लोगो
यूनियनपीडिया
संचार
Google Play पर पाएं
नई! अपने एंड्रॉयड डिवाइस पर डाउनलोड यूनियनपीडिया!
इंस्टॉल करें
ब्राउज़र की तुलना में तेजी से पहुँच!
 

वज़ीर खान (सरहिंद)

सूची वज़ीर खान (सरहिंद)

वज़ीर खान (१६३५-१७१०, वास्तविक नाम मिर्जा अस्करी) मुगल साम्राज्य के सरहिंद प्रान्त का अधिकारी था, जिसे सिखों के साथ अपने संघर्षों के लिए जाना जाता है। वजीर खान ने १७०५ में गुरु गोबिंद सिंह के युवा बेटों (साहिबजादा फतेह सिंह और साहिबजादा ज़ोरावर सिंह) की हत्या कर दी थी। परिमाणस्वरूप मई १७१० में छापर चिड़ी के युद्ध में बांदा सिंह बहादुर के नेतृत्व में सिख सेना द्वारा वजीर खान की हत्या कर दी थी। .

1 संबंध: चमकौर का युद्ध

चमकौर का युद्ध

चमकौर का युद्ध 1704 में 21, 22,23 दिसम्बर को गुरु गोविंद सिंह और वजीर खान की अगुआई में मुगलों की सेना के बीच पंजाब के चमकौर में लड़ा गया था। गुरु गोबिंद सिंह जी 20 दिसम्बर की रात आनंद पुर साहिब छोड़ कर 21 दिसम्बर की शाम को चमकौर पहुचे थे,और उनके पीछे मुगलों की एक विशाल सेना जिसकी अगुआई वजीर खां कर रहा था, वह 22 दिसम्बर की सुबह चमकौर पहुचे थे,वजीर खां गुरु गोबिंद सिंह को जिन्दा या मुर्दा पकड़ना चाहता था।चमकौर की उस धरती पर हुआ था वह एक युद्ध जिसमे एक तरफ गुरु गोबिंद सिंह, उनके दो बड़े साहिबजादे अजीत सिंह जुझार सिंह और 40 सिंह थे परन्तु 43 सिंघो ने मिलकर वजीर खां की आधे से ज्यादा सेना को तबाह कर दिया, वजीर खान गुरु गोविंद सिंह को पकड़ने में नाकाम रहा, लेकिन इस युद्ध में गुरु जी के दो पुत्रों साहिबज़ादा अजीत सिंह व साहिबज़ादा जुझार सिंह और 40 सिंघो ने शहीदी प्राप्त की। गुरु गोविंद सिंह ने इस युद्ध का वर्णन ज़फ़रनामा में किया है। उन्होंने बताया है कि जब वे सरसा नदी को पार कर चमकौर पहुंचे तो किस तरह मुगलों ने उन पर हमला किया। .

नई!!: वज़ीर खान (सरहिंद) और चमकौर का युद्ध · और देखें »

निवर्तमानआने वाली
अरे! अब हम फेसबुक पर हैं! »