लोगो
यूनियनपीडिया
संचार
Google Play पर पाएं
नई! अपने एंड्रॉयड डिवाइस पर डाउनलोड यूनियनपीडिया!
मुक्त
ब्राउज़र की तुलना में तेजी से पहुँच!
 

सौन्दर्य प्रसाधन

सूची सौन्दर्य प्रसाधन

कुछ सौन्दर्य प्रसाधन और लगाने के औजार स्त्री की रागालंकृत आँख का पास से लिया गया फोटो अंगराग या सौन्दर्य प्रसाधन या कॉस्मेटिक्स (Cosmetics) ऐसे पदार्थों को कहते हैं जो मानव शरीर के सौन्दर्य को बढ़ाने या सुगन्धित करने के काम आते हैं। शरीर के विभिन्न अंगों का सौंदर्य अथवा मोहकता बढ़ाने के लिए या उनको स्वच्छ रखने के लिए शरीर पर लगाई जाने वाली वस्तुओं को अंगराग (कॉस्मेटिक) कहते हैं, परंतु साबुन की गणना अंगरागों में नहीं की जाती। अंगराग प्राकृतिक या कृत्रिम दोनो प्रकार के होते हैं। वे विशेषतः त्वचा, केश, नाखून को सुन्दर और स्वस्थ बनाने के काम आते हैं। ये व्यक्ति के शरीर के गंध और सौन्दर्य की वृद्धि करने के लिये लगाये जाते है। शरीर के किसी अंग पर सौन्दर्य प्रसाध लगाने को 'मेक-अप' कहते हैं। इसे शरीर के सौन्दर्य निखारने के लिये लगाया जाता है। 'मेक-अप' की संस्कृति पश्चिमी देशों से आरम्भ होकर भारत सहित पूरे विश्व में फैल गयी है। 'मेक-अप' कई प्रक्रियाओं की एक शृंखला है जो चेहरे या सम्पूर्ण देह की छबि को बदलने का प्रयत्न करती है। यह किसी प्रकार की कमी को ढकने या छिपाने के साथ-साथ सुन्दरता को उभारने का काम भी करती है। .

17 संबंधों: तेज़ी से बिकने वाली उपभोक्ता वस्तुएँ, पतंजलि आयुर्वेद, फ़ूड एण्ड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन, फाउण्डेशन, मानविकी, मृत सागर, मैसूर मल्लिगे, रसायन विज्ञान, रंजनशलाका, सिन्दूर, संख्यावाची विशिष्ट गूढ़ार्थक शब्द, विभागीय भंडार, वोदका, खनिज तेल, कलौंजी, कस्तूरी, अखरोट (फल)

तेज़ी से बिकने वाली उपभोक्ता वस्तुएँ

तेजी से बिकने वाली उपभोक्ता वस्तुओं (अंग्रेजी: FMCG या Fast Moving Consumer Goods) से अभिप्राय उन उत्पादों से है जिन्हें अपेक्षाकृत कम कीमत पर किंतु शीघ्रता से बेचा जाता है। हालांकि FMCG की बिक्री पर परिशुद्ध लाभ अपेक्षाकृत कम होता है, लेकिन आम तौर पर यह वस्तुएं एक बड़ी मात्रा में बेची जाती हैं जिसके फलस्वरूप इन उत्पादों पर संचयी लाभ काफी ज्यादा बन जाता है। एफ.एम.सी.जी.

नई!!: सौन्दर्य प्रसाधन और तेज़ी से बिकने वाली उपभोक्ता वस्तुएँ · और देखें »

पतंजलि आयुर्वेद

पतंजलि आयुर्वेद लिमिटेड भारत प्रांत के उत्तराखंड राज्य के हरिद्वार जिले में स्थित आधुनिक उपकरणों वाली एक औद्योगिक इकाई है। इस औद्योगिक इकाई की स्थापना शुद्ध और गुणवत्तापूर्ण खनिज और हर्बल उत्पादों के निर्माण हेतु की गयी है। .

