लोगो
यूनियनपीडिया
संचार
Google Play पर पाएं
नई! अपने एंड्रॉयड डिवाइस पर डाउनलोड यूनियनपीडिया!
डाउनलोड
ब्राउज़र की तुलना में तेजी से पहुँच!
 

नेपाल

सूची नेपाल

नेपाल, (आधिकारिक रूप में, संघीय लोकतान्त्रिक गणराज्य नेपाल) भारतीय उपमहाद्वीप में स्थित एक दक्षिण एशियाई स्थलरुद्ध हिमालयी राष्ट्र है। नेपाल के उत्तर मे चीन का स्वायत्तशासी प्रदेश तिब्बत है और दक्षिण, पूर्व व पश्चिम में भारत अवस्थित है। नेपाल के ८१ प्रतिशत नागरिक हिन्दू धर्मावलम्बी हैं। नेपाल विश्व का प्रतिशत आधार पर सबसे बड़ा हिन्दू धर्मावलम्बी राष्ट्र है। नेपाल की राजभाषा नेपाली है और नेपाल के लोगों को भी नेपाली कहा जाता है। एक छोटे से क्षेत्र के लिए नेपाल की भौगोलिक विविधता बहुत उल्लेखनीय है। यहाँ तराई के उष्ण फाँट से लेकर ठण्डे हिमालय की श्रृंखलाएं अवस्थित हैं। संसार का सबसे ऊँची १४ हिम श्रृंखलाओं में से आठ नेपाल में हैं जिसमें संसार का सर्वोच्च शिखर सागरमाथा एवरेस्ट (नेपाल और चीन की सीमा पर) भी एक है। नेपाल की राजधानी और सबसे बड़ा नगर काठमांडू है। काठमांडू उपत्यका के अन्दर ललीतपुर (पाटन), भक्तपुर, मध्यपुर और किर्तीपुर नाम के नगर भी हैं अन्य प्रमुख नगरों में पोखरा, विराटनगर, धरान, भरतपुर, वीरगंज, महेन्द्रनगर, बुटवल, हेटौडा, भैरहवा, जनकपुर, नेपालगंज, वीरेन्द्रनगर, त्रिभुवननगर आदि है। वर्तमान नेपाली भूभाग अठारहवीं सदी में गोरखा के शाह वंशीय राजा पृथ्वी नारायण शाह द्वारा संगठित नेपाल राज्य का एक अंश है। अंग्रेज़ों के साथ हुई संधियों में नेपाल को उस समय (१८१४ में) एक तिहाई नेपाली क्षेत्र ब्रिटिश इंडिया को देने पड़े, जो आज भारतीय राज्य हिमाचल प्रदेश, उत्तराखण्ड तथा पश्चिम बंगाल में विलय हो गये हैं। बींसवीं सदी में प्रारंभ हुए जनतांत्रिक आन्दोलनों में कई बार विराम आया जब राजशाही ने जनता और उनके प्रतिनिधियों को अधिकाधिक अधिकार दिए। अंततः २००८ में जनता द्वारा चुने गए प्रतिनिधि माओवादी नेता प्रचण्ड के प्रधानमंत्री बनने से यह आन्दोलन समाप्त हुआ। लेकिन सेना अध्यक्ष के निष्कासन को लेकर राष्ट्रपति से हुए मतभेद और टीवी पर सेना में माओवादियों की नियुक्ति को लेकर वीडियो फुटेज के प्रसारण के बाद सरकार से सहयोगी दलों द्वारा समर्थन वापस लेने के बाद प्रचण्ड को इस्तीफा देना पड़ा। गौरतलब है कि माओवादियों के सत्ता में आने से पहले सन् २००६ में राजा के अधिकारों को अत्यंत सीमित कर दिया गया था। दक्षिण एशिया में नेपाल की सेना पांचवीं सबसे बड़ी सेना है और विशेषकर विश्व युद्धों के दौरान, अपने गोरखा इतिहास के लिए उल्लेखनीय रहे हैं और संयुक्त राष्ट्र शांति अभियानों के लिए महत्वपूर्ण योगदानकर्ता रही है। .

1669 संबंधों: चण्डी भञ्ज्याङ, चन्द्रप्रसाद ढकाल, चन्द्रबहादुर डाँगी, चन्द्रगुप्त मौर्य, चम्पावत तहसील, चमैता, चमोली-गोपेश्वर, चाँफामाण्डौ, चानक, चापपानी, चापाकोट नगरपालिका, चामलांग, चाल्सा, चांदी का वरक़, चितवन जिला, चित्रे भञ्ज्याङ, चिदिपानी, चिदीका, चिन्नेबास, चिरायता, चिलाउने, उदयपुर, चिलाउनेबास, चिल्मिआ, चिसापानी, चंद्रगोमिन्‌, चंपारण, चकचकी, चुलाचुली, च्यानाम, ओखलढुङ्गा, चौडण्डी, चौलाखर्क, चौसिंगा, चौंरीखर्क, चेदि राज्य, चोमो लोन्ज़ो, चोयु, चोर सिपाही (फ़िल्म), चोकचिसापानी, चीतल, चीन-नेपाल युद्ध, चीनी पैंगोलिन, चीनी जनवादी गणराज्य, चीर, चीज़ की सूची, टनकपुर, टाप्टिङ, टायो रोल्स, टारकेरावारी, टाघनडुब्बा, टाक्सिन्दु, ..., टिमिलसैन, टक्सार, स्याङ्जा, टोक्सेल, ञिङमा ग्युद्बुम, एचएएल ध्रुव, एडिनबर्ग, एतहरवकट्टी, एभाङ, एम्बुड, एयर इंडिया फ़्लाइट 182, एयर अरबिया, एयारकोत, एराउटार, एरिवाड, एलादि, एशिया की संकटापन्न भाषाओं की सूची, एशियाई राजमार्ग २, एसीबु, एसीसी ट्रॉफी, एसीसी अंडर 19 कप, एवरेस्ट (टीवी धारावाहिक), एवरेस्ट पर्वत, एवरेस्ट बेस कैंप, एवा, एखाबु, एंड फ्लिक्स, एकतप्पा, एकतीन, एकदरबेला, एकराहिया, एकराही, एकाला, एक्तप्पा, एक्स-ज़ोन टीवी, ए॰ पी॰ जे॰ अब्दुल कलाम, ऐतरेय उपनिषद, झडेवा, झमक घिमिरे, झरना थापा, झलनाथ खनाल, झ़ंगझ़ुंग, झापा जिला, झिरुवास, झज्जर, ठाडा, ठांटी, ठिमुरे, ठुलाडिहि, ठुलापोखरा, ठूलाछाप, डडेलधुरा जिला, डाँगीबारी, डिश टीवी, डंसिली गाउँ, डुम्रे, डेविड वुडर्ड, डोटेली भाषा, डोटी जिला, डोटीगढ़, डोल्पा जिला, डीडीहाट, ढापुक सिमलभञ्ज्याङ, ढाका टोपी, ढाका-इस्तांबुल फ्रेट कॉरिडोर, ढाकावाङ्, ढाकु, ढिकुरा, ढिकुरे पोखरी, ढकारी, ढुडारुकोट, ढुंखर्क, ढुंगाचल्ना, ढुंगाचाल्ना, ढुंगाड, ढुंग्रेखोला, ढुंगेसांघु, ढोरफिर्दी, ढोरे, ढोला, तडीगैरा, तनहुँ जिला, तनहुँसुर, तपेश्वरी, तबला, तराई क्षेत्र, तराई-दुआर सवाना और घासभूमि, तलुवा, तानसेन नगरपालिका, ताप्लेजुंग जिला, तामाङ भाषा, ताम्लीछा, तारा (देवी), ताहुं, तावाश्री, ताङबे जाति, तिनदोबाटे, तिनाउ नदी, तिब्बत, तिब्बत का इतिहास, तिब्बत की संस्कृति, तिब्बताई भाषाएँ, तिब्बती तीतर, तिब्बती बौद्ध धर्म, तिब्बती भाषा, तिब्बती रामचकोर, तिब्बती लोग, तिब्बती साहित्य, तिब्बती-किन्नौरी भाषाएँ, तिरहुत प्रमंडल, तिङ्गला, तंत्र साहित्य (भारतीय), तकलाकोट, तुर्माखाँद, तुल्सी भञ्ज्याङ, तुङधारा, त्रिभुवन नेपाल, त्रिभुवन विश्वविद्यालय, त्रिभुवन विश्वविद्यालय अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट मैदान, त्रिभुवन अन्तर्राष्ट्रीय विमानक्षेत्र, त्रिभुवननगर, त्रियुगा, त्रैलंग स्वामी, तेन्जिंग नॉरगे, तेल्घा, तेली, तेह्रथुम जिला, तोपगाछी, तोप्केगोला जाति, तोरन जंग बहादुर सिंह, तोली, अछाम, तोसी, तीनगाउँले जाति, थानगाँउ, थापा वंश, थारू, थाली (बर्तन), थाक्ले, थुप्रेक, थुमपोखरा, थौंकन्हे (पत्रिका), थेरवाद, द फ्ल्यास ब्याक (फ़िल्म), दत्तात्रेय, दमक, दयाहाङ राई, दरभंगा, दर्ना, दर्लमडाँडा, दरौ, दशरथ रंगशाला स्टेडियम, दहथुम, दही (योगहर्ट या योगर्ट), दानावारी, दामोदर पांडे, दारुहरिद्रा, दार्चुला जिला, दार्जिलिंग, दाल-भात, दांग जिला, दिदिङ, दिधावा, दिनेश डिसी, दिपयल सिल्गढी नगरपालिका, दिपही, दिपेन्द्र चौधरी, दिभर्ण, दिमान, दिमिपोखरी, दियाले, ओखलढुङ्गा, दिल्लिचौर, दिल्सैनी, दिव्यनगर, दिव्यपुरी, दिगम, दिगम्बरपुर, दिगंला, दिकुवा, दिक्तेल, दंत-क्षरण, दक्षिण एशिया वन्यजीव प्रवर्तन नेटवर्क, दक्षिण एशियाई मुक्त व्यापार क्षेत्र, दक्षिण एशियाई विश्वविद्यालय, दक्षिण एशियाई खेल, दक्षिण एशियाई क्षेत्रीय सहयोग संगठन, दक्षेस महासचिव, दक्षेस सचिवालय, दक्षेस गान, दुधवा राष्ट्रीय उद्यान, दुनी, दुरडांडा, दुरगाउं, दुरछिम, दुरुवा, दुर्दिम्बा, दुर्लुङ, दुर्गा, दुर्गा पूजा, दुर्गा भवानी, दुर्गापुर, नेपाल, दुर्गामाण्डु, दुर्गास्थान, दुर्गौली, दुल्लु नगरपालिका, दुहागढी, दुवागढी, दुवाकोत, दौडा सुरूवाल, दैलेख जिला, दूधकुण्ड नगरपालिका, देशों के दूरभाष कूट की सूची, देशों के राजचिह्नों की सूची, देशी भाषाओं में देशों और राजधानियों की सूची, देशीय कोड उच्चतम डोमेन, देवदार, देवभूमि द्वारका जिला, देविस्थान, देविका खड्का, देवघाट, देवघाट गाविस, देवीनगर, देउराली गाविस, तनहुँ, देउराली, पाल्पा, देउसा, दोभान, दोलखा जिला, दीपावली, दीपेंद्र बीर बिक्रम शाह देव, धतन, धनचौर, धनकुटा, धनकुटा जिला, धनुषा जिला, धमाली, धरमपुर(झापा), धर्ना, धर्मपनिया, धर्मराज थापा, धर्मवती, धातिवाङ, धादिंग जिला, धानुक जाति, धारचूला तहसील, धारापानी, धावा, धावाङ, धाइजन, धिताल, धितुङ, धिमाल, धिमे, धिरापुर, धिर्कमाण्डु, धिकपुर, धिकरिम, धिकासिन्ताद, धुधारुकोत, धुधिलाभटी, धुन्चे, धुपु, धुम्थाङ, धुरकोत, धुरकोत नयाँगाउं, धुरकोत बस्तु, धुरकोत भन्भने, धुरकोत राजस्थल, धुर्काउली, धुलिखेल, धुलिगाडा, धुल्लु गैडि, धुल्लुबास्कोत, धुस्सा, धुस्की, धुसेनी, धुसेनी सिवालय, धुसेनी, लमजुङ जिला, धुसेल, धुवाकोत, धुवाकोत २, धुवाङ, धौबदी, धौबिनी, धौलागिरी, धौलाकोत, धो, धोत्लेखानी, धोदासाइं, धोदेनी, धोधनपुर, धोधना, धोधारी, धोबिघाट (उदयपुर कोत), नन्दिता केसी, नम्रता श्रेष्ठ, नयाँबजार, नरभूपाल शाह, नरंगा, बिहार, नरकटियागंज रेलवे स्टेशन, नर्मदेश्वर, नरेन्द्र मोदी, नरेन्द्र मोदी द्वारा किए गए अंतरराष्ट्रीय प्रधानमन्त्रीय यात्राओं की सूची, नरेन्द्र मोदी सरकार की विदेश नीति, नरेश बुढाऐर, नाडा, नानपारा, नाम्चे, नाम्सालिङ, नामेटार, नायरनमतलेस, नारायण नगरपालिका, नारायण गोपाल, नारायणी अंचल, नालाकंकर हिमाल, नाजिर हुसेन, नागबेली, नांगपा ला, नाइ नभन्नु ल, निचलौल, निबुवाखर्क, निर्मला जोशी, निशा अधिकारी, निश्चल बस्नेत, निखिल उप्रेती, निगाली सागर, नवलपरासी जिला, नंद बहादुर पुन, नंदेगडा, नंगपाइ गोसुम, नुवाकोट जिला, नुवाकोट, अर्घाखाँची, नौटंकी, नैन सिंह रावत, नेचाबतासे, नेचाबेतघारी, नेपाल दर्शन, नेपाल प्रहरी, नेपाल प्रज्ञा प्रतिष्ठान, नेपाल बिहार भुकम्प, नेपाल मानक समय, नेपाल मजदुर किसान पार्टी, नेपाल में एलजीबीटी अधिकार, नेपाल में पर्यटन, नेपाल में मानव अधिकार, नेपाल में संस्कृत, नेपाल में हिन्दी, नेपाल में होली, नेपाल राष्ट्र बैंक, नेपाल रेलवे, नेपाल शिवसेना, नेपाल शेयर बाजार, नेपाल ससस्त्र प्रहरी बल, नेपाल संस्कृत विश्वविद्यालय, नेपाल स्थित बैंकों की सूची, नेपाल स्काउट, नेपाल हिन्दी साहित्य परिषद, नेपाल हिमालय, नेपाल वायुसेवा उड़ान १८३, नेपाल कम्युनिस्ट पार्टी (एमाले), नेपाल कम्युनिस्ट पार्टी (संयुक्त मार्क्सवादी), नेपाल का एकीकरण, नेपाल का ध्वज, नेपाल का प्रशासनिक विभाजन, नेपाल का भूगोल, नेपाल का संविधान, नेपाल क्रिकेट टीम, नेपाल क्रिकेट संघ, नेपाल कृषी तथा वन विश्वविधालय, नेपाल के नगरपालिकायें, नेपाल के प्रदेश, नेपाल के प्रधानमन्त्री, नेपाल के प्रमुखों कि सूची, नेपाल के मल्ल राजाओं की सूची, नेपाल के शासक, नेपाल के हस्पताल, नेपाल के जिले, नेपाल के वित्त मंत्री, नेपाल के विदेश मंत्री, नेपाल के विकास क्षेत्र, नेपाल के अञ्चल, नेपाल के उप राष्ट्रपति, नेपाल की राजनीति, नेपाल की अर्थव्यवस्था, नेपाल अधिराज्य, नेपाल-भोट युद्ध, नेपालभाषा, नेपालगञ्ज, नेपाली (बहुविकल्पी), नेपाली चलचित्र, नेपाली भाषा, नेपाली भाषाएँ एवं साहित्य, नेपाली रुपया, नेपाली साहित्य, नेपाली संस्कृति, नेपाली संविधान सभा निर्वाचन, २००८, नेपाली सेना, नेपाली व्यंजन, नेपाली कांग्रेस, नेले, नीम, पटना के पर्यटन स्थल, पटौटी, पञ्चमुल, पञ्चावती, पञ्चाङ्गम्, पडरौना, पणेना, पतंजलि फूड एवं हर्बल पार्क, पतंजलि आयुर्वेद, पद्म श्री पुरस्कार (२०००–२००९), परम (सुपरकम्प्यूटर), परमानन्द झा, परिकल्पना सम्मान, पर्सा (गाँव), पर्सा जिला, पर्वत जिला, पर्वतारोहण, पलापू, पशुधन, पशुपतिनाथ मन्दिर (नेपाल), पश्चिम बंगाल, पश्चिम हिमालयी चौड़ी पत्ती वन, पश्चिम हिमालयी उपअल्पाइन शंकुधर वन, पश्चिमाञ्चल विकास क्षेत्र, पश्चिमी चंपारण, पश्चिमी विक्षोभ, पहर, पहाड़ी भाषाएँ, पहाड़ी मैना, पाटन, पाँचगाछी, पाठामारी, पातलकोट, पात्ले, पारस खड्का, पारिजात (लेखिका), पालक, पालुङमैनादी, पाल्पा जिला, पालेदाइ (फ़िल्म), पाली गाविस, पावै, पांचथर जिला, पाइल, पिडिखोला, पितृ दिवस, पिथौरागढ़ तहसील, पिपरिया, पिपलडाँडा, पाल्पा, पिपलकोट, पियोरा, पगोडा, पंच केदार, पंचन, पंचेश्वर बांध, पंजी (मिथिला), पकवादी, पुतलीबजार नगरपालिका, पुबुदु दस्सानायके, पुराण, पुरंग ज़िला, पुर्वांचल विकास क्षेत्र, पुर्कोट, पुलेतोला, पुष्पा बस्नेत, पुष्पकमल दाहाल, पुवामझुवा, प्याज, प्याङ, प्युठान जिला, प्रचंड, प्रणब, प्रताप मल्ल, प्रदेश सभा, प्रदेश संख्या १, प्रदेश संख्या २, प्रदेश संख्या ७, प्रदीप ऐरी, प्रयाग प्रशस्ति, प्राचीन तंत्र साहित्य, प्राप्चा, प्रियंका कार्की, प्रकाश न्यौपाने, प्रेमेजुङ, प्रीति दुबे, पौराणिक बृद्धकेदार, पौवेगौडा, पृथु बास्कोटा, पृथ्वी नारायण शाह, पृथ्वीनगर, पृथ्वीराज चौहान, पैसा, पूर्वाञ्चल विश्वविद्यालय, पूर्वांचल, पूर्वोत्तर भारत, पूर्वोत्तर सीमा रेलवे, पूर्वी चंपारण, पेलाकोट, पेल्काचौर, पोरोंग री, पोखरा, पोखरा विश्वविधालय, पोखराथोक, पोखराथोक, अर्घाखाँची, पोखरे, पोखरी, पोखरी भञ्ज्याङ, पोगो, पोकली, पीपल, पीयूष गोयल (लेखक), पीला-पेट रासू, पीलीभीत जिला, फणीश्वर नाथ "रेणु", फ़सल, फ़ाहियान, फ़िन की बया, फापरथुम, फारबिसगंज, फालूदा, फाकफोक, फिरफिरे गाविस, फुँएतप्पा, फूलबारी, ओखलढुङ्गा, फेदीखोला, फेदीगुठ, फेक, फोला गंगचेन, फोक्सिङकोट, बझांग जिला, बड़ी गंडक, बड़ी इलायची, बनियानी, बन्द, बन्दीपुर नगरपालिका, बन्दीपोखरा, बनेपा, बयाला, बरबोटे, बराङ्दी, बरुणेश्वर, बर्दादेबी, बर्दिया जिला, बर्रे, बलभद्र कुंवर, बलम्ता, बलाँता, बलि प्रथा, बलखू, बल्डेङगढी, बल्कोट, बसन्त रेग्मी, बसन्तपुर, बसन्तपुर-रुपाकोट, बस्ती, अछाम, बहराइच, बहादुरपुर, बहाकोट, बाटुलासैन, बाँझो, बाँगी, बान्नातोली, बानेथोक देउराली, बाबला, बाबुराम भट्टराई, बारला, बारहसिंगा, बारा जिला, बाराहा, सगरमाथा, बार्हस्पत्य सूत्र, बाल मिठाई, बाल-श्रम, बालुवाडी, बासबोटे, बासमती चावल, बासा, बाहुनडाँगी, बाजार विभाजन,लक्ष्य निर्धारण, और स्थिति निर्धारण, बाजुरा जिला, बाघ, बागमती, बागमती प्रान्त, बागलुंग जिला, बागलुङ, बागेश्वर जिला, बांसी नदी, बांके जिला, बाक्सा, बाङ्ला भाषा, बाङ्गेफड्के, बिचारीचौतारा, बिद्या देवी भंडारी, बिनायक, बिन्ध्यावासीनी, अछाम, बिम्सटेक, बियर, बिरपथ, बिल्व, बिष्णु अधिकारी, बिहार, बिहार का भूगोल, बज्जिका, बंगाल का गिद्ध, बंगाल की खाड़ी, बछेंद्री पाल, बुटवल, बुढाकोट, बुद्ध पूर्णिमा, बुधबारे, बुरांस, बुङ, ब्रिटिश भारतीय सेना, ब्रजबुलि, ब्लॉगोत्सव, बौद्ध धर्म, बौद्ध धर्म के तीर्थ स्थल, बौघापोखराथोक, बौघागुम्बा, बैतडी जिला, बैदी, बैगुन्धुरा, बेतिनी, ओखलढुङ्गा, बेबी (२०१५ फिल्म), बेल्टार बसाहा नगरपालिका, बेगम हज़रत महल, बोड़ो भाषा, बीरगंज, बीघा, भटाकाटीया, भड़ल, भद्रबाहु, भदौरे, भयहरणनाथ मन्दिर, भरत जंगम, भरतपुर, नेपाल, भलाय डाँडा, भाटखोला, भातखंडे संगीत विश्वविद्यालय, भाद गाउले, भानु-बरभञ्ज्याङ, भानुभक्त आचार्य, भानुभक्तीय रामायण, भानुमती, भारत, भारत में धर्म, भारत में राष्ट्रीय राजमार्गों की सूची - प्रदेश अनुसार, भारत में आए भूकम्पों की सूची, भारत में आतंकवाद, भारत में कुपोषण, भारत में कॉफी उत्पादन, भारत का भूगोल, भारत का विभाजन, भारत-नेपाल शान्ति तथा मैत्री सन्धि, १९५०, भारत-नेपाल सम्बन्ध, भारती ब्रेल, भारतीय चित्तीदार मूषक मृग, भारतीय नेपाली, भारतीय पैंगोलिन, भारतीय मूल के नेपाली लोग, भारतीय राष्ट्रीय फुटबॉल टीम, भारतीय सिनेमा के सौ वर्ष, भारतीय स्थापत्यकला, भारतीय सेही, भारतीय हाथी, भारतीय गैण्डा, भारतीय उपमहाद्वीप, भारतीय उपमहाद्वीप का इस्लामी इतिहास, भाषा-परिवार, भावना घिमिरे, भांड, भाकाञ्जे, भिमाद, भिरकोट, तनहुँ, भगवती, अर्घाखाँची, भगवतीपुर, तनहुँ, भगवान दास गुप्ता, भक्तपुर, भक्तपुर जिला, भक्ति थापा, भुतुक्कै भएँ नी !, भुमरसूवा, भुसिंगा, भुजिमोल लिपि, भुवन केसी, भुवनपोखरी, भैरहवा, भैरव, भैरवस्थान, भैरवस्थान, अछाम, भूटानी शरणार्थी, भूटार, भूमंडलीय ऊष्मीकरण का प्रभाव, भूजिमोल, भेरी अंचल, भोटी भाषाएँ, भोजपुर (नेपाल), भोजपुर, नेपाल, भोजपुरी भाषा, भोजपुरी सिनेमा, भीमनिधि तिवारी, भीमराव आम्बेडकर, भीमसेन थापा, भीमेश्वर (नेपाल), भीमेश्वर (बहुविकल्पी), मञ्जित श्रेष्ठ, मञ्जुश्री थापा, मणिपुर, मदन पुरस्कार, मदन पुरस्कार पुस्तकालय, मदन कृष्ण श्रेष्ठ, मदनपोखरा, मधावपुर, मधुबनी, मधुबनी चित्रकला, मध्य-पश्चिमाञ्चल विकास क्षेत्र, मध्यदेश, मध्यपस्चिमाञ्चल विश्वविधालय, मध्यमाञ्चल विकास क्षेत्र, मधेपुरा जिला, मधेसी, मनपाङ, मनसिरी हिमाल, मनास्लु, मनांग जिला, मनिहार, मनकामना, स्याङ्जा, मन्मथनाथ गुप्त, मनोकामना मन्दिर, मयंखु, मरातिक गुफा, मरिचमान सिंह श्रेष्ठ, मरेङ, मलातिकोट, मलुङ्ग, मल्याङकोट, मल्ल, मल्ल राजवंश, मलूकदास, मश्क़, मष्ट बण्डाली, मसाला, मस्याम, महत, महत गाउं, महबुब आलम, महमाइ, महराजगंज जिला, महाभारा, महारानीझोडा, महारुद्र, महालंगूर हिमाल, महाकाली अंचल, महेन्द्र ज्योति, महेन्द्र आदर्श, महेन्द्रझयडी, महेन्द्रनाथ मंदिर , सिवान , बिहार, महेन्द्रनगर, महेन्द्रनगर नगरपालिका, महेन्द्रकोत, महेश संस्कृत गुरुकुल, महेश क्षेत्री, महेशपुर, महेशपुर गाम्हरिया, महेशपुर २, महोत्तरी जिला, माझकोट तनहुँ, माझकोट शिवालय, मात्रिका प्रसाद कोइराला, मातृ दिवस, मातृवंश समूह जी, माथ्यु रिका, माधव कुमार नेपाल, माधवप्रसाद घिमिरे, मानेभञ्याङ्ग, माम्खा, माया देवी मंदिर, लुंबिनी, मायादेवी, मार्कु, मालदीव, मालपुआ, मावु, माइतीघर (चलचित्र), माइपोखरी गाविस, माइमझुवा, माइक्रोमैक्स मोबाइल, मिथिला, मिथिलाक्षर, मिर्लुङ, मई 2015 नेपाल भूकम्प, मग्याम चिसापानी, मंदसौर ज़िला, मंगन, मंगलबारे, मंगलसूत्र, मंगलसेन नगरपालिका, मंगोलिया, मकर संक्रान्ति, मकालू, मकवानपुर जिला, मुझुङ, मुनस्‍यारी, मुली, मुस्तांग जिला, मुजफ्फरपुर, मुगु जिला, मुंडारी भाषा, मुक्त व्यापार क्षेत्र, मुक्ली, म्यागलुंग, म्याग्दी जिला, मैथिली चलचित्रपट, मैथिली भाषा, मैथिली साहित्य, मैदान, अर्घाखाँची, मैनामैनी, मैला आँचल, मूलखर्क, मेची नदी, मेची अञ्चल, मेचीनगर नगरपालिका, मेरी बास्सै, मोतिहारी, मोद नाथ प्रश्रित, मोमो, मोमीन अंसारी, मोरंग जिला, मोली, यति, यम्घा, यलम्बर, यसम, यादव, यार्चा गुम्बा, याशिका दत्त, यांग्रा पर्वत, याक, याकूब मेमन, यूएस-बांग्ला एयरलाइन्स विमान दुर्घटना, यूरेशियाई वृक्ष गौरैया, योल्मो लोग, योग, रबर वृक्ष, रसुवा जिला, रहप, रहबास, रातमाटे, ओखलढुङ्गा, रानिवन, अछाम, रानीपोखरी गाविस, रानीवन, ओखलढुङ्गा, रापाकोट, राप्ती नदी, राप्ती अंचल, राम प्रसाद 'बिस्मिल', राम सिंह (बहुविकल्पी), राम कृष्ण ढकाल, राम कृष्ण महाविद्यालय, मधुबनी, रामदिर सेना, रामपुर ठोक्सिला, रामपुर नगरपालिका, रामबरन यादव, रामशंकर अग्निहोत्री, रामसर सम्मेलन, रामारोशन, राम्जाकोट, रामेछाप जिला, राय मल्ल, रारा राष्ट्रीय उद्यान, राष्ट्रिय वाणिज्य बैंक, राष्ट्रीय दिवस, राष्ट्रीय संस्कृत संस्थान, भोपाल, राष्ट्रीय सूचना प्रौद्योगिकी संस्थान, राष्ट्रीय सूत्रों की सूची, राष्ट्रीय ओलम्पिक समिति, राष्ट्रीय अनुसन्धान विभाग नेपाल, राज बल्लभ कोईराला, राजदेवी मन्दिर, राजबोंग्शी भाषा, राजविराज, राजवंशी जाति, राजगढ, राजू लामा, राई जनजाति, राईपुर, रावत, रावादोलू, रागाद्विप, राङभङ, रिचर्ड गेयर, रिश्कु, रिस्ती, रिङनेरह, रवीन्द्र प्रभात, रगनी, रंगबिरंगी उड़न गिलहरी, रंगेली, रक्षाबन्धन, रक्सौल, रुचाल, रुद्रावतार, रुपन्देही जिला, रुपया, रुपया चिह्न, रुपाकोट, तनहुँ, रुप्से, रुकुम जिला, रौतहट जिला, रौता, रैबारी, रूपाटार, रेड लाइट एरिया, रेडियो सगरमाथा, रेखा थापा, रोल्पा जिला, रोल्वालिंग हिमाल, रोहिणी नदी, रोहिलखंड, रोहिंग्या लोग, रीमा विश्वकर्मा, लद्दाख़, लभ इन चाइना बोर्डर (फ़िल्म), लमजुंग जिला, लयाटी, ललितपुर जिला, ललितपुर जिला (नेपाल), ललितपुर, नेपाल, लाफागाँउ, लाल जंगली मुर्गा, लाल गले वाला तीतर, लाख, लांगटांग, लांगटांग री, लांगटांग लिरुंग, लिच्छवि, लिच्छवि (अधिराज्य), लिपियों की सूची, लिपुलेख ला, लिम्पाटार, लिम्बुवान, लिम्बू, लखनदेई नदी, लखनपुर, लंबाई के आधार पर नदियों की सूची, लंबी चोंच का गिद्ध, लक्ष्मी नगर (दिल्ली), लक्ष्मीमल्ल सिंघवी, लक्स (साबुन), लुम्दे, लुम्बिनी विश्वविद्यालय, लुम्बिनी अंचल, लुईस माउंटबेटन, बर्मा के पहले अर्ल माउंटबेटन, लुंबिनी, लुंग्रा, लुंगी, ल्होत्से, लौआ, लूंगी, लेटांग, लेपचा (जनजाति), लेखानी, लेखगाँउ, लेक पैलेस, लोसर, लोहाघाट तहसील, लोखिम, लोकसेवा आयोग, नेपाल, लोकेन्द्र बहादुर चन्द, लीलानाथ घिमिरे, शनि-अर्जुन नगरपालिका, शरणामती, शशी रावल, शहीद रंगशाला, शान्तिडाँडा, शान्तिनगर, शान्तिपुर, शारदा नहर, शाक्य, शिशापांगमा, शिव शंकर, शिवराज आचार्य कौण्डिन्न्यायन, शिवसताक्षी नगरपालिका, शिवसेना नेपाल, शिवालिक, शिगात्से विभाग, शक्ति गौचन, शुक्लगण्डकी नगरपालिका, श्याम्घा, श्री पूर्णागिरी तहसील, श्री हरिकुल नमुना उच्च माध्यमिक बिद्यालय, श्री कृष्णगण्डकी, श्रीचउर, श्रीनिवास कुमार सिन्हा, श्रीअन्तु, शेर बहादुर देउवा, शेर शाह सूरी, शेर सिंह राणा, शेर्पा भाषा, षोडसा देवी, सडक (फ़िल्म), सतलुज जल विद्युत निगम लिमिटेड, सत्य हरिशचन्द्र (फ़िल्म), सत्यानन्द सरस्वती, सत्यवती, पाल्पा, सन्तडा, सन्तोष लामा, सन्दिप क्षेत्री, सन्दीप लामिछाने, सन्धिखर्क नगरपालिका, सप्तमातृका, सप्तरी जिला, सफ़ेद तीतर, सफ़ेद गिद्ध, सफेद पुट्ठे वाली मुनिया, सबिन राय, समालबुङ, सम्पर्क भाषा, सम्पूर्णानन्द संस्कृत विश्वविद्यालय, सयौं थुँगा फूलका, सर्लाही जिला, सरीसृप, सल्यान जिला, सल्यान, सोलुखुम्बु, सशस्त्र सीमा बल, सहरसा, सहलकोट, साँखर, साँखेजुङ, सानो बनैल, साफेंवगर नगरपालिका, सारन जिला, सारस (पक्षी), सार्क, सार्क फाउंटेन, सालासुंगो, साकफारा, साउने, साङ्गरूम्बा, सिद्धिचरण नगरपालिका, सिद्धिथुम्का, सिद्धिपुर, सिद्वारा, सिध्देश्वर, सिन्धु-गंगा के मैदान, सिमलपानी, सिराहा जिला, सिरिसे, उदयपुर, सिर्सेकोट, सिलुवा, सिलीगुड़ी, सिस्नेरी, ओखलढुङ्गा, सिसोदिया (राजपूत), सिगुअंग री, सिंधुपालचोक जिला, सिंधुली जिला, सिंह दरबार, सिंहदेवी, ओखलढुङ्गा, सिक्किम, सिक्किमी भाषा, सिउडी, सगरमाथा राष्ट्रीय उद्यान, सगरमाथा अंचल, संत रविदास नगर जिला, संथाली भाषा, संयम पुरी, संयुक्त भूयोजना एशिया के लिए, संस्कृत भाषा, संस्कृत भाषा में रचित बौद्ध ग्रन्थ, संस्कृत साहित्य, संस्कृतीकरण, संखुवासभा जिला, सकोट, सुतार, सुदूर-पश्चिमाञ्चल विकास क्षेत्र, सुनसरी जिला, सुनार, सुन्दरपुर, उदयपुर, सुन्धारा गाविस, सुनील थापा, सुनील छेत्री, सुमन पोखरेल, सुम्बेक, सुमी खड्का, सुर्खेत जिला, सुरेन्द्र मोहन, सुरेश किरण, सुलुबुङ, सुशील सिटौला, सुशील क्षेत्री, सुशील कोइराला, सुशीला कार्की, सुष्मा कार्की, सुवर्णखाल, सुवास खकुरेल, स्तूप, स्यांजा जिला, स्वयंभूनाथ, स्वरेक, स्वेता खड्का, सौगात मल्ल, सैन्य और अर्धसैनिक बलों की संख्या के आधार पर देशों की सूची, सैंथवार, सूदुरपश्चिमाञ्चल विश्वविद्यालय, सूर्यबहादुर थापा, सूर्योदय नगरपालिका, सूखा, सूअर, सेतिदोभान, सेरा, सेर्ना, सेखाम, सोताङ, सोनौली, सोमपाल कामी, सोमादि, सोयाक, सोयाङ, सोरुङ, सोलुखुंबु जिला, सीता कुंड, सीतापुर, अर्घाखाँची, सीतामढ़ी, सीतामढी, सीताराम अग्रहरि, सीवान, हडिया, उदयपुर, हतियार (फ़िल्म), हरिवंश आचार्य, हरिकृष्ण प्रसाद गुप्ता अग्रहरि, हर्देनी, हर्कपुर, हल्दिवारी, हात्तिकोट, हामी तीन भाइ (चलचित्र), हाजीपुर, हाईकिंग, हिच्मा, हिन्द-यूरोपीय भाषा-परिवार, हिन्दू धर्म, हिन्दू पंचांग, हिन्दू मापन प्रणाली, हिन्दू मंदिर स्थापत्य, हिन्दी, हिप्पी, हिम तेन्दुआ, हिम तीतर, हिमालचुली, हिमालय, हिमालय का रामचकोर, हिमालयाई भाषा परियोजना, हिमालयी तहर, हिमालयी मोनाल, हिमालयी उपोष्णकटिबन्धीय पाइन वन, हिमालिनी, हिम्मतवाली, हिंदी की विभिन्न बोलियाँ और उनका साहित्य, हंशपूर, हुमिन, हुम्ला जिला, हेक्लाङ, होमवर्क (चलचित्र), होली, होस्टेल रिटर्न्स (फ़िल्म), जनसंख्या घनत्व के अनुसार देशों की सूची, जनालीकोट, जनकपुर, जनकपुर अंचल, जनकपुरधाम, जन्तरखानी, जन्नू, जयनगर, जयप्रकाश नारायण, जयस्थिति मल्ल, जलथल, जलुके, जल्पा, जाँते, जानकी मन्दिर, नेपाल, जामुने, जाजरकोट जिला, जावेद उस्मानी, जागर, जिन्द कौर, जिब्राल्टर में क्रिकेट, जिब्राल्टर राष्ट्रीय क्रिकेट टीम, जिर्मले, जगत भञ्ज्याङ, जगत मेहता, जगत्रदेवी, जंगली तीतर, जङ्गबहादुर राणा, जुठापौवा, जुबु, जुभिङ, जुम्ला जिला, जुरोपानी, जुकेना, ज्ञानेन्द्र वीर विक्रम शाह देव, ज्यामिरे, ज्यामीरगढी, जौलजीबी, जोगमाई, जोगीदह, जोंगसोंग पर्वत, जी.बी रोड, नई दिल्ली, जीतपुर, जीतू राय, जीपीएस ऐडेड जियो ऑगमेंटिड नैविगेशन, जीवनदाता (फ़िल्म), घले जाति, घाँसीकुवा, घाघरा नदी, घेरावारी, घोडासैण, वडा नम्बर ६ (फ़िल्म), वनस्थली विद्यापीठ, वसन्त पञ्चमी, वाचस्पति मिश्र, वाराणसी, वालिङ नगरपालिका, वाल्मीकि राष्ट्रीय उद्यान, वास्तुकला का इतिहास, वाकामलाङ, वाङसिङ देउराली, विद्याधर सूरजप्रसाद नैपाल, विनोद दाश, विनोद भण्डारी, विमल घर्ती मगर, विमानक्षेत्रों की सूची IATA कोड अनुसार: B, विमानक्षेत्रों की सूची IATA कोड अनुसार: D, विमानक्षेत्रों की सूची IATA कोड अनुसार: J, विमानक्षेत्रों की सूची IATA कोड अनुसार: K, विमानक्षेत्रों की सूची IATA कोड अनुसार: L, विमानक्षेत्रों की सूची IATA कोड अनुसार: P, विमानक्षेत्रों की सूची ICAO कोड अनुसार: V, विराटनगर, विराटनगर (राजस्थान), विराज भट्ट, विरकोट, विरुवा अर्चले, विर्घा अर्चले, विलन्दू, विश्व में बौद्ध धर्म, विश्व में हिन्दू धर्म, विश्व के देशों में शहरों की सूचियाँ, विश्व के सर्वोच्च पर्वतों की सूची, विश्व की मुद्राएँ, विश्वनाथ प्रसाद तिवारी, विश्वेश्वर प्रसाद कोइराला, विजयसार, विविध भारती, विवेकचूडामणि, विगुटार, विकिसम्मेलन भारत, विक्रम संवत, विक्रमादित्य, वज्रेश्वरी, वज्जिका भाषा और साहित्य, व्यास नगरपालिका, व्यवसाय अध्ययन, वैदिक सभ्यता, वैशाली, वैशाली जिला, वीएच1 इंडिया, वीरेन्द्रनगर, खटीमा, खटीमा तहसील, खड़िया भाषा, खड्डा, खड्ग प्रसाद शर्मा ओली, खतरे में विश्व धरोहर स्थलों की सूची, खन, खनदह, खप्तड, खस (प्राचीन जाति), खसर्पण, खस्यौली, खाँदवारी, खाँबु, खानिगाउँ, खानीछाप, खासिया, खिदीम, खिलुङ देउराली, खिल्जी, खिजिकाती, खिजी चण्डेश्वरी, खिजीफलाटे, खजुरगाछी, खुदुनाबारी, खुम्जुङ, ख्याहा, खैर (वृक्ष), खोटांग जिला, गढ़िमाई मेला, गण्डकी नदी, गणेश पश्चिमोत्तर, गणेश हिमाल, गणेशपुर, स्याङ्जा, गरामनी, गल्धा, गाँजा, गाँजे का पौधा, गाडी चुली, गाम्नाङ्गटार, गाइ जात्रा, गिम्मीगेला चुली, गिरिजा प्रसाद कोइराला, गज, गजरा, गजरकोट, गजुरमुखी, गंडकी अंचल, गंग बेनछेन, गंगा नदी, गंगा सूंस (डॉल्फिन), गंगा की सहायक नदियाँ, गुदेल, गुरला मन्धाता, गुरुङ्ग धर्म, गुल्मी जिला, गुजयेश्वरी मंदिर, नेपाल, ग्याचुंगकांग, गौतम, गौतम बुद्ध, गौरादह, गौरी मल्ल, गोठादी, गोदार थापा, गोदक, गोपाल प्रसाद पाराजुली, गोपीनाथ मन्दिर, उत्तराखण्ड, गोम्पा, गोरामानसिंह, गोराखानी, गोरखनाथ, गोरखपुर, गोरखा, गोरखा (बहुविकल्प), गोरखा एयरलाईन्स, गोरखा युद्ध, गोरखा राज्य, गोरखा रेजिमेंट (भारत), गोरखा जिला, गोरखापत्र, गोरखाली, गोलधाप, गोखुङ्गा, गोकियो झील, ऑपरेशन राहत, ओनसारी घरती मागर, ओम पर्वत, ओरस्टे, ओरिएण्टल इंश्योरेंस कम्पनी, ओरिएंटल इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड, ओलंपिक में नेपाल, ओखलढुंगा जिला, ओखले, आँपटार, आँबुखैरेनी, आठ हज़ारी, आदिबुद्ध, आदियोगी शिव प्रतिमा, आनी चोयिंग डोल्मा, आम की प्रजातियाँ, आमचोक, आयुर्वेद का इतिहास, आरुचौर, आरुखर्क, आर्य वंश, आर्यन सिग्देल, आलमदेवी, आईएफबीडीओ, आईएसओ ४२१७, आईसीसी विश्व क्रिकेट लीग, आईसीसी विश्व क्रिकेट लीग 2009-14, आईसीसी विश्व क्रिकेट लीग डिवीजन चार 2010, आईसीसी विश्व क्रिकेट लीग डिवीजन तीन 2014, आंबेडकर जयंती, आइएसओ ३१६६ - १, आकाशभैरव, इटहरी, इण्डियन एयरलाइंस फ्लाइट ८१४, इनामे, इभाङ, इमरती, इरकॉन इंटरनेशनल लिमिटेड, इरौंटार, इलाम नगरपालिका, इलाम जिला, इलाहाबाद विश्वविद्यालय, इंटरनेट उच्चस्तरीय डोमेन की सूची, इंडियन एयरलाइंस, इंदिरा शाह, इंदिरा गांधी अन्तर्राष्ट्रीय विमानक्षेत्र, कचल, कटारी, कटवाल, कटुन्जे ववला, कटुंजे, कठ उपनिषद्, कठ्ठा, कतला, कत्यूरी राजवंश, कन्काई धाम कोटीहोम, कन्काई नगरपालिका, कपिलवस्तु, कपिलवस्तु जिला, कपूर कचरी, कबड्डी, कमला नदी, कमलापुरी, कमलामाई, कमैया, करिश्मा मानन्धर, कर्णाली अंचल, करोंदा, कलगीदार सर्प चील, कल्प (व्यक्ति), कस्तूरी, कस्तूरी मृग, कसेनी, काँस, काठमाण्डु, काठमाण्डौ विश्वविद्यालय, काठमांडू जिला, काठमांडू उपत्यका, काफल, काब्रु पर्वत, काभ्रेपलांचोक जिला, कायस्थ, कार्टून नेटवर्क (भारत), कार्तिकेय (मोहन्याल), काला तीतर, कालागाउँ, कालिका, अछाम, कालिकादेवी, ओखलढुङ्गा, कालिकास्थान, अछाम, कालिकाकोट, कालेगाँडा, काली नदी, उत्तराखण्ड, कालीकोट जिला, काशिका भाषा, काश्यप संहिता, कास्की जिला, काहूँशिवपुर, काजी, कागबेनी, कागज उद्योग, कांगेल, काकु, किचनास, किरात, किरात लोग, किरांत राज्य, किशनगंज, किशनगंज जिला, किस्मत (फ़िल्म), किहूँ, कंचनपुर जिला, कंचनजंघा, कंबोज, कुटिल लिपि, कुड़ुख, कुत्तों की नस्लों की सूची, कुन्तादेवी, कुमरखोद, कुमाऊँ मण्डल, कुमाऊँनी भाषा, कुमार, कुमारी (फ़िल्म), कुमांऊॅं, कुशकोट, कुष्ठरोग, कुसुन्दा, कुसुमखोला, कुसुमे रुमाल, कुइभीर, कुइका, क्यामीन-थप्रेक, क्याक्मी, क्षेत्रप्रताप अधिकारी, कौषीतकि ब्राह्मणोपनिषद, कृष्ण, कृष्णप्रसाद भट्टराई, कैलपाल, कैलाली जिला, केचना, केदार घिमीरे, केन्द्रीय सशस्त्र पुलिस बल, केरुङ, सोलुखुम्बु, केरुङ्गा, केशवटार, केवारे भञ्ज्याङ, कोच भाषा, कोच राजबोंग्शी लोग, कोटदरबार, कोटा, तनहुँ, कोदारी, कोदो, कोरोवारी, कोलडाँडा, कोल्बुङ, कोल्मा बराहचौर, कोशी नदी (उत्तराखण्ड), कोशी अंचल, कोसी नदी, कोसी बाँध, कोहबर, कोहवारा, कोकलास, कीरात चुली, कीर्तिपुर, अडगुरी, अनिल मण्डल, अन्तरराष्ट्रीय सहयोग परिषद्, अन्तरजातीय विवाह, अन्तर्राष्ट्रीय नागर विमानन संगठन विमानक्षेत्र कोड, अन्तर्राष्ट्रीय मानकीकरण संगठन के सदस्य राष्ट्र, अन्नपूर्णा पुंजक, अपराध (फ़िल्म), अप्रैल 2015 नेपाल भूकम्प, अब्द, अभय कुमार, अभियान्त्रिकी में स्नातक, अभिषेक, अमलाचौर, अमित दासगुप्ता, अमिताभ बुद्ध, अम्बर गुरंग, अम्बाजी मंदिर, गुजरात, अरण्यतुलसी, अरनिको, अररिया जिला, अरुण नदी, अरुनोदय, अर्चले, अर्जुन नरसिंह के सी, अर्जुनचौपारी, अर्घातोस, अर्गली, अर्गाखांची जिला, अलखनामी, अल्मोड़ा, अल्मोड़ा का इतिहास, अशफ़ाक़ुल्लाह ख़ाँ, अशिष्मा नकर्मी, अशोक, अशोक चक्रधर, अशोक के अभिलेख, असुरकोट, अहीर (आभीर) वंश के राजा, सरदार व कुलीन प्रशासक, अजम्बरी नाता, अघोर पंथ, अवध के नवाब, अवधी, अवल पराजुल, अग्रहरि, अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस, अंतर्राष्ट्रीय वैश्य फेडरेशन, अंजू बॉबी जॉर्ज, अंगिका भाषा, अक्षरपल्ली, अछाम जिला, उँवू, उत्तर प्रदेश, उत्तर प्रदेश राज्य राजमार्ग १, उत्तर प्रदेश राज्य राजमार्ग १२, उत्तर प्रदेश के सर्वाधिक जनसंख्या वाले शहरों की सूची, उत्तर भारत बाढ़ २०१३, उत्तर सिक्किम जिला, उत्तर कोल, उत्तराखण्ड, उत्तराखण्ड का भूगोल, उत्तराखण्ड का इतिहास, उत्तराखण्ड/आलेख, उदयपुर जिला (नेपाल), उदित नारायण, उदिता गोस्वामी, उपमहाद्वीप, उप्रेती, उबला चावल, उषा रजक, ऋषिदह, छठ पूजा, छतरा, छत्र मानसिंह गुरुंग, छत्रगञ्ज, छबिलाल कन्जुस छैन, छहरा, छाङ, छाङछाङ्दी, छिन्नमस्ता भगवती, छिपछिपे, छिम्केश्वरी, छुरिम, छेस्काम, छोटी गण्डक, १ फ़रवरी, १ई+११ मी॰², १४ जनवरी, १५ जुलाई, १६ दिसम्बर, १६ जुलाई, १९५१, १९५९, १९८८, २००४, २०१०, २०१७ अमरनाथ यात्रा आक्रमण, २१ अगस्त, २५ सितम्बर, २६ नवम्बर, २८ अगस्त, ३ दिसम्बर, ४ दिसम्बर, 1 गोरखा राइफल्स, 2014 शीतकालीन ओलंपिक में नेपाल, 2015 नेपाल नाकाबंदी, 2017 दक्षिण एशिया बाढ़, 2017 बिहार बाढ़, 3 गोरखा राइफल्स, 4 गोरखा राइफल्स सूचकांक विस्तार (1619 अधिक) »

चण्डी भञ्ज्याङ

नेपाल के पश्चिमांचल विकास क्षेत्र के गण्डकी अंचल के स्यांजा जिल्ला में स्थित एक अत्याधिक उर्वर एवं घना वस्ती समेटा हुआ गाँउ विकास समिति हैं। .

नई!!: नेपाल और चण्डी भञ्ज्याङ · और देखें »

चन्द्रप्रसाद ढकाल

चन्द्रप्रसाद ढकाल नेपाल के उद्योगपति एवं व्यवसायी हैं। वे आईएमई समूह की कंपनियों के मालिक हैं। .

नई!!: नेपाल और चन्द्रप्रसाद ढकाल · और देखें »

चन्द्रबहादुर डाँगी

चन्द्रबहादुर डाँगी (जन्म: 30 नवम्बर 1939) गिनीज़ वर्ल्ड रिकॉर्ड्स के अनुसार विश्व के सबसे कोटे कद के जीवित पुरुष और विश्व के सबसे छोटे वयस्क पुरुष है। .

नई!!: नेपाल और चन्द्रबहादुर डाँगी · और देखें »

चन्द्रगुप्त मौर्य

चन्द्रगुप्त मौर्य (जन्म ३४५ ई॰पु॰, राज ३२२-२९८ ई॰पु॰) में भारत के सम्राट थे। इनको कभी कभी चन्द्रगुप्त नाम से भी संबोधित किया जाता है। इन्होंने मौर्य साम्राज्य की स्थापना की थी। चन्द्रगुप्त पूरे भारत को एक साम्राज्य के अधीन लाने में सफ़ल रहे। भारत राष्ट्र निर्माण मौर्य गणराज्य (चन्द्रगुप्त मौर्य) सम्राट् चंद्रगुप्त मौर्य के राज्यारोहण की तिथि साधारणतया ३२२ ई.पू.

