकेट टीम ने सुरक्षा चिंताओं का हवाला देते हुए श्रीलंका से केवल भारत का दौरा किया। श्रीलंका के टीम मैनेजर, बंडुला वर्णापरा, जैसा कुछ ही महीने पहले हीरो कप में हुआ था, ने खराब अंपायरिंग फैसले पर पहले दो टेस्ट मैचों की बल्लेबाजी विफलताओं को दोषी ठहराया। श्रृंखला को स्पिन-मैत्रीपूर्ण पिचों पर खेला गया जिस पर भारत ने एक शानदार रिकॉर्ड बनाया है। 1990-91 में श्रीलंका की हार के बाद भारत ने अपना आठवें सीधे जीत हासिल किया और 1992-93 में इंग्लैंड को हराकर उनकी लगातार दूसरी श्रृंखला का सफाया किया। उस समय के लोकप्रिय मान्यताओं के विपरीत जो भारत में टेस्ट मैचों में उबाऊ ड्रॉ का उत्पादन करता है, इस श्रृंखला का मतलब है कि 1987-88 में मद्रास से पिछले 12 टेस्ट के परिणामस्वरूप भारत के लिए 11 जीत हासिल हुई थी। अजहरुद्दीन ने मंसूर अली खान पतौडी और सुनील गावस्कर को भारत के सबसे सफल कप्तान के रूप में शामिल किया, जिसमें से प्रत्येक ने 9 जीत दर्ज की। भारत के लिए उत्सव के लिए आगे आने के बाद कपिल देव ने टेस्ट क्रिकेट में सर्वाधिक विकेट लेने वाले खिलाड़ी रिचर्ड हैडली के 431 के स्कोर को पार कर, जो साढ़े तीन साल तक खड़ा था। .

नई!!: हैदराबाद और श्रीलंका क्रिकेट टीम का भारत दौरा 1993-94 · और देखें »

श्रीलंका क्रिकेट टीम का भारत दौरा 2014-15

वेतन विवाद के कारण वेस्ट इंडीज के भारत दौरे के परित्याग होने के बाद श्रीलंका क्रिकेट टीम ने भारत को 30 अक्टूबर से 16 नवंबर 2014 तक पांच वनडे के लिए खेले। भारत ने एकदिवसीय श्रृंखला में 5-0 से सीरीज जीती और अपने चौथे व्हॉइट वाश से हराया। यह श्रीलंका के पहले 0-5 से हार गया है। चौथे एकदिवसीय मैच में, भारतीय बल्लेबाज रोहित शर्मा ने 264 रन बनाकर एक वनडे में सर्वाधिक स्कोर के लिए एक नया रिकॉर्ड बनाया। उन्होंने इस पारी में 33 चौके लगाए जो एक विश्व रिकॉर्ड भी है। .

नई!!: हैदराबाद और श्रीलंका क्रिकेट टीम का भारत दौरा 2014-15 · और देखें »

श्रीशैलम्

यह लेख श्रीशैल नगर के विषय में है; श्री शैलम देवस्थानम के विषय में यहाँ देखें। श्रीशैलम् आन्ध्र प्रदेश के कुर्नूल जिले में स्थित एक नगर है। यह श्रीशैलम मंडल का मुख्यालय है। ये हिन्दुओं के लिये एक पवित्र धार्मिक नगर है और मंडल भी है। यह नल्लमाला पर्वत, आंध्र प्रदेश पर बसा हुआ है। यह हैदराबाद से 232 कि.मि.

नई!!: हैदराबाद और श्रीशैलम् · और देखें »

श्रीकांत किदम्बी

श्रीकांत किदम्बी (अंग्रेजी:Srikanth Kidambi) एक भारतीय पुरुष बैडमिंटन खिलाड़ी है। इन्होंने २०१४ में चाइना ओपन सुपर सीरीज़ प्रीमियर का खिताब भी जीता था। इन्होंने गोपीचन्द बैडमिंटन एकेडमी हैदराबाद से खेल का प्रशिक्षण लिया था। .

नई!!: हैदराबाद और श्रीकांत किदम्बी · और देखें »

शीर ख़ुर्मा

शीर ख़ुर्मा या शीर खोरमा (फ़ारसी / उर्दू - شیر خرما) फारसी में "सेवियों के साथ दूध", ईद उल-फ़ित्र और ईद अल-अज़हा के दिन अफ़गानिस्तान में मुस्लिमों द्वारा तैयार एक सेवियों का पकवान (व्यंजन) है। भारत, पाकिस्तान, बांग्लादेश और मध्य एशिया के कुछ हिस्सों में यह एक पारंपरिक मुस्लिम त्यौहार का नाश्ता, और समारोह के लिए मिठाई है। यह पकवान सूखे खजूरों से बना है। ईद की नमाज़ के बाद परिवार में नाश्ते के दौरान सभी अतिथि मेहमानों के लिए यह विशेष पकवान परोसा जाता है। यह दक्षिण एशिया और मध्य एशिया में बहुत लोकप्रिय है। .

नई!!: हैदराबाद और शीर ख़ुर्मा · और देखें »

शीरमाल

शीरमाल (ﺸﻴر ماﻝ), केसर के स्वाद वाली मैदा व दूध से बनी अवधी खानपान व पाकिस्तानी खान्पान की एक रोटी होती है। .

नई!!: हैदराबाद और शीरमाल · और देखें »

सत्य नडेला

सत्य नडेला (సత్య నాదెళ్ల) विश्व की प्रमुख सॉफ्टवेयर कंपनी माइक्रोसॉफ्ट के प्रमुख कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) नियुक्त किए गए हैं। वे वर्तमान सीईओ स्टीव बॉमर का स्थान लेंगे। 4 फ़रवरी 2014 को इस आशय की घोषणा की गई। फिलहाल वे माइक्रोसॉफ्ट के क्लाउड और एंटरप्राइज ग्रुप के एग्ज़ीक्युटिव वाइस प्रेजिडेंट हैं। .

नई!!: हैदराबाद और सत्य नडेला · और देखें »

सत्यम कम्प्यूटर सर्विसेज़

सत्यम कम्प्युटर सर्विसिस लि एक परामर्शदाता और सूचना प्रौद्योगिकी सेवाओं की कम्पनी है, जो हैदराबाद, भारत में स्थित है। .

नई!!: हैदराबाद और सत्यम कम्प्यूटर सर्विसेज़ · और देखें »

सत्यात्म तीर्थ

श्री Satyatma तीर्थ के माध्यम से, Uttaradi गणित, प्रोत्साहित किया, जल संरक्षण और प्रबंधन विशेषज्ञ, डांडी के भारत और रेमन मैगसेसे पुरस्कार विजेता राजेंद्र सिंह को देने के लिए व्याख्यान पर जल संरक्षण और अन्य विषयों.

नई!!: हैदराबाद और सत्यात्म तीर्थ · और देखें »

सतीश आचार्य

कार्टूनिस्ट सतीश आचार्य का जन्म कर्नाटक में उडुपी के निकट कुन्दपुर में हुआ। मेंगलोर विश्वविद्यालय से फाइनेंस में एमबीए सतीश वर्तमान में मिड-डे मुंबई में २००३ से ग्राफिक एडिटर के रूप में कार्यरत हैं। बतौर कार्टूनिस्ट सतीश १९९४ से विभिन्न पत्र पत्रिकाओं और वेबसाइट्स के लिए काम करते आ रहे हैं जिनमें जैम, मिड-डे, हंगामा.कॉम, डी आई पब्लिकेशन और कन्नड़ दैनिक कर्नाटक माला प्रमुख हैं। .

नई!!: हैदराबाद और सतीश आचार्य · और देखें »

सनराइजर्स हैदराबाद

सनराइजर्स हैदराबाद (SRH भी कहते हैं) इंडियन प्रीमियर लीग की हैदराबाद फ्रैन्चाइज़ी है। इस टीम के कप्तान केन विलियमसन और कोच टॉम मूडी हैं। सनराइजर्स हैदराबाद फ्रैंचाइज़ी के मालिक सन नेटवर्क के मालिक कलानिधि मारन है। टीम का वर्तमान में घरेलू मैदान राजीव गांधी अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम है। २०१८ इंडियन प्रीमियर लीग के लिए पहले टीम का कप्तान डेविड वॉर्नर बनाया गया था लेकिन गेंद के साथ छेड़छाड़ मामले में क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने उनके ऊपर एक साल का प्रतिबंध लगा दिया जिसके कारण कप्तान बदलना। .

नई!!: हैदराबाद और सनराइजर्स हैदराबाद · और देखें »

सन्त कंवर राम

सन्त कंवर राम (13 अप्रैल 1885 - १ नवम्बर 1939) सिन्ध के महान कर्मयोगी, त्यागी, तपस्वी तथा सूफी सन्त थे। .

नई!!: हैदराबाद और सन्त कंवर राम · और देखें »

सबसे बड़े शहरों की सूची

दुनिया के सबसे बड़े शहरों का निर्धारण करने हेतु यह देखा जाना जरुरी की वह किस परिभाषा का उपयोग कर रहा है। संयुक्त राष्ट्र एक शहर का गठन करने वाली तीन परिभाषाओं का उपयोग करता है, लेकिन सभी शहरों को उसी मापदंड का उपयोग करके वर्गीकृत नहीं किया जा सकता है। शहरों को शहरी क्षेत्र, उनके शहरी क्षेत्र की सीमा या उनके महानगरीय क्षेत्र कि जनसंख्या के रूप में परिभाषित किया जा सकता है। .

नई!!: हैदराबाद और सबसे बड़े शहरों की सूची · और देखें »

सय्यद मुश्ताक अली ट्रॉफी

सय्यद मुश्ताक अली ट्रॉफी भारत में ट्वेंटी-20 क्रिकेट घरेलू चैंपियनशिप, भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) द्वारा आयोजित रणजी ट्रॉफी से टीमों के बीच था। 2008-09 सत्र में इस ट्रॉफी के लिए उद्घाटन सत्र था। यह एक प्रसिद्ध भारतीय क्रिकेटर के नाम पर है, सय्यद मुश्ताक अली। जून 2016 में बीसीसीआई ने घोषणा की है कि चैम्पियनशिप खत्म कर दिया है और एक जोनल आधारित प्रतियोगिता के साथ प्रतिस्थापित किया जाएगा। .

नई!!: हैदराबाद और सय्यद मुश्ताक अली ट्रॉफी · और देखें »

सय्यद अबिद अली

सय्यद अबिद अली (Syed Abid Ali) (इनका जन्म ९ सितम्बर १९४१) को हुआ था,एक पूर्व भारतीय क्रिकेट खिलाड़ी है। ये मुख्य रूप से बल्लेबाज और गेंदबाज दोनों के लिए जाने है इसलिए ये हरफनमौला खिलाड़ियों की श्रेणी में आते हैं। सय्यद अबिद अली निचले क्रम पर बल्लेबाजी किया करते थे जबकि मध्यम तेज गेंदबाजी करते थे। .

नई!!: हैदराबाद और सय्यद अबिद अली · और देखें »

सय्यद अहमद क़ाद्री

सय्यद अहमद क़ाद्री (उर्दू: سيد احمد قادري) हैदराबाद के निजाम सरकार और बाद में भारत सरकार और यूएनओ में एक प्रशासक, शिक्षाविद और वरिष्ठ अधिकारी थे। .

नई!!: हैदराबाद और सय्यद अहमद क़ाद्री · और देखें »

सरला देवी चौधुरानी

सरला देवी चौधुरानी (९ सितम्बर १८७२ - १८ अगस्त १९४५) भारत में पहली महिला संगठन की संस्थापक थी। उन्हें १९१० में इलाहाबाद में भारत स्त्री महामंडल की संस्थापक के तौर पर जाना जाता है। संगठन के प्राथमिक लक्ष्यों में से एक यह कि था महिला शिक्षा को बढ़ावा दिया जाए, जो उस समय अच्छी तरह से विकसित नहीं हुआ था। संगठन ने पूरे भारत में महिलाओं की स्थिति में सुधार के लिए लाहौर (उस समय अविभाजित भारत का हिस्सा), इलाहाबाद, दिल्ली, कराची, अमृतसर, हैदराबाद, कानपुर, बंकुरा, हजारीबाग, मिदनापुर और कोलकाता (पूर्व कलकत्ता) में कई कार्यालय खोल दिए थे। .

नई!!: हैदराबाद और सरला देवी चौधुरानी · और देखें »

सरोजिनी नायडू

महात्मा गांधी के साथ सरोजिनी नायडू सरोजिनी नायडू (१३ फरवरी १८७९ - २ मार्च १९४९) का जन्म भारत के हैदराबाद नगर में हुआ था। इनके पिता अघोरनाथ चट्टोपाध्याय एक नामी विद्वान तथा माँ कवयित्री थीं और बांग्ला में लिखती थीं। बचपन से ही कुशाग्र-बुद्धि होने के कारण उन्होंने १२ वर्ष की अल्पायु में ही १२हवीं की परीक्षा अच्छे अंकों के साथ उत्तीर्ण की और १३ वर्ष की आयु में लेडी ऑफ दी लेक नामक कविता रची। वे १८९५ में उच्च शिक्षा प्राप्त करने के लिए इंग्लैंड गईं और पढ़ाई के साथ-साथ कविताएँ भी लिखती रहीं। गोल्डन थ्रैशोल्ड उनका पहला कविता संग्रह था। उनके दूसरे तथा तीसरे कविता संग्रह बर्ड ऑफ टाइम तथा ब्रोकन विंग ने उन्हें एक सुप्रसिद्ध कवयित्री बना दिया। १८९८ में सरोजिनी नायडू, डॉ॰ गोविंदराजुलू नायडू की जीवन-संगिनी बनीं। १९१४ में इंग्लैंड में वे पहली बार गाँधीजी से मिलीं और उनके विचारों से प्रभावित होकर देश के लिए समर्पित हो गयीं। एक कुशल सेनापति की भाँति उन्होंने अपनी प्रतिभा का परिचय हर क्षेत्र (सत्याग्रह हो या संगठन की बात) में दिया। उन्होंने अनेक राष्ट्रीय आंदोलनों का नेतृत्व किया और जेल भी गयीं। संकटों से न घबराते हुए वे एक धीर वीरांगना की भाँति गाँव-गाँव घूमकर ये देश-प्रेम का अलख जगाती रहीं और देशवासियों को उनके कर्तव्य की याद दिलाती रहीं। उनके वक्तव्य जनता के हृदय को झकझोर देते थे और देश के लिए अपना सर्वस्व न्योछावर करने के लिए प्रेरित कर देते थे। वे बहुभाषाविद थी और क्षेत्रानुसार अपना भाषण अंग्रेजी, हिंदी, बंगला या गुजराती में देती थीं। लंदन की सभा में अंग्रेजी में बोलकर इन्होंने वहाँ उपस्थित सभी श्रोताओं को मंत्रमुग्ध कर दिया था। अपनी लोकप्रियता और प्रतिभा के कारण १९२५ में कानपुर में हुए कांग्रेस अधिवेशन की वे अध्यक्षा बनीं और १९३२ में भारत की प्रतिनिधि बनकर दक्षिण अफ्रीका भी गईं। भारत की स्वतंत्रता-प्राप्ति के बाद वे उत्तरप्रदेश की पहली राज्यपाल बनीं। श्रीमती एनी बेसेन्ट की प्रिय मित्र और गाँधीजी की इस प्रिय शिष्या ने अपना सारा जीवन देश के लिए अर्पण कर दिया। २ मार्च १९४९ को उनका देहांत हुआ। १३ फरवरी १९६४ को भारत सरकार ने उनकी जयंती के अवसर पर उनके सम्मान में १५ नए पैसे का एक डाकटिकट भी जारी किया। .

नई!!: हैदराबाद और सरोजिनी नायडू · और देखें »

सानिया मिर्ज़ा

सानिया मिर्ज़ा (उर्दू: ثانیہ مرزا, तेलुगू: సాన్యా మీర్జా, जन्म: 15 नवम्बर 1986, मुंबई,महाराष्ट्र) भारत की एक टेनिस खिलाड़ी हैं। 2003 से 2013 में लगातार एक दशक तक उन्होने महिला टेनिस संघ (डब्ल्यू टी ए) के एकल और डबल में शीर्ष भारतीय टेनिस खिलाड़ी के रूप में अपना स्थान बनाए रखने में सफल रही और उसके बाद एकल प्रतियोगिता से उनकी सेवानिवृत्ति के बाद शीर्ष स्थान पर अंकिता रैना विराजमान हुई। मात्र 18 वर्ष की आयु में वैश्विक स्तर पर चर्चित होने वाली इस खिलाड़ी को 2006 में 'पद्मश्री' सम्मान प्रदान किया गया। वे यह सम्मान पाने वाली सबसे कम उम्र की खिलाड़ी है। उन्हें 2006 में अमेरिका में विश्व की टेनिस की दिग्गज हस्तियों के बीच डब्लूटीए का 'मोस्ट इम्प्रेसिव न्यू कमर एवार्ड' प्रदान किया गया था। अपने कॅरियर की शुरुआत उन्होंने 1999 में विश्व जूनियर टेनिस चैम्पियनशिप में हिस्सा लेकर किया। इसके बाद उन्होंने कई अंतररार्ष्ट्रीय मैचों में हिस्सा लिया और सफलता भी पाई। 2003 उनके जीवन का सबसे रोचक मोड़ बना जब भारत की तरफ से वाइल्ड कार्ड एंट्री करने के बाद सानिया मिर्ज़ा ने विम्बलडन में डबल्स के दौरान जीत हासिल की। वर्ष 2004 में बेहतर प्रदर्शन के लिए उन्हें 2005 में अर्जुन पुरस्कार से सम्मानित किया गया। 2005 के अंत में उनकी अंतरराष्ट्रीय रैंकिंग 42 हो चुकी थी जो किसी भी भारतीय टेनिस खिलाड़ी के लिए सबसे ज्यादा थी। 2009 में वह भारत की तरफ से ग्रैंड स्लैम जीतने वाली पहली महिला खिलाड़ी बनीं। सानिया के पिता इमरान मिर्ज़ा एक खेल संवाददाता थे। कुछ समय के बाद उन्हें हैदराबाद जाना पड़ा जहां एक पारंपरिक शिया खानदान के रूप में सानिया का बचपन गुजरा। निज़ाम क्लब हैदराबाद में सानिया ने छ्ह साल की उम्र से टेनिस खेलना शुरु किया था। महेश भूपति के पिता और भारत के सफल टेनिस प्लेयर सीके भूपति से सानिया ने अपनी शुरुआती कोचिंग ली। उनके पिता के पास इतने पैसे नहीं थे जो वह सानिया को प्रोफेशनल ट्रेनिंग करवा सकें। इसके लिए उन्होंने कुछ बड़े व्यापारिक समुदायों से स्पाँशरशिप ली। जीवेके इंड्रस्ट्रीज और एडीडास ने सानिया मिर्ज़ा को 12 साल से ही स्पाँशर करना शुरु कर दिया। उसके बाद उनके पिता ने उनकी ट्रेनिंग का जिम्मा ले लिया। अक्टूबर 2005 में टाइम पत्रिका के द्वारा सानिया को एशिया के 50 नायकों में नामित किया गया था। मार्च 2010 में नवभारत टाइम्स समाचार पत्र के द्वारा उन्हें भारत की गौरवान्वित 33 महिलाओं की सूची में नामित किया गया। वर्तमान में, वे नवगठित भारतीय राज्य तेलंगाना की 'ब्रांड एंबेसडर' हैं। .

नई!!: हैदराबाद और सानिया मिर्ज़ा · और देखें »

सानिया मिर्ज़ा टेनिस अकादमी

सानिया मिर्ज़ा टेनिस अकादमी भारतीय टेनिस खिलाड़ियों के लिए विश्व स्तर की टेनिस प्रशिक्षण प्रदान करने के उद्देश्य से मार्च 2013 में हैदराबाद में शुरू किया गया था। इसकी स्थापना भारतीय टेनिस स्टार सानिया मिर्ज़ा के द्वारा भारत के भविष्य को रोशन करने वाली उपयोगी ग्रामीण प्रतिभाओं को पहचानकर चयनित करते हुये स्वयं के खर्च पर प्रशिक्षित करने हेतु की गयी थी। .

नई!!: हैदराबाद और सानिया मिर्ज़ा टेनिस अकादमी · और देखें »

सांस्‍कृतिक स्रोत एवं प्रशिक्षण केन्‍द्र

सांस्कृतिक स्रोत एवं प्रशिक्षण केन्द्र (Centre for Cultural Resources and Training / सीसीआरटी) भारत सरकार के संस्कृति मंत्रालय के अधीन एक स्वायत्त संस्थान है। इसकी स्थापना मई, 1979 में श्रीमती कमलादेवी चट्टोपाध्याय तथा डॉ॰ कपिला वात्स्यायन द्वारा किया गया था। इस केन्द्र का मुख्य सैद्धान्तिक उद्देश्य बच्चों को सात्विक शिक्षा प्रदान कर उनका भावात्मक व आध्यात्मिक विकास करना है। इस लक्ष्य की प्राप्ति के लिए सीसीआरटी संस्कृति पर आधारित शैक्षिक कार्यक्रमों का आयोजन करता है और उनमें विचारों की स्पष्टता, स्वतन्त्रता, सहिष्णुता तथा संवेदनाओं का समावेश किया जाता है। इस ‘केन्द्र’ का मुख्यालय नई दिल्ली में है। इसके तीन क्षेत्रीय केन्द्र हैं, जो भारतीय कला और संस्कृति के व्यापक प्रचार-प्रसार हेतु पश्चिम में उदयपुर, दक्षिण में हैदराबाद तथा पूर्वोत्तर में गुवाहाटी में स्थित हैं। सांस्कृतिक स्रोत एवं प्रशिक्षण केन्द्र का कार्य छात्रों के बीच भारत की क्षेत्रीय संस्कृतियों की बहुलता के विषय में जागृति व समझ उत्पन्न कर शिक्षा प्रणाली में अन्तर्निहित करना तथा इस ज्ञान को शिक्षा से एकीकृत करना है। .

नई!!: हैदराबाद और सांस्‍कृतिक स्रोत एवं प्रशिक्षण केन्‍द्र · और देखें »

सांई धरम तेज

"साई धरम तेज" (जन्म 15 अक्टूबर 1986) एक भारतीय फिल्म अभिनेता है, जो चिरंजीवी के परिवार से काम करते हैं। वह तेलगू फिल्म उद्योग में काम करता है। .

नई!!: हैदराबाद और सांई धरम तेज · और देखें »

साइना नेहवाल

साइना नेहवाल (जन्म:१७ मार्च १९९०) भारतीय बैडमिंटन खिलाड़ी हैं। वर्तमान में वह दुनिया की शीर्ष वरीयता प्राप्त महिला बैडमिंटन खिलाडी हैं तथा इस मुकाम तक पहुँचने वाली वे प्रथम भारतीय महिला हैं। साथ ही एक महीने में तीसरी बार प्रथम वरीयता पाने वाली भी वो अकेली महिला खिलाडी हैं। लंदन ओलंपिक २०१२ मे साइना ने इतिहास रचते हुए बैडमिंटन की महिला एकल स्पर्धा में कांस्य पदक हासिल किया। बैडमिंटन मे ऐसा करने वाली वे भारत की पहली खिलाड़ी हैं। २००८ में बीजिंग में आयोजित हुए ओलंपिक खेलों मे भी वे क्वार्टर फाइनल तक पहुँची थी। वह बीडबल्युएफ विश्व कनिष्ठ प्रतियोगिता जीतने वाली पहली भारतीय हैं। वर्तमान में वह शीर्ष महिला भारतीय बैडमिंटन खिलाड़ी हैं और भारतीय बैडमिंटन लीग में अवध वैरियर्स की तरफ से खेलती हैं। साइना भारत सरकार द्वारा पद्म श्री और सर्वोच्च खेल पुरस्कार राजीव गाँधी खेल रत्न पुरस्कार से सम्मानित हो चुकीं हैं। .

नई!!: हैदराबाद और साइना नेहवाल · और देखें »

सिटी केबल

सिटी केबल (पूर्व में वायर एंड वायरलेस (इंडिया) लिमिटेड (WWIL) के रूप में) भारत की एक मल्टी सिस्टम ऑपरेटर (एमएसओ) है जो सुभाष चंद्रा के स्वामित्व में है। यह भारत के प्रमुख शहरों जैसे:दिल्ली, कोलकाता, मुंबई, बंगलौर, हैदराबाद, विजयवाड़ा, इंदौर, पटना आदि में डिजिटल केबल टीवी सेवाएं देती है। इस कंपनी का प्रधान कार्यालय नोएडा में है। .

नई!!: हैदराबाद और सिटी केबल · और देखें »

सिन्धु नदी

पाकिस्तान में बहती सिन्घु सिन्धु नदी (Indus River) एशिया की सबसे लंबी नदियों में से एक है। यह पाकिस्तान, भारत (जम्मू और कश्मीर) और चीन (पश्चिमी तिब्बत) के माध्यम से बहती है। सिन्धु नदी का उद्गम स्थल, तिब्बत के मानसरोवर के निकट सिन-का-बाब नामक जलधारा माना जाता है। इस नदी की लंबाई प्रायः 2880 किलोमीटर है। यहां से यह नदी तिब्बत और कश्मीर के बीच बहती है। नंगा पर्वत के उत्तरी भाग से घूम कर यह दक्षिण पश्चिम में पाकिस्तान के बीच से गुजरती है और फिर जाकर अरब सागर में मिलती है। इस नदी का ज्यादातर अंश पाकिस्तान में प्रवाहित होता है। यह पाकिस्तान की सबसे लंबी नदी और राष्ट्रीय नदी है। सिंधु की पांच उपनदियां हैं। इनके नाम हैं: वितस्ता, चन्द्रभागा, ईरावती, विपासा एंव शतद्रु.

नई!!: हैदराबाद और सिन्धु नदी · और देखें »

सिमी

सिमी (SIMI) या स्टुडेंट इस्लामिक मूवमेंट ऑफ़ इंडिया भारत में प्रतिबंधित एक संगठन है। इसका गठन 25 अप्रैल 1977 को अलीगढ़, उत्तर प्रदेश में हुआ है। इसके अनुसार इनका ध्येय 'पश्चिमी भौतिकवादी सांस्कृतिक प्रभाव को एक इस्लामिक समाज में रूपांतरित करना है'। कई लोगों और भारत सरकार की मान्यता है कि सिमी आतंकवादी गतिविधियों से जुड़ा हुआ है। सिमी भारत में आतंकवादी गतिविधियों में अपनी भागीदारी के लिए 2002 में भारत सरकार द्वारा प्रतिबंधित कर दिया गया था। हालांकि, अगस्त 2008 में, एक विशेष न्यायाधिकरण में सिमी पर प्रतिबंध हटा लिया। ये प्रतिबंध बाद में भारत के सर्वोच्च न्यायालय द्वारा 6 अगस्त 2008 को बहाल किया गया। सिमी को अनलॉफुल ऐक्टिविटीज प्रिवेंशन ऐक्ट 1967 (यूएपीए) के तहत प्रतिबंधित किया गया था। सिमी 2019 तक प्रतिबंधित है। इस संगठन की उत्तर प्रदेश, दिल्ली, मध्य प्रदेश, गुजरात, केरल, महाराष्ट्र, आंध्र प्रदेश सहित देश के कई राज्यों में मजबूत उपस्थिति है। कई जानकारों का मानना है कि प्रतिबंध लगने के बाद सिमी इंडियन मुजाहिदीन नाम से भारत में आतंकी गतिविधियों को अंजाम देता है। - नवभारत टाइम्स - 31 अक्टूबर 2016 .

नई!!: हैदराबाद और सिमी · और देखें »

सिंहाचलम मंदिर, विशाखापट्टनम

अक्षय तृतीया के पवित्र दिन (वैशाख मास) सिंहाचल पर्वत की छटा ही निराली होती है। इस पवित्र दिन यहाँ विराजमान श्री लक्ष्मीनृसिंह भगवान का चंदन से श्रृंगार किया जाता है। माना जाता है कि भगवान की प्रतिमा का वास्तविक स्वरूप केवल इसी दिन देखा जा सकता है। सिंहाचल क्षेत्र ग्यारहवीं शताब्दी में बने विश्व के गिने-चुने प्राचीन मंदिरों में से एक माना जाता है। .

नई!!: हैदराबाद और सिंहाचलम मंदिर, विशाखापट्टनम · और देखें »

सिकंदराबाद जंक्शन

सिकंदराबाद जंक्शन हैदराबाद शहर का प्रमुख रेलवे स्टेशन है। .

नई!!: हैदराबाद और सिकंदराबाद जंक्शन · और देखें »

संध्या श्रीकांत विश्वेश्वरीया

संध्या श्रीकांत विश्वेश्वरिया भारतीय विज्ञान संस्थान, बैंगलोर में एक वैज्ञानिक और शिक्षक हैं। वह वर्तमान में आणविक प्रजनन विभाग, विकास और आनुवंशिकी विभाग के अध्यक्ष हैं और बायोसिस्टम्स साइंस एंड इंजीनियरिंगआणविक की सह-अध्यक्ष है। .

नई!!: हैदराबाद और संध्या श्रीकांत विश्वेश्वरीया · और देखें »

संयुक्त विधि प्रवेश परीक्षा

संयुक्त विधि प्रवेश परीक्षा (CLAT / क्लेट) राष्ट्रीय विधि विद्यालयों तथा विधि विश्वविद्यालयो के विभिन्न स्नातक और स्नातकोत्तर पाठ्यक्रमों (एल.एल.बी एवं एल.एल.एम) में प्रवेश के लिए भारत भर में स्थापित किये गये 15 स्कूल/विश्वविद्यालयों द्वारा बारी–बारी से आयोजित की जाती है। प्रथम संयुक्त विधि प्रवेश परीक्षा के समय गठित की गई 7 राष्ट्रीय लॉ विश्वविद्यालयों के उपकुलाधिपति की मुख्य समिति ने निर्णय लिया था कि सभी विश्वविद्यालय अपनी स्थापना के क्रम में बारी-बारी से इस परीक्षा को आयोजित करेंगे। इसके अनुसार प्रथम संयुक्त विधि प्रवेश परीक्षा का आयोजन 2008 में राष्ट्रीय लॉ स्कूल ऑफ इंडिया यूनिवर्सिटी, बंगलुरु द्वारा किया गया था। आगामी सत्र के लिए प्रवेश परीक्षा का आयोजन डॉ राम मनोहर लोहिया राष्ट्रीय विधि विश्वविद्यालय, लखनऊ द्वारा किया जाना है। .

नई!!: हैदराबाद और संयुक्त विधि प्रवेश परीक्षा · और देखें »

सुदर्शन चक्र कॉर्प्स

के XXI भारतीय कोर में उठाया गया था, फारस 6 जून 1942 के रूप में गठन के भारतीय सेना में द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान.

नई!!: हैदराबाद और सुदर्शन चक्र कॉर्प्स · और देखें »

सुधा कार संग्रहालय

सुधा कार संग्रहालय हैदराबाद, भारत में स्थित एक मोटर-गाड़ी संबंधी संग्रहालय हैं। यह संग्रहालय असाधारण गाड़ियाँ प्रदर्शित करता है जो रोज़मर्रा की वस्तुओं के समान दिखती हैं। ये गाड़ियाँ सुधाकर यादव द्वारा हाथ से बनाई गईं हैं। इन्होंने ये कार्य महाविद्यालय में अपने शौक के रूप में शुरू किया और २०१० में यह समर्पित संग्रहालय खोला। .

नई!!: हैदराबाद और सुधा कार संग्रहालय · और देखें »

सुष्मिता सेन

सुष्मिता सेन (जन्म: 19 नवंबर, 1975, हैदराबाद, आंध्रप्रदेश) हिन्दी फ़िल्मों की एक अभिनेत्री हैं। इन्होंने 1994 में मिस इंडिया और ब्रह्माण्ड सुन्दरी का खिताब जीता था। मिस इंडिया स्पर्धा में इन्होंने ऐश्वर्या राय को हराया था। .

नई!!: हैदराबाद और सुष्मिता सेन · और देखें »

स्मिता सभरवाल

स्मिता सभरवाल (जन्म-१९ जून,१९७७) तेलंगाना कैडर से २००१ बैच की भारतीय प्रशासनिक अधिकारी हैं। वह लोगो में "पीपल्स ऑफिसर" नाम से भी लोकप्रिय हैं। वह पहली महिला आईऐएस अधिकारी हैं, जीने मुख्यमंत्री कार्यालय में नियुक्त किया गया हैं। .

नई!!: हैदराबाद और स्मिता सभरवाल · और देखें »

सेंटर फॉर डीएनए फिंगर‍प्रिंटिंग एण्‍ड डायग्‍नोस्टिक्‍स, हैदराबाद

हैदराबाद में स्थित सेंटर फॉर डीएनए फिंगर प्रिंटिंग एण्‍ड डायगोनिस्टिक्‍स (सीडीएफडी) का अधिदेश आधुनिक जीव विज्ञान के फलों में समाज के लाभ हेतु रूपांतरित करने का है। यह संस्‍थान जैव प्रौद्योगिकी विभाग, विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्रालय, भारत सरकार का एक स्‍वायत्त केन्‍द्र है तथा आधुनिक जीव विज्ञान के अग्रणी क्षेत्रों में सेवा प्रदान करने और अनुसंधान कार्य में संलग्‍न है। सीडीएफडी के प्रमुख सेवा घटकों में शामिल हैं डीएनए फिंगर प्रिंटिंग, नैदानिकी, जीनोम विश्‍लेषण और जैव सूचना विज्ञान। आधुनिक जीव विज्ञान के आपस में मिलते जुलते क्षेत्रों में मूलभूत अनुसंधान, विशेष रूप से जीनोमिक पश्‍चात परिदृश्‍य में, इस संस्‍थान का एक अविभाज्‍य घटक है। नई सहस्राब्दि के आंरभ में सीडीएफडी एक महत्‍वपूर्ण बिंदु पर खड़ा है। गुणता सेवा और वैश्विक प्रतिस्‍पर्द्धी अनुसंधान के ताल पर आगे बढ़ते हुए यह सबसे तेजी से चलने वाले संस्‍थान मूलभूत अनुसंधान में उत्‍कृष्‍टता का एक वैश्विक केन्‍द्र बन कर उभरेगा, जहां आधुनिक जीव विज्ञान के फल मानव जाति की सेवा में उनके स्‍वास्‍थ की गुणवत्ता के सुधार सहित रूपांतरित होंगे। .

नई!!: हैदराबाद और सेंटर फॉर डीएनए फिंगर‍प्रिंटिंग एण्‍ड डायग्‍नोस्टिक्‍स, हैदराबाद · और देखें »

सी-डैक

प्रगत संगणन विकास केन्द्र (Centre for Development of Advanced Computing अथवा सी-डैक) भारत की एक अर्धसरकारी सॉफ्टवेयर कम्पनी है। सी-डैक का शुरुआत में मुख्य उद्देश्य स्वदेशी महासंगणक बनाना था। वर्तमान में यह सॉफ्टवेयर एवं इलैक्ट्रॉनिक्स के क्षेत्र में एक नामी कम्पनी है। हिन्दीजगत में यह मुख्य रूप से भाषाई कम्प्यूटिंग सम्बंधी विकास कार्यों के लिये जानी जाती है। .

नई!!: हैदराबाद और सी-डैक · और देखें »

सीमा तोमर

सीमा तोमर एक भारतीय ट्रैप निशानेबाज और अंतर्राष्ट्रीय खेल संघ द्वारा आयोजित विश्व कप में कोई मेडल जीतने वाली एकमात्र भारतीय महिला हैं। इस प्रतियोगिता में उन्होंने रजत पदक (सिल्वर मेडल) हासिल किया था। वह पश्चिमी उत्तर प्रदेश के बागपत जिले के जोहरी गांव से संबंध रखती हैं। उनके परिवार में हर तीसरी महिला निशानेबाज है और उनकी मां प्रकाशी तोमर देश की सबसे बुजुर्ग महिला निशानेबाज हैं। तोमर निशानेबाजी के क्षेत्र में राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर एक जाना पहचाना नाम हैं। वर्तमान में वह भारतीय सेना में कार्यरत हैं। .

नई!!: हैदराबाद और सीमा तोमर · और देखें »

सीरत कपूर

सीरत कपूर (3 अप्रैल 1993 को जन्म) एक भारतीय फिल्म अभिनेत्री है, उन्होंने रणबीर कपूर की भूमिका के लिए एक सहायक कोरियोग्राफर के रूप में अपना कैरियर शुरू किया, फिल्म रॉकस्टार (2011 फ़िल्म) में। उसने साल 2014 में रन राजा रन (तेलुगू) के साथ अभिनय की शुरुआत की। .

नई!!: हैदराबाद और सीरत कपूर · और देखें »

हमदर्द लैबोरेटरीज

हमदर्द लैबोरेटरीज हमदर्द लैबोरेटरीज (भारत), भारत में यूनानी और आयुर्वेदिक दवा कंपनी है (ब्रिटेन से भारत की स्वतंत्रता के बाद, "हमदर्द" यूनानी शाखाएं बांग्लादेश और पाकिस्तान में स्थापित की गई थीं)। यह 1 9 06 में दिल्ली में हकीम हाफिज अब्दुल मजीद ने स्थापित किया था, और 1 9 48 में वक्फ (गैर लाभकारी ट्रस्ट) बन गया था। इसके कुछ सबसे प्रसिद्ध उत्पादों में शार्बत रोह अफजा, सफ़ी, रोगान शिराइन, स्यूलीन, जोशीना और सिंकारा शामिल हैं। यह हमदर्द फाउंडेशन, एक धर्मार्थ शैक्षिक ट्रस्ट के साथ जुड़ा हुआ है। हमीदद लेबोरेटरीज की स्थापना 1906 में दिल्ली में हकीम हाफिज अब्दुल माजिद और यूनीनी चिकित्सक अंसारलु तबाणी ने की थी। नाम हमदर्द का अर्थ उर्दू भाषा में "पीड़ा में साथी" है। अब्दुल माज़ीद की मृत्यु के बाद, उनके बेटे हकीम अब्दुल हमीद ने चौदह वर्ष की आयु में हमदर्द लैबोरेटरीज के प्रशासन को संभाला। अब्दुल हमीद "हकीम साहब" के नाम से जाना जाने लगा। हाकिम हाफिज अब्दुल मजीद का जन्म 1883 में भारत के पेलेवेट में शेख रहिम बख्श के लिए हुआ था। कहा जाता है कि वह पूरे पवित्र कुरान शरीफ को दिल से सीखा है उन्होंने उर्दू और फारसी भाषाओं की उत्पत्ति का भी अध्ययन किया। इसके बाद उन्होंने यूनानी प्रणाली में उच्चतम डिग्री हासिल की। हाकिम हाफिज अब्दुल मजीद, हाकिम जमाल खान के संपर्क में आए, जो जड़ी-बूटियों में गहरी दिलचस्पी रखते थे और औषधीय पौधों की पहचान करने के लिए प्रसिद्ध थे। अपनी पत्नी से परामर्श करने के बाद, अब्दुल मजीद ने 1906 में दिल्ली में हाउस काजी में एक हर्बल दुकान की स्थापना की और वहां हर्बल दवाओं का उत्पादन करना शुरू कर दिया। 1920 में छोटी हर्बल दुकान एक पूर्ण विकसित उत्पादन घर बन गई। हमदर्द फाउंडेशन को 1964 में कंपनी के मुनाफे का भुगतान करने के लिए समाज के हितों को बढ़ावा देने के लिए बनाया गया था। कंपनी के सभी लाभ नींव पर जाते हैं। हमदर्द लैबोरेटरीज के गाजियाबाद में एक जुड़वां विनिर्माण संयंत्र और मानसर हरियाणा में एक संयंत्र है। अपने उत्पादों में से एक, सफ़ी, पहले, भारी धातुओं जैसे कि सीसा, पारा और आर्सेनिक के हानिकारक स्तर को मिला था।.

नई!!: हैदराबाद और हमदर्द लैबोरेटरीज · और देखें »

हलीम

हलीम एक भारतीय व्यंजन है। हैदराबाद मै हलीम रमज़ान के वक्त बनायीं जाती है। हलीम मांस, मसालों और गेहूं से बनाइ जाती है। हलीम या दलीम (अरबी: دلیم, उर्दू: دلیم, तुर्की: दलीम अस्सी, फ़ारसी: حلیم, तेलुगू: हलीम, बंगाली: हलीम, हिन्दी: हलीम) मध्य पूर्व में लोकप्रिय है, मध्य एशिया, और भारतीय उपमहाद्वीप में हालांकि डिश में क्षेत्र से दूसरे क्षेत्र में भिन्न होता है, लेकिन इसमें हमेशा गेहूं या जौ, मांस और दाल शामिल होते है। तुर्की, ईरान, अजरबैजान और उत्तरी इराक में लोकप्रिय हैं; अरब दुनिया और आर्मेनिया में हरीस; पाकिस्तान और भारत में खिचड़ा; और भारत के तेलंगाना और हैदराबाद में हलीम। .

नई!!: हैदराबाद और हलीम · और देखें »

हिन्दुस्तान ऐरोनॉटिक्स लिमिटेड

हिन्दुस्तान ऐरोनॉटिक्स लिमिटेड, भारत का एक सार्वजनिक प्रतिष्ठान है, जो हवाई संयन्त्र निर्माण करता है। इसका मुख्यालय बंगलुरु में है। दिसम्बर, १९४० में भूतपूर्व मैसूर राजसी राज्य एवं असाधारण दूरद्रष्टा उद्यमी श्री सेठ वालचन्द हीराचन्द के सहयोग से बेंगलूर में शुरु हुआ। एच ए एल की आपूर्तियाँ / सेवाएँ प्रमुख रूप से भारतीय रक्षा सेनाओं, तटरक्षक तथा सीमा सुरक्षा बल के लिए हैं। भारतीय विमान - वाहकों तथा राज्य सरकारों को भी परिवहन विमानों तथा हेलिकाप्टरों की पूर्ति की गयी है। कंपनी ने गुणवत्ता एवं किफायती दरों के माध्यम से ३० से अधिक देशों में निर्यात क्षेत्र में पदार्पण किया है। आज भारत भर में एच ए एल की १६ उत्पादन इकाइयाँ एवं ९ अनुसंधान व विकास केन्द्र हैं। इसके उत्पाद-क्रम में देशीय अनुसंधान व विकास के अधीन १२ प्रकार के विमान एवं लाइसेंस के अधीन १३ प्रकार के विमान हैं। एच ए एल द्वारा अब तक ३३०० से भी अधिक विमानों, ३४०० से अधिक विमान-इंजनों का उत्पादन तथा ७७०० से अधिक विमानों एवं २६,००० से अधिक इंजनों का ओवरहाल किया गया है। एच ए एल को अनुसंधान व विकास, प्रौद्योगिकी, प्रबंधकीय निष्पादन, निर्यात, ऊर्जा की बचत, गुणवत्ता एवं सामाजिक दायित्वों के निर्वहण में अनेक अंतर्राष्ट्रीय व राष्ट्रीय पुरस्कार मिले हैं। गुणवत्ता एवं दक्षता में कारपोरेट उपलब्धि के लिए अंतर्राष्ट्रीय सूचना एवं विपणन केन्द्र (आई आई एम सी) ने मेसर्स ग्लोबल रेटिंग, युनाइटेड किंगडम के संयोजन से मेसर्स हिन्दुस्तान एरोनाटिक्स लिमिटेड को अंतर्राष्ट्रीय शिखर सम्मेलन (वैश्विक मूल्यांकन नेता २००३), लंदन, यू.के.

नई!!: हैदराबाद और हिन्दुस्तान ऐरोनॉटिक्स लिमिटेड · और देखें »

हिन्दुस्तान मशीन टूल्स

हिन्दुस्तान मशीन टूल्स भारत की सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनी है। इसकी स्थापना १९५३ में भारत सरकार द्वारा यन्त्र उपकरण निर्माण उद्योग के रूप में की थी| इस समय कंपनी घड़ी, ट्रैक्टर, मुद्रण यन्त्र समूह, धातु अभिरूपण साँचे, रूपदा संचकन (die casting) एवं प्‍लास्टिक प्रसंस्करण यन्त्र समूह आदि के विनिर्माण क्षेत्र में कार्यरत है | हिन्दुस्तान मशीन टूल्स की, देश भर में, नौ स्थानों पर विनिर्माण ईकाईयां हैं| हिन्दुस्तान मशीन टूल्स के अंतर्गत पांच अनुषंगी कंपनियां हैं, जो एक नियंत्रक कंपनी के नियंत्रण क्षेत्र में आती हैं| यह नियंत्रक कंपनी ट्रैक्टर व्यापार का भी सीधे नियंत्रण करती है| .

नई!!: हैदराबाद और हिन्दुस्तान मशीन टूल्स · और देखें »

हिन्दी

हिन्दी या भारतीय विश्व की एक प्रमुख भाषा है एवं भारत की राजभाषा है। केंद्रीय स्तर पर दूसरी आधिकारिक भाषा अंग्रेजी है। यह हिन्दुस्तानी भाषा की एक मानकीकृत रूप है जिसमें संस्कृत के तत्सम तथा तद्भव शब्द का प्रयोग अधिक हैं और अरबी-फ़ारसी शब्द कम हैं। हिन्दी संवैधानिक रूप से भारत की प्रथम राजभाषा और भारत की सबसे अधिक बोली और समझी जाने वाली भाषा है। हालांकि, हिन्दी भारत की राष्ट्रभाषा नहीं है क्योंकि भारत का संविधान में कोई भी भाषा को ऐसा दर्जा नहीं दिया गया था। चीनी के बाद यह विश्व में सबसे अधिक बोली जाने वाली भाषा भी है। विश्व आर्थिक मंच की गणना के अनुसार यह विश्व की दस शक्तिशाली भाषाओं में से एक है। हिन्दी और इसकी बोलियाँ सम्पूर्ण भारत के विविध राज्यों में बोली जाती हैं। भारत और अन्य देशों में भी लोग हिन्दी बोलते, पढ़ते और लिखते हैं। फ़िजी, मॉरिशस, गयाना, सूरीनाम की और नेपाल की जनता भी हिन्दी बोलती है।http://www.ethnologue.com/language/hin 2001 की भारतीय जनगणना में भारत में ४२ करोड़ २० लाख लोगों ने हिन्दी को अपनी मूल भाषा बताया। भारत के बाहर, हिन्दी बोलने वाले संयुक्त राज्य अमेरिका में 648,983; मॉरीशस में ६,८५,१७०; दक्षिण अफ्रीका में ८,९०,२९२; यमन में २,३२,७६०; युगांडा में १,४७,०००; सिंगापुर में ५,०००; नेपाल में ८ लाख; जर्मनी में ३०,००० हैं। न्यूजीलैंड में हिन्दी चौथी सर्वाधिक बोली जाने वाली भाषा है। इसके अलावा भारत, पाकिस्तान और अन्य देशों में १४ करोड़ १० लाख लोगों द्वारा बोली जाने वाली उर्दू, मौखिक रूप से हिन्दी के काफी सामान है। लोगों का एक विशाल बहुमत हिन्दी और उर्दू दोनों को ही समझता है। भारत में हिन्दी, विभिन्न भारतीय राज्यों की १४ आधिकारिक भाषाओं और क्षेत्र की बोलियों का उपयोग करने वाले लगभग १ अरब लोगों में से अधिकांश की दूसरी भाषा है। हिंदी हिंदी बेल्ट का लिंगुआ फ़्रैंका है, और कुछ हद तक पूरे भारत (आमतौर पर एक सरल या पिज्जाइज्ड किस्म जैसे बाजार हिंदुस्तान या हाफ्लोंग हिंदी में)। भाषा विकास क्षेत्र से जुड़े वैज्ञानिकों की भविष्यवाणी हिन्दी प्रेमियों के लिए बड़ी सन्तोषजनक है कि आने वाले समय में विश्वस्तर पर अन्तर्राष्ट्रीय महत्त्व की जो चन्द भाषाएँ होंगी उनमें हिन्दी भी प्रमुख होगी। 'देशी', 'भाखा' (भाषा), 'देशना वचन' (विद्यापति), 'हिन्दवी', 'दक्खिनी', 'रेखता', 'आर्यभाषा' (स्वामी दयानन्द सरस्वती), 'हिन्दुस्तानी', 'खड़ी बोली', 'भारती' आदि हिन्दी के अन्य नाम हैं जो विभिन्न ऐतिहासिक कालखण्डों में एवं विभिन्न सन्दर्भों में प्रयुक्त हुए हैं। .

नई!!: हैदराबाद और हिन्दी · और देखें »

हिन्दी मिलाप

हिन्दी मिलाप हिन्दी भाषा का एक दैनिक समाचार पत्र है। यह हैदराबाद से प्रकाशित होता है। .

नई!!: हैदराबाद और हिन्दी मिलाप · और देखें »

हिमायत सागर

हिमायत सागर, तेलंगाना, भारत में एक कृत्रिम झील है जो हैदराबाद से 20 किमी दूर है। यह एक और कृत्रिम झील उस्मान सागर के समानांतर है। जलाशय की भंडारण क्षमता के बारे में 3.0 टीएमसी है। .

नई!!: हैदराबाद और हिमायत सागर · और देखें »

हज़ार स्तम्भ मंदिर

हज़ार स्तम्भ मन्दिर एक हिन्दू मन्दिर है जो भारत के तेलंगाना राज्य में स्थित है इस मन्दिर में भगवान विष्णु,शिव तथा सूर्या भगवान की मूर्तियां है। इसका निर्माण लगभग ११६३ ईसा पूर्व में हुआ था। .

नई!!: हैदराबाद और हज़ार स्तम्भ मंदिर · और देखें »

हकिमपेट एयर फ़ोर्स स्टेशन

हकिमपेट एयर फ़ोर्स स्टेशन (Hakimpet Air Force Station (Hakimpet AFS)) एक भारतीय वायु सेना का विमानक्षेत्र है जो भारतीय राज्य तेलंगाना के हकिमपेट क्षेत्र में स्थित है। वायु सेना का यह विमानक्षेत्र उत्तरी दिशा से हैदराबाद से २५ किलोमीटर दूर है। .

नई!!: हैदराबाद और हकिमपेट एयर फ़ोर्स स्टेशन · और देखें »

हुसैन सागर

हुसैन सागर, तेलंगाना, भारत में एक कृत्रिम झील है जो हैदराबाद में है। यह मूसी नदी की सहायक नदी पर १५६२ में निर्मित किया गया। 1992 में गौतम बुद्ध की एक बड़ी अखंड मूर्ति, झील के बीच में एक टापू पे खडी की गई। यह हैदराबाद को अपने जुड़वां नगर सिकंदराबाद से अलग करती है। .

नई!!: हैदराबाद और हुसैन सागर · और देखें »

हुसैनसागर एक्सप्रेस

१२७०२ हुसैनसागर एक्सप्रेस - कोच स१ भारत के सबसे लोकप्रिय रेलगाड़ियों में एक हुसैनसागर एक्सप्रेस, हैदराबाद और मुंबई के बीच चलती हैं। यह ट्रैन रेलवे जोन के दक्षिण मध्य रेलवे जोन के अंतर्गत आता हैं, जैसा की हमलोग जानते हैं यह जोन अपनी रेलगाड़ियों के साफ़ सफाई एवं समय-पालन के लिए प्रसिद्ध हैं। 1993 के मध्य में इस ट्रैन की शुरुआत हैदराबाद एवं दादर के बीच हुआ था। प्रारम्भ के दिनों में यह ट्रैन हफ्ते में दो बार चलती थी लेकिन जल्द ही 1994 में ये ट्रैन प्रतिदिन चलने लगी। इस ट्रैन ने पहले से ही चलने वाली मीनार एक्सप्रेस (2001/2102) का स्थान ले लिया, जो बॉम्बे विक्टोरिया टर्मिनस एवं सिकंदराबाद के बीच चलती थी। .

नई!!: हैदराबाद और हुसैनसागर एक्सप्रेस · और देखें »

हैदराबाद (पाकिस्तान)

यह लेख पाकिस्तान के एक नगर के बारे में है, यदि आप भारत के नगर हैदराबाद के बारे में जानना चाहते हैं तो यहां जाएं -हैदराबाद। हैदराबाद पाकिस्तान के सिन्ध प्रान्त का एक प्रमुख नगर है। यह सिन्ध प्रान्त की राजधानी हुआ करता था और इत्र का शहर और हिन्दुस्तान का पैरिस के नामों से जाना जाता था। श्रेणी:पाकिस्तान के शहर.

नई!!: हैदराबाद और हैदराबाद (पाकिस्तान) · और देखें »

हैदराबाद (बहुविकल्पी)

हैदाराबाद से तात्पर्य निम्नलिखित से हो सकता है: .

नई!!: हैदराबाद और हैदराबाद (बहुविकल्पी) · और देखें »

हैदराबाद डेकन रेलवे स्टेशन

हैदराबाद डेकन रेलवे स्टेशन हैदराबाद शहर का दूसरा रेलवे स्टेशन है। यह हैदराबाद डेकन राज्य के नाम पर है। श्रेणी:तेलंगाना के रेलवे स्टेशन श्रेणी:रेलवे स्टेशन.

नई!!: हैदराबाद और हैदराबाद डेकन रेलवे स्टेशन · और देखें »

हैदराबाद प्रांत

हैदराबाद स्टेट (హైదరాబాదు, حیدر آباد) ब्रिटिश काल की सबसे बड़ी रियासत थी। यह भारतीय उपमहाद्वीप के दक्षिण-पश्चिमी ओर स्थित थी इस रियासत मे महाराष्ट्र का मराठवाड़ा विभाग उत्तरी कर्नाटक और तेलंगाना का समावेश था। इस पर १७२४ से १९४८ तक निज़ाम परिवार का शासन रहा। रियासत का बरार क्षेत्र ब्रिटिश १९०३ में भारत के मध्य प्रांत से विलय कर दिया गया था। हैदराबाद एवं बरार, १९०३ .

नई!!: हैदराबाद और हैदराबाद प्रांत · और देखें »

हैदराबाद मुक्ति संग्राम

हैदराबाद राज्य, ब्रिटिश भारत की रियासत थी। इसमें वर्तमान तेलंगाना, मराठवाडा, उत्तर कर्नाटक, विदर्भ के कुछ भाग सम्मिलित थे। सन् १७२४ से सन् १९४८ तक निजाम हैदराबाद राज्य के शासक थे। स्वतंत्रता सेनानियों के प्रदीर्घ हैदराबाद मुक्ति संग्राम के उपरान्त १९४८ में भारत सरकार द्वारा निजाम शासन के विरुद्ध पुलीस कारवाई करके हैदराबाद को भारत में समाहित कर लिया गया। 17 सितम्बर 1948 का दिन भारत के स्वतंत्रता संग्राम के इतिहास में वास्तव में एक निर्णायक मोड़ था। हैदराबाद की जनता की सामूहिक इच्छा-शक्ति ने न केवल इस क्षेत्र को एक स्वतंत्र देश बनाने हेतु निजाम के प्रयासों को निष्फल कर दिया बल्कि इस प्रांत को भारत संघ में मिलाने का भी निश्चय किया। जब 15 अगस्त 1947 को पूरा भारत स्वतंत्रता दिवस मना रहा था तो निजाम के राजसी शासन के लोग हैदराबाद राज्य को भारत में मिलाने की मांग करने पर अत्याचार और दमन का सामना कर रहे थे। हैदराबाद की जनता ने निजाम और उसकी निजी सेना 'रजाकारों' की क्रूरता से निडर होकर अपनी आजादी के लिए पूरे जोश से लड़ाई जारी रखी। भारत के तत्कालीन गृहमंत्री एवं 'लौह पुरूष' सरदार वल्लभभाई पटेल द्वारा पुलिस कार्रवाई करने हेतु लिए गए साहसिक निर्णय ने निजाम को 17 सितम्बर 1948 को आत्म-समर्पण करने और भारत संघ में सम्मिलित होने पर मजबूर कर दिया। इस कार्यवाई को 'आपरेशन पोलो' नाम दिया गया था। इसलिए शेष भारत को अंग्रेजी शासन से स्वतंत्रता मिलने के बाद हैदराबाद की जनता को अपनी आजादी के लिए 13 महीने और 2 दिन संघर्ष करना पड़ा था। यदि निजाम को उसके षड़यंत्र में सफल होने दिया जाता तो भारत का नक्शा वह नहीं होता जो आज है। .

नई!!: हैदराबाद और हैदराबाद मुक्ति संग्राम · और देखें »

हैदराबाद मेट्रो रेल

हैदराबाद मेट्रो रेल हैदराबाद के लिए एक तेजी से पारगमन प्रणाली है। यह सिक्वेल ऑपरेशनल मॉडल में है। इसे पूरी तरह से सार्वजनिक-निजी भागीदारी (पीपीपी) आधार पर लागू किया जा रहा है, जिसमें राज्य सरकार अल्पसंख्यक इक्विटी हिस्सेदारी रखती है। प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा 28 नवंबर 2017 को मियापुर से नगोल तक 30 किमी की दूरी का उद्घाटन किया। पहले चरण के 30 किमी लंबे मार्ग पर 24 स्टेशन बनाए गए हैं। इसमें हैदराबाद के व्यस्ततम इलाके जैसे राजीव गांधी अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम, उस्मानिया विश्वविद्यालय, सिकंदराबाद जंक्शन आदि आते हैं। 30 किमी की लंबी दूरी पर सार्वजनिक संचालन के लिए कोई अन्य तेजी से ट्रांजिट मेट्रो सेवा नहीं खोली गई। यह देश की सबसे बड़ी सार्वजनिक-निजी भागीदारी की परियोजना है और इसकी लागत करीब 15,000 करोड़ रुपए है। 72 किलोमीटर के क्षेत्र में बनने वाला यह प्रोजेक्ट तीन चरणों में पूरा होगा। .

नई!!: हैदराबाद और हैदराबाद मेट्रो रेल · और देखें »

हैदराबाद विश्वविद्यालय

यह भारत का सबसे प्र्सिद विशव्विद्याल्य है विश्वविध्यालय हैदराबाद विश्वविद्यालय भारत का एक केन्द्रीय विश्वविद्यालय है। विश्वविद्यालय का परिसर गाचीबावली, एक सूचना प्रौद्योगिकी हब, हैदराबाद में स्थित है। यह परिसर करीब २३२४ एकड़ क्षेत्र में फैला हुआ है। विश्वविद्यालय में १० संकाय हैं, जिनके अंतर्गत ४६ विभाग एवं केंद्र आते हैं। .

नई!!: हैदराबाद और हैदराबाद विश्वविद्यालय · और देखें »

हैदराबाद की बुद्ध प्रतिमा

यह एक बुद्ध प्रतिमा है जो भारत के आन्ध्र प्रदेश राज्य की राजधानी हैदराबाद में स्थित एकाश्म मूर्ति है। गौतम बुद्ध यह प्रतिमा विश्व में सबसे ऊंची एकाश्म प्रतिमा है। .

नई!!: हैदराबाद और हैदराबाद की बुद्ध प्रतिमा · और देखें »

हैदराबाद उच्च न्यायालय

हैदराबाद उच्च न्यायालय भारतीय राज्य आंध्र प्रदेश और तेलंगाना का न्यायालय हैं। इससे ५ जुलाई, १९५४ को राज्य अधिनियम, १९५३ के तहत मान्यता दी गई। यह राज्य की राजधानी हैदराबाद में हैं। .

नई!!: हैदराबाद और हैदराबाद उच्च न्यायालय · और देखें »

हैदराबादी बिरयानी

हैद्राबादी बरयानी सामग्री: मुर्गी का मांस या कोई मांस बिना हड्डी के चार किलो, दही आधा किलो.

नई!!: हैदराबाद और हैदराबादी बिरयानी · और देखें »

हेमलता लावानम

हेमलता लुवानम (२६ फ़रवरी १९३२ - १९ मार्च २००८) एक भारतीय समाज सुधारक, लेखक और नास्तिक थे जिन्होंने अस्पृश्यता और जाति व्यवस्था के खिलाफ विरोध किया था। वह अपने पति लववानम के साथ संस्कार का सह-संस्थापक भी थे। .

नई!!: हैदराबाद और हेमलता लावानम · और देखें »

हीरो कप 1993-94

हीरो कप 1993 में बंगाल क्रिकेट एसोसिएशन की स्मृति में भारत में खेले जाने वाले एक अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट टूर्नामेंट था। भारत, श्रीलंका, वेस्ट इंडीज, दक्षिण अफ्रीका और जिम्बाब्वे ने बहु-राष्ट्र टूर्नामेंट में भाग लिया। भारत ने हीरो कप जीतने के लिए टूर्नामेंट के फाइनल में वेस्टइंडीज को हराया। हीरो कप, हीरो होंडा द्वारा प्रायोजित पहला क्रिकेट आयोजन था। .

नई!!: हैदराबाद और हीरो कप 1993-94 · और देखें »

जमीला निशात

जमीला निशात (जन्म 1955) उर्दू कवि, हैदराबाद, तेलंगाना, भारत से संपादक, और नारीवादी है।  .

नई!!: हैदराबाद और जमीला निशात · और देखें »

जय प्रकाश रेड्डी

तुर्पू जयाप्रकाश रेड्डी एक तेलगु अभिनेता हैं जो भारत के आंध्र प्रदेश राज्य के कुरनूल जिले के सिविल में पैदा हुए थे। वह फिल्म समरसिंह रेड्डी के साथ प्रसिद्ध हैं जहां उन्होंने वीरा राघव रेड्डी की भूमिका निभाई थी। खुशी से जेपी कहा जाता है, उन्होंने ब्लॉकबस्टर हिट फिल्म जयाम मानेदे रा और चेन्नाकेशव रेड्डी में खलनायक के रूप में अभिनय किया। खलनायक भूमिकाएं करने के अलावा, जेपी ने भी कई कॉमेडी फिल्मों में अभिनय किया। .

नई!!: हैदराबाद और जय प्रकाश रेड्डी · और देखें »

जयाललिता

जयाललिता एक लोकप्रिय दक्षिण भारतीय चरित्र अभिनेता है, जिन्होंने कई तेलुगू फिल्मों में अभिनय किया। उन्होंने कन्नड़, तमिल, मलयालम और हिंदी फिल्मों में भी अभिनय किया है। जयाललिता का जन्म गुडिवाड़ा में हुआ था। उन्होंने गुंटूर में बैचलर ऑफ आर्ट्स की डिग्री पूरी की। उन्होंने शास्त्रीय नृत्य में प्रशिक्षित किया है। .

नई!!: हैदराबाद और जयाललिता · और देखें »

ज़ाकिर हुसैन (राजनीतिज्ञ)

डाक्टर ज़ाकिर हुसैन (8 फरवरी, 1897 - 3 मई, 1969, indiapress.org पर भारत के पूर्व राष्ट्रपतियों की जीवनी) भारत के तीसरे राष्ट्रपति थे जिनका कार्यकाल 13 मई 1967 से 3 मई 1969 तक था। डा.

नई!!: हैदराबाद और ज़ाकिर हुसैन (राजनीतिज्ञ) · और देखें »

ज़िम्बाब्वे क्रिकेट टीम का भारत दौरा 2001-02

जिम्बाब्वे की राष्ट्रीय क्रिकेट टीम ने 15 फरवरी से 19 मार्च 2002 तक भारत का दौरा किया। टूर में 2 टेस्ट और 5 एक दिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैच की श्रृंखला शामिल है। भारत ने टेस्ट सीरीज 2-0 से जीती और ओडीआई श्रृंखला 3-2 से जीती। .

नई!!: हैदराबाद और ज़िम्बाब्वे क्रिकेट टीम का भारत दौरा 2001-02 · और देखें »

जवाहर नवोदय विद्यालय

जवाहर नवोदय विद्यालय जवाहर नवोदय विद्यालय अथवा नवोदय विद्यालय भारत सरकार के मानव संसाधन विकास मंत्रालय द्वारा चलाई जाने वाली पूरी तरह से आवासीय, सह शिक्षा, केन्द्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड, नई दिल्ली से संबद्ध शिक्षण परियोजना है। राष्ट्रीय शिक्षा नीति - १९८६ के अन्तर्गत ऐसे आवासीय विद्यालयों की कल्पना की गई जिन्हें जवाहर नवोदय विद्यालय का नाम दिया गया, जो सर्वश्रेष्ठ ग्रामीण प्रतिभाओं को आगे लाने का उत्तम प्रयास है। इस परीयोजना का प्रमुख लक्ष्य गांव-गांव तक उत्तम शिक्षा पहुचाना है। ये विद्यालय पूर्णतः आवासीय एवं निःशुल्क विद्यालय होते हैं जहाँ विद्यार्थियों को नि:शुल्क आवास, भोजन, शिक्षा एवं खेलकूद सामग्री उपलब्ध कराई जाती है। हर जिले में एक नवोदय विद्यालय होता है। .

नई!!: हैदराबाद और जवाहर नवोदय विद्यालय · और देखें »

ज्वाला गुट्टा

ज्वाला गुट्टा (जन्म: 7 सितंबर 1983; वर्धा, महाराष्ट्र) एक भारतीय बैडमिंटन खिलाडी हैं। .

नई!!: हैदराबाद और ज्वाला गुट्टा · और देखें »

जूदी मस्जिद

जूदी मस्जिद हैदराबाद, भारत में स्थित एक मस्जिद है। यह मस्जिद किंग कोठी महल परिसर के बाएँ तरफ़ से बशीर बाग़ क्षेत्र की ओर जाने वाली सड़क के बीच से ऊँचाई पर जाने वाली एक गली में है। इसी मस्जिद में हैदराबाद के अंतिम निज़ाम शासक मीर उस्मान अली ख़ान को दफ़न किया गया था। यहीं पर राज परिवार के कई और सदस्य भी दफ़न किए गए थे। इस मस्जिद से लगकर निज़ाम शासनकाल में सथापित धार्मिक मामलों के निर्देशक और औक़ाफ़ कमिटी के कार्यालय आज भी मौजूद हैं। श्रेणी:हैदराबाद की इमारतें.

नई!!: हैदराबाद और जूदी मस्जिद · और देखें »

जूनियर एनटिआर

नन्दमुर्ती तारक रामा राव (जन्म 20 मई 1983), प्रख्यात नाम जूनियर एनटीआर दक्षिण भारतके तेलुगु भाषी चलचित्र अभिनेता है। .

नई!!: हैदराबाद और जूनियर एनटिआर · और देखें »

जेट कनेक्ट

जेट कनेक्ट के रूप में संचालित जेटलाइट (पूर्व नाम: एयर सहारा) मुंबई, भारत में आधारित एक वायुसेवा थी। रीडिफ.कॉम, 16 अप्रैल 2007 इसे पहले जेट एयर वेज़ कनेक्ट के नाम से जाना जाता था, जेट लाईट इंडिया लिमिटेड का एक व्यावसायिक नाम है। यह मुंबई में स्थित एक विमानन सेवा है जिस पर की जेट एयरवेज का मालिकाना हक़ है। यह विमान सेवा भारत के सभी मेट्रोपोल शहरों को जोड़ने के लिए नियमित उड़ान सेवाएँ प्रदान करती है। .

नई!!: हैदराबाद और जेट कनेक्ट · और देखें »

जेनपैक्ट

डालियान केंद्र, चीन. 2-3,000 लोग यहां काम करते हैं, जो डालियान सॉफ्टवेयर पार्क में स्थित है। जेनपैक्ट NYSE) एक भारतीय बिज़नेस प्रोसेस आउटसोर्सिंग और आईटी कंपनी है। यह पूर्व में GE के स्वामित्व वाली कंपनी थी, जिसे GE कैपिटल इंटरनेशनल सर्विसेज या GECIS कहा जाता था। यह भारत, चीन, गुआटेमाला, हंगरी, मैक्सिको, मोरक्को, फिलीपींस, पोलैंड, नीदरलैंड, रोमानिया, स्पेन, दक्षिण अफ्रीका और संयुक्त राज्य अमेरिका से संचालित होती है। प्रमोद भसीन जेनपैक्ट के अध्यक्ष और सीईओ हैं। वर्तमान में विभिन्न स्थानों में इसमें 37,000 लोगों को रोजगार मिला है और यह 24/7 आधार पर 30 भाषाओं में सेवाएं प्रदान कर रही है। इसकी सेवाओं मेंवित्तीय सेवाएं, बिक्री और विपणन,विश्लेषिकी,आपूर्ति श्रृंखला,कलेक्शंस, ग्राहक सेवा, सूचना प्रौद्योगिकी, स्वास्थ्य और शिक्षा तथा कंटेंट प्रबंधन जैसे क्षेत्र शामिल हैं। .

नई!!: हैदराबाद और जेनपैक्ट · और देखें »

जॉनसन ग्रामर स्कूल

200px जॉनसन ग्रामर स्कूल भारतीय राज्य आंध्रप्रदेश की राजधानी हैदराबाद में स्थित एक विद्यालय है श्रेणी:विद्यालय श्रेणी:शिक्षण संस्थान.

नई!!: हैदराबाद और जॉनसन ग्रामर स्कूल · और देखें »

जॉनी व्हिस्की

जॉनी व्हिस्की हिन्दी फ़िल्म के एक अभिनेता थे। .

नई!!: हैदराबाद और जॉनी व्हिस्की · और देखें »

जोधपुर

जोधपुर भारत के राज्य राजस्थान का दूसरा सबसे बड़ा नगर है। इसकी जनसंख्या १० लाख के पार हो जाने के बाद इसे राजस्थान का दूसरा "महानगर " घोषित कर दिया गया था। यह यहां के ऐतिहासिक रजवाड़े मारवाड़ की इसी नाम की राजधानी भी हुआ करता था। जोधपुर थार के रेगिस्तान के बीच अपने ढेरों शानदार महलों, दुर्गों और मन्दिरों वाला प्रसिद्ध पर्यटन स्थल भी है। वर्ष पर्यन्त चमकते सूर्य वाले मौसम के कारण इसे "सूर्य नगरी" भी कहा जाता है। यहां स्थित मेहरानगढ़ दुर्ग को घेरे हुए हजारों नीले मकानों के कारण इसे "नीली नगरी" के नाम से भी जाना जाता था। यहां के पुराने शहर का अधिकांश भाग इस दुर्ग को घेरे हुए बसा है, जिसकी प्रहरी दीवार में कई द्वार बने हुए हैं, हालांकि पिछले कुछ दशकों में इस दीवार के बाहर भी नगर का वृहत प्रसार हुआ है। जोधपुर की भौगोलिक स्थिति राजस्थान के भौगोलिक केन्द्र के निकट ही है, जिसके कारण ये नगर पर्यटकों के लिये राज्य भर में भ्रमण के लिये उपयुक्त आधार केन्द्र का कार्य करता है। वर्ष २०१४ के विश्व के अति विशेष आवास स्थानों (मोस्ट एक्स्ट्रा ऑर्डिनरी प्लेसेज़ ऑफ़ द वर्ल्ड) की सूची में प्रथम स्थान पाया था। एक तमिल फ़िल्म, आई, जो कि अब तक की भारतीय सिनेमा की सबसे महंगी फ़िल्मशोगी, की शूटिंग भी यहां हुई थी। .

नई!!: हैदराबाद और जोधपुर · और देखें »

जोगिन्दर जसवन्त सिंह

जनरल जोगिन्दर जसवन्त सिंह पीवीएसएम, एवीएसएम, वीएसएम, एडीसी (जन्म: ११ सितम्बर १९४५) भारतीय थल सेना के बाईसवें सेनाध्यक्ष थे। वह ३१ जनवरी २००५ से ३० सितम्बर २००७ तक सेना प्रमुख के रूप में कार्यरत रहे। सिंह को २७ नवंबर २००४ को जनरल एन सी विज की सेवानिवृति के बाद सेनाध्यक्ष नियुक्त किया गया था, और ३१ जनवरी २००५ को सेवानिवृत्त होने तक वह इस पद पर रहे। उनके बाद जनरल दीपक कपूर थल सेना के अगले सेनाध्यक्ष बने। जोगिन्दर जसवन्त सिंह भारतीय सेना का नेतृत्व करने वाले पहले सिख सिपाही हैं, और चण्डीमन्दिर में स्थित पश्चिमी कमान से आने वाले ग्यारहवें सैन्य प्रमुख हैं। सेवानिवृत्ति के बाद वह २७ जनवरी २००८ को अरुणाचल प्रदेश के राज्यपाल बने। .