नई!!: सौन्दर्य प्रसाधन और पतंजलि आयुर्वेद · और देखें »

फ़ूड एण्ड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन

फ़ूड एण्ड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन (FDA या USFDA) संयुक्त राज्य अमेरिका के स्वास्थ्य एवं मानव सेवा विभाग की एक एजेंसी है, यह विभाग संयुक्त राज्य अमेरिका के संघीय कार्यपालिका विभागों में से एक है, खाद्य सुरक्षा, तम्बाकू उत्पादों, आहार अनुपूरकों, पर्चे और पर्चे-रहित दवाओं(चिकित्सीय औषधि), टीका, जैवऔषधीय, रक्त आधान, चिकित्सा उपकरण, विद्युत चुम्बकीय विकिरण करने वाले उपकरणों (ERED), पशु उत्पादों और सौंदर्य प्रसाधनों के विनियमन और पर्यवेक्षण के माध्यम से सार्वजनिक स्वास्थ्य को बढ़ावा देने के लिए ज़िम्मेदार है। FDA अन्य कानून भी लागू करती है, विशेष रूप से सार्वजनिक स्वास्थ्य सेवा अधिनियम की धारा 361 और सम्बद्ध विनियम जिनमें से कई खाद्य या औषधि से सीधे संबंधित नहीं है। इनमें अंतर्राज्यीय यात्रा के दौरान स्वच्छता और कुछ पालतू पशुओं से लेकर प्रजनन सहायतार्थ शुक्राणु दान तक के उत्पादों पर रोग नियंत्रण शामिल है। FDA का नेतृत्व सेनेट की सहमति और सलाह से राष्ट्रपति द्वारा नियुक्त आयुक्त, खाद्य और औषधि करते हैं। आयुक्त स्वास्थ्य और मानव सेवा के सचिव के नियंत्रणाधीन काम करते हैं। 21वें और वर्तमान आयुक्त हैं डॉ॰ मार्गरेट ए. हैम्बर्ग.

नई!!: सौन्दर्य प्रसाधन और फ़ूड एण्ड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन · और देखें »

फाउण्डेशन

फाउण्डेशन (Foundation) त्वचा के रंग वाला एक सौन्दर्य प्रसाधन है जो चेहरे पर लगाया (पोता) जाता है। फाउण्डेशन लगाने से त्वचा का रंग एक ही जैसा दिखाई देता है। इससे मेकअप के लिए एक आधार तैयार हो जाता है। इससे चेहरे के दाग, धब्बे एवं निशान आदि च्हिप जाते हैं। इसके अलावा त्वचा के मूल वर्ण को बदलने के लिये भी यह लगाया जाता है। त्वचा के रंग से एक शेड गहरा फाउण्डेशन ले लें। ये अक्सर स्टिक, तरल तथा क्रीम के रूप में मिलता है। इसे गर्दन, कान, चेहरे और हाथों के खुले हुए हिस्सों पर अच्छी तरह फैलाकर लगा लें। माथे, नाक, गालों, ठोड़ी और गर्दन पर यह निशानों की तरह लगा लें और फिर गीले स्पंज से अच्छी तरह फैला लें। अगर त्वचा ज्यादा रूखी है तो फाउण्डेंशन में थोड़ा सा मॉश्चराइजर मिला लें। अगर त्वचा तैलीय हो तो इसके अन्दर 1-2 बूंद पानी या गुलाबजल मिला सकते हैं। श्रेणी:सौन्दर्य श्रेणी:प्रसाधन.

नई!!: सौन्दर्य प्रसाधन और फाउण्डेशन · और देखें »

मानविकी

सिलानिओं द्वारा दार्शनिक प्लेटो का चित्र मानविकी वे शैक्षणिक विषय हैं जिनमें प्राकृतिक और सामाजिक विज्ञानों के मुख्यतः अनुभवजन्य दृष्टिकोणों के विपरीत, मुख्य रूप से विश्लेषणात्मक, आलोचनात्मक या काल्पनिक विधियों का इस्तेमाल कर मानवीय स्थिति का अध्ययन किया जाता है। प्राचीन और आधुनिक भाषाएं, साहित्य, कानून, इतिहास, दर्शन, धर्म और दृश्य एवं अभिनय कला (संगीत सहित) मानविकी संबंधी विषयों के उदाहरण हैं। मानविकी में कभी-कभी शामिल किये जाने वाले अतिरिक्त विषय हैं प्रौद्योगिकी (टेक्नोलॉजी), मानव-शास्त्र (एन्थ्रोपोलॉजी), क्षेत्र अध्ययन (एरिया स्टडीज), संचार अध्ययन (कम्युनिकेशन स्टडीज), सांस्कृतिक अध्ययन (कल्चरल स्टडीज) और भाषा विज्ञान (लिंग्विस्टिक्स), हालांकि इन्हें अक्सर सामाजिक विज्ञान (सोशल साइंस) के रूप में माना जाता है। मानविकी पर काम कर रहे विद्वानों का उल्लेख कभी-कभी "मानवतावादी (ह्यूमनिस्ट)" के रूप में भी किया जाता है। हालांकि यह शब्द मानवतावाद की दार्शनिक स्थिति का भी वर्णन करता है जिसे मानविकी के कुछ "मानवतावाद विरोधी" विद्वान अस्वीकार करते हैं। .

नई!!: सौन्दर्य प्रसाधन और मानविकी · और देखें »

मृत सागर

मृत सागर के तट पर नमक का जमाव मृत सागर समुद्र तल से ४०० मीटर नीचे, दुनिया का सबसे निचला बिंदु कहा जाने वाला सागर है। इसे खारे पानी की सबसे निचली झील भी कहा जाता है। ६५ किलोमीटर लंबा और १८ किलोमीटर चौड़ा यह सागर अपने उच्च घनत्व के लिए जाना जाता है, जिससे तैराकों का डूबना असंभव होता है। मृत सागर में मुख्यत: जॉर्डन नदी और अन्य छोटी नदियाँ आकर गिरती हैं। इसके उच्च घनत्व के कारण इसमें कोई मछली जिंदा नहीं रह सकती, लेकिन इसमें जीवाणुओं की ११ जातियाँ पाई जाती हैं। इसके अतिरिक्त मृत सागर में प्रचुर मात्रा में खनिज पाए जाते हैं। ये खनिज पदार्थ वातावरण के साथ मिल कर स्वास्थ्य के लिए लाभदायक वातावरण बनाते हैं। मृत सागर अपनी विलक्षणताओं के लिए कम से कम चौथी सदी से जाना जाता रहा है, जब विशेष नावों द्वारा इसकी सतह से शिलाजीत निकालकर मिस्रवासियों को बेचा जाता था। यह चीजों को सड़ने से बचाने, सुगंधित करने के अलावा अन्य दूसरे कार्यों के उपयोग में आता था। इसके अतिरिक्त मृत सागर के अंदर की गीली मिट्टी को क्लेयोपेट्रा की खूबसूरती के राज से भी जोड़ा जाता है। यहाँ तक कि अरस्तू ने भी इस सागर के भौतिक गुणों का जिक्र किया है। हाल के समय में इस जगह को हेल्थ रिज़ॉर्ट के तौर पर विकसित किया गया है। आम पानी की तुलना में मृत सागर के पानी में २० गुना ज्यादा ब्रोमीन, ५० गुना ज्यादा मैग्नीशियम और १० गुना ज्यादा आयोडीन होता है। ब्रोमीन धमनियों को शांत करता है, मैगनीशियम त्वचा की एलर्जी से लड़ता है और श्वासनली को साफ करता है, जबकि आयोडीन कई ग्रंथियों की क्रियाशीलता को बढ़ाता है। सौंदर्य और स्वास्थ्य के लिए मृत सागर के गुणों की सिद्धि की वजह से ही कई प्र कंपनियां मृत सागर से ली गईं चीजों पर आधारित सौंदर्य प्रसाधन बनाती हैं। इसके गर्म सल्फर सोते और कीचड़ कई बीमारियों के इलाज में अहम भूमिका निभाते हैं, खासकर आर्थराइटिस और जोड़ों से संबंधित बीमारियों के इलाज में। लेकिन पिछले कुछ सालों से मृत सागर तेज़ गति से सिमट रहा है। पिछले ४० सालों में इसके पानी का तल २५ मीटर कम हो गया है। ऐसा अनुमान लगाया जाता है कि २०५० तक शायद यह पूरी तरह गायब हो जाएगा। .