नई!!: नेपाल और चन्द्रगुप्त मौर्य · और देखें »

चम्पावत तहसील

चम्पावत तहसील भारत के उत्तराखंड राज्य में चम्पावत जनपद की एक तहसील है। चम्पावत जनपद के मध्य भाग में स्थित इस तहसील के मुख्यालय चम्पावत नगर में स्थित हैं। इस तहसील का गठन १९वीं शताब्दी की शुरुआत में ब्रिटिश सरकार द्वारा किया गया था, और तब यह अल्मोड़ा जनपद की दो तहसीलों में से एक हुआ करती थी। इसके पूर्व में नेपाल, पश्चिम में पाटी तहसील, उत्तर में लोहाघाट तहसील तथा दक्षिण में श्री पूर्णागिरी तहसील है। .

नई!!: नेपाल और चम्पावत तहसील · और देखें »

चमैता

चमैता नेपालके मेची अंचलके इलाम जिलाकी एक गाँव विकास समिति है। .

नई!!: नेपाल और चमैता · और देखें »

चमोली-गोपेश्वर

चमोली गोपेश्वर भारत के उत्तराखण्ड राज्य के अन्तर्गत गढ़वाल मण्डल का एक प्रमुख नगर है। यह चमोली जनपद का मुख्यालय है। .

नई!!: नेपाल और चमोली-गोपेश्वर · और देखें »

चाँफामाण्डौ

चाँफामाण्डौ नेपाल के सेती अंचल के अछाम जिला का एक गाँव है। .

नई!!: नेपाल और चाँफामाण्डौ · और देखें »

चानक

चानक या चीनी बटेर (Rain Quail या Black-breasted Quail) (Coturnix coromandelica) बटेर की एक जाति है जो भारतीय उपमहाद्वीप में पाई जाती है। यह जाति कंबोडिया, थाइलैंड, नेपाल, पाकिस्तान, बांग्लादेश, भारत, म्यानमार, वियतनाम और श्रीलंका की मूल निवासी है। .

नई!!: नेपाल और चानक · और देखें »

चापपानी

नेपाल देशके पश्चिमांचल विकास क्षेत्र के लुम्बिनी अंचल में अवस्थित पाल्पा जिल्ला का यें जगा एक अत्याधिक उर्वर एवं घना वस्ती सें भरा हुआ सुन्दर गाँव हैं। नेपाल में इसे गाँउ विकास समिति और गाविस के रूपमें जानाजाता हैं। .

नई!!: नेपाल और चापपानी · और देखें »

चापाकोट नगरपालिका

नेपाल के पश्चिमांचल विकास क्षेत्र के गण्डकी अंचल के स्यांजा जिला में स्थित एक नगरपालिका हैं। .

नई!!: नेपाल और चापाकोट नगरपालिका · और देखें »

चामलांग

चामलांग (Chamlang) या गुरुंग चामलांग (Gurung Chamlang) हिमालय के महालंगूर हिमाल खण्ड के दक्षिणी भाग में स्थित एक पर्वत है जो विश्व का 80वाँ सर्वोच्च पर्वत है। यह नेपाल में मकालू पर्वत के पास खड़ा हुआ है। .

नई!!: नेपाल और चामलांग · और देखें »

चाल्सा

चाल्सा नेपाल के सेती अंचल के अछाम जिला का एक गाँव है। .

नई!!: नेपाल और चाल्सा · और देखें »

चांदी का वरक़

चांदी का वरक़ या सिर्फ वरक़, (अन्य नामः वरक या वरख या वर्क), चांदी अथवा शयोजकमांसर्क से बना एक पतरा (पर्ण) है और भारत और पड़ोसी देशों जैसे कि पाकिस्तान, नेपाल, बांग्लादेश आदि में इसका उपयोग मिठाईयों और व्यंजनों को सजाने के लिए किया जाता है। चांदी को खाया जा सकता है हालांकि, यह पूर्णतया स्वादविहीन होती है। चांदी तत्व का एक बड़ी मात्रा में सेवन अर्जीरिया का कारण बन सकता है, लेकिन वर्क में इसकी बहुत ही कम मात्रा होने के कारण इसे शरीर के लिए हानिकारक नहीं माना जाता। वरक़ बनाने के लिए चांदी को पीट पीट कर एक चादर में ढाला जाता है और इसकी मोटाई मात्र कुछ माइक्रोमीटर ही रह जाती है। इसे सहेजने के लिए इसे कागज की परतों के बीच रखा जाता है और इसे उपयोग से पहले इन कागजों मे से निकाला जाता है। यह बहुत ही नाज़ुक होता है और छूने पर छोटे छोटे टुकड़ों में टूट जाता है। शाकाहारी लोगों का दावा है कि, क्योंकि वरक़ बनाने के लिए चांदी को पशुओं की अति लचीली आंतों के बीच रख कर पीटा जाता है और इन आंतों का कुछ हिस्सा इस वर्क का भी हिस्सा बन जाता है इसलिए, वरक़ एक तरह से एक मांसाहारी उत्पाद है। .

नई!!: नेपाल और चांदी का वरक़ · और देखें »

चितवन जिला

नेपाल के नारायणी प्रान्त का जिला। जिसमे एक प्रसिद्ध तीर्थ देवघाट है | इस तीर्थको आदिप्रयाग भी कहा जाता है |यहाँ चक्रानदी (कृष्णा)और शुक्लागण्डकीकी मनोहर संगम है| श्रेणी:नेपाल के जिले.

नई!!: नेपाल और चितवन जिला · और देखें »

चित्रे भञ्ज्याङ

नेपाल के पश्चिमांचल विकास क्षेत्र के गण्डकी अंचल के स्यांजा जिल्ला में स्थित एक अत्याधिक उर्वर एवं घना वस्ती समेटा हुआ गाँउ विकास समिति हैं। .

नई!!: नेपाल और चित्रे भञ्ज्याङ · और देखें »

चिदिपानी

नेपाल देशके पश्चिमांचल विकास क्षेत्र के लुम्बिनी अंचल में अवस्थित पाल्पा जिल्ला का यें जगा एक अत्याधिक उर्वर एवं घना वस्ती सें भरा हुआ सुन्दर गाँव हैं। नेपाल में इसे गाँउ विकास समिति और गाविस के रूपमें जानाजाता हैं। .

नई!!: नेपाल और चिदिपानी · और देखें »

चिदीका

चिदीका नेपालके लुम्बिनी अंचलके अर्घाखाँची जिलाकी एक गाँव विकास समिति है। .

नई!!: नेपाल और चिदीका · और देखें »

चिन्नेबास

चिन्नेबास नेपाल के पश्चिमांचल विकास क्षेत्र के गण्डकी अंचल के स्यांजा जिला में स्थित एक अत्याधिक उर्वर एवं घना बस्ती वाली ग्राम समिति है। .

नई!!: नेपाल और चिन्नेबास · और देखें »

चिरायता

चिरायता (Swertia chirata) ऊँचाई पर पाया जाने वाला पौधा है। इसके क्षुप 2 से 4 फुट ऊँचे एक-वर्षायु या द्विवर्षायु होते हैं। इसकी पत्तियाँ और छाल बहुत कडवी होती और वैद्यक में ज्वर-नाशक तथा रक्तशोधक मानी जाती है। इसकी छोटी-बड़ी अनेक जातियाँ होती हैं; जैसे- कलपनाथ, गीमा, शिलारस, आदि। इसे जंगलों में पाए जानेवाले तिक्त द्रव्य के रूप में होने के कारण किराततिक्त भी कहते हैं। किरात व चिरेट्टा इसके अन्य नाम हैं। चरक के अनुसार इसे तिक्त स्कंध तृष्णा निग्रहण समूह में तथा सुश्रुत के अनुसार अरग्वध समूह में गिना जाता है। यह हिमालय प्रदेश में कश्मीर से लेकर अरुणांचल तक 4 से 10 हजार फीट की ऊँचाई पर होता है। नेपाल इसका मूल उत्पादक देश है। कहीं-कहीं मध्य भारत के पहाड़ी इलाकों व दक्षिण भारत के पहाड़ों पर उगाने के प्रयास किए गए हैं। इसके काण्ड स्थूल आधे से डेढ़ मीटर लंबे, शाखा युक्त गोल व आगे की ओर चार कोनों वाले पीतवर्ण के होते हैं। पत्तियाँ चौड़ी भालाकार, 10 सेण्टीमीटर तक लंबी, 3 से 4 सेण्टीमीटर चौड़ी अग्रभाग पर नुकीली होती हैं। नीचे बड़े तथा ऊपर छोटी होती चली जाती है। फूल हरे पीले रंग के बीच-बीच में बैंगनी रंग से चित्रित, अनेक शाखा युक्त पुष्पदण्डों पर लगते हैं। पुष्प में बाहरी व आभ्यन्तर कोष 4-4 खण्ड वाले होते हैं तथा प्रत्येक पर दो-दो ग्रंथियाँ होती हैं। फल लंबे गोल छोटे-छोटे एक चौथाई इंच के अण्डाकार होते हें तथा बीज बहुसंख्य, छोटे, बहुकोणीय एवं चिकने होते हैं। वर्षा ऋतु में फूल आते हैं। फल जब वर्षा के अंत तक पक जाते हैं तब शरद ऋतु में इनका संग्रह करते हैं। इस पौधे में कोई विशेष गंध नहीं होती, परन्तु स्वाद तीखा होता है। इसका पंचांग व पुष्प प्रयुक्त होते हैं। बहुत शीघ्रता से उपलब्ध न होने के कारण इसमें मिलावट काफी होते हैं। पंचांग में भी प्रधानतया काण्ड की ही होती है जो दो तीन फीट लंबा होता है। इसकी छाल चपटी, अन्दर की ओर कुछ मुड़ी हुई तथा बाहर की तरफ भूरे रंग की व अन्दर से गुलाबी रंग की ही होती है। चबाने पर छाल रेशेदार, कुरकुरी, कसैली मालूम पड़ती है। छाल के अंदर की तरफ सूक्ष्म रेखाएँ खिंची होती हैं। सुअर्सिया चिरायता की कई प्रजातियों का प्रयोग मिलावट में पंसारीगण करते हैं। इनमें कुछ हें मीठा या पहाड़ी चिरायता (सुअसिंया अंगस्टीफोलिया) सुअर्शिया अलाटा, बाईमैक-लाटा, सिलिएटा, डेन्सीफोलिया, लाबी माईनर, पैनीकुलैटा। इसके अतिरिक्त चिरायता में कालमेघ (एण्ड्रोग्राफिस पैनिकुलैटा) तथा मंजिष्ठा (रुविया कॉडियाफोलिया) की भी मिलावट की जाती है। कालमेघ को हरा चिरायता नाम भी दिया गया है। इनकी पहचान करने का एक ही तरीका है कि दीखने में एक से होते हुए भी शेष स्वाद में अर्ध तिक्त या मीठे होते हैं। छाल के अंदर की बनावट को ध्यान से देखकर भेद किया जा सकता है। अनुप्रस्थ काट पर मज्जा का भाग स्पष्ट दिखाई देता है। यह कोमल होता है, आसानी से पृथक हो जाता है। शेष परीक्षण रासायनिक विश्लेषण के आधार पर किया जाता है। जिसके अनुसार तिक्त सत्व कम से कम 1.3 प्रतिशत होना चाहिए। मीठे चिरायते का तना आयताकार होता है तथा असली चिरायते की तुलना में मज्जा का भाग अपेक्षाकृत कम होता है। शेष सभी मिलाकर औषधियों को उनके विशिष्ट लक्षणों द्वारा पहचाना जा सकता है। इसे लगभग सभी विद्यानों ने सन्निपात ज्वर, व्रण, रक्त, दोषों की सर्वश्रेष्ठ औषधि माना है। इस प्रकार एक प्रकार की प्रतिसंक्रामक औषधि यह है, जो ज्वर उत्पन्न करने वाले मूल कारणों का निवारण करती है। इसी प्रकार यह तीखेपन के कारण कफ पित्त शामक तथा उष्ण वीर्य होने से वातशामक है। इन सभी दोषों के कारण उत्पन्न किसी भी संक्रमण से यह मोर्चा लेता है। कोढ़, कृमि तथा व्रणों को मिटाता है। चिरायते में पीले रंग का एक कड़ुवा अम्ल-ओफेलिक एसिड होता है। इस अम्ल के अतिरिक्त अन्य जैव सक्रिय संघटक हैं। दो प्रकार के कडुवे ग्लग्इकोसाइड्स चिरायनिन और एमेरोजेण्टिन, दो क्रिस्टलीयफिनॉल, जेण्टीयोपीक्रीन नामक पीले रंग का एक न्यूट्रल क्रिस्टल यौगिक तथा एक नए प्रकार का जैन्थोन जिसे 'सुअर्चिरन' नाम दिया गया है। एमेरोजेण्टिन नामक ग्लाईकोसाइड विश्व के सर्वाधिक कड़वे पदार्थों में से एक है। इसका कड़वापन एक करोड़ चालीस लाख में एक भाग की नगण्य सी सान्द्रता पर भी अनुभव होता रहता है। यह सक्रिय घटक ही चिरायते की औषधीय क्षमता का प्रमुख कारण भी है। इण्डियन फर्मेकोपिया द्वारा निर्धारित मानकों के अनुसार चिरायते में तिक्त घटक 1.3 प्रतिशत होना चाहिए। इसके द्रव्य गुण पक्ष पर लिखे शोध प्रबंध में बी.एच.यू.

नई!!: नेपाल और चिरायता · और देखें »

चिलाउने, उदयपुर

चिलाउने, उदयपुर नेपालके पुर्वांचल विकास क्षेत्रके सगरमाथा अंचलके उदयपुर जिलाकी एक गाँव विकास समिति है। .

नई!!: नेपाल और चिलाउने, उदयपुर · और देखें »

चिलाउनेबास

चिलाउनेबासी नेपाल के पश्चिमांचल विकास क्षेत्र के गण्डकी अंचल के स्यांजा जिला में स्थित एक अत्याधिक उर्वर एवं घना बस्ती वाली ग्राम समिति है। .

नई!!: नेपाल और चिलाउनेबास · और देखें »

चिल्मिआ

चिल्मिआ (Blood pheasant) (Ithaginis cruentus) फ़ीज़ॅन्ट कुल का पक्षी है जो अपनी प्रजाति का इकलौता पक्षी है। यह भूटान, चीन, भारत, म्यानमार तथा नेपाल में मूलत: पाया जाता है। .

नई!!: नेपाल और चिल्मिआ · और देखें »

चिसापानी

चिसापानी नेपालके मेची अंचलके इलाम जिलाकी एक गाँव विकास समिति है। .

नई!!: नेपाल और चिसापानी · और देखें »

चंद्रगोमिन्‌

चंद्रगोमिन्‌ प्रसिद्ध बौद्ध वैयाकरण थे। वे 'चांद्र व्याकरण' नामक प्रसिद्ध ग्रन्थ के प्रवर्तक माने जाते र्हे। इनके अन्य प्रसिद्ध नाम थे 'चंद्र' और 'चंद्राचार्य'। इनका समय जयादित्य और वामन की 'काशिका' (वृत्तिसूत्र, समय 650 ई. के आसपास) तथा भर्तृहरि (या हरि) के 'वाक्यपदीय' से निश्चित रूप में पूर्ववर्ती है। काशिकासूत्रवृत्ति में इनके अनेक नियमसूत्र बिना नामोल्लेख के गृहीत हैं। वाक्य पदीय में बताया गया है कि पंतजलि को शिष्यपरंपरा में जो व्याकरण नष्टभ्रष्ट हो गया था उसे चंद्राचार्यादि ने अनेक शाखाओं में पुन-प्रणीत किया (य: पंतजलिशिष्येभ्यो भ्रष्टो व्याकरणागम:। सनीतो बहुशाखत्वं चंद्राचार्यादिभि: पुन: 2/489)। चांद्र व्याकरण में उद्घृत उदाहरण 'अजयद् गुप्तो हूणान्‌' के सन्दर्भवैशिष्ट्य से सूचित है कि गुप्त (स्कंदगुप्त 465 ई. अथवा यशोवर्मा 544 ई.) सम्राट् की विजयघटना ग्रंथकार चंद्राचार्य के जीवनकाल में ही घटित हुई थी। अत: सामान्य रूप से चंद्रगोमिन्‌ का समय 470 ई. के आसपास माना जाता है। इनका सर्वप्रथम नामोल्लेख संभवत: 'वाक्यपदीय' में है। .

नई!!: नेपाल और चंद्रगोमिन्‌ · और देखें »

चंपारण

चंपारण बिहार प्रान्त का एक जिला था। अब पूर्वी चंपारण और पश्चिमी चंपारण नाम के दो जिले हैं। भारत और नेपाल की सीमा से लगा यह क्षेत्र स्वाधीनता संग्राम के दौरान काफी सक्रिय रहा है। महात्मा गाँधी ने अपनी मशाल यहीं से अंग्रेजों के खिलाफ नील आंदोलन से जलायी थी। बेतियापश्चिमी चंपारण का जिला मुख्यालय है और मोतिहारी पूर्वी चम्पारण का। चंपारण से ३५ किलोमीटर दूर दक्षिण साहेबगंज-चकिया मार्ग पर लाल छपरा चौक के पास अवस्थित है प्राचीन ऐतिहासिक स्थल केसरिया। यहाँ एक वृहद् बौद्धकालीन स्तूप है जिसे केसरिया स्तूप के नाम से जाना जाता है। .

नई!!: नेपाल और चंपारण · और देखें »

चकचकी

चकचकी नेपालके मेची अंचलके झापा जिला का एक गाँव विकास समिति है। .

नई!!: नेपाल और चकचकी · और देखें »

चुलाचुली

चुलाचुली नेपालके मेची अंचलके इलाम जिलाकी एक गाँव विकास समिति है। .

नई!!: नेपाल और चुलाचुली · और देखें »

च्यानाम, ओखलढुङ्गा

च्यानाम, ओखलढुंगा नेपाल के पूर्वांचल विकास क्षेत्र के सगरमाथा अंचल, ओखलढुंगा जिला में स्थित गाँव विकास समिति है। .

नई!!: नेपाल और च्यानाम, ओखलढुङ्गा · और देखें »

चौडण्डी

चौडण्डी नेपालके पुर्वांचल विकास क्षेत्रके सगरमाथा अंचलके उदयपुर जिलाकी एक गाँव विकास समिति है। .

नई!!: नेपाल और चौडण्डी · और देखें »

चौलाखर्क

चौलाखर्क नेपाल के पूर्वांचल विकास क्षेत्र के सगरमाथा अंचल, सोलुखुम्बु जिला में स्थित गाँव विकास समिति है। .

नई!!: नेपाल और चौलाखर्क · और देखें »

चौसिंगा

चौसिंगा, जिसे अंग्रेज़ी में Four-horned Antelope कहते हैं, एक छोटा बहुसिंगा है। यह टॅट्रासॅरस प्रजाति में एकमात्र जीवित जाति है और भारत तथा नेपाल के खुले जंगलों में पाया जाता है। चौसिंगा एशिया के सबसे छोटे गोकुलीय प्राणियों में से हैं। .

नई!!: नेपाल और चौसिंगा · और देखें »

चौंरीखर्क

चौंरीखर्क नेपाल के पूर्वांचल विकास क्षेत्र के सगरमाथा अंचल, सोलुखुम्बु जिला में स्थित गाँव विकास समिति है। .

नई!!: नेपाल और चौंरीखर्क · और देखें »

चेदि राज्य

पुराणों में वर्णित प्राचीन भारत के राज्य चेदि आर्यों का एक अति प्राचीन वंश है। ऋग्वेद की एक दानस्तुति में इनके एक अत्यंत शक्तिशाली नरेश 'कशु' का उल्लेख है। ऋग्वेदकाल में ये संभवत: यमुना और विंध्य के बीच बसे हुए थे। पुराणों में वर्णित परंपरागत इतिहास के अनुसार यादवों के नरेश विदर्भ के तीन पुत्रों में से द्वितीय कैशिक चेदि का राजा हुआ और उसने चेदि शाखा का स्थापना की। चेदि राज्य आधुनिक बुंदेलखंड में स्थित रहा होगा और यमुना के दक्षिण में चंबल और केन नदियों के बीच में फैला रहा होगा। कुरु के सबसे छोटे पुत्र सुधन्वन्‌ के चौथे अनुवर्ती शासक वसु ने यादवों से चेदि जीतकर एक नए राजवंश की स्थापना की। उसके पाँच में से चौथे (प्रत्यग्रह) को चेदि का राज्य मिला। महाभारत के युद्ध में चेदि पांडवों के पक्ष में लड़े थे। छठी शताब्दी ईसा पूर्व के 16 महाजनपदों की तालिका में चेति अथवा चेदि का भी नाम आता है। चेदि लोगों के दो स्थानों पर बसने के प्रमाण मिलते हैं - नेपाल में और बुंदेलखंड में। इनमें से दूसरा इतिहास में अधिक प्रसिद्ध हुआ। मुद्राराक्षस में मलयकेतु की सेना में खश, मगध, यवन, शक, हूण के साथ चेदि लोगों का भी नाम है। .

नई!!: नेपाल और चेदि राज्य · और देखें »

चोमो लोन्ज़ो

चोमो लोन्ज़ो (Chomo Lonzo) तिब्बत में नेपाल की सीमा के पास स्थित हिमालय का एक पर्वत है। यह हिमालय के महालंगूर हिमाल भाग में मकालू पर्वत से ५ किमी पूर्वोत्तर में खड़ा हुआ है। इसके तीन शिखर हैं: उत्तरी मुख्य शिखर (7804मी) एक लगभग 7250मी ऊँचाई वाले भाग से मध्य शिखर (7565मी) से जुड़ा है जो स्वयं एक लगभग 7050मी ऊँचाई वाले भाग से उत्तरी (या पश्चिमोत्तरी) लगभग 7200मी ऊँचे शिखर से जुड़ा हुआ है। .

नई!!: नेपाल और चोमो लोन्ज़ो · और देखें »

चोयु

चोयु या चो ओयु (तिब्बती: ཇོ་བོ་དབུ་ཡ, अंग्रेज़ी: Cho Oyu) विश्व का छठा सबसे ऊँचा पर्वत है। यह ८,१८८ मीटर (२६,८६४ फ़ुट) ऊँचा पर्वत हिमालय की महालंगूर हिमाल भाग के खुम्बु उपभाग का पश्चिमतम पर्वत है और एवरेस्ट पर्वत से २० किमी पश्चिम में स्थित है। यह नेपाल और तिब्बत की सीमा पर खड़ा है। चोयु से कुछ ही किलोमीटर पश्चिम में ५,७१६ मीटर (१८,७५३ फ़ुट) की ऊँचाई पर नांगपा ला नामक दर्रा है जो हिमालय के खुम्बु और रोलवालिंग भागों को अलग करता है और तिब्बती लोगों और खुम्बु क्षेत्र के शेरपाओं के बीच का मुख्य व्यापारी मार्ग है। .

नई!!: नेपाल और चोयु · और देखें »

चोर सिपाही (फ़िल्म)

'चोर सिपाही' नेपाली भाषाको चलचित्र हो! .

नई!!: नेपाल और चोर सिपाही (फ़िल्म) · और देखें »

चोकचिसापानी

नेपाल के पश्चिमांचल विकास क्षेत्र के गण्डकी अंचल के तनहुँ जिल्ला में स्थित एक अत्याधिक उर्वर एवं घना वस्ती समेटा हुआ गाँउ विकास समिति हैं। .

नई!!: नेपाल और चोकचिसापानी · और देखें »

चीतल

चीतल, या चीतल मृग, या चित्तिदार हिरन हिरन के कुल का एक प्राणी है, जो कि श्री लंका, नेपाल, भूटान, बांग्लादेश, भारत में पाया जाता है। पाकिस्तान के भी कुछ इलाकों में भी बहुत कम पाया जाता है। अपनी प्रजाति का यह एकमात्र जीवित प्राणी है। .

नई!!: नेपाल और चीतल · और देखें »

चीन-नेपाल युद्ध

चीन-नेपाल युद्ध या गोरखा-चीन युद्ध (चीनी: 平 定 廓 爾 喀, pacification of Gorkha) नेपालीयों द्वारा 1788-1792 में तिब्बत के ऊपर एक चढाई थी। यह युद्ध पुरी तरह नेपाली और तिब्बती आर्मीयों के बीच सिक्का के विवाद को लेकर लड़ा गया। नेपालीयों द्बारा सस्ते धातुओं के मिश्रण को ढालकर बनाये गये सिक्के जो लम्बे समय से तिब्बत के लिए परेशानी का सबब बना हुआ था। नेपालियों ने तिब्बतियों को वश में कर रखा था, जो चीन के अधिन थें। तिब्बत ने केरुङकि सन्धि की और शान्ति सम्झौता के अनुरूप वार्षिक सलामी देनेका वादा किया। बाद में तिब्बत ने झूठ बोला और चीन के राजा को न्यौता दिया। कमाण्डर फुकागन नेपालके बेत्रावती तक आगए लेकिन जबरदस्त काउन्टरअटैक के कारण चीन ने शान्ति सम्झौता के प्रस्ताव स्वीकार किया। .

नई!!: नेपाल और चीन-नेपाल युद्ध · और देखें »

चीनी पैंगोलिन

चीनी पैंगोलिन (Chinese pangolin), जिसका वैज्ञानिक नाम मैनिस पेन्टाडैक्टाएला (Manis pentadactyla) है, पैंगोलिन की एक जीववैज्ञानिक जाति है जो उत्तरी भारत, नेपाल, भूटान, बांग्लादेश, बर्मा, उत्तरी हिन्दचीन, ताइवान और दक्षिणी चिन (जिसमें हाइनान द्वीप भी शामिल है) में पाया जाता है। यह पैंगोलिन की आठ जातियों में से एक है और अति-संकटग्रस्त माना जाता है। चीन व पूर्वी एशिया में इसके मांस को खाने से सम्बन्धित कई अन्धविश्वास हैं कि उस से कई रोग ठीक होते हैं हालाकि चिकित्सकों ने इस मान्यता को सरासर झूठ पाया है। अंतर्राष्ट्रीय प्रकृति संरक्षण संघ के अनुसार पिछ्ले १५ सालों में इसकी संख्या में ज़बरदस्त गिरावट हुई है। .

नई!!: नेपाल और चीनी पैंगोलिन · और देखें »

चीनी जनवादी गणराज्य

चीनी जनवादी गणराज्य (चीनी: 中华人民共和国) जिसे प्रायः चीन नाम से भी सम्बोधित किया जाता है, पूर्वी एशिया में स्थित एक देश है। १.३ अरब निवासियों के साथ यह विश्व का सर्वाधिक जनसंख्या वाला देश है और ९६,४१,१४४ वर्ग किलोमीटर क्षेत्रफल के साथ यह रूस और कनाडा के बाद विश्व का तीसरा सबसे बड़ा क्षेत्रफल वाला देश है। इतना विशाल क्षेत्रफल होने के कारण इसकी सीमा से लगते देशों की संख्या भी विश्व में सर्वाधिक (रूस के बराबर) है जो इस प्रकार है (उत्तर से दक्षिणावर्त्त): रूस, मंगोलिया, उत्तर कोरिया, वियतनाम, लाओस, म्यान्मार, भारत, भूटान, नेपाल, तिबत देश,पाकिस्तान, अफ़्गानिस्तान, ताजिकिस्तान, किर्गिस्तान और कज़ाख़िस्तान। उत्तर पूर्व में जापान और दक्षिण कोरिया मुख्य भूमि से दूरी पर स्थित हैं। चीनी जनवादी गणराज्य की स्थापना १ अक्टूबर, १९४९ को हुई थी, जब साम्यवादियों ने गृहयुद्ध में कुओमिन्तांग पर जीत प्राप्त की। कुओमिन्तांग की हार के बाद वे लोग ताइवान या चीनी गणराज्य को चले गए और मुख्यभूमि चीन पर साम्यवादी दल ने साम्यवादी गणराज्य की स्थापना की। लेकिन चीन, ताईवान को अपना स्वायत्त क्षेत्र कहता है जबकि ताइवान का प्रशासन स्वयं को स्वतन्त्र राष्ट्र कहता है। चीनी जनवादी गणराज्य और ताइवान दोनों अपने-अपने को चीन का वैध प्रतिनिधि कहते हैं। चीन विश्व की सबसे प्राचीन सभ्यताओं में से एक है जो अभी भी अस्तित्व में है। इसकी सभ्यता ५,००० वर्षों से अधिक भी पुरानी है। वर्तमान में यह एक "समाजवादी गणराज्य" है, जिसका नेतृत्व एक दल के हाथों में है, जिसका देश के २२ प्रान्तों, ५ स्वायत्तशासी क्षेत्रों, ४ नगरपालिकाओं और २ विशेष प्रशासनिक क्षेत्रों पर नियन्त्रण है। चीन विश्व की दूसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था है और यह संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद का स्थाई सदस्य भी है। यह विश्व का सबसे बड़ा निर्यातक और दूसरा सबसे बड़ा आयातक है और एक मान्यता प्राप्त नाभिकीय महाशक्ति है। चीनी साम्यवादी दल के अधीन रहकर चीन में "समाजवादी बाज़ार अर्थव्यवस्था" को अपनाया जिसके अधीन पूंजीवाद और अधिकारवादी राजनैतिक नियन्त्रण सम्मित्लित है। विश्व के राजनैतिक, आर्थिक और सामाजिक ढाँचे में चीन को २१वीं सदी की अपरिहार्य महाशक्ति के रूप में माना और स्वीकृत किया जाता है। यहाँ की मुख्य भाषा चीनी है जिसका पाम्परिक तथा आधुनिक रूप दोनों रूपों में उपयोग किया जाता है। प्रमुख नगरों में बीजिंग (राजधानी), शंघाई (प्रमुख वित्तीय केन्द्र), हांगकांग, शेन्ज़ेन, ग्वांगझोउ इत्यादी हैं। .

नई!!: नेपाल और चीनी जनवादी गणराज्य · और देखें »

चीर

चीर (Cheer pheasant) (Catreus wallichii) एक मयूरवंशी पक्षी है जो कि पाक अधिकृत कश्मीर, भारत तथा नेपाल में पाया जाता है। .

नई!!: नेपाल और चीर · और देखें »

चीज़ की सूची

यह उत्पत्ति स्थान के आधार पर चीज़ की सूची है। दुकान पर चीज़ काउंटर दुकान के कूलर में चीज़ थाली में परोसे हुए चीज़ों के विभिन्न प्रकार सुपरमार्केट में कई प्रकार की चीज़ .

नई!!: नेपाल और चीज़ की सूची · और देखें »

टनकपुर

टनकपुर भारत के उत्तराखण्ड राज्य का एक प्रमुख नगर है। चम्पावत जनपद के दक्षिणी भाग में स्थित टनकपुर नेपाल की सीमा पर बसा हुआ है। टनकपुर, हिमालय पर्वत की तलहटी में फैले भाभर क्षेत्र में स्थित है। शारदा नदी टनकपुर से होकर बहती है। इस नगर का निर्माण १८९८ में नेपाल की ब्रह्मदेव मंडी के विकल्प के रूप में किया गया था, जो शारदा नदी की बाढ़ में बह गई थी। कुछ समय तक यह चम्पावत तहसील के उप-प्रभागीय मजिस्ट्रेट का शीतकालीन कार्यालय भी रहा। १९०१ में इसकी जनसंख्या ६९२ थी। सुनियोजित ढंग से निर्मित बाजार, चौड़ी खुली सड़कें, फैले हुए फुटपाथ, खुली हवादार कालोनियां इस नगर की विशेषताएं हैं। पूर्णागिरि मन्दिर के मुख्य द्वार के रूप में शारदा नदी के तट पर बसा हुआ यह नगर पर्यटकों और प्रकृति प्रेमियों के आकर्षण का केन्द्र है। .

नई!!: नेपाल और टनकपुर · और देखें »

टाप्टिङ

टाप्टिङ नेपाल के पूर्वांचल विकास क्षेत्र के सगरमाथा अंचल, सोलुखुम्बु जिला में स्थित गाँव विकास समिति है। .

नई!!: नेपाल और टाप्टिङ · और देखें »

टायो रोल्स

टायो रोल्स (पूर्व मे टाटा योडोगावा) टाटा इस्पात की सहायक कंपनी है जो कास्ट रोल, रोल जाली, विशेष कास्टिंग और ढलवां लोहे के निर्माण में शामिल है। यह भारत की टाटा स्टील और जापान के योडोगावा स्टील्स के बीच संयुक्त उद्यम है और इसका मुख्यालय जमशेदपुर, झारखंड (भारत) मे स्थित है। यह बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज पर 504961 कोड के साथ सूचीबद्ध है। टायो का भारत में एक व्यापक ग्राहक आधार मौजूद है। टायो ऑस्ट्रेलिया, ऑस्ट्रिया, बांग्लादेश, बेल्जियम, कनाडा, मिस्र, जर्मनी, इंडोनेशिया, कजाकिस्तान, नेपाल, नार्वे, न्यूजीलैंड, ओमान, कतर, सऊदी अरब, स्वीडन, सिंगापुर, दक्षिण अफ्रीका, त्रिनिदाद, ताइवान, संयुक्त अरब अमीरात, रोमानिया, चेक गणराज्य और संयुक्त राज्य अमेरिका को रोल निर्यात करता है। श्रेणी:टाटा समूह.

नई!!: नेपाल और टायो रोल्स · और देखें »

टारकेरावारी

टारकेरावारी नेपाल के पूर्वांचल विकास क्षेत्र के सगरमाथा अंचल, ओखलढुंगा जिला में स्थित गाँव विकास समिति है। .

नई!!: नेपाल और टारकेरावारी · और देखें »

टाघनडुब्बा

टाघनडुब्बा नेपालके मेची अंचलके झापा जिला का एक गाँव विकास समिति है। .

नई!!: नेपाल और टाघनडुब्बा · और देखें »

टाक्सिन्दु

टाक्सिन्दु नेपाल के पूर्वांचल विकास क्षेत्र के सगरमाथा अंचल, सोलुखुम्बु जिला में स्थित गाँव विकास समिति है। .

नई!!: नेपाल और टाक्सिन्दु · और देखें »

टिमिलसैन

टिमिलसैन नेपाल के सेती अंचल के अछाम जिला का एक गाँव है। .

नई!!: नेपाल और टिमिलसैन · और देखें »

टक्सार, स्याङ्जा

नेपाल के पश्चिमांचल विकास क्षेत्र के गण्डकी अंचल के स्यांजा जिल्ला में स्थित एक अत्याधिक उर्वर एवं घना वस्ती समेटा हुआ गाँउ विकास समिति हैं। .

नई!!: नेपाल और टक्सार, स्याङ्जा · और देखें »

टोक्सेल

टोक्सेल नेपाल के पूर्वांचल विकास क्षेत्र के सगरमाथा अंचल, ओखलढुंगा जिला में स्थित गाँव विकास समिति है। .

नई!!: नेपाल और टोक्सेल · और देखें »

ञिङमा ग्युद्बुम

ञिङमा ग्युद्बुम (རྙིང་མ་རྒྱུད་འབུམ, Wylie: rnying मा rgyud 'लूट) 'एकत्र तंत्र के पूर्वजों', यह है कि Mahayoga, Anuyoga और Atiyoga तंत्र के न्यिन्गमा.

नई!!: नेपाल और ञिङमा ग्युद्बुम · और देखें »

एचएएल ध्रुव

ध्रुव हैलीकॉप्टर हिंदुस्तान ऐरोनॉटिक्स लिमिटेड द्वारा विकसित और निर्मित भारत का एक बहूद्देशीय हैलीकॉप्टर है। इसकी भारतीय सशस्त्र बलों को आपूर्ति की जा रही है और एक नागरिक संस्करण भी उपलब्ध है। इसे पहले नेपाल और इज़रायल को निर्यात किया गया था फिर सैन्य और वाणिज्यिक उपयोग के लिए कई अन्य देशों द्वारा मंगाया गया है। सैन्य संस्करण परिवहन, उपयोगिता, टोही और चिकित्सा निकास भूमिकाओं में उत्पादित किये जा रहे हैं। ध्रुव मंच के आधार पर, एच ए एल हल्का लड़ाकू हेलीकाप्टर, एक लड़ाकू हेलीकाप्टर और एचएएल लाइट अवलोकन हेलीकाप्टर, एक उपयोगिता और प्रेक्षण हेलिकॉप्टर विकसित किए गए है। .

नई!!: नेपाल और एचएएल ध्रुव · और देखें »

एडिनबर्ग

एडिनबर्ग या एडिनबर (Edinburgh,अंग्रेजी उच्चारण: / ए॑डिन्बर / Dùn Èideann डुन एडिऽन्न), स्कॉटलैंड की राजधानी, एवं ग्लासगो के बाद, स्कॉटलैंड का दूसरा सबसे बड़ा शहर है। यह स्काॅटलैन्ड के लोथियन क्षेत्र में फ़ाॅर्थ के नदमुख के दक्षिणी तट पर स्थित है। वर्ष 2013 के हिसाब से,इस शहर की आबादी 5,00,000 के करीब है। 15वीं सदी से ही यह ऐतिहासिक शहर स्कॉटलैंड की राजधानी है। शुरुआत से ही स्काॅटियाई राजशाही के सारे महत्वपूर्ण प्रशासनिक भवन इसी शहर में ही स्थित हुआ करते थे, परंतू 1603 और 1707 के बीच, इंग्लैंड से विलय के पश्चात इस शहर की काफ़ी राजनैतिक ताकत लंदन चली गई। 1999 में स्कॉटिश संसद को स्वायत्त रूप से शाही धोषणा द्वारा स्थापित किया गया तब से यह शहर स्काॅटलैंड की संसद व स्काॅटलैंड में राजगद्दी का आसन है। स्कॉटलैंड का राष्ट्रीय संग्रहालय, स्कॉटलैंड का राष्ट्रीय पुस्तकालय और स्कॉटलैंड की अन्य महत्वपूर्ण सांस्कृतिक संस्थाओं के मुख्यालय व नेशनल गैलरी यहीं एडिनबर्ग में स्थित हैं। आर्थिक रूप से, यह यूके में लंदन के बाहर का सबसे बड़ा वित्तीय केंद्र है। एडिनबर्ग का इतिहास काफ़ी लम्बा है, एवं यहां कई ऐतिहासिक इमारतों को भी अच्छी तरह से संरक्षित देखे जा सकते हैं। एडिनबर्ग कासल, हाॅलीरूड पैलेस, सेंट जाइल्स कैथेड्रल और कई अन्य महत्वपूर्ण ऐतिहासिक इमारतें यहां स्थित हैं। एडिनबर्ग का ओल्ड टाउन और न्यू टाउन, यूनेस्को विश्व धरोहर स्थल हैं। 2004 में, एडिनबर्ग विश्व साहित्य में पहला शहर बन गया। साथी यह ऐतिहासिक रूप से शिक्षा का भी एक विकसित केन्द्र रहा है, यहाँ स्थित, एडिनबर्ग विश्वविद्यालय, ब्रिटेन के सबसे पुराने विश्वविद्यालयों में से एक है, एवं यह अब भी दुनिया के शीर्ष सिक्षा संस्थानों में शामिल है। इसके अलावा एडिनबर्ग अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव और यहां आयोजित किये गए अन्य सांस्कृतिक कार्यक्रम भी विश्वविख्यात समारोहों में से एक है। लंडन के बाद ब्रिटेन में, एडिनबर्ग दूसरा सबसे बड़ा पर्यटन केन्द्र है। .

नई!!: नेपाल और एडिनबर्ग · और देखें »

एतहरवकट्टी

एतहरवकट्टी नेपाल के जनकपुर अंचल का महोत्तरी जिला का एक गांव विकास समिति है। यह जगह मै १०२२ घर है। .

नई!!: नेपाल और एतहरवकट्टी · और देखें »

एभाङ

एभाङ नेपाल के मेची अंचल का इलाम जिला का एक गांव विकास समिति है। यह जगह मैं ८९६ घर है। .

नई!!: नेपाल और एभाङ · और देखें »

एम्बुड

एम्बुड नेपाल के मेची अंचल का पाँचथर जिला का एक गांव विकास समिति है। यह जगह मै ४५५ घर है। .

नई!!: नेपाल और एम्बुड · और देखें »

एयर इंडिया फ़्लाइट 182

250px एयर इंडिया फ़्लाइट 182 मॉन्ट्रियल-लंदन-दिल्ली-मुंबई मार्ग के बीच परिचालित होने वाली एयर इंडिया की उड़ान थी। 23 जून 1985 को मार्ग पर परिचालित होने वाला एक हवाई जहाज़, बोइंग 747-237B (c/n 21473/330, reg VT-EFO) जिसका नाम सम्राट कनिष्क के नाम पर रखा गया था, आयरिश हवाई क्षेत्र में उड़ते समय, की ऊंचाई पर, बम से उड़ा दिया गया और वह अटलांटिक महासागर में दुर्घटनाग्रस्त हो गया। 329 लोगों की मृत्यु हुई, जिनमें अधिकांश भारत में जन्मे या भारतीय मूल के 280 कनाडाई नागरिक और 22 भारतीय शामिल थे। यह घटना आधुनिक कनाडा के इतिहास में सबसे बड़ी सामूहिक हत्या थी। विस्फोट और वाहन का गिरना, संबंधित नारिटा हवाई अड्डे की बमबारी के एक घंटे के भीतर घटित हुआ। जांच और अभियोजन में लगभग 20 वर्ष लगे और यह कनाडा के इतिहास में, लगभग CAD $130 मिलियन की लागत के साथ, सबसे महंगा परीक्षण था। एक विशेष आयोग ने प्रतिवादियों को दोषी नहीं पाया और उन्हें छोड़ दिया गया। 2003 में मानव-हत्या की अपराध स्वीकृति के बाद, केवल एक व्यक्ति को बम विस्फोट में लिप्त होने का दोषी पाया गया। परिषद के गवर्नर जनरल ने 2006 में भूतपूर्व सुप्रीम कोर्ट के न्यायाधीश जॉन मेजर को जांच आयोग के संचालन के लिए नियुक्त किया और उनकी रिपोर्ट 17 जून 2010 को पूरी हुई और जारी की गई। यह पाया गया कि कनाडा सरकार, रॉयल कैनेडियन माउंटेड पुलिस और कैनेडियन सेक्युरिटी इंटलिजेन्स सर्विस द्वारा "त्रुटियों की क्रमिक श्रृंखला" की वजह से आतंकवादी हमले को मौक़ा मिला। .

नई!!: नेपाल और एयर इंडिया फ़्लाइट 182 · और देखें »

एयर अरबिया

एयर अरबिया (العربية للطيران) संयुक्त अरब अमीरात एक प्रमुख वायुयान सेवा हैं। एयर अरबिया एक कम लागत वाली विमान सेवा है जिस्का मुख्य कार्यालय शारजाह में शारजाह फ्रेट केंद्र, शारजाह अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे, सैंयुक्त अरब अमीरात में स्थित है। इस एयरलाइन शारजाह से ५१ गंतव्यों के लिए अनुसूचित सेवाएं मध्य पूर्व, उत्तरी अफ्रीका, भारतीय उपमहाद्वीप, मध्य एशिया और यूरोप से २२ देशों में, कैसाब्लांका, फेस, नडोर, टंगेर और मार्राकेश से ९ देशों में २८ स्थलों और अलेक्जेंड्रिया से ४ देशों में ६ स्थलों तक संचालित किया है|इसका मुख्य बेस शारजाह अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा है। एयर अरबिया दूसरे कम लागत वाली विमान सेवाओं से अलग इस लिये है कि शारजाह में इसके बेस पर कई उड़ानों के लिए कनेक्शन प्रदान करता है। एयर अरबिया के भी फोकस शहरें अलेक्जेंड्रिया और कैसाब्लांका में है। एयर अरबिया अरब एयर कैरियर्स संगठन का एक सदस्य है। .

नई!!: नेपाल और एयर अरबिया · और देखें »

एयारकोत

एयारकोत नेपाल के महाकाली अंचल का दार्चुला जिला का एक गांव विकास समिति है। यह जगह मैं ३२३ घर है। .

नई!!: नेपाल और एयारकोत · और देखें »

एराउटार

एराउटार नेपाल के मेची अंचल का इलाम जिला का एक गांव विकास समिति है। यह जगह मैं ८३० घर है। .

नई!!: नेपाल और एराउटार · और देखें »

एरिवाड

एरिवाड नेपाल के राप्ती अंचल का रोल्पा जिला का एक गांव विकास समिति है। यह जगह मै ८२६ घर है। .

नई!!: नेपाल और एरिवाड · और देखें »

एलादि

एलादि नेपाल के पश्चिमांचल विकास क्षेत्र के गण्डकी अंचल के स्यांजा जिला में स्थित एक अत्याधिक उर्वर एवं घना बस्ती वाली ग्राम समिति है। .

नई!!: नेपाल और एलादि · और देखें »

एशिया की संकटापन्न भाषाओं की सूची

संकटापन्न भाषा वह भाषा है जिसपर प्रयोगबाह्य होने का खतरा मँडरा रहा हो। इसका कारण प्रायः यह होता है कि इसके जीवित भाषियों की संख्या बहुत कम रह गयी हो। यदि किसी भाषा के सभी भाषी समाप्त हो चुके हों तो यह विलुप्त भाषा कहलाती है।.

नई!!: नेपाल और एशिया की संकटापन्न भाषाओं की सूची · और देखें »

एशियाई राजमार्ग २

एशियाई राजमार्ग २ (ए एच २) एशियाई राजमार्ग जाल के अंतर्गत १३,१७७ किलोमीटर (८,१८८ मील) लम्बी एक सड़क है। यह इंडोनेशिया के देनपसार से शुरू होकर मेरक और सिंगापुर होते हुए ईरान के खोस्रावी नगर तक जाती है। .

नई!!: नेपाल और एशियाई राजमार्ग २ · और देखें »

एसीबु

एसीबु नेपाल के कोशी अंचल का तेरथुम जिला का एक गांव विकास समिति है। यह जगह मैं ६०६ घर है। .

नई!!: नेपाल और एसीबु · और देखें »

एसीसी ट्रॉफी

एसीसी ट्रॉफी एक सीमित ओवरों के क्रिकेट एशियाई क्रिकेट परिषद (एसीसी) द्वारा आयोजित टूर्नामेंट था। केवल अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) की सहयोगी और संबद्ध सदस्यों के लिए खुला है, यह 1996 और 2012 के बीच द्विवार्षिक चुनाव लड़ा था, लेकिन गैर टेस्ट खेलने के लिए प्राथमिक सीमित ओवरों प्रतियोगिता के रूप में तीन-डिवीजन एसीसी प्रीमियर लीग द्वारा प्रतिस्थापित किया गया है एसीसी के सदस्य हैं। 2000 और 2006 के टूर्नामेंट एशिया कप, जहां एक दिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैचों (एकदिवसीय) की स्थिति के लिए क्वालीफाई किया था के फाइनल में। टूर्नामेंट के उद्घाटन संस्करण 1996 में मलेशिया में खेले, और एक भी संभाग में 12 टीमों चित्रित किया गया था। एकल विभाजन प्रारूप 2006 टूर्नामेंट है, जो एक रिकॉर्ड 17 टीमों विशेष रूप तक जारी रहा। एसीसी ट्रॉफी फिर "एलीट" (प्रथम कक्षा) और "चैलेंज" (दूसरी ग्रेड) डिवीजनों, इस प्रारूप एसीसी ट्रॉफी एलीट 2008 और एसीसी ट्रॉफी चैलेंज 2009 किया जा रहा है के तहत आयोजित पहले संस्करण के साथ (उत्तरार्द्ध टूर्नामेंट में विभाजित किया गया था केवल एक एक अजीब वर्ष में आयोजित होने वाले) था। दो-विभाजन प्रारूप 2012 में अंतिम टूर्नामेंट तक जारी रहा, संवर्धन और डिवीजनों के बीच निर्वासन के साथ। केवल छह टीमों – हांगकांग, मलेशिया, मालदीव, नेपाल, सिंगापुर, और संयुक्त अरब अमीरात – एसीसी ट्रॉफी के सभी नौ संस्करणों में हिस्सा है, हालांकि मालदीव और सिंगापुर दो डिवीजनों की शुरूआत के बाद विभिन्न चरणों में "चैलेंज" टूर्नामेंट में चला गया। संयुक्त अरब अमीरात पांच जीत (और 2000 से 2006 तक लगातार चार जीत) के साथ अब तक के सबसे सफल एसीसी ट्रॉफी टीम द्वारा किया गया था। बांग्लादेश पहले दो टूर्नामेंट जीत लिया, लेकिन टेस्ट दर्जा पाने के बाद अयोग्य पाया गया था। .

नई!!: नेपाल और एसीसी ट्रॉफी · और देखें »

एसीसी अंडर 19 कप

एसीसी अंडर 19 एशिया कप एक सदस्यीय राष्ट्रों के अंडर 19 टीमों के लिए एसीसी द्वारा आयोजित एक क्रिकेट टूर्नामेंट है। यह पहली बार मलेशिया में 2012 में आयोजित किया गया था जहां ट्रॉफी को भारत और पाकिस्तान द्वारा फाइनल के बाद टाई किए जाने के बाद साझा किया गया था। दूसरा संस्करण 2013/14 में संयुक्त अरब अमीरात में आयोजित किया गया था जो भारत ने जीता था। तीसरा संस्करण 2016 में श्रीलंका में आयोजित किया गया था जो भारत ने जीता था। अगले टूर्नामेंट नवंबर 2017 में मलेशिया में आयोजित किया जाएगा। दूसरा स्तरीय आयोजन, जिसे यूथ एशिया कप कहा जाता है, 1997 में हांगकांग में आयोजित किया गया था और उसके बाद से हर दूसरा वर्ष था। 2007 में इसे एसीसी अंडर 19 एलिट कप के रूप में नाम दिया गया था। नेपाल चार बार मुकाबला करने वाले एलिट कप में सबसे सफल टीम रहे हैं। टूर्नामेंट का तीसरा चरण एसीसी अंडर 19 चैलेंज कप कहलाता है और पहली बार थाईलैंड में 2008 में आयोजित किया गया था। .

नई!!: नेपाल और एसीसी अंडर 19 कप · और देखें »

एवरेस्ट (टीवी धारावाहिक)

एवरेस्ट एक भारतीय हिन्दी टेलीविजन धारावाहिक है जो 03 नवम्बर 2014 से स्टार प्लस पर प्रसारित होता है। एवरेस्ट आशुतोष गोवारिकर एवं उनकी कंपनी द्वारा निर्मित है। .