नई!!: हैदराबाद और जोगिन्दर जसवन्त सिंह · और देखें »

जीनोम परियोजना

जीनोमिक्स का चित्रण जीनोम परियोजना वह वैज्ञानिक परियोजना है, जिसका लक्ष्य किसी प्राणी के संपूर्ण जीनोम अनुक्रम का पता करना है। जीन हमारे जीवन की कुंजी है। हम वैसे ही दिखते या करते हैं, जो काफी अंश तक हमारे देह में छिपे सूक्ष्म जीन तय करते हैं। यही नहीं, जीन मानव इतिहास और भविष्य की ओर भी संकेत करते हैं। जीन वैज्ञानिकों का मानना है, कि यदि एक बार मानव जाति के समस्त जीनों की संरचना का पता लग जये, तो मनुष्य की जीन-कुण्डली के आधार पर, उसके जीवन की समस्त जैविक घटनाओं और दैहिक लक्षणों की भविष्यवाणी करना संभव हो जायेगा। यद्यपि यह कोई आसान काम नहीं है, क्योंकि मानव शरीर में हजारों लाखों जीवित कोशिकएं होतीं हैं। जीनों के इस विशाल समूह को जीनोम कहते हैं। आज से लगभग 136 वर्ष पूर्व, बोहेमियन भिक्षुक ग्रेगर जॉन मेंडल ने मटर के दानों पर किये अपने प्रयोगों को प्रकाशित किया था, जिसमें अनुवांशिकी के अध्ययन का एक नया युग आरंभ हुआ था। इन्हीं लेखों से कालांतर में आनुवांशिकी के नियम बनाए गए। उन्होंने इसमें एक नयी अनुवांशिकीय इकाई का नाम जीन रखा, तथा इसके पृथक होने के नियमों का गठन किया। थॉमस हंट मॉर्गन ने १९१० में ड्रोसोफिला (फलमक्खी) के ऊपर शोधकार्य करते हुए, यह सिद्ध किया, कि जीन गुणसूत्र में, एक सीधी पंक्ति में सजे हुए रहते हैं, तथा कौन सा जीन गुणसूत्र में किस जगह पर है, इसका भी पता लगाया जा सकता है। हर्मन मुलर ने १९२६ में खोज की, कि ड्रोसोफिला के जीन में एक्सरे से अनुवांशिकीय परिवर्तन हो जाता है, जिसे उत्परिवर्तन भी कहते हैं। सन १९४४ में यह प्रमाणित हुआ कि प्रोटीन नहीं, वरन डी एन ए ही जीन होता है। सन १९५३ में वॉटसन और क्रिक ने डी एन ए की संरचना का पता लगाया और बतया, कि यह दो तंतुओं से बना हुआ घुमावदार सीढ़ीनुमा, या दोहरी कुंडलिनी के आकार का होता है। .

नई!!: हैदराबाद और जीनोम परियोजना · और देखें »

ईटीवी नेटवर्क

अंगूठाकार ईटीवी नेटवर्क एक भारत सबसे बड़ा सैटलाइट उपग्रह टेलिविज़न नेटवर्क है। इस नेटवर्क पर मीडिया बैरॉन रामोजी राव का एकाधिकार है। ईटीवी शायद एकाधिकार वाला देश का पहला मीडिया नेटवर्क है। ईटीवी नेटवर्क का मुख्यालय हैदराबाद के विश्वप्रसिद्ध रामोजी फिल्मसिटी में स्थित है। ईटीवी नेटवर्क के अंतर्गत बारह टेलीविजन चैनल संचालित हो रहे हैं, जो चौबीसों घंटे समाचार, शिक्षा, मनोरंजन और ज्ञान-विज्ञान से संबंधित कार्यक्रम प्रसारित किए जाते हैं। जब नब्बे के दशक में भारत में सैटेलाइट टीवी क्रांति का जन्म हुआ, उसी समय आंध्रप्रदेश के ईनाडू तेलुगु दैनिक ने तेलुगु भाषा में एक चैनल की शुरुआत की। तेलुगु से एक चैनल की शुरुआत हुई, मगर जल्द ही ईटीवी नेटवर्क ने देश के विभिन्न क्षेत्रीय भाषाओं में कई चैनलों की शुरुआत की। बंगाली, ऊर्दू, कन्नड, गुजराती, मराठी सहित हिंदी में चार चैनल खोले गए। ईटीवी का भारत में सबसे बड़ा न्यूज रिपोर्टिंग नेटवर्क है, जो जिला और प्रखंड स्तर तक फैले हुए हैं। ईटीवी नेटवर्क का प्रबंधन न्यूजटुडे प्राइवेट लिमिटेड के हाथ में है। ईटीवी के चैनल समाचार के साथ साथ ज्ञान-विज्ञान और मनोरंजन के कार्यक्रम प्रसारित करते हैं। .

नई!!: हैदराबाद और ईटीवी नेटवर्क · और देखें »

वल्लभ भाई पटेल

श्रेणी: सरदार वल्लभ भाई पटेल (સરદાર વલ્લભભાઈ પટેલ; 31 अक्टूबर, 1875 - 15 दिसंबर, 1950) भारत के स्वतंत्रता संग्राम सेनानी थे। भारत की आजादी के बाद वे प्रथम गृह मंत्री और उप-प्रधानमंत्री बने। बारडोली सत्याग्रह का नेतृत्व कर रहे पटेल को सत्याग्रह की सफलता पर वहाँ की महिलाओं ने सरदार की उपाधि प्रदान की। आजादी के बाद विभिन्न रियासतों में बिखरे भारत के भू-राजनीतिक एकीकरण में केंद्रीय भूमिका निभाने के लिए पटेल को भारत का बिस्मार्क और लौह पुरूष भी कहा जाता है। .

नई!!: हैदराबाद और वल्लभ भाई पटेल · और देखें »

वानजा अय्यंगार

वानजा अय्यंगार, एक भारतीय गणितज्ञ व शिक्षाविद् थी और दक्षिण भारतीय राज्य आंध्र प्रदेश में श्री पद्मवती महिला विश्वविद्यालय, तिरुपति के संस्थापक उपाध्यक्ष थी। वह आंध्र महिला सभा स्कूल ऑफ इंफॉर्मेटिक्स के संस्थापकों में से एक थीं। उन्हें भारत सरकार ने १९८७ में पद्म श्री के चौथे उच्चतम नागरिक सम्मान से सम्मानित किया। वानजा अय्यंगार आंध्र प्रदेश में पैदा हुए, उन्होंने हैदराबाद में अपनी प्रारंभिक शिक्षा पूरी की और १९५० में कैम्ब्रिज विश्वविद्यालय से गणित में उच्च शिक्षा प्राप्त की। उन्होंने आंध्र प्रदेश सरकार से सर्वश्रेष्ठ शिक्षक पुरस्कार प्राप्त किया और राजीव गांधी फाउंडेशन के एक साथी भी थी। उनकी २००१ में मृत्यु हो गई। .

नई!!: हैदराबाद और वानजा अय्यंगार · और देखें »

वाराणसी

वाराणसी (अंग्रेज़ी: Vārāṇasī) भारत के उत्तर प्रदेश राज्य का प्रसिद्ध नगर है। इसे 'बनारस' और 'काशी' भी कहते हैं। इसे हिन्दू धर्म में सर्वाधिक पवित्र नगरों में से एक माना जाता है और इसे अविमुक्त क्षेत्र कहा जाता है। इसके अलावा बौद्ध एवं जैन धर्म में भी इसे पवित्र माना जाता है। यह संसार के प्राचीनतम बसे शहरों में से एक और भारत का प्राचीनतम बसा शहर है। काशी नरेश (काशी के महाराजा) वाराणसी शहर के मुख्य सांस्कृतिक संरक्षक एवं सभी धार्मिक क्रिया-कलापों के अभिन्न अंग हैं। वाराणसी की संस्कृति का गंगा नदी एवं इसके धार्मिक महत्त्व से अटूट रिश्ता है। ये शहर सहस्रों वर्षों से भारत का, विशेषकर उत्तर भारत का सांस्कृतिक एवं धार्मिक केन्द्र रहा है। हिन्दुस्तानी शास्त्रीय संगीत का बनारस घराना वाराणसी में ही जन्मा एवं विकसित हुआ है। भारत के कई दार्शनिक, कवि, लेखक, संगीतज्ञ वाराणसी में रहे हैं, जिनमें कबीर, वल्लभाचार्य, रविदास, स्वामी रामानंद, त्रैलंग स्वामी, शिवानन्द गोस्वामी, मुंशी प्रेमचंद, जयशंकर प्रसाद, आचार्य रामचंद्र शुक्ल, पंडित रवि शंकर, गिरिजा देवी, पंडित हरि प्रसाद चौरसिया एवं उस्ताद बिस्मिल्लाह खां आदि कुछ हैं। गोस्वामी तुलसीदास ने हिन्दू धर्म का परम-पूज्य ग्रंथ रामचरितमानस यहीं लिखा था और गौतम बुद्ध ने अपना प्रथम प्रवचन यहीं निकट ही सारनाथ में दिया था। वाराणसी में चार बड़े विश्वविद्यालय स्थित हैं: बनारस हिन्दू विश्वविद्यालय, महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ, सेंट्रल इंस्टीट्यूट ऑफ हाइयर टिबेटियन स्टडीज़ और संपूर्णानन्द संस्कृत विश्वविद्यालय। यहां के निवासी मुख्यतः काशिका भोजपुरी बोलते हैं, जो हिन्दी की ही एक बोली है। वाराणसी को प्रायः 'मंदिरों का शहर', 'भारत की धार्मिक राजधानी', 'भगवान शिव की नगरी', 'दीपों का शहर', 'ज्ञान नगरी' आदि विशेषणों से संबोधित किया जाता है। प्रसिद्ध अमरीकी लेखक मार्क ट्वेन लिखते हैं: "बनारस इतिहास से भी पुरातन है, परंपराओं से पुराना है, किंवदंतियों (लीजेन्ड्स) से भी प्राचीन है और जब इन सबको एकत्र कर दें, तो उस संग्रह से भी दोगुना प्राचीन है।" .

नई!!: हैदराबाद और वाराणसी · और देखें »

वार्ता

वार्ता दक्षिण भारत का सबसे अधिक प्रसारवाला समाचारपत्र है। यह आंध्रप्रदेश की राजधानी हैदराबाद से प्रकाशित होती है। गिरीश कुमार संघी इसके मालिक हैं। .

नई!!: हैदराबाद और वार्ता · और देखें »

वाई एस जगनमोहन रेड्डी

वाइ॰एस॰ जगनमोहन रेड्डी: (येदुगूरी संदिंटि जगन्मोहन रेड्डी) (तेलुगु: యెదుగూరి సందింటి జగన్మోహన్ రెడ్డి) (जन्म 21 दिसंबर 1972) इन को भी जगन कहते हैं कि वे जून 2004 से वाई एस आर कांग्रेस पार्टी के एक भारतीय राजनीतिज्ञ और आंध्र प्रदेश विधान सभा में विपक्ष के नेता हैं। वह आंध्र प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री, वाईएस के बेटे हैं। राजशेखर रेड्डी उन्होंने कडप्पा जिले में 2004 के चुनाव में कांग्रेस पार्टी के लिए अभियान चलाया और 2009 के चुनावों में उन्हें भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के सदस्य के रूप में कडपा निर्वाचन क्षेत्र से संसद सदस्य चुने गए। .

नई!!: हैदराबाद और वाई एस जगनमोहन रेड्डी · और देखें »

वाई एस आर कांग्रेस पार्टी

वाईएसआर कांग्रेस पार्टी या युवाजना श्रामिका रैतु कांग्रेस पार्टी  (शाब्दिक अर्थ: युवा, श्रम और किसान कांग्रेस पार्टी) भारत में एक क्षेत्रीय राजनीतिक पार्टी जो आंध्र प्रदेश और तेलंगाना में है । यहआंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री वाई एस राजशेखर रेड्डी (लोकप्रिय जाना जाता है के रूप में वाईएसआर) के पुत्र पूर्व  वाई.

नई!!: हैदराबाद और वाई एस आर कांग्रेस पार्टी · और देखें »

वाई॰ एस॰ राजशेखर रेड्डी

डॉक्टर येदुगुड़ी संदिंती राजशेखर रेड्डी (जन्म:8 जुलाई 1949 - निधन:2 सितंबर 2009) वाईएसआर नाम से लोकप्रिय, वर्ष 2004 से 2009 तक आन्ध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री थे। वे भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस पार्टी के सदस्य थे। .

नई!!: हैदराबाद और वाई॰ एस॰ राजशेखर रेड्डी · और देखें »

विधान सभा

विधान सभा या वैधानिक सभा जिसे भारत के विभिन्न राज्यों में निचला सदन(द्विसदनीय राज्यों में) या सोल हाउस (एक सदनीय राज्यों में) भी कहा जाता है। दिल्ली व पुडुचेरी नामक दो केंद्र शासित राज्यों में भी इसी नाम का प्रयोग निचले सदन के लिए किया जाता है। 7 द्विसदनीय राज्यों में ऊपरी सदन को विधान परिषद कहा जाता है। विधान सभा के सदस्य राज्यों के लोगों के प्रत्यक्ष प्रतिनिधि होते हैं क्योंकि उन्हें किसी एक राज्य के 18 वर्ष से अधिक आयु वर्ग के नागरिकों द्वारा सीधे तौर पर चुना जाता है। इसके अधिकतम आकार को भारत के संविधान के द्वारा निर्धारित किया गया है जिसमें 500 से अधिक व् 60 से कम सदस्य नहीं हो सकते। हालाँकि विधान सभा का आकार 60 सदस्यों से कम हो सकता है संसद के एक अधिनियम के द्वारा: जैसे गोवा, सिक्किम, मिजोरम और केंद्र शासित प्रदेश पुडुचेरी। कुछ राज्यों में राज्यपाल 1 सदस्य को अल्पसंख्यकों का प्रतिनिधित्व करने के लिए नियुक्त कर सकता है, उदा० ऐंग्लो इंडियन समुदाय अगर उसे लगता है कि सदन में अल्पसंख्यकों को उचित प्रतिनिधित्व नहीं मिला है। राज्यपाल के द्वारा चुने गए या नियुक्त को विधान सभा सदस्य या MLA कहा जाता है। प्रत्येक विधान सभा का कार्यकाल पाँच वर्षों का होता है जिसके बाद पुनः चुनाव होता है। आपातकाल के दौरान, इसके सत्र को बढ़ाया जा सकता है या इसे भंग किया जा सकता है। विधान सभा का एक सत्र वैसे तो पाँच वर्षों का होता है पर लेकिन मुख्यमंत्री के अनुरोध पर राज्यपाल द्वारा इसे पाँच साल से पहले भी भंग किया जा सकता है। विधानसभा का सत्र आपातकाल के दौरान बढ़ाया जा सकता है लेकिन एक समय में केवल छः महीनों के लिए। विधान सभा को बहुमत प्राप्त या गठबंधन सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पारित हो जाने पर भी भंग किया जा सकता है। .

नई!!: हैदराबाद और विधान सभा · और देखें »

विभिन्न उद्योगों का भारत में विकास

90 के शुरुआती वर्शो तक इस उद्योग मे सरकारी कम्पनियों - इंडियन एयर्लाइंस और एयर इंडिया का एकाधिकार था। फिर मैदान मे आये सहारा और जैट। सरकारी एकाधिकार टूटा और भारत मे पह्ली बार इस उद्योग मे कोइ प्रतिस्पर्धा देखने को मिली। ये वोह समय था जब कि विमान मे उडान भरना रहीसी का प्रतीक और मध्यम वर्ग का सपना था। '00 के दशक मे डेक्कन एयर्वेज़, स्पाइस जैट, किंगफिशर एयरलाईन्स, गो एयर्वेज़, इंडिगो, जैसी कयी कम्पनियाँ शुरू हुई। दूसरे उद्योगो की तरह यहाँ भी प्रतिस्पर्धा के बढने से किराये मे भारी गिरावट आयी। बैंगलोर से दिल्ली का किराया जहान 2001 मे 9000 रुपये से ले के 13,000 रुपये तक होता था, वही 2006 मे सस्ती विमान सेवाओं मे ये 3000 रुपये रह गया। इस उद्योग मे बहुत सारे नये रोज़्गार बने। 4 साल मे विमान यात्रा करने वलों की संख्या इस कदर बढ गयी कि हवायीअड्डों पे जगह की कमी पड गयी। आज्कल बैंगलोर और हैदराबाद समेत कयी दूसरे शहरों मे नये हवायी अड्डों का निर्माण चल रहा है। भारत के दूसरे उद्योगों के बारे मे लिख के इस लेख को बढाने में विकिपीडिया की मदद करें श्रेणी:अर्थशास्त्र.

नई!!: हैदराबाद और विभिन्न उद्योगों का भारत में विकास · और देखें »

विश्‍वविद्यालय अनुदान आयोग (भारत)

आयोग की स्थापना के समय मौलाना आजाद एवं डॉ॰सर्वपल्ली राधाकृष्णन भारत का विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (अंग्रेज़ी:University Grants Commission, लघु:UGC) केन्द्रीय सरकार का एक उपक्रम है जो सरकार द्वारा मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालयों एवं महाविद्यालयों को अनुदान प्रदान करता है। यही आयोग विश्वविद्यालयों को मान्यता भी देता है। इसका मुख्यालय नयी दिल्ली में है और इसके छः क्षेत्रीय कार्यालय पुणे, भोपाल, कोलकाता, हैदराबाद, गुवाहाटी एवं बंगलुरु में हैं।। हिन्दुस्तान लाइव। २२ फ़रवरी २०१० .

नई!!: हैदराबाद और विश्‍वविद्यालय अनुदान आयोग (भारत) · और देखें »

विजय हजारे ट्रॉफी ग्रुप डी 2018

2017-18 विजय हजारे ट्राफी को विजय हजारे ट्रॉफी के 16 वें सत्र का आयोजन करना है, जो कि भारत में लिस्ट ए क्रिकेट टूर्नामेंट है। यह भारत की 28 घरेलू क्रिकेट टीमों द्वारा मुकाबला होगा। ग्रुप डी में: छत्तीसगढ़, हैदराबाद, जम्मू और कश्मीर, झारखंड, सौराष्ट्र, सेवा और विदर्भ छत्तीसगढ़, हैदराबाद, जम्मू और कश्मीर, झारखंड, सौराष्ट्र, सर्विसेस और विदर्भ निम्नलिखित सात टीमें तैयार की गईं। दिसंबर 2017 में, खिलाड़ियों को इंडियन प्रीमियर लीग 2018 से पहले खिलाड़ियों को अभ्यास करने की अनुमति देने के लिए आगे लाया गया। .

नई!!: हैदराबाद और विजय हजारे ट्रॉफी ग्रुप डी 2018 · और देखें »

विजया निर्मला

विजया निर्मला एक भारतीय फिल्म अभिनेत्री, निर्माता और निर्देशक है, जो मुख्यतः तेलुगू सिनेमा में काम करतीं है। उन्होंने तेलुगू में 44 फिल्मों का निर्देशन किया है, और 2002 में, गिनीज बुक ऑफ रिकॉर्ड्स में प्रवेश किया था क्योंकि महिला निर्देशक ने फिल्मों की सबसे बड़ी संख्या निर्देशित की थी। 2008 में, तेलुगू सिनेमा में उनके योगदान के लिए उन्हें रघुपति वेंकैया पुरस्कार मिला। .

नई!!: हैदराबाद और विजया निर्मला · और देखें »

विकासपीडिया

विकासपीडिया का प्रतीकचिह्न विकासपीडिया भारत सरकार द्वारा शुरू की गयी एक वेबसाइट है जो विभिन्न प्रकार की सूचनायें प्रदान करती है। यह फरवरी २०१४ में आरम्भ की गयी थी। इस पोर्टल का विकास 'भारत विकास प्रवेशद्वार-एक राष्ट्रीय पहल' के एक भाग के रूप में सामाजिक विकास के कार्यक्षेत्रों की सूचनाएं/ जानकारियां और सूचना एवं प्रौद्योगिकी पर आधारित उत्पाद व सेवाएं देने के लिए किया गया है। भारत विकास प्रवेशद्वार, भारत सरकार के संचार एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय के इलेक्ट्रॉनिकी और सूचना प्रौद्योगिकी विभाग (डीईआइटीवाई), की एक पहल और प्रगत संगणन विकास केंद्र (सी-डैक), हैदराबाद के द्वारा कार्यान्वित है। यह वेबस्थल हिन्दी, अंग्रेजी, असमिया, मराठी, बांग्ला, तेलुगु, गुजराती, कन्नड, मलयालम, तमिल, मराठी आदि २३ भाषाओं में है। विकासपीडिया में 6 अलग-अलग विषय हैं, कृषि, स्वास्थ्य, शिक्षा, समाज कल्याण, ऊर्जा, और ई-शासन। .

नई!!: हैदराबाद और विकासपीडिया · और देखें »

वंडरला

वंडरला एक मनोरंजन पार्क है, जो बिदडी के निकट स्थित है, जो बंगलौर से २८ किलोमीटर (१७ मील) के दूरी मे है। यह मनोरंजन पार्क ८२ एकड़ (33 हेक्टेयर) ज़मीन पर फैली है यह कोचीन, केरल में स्थित वि गार्ड इंडस्ट्रीज लिमिटेड, द्वारा पदोन्नत किया गया है। इस्को अक्टूबर 2005 के बाद से परिचालन किया गया है। यह 1.5 बिलियन के कुल निवेश के साथ स्थापित किया गया था। .

नई!!: हैदराबाद और वंडरला · और देखें »

व्यपगत का सिद्धान्त

व्यपगत का सिद्धान्त या हड़प नीति (अँग्रेजी: The Doctrine of Lapse, 1848-1856) भारतीय इतिहास में हिन्दू भारतीय राज्यों के उत्तराधिकार संबंधी प्रश्नों से निपटने के लिए ब्रिटिश भारत के गवर्नर जनरल लॉर्ड डलहौजी द्वारा 1848 में तैयार किया गया नुस्खा था। यह परमसत्ता के सिद्धान्त का उपसिद्धांत था, जिसके द्वारा ग्रेट ब्रिटेन ने भारतीय उपमहाद्वीप के शासक के रूप में अधीनस्थ भारतीय राज्यों के संचालन तथा उनकी उत्तराधिकार के व्यवस्थापन का दावा किया।John Keay,India: A History.

नई!!: हैदराबाद और व्यपगत का सिद्धान्त · और देखें »

वैज्ञानिक एवं औद्योगिक अनुसंधान परिषद

वैज्ञानिक एवं औद्योगिक अनुसंधान परिषद भारत का सबसे बड़ा विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी पर अनुसंधान एवं विकास संबंधी संस्थान है। इसकी स्थापना १९४२ में हुई थी। इसकी ३९ प्रयोगशालाएं एवं ५० फील्ड स्टेशन भारत पर्यन्त फैले हुए हैं। इसमें १७,००० से अधिक कर्मचारी कार्यरत हैं। आधिकारिक जालस्थल हालांकि इसकी वित्त प्रबंध भारत सरकार के विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्रालय द्वारा होता है, फिर भी ये एक स्वायत्त संस्था है। इसका पंजीकरण भारतीय सोसायटी पंजीकरण धारा १८६० के अंतर्गत हुआ है। वैज्ञानिक तथा औद्योगिक अनुसंधान परिषद राष्ट्रीय प्रयोगशालाओं/संस्थानों का एक बहुस्थानिक नेटवर्क है जिसका मैंडेट विज्ञान और प्रौद्योगिकी के विभिन्न क्षेत्रों में अनुप्रयुक्त अनुसंधान तथा उसके परिणामों के उपयोग पर बल देते हुए अनुसंधान एवं विकास परियोजनाएं प्रारंभ करना है। वतर्मान में ३९ अनुसंधान संस्थान हैं जिनमें पाँच क्षेत्रीय अनुसंधान प्रयोगशालाएं शामिल हैं। इनमें से कुछेक संस्थानों ने अपने अनुसंधान क्रियाकलापों को और गति प्रदान करने के लिए प्रायोगिक, सर्वेक्षण क्षेत्रीय केन्द्रों की भी स्थापना की है तथा वतर्मान में 16 प्रयोगशालाओं से सम्बद्ध ऐसे 39 केन्द्र कायर्रत हैं। सीएसआईआर की गिनती विश्‍व में इस प्रकार के 2740 संस्‍थानों में 81वें स्‍थान पर होती है।(सितंबर २०१४) .

नई!!: हैदराबाद और वैज्ञानिक एवं औद्योगिक अनुसंधान परिषद · और देखें »

वेधशाला

ऐल्प्स की पहाड़ियो पर स्थित स्फ़िंक्स् वेधशाला ऐसी एक या एकाधिक बेलनाकार संरचनाओं को आधुनिक वेधशाला (Observatory) कहते हैं जिनके ऊपरी सिर पर घूमने वाला अर्धगोल गुंबद स्थित होता है। इन संरचनाओं में आवश्यकतानुसार अपवर्तक या परावर्तक दूरदर्शक रहता है। दूरदर्शक वस्तुत: वेधशाला की आँख होता है। खगोलीय पिंडों का ज्ञान प्राप्त करने के लिए आँकड़े एकत्रित करके उनका अध्ययन और विश्लेषण करने में इनका उपयोग होता है। कई वेधशालाएँ ऋतु की पूर्व सूचनाएँ भी देती हैं। कुछ वेधशालाओं में भूकंपविज्ञान और पार्थिव चुंबकत्व के संबंध में भी कार्य होता है। .

नई!!: हैदराबाद और वेधशाला · और देखें »

वेन्नेला किशोर

वेंनेला किशोर (बोक्कलो किशोर कुमार जन्म का नाम) एक टॉलीवुड अभिनेता है।.

नई!!: हैदराबाद और वेन्नेला किशोर · और देखें »

वेस्ट इंडीज क्रिकेट टीम का भारत दौरा 2014-15

वेस्टइंडीज क्रिकेट टीम ने अक्टूबर 2014 में भारत का दौरा किया। यह दौरा मूल रूप से तीन टेस्ट मैचों, पांच वनडे अंतर्राष्ट्रीय मैच और एक ट्वेंटी-20 इंटरनेशनल मैच से होने वाला था। चक्रवात हुदहुद के कारण तीसरे मैच को रद्द करने के बाद एकदिवसीय श्रृंखला को पांच मैचों से चार तक घटा दिया गया था। श्रृंखला के प्रारंभ के दिन, वेस्ट इंडीज के खिलाड़ियों ने धमकी दी कि जब तक वे डब्लूआईसीबी द्वारा अपनी देय राशि का भुगतान नहीं कर देते तब तक मैदान पर नहीं आना चाहिए। बीसीसीआई हस्तक्षेप के बाद, डब्ल्यूआईसीबी ने अपने खिलाड़ियों का भुगतान करने का वादा किया और श्रृंखला शुरू हुई। 17 अक्टूबर 2014 को, टॉस टाइम में, वेस्ट इंडीज के एकदिवसीय कप्तान ड्वेन ब्रावो ने पूरी टीम उनके साथ लायी और घोषणा की कि वे बाकी के दौरे को छोड़ रहे हैं क्योंकि उन्हें डब्लूआईसीबी से अपना वादा किया गया भुगतान नहीं मिला। बाद में बीसीसीआई ने पुष्टि की कि वेस्टइंडीज के खिलाड़ियों, वेस्ट इंडीज क्रिकेट बोर्ड और खिलाड़ियों के बीच चल रहे वेतन के चलते चौथा एकदिवसीय खेल के बाद दौरे के शेष जुड़ने को रद्द कर दिया गया था। बीसीसीआई के एक वरिष्ठ अधिकारी ने विकास की पुष्टि करते हुए कहा कि वेस्टइंडीज टीम प्रबंधन ने अपने निर्णय के बोर्ड को पहले दिन में सूचित किया था। श्रीलंका ने भारत में नवंबर में वेस्टइंडीज के मैचों को छोड़ने के बाद नवंबर में पांच एकदिवसीय मैच खेलने के लिए प्रिंसिपल पर सहमति जताई है। इसके बाद बीसीसीआई ने घोषणा की कि वह अगले नोटिस तक वेस्ट इंडीज के सभी योजनाबद्ध दौरे को निलंबित कर देगी, और भारत दौरे के अंत से समाप्त होने के लिए डब्ल्यूआईसीबी के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करेगा। जून 2016 में, भारत ने पुष्टि की कि वे अपने दौरे का वेस्ट इंडीज़ का सम्मान करेंगे, जो कि अगले महीने होने का आयोजन किया जाएगा। .

नई!!: हैदराबाद और वेस्ट इंडीज क्रिकेट टीम का भारत दौरा 2014-15 · और देखें »

वी पी मेनोन

राउ बहादुर वाप्पला पंगुन्नि मेनोन (३० सितंबर १८९३ - ३१ दिसंबर १९६५) एक भारतीय प्रशासनिक सेवक थे जो भारत के अन्तिम तीन वाइसरायों के संविधानिक सलाहकार एवं राजनीतिक सुधार आयुक्त भी थे। भारत के विभाजन के काल में तथा उसके बाद भारत के राजनीतिक एकीकरण में उनकी महती भूमिका रही। बाद में वे स्वतंत्र पार्टी के सदस्य बन गये थे। .

नई!!: हैदराबाद और वी पी मेनोन · और देखें »

वी वी एस लक्ष्मण

right वी वी एस लक्ष्मण एक भारतीय क्रिकेट खिलाड़ी हैं। वेंकट साई लक्ष्मण (जन्म १ नवम्बर १९७४), कभी कभी प्रेम से वेंकटसाईं लक्ष्मण अथ्वा वीवीएस के रूप में आम तौर पर जाने जाते है। भारतीय क्रिकेटर लक्ष्मण हैदराबाद क्रिकेट टीम का प्रतिनिधित्व करते है। वो हैदराबाद घरेलू क्रिकेट अथ्वा लंकाशायर काउंटी क्रिकेट क्लब में खेलते हैं। लक्ष्मण पूर्व भारत के राष्ट्रपति, महान डॉ॰ सर्वपल्ली राधाकृष्णन के भतीजे हैं। वह डेक्कन चार्जर्स टीम (इंडियन प्रीमियर लीग) के कप्तान रह चुके हैं। लक्ष्मण को पद्मश्री पुरस्कार एवं भारत के चौथे सर्वोच्च नागरिक सम्मान से सम्मानित किया जा चुका है। लक्ष्मण दाएँ हाथ के बल्लेबाज हैं और कभी कभी ऑफ़ स्पिन गेंदबाजी भी करते है। उनके शानदार तकनीक और स्पिन के खिलाफ गेन्द हिट करने की क्षमता मोहम्मद अजहरुद्दीन की यादे ताजा करती हैं। लक्ष्मण अपनी कोमल कलाई के उपयोग से विभिन्न स्थानों पर गेंद पहुचाने की क्षमता रख्ते हैं। लक्ष्मण ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट टीम के खिलाफ अपनी बल्लेबाजी के लिए सबसे विख्यात है। फ़रवरी २०१० तक, वह १६ सैकड़ों लगा चुके हैं, जिसमे 6 सैकड़ों ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ बनया है। ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ ईडन गार्डन कोलकाता में अपने २८१ के व्यक्तिगत सर्वश्रेष्ठ २०००-०१ और २०० *फिरोज शाह कोटला २००८-०९ में.

नई!!: हैदराबाद और वी वी एस लक्ष्मण · और देखें »

वीणा पर्नाइक

वीणा कृष्णजी पर्नाइक (जन्म १९५३) एक भारतीय कोशिका जीवविज्ञानी हैं और सेल्यूलर और आण्विक जीवविज्ञान के केंद्र में प्रमुख वैज्ञानिक हैं। १९७४ में वीणा परमाणिक ने मुंबई विश्वविद्यालय से एमएससी की डिग्री और ओहियो स्टेट यूनिवर्सिटी से पीएचडी प्राप्त की। उनकी पीएचडी एंजाइम डेक्सट्रॉसोक्रस पर थी। उन्होंने १९७९ में पीएचडी प्राप्त की और फिर १९८० में उन्होंने हैदराबाद में रिसर्च एसोसिएट के रूप में केंद्र में सेल्यूलर और आणविक जीवविज्ञान (सीसीएमबी) के केंद्र में काम करने के लिए भारत लौट आए। डॉ.

नई!!: हैदराबाद और वीणा पर्नाइक · और देखें »

खरगोन ज़िला

खरगोन भारत देश में मध्य प्रदेश राज्य का जिला है। इसका मुख्यालय खारगोन है। .

नई!!: हैदराबाद और खरगोन ज़िला · और देखें »

ख़ुबानी का मीठा

ख़ुबानी का मीठा हैदराबादी बिरयानी के बाद परोसने के लिए एक उपयुक्त मिठाई है। ख़ुबानी और कस्टर्ड से बनती यह एक विशिष्ठ मिठाई है। इसमें हल्के से खट्टास की महक वाली मीठी ख़ुबानी की प्युरी में इलायची और केसर जैसे भारतीय मसालों का समावेश है और इसे मलाइदार वैनिला कस्टर्ड पर परोसा जाता है। कुरकुरे सूके मेवे की सजावट से यह मिठाई शाही और शानदार बनती है। ख़ुबानी का मीठा हैदराबादी शादी में परोसे जाने वाले अत्यावाश्यक व्यंजन है। .

नई!!: हैदराबाद और ख़ुबानी का मीठा · और देखें »

गनफ़ाउन्ड्री

गनफ़ाउन्ड्री जिसे तोप का साँचा भी कहा जाता है, तोपों के गोलों की फ़ैक्ट्री के रूप में 1786 में निर्मित हुई थी। इसकी स्थापना हैदराबाद के द्वीतीय निज़ाम नवाब मीर नाज़िम अली ख़ान ने फ़तेह मैदान के निकट किया था। वर्तमान रूप से आलिया बॉयज़ हाई स्कूल इसी के स्थान पर है। .

नई!!: हैदराबाद और गनफ़ाउन्ड्री · और देखें »

गाँधी प्रौद्योगिकी एवं प्रबन्धन संस्थान

गाँधी प्रौद्योगिकी एवं प्रबन्धन संस्थान (Gandhi Institute of Technology and Management/ GITAM) भारत का एक मानद विश्वविद्यालय है।) पहले यह 'गीतम महाविद्यालय' के नाम से ख्यात था और आंध्र विश्वविद्यालय से सम्बद्ध था। इसकी स्थापना १९८० में हुई थी तथा २००७ में मानद विश्वविद्यालय की श्रेणी में रखा गया। यह आन्ध्र प्रदेश का पहला संस्थान था जिसे मानद विश्वविद्यालय का दर्जा प्रदान किया गया। इस विश्वविद्यालय के तीन प्रांगण (कैम्पस) हैं- मुख्य कैम्पस विशाखापट्टनम में है, इसके अतिरिक्त हैदराबाद और बंगलुरु में इसके प्रांगण हैं। .

नई!!: हैदराबाद और गाँधी प्रौद्योगिकी एवं प्रबन्धन संस्थान · और देखें »

गिरीश कुमार संघी

गिरीश कुमार संघी हैदराबाद स्थित उद्योग समूह के मालिक हैं। वे हैदराबाद से हिंदी और तेलुगु में वार्ता समाचार पत्र निकालते हैं। वे राजनीति में भी सक्रिय हैं और कांग्रेस पार्टी से जुड़े हैं। वर्तमान में राज्यसभा सदस्य हैं और गांधी-नेहरू परिवार के करीबी माने जाते हैं। श्रेणी:भारतीय उद्योगपति श्रेणी:भारतीय राजनीतिज्ञ श्रेणी:उद्यमी.

नई!!: हैदराबाद और गिरीश कुमार संघी · और देखें »

गगन नारंग

यह राइफल गगन नारंग द्वारा इस्तेमाल किया गया हैं। गगन नारंग (గగన్) भारत का एक राईफ़ल निशानेबाज (विशेषतया ऑलंपिक गोल्ड क्वेस्ट द्वारा समर्थित हवाई राईफ़ल शूटिंग) खिलाड़ी है। ये लंदन ऑलंपिक्स हेतु अर्हता लेने वाले प्रथम भारतीय थे। इन्होंने लंदन 2012 ओलंपिक में हुई पुरुषों की 10 मीटर एयर राइफल इवेंट में  701.1 अंकों के साथ कांस्य पदक हासिल किया।   .

नई!!: हैदराबाद और गगन नारंग · और देखें »

गुरु दत्त

गुरु दत्त (वास्तविक नाम: वसन्त कुमार शिवशंकर पादुकोणे, जन्म: 9 जुलाई, 1925 बैंगलौर, निधन: 10 अक्टूबर, 1964 बम्बई) हिन्दी फ़िल्मों के प्रसिद्ध अभिनेता,निर्देशक एवं फ़िल्म निर्माता थे। उन्होंने 1950वें और 1960वें दशक में कई उत्कृष्ट फ़िल्में बनाईं जैसे प्यासा,कागज़ के फूल,साहिब बीबी और ग़ुलाम और चौदहवीं का चाँद। विशेष रूप से, प्यासा और काग़ज़ के फूल को टाइम पत्रिका के 100 सर्वश्रेष्ठ फ़िल्मों की सूचि में शामिल किया गया है और साइट एन्ड साउंड आलोचकों और निर्देशकों के सर्वेक्षण द्वारा, दत्त खुद भी सबसे बड़े फ़िल्म निर्देशकों की सूचि में शामिल हैं। उन्हें कभी कभी "भारत का ऑर्सन वेल्स" (Orson Welles) ‍‍ भी कहा जाता है। 2010 में, उनका नाम सीएनएन के "सर्व श्रेष्ठ 25 एशियाई अभिनेताओं" के सूचि में भी शामिल किया गया। गुरु दत्त 1950वें दशक के लोकप्रिय सिनेमा के प्रसंग में, काव्यात्मक और कलात्मक फ़िल्मों के व्यावसायिक चलन को विकसित करने के लिए प्रसिद्ध हैं। उनकी फ़िल्मों को जर्मनी, फ्रांस और जापान में अब भी प्रकाशित करने पर सराहा जाता है। .

नई!!: हैदराबाद और गुरु दत्त · और देखें »

गुलबर्ग

गुलबर्गा (आधिकारिक तौर पर कलबुरगि) भारतीय राज्य कर्नाटक (भारत) का एक प्रमुख शहर है। यह गुलबर्गा जिले का प्रशासनिक मुख्यालय और उत्तर कर्नाटक क्षेत्र का एक प्रमुख शहर है। गुलबर्गा, कर्णाटक की राज्यधानी बैंगलोर के उत्तर में हैं 623 किलोमीटर और हैदराबाद से 220 किलोमीटर दूर है। गुलबर्गा पहले हैदराबाद राज्य के अंतर्गत आता था लेकिन 1956 के राज्य पुनर्गठन अधिनियम में नवगठित मैसूर राज्य (अब कर्नाटक के रूप में जाना जाता है) में शामिल किया गया था। गुलबर्गा तुअर दाल एवं चूना पत्थर के लिए प्रसिद्ध है। यह जिला तेजी से शहरीकरण की ओर बाद रहा है एवं गुलबर्गा महानगर क्षेत्र के अंतर्गत आता है। यह शहर अपने वास्तुकला, ऐतिहासिक और धार्मिक महत्व के कई स्थानों के लिए जाना जाता है। .

नई!!: हैदराबाद और गुलबर्ग · और देखें »

गुलबर्ग किला

गुलबर्ग किला उत्तर कर्नाटक के गुलबर्ग जिले में गुलबर्ग शहर में स्थित है। मूल रूप से इसका निर्माण वारंगल राजवंश के राज में राजा गुलचंद ने करवाया था। इसके बाद सन् 1347 में बहमनी राजवंश के अलाउद्दीन बहमन शाह ने दिल्ली सल्तनत के साथ संबंधों को तोड़ने के बाद इसे काफ़ी बड़ा करवाया था। बाद में किले के भीतर मस्जिदों, महलों, कब्रों जैसे इस्लामी स्मारकों और अन्य संरचनाओं का निर्माण हुआ। 1367 में किले के भीतर बनाया गया सभी ओर से बंद जामा मस्जिद मनोहर गुंबदों और मेहराबदार स्तंभों सहित फ़ारसी वास्तु शैली में निर्मित एक अद्वितीय संरचना है। यह 1327 से 1424 के बीच गुलबर्ग किले पर बहमनी शासन की स्थापना के उपलक्ष्य में बनाया गया था। यह 1424 तक बहमनी राज्य की राजधानी रहा, जिसके बाद बेहतर जलवायु परिस्थितियों के कारण राजधानी बीदर किले में ले जाई गयी। .

नई!!: हैदराबाद और गुलबर्ग किला · और देखें »

ग्रेन्युल्स इंडिया लिमिटेड

श्रेणी:भारत की दवा कंपनियां.

नई!!: हैदराबाद और ग्रेन्युल्स इंडिया लिमिटेड · और देखें »

गौहर सुल्ताना

गौहर सुल्ताना (Gouher Sultana) (जन्म;३१ मार्च १९८८, हैदराबाद,आंध्रप्रदेश,भारत) एक भारतीय महिला क्रिकेट खिलाड़ी है। जो घरेलू क्रिकेट हैदराबाद के लिए खेलती है। यह भारतीय टीम के लिए वनडे क्रिकेट और ट्वेन्टी-ट्वेन्टी क्रिकेट मैच खेला करती है। इन्होंने भारतीय टीम के लिए कुल २३ वनडे मैच खेले है जिसमें पहला मैच पाकिस्तान के खिलाफ ५ मई २००८ को खेला था। .

नई!!: हैदराबाद और गौहर सुल्ताना · और देखें »

गोलमाल 3

गोलमाल 3 रोहित शेट्टी द्वारा निर्देशित एक 2010 बॉलीवुड हास्य फिल्म है। यह 2008 फिल्म गोलमाल रिटर्न्स की एक अगली कड़ी है, इस प्रायोजना मे अजय देवगन, करीना कपूर, अरशद वारसी, तुषार कपूर और श्रेयस तलपड़े सहित पिछली फिल्म से अभिनेताओं के बहुमत सितारो के साथ नए कलाकार भी है। फिल्म की शूटिंग मुंबई, गोवा और हैदराबाद में 20 मार्च 2010 को शुरू कर दी गयी। गोलमाल 3 5 नवम्बर 2010 को जारी की गयी थी। .

नई!!: हैदराबाद और गोलमाल 3 · और देखें »

गोलकोण्डा

गोलकुंडा या गोलकोण्डा दक्षिणी भारत में, हैदराबाद नगर से पाँच मील पश्चिम स्थित एक दुर्ग तथा ध्वस्त नगर है। पूर्वकाल में यह कुतबशाही राज्य में मिलनेवाले हीरे-जवाहरातों के लिये प्रसिद्ध था। इस दुर्ग का निर्माण वारंगल के राजा ने 14वीं शताब्दी में कराया था। बाद में यह बहमनी राजाओं के हाथ में चला गया और मुहम्मदनगर कहलाने लगा। 1512 ई. में यह कुतबशाही राजाओं के अधिकार में आया और वर्तमान हैदराबाद के शिलान्यास के समय तक उनकी राजधानी रहा। फिर 1687 ई. में इसे औरंगजेब ने जीत लिया। यह ग्रैनाइट की एक पहाड़ी पर बना है जिसमें कुल आठ दरवाजे हैं और पत्थर की तीन मील लंबी मजबूत दीवार से घिरा है। यहाँ के महलों तथा मस्जिदों के खंडहर अपने प्राचीन गौरव गरिमा की कहानी सुनाते हैं। मूसी नदी दुर्ग के दक्षिण में बहती है। दुर्ग से लगभग आधा मील उत्तर कुतबशाही राजाओं के ग्रैनाइट पत्थर के मकबरे हैं जो टूटी फूटी अवस्था में अब भी विद्यमान हैं। .

नई!!: हैदराबाद और गोलकोण्डा · और देखें »

ऑपरेशन पोलो

ऑपरेशन पोलो सितम्बर 1948 को भारतीय सेना के गुप्त ऑपरेशन का नाम था जिसमें हैदराबाद के आखिरी निजाम को सत्ता से अपदस्त कर दिया गया और हैदराबाद को भारत का हिस्सा बना लिया गया। ध्यातव्य है कि भारत की स्वतंत्रता के बाद जब भारतीय संघ का गठन हो रहा था, हैदराबाद के निजाम ने भारत के बीच में होते हुए भी स्वतंत्र देश रहने की ही कवायत शुरू की थी। विभाजन के दौरान हैदराबाद भी उन शाही घरानो में से था जिन्हे पूर्ण आजादी दी गई थी हालाँकि 1948 में उनके पास दो ही विकल्प बचे थे भारत या पाकिस्तान में शामिल होना। ज्यादातर हिन्दू आबादी वाले राज्य के मुस्लिम शासक और आखिरी निजाम ओस्मान अली खान ने आजाद रहने फैसला किया और अपने साधारण सेना के बल पर राज करने का फैसला किया। निजाम ने ज्यादातर मुस्लिम सैनिको वाली राज़करास सेना बनाई। भारत सरकार उत्सुकता से हैदराबाद की तरफ देख रही थी और सोच रही थी की हैदराबाद के निजाम खुद भारत संघ में सम्मिलित हो जायेंगे। लेकिन राज़करास सेना की दुर्दांतता के कारण सरदार पटेल ने हैदराबाद को जबरदस्ती कब्जाने का फैसला किया था। सरदार पटेल ने ये काम पुलिस के द्वारा किया जिसमे सिर्फ पांच दिन लगे राज़करास की मुस्लिम सेना आसानी से हार गई। अभियान के दौरान व्यापक तौर पर जातिगत हिंसा हुई थी, अभियान समाप्ति के बाद नेहरू ने इसपे जाँच के लिए एक कमिटी बनाई थी जिसकी रिपोर्ट साल 2014 सार्वजनिक हुई। अर्थात रिपोर्ट को जारी ही नहीं किया गया था, रिपोर्ट बनाने के लिए सुन्दरलाल कमिटी बानी थी, रिपोर्ट के मुताबिक इस अभियान में 27 से 40 हजार जाने गई थी हालाँकि जानकार ये आंकड़ा दो लाख से भी ज्यादा बताते हैं। मुस्लिम लीग के निर्माता जिन्ना के प्रभाव में हैदराबाद के निजाम नवाब बहादुर जंग ने लोकतंत्र को नहीं माना था, नवाब ने काज़मी रज्मी को जो की एमआईएम (मजलिसे एत्तहुड मुस्लिमीन) का प्रमुख लीडर था ने राजकारस सेना बनाई थी जो करीब दो लाख क तादात में थी। मुस्लिम आबादी बढ़ने के लिए उसने हैदराबाद में लूटपाट मचा दी थी, जबरन इस्लाम हिन्दू औरतो के रेप सामूहिक हत्याकांड करने शुरू कर दिए थे। क्योंकि हिन्दू हैदराबाद को भारत में चाहते हे मीरपुर नौखालिया नरसंहार (मुसलमानों ने किया हिन्दुओ पे) उनके जहाँ में थे। पांच हजार से ज्यादा हिन्दुओ को राजकारस मार चुके थे जो की आधिकारिक आंकड़े है, हैदराबाद के निजाम को पाकिस्तान से म्यांमार के रास्ते लगातार हथियार और पैसे की मदद मिल रही थी। ऑस्ट्रेलिया की कंपनी भी उन्हें हथियार सप्लाई कर रही थी, तब पटेल ने तय किया की इस तरह तो हैदराबाद भारत के दिल में नासूर बन जायेगा और तब आर्मी ऑपरेशन पोलो को प्लान किया गया। कहा जाता है कि ऑपरेशन के बाद में हर जगह सेना ने मुसलमानों को शिनाख्त कर कर के मौत के घाट उत्तर दिया था। इसीलिए आज तक ये रिपोर्ट सार्वजनिक नहीं की गई चुनावो से पहले कांग्रेस ने साम्प्रदायिक फायदा उठाने के लिए शायद इसको बहार निकला था। .

नई!!: हैदराबाद और ऑपरेशन पोलो · और देखें »

ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन

ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहाद-उल मुस्लिमीन या एआईएमआईएम (हिंदी अनुवादः अखिल भारतीय मुस्लिम संघ) भारत सरकार के तेलंगाना राज्य में स्थित एक मान्यताप्राप्त राजकीय राजनीतिक दल है, जिसका हैदराबाद के पुराने शहर में प्रधान कार्यालय है, जिसकी जड़ें मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन से हैं जो 1927 में ब्रिटिश भारत के हैदराबाद स्टेट में स्थापित हुई थी।। एआईएमआईएम ने 1984 से हैदराबाद निर्वाचन क्षेत्र लोकसभा सीट जीती है। 2014 के तेलंगाना विधानसभा चुनावों में, एआईएमआईएम ने सात सीटों पर जीत हासिल की और भारत के चुनाव आयोग द्वारा 'राज्य पार्टी' के रूप में मान्यता प्राप्त की। इस पार्टी के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी हैं। .

नई!!: हैदराबाद और ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन · और देखें »

ऑस्ट्रेलिया क्रिकेट टीम का भारत दौरा 2007-08

ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट टीम ने 29 सितंबर से 20 अक्टूबर 2007 तक भारत का दौरा किया। 29 सितंबर से 17 अक्टूबर तक सात वनडे खेला गया। श्रृंखला में 20 अक्टूबर को मुम्बई में एक ट्वेंटी-20 इंटरनेशनल मैच भी शामिल था। ऑस्ट्रेलिया ने एकदिवसीय श्रृंखला 4-2 से जीती, भारत ने ट्वेंटी-20 मैच जीता। .

नई!!: हैदराबाद और ऑस्ट्रेलिया क्रिकेट टीम का भारत दौरा 2007-08 · और देखें »

ऑस्ट्रेलिया क्रिकेट टीम का भारत दौरा 2009-10

ऑस्ट्रेलिया क्रिकेट टीम ने 25 अक्टूबर से 11 नवंबर 2009 तक भारत का दौरा किया। इस दौरे में सात एक दिवसीय अंतर्राष्ट्रीय मैच थे और श्रृंखला ऑस्ट्रेलिया के द्वारा 4-2 (एक मैच बारिश के कारण छोड़ दिया गया) के अंतिम मैच के साथ जीता गया था। .

नई!!: हैदराबाद और ऑस्ट्रेलिया क्रिकेट टीम का भारत दौरा 2009-10 · और देखें »

ऑस्ट्रेलिया क्रिकेट टीम का भारत दौरा 2017

ऑस्ट्रेलिया क्रिकेट टीम सितंबर और अक्टूबर 2017 में भारत का दौरा करने के लिए पांच एक दिवसीय अंतर्राष्ट्रीय (वनडे) और तीन ट्वेंटी-20 अंतरराष्ट्रीय (टी20ई) मैचों खेलने के लिए निर्धारित है। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने सितंबर 2017 में पूर्ण तिथियों की पुष्टि की। एकदिवसीय के आगे, ऑस्ट्रेलिया ने भारत के बोर्ड अध्यक्ष इलेवन के खिलाफ 50-ओवर वार्म-अप मैच खेले, साथ ही ऑस्ट्रेलिया ने 103 रन बनाकर जीत दर्ज की। भारत ने एकदिवसीय श्रृंखला 4-1 जीती और आईसीसी वनडे चैम्पियनशिप के शीर्ष पर लौट आया। अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) की नई खेल स्थितियों के अनुसार, इस श्रृंखला में टी20ई मैच में पहली बार अंपायर डिसिजन रिव्यू सिस्टम (डीआरएस) का इस्तेमाल किया गया था। ट्वेंटी-20 श्रृंखला 1-1 से ड्रॉ की गई थी, जिसके कारण बारिश और गीला आउटफील्ड के कारण तीसरे मैच को बुलाया गया था। .

नई!!: हैदराबाद और ऑस्ट्रेलिया क्रिकेट टीम का भारत दौरा 2017 · और देखें »

ओड़िशा का इतिहास

प्राचीन काल से मध्यकाल तक ओडिशा राज्य को कलिंग, उत्कल, उत्करात, ओड्र, ओद्र, ओड्रदेश, ओड, ओड्रराष्ट्र, त्रिकलिंग, दक्षिण कोशल, कंगोद, तोषाली, छेदि तथा मत्स आदि नामों से जाना जाता था। परन्तु इनमें से कोई भी नाम सम्पूर्ण ओडिशा को इंगित नहीं करता था। अपितु यह नाम समय-समय पर ओडिशा राज्य के कुछ भाग को ही प्रस्तुत करते थे। वर्तमान नाम ओडिशा से पूर्व इस राज्य को मध्यकाल से 'उड़ीसा' नाम से जाना जाता था, जिसे अधिकारिक रूप से 04 नवम्बर, 2011 को 'ओडिशा' नाम में परिवर्तित कर दिया गया। ओडिशा नाम की उत्पत्ति संस्कृत के शब्द 'ओड्र' से हुई है। इस राज्य की स्थापना भागीरथ वंश के राजा ओड ने की थी, जिन्होने अपने नाम के आधार पर नवीन ओड-वंश व ओड्र राज्य की स्थापना की। समय विचरण के साथ तीसरी सदी ई०पू० से ओड्र राज्य पर महामेघवाहन वंश, माठर वंश, नल वंश, विग्रह एवं मुदगल वंश, शैलोदभव वंश, भौमकर वंश, नंदोद्भव वंश, सोम वंश, गंग वंश व सूर्य वंश आदि सल्तनतों का आधिपत्य भी रहा। प्राचीन काल में ओडिशा राज्य का वृहद भाग कलिंग नाम से जाना जाता था। सम्राट अशोक ने 261 ई०पू० कलिंग पर चढ़ाई कर विजय प्राप्त की। कर्मकाण्ड से क्षुब्द हो सम्राट अशोक ने युद्ध त्यागकर बौद्ध मत को अपनाया व उनका प्रचार व प्रसार किया। बौद्ध धर्म के साथ ही सम्राट अशोक ने विभिन्न स्थानों पर शिलालेख गुदवाये तथा धौली व जगौदा गुफाओं (ओडिशा) में धार्मिक सिद्धान्तों से सम्बन्धित लेखों को गुदवाया। सम्राट अशोक, कला के माध्यम से बौद्ध धर्म का प्रचार करना चाहते थे इसलिए सम्राट अशोक ने बौद्ध धर्म को और अधिक विकसित करने हेतु ललितगिरि, उदयगिरि, रत्नागिरि व लगुन्डी (ओडिशा) में बोधिसत्व व अवलोकेतेश्वर की मूर्तियाँ बहुतायत में बनवायीं। 232 ई०पू० सम्राट अशोक की मृत्यु के पश्चात् कुछ समय तक मौर्य साम्राज्य स्थापित रहा परन्तु 185 ई०पू० से कलिंग पर चेदि वंश का आधिपत्य हो गया था। चेदि वंश के तृतीय शासक राजा खारवेल 49 ई० में राजगद्दी पर बैठा तथा अपने शासन काल में जैन धर्म को विभिन्न माध्यमों से विस्तृत किया, जिसमें से एक ओडिशा की उदयगिरि व खण्डगिरि गुफाऐं भी हैं। इसमें जैन धर्म से सम्बन्धित मूर्तियाँ व शिलालेख प्राप्त हुए हैं। चेदि वंश के पश्चात् ओडिशा (कलिंग) पर सातवाहन राजाओं ने राज्य किया। 498 ई० में माठर वंश ने कलिंग पर अपना राज्य कर लिया था। माठर वंश के बाद 500 ई० में नल वंश का शासन आरम्भ हो गया। नल वंश के दौरान भगवान विष्णु को अधिक पूजा जाता था इसलिए नल वंश के राजा व विष्णुपूजक स्कन्दवर्मन ने ओडिशा में पोडागोड़ा स्थान पर विष्णुविहार का निर्माण करवाया। नल वंश के बाद विग्रह एवं मुदगल वंश, शैलोद्भव वंश और भौमकर वंश ने कलिंग पर राज्य किया। भौमकर वंश के सम्राट शिवाकर देव द्वितीय की रानी मोहिनी देवी ने भुवनेश्वर में मोहिनी मन्दिर का निर्माण करवाया। वहीं शिवाकर देव द्वितीय के भाई शान्तिकर प्रथम के शासन काल में उदयगिरी-खण्डगिरी पहाड़ियों पर स्थित गणेश गुफा (उदयगिरी) को पुनः निर्मित कराया गया तथा साथ ही धौलिगिरी पहाड़ियों पर अर्द्यकवर्ती मठ (बौद्ध मठ) को निर्मित करवाया। यही नहीं, राजा शान्तिकर प्रथम की रानी हीरा महादेवी द्वारा 8वीं ई० हीरापुर नामक स्थान पर चौंसठ योगनियों का मन्दिर निर्मित करवाया गया। 6वीं-7वीं शती कलिंग राज्य में स्थापत्य कला के लिए उत्कृष्ट मानी गयी। चूँकि इस सदी के दौरान राजाओं ने समय-समय पर स्वर्णाजलेश्वर, रामेश्वर, लक्ष्मणेश्वर, भरतेश्वर व शत्रुघनेश्वर मन्दिरों (6वीं सदी) व परशुरामेश्वर (7वीं सदी) में निर्माण करवाया। मध्यकाल के प्रारम्भ होने से कलिंग पर सोमवंशी राजा महाशिव गुप्त ययाति द्वितीय सन् 931 ई० में गद्दी पर बैठा तथा कलिंग के इतिहास को गौरवमयी बनाने हेतु ओडिशा में भगवान जगन्नाथ के मुक्तेश्वर, सिद्धेश्वर, वरूणेश्वर, केदारेश्वर, वेताल, सिसरेश्वर, मारकण्डेश्वर, बराही व खिच्चाकेश्वरी आदि मन्दिरों सहित कुल 38 मन्दिरों का निर्माण करवाया। 15वीं शती के अन्त तक जो गंग वंश हल्का पड़ने लगा था उसने सन् 1038 ई० में सोमवंशीयों को हराकर पुनः कलिंग पर वर्चस्व स्थापित कर लिया तथा 11वीं शती में लिंगराज मन्दिर, राजारानी मन्दिर, ब्रह्मेश्वर, लोकनाथ व गुन्डिचा सहित कई छोटे व बड़े मन्दिरों का निर्माण करवाया। गंग वंश ने तीन शताब्दियों तक कलिंग पर अपना राज्य किया तथा राजकाल के दौरान 12वीं-13वीं शती में भास्करेश्वर, मेघेश्वर, यमेश्वर, कोटी तीर्थेश्वर, सारी देउल, अनन्त वासुदेव, चित्रकर्णी, निआली माधव, सोभनेश्वर, दक्क्षा-प्रजापति, सोमनाथ, जगन्नाथ, सूर्य (काष्ठ मन्दिर) बिराजा आदि मन्दिरों को निर्मित करवाया जो कि वास्तव में कलिंग के स्थापत्य इतिहास में अहम भूमिका का निर्वाह करते हैं। गंग वंश के शासन काल पश्चात् 1361 ई० में तुगलक सुल्तान फिरोजशाह तुगलक ने कलिंग पर राज्य किया। यह वह दौर था जब कलिंग में कला का वर्चस्व कम होते-होते लगभग समाप्त ही हो चुका था। चूँकि तुगलक शासक कला-विरोधी रहे इसलिए किसी भी प्रकार के मन्दिर या मठ का निर्माण नहीं हुअा। 18वीं शती के आधुनिक काल में ईस्ट इण्डिया कम्पनी का सम्पूर्ण भारत पर अधिकार हो गया था परन्तु 20वीं शती के मध्य में अंग्रेजों के निगमन से भारत देश स्वतन्त्र हुआ। जिसके फलस्वरूप सम्पूर्ण भारत कई राज्यों में विभक्त हो गया, जिसमें से भारत के पूर्व में स्थित ओडिशा (पूर्व कलिंग) भी एक राज्य बना। .

नई!!: हैदराबाद और ओड़िशा का इतिहास · और देखें »

आदिलाबाद

आदिलाबाद तेलंगाना का एक ऐतिहासिक शहर है जहां अनेक वंशों ने शताब्दियों तक राज किया। प्रकृति की गोद में बसा यह खूबसूरत स्‍थान एक उपयुक्‍त पर्यटक स्‍थल है। यहां पर बहुत कुछ ही देखने योग्‍य हैं लेकिन यहां की प्राकृतिक सुंदरता बरबस ही अपनी ओर खींच लेती है। इसी से आकर्षित होकर हजारो पर्यटक यहां आते हैं। देवी सरस्‍वती का घर माना जाने वाला यह स्‍थान सिटी ऑफ कॉटन के नाम से भी प्रसिद्ध है। आदिलाबाद का नाम बीजापुर के प्रारंभिक शासक अली आदिल शाह के नाम पर पड़ा। ऐतिहासिक रूप से देखा जाए तो आदिलाबाद कई संस्‍कृतियों का घर रहा है। मध्‍य व दक्षिणी भारत के सीमा पर स्थित होने के कारण यहां पर उत्‍तर भारत के शासकों ने भी शासन किया और दक्षिण के शासक वंशों ने भी। आज यहां पर पड़ोस की मराठी संस्‍कृति का प्रभाव भी देखा जा सकता है जो तेलुगू संस्‍कृति का हिस्‍सा बन चुकी है। .

नई!!: हैदराबाद और आदिलाबाद · और देखें »

आधिकारिक आवास

सामान्य रूप में आधिकारिक आवास किसी अधिकार या पद के साथ मिलनेवाले आवास को कहते है। लेकिन सार्वभौमिक रूप से, किसी देश के राष्ट्रप्रमुख, शासनप्रमुख, राज्यपाल या अन्य वरिष्ठ पद के निवासस्थान को "आधिकारिक आवास" कहते है। निम्नलिखित दुनिया के आधिकारिक आवासों की सूची है। सूची का प्रारूप इस प्रकार है.

नई!!: हैदराबाद और आधिकारिक आवास · और देखें »

आन्ध्र प्रदेश

आन्ध्र प्रदेश ఆంధ్ర ప్రదేశ్(अनुवाद: आन्ध्र का प्रांत), संक्षिप्त आं.प्र., भारत के दक्षिण-पूर्वी तट पर स्थित राज्य है। क्षेत्र के अनुसार यह भारत का चौथा सबसे बड़ा और जनसंख्या की दृष्टि से आठवां सबसे बड़ा राज्य है। इसकी राजधानी और सबसे बड़ा शहर हैदराबाद है। भारत के सभी राज्यों में सबसे लंबा समुद्र तट गुजरात में (1600 कि॰मी॰) होते हुए, दूसरे स्थान पर इस राज्य का समुद्र तट (972 कि॰मी॰) है। हैदराबाद केवल दस साल के लिये राजधानी रहेगी, तब तक अमरावती शहर को राजधानी का रूप दे दिया जायेगा। आन्ध्र प्रदेश 12°41' तथा 22°उ॰ अक्षांश और 77° तथा 84°40'पू॰ देशांतर रेखांश के बीच है और उत्तर में महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़ और उड़ीसा, पूर्व में बंगाल की खाड़ी, दक्षिण में तमिल नाडु और पश्चिम में कर्नाटक से घिरा हुआ है। ऐतिहासिक रूप से आन्ध्र प्रदेश को "भारत का धान का कटोरा" कहा जाता है। यहाँ की फसल का 77% से ज़्यादा हिस्सा चावल है। इस राज्य में दो प्रमुख नदियाँ, गोदावरी और कृष्णा बहती हैं। पुदु्चेरी (पांडीचेरी) राज्य के यानम जिले का छोटा अंतःक्षेत्र (12 वर्ग मील (30 वर्ग कि॰मी॰)) इस राज्य के उत्तरी-पूर्व में स्थित गोदावरी डेल्टा में है। ऐतिहासिक दृष्टि से राज्य में शामिल क्षेत्र आन्ध्रपथ, आन्ध्रदेस, आन्ध्रवाणी और आन्ध्र विषय के रूप में जाना जाता था। आन्ध्र राज्य से आन्ध्र प्रदेश का गठन 1 नवम्बर 1956 को किया गया। फरवरी 2014 को भारतीय संसद ने अलग तेलंगाना राज्य को मंजूरी दे दी। तेलंगाना राज्य में दस जिले तथा शेष आन्ध्र प्रदेश (सीमांन्ध्र) में 13 जिले होंगे। दस साल तक हैदराबाद दोनों राज्यों की संयुक्त राजधानी होगी। नया राज्य सीमांन्ध्र दो-तीन महीने में अस्तित्व में आजाएगा अब लोकसभा/राज्यसभा का 25/12सिट आन्ध्र में और लोकसभा/राज्यसभा17/8 सिट तेलंगाना में होगा। इसी माह आन्ध्र प्रदेश में राष्ट्रपति शासन भी लागू हो गया जो कि राज्य के बटवारे तक लागू रहेगा। .

नई!!: हैदराबाद और आन्ध्र प्रदेश · और देखें »

आन्ध्र प्रदेश एक्सप्रेस

आन्ध्र प्रदेश एक्सप्रेस एक सुपरफ़ास्ट दक्षिण केन्द्रीय रेलवे की ट्रेन है जो की आंध्र प्रदेश की राजधानी हैदराबाद तथा देश की राजधानी नयी दिल्ली को जोडती है। इसका संचालन नियमित रूप से होता है तथा यह इस दूरी को पूरा करने में २७ घंटों का समय लेती है। इस दौरान यह आन्ध्र प्रदेश, महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश, राजस्थान एवं हरियाणा से होकर के गुजरती है। भारतीय रेलवे नें इसे हैदराबाद से नयी दिल्ली जाने के दौरान १२७२३ तथा नयी दिल्ली से हैदराबाद जाने के दौरान १२७२४ क्रमांक दिया हुआ है। यह ट्रेन सेवा पहली बार मधु दंडवते के द्वारा १९७६ में शुरू की गयी थी। .

नई!!: हैदराबाद और आन्ध्र प्रदेश एक्सप्रेस · और देखें »

आन्ध्र प्रदेश के राज्यपालों की सूची

आन्ध्र प्रदेश के राज्यपाल नामक इस सूची में वर्ष १९५३ से आन्ध्र प्रदेश के राज्यपालों के नाम हैं। आन्ध्र प्रदेश के राज्यपाल का आधिकारिक निवास राजभवन है जो राज्य की राजधानी हैदराबाद में स्थित है। .

नई!!: हैदराबाद और आन्ध्र प्रदेश के राज्यपालों की सूची · और देखें »

आयुर्वेद

आयुर्वेद के देवता '''भगवान धन्वन्तरि''' आयुर्वेद (आयुः + वेद .

नई!!: हैदराबाद और आयुर्वेद · और देखें »

आईगेट (IGATE)

आईगेट कॉर्पोरेशन (iGATE Corporation) कैलिफोर्निया के फ्रेमोंट में स्थापित और आधारित एक अमेरिकी सूचना प्रौद्योगिकी कंपनी है जिसका संचालन मुख्यालय पेनसिल्वेनिया के पिट्सबर्ग में है। यह कंपनी व्यावसायिक डेटा प्रोसेसिंग में माहिर है और ग्राहकों की मांग को पूरा करने के लिए यह आईटॉप्स (इंटीग्रेटेड टेक्नोलॉजी एण्ड ऑपरेशंस सिस्टम्स) नामक एक संरचना का इस्तेमाल करती है। इसके द्वारा प्रदान की जाने वाली सेवाओं में शामिल हैं: आईटी परामर्श; अनुप्रयोग विकास, डेटा भण्डारण, व्यावसायिक ख़ुफ़िया समाधान, ईआरपी/उद्यम समाधान, बीपीओ/व्यावसायिक सेवा प्रावधानीकरण, बुनियादी ढांचे का प्रबंधन, परीक्षण/स्वतंत्र सत्यापन और मान्यकरण एवं संपर्क केन्द्र सेवाएं.

नई!!: हैदराबाद और आईगेट (IGATE) · और देखें »

आंध्र प्रदेश के जिले

कोई विवरण नहीं।

नई!!: हैदराबाद और आंध्र प्रदेश के जिले · और देखें »

इच्छा-मृत्यु

इच्छा-मृत्यु अर्थात यूथनेशिया (Euthanasia) मूलतः ग्रीक (यूनानी) शब्द है। जिसका अर्थ Eu.

नई!!: हैदराबाद और इच्छा-मृत्यु · और देखें »

इन्दिरा नाथ

प्रो॰ इन्दिरा नाथ (जन्म 14 जनवरी 1938) एक भारतीय प्रतिरक्षा वैज्ञानिक हैं। वे भारत की अग्रणी महिला वैज्ञानिक और कुष्ठ रोग की एक अंतरराष्ट्रीय स्तर पर जानीमानी विशेषज्ञ है। उन्होने लेप्रा-ब्लू हैदराबाद में पीटर रिसर्च सेंटर के निदेशक के रूप में कुष्ठ रोग के खिलाफ भारत की तरफ से लड़ाई लड़ते हुए अहम भूमिका निभाई हैं। .

नई!!: हैदराबाद और इन्दिरा नाथ · और देखें »

इन्दिरा गांधी अन्तरराष्ट्रीय खेल स्टेडियम, हल्द्वानी

इन्दिरा गांधी अन्तरराष्ट्रीय खेल स्टेडियम, उत्तराखण्ड राज्य के हल्द्वानी नगर में स्थित एक निर्माणाधीन बहुउद्देशीय स्टेडियम है। भारत की प्रथम महिला प्रधानमंत्री श्रीमती इन्दिरा गांधी के नाम पर स्थापित इस स्टेडियम का निर्माण २०१५-१६ में ३८वें राष्ट्रीय खेलों के आयोजन के लिए करवाया गया था। २५,००० लोगों की क्षमता वाले इस स्टेडियम का उद्घाटन १८ दिसंबर २०१६ को उत्तराखण्ड के तत्कालीन मुख्यमंत्री, हरीश रावत ने किया था। यह स्टेडियम ७० एकड़ क्षेत्र में फैला हुआ है और इसमें क्रिकेट और फुटबॉल के मैदान, ८०० मीटर दौड़ के लिए एक ट्रैक, एक हॉकी फील्ड, बैडमिंटन कोर्ट, लॉन टेनिस कोर्ट, बॉक्सिंग रिंग और स्विमिंग पूल भी हैं। .

नई!!: हैदराबाद और इन्दिरा गांधी अन्तरराष्ट्रीय खेल स्टेडियम, हल्द्वानी · और देखें »

इलाहाबाद

इलाहाबाद उत्तर भारत के उत्तर प्रदेश के पूर्वी भाग में स्थित एक नगर एवं इलाहाबाद जिले का प्रशासनिक मुख्यालय है। इसका प्राचीन नाम प्रयाग है। इसे 'तीर्थराज' (तीर्थों का राजा) भी कहते हैं। इलाहाबाद भारत का दूसरा प्राचीनतम बसा नगर है। हिन्दू मान्यता अनुसार, यहां सृष्टिकर्ता ब्रह्मा ने सृष्टि कार्य पूर्ण होने के बाद प्रथम यज्ञ किया था। इसी प्रथम यज्ञ के प्र और याग अर्थात यज्ञ से मिलकर प्रयाग बना और उस स्थान का नाम प्रयाग पड़ा जहाँ भगवान श्री ब्रम्हा जी ने सृष्टि का सबसे पहला यज्ञ सम्पन्न किया था। इस पावन नगरी के अधिष्ठाता भगवान श्री विष्णु स्वयं हैं और वे यहाँ माधव रूप में विराजमान हैं। भगवान के यहाँ बारह स्वरूप विध्यमान हैं। जिन्हें द्वादश माधव कहा जाता है। सबसे बड़े हिन्दू सम्मेलन महाकुंभ की चार स्थलियों में से एक है, शेष तीन हरिद्वार, उज्जैन एवं नासिक हैं। हिन्दू धर्मग्रन्थों में वर्णित प्रयाग स्थल पवित्रतम नदी गंगा और यमुना के संगम पर स्थित है। यहीं सरस्वती नदी गुप्त रूप से संगम में मिलती है, अतः ये त्रिवेणी संगम कहलाता है, जहां प्रत्येक बारह वर्ष में कुंभ मेला लगता है। इलाहाबाद में कई महत्त्वपूर्ण राज्य सरकार के कार्यालय स्थित हैं, जैसे इलाहाबाद उच्च न्यायालय, प्रधान महालेखाधिकारी (एजी ऑफ़िस), उत्तर प्रदेश राज्य लोक सेवा आयोग (पी.एस.सी), राज्य पुलिस मुख्यालय, उत्तर मध्य रेलवे मुख्यालय, केन्द्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड का क्षेत्रीय कार्यालय एवं उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद कार्यालय। भारत सरकार द्वारा इलाहाबाद को जवाहर लाल नेहरू राष्ट्रीय शहरी नवीकरण योजना के लिये मिशन शहर के रूप में चुना गया है। .

नई!!: हैदराबाद और इलाहाबाद · और देखें »

इलेक्ट्रानिक्स कारपोरेशन आफ इंण्डिया लिमिटेड

इलेक्ट्रानिक्स कारपोरेशन ऑफ इंण्डिया लिमिटेड (ECIL) भारत सरकार के परमाणु ऊर्जा विभाग के अन्तरगत एक उपक्रम है। इसकी स्थापना १९६७ में हैदराबाद में की गयी थी। .

नई!!: हैदराबाद और इलेक्ट्रानिक्स कारपोरेशन आफ इंण्डिया लिमिटेड · और देखें »

इंडियन प्रीमियर लीग

इंडियन प्रीमियर लीग (संक्षिप्त में IPL) भारतीय क्रिकेट नियंत्रण बोर्ड द्वारा संचालित ट्वेन्टी ट्वेन्टी प्रतियोगिता है। इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के भारत में एक पेशेवर ट्वेन्टी ट्वेन्टी क्रिकेट लीग भारतीय शहरों का प्रतिनिधित्व मताधिकार टीमों द्वारा हर साल चुनाव लड़ा है। लीग, 2007 में भारत (बीसीसीआई) के सदस्य ललित मोदी ने क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड द्वारा स्थापित किया गया, अप्रैल और हर साल के मई के ऊपर निर्धारित है। 2016 में आईपीएल का टाइटल प्रायोजक विवो इलेक्ट्रॉनिक्स, इस प्रकार लीग को आधिकारिक तौर पर विवो इंडियन प्रीमियर लीग के रूप में जाना जाता है। आईसीसी भविष्य यात्रा कार्यक्रम में एक विशेष विंडो है। आईपीएल दुनिया में सबसे-भाग लिया क्रिकेट लीग है और सभी खेल लीग के बीच छठे स्थान पर है। 2010 में आईपीएल बन गया दुनिया में पहली बार खेल के आयोजन यूट्यूब पर सीधा प्रसारण किया जाएगा। आईपीएल की ब्रांड वैल्यू अमेरिकी मूल्यांकन, गूंथा हुआ आटा और फेल्प्स के एक प्रभाग द्वारा अमेरिका में 2015 में 3.5 अरब $ होने का अनुमान था। बीसीसीआई के मुताबिक, 2015 आईपीएल सीजन भारतीय अर्थव्यवस्था के जीडीपी में 11.5 लाख ₹ (अमेरिका $ 182 मिलियन) का योगदान दिया। 13 टीमों को लीग के पहले सत्र के बाद से प्रतिस्पर्धा करने के लिए है, छह में कम से कम एक बार खिताब जीत लिया है। जबकि राजस्थान रॉयल्स, डेक्कन चार्जर्स और सनराइजर्स हैदराबाद एक बार जीत लिया है तथा मुंबई इंडियंस, चेन्नई सुपर किंग्स तीन बार और कोलकाता नाइट राइडर्स, ने दो बार जीत लिया है। चेन्नई सुपर किंग्स मौजूदा चैंपियन 2018 के मौसम जीत चुके हैं। 2014 तक इस टूर्नामेंट में शीर्ष तीन टीमों को चैंपियंस लीग ट्वेंटी20 के लिए क्वालीफाई किया। हालांकि, चैंपियंस लीग ट्वेंटी20 2015 में बंद किया गया था और तब से मृत हो गया है। .

नई!!: हैदराबाद और इंडियन प्रीमियर लीग · और देखें »

इंडियन स्कूल ऑफ़ बिज़नेस

इंडियन स्कूल ऑफ़ बिज़नेस (आईएसबी) हैदराबाद, आंध्र प्रदेश, भारत, में स्थित एक अंतरराष्ट्रीय बिज़नेस स्कूल है। यह स्कूल मैनेजमेंट में स्नातकोत्तर कार्यक्रम (पीजीपी), पोस्ट-डॉक्टरेट कार्यक्रम और साथ ही साथ व्यावसायिक अधिशाषी के लिए प्रबंधक शिक्षा कार्यक्रम प्रदान करता है। इसके विचार की कल्पना आंध्र प्रदेश राज्य सरकार के साथ मिलकर फॉर्च्यून 500 उद्यमी समूह के द्वारा 1995 में की गयी थी। रजत गुप्ता, मैकिन्से एंड कंपनी विश्वव्यापी के पूर्व प्रबंध निदेशक और नारा चंद्रबाबू नायडू, आंध्र प्रदेश के तत्कालीन मुख्यमंत्री, ने संस्था की स्थापना में निर्णायक भूमिका निभाई.

नई!!: हैदराबाद और इंडियन स्कूल ऑफ़ बिज़नेस · और देखें »

इंफोसिस

इन्फोसिस लिमिटेड एक बहुराष्ट्रीय सूचना प्रौद्योगिकी सेवा कंपनी मुख्यालय है जो बेंगलुरु, भारत में स्थित है। यह एक भारत की सबसे बड़ी आईटी कंपनियों में से एक है जिसके पास 30 जून 2008 को (सहायकों सहित) 94,379 से अधिक पेशेवर हैं। इसके भारत में 9 विकास केन्द्र हैं और दुनिया भर में 30 से अधिक कार्यालय हैं। वित्तीय वर्ष|वित्तीय वर्ष २००७-२००८ के लिए इसका वार्षिक राजस्व US$4 बिलियन से अधिक है, इसकी बाजार पूंजी US$30 बिलियन से अधिक है। .

नई!!: हैदराबाद और इंफोसिस · और देखें »

इंस्टिट्यूशन ऑव इंजीनियर्स (इंडिया)

इंस्टिट्यूशन ऑफ इंजीनियर्स (इंडिया) भारत के अभियन्ताओं का राष्ट्रीय संगठन है। इसके ९९ केन्द्रों में १५ इंजीनियरी शाखाओं के लगभग ५ लाख सदस्य हैं। यह विश्व की सबसे बड़ी बहुविषयी इंजीनियरी व्यावसायिक सोसायटी है। वर्तमान समय में इसका मुख्यालय कोलकाता में है। .

नई!!: हैदराबाद और इंस्टिट्यूशन ऑव इंजीनियर्स (इंडिया) · और देखें »

इंग्लैंड क्रिकेट टीम का भारत दौरा 1963-64

इंग्लैंड से एक क्रिकेट टीम मेरिलबोन क्रिकेट क्लब (एमसीसी) द्वारा आयोजित करने के लिए 3 जनवरी से 24 फरवरी 1964 भारत का दौरा किया था। वे खेले पांच टेस्ट घरेलू भारतीय क्लबों के खिलाफ दूसरे मैच के साथ-साथ भारतीय क्रिकेट टीम के खिलाफ मैच। टेस्ट मैचों में पक्ष "इंग्लैंड" के रूप में जाना जाता था; अन्य मैचों में यह रूप में "एमसीसी" में जाना जाता था। .

नई!!: हैदराबाद और इंग्लैंड क्रिकेट टीम का भारत दौरा 1963-64 · और देखें »

कन्हैयालाल माणिकलाल मुंशी

कन्हैयालाल मुंशी कन्हैयालाल माणिकलाल मुंशी (२९ दिसंबर, १८८७ - ८ फरवरी, १९७१) भारत के स्वतंत्रता संग्राम सेनानी, राजनेता, गुजराती एवं हिन्दी के ख्यातिनाम साहित्यकार तथा शिक्षाविद थे। उन्होने भारतीय विद्या भवन की स्थापना की। .

नई!!: हैदराबाद और कन्हैयालाल माणिकलाल मुंशी · और देखें »

करणी माता मन्दिर, बीकानेर

करणी माता का मन्दिर एक प्रसिद्ध हिन्दू मन्दिर है जो राजस्थान के बीकानेर जिले में स्थित है। इसमें देवी करणी माता की मूर्ति स्थापित है। यह बीकानेर से ३० किलोमीटर दक्षिण दिशा में देशनोक में स्थित है। यह मन्दिर चूहों का मन्दिर भी कहलाया जाता है। मन्दिर मुख्यतः काले चूहों के लिए प्रसिद्ध है। इस पवित्र मन्दिर में लगभग २०००० काले चूहे रहते हैं। India, by Joe Bindloss, Sarina Singh, James Bainbridge, Lindsay Brown, Mark Elliott, Stuart Butler.

नई!!: हैदराबाद और करणी माता मन्दिर, बीकानेर · और देखें »

करंज

करंज नाम से प्राय: तीन वनस्पति जातियों का बोध होता है जिनमें दो वृक्ष जातियाँ और तीसरी लता सदृश फैली हुई गुल्म जाति है। इनका परिचय निम्नांकित है: .

नई!!: हैदराबाद और करंज · और देखें »

करीमनगर जिला

करीमनगर जिला जिला करीमनगर दक्षिणी भारतीय राज्य तेलंगाना का एक जिला है। यह राज्‍य की राजधानी हैदराबाद से 165 किलोमीटर दूर है। करीमनगर का नाम एक किलादार सयैद करीमुद्दीन के नाम पर पड़ा। यह शहर वेदों की शिक्षा के लिए प्रसिद्ध है जो प्राचीन काल से ही इस नगर की पहचान रही है। यहां के प्रमुख प्राकृतिक संसाधनों में गोदावरी नदी सबसे महत्‍वपूर्ण है जो यहां की जिंदगी का एक अहम हिस्‍सा भी है। कई प्राचीन मंदिर इस जिले के अंतर्गत आते हैं जिनमें से मुक्‍तेश्‍वर स्‍वामी को समर्पित मंदिर सबसे अद्भुत है। भक्ति और शिक्षा की इस नगरी की सैर अपने आप में एक अनोखा अनुभव है। .

नई!!: हैदराबाद और करीमनगर जिला · और देखें »

कल्पना (मलयालम अभिनेत्री)

कल्पना प्रियदर्शनी एक भारतीय फ़िल्म अभिनेत्री थी, जो दक्षिण भारतीय फिल्मों में मुख्य रूप से मलयालम और तमिल फिल्मों में अपने काम के लिए प्रसिद्ध थी। उन्होंने दक्षिण भारतीय भाषाओं में ३०० से भी अधिक फिल्मों में अभिनय किया है। उन्होंने एक बाल कलाकार के रूप में अपना करियर शुरू किया १९७० के दशक से। ६०वें राष्ट्रीय फिल्म अवॉर्ड्स में, उन्होंने थानीचला नंजन (2012) में उनके प्रदर्शन के लिए सर्वश्रेष्ठ सहायक अभिनेत्री का पुरस्कार जीता। .

नई!!: हैदराबाद और कल्पना (मलयालम अभिनेत्री) · और देखें »

कश्मीरा जोगळेकर

कश्मीरा राम जोगलेकर (मराठी: कश्मिरा) (जन्म 16 नवंबर 1985) पुणे से एक भारतीय बैडमिंटन खिलाड़ी है।  वह गंभीरतापूर्वक बहरे है। .

नई!!: हैदराबाद और कश्मीरा जोगळेकर · और देखें »

कासु ब्रह्मानन्द रेड्डी राष्ट्रीय उद्यान

कासु ब्रह्मानन्द रेड्डी राष्ट्रीय उद्यान भारत के आंध्र प्रदेश राज्य की राजधानी हैदराबाद के जुबली हिल्स इलाके में स्थित एक राष्ट्रीय उद्यान है जिसका क्षेत्रफल मात्र १.४२ वर्ग कि॰मी॰ है। इसको सन् १९९४ में स्थापित किया गया था। श्रेणी:भारत के राष्ट्रीय उद्यान श्रेणी:भारत के अभयारण्य श्रेणी:राष्ट्रीय उद्यान, भारत.

नई!!: हैदराबाद और कासु ब्रह्मानन्द रेड्डी राष्ट्रीय उद्यान · और देखें »

कांथी सुरेश

कांथी डी सुरेश (जन्म 25 अप्रैल) एक भारतीय खेल पत्रकार है और उन्होंने भारत के लिए राष्ट्रीय मेजबान प्रसारक पर ओलंपिक, एशियाई खेलों और राष्ट्रमंडल खेलों का होस्ट किया है! .

नई!!: हैदराबाद और कांथी सुरेश · और देखें »

किशनजी

जुलाई 1956 में आंध्रप्रदेश के करीमनगर में जन्में माओवादी नेता मल्लोजुला कोटेश्वर राव ऊर्फ किशनजी ने हैदराबाद में अपनी पढ़ाई की और 70 के दशक में नक्सल आंदोलन में शामिल हुये.

नई!!: हैदराबाद और किशनजी · और देखें »

किंगफिशर रेड

किंगफिशर रेड, पहले सिम्प्लीफ्लै डेक्कन और उसके पहले एयर डेक्कन के नाम से जाना जाता है। इस्का मुख्यालय मुंबई, भारत में किंगफिशर एयरलाइंस द्वारा चलाए जा रहा एक कम लागत ब्रांड था। उड़ान में पठन सामग्री विशेष रूप से किंगफिशर रेड के लिए मुद्रित, सिने ब्लिट्ज पत्रिका के एक विशेष संस्करण के लिए सीमित था। २८ सितंबर २०११ को किंगफिशर रेड के अध्यक्ष, विजय माल्या ने यह घोषणा की कि कंपनी जल्द ही किंगफिशर रेड के संचालन को रोक रही है क्योंकि कम कीमत के संचालन में से उन्के कारोबार में कोई लाभ नहीं है। .

नई!!: हैदराबाद और किंगफिशर रेड · और देखें »

कंचन चौधरी भट्टाचार्या

कंचन चौधरी भट्टाचार्य उत्तराखंड पुलिस की पूर्व महानिदेशक है। थोड़े समय पूर्व इन्होंने राजनीति में कदम रखा और आम आदमी पार्टी के उम्मीदवार के रूप में हरिद्वार, उत्तराखंड से 2014 के भारतीय आम चुनाव</nowiki> में भाग लिया। वह एक राज्य की पुलिस महानिदेशक  बनने  वाली पहली महिला है और ३१ अक्टूबर २००७ को  सेवा से सेवानिवृत्त हुई। वह किरण बेदी के बाद इस देश की दूसरी महिला आईपीएस अधिकारी है।  .

नई!!: हैदराबाद और कंचन चौधरी भट्टाचार्या · और देखें »

कुर्नूल जिला

कुर्नूल भारतीय राज्य आंध्र प्रदेश का एक जिला है। कुर्नूल तुंगभद्रा और हंद्री नदी के दक्षिणी किनारे पर स्थित आंध्र प्रदेश का एक प्रमुख जिला है। 12वीं शताब्‍दी में ओड्डार जब आलमपुर का निर्माण करने के लिए पत्‍थरों काटते थे तो यहां आकर उनको फिनिशिंग देते थे। 1953 से 1956 त‍क कुर्नूल आंध्रप्रदेश राज्‍य की राजधानी भी रहा। इसके बाद ही हैदराबाद यहां की राजधानी बनी। आज भी यहां विजयनगर राजाओं के शाही महल के अवशेष देख्‍ो जा सकते हैं जो 14वीं से 16वीं शताब्‍दी के बीच बने हैं। पारसी और अरबी शिलालेख भी यहां देखने को मिलते हैं जिससे यहां के महत्‍व का पता चलता है। .

नई!!: हैदराबाद और कुर्नूल जिला · और देखें »

कुल्कचर्ल

कुल्कचर्ल रंगारेड्डी जिले का एक शहर है। यह हैदराबाद से ८५ किलोमीटर दूरी पर है। श्रेणी:रंगारेड्डी जिला श्रेणी:तेलंगाना के नगर.

नई!!: हैदराबाद और कुल्कचर्ल · और देखें »

क्यानन चेनई

क्यानन चेनई (Kynan Chenai) (जन्म २९ जनवरी १९९१,हैदराबाद) एक भारतीय शूटर है। इन्होंने भारत की ओर से ब्राजील रियो डि जेनेरियो में आयोजित किये गए 2016 ग्रीष्मकालीन ओलम्पिक खेलों में हिस्सा लिया। .

नई!!: हैदराबाद और क्यानन चेनई · और देखें »

क्रोमा

क्रोमा (Cromā) उपभोक्ता इलेक्ट्रॉनिक्स और ड्यूरेबल्स के लिए एक भारतीय खुदरा श्रृंखला है। टाटा समूह की कंपनी इनफिनिटी रिटेल भारत में क्रोमा स्टोर चलाती है। अभी भारत मे ४२ क्रोमा और ५ क्रोमा जि़प स्टोर चल रहे है। स्टोर (मुंबई, पुणे, औरंगाबाद) महाराष्ट्र, गुजरात (अहमदाबाद, राजकोट, सूरत, वडोदरा), दिल्ली एनसीआर, कर्नाटक (बंगलोर), तमिलनाडु (चेन्नई) और आंध्र प्रदेश (हैदराबाद) राज्यों में फैले हुए हैं। क्रोमा जि़प स्टोर पोर्टेबल इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों के लिए है और मोबाइल उपभोक्ता के लिए है। पहला ज़िप स्टोर २२ जून २००७ को मुंबई के घरेलू हवाई अड्डे पर खोला गया था। क्रोमा ८ श्रेणियों में ६००० उत्पादों को पेश करती है। .

नई!!: हैदराबाद और क्रोमा · और देखें »

कृष्णा (अभिनेता)

शिवा राम कृष्णा घट्टामनेनी, जो कृष्णा नाम से अधिक प्रसिद्ध हैं, एक भारतीय अभिनेता हैं, जो प्रमुखतः तेलुगु फिल्मों में अभिनय करते हैं। इन्होंने अपने फिल्म कैरियर के शुरुआती वर्षों में, उन्होंने 1968 में ताश्कंद फिल्म समारोह में आलोचनात्मक प्रशंसा हासिल करने वाले साक्षी फिल्मों में अभिनय किया। 1972 में उन्होंने पंडंडी कपूरम में अभिनय किया, जिसने उस वर्ष तेलुगू में सर्वश्रेष्ठ फीचर फिल्म का राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार जीता। उन्होंने विभिन्न शैलीओं में भूमिका निभाई है जिसमें पौराणिक, नाटक, सामाजिक, चरवाहा, पश्चिमी क्लासिक, लोककथाओं, क्रिया और ऐतिहासिक शामिल हैं। तेलुगू फिल्म उद्योग में पहले ईस्टमाइन रंगीन फिल्म इनादु (1982) की पहली सिनेमास्कोप फिल्म जैसी कई तकनीकी पहली फिल्मों का उत्पादन करने के लिए उन्हें श्रेय दिया जाता है; अल्लारी सीतारामा राजू (1974), पहली 70 मिमी फिल्म; सिंहासन (1986), पहली डीटीएस फिल्म; तेलुगू वीरा लेवारा (1995) और तेलुगू स्क्रीन पर काउबॉय शैली की शुरुआत की। उन्होंने तेलुगु जासूसी फिल्म सिक्वेल में अभिनय किया; गुडचार्य 116 (1966), जेम्स बॉन्ड 777 (1971), एजेंट गोपी (1978), रहस्या गुडाचारी (1981) और गुडाचारी 117 (1989)। कृष्ण ने शंकरवाम (1987), मुगुरु कोदुकुली (1988), कोदुकु दीदीना कपूरम (1989), बाला चंद्रदुडू (1990), और अन्ना थमदुडू (1990) को अपने पुत्र महेश बाबू को निर्णायक भूमिका निभाई। कृष्णा ने 17 फीचर फिल्मों का निर्देशन किया, उन्होंने पद्ममाय फिल्म स्टूडियो के तहत विभिन्न फिल्मों का निर्माण किया, उनके द्वारा एक प्रोडक्शन हाउस का स्वामित्व। कृष्णा ने समय के कई निर्देशकों जैसे आदिरी सुब्बा राव, वी मधुसूदन राव, के विश्वनाथ, बापू, दासरी नारायण राव और के राघवेंद्र राव के साथ मिलकर काम किया। उन्होंने विजयनरमर के 48 से अधिक फिल्मों और "जयप्रकाश" के साथ 47 फिल्मों के लिए एक ही अभिनेत्री के साथ युगल बनाने का रिकॉर्ड भी बनाया है। दिसंबर 2012 में, 69 वर्ष की आयु में, कृष्ण ने राजनीति से अपनी सेवानिवृत्ति की घोषणा की। उन्होंने 25 फिल्मों की दोहरी भूमिकाएं और 7 फिल्मों में ट्रिपल रोल में अभिनय किया है। .

नई!!: हैदराबाद और कृष्णा (अभिनेता) · और देखें »

कृष्णा नदी

विजयवाड़ा में बहती कृष्णा कृष्णा भारत में बहनेवाली एक नदी है। यह पश्चिमी घाट के पर्वत महाबलेश्वर से निकलती है। इसकी लम्बाई प्रायः 1290 किलोमीटर है। यह दक्षिण-पूर्व में बहती हुई बंगाल की खाड़ी में जाकर गिरती है। कृष्णा नदी की उपनदियों में प्रमुख हैं: तुंगभद्रा, घाटप्रभा, मूसी और भीमा.

नई!!: हैदराबाद और कृष्णा नदी · और देखें »

कैमरून व्हाइट

कैमरून लिओन व्हाइट (जन्म 18 अगस्त 1983 को बार्न्सडेल, विक्टोरिया में) एक ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट खिलाड़ी और मौजूदा ऑस्ट्रेलियाई ट्वेंटी-20 टीम के कप्तान हैं। मध्यक्रम के बेहतरीन बल्लेबाज़ और दाएं हाथ के लेग स्पिन गेंदबाज व्हाइट ने प्रथम श्रेणी क्रिकेट में अपनी शुरूआत 2000-01 के सत्र में विक्टोरियन बुशरेंजर की ओर से एक बॉलिंग ऑलराउंडर के रूप में की थी। शुरुआत में उनकी तुलना विक्टोरिया के साथी खिलाड़ी शेन वार्न के साथ की गयी लेकिन बाद में यह तुलना फीकी पड़ गई क्योंकि व्हाइट ने एंड्रयू साइमंड्स के समान एक कभी-कभार गेंदबाजी करने वाले बल्लेबाज की भूमिका निभानी शुरू कर दी। वर्ष 2003-04 में विक्टोरिया की एकदिवसीय टीम की कमान सँभालने के साथ वे 20 वर्ष की आयु में विक्टोरिया के सबसे युवा कप्तान बने और उस सत्र के बाद प्रथम श्रेणी की कप्तानी का जिम्मा भी उन्ही को सौंप दिया गया। पहली बार 2005 में उन्हें अंतर्राष्ट्रीय पहचान मिली, लेकिन वह लगातार अंदर बाहर होते रहे क्योंकि चयनकर्ता और राष्ट्रीय टीम के कप्तान रिकी पॉन्टिंग चाहते थे कि व्हाइट मुख्य स्पिनर के रूप में खेलने के लिए अपनी गेंदबाजी को और बेहतर बनाएं.

नई!!: हैदराबाद और कैमरून व्हाइट · और देखें »

के शिवा रेड्डी

के शिवा रेड्डी (१९४३) तेलुगु के सुप्रसिद्ध कवि हैं। उनका जन्म आंध्र प्रदेश के कारुमुरिवारी पालम गाँव में हुआ। उनके छे कविता संग्रह प्रकाशित हुए हैं। रक्तम सूर्युदु के लिए उन्हें फ्री वर्स फ़्रंट पुरस्कार से अलंकृत किया गया। १९८९ में उन्हें मोहना ओ मोहना कविता संग्रह के लिए साहित्य अकादमी द्वारा पुरस्कृत किया गया। वे हैदराबाद में रहते और काम करते हैं। .

नई!!: हैदराबाद और के शिवा रेड्डी · और देखें »

के के मुहम्मद

"के के मुहम्मद" एक प्रसिद्ध भारतीय पुरातत्वविद् है। वे भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण (एएसआई) के क्षेत्रीय निदेशक (उत्तर) थे, और वर्तमान में आगा खान संस्कृति ट्रस्ट में पुरातात्विक परियोजना निदेशक के रूप में सेवा दे रहे हैं। .

नई!!: हैदराबाद और के के मुहम्मद · और देखें »

केन्द्रीय सरकार स्वास्थ्य योजना

केन्द्रीय सरकार स्वास्थ्य योजना (Central Government Health Scheme (CGHS)) भारत सरकार के स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा संचालित एक स्वास्थ्य योजना है। यह १९५४ में आरम्भ किया गया था। इसका उद्देश्य भारत के केन्द्रीय सरकार के कर्मचारियों, पेंशनधारियों, तथा उनके आश्रितों को सम्पूर्ण स्वास्थ्य सेवा उपलब्ध कराना है। यह सेवा निम्नलिखित नगरों में उपलब्ध है- .

नई!!: हैदराबाद और केन्द्रीय सरकार स्वास्थ्य योजना · और देखें »

केन्द्रीय हिन्दी निदेशालय

केन्द्रीय हिन्दी निदेशालय, नई दिल्ली स्थित एक सरकारी विभाग है, जो भारत सरकार के मानव संसाधन विकास मंत्रालय के अधीन है और मानक हिन्दी के प्रसार के लिए उत्तरदायी है। यह देवनागरी लिपि के उपयोग और हिन्दी वर्तनी का विनियामन भी करता है।भारतीय संविधान के में हिन्दी भाषा के विकास के लिए दिए गए निर्देश को ध्यान में रखते हुए १ मार्च १९६० को केन्द्रीय हिन्दी निदेशालय की स्थापना की गई थी। इसके चार क्षेत्रीय कार्यालय हैं जो चैन्नई, हैदराबाद, गुवाहाटी और कोलकाता में स्थित हैं। .

नई!!: हैदराबाद और केन्द्रीय हिन्दी निदेशालय · और देखें »

केन्द्रीय हिन्दी संस्थान

केंद्रीय हिंदी संस्थान भारत सरकार के मानव संसाधन विकास मंत्रालय के अधीन एक उच्चतर शैक्षणिक एवं शोध संस्थान है। इसका मुख्यालय आगरा में है। इसके आठ केंद्र- दिल्ली, हैदराबाद, गुवाहाटी, शिलांग, मैसूर, दीमापुर, भुवनेश्वर तथा अहमदाबाद हैं। भारतीय संविधान के अनुच्छेद 351 में निहित दिशा-निर्देशों के अनुरूप हिंदी को अपनी विविध भूमिकाएं निभाने में समर्थ और सक्रिय बनाने के उद्देश्य से और विविध शैक्षिक, सांस्कृतिक और व्यावहारिक स्तरों पर सुनियोजित अनुसंधान द्वारा शिक्षण-प्रशिक्षण, भाषाविश्लेषण, भाषा का तुलनात्मक अध्ययन तथा शिक्षण सामग्री निर्माण आदि को विकसित करने के लिए सन् १९६१ में भारत सरकार के तत्कालीन शिक्षा एवं समाज कल्याण मंत्रालय द्वारा केंद्रीय हिंदी संस्थान की स्थापना उत्तर प्रदेश के आगरा शहर में की गई। संस्थान का मुख्य कार्य हिंदी भाषा से संबंधित क्षैक्षणिक कार्यक्रम चलाना, शोध कार्य संपन्न करना एवं हिन्दी के प्रचार प्रसार में अग्रणी भूमिका निभाना है। प्रारंभ में संस्थान का प्रमुख कार्य अहिंदी भाषी क्षेत्रों के लिए योग्य, सक्षम एवं प्रभावकारी हिंदी अध्यापकों को ट्रेनिंग कॉलेज और स्कूली स्तरों पर पढ़ाने के लिए प्रशिक्षित करना था। परंतु बाद में हिंदी के शैक्षिक प्रचार-प्रसार और विकास को ध्यान में रखते हुए संस्थान ने अपने कार्य क्षेत्रों और प्रकार्यों को विस्तृत किया, जिसके अंतर्गत हिंदी शिक्षण-प्रशिक्षण, हिंदी भाषा-परक शोध, भाषाविज्ञान तथा तुलनात्मक साहित्य आदि विषयों से संबंधित मूलभूत वैज्ञानिक अनुसंधान कार्यक्रमों को संचालित करना प्रारंभ किया तथा विविध स्तरीय पाठ्यक्रमों, शैक्षिक सामग्री, अध्यापक निर्देशिकाएँ इत्यादि तैयार करने का कार्य भी प्रारंभ किया। यह संस्थान हिंदी अध्ययन-अध्यापन और अनुसंधान का एक महत्वपूर्ण केंद्र है। संस्थान को उच्च स्तरीय शैक्षिक संस्थान के रूप में राष्ट्रीय स्तर पर ही नहीं, अपितु अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर भी मान्यता प्राप्त है। हिंदी भारत की सामासिक संस्कृति की संवाहिका के रूप में अपनी सार्थक भूमिका निभा सके, इस उद्देश्य एवं संकल्प के साथ संस्थान निरंतर कार्यरत है। अखिल भारतीय स्तर पर हिंदी को संपर्क भाषा के रूप में प्रतिष्ठित करने के लिए भी संस्थान अथक प्रयास कर रहा है। संस्थान का मूलभूत उद्देश्य है कि भारतीय भाषाएँ एक दूसरे के निकट आएँ और सामान्य बोधगम्यता की द्रष्टि से हिंदी इनके बीच सेतु का कार्य करे तथा अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर भारतीय चेतना, संस्कृति एवं उससे संबद्ध मूल तत्व हिंदी के माध्यम से प्रसारित ही न हों, बल्कि सुग्राह्य भी बनें। .

नई!!: हैदराबाद और केन्द्रीय हिन्दी संस्थान · और देखें »

केन्द्रीय उपकरण अभिकल्पन संस्थान

केन्द्रीय उपकरण अभिकल्पन संस्थान (Central Institute of Tool Design) उपकरण इंजीनियरी में विशिष्ट शिक्षण प्रोग्राम चलाने वाला एशिया का प्रमुख संस्थान है। इसका मुख्य संस्थान हैदराबाद में स्थित है। इसके अन्य दो कैम्पस क्रमशः विजयवाड़ा एवं चेन्नै में स्थित हैं। .

नई!!: हैदराबाद और केन्द्रीय उपकरण अभिकल्पन संस्थान · और देखें »

के॰ चंद्रशेखर राव

कल्वाकुंतला चंद्रशेखर राव, संक्षेप में केसीआर, जन्म 17 फरवरी, 1954) तेलंगाना के वर्तमान मुख्यमंत्री, तेलंगाना राष्ट्र समिति के प्रमुख, तथा अलग तेलंगाना राष्ट्र आंदोलन के प्रमुख कार्यकर्ता हैं। वे तेलंगाना के मेदक जिले के गजवेल विधानसभा क्षेत्र से विधायक हैं। उन्होने ०२ जून २०१४ को तेलंगाना के मुख्यमंत्री पद की शपथ ली। इसके पूर्व वे सिद्धिपेट से विधायक तथा महबूबनगर और करीमनगर से सांसद रह चुके हैं। वे केंद्र में श्रम और नियोजन मंत्री रह चुके हैं। तेलंगाना राष्ट्र समिति के गठन से पहले वे तेलुगु देशम पार्टी के सदस्य थे। उन्होंने अलग तेलंगाना राज्य के निर्माण की मांग करते हुए तेलगू देशम पार्टी छोड़ी। तेलंगाना राष्ट्र समिति 2004 कांग्रेस के साथ 2004 में लोकसभा चुनाव लड़ी थी और उसे पांच सीटें मिली। जून 2009 तक वे संप्रग सरकार में थे, लेकिन अलग तेलंगाना राष्ट्र पर संप्रग के नकारात्मक रवैये के कारण उन्हें संप्रग से बाहर आ गए। .

नई!!: हैदराबाद और के॰ चंद्रशेखर राव · और देखें »

कॉल्विन तालुकेदार्स कालेज

कॉल्विन तालुकेदार्स कालेज लखनऊ में स्थित एक कालेज हैं। गोमती नदी के तट पर तकरीबन 80 एकड भूमि के विस्तार में फैले इस कालेज कॉल्विन तालुकेदार्स कालेज की स्थापना 11 मार्च 1891 को अवध और आगरा प्रान्त के मुख्य आयुक्त सर आक्लैन्ड काल्विन ने इसके मुख्य भवन की नींव रखी परन्तु वास्तव में यह विद्यालय वर्ष 1892 में प्रारंभ हो सका जब इसमें तत्कालीन रजवाडों और तालुकदार के पाल्यो ने दाखिला लिया। इसमें प्रवेश की एकमात्र तथा अंतिम शर्त राजघराने का पुत्र या पाल्य होना ही थी। यह संस्था विशुद्ध रूप से रजवाडों के पाल्यों को अंग्रजी माध्यम से शिक्षा दिलाने के लिये स्थापित की गयी थी अतः इसमें छात्रों की संख्या 50 से ऊपर न होती थी। जिस वर्ष इस की छात्र संख्या ने 100 का आंकडा छुआ उस दिन प्रसन्नतावश विद्यालय में एक दिन का अवकाश घोषित किया गया। .

नई!!: हैदराबाद और कॉल्विन तालुकेदार्स कालेज · और देखें »

कॉग्निजेंट (Cognizant)

कॉग्निजेंट टेक्नॉलजी सोल्यूशन्स (कॉग्निजेंट) (Cognizant Technology Solutions (Cognizant)) अमेरिका स्थित एक बहुराष्ट्रीय कंपनी है जो व्यापार तकनीक और परामर्श सेवाएं प्रदान करती है, इसका मुख्यालय अमेरिका के न्यूजर्सी के टीनेक में हैं। कॉग्निजेंट का नाम फॉर्च्यून 2010 की लगातार आठ वर्षों से सबसे तेजी से बढ़ने वाली 100 कंपनियों की सूची में शामिल है। कॉग्निजेंट को फॉर्च्यून 1000 और फोर्ब्स ग्लोबल 2000 सूचियों में भी स्थान दिया गया है। इसे बिजनेस वीक 2010 की सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने वाली 50 अमेरिकी कंपनियों की सूची, बिजनेस वीक हॉटेस्ट टेक (Tech) कंपनीज़ 2010 और फोर्ब्स की 25 सबसे तेजी से बढ़ती अमेरिकी प्रोद्योगिकी कंपनियों की फास्ट टेक 2010 सूची में लगातार स्थान दिया गया है। .

नई!!: हैदराबाद और कॉग्निजेंट (Cognizant) · और देखें »

कोमाराम भीम

कोमाराम भीम कोमाराम भीम (22 अक्टूबर 1901 – 8 अक्टूबर 1940) भारत के एक जनजातीय नेता थे जिन्होने हैदराबाद की मुक्ति के लिये के आसफ जाही राजवंश के विरुद्ध संघर्ष किया। उनका संघर्ष छापामार शैली का था। उन्होने निजाम के न्यायालयी आदेशों, कानूनों और उसकी प्रभुसत्ता को सीधे चुनौती दी और वन में रहकर संघर्ष किया। .

नई!!: हैदराबाद और कोमाराम भीम · और देखें »

कोलकाता पुल हादसा

भारतीय महानगर कोलकाता के गिरिश नगर पार्क में एक निर्माणाधीन पुल ३१ मार्च २०१६ को ढ़ह गया। इसमें कम से कम २७ लोग मारे गये और ८० घायल हो गये। .

नई!!: हैदराबाद और कोलकाता पुल हादसा · और देखें »

कोशिकीय एवं आणविक जीवविज्ञान केन्द्र

कोशिकीय व आण्विक जीवविज्ञान केंद्र (सी.सी.एम.बी.), भारत भर में फैली सी एस आई आर की विविध प्रयोगशालाओं में से एक है। यह आन्ध्र प्रदेश की राजधानी, हैदराबाद में स्थित है और जीवविज्ञान के आधुनिक और महत्वपूर्ण क्षेत्रों को समर्पित प्रयोगशाला है। वर्ष 1987 में, 26 नवम्बर के दिन भारत के तत्कालीन प्रधानमंत्री राजीव गांधी द्वारा राष्ट्र को समर्पित की गई थी। इसे सी.एस.आई.आर की एक पूर्ण विकसित राष्ट्रीय प्रयोगशाला के रूप में वर्ष 1982 में ही मान्यता प्राप्त हो गयी थी, लेकिन अपने आरंभ के कुछ वर्षों में यह आई.आई.सी.टी, (पूर्व नाम आर.आर.एल.) प्रयोगशाला परिसर से काम करती रही। उसी समय, आई.आई.सी.टी के निकट, उसी प्रयोगशाला के परिसर में, इस केन्द्र के अपने भवनों का निर्माण आरंभ हुआ। वर्ष 1987 तक आते-आते अनेक लोगों के अथक और अद्भुत प्रयासों की सहायता से यह केन्द्र अपने लिए सभी सुविधाओं से युक्त एक सुन्दर परिसर को जुटा सका। आज इस केन्द्र को जीव विज्ञान के क्षेत्र में राष्ट्रीय एवं अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर एक विशेष ख्याति प्राप्त हो चुकी है। प्रमुखत: यह केन्द्र आज जीव विज्ञान के नवीनतम क्षेत्रों के शोधकार्य एवं उनके अनुप्रयोग को ढूँढने के प्रयासों में जुटा हुआ है। इसके क्रिया-कलापों में आधारभूत शोध कार्य से लेकर समाज-उपयोगी तथा चिकित्सा क्षेत्र से जुड़े शोधकार्य तक सम्मिलित हैं। .

नई!!: हैदराबाद और कोशिकीय एवं आणविक जीवविज्ञान केन्द्र · और देखें »

कोका कोला त्रिकोणी सीरीज 1998

1998 कोका-कोला त्रिकोणीय सीरीज़ मई 1998 में भारत में आयोजित एक दिवसीय अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट टूर्नामेंट था। यह बांग्लादेश, भारत और केन्या के बीच एक त्रि-राष्ट्र श्रृंखला थी। भारत ने केन्या को फाइनल में हराकर टूर्नामेंट जीत ली। .

नई!!: हैदराबाद और कोका कोला त्रिकोणी सीरीज 1998 · और देखें »

कीसर

कीसर रंगारेड्डी जिले का एक शहर है। यह हैदराबाद से २५ किलोमीटर दूरी पर है। श्रेणी:रंगारेड्डी जिला श्रेणी:तेलंगाना के नगर.

नई!!: हैदराबाद और कीसर · और देखें »

अदिति राव हैदरी

अदिति राव हैदरी एक भारतीय फ़िल्म अभिनेत्री हैं। इनका जन्म हैदराबाद, तेलंगाना में २८ अक्टूबर १९७६ में हुआ था। ये शास्त्रीय नृत्य भरतनाट्यम में निपुण हैं। इन्होंने कई फ़िल्मों में कार्य किया है। २०१६ की फ़िल्म वज़ीर में भी कार्य किया है। .

नई!!: हैदराबाद और अदिति राव हैदरी · और देखें »

अन्नपूर्णा स्टूडियो

अन्नपूर्णा स्टूडियो भारत के शीर्ष फ़िल्म स्टूडियो में से एक है। यह हैदराबाद, भारत में स्थित है। इसकी स्थापना 1955 में अक्कीनेनी नागेश्वर राव ने किया है। .

नई!!: हैदराबाद और अन्नपूर्णा स्टूडियो · और देखें »

अब्बास अली बेग

अब्बास अली बेग (जन्म; १९ मार्च १९३९, हैदराबाद, ब्रितानी भारत) एक पूर्व भारतीय क्रिकेट खिलाड़ी है। ये मुख्य रूप से बल्लेबाजी के लिए जाते है जो अपने कैरियर में दाहिने हाथ से बल्लेबाजी करते थे और गेंदबाजी में ये लेग ब्रेक गेंदबाजी करते थे। इन्हें एक बार ड्रेसिंग रूप में जाते समय एक क्रिकेट प्रशंसक ने उनके गाल को चूम लिया था और इस घटना के कारण ही ये ज्यादा लोकप्रिय हुए है। .

नई!!: हैदराबाद और अब्बास अली बेग · और देखें »

अमरावती, आन्ध्र प्रदेश

अमरावती: आन्ध्र प्रदेश की प्रस्तवित राजधानी का नाम है। यह कृष्णा नदी के दक्षिणी तट पर निर्मित किया जाएगा। "अमरावती" शब्द को अमरावती मंदिर के ऐतिहासिक शहर, जो की सतवाहन राजवंश के तेलगु राजाओं की प्राचीन राजधानी थी, से लिया गया है। प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने उदंडरायणपालम इलाके में 22 अक्टूबर 2015 को नींव का पत्थर रखा था। गुंटूर और विजयवाड़ा का महानगरीय क्षेत्र मिला कर अमरावती महानगर क्षेत्र का निर्माण किया जायेगा। यह एक नव नियोजित शहर है जो गुंटूर जिले में स्थित प्राचीन अमरावती शहर से इसका नाम प्राप्त करता है। अमरावती पड़ोसी विजयवाड़ा, गुंटूर और तेनाली के साथ अमरावती महानगरीय क्षेत्र, अर्थात् आंध्र प्रदेश राजधानी क्षेत्र, जो 2011 की जनगणना के अनुसार 5.8 मिलियन की आबादी वाला आंध्र प्रदेश राज्य का सबसे बड़ा आबादी वाला क्षेत्र है, और एपीसीआरडीए द्वारा शासित है। अमरावती की राजधानी शहर थुलुर मंडल में एक नया शहर है और ऐतिहासिक बौद्ध शहर अमरवथी से अलग है। अमरावती क्षेत्र एक महत्वपूर्ण हिस्सा है और प्राचीन इतिहास से कई साम्राज्यों पर शासन किया गया है। अमरावती सातवाहन राजाओं और वासरेड्डी वेंकटदाद्री नायडू के लिए राजधानी शहर थीं। .

नई!!: हैदराबाद और अमरावती, आन्ध्र प्रदेश · और देखें »

अमाला

अमाला अक्किनेनी एक भारतीय व आयरिश सभ्य की भारतीय फिल्म अभिनेत्री हैं, भरतनाट्यम नृत्यक, और पशु कल्याण कार्यकर्त्ता हैं। वह तमिल व तेलुगु सिनेमा में अपने कार्य के लिए लोकप्रिय हैं। उन्होंने कुछ कन्नड़, मलयालम, और बॉलीवुड फिल्मो में भी काम किया हैं साथ ही में उन्होंने २ फिल्म्फेयर पुरस्कार साउथ व एक सिनेमा पुरस्कार भी जीता हैं। अमाला हैदराबाद के एक गैर सरकारी संघठन, ब्लू क्रॉस की भी सह-संस्थापक हैं जो कि जानवरों के कल्याण और भारत में पशु अधिकारों के संरक्षण के लिए काम करता है। .

नई!!: हैदराबाद और अमाला · और देखें »

अमजद हैदराबादी

अमजद हुसैन (سيد امجد حسين&lrm;; 1878–1961), लेखकीय नाम: अमजद हैदराबादी (امجد حيدرابادى), भारत के हैदराबाद से उर्दू और फारसी के शायर थे। .

नई!!: हैदराबाद और अमजद हैदराबादी · और देखें »

अमीर मीनाई

मुंशी अमीर अहमद "मीनाई" (जन्म १८२८-मृत्यु १९००) एक उर्दू शायर थे। 1857 के ग़दर के बाद ये रामपुर चले आए और ४३ वर्षों तक वहाँ रहे। १९०० में हैदराबाद जाने के बाद इनकी मृत्यु हो गई। इन्होंने २२ किताबें लिखीं जिसमें ४ दीवान (ग़ज़ल संग्रह) हैं। श्रेणी:उर्दू शायर श्रेणी:1828 में जन्मे लोग श्रेणी:१९०१ में निधन श्रेणी:भारतीय शायर श्रेणी:चित्र जोड़ें.

नई!!: हैदराबाद और अमीर मीनाई · और देखें »

अरुण कांबले

अरुण कृष्णाजी कांबले (मराठी: अरुण कृष्णाजी कांबळे) (१४ मार्च, १९५३ -- २० दिसंबर, २००९)। अरुण कृष्णाजी कांबले मराठी साहीत्य में लेखक और दलितों में अग्रणी नेतृत्व थे। अरुण कांबले, दलित पैंथर्स के संस्थापक हैं और वर्तमान में विश्वविद्यालय मुंबई में मराठी विभाग के प्रोफेसर के रूप में काम कर रहे थे। वह जनता दल के महासचिव थे। उन्होंने दलितों, पिछड़ा वर्ग के लोगों और अल्पसंख्यकों के पक्ष में प्रमुख निर्णय लिये थे। .

नई!!: हैदराबाद और अरुण कांबले · और देखें »

अरुप राहा

एयर चीफ मार्शल अरुप राहा, परम विशिष्ट सेवा पदक,अति विशिष्ट सेवा पदक,वायु सेना पदक,Aide de Camp से सम्मानित अधिकारी है। वे 31 दिसंबर 2013 से 31 दिसंबर 2016 तक भारतीय वायु सेना के 24 वें प्रमुख थे। वह चीफ ऑफ स्टाफ कमेटी के अध्यक्ष भी थे, जो भारत के सबसे वरिष्ठ सैन्य अधिकारी द्वारा निर्देशित होती है और जो सरकार को सलाह देता है और सशस्त्र बलों में सामंजस्य को सुनिश्चित करती है .

नई!!: हैदराबाद और अरुप राहा · और देखें »

अलिस्मातालेस

अलिस्मातालेस (Alismatales) सपुष्पक पौधों का एक जीववैज्ञानिक गण है, जिसमें लगभग ४,५०० जातियाँ वर्गीकृत हैं। यह जातियाँ अधिकतर उष्णकटिबंधीय या जलीय हैं। कुछ मीठे पानी में उगती हैं और कुछ समुद्री पर्यावासों में। .

नई!!: हैदराबाद और अलिस्मातालेस · और देखें »

अल्लू अर्जुन

Goldmines-Know About The Real अल्लू अर्जुन (అల్లు అర్జున్) (यह एक तेलुगू नाम है, जहां परिवार का नाम अल्लू है।), (जन्म - 8 अप्रैल 1983) एक भारतीय फिल्म अभिनेता हैं और तेलुगू फिल्मों के लिए काम करते हैं। वर्षों से तेलुगू सिनेमा से जुड़े एक परिवार में इनकी पैदाइश है, अल्लू अर्जुन, निर्माता अल्लू अरविंद के बेटे हैं हालांकि अन्य उल्लेखनीय रिश्तेदारों में चाचा चिरंजीवी और पवन कल्याण और चचेरे भाई राम चरण तेजा शामिल हैं। ये संतोष आर्या के बड़े प्रशंसक हैं। इन्हें ऐसी फिल्मों के लिए जाना जाता है जिनका उद्देश्य पारिवारिक दर्शक होते हैं, अल्लू अर्जुन ने अपने अभिनय के लिए प्रमुख रूप से फिल्मफेयर और नंदी पुरस्कार जीता है। अल्लू अर्जुन ने के.राघवेंद्र राव के गंगोत्री (2003) से अपने अभिनय कैरियर की शुरूआत की और फिर 2004 में रोमांस फिल्म आर्या के मुख्य किरदार रहे, जिसमें उन्होंने मुख्य अभिनेत्री से "एक तरफा प्यार" करने वाले एक छात्र की भूमिका निभाई। हालांकि उनकी प्रारंभिक फिल्मों में ही उन्होंने अपने प्रशंसकों को स्थापित कर लिया था और हाल ही की उनकी फिल्मों में 2004 की हिट फिल्म आर्या की सिक्वेल आर्या 2 में भूमिका के साथ अल्लू अर्जुन के स्टाइलिश अवतार पर ध्यान केंद्रित किया हालांकि हाल ही में सफलता प्राप्त वेदम में पांच मुख्य किरदारों में एक मुख्य किरदार किया है। उनकी सभी फिल्मों को मलयालम में डब किया गया है जिसके चलते वे मलयालम सिनेमा में काफी लोकप्रिय हो गए हैं, साथ ही उनके कुछ फिल्मों को तमिल में भी डब किया गया है। .

नई!!: हैदराबाद और अल्लू अर्जुन · और देखें »

अली (अभिनेता)

अली एक भारतीय अभिनेता और टीवी प्रस्तोता है जो मुख्यतः तेलुगू सिनेमा में काम करते है। उन्होंने तेलुगू, तमिल और हिंदी में 1000 से अधिक फिल्मों में अभिनय किया है। वह पवन कल्याण और पुरी जगन्नाध के फिल्मों में एक नियमित अभिनेता हैं। उन्होंने दो फिल्मफेयर पुरस्कार और दो नंदी पुरस्कार जीते हैं। .

नई!!: हैदराबाद और अली (अभिनेता) · और देखें »

अश्विनी पोनप्पा

अश्विनी पोनप्पा (ಅಶ್ವಿನಿ ಪೊನ್ನಪ್ಪ; जन्म: 18 सितंबर 1989) एक भारतीय बैडमिंटन खिलाडी हैं। ग्लासगो में आयोजित कॉमनवेल्थ गेम्स 2014 में रजत पदक जीता हैं। 2010 कॉमनवेल्थ में ज्वाला गुट्टा के साथ गोल्ड मेडल जीत चुकीं इस खिलाड़ी ने वी.

नई!!: हैदराबाद और अश्विनी पोनप्पा · और देखें »

असदुद्दीन ओवैसी

असादुदीन ओवैसी (जन्म 13 मई 1969) भारतीय राजनीतिज्ञ हैं। ऑल इंडिया मज्लिस ए इतेहदुल मुसलिमीन के अध्यक्ष हैं। वे २००९ में हुए आमचुनाव में आंध्र प्रदेश के हैदराबाद चुनाव क्