नई!!: सौन्दर्य प्रसाधन और मृत सागर · और देखें »

मैसूर मल्लिगे

यह लेख फूल मल्लिगे के बारे में है। इस फूल के नाम पर लिखी गई के.

नई!!: सौन्दर्य प्रसाधन और मैसूर मल्लिगे · और देखें »

रसायन विज्ञान

300pxरसायनशास्त्र विज्ञान की वह शाखा है जिसमें पदार्थों के संघटन, संरचना, गुणों और रासायनिक प्रतिक्रिया के दौरान इनमें हुए परिवर्तनों का अध्ययन किया जाता है। इसका शाब्दिक विन्यास रस+अयन है जिसका शाब्दिक अर्थ रसों (द्रवों) का अध्ययन है। यह एक भौतिक विज्ञान है जिसमें पदार्थों के परमाणुओं, अणुओं, क्रिस्टलों (रवों) और रासायनिक प्रक्रिया के दौरान मुक्त हुए या प्रयुक्त हुए ऊर्जा का अध्ययन किया जाता है। संक्षेप में रसायन विज्ञान रासायनिक पदार्थों का वैज्ञानिक अध्ययन है। पदार्थों का संघटन परमाणु या उप-परमाण्विक कणों जैसे इलेक्ट्रॉन, प्रोटॉन और न्यूट्रॉन से हुआ है। रसायन विज्ञान को केंद्रीय विज्ञान या आधारभूत विज्ञान भी कहा जाता है क्योंकि यह दूसरे विज्ञानों जैसे, खगोलविज्ञान, भौतिकी, पदार्थ विज्ञान, जीवविज्ञान और भूविज्ञान को जोड़ता है। .

नई!!: सौन्दर्य प्रसाधन और रसायन विज्ञान · और देखें »

रंजनशलाका

आधुनिक रंजनशलाका अंगूठाकार अंगूठाकार रंजनशलाका या लिपस्टिक एक सौन्दर्य प्रसाधन है जिसका प्रयोग होठों को रंगने और उनकी बनावट को सुधारने और निखारने के लिए किया जाता है। एक आम रंजनशलाका के प्रमुख घटक रंगद्रव्य, तेल, मोम और स्निग्घकारक होते हैं। रंजनशलाका की कई किस्में हैं। श्रृंगार के अधिकांश अन्य प्रकारों के समान रंजनशलाका का प्रयोग भी अमूमन महिलाओं द्वारा ही किया जाता है। आमतौर पर रंजनशलाका का प्रयोग किशोरावस्था या वयस्कता आने तक नहीं किया जाता है। .

नई!!: सौन्दर्य प्रसाधन और रंजनशलाका · और देखें »

सिन्दूर

सिन्दूर एक लाल या नारंगी रंग का सौन्दर्य प्रसाधन होता है जिसे भारतीय उपमहाद्वीप में महिलाए प्रयोग करती हैं। हिन्दू, बौद्ध, जैन और कुछ अन्य समुदायों में विवाहित स्त्रियाँ इसे अपनी माँग में पहनती हैं। इसका प्रयोग बिन्दियों में भी होता है। रसायनिक दृष्टि से सिन्दूर अक्सर पारे या सीसे के रसायनों का बना होता है, इसलिए विषैला होता है और इसके प्रयोग में सावधानी बरतने को और इस पदार्थ को बच्चों से दूर रखने को कहा जाता है। .

नई!!: सौन्दर्य प्रसाधन और सिन्दूर · और देखें »

संख्यावाची विशिष्ट गूढ़ार्थक शब्द

हिन्दी भाषी क्षेत्र में कतिपय संख्यावाची विशिष्ट गूढ़ार्थक शब्द प्रचलित हैं। जैसे- सप्तऋषि, सप्तसिन्धु, पंच पीर, द्वादश वन, सत्ताईस नक्षत्र आदि। इनका प्रयोग भाषा में भी होता है। इन शब्दों के गूढ़ अर्थ जानना बहुत जरूरी हो जाता है। इनमें अनेक शब्द ऐसे हैं जिनका सम्बंध भारतीय संस्कृति से है। जब तक इनकी जानकारी नहीं होती तब तक इनके निहितार्थ को नहीं समझा जा सकता। यह लेख अभी निर्माणाधीन हॅ .

नई!!: सौन्दर्य प्रसाधन और संख्यावाची विशिष्ट गूढ़ार्थक शब्द · और देखें »

विभागीय भंडार

लंदन का '''हैरोड्स''' बाहर सेविभागीय भंडार या डिपार्टमेंट स्टोर एक बड़ी दुकान होती है जहां विभिन्न प्रकार के उत्पाद एक ही छत के नीचे खुदरा बिक्री के लिए उपलब्ध होते हैं। यहां केवल एक ही कंपनी के उत्पाद बिक्री हेतु उपलब्ध नहीं होते बल्कि विभिन्न कंपनियों के विभिन्न उत्पाद बेचे जाते हैं। एक विभागीय भंडार में विभिन्न प्रकार के उत्पादों के लिए अलग अलग विभाग बने होते हैं इसीलिए इसे विभागीय भंडार कहते हैं। आमतौर पर एक विभागीय भंडार में वस्त्र, फर्नीचर, इलेक्ट्रॉनिक्स उपकरण, प्रसाधन सामग्री, सौंदर्य प्रसाधन आदि खरीद के लिए उपलब्ध होते हैं पर, कभी कभी और रंग रोगन, हार्डवेयर का समान, फोटो उपकरण, आभूषण, खिलौने और खेल के सामान भी इन भंडारों में बिकता है। .

नई!!: सौन्दर्य प्रसाधन और विभागीय भंडार · और देखें »

वोदका

रूस के मंद्रोगी का वोडका संग्रहालय वोडका (रूसी शब्द водка, вода + ка से) http://www.britannica.com/EBchecked/topic/631781/vodka, एक साफ़ द्रव है जिसका अधिकांश भाग जल और इथेनॉल है जिसे अनाज (आम तौर पर राई या गेहूं), आलू या मीठे चुकंदर के शीरे जैसे किसी किण्वित पदार्थ से आसवन की प्रक्रिया — प्रायः एकाधिक आसवन की प्रक्रिया — द्वारा शुद्ध किया जाता है। इसमें अन्य प्रकार के पदार्थ जैसे अनचाही अशुद्धता या स्वाद की मामूली मात्रा भी शामिल रह सकती है। आमतौर पर वोडका में अल्कोहोल की मात्रा 35% से 50% आयतन के अनुपात में रहती है। क्लासिक रूसी, लिथुआनिया और पोलिश वोडका में 40% (80 प्रूफ) है। वोडका का उत्पादन अलेक्जेंडर III द्वारा 1894 में शुरू किया गया था जिसके लिए रूसी मानकों को श्रेय दिया जा सकता है।मास्को में वोडका संग्रहालय के अनुसार, रूसी रसायनज्ञ दमित्री मेनडिलिव (आवर्त सारणी (periodic table) के विकास में अपने कार्य के लिए अधिक प्रसिद्ध) ने सही प्रतिशत 38% बताया था। हालांकि, उस समय अल्कोहोल की उग्रता शक्ति के आधार पर कर (टैक्स) लगता था परन्तु कर की सरल गणना करने के लिए इस प्रतिशत को पूर्णांक बनाते हुए 40 कर दिया गया। कुछ सरकारों ने अल्कोहोल के लिए मद्यसार की एक न्यूनतम सीमा तय की जिसे 'वोडका' कहा जाने लगा.

नई!!: सौन्दर्य प्रसाधन और वोदका · और देखें »

खनिज तेल

खनिज तेल की शीशी खनिज तेल (mineral oil) शब्द का प्रयोग दो अलग-अलग अर्थों में किया जाता है.

नई!!: सौन्दर्य प्रसाधन और खनिज तेल · और देखें »

कलौंजी

कलौंजी, (अंग्रेजी:Nigella) एक वार्षिक पादप है जिसके बीज औषधि एवं मसाले के रूप में प्रयुक्त होते हैं। कलौंजी और प्याज में फर्क .

नई!!: सौन्दर्य प्रसाधन और कलौंजी · और देखें »

कस्तूरी

मोस्खस मोस्खिफेरस, साइबेरियाई कस्तूरी मृग कस्तूरी नाम मूलतः एक ऐसे पदार्थ को दिया जाता है जिसमें एक तीक्ष्ण गंध होती है और जो नर कस्तूरी मृग के पीछे/गुदा क्षेत्र में स्थित एक ग्रंथि से प्राप्त होती है। इस पदार्थ को प्राचीन काल से इत्रके लिए एक लोकप्रिय रासायनिक पदार्थ के रूप में इस्तेमाल किया जाता रहा है और दुनिया भर के सबसे महंगे पशु उत्पादों में से एक है। यह नाम, संस्कृत के से उत्पन्न हुआ है जिसका अर्थ है "अंडकोष," यह लगभग समान गंध वाले एक व्यापक रूप से विविध विभिन्न पदार्थों के आस पास घूमता है हालांकि इनमें से कई काफी अलग रासायनिक संरचना वाले हैं। इनमें कस्तूरी हिरण के अलावा अन्य जानवरों के ग्रंथि स्राव, समान खुशबू बिखेरने वाले पौधे और ऐसी ही खुशबू वाली कृत्रिम पदार्थ शामिल है। 19वीं सदी के उतरार्ध तक, प्राकृतिक कस्तूरी का इस्तेमाल इत्र में बड़े पैमाने पर तब तक किया जाता रहा जब तक की आर्थिक और नैतिक इरादों ने सिंथेटिक कस्तूरी को अपनाने की दिशा नहीं दिखाई, जो लगभग विशेष रूप से उपयोग किया जाता है। कस्तूरी की विशेष गंध के लिए प्रमुख रूप से जिम्मेदार जैविक यौगिक म्स्कोने है। प्राकृतिक कस्तूरी फली का आधुनिक उपयोग अब केवल पारंपरिक चीनी दवा तक सीमित है। .

नई!!: सौन्दर्य प्रसाधन और कस्तूरी · और देखें »

अखरोट (फल)

कॉमन हेज़ल से हेज़लनट्स चेस्टनट एक अखरोट और एक अखरोट का बाहरी कोर सारगर्भित फल से हटा रहे हैं। अखरोट वास्तविक अखरोट नहीं हैं। एक नटक्रैकर से सख्त अखरोट काटते हैंशिमला संग्रहालय, हिमाचल प्रदेश, भारत से चित्र. अखरोट एक अस्‍फोटी बीज वाले पौधे का फल है जिसके छिलके सख्त होते हैं। हालांकि विविध सूखे बीजों और फलों को अंग्रेजी में नट्स कहते हैं, उनमें से बहुत कम संख्या को जीवविज्ञानियों के विचार से वास्तविक अखरोट माना जाता है। अखरोट मानव और वन्य जीवन दोनों के लिए पोषक तत्वों का एक महत्त्वपूर्ण स्रोत है। अखरोट बीज और फल का यौगिक है, जहां फलों से बीज नहीं निकलते हैं। ज्यादातर बीज फलों से आते हैं और बीज फलों से मुक्त होते हैं, अखरोट के ठीक विपरीत जैसे कि पहाड़ी बादाम, हिकॉरी, शाहबलूत के फल और बंजुफल, फलों के छिलके सख्त होते हैं और यौगिक अंडाशय में से उत्पन्न होते हैं। इस शब्द का पाकशाला में प्रयोग सीमित है और भोजन निर्माण की प्रक्रिया में परिभाषित कुछ अखरोट जैविक अर्थ में अखरोट नहीं हैं, जैसे कि पिस्ता और ब्राजील अखरोट.

नई!!: सौन्दर्य प्रसाधन और अखरोट (फल) · और देखें »

यहां पुनर्निर्देश करता है:

सौंदर्य प्रसाधन, अंगराग

निवर्तमानआने वाली
अरे! अब हम फेसबुक पर हैं! »