नई!!: नेपाल और एवरेस्ट (टीवी धारावाहिक) · और देखें »

एवरेस्ट पर्वत

एवरेस्ट पर्वत (नेपाली:सागरमाथा, संस्कृत: देवगिरि) दुनिया का सबसे ऊँचा पर्वत शिखर है, जिसकी ऊँचाई 8,850 मीटर है। पहले इसे XV के नाम से जाना जाता था। माउंट एवरेस्ट की ऊँचाई उस समय 29,002 फीट या 8,840 मीटर मापी गई। वैज्ञानिक सर्वेक्षणों में कहा जाता है कि इसकी ऊंचाई प्रतिवर्ष 2 से॰मी॰ के हिसाब से बढ़ रही है। नेपाल में इसे स्थानीय लोग सागरमाथा (अर्थात स्वर्ग का शीर्ष) नाम से जानते हैं, जो नाम नेपाल के इतिहासविद बाबुराम आचार्य ने सन् 1930 के दशक में रखा था - आकाश का भाल। तिब्बत में इसे सदियों से चोमोलंगमा अर्थात पर्वतों की रानी के नाम से जाना जाता है। सर्वे ऑफ नेपाल द्वारा प्रकाशित, (1:50,000 के स्केल पर 57 मैप सेट में से 50वां मैप) “फर्स्ट जॉईन्ट इन्सपेक्सन सर्वे सन् 1979-80, नेपाल-चीन सीमा के मुख्य पाठ्य के साथ अटैच” पृष्ठ पर ऊपर की ओर बीच में, लिखा है, सीमा रेखा, की पहचान की गई है जो चीन और नेपाल को अलग करते हैं, जो ठीक शिखर से होकर गुजरता है। यह यहाँ सीमा का काम करता है और चीन-नेपाल सीमा पर मुख्य हिमालयी जलसंभर विभाजित होकर दोनो तरफ बहता है। .

नई!!: नेपाल और एवरेस्ट पर्वत · और देखें »

एवरेस्ट बेस कैंप

दुनिया की सबसे ऊँची चोटी माउंट एवरेस्ट नेपाल और तिब्बत की सीमा भी है। इस प्रकार इसके दो बेस कैंप हैं। एक दक्षिणी बेस कैंप जो कि नेपाल में स्थित है और दूसरा उत्तरी बेस कैंप जो कि तिब्बत में स्थित है। इन बेस कैंपों का प्रयोग पर्वतारोही माउंट एवरेस्ट के पर्वतारोहण के लिये आधार के तौर पर करते हैं। दक्षिणी बेस कैंप तक पहुँचने के लिये काफ़ी लंबे पैदल रास्ते का प्रयोग किया जाता है और भोजन-आपूर्ति आदि वहाँ के स्थानीय निवासी शेरपा उपलब्ध कराते हैं। दूसरी ओर, उत्तरी बेस कैंप तक सड़क बनी हुई है। बेस कैंपों पर पर्वतारोही कई-कई दिनों तक रुकते हैं ताकि वातावरण के अनुकूल हो सकें। .

नई!!: नेपाल और एवरेस्ट बेस कैंप · और देखें »

एवा

एवा नेपाल के कोशी अंचल का तेरथुम जिला का एक गांव विकास समिति है। यह जगह मैं ६८५ घर है। .

नई!!: नेपाल और एवा · और देखें »

एखाबु

एखाबु नेपाल के मेची अंचल का ताप्लेजुङ जिला का एक गांव विकास समिति है। यह जगह मैं ४१२ घर है। .

नई!!: नेपाल और एखाबु · और देखें »

एंड फ्लिक्स

एंड फ्लिक्स (&flix) एक अंग्रेजी फिल्मों का चैनल है, जिसे ज़ी मनोरंजन उद्योग ने 3 जून 2018 को ज़ी स्टूडियो के स्थान पर शुरू किया था। इसमें हर रविवार नए फिल्मों को दिखाया जाता है, जिसमें अधिकतर फिल्में सोनी पिक्चर्स की होती हैं, और अन्य फिल्में पैरामाउंट, डिज़्नी और अन्य स्टुडियो के होते हैं। ये चैनल एसडी और एचडी दोनों में उपलब्ध है। .

नई!!: नेपाल और एंड फ्लिक्स · और देखें »

एकतप्पा

एकतप्पा नेपालके मेची अंचलके इलाम जिलाकी एक गाँव विकास समिति है। .

नई!!: नेपाल और एकतप्पा · और देखें »

एकतीन

एकतीन नेपाल के मेची अंचल का पाँचथर जिला का एक गांव विकास समिति है। यह जगह मै १०३१ घर है। .

नई!!: नेपाल और एकतीन · और देखें »

एकदरबेला

एकदरबेला नेपाल के जनकपुर अंचल का महोत्तरी जिला का एक गांव विकास समिति है। यह जगह मै १२७६ घर है। .

नई!!: नेपाल और एकदरबेला · और देखें »

एकराहिया

एकराहिया नेपाल के जनकपुर अंचल का महोत्तरी जिला का एक गांव विकास समिति है। यह जगह मै १४४१ घर है। .

नई!!: नेपाल और एकराहिया · और देखें »

एकराही

एकराही नेपाल के जनकपुर अंचल का धनुषा जिला का एक गांव विकास समिति है। यह जगह मैं ८४२ घर है। .

नई!!: नेपाल और एकराही · और देखें »

एकाला

एकाला नेपाल के लुम्बिनी अंचल का रुपन्देही जिला का एक गांव विकास समिति है। यह जगह मै १२३० घर है। .

नई!!: नेपाल और एकाला · और देखें »

एक्तप्पा

एक्तप्पा नेपाल के मेची अंचल का इलाम जिला का एक गांव विकास समिति है। यह जगह मै ९१८ घर है। .

नई!!: नेपाल और एक्तप्पा · और देखें »

एक्स-ज़ोन टीवी

एक्स-जोन एक भारतीय संगीत चैनल है जो वायकॉम समूह का हिस्सा है। यह एक फ्री टू एयर चैनल है। .

नई!!: नेपाल और एक्स-ज़ोन टीवी · और देखें »

ए॰ पी॰ जे॰ अब्दुल कलाम

अबुल पकिर जैनुलाअबदीन अब्दुल कलाम अथवा ए॰ पी॰ जे॰ अब्दुल कलाम (A P J Abdul Kalam), (15 अक्टूबर 1931 - 27 जुलाई 2015) जिन्हें मिसाइल मैन और जनता के राष्ट्रपति के नाम से जाना जाता है, भारतीय गणतंत्र के ग्यारहवें निर्वाचित राष्ट्रपति थे। वे भारत के पूर्व राष्ट्रपति, जानेमाने वैज्ञानिक और अभियंता (इंजीनियर) के रूप में विख्यात थे। इन्होंने मुख्य रूप से एक वैज्ञानिक और विज्ञान के व्यवस्थापक के रूप में चार दशकों तक रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (डीआरडीओ) और भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) संभाला व भारत के नागरिक अंतरिक्ष कार्यक्रम और सैन्य मिसाइल के विकास के प्रयासों में भी शामिल रहे। इन्हें बैलेस्टिक मिसाइल और प्रक्षेपण यान प्रौद्योगिकी के विकास के कार्यों के लिए भारत में मिसाइल मैन के रूप में जाना जाने लगा। इन्होंने 1974 में भारत द्वारा पहले मूल परमाणु परीक्षण के बाद से दूसरी बार 1998 में भारत के पोखरान-द्वितीय परमाणु परीक्षण में एक निर्णायक, संगठनात्मक, तकनीकी और राजनैतिक भूमिका निभाई। कलाम सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी व विपक्षी भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस दोनों के समर्थन के साथ 2002 में भारत के राष्ट्रपति चुने गए। पांच वर्ष की अवधि की सेवा के बाद, वह शिक्षा, लेखन और सार्वजनिक सेवा के अपने नागरिक जीवन में लौट आए। इन्होंने भारत रत्न, भारत के सर्वोच्च नागरिक सम्मान सहित कई प्रतिष्ठित पुरस्कार प्राप्त किये। .

नई!!: नेपाल और ए॰ पी॰ जे॰ अब्दुल कलाम · और देखें »

ऐतरेय उपनिषद

ऐतरेय उपनिषद एक शुक्ल ऋग्वेदीय उपनिषद है। ऋग्वेदीय ऐतरेय आरण्यक के अन्तर्गत द्वितीय आरण्यक के अध्याय 4, 5 और 6.

नई!!: नेपाल और ऐतरेय उपनिषद · और देखें »

झडेवा

नेपाल देशके पश्चिमांचल विकास क्षेत्र के लुम्बिनी अंचल में अवस्थित पाल्पा जिल्ला का यें जगा एक अत्याधिक उर्वर एवं घना वस्ती सें भरा हुआ सुन्दर गाँव हैं। नेपाल में इसे गाँउ विकास समिति और गाविस के रूपमें जानाजाता हैं। .

नई!!: नेपाल और झडेवा · और देखें »

झमक घिमिरे

झमक कुमारी घिमिरे (जन्म सन् १९८०, कचिडे, धनकुटा, नेपाल) प्रतिभावान् नेपाली महिला स्रष्टा हैं। प्रतिमष्तिस्क रोग द्वारा पीडित घिमिरे, इस रोग से पीडित विश्व की १० वीं प्रतिभावान् साहित्यकार हैं। उनके हाथ-पैर जन्म से ही नहीं चलते इसलिए वे न तो खड़ी हो सकतीं हैं, न चल सकतीं हैं और न बोल सकतीं हैं। परंतु वे सुन और समझ सकती हैं।मेरो सिन्धु: (जून २०११) पैर की केवल तीन उँगलियाँ चलतीं हैं और तीन उंगलियों के सहारे उन्होंने दर्जनौं पुस्तकें लिखीं हैं। औपचारिक शिक्षा पाने में असमर्थ घिमिरे ने घर में भाई-बहनों को लिख-पढ़ते देख-सुनकर अपनी क्षमता का विकास किया। उनकी साहित्य लेखन रुची नौ साल की उम्र से ही शुरु हुई। कान्तिपुर दैनिक और ब्लास्ट टाइम्स पत्रिका में उनके नियमित स्तम्भ भी छपते हैं। झमक को प्रबल गोरखा दक्षिण बाहु चौथी लगायत दर्जनों पुरस्कार एवं सम्मान प्राप्त हुए हैं। .

नई!!: नेपाल और झमक घिमिरे · और देखें »

झरना थापा

झरना थापा नेपाली चलचित्र क्षेत्रके एक चर्चित अभिनेत्री है। .

नई!!: नेपाल और झरना थापा · और देखें »

झलनाथ खनाल

झलनाथ खनाल (जन्म:१९ मार्च १९५०, साँखेजुङ (इलाम जिला)) नेपाली कम्युनिस्ट आन्दोलन के एक शीर्ष नेता और नेपाल के वर्तमान प्रधानमंत्री है। ३ फ़रवरी २०११ को निर्वाचित हुए खनाल नेकपा (एमाले) के अध्यक्ष भी है। खनाल हाल ही में इलाम जिला क्षेत्र नं. १ से संविधान सभा सदस्य के रूप में चुने गए। इसके पहले वे कई बार मन्त्री भी बन चुके हैं। विद्यार्थी जीवन से भूमिगत कम्युनिष्ट राजनीति में लगे खनाल तत्कालीन नेपाल कम्युनिस्ट पार्टी (माले) के पोलित ब्यूरो सदस्य बनने के बाद महासचिव पद पर आसीन हुए। २०४७ साल में नेकपा मार्क्सवादी और नेकपा माले मिलकर नेकपा (एकिकृत माक्सवादी लेनिनवादी) बनने के बाद वे उस पार्टी के स्थायी समिति सदस्य हुए। २०६६ साल के बुटवल अधिवेशन के बाद वे एमाले के अध्यक्ष में निर्वाचित हुए। खनाल ने २०६७ माघ २३ गते राष्ट्रपति रामवरण यादवके सामु पद और गोपनीयताके सपथ ग्रहण किया। नेपाल के सबसे असफल प्रधानमंत्री बनने का रेकॉर्ड हैं इनके पास। .

नई!!: नेपाल और झलनाथ खनाल · और देखें »

झ़ंगझ़ुंग

झ़ंगझ़ुंग (तिब्बती: ཞང་ཞུང་, Zhang Zhung), जिसे शंगशुंग (Shang Shung) भी उच्चारित किया जाता है, तिब्बत के पश्चिमी व पश्चिमोत्तरी इलाक़ों में एक प्राचीन संस्कृति और राज्य था। 'झ़ंगझ़ुंग' में बिन्दुयुक्त 'झ़' के उच्चारण पर ध्यान दें क्योंकि यह 'झ' और 'ज़' दोनों से काफ़ी भिन्न है और 'टेलिविझ़न' और 'अझ़दहा' में आने वाले स्वर जैसा है। झ़ंगझ़ुंग संस्कृति कैलाश पर्वत के क्षेत्र पर केन्द्रित थी और इसका बोन धर्म से सम्बन्ध था।, Gary McCue, pp.

नई!!: नेपाल और झ़ंगझ़ुंग · और देखें »

झापा जिला

झापा जिल्ला नेपाल के पूर्वांचल विकास क्षेत्र के मेची अंचल में स्थित एक अत्याधिक उर्वर एवं घना वस्ती समेटा हुआ जिल्ला हैं। इस जिल्ला का क्षेत्रफल १६०६ बर्ग कि॰मी॰ और जनसंख्या ८ लाख से ज्यादा हैं। इस जिल्ला के पूर्व और दक्षिण में भारत, उत्तर में इलाम, पश्चिम में मोरंग जिल्ला हैं। मानव बिकास सूचकांक में झापा जिल्ला तिसरे स्थानमे है।ईश जिल्लेमे ७ नगरपालिका और ३७ गा बि स है।जिल्लामे ७ निर्वाचन क्षेत्र है। .

नई!!: नेपाल और झापा जिला · और देखें »

झिरुवास

नेपाल देशके पश्चिमांचल विकास क्षेत्र के लुम्बिनी अंचल में अवस्थित पाल्पा जिल्ला का यें जगा एक अत्याधिक उर्वर एवं घना वस्ती सें भरा हुआ सुन्दर गाँव हैं। नेपाल में इसे गाँउ विकास समिति और गाविस के रूपमें जानाजाता हैं। .

नई!!: नेपाल और झिरुवास · और देखें »

झज्जर

हरियाणा में स्थित झज्जर बहुत सुन्दर पर्यटन स्‍थल है। यह दिल्ली से लगभग 65 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। झज्‍जर की स्थापना छज्जु नाम के एक जाट ने की थी। पहले इसका नाम 'छज्जु नगर' था लेकिन बाद में यह झज्जर हो गया। हरियाण के दो मुख्य शहर बहादुरगढ़ और बेरी है। बहादुरगढ़ की स्थापना राठी जाटों ने की थी। पहले बहादुरगढ़ को सर्राफाबाद के नाम से जाना जाता था। पिछले दिनों बहादुरगढ़ का तेजी से औद्योगिकरण हुआ है। बेरी इसका दूसरा मुख्य शहर है। यहां भीमेश्वरी देवी का प्रसिद्ध मन्दिर है। इस मन्दिर में पूजा करने के लिए देश-विदेश से पर्यटक प्रतिवर्ष आते हैं। मन्दिरों के अलावा पर्यटक यहां पर भिंडावास पक्षी अभ्यारण घूमने भी जा सकते हैं। .

नई!!: नेपाल और झज्जर · और देखें »

ठाडा

ठाडा नेपालके लुम्बिनी अंचलके अर्घाखाँची जिलाकी एक गाँव विकास समिति है। .

नई!!: नेपाल और ठाडा · और देखें »

ठांटी

ठांटी नेपाल के सेती अंचल के अछाम जिला का एक गाँव है। .

नई!!: नेपाल और ठांटी · और देखें »

ठिमुरे

नेपाल देशके पश्चिमांचल विकास क्षेत्र के लुम्बिनी अंचल में अवस्थित पाल्पा जिल्ला का यें जगा एक अत्याधिक उर्वर एवं घना वस्ती सें भरा हुआ सुन्दर गाँव हैं। नेपाल में इसे गाँउ विकास समिति और गाविस के रूपमें जानाजाता हैं। .

नई!!: नेपाल और ठिमुरे · और देखें »

ठुलाडिहि

ठुलाडिहि नेपाल के पश्चिमांचल विकास क्षेत्र के गण्डकी अंचल के स्यांजा जिला में स्थित एक अत्याधिक उर्वर एवं घना बस्ती वाली ग्राम समिति है। .

नई!!: नेपाल और ठुलाडिहि · और देखें »

ठुलापोखरा

ठुलापोखरा नेपालके लुम्बिनी अंचलके अर्घाखाँची जिलाकी एक गाँव विकास समिति है। .

नई!!: नेपाल और ठुलापोखरा · और देखें »

ठूलाछाप

ठूलाछाप नेपाल के पूर्वांचल विकास क्षेत्र के सगरमाथा अंचल, ओखलढुंगा जिला में स्थित गाँव विकास समिति है। .

नई!!: नेपाल और ठूलाछाप · और देखें »

डडेलधुरा जिला

नेपाल के महाकाली प्रान्त का जिला। श्रेणी:नेपाल के जिले.

नई!!: नेपाल और डडेलधुरा जिला · और देखें »

डाँगीबारी

डाँगीबारी नेपालके मेची अंचलके झापा जिला का एक गाँव विकास समिति है। .

नई!!: नेपाल और डाँगीबारी · और देखें »

डिश टीवी

डिश टीवी भारत की पहली डीटीएच मनोरंजन सेवा है। इस पर डायरेक्ट-टू-होम (डीटीएच), पे-पर-वियु आदि सुविधाएँ उपलब्ध हैं। यह एमपेग-2 डिजिटल संपीड़न तकनीक की मदद से कर एनएसएस-6 उपग्रह के द्वारा अपनी सेवाएं संचारित करता है। 2011 में "भारत फॉर्च्यून 500" द्वारा प्रकाशित भारत के सबसे बड़े मीडिया कंपनियों की सूची में डिश टी० वी० इंडिया लिमिटेड को #437 और # 5 स्थान मिला था। एस्सेल समूह द्वारा प्रारम्भ की गई इस उपग्रह प्रसारण सेवा के उपभोगता भारत, श्रीलंका, नेपाल, बांग्लादेश, पाकिस्तान के अलावा दक्षिण-पूर्वी एशिया में भी हैं | वर्तमान में डिश टीवी के पास २८५ से भी ज़्यादा राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय चैनल्स और २५ रेडियो चैनल्स हैं | .

नई!!: नेपाल और डिश टीवी · और देखें »

डंसिली गाउँ

डंसिली गाउँ नेपालके महाकाली अंचल,बैतडी जिलामे अवस्थित एक गाउँ है। श्रेणी:नेपाल के गाँव.

नई!!: नेपाल और डंसिली गाउँ · और देखें »

डुम्रे

डुम्रे नेपालके पुर्वांचल विकास क्षेत्रके सगरमाथा अंचलके उदयपुर जिलाकी एक गाँव विकास समिति है। .

नई!!: नेपाल और डुम्रे · और देखें »

डेविड वुडर्ड

डेविड वुडर्ड (जन्म 6 अप्रैल, 1964, सांता बारबरा, कैलिफ़ोर्निया) एक अमेरिकी लेखक और कंडक्टर है। 1990 के दशक के दौरान उन्होंने प्रीक्विम शब्द, एक रिक्ति पूर्व और शान्ति यज्ञ का सूटकेस का आविष्कार किया, जो अपने विषय की मौत से पहले या उससे पहले समर्पित संगीत को लिखने के अपने बौद्ध अभ्यास का वर्णन करने के लिए किया गया था। लॉस एंजेलिस स्मारक सेवाएं, जिसमें वुडर्ड ने कंडक्टर या संगीत निर्देशक के रूप में कार्य किया है, अब 2001 का एक नागरिक समारोह शामिल है जिसमे अब दुर्घटना में मर चुके लियोन प्रपोर्ट और उनकी घायल विधवा लोला को एन्जिल्स फ्लाइट फनिक्युलर रेलवे ने सम्मान दिया। उन्होंने एक समुद्र तट के बर्म क्रिस्ट पर कैलिफोर्निया ब्राउन पेलिकन के लिए वन्यजीवन की आवश्यकताएं आयोजित की हैं जहां जानवर मर रहे थे। वुडर्ड अपनी ड्रीममशीन की एक प्रतिकृति के लिए जाने जाते हैं, जो एक हल्के मनोचिकित्सक लैंप है, जिसे पूरे विश्व में कला संग्रहालयों में प्रदर्शित किये गए हैं। जर्मनी और नेपाल में वह साहित्यिक जर्नल डेर फ्रुंड में योगदान के लिए जाने जाते हैं, जिसमें अंतरंग कर्म, वनस्पति चेतना और पैरागुआयन निपटान Nueva Germania (न्यूवे जर्मनिया) पर लेखन शामिल हैं। .

नई!!: नेपाल और डेविड वुडर्ड · और देखें »

डोटेली भाषा

डोटेली एक हिन्द-आर्य भाषा है जो लगभग 8,00,000 लोगों द्वारा बोली जाती है, जिसमें से अधिकतर नेपाल में रहते हैं। पारम्परिक रूप से इसे नेपाली भाषा की पश्चिमी बोली माना गया था। नेपाल के अन्तरिम संविधान 2063 के भाग 1, अनुभाग 5 के अनुसार इसे आधिकारिक भाषा का दर्जा प्राप्त हुआ है। यह देवनागरी लिपि में लिखी जाती है। यह भाषा कुमाऊनी भाषा से 75% मिलती जुलती है। .

नई!!: नेपाल और डोटेली भाषा · और देखें »

डोटी जिला

नेपाल के सेती प्रान्त का जिला। श्रेणी:नेपाल के जिले.

नई!!: नेपाल और डोटी जिला · और देखें »

डोटीगढ़

नेपाल के विकास-क्षेत्र नेपाल के सुदूर पश्चिमी क्षेत्र को 'जागर' लोककथाओं में टोडीगढ़ कहा गया है। यह क्षेत्र काली नदी और करनाली नदी के बीच पड़ता है। .

नई!!: नेपाल और डोटीगढ़ · और देखें »

डोल्पा जिला

नेपाल के कर्णाली प्रान्त का जिला। श्रेणी:नेपाल के जिले.

नई!!: नेपाल और डोल्पा जिला · और देखें »

डीडीहाट

डीडीहाट उत्तराखण्ड राज्य के पिथौरागढ़ जनपद में स्थित एक नगर है। यह कुमाऊँ मण्डल में आता है, और डीडीहाट तहसील का मुख्यालय है। २०११ की जनगणना के अनुसार डीडीहाट की जनसंख्या ६,५२२ है, और यह उत्तराखण्ड की राजधानी देहरादून से ५२० किमी (३२० मील) की दूरी पर स्थित है। डीडीहाट नाम दो कुमाउँनी शब्दों, 'डांडी' और 'हाट' से जुड़कर बना है, जिनका अर्थ क्रमशः 'छोटी पहाड़ी' और 'बाजार' होता है। डीडीहाट 'कैलाश मानसरोवर तीर्थयात्रा' के मार्ग पर पड़ता है। .

नई!!: नेपाल और डीडीहाट · और देखें »

ढापुक सिमलभञ्ज्याङ

नेपाल के पश्चिमांचल विकास क्षेत्र के गण्डकी अंचल के स्यांजा जिल्ला में स्थित एक अत्याधिक उर्वर एवं घना वस्ती समेटा हुआ गाँउ विकास समिति हैं। .

नई!!: नेपाल और ढापुक सिमलभञ्ज्याङ · और देखें »

ढाका टोपी

एक नेपाली पुरूष ढाका टोपी पहने हुए ढाका टोपी या नेपाली टोपी, टोपी का एक प्रकार है जो, नेपाल में बहुत प्रचलित है। यह टोपी जिस कपड़े से बनाई जाती है उसे ढाका कहते हैं इसी लिए इसका नाम ढाका टोपी पड़ा है। इस कपड़े का प्रयोग एक प्रकार कि चोली बनाने में भी किया जाता है जिसे नेपाली में ढाका-को-चोलो कहते हैं। नेपाली टोपी का निर्माण सर्वप्रथम गणेश मान महर्जन ने नेपाल के पाल्पा जिले में किया था। .

नई!!: नेपाल और ढाका टोपी · और देखें »

ढाका-इस्तांबुल फ्रेट कॉरिडोर

ढाका-इस्तांबुल फ्रेट कॉरिडोर एक अंतरराष्ट्रीय रेल मार्ग परियोजना है।यह रेल मार्ग परियोजना बांग्लादेश,भारत,पाकिस्तान,ईरान और तुर्की को जोड़ती है।http://www.business-standard.com/article/news-ians/india-to-trial-run-goods-train-on-dhaka-istanbul-freight-corridor-117030300947_1.htmlभारत का पूर्वी डेडीकेटेड फ्रेट कॉरिडोर इस कॉरिडोर का एक हिस्सा है। .

नई!!: नेपाल और ढाका-इस्तांबुल फ्रेट कॉरिडोर · और देखें »

ढाकावाङ्

ढाकावां नेपालके लुम्बिनी अंचलके अर्घाखाँची जिलाकी एक गाँव विकास समिति है। .

नई!!: नेपाल और ढाकावाङ् · और देखें »

ढाकु

ढाकु नेपाल के सेती अंचल के अछाम जिला का एक गाँव है। .

नई!!: नेपाल और ढाकु · और देखें »

ढिकुरा

ढिकुरा नेपाल के लुम्बिनी अंचल का अर्गाखाँची जिला का एक गांव विकास समिति है। यह जगह मैं ८९१ घर है। .

नई!!: नेपाल और ढिकुरा · और देखें »

ढिकुरे पोखरी

ढिकुरे पोखरी नेपाल के गण्डकी अंचल के कास्की जिला का एक गांव विकास समिति है। यहा १६८७ घर है। .

नई!!: नेपाल और ढिकुरे पोखरी · और देखें »

ढकारी

ढकारी नेपाल के सेती अंचल के अछाम जिला का एक गाँव है। .

नई!!: नेपाल और ढकारी · और देखें »

ढुडारुकोट

ढुडारुकोट नेपाल के सेती अंचल के अछाम जिला के एक गाँव है। .

नई!!: नेपाल और ढुडारुकोट · और देखें »

ढुंखर्क

ढुंखर्क नेपाल के बागमती अंचल का काभ्रे जिला का एक गांव विकास समिति है। यह जगह मै ९१४ घर है। .

नई!!: नेपाल और ढुंखर्क · और देखें »

ढुंगाचल्ना

ढुंगाचल्ना नेपाल के सेती अंचल का अछाम जिला का एक गांव विकास समिति है। यह जगह मैं ८५० घर है। .

नई!!: नेपाल और ढुंगाचल्ना · और देखें »

ढुंगाचाल्ना

ढुंगाचाल्ना नेपाल के सेती अंचल के अछाम जिले का एक गाँव है। .

नई!!: नेपाल और ढुंगाचाल्ना · और देखें »

ढुंगाड

ढुंगाड नेपाल के महाकाली अंचल का बैतडी जिला का एक गांव विकास समिति है। यह जगह मैं ४०५ घर है। .

नई!!: नेपाल और ढुंगाड · और देखें »

ढुंग्रेखोला

ढुंग्रेखोला नेपाल के जनकपुर अंचल का सर्लाही जिला का एक गांव विकास समिति है। यह जगह मै २०९१ घर है। .

नई!!: नेपाल और ढुंग्रेखोला · और देखें »

ढुंगेसांघु

ढुंगेसांघु नेपाल के मेची अंचल का ताप्लेजुङ जिला का एक गांव विकास समिति है। यह जगह मै ७९२ घर है। .

नई!!: नेपाल और ढुंगेसांघु · और देखें »

ढोरफिर्दी

ढोरफिर्दी नेपाल के गण्डकी अंचल का तनहू जिला का एक गांव विकास समिति है। यह जगह मैं २५१७ घर है। .

नई!!: नेपाल और ढोरफिर्दी · और देखें »

ढोरे

ढोरे नेपाल के नारायणी अंचल का पर्सा जिला का एक गांव विकास समिति है। यह जगह मै ६१४ घर है। .

नई!!: नेपाल और ढोरे · और देखें »

ढोला

ढोला नेपाल के बागमती अंचल का धादिङ जिला का एक गांव विकास समिति है। यह जगह मै ८८५ घर है। .

नई!!: नेपाल और ढोला · और देखें »

तडीगैरा

तडीगैरा नेपाल के सेती अंचल के अछाम जिला के एक गाँव है। .

नई!!: नेपाल और तडीगैरा · और देखें »

तनहुँ जिला

तनहुँ जिला नेपाल के पश्चिमांचल विकास क्षेत्र के गण्डकी अंचल में स्थित एक अत्याधिक उर्वर एवं घना वस्ती वाली जिला हैं। इस जिला की क्षेत्रफल १५४६ बर्ग कि॰मी॰ और जनसंख्या करिव ४ लाख हैं। इस जिला के पूर्व में चितवन और गोरखा उत्तर में कास्की और लमजुंग पश्चिम में स्यांजा दक्षिण में पाल्पा और नवलपरासी जिलाएं हैं। इस जिले का केन्द्र दमाैली (डमाैली) है, जाे मादी नदी के तटपर अवस्थित है। इसी जिले के चुँदी रम्घा ग्राम में १८१४ जुलाइ १० में नेपाली भाषा के अादिकवि भानुभक्त अाचार्यका जन्म हुअा था। .

नई!!: नेपाल और तनहुँ जिला · और देखें »

तनहुँसुर

नेपाल के पश्चिमांचल विकास क्षेत्र के गण्डकी अंचल के तनहुँ जिल्ला में स्थित एक अत्याधिक उर्वर एवं घना वस्ती समेटा हुआ गाँउ विकास समिति हैं। .

नई!!: नेपाल और तनहुँसुर · और देखें »

तपेश्वरी

तपेश्वरी नेपालके पुर्वांचल विकास क्षेत्रके सगरमाथा अंचलके उदयपुर जिलाकी एक गाँव विकास समिति है। .

नई!!: नेपाल और तपेश्वरी · और देखें »

तबला

तबला भारतीय संगीत में प्रयोग होने वाला एक तालवाद्य है जो मुख्य रूप से दक्षिण एशियाई देशों में बहुत प्रचलित है। यह लकड़ी के दो ऊर्ध्वमुखी, बेलनाकार, चमड़ा मढ़े मुँह वाले हिस्सों के रूप में होता है, जिन्हें रख कर बजाये जाने की परंपरा के अनुसार "दायाँ" और "बायाँ" कहते हैं। यह तालवाद्य हिन्दुस्तानी शास्त्रीय संगीत में काफी महत्वपूर्ण है और अठारहवीं सदी के बाद से इसका प्रयोग शाष्त्रीय एवं उप शास्त्रीय गायन-वादन में लगभग अनिवार्य रूप से हो रहा है। इसके अतिरिक्त सुगम संगीत और हिंदी सिनेमा में भी इसका प्रयोग प्रमुखता से हुआ है। यह बाजा भारत, पाकिस्तान, नेपाल, बांग्लादेश, और श्री लंका में प्रचलित है। एन्साइक्लोपीडिया ब्रिटैनिका पहले यह गायन-वादन-नृत्य इत्यादि में ताल देने के लिए सहयोगी वाद्य के रूप में ही बजाय जाता था, परन्तु बाद में कई तबला वादकों ने इसे एकल वादन का माध्यम बनाया और काफी प्रसिद्धि भी अर्जित की। नाम तबला की उत्पत्ति अरबी-फ़ारसी मूल के शब्द "तब्ल" से बतायी जाती है। हालाँकि, इस वाद्य की वास्तविक उत्पत्ति विवादित है - जहाँ कुछ विद्वान् इसे एक प्राचीन भारतीय परम्परा में ही उर्ध्वक आलिंग्यक वाद्यों का विकसित रूप मानते हैं वहीं कुछ इसकी उत्पत्ति बाद में पखावज से निर्मित मानते हैं और कुछ लोग इसकी उत्पत्ति का स्थान पच्छिमी एशिया भी बताते हैं। .

नई!!: नेपाल और तबला · और देखें »

तराई क्षेत्र

तराई क्षेत्र भारत, नेपाल एवं भूटान में स्थित हिमालय के आधार के दक्षिण में स्थित क्षेत्रों को कहते हैं। यह क्षेत्र पश्चिम में यमुना नदी से लेकर पूरब में ब्रह्मपुत्र नदी तक फैला हुआ है। इस क्षेत्र में भूमि नम है तथा इस क्षेत्र में घास के मैदान एवं वन हैं। तराई क्षेत्र के उत्तरी भाग भाभर क्षेत्र कहलाता है। तराई क्षेत्र की भूमि के अन्दर मिट्टी और बालू की एक के बाद एक परते हैं। यहाँ पर जल-स्तर बहुत उपर है। इस क्षेत्र की नदियों में मानसून के समय प्राय: बाढ़ आ जाती है। तराई क्षेत्र के नीचे (दक्षिण में) गंगा-यमुना-ब्रह्मपुत्र का मैदानी क्षेत्र स्थित है। तराई का अर्थ समतल भूमि होता है। और अर्थ मधेस भी होता है। पिछले 1 दशक में नेपालमे तराई मधेश नाम से 1 दर्जन से भी अधिक राजनितिक दल दर्ता हुए है। उनमे से अधिकतर अभी के नेपालके सम्भिधान सभा में प्रतिनिधित्व करते है। कुछ मधेसी दल के नाम:मधेसी फोरम, तराई मधेश लोकतांत्रिक पार्टी, सद्भावना पार्टी, तराई मधेश राष्टीय अभियान। उनका मुद्दा मधेशियो हक अधिकार संबिधान सभा से सुनिश्चित करवाना है। मधेश के लोग राजनितिक रूप से पिछड़े है। नेपाली सेना मधेसी की उपस्थिति 2% से भी कम है। और यही स्थिति कुटनीतिक पदों पर भी है। मधेसी लोग अधिकतर भारत के यूपी विहार मूल के है। उसकेवाद अन्य राज्य से सम्बंधित है जैसे बंगाल पंजाब राजस्थान का नंबर आता है। .

नई!!: नेपाल और तराई क्षेत्र · और देखें »

तराई-दुआर सवाना और घासभूमि

तराई-दुआर सवाना और घासभूमि तराई पट्टी के मध्य एक उष्णकटिबन्धीय और उपोष्णकटिबंधीय घासभूमि, सवाना और झाड़ीभूमि जैवक्षेत्र है, जो भारत उत्तराखण्ड राज्य से लेकर दक्षिणी नेपाल और फिर उत्तरी पश्चिम बंगाल तक फैला हुआ है। .

नई!!: नेपाल और तराई-दुआर सवाना और घासभूमि · और देखें »

तलुवा

तलुवा नेपाल के पूर्वांचल विकास क्षेत्र के सगरमाथा अंचल, ओखलढुंगा जिला में स्थित गाँव विकास समिति है। .

नई!!: नेपाल और तलुवा · और देखें »

तानसेन नगरपालिका

नेपाल देशके पश्चिमांचल विकास क्षेत्र के लुम्बिनी अंचल में अवस्थित पाल्पा जिल्ला का यें जगा एक अत्याधिक उर्वर एवं घना वस्ती सें भरा हुआ सुन्दर सहर/नगर हैं। नेपाल में इसे नगरपालिका के रूपमें जानाजाता हैं। .

नई!!: नेपाल और तानसेन नगरपालिका · और देखें »

ताप्लेजुंग जिला

नेपाल के मेची प्रान्त का जिला। श्रेणी:नेपाल के जिले श्रेणी:प्रदेश संख्या १.

नई!!: नेपाल और ताप्लेजुंग जिला · और देखें »

तामाङ भाषा

तामाङ भाषा नेपाल व सिक्किम के कुछ भागों में बोली जाने वाली कुछ भाषाओं के समूह का नाम है। तामाङ भाषा देवनागरी तथा तिब्बती लिपियों में लिखी जाती है। .

नई!!: नेपाल और तामाङ भाषा · और देखें »

ताम्लीछा

ताम्लीछा नेपालके पुर्वांचल विकास क्षेत्रके सगरमाथा अंचलके उदयपुर जिलाकी एक गाँव विकास समिति है। .

नई!!: नेपाल और ताम्लीछा · और देखें »

तारा (देवी)

हिन्दू धर्म में तारा दस महाविद्याओं में से द्वितीय महाविद्या हैं। 'तारा' का अर्थ है, 'तारने वाली'। ये शक्ति की स्वरूप हैं। श्रेणी:हिन्दू देवियाँ.

नई!!: नेपाल और तारा (देवी) · और देखें »

ताहुं

नेपाल देशके पश्चिमांचल विकास क्षेत्र के लुम्बिनी अंचल में अवस्थित पाल्पा जिल्ला का यें जगा एक अत्याधिक उर्वर एवं घना वस्ती सें भरा हुआ सुन्दर गाँव हैं। नेपाल में इसे गाँउ विकास समिति और गाविस के रूपमें जानाजाता हैं। .

नई!!: नेपाल और ताहुं · और देखें »

तावाश्री

तावाश्री नेपालके पुर्वांचल विकास क्षेत्रके सगरमाथा अंचलके उदयपुर जिलाकी एक गाँव विकास समिति है। .

नई!!: नेपाल और तावाश्री · और देखें »

ताङबे जाति

ताङबे जाति, नेपाल की एक जनजाति है। .

नई!!: नेपाल और ताङबे जाति · और देखें »

तिनदोबाटे

तिनदोबाटे नेपाल के पश्चिमांचल विकास क्षेत्र के गण्डकी अंचल के स्यांजा जिला में स्थित एक अत्याधिक उर्वर एवं घना बस्ती वाली ग्राम समिति है। .

नई!!: नेपाल और तिनदोबाटे · और देखें »

तिनाउ नदी

तिनाउ नदी तिनाउ नदी, नेपाल और भारत से होकर बहने वाली छोटी नदी है जो महाभारत पर्वतशृंखला से निकलकर शिवालिक पहाड़ियों एवं तराई क्षेत्र से बहती हुई बुटवल के पास भारतीय सीमा में प्रवेश करती है। अन्त में यह गंगा में मिल जाती है। श्रेणी:नेपाल की नदियाँ श्रेणी:भारत की नदियाँ.

नई!!: नेपाल और तिनाउ नदी · और देखें »

तिब्बत

तिब्बत का भूक्षेत्र (पीले व नारंगी रंगों में) तिब्बत के खम प्रदेश में बच्चे तिब्बत का पठार तिब्बत (Tibet) एशिया का एक क्षेत्र है जिसकी भूमि मुख्यतः उच्च पठारी है। इसे पारम्परिक रूप से बोड या भोट भी कहा जाता है। इसके प्रायः सम्पूर्ण भाग पर चीनी जनवादी गणराज्य का अधिकार है जबकि तिब्बत सदियों से एक पृथक देश के रूप में रहा है। यहाँ के लोगों का धर्म बौद्ध धर्म की तिब्बती बौद्ध शाखा है तथा इनकी भाषा तिब्बती है। चीन द्वारा तिब्बत पर चढ़ाई के समय (1955) वहाँ के राजनैतिक व धार्मिक नेता दलाई लामा ने भारत में आकर शरण ली और वे अब तक भारत में सुरक्षित हैं। .

नई!!: नेपाल और तिब्बत · और देखें »

तिब्बत का इतिहास

तिब्बत का ऐतिहासिक मानचित्र 300px मध्य एशिया की उच्च पर्वत श्रेणियों, कुनलुन एवं हिमालय के मध्य स्थित 16000 फुट की ऊँचाई पर स्थित तिब्बत का ऐतिहासिक वृतांत लगभग 7वीं शताब्दी से मिलता है। 8वीं शताब्दी से ही यहाँ बौद्ध धर्म का प्रचार प्रांरभ हुआ। 1013 ई0 में नेपाल से धर्मपाल तथा अन्य बौद्ध विद्वान् तिब्बत गए। 1042 ई0 में दीपंकर श्रीज्ञान अतिशा तिब्बत पहुँचे और बौद्ध धर्म का प्रचार किया। शाक्यवंशियों का शासनकाल 1207 ई0 में प्रांरभ हुआ। मंगोलों का अंत 1720 ई0 में चीन के माँछु प्रशासन द्वारा हुआ। तत्कालीन साम्राज्यवादी अंग्रेंजों ने, जो दक्षिण पूर्व एशिया में अपना प्रभुत्व स्थापित करने में सफलता प्राप्त करते जा रहे थे, यहाँ भी अपनी सत्ता स्थापित करनी चाही, पर 1788-1792 ई0 के गुरखों के युद्ध के कारण उनके पैर यहाँ नहीं जम सके। परिणामस्वरूप 19वीं शताब्दी तक तिब्बत ने अपनी स्वतंत्र सत्ता स्थिर रखी यद्यपि इसी बीच लद्दाख़ पर कश्मीर के शासक ने तथा सिक्किम पर अंग्रेंजों ने आधिपत्य जमा लिया। अंग्रेंजों ने अपनी व्यापारिक चौकियों की स्थापना के लिये कई असफल प्रयत्न किया। इतिहास के अनुसार तिब्बत ने दक्षिण में नेपाल से भी कई बार युद्ध करना पड़ा और नेपाल ने इसको हराया। नेपाल और तिब्बत की सन्धि के मुताबिक तिब्बत ने हर साल नेपाल को ५००० नेपाली रुपये हरज़ाना भरना पड़ा। इससे आजित होकर नेपाल से युद्ध करने के लिये चीन से सहायता माँगी। चीन के सहायता से उसने नेपाल से छुटकारा तो पाया लेकिन इसके बाद 1906-7 ई0 में तिब्बत पर चीन ने अपना अधिकार बनाया और याटुंग ग्याड्से एवं गरटोक में अपनी चौकियाँ स्थापित की। 1912 ई0 में चीन से मांछु शासन अंत होने के साथ तिब्बत ने अपने को पुन: स्वतंत्र राष्ट्र घोषित कर दिया। सन् 1913-14 में चीन, भारत एवं तिब्बत के प्रतिनिधियों की बैठक शिमला में हुई जिसमें इस विशाल पठारी राज्य को भी दो भागों में विभाजित कर दिया गया.

नई!!: नेपाल और तिब्बत का इतिहास · और देखें »

तिब्बत की संस्कृति

शो दुन उत्सव अपने भौगोलिक एवं जलवायु की विशिष्ट स्थितियों के कारण तिब्बत में एक विशिष्ट संस्कृति का विकास हुआ, यद्यपि इस पर नेपाल, भारत और चीन आदि पड़ोसी देशों की संस्कृतियों का प्रभाव है। .

नई!!: नेपाल और तिब्बत की संस्कृति · और देखें »

तिब्बताई भाषाएँ

तिब्बताई भाषाएँ (तिब्बती: བོད་སྐད།, अंग्रेज़ी: Tibetic languages) तिब्बती-बर्मी भाषाओं का एक समूह है जो पूर्वी मध्य एशिया के तिब्बत के पठार और भारतीय उपमहाद्वीप के कई उत्तरी क्षेत्रों में तिब्बती लोगों द्वारा बोली जाती हैं। यह चीन द्वारा नियंत्रित तिब्बत, चिंगहई, गान्सू और युन्नान प्रान्तों में, भारत के लद्दाख़, हिमाचल प्रदेश, सिक्किम व उत्तरी अरुणाचल प्रदेश क्षेत्रों में, पाक-अधिकृत कश्मीर के गिलगित-बलतिस्तान क्षेत्र में तथा भूटान देश में बोली जाती हैं। .

नई!!: नेपाल और तिब्बताई भाषाएँ · और देखें »

तिब्बती तीतर

तिब्बती तीतर (तिब्बती:सकफा) (Tibetan Partridge) (Perdix hodgsoniae) फ़ीज़ैन्ट कुल का एक पक्षी है जो व्यापक रूप से तिब्बती पठार में पाया जाता है। इस पक्षी का आवासीय क्षेत्र बहुत विशाल है और इसी वजह से इसे संकट से बाहर की जाति माना गया है। इस पक्षी का मूल निवास चीन, भारत, भूटान और नेपाल है। .

नई!!: नेपाल और तिब्बती तीतर · और देखें »

तिब्बती बौद्ध धर्म

तिब्बती बौद्ध धर्म बौद्ध धर्म की महायान शाखा की एक उपशाखा है जो तिब्बत, मंगोलिया, भूटान, उत्तर नेपाल, उत्तर भारत के लद्दाख़, अरुणाचल प्रदेश, लाहौल व स्पीति ज़िले और सिक्किम क्षेत्रों, रूस के कालमिकिया, तूवा और बुर्यातिया क्षेत्रों और पूर्वोत्तरी चीन में प्रचलित है।An alternative term, "lamaism", and was used to distinguish Tibetan Buddhism from other buddhism.

नई!!: नेपाल और तिब्बती बौद्ध धर्म · और देखें »

तिब्बती भाषा

तिब्बती भाषा (तिब्बती लिपि में: བོད་སྐད་, ü kä), तिब्बत के लोगों की भाषा है और वहाँ की राजभाषा भी है। यह तिब्बती लिपि में लिखी जाती है। ल्हासा में बोली जाने वाली भाषा को मानक तिब्बती माना जाता है। .

नई!!: नेपाल और तिब्बती भाषा · और देखें »

तिब्बती रामचकोर

तिब्बती रामचकोर (Tibetan Snowcock) (Tetraogallus tibetanus) फ़ीज़ैन्ट कुल का एक पक्षी है जो पश्चिमी हिमालय तथा तिब्बती पठार के ऊँचाई वाले इलाकों में रहता है और हिमालय के कुछ इलाकों में यह हिमालय के रामचकोर के साथ इलाका बांटता है। .

नई!!: नेपाल और तिब्बती रामचकोर · और देखें »

तिब्बती लोग

तिब्बती लोग, जो तिब्बती भाषा में बोड पा (བོད་པ་) कहलाते हैं, तिब्बत और उसके आसपास के क्षेत्रों में मूल रूप से बसने वाले लोगों की मानव जाति है। यह तिब्बती भाषा और उस से सम्बन्धित अन्य तिब्बताई भाषाएँ बोलते हैं और अधिकतर तिब्बती बौद्ध धर्म के अनुयायी हैं। तिब्बत के अलावा इनके समुदाय चीन, भारत, भूटान व नेपाल के पड़ोसी इलाकों में भी रहते हैं। .

नई!!: नेपाल और तिब्बती लोग · और देखें »

तिब्बती साहित्य

राजा गेसर का चित्र तिब्बती साहित्य से तात्पर्य तिब्बती भाषा में लिखे गये साहित्य से है। तिब्बती संस्कृति से उद्भूत साहित्य को भी 'तिब्बती साहित्य' ही कहते हैं। ऐतिहासिक रूप से तिब्बती भाषा का उपयोग कई क्षेत्रों को परस्पर जोड़ने वाली भाषा के रूप में हुआ है। इसने विभिन्न कालों में तिब्बत से मंगोलिया को, रूस, आज के भूटान, नेपाल, भारत त्था पाकिस्तान को जोडने का कार्य किया है। .

नई!!: नेपाल और तिब्बती साहित्य · और देखें »

तिब्बती-किन्नौरी भाषाएँ

तिब्बती-किन्नौरी भाषाएँ (Tibeto-Kanauri languages) या भोटी भाषाएँ (Bodic) या भोटिया-हिमालियाई (Bodish–Himalayish) या पश्चिमी तिब्बती-बर्मी (Western Tibeto-Burman) चीनी-तिब्बती भाषा-परिवार की एक प्रस्तावित माध्यमिक श्रेणी है जिसमें तिब्बताई भाषाएँ और किन्नौरी भाषा की सभी उपभाषाएँ शामिल हैं। यह भारत, तिब्बत व नेपाल में बोली जाती हैं। भाषावैज्ञानिकों में इस श्रेणीकरण को लेकर विवाद है। .

नई!!: नेपाल और तिब्बती-किन्नौरी भाषाएँ · और देखें »

तिरहुत प्रमंडल

तिरहुत प्रमंडल का नक्शा बिहार में गंगा के उत्तरी भाग को तिरहुत क्षेत्र कहा जाता था। इसे तुर्क-अफगान काल में स्वतंत्र प्रशासनिक इकाई बनाया गया। किसी समय में यह क्षेत्र बंगाल राज्य के अंतर्गत था। सन् १८७५ में यह बंगाल से अलग होकर मुजफ्फरपुर और दरभंगा नामक दो जिलों में बँट गया। ये दोनों जिले अब बिहार राज्य के अन्तर्गत है। वैसे अब तिरहुत नाम का कोई स्थान नहीं है, लेकिन मुजफ्फरपुर और दरभंगा जिलों को ही कभी कभी तिरहुत नाम से व्यक्त किया जाता है। ब्रिटिस भारत में सन १९०८ में जारी एक आदेश के तहत तिरहुत को पटना से अलग कर प्रमंडल बनाया गया। तिरहुत बिहार राज्य के ९ प्रमंडलों में सवसे बड़ा है। इसके अन्तर्गत ६ जिले आते हैं.

नई!!: नेपाल और तिरहुत प्रमंडल · और देखें »

तिङ्गला

तिंगला नेपाल के पूर्वांचल विकास क्षेत्र के सगरमाथा अंचल, सोलुखुम्बु जिला में स्थित गाँव विकास समिति है। .

नई!!: नेपाल और तिङ्गला · और देखें »

तंत्र साहित्य (भारतीय)

तंत्र भारतीय उपमहाद्वीप की एक वैविधतापूर्ण एवं सम्पन्न आध्यात्मिक परिपाटी है। तंत्र के अन्तर्गत विविध प्रकार के विचार एवं क्रियाकलाप आ जाते हैं। तन्यते विस्तारयते ज्ञानं अनेन् इति तन्त्रम् - अर्थात ज्ञान को इसके द्वारा तानकर विस्तारित किया जाता है, यही तंत्र है। इसका इतिहास बहुत पुराना है। समय के साथ यह परिपाटी अनेक परिवर्तनों से होकर गुजरी है और सम्प्रति अत्यन्त दकियानूसी विचारों से लेकर बहुत ही प्रगत विचारों का सम्मिश्रण है। तंत्र अपने विभिन्न रूपों में भारत, नेपाल, चीन, जापान, तिब्बत, कोरिया, कम्बोडिया, म्यांमार, इण्डोनेशिया और मंगोलिया में विद्यमान रहा है। भारतीय तंत्र साहित्य विशाल और वैचित्र्यमय साहित्य है। यह प्राचीन भी है तथा व्यापक भी। वैदिक वाङ्मय से भी किसी किसी अंश में इसकी विशालता अधिक है। चरणाव्यूह नामक ग्रंथ से वैदिक साहित्य का किंचित् परिचय मिलता है, परन्तु तन्त्र साहित्य की तुलना में उपलब्ध वैदिक साहित्य एक प्रकार से साधारण मालूम पड़ता है। तांत्रिक साहित्य का अति प्राचीन रूप लुप्त हो गया है। परन्तु उसके विस्तार का जो परिचय मिलता है उससे अनुमान किया जा सकता है कि प्राचीन काल में वैदिक साहित्य से भी इसकी विशालता अधिक थी और वैचित्र्य भी। संक्षेप में कहा जा सकता है कि परम अद्वैत विज्ञान का सूक्ष्मातिसूक्ष्म विश्लेषण और विवरण जैसा तंत्र ग्रंथों में है, वैसा किसी शास्त्र के ग्रंथों में नहीं है। साथ ही साथ यह भी सच है कि उच्चाटन, वशीकरण प्रभृति क्षुद्र विद्याओं का प्रयोग विषयक विवरण भी तंत्र में मिलता है। स्पष्टत: वर्तमान हिंदू समाज वेद-आश्रित होने पर भी व्यवहार-भूमि में विशेष रूप से तंत्र द्वारा ही नियंत्रित है। .

नई!!: नेपाल और तंत्र साहित्य (भारतीय) · और देखें »

तकलाकोट

तकलाकोट (Taklakot), जिसे तिब्बती में पुरंग (སྤུ་ཧྲེང་རྫོང་, Purang Town) और चीनी में बुरंग (普蘭鎮, Burang Town) कहते हैं, तिब्बत के न्गारी विभाग के पुरंग ज़िले में स्थित एक शहर है जो पुरंग ज़िले की राजधानी भी है। यह भारत, तिब्बत और नेपाल के बीच में एक महत्वपूर्ण व्यापारिक और सांस्कृतिक केन्द्र भी रहा है। कैलाश और मानसरोवर के तीर्थों को जाते हुए हिन्दू व बौद्ध तीर्थयात्री अक्सर तकलाकोट से गुज़रकर जाते रहे हैं। ४,७५५ मीटर (१३,२०५ फ़ुट) की ऊँचाई पर स्थित यह शहर कैलाश पर्वत से दक्षिण में घाघरा नदी (जिसे कर्णाली नदी और मापछु खमबाब के नामों से भी जाना जाता है) की घाटी में बसा हुआ है।, Robert Kelly, John Vincent Bellezza, pp.

नई!!: नेपाल और तकलाकोट · और देखें »

तुर्माखाँद

तुर्माखाँद नेपाल के सेती अंचल के अछाम जिला के एक गाँव है। .

नई!!: नेपाल और तुर्माखाँद · और देखें »

तुल्सी भञ्ज्याङ

नेपाल के पश्चिमांचल विकास क्षेत्र के गण्डकी अंचल के स्यांजा जिल्ला में स्थित एक अत्याधिक उर्वर एवं घना वस्ती समेटा हुआ गाँउ विकास समिति हैं। .

नई!!: नेपाल और तुल्सी भञ्ज्याङ · और देखें »

तुङधारा

नेपाल देशके पश्चिमांचल विकास क्षेत्र के लुम्बिनी अंचल में अवस्थित पाल्पा जिल्ला का यें जगा एक अत्याधिक उर्वर एवं घना वस्ती सें भरा हुआ सुन्दर गाँव हैं। नेपाल में इसे गाँउ विकास समिति और गाविस के रूपमें जानाजाता हैं। .

नई!!: नेपाल और तुङधारा · और देखें »

त्रिभुवन नेपाल

नेपाल के त्रिभुवन त्रिभुवन बीर बिक्रम शाह (23 जून 1930 से 13 मार्च 1955) 11 दिसंबर सन 1911 से उनकी (7 नवंबर 1950 से 18 फरवरी 1951 तक के निर्वासन काल को छोड़ कर) मृत्यु तक नेपाल के राजा थे। इनका जन्म काठमांडू में हुआ था जो की वर्तमान में नेपाल की राजधानी है। 5 वर्ष की अल्प आयु में ही अपने पिता पृथ्वी वीर विक्रम शाह की मृत्यु के पश्चात राजगद्दी पर आसीन, हुए उन्हें हनुमान धोखा पैलेस काठमांडू में 20 फरवरी सन 1983 राजगद्दी सौंपी गई .

नई!!: नेपाल और त्रिभुवन नेपाल · और देखें »

त्रिभुवन विश्वविद्यालय

त्रिभुवन विश्वविद्यालय त्रिभुवन विश्विविद्यालय नेपाल का सबसे बड़ा और सव्राधिक पुराना राष्ट्रीय विश्वविद्यालय है। इसका केन्द्रीय कार्यालय कृतीपुर काठमाण्डू में है। इस समय इस विश्वविद्यालय में १५०,०० विद्यार्थी अध्यनरत हैं। कृषि तथा पशु अध्ययन संस्थान, वनबिज्ञान, इन्जीनीयरिङ, विज्ञान तथा प्रविधि, चिकित्शाशास्त्र, समाजविज्ञान, मानवशास्त्र, ब्यवस्थापन, शिक्षा शास्त्र, कानून तथा मानविकी में यह विश्वविद्यालय शिक्षा प्रदान कर रहा है। इस विश्वविद्यालयके ६० आंगिक तथा ४१६ सम्वन्धन प्राप्त कैम्पस सारे नेपाल में हैं। यह विश्वविद्यालय अभी भी नेपाल की उच्च शिक्षा में ७५ प्रतिशत से अधिक भाग वहन कर रहा है। साथ-साथ यह विश्वविद्यालय नेपाल के 'थिंकटेङक' के रूप में भी चिह्नित है। .

नई!!: नेपाल और त्रिभुवन विश्वविद्यालय · और देखें »

त्रिभुवन विश्वविद्यालय अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट मैदान

त्रिभुवन विश्वविद्यालय अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट मैदान काठमांडू के किर्तीपुर में रहा अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट मैदान हैं। .

नई!!: नेपाल और त्रिभुवन विश्वविद्यालय अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट मैदान · और देखें »

त्रिभुवन अन्तर्राष्ट्रीय विमानक्षेत्र

त्रिभुवन अन्तर्राष्ट्रीय विमानक्षेत्र (त्रिभुवन अन्तर्राष्ट्रिय विमानस्थल) काठमांडु, नेपाल का अन्तर्राष्ट्रीय विमानक्षेत्र है। यह नेपाल का एकमात्र अन्तर्राष्ट्रीय विमानक्षेत्र है और यहां एक अन्तर्देशीय तथा एक अन्तर्राष्ट्रीय टर्मिनल हैं। यह विमानक्षेत्र काठमांडु घाटी में बसे शहर के केन्द्र से लगभग ६ कि.मी दूर स्थित है। यहां रेडिसन होटल, काठमांडु प्रथम एवं बिज़नेस श्रेणी यात्री लाउंज का संचालन करता है एवं कुछ वायुसेवाओं तथा स्टार एलाइंस गोल्ड कार्ड धारकों के लिये थाई एयरवेज़ बिज़नेस श्रेणी का लाउंज संचालित करता है। हाल ही में हुए अन्तर्राष्ट्रीय टर्मिनल के एक विस्तार के कारण वायुसेवाओं को जाने वाली दूरी कम हो गयी है। वर्तमान में लगभग ३० वायुसेवाओं द्वारा नेपाल को एशिया, यूरोप तथा मध्य पूर्व के कई गंतव्यों से जोड़ा जाता है। .

नई!!: नेपाल और त्रिभुवन अन्तर्राष्ट्रीय विमानक्षेत्र · और देखें »

त्रिभुवननगर

परीचय त्रिभुवननगर (Tribhuvannagar) मध्यपस्चिम नेपालके राप्ती अन्चलका प्रमुख वाणीज्य तथा शिक्षा श्वास्थका केन्द्र है। त्रिभुवननगर सहर दागं उपत्यकाकाके दांग जिलामे पडताहै पर्दछ। याँहा पे सत्य साइ व श्रृडी साइके प्रशिद्ध मन्दीर है। प्रिशद्ध बाह्रकुने झिल त्रिभुवनगर मे ही पडता है शिक्षा, श्वास्थ, यातायात, संचार लमही से फेडर रोडसे जुडाहुवा त्रिभुवन नगर राप्ती अन्चलके पाहडी क्षेत्रका प्रमुख पैठारीकर्ता है महेन्द्र संस्कृत विस्वबिधालय, महेन्द्र बहुमुखी क्यम्पस (त्रि.वि.), भरतपुर क्याम्पस, संस्कृत क्याम्पस लगायतके उच्चशिक्षा केन्द्र त्रिभुवननगरपे संचालीत है, साथमे बहुतसे प्राइभेट तथा सामुदायीक क्याम्पस तथा बिधालय भि याहां पेहै, श्वास्थमे महेन्द्र अस्पताल, आंखाउपचार केन्द्र के साथ साथ कुछ प्राइभेट श्वास्थ संस्था भि संचालीत है, अभी अभी एक बाल तथा हाडजोर्नी का अस्पातल यांहा पे बनराहा है। त्रिभुवननगर मे आधुनीक संचार सुविधा इमेल, इन्टरनेट, प्रीपेड, पोष्टपेड मोवाइल, लोकल एस टि डि, आइ एस डि फोन सुविधा के साथ प्राइभेट एफ एम रेडीयो भि संचालित है, देशके अन्य हिस्सो से त्रिभुवननगरको लमहीसे दांग भ्याली जानेवाला एक साहायकमार्ग जोडता है, साथ मे वीरेन्द्रनगर से सल्यान होकर एक कच्ची सडक भि त्रिभुवननगरकोको जोडताहै उसी तरह रोल्पा रूकुम लगायतके जिलोंसे त्रिभुवन नगर कच्ची सडकसे जुडाहुवाहै। जनसंख्या त्रिभुवननगर शहरमे लगभग ५५ हजार लोग रहतेहै। त्रिभुवननगरका टेलीफोन कोड नं.

नई!!: नेपाल और त्रिभुवननगर · और देखें »

त्रियुगा

त्रियुगा नेपाल का एक शहर तथा नगरपालिका है, जो प्रदेश संख्या १ के उदयपुर जिले में आता है। इसे गाइघाट नाम से भी जाना जाता है। १९९१ के जनगणना के अनुसार यहां की जनसंख्या ५५,२९१ थी। २०११ के जनगणना के अनुसार त्रियुगा की जनसंख्या ७१,४०५ थी। यह १७ वार्डों में विभाजित है। इस शहर में अस्पताल तथा क्लिनिक की सुविधाएं उपलब्ध है। शहर में ६ पुलिस इकाई और आर्मी बल हैं और एक आर्मी बैरक भी है। .

नई!!: नेपाल और त्रियुगा · और देखें »

त्रैलंग स्वामी

त्रैलंग स्वामी (जिन्हें गणपति सरस्वती भी कहते हैं) (ज्ञात १५२९ ई. या १६०७ -१८८७) एक हिन्दू योगी थे, जो अपने आध्यात्मिक शक्तियों के लिये प्रसिद्ध हुए। ये वाराणसी में निवास करते थे। इनकी बंगाल में भी बड़ी मान्यता है, जहां ये अपनी यौगिक अएवं आध्यात्मिक शक्तियों एवं लंबी आयु के लिये प्रसिद्ध रहे हैं। कुछ ज्ञात तथ्यों के अनुसार त्रैलंग स्वामी की आयु लगभग ३०० वर्ष रही थी, जिसमें ये वाराणसी में १७३७-१८८७ तक रहे। इन्हें भगवान शिव का एवं रामकृष्ण का अवतार माना जाता है। साथ ही इन्हें वाराणसी के चलते फिरते शिव की उपाधि भी दी गई है। .

नई!!: नेपाल और त्रैलंग स्वामी · और देखें »

तेन्जिंग नॉरगे

तेन्जिंग नॉरगे (29 मई 1914- 9 मई 1986) एक नेपाली पर्वतारोही थे जिन्होंने एवरेस्ट और केदारनाथ के प्रथम मानव चढ़ाई के लिए जाना जाता है। न्यूजीलैंड एडमंड हिलेरी के साथ वे पहले व्यक्ति हैं जिसने माउंट एवरेस्ट की चोटी पर पहला मानव कदम रखा। इसके पहले पर्वतारोहण के सिलसिले में वो चित्राल और नेपाल में रहे थे। नोरगे को नोरके भी कहा जाता है। इनका मूल नाम नांगयाल वंगड़ी है, जिसका अभिप्राय होता है धर्म का समृद्ध भाग्यवान अनुयायी। .

नई!!: नेपाल और तेन्जिंग नॉरगे · और देखें »

तेल्घा

नेपाल देशके पश्चिमांचल विकास क्षेत्र के लुम्बिनी अंचल में अवस्थित पाल्पा जिल्ला का यें जगा एक अत्याधिक उर्वर एवं घना वस्ती सें भरा हुआ सुन्दर गाँव हैं। नेपाल में इसे गाँउ विकास समिति और गाविस के रूपमें जानाजाता हैं। .

नई!!: नेपाल और तेल्घा · और देखें »

तेली

तेली परंपरागत रूप से भारत, पाकिस्तान और नेपाल में तेल पेरने और बेचने वाली जाति है। सदस्य या तो हिंदू या मुस्लिम हो सकते हैं; मुस्लिम तेली को रोशंदर या तेली मलिक कहते हैं। महाराष्ट्र के यहूदी समुदाय (जिसे बैन इज़राइल कहा जाता है) शीलवीर तेली नामक तेली जाति में एक उप-समूह के रूप में भी जाना जाता था, अर्थात् शबात पर काम करने से उनके यहूदी परंपरा के विरूद्ध अर्थात् शनिवार के तेल प्रदाताओं। .

नई!!: नेपाल और तेली · और देखें »

तेह्रथुम जिला

नेपाल के कोशी प्रान्त का जिला। श्रेणी:प्रदेश संख्या १ श्रेणी:नेपाल के जिले.

नई!!: नेपाल और तेह्रथुम जिला · और देखें »

तोपगाछी

तोपगाछी नेपालके मेची अंचलके झापा जिला का एक गाँव विकास समिति है। .

नई!!: नेपाल और तोपगाछी · और देखें »

तोप्केगोला जाति

तोप्केगोला जाति नेपाल की एक जनजाति है। .

नई!!: नेपाल और तोप्केगोला जाति · और देखें »

तोरन जंग बहादुर सिंह

ये नेपाल की सेना के वरिष्ठ अधिकारी थे। इनपर मानवाधिकार हनन के गंभीर आरोप लगे थे। सेना द्वारा दी गई पदोन्नती के खिलाफ एक जनहित याचिका पर कार्यवाई करते हुए नेपाल की सर्वोच्च न्यायालय ने इनकी पदोन्नति पर रोक लगा दी थी। .

नई!!: नेपाल और तोरन जंग बहादुर सिंह · और देखें »

तोली, अछाम

तोली, अछाम नेपाल के सेती अंचल के अछाम जिला के एक गाँव है। .

नई!!: नेपाल और तोली, अछाम · और देखें »

तोसी

तोसी नेपाल के सेती अंचल के अछाम जिला के एक गाँव है। .

नई!!: नेपाल और तोसी · और देखें »

तीनगाउँले जाति

तीनगाउँले जाति नेपाल की एक जनजाति है। .

नई!!: नेपाल और तीनगाउँले जाति · और देखें »

थानगाँउ

थानगाँउ नेपालके पुर्वांचल विकास क्षेत्रके सगरमाथा अंचलके उदयपुर जिलाकी एक गाँव विकास समिति है। .

नई!!: नेपाल और थानगाँउ · और देखें »

थापा वंश

थापा वंश (नेपाली: 'थापा खलक') नेपाल का एक क्षत्रिय राजवंश है जिसने सन् १८०६ से १८३७ तक और सन् १८४३ से १८४५ तक नेपाल पर शासन किया। राणा वंश के उदय के पूर्व इस वंश ने नेपाल के शाह वंश, बस्नेत परिवार और पाँडे वंश के साथ राजनैतिक शक्ति की प्रतिस्पर्धा किया। पाँडे वंश और थापा वंश राजनैतिक रूप में सदा कट्टर दुश्मन रहे। .

नई!!: नेपाल और थापा वंश · और देखें »

थारू

परम्परागत वस्त्रों में थारू स्त्रियाँ थारू पुरुष मछली पकड़ने के लिये जातीं थारू स्त्रियाँ थारू, नेपाल और भारत के सीमावर्ती तराई क्षेत्र में पायी जाने वाली एक जनजाति है। नेपाल की सकल जनसंख्या का लगभग 6.6% लोग थारू हैं। भारत में बिहार के चम्पारन जिले में और उत्तराखण्ड के नैनीताल और ऊधम सिंह नगर में थारू पाये जाते हैं। थारुओं का मुख्य निवास स्थान जलोढ़ मिट्टी वाला हिमालय का संपूर्ण उपपर्वतीय भाग तथा उत्तर प्रदेश के उत्तरी जिले वाला तराई प्रदेश है। ये हिन्दू धर्म मानते हैं तथा हिन्दुओं के सभी त्योहार मनाते हैं। .

नई!!: नेपाल और थारू · और देखें »

थाली (बर्तन)

स्टील की थाली एक खाना लगी भरी हुई थाली थाली (नेपाली: थाली, तमिल: தட்டு) भोजन करने के लिए एक बर्तन है जिसमें ज्यादातर भारत में ही प्रयोग की जाती है। साथ ही थाली का प्रयोग विशिष्ट खाने बनाने के लिए भी किया जाता है। यह भारत, नेपाल, बांग्लादेश, फिजी, पाकिस्तान, अफगानिस्तान, श्रीलंका, मॉरीशस और सिंगापुर में भोजन करने के लिए लोकप्रिय है। .

नई!!: नेपाल और थाली (बर्तन) · और देखें »

थाक्ले

थाक्ले नेपाल के पूर्वांचल विकास क्षेत्र के सगरमाथा अंचल, ओखलढुंगा जिला में स्थित गाँव विकास समिति है। .

नई!!: नेपाल और थाक्ले · और देखें »

थुप्रेक

नेपाल के पश्चिमांचल विकास क्षेत्र के गण्डकी अंचल के तनहुँ जिल्ला में स्थित एक अत्याधिक उर्वर एवं घना वस्ती समेटा हुआ गाँउ विकास समिति हैं। .

नई!!: नेपाल और थुप्रेक · और देखें »

थुमपोखरा

थुपपोखरा नेपाल के पश्चिमांचल विकास क्षेत्र के गण्डकी अंचल के स्यांजा जिला में स्थित एक अत्याधिक उर्वर एवं घना बस्ती वाली ग्राम समिति है। .

नई!!: नेपाल और थुमपोखरा · और देखें »

थौंकन्हे (पत्रिका)

थौंकन्हे का मई १९५१ में छपा सर्वप्रथम अंक थौंकन्हे नेपाल में छपने वाली नेपालभाषा की एक पत्रिका है। इसका प्रकाशन २१ मई १९५१ को आरम्भ हुआ। हालांकि कोलकाता, भारत से १९२५ में 'बुद्ध धर्म व नॆपाल भाषा' नामक नेपालभाषाई पत्रिका छपनी शुरु हो गई थी, थौंकन्हे नेपाल में प्रकाशित होने वाली पहली नेपालभाषाई पत्रिका मानी जाती है। बीच में यह १९५७ से लेकर १९९२ के लम्बे अरसे के लिये प्रकाशित होनी बंद हो गई थी लेकिन १९९२ में इसकी छपाई फिर से आरम्भ हो गई। .

नई!!: नेपाल और थौंकन्हे (पत्रिका) · और देखें »

थेरवाद

थाई भिक्षु बर्मा के रंगून शहर में श्वेडागोन पगोडा थेरवाद या स्थविरवाद वर्तमान काल में बौद्ध धर्म की दो प्रमुख शाखाओं में से एक है। दूसरी शाखा का नाम महायान है। थेरवाद बौद्ध धर्म भारत से आरम्भ होकर दक्षिण और दक्षिण-पूर्व की ओर बहुत से अन्य एशियाई देशों में फैल गया, जैसे कि श्रीलंका, बर्मा, कम्बोडिया, वियतनाम, थाईलैंड और लाओस। यह एक रूढ़िवादी परम्परा है, अर्थात् प्राचीन बौद्ध धर्म जैसा था, उसी मार्ग पर चलने पर बल देता है। .

नई!!: नेपाल और थेरवाद · और देखें »

द फ्ल्यास ब्याक (फ़िल्म)

द फ्ल्यास ब्याक नेपाली कथानक चलचित्र हो। .

नई!!: नेपाल और द फ्ल्यास ब्याक (फ़िल्म) · और देखें »

दत्तात्रेय

भगवान दत्तात्रेय दत्तात्रेय ब्रह्मा-विष्णु-महेश के अवतार माने जाते हैं। भगवान शंकर का साक्षात रूप महाराज दत्तात्रेय में मिलता है और तीनो ईश्वरीय शक्तियों से समाहित महाराज दत्तात्रेय की आराधना बहुत ही सफल और जल्दी से फल देने वाली है। महाराज दत्तात्रेय आजन्म ब्रह्मचारी, अवधूत और दिगम्बर रहे थे। वे सर्वव्यापी है और किसी प्रकार के संकट में बहुत जल्दी से भक्त की सुध लेने वाले हैं, अगर मानसिक, या कर्म से या वाणी से महाराज दत्तात्रेय की उपासना की जाये तो भक्त किसी भी कठिनाई से शीघ्र दूर हो जाते हैं। .

नई!!: नेपाल और दत्तात्रेय · और देखें »

दमक

दमक नेपालके मेची अंचलके झापा जिला का एक नगरपालिका है। .

नई!!: नेपाल और दमक · और देखें »

दयाहाङ राई

दयाहाङ राई नेपाली चलचित्रका अभिनेता हैं। .

नई!!: नेपाल और दयाहाङ राई · और देखें »

दरभंगा

भारत प्रान्त के उत्तरी बिहार में बागमती नदी के किनारे बसा दरभंगा एक जिला एवं प्रमंडलीय मुख्यालय है। दरभंगा प्रमंडल के अंतर्गत तीन जिले दरभंगा, मधुबनी, एवं समस्तीपुर आते हैं। दरभंगा के उत्तर में मधुबनी, दक्षिण में समस्तीपुर, पूर्व में सहरसा एवं पश्चिम में मुजफ्फरपुर तथा सीतामढ़ी जिला है। दरभंगा शहर के बहुविध एवं आधुनिक स्वरुप का विकास सोलहवीं सदी में मुग़ल व्यापारियों तथा ओईनवार शासकों द्वारा विकसित किया गया। दरभंगा 16वीं सदी में स्थापित दरभंगा राज की राजधानी था। अपनी प्राचीन संस्कृति और बौद्धिक परंपरा के लिये यह शहर विख्यात रहा है। इसके अलावा यह जिला आम और मखाना के उत्पादन के लिए प्रसिद्ध है। .

नई!!: नेपाल और दरभंगा · और देखें »

दर्ना

दर्ना नेपाल के सेती अंचल के अछाम जिला के एक गाँव है। .

नई!!: नेपाल और दर्ना · और देखें »

दर्लमडाँडा

नेपाल देशके पश्चिमांचल विकास क्षेत्र के लुम्बिनी अंचल में अवस्थित पाल्पा जिल्ला का यें जगा एक अत्याधिक उर्वर एवं घना वस्ती सें भरा हुआ सुन्दर गाँव हैं। नेपाल में इसे गाँउ विकास समिति और गाविस के रूपमें जानाजाता हैं। .

नई!!: नेपाल और दर्लमडाँडा · और देखें »

दरौ

दरौ नेपाल के पश्चिमांचल विकास क्षेत्र के गण्डकी अंचल के स्यांजा जिला में स्थित एक अत्याधिक उर्वर एवं घना बस्ती वाली ग्राम समिति है। .

नई!!: नेपाल और दरौ · और देखें »

दशरथ रंगशाला स्टेडियम

दशरथ रंगशाला स्टेडियम नेपाल का बहूद्देशीय स्टेडियम है, जो त्रिपुरेश्वर, काठमाण्डु में है। यह नेपाल का सबसे विशाल स्टेडियम है। अभी इसका अधिकतर उपयोग फुटबॉल के मैच और सांस्कृतिक और मनोरंजन कार्यक्रमों के लिए होता है। स्टेडियम की क्षमता २५,००० दर्शक है। इस स्टेडियम का निर्माण १९५६ में किया गया था। नेपाल की बहुत से राष्ट्रीय और अन्तर्राष्ट्रीय खेल-प्रतियोगिताएँ इस स्टेडियम में आयोजित की जाती हैं। श्रेणी:नेपाल में खेलकूद श्रेणी:नेपाल के स्टेडियम.

नई!!: नेपाल और दशरथ रंगशाला स्टेडियम · और देखें »

दहथुम

दहथुम नेपाल के पश्चिमांचल विकास क्षेत्र के गण्डकी अंचल के स्यांजा जिला में स्थित एक अत्याधिक उर्वर एवं घना बस्ती वाली ग्राम समिति है। .

नई!!: नेपाल और दहथुम · और देखें »

दही (योगहर्ट या योगर्ट)

तुर्की दही एक तुर्की ठंडा भूख बढ़ाने वाला दही का किस्म दही (Yoghurt) एक दुग्ध-उत्पाद है जिसे दूध के जीवाण्विक किण्वन के द्वारा बनाया जाता है। लैक्टोज के किण्वन से लैक्टिक अम्ल बनता है, जो दूध के प्रोटीन पर कार्य करके इसे दही की बनावट और दही की लाक्षणिक खटास देता है। सोय दही, दही का एक गैर-डेयरी विकल्प है जिसे सोय दूध से बनाया जाता है। लोग कम से कम 4,500 साल से दही-बना रहे हैं-और खा रहे हैं। आज यह दुनिया भर में भोजन का एक आम घटक है। यह एक पोषक खाद्य है जो स्वास्थ्य के लिए अद्वितीय रूप से लाभकारी है। यह पोषण की दृष्टि से प्रोटीन, कैल्सियम, राइबोफ्लेविन, विटामिन B6 और विटामिन B12 में समृद्ध है। .

नई!!: नेपाल और दही (योगहर्ट या योगर्ट) · और देखें »

दानावारी

दानावारी नेपालके मेची अंचलके इलाम जिलाकी एक गाँव विकास समिति है। .

नई!!: नेपाल और दानावारी · और देखें »

दामोदर पांडे

दामोदर पांडे (दामोदर पाँडे) (सन् १७५२ - सन् १८०४) नेपालके एक मूलकाजी (प्रधानमन्त्री सरह) हैं। उहा नेपाल एकीकरणका नायक पृथ्वी नारायण शाहके बफादार काजी कालु पांडेका छोटे पुत्र थे और वंशराज पांडेका भाइ हुन्। उनका छोरा रणदल पांडे र रणजंग पांडे हुन्। रणजंग पांडे नेपालके तिस्रे मुख्तियार बन गये। .

नई!!: नेपाल और दामोदर पांडे · और देखें »

दारुहरिद्रा

दारुहरिद्रा दारुहरिद्रा (वानस्पतिक नाम:Berberis aristata), एक औषधीय पौधा है। यह पादप भारत और नेपाल के पर्वतीय हिमालयी क्षेत्रों का देशज वृक्ष है। यह श्रीलंका में भी पाया जाता है। यह मधुमेह की चिकित्सा में बहुत उपयोगी है। .

नई!!: नेपाल और दारुहरिद्रा · और देखें »

दार्चुला जिला

नेपाल के महाकाली प्रान्त का जिला। श्रेणी:नेपाल के जिले.

नई!!: नेपाल और दार्चुला जिला · और देखें »

दार्जिलिंग

दार्जिलिंग भारत के राज्य पश्चिम बंगाल का एक नगर है। यह नगर दार्जिलिंग जिले का मुख्यालय है। यह नगर शिवालिक पर्वतमाला में लघु हिमालय में अवस्थित है। यहां की औसत ऊँचाई २,१३४ मीटर (६,९८२ फुट) है। दार्जिलिंग शब्द की उत्त्पत्ति दो तिब्बती शब्दों, दोर्जे (बज्र) और लिंग (स्थान) से हुई है। इस का अर्थ "बज्रका स्थान है।" भारत में ब्रिटिश राज के दौरान दार्जिलिंग की समशीतोष्ण जलवायु के कारण से इस जगह को पर्वतीय स्थल बनाया गया था। ब्रिटिश निवासी यहां गर्मी के मौसम में गर्मी से छुटकारा पाने के लिए आते थे। दार्जिलिंग अन्तरराष्ट्रीय स्तर पर यहां की दार्जिलिंग चाय के लिए प्रसिद्ध है। दार्जिलिंग की दार्जिलिंग हिमालयन रेलवे एक युनेस्को विश्व धरोहर स्थल तथा प्रसिद्ध स्थल है। यहां की चाय की खेती १८०० की मध्य से शुरु हुई थी। यहां की चाय उत्पादकों ने काली चाय और फ़र्मेन्टिंग प्रविधि का एक सम्मिश्रण तैयार किया है जो कि विश्व में सर्वोत्कृष्ट है। दार्जिलिंग हिमालयन रेलवे जो कि दार्जिलिंग नगर को समथर स्थल से जोड़ता है, को १९९९ में विश्व धरोहर स्थल घोषित किया गया था। यह वाष्प से संचालित यन्त्र भारत में बहुत ही कम देखने को मिलता है। दार्जिलिंग में ब्रिटिश शैली के निजी विद्यालय भी है, जो भारत और नेपाल से बहुत से विद्यार्थियों को आकर्षित करते हैं। सन १९८० की गोरखालैंड राज्य की मांग इस शहर और इस के नजदीक का कालिम्पोंग के शहर से शुरु हुई थी। अभी राज्य की यह मांग एक स्वायत्त पर्वतीय परिषद के गठन के परिणामस्वरूप कुछ कम हुई है। हाल की दिनों में यहां का वातावरण ज्यादा पर्यटकों और अव्यवस्थित शहरीकरण के कारण से कुछ बिगड़ रहा है। .

नई!!: नेपाल और दार्जिलिंग · और देखें »

दाल-भात

दाल-भात (दालभात, ডাল ভাত, દાળ ભાત, डाळ भात) भारतीय उपमहाद्वीप की लोकप्रिय भोजन है, इसे बांग्लादेश, नेपाल और भारत में दैनिक भोजन के रूप में बनाया जाता है। श्रेणी:उत्तर नेपाल का खाना.

नई!!: नेपाल और दाल-भात · और देखें »

दांग जिला

नेपाल के राप्ती प्रान्त का जिला। श्रेणी:नेपाल के जिले.

नई!!: नेपाल और दांग जिला · और देखें »

दिदिङ

दिदिङ नेपाल के कोशी अंचल का संखुवासभा जिला का एक गांव विकास समिति है। यह जगह मै ६०५ घर है। .

नई!!: नेपाल और दिदिङ · और देखें »

दिधावा

दिधावा नेपाल के सगरमाथा अंचल का सप्तरी जिला का एक गांव विकास समिति है। यह जगह मै ६१२ घर है। .

नई!!: नेपाल और दिधावा · और देखें »

दिनेश डिसी

दिनेश डिसी, दिनेश दाहाल नेपाली चलचित्रके निर्देशक तथा निर्माता और अभिनेता भि है। .

नई!!: नेपाल और दिनेश डिसी · और देखें »

दिपयल सिल्गढी नगरपालिका

दिपयल सिल्गढी नगरपालिका नेपाल के सेती अंचल का डोटी जिला का एक नगरपालिका है। यह जगह मैं ४२०३ घर है। .

नई!!: नेपाल और दिपयल सिल्गढी नगरपालिका · और देखें »

दिपही

दिपही नेपाल के नारायणी अंचल का रौतहट जिला का एक गांव विकास समिति है। यह जगह मै ६२८ घर है। .

नई!!: नेपाल और दिपही · और देखें »

दिपेन्द्र चौधरी

दीपेन्द्र चौधरी नेपाली क्रिकेट खिलाड़ी हैं। श्रेणी:व्यक्तिगत जीवन श्रेणी:जीवित लोग श्रेणी:नेपाल के लोग श्रेणी:नेपाली क्रिकेट खिलाड़ी.

नई!!: नेपाल और दिपेन्द्र चौधरी · और देखें »

दिभर्ण

दिभर्ण नेपाल के लुम्बिनी अंचल का अर्गाखाँची जिला का एक गांव विकास समिति है। यह जगह मैं १४३९ घर है। .

नई!!: नेपाल और दिभर्ण · और देखें »

दिमान

दिमान नेपाल के सगरमाथा अंचल का सप्तरी जिला का एक गांव विकास समिति है। यह जगह मैं ६६६ घर है। .

नई!!: नेपाल और दिमान · और देखें »

दिमिपोखरी

दिमिपोखरी नेपाल के जनकपुर अंचल का रामेछाप जिला का एक गांव विकास समिति है। यह जगह मैं ७२९ घर है। .

नई!!: नेपाल और दिमिपोखरी · और देखें »

दियाले, ओखलढुङ्गा

दियाले, ओखलढुंगा नेपाल के पूर्वांचल विकास क्षेत्र के सगरमाथा अंचल, ओखलढुंगा जिला में स्थित गाँव विकास समिति है। .

नई!!: नेपाल और दियाले, ओखलढुङ्गा · और देखें »

दिल्लिचौर

दिल्लिचौर नेपाल के कर्णाली अंचल का जुम्ला जिला का एक गांव विकास समिति है। यह जगह मै ६१९ घर है। .

नई!!: नेपाल और दिल्लिचौर · और देखें »

दिल्सैनी

दिल्सैनी नेपाल के महाकाली अंचल का बैतडी जिला का एक गांव विकास समिति है। यह जगह मै ९०९ घर है। .

नई!!: नेपाल और दिल्सैनी · और देखें »

दिव्यनगर

दिव्यनगर नेपाल के नारायणी अंचल का चितवन जिला का एक गांव विकास समिति है। यह जगह मै १६१२ घर है। .

नई!!: नेपाल और दिव्यनगर · और देखें »

दिव्यपुरी

दिव्यपुरी नेपाल के लुम्बिनी अंचल का नवलपरासी जिला का एक गांव विकास समिति है। यह जगह मै १४३९ घर है। .

नई!!: नेपाल और दिव्यपुरी · और देखें »

दिगम

दिगम नेपाल के लुम्बिनी अंचल का गुल्मी जिला का एक गांव विकास समिति है। यह जगह मै १०४८ घर है। .

नई!!: नेपाल और दिगम · और देखें »

दिगम्बरपुर

दिगम्बरपुर नेपाल के जनकपुर अंचल का धनुषा जिला का एक गांव विकास समिति है। यह जगह मैं १५३४ घर है। .

नई!!: नेपाल और दिगम्बरपुर · और देखें »

दिगंला

दिगंला नेपाल में स्थित कोशी प्रान्त का एक प्रमुख शहर है। श्रेणी:कोशी प्रान्त श्रेणी:नेपाल के शहर.

नई!!: नेपाल और दिगंला · और देखें »

दिकुवा

दिकुवा नेपाल के सगरमाथा अंचल का खोटाङ जिला का एक गांव विकास समिति है। यह जगह मै ४०६ घर है। .

नई!!: नेपाल और दिकुवा · और देखें »

दिक्तेल

दिक्तेल नेपाल के सगरमाथा अंचल का खोटाङ जिला का एक गांव विकास समिति है। यह जगह मै १६४३ घर है। .

नई!!: नेपाल और दिक्तेल · और देखें »

दंत-क्षरण

दंत क्षरण, जिसे दंत-अस्थिक्षय या छिद्र भी कहा जाता है, एक बीमारी है जिसमें जीवाण्विक प्रक्रियाएं दांत की सख्त संरचना (दन्तबल्क, दन्त-ऊतक और दंतमूल) को क्षतिग्रस्त कर देती हैं। ये ऊतक क्रमशः टूटने लगते हैं, जिससे दन्त-क्षय (छिद्र, दातों में छिद्र) उत्पन्न हो जाते हैं। दन्त-क्षय दो जीवाणुओं के कारण प्रारंभ होता है: स्ट्रेप्टोकॉकस म्युटान्स (Streptococcus mutans) और लैक्टोबैसिलस (Lactobacillus).

नई!!: नेपाल और दंत-क्षरण · और देखें »

दक्षिण एशिया वन्यजीव प्रवर्तन नेटवर्क

दक्षिण एशिया वन्यजीव प्रवर्तन नेटवर्क (South Asia Wildlife Enforcement Network (SAWEN/सावन)) दक्षिण एशियाई देशों की अन्त्र-सरकार संस्था है जो वन्यजीवों से सम्बन्धित कानूनों को कार्यान्वित करने का कार्य करती है। इसमें भारत, श्रीलंका, अफगानिस्तान, भूटान, नेपाल, बांग्लादेश, मालदीव तथा पाकिस्तान सम्मिलित हैं। इसका आरम्भ २०११ में भूटान से किया गया था। यह संस्था क्षेत्रीय सहयोग द्वारा वन्यजीवों से सम्बन्धित अपराधों को रोकने का कार्य करती है। इसका सचिवालय काठमाण्डू में है। .

नई!!: नेपाल और दक्षिण एशिया वन्यजीव प्रवर्तन नेटवर्क · और देखें »

दक्षिण एशियाई मुक्त व्यापार क्षेत्र

दक्षिण एशियाई मुक्त व्यापार क्षेत्र के बारे में दक्षिण एशियाई क्षेत्रीय सहयोग संगठन के बारहवें अधिवेशन में पाकिस्तान की राजधानी इस्लामाबाद में हुआ था। जिसमें भारत, पाकिस्तान, नेपाल, श्रीलंका, बांग्लादेश, भूटान एवं मालदीव के बीच 2016 तक मुक्त व्यापार क्षेत्र कायम करने का प्रस्ताव रखा गया। इसमें सार्क देशों के सारे विदेश मंत्री उपस्थित थे। इसमें साप्टा पर इन देशों के प्रतिनिधियों ने हस्ताक्षर किये थे। .

नई!!: नेपाल और दक्षिण एशियाई मुक्त व्यापार क्षेत्र · और देखें »

दक्षिण एशियाई विश्वविद्यालय

दक्षिण एशियाई विश्वविद्यालय (एसएयू), दक्षिण एशियाई क्षेत्रीय सहयोग संगठन (सार्क) के आठ सदस्य राज्यों द्वारा प्रायोजित एक अंतर्राष्ट्रीय विश्वविद्यालय है। आठ देश हैं: अफगानिस्तान, बांग्लादेश, भूटान, भारत, मालदीव, नेपाल, पाकिस्तान और श्रीलंका। दक्षिण एशियाई विश्वविद्यालय ने अकबर भवन, भारत में अस्थायी परिसर में, 2010 में छात्रों को स्वीकार करना शुरू किया। इसका स्थायी परिसर भारत में दक्षिण दिल्ली, इंदिरा गांधी राष्ट्रीय मुक्त विश्वविद्यालय (आईजीएनओयू) के बगल में मैदान गढ़ी में होगा। विश्वविद्यालय का पहला अकादमिक सत्र अगस्त 2010 में दो स्नातकोत्तर शैक्षणिक कार्यक्रमों के साथ अर्थशास्त्र और कंप्यूटर विज्ञान में शुरू हुआ था। 2014 के रूप में एसएयू ने गणित, जैव प्रौद्योगिकी, कंप्यूटर विज्ञान, विकास अर्थशास्त्र, अंतरराष्ट्रीय संबंधों, कानून और समाजशास्त्र में मास्टर और एमफिल / पीएचडी कार्यक्रमों की पेशकश की। 8 देशों के विदेश मंत्रियों द्वारा हस्ताक्षरित एक अंतर-सरकारी समझौते के अनुसार सार्क के सभी सदस्य राष्ट्रों द्वारा विश्वविद्यालय की डिग्री मान्यता प्राप्त है। दक्षिण एशियाई विश्वविद्यालय, प्रमुख रूप से सभी आठ सार्क देशों से छात्रों को आकर्षित करता है, हालांकि अन्य महाद्वीपों के छात्र भी भाग लेते हैं। छात्रों के प्रवेश के लिए कोटा प्रणाली है। हर साल एसएयू सभी 8 देशों में कई केन्द्रों में प्रवेश परीक्षा आयोजित करता है। .

नई!!: नेपाल और दक्षिण एशियाई विश्वविद्यालय · और देखें »

दक्षिण एशियाई खेल

दक्षिण एशिया ओलम्पिक परिषद चिह्न दक्षिण एशियाई खेल (जिन्हें सैफ़ खेल या सैग और पूर्व में दक्षिण एशियाई संघ खेलों के नाम से भी जाना जाता था) द्वि-वार्षिक बहु-क्रीड़ा प्रतियोगिता है, जिसमें दक्षिण एशियाई खिलाड़ी प्रतिभागी होते हैं। इन खेलों का शासी निकाय दक्षिण एशियाई खेल परिषद है, जिसकी स्थापना १९८३ में हुई थी। वर्तमान में सैग के आठ सदस्य हैं अफ़्गानिस्तान, नेपाल, पाकिस्तान, बांग्लादेश, भारत, भूटान, मालदीव और श्रीलंका। प्रथम सैफ़ खेल १९८४ में काठमांडु, नेपाल में आयोजित हुए थे और तबसे ये खेल प्रति दो वर्षों के अन्तराल पर आयोजित होते हैं, केवल कुछ अवसरों को छोड़कर। २००४ में दक्षिण एशियाई खेल परिषद की ३२वीं बैठक में यह निर्णय लिया गया की इन खेलों का नाम दक्षिण एशियाई संघ खेलों से बदलकर दक्षिण एशियाई खेल कर दिया जाए क्योंकि अधिकारियों का मानना था की संघ शब्द प्रतियोगिता पर कम बल दे रहा है और भीड़ आकर्षित करने में बाधक बन रहा है। इस खेलों को बहुधा दक्षिण एशिया ओलम्पिक खेलों के रूपान्तर के रूप में बढ़ाचढ़ा कर प्रस्तुत किया जाता है। .

नई!!: नेपाल और दक्षिण एशियाई खेल · और देखें »

दक्षिण एशियाई क्षेत्रीय सहयोग संगठन

दक्षिण एशियाई क्षेत्रीय सहयोग संगठन (सार्क) दक्षिण एशिया के आठ देशों का आर्थिक और राजनीतिक संगठन है। संगठन के सदस्य देशों की जनसंख्या (लगभग 1.5 अरब) को देखा जाए तो यह किसी भी क्षेत्रीय संगठन की तुलना में ज्यादा प्रभावशाली है। इसकी स्थापना ८ दिसम्बर १९८५ को भारत, पाकिस्तान, बांग्लादेश, श्रीलंका, नेपाल, मालदीव और भूटान द्वारा मिलकर की गई थी। अप्रैल २००७ में संघ के 14 वें शिखर सम्मेलन में अफ़ग़ानिस्तान इसका आठवा सदस्य बन गया। .

नई!!: नेपाल और दक्षिण एशियाई क्षेत्रीय सहयोग संगठन · और देखें »

दक्षेस महासचिव

दक्षिण एशियाई क्षेत्रीय सहयोग संगठन महासचिव, सार्क सचिवालय का प्रमुख है, जिसका काठमांडू, नेपाल में मुख्यालय है। सार्क आठ दक्षिण एशियाई सदस्य देशों, अफगानिस्तान, बांग्लादेश, भूटान, भारत, मालदीव, नेपाल, पाकिस्तान और श्रीलंका के बीच एक आर्थिक और भू राजनीतिक संघ है। सदस्य-राज्यों के मंत्रियों की परिषद द्वारा चुनाव से तीन साल की अवधि के लिए महासचिव नियुक्त किया जाता है। 1987 को बांग्लादेशी राजनयिक अबुल अहसान ने अपने पहले महासचिव के रूप में काठमांडू में सार्क सचिवालय की स्थापना की थी और नेपाल के राजा बिरेंद्र बीर बिक्रम शाह ने उद्घाटन किया था। इसकी रचना के बाद से, इसके सदस्य देशों ने कुल 13 तेरह सचिवों को रूप में योगदान दिया है। पाकिस्तान के राजनयिक अमजद हुसैन बी सियाल 1 मार्च, 2017 को प्रभार संभालने वाले मौजूदा महासचिव हैं। .

नई!!: नेपाल और दक्षेस महासचिव · और देखें »

दक्षेस सचिवालय

दक्षिण एशियाई क्षेत्रीय सहयोग संगठन सचिवालय, काठमांडू में स्थित एक कॉमप्लेक्स है, जो नेपाल की राजधानी है। यह कॉम्प्लेक्स दक्षिण एशियाई क्षेत्रीय सहयोग संगठन (सार्क) के आधिकारिक मुख्यालय के रूप में कार्य करता है, जो कि मुख्य रूप से दक्षिण एशिया में स्थित आठ सदस्य देशों का एक आर्थिक और भू-राजनीतिक संघ है। मुख्यालय गतिविधियों के समन्वय व कार्यान्वयन पर नज़र रखता है, और सेवा बैठकों के लिए तैयारी करता है, और एसोसिएशन और इसके सदस्य राज्यों के साथ ही अन्य क्षेत्रीय संगठनों के बीच संचार के एक चैनल के रूप में कार्य करता है। .

नई!!: नेपाल और दक्षेस सचिवालय · और देखें »

दक्षेस गान

दक्षेस गान जो आठ दक्षिण एशियाई देशों के लिए एक प्रस्तावित क्षेत्रीय गान है। अफगानिस्तान, बांग्लादेश, भूटान, भारत, मालदीव, नेपाल, पाकिस्तान और श्रीलंका इस दक्षेस के सदस्य हैं। इस गान रचनाकार भारतीय राजनयिक और कवि अभय कुमार हैं। वें नेपाल स्थित भारतीय दूतावास में प्रथम सचिव (प्रेस, सूचना एवं संस्कृति) के रूप में तैनात हैं। अभय कुमार ने दक्षेस गान को मूलत: हिंदी में लिखा है लेकिन अब इसका अनुवाद सात अन्य दक्षेस राष्ट्रों की मातृभाषा में किया हैं। इस गान को लिखकर अभय कुमार ने दक्षेस देशों में परस्पर सहयोग की भावना को और पुष्ट करने की कोशिश की हैं। गान में दक्षेस के सभी आठ देशों- नेपाल, भारत, पाकिस्तान, बांग्लादेश, अफगानिस्तान, मालदीव, श्रीलंका और भूटान की भाषाओं का इस्तेमाल किया गया है। दक्षेस गान को सर्वप्रथम नेपाल से प्रकाशित हिन्दी मासिक ‘हिमालिनी’ नामक वेबसाइट पर प्रकाशित किया गया। .

नई!!: नेपाल और दक्षेस गान · और देखें »

दुधवा राष्ट्रीय उद्यान

दुधवा राष्ट्रीय उद्यान उत्तर प्रदेश (भारत) के खीरी जनपद में स्थित संरक्षित वन क्षेत्र है। यह भारत और नेपाल की सीमाओं से लगे विशाल वन क्षेत्र में फैला है। यह उत्तर प्रदेश का सबसे बड़ा एवं समृद्ध जैव विविधता वाला क्षेत्र है। यह राष्ट्रीय उद्यान बाघों और बारहसिंगा के लिए विश्व प्रसिद्ध है। .

नई!!: नेपाल और दुधवा राष्ट्रीय उद्यान · और देखें »

दुनी

दुनी नेपाल के सेती अंचल के अछाम जिला के एक गाँव है। .

नई!!: नेपाल और दुनी · और देखें »

दुरडांडा

दुरडांडा नेपाल के गण्डकी अंचल का लमजुङ जिला का एक गांव विकास समिति है। यह जगह मै ४८७ घर है। .

नई!!: नेपाल और दुरडांडा · और देखें »

दुरगाउं

दुरगाउं नेपाल के जनकपुर अंचल का रामेछाप जिला का एक गांव विकास समिति है। यह जगह मैं ६१९ घर है। .

नई!!: नेपाल और दुरगाउं · और देखें »

दुरछिम

दुरछिम नेपाल के सगरमाथा अंचल का खोटाङ जिला का एक गांव विकास समिति है। यह जगह मैं ६९८ घर है। .

नई!!: नेपाल और दुरछिम · और देखें »

दुरुवा

दुरुवा नेपाल के राप्ती अंचल का दाङ जिला का एक गांव विकास समिति है। यह जगह मैं २१८८ घर है। .

नई!!: नेपाल और दुरुवा · और देखें »

दुर्दिम्बा

दुर्दिम्बा नेपाल के मेची अंचल का पाँचथर जिला का एक गांव विकास समिति है। यह जगह मै ६४० घर है। .

नई!!: नेपाल और दुर्दिम्बा · और देखें »

दुर्लुङ

दुर्लुङ नेपाल के धवलागिरि अंचल का पर्वत जिला का एक गांव विकास समिति है। यह जगह मै ६८१ घर है। .

नई!!: नेपाल और दुर्लुङ · और देखें »

दुर्गा

दुर्गा हिन्दुओं की प्रमुख देवी हैं जिन्हें केवल देवी और शक्ति भी कहते हैं। शाक्त सम्प्रदाय की वह मुख्य देवी हैं जिनकी तुलना परम ब्रह्म से की जाती है। दुर्गा को आदि शक्ति, प्रधान प्रकृति, गुणवती माया, बुद्धितत्व की जननी तथा विकार रहित बताया गया है। वह अंधकार व अज्ञानता रुपी राक्षसों से रक्षा करने वाली तथा कल्याणकारी हैं। उनके बारे में मान्यता है कि वे शान्ति, समृद्धि तथा धर्म पर आघात करने वाली राक्षसी शक्तियों का विनाश करतीं हैं। देवी दुर्गा का निरूपण सिंह पर सवार एक निर्भय स्त्री के रूप में की जाती है। दुर्गा देवी आठ भुजाओं से युक्त हैं जिन सभी में कोई न कोई शस्त्रास्त्र होते है। उन्होने महिषासुर नामक असुर का वध किया। महिषासुर (.

नई!!: नेपाल और दुर्गा · और देखें »

दुर्गा पूजा

दूर्गा पूजा (দুর্গাপূজা अथवा দুৰ্গা পূজা अथवा ଦୁର୍ଗା ପୂଜା, सुनें:, "माँ दूर्गा की पूजा"), जिसे दुर्गोत्सव (দুর্গোৎসব अथवा ଦୁର୍ଗୋତ୍ସବ, सुनें:, "दुर्गा का उत्सव" के नाम से भी जाना जाता है) अथवा शरदोत्सव दक्षिण एशिया में मनाया जाने वाला एक वार्षिक हिन्दू पर्व है जिसमें हिन्दू देवी दुर्गा की पूजा की जाती है। इसमें छः दिनों को महालय, षष्ठी, महा सप्तमी, महा अष्टमी, महा नवमी और विजयदशमी के रूप में मनाया जाता है। दुर्गा पूजा को मनाये जाने की तिथियाँ पारम्परिक हिन्दू पंचांग के अनुसार आता है तथा इस पर्व से सम्बंधित पखवाड़े को देवी पक्ष, देवी पखवाड़ा के नाम से जाना जाता है। दुर्गा पूजा का पर्व हिन्दू देवी दुर्गा की बुराई के प्रतीक राक्षस महिषासुर पर विजय के रूप में मनाया जाता है। अतः दुर्गा पूजा का पर्व बुराई पर भलाई की विजय के रूप में भी माना जाता है। दुर्गा पूजा भारतीय राज्यों असम, बिहार, झारखण्ड, मणिपुर, ओडिशा, त्रिपुरा और पश्चिम बंगाल में व्यापक रूप से मनाया जाता है जहाँ इस समय पांच-दिन की वार्षिक छुट्टी रहती है। बंगाली हिन्दू और आसामी हिन्दुओं का बाहुल्य वाले क्षेत्रों पश्चिम बंगाल, असम, त्रिपुरा में यह वर्ष का सबसे बड़ा उत्सव माना जाता है। यह न केवल सबसे बड़ा हिन्दू उत्सव है बल्कि यह बंगाली हिन्दू समाज में सामाजिक-सांस्कृतिक रूप से सबसे महत्त्वपूर्ण उत्सव भी है। पश्चिमी भारत के अतिरिक्त दुर्गा पूजा का उत्सव दिल्ली, उत्तर प्रदेश, महाराष्ट्र, गुजरात, पंजाब, कश्मीर, आन्ध्र प्रदेश, कर्नाटक और केरल में भी मनाया जाता है। दुर्गा पूजा का उत्सव 91% हिन्दू आबादी वाले नेपाल और 8% हिन्दू आबादी वाले बांग्लादेश में भी बड़े त्यौंहार के रूप में मनाया जाता है। वर्तमान में विभिन्न प्रवासी आसामी और बंगाली सांस्कृतिक संगठन, संयुक्त राज्य अमेरीका, कनाडा, यूनाइटेड किंगडम, ऑस्ट्रेलिया, जर्मनी, फ्रांस, नीदरलैण्ड, सिंगापुर और कुवैत सहित विभिन्न देशों में आयोजित करवाते हैं। वर्ष 2006 में ब्रिटिश संग्रहालय में विश्वाल दुर्गापूजा का उत्सव आयोजित किया गया। दुर्गा पूजा की ख्याति ब्रिटिश राज में बंगाल और भूतपूर्व असम में धीरे-धीरे बढ़ी। हिन्दू सुधारकों ने दुर्गा को भारत में पहचान दिलाई और इसे भारतीय स्वतंत्रता आंदोलनों का प्रतीक भी बनाया। .

नई!!: नेपाल और दुर्गा पूजा · और देखें »

दुर्गा भवानी

दुर्गा भवानी नेपाल के महाकाली अंचल का बैतडी जिला का एक गांव विकास समिति है। यह जगह मै ४३३ घर है। .

नई!!: नेपाल और दुर्गा भवानी · और देखें »

दुर्गापुर, नेपाल

दुर्गापुर नेपाल के सगरमाथा अंचल का सिराहा जिला का एक गांव विकास समिति है। यह जगह मै ७३७ घर है। .

नई!!: नेपाल और दुर्गापुर, नेपाल · और देखें »

दुर्गामाण्डु

दुर्गामाण्डु नेपाल के सेती अंचल का डोटी जिला का एक गांव विकास समिति है। यह जगह मै ७५४ घर है। .

नई!!: नेपाल और दुर्गामाण्डु · और देखें »

दुर्गास्थान

दुर्गास्थान नेपाल के महाकाली अंचल का बैतडी जिला का एक गांव विकास समिति है। यह जगह मै ६५९ घर है। .

नई!!: नेपाल और दुर्गास्थान · और देखें »

दुर्गौली

दुर्गौली नेपाल के सेती अंचल का कैलाली जिला का एक गांव विकास समिति है। यह जगह मै २१९२ घर है। .

नई!!: नेपाल और दुर्गौली · और देखें »

दुल्लु नगरपालिका

दुल्लु नगरपालिका नेपाल के पश्चिमी जिला दैलेख जिले का एक नगर पालिका है। यह नगर पालिका भेरी अंचल में अवस्थित है। दैलेख जिले का दुल्लु गा.वि.स. को वि॰सं॰ 2071 में इस क्षेत्र के आस पास के गा.वि.स. छिउडी पुसाकोट, पादुका, नेपा, बडलम्जी और नाउले कटुवाल को जोडकर स्थापना किया गया था। .

नई!!: नेपाल और दुल्लु नगरपालिका · और देखें »

दुहागढी

दुहागढी नेपालके मेची अंचलके झापा जिला का एक गाँव विकास समिति है। .

नई!!: नेपाल और दुहागढी · और देखें »

दुवागढी

दुवागढी नेपाल के मेची अंचल का झापा जिला का एक गांव विकास समिति है। यह जगह मै १७५७ घर है। .

नई!!: नेपाल और दुवागढी · और देखें »

दुवाकोत

दुवाकोत नेपाल के बागमती अंचल का ख्वप जिला का एक गांव विकास समिति है। यह जगह मै ११७० घर है। .

नई!!: नेपाल और दुवाकोत · और देखें »

दौडा सुरूवाल

नेपाल के राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री दौडा सुरूवाल में। दौडा सुरूवाल नेपाल का एक राष्ट्रीय पोशाक है। इसे कार्यालयों में काम करने वाले उम्र दराज लोग ज्यादा पहनते हैं। इसे वहाँ के नेता भी पहनते हैं। इसके उपर एक प्रकार का कोट भी पहना जा सकता है। इसके साथ एक प्रकार कि टोपी जिसे ढाका टोपी और भाद गाउले टोपी कहते हैं पहना जाता है। आजकल के शहरी युवक इसका प्रयोग बहुत कम करते हैं वैसे पहाड़ पर निवास करने वाले युवाओं को इस वस्त्र में देख सकते हैं। .

नई!!: नेपाल और दौडा सुरूवाल · और देखें »

दैलेख जिला

दैलेख जिला नेपाल के भेरी अंचल का एक जिला है। दैलेख नेपाल के मध्य पश्चिमांचल विकास क्षेत्र व भेरी अंचल का एक जिला है। यह एक विकट पहाड़ी जिलों की श्रेणी मे गिना जाता है। इस जिले की आकृति त्रिभुजाकार है। यहां की सबसे उंची चोटी "महाबुलेक" और सबसे कम उचाईंवाला स्थान "तल्लो डुंगेश्वर" नामक स्थान है। इस जिले की सीमायें पूर्व में भेरी अंचल के जाजरकोट जिला, पश्चिम में सेती अंचल के अछाम जिला दक्षिण में भेरी अंचल के सुर्खेत जिला और उत्तर में कर्णाली अंचल के कालिकोट जिले के साथ जुड़ी हुई हैं। इस जिले की भौगोलिक बनावट को मुख्यतया तीन हिस्सों में बांटा जाता है।.

नई!!: नेपाल और दैलेख जिला · और देखें »

दूधकुण्ड नगरपालिका

दूधकुण्ड नगरपालिका नेपाल के पूर्वांचल विकास क्षेत्र के सगरमाथा अंचल, सोलुखुम्बु जिला में स्थित नगरपालिका है। .

नई!!: नेपाल और दूधकुण्ड नगरपालिका · और देखें »

देशों के दूरभाष कूट की सूची

यह ITU-T की सिफारिश E.164 के अनुसार देशों की दूरभाष कुट सँख्या कि सुची है। .

नई!!: नेपाल और देशों के दूरभाष कूट की सूची · और देखें »

देशों के राजचिह्नों की सूची

This gallery of sovereign state coats of arms shows the coat of arms (or an emblem serving a similar purpose) of each of the sovereign states in the list of sovereign states.

नई!!: नेपाल और देशों के राजचिह्नों की सूची · और देखें »

देशी भाषाओं में देशों और राजधानियों की सूची

निम्न चार्ट विश्व के देशों को सूचीबद्ध करता है (जैसा की यहां परिभाषित किया गया है), इसमें उनके राजधानीयों के नाम भी शामिल है, यह अंग्रेजी के साथ साथ उस देश की मूल भाषा और/या सरकारी भाषा में दी गयी है। ज टी की कोण नॉन en .

नई!!: नेपाल और देशी भाषाओं में देशों और राजधानियों की सूची · और देखें »

देशीय कोड उच्चतम डोमेन

देशीय कोड उच्चतम डोमेन (Country code top-level domain) या सी॰सी॰टी॰ऍल॰डी॰ (ccTLD) किसी देश, राष्ट्र या अधीन क्षेत्र के लिए प्रयोग होने वाली या आरक्षित इंटरनेट उच्चतम डोमेन (Top-level domain) को कहते हैं। सभी आस्की (कम्प्यूटर में अंग्रेज़ी की रोमन लिपि) पर आधारित सीसीटीऍलडी दो अक्षरों के होते हैं, मसलन नेपाल का सीसीटीऍलडी '.np' और श्रीलंका का सीसीटीऍलडी '.lk' है।, Request for Comments, Jon Postel, Network Working Group, Accessed 2011-02-07,...

नई!!: नेपाल और देशीय कोड उच्चतम डोमेन · और देखें »

देवदार

देवदार (वैज्ञानिक नाम:सेडरस डेओडारा, अंग्रेज़ी: डेओडार, उर्दु: ديودار देओदार; संस्कृत: देवदारु) एक सीधे तने वाला ऊँचा शंकुधारी पेड़ है, जिसके पत्ते लंबे और कुछ गोलाई लिये होते हैं तथा जिसकी लकड़ी मजबूत किन्तु हल्की और सुगंधित होती है। इनके शंकु का आकार सनोबर (फ़र) से काफी मिलता-जुलता होता है। इनका मूलस्थान पश्चिमी हिमालय के पर्वतों तथा भूमध्यसागरीय क्षेत्र में है, (१५००-३२०० मीटर तक हिमालय में तथा १०००-२००० मीटर तक भूमध्य सागरीय क्षेत्र में)।Farjon, A. (1990).

नई!!: नेपाल और देवदार · और देखें »

देवभूमि द्वारका जिला

देवभूमि द्वारका जिला (દેવભૂમિ દ્વારકા જિલ્લો) भारत देश में गुजरात प्रान्त के सौराष्ट्र विस्तार में स्थित राज्य के ३३ जिलों में से एक जिला है। जिले का नाम कृष्ण की कर्मभूमि द्वारका से पड़ा है। जिले का मुख्यालय खंभाळिया है। १५ अगस्त २०१३ को गुजरात के तत्कालीन मुख्यमंत्री नरेन्द्र मोदी ने जामनगर जिला का विभाजन करके देवभूमि द्वारका को नया जिला बनाने की घोषणा की थी। द्वारका जिला कच्छ की खाड़ी और अरबी समुद्र के तट पर बसा है। द्वारका हिन्दू धर्म के प्राचीन तीर्थस्थलों में से एक है। यहाँ से हिन्दू धर्म में पवित्र माने जाने वाली गोमती नदी पसार होती है। द्वारकाधीश का जगत मन्दिर प्रमुख दर्शनीय स्थल है। .

नई!!: नेपाल और देवभूमि द्वारका जिला · और देखें »

देविस्थान

देविस्थान नेपाल के सेती अंचल के अछाम जिला के एक गाँव है। .

नई!!: नेपाल और देविस्थान · और देखें »

देविका खड्का

देविका खड्का (Devika Khadka, जन्म: सन् १९८७ अगस्ट १ तारिख, झापा) नेपाली राष्ट्रिय जुडो खेलाडी है। खड्का सशस्त्र प्रहरी बल (APF) नेपालको तर्फबाट खेल खेल्नु हुन्छ। .

नई!!: नेपाल और देविका खड्का · और देखें »

देवघाट

देवघाट नेपाल के गण्डकी अंचल के तनहुँ जिले में स्थित एक ग्राम विकास समिति है। नेपाल की सन् २००१ की जनगणना के अनुसार देवघाट की जनसंख्या ७६२० है। यह कस्बा सेती गण्डकी तथा कृष्णा गण्डकी नदियों के संगम पर स्थित है तथा हिन्दू धर्म में सबसे पवित्र स्थानों में से एक है। यह नारायणगढ़ से ७ किमी, सौरहा से २० किमी तथा काठमाण्डू से १५० किमी दक्षिण-पश्चिम में स्थित है। यहाँ के गुरुकुलों में से एक महेश संस्कृत गुरुकुल महत्त्वपूर्ण शैक्षिक संस्था एवं आश्रम हैं। श्रेणी:हिन्दू तीर्थ स्थल श्रेणी: नेपाल का भूगोल श्रेणी:आधार.

नई!!: नेपाल और देवघाट · और देखें »

देवघाट गाविस

नेपाल के पश्चिमांचल विकास क्षेत्र के गण्डकी अंचल के तनहुँ जिल्ला में स्थित एक अत्याधिक उर्वर एवं घना वस्ती समेटा हुआ गाँउ विकास समिति हैं। .

नई!!: नेपाल और देवघाट गाविस · और देखें »

देवीनगर

नेपाल देशके पश्चिमांचल विकास क्षेत्र के लुम्बिनी अंचल में अवस्थित पाल्पा जिल्ला का यें जगा एक अत्याधिक उर्वर एवं घना वस्ती सें भरा हुआ सुन्दर गाँव हैं। नेपाल में इसे गाँउ विकास समिति और गाविस के रूपमें जानाजाता हैं। .

नई!!: नेपाल और देवीनगर · और देखें »

देउराली गाविस, तनहुँ

नेपाल के पश्चिमांचल विकास क्षेत्र के गण्डकी अंचल के तनहुँ जिल्ला में स्थित एक अत्याधिक उर्वर एवं घना वस्ती समेटा हुआ गाँउ विकास समिति हैं। .

नई!!: नेपाल और देउराली गाविस, तनहुँ · और देखें »

देउराली, पाल्पा

नेपाल देशके पश्चिमांचल विकास क्षेत्र के लुम्बिनी अंचल में अवस्थित पाल्पा जिल्ला का यें जगा एक अत्याधिक उर्वर एवं घना वस्ती सें भरा हुआ सुन्दर गाँव हैं। नेपाल में इसे गाँउ विकास समिति और गाविस के रूपमें जानाजाता हैं। .

नई!!: नेपाल और देउराली, पाल्पा · और देखें »

देउसा

देउसा नेपाल के पूर्वांचल विकास क्षेत्र के सगरमाथा अंचल, सोलुखुम्बु जिला में स्थित गाँव विकास समिति है। .

नई!!: नेपाल और देउसा · और देखें »

दोभान

नेपाल देशके पश्चिमांचल विकास क्षेत्र के लुम्बिनी अंचल में अवस्थित पाल्पा जिल्ला का यें जगा एक अत्याधिक उर्वर एवं घना वस्ती सें भरा हुआ सुन्दर गाँव हैं। नेपाल में इसे गाँउ विकास समिति और गाविस के रूपमें जानाजाता हैं। .

नई!!: नेपाल और दोभान · और देखें »

दोलखा जिला

नेपाल के जनकपुर प्रान्त का जिला। श्रेणी:नेपाल के जिले.

नई!!: नेपाल और दोलखा जिला · और देखें »

दीपावली

दीपावली या दीवाली अर्थात "रोशनी का त्योहार" शरद ऋतु (उत्तरी गोलार्द्ध) में हर वर्ष मनाया जाने वाला एक प्राचीन हिंदू त्योहार है।The New Oxford Dictionary of English (1998) ISBN 0-19-861263-X – p.540 "Diwali /dɪwɑːli/ (also Divali) noun a Hindu festival with lights...". दीवाली भारत के सबसे बड़े और प्रतिभाशाली त्योहारों में से एक है। यह त्योहार आध्यात्मिक रूप से अंधकार पर प्रकाश की विजय को दर्शाता है।Jean Mead, How and why Do Hindus Celebrate Divali?, ISBN 978-0-237-534-127 भारतवर्ष में मनाए जाने वाले सभी त्यौहारों में दीपावली का सामाजिक और धार्मिक दोनों दृष्टि से अत्यधिक महत्त्व है। इसे दीपोत्सव भी कहते हैं। ‘तमसो मा ज्योतिर्गमय’ अर्थात् ‘अंधेरे से ज्योति अर्थात प्रकाश की ओर जाइए’ यह उपनिषदों की आज्ञा है। इसे सिख, बौद्ध तथा जैन धर्म के लोग भी मनाते हैं। जैन धर्म के लोग इसे महावीर के मोक्ष दिवस के रूप में मनाते हैं तथा सिख समुदाय इसे बन्दी छोड़ दिवस के रूप में मनाता है। माना जाता है कि दीपावली के दिन अयोध्या के राजा राम अपने चौदह वर्ष के वनवास के पश्चात लौटे थे। अयोध्यावासियों का ह्रदय अपने परम प्रिय राजा के आगमन से प्रफुल्लित हो उठा था। श्री राम के स्वागत में अयोध्यावासियों ने घी के दीपक जलाए। कार्तिक मास की सघन काली अमावस्या की वह रात्रि दीयों की रोशनी से जगमगा उठी। तब से आज तक भारतीय प्रति वर्ष यह प्रकाश-पर्व हर्ष व उल्लास से मनाते हैं। यह पर्व अधिकतर ग्रिगेरियन कैलन्डर के अनुसार अक्टूबर या नवंबर महीने में पड़ता है। दीपावली दीपों का त्योहार है। भारतीयों का विश्वास है कि सत्य की सदा जीत होती है झूठ का नाश होता है। दीवाली यही चरितार्थ करती है- असतो माऽ सद्गमय, तमसो माऽ ज्योतिर्गमय। दीपावली स्वच्छता व प्रकाश का पर्व है। कई सप्ताह पूर्व ही दीपावली की तैयारियाँ आरंभ हो जाती हैं। लोग अपने घरों, दुकानों आदि की सफाई का कार्य आरंभ कर देते हैं। घरों में मरम्मत, रंग-रोगन, सफ़ेदी आदि का कार्य होने लगता है। लोग दुकानों को भी साफ़ सुथरा कर सजाते हैं। बाज़ारों में गलियों को भी सुनहरी झंडियों से सजाया जाता है। दीपावली से पहले ही घर-मोहल्ले, बाज़ार सब साफ-सुथरे व सजे-धजे नज़र आते हैं। दीवाली नेपाल, भारत, श्रीलंका, म्यांमार, मारीशस, गुयाना, त्रिनिदाद और टोबैगो, सूरीनाम, मलेशिया, सिंगापुर, फिजी, पाकिस्तान और ऑस्ट्रेलिया की बाहरी सीमा पर क्रिसमस द्वीप पर एक सरकारी अवकाश है। .

नई!!: नेपाल और दीपावली · और देखें »

दीपेंद्र बीर बिक्रम शाह देव

दीपेन्द्र वीर विक्रम शाह (दीपेन्द्र वीर विक्रम शाह) (जन्म;२७ जून १९७१,निधन;– ०४ जून २००१) एक नेपाल के शाह राजवंश के शासक थे जिन्होंने १ जून २००१ से ४ जून २००१ तक महज चार दिन तक नेपाल पर शासन किया था। इन्होंने १ जून २००१ को अपने परिवार के सभी सदस्यों को गोली मारकर खुद को भी गोली मार दी थी और इनका चौनी,नेपाल के एक अस्पताल में निधन हो गया था। .

नई!!: नेपाल और दीपेंद्र बीर बिक्रम शाह देव · और देखें »

धतन

धतन नेपाल के धवलागिरि अंचल का म्याग्दि जिला का एक गांव विकास समिति है। यह जगह मै ९८० घर है। .

नई!!: नेपाल और धतन · और देखें »

धनचौर

धनचौर नेपालके लुम्बिनी अंचलके अर्घाखाँची जिलाकी एक गाँव विकास समिति है। .

नई!!: नेपाल और धनचौर · और देखें »

धनकुटा

धनकुटा नेपाल में स्थित कोशी प्रान्त का एक प्रमुख शहर है। श्रेणी:कोशी प्रान्त श्रेणी:नेपाल के शहर.

नई!!: नेपाल और धनकुटा · और देखें »

धनकुटा जिला

धनकुटा जिला नेपाल के कोशी प्रान्त का एक जिला है। .

नई!!: नेपाल और धनकुटा जिला · और देखें »

धनुषा जिला

जनकपुर में स्वयंबर के दौरान भगवान राम के द्वारा शिव धनुष तोड़ने से संबंधित रवी वर्मा की पेंटिंग यह नेपाल के जनकपुर प्रान्त का एक जिला है। यह हिंदुओं का एक पवित्र तीर्थ स्थल है। .

नई!!: नेपाल और धनुषा जिला · और देखें »

धमाली

धमाली नेपाल के सेती अंचल के अछाम जिला के एक गाँव है। .

नई!!: नेपाल और धमाली · और देखें »

धरमपुर(झापा)

धरमपुर(झापा) नेपालके मेची अंचलके झापा जिला का एक गाँव विकास समिति है। .

नई!!: नेपाल और धरमपुर(झापा) · और देखें »

धर्ना

धर्ना नेपाल के राप्ती अंचल का दाङ जिला का एक गांव विकास समिति है। यह जगह मै १२२० घर है। .

नई!!: नेपाल और धर्ना · और देखें »

धर्मपनिया

धर्मपनिया नेपाल के लुम्बिनी अंचल का कपिलबस्तु जिला का एक गांव विकास समिति है। यह जगह मैं ५९६ घर है। .

नई!!: नेपाल और धर्मपनिया · और देखें »

धर्मराज थापा

जनकवि केशरी धर्मराज थापा (१९२४ - २०१४) नेपाली कवि, गीतकार एवम् गायक थे। हरियो डाँडा माथि हह माले हह, नेपालीले माया मार्यो वरिलै, आदि के लिए प्रसिद्ध है। उनका विवाह १५ सालके उमरमें सावित्री से हुआ था जो १३ साल की थी। धर्मराज नेपाल एकाडमी के लाइफटाइम सदस्य हैं। .

नई!!: नेपाल और धर्मराज थापा · और देखें »

धर्मवती

धर्मवती नेपाल के राप्ती अंचल का प्युठान जिला का एक गांव विकास समिति है। यह जगह मैं ९५० घर है। .

नई!!: नेपाल और धर्मवती · और देखें »

धातिवाङ

धातिवाङ नेपाल के लुम्बिनी अंचल का अर्गाखाँची जिला का एक गांव विकास समिति है। यह जगह मैं ४३२ घर है। .

नई!!: नेपाल और धातिवाङ · और देखें »

धादिंग जिला

'धादिंग जिला नेपाल का बागमती अंचल का एक जिला है। श्रेणी:नेपाल के जिले.

नई!!: नेपाल और धादिंग जिला · और देखें »

धानुक जाति

धानुक (अंग्रेजी: Dhanuk), एक जातीय समूह है जिसके सदस्य बांग्लादेश, भारत और नेपाल में पाए जाते हैं। भारत में धानुक दिल्ली, चंडीगढ़, उत्तराखंड, पंजाब, हरियाणा, उत्तर प्रदेश, झारखण्ड, बिहार, त्रिपुरा, गुजरात, राजस्थान, मध्यप्रदेश आदि राज्यों में पाए जाते हैं। उन्हें पिछड़े जाति का दर्जा प्रदान किया गया है । नेपाल मे वे सप्तरी, सिरहा और धनुषा के तराई जिलों में बसे हुए हैं। वे या तो क्षत्रिय या एक अल्पसंख्यक स्वदेशी लोग हैं। पूर्वी तराई के धानुक मंडल के रूप में भी जाना जाता है । और पश्चिमी तराई के धानुक 'पटेल' कहलाते हैं। बिहार में धानुक जसवाल कुर्मी के रूप में भी जाना जाता है। पूरे बिहार में इनके उपनाम सिंह, महतो, मंडल, राय, पटेल, विश्वास इत्यादि हैं। दोनों देशों में धानुक हिन्दू हैं, और इस तरह के भोजपुरी और अवधी के रूप में हिंदी के विभिन्न बोलियों, बोलते हैं। परंपरा के अनुसार, 'धनुक' संस्कृत शब्द 'धनुषकः' से लिया गया है जिसका अर्थ है धनुषधारी। धानुक जा‍ति‍ के लोग राजा महाराजा काल मे उनकी अग्रिम पंक्ति में धनुर्धर थे जो पहला आक्रमण करते थे किसी भी युद्ध मे, क्योंकि इनकी निशानेबाजी सभी जातियों में सबसे अच्छी थी। धानुक जो धनुष्क से उद्धरित हुआ है इसका मतलब ही धनुष चलाने वाला होता है जिसका उल्लेख मालिक मुहम्मद जायसी की किताब पद्मावत में भी उल्लेख है। आशीर्वादी लाल श्रीवास्तव की किताब दिल्ली सल्तनत में भी इसी बात का उल्लेख है। .

नई!!: नेपाल और धानुक जाति · और देखें »

धारचूला तहसील

धारचूला तहसील भारत के उत्तराखंड राज्य में पिथौरागढ़ जनपद में एक तहसील है। पिथौरागढ़ जनपद के पूर्वी भाग में स्थित इस तहसील के मुख्यालय धारचूला नगर में स्थित हैं। इसके पूर्व में नेपाल, पश्चिम में मुनस्यारी तहसील, उत्तर में चीन तथा दक्षिण में डीडीहाट तहसील है। तहसील के अधिकार क्षेत्र में कुल 71 गाँव आते हैं, और 2011 की जनगणना के अनुसार इसकी जनसंख्या 65,689 है। .

नई!!: नेपाल और धारचूला तहसील · और देखें »

धारापानी

धारापानी नेपालके लुम्बिनी अंचलके अर्घाखाँची जिलाकी एक गाँव विकास समिति है। १९९१ की जनगणना की जनगणना के समय, शहर में १०,२०० घरों में ५२३६ की आबादी थी। २००१ नेपाल जनगणना के समय, जनसंख्या ६४५५ थी, जिसमें से ६५% साक्षर थे। लुंबिनी बौद्ध की चार सबसे पवित्र तीर्थ स्थलों में से पहला स्थान है, अन्य जगह वह है जहां वह ज्ञान (बुद्ध - प्रबुद्ध) पर पहुंचा, वह जगह जहां उन्होंने पहली बार प्रचार किया था और जिस स्थान पर मृतक थे। असल में कोई भी उसके जन्म का सही स्थान, पवित्र झील देख सकता है जहां उसकी माँ को जन्म देने के बाद नहाया गया और साइट के आसपास के पवित्र उद्यान को देखा गया - हालांकि यह प्रार्थना झंडे के एक जंगल की तरह अधिक था। जन्म स्थल से दूर चलना एक लंबी कृत्रिम नहर है और इसके दोनों ओर विभिन्न प्रकार के विभिन्न आर्किटेक्चर में विभिन्न राष्ट्रों और संगठनों द्वारा बनाई गई सुंदर मोनस्टाइल हैं। जन्म के नजदीक नहर के अंत में, हमें शाश्वत शांति की लौ मिल गई। .

नई!!: नेपाल और धारापानी · और देखें »

धावा

धावा नेपाल के गण्डकी अंचल का गोर्खा जिला का एक गांव विकास समिति है। यह जगह मैं ८४६ घर है। .

नई!!: नेपाल और धावा · और देखें »

धावाङ

धावाङ नेपाल के राप्ती अंचल की रोल्पा जिले की एक गाँव विकास समिति है। इस जगह में ७९१ घर हैं। .

नई!!: नेपाल और धावाङ · और देखें »

धाइजन

धाइजन नेपालके मेची अंचलके झापा जिला का एक गाँव विकास समिति है। .

नई!!: नेपाल और धाइजन · और देखें »

धिताल

धिताल नेपाल के गण्डकी अंचल का कास्की जिला का एक गांव विकास समिति है। यह जगह मै ७७३ घर है। .

नई!!: नेपाल और धिताल · और देखें »

धितुङ

धितुङ नेपाल के सगरमाथा अंचल का खोटाङ जिला का एक गांव विकास समिति है। यह जगह मै ५३६ घर है। .

नई!!: नेपाल और धितुङ · और देखें »

धिमाल

धिमाल नेपाल के नारायणी अंचल का मकवानपुर जिला का एक गांव विकास समिति है। यह जगह मै १०८० घर है। .

नई!!: नेपाल और धिमाल · और देखें »

धिमे

धिमे नेपाल के भेरी अंचल का जाजरकोट जिला का एक गांव विकास समिति है। यह जगह मै ९६७ घर है। .

नई!!: नेपाल और धिमे · और देखें »

धिरापुर

धिरापुर नेपाल के जनकपुर अंचल का महोत्तरी जिला का एक गांव विकास समिति है। यह जगह मै १३३० घर है। .

नई!!: नेपाल और धिरापुर · और देखें »

धिर्कमाण्डु

धिर्कमाण्डु नेपाल के सेती अंचल का डोटी जिला का एक गांव विकास समिति है। यह जगह मैं ३४४ घर है। .

नई!!: नेपाल और धिर्कमाण्डु · और देखें »

धिकपुर

धिकपुर नेपाल के राप्ती अंचल का दाङ जिला का एक गांव विकास समिति है। यह जगह मैं १८५९ घर है। .

नई!!: नेपाल और धिकपुर · और देखें »

धिकरिम

धिकरिम नेपाल के महाकाली अंचल का बैतडी जिला का एक गांव विकास समिति है। यह जगह मै ६७८ घर है। .

नई!!: नेपाल और धिकरिम · और देखें »

धिकासिन्ताद

धिकासिन्ताद नेपाल के महाकाली अंचल का बैतडी जिला का एक गांव विकास समिति है। यह जगह मैं ६७३ घर है। .

नई!!: नेपाल और धिकासिन्ताद · और देखें »

धुधारुकोत

धुधारुकोत नेपाल के सेती अंचल का अछाम जिला का एक गांव विकास समिति है। यह जगह मैं ६६५ घर है। .

नई!!: नेपाल और धुधारुकोत · और देखें »

धुधिलाभटी

धुधिलाभटी नेपाल के धवलागिरि अंचल का बाग्लुङ जिला का एक गांव विकास समिति है। यह जगह मैं ९३९ घर है। .

नई!!: नेपाल और धुधिलाभटी · और देखें »

धुन्चे

धुन्चे नेपाल के बागमती अंचल का रसुवा जिला का एक गांव विकास समिति है। यह जगह मैं ५७४ घर है। .

नई!!: नेपाल और धुन्चे · और देखें »

धुपु

धुपु नेपाल के कोशी अंचल का संखुवासभा जिला का एक गांव विकास समिति है। यह जगह मैं ९०६ घर है। .

नई!!: नेपाल और धुपु · और देखें »

धुम्थाङ

धुम्थाङ नेपाल के बागमती अंचल का सिन्धुपाल्चोक जिला का एक गांव विकास समिति है। यह जगह मै ८२८ घर है। .

नई!!: नेपाल और धुम्थाङ · और देखें »

धुरकोत

धुरकोत नेपाल के लुम्बिनी अंचल का नवलपरासी जिला का एक गांव विकास समिति है। यह जगह में ८६४ घर है। .

नई!!: नेपाल और धुरकोत · और देखें »

धुरकोत नयाँगाउं

धुरकोत नयाँगाउं नेपाल के लुम्बिनी अंचल का गुल्मी जिला का एक गांव विकास समिति है। यह जगह मै ९७८ घर है। .

नई!!: नेपाल और धुरकोत नयाँगाउं · और देखें »

धुरकोत बस्तु

धुरकोत बस्तु नेपाल के लुम्बिनी अंचल का गुल्मी जिला का एक गांव विकास समिति है। यह जगह मैं ७१० घर है। .

नई!!: नेपाल और धुरकोत बस्तु · और देखें »

धुरकोत भन्भने

धुरकोत भन्भने नेपाल के लुम्बिनी अंचल का गुल्मी जिला का एक गांव विकास समिति है। यह जगह मै ७०२ घर है। .

नई!!: नेपाल और धुरकोत भन्भने · और देखें »

धुरकोत राजस्थल

धुरकोत राजस्थल नेपाल के लुम्बिनी अंचल का गुल्मी जिला का एक गांव विकास समिति है। यह जगह मैं ६६४ घर है। .

नई!!: नेपाल और धुरकोत राजस्थल · और देखें »

धुर्काउली

धुर्काउली नेपाल के जनकपुर अंचल का सर्लाही जिला का एक गांव विकास समिति है। यह जगह मै १४९७ घर है। .

नई!!: नेपाल और धुर्काउली · और देखें »

धुलिखेल

धौख्यः नेपाल के बागमती अंचल का काभ्रे जिला का एक नगरपालिका है। यह जगह मैं २२५५ घर है। .

नई!!: नेपाल और धुलिखेल · और देखें »

धुलिगाडा

धुलिगाडा नेपाल के महाकाली अंचल का दार्चुला जिला का एक गांव विकास समिति है। यह जगह मै ६३४ घर है। .

नई!!: नेपाल और धुलिगाडा · और देखें »

धुल्लु गैडि

धुल्लु गैडि नेपाल के धवलागिरि अंचल का बाग्लुङ जिला का एक गांव विकास समिति है। यह जगह मै १०२८ घर है। .

नई!!: नेपाल और धुल्लु गैडि · और देखें »

धुल्लुबास्कोत

धुल्लुबास्कोत नेपाल के धवलागिरि अंचल का बाग्लुङ जिला का एक गांव विकास समिति है। यह जगह मै ७६२ घर है। .

नई!!: नेपाल और धुल्लुबास्कोत · और देखें »

धुस्सा

धुस्सा नेपाल के बागमती अंचल का धादिङ जिला का एक गांव विकास समिति है। यह जगह मै ११७४ घर है। .

नई!!: नेपाल और धुस्सा · और देखें »

धुस्की

धुस्की नेपाल के कोशी अंचल का सुनसरी जिला का एक गांव विकास समिति है। यह जगह मैं १४७६ घर है। .

नई!!: नेपाल और धुस्की · और देखें »

धुसेनी

धुसेनी नेपाल के मेची अंचल का इलाम जिला का एक गांव विकास समिति है। यह जगह मै ८३३ घर है। .

नई!!: नेपाल और धुसेनी · और देखें »

धुसेनी सिवालय

धुसेनी सिवालय नेपाल के बागमती अंचल का काभ्रे जिला का एक गांव विकास समिति है। यह जगह मै ४१४ घर है। .

नई!!: नेपाल और धुसेनी सिवालय · और देखें »

धुसेनी, लमजुङ जिला

धुसेनी २ नेपाल के गण्डकी अंचल का लमजुङ जिला का एक गांव विकास समिति है। यह जगह मै ३१४ घर है। .

नई!!: नेपाल और धुसेनी, लमजुङ जिला · और देखें »

धुसेल

धुसेल नेपाल के बागमती अंचल का यल जिला का एक गांव विकास समिति है। यह जगह मै २५७ घर है। .

नई!!: नेपाल और धुसेल · और देखें »

धुवाकोत

धुवाकोत नेपाल के बागमती अंचल का धादिङ जिला का एक गांव विकास समिति है। यह जगह मै १००९ घर है। .

नई!!: नेपाल और धुवाकोत · और देखें »

धुवाकोत २

धुवाकोत २ नेपाल के गण्डकी अंचल का गोर्खा जिला का एक गांव विकास समिति है। यह जगह मैं ९६६ घर है। .

नई!!: नेपाल और धुवाकोत २ · और देखें »

धुवाङ

धुवाङ नेपाल के राप्ती अंचल का प्युठान जिला का एक गांव विकास समिति है। यह जगह मै ६२७ घर है। .

नई!!: नेपाल और धुवाङ · और देखें »

धौबदी

धौबदी नेपाल के लुम्बिनी अंचल का नवलपरासी जिला का एक गांव विकास समिति है। यह जगह मै ८४१ घर है। .

नई!!: नेपाल और धौबदी · और देखें »

धौबिनी

धौबिनी नेपाल के नारायणी अंचल का पर्सा जिला का एक गांव विकास समिति है। यह जगह मै ५७८ घर है। .

नई!!: नेपाल और धौबिनी · और देखें »

धौलागिरी

धौलागिरी (Dhaulagiri) हिमालय का एकपर्वतीय पुंजक है जो नेपाल में कालीगण्डकी नदी से आरम्भ होकर 120 किमी दूर स्थित भेरी नदी तक चलता है। इस पुंजक का सर्वोच्च पर्वत 8,167 मीटर१२० (26,795 फ़ुट) ऊँचा धौलागिरी १ (Dhaulagiri I) है, जो विश्व का 7वाँ सर्वोच्च पर्वत भी है। .

नई!!: नेपाल और धौलागिरी · और देखें »

धौलाकोत

धौलाकोत नेपाल के महाकाली अंचल का दार्चुला जिला का एक गांव विकास समिति है। यह जगह मै ४११ घर है। .

नई!!: नेपाल और धौलाकोत · और देखें »

धो

धो नेपाल के कर्णाली अंचल का डोल्पा जिला का एक गांव विकास समिति है। यह जगह मै १८२ घर है। .

नई!!: नेपाल और धो · और देखें »

धोत्लेखानी

धोत्लेखानी नेपाल के कोशी अंचल का भोजपुर जिला का एक गांव विकास समिति है। यह जगह मै ४५२ घर है। .

नई!!: नेपाल और धोत्लेखानी · और देखें »

धोदासाइं

धोदासाइं नेपाल के सेती अंचल का अछाम जिला का एक गांव विकास समिति है। यह जगह मै ७८५ घर है। .

नई!!: नेपाल और धोदासाइं · और देखें »

धोदेनी

धोदेनी नेपाल के गण्डकी अंचल का लमजुङ जिला का एक गांव विकास समिति है। यह जगह मै ५४८ घर है। .

नई!!: नेपाल और धोदेनी · और देखें »

धोधनपुर

धोधनपुर नेपाल के सगरमाथा अंचल का सप्तरी जिला का एक गांव विकास समिति है। यह जगह मै ९२३ घर है। .

नई!!: नेपाल और धोधनपुर · और देखें »

धोधना

धोधना नेपाल के सगरमाथा अंचल का सिराहा जिला का एक गांव विकास समिति है। यह जगह मै ८६६ घर है। .

नई!!: नेपाल और धोधना · और देखें »

धोधारी

धोधारी नेपाल के भेरी अंचल का बर्दिया जिला का एक गांव विकास समिति है। यह जगह मै १३८१ घर है। .

नई!!: नेपाल और धोधारी · और देखें »

धोबिघाट (उदयपुर कोत)

धोबिघाट (उदयपुर कोत) नेपाल के राप्ती अंचल के प्युठान जिला की एक गांव विकास समिति है। यहाँ ४९३ घर है। .

नई!!: नेपाल और धोबिघाट (उदयपुर कोत) · और देखें »

नन्दिता केसी

नन्दिता केसी (जन्म: १५ अक्टूबर १९८५ अर्घाखाँची नेपाल) नेपाली चलचित्र क्षेत्रको एक चर्चित अभिनेत्री हैं। .

नई!!: नेपाल और नन्दिता केसी · और देखें »

नम्रता श्रेष्ठ

नम्रता श्रेष्ठ नेपाली चर्चित अभिनेत्री हैं। .

नई!!: नेपाल और नम्रता श्रेष्ठ · और देखें »

नयाँबजार

नयाँबजार नेपालके मेची अंचलके इलाम जिलाकी एक गाँव विकास समिति है। .

नई!!: नेपाल और नयाँबजार · और देखें »

नरभूपाल शाह

नरभूपाल शाह (१६९७ - १७४३) नेपाल के गोरखा राज्य के राजा थे। नेपाल के प्रसिद्ध राजा पृथ्वीनारायण शाह उनके ही पुत्र थे। नर भूपाल शाह बीरभद्र शाह के पुत्र और पृथ्विपति शाह के पौत्र थे। श्रेणी:नेपाल के शासक.

नई!!: नेपाल और नरभूपाल शाह · और देखें »

नरंगा, बिहार

नरंगा भारत के बिहार राज्य के तिरहुत प्रमंडल के सीतामढ़ी जिले के परिहार प्रखंड का एक गाँव है। .

नई!!: नेपाल और नरंगा, बिहार · और देखें »

नरकटियागंज रेलवे स्टेशन

नरकटियागंज जंक्शन (स्टेशन कोड: Nke) भारतीय रेल के पूर्वी केन्द्रीय रेलवे के समस्तीपुर डिविजन में स्थित एक स्टेश्न है। यह नरकटियागंज कस्बे में है जो बिहार के पश्चिमी चम्पारण जिला में नेपाल की सीमा के पास है। .

नई!!: नेपाल और नरकटियागंज रेलवे स्टेशन · और देखें »

नर्मदेश्वर

नर्मदेश्वर नेपाल के पूर्वांचल विकास क्षेत्र के सगरमाथा अंचल, ओखलढुंगा जिला में स्थित गाँव विकास समिति है। .

नई!!: नेपाल और नर्मदेश्वर · और देखें »

नरेन्द्र मोदी

नरेन्द्र दामोदरदास मोदी (નરેંદ્ર દામોદરદાસ મોદી Narendra Damodardas Modi; जन्म: 17 सितम्बर 1950) भारत के वर्तमान प्रधानमन्त्री हैं। भारत के राष्‍ट्रपति प्रणव मुखर्जी ने उन्हें 26 मई 2014 को भारत के प्रधानमन्त्री पद की शपथ दिलायी। वे स्वतन्त्र भारत के 15वें प्रधानमन्त्री हैं तथा इस पद पर आसीन होने वाले स्वतंत्र भारत में जन्मे प्रथम व्यक्ति हैं। वडनगर के एक गुजराती परिवार में पैदा हुए, मोदी ने अपने बचपन में चाय बेचने में अपने पिता की मदद की, और बाद में अपना खुद का स्टाल चलाया। आठ साल की उम्र में वे आरएसएस से  जुड़े, जिसके साथ एक लंबे समय तक सम्बंधित रहे । स्नातक होने के बाद उन्होंने अपने घर छोड़ दिया। मोदी ने दो साल तक भारत भर में यात्रा की, और कई धार्मिक केंद्रों का दौरा किया। गुजरात लौटने के बाद और 1969 या 1970 में अहमदाबाद चले गए। 1971 में वह आरएसएस के लिए पूर्णकालिक कार्यकर्ता बन गए। 1975  में देश भर में आपातकाल की स्थिति के दौरान उन्हें कुछ समय के लिए छिपना पड़ा। 1985 में वे बीजेपी से जुड़े और 2001 तक पार्टी पदानुक्रम के भीतर कई पदों पर कार्य किया, जहाँ से वे धीरे धीरे वे सचिव के पद पर पहुंचे।   गुजरात भूकंप २००१, (भुज में भूकंप) के बाद गुजरात के तत्कालीन मुख्यमंत्री केशुभाई पटेल के असफल स्वास्थ्य और ख़राब सार्वजनिक छवि के कारण नरेंद्र मोदी को 2001 में गुजरात के मुख्यमंत्री नियुक्त किया गया। मोदी जल्द ही विधायी विधानसभा के लिए चुने गए। 2002 के गुजरात दंगों में उनके प्रशासन को कठोर माना गया है, की आलोचना भी हुई।  हालांकि सुप्रीम कोर्ट द्वारा नियुक्त विशेष जांच दल (एसआईटी) को अभियोजन पक्ष की कार्यवाही शुरू करने के लिए कोई है। मुख्यमंत्री के तौर पर उनकी नीतियों को आर्थिक विकास को प्रोत्साहित करने के लिए । उनके नेतृत्व में भारत की प्रमुख विपक्षी पार्टी भारतीय जनता पार्टी ने 2014 का लोकसभा चुनाव लड़ा और 282 सीटें जीतकर अभूतपूर्व सफलता प्राप्त की। एक सांसद के रूप में उन्होंने उत्तर प्रदेश की सांस्कृतिक नगरी वाराणसी एवं अपने गृहराज्य गुजरात के वडोदरा संसदीय क्षेत्र से चुनाव लड़ा और दोनों जगह से जीत दर्ज़ की। इससे पूर्व वे गुजरात राज्य के 14वें मुख्यमन्त्री रहे। उन्हें उनके काम के कारण गुजरात की जनता ने लगातार 4 बार (2001 से 2014 तक) मुख्यमन्त्री चुना। गुजरात विश्वविद्यालय से राजनीति विज्ञान में स्नातकोत्तर डिग्री प्राप्त नरेन्द्र मोदी विकास पुरुष के नाम से जाने जाते हैं और वर्तमान समय में देश के सबसे लोकप्रिय नेताओं में से हैं।। माइक्रो-ब्लॉगिंग साइट ट्विटर पर भी वे सबसे ज्यादा फॉलोअर वाले भारतीय नेता हैं। उन्हें 'नमो' नाम से भी जाना जाता है। टाइम पत्रिका ने मोदी को पर्सन ऑफ़ द ईयर 2013 के 42 उम्मीदवारों की सूची में शामिल किया है। अटल बिहारी वाजपेयी की तरह नरेन्द्र मोदी एक राजनेता और कवि हैं। वे गुजराती भाषा के अलावा हिन्दी में भी देशप्रेम से ओतप्रोत कविताएँ लिखते हैं। .

नई!!: नेपाल और नरेन्द्र मोदी · और देखें »

नरेन्द्र मोदी द्वारा किए गए अंतरराष्ट्रीय प्रधानमन्त्रीय यात्राओं की सूची

प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी मई २०१६ में तेहरान, ईरान में पधारते हुए। २०१४ के आम चुनाव के बाद नरेन्द्र मोदी भारत के प्रधान मंत्री बने। नरेन्द्र मोदी द्वारा की गयीं अन्तर्राष्ट्रीय प्रधानमन्त्रीय यात्राओं की सूची इस प्रकार है। .

नई!!: नेपाल और नरेन्द्र मोदी द्वारा किए गए अंतरराष्ट्रीय प्रधानमन्त्रीय यात्राओं की सूची · और देखें »

नरेन्द्र मोदी सरकार की विदेश नीति

नरेन्द्र मोदी सरकार की विदेश नीति को मोदी सिद्धान्त भी कहते हैं। २६ मई, २०१४ को सत्ता में आने के तुरन्त बाद से ही मोदी सरकार ने अन्य देशों के साथ सम्बन्धों को नया आयाम देने की दिशा में कार्य करना आरम्भ कर दिया। श्रीमती सुषमा स्वराज भारत की विदेश मंत्री हैं। दक्षिण एशिया के अपने पड़ोसियों से सम्बन्ध सुधारना मोदी की विदेश नीति के केन्द्र में है। इसके लिए उन्होने १०० दिन के अन्दर ही भूटान, नेपाल, जापान की यात्रा की। इसके बाद अमेरिका, म्यांमार, आस्ट्रेलिया और फिजी की यात्रा की। श्रीमती सुषमा स्वराज ने भी बांग्लादेश, भूटान, नेपाल, म्यांमार, सिंगापुर, वियतनाम, बहरीन, अफगानिस्तान, तजाकिस्तान, यूएसए, यूके, मॉरीसस, मालदीव, यूएईदक्षिण कोरिया, चीन, ओमान, और श्रीलंका की यात्रा की है। ९वें पूर्वी एशिया शिखर सम्मेलन में विश्व नेताओं के साथ मोदी .

नई!!: नेपाल और नरेन्द्र मोदी सरकार की विदेश नीति · और देखें »

नरेश बुढाऐर

नरेश बुढाऐर नेपाली राष्ट्रीय क्रिकेट टीमसे खेलने खिलाड़ी हैं। .

नई!!: नेपाल और नरेश बुढाऐर · और देखें »

नाडा

नाडा नेपाल के सेती अंचल के अछाम जिला के एक गाँव है। .

नई!!: नेपाल और नाडा · और देखें »

नानपारा

नानपारा बहराइच जिला की एक तहसील है। नानपारा से नेपाल की सीमा मात्र २० किलोमीटर दूर स्थित है। .

नई!!: नेपाल और नानपारा · और देखें »

नाम्चे

नाम्चे नेपाल के पूर्वांचल विकास क्षेत्र के सगरमाथा अंचल, सोलुखुम्बु जिला में स्थित गाँव विकास समिति है। .

नई!!: नेपाल और नाम्चे · और देखें »

नाम्सालिङ

नाम्सालिङ नेपालके मेची अंचलके इलाम जिलाकी एक गाँव विकास समिति है। .

नई!!: नेपाल और नाम्सालिङ · और देखें »

नामेटार

नामेटार नेपालके पुर्वांचल विकास क्षेत्रके सगरमाथा अंचलके उदयपुर जिलाकी एक गाँव विकास समिति है। .

नई!!: नेपाल और नामेटार · और देखें »

नायरनमतलेस

नेपाल देशके पश्चिमांचल विकास क्षेत्र के लुम्बिनी अंचल में अवस्थित पाल्पा जिल्ला का यें जगा एक अत्याधिक उर्वर एवं घना वस्ती सें भरा हुआ सुन्दर गाँव हैं। नेपाल में इसे गाँउ विकास समिति और गाविस के रूपमें जानाजाता हैं। .

नई!!: नेपाल और नायरनमतलेस · और देखें »

नारायण नगरपालिका

नारायण नगरपालिका नेपाल के पश्चिमी जिला दैलेख जिले का एक नगर पालिका है। यह नगर पालिका भेरी अंचल में अवस्थित है। दैलेख जिलेका मुख्यालय नारायण गा.वि.स. को वि॰सं॰ 2053 में इस क्षेत्र के आस पास के गा.वि.स. त्रिभुवन, बसन्तमाला, सरस्वती और विलासुर को जोडकर स्थापना किया गया था। .

नई!!: नेपाल और नारायण नगरपालिका · और देखें »

नारायण गोपाल

नारायण गोपाल एक नेपाली गायक और संगीतकार थे। उनका पुरा नाम नारायण गोपाल गुरूवाचार्य था। अधिकांश रूप से वह आधुनिक और देशभक्ती के गीत गाते तथा उनही गीतों को संगीत देते थे। वह नेपाल के एक प्रसिद्ध गायक थे। उन्होंने संगीत का अध्ययन भारत के बडौदा शहर से किया था। उन्होंने नेपाली भाषा की प्रसिद्ध फ़िल्म स्वर्ग कि रानी,यो सम्झिने मन छ,म त लालिगुराँस भएछु सहित कई प्रसिद्ध फ़िल्मों के एक लिए अपने स्वर दिए थे। .

नई!!: नेपाल और नारायण गोपाल · और देखें »

नारायणी अंचल

मध्य दक्षीण नेपाल में पडनेवाला नारायणी अन्चल में पाँच जीले, चितवन, मकवानपुर, बारा, पर्सा, व रोतहट पडते हैं, यह अन्चल के दो जिले चितवन व मकवानपुर अधिकांस हिस्सा चितवन उपत्यका व पाहाडी क्षेत्रमे है लेकिन बाकी के तिन जिले बारा पर्सा व रोतहट बाहारी तराइमे पडते हैं। मुख्य स्थान १ भरतपुर, नेपाल २, वीरगंज ३,हेटौडा ४, रत्ननगर ५, कलैया ६, गौर ७, चन्द्रनिगाहपुर ८, पथलैया ९, मुग्लीगं १०, निजगढ ११, भिमफेदी १२, चिसापानी गढी १३, मकवानपुरगढी १४, उपरदांगगढी १५, सोमेस्वरगढी १६, दामन १७, टिस्टुङ १८, पालुङ १९, कुलेखानी २०, चितवन राष्ट्रीय निकुन्ज २१, देवघाट धाम श्रेणी:नेपाल के पूर्व शासन प्रणाली श्रेणी:मध्यमांचल विकास क्षेत्र.

नई!!: नेपाल और नारायणी अंचल · और देखें »

नालाकंकर हिमाल

नालाकंकर हिमाल (Nalakankar Himal) हिमालय की एक छोटी उपश्रेणी है जो दक्षिणी तिब्बत और पश्चिमोत्तरी नेपाल में मानसरोवर झील से दक्षिण में स्थित है। इसकी दक्षिणी सीमा हुमला करनाली नदी है, जो करनाली नदी की एक उपनदी है और नालाकंकर हिमाल को दक्षिण में गुरंस हिमाल और दक्षिणपूर्व में कुमाऊँ क्षेत्र से अलग करती है। नालाकंकर हिमाल का सर्वोच्च शिखर 7,694 मीटर (25,243 फ़ुट) ऊँचा गुरला मन्धाता है। .

नई!!: नेपाल और नालाकंकर हिमाल · और देखें »

नाजिर हुसेन

नाजिर हुसेन एक नेपाली अभिनेता हैं। उन्होंने अपना अभिनय कैरियर मन्दला थिएटर से शुरू किया हैं। .

नई!!: नेपाल और नाजिर हुसेन · और देखें »

नागबेली

नागबेली नागबेली नेपाल, सिक्किम आदि हिमालयीय क्षेत्रों में पाई जाने वाली वनस्पति है। इस आकर्षक वनस्पति का विवाह तथा अन्य अवसरों पर सजावटी कार्यों में प्रयोग किया जाता है। वनस्पति जगत के लाइकोपोडियासी (Lycopodiaceae) परिवार अन्तर्गत का यह वनस्पति का वैज्ञानिक नाम लाइकोपोडियम क्लावाटम (Lycopodium clavatum Linn) है। नागबेली के पौधे पहाड़ी इलाकों में समुद्री सतह से १,८०० मी.से ३,६०० मी.

नई!!: नेपाल और नागबेली · और देखें »

नांगपा ला

नांगपा ला हिमालय का एक दर्रा है जो सदियों से तिब्बत और नेपाल के बीच व्यापारिक केन्द्र की तरह रहा है। यह माउंट एवरेस्ट से तीस किलोमीटर पश्चिम में अवस्थित है। सन् २००६ में ७५ तिब्बती लोगों का एक जत्था जब भाग कर नेपाल आ रहा था तो चीनी चो ओयु पोस्ट से उनपर गोलियाँ चलाई गई जिसमें एक १७ वर्षीया बौद्ध भिक्खणी की मौत हो गई। आरंभ में चीनी अधिकारियों ने इस मामले को दबाने का प्रयत्न किया। लेकिन इसी घटना को एक यूरोपियन फोटोग्राफर ने फिल्माया और बाद में प्रकाशित कर दिया। फोटोग्राफर हिमालय में चढ़ाई कर रहा था। The Guardian 30 Oct.

नई!!: नेपाल और नांगपा ला · और देखें »

नाइ नभन्नु ल

कोई विवरण नहीं।

नई!!: नेपाल और नाइ नभन्नु ल · और देखें »

निचलौल

निचलौल, उत्तर प्रदेश के महराजगंज जिले का एक कस्बा, नगर पंचायत तथा थाना है। यह महाराजगंज से २५ किमी एवं गोरखपुर से ८० कि॰मी॰ की दूरी पर स्थित है। नेपाल की सीमा यहाँ से 13 कि.मी.

नई!!: नेपाल और निचलौल · और देखें »

निबुवाखर्क

निबुवाखर्क नेपाल के पश्चिमांचल विकास क्षेत्र के गण्डकी अंचल के स्यांजा जिला में स्थित एक अत्याधिक उर्वर एवं घना बस्ती वाली ग्राम समिति है। .

नई!!: नेपाल और निबुवाखर्क · और देखें »

निर्मला जोशी

निर्मला जोशी _ कवियत्रि निर्मला जोशी जन्म: पर्वतीय नगरी - अल्मोड़ा (उ प़्रं) के पंत परिवार में। निवास: भोपाल, म.प्र.

नई!!: नेपाल और निर्मला जोशी · और देखें »

निशा अधिकारी

निशा अधिकारी (जन्म: ४ अक्टूबर सन् १९८६) एक नेपाली अभिनेत्री, सुंदरी, मॉडल, वीजे और आरजे है। वह सन् २०१० में रिलीज़ अपनी पहली फिल्म 'फर्स्ट लव' (प्रथम प्रेम) में की गयी भूमिका के लिये प्रसिद्ध हैं। इसके अलावा वे संगीत वीडियो के लिये भी प्रसिद्ध हैं। .

नई!!: नेपाल और निशा अधिकारी · और देखें »

निश्चल बस्नेत

निश्चल बस्नेत नेपाली चलचित्र क्षेत्रका प्रसिद्ध निर्देशक निर्माता गायक अभिनेता हैं। .

नई!!: नेपाल और निश्चल बस्नेत · और देखें »

निखिल उप्रेती

निखिल उप्रेती (जन्म:दिनेश उप्रेती) नेपाली बहुप्रसिद्ध अभिनेता हें.व खास तौर पर एक्सन और स्टंट के लिए जाने जाते है.उनका जन्म नेपाल सर्लाही जिल्लेमें हुआ था। .

नई!!: नेपाल और निखिल उप्रेती · और देखें »

निगाली सागर

निगाली सागर नाम्क स्थान बस्ती ज़िले के उत्तर में नेपाल की तराई में है और रुम्मिनदेई से लगभग बीस किलोमीटर पश्चिमोत्तर की तरफ है। यह स्तंभ निगलीव गांव के पास निगाली-सागर नाम के एक विशाल सरोवर के पास खड़ा है। अशोक यहाँ भी पूजा के लिए आया था। गौतम बुद्ध के भी पहले के किसी कनकमुनि बुद्ध के शरीरावशेषों पर यहाँ एक स्तूप बनाया गया था।.

नई!!: नेपाल और निगाली सागर · और देखें »

नवलपरासी जिला

नेपाल के लुम्बिनी प्रान्त का जिला। श्रेणी:नेपाल के जिले.

नई!!: नेपाल और नवलपरासी जिला · और देखें »

नंद बहादुर पुन

नंद बहादुर पुन (नन्दबहादुर पुन;जन्म 23 अक्तूबर 1966), नेपाल के उपराष्ट्रपति हैं। इस पद पर इनका यह दूसरा कार्यकाल है। इससे पूर्व वे अक्टूबर, 2015 में नेपाल के उपराष्ट्रपति बने थे। उन्होंने नेपाल में पीपुल्स लिबरेशन आर्मी के मुख्य कमांडर के रूप में सेवा की है। वे नेपाल के कम्युनिस्ट पार्टी (माओवादी केंद्र) के केंद्रीय समिति के सदस्य भी रह चुके हैं। .

नई!!: नेपाल और नंद बहादुर पुन · और देखें »

नंदेगडा

नंदेगडा नेपाल के सेती अंचल के अछाम जिला के एक गाँव है। .

नई!!: नेपाल और नंदेगडा · और देखें »

नंगपाइ गोसुम

नंगपाइ गोसुम (Nangpai Gosum) हिमालय के महालंगूर हिमाल खण्ड में नेपाल व तिब्बत की सीमा पर स्थित एक पर्वत है। यह विश्व का 77वाँ सर्वोच्च पर्वत है। .

नई!!: नेपाल और नंगपाइ गोसुम · और देखें »

नुवाकोट जिला

नुवाकोट जिला नेपाल का बागमती अंचल का एक जिला है। श्रेणी:नेपाल के जिले.

नई!!: नेपाल और नुवाकोट जिला · और देखें »

नुवाकोट, अर्घाखाँची

नुवाकोट, अर्घाखाँची नेपालके लुम्बिनी अंचलके अर्घाखाँची जिलाकी एक गाँव विकास समिति है। .

नई!!: नेपाल और नुवाकोट, अर्घाखाँची · और देखें »

नौटंकी

'सुल्ताना डाकू' नामक मशहूर नौटंकी के एक प्रदर्शन में देवेन्द्र शर्मा और पलक जोशी एक और नौटंकी का नज़ारा नौटंकी (Nautanki) उत्तर भारत, पाकिस्तान और नेपाल के एक लोक नृत्य और नाटक शैली का नाम है। यह भारतीय उपमहाद्वीप में प्राचीनकाल से चली आ रही स्वांग परम्परा की वंशज है और इसका नाम मुल्तान (पाकिस्तानी पंजाब) की एक ऐतिहासिक 'नौटंकी' नामक राजकुमारी पर आधारित एक 'शहज़ादी नौटंकी' नाम के प्रसिद्ध नृत्य-नाटक पर पड़ा।, Don Rubin, Taylor & Francis, 2001, ISBN 978-0-415-26087-9,...

नई!!: नेपाल और नौटंकी · और देखें »

नैन सिंह रावत

नैन सिंह रावत नैन सिंह रावत (1830-1895) १९वीं शताब्दी के उन पण्डितों में से थे जिन्होने अंग्रेजों के लिये हिमालय के क्षेत्रों की खोजबीन की। नैन सिंह कुमाऊँ घाटी के रहने वाले थे। उन्होने नेपाल से होते हुए तिब्बत तक के व्यापारिक मार्ग का मानचित्रण किया। उन्होने ही सबसे पहले ल्हासा की स्थिति तथा ऊँचाई ज्ञात की और तिब्बत से बहने वाली मुख्य नदी त्सांगपो (Tsangpo) के बहुत बड़े भाग का मानचित्रण भी किया। .

नई!!: नेपाल और नैन सिंह रावत · और देखें »

नेचाबतासे

नेचाबतासे नेपाल के पूर्वांचल विकास क्षेत्र के सगरमाथा अंचल, सोलुखुम्बु जिला में स्थित गाँव विकास समिति है। .

नई!!: नेपाल और नेचाबतासे · और देखें »

नेचाबेतघारी

नेचाबेतघारी नेपाल के पूर्वांचल विकास क्षेत्र के सगरमाथा अंचल, सोलुखुम्बु जिला में स्थित गाँव विकास समिति है। .

नई!!: नेपाल और नेचाबेतघारी · और देखें »

नेपाल दर्शन

नेपाल- (आधिकारिक रूप में, संघीय लोकतान्त्रिक गणराज्य नेपाल भारतीय उपमहाद्वीप में स्थित एक दक्षिण एशियाई स्थलरुद्ध हिमालयी राष्ट्र है। नेपाल के उत्तर मे चीन का स्वायत्तशासी प्रदेश तिब्बत है और दक्षिण, पूर्व व पश्चिम में भारत अवस्थित है। नेपाल के ८१ प्रतिशत नागरिक हिन्दू धर्मावलम्बी हैं। नेपाल विश्व का प्रतिशत आधार पर सबसे बड़ा हिन्दू धर्मावलम्बी राष्ट्र है। नेपाल की राजभाषा नेपाली है। .

नई!!: नेपाल और नेपाल दर्शन · और देखें »

नेपाल प्रहरी

वि सं २०१२ में स्थापीत नेपाल प्रहरी नेपालका सिभिल प्रहरी फोर्स है इस में अभि ६० हजार से अधिक जनसक्ती है।, श्रेणी:नेपाली सेना.

नई!!: नेपाल और नेपाल प्रहरी · और देखें »

नेपाल प्रज्ञा प्रतिष्ठान

नेपाल प्रज्ञा प्रतिष्ठान (Nepal Academy) भाषा, साहित्य, संस्कृति तथा दर्शन के संरक्षण, सम्वर्द्धन और विकास हेतु नेपाल सरकार द्वारा स्थापित संस्था है। इसीलिए इसका पहला नाम नेपाल राजकीय प्रज्ञा प्रतिष्ठान (Royal Nepal Academy) था, जिसे कालांतर में परिवर्तित किया गया। संप्रति इस प्रतिष्ठान के कुलपति कवि बैरागी काँइला हैं तथा सदस्य सचिव सनत रेग्मी हैं। .

नई!!: नेपाल और नेपाल प्रज्ञा प्रतिष्ठान · और देखें »

नेपाल बिहार भुकम्प

नेपाल-बिहार भूकंप या 1934 बिहार-नेपाल भूकंप नेपाल और बिहार, भारत के इतिहास में सबसे खराब भूकंप में से एक था। यह 8.0 परिमाण के भूकंप ०२:१३ के आसपास १५ जनवरी को आया था। इस भुकमप के कारण बहुत तबाही मछ गयी थी। अंगूठाकार श्रेणी:नेपाल में भूकम्प श्रेणी:भारत में भूकम्प.

नई!!: नेपाल और नेपाल बिहार भुकम्प · और देखें »

नेपाल मानक समय

नेपाल मानक समय (NPT) नेपाल का समय मण्डल है। यह ग्रीनविच मानक समय से ५ घंटे ४५ मिनट आगे रहता है। काठमांडू यूटीसी से ५ घंटे ४१ मिनट आगे है। नेपाल मानक समय इसका ही औसत है। यानी जब ग्रीनविच इंगलैंड में रात के 12 बज रहे होते हैं तो नेपाल में सुबह के 5:45 बज रहे होते हैं। विश्व में दो ही समय मंडल यू टी सी से ४५ मिनट आगे हैं। पहला पूरे नेपाल में और दूसरा कैथम द्वीप पर। कैथम द्वीप का मानक समय भी यूटीसी से ४५ मिनट आगे का रहता है। वहाँ का मानक समय यूटीसी +१२:४५ है। .

नई!!: नेपाल और नेपाल मानक समय · और देखें »

नेपाल मजदुर किसान पार्टी

नेपाल मजदुर किसान दल नेपाल का एक साम्यवादी राजनीतिक दल है। १९७६ में रोहित समूह, Proletarian Revolutionary Organisation, नेपाल तथा किसान समिति के विलय से इस दल की स्थापना हुई। इस दल का नेता नारायण मान बिजुक्छे ('कमरेड रोहित') है। इस दल का युवा संगठन Nepal Revolutionary Youth Union है। १९९९ के संसदीय चुनाव में इस दल को ४८६८५ मत (०.४१%, १ सीट) मिले। यह समूह का प्रभाव भक्तपुर जिला से बाहर बहुत कम है। .

नई!!: नेपाल और नेपाल मजदुर किसान पार्टी · और देखें »

नेपाल में एलजीबीटी अधिकार

नेपाल समलिंगी अधिकार और अन्य समान अधिकार (अंग्रेजी में: गे, बाइसेक्सुअल, ट्रांसजेंडर और इंटरसेक्स) (एलजीबीटीआई) अधिकार में न सिर्फ दक्षिण एशिया में अपितु पूरे विश्व में सबसे अधिक प्रगतिशील देशों में से एक है, जैसा कि देश ने अपने नए संविधान में समलिंगी अधिकार को मूल सिद्धांत के रूप में मान्यता दे दिया है। नेपाल का वर्तमान का एलजीबीटीआई कानून विश्व के कुछ सबसे अधिक खुला कानून (ओपेन लॉ) में से एक है और एलजीबीटीआई की पहचान पाये नेपाली लोगों के लिए यह एक अधिकार का गुच्छा है। नेपाल सरकार, जो २००७ में राजतंत्र को खत्म कर बनी थी ने कई अन्य नए कानून बनाये और साथ-साथ २००७ में समलैंगिक कानून को देश भर में कानूनन मान्य (लीगल) कर दिया। लैंगिक निर्धारण को स्पष्टता के साथ मान्य करते हुए नए कानून बनाये, जो पुराने संविधान में नहीं था। नया नेपाल का संविधान १६ सितम्बर २०१५ को संविधान सभा द्वारा अनुमोदित किया गया। इस संविधान में कई ऐसे प्रावधान सम्मिलित किये गए हैं जो एलजीबीटीआई लोगों से संबंध रखते हैं, जिनमे से कुछ ये हैं.

नई!!: नेपाल और नेपाल में एलजीबीटी अधिकार · और देखें »

नेपाल में पर्यटन

नेपाल में सबसे बड़ा उद्योग पर्यटन है, जो उसकी विदेशी मुद्रा एवं आय का भी सबसे बड़ा स्रोत है। विश्व की 10 सबसे ऊंचे पर्वतों में से 8 नेपाल में होने के कारण यह पर्वतारोहियों, रॉक पर्वतारोहियों तथा रोमांच की तलाश करने वाले लोगों के लिए नेपाल एक जीवंत गंतव्य है। नेपाल की हिंदू और बौद्ध विरासत तथा वहां का ठंडा मौसम भी उसका सशक्त अकर्षण हैं। पर्यटन, मनोरंजन, अवकाश या व्यापार के प्रयोजनों के लिए की जाने वाली यात्रा है। प्रमुख पर्यटन गतिविधियां एक सिंहावलोकन नेपाल, विश्व की सबसे ऊंची चोटी एवरेस्ट शिखर के लिए सुप्रसिद्ध है तथा साहसिक पर्यटन के लिए एक प्रसिद्ध गंतव्य है। विश्व विरासत लुम्बिनी (गौतम बुद्ध का जन्म स्थान) भी नेपाल में स्थित है। प्राकृतिक सुरम्य परिदृश्य और जैव विविधता, ऊंचे हिमालय पर्वत, अतुलनीय सांस्कृतिक विरासत और अन्य अनेक विशिष्टताओं ने नेपाल को एक सुनिश्चित छवि के साथ, दुनिया के पर्यटन मानचित्र पर एक सुविख्यात गंतव्य बना दिया है (एनटीबी).

नई!!: नेपाल और नेपाल में पर्यटन · और देखें »

नेपाल में मानव अधिकार

नेपाली सेना बल और नेपाली कम्युनिस्ट पार्टी (नेकपा- माओवादी) के बीच १९९६ से २००६ के बीच हुए संघर्ष में, परिणाम सामने आया कि इस बीच देश भर में मानवाधिकार का उलंघन काफी अधिक बढ़ गया था। दोनो तरफ से यातना, गैर कानूनी हत्या, मनमाने ढंग से गिरफ्तारी और अपहरण के दोषी पाए गए हैं। संघर्ष के दौरान नेपाल विश्व में ओझल बना रहा। संघर्ष के बाद परिणाम ये भी सामने आया कि मानवाधिकार के उलंघन से लोगों में गरीबी बढ़ी है, स्वास्थ्य में गिरावट दर्ज की गई, शिक्षा में गिरावट आई, लिंग-भेद बढ़ा है। इन क्षेत्रों में आई गिरावट का मुद्दा अब तक बना हुआ है। नेपाली लोगों को मूल, जाती, लिंग आदि के आधार पर भेद-भाव का सामना करना पड़ता है, और जो लोग ग्रामीण क्षेत्रों में रहते हैं उनमें पर्याप्त स्वास्थ्य सेवा की पहुंच में कमी, शिक्षा की पहुंच में कमी और अन्य स्रोतों की पहुंच में कमी देखी गई है। हिंसा देश के लिए आफत बना हुआ है, विशेष रूप से स्त्रियों के प्रति। आर्थिक असमानता व्याप्त है, और स्वास्थ्य समस्या बना हुआ है—कुछ क्षेत्रों में उच्च शिशु मृत्यु दर, दिमागी बीमारी, और अपर्याप्त स्वास्थ्य सेवा सहित। श्रेणी:नेपाल की राजनीति.

नई!!: नेपाल और नेपाल में मानव अधिकार · और देखें »

नेपाल में संस्कृत

नेपाल राष्ट्र में मुख्यतया नेपाली, मैथिली तथा हिन्दी भाषा बोली जाती है। लेकिन नेपाल में संस्कृत भाषा भी बोली जाती है इस कारण नेपाल में काफी शैक्षणिक विद्यालय तथा संस्थाए भी है। । नेपाल में नेपाल संस्कृत विश्वविद्यालय भी है इस कारण यहां पर संस्कृत भाषा की विद्या दी जाती है। .

नई!!: नेपाल और नेपाल में संस्कृत · और देखें »

नेपाल में हिन्दी

नेपाल में हिन्दी देश के अधिकांश क्षेत्र में स्थानीय नेपाली भाषा की तरह बोली जाती है और बहुसंख्य लोग हिन्दी बोल या समझ सकते है। यही कारण है कि भारत से नेपाल जा रहे लोगों को बोल-चाल में अधिक समस्या नहीं होती है। .

नई!!: नेपाल और नेपाल में हिन्दी · और देखें »

नेपाल में होली

नेपाल में होली का स्तंभनेपाल में होली को फाल्गुन पूर्णिमा (नेपालभाषा में फागु पुन्हि) भी कहते है। नेपाल के अलग अलग स्थानों पर होली के रीति रिवाज़ों में थोड़ी बहुत विभिन्नता है। काठमांडू में इस अवसर पर एक सप्ताह के लिए प्राचीन दरबार और नारायणहिटी दरबार मैं चीर (बाँस का स्तम्भ) गाड़ा जाता है। इस चीर मैं विभिन्न रंग के कपड़े लटकाए जाते हैं। यह बाँस का स्तंभ भगवान श्रीकृष्ण द्वारा तालाब में स्नान कर रही ग्वाल-बालाओं के कपडे वृक्ष पर लटका देनेवाली कथा की स्मृति में प्रतीक स्वरूप खड़ा किया जाता है। स्तंभ गाड़ने के बाद आधिकारिक रूप से होली का आरम्भ होता है। काठमांडू में होली मैं रंग के साथ साथ मैं पानी का भी बहुत प्रयोग होता है। नेपाल के हिमाल और पहाड़ी इलाके में मुख्य होली भारत से एक दिन पहले मनाई जाती है। परंतु तराई में होली भारत की होली के दिन ही मनाई जाती है। तराई की होली का रूप बिहार की फगुआ से मिलता जुलता है। होली एक हिन्दू त्यौहार है परन्तु नेपाल में हिन्दू और बौद्ध धर्मावलम्बी (प्रायः नेवार जाति) दोनों ही इस त्यौहार को हर्षोल्हास से मनाते है। .

नई!!: नेपाल और नेपाल में होली · और देखें »

नेपाल राष्ट्र बैंक

नेपाल राष्ट्र बैंक का भवन नेपाल राष्ट्र बैंक नेपाल का केन्द्रीय बैंक है। इसकी स्थापना 26 अप्रैल्, 1956 को हुई थी। यह नेपाल स्थित बैंकों एवं वित्तीय संस्थानों के कार्यकलाप पर निगरानी रखता है और मौद्रिक नीति का दिग्दर्शन करता है। यह बैंक नेपाल के विदेशी विनिमय दरों पर्र तथा विदेशी मुद्रा भण्डार पर भी नजर रखता है। यह विदेशी विनिमय का विनियमन करता है। यह बैंक नेपाल शेयर बाजार का प्रमुख मालिक भी है। .

नई!!: नेपाल और नेपाल राष्ट्र बैंक · और देखें »

नेपाल रेलवे

नेपाल में रेलवे की शुरुवात सन 1927 में रक्सौल (भारत) से अमलेखगंज (नेपाल में 46 किमी) के बीच एक 48 किमी लम्बी रेललाइन के साथ हुई थी। इस लाइन का आमान 2’6” (762 मिमी) रखा गया था। इस लाइन को 1965 में बंद कर दिया गया था। 2005 में इस लाइन के कुछ हिस्से को आमान परिवर्तन के बाद रक्सौल से सिर्सिया अन्तर्देशीय कंटेनर डिपो, बीरगंज के बीच एक 6 किमी दूरी की बड़ी लाइन (5’6”, 1675 मिमी) के रूप में शुरु किया और अब इसका प्रयोग विशेष रूप से भारतीय रेल द्वारा संचालित माल गाड़ियों द्वारा प्रयोग किया जाता है। 1937 में इस मूल लाइन के साथ एक 2’6” (762 मिमी) की अन्य लाइन को जोड़ा गया जिसकी लम्बाई, 53 किमी (नेपाल में 50 किमी) थी। यह लाइन बीज़लपुरा से जनकपुर होकर जयनगर (भारत) जाती थी जहां यह भारतीय रेल की मुख्य लाइन से जुड़ती थी। 2001 में बीज़लपुरा से जनकपुर के मध्य के खंड को रास्ते के एक पुल गिरने के कारण बंद कर दिया गया हालांकि जनकपुर से जयनगर के बीच की 29 किमी लम्बी लाइन 2014 तक रुक रुक कर चलती रही, जब इसे बड़ी लाइन में परिवर्तित करने के लिए बंद कर दिया गया। इस लाइन को भारतीय रेल की एक शाखा के रूप में 2017 में फिर से खोलने की योजना है। 2010 के आसपास, नेपाल में नई रेल परियोजनाओं से संबंधित कई प्रस्ताव चर्चा में आये। इन प्रस्तावों में सबसे प्रमुख 945 किमी दूरी की एक विद्युतीकृत लाइन है जो पूर्व में काँकरविट्टा से लेकर पश्चिम में भीम दत्ता से भारतीय सीमा पर स्थित गड्डाचौकी तक जायेगी। इस परियोजना के प्रथम चरण के अंतर्गत सिमारा के पास पहले 5 किमी खंड का निर्माण कार्य 2014 में शुरू हो चुका है। कुछ छोटी परियोजनायें जिनकी कुल लम्बाई 180 किमी है और यह मुख्यत: नेपाल को अनेक स्थानों पर भारत से जोड़ेंगी भी प्रस्तावित की गयी हैं। राजधानी काठमांडू में एक मेट्रो प्रणाली के लिए भी 2012 में एक व्यवहार्यता अध्ययन शुरू किया गया है। .

नई!!: नेपाल और नेपाल रेलवे · और देखें »

नेपाल शिवसेना

नेपाल शिवसेना की एक दीवार पेंटिंग, जिसमें लिखा गया है, "माओवाद मुर्दाबाद"। नेपाल शिवसेना (नेपाली: नेपाल शिवसेना) नेपाल का एक हिन्दूवादी राजनैतिक दल है। इस दल का गठन १९९९ में किया गया था। यह भारत के शिव सेना से जुड़ा हुआ है। किरण सिंह बुधाथोकि इसके वर्तमान अध्यक्ष हैं। जब इस्लामी आतंकवादी संगठन तालिबान ने अफ्गानिस्तान में भगवान बुद्ध की हज़ारों वर्ष पुरानी कलाकृतियों को ढहा दिया था, तब नेपाल शिवसेना और शिवसेना नेपाल ने इसकी कड़ी निंदा की। .

नई!!: नेपाल और नेपाल शिवसेना · और देखें »

नेपाल शेयर बाजार

नेपाल शेयर बाजार (नेपाली: नेपाली धितोपत्र बोर्ड, अंग्रेजी: Nepal Stock Exchange Limited (NEPSE) नेपाल का एकमात्र शेयर बाजार है। यह काठमाण्डू के सिंह दरबार प्लाजा में स्थित है। २३ मार्च २०१४ को इस पर सूचीकृत कम्पनियों का इक्विटी मार्केट कैपिटलाइजेशन लगभग 7896 मिलियन अमेरिकी डॉलर था। श्रेणी:नेपाल.

नई!!: नेपाल और नेपाल शेयर बाजार · और देखें »

नेपाल ससस्त्र प्रहरी बल

यह फोर्स नेपालका अर्ध सैनीक सुरक्षा दस्ता है, इसमे अभि ३० हजारके ऊपर जनसक्ती कार्यरत है। .

नई!!: नेपाल और नेपाल ससस्त्र प्रहरी बल · और देखें »

नेपाल संस्कृत विश्वविद्यालय

नेपाल संस्कृत विश्वविद्यालय (पहले, महेन्द्र संस्कृत विश्वविधालय) नेपाल का दूसरा सबसे पुराना विश्वविद्यालय। यह विश्वविद्यालय काठमाण्डू घाटी के बाहर स्थापित पहला विश्वविद्यालय भी है। दाङ जिला की त्रिभुवननगर नजदीक स्थापित यह विश्वविधालय 1986 में स्थापित हुआ था। संस्कृत शिक्षा की उच्च तह आयुर्वेद, तथा आधुनीक शिक्षामे भी पढाइ होनेवाला इस विश्वविधालय का काठमान्डौ कार्यालय बसन्तपुर में है। धनुषा के जनकपुर परिसर में मुस्लिम समुदाय के कुछ विद्यार्थी संस्कृत की पढाई शुरु करने का जानकारी महेन्द्र संस्कृत विश्वविद्यालय परीक्षा नियन्त्रण कार्यालय ने दिया है। इस विश्वविद्यालय के अर्न्तर्गत के १२ परिसरों मे संस्कृत तर्फ लगभग ३ हजार ५०० विद्यार्थी रहे है। उसमे दलित जनजाति करिब २० प्रतिशत है। अध्ययन करनेवालो मे छात्रा का प्रतिशत लगभग ४० है। सोलुखुम्बुमे संस्कृत पढनेवालो मे करिब २५ प्रतिशत दलित हैं। बिजौरी, त्रिभुवननगरदाङमे २० विद्यार्थी थारू तथा दलित है। केन्द्रीय विद्यापीठ बेलझुन्डी, त्रिभुवननगर मे मोहन थारू और एक कुमालले संस्कृत मे आचार्य कर रहे है। .

नई!!: नेपाल और नेपाल संस्कृत विश्वविद्यालय · और देखें »

नेपाल स्थित बैंकों की सूची

यहाँ नेपाल में कार्यरत बैंकों की सूची दी गयी है। .

नई!!: नेपाल और नेपाल स्थित बैंकों की सूची · और देखें »

नेपाल स्काउट

नेपाल स्काउट नेपाल का स्काउटिंग और गाइडिंग संस्था है। श्रेणी:स्काउट श्रेणी:नेपाल.

नई!!: नेपाल और नेपाल स्काउट · और देखें »

नेपाल हिन्दी साहित्य परिषद

नेपाल कें अधिकांश क्षेत्र मे हिन्दी स्थानीय भाषा की तरह बोली जाती है और बहुसंख्य लोग हिन्दी बोल या समझ सकते हैं। इसके बावजूद हिन्दी का विकास यहाँ मात्र एक बोलचाल की भाषा के रूप में ही हो रहा है। ज्ञान-विज्ञान, साहित्य, संस्कृति और कला की समृद्ध भाषा के रूप में जो सम्मान उसे मिलना चाहिए था वह नहीं मिल पाया है। इन परिस्थितियो को देखते हुए, हिन्दी, भोजपुरी तथा संस्कृत के मनीषी एवं लेखक पँ.

नई!!: नेपाल और नेपाल हिन्दी साहित्य परिषद · और देखें »

नेपाल हिमालय

नेपाल हिमालय, हिमालय पर्वत श्रंखला के चार क्षैतिज विभाजनों में से एक है। काली नदी से तीस्ता नदी के बीच फैली लगभग ८०० किलोमीटर लम्बी हिमालय श्रंखला को ही नेपाल हिमालय कहा जाता है। नेपाल, तिब्बत तथा सिक्किम में स्थित इस पर्वत श्रंखला के पूर्व में असम हिमालय तथा पश्चिम में कुमाऊँ हिमालय स्थित हैं। नेपाल हिमालय चारों विभाजनों में सबसे बड़ा है। माउंट एवरेस्ट, कंचनजंघा, ल्होत्से, मकालू, चोयु, मनास्लु, धौलागिरी और अन्नपूर्णा इत्यादि नेपाल हिमालय की प्रमुख पर्वत चोटियां हैं। मेची, कोशी, बागमती, गंडक तथा कर्णाली नदियों का उद्गम नेपाल हिमालय में ही होता है। काठमांडू घाटी यहाँ की एक प्रसिद्ध घाटी है। .

नई!!: नेपाल और नेपाल हिमालय · और देखें »

नेपाल वायुसेवा उड़ान १८३

नेपाल वायुसेवा उड़ान १८३ नेपाल वायुसेवा निगम का पोखरा हवाई-अड्डे से १६ फ़रवरी २०१४ को उड़ान भरने के बाद लापता हुआ एक वायुयान था। यह विमान उड़ान लापता होने के बाद दुर्घटनाग्रस्त हो गया। यह दुर्घटना १६ फ़रवरी २०१४ को नेपाल के पश्चिमी ज़िले अरगाकांची में हुआ। .

नई!!: नेपाल और नेपाल वायुसेवा उड़ान १८३ · और देखें »

नेपाल कम्युनिस्ट पार्टी (एमाले)

thumbनेपाल कम्युनिस्ट पार्टी (एमाले) (Communist Party of Nepal (Unified Marxist-Leninist)) नेपाल का एक राजनीतिक दल है। १९९० में नेपाल कम्युनिस्ट पार्टी (माले) तथा नेपाल कम्युनिस्ट पार्टी (मार्क्सवादी) के विलय से इस दल की स्थापना हुई। इस दल के अध्यक्ष के पी शर्मा ओलि है। यह दल Buddhabar का प्रकाशन करता है। इस दल का युवा संगठन Democratic National Youth Federation, Nepal है। १९९९ के संसदीय चुनाव में इस दल को २७३४५६८ मत (३१.६१%, ७१ सीटें) मिले। राष्ट्रपति बिद्या देवी भंडारी के स्वर्गीय पति कमरेड मदन भण्डारीने इस पार्टीको Unified Marxist Leninist बनाया। .

नई!!: नेपाल और नेपाल कम्युनिस्ट पार्टी (एमाले) · और देखें »

नेपाल कम्युनिस्ट पार्टी (संयुक्त मार्क्सवादी)

नेपाल कम्युनिस्ट पार्टी (संयुक्त मार्क्सवादी) नेपाल का एक साम्यवादी दल राजनीतिक दल है। २००५ में नेपाल कम्युनिस्ट पार्टी (संयुक्त) तथा नेपाल कम्युनिस्ट पार्टी (मार्क्सवादी) के विलय से इस दल की स्थापना हुई। इस दल का महासचिव Bishnu Bahadur Manandhar है। इस दल का अध्यक्ष Prabhu Narayan Chaudhari है। इस दल का युवा संगठन Nepal Progressive Student Federation है। श्रेणी:नेपाल के राजनीतिक दल.

नई!!: नेपाल और नेपाल कम्युनिस्ट पार्टी (संयुक्त मार्क्सवादी) · और देखें »

नेपाल का एकीकरण

शाह राजवंश के पहले नेपाल केवल काठमाण्डू उपत्यका तक ही सीमित था और अनेक छोटे-छोटे राज्यों में बंटा हुआ था। पृथ्वी नारायण शाह ने १८वीं शताब्दी के मध्य में घाटी के इन राज्यों को पहले आपस में मिलाया और उसके बाद अपने राज्य को गोरखा राज्य से नेपाल ले गये। तत्पश्चात नेपाल की ध्वजा के नीचे उन्होने पुनःएकीकरण का अभियान चलाया। उनकी विजयों के फलस्वरूप, नेपाल पुनः विस्तारित हो गया और आधुनिक नेपाल का स्वरूप बना। .

नई!!: नेपाल और नेपाल का एकीकरण · और देखें »

नेपाल का ध्वज

नेपाल का राष्ट्रीय ध्वज विश्व का एक मात्र ऐसा झन्डा है जो चौकोर या आयताकार नहीं है जो दो त्रिकोणिय आकार को ऊपर नीचे रख कर बनाया गया है। विश्व में एक और झंडा है जो चौकोर नही है वह है अमेरिका के ओहाइयो का। नेपाल के राष्ट्रिय झंडे के ऊपर वाले त्रिकोण में एक अर्ध चाँद और नीचे वाली त्रिकोण में एक सूर्य अंकित है जिसका मतलब बताया जाता है कि जब तक सूरज-चाँद रहेगा तब तक पृथ्वी पर नेपाल का अस्तित्व रहेगा। इस ध्वज के किनारे नीले रंग के किनारे लगे हैं जो शान्ति का प्रतिक है। ध्वज के बीच का भाग गहरे लाल रंग का है जो नेपाल का राष्ट्रीय रंग है। नेपाल का राष्ट्रीय पुष्प गुराँस भी इसी रंग का है। गहरा लाल विजय का भी प्रतिक है। 1962 तक नेपाल के झंडे पर चाँद और सूरज पर चेहरे बने होते थें। ध्वज का आधुनिकीकरण करने के लिए ध्वज के चंद्र और सूर्य पर से चेहरे को हटा दिया गया लेकिन फिर भी राजा अपने ध्वज पर चाँद और सूरज पर चेहरे का प्रयोग राजतंत्र खत्म होने (2008) तक करता रहा। इस ध्वज को 16 दिसम्बर 1962 को अपनाया गया जब देश का नया संविधान लिखा गया। यह अनोखा त्रिकोणिय ध्वज शताब्दियों से नेपाल में प्रयोग में चलता रहा लेकिन द्वि त्रिकोणिय ध्वज का इस्तेमाल 19 वीं शताब्दि से चलन में आया। ध्वज के आज का स्वरुप इसके प्राथमिक स्वरुप से लिया गया है जिसका प्रयोग 2000 साल पहले से हो रहा है। .

नई!!: नेपाल और नेपाल का ध्वज · और देखें »

नेपाल का प्रशासनिक विभाजन

संघीय लोकतान्त्रिक गणतन्त्र नेपाल एक छोटा देश है जो दक्षिण एशिया में भारत और चीन के बीच में स्थित है। यह देश पूरी तरह से स्थलरुद्ध है। .

नई!!: नेपाल और नेपाल का प्रशासनिक विभाजन · और देखें »

नेपाल का भूगोल

नेपाल के दो प्राकृतिक क्षेत्र हैं.

नई!!: नेपाल और नेपाल का भूगोल · और देखें »

नेपाल का संविधान

नेपाल में 'नेपाल का संविधान-2015' लागू है। नेपाल में बरसों के राजनैतिक उथल-पुथल और हिंसक संघर्षो के बाद २० सितंबर २०१५ को नया संविधान लागू हो गया। इसने नेपाल का अंतरिम संविधान-2007 की जगह ली है। अनिवार्य अवधि में एक संविधान का निर्माण करने में पहली संविधान सभा की विफलता के बाद दूसरी संविधान सभा के द्वारा यह संविधान तैयार किया गया था।Time Magazine नेपाल के नए संविधान के अनुसार,.

नई!!: नेपाल और नेपाल का संविधान · और देखें »

नेपाल क्रिकेट टीम

नेपाल क्रिकेट टीम (Nepal national cricket team) अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में नेपाल का प्रतिनिधित्व करता है। 1988 से नेपाल अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद के एफिलिएट सदस्य के रूपमें था जो 1996 के बाद एसोसिएट सदस्य बन चुका है। 2014 जून में नेपालको आईसीसी ने ट्वेंटी20 अंतरराष्ट्रीयका सदस्यतासे सम्मानित किया 15 मर्च 2018 को एक दिवसीय मान्यता प्रप्त किया1 .

नई!!: नेपाल और नेपाल क्रिकेट टीम · और देखें »

नेपाल क्रिकेट संघ

नेपाल क्रिकेट संघ नेपालमें क्रिकेट खेल के आधिकारिक परिचालक निकाय हैं। इसके वर्तमान मुख्यालय काठमांडू, नेपाल में रहा हैं। सन् १९८८ से नेपाल क्रिकेट संघ अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषदमें नेपाल के प्रतिनिधि होने के साथ ही एसोसिएट सदस्य भी हैं। यह एशियाई क्रिकेट परिषद के भी सदस्य रहा हैं। सन् २०१२ में संघ ने अपना ब्रांड एम्बेसडर महेन्द्र सिंह धोनी को चयन किया हैं। .

नई!!: नेपाल और नेपाल क्रिकेट संघ · और देखें »

नेपाल कृषी तथा वन विश्वविधालय

कृषीप्रधान नेपालमे कृषी तथा बातावरण बचाने वनकी और महत्व दर्साने त्रिभुवन विश्वविधालय अन्तर्गतकी कृषी तथा पसुविज्ञान अध्यान संस्थान के भरतपुरका रामपुर स्थीत केन्द्रीय क्याम्पस लम्जुडका सुन्दर बजार कृषी क्याम्पस, पक्लीहवा भैरहवाका पक्लीहवा कृषी क्याम्पस के साथ, साथ हेटौडामे रहाहुवा त्रिभुवन विश्वविधालय की वन बिज्ञान अध्यान संस्थानका केन्द्रीय क्याम्पस तथा पोखरा अवस्थीत वन बिज्ञान क्याम्पस को मिलाकर कृषी तथा वन विश्वविधालय भरतपुर में निकट भविश्यमे स्थापीत होगा। यह विश्वविधालय स्थापनार्थ अध्यानके लिए एक समिती भी सरकारने गठन किया। श्रेणी:नेपाल श्रेणी:नेपाल के विश्वविद्यालय श्रेणी:नेपालका प्रमुख क्याम्पस.

नई!!: नेपाल और नेपाल कृषी तथा वन विश्वविधालय · और देखें »

नेपाल के नगरपालिकायें

नेपाल में जिले नगरपालिकाओं और ग्रामपालिकाओं में बंटे हुए हैं। शहर या नगर ही नेपाल में नगरपालिका होते हैं, जो सरकार द्वारा निर्धारित न्यूनतम मानदंड प्राप्त कर चुके होते हैं। इन मानदंडों में एक निश्चित जनसंख्या, आधारिक संरचना और राजस्व शामिल होते हैं। वर्तमान में नेपाल में २६३ नगरपालिकायें हैं, जिनमें से २०१४ तक सिर्फ ५८ नगरपालिकायें थीं। मई २०१४ में ७२ नए नगरपालिकायें स्थापित किये गयें। दिसम्बर २०१४ में ६१ नए नगरपालिकायें स्थापित किये गयें। सितंबर २०१५ में २६ और नए नगरपालिकायें स्थापित हुईं और ४६ और नए नगरपालिकायें मार्च २०१७ में स्थापित किये गए। नेपाल में ३ प्रकार की नगरपालिकायें हैं; महानगरपालिकायें, उपमहानगरपालिकायें और नगरपालिकायें। मार्च २०१७ में, स्थानीय स्तर पुनर्रचना आयोग के रिपोर्ट के बाद देश को ४ महानगरपालिकाओं, १३ उपमहानगरपालिकाओं, २४६ नगरपालिकाओं और ४८१ ग्रामपालिकाओं में बांटा गया। १ जून २०१७ को २ उपमहानगरपालिका बिराटनगर और बीरगंज को महानगर में स्थान्तरित किया गया, इस तरह ६ महानगरपालिका और ११ उपमहानगरपालिका हो गए। क्षेत्रफल की दृष्टि से पोखरा लेखनाथ सब से बड़ा महानगरपालिका है, जिसका क्षेत्रफल ४६४.२८ किमी² और ललितपुर सब से छोटा महानगरपालिका है जिसका क्षेत्रफल ३६.१२ किमी² है। घोराही सब से बड़ा उप-महानगरपालिका है, जिसका क्षेत्रफल ५२२.२१ किमी² है, जिसकी जनसंख्या १५६,१५४ है। यह नेपाल के नगरों की सूची है। जो नाम यहाँ लिखे गये हैं वे आधिकारिक (ऑफिशियल) नाम हैं; किन्तु कुछ शहरों के पूर्व नाम अब भी बहुत लोकप्रिय हैं। .

नई!!: नेपाल और नेपाल के नगरपालिकायें · और देखें »

नेपाल के प्रदेश

20 सितंबर 2015 के अनुसार नेपाल को भारतीय राज्य प्रणाली की तरह ही सात राज्यों (प्रदेशों) में विभाजित किया गया है। संविधान की धारा 295 (ख) के अनुसार प्रदेशों का नामाकरण सम्वन्धित प्रदेश के संसद (विधान सभा) में दो तिहाई बहुमत से होने का प्रावधान है। .

नई!!: नेपाल और नेपाल के प्रदेश · और देखें »

नेपाल के प्रधानमन्त्री

सबसे पहले नेपाल में प्रधानमन्त्री का पद सन् १७९९ में शुरु किया गया था। नेपाल के प्रधानमन्त्रियों की नामावली (प्रधानमन्त्री व मन्त्रीपरिषद के अध्यक्ष) .

नई!!: नेपाल और नेपाल के प्रधानमन्त्री · और देखें »

नेपाल के प्रमुखों कि सूची

नीचे दिया गया सूची नेपाल के प्रमुखों का है जो नेपाल एकीकरण और 1768 में नेपाल अधिराज्य के स्थापना काल से आज तक कि है। .

नई!!: नेपाल और नेपाल के प्रमुखों कि सूची · और देखें »

नेपाल के मल्ल राजाओं की सूची

मल्ल वंश ने १२वीं से १८वीं शताब्दी तक नेपाल की नेपालमण्डल पर शासन किया। उस समय केवल इसी क्षेत्र को 'नेपाल मण्डल' कहते थे और इसके निवासियों को 'नेपामि' (नेपाल वा नेवार) कहते थे। १५वीं शताब्दी के अन्तिम समय में काठमाण्डू उपत्यका को तीन भागों में विभक्त कर दिया गया: भक्तपुर (भादगाँव वा ख्वप), काठमाण्डू (कान्तिपुर वा येँदेस) तथा पाटन (ललितपुर वा यल देस)। १७६९ ई में गोरखा शासक पृथ्वी नारायण शाह के आक्रमण के फलस्वरूप मल्ल वंश का अन्त हो गया। .

नई!!: नेपाल और नेपाल के मल्ल राजाओं की सूची · और देखें »

नेपाल के शासक

नेपाल के राजा को परंपरागत रूप से श्री 5 महाराजाधिराज और उसकी रानी को श्री 5 बडामहारानी के नाम से जाना जाता था। संविधान सभा ने 28 मई 08 को राजशाही को समाप्त कर दिया। .

नई!!: नेपाल और नेपाल के शासक · और देखें »

नेपाल के हस्पताल

नेपालमे हाल बहुत से प्राइभेट, सामुदायीक तथा सरकारी हस्पताल (नेपाली में अस्पताल काहाजाता है) हे लेकिन इस पृष्ठपर सरकारी, सामुदायीक तथा मिसन हस्पतालोकी नामावली संकलन किया गया है। .

नई!!: नेपाल और नेपाल के हस्पताल · और देखें »

नेपाल के जिले

२० सितम्बर २०१५ को जारी हुए नए संविधान के अनुसार नेपाल को ७ प्रदेशों (प्रान्तों) में बांटा गया है। सभी प्रदेशों के जिलों को मिलाकर फिलहाल ७५ जिले हैं। ३ नए जिले बनाये जा सकते हैं। नेपाल में जिले (नेपाली:जिल्ला) द्वितीय स्तर के प्रशासनिक विभाग हैं, जो प्रदेशों में विभाजित हैं। नेपाल में अब ७८ जिले हैं जो ७ प्रदेशों में व्यवस्थित हैं। प्रत्येक जिला जिला समन्वय समिति के अधीन प्रशासित हैं। स्थानीय तह निर्वाचन ऐन ०७३ के अनुसार अब गाउँपालिका (ग्रामपालिका) और नगरपालिका में निर्वाचित प्रमुख, उपप्रमुख, वार्ड अध्यक्ष और सदस्य सभी जिल्ला समन्वय समिति के प्रमुख के उम्मीदवार के रूप में खड़ा हो सकते हैं। जिल्ला समन्वय समिति के प्रमुख और उपप्रमुख चुने जाने के लिए मतदान करने का अधिकार सिर्फ ग्रामपालिका और नगरपालिका के प्रमुख और उपप्रमुख को होगा नियम में ऐसी व्यवस्था रखी गई है। जिले नगरपालिका और ग्रामपालिका (गाउँपालिका) में विभाजित हैं। पूरे नेपाल में ७४४ ग्रामपालिका और नगरपालिका हैं। .

नई!!: नेपाल और नेपाल के जिले · और देखें »

नेपाल के वित्त मंत्री

नेपाल के वित्त मंत्री नेपाल सरकार के वित्तीय सम्बन्धित कार्य को करता हैं | .

नई!!: नेपाल और नेपाल के वित्त मंत्री · और देखें »

नेपाल के विदेश मंत्री

नेपाल के विदेश मंत्री नेपाल सरकार में विदेश मामले सम्बन्धित कार्य देखता हैं | .

नई!!: नेपाल और नेपाल के विदेश मंत्री · और देखें »

नेपाल के विकास क्षेत्र

२० सितम्बर २०१५ को नए संविधान लागू होने से पहले तक नेपाल में पाँच निम्न विकास क्षेत्र थें: श्रेणी:नेपाल के पूर्व शासन प्रणाली.

नई!!: नेपाल और नेपाल के विकास क्षेत्र · और देखें »

नेपाल के अञ्चल

२० सितम्बर २०१५ को नए संविधान लागू होने से पहले तक नेपाल १४ प्रशासनिक अंचलों में बंटा हुआ था, जो 75 जिलों में बटे हुए थें। १४ प्रशासनिक अंचलों को ५ विकास क्षेत्रों में बाँटा गया था। प्रत्येक जिले का एक प्रमुख होता है जिसे मुख्य जिला अधिकारी (Chief District Officer) या (CDO) कहते हैं और कानून और ब्यवस्था तथा विभिन्न सरकारी मंत्रालयों के क्षेत्र एजेंसियों के काम का समन्वय बनाए रखने के लिए जिम्मेदार है। 350px श्रेणी:नेपाल के पूर्व शासन प्रणाली.

नई!!: नेपाल और नेपाल के अञ्चल · और देखें »

नेपाल के उप राष्ट्रपति

नेपाल के उप राष्ट्रपति (उपराष्ट्रपति) नेपाल के उप राज्य प्रमुख का गठन किया गया और मई 2008 में नेपाली राजतंत्र को समाप्त कर दिया गया था। .

नई!!: नेपाल और नेपाल के उप राष्ट्रपति · और देखें »

नेपाल की राजनीति

नेपाल कि राजनीति बहुदलीय प्रणाली के तहत एक गणतांत्रिक ढाँचे के अनुसार कार्य करती है। वर्तमान में राष्ट्रपति (राज्य का प्रमुख) के पद पर विद्या देवी भण्डारी विराजमान हैं। प्रधानमंत्री (सरकार का प्रमुख) के पद पर शेर बहादुर देउबा हैं। कार्यपालिका शक्ति का उपयोग प्रधानमंत्री तथा उनके मंत्रिमंडल द्वारा होता है, जबकि वैधानिक शक्ति संसद में निहित है। २८ मई २००८ तक नेपाल एक संवैधानिक राजतंत्र था। उसी दिन नेपाली संविधान सभा द्वारा नेपाल को गणतांत्रिक राज्य बनाने के लिए संविधान बदल दिया गया। श्रेणी:नेपाल की राजनीति.

नई!!: नेपाल और नेपाल की राजनीति · और देखें »

नेपाल की अर्थव्यवस्था

नेपाल का आर्थिक विकास एक जटिल विषय है जो शासनों के लगातार बदलते रहने से अत्यधिक प्रभावित हुआ है। यहाँ का शासन राजतन्त्र से लेकर वर्तमान वामपंथी सरकार तह विस्तृत है। नेपाली समाज २०वीं शताब्दी के मध्य तक एक कृषि-प्रधान समाज था। १९५१ में यह एक नयी व्यवस्था में कद्म रखा। उस समय विद्यालय, अस्पताल, सड़कें, संचार के साधन, बिजली, उद्योग आदि का नितान्त अभाव था। उसके बाद नेपाल ने सतत विकास किया है। नेपाल ने अपनी अर्थव्य्वस्था को आर्थिक उदारता के रास्ते पर चला दिया है। इस देश में बार-बार सरकारों का बदलना तथा भ्रष्टाचार दो मुख्य कारण हैं जो तीव्र आर्थिक विकास में बाधक हैं। .

नई!!: नेपाल और नेपाल की अर्थव्यवस्था · और देखें »

नेपाल अधिराज्य

नेपाल राज्य (नेपाल अधिराज्य), जिसे गोरखा राज्य (गोरखा अधिराज्य) के नाम से भी जाना जाता है, 1768 में स्थापित एक राज्य था जिसे एकीकरण कर बनाया गया था, जिसे स्थापित करने वाले थे पृथ्वीनारायण शाह, जो गोरखा राज्य के राजा थें। यह राज्य 240 वर्षों तक अस्तित्व में रहा जब तक कि 2008 में नेपाली राजशाही की समाप्ति हो गई। इस दौरान नेपाल का शासन शाह वंश के हाथ में रहा। .

नई!!: नेपाल और नेपाल अधिराज्य · और देखें »

नेपाल-भोट युद्ध

नेपाल-भोट युद्ध, तिब्बत में १८५५ से १८५६ तक तिब्बती सरकार की सेनाओं और आक्रमणकारी नेपाली सेना के बीच हुआ था। इसमें नेपाली सेना की जीत हुई थी। .

नई!!: नेपाल और नेपाल-भोट युद्ध · और देखें »

नेपालभाषा

नेपालभाषा, नेपाली भाषा से भिन्न भाषा है; इनमें भ्रमित न हों। ---- नेपाल भाषा ('नेवारी' अथवा 'नेपाल भाय्') नेपाल की एक प्रमुख भाषा है। यह भाषा चीनी-तिब्बती भाषा-परिवार के अन्तर्गत तिब्बती-बर्मेली समूह मे संयोजित है। यह देवनागरी लिपि मे भी लिखी जाने वाली एक मात्र चीनी-तिब्बती भाषा है। यह भाषा दक्षिण एशिया की सबसे प्राचीन इतिहास वाली तिब्बती-बर्मेली भाषा है और तिब्बती बर्मेली भाषा में चौथी सबसे प्राचीन काल से उपयोग में लाई जाने वाली भाषा। यह भाषा १४वीं शताब्दी से लेकर १८वीं शताब्दी के अन्त तक नेपाल की प्रशासनिक भाषा थी। .

नई!!: नेपाल और नेपालभाषा · और देखें »

नेपालगञ्ज

नेपालगंज मध्यपस्चीमाञ्चल नेपाल का नेपाल-भारत व्यापार का प्रमुख नाका है। यह वीरेन्द्रनगर से १२० कि॰मी॰ की दूरी पर तथा कोहल पुर से ३० कि॰मी॰ के दूरी पर स्थित है। यह नगर भेरी अंचल के बांके जिले में पड़ता है। .

नई!!: नेपाल और नेपालगञ्ज · और देखें »

नेपाली (बहुविकल्पी)

नेपाली शब्द के कई अर्थ हो सकते हैं:-.

नई!!: नेपाल और नेपाली (बहुविकल्पी) · और देखें »

नेपाली चलचित्र

अंगूठाकार यद्यपि नेपाली चलचित्र का इतिहास अधिक पुराना नहीं है, किन्तु नेपाल के सांस्कृतिक इतिहास में इसका अपना ही महत्व है। नेपाली चलचित्र को 'कॉलीवुड' भी कहते हैं जो इसके काठमाण्डू से सम्बन्धित होने का परिचायक है। श्रेणी:नेपाल.

नई!!: नेपाल और नेपाली चलचित्र · और देखें »

नेपाली भाषा

नेपाली भाषा के क्षेत्र नेपाली भाषा या खस कुरा नेपाल की राष्ट्रभाषा था। यह भाषा नेपाल की लगभग ४४% लोगों की मातृभाषा भी है। यह भाषा नेपाल के अतिरिक्त भारत के सिक्किम, पश्चिम बंगाल, उत्तर-पूर्वी राज्यों (आसाम, मणिपुर, अरुणाचल प्रदेश, मेघालय) तथा उत्तराखण्ड के अनेक भारतीय लोगों की मातृभाषा है। भूटान, तिब्बत और म्यानमार के भी अनेक लोग यह भाषा बोलते हैं। .

नई!!: नेपाल और नेपाली भाषा · और देखें »

नेपाली भाषाएँ एवं साहित्य

नेपाल में अनेक भाषाएँ बोली जाती हैं, जैसे किराँती, गुरुंग, तामंग, मगर, नेवारी, गोरखाली आदि। काठमांडो उपत्यका में सदा से बसी हुई नेवार जाति, जो प्रागैतिहासिक गंधर्वों और प्राचीन युग के लिच्छवियों की आधुनिक प्रतिनिधि मानी जा सकती है, अपनी भाषा को नेपाल भाषा कहती रही है जिसे बोलनेबालों की संख्या उपत्यका में लगभग 65 प्रतिशत है। नेपाली, तथा अंग्रेजी भाषाओं में प्रकाशित समाचार पत्रों के ही समान नेवारी भाषा के दैनिक पत्र का भी प्रकाशन होता है, तथापि आज नेपाल की सर्वमान्य राष्ट्रभाषा नेपाली ही है जिसे पहले परवतिया "गोरखाली" या खस-कुरा (खस (संस्कृत: कश्यप; कुराउ, संस्कृत: काकली) भी कहते थे। .

नई!!: नेपाल और नेपाली भाषाएँ एवं साहित्य · और देखें »

नेपाली रुपया

रुपया (रूपैयाँ) नेपाल का आधिकारिक मुद्रा है। वर्तमान मुद्रा का कोड है ISO 4217 NPR और इसका सामान्यत: चिन्ह रू है। नेपाली रुपया 100 पैसों में बँटे हुए हैं। नेपाल राष्ट्र बैंक द्वारा इस मुद्रा के निर्गमन पर नियंत्रण रहता है। कई अन्य राष्ट्रों के मुद्रा भी रुपया कहलाते हैं। नेपाली मुद्रा का भारतीय रुपया के साथ स्थिर विनिमय है। .

नई!!: नेपाल और नेपाली रुपया · और देखें »

नेपाली साहित्य

नेपाली साहित्य नेपाली भाषा का साहित्य है। यह साहित्य नेपाल, सिक्किम, दार्जिलिंग, भूटान, उत्तराखण्ड,असम आदि स्थानौं में प्रमुखतः लिखे जाते हैं। इस साहित्य में ज्यादातार पहाडी खस ब्राह्मण अर्थात बाहुन जाति के हैं। आदिकवि भानुभक्त आचार्य, महाकवि लक्ष्मी प्रसाद देवकोटा, कविशिरोमणि लेखनाथ पौड्याल, राष्ट्रकवि माधव प्रसाद घिमिरे, मोतीराम भट्ट, हास्यकार भैरव अर्याल, आदि श्रेष्ठतम नेपाली साहित्यकार बाहुन (पहाडी ब्राह्मण) समुदाय के थे। भारत का पड़ोसी देश होने के नाते नेपाल में भी भारत से चली खुलेपन की ताज़ी हवा बराबर पहुँचती रही है और उसके साहित्य पर भी समय-समय पर विभिन्न वादों और साहित्यिक आंदोलनों का पराभूत प्रभाव रहा है। हिन्दी कविता की तरह नेपाली कविता में भी छायावाद,रहस्यवाद, प्रगतिवाद और प्रयोगवाद की तमाम विशेषताएँ मिलती है। प्रकृति, सौन्दर्य, शृंगार और नारी-मन की सुकोमल अभिव्यक्ति के साथ ही जीवन-संघर्ष की आधुनिकतम समस्याओं को वाणी देने में भी नेपाली कवि किसी से पीछे नहीं रहे हैं। आज नेपाली कविता में समय-सापेक्षता, सामाजर्थिक दबाब तथा जीवन का व्यर्थता बोध आदि प्रबरीतियों को जो प्रमुखता मिली हुयी है, वह उसकी इसी शानदार विरासत का प्रतिफल है। .

नई!!: नेपाल और नेपाली साहित्य · और देखें »

नेपाली संस्कृति

नेपाल की संस्कृति समृद्ध और अनन्य है। इसकी सांस्कृतिक विरासत शताब्दियों से क्रमशः विकसित हुई है। नेपाल की संस्कृति पर भारतीय, तिब्बती और मंगोली संस्कृतियों का प्रभाव है। नेपाल की संस्कृति, विश्व की सबसे समृद्ध संस्कृतियों में से एक है। संस्कृति को 'संपूर्ण समाज के लिए जीवन का मार्ग' कहा जाता है। यह बयान नेपाल के मामले में विशेष रूप से सच है, जहां जीवन, भोजन, कपड़े और यहाँ तक कि व्यवस्सायों के हर पहलू सांस्कृतिक दिशा निर्देशित है। नेपाल कि संस्कृति में शिष्टाचार, पोशाक,भाषा,अनुष्टान, व्यवहारके नियम और मानदंडो के नियम शामिल है और यह स्पष्ट रूप से देखा जा सकता है। नेपाल कि संस्कृति, परंपरा और नवनीता का एक अद्वतीय संयोजन है। नेपाल में संस्कृतिक संगीत, वास्तुकला, धर्म और सांकृतिक समूहों के साथ सामुध्र है। नेपाली पोशाक, दौरा-सुरुवाल, जिसे आमतौर पर 'लाबडा-सुरुवाल' कहा जाता है, में कई धार्मिक विश्वास हैं जो अपने डिजाइनों कि पहचान करते हैं और इसलिए यह वर्षो से एक समान रहा है। दौरा में आठ तार हैं जो शरीर के चारों ओर बाँधा जाता है। दौरो का बंद गर्दन भगवान शिव की गर्दन के चारों ओर सांप का प्रतीक है। महिलाओं के लिए नेपाली पोशाक एक कपास साड़ी (गुनु) है, जो फैशन की दुनिया में बहुत लोकप्रिय हो रही है। नेपाल में मुख्य अनुष्टानों का नामकरण समारोह, चावल का भोजन समारोह, मण्डल का समारोह, विवाह और अन्तिम संस्कार है। अनुष्ठान अभी भी समाज में प्रचलित हैं और उत्साह से किया जाता है। कहा जाता है इस देश में नृत्य,भगवान शिव के निवास-हिमालय से प्रकट हुआ है। इससे पता चलता है कि नेपाल की नृत्य परंपराएं बहुत द्वितीय हैं। फसलों की फसल, शादी के संस्कार, युद्ध की कहानियों, एक अकेली लड़की का प्रेम और कई अन्य विषयों पर नृत्य किया जाता है। नेपाल में त्यौहार और उत्सव देश के संस्कृति का पर्याय है क्योकि नेपाली, त्यौहार केवल वार्षिक व्यवस्ता नहीं है, बल्कि उनकी समृद्ध सांस्कृतिक विरासत का एक जीवित हिस्सा भी है। त्योहारों ने विभिन्न राष्ट्रों के सान्स्क्रिथिक पृष्टभूमि और विश्वासों के नेपाली लोगो को प्रभावी रूप से एक्जुट कर लिया है। अधिकांश नेपाली त्योहार विभिन्न हिंदू और बौद्ध देवताओं से संबंधित हैं। वे धर्म और परंपरा द्वारा उनके लिए पवित्रा दिन पर मनाया जाता है। दश्न और तिहार धर्म पर आधारित सबसे बड़े और सबसे लोकप्रिय त्यौहार हैं। कुछ और मनाये त्योहार,बुद्ध-जयंती,गाड़ी-जत्रा,जानई-पूर्णिमा,तीज है। नेपाली लोग सबसे मेहमाननवाज मेजबानों में से एक हैं और यही कारण है कि पर्यटकों नेपाल में बार-बार आते हैं और आनंद उठाया है। स्थानीय नेपाली आम तौर पर ग्रामीण लोग हैं जो चाय, कॉफी या रात के खाने के लिए अपने घरों में पर्यटकों का स्वागत करते हैं। नेपाली सांस्कृतिक रूप से गर्म, मेहमाननवाज और स्नेही मेजबान हैं जो अपने दिल को अपने सिर से ऊपर रखते हैं। श्रेणी:नेपाल.

नई!!: नेपाल और नेपाली संस्कृति · और देखें »

नेपाली संविधान सभा निर्वाचन, २००८

१० अप्रैल २००८ को नेपाल में संविधान सभा के लिए एक आम निर्वाचन हुआ।, Associated Press (The Hindu), 11 January 2008.

नई!!: नेपाल और नेपाली संविधान सभा निर्वाचन, २००८ · और देखें »

नेपाली सेना

नेपाली सेना नेपालकी राष्ट्रिय सेना है, यह दक्षिण एशिया का सबसे पुराना सैनिक संगठन है हाल में इस संगठन में एक लाख से ज्यादा जनशक्ति है। इस सेनाको गोर्खाली सेना भी कहते हैं। .

नई!!: नेपाल और नेपाली सेना · और देखें »

नेपाली व्यंजन

दाल भात तरकारी नेपाली व्यंजन का तात्पर्य उन विशेष खाद्य पदार्थों से है जो नेपाली लोग आहार के रूप में प्रयोग करते हैं। नेपाली वे लोग हैं जो नेपाल, भारत के उत्तर पूर्वी राज्यों तथा पश्चिम बंगाल आदि स्थानों के निवासी हैं। संस्कृति, परंपरा और भौगोलिक विभिन्नता के चलते उनके खाद्य पदार्थ भी उसी हिसाब से अलग पाए जाते हैं। जैसे कि पहाड़ों में रहने वाले नेपाली और मैदान के निवासी में भी भोजनों में अन्तर पाए जाता है। उनके खाद्यों में विशेषतया दाल, भात, तरकारी और चटनी (अचार) दैनिक आहार हैं। मैदानी इलाकों में रहने वाले लोग रोटी और भात दोनों का भोजन करते हैं। म:म: .

नई!!: नेपाल और नेपाली व्यंजन · और देखें »

नेपाली कांग्रेस

नेपाली कांग्रेस नेपाल का एक समाजवादी लोकतांत्रिक राजनीतिक दल है। १९५० में नेपाल राष्ट्रीय कांग्रेस तथा नेपाल प्रजातान्त्रिक कांग्रेस के मिलन से इस दल की स्थापना हुई। यह दल से नेपाली कांग्रेस (प्रजातन्त्रिक) बाद मैं अलग होकर निकल गया जिस के बाद नेपाल के राजनीति मैं बहुत अस्थिरता दिख्ने लगा। अभी दो कांग्रेस मिलने का प्रयास कर रहे हैं। इस दल का नेता सुशील कोइराला है। इस दल का युवा संगठन नेपाल तरुण दल है। १९९९ के संसदीय चुनाव में इस दल को ३२१४७८६ मत (३७.१७%, १११ सीटें) मिले। यह दल सोशलिस्ट इन्टरनैशनल से सम्बद्ध है। .

नई!!: नेपाल और नेपाली कांग्रेस · और देखें »

नेले

नेले नेपाल के पूर्वांचल विकास क्षेत्र के सगरमाथा अंचल, सोलुखुम्बु जिला में स्थित गाँव विकास समिति है। .

नई!!: नेपाल और नेले · और देखें »

नीम

नीम भारतीय मूल का एक पूर्ण पतझड़ वृक्ष है। यह सदियों से समीपवर्ती देशों- पाकिस्तान, बांग्लादेश, नेपाल, म्यानमार (बर्मा), थाईलैंड, इंडोनेशिया, श्रीलंका आदि देशों में पाया जाता रहा है। लेकिन विगत लगभग डेढ़ सौ वर्षों में यह वृक्ष भारतीय उपमहाद्वीप की भौगोलिक सीमा को लांघ कर अफ्रीका, आस्ट्रेलिया, दक्षिण पूर्व एशिया, दक्षिण एवं मध्य अमरीका तथा दक्षिणी प्रशान्त द्वीपसमूह के अनेक उष्ण और उप-उष्ण कटिबन्धीय देशों में भी पहुँच चुका है। इसका वानस्पतिक नाम ‘Melia azadirachta अथवा Azadiracta Indica’ है। .

नई!!: नेपाल और नीम · और देखें »

पटना के पर्यटन स्थल

वर्तमान बिहार राज्य की राजधानी पटना को ३००० वर्ष से लेकर अबतक भारत का गौरवशाली शहर होने का दर्जा प्राप्त है। यह प्राचीन नगर पवित्र गंगानदी के किनारे सोन और गंडक के संगम पर लंबी पट्टी के रूप में बसा हुआ है। इस शहर को ऐतिहासिक इमारतों के लिए भी जाना जाता है। पटना का इतिहास पाटलीपुत्र के नाम से छठी सदी ईसापूर्व में शुरू होता है। तीसरी सदी ईसापूर्व में पटना शक्तिशाली मगध राज्य की राजधानी बना। अजातशत्रु, चन्द्रगुप्त मौर्य, सम्राट अशोक, चंद्रगुप्त द्वितीय, समुद्रगुप्त यहाँ के महान शासक हुए। सम्राट अशोक के शासनकाल को भारत के इतिहास में अद्वितीय स्‍थान प्राप्‍त है। पटना एक ओर जहाँ शक्तिशाली राजवंशों के लिए जाना जाता है, वहीं दूसरी ओर ज्ञान और अध्‍यात्‍म के कारण भी यह काफी लोकप्रिय रहा है। यह शहर कई प्रबुद्ध यात्रियों जैसे मेगास्थनिज, फाह्यान, ह्वेनसांग के आगमन का भी साक्षी है। महानतम कूटनीतिज्ञ कौटिल्‍यने अर्थशास्‍त्र तथा विष्णुशर्मा ने पंचतंत्र की यहीं पर रचना की थी। वाणिज्यिक रूप से भी यह मौर्य-गुप्तकाल, मुगलों तथा अंग्रेजों के समय बिहार का एक प्रमुख शहर रहा है। बंगाल विभाजन के बाद 1912 में पटना संयुक्त बिहार-उड़ीसा तथा आजादी मिलने के बाद बिहार राज्‍य की राजधानी बना। शहर का बसाव को ऐतिहासिक क्रम के अनुसार तीन खंडों में बाँटा जा सकता है- मध्य-पूर्व भाग में कुम्रहार के आसपास मौर्य-गुप्त सम्राटाँ का महल, पूर्वी भाग में पटना सिटी के आसपास शेरशाह तथा मुगलों के काल का नगरक्षेत्र तथा बाँकीपुर और उसके पश्चिम में ब्रतानी हुकूमत के दौरान बसायी गयी नई राजधानी। पटना का भारतीय पर्यटन मानचित्र पर प्रमुख स्‍थान है। महात्‍मा गाँधी सेतु पटना को उत्तर बिहार तथा नेपाल के अन्‍य पर्यटन स्‍थल को सड़क माध्‍यम से जोड़ता है। पटना से चूँकि वैशाली, राजगीर, नालंदा, बोधगया, पावापुरी और वाराणसी के लिए मार्ग जाता है, इसलिए यह शहर हिंदू, बौद्ध और जैन धर्मावलंबियों के लिए पर्यटन गेटवे' के रूप में भी जाना जाता है। ईसाई धर्मावलंबियों के लिए भी पटना अतिमहत्वपूर्ण है। पटना सिटी में हरमंदिर, पादरी की हवेली, शेरशाह की मस्जिद, जलान म्यूजियम, अगमकुँआ, पटनदेवी; मध्यभाग में कुम्‍हरार परिसर, पत्थर की मस्जिद, गोलघर, पटना संग्रहालय तथा पश्चिमी भाग में जैविक उद्यान, सदाकत आश्रम आदि यहां के प्रमुख दर्शनीय स्‍थल हैं। मुख्य पर्यटन स्थलों इस प्रकार हैं: .

नई!!: नेपाल और पटना के पर्यटन स्थल · और देखें »

पटौटी

पटौटी नेपालके लुम्बिनी अंचलके अर्घाखाँची जिलाकी एक गाँव विकास समिति है। .

नई!!: नेपाल और पटौटी · और देखें »

पञ्चमुल

नेपाल के पश्चिमांचल विकास क्षेत्र के गण्डकी अंचल के स्यांजा जिल्ला में स्थित एक अत्याधिक उर्वर एवं घना वस्ती समेटा हुआ गाँउ विकास समिति हैं। .

नई!!: नेपाल और पञ्चमुल · और देखें »

पञ्चावती

पंचावती नेपालके पुर्वांचल विकास क्षेत्रके सगरमाथा अंचलके उदयपुर जिलाकी एक गाँव विकास समिति है। .

नई!!: नेपाल और पञ्चावती · और देखें »

पञ्चाङ्गम्

वर्ष 1871-72 के हिन्दू पंचांग का एक पृष्ठ पञ्चाङ्गम् परम्परागत भारतीय कालदर्शक है जिसमें समय के हिन्दू ईकाइयों (वार, तिथि, नक्षत्र, करण, योग आदि) का उपयोग होता है। इसमें सारणी या तालिका के रूप में महत्वपूर्ण सूचनाएँ अंकित होतीं हैं जिनकी अपनी गणना पद्धति है। अपने भिन्न-भिन्न रूपों में यह लगभग पूरे नेपाल और भारत में माना जाता है। असम, बंगाल, उड़ीसा, में पञ्चाङ्गम् को 'पञ्जिका' कहते हैं। 'पञ्चाङ' का शाब्दिक अर्थ है, 'पाँच अङ्ग' (पञ्च + अङ्ग)। अर्थात पञ्चाङ्ग में वार, तिथि, नक्षत्र, करण, योग - इन पाँच चीजों का उल्लेख मुख्य रूप से होता है। इसके अलावा पञ्चाङ से प्रमुख त्यौहारों, घटनाओं (ग्रहण आदि) और शुभ मुहुर्त का भी जानकारी होती है। गणना के आधार पर हिंदू पंचांग की तीन धाराएँ हैं- पहली चंद्र आधारित, दूसरी नक्षत्र आधारित और तीसरी सूर्य आधारित कैलेंडर पद्धति। भिन्न-भिन्न रूप में यह पूरे भारत में माना जाता है। एक वर्ष में १२ महीने होते हैं। प्रत्येक महीने में १५ दिन के दो पक्ष होते हैं- शुक्ल और कृष्ण। प्रत्येक साल में दो अयन होते हैं। इन दो अयनों की राशियों में २७ नक्षत्र भ्रमण करते रहते हैं। १२ मास का एक वर्ष और ७ दिन का एक सप्ताह रखने का प्रचलन विक्रम संवत से शुरू हुआ। महीने का हिसाब सूर्य व चंद्रमा की गति पर रखा जाता है। यह १२ राशियाँ बारह सौर मास हैं। जिस दिन सूर्य जिस राशि में प्रवेश करता है उसी दिन की संक्रांति होती है। पूर्णिमा के दिन चंद्रमा जिस नक्षत्र में होता है उसी आधार पर महीनों का नामकरण हुआ है। चंद्र वर्ष, सौर वर्ष से ११ दिन ३ घड़ी ४८ पल छोटा है। इसीलिए हर ३ वर्ष में इसमे एक महीना जोड़ दिया जाता है जिसे अधिक मास कहते हैं। इसके अनुसार एक साल को बारह महीनों में बांटा गया है और प्रत्येक महीने में तीस दिन होते हैं। महीने को चंद्रमा की कलाओं के घटने और बढ़ने के आधार पर दो पक्षों यानी शुक्ल पक्ष और कृष्ण पक्ष में विभाजित किया गया है। एक पक्ष में लगभग पंद्रह दिन या दो सप्ताह होते हैं। एक सप्ताह में सात दिन होते हैं। एक दिन को तिथि कहा गया है जो पंचांग के आधार पर उन्नीस घंटे से लेकर चौबीस घंटे तक होती है। दिन को चौबीस घंटों के साथ-साथ आठ पहरों में भी बांटा गया है। एक प्रहर कोई तीन घंटे का होता है। एक घंटे में लगभग दो घड़ी होती हैं, एक पल लगभग आधा मिनट के बराबर होता है और एक पल में चौबीस क्षण होते हैं। पहर के अनुसार देखा जाए तो चार पहर का दिन और चार पहर की रात होती है। .

नई!!: नेपाल और पञ्चाङ्गम् · और देखें »

पडरौना

पडरौना उत्तर प्रदेश में कुशीनगर जिले का मुख्यालय है। कुशीनगर एक अन्तर्राष्ट्रीय ख्याति का पर्यटन स्थल है। पडरौना उत्तर प्रदेश का सबसे पूर्वी व उत्तरी जनपद है। यह २६.९° उत्तरी अक्षांश व ८३.९८° पूर्वी देशान्तर पर स्थित है। समुद्र तल से इसकी औसत उंचाई ७९ मीटर (२५९ फीट) है। इसके उत्तर में नेपाल व पूर्व में बिहार राज्य है। यह गोरखपुर से कोई पचास किमी पूरब में स्थित है। गोरखपुर से पडरौना सड़क एवं रेलमार्ग से जुड़ा हुआ है। यह कस्बा फूल के बर्तनों के लिये प्रसिद्ध है। यहाँ चीनी की एक कारखाना भी है। उदित नारायण स्नातकोत्तर महाविद्यालय, उदित नारायण इंटर कालेज, गोस्वामी तुलसीदास इंटर कालेज तथा नवोदय विद्यालय भी है। कुशीनगर, पडरौना से १५ किमी दक्षिण में स्थित है। श्रेणी:कुशीनगर जिला.

नई!!: नेपाल और पडरौना · और देखें »

पणेना

पणेना नेपालके लुम्बिनी अंचलके अर्घाखाँची जिलाकी एक गाँव विकास समिति है। .

नई!!: नेपाल और पणेना · और देखें »

पतंजलि फूड एवं हर्बल पार्क

पतंजलि फूड एवं हर्बल पार्क पतंजलि योगपीठ ट्रस्ट की इकाई है जिसके माध्यम से स्वदेशी वस्तुओं के निर्माण और स्वदेशी की विचारधारा पर कार्य होता है। हरिद्वार में स्थित 'पदार्था' नामक गांव में 'पतंजलि फूड एंव हर्बल पार्क लिमिटेड' में आवश्यक घरेलू वस्तुओं से लेकर आयुर्वेदिक औषधियों तक का निर्माण होता है। इसकी कई इकाइयां देश की किसी भी बड़ी कंपनी की इकाइयों से बड़ी हैं। .

नई!!: नेपाल और पतंजलि फूड एवं हर्बल पार्क · और देखें »

पतंजलि आयुर्वेद

पतंजलि आयुर्वेद लिमिटेड भारत प्रांत के उत्तराखंड राज्य के हरिद्वार जिले में स्थित आधुनिक उपकरणों वाली एक औद्योगिक इकाई है। इस औद्योगिक इकाई की स्थापना शुद्ध और गुणवत्तापूर्ण खनिज और हर्बल उत्पादों के निर्माण हेतु की गयी है। .

नई!!: नेपाल और पतंजलि आयुर्वेद · और देखें »

पद्म श्री पुरस्कार (२०००–२००९)

पद्म श्री पुरस्कार, भारत का चौथा सबसे बड़ा नागरीक सम्मान है। सन् २००० से २००९ तक विजेताओं की सूची निम्न है: .

नई!!: नेपाल और पद्म श्री पुरस्कार (२०००–२००९) · और देखें »

परम (सुपरकम्प्यूटर)

परम सी-डैक द्वारा विकसित भारत के स्वदेशी सुपरकंप्यूटर्स की एक श्रृंखला है। श्रृंखला में नवीनतम सुपरकम्प्यूटर परम ईशान हैं। संस्कृत में परम का अर्थ हैं "सर्वोच्च"। .

नई!!: नेपाल और परम (सुपरकम्प्यूटर) · और देखें »

परमानन्द झा

नेपाल के प्रथम उपराष्ट्रपति '''परमानन्द झा''' परमानन्द झा (जन्म:1944, दरभंगा,बिहार, भारतhttp://www.gorkhapatra.org.np/detail.php?article_id.

नई!!: नेपाल और परमानन्द झा · और देखें »

परिकल्पना सम्मान

परिकल्पना सम्मान हिन्दी ब्लॉगिंग का एक ऐसा वृहद सम्मान है, जिसे बहुचर्चित तकनीकी ब्लॉगर रवि रतलामी ने हिन्दी ब्लॉगिंग का ऑस्कर कहा है। यह सम्मान प्रत्येक वर्ष आयोजित अंतर्राष्ट्रीय हिन्दी ब्लॉगर सम्मेलन में देशविदेश से आए हिन्दी के चिरपरिचित ब्लॉगर्स की उपस्थिति में प्रदान किया जाता है। .

नई!!: नेपाल और परिकल्पना सम्मान · और देखें »

पर्सा (गाँव)

पर्सा दक्षिण-पूर्वी नेपाल के जनकपुर अंचल के सर्लाही जिले की ग्राम विकास समिति है। १९९१ की नेपाल की जनगणना के अनुसार यहाँ ६६६ घरों में ३९४३ लोग निवास करते हैं। .

नई!!: नेपाल और पर्सा (गाँव) · और देखें »

पर्सा जिला

नेपाल के नारायणी प्रान्त का जिला। श्रेणी:नेपाल के जिले.

नई!!: नेपाल और पर्सा जिला · और देखें »

पर्वत जिला

नेपाल के धवलागिरी प्रान्त का जिला। श्रेणी:नेपाल के जिले.

नई!!: नेपाल और पर्वत जिला · और देखें »

पर्वतारोहण

2004 में नेपाल के इम्जा से (आइलैंड पीक) के 20,305 (6189 मीटर) ऊँचे शिखर पर अपने अंतिम कदम बढ़ाता हुआ पर्वतारोही एक खुली खाई पर्वतारोहण या पहाड़ चढ़ना शब्द का आशय उस खेल, शौक़ अथवा पेशे से है जिसमें पर्वतों पर चढ़ाई, स्कीइंग अथवा सुदूर भ्रमण सम्मिलित हैं। पर्वतारोहण की शुरुआत सदा से अविजित पर्वत शिखरों पर विजय पाने की महत्वाकांक्षा के कारण हुई थी और समय के साथ इसकी 3 विशेषज्ञता वाली शाखाएं बन कर उभरीं हैं: चट्टानों पर चढ़ने की कला, बर्फ से ढके पर्वतों पर चढ़ने की कला और स्कीइंग की कला.

नई!!: नेपाल और पर्वतारोहण · और देखें »

पलापू

पलापू नेपाल के पूर्वांचल विकास क्षेत्र के सगरमाथा अंचल, ओखलढुंगा जिला में स्थित गाँव विकास समिति है। .

नई!!: नेपाल और पलापू · और देखें »

पशुधन

घरेलू भेड़ और एक गाय (बछिया) दक्षिण अफ्रीका में एक साथ चराई करते हुए एक या अधिक पशुओं के समूह को, जिन्हें कृषि सम्बन्धी परिवेश में भोजन, रेशे तथा श्रम आदि सामग्रियां प्राप्त करने के लिए पालतू बनाया जाता है, पशुधन के नाम से जाना जाता है। शब्द पशुधन, जैसा कि इस लेख में प्रयोग किया गया है, में मुर्गी पालन तथा मछली पालन सम्मिलित नहीं है; हालांकि इन्हें, विशेष रूप से मुर्गीपालन को, साधारण रूप से पशुधन में सम्मिलित किया जाता हैं। पशुधन आम तौर पर जीविका अथवा लाभ के लिए पाले जाते हैं। पशुओं को पालना (पशु-पालन) आधुनिक कृषि का एक महत्वपूर्ण भाग है। पशुपालन कई सभ्यताओं में किया जाता रहा है, यह शिकारी-संग्राहक से कृषि की ओर जीवनशैली के अवस्थांतर को दर्शाता है। .

नई!!: नेपाल और पशुधन · और देखें »

पशुपतिनाथ मन्दिर (नेपाल)

पशुपतिनाथ मंदिर (नेपाली: पशुपतिनाथ मन्दिर) नेपाल की राजधानी काठमांडू से तीन किलोमीटर उत्तर-पश्चिम में बागमती नदी के किनारे देवपाटन गांव में स्थित एक हिंदू मंदिर है। नेपाल के एक धर्मनिरपेक्ष राष्ट्र बनने से पहले यह मंदिर राष्ट्रीय देवता, भगवान पशुपतिनाथ का मुख्य निवास माना जाता था। यह मंदिर यूनेस्को विश्व सांस्कृतिक विरासत स्थल की सूची में सूचीबद्ध है। पशुपतिनाथ में आस्था रखने वालों (मुख्य रूप से हिंदुओं) को मंदिर परिसर में प्रवेश करने की अनुमति है। गैर हिंदू आगंतुकों को इसे बाहर से बागमती नदी के दूसरे किनारे से देखने की अनुमति है। यह मंदिर नेपाल में शिव का सबसे पवित्र मंदिर माना जाता है। १५ वीं शताब्दी के राजा प्रताप मल्ल से शुरु हुई परंपरा है कि मंदिर में चार पुजारी (भट्ट) और एक मुख्य पुजारी (मूल-भट्ट) दक्षिण भारत के ब्राह्मणों में से रखे जाते हैं। पशुपतिनाथ में शिवरात्रि का पर्व विशेष महत्व के साथ मनाया जाता है। .

नई!!: नेपाल और पशुपतिनाथ मन्दिर (नेपाल) · और देखें »

पश्चिम बंगाल

पश्चिम बंगाल (भारतीय बंगाल) (बंगाली: পশ্চিমবঙ্গ) भारत के पूर्वी भाग में स्थित एक राज्य है। इसके पड़ोस में नेपाल, सिक्किम, भूटान, असम, बांग्लादेश, ओडिशा, झारखंड और बिहार हैं। इसकी राजधानी कोलकाता है। इस राज्य मे 23 ज़िले है। यहां की मुख्य भाषा बांग्ला है। .

नई!!: नेपाल और पश्चिम बंगाल · और देखें »

पश्चिम हिमालयी चौड़ी पत्ती वन

पश्चिम हिमालयी चौड़ी पत्ती वन एक प्रकार के समशीतोष्ण चौड़ी पत्ती वन है जो नेपाल, भारत और पाकिस्तान के पश्चिमी हिमालय के जैवक्षेत्र में मध्यम ऊँचाई पर पाए जाते हैं। .

नई!!: नेपाल और पश्चिम हिमालयी चौड़ी पत्ती वन · और देखें »

पश्चिम हिमालयी उपअल्पाइन शंकुधर वन

पश्चिम हिमालयी उपअल्पाइन शंकुधर वन एक प्रकार के समशीतोष्ण शंकुधर वन है जो नेपाल, भारत और पाकिस्तान के पश्चिमी हिमालय के जैवक्षेत्र में पाए जाते हैं। .

नई!!: नेपाल और पश्चिम हिमालयी उपअल्पाइन शंकुधर वन · और देखें »

पश्चिमाञ्चल विकास क्षेत्र

मध्यमांचल विकास क्षेत्र नेपाल का एक प्रान्त है जो नेपाल के पाँच विकास क्षेत्रों में से एक विकास क्षेत्र है। यह नेपाल के मध्य में स्थित है। इस के पूर्व में नेपाल का मध्यमांचल विकास क्षेत्र तथा पश्चिम में नेपाल का मध्य-पश्चिमांचल विकास क्षेत्र तथा उत्तर में चीन का तिब्बत तथा दक्षिण में भारत का उत्तर प्रदेश स्थित है। मध्यमांचल विकास क्षेत्र का मुख्यालय पोखरा में स्थित है। इस प्रान्त में ३ अंचल तथा १६ जिलें हैं। Category:नेपाल के पूर्व शासन प्रणाली.

नई!!: नेपाल और पश्चिमाञ्चल विकास क्षेत्र · और देखें »

पश्चिमी चंपारण

चंपारण बिहार के तिरहुत प्रमंडल के अंतर्गत भोजपुरी भाषी जिला है। हिमालय के तराई प्रदेश में बसा यह ऐतिहासिक जिला जल एवं वनसंपदा से पूर्ण है। चंपारण का नाम चंपा + अरण्य से बना है जिसका अर्थ होता है- चम्‍पा के पेड़ों से आच्‍छादित जंगल। बेतिया जिले का मुख्यालय शहर हैं। बिहार का यह जिला अपनी भौगोलिक विशेषताओं और इतिहास के लिए विशिष्ट स्थान रखता है। महात्मा गाँधी ने यहीं से अंग्रेजों के खिलाफ नील आंदोलन से सत्याग्रह की मशाल जलायी थी। .

नई!!: नेपाल और पश्चिमी चंपारण · और देखें »

पश्चिमी विक्षोभ

पश्चिमी विक्षोभ या वेस्टर्न डिस्टर्बन्स (Western Disturbance) भारतीय उपमहाद्वीप के उत्तरी इलाक़ों में सर्दियों के मौसम में आने वाले ऐसे तूफ़ान को कहते हैं जो वायुमंडल की ऊँची तहों में भूमध्य सागर, अन्ध महासागर और कुछ हद तक कैस्पियन सागर से नमी लाकर उसे अचानक वर्षा और बर्फ़ के रूप में उत्तर भारत, पाकिस्तान व नेपाल पर गिरा देता है।, J. S. Lall, A. D. Moddie, India International Centre, 1981,...

नई!!: नेपाल और पश्चिमी विक्षोभ · और देखें »

पहर

सामय् पहर भारत, पाकिस्तान, नेपाल और बंगलादेश में इस्तेमाल होने वाली समय की एक ईकाई है। भारत में यह उत्तर भारत के क्षेत्र में अधिक प्रयोग होती है।, Amir Khusro, W.H. Allen, 1882,...

नई!!: नेपाल और पहर · और देखें »

पहाड़ी भाषाएँ

हिमालय पर्वतश्रृंखलाओं के दक्षिणवर्ती भूभाग में कश्मीर के पूर्व से लेकर नेपाल तक पहाड़ी भाषाएँ बोली जाती हैं। ग्रियर्सन ने आधुनिक भारतीय आर्यभाषाओं का वर्गीकरण करते समय पहाड़ी भाषाओं का एक स्वतंत्र समुदाय माना है। चैटर्जी ने इन्हें पैशाची, दरद अथवा खस प्राकृत पर आधारित मानकर मध्यका में इनपर राजस्थान की प्राकृत एवं अपभ्रंश भाषाओं का प्रभाव घोषित किया है। एक नवीन मत के अनुसार कम से कम मध्य पहाड़ी भाषाओं का उद्गम शौरसेनी प्राकृत है, जो राजस्थानी का मूल भी है। पहाड़ी भाषाओं के शब्दसमूह, ध्वनिसमूह, व्याकरण आदि पर अनेक जातीय स्तरों की छाप पड़ी है। यक्ष, किन्नर, किरात, नाग, खस, शक, आर्य आदि विभिन्न जातियों की भाषागत विशेषताएँ प्रयत्न करने पर खोजी जा सकती हैं जिनमें अब यहाँ आर्य-आर्येतर तत्व परस्पर घुल मिल गए हैं। ऐतिहासिक दृष्टि से ऐसा विदित होता है कि प्राचीन काल में इनका कुछ पृथक् स्वरूप अधिकांश मौखिक था। मध्यकाल में यह भूभाग राजस्थानी भाषा भाषियों के अधिक संपर्क में आया और आधुनिक काल में आवागमन की सुविधा के कारण हिंदी भाषाई तत्व यहाँ प्रवेश करते जा रहे हैं। पहाड़ी भाषाओं का व्यवहार एक प्रकार से घरेलू बोलचाल, पत्रव्यवहार आदि तक ही सीमित हो चला है। पहाड़ी भाषाओं में दरद भाषाओं की कुछ ध्वन्यात्मक विशेषताएँ मिलती हैं जैसे घोष महाप्राण के स्थान पर अघोष अल्पप्राण ध्वनि हो जाना। पश्चिमी तथा मध्य पहाड़ी प्रदेश का नाम प्राचीन काल में संपादलक्ष था। यहाँ मध्यकाल में गुर्जरों एवं अन्य राजपूत लोगों का आवागमन होता रहा जिसका मुख्य कारण मुसलमानी आक्रमण था। अत: स्थानीय भाषाप्रयोगों में जो अधिकांश "न" के स्थान पर "ण" तथा अकारांत शब्दों की ओकारांत प्रवृत्ति लक्षित होती है, वह राजस्थानी प्रभाव का द्योतक है। पूर्वी हिंदी को भी एकाधिक प्रवृत्तियाँ मध्य पहाड़ी भाषाओं में विद्यमान हैं क्योंकि यहाँ का कत्यूर राजवंश सूर्यवंशी अयोध्या नरेशों से संबंध रखता था। इस आधार पर पहाड़ी भाषाओं का संबंध अर्ध-मागधी-क्षेत्र के साथ भी स्पष्ट हो जाता है। इनके वर्तमान स्वरूप पर विचार करते हुए दो तत्व मुख्यत: सामने आते हैं। एक तो यह कि पहाड़ी भाषाओं की एकाधिक विशेषता इन्हें हिंदी भाषा से भिन्न करती हैं। दूसरे कुछ तत्व दोनों के समान हैं। कहीं तो हिंदी शब्द स्थानीय शब्दों के साथ वैकल्पिक रूप से प्रयुक्त होते हैं और कहीं हिंदी शब्द ही स्थानीय शब्दों का स्थान ग्रहण करते जा रहे हैं। खड़ी बोली के माध्यम से कुछ विदेशी शब्द, जैसे "हजामत", "अस्पताल", "फीता", "सीप", "डागदर" आदि भी चल पड़े हैं। .

नई!!: नेपाल और पहाड़ी भाषाएँ · और देखें »

पहाड़ी मैना

आम हिल Myna (सारिका), कभी - कभी "मैना" वर्तनी और पूर्व बस"हिल Myna रूप में जाना जाता", सबसे अधिक मैना पक्षी में देखा पक्षीपालन, जहां यह अक्सर बस बाद के दो नामों से करने के लिए भेजा.

नई!!: नेपाल और पहाड़ी मैना · और देखें »

पाटन

पाटन का प्राचीन शाही महल एवं मन्दिर पाटन (नेपाल भाषा:यल) नेपाल का प्रमुख शहर है। इसे ललितपुर भी कहा जाता है। ललितपुर जिला मे अवस्थित यह शहर काठमाडौं घाटी के तीन शहरो मे से सबसे पुराना तथा रमणीय माना जाता है। पाटन अपनी सांस्कृतिक सम्पदा के लिए प्रसिद्ध है। पाटन को नेपाल (नेवारी) भाषा में 'यल' नाम से जाना जाता है। राजा यलम्बर के नाम से यह नाम आया हुआ विश्वास किया जाता है। .

नई!!: नेपाल और पाटन · और देखें »

पाँचगाछी

पाँचगाछी नेपालके मेची अंचलके झापा जिला का एक गाँव विकास समिति है। .

नई!!: नेपाल और पाँचगाछी · और देखें »

पाठामारी

पाठामारी नेपालके मेची अंचलके झापा जिला का एक गाँव विकास समिति है। .

नई!!: नेपाल और पाठामारी · और देखें »

पातलकोट

पातलकोट नेपाल के सेती अंचल के अछाम जिला के एक गाँव है। .

नई!!: नेपाल और पातलकोट · और देखें »

पात्ले

पात्ले नेपाल के पूर्वांचल विकास क्षेत्र के सगरमाथा अंचल, ओखलढुंगा जिला में स्थित गाँव विकास समिति है। .

नई!!: नेपाल और पात्ले · और देखें »

पारस खड्का

पारस खड्का(जन्म:२४ अक्टूबर १९८७) नेपाली क्रिकेट खेलाडी हैं। यह दाहिने हाते बल्लेबाज और दाहिने हाते मध्यम गैंदवाज हैं। पारस २००४ से नेपाली राष्ट्रीय क्रिकेट टीमकी नियमित सदस्य हैं। उन्होंने अप्रैल 2004 में मलेशिया के खिलाफ नेपाल के लिए अपनी शुरुआत की। .

नई!!: नेपाल और पारस खड्का · और देखें »

पारिजात (लेखिका)

पारिजात एक नेपाली लेखिका थीं। उनका असली नाम विष्णु कुमारी वाइबा (वाइबा तमांग की एक उपसमूह है) था। सृजन के दौरान वे अपने नाम के साथ उपनाम के रूप में पारिजात (पारिजात एक प्रकार के सुगंधित चमेली के फूल का नाम है) का प्रयोग किया करते थे। धीरे-धीरे उनका यह नाम नेपाली साहित्य में मील का पत्थर बनता चला गया। उनकी रचना सिरीस को फूल (ब्लू छुई मुई) सर्वाधिक चर्चित रचनाओं में से एक है, जो भारत, नेपाल सहित कुछ अंग्रेजी भाषी देशों में कुछ कॉलेजों के साहित्य के पाठ्यक्रम में रूपांतरित किया गया है। .

नई!!: नेपाल और पारिजात (लेखिका) · और देखें »

पालक

पालक पालक (वानस्पतिक नाम: Spinacia oleracea) अमरन्थेसी कुल का फूलने वाला पादप है, जिसकी पत्तियाँ एवं तने शाक के रूप में खाये जाते हैं। पालक में खनिज लवण तथा विटामिन पर्याप्त रहते हैं, किंतु ऑक्ज़ैलिक अम्ल की उपस्थिति के कारण कैल्शियम उपलब्ध नहीं होता। यह ईरान तथा उसके आस पास के क्षेत्र का देशज है। ईसा के पूर्व के अभिलेख चीन में हैं, जिनसे ज्ञात होता है कि पालक चीन में नेपाल से गया था। 12वीं शताब्दी में यह अफ्रीका होता हुआ यूरोप पहुँचा।Victor R. Boswell, "Garden Peas and Spinach from the Middle East".

नई!!: नेपाल और पालक · और देखें »

पालुङमैनादी

नेपाल देशके पश्चिमांचल विकास क्षेत्र के लुम्बिनी अंचल में अवस्थित पाल्पा जिल्ला का यें जगा एक अत्याधिक उर्वर एवं घना वस्ती सें भरा हुआ सुन्दर गाँव हैं। नेपाल में इसे गाँउ विकास समिति और गाविस के रूपमें जानाजाता हैं। .

नई!!: नेपाल और पालुङमैनादी · और देखें »

पाल्पा जिला

पाल्पा जिला नेपाल के पश्चिमांचल विकास क्षेत्र के लुम्बिनी अंचल में स्थित एक अत्याधिक उर्वर एवं घना वस्ती समेटा हुवा जिला हैं। इस जिला का क्षेत्रफल १३७३ बर्ग कि॰मी॰ और जनसंख्या करिव ३ लाख हैं। इस जिला के पूर्व में नवलपरासी, उत्तर में गुल्मी, स्यांजा और तनहुँ पश्चिम मे अर्गाखांची और गुल्मी दक्षिण में नवलपरासी और रुपन्देही जिलाएं हैं। ये जिला २७°३४’ से २७°५७’ उत्तरी अक्षांश और ८३°१५’ से ८४°२२’ पूर्वी देशान्तरमें अवस्थित हैं। .

नई!!: नेपाल और पाल्पा जिला · और देखें »

पालेदाइ (फ़िल्म)

कोई विवरण नहीं।

नई!!: नेपाल और पालेदाइ (फ़िल्म) · और देखें »

पाली गाविस

पाली गाविस नेपालके लुम्बिनी अंचलके अर्घाखाँची जिलाकी एक गाँव विकास समिति है। .

नई!!: नेपाल और पाली गाविस · और देखें »

पावै

पावै नेपाल के पूर्वांचल विकास क्षेत्र के सगरमाथा अंचल, सोलुखुम्बु जिला में स्थित गाँव विकास समिति है। .

नई!!: नेपाल और पावै · और देखें »

पांचथर जिला

नेपाल के मेची प्रान्त का जिला। श्रेणी:नेपाल के जिले श्रेणी:प्रदेश संख्या १.

नई!!: नेपाल और पांचथर जिला · और देखें »

पाइल

पाइल नेपाल के सेती अंचल के अछाम जिला के एक गाँव है। .

नई!!: नेपाल और पाइल · और देखें »

पिडिखोला

पिडिखोला नेपाल के पश्चिमांचल विकास क्षेत्र के गण्डकी अंचल के स्यांजा जिला में स्थित एक अत्याधिक उर्वर एवं घना बस्ती वाली ग्राम समिति है। .

नई!!: नेपाल और पिडिखोला · और देखें »

पितृ दिवस

फादर्स डे पिताओं के सम्मान में एक व्यापक रूप से मनाया जाने वाला पर्व हैं जिसमे पितृत्व (फादरहुड), पितृत्व-बंधन तथा समाज में पिताओं के प्रभाव को समारोह पूर्वक मनाया जाता है। अनेक देशों में इसे जून के तीसरे रविवार, तथा बाकी देशों में अन्य दिन मनाया जाता है। यह माता के सम्मान हेतु मनाये जाने वाले मदर्स डे(मातृ-दिवस) का पूरक है। .

नई!!: नेपाल और पितृ दिवस · और देखें »

पिथौरागढ़ तहसील

पिथौरागढ़ तहसील भारत के उत्तराखंड राज्य में पिथौरागढ़ जनपद में एक तहसील है। पिथौरागढ़ जनपद के दक्षिण-पूर्वी भाग में स्थित इस तहसील के मुख्यालय पिथौरागढ़ नगर में स्थित हैं। इसके पूर्व में नेपाल, पश्चिम में गंगोलीहाट तहसील, उत्तर में डीडीहाट तहसील तथा दक्षिण में चम्पावत जनपद की लोहाघाट तहसील है। तहसील के अधिकार क्षेत्र में कुल ३२४ गाँव आते हैं, और २०११ की जनगणना के अनुसार इसकी जनसंख्या १,६६,८०१ है। .

नई!!: नेपाल और पिथौरागढ़ तहसील · और देखें »

पिपरिया

पिपरिया से निम्नलिखित स्थानों का बोध होता है-.

नई!!: नेपाल और पिपरिया · और देखें »

पिपलडाँडा, पाल्पा

नेपाल देशके पश्चिमांचल विकास क्षेत्र के लुम्बिनी अंचल में अवस्थित पाल्पा जिल्ला का यें जगा एक अत्याधिक उर्वर एवं घना वस्ती सें भरा हुआ सुन्दर गाँव हैं। नेपाल में इसे गाँउ विकास समिति और गाविस के रूपमें जानाजाता हैं। .

नई!!: नेपाल और पिपलडाँडा, पाल्पा · और देखें »

पिपलकोट

नेपाल के मानचित्र में दैलेख जिला पिपलकोट नेपाल के दैलेख जिले की एक गाँव विकास समिति है। यह कर्णाली नदी (घाघरा नदी) के किनारे बसा है। .

नई!!: नेपाल और पिपलकोट · और देखें »

पियोरा

पियोरा (Hill Partridge) (Arborophila torqueola) तीतर कुल का एक पक्षी है जो पूर्वोत्तर भारत से लेकर लगभग समूचे दक्षिण पूर्व एशिया में काफ़ी संख्या में पाया जाता है। .

नई!!: नेपाल और पियोरा · और देखें »

पगोडा

सातवीं शती में बना जापान का पांचमंजिला पगोडा पगोडा शब्द का प्रयोग नेपाल, भारत, वर्मा, इंडोनेशिया, थाइलैंड, चीन, जापान एवं अन्य पूर्वीय देशों में भगवान् बुद्ध अथवा किसी संत के अवशेषों पर निर्मित स्तंभाकृति मंदिरों के लिये किया जाता है। इन्हें स्तूप भी कहते हैं। एक अनुमान यह है कि पगोडा शब्द संस्कृत के "दगोबा" के अपभ्रंश रूप में प्रयुक्त हुआ होगा। बर्मी ग्रंथों में पगोडा लंका की भाषा सिंहली के शब्द "डगोबा" का विगड़ा रूप बताया गया है और डगोबा को संस्कृत के शब्द धातुगर्भा से संबंधित कहा गया है, जिसका अर्थ है "पुनीत अवशेषों की स्थापना का स्थल"। .

नई!!: नेपाल और पगोडा · और देखें »

पंच केदार

पंचकेदार (पाँच केदार) हिन्दुओं के पाँच शिव मंदिरों का सामूहिक नाम है। ये मन्दिर भारत के उत्तराखण्ड राज्य के गढ़वाल क्षेत्र में स्थित हैं। इन मन्दिरों से जुड़ी कुछ किंवदन्तियाँ हैं जिनके अनुसार इन मन्दिरों का निर्माण पाण्दवों ने किया था। उत्तराखंड कुमाउँ-गढ्वाल और नेपाल का डोटी भाग में असीम प्राकृतिक सौंदर्य को अपने गर्भ में छिपाए, हिमालय की पर्वत शृंखलाओं के मध्य, सनातन हिन्दू संस्कृति का शाश्वत संदेश देनेवाले, अडिग विश्वास के प्रतीक केदारनाथ और अन्य चार पीठों सहित, नव केदार के नाम से जाने जाते हैं। श्रद्धालु तीर्थयात्री, सदियों से इन पावन स्थलों के दर्शन कर, कृतकृत्य और सफल मनोरथ होते रहे हैं। .

नई!!: नेपाल और पंच केदार · और देखें »

पंचन

पंचन नेपाल के पूर्वांचल विकास क्षेत्र के सगरमाथा अंचल, सोलुखुम्बु जिला में स्थित गाँव विकास समिति है। .

नई!!: नेपाल और पंचन · और देखें »

पंचेश्वर बांध

पंचेश्वर बाँध उत्तराखंड राज्य में भारत-नेपाल सीमा पर बनने वाला बहुउद्देशीय बिजली परियोजना है।.

नई!!: नेपाल और पंचेश्वर बांध · और देखें »

पंजी (मिथिला)

मिथिला (भारत और नेपाल दोनों में) के ब्राह्मण एवं कर्ण कायस्थ समुदायों की लिखित वंशावली को पंजी या पंजी प्रबन्ध कहते हैं। यह हरिद्वार में प्रचलित हिन्दू वंशावली जैसी ही है। पंजीप्रथा का आरम्भ सातवीं सदी में हुआ। इसके अंतर्गत लोगों का वंशवृक्ष रखा जाता था। विवाह के समय इस बात का ध्यान रखा जाता था कि वर पक्ष से सात पीढ़ी और वधू पक्ष से छह पीढ़ी तक उत्पत्ति एक हो। प्रारंभ में यह कंठस्थ था। बाद में स्थानीय स्तर पर कुछ पढ़े-लिखे लोगों ने इसका विवरण रखना शुरू किया। प्रारंभिक छह-सात सौ वर्षों तक यह पूरी तरह व्यवस्थित नहीं हुआ था। 1326 ई. में मिथिला के कर्नाट वंशी शासक हरिसिंह देव के शासनकाल में इसे औपचारिक रूप से लिपिबद्ध और संग्रहित किया गया। इसके लिए उन्होंने रघुनंदन राय नामक एक ब्राह्मण काे गांव-गांव भेजा। उन्होंने स्थानीय लोगों से बात कर उनके वंशवृक्ष के बारे में जानकारी एकत्र की और उसे लिपिबद्ध किया। बाद में भी इसे पीढ़ी दर पीढ़ी अद्यतन किया जाता रहा और अब तक यह कार्य चल रहा है। पंजी में 1700 गांवों की चर्चा है। इसमें 180 मूल वास स्थान हैं, जहां आदि पूर्वजों का जन्म हुआ। 1520 मूलक ग्रामों का उल्लेख है, जहां मूल वास स्थान से स्थानांतरित होने के बाद उनके पूर्वज जाकर बसे। मिथिला के कर्नाट वंशी शासक हरिसिंह देव के समय मैथिल ब्राह्मणों के साथ साथ उस क्षेत्र में रहनेवाले कायस्थ, भूमिहार, राजपूत, वैश्य वर्ण में शामिल कुछ जातियों के भी पंजी बनने का उल्लेख मिलता है। बाद में अद्यतन नहीं करने के कारण विवाह में इनका उपयोग नहीं हो पाता था जिससे अधिकांश पंजियां नष्ट हो गईं। अब केवल मैथिल ब्राह्मणों और कर्ण कायस्थ उपजाति की पंजी मिलती है। इन दोनों जातियों में वैवाहिक संबंध तय करते समय अभी भी पंजी के सहारे वंशवृक्ष मिलाना आवश्यक माना जाता है। मिलान के बिना विवाह पर हंगामा होने लगता है। .

नई!!: नेपाल और पंजी (मिथिला) · और देखें »

पकवादी

पकवादी नेपाल के पश्चिमांचल विकास क्षेत्र के गण्डकी अंचल के स्यांजा जिला में स्थित एक अत्याधिक उर्वर एवं घना बस्ती वाली ग्राम समिति है। .

नई!!: नेपाल और पकवादी · और देखें »

पुतलीबजार नगरपालिका

पुतलीबजार नगरपालिका नेपाल के पश्चिमांचल विकास क्षेत्र के गण्डकी अंचल के स्यांजा जिला में स्थित एक अत्याधिक उर्वर एवं घना बस्ती वाली ग्राम समिति है। .

नई!!: नेपाल और पुतलीबजार नगरपालिका · और देखें »

पुबुदु दस्सानायके

पुबुदु दस्सानायके श्रीलंका के क्रिकेटर हैं। वह नेपाली राष्ट्रीय क्रिकेट टीम के पूर्व प्रमुख प्रशिक्षक समेत हैं। पुबुदुने चार बर्षतक नेपाली क्रिकेट प्रशिक्षण के बागडोर समाला था। .

नई!!: नेपाल और पुबुदु दस्सानायके · और देखें »

पुराण

पुराण, हिंदुओं के धर्म संबंधी आख्यान ग्रंथ हैं। जिनमें सृष्टि, लय, प्राचीन ऋषियों, मुनियों और राजाओं के वृत्तात आदि हैं। ये वैदिक काल के बहुत्का बाद के ग्रन्थ हैं, जो स्मृति विभाग में आते हैं। भारतीय जीवन-धारा में जिन ग्रन्थों का महत्वपूर्ण स्थान है उनमें पुराण भक्ति-ग्रंथों के रूप में बहुत महत्वपूर्ण माने जाते हैं। अठारह पुराणों में अलग-अलग देवी-देवताओं को केन्द्र मानकर पाप और पुण्य, धर्म और अधर्म, कर्म और अकर्म की गाथाएँ कही गई हैं। कुछ पुराणों में सृष्टि के आरम्भ से अन्त तक का विवरण किया गया है। 'पुराण' का शाब्दिक अर्थ है, 'प्राचीन' या 'पुराना'।Merriam-Webster's Encyclopedia of Literature (1995 Edition), Article on Puranas,, page 915 पुराणों की रचना मुख्यतः संस्कृत में हुई है किन्तु कुछ पुराण क्षेत्रीय भाषाओं में भी रचे गए हैं।Gregory Bailey (2003), The Study of Hinduism (Editor: Arvind Sharma), The University of South Carolina Press,, page 139 हिन्दू और जैन दोनों ही धर्मों के वाङ्मय में पुराण मिलते हैं। John Cort (1993), Purana Perennis: Reciprocity and Transformation in Hindu and Jaina Texts (Editor: Wendy Doniger), State University of New York Press,, pages 185-204 पुराणों में वर्णित विषयों की कोई सीमा नहीं है। इसमें ब्रह्माण्डविद्या, देवी-देवताओं, राजाओं, नायकों, ऋषि-मुनियों की वंशावली, लोककथाएं, तीर्थयात्रा, मन्दिर, चिकित्सा, खगोल शास्त्र, व्याकरण, खनिज विज्ञान, हास्य, प्रेमकथाओं के साथ-साथ धर्मशास्त्र और दर्शन का भी वर्णन है। विभिन्न पुराणों की विषय-वस्तु में बहुत अधिक असमानता है। इतना ही नहीं, एक ही पुराण के कई-कई पाण्डुलिपियाँ प्राप्त हुई हैं जो परस्पर भिन्न-भिन्न हैं। हिन्दू पुराणों के रचनाकार अज्ञात हैं और ऐसा लगता है कि कई रचनाकारों ने कई शताब्दियों में इनकी रचना की है। इसके विपरीत जैन पुराण जैन पुराणों का रचनाकाल और रचनाकारों के नाम बताए जा सकते हैं। कर्मकांड (वेद) से ज्ञान (उपनिषद्) की ओर आते हुए भारतीय मानस में पुराणों के माध्यम से भक्ति की अविरल धारा प्रवाहित हुई है। विकास की इसी प्रक्रिया में बहुदेववाद और निर्गुण ब्रह्म की स्वरूपात्मक व्याख्या से धीरे-धीरे मानस अवतारवाद या सगुण भक्ति की ओर प्रेरित हुआ। पुराणों में वैदिक काल से चले आते हुए सृष्टि आदि संबंधी विचारों, प्राचीन राजाओं और ऋषियों के परंपरागत वृत्तांतों तथा कहानियों आदि के संग्रह के साथ साथ कल्पित कथाओं की विचित्रता और रोचक वर्णनों द्वारा सांप्रदायिक या साधारण उपदेश भी मिलते हैं। पुराण उस प्रकार प्रमाण ग्रंथ नहीं हैं जिस प्रकार श्रुति, स्मृति आदि हैं। पुराणों में विष्णु, वायु, मत्स्य और भागवत में ऐतिहासिक वृत्त— राजाओं की वंशावली आदि के रूप में बहुत कुछ मिलते हैं। ये वंशावलियाँ यद्यपि बहुत संक्षिप्त हैं और इनमें परस्पर कहीं कहीं विरोध भी हैं पर हैं बडे़ काम की। पुराणों की ओर ऐतिहासिकों ने इधर विशेष रूप से ध्यान दिया है और वे इन वंशावलियों की छानबीन में लगे हैं। .

नई!!: नेपाल और पुराण · और देखें »

पुरंग ज़िला

पुरंग ज़िला (तिब्बती: སྤུ་ཧྲེང་རྫོང་, Purang County), जिसे चीनी लहजे में बुरंग ज़िला (चीनी: 普兰县, Burang County) कहते हैं, तिब्बत का एक ज़िला है जो उस देश के दक्षिण-पश्चिमी हिस्से में भारत और नेपाल की सीमा के साथ स्थित है। तिब्बत पर चीन का क़ब्ज़ा होने के बाद यह चीनी प्रशासनिक प्रणाली में तिब्बत स्वशासित प्रदेश के न्गारी विभाग में पड़ता है। रुतोग ज़िले की राजधानी पुरंग शहर है जिसे भारतीय और नेपाली लोग तकलाकोट के नाम से जानते आएँ हैं। हिन्दुओं के पवित्र मानसरोवर और कैलाश पर्वत तीर्थस्थल इसी ज़िले में स्थित हैं।, Robert Kelly, John Vincent Bellezza, pp.

नई!!: नेपाल और पुरंग ज़िला · और देखें »

पुर्वांचल विकास क्षेत्र

पूर्वांचल पूर्वांचल विकास क्षेत्र नेपाल का एक प्रान्त है जो नेपाल के पाँच विकास क्षेत्रों में से एक विकास क्षेत्र है। यह नेपाल के सबसे पूर्वी भाग है। इस के पूर्व में भारत का सिक्किम तथा पश्चिम बंगाल का दार्जिलिंग तथा पश्चिम में नेपाल का मध्यमांचल विकास क्षेत्र तथा उत्तर में चीन का तिब्बत तथा दक्षिण में भारत का बिहार स्थित है। पूर्वांचल का मुख्यालय धनकुटा में स्थित है। पूर्वांचल में ३ अंचल तथा १६ जिलें हैं। Category:नेपाल के पूर्व शासन प्रणाली.

नई!!: नेपाल और पुर्वांचल विकास क्षेत्र · और देखें »

पुर्कोट

नेपाल के पश्चिमांचल विकास क्षेत्र के गण्डकी अंचल के तनहुँ जिल्ला में स्थित एक अत्याधिक उर्वर एवं घना वस्ती समेटा हुआ गाँउ विकास समिति हैं। .

नई!!: नेपाल और पुर्कोट · और देखें »

पुलेतोला

पुलेतोला नेपाल के सेती अंचल के अछाम जिला के एक गाँव है। .

नई!!: नेपाल और पुलेतोला · और देखें »

पुष्पा बस्नेत

काठमान्डू बुढानिलकण्ठस्थित तितली घर तितली घरमें पुष्पा बस्नेत पुष्पा बस्नेत एक सामाजिक कार्यकर्ता और Early Childhood Development Center (ECDC) और तितली घर की संस्थापिका है। ', लाभ संगठनों में काठमांडू, नेपाल.

नई!!: नेपाल और पुष्पा बस्नेत · और देखें »

पुष्पकमल दाहाल

पुष्पकमल दाहाल (जन्म:११ दिसम्बर १९५४), जिन्हें नेपाली राजनीति में प्रचंड नाम से संबोधित किया जाता है, व नेपाल के प्रधानमंत्री हैं। 3 अगस्त 2016 को वे दूसरी बार इस पद पर आसीन हुए। वे नेपाल की कम्युनिस्ट पार्टी (माओवादी) तथा इसी पार्टी के सशस्त्र अंग जनमुक्ति सेना के भी शीर्ष नेता हैं। उन्हें नेपाल की राजनीति में १३ फ़रवरी १९९६ से नेपाली जनयुद्ध शुरु करने के लिए जाना जाता है जिसमें लगभग १३,००० नेपाली नागरिकों की हत्या होने का अनुमान लगाया जाता है। प्रचंड द्वारा मार्क्सवाद, लेनिनवाद एवं माओवाद के मिले जुले स्वरूप को नेपाल की परिस्थितियों मे व्याख्यित करने को नेपाल में प्रचंडवाद के नाम से पुकारा जाने लगा है। .

नई!!: नेपाल और पुष्पकमल दाहाल · और देखें »

पुवामझुवा

पुवामझुवा नेपालके मेची अंचलके इलाम जिलाकी एक गाँव विकास समिति है। .

नई!!: नेपाल और पुवामझुवा · और देखें »

प्याज

हरीप्याज प्याज प्याज़ एक वनस्पति है जिसका कन्द सब्ज़ी के रूप में प्रयोग किया जाता है। भारत में महाराष्ट्र में प्याज़ की खेती सबसे ज्यादा होती है। यहाँ साल मे दो बार प्याज़ की फ़सल होती है - एक नवम्बर में और दूसरी मई के महीने के क़रीब होती है। प्याज़ भारत से कई देशों में निर्यात होता है, जैसे कि नेपाल, पाकिस्तान, श्रीलंका, बांग्लादेश, इत्यादि। प्याज़ की फ़सल कर्नाटक, गुजरात, राजस्थान, उत्तर प्रदेश, बिहार, पश्चिम बंगाल मध्य प्रदेश जैसी जगहों पर अलग-अलग समय पर तैयार होती है। विश्व में प्याज 1,789 हजार हेक्टर क्षेत्रफल में उगाई जाती हैं, जिससे 25,387 हजार मी.

नई!!: नेपाल और प्याज · और देखें »

प्याङ

प्याङ नेपालके मेची अंचलके इलाम जिलाकी एक गाँव विकास समिति है। .

नई!!: नेपाल और प्याङ · और देखें »

प्युठान जिला

नेपाल के राप्ती प्रान्त का जिला। श्रेणी:नेपाल के जिले.

नई!!: नेपाल और प्युठान जिला · और देखें »

प्रचंड

कोई विवरण नहीं।

नई!!: नेपाल और प्रचंड · और देखें »

प्रणब

प्रणब एक भारतीय नाम है जो प्रणव का अपभ्रंश है। यह असमीया, बंगाली, ओड़िया और नेपाली में काफी प्रचलित है। दक्षिण ओडिशा में इसे भगवान का मिथक माना जाता है। .

नई!!: नेपाल और प्रणब · और देखें »

प्रताप मल्ल

प्रताप मल्ल (1624–74 ई.), नेपाल के मल्ल राजवंश के राजा थे। वे कान्तिपुर के ९वें राजा थे और १६४१ से १६७४ ई. तक शासन किया। उन्होने ललितपुर और भक्तपुर को जीतने तथा काठमांडू उपत्यका के एकीकरण का प्रयत्न किया था किन्तु असफल रहे। श्रेणी:मल्ल राजवंश श्रेणी:नेपाल के शासक.

नई!!: नेपाल और प्रताप मल्ल · और देखें »

प्रदेश सभा

प्रदेश सभा नेपाल के प्रदेशों का विधान सभा है। नेपाल के सभी प्रदेशों का विधान सभा एकसदनीय है। नेपाल में सभी प्रदेशों के मिलाकर कुल ५५० प्रदेश सभा सीटें हैं, जिनमें से ३३० सीटों पर हर पार्टी का एक-एक उम्मीदवार या स्वतंत्र उम्मीदवार खड़ा हो सकता है और फर्स्ट पास्ट द पोस्ट मतदान प्रणाली के द्वारा चुना जाता है। बाँकी २२० सीटों पर आनुपातिक प्रतिनिधान मतदान प्रणाली के द्वारा उम्मीदवार चुने जाते हैं। आनुपातिक प्रतिनिधान प्रणाली के अनुसार मतदाता पूरे देश को एकल चुनाव निर्वाचन क्षेत्र समझ कर राजनीतिक दलों के लिए मतदान करते हैं। श्रेणी:नेपाल सरकार.

नई!!: नेपाल और प्रदेश सभा · और देखें »

प्रदेश संख्या १

प्रदेश संख्या १ नेपाल के सात प्रदेशों में से एक है। २० सितम्बर २०१५ को लागू हुए संविधान में नए सात प्रदेशों का प्रावधान है। इस प्रदेश का नामांकन प्रदेश संसद (विधान परिषद) द्वारा किया जाएगा। इसकी राजधानी कहाँ होगी यह भी प्रदेश संसद द्वारा निर्धारित किया जाएगा। इस प्रदेश के पूर्व में भारत का सिक्किम राज्य है तथा साथ में पश्चिम बंगाल का उत्तरी हिस्सा दार्जीलिंग सटा हुआ है। उत्तर में हिमालय के उस पार तिब्बत स्थित है रही तो दक्षिण में भारत का बिहार स्थित है। २५,९०५ वर्ग किमी के क्षेत्रफल में ४४ निर्वाचन क्षेत्र फैले हुए हैं। १०,४३८ किमी२ का क्षेत्रफल पर्वतों से घिरा हुआ है, १०,७४९ किमी२ का क्षेत्रफल पहाड़ी है और पूर्वी तराई का फैलाव ४,७१८ किमी२ में है। निपआ.

नई!!: नेपाल और प्रदेश संख्या १ · और देखें »

प्रदेश संख्या २

प्रदेश संख्या २ नेपाल के सात प्रदेशो में से एक हैi २० सितम्बर २०१५ को लागू हुए संविधान में नए सात प्रदेशों का प्रावधान है। इस प्रदेश का नामांकन प्रदेश संसद (विधान परिषद) द्वारा किया जाएगा। इसकी राजधानी कहाँ होगी यह भी प्रदेश संसद द्वारा निर्धारित किया जाएगा। नेपाल के इस प्रदेश में मुख्य रूप से मैथिली भाषा बोलने वाले लोग हैं। मैथिली बोलने वाले लोग इस के आठो परसा जिले से सप्तरी जिले तक में लगभग पाये जाते हैं। उप-महानगर जनकपुर, जनकपुरधाम नाम से भी जाना जाता है, जो धार्मिक और सांस्कृतिक पर्यटन का केंद्र है।Rastriya Samachar Samiti (2004).

नई!!: नेपाल और प्रदेश संख्या २ · और देखें »

प्रदेश संख्या ७

प्रदेश संख्या ७, नेपाल के सात प्रदेशों में से एक है जो नेपाल के सब से पश्चिम में स्थित है। इस प्रदेश में निम्न ९ जिले हैं.

नई!!: नेपाल और प्रदेश संख्या ७ · और देखें »

प्रदीप ऐरी

प्रदीप ऐरी नेपाली राष्ट्रीय क्रिकेट टीम से खेलने खिलाड़ी हैं। श्रेणी:व्यक्तिगत जीवन श्रेणी:1992 में जन्मे लोग श्रेणी:जीवित लोग श्रेणी:नेपाल के लोग श्रेणी:नेपाली क्रिकेट खिलाड़ी.

नई!!: नेपाल और प्रदीप ऐरी · और देखें »

प्रयाग प्रशस्ति

प्रयाग प्रशस्ति गुप्त राजवंश के सम्राट समुद्रगुप्त के दरबारी कवि हरिषेण द्वारा रचित लेख था। इस लेख को समुद्रगुप्त द्वारा २०० ई में कौशाम्बी से लाये गए अशोक स्तंभ पर खुदवाया गया था। इसमें उन राज्यों का वर्णन है जिन्होंने समुद्रगुप्त से युद्ध किया और हार गये तथा उसके अधीन हो गये। इसके अलावा समुद्रगुप्त ने अलग अलग स्थानों पर एरण प्रशस्ति, गया ताम्र शासन लेख, आदि भी खुदवाये थे। इस प्रशस्ति के अनुसार समुद्रगुप्त ने अपने साम्राज्य का अच्छा विस्तार किया था। उसको क्रान्ति एवं विजय में आनन्द मिलता था। इलाहाबाद के अभिलेखों से पता चलता है कि समुद्रगुप्त ने अपनी विजय यात्रा का प्रारम्भ उत्तर भारत से किया एवं यहां के अनेक राजाओं पर विजय प्राप्त की। .

नई!!: नेपाल और प्रयाग प्रशस्ति · और देखें »

प्राचीन तंत्र साहित्य

आगम ग्रंथ (तन्त्र ग्रन्थ) में साधारणतया चार पाद होते है - ज्ञान, योग, चर्या और क्रिया। इन पादों में इस समय कोई-कोई पाद लुप्त हो गया है, ऐसा प्रतीत होता है और मूल आगम भी सर्वांश में पूर्णतया उपलब्ध नहीं होता, परंतु जितना भी उपलब्ध होता है वही अत्यंत विशाल है, इसमें संदेह नहीं। प्राचीन आगमों का विभाग इस प्रकार हो सकता है.

नई!!: नेपाल और प्राचीन तंत्र साहित्य · और देखें »

प्राप्चा

प्राप्चा नेपाल के पूर्वांचल विकास क्षेत्र के सगरमाथा अंचल, ओखलढुंगा जिला में स्थित गाँव विकास समिति है। .

नई!!: नेपाल और प्राप्चा · और देखें »

प्रियंका कार्की

प्रियंका कार्की नेपाली चलचित्र क्षेत्रको एक चर्चित मोडल तथा अभिनेत्री हैं। .

नई!!: नेपाल और प्रियंका कार्की · और देखें »

प्रकाश न्यौपाने

प्रकाश न्यौपाने नेपाल के गीत संगीत जगत में एक पॉप गायक है । । .

नई!!: नेपाल और प्रकाश न्यौपाने · और देखें »

प्रेमेजुङ

प्रेमेजुङकी उत्तरी दृष्य प्रेमेजुङ पूर्वी नेपाल का एक सुन्दर गांव है। यह गांव मेची अंचल के इलाम जिला के अन्तर्गत पड़ता है। श्रेणी:नेपाल की जगह श्रेणी:नेपाल.

नई!!: नेपाल और प्रेमेजुङ · और देखें »

प्रीति दुबे

प्रीति दुबे (जन्म: 13 जून 1998) एक भारतीय हॉकी खिलाड़ी हैं। यह भारतीय महिला हॉकी टीम में हैं और 2016 के ग्रीष्मकालीन ओलंपिक में भाग भी लिया था। यह अब तक 19 अंतरराष्ट्रीय टोपी प्राप्त कर चुकी हैं और 5 गोल भी दागे हैं। .

नई!!: नेपाल और प्रीति दुबे · और देखें »

पौराणिक बृद्धकेदार

पौराणिक बृद्धकेदार भारतवर्ष के उत्तराखण्ड राज्य के अल्मोड़ा जिले के अन्तर्गत पाली पछांऊॅं इलाके में रामगंगा नदी के पश्चिमी तट पर स्थित है। इसे बृद्धकेदार अथवा बूढ़ाकेदार भी कहा जाता है। स्थानीय अनुभववेत्ताओं के मतानुसार इस वैदिक काल के शिवालय को पहला नेपाल स्थित पशुपतिनाथ मन्दिर का अंश समझा जाता है तो दूसरी ओर केदारनाथ मन्दिर की शाखा। परन्तु यह सत्य है, विनोद नदी व रामगंगा नदी के संगम से शुरू हुई पर्वत माला के ऊत्तरी छोर पर केदारनाथ मन्दिर विराजमान है। भारतवर्ष में शायद यही एक शिवालय है जहॉं पर महाशिव का धड़ स्थापित है। इसकी स्थापना का अनुमान पन्द्रहवीं व सोलहवीं शताब्दी के मध्य का माना जाता रहा है। .

नई!!: नेपाल और पौराणिक बृद्धकेदार · और देखें »

पौवेगौडा

पौवेगौडा नेपाल के पश्चिमांचल विकास क्षेत्र के गण्डकी अंचल के स्यांजा जिला में स्थित एक अत्याधिक उर्वर एवं घना बस्ती वाली ग्राम समिति है। .

नई!!: नेपाल और पौवेगौडा · और देखें »

पृथु बास्कोटा

पृथु बास्कोटा नेपाली क्रिकेट खिलाड़ी हैं। .

नई!!: नेपाल और पृथु बास्कोटा · और देखें »

पृथ्वी नारायण शाह

पृथ्वी नारायण शाह गोरखा दरबार पृथ्वी नारायण शाह (1722 - 1775) नेपाल के राजा थे जिन्होने काठमाण्डू उपत्यका के छोटे से गोरखा राज्य का विस्तार किया। मल्ल राजवंश के अन्दर कई भागों में बिखरे नेपाल को उन्होने एकत्रित किया और मल्ल राजवंश का शासन समाप्त हुआ। पृथ्वी नारायण शाह को आधुनिक नेपाल का जनक माना जाता है। उन्होने ही नेपाल के एकीकरण अभियान की शुरूआत की थी। .

नई!!: नेपाल और पृथ्वी नारायण शाह · और देखें »

पृथ्वीनगर

पृथ्वीनगर नेपालके मेची अंचलके झापा जिला का एक गाँव विकास समिति है। .

नई!!: नेपाल और पृथ्वीनगर · और देखें »

पृथ्वीराज चौहान

पृथ्वीराज चौहान (भारतेश्वरः पृथ्वीराजः, Prithviraj Chavhan) (सन् 1178-1192) चौहान वंश के हिंदू क्षत्रिय राजा थे, जो उत्तर भारत में १२ वीं सदी के उत्तरार्ध में अजमेर (अजयमेरु) और दिल्ली पर राज्य करते थे। वे भारतेश्वर, पृथ्वीराजतृतीय, हिन्दूसम्राट्, सपादलक्षेश्वर, राय पिथौरा इत्यादि नाम से प्रसिद्ध हैं। भारत के अन्तिम हिन्दूराजा के रूप में प्रसिद्ध पृथ्वीराज १२३५ विक्रम संवत्सर में पंद्रह वर्ष (१५) की आयु में राज्य सिंहासन पर आरूढ हुए। पृथ्वीराज की तेरह रानीयाँ थी। उन में से संयोगिता प्रसिद्धतम मानी जाती है। पृथ्वीराज ने दिग्विजय अभियान में ११७७ वर्ष में भादानक देशीय को, ११८२ वर्ष में जेजाकभुक्ति शासक को और ११८३ वर्ष में चालुक्य वंशीय शासक को पराजित किया। इन्हीं वर्षों में भारत के उत्तरभाग में घोरी (ग़ोरी) नामक गौमांस भक्षण करने वाला योद्धा अपने शासन और धर्म के विस्तार की कामना से अनेक जनपदों को छल से या बल से पराजित कर रहा था। उसकी शासन विस्तार की और धर्म विस्तार की नीत के फलस्वरूप ११७५ वर्ष से पृथ्वीराज का घोरी के साथ सङ्घर्ष आरंभ हुआ। उसके पश्चात् अनेक लघु और मध्यम युद्ध पृथ्वीराज के और घोरी के मध्य हुए।विभिन्न ग्रन्थों में जो युद्ध सङ्ख्याएं मिलती है, वे सङ्ख्या ७, १७, २१ और २८ हैं। सभी युद्धों में पृथ्वीराज ने घोरी को बन्दी बनाया और उसको छोड़ दिया। परन्तु अन्तिम बार नरायन के द्वितीय युद्ध में पृथ्वीराज की पराजय के पश्चात् घोरी ने पृथ्वीराज को बन्दी बनाया और कुछ दिनों तक 'इस्लाम्'-धर्म का अङ्गीकार करवाने का प्रयास करता रहा। उस प्रयोस में पृथ्वीराज को शारीरक पीडाएँ दी गई। शरीरिक यातना देने के समय घोरी ने पृथ्वीराज को अन्धा कर दिया। अन्ध पृथ्वीराज ने शब्दवेध बाण से घोरी की हत्या करके अपनी पराजय का प्रतिशोध लेना चाहा। परन्तु देशद्रोह के कारण उनकी वो योजना भी विफल हो गई। एवं जब पृथ्वीराज के निश्चय को परिवर्तित करने में घोरी अक्षम हुआ, तब उसने अन्ध पृथ्वीराज की हत्या कर दी। अर्थात्, धर्म ही ऐसा मित्र है, जो मरणोत्तर भी साथ चलता है। अन्य सभी वस्तुएं शरीर के साथ ही नष्ट हो जाती हैं। इतिहासविद् डॉ.

नई!!: नेपाल और पृथ्वीराज चौहान · और देखें »

पैसा

पैसा भारत की राष्ट्रीय मुद्रा रुपया का सौवा हिस्सा है। यह नाम बांग्लादेश, पाकिस्तान, नेपाल में भी है। यह बांग्लादेश के अलावा सभी देशों में रुपये के भाग होता है। जबकि यह बांग्लादेश में टका इसके भाग का होता है। .

नई!!: नेपाल और पैसा · और देखें »

पूर्वाञ्चल विश्वविद्यालय

पूर्वांचल विश्वविद्यालय पूर्वी नेपाल के विराटनगर में स्थापित नेपाल का पहला क्षेत्रीय विश्वविद्यालय है। इसकी स्थापना सन् 1995 में हुई थी। यह ५४५ हेक्टेयर भूमि पर फैला हुआ है। .

नई!!: नेपाल और पूर्वाञ्चल विश्वविद्यालय · और देखें »

पूर्वांचल

उत्तर प्रदेश के क्षेत्र पूर्वांचल उत्तर-मध्य भारत का एक भौगोलिक क्षेत्र है जो उत्तर प्रदेश के पूर्वी छोर पर स्थित है। यह उत्तर में नेपाल, पूर्व में बिहार, दक्षिण मे मध्य प्रदेश के बघेलखंड क्षेत्र और पश्चिम मे उत्तर प्रदेश के अवध क्षेत्र द्वारा घिरा है। इसे एक अलग राज्य बनाने के लिए लंबे समय राजनीतिक मांग उठती रही है। वर्तमान में इस क्षेत्र का प्रतिनिधित्व उत्तर प्रदेश विधानसभा में 117 विधायकों द्वारा होता है तो वहीं इस क्षेत्र से 23 लोकसभा सदस्य चुने जाते हैं। पूर्वांचल के मुख्यतः तीन भाग हैं- पश्चिम में पूर्वी अवधी क्षेत्र, पूर्व में पश्चिमी-भोजपुरी क्षेत्र और उत्तर में नेपाल क्षेत्र। यह भारतीय-गंगा मैदान पर स्थित है और पश्चिमी बिहार के साथ यह दुनिया में सबसे अधिक घनी आबादी वाला क्षेत्र है। उत्तर प्रदेश के आसपास के जिलों की तुलना में मिट्टी की समृद्ध गुणवत्ता और उच्च केंचुआ घनत्व के कारण कृषि के लिए अनुकूल है। भोजपुरी क्षेत्र में प्रमुख भाषा या बोली है। हालाँकि इस क्षेत्र में हिंदी और भोजपुरी के अलावा अवधी तथा बघेलखंडी पश्चिमी और दक्षिणी क्षेत्रों में बोली जाती हैं।। 1991 में उत्तर प्रदेश की सरकार ने पूर्वांचल विकास निधि की स्थापना की जिसका उद्देश्य था क्षेत्रीय विकास परियोजनाओं के लिये धन इकट्ठा करना जिससे भविष्य में संतुलित विकास के जरिए स्थानीय जरूरतों को पूरा करते हुए क्षेत्रीय असमानताओं का निवारण हो सके। .

नई!!: नेपाल और पूर्वांचल · और देखें »

पूर्वोत्तर भारत

पूर्वोत्तर भारत से आशय भारत के सर्वाधिक पूर्वी क्षेत्रों से है जिसमें एक साथ जुड़े 'सात बहनों' के नाम से प्रसिद्ध राज्य, सिक्किम तथा उत्तरी बंगाल के कुछ भाग (दार्जीलिंग, जलपाईगुड़ी और कूच बिहार के जिले) शामिल हैं। पूर्वोत्तर भारत सांस्कृतिक दृष्टि से भारत के अन्य राज्यों से कुछ भिन्न है। भाषा की दृष्टि से यह क्षेत्र तिब्बती-बर्मी भाषाओँ के अधिक प्रचलन के कारण अलग से पहचाना जाता है। इस क्षेत्र में वह दृढ़ जातीय संस्कृति व्याप्त है जो संस्कृतीकरण के प्रभाव से बची रह गई थी। इसमें विशिष्ट श्रेणी के मान्यता प्राप्त आठ राज्य भी हैं। इन आठ राज्यों के आर्थिक और सामाजिक विकास के लिए 1971 में पूर्वोतर परिषद (नॉर्थ ईस्टर्न काउंसिल / NEC) का गठन एक केन्द्रीय संस्था के रूप में किया गया था। नॉर्थ ईस्टर्न डेवेलपमेंट फाइनेंस कारपोरेशन लिमिटेड (NEDFi) का गठन 9 अगस्त 1995 को किया गया था और उत्तरपूर्वीय क्षेत्र विकास मंत्रालय (DoNER) का गठन सितम्बर 2001 में किया गया था। उत्तरपूर्वीय राज्यों में सिक्किम 1947 में एक भारतीय संरक्षित राज्य और उसके बाद 1975 में एक पूर्ण राज्य बन गया। पश्चिम बंगाल में स्थित सिलीगुड़ी कॉरिडोर जिसकी औसत चौड़ाई 21 किलोमीटर से 40 किलोमीटर के बीच है, उत्तरपूर्वीय क्षेत्र को मुख्य भारतीय भू-भाग से जोड़ता है। इसकी सीमा का 2000 किलोमीटर से भी अधिक क्षेत्र अन्य देशों: नेपाल, चाइना, भूटान, बर्मा और बांग्लादेश के साथ लगती है। .

नई!!: नेपाल और पूर्वोत्तर भारत · और देखें »

पूर्वोत्तर सीमा रेलवे

पूर्वोत्तर सीमा रेलवे (Northeast Frontier Railway), रेलवे बोर्ड, मत्रांलय के अधीन कार्यरत 16 जोनल रेल में से एक है। जैसा कि नाम है “पूर्वोत्तर सीमा रेल” भारत के पूर्वोत्तर क्षेत्र में स्थित सभी राज्य बिहार, पश्चिम बंगाल, असम, नगालैंड, अरुणाचल प्रदेश, मिजोरम तथा त्रिपुरा को स्पर्श करता है। पू0 सी0 रेल भारत की सेवा में समर्पित है और इस क्षेत्र की विशेष आवश्यकताओं को पूरा करने की सच्ची आश ने इस रेल के निष्पादन को सुधारने में काफी मदद की है। बंगलादेश के साथ अंर्तबदल सुविधा तथा नेपाल और भूटान के लिए रेल शीर्ष के रूप में कार्य करने के अलावा पू0 सी0 रेल कुल 10 राज्यों की सेवा करती है। .

नई!!: नेपाल और पूर्वोत्तर सीमा रेलवे · और देखें »

पूर्वी चंपारण

पूर्वी चंपारण बिहार के तिरहुत प्रमंडल का एक जिला है। चंपारण को विभाजित कर 1971 में बनाए गए पूर्वी चंपारण का मुख्यालय मोतिहारी है। चंपारण का नाम चंपा + अरण्य से बना है जिसका अर्थ होता है- चम्‍पा के पेड़ों से आच्‍छादित जंगल। पूर्वी चम्‍पारण के उत्‍तर में एक ओर जहाँ नेपाल तथा दक्षिण में मुजफ्फरपुर स्थित है, वहीं दूसरी ओर इसके पूर्व में शिवहर और सीतामढ़ी तथा पश्चिम में पश्चिमी चम्‍पारण जिला है। .

नई!!: नेपाल और पूर्वी चंपारण · और देखें »

पेलाकोट

पेलाकोट नेपाल के पश्चिमांचल विकास क्षेत्र के गण्डकी अंचल के स्यांजा जिला में स्थित एक अत्याधिक उर्वर एवं घना बस्ती वाली ग्राम समिति है। .

नई!!: नेपाल और पेलाकोट · और देखें »

पेल्काचौर

पेल्काचौर नेपाल के पश्चिमांचल विकास क्षेत्र के गण्डकी अंचल के स्यांजा जिला में स्थित एक अत्याधिक उर्वर एवं घना बस्ती वाली ग्राम समिति है। .

नई!!: नेपाल और पेल्काचौर · और देखें »

पोरोंग री

पोरोंग री (Porong Ri) हिमालय के लांगटांग क्षेत्र में स्थित एक पर्वत है जो विश्व का 86वाँ पर्वत है। यह तिब्बत में नेपाल की सीमा से १ किलोमीटर पूर्वोत्तर में स्थित है। .

नई!!: नेपाल और पोरोंग री · और देखें »

पोखरा

पोखरा घाट स्तिथ बहुत ही सुंधर नेपाल में एक जगह है। पोखरा नेपाल के पश्चिमांचल विकास क्षेत्र मैं अवस्थित एक नगर है। यह नगर गण्डकी अंचल का कास्की जिला के पोखरा घाटी मैं स्थित है। यह नेपाल का दूसरा बडा शहर है। पोखरा नेपाल के पश्चिमांचल विकास क्षेत्र, गण्डकी अंचल और कास्की जिला का सदरमुकाम है। .

नई!!: नेपाल और पोखरा · और देखें »

पोखरा विश्वविधालय

पोखरा विश्वविधालय पश्चिम नेपालके पोखरा शहर मे अवस्थित् है। यह विश्वविधालय सन् 1996 मे स्थापित हुआ था। वर्तमान में इस विश्वविधालय मे 4900 विधार्थी अध्यनरत है। इस विश्वविधालयमे के साथ आंगीक और संबद्धता प्राप्त देश भर 24 कैम्प्स है। .

नई!!: नेपाल और पोखरा विश्वविधालय · और देखें »

पोखराथोक

नेपाल देशके पश्चिमांचल विकास क्षेत्र के लुम्बिनी अंचल में अवस्थित पाल्पा जिल्ला का यें जगा एक अत्याधिक उर्वर एवं घना वस्ती सें भरा हुआ सुन्दर गाँव हैं। नेपाल में इसे गाँउ विकास समिति और गाविस के रूपमें जानाजाता हैं। .

नई!!: नेपाल और पोखराथोक · और देखें »

पोखराथोक, अर्घाखाँची

पोखराथोक, अर्घाखाँची नेपालके लुम्बिनी अंचलके अर्घाखाँची जिलाकी एक गाँव विकास समिति है। .

नई!!: नेपाल और पोखराथोक, अर्घाखाँची · और देखें »

पोखरे

पोखरे नेपाल के पूर्वांचल विकास क्षेत्र के सगरमाथा अंचल, ओखलढुंगा जिला में स्थित गाँव विकास समिति है। .

नई!!: नेपाल और पोखरे · और देखें »

पोखरी

पोखरी नेपालके पुर्वांचल विकास क्षेत्रके सगरमाथा अंचलके उदयपुर जिलाकी एक गाँव विकास समिति है। .

नई!!: नेपाल और पोखरी · और देखें »

पोखरी भञ्ज्याङ

नेपाल के पश्चिमांचल विकास क्षेत्र के गण्डकी अंचल के तनहुँ जिल्ला में स्थित एक अत्याधिक उर्वर एवं घना वस्ती समेटा हुआ गाँउ विकास समिति हैं। .

नई!!: नेपाल और पोखरी भञ्ज्याङ · और देखें »

पोगो

पोगो एक भारत में प्रसारित होने वाला एक बाल चैनल है। यह एक पूर्व अंग्रेज़ी चैनल है। पोगो जो १ जनवरी २००४ को भारत में शरू हुई, वह टर्नर ब्रोडकास्टिंग की केबल और सेटेलाइट टेलीविजन चैनल है, यह चैनल टाइम वॉर्नर की एक इकाई है जो एनिमेटेड प्रोग्रामिंग केलिए बनी है। इस के आलावा यह चैनल पर कुछ जीवंत कार्यक्रम भी दिखाए जाते हैं, जिनका मुख्यालय बम्बई, महाराष्ट्र में है। पाकिस्तान और बंगलादेश में पोगो कार्टून नेटवर्क की जगह ३ घंटे दिखाई जाती है। .

नई!!: नेपाल और पोगो · और देखें »

पोकली

पोकली नेपाल के पूर्वांचल विकास क्षेत्र के सगरमाथा अंचल, ओखलढुंगा जिला में स्थित गाँव विकास समिति है। .

नई!!: नेपाल और पोकली · और देखें »

पीपल

''पीपल की कोपलें'' पीपल (अंग्रेज़ी: सैकरेड फिग, संस्कृत:अश्वत्थ) भारत, नेपाल, श्री लंका, चीन और इंडोनेशिया में पाया जाने वाला बरगद, या गूलर की जाति का एक विशालकाय वृक्ष है जिसे भारतीय संस्कृति में महत्त्वपूर्ण स्थान दिया गया है तथा अनेक पर्वों पर इसकी पूजा की जाती है। बरगद और गूलर वृक्ष की भाँति इसके पुष्प भी गुप्त रहते हैं अतः इसे 'गुह्यपुष्पक' भी कहा जाता है। अन्य क्षीरी (दूध वाले) वृक्षों की तरह पीपल भी दीर्घायु होता है। इसके फल बरगद-गूलर की भांति बीजों से भरे तथा आकार में मूँगफली के छोटे दानों जैसे होते हैं। बीज राई के दाने के आधे आकार में होते हैं। परन्तु इनसे उत्पन्न वृक्ष विशालतम रूप धारण करके सैकड़ों वर्षो तक खड़ा रहता है। पीपल की छाया बरगद से कम होती है, फिर भी इसके पत्ते अधिक सुन्दर, कोमल और चंचल होते हैं। वसंत ऋतु में इस पर धानी रंग की नयी कोंपलें आने लगती है। बाद में, वह हरी और फिर गहरी हरी हो जाती हैं। पीपल के पत्ते जानवरों को चारे के रूप में खिलाये जाते हैं, विशेष रूप से हाथियों के लिए इन्हें उत्तम चारा माना जाता है। पीपल की लकड़ी ईंधन के काम आती है किंतु यह किसी इमारती काम या फर्नीचर के लिए अनुकूल नहीं होती। स्वास्थ्य के लिए पीपल को अति उपयोगी माना गया है। पीलिया, रतौंधी, मलेरिया, खाँसी और दमा तथा सर्दी और सिर दर्द में पीपल की टहनी, लकड़ी, पत्तियों, कोपलों और सीकों का प्रयोग का उल्लेख मिलता है। .

नई!!: नेपाल और पीपल · और देखें »

पीयूष गोयल (लेखक)

डॉ॰ पीयूष गोयल (जन्म: १० फरवरी, १९६७, दादरी, उत्तर प्रदेश) एक भारतीय लेखक, साहित्यकार, विश्व रिकॉर्ड होल्डर, एवं कलाकार हैं। वें लिम्का बुक ऑफ़ रिकार्ड्स, इंडिया बुक ऑफ़ रिकार्ड्स और एवेरेस्ट वर्ल्डस रिकार्ड्स में नाम दर्ज करा चुके है। "पीयूषवाणी" नामक पुस्तक के रचयिता हैं। इन्हें वर्ल्ड रिकॉर्ड यूनिवर्सिटी, लन्दन द्वारा वर्ष २०१४ में डॉक्ट्रेट की मानद उपाधि प्राप्त है। .

नई!!: नेपाल और पीयूष गोयल (लेखक) · और देखें »

पीला-पेट रासू

पीले-पेट वाला रासू या कथिया न्याल (अंग्रेज़ी: Yellow-bellied weasel) एक प्रकार का रासू है जो भूटान, भारत, नेपाल, चीन, म्यानमार, थाईलैंड, लाओस और वियतनाम के पहाड़ों में चीड़ के वनों में रहता है। रासू एक नेवले जैसे दिखने वाले जानवरों का समूह है। पीले-पेट रासूओं का नाम उनके पेट के पीले रंग से पड़ा है। इनके बदन का ऊपरी हिस्सा और इनकी दुम भूरी या ख़ाकी होती हैं। इनके शरीर लगभग 25-27 सेमी लम्बे और दुमें 12-15 सेमी लम्बी होती हैं। इनका वज़न 1.5 किलो के आसपास होता है। .

नई!!: नेपाल और पीला-पेट रासू · और देखें »

पीलीभीत जिला

पीलीभीत भारतीय के उत्तर प्रदेश प्रांत का एक जिला है, जिसका मुख्यालय पीलीभीत है। इस जिले की साक्षरता - ६१% है, समुद्र तल से ऊँचाई -१७१ मीटर और औसत वर्षा - १४०० मि.मी.

नई!!: नेपाल और पीलीभीत जिला · और देखें »

फणीश्वर नाथ "रेणु"

फणीश्वर नाथ 'रेणु' (४ मार्च १९२१ औराही हिंगना, फारबिसगंज - ११ अप्रैल १९७७) एक हिन्दी भाषा के साहित्यकार थे। इनके पहले उपन्यास मैला आंचल को बहुत ख्याति मिली थी जिसके लिए उन्हें पद्मश्री पुरस्कार से सम्मानित किया गया था। .

नई!!: नेपाल और फणीश्वर नाथ "रेणु" · और देखें »

फ़सल

पंजाब राज्य के एक ग्रामीण घर में सूखती फ़सल फसल या सस्य किसी समय-चक्र के अनुसार वनस्पतियों या वृक्षों पर मानवों व पालतू पशुओं के उपभोग के लिए उगाकर काटी या तोड़ी जाने वाली पैदावार को कहते हैं।, pp.

नई!!: नेपाल और फ़सल · और देखें »

फ़ाहियान

फ़ाहियान के यात्रा-वृत्तान्त का पहला पन्ना फ़ाहियान या फ़ाशियान (चीनी: 法顯 या 法显, अंग्रेज़ी: Faxian या Fa Hien; जन्म: ३३७ ई; मृत्यु: ४२२ ई अनुमानित) एक चीनी बौद्ध भिक्षु, यात्री, लेखक एवं अनुवादक थे जो ३९९ ईसवी से लेकर ४१२ ईसवी तक भारत, श्रीलंका और आधुनिक नेपाल में स्थित गौतम बुद्ध के जन्मस्थल कपिलवस्तु धर्मयात्रा पर आए। उनका ध्येय यहाँ से बौद्ध ग्रन्थ एकत्रित करके उन्हें वापस चीन ले जाना था। उन्होंने अपनी यात्रा का वर्णन अपने वृत्तांत में लिखा जिसका नाम बौद्ध राज्यों का एक अभिलेख: चीनी भिक्षु फ़ा-शियान की बौद्ध अभ्यास-पुस्तकों की खोज में भारत और सीलोन की यात्रा था। उनकी यात्रा के समय भारत में गुप्त राजवंश के चन्द्रगुप्त विक्रमादित्य का काल था और चीन में जिन राजवंश काल चल रहा था। फा सिएन पिंगगयांग का निवासी था जो वर्तमान शांसी प्रदेश में है। उसने छोटी उम्र में ही सन्यास ले लिया था। उसने बौद्ध धर्म के सद्विचारों के अनुपालन और संवर्धन में अपना जीवन बिताया। उसे प्रतीत हुआ कि विनयपिटक का प्राप्य अंश अपूर्ण है, इसलिए उसने भारत जाकर अन्य धार्मिक ग्रंथों की खोज करने का निश्चय किया। लगभग ६५ वर्ष की उम्र में कुछ अन्य बंधुओं के साथ, फाहिएन ने सन् ३९९ ई. में चीन से प्रस्थान किया। मध्य एशिया होते हुए सन् ४०२ में वह उत्तर भारत में पहुँचा। यात्रा के समय उसने उद्दियान, गांधार, तक्षशिला, उच्छ, मथुरा, वाराणसी, गया आदि का परिदर्शन किया। पाटलिपुत्र में तीन वर्ष तक अध्ययन करने के बाद दो वर्ष उसने ताम्रलिप्ति में भी बिताए। यहाँ वह धर्मसिद्धांतों की तथा चित्रों की प्रतिलिपि तैयार करता रहा। यहाँ से उसने सिंहल की यात्रा की और दो वर्ष वहाँ भी बिताए। फिर वह यवद्वीप (जावा) होते हुए ४१२ में शांतुंग प्रायद्वीप के चिंगचाऊ स्थान में उतरा। अत्यंत वृत्र हो जाने पर भी वह अपने पवित्र लक्ष्य की ओर अग्रसर होता रहा। चिएन कांग (नैनकिंग) पहुँचकर वह बौद्ध धर्मग्रंथों के अनुवाद के कार्य में संलग्न हो गा। अन्य विद्वानों के साथ मिलकर उसने कई ग्रंथों का अनुवाद किया, जिनमें से मुख्य हैं-परिनिर्वाणसूत्र और महासंगिका विनय के चीनी अनुवाद। 'फौ-कुओ थी' अर्थात् 'बौद्ध देशों का वृत्तांत' शीर्षक जो आत्मचरित् उसने लिखा है वह एशियाई देशों के इतिहास की दृष्टि से महत्वपूर्ण है। विश्व की अनेक भाषाओं में इसका अनुवाद किया जा चुका है। .

नई!!: नेपाल और फ़ाहियान · और देखें »

फ़िन की बया

फ़िन की बया एक छोटी बुनकर चिड़िया की जाति है जो भारत और नेपाल में गंगा तथा ब्रह्मपुत्र की घाटियों में पाई जाती है। इसकी दो उपजातियाँ पहचानी जाती हैं—प्लोसिअस मॅगरहिन्चस, जो कि कुमाऊँ में और प्लोसिअस सलीमअली जो कि पूर्वी तराई में पाई जाती हैं। जब ह्यूम को नैनीताल के पास कालाढूंगी से इस जाति का नमूना मिला तो उन्होंने इसका नामकरण किया। यह जाति फ़्रॅन्क फ़िन द्वारा कोलकाