लोगो
यूनियनपीडिया
संचार
Google Play पर पाएं
नई! अपने एंड्रॉयड डिवाइस पर डाउनलोड यूनियनपीडिया!
मुक्त
ब्राउज़र की तुलना में तेजी से पहुँच!
 

पुरस्कार/सम्मान-2012

सूची पुरस्कार/सम्मान-2012

वर्ष-2012 में अनेक शख़्सियतों को सम्मानित किया गया, जिसका क्रमवार विवरण निम्न है: पंडित रविशंकर चंद्रकांत देवताले गोपाल दास नीरज दिलीप कुमार उदय प्रकाश कुलदीप नैयर पूर्णिमा वर्मन रवीन्द्र प्रभात हेमा मालिनी गुलज़ार अमिताभ बच्चन शाहरुख खान सचिन तेंदुलकर श्याम बेनेगल भुपेन हजारिका .

4 संबंधों: ऐनी स्टीवेनसन, हैरी पॉटर और अज़्काबान का क़ैदी, जिनी श्रीवास्तव, कृष्ण कुमार यादव

ऐनी स्टीवेनसन

1 ४-http://www.anne-stevenson.co.uk/ श्रेणी:कवि श्रेणी:लेखक.

नई!!: पुरस्कार/सम्मान-2012 और ऐनी स्टीवेनसन · और देखें »

हैरी पॉटर और अज़्काबान का क़ैदी

हैरी पॉटर और अज़्काबान का क़ैदी (अंग्रेज़ी::en:Harry Potter and the Prisoner of Azkaban हैरि पॉटर ऐन्ड द प्रिज़नर अव ऐज़्कबैन) जे. के. रोलिंग द्वारा अंग्रेज़ी में रचित हैरी पॉटर (उपन्यास) क्रम की तीसरी कड़ी है। इस उपन्यास में हैरी पॉटर और अन्य पात्रों हॉग्वार्ट्स में वापस आते हैं और नये रोमांचक कारनामों का सामना करते हैं। इसपर इसी नाम की एक फ़िल्म भी बन चुकी है। इस किताब में हैरी पौटर के तीसरे साल के बारे में बताया गया है। हैरी पौटर और अज़्काबान का कैदी, हिन्दी में अनुवादित हैरी पौटर की तीसरी किताब है। यह किताब मन्जुल प्रकाशान द्वारा 2005 में बाज़ारो में उतारी गई थी। .

नई!!: पुरस्कार/सम्मान-2012 और हैरी पॉटर और अज़्काबान का क़ैदी · और देखें »

जिनी श्रीवास्तव

जिनी श्रीवास्तव ‘एकल नारी शक्ति संगठन’ या आस्था संस्थान की संस्थापक हैं। .

नई!!: पुरस्कार/सम्मान-2012 और जिनी श्रीवास्तव · और देखें »

कृष्ण कुमार यादव

कृष्ण कुमार यादव (अंग्रेज़ी: Krishna Kumar Yadav, जन्म:10 अगस्त 1977) 2001 बैच के भारतीय डाक सेवा के अधिकारी हैं। साथ हीं सामाजिक, साहित्यिक और समसामयिक मुद्दों से सम्बंधित विषयों पर प्रमुखता से लेखन करने वाले वे साहित्यकार, विचारक और ब्लॉगर भी हैं। उनकी विभिन्न विधाओं में सात पुस्तकें प्रकाशित हो चुकी हैं। वर्तमान में वे राजस्थान पश्चिमी क्षेत्र, जोधपुर में निदेशक डाक सेवाएँ पद पर कार्यरत हैं। .

नई!!: पुरस्कार/सम्मान-2012 और कृष्ण कुमार यादव · और देखें »

निवर्तमानआने वाली
अरे! अब हम फेसबुक पर हैं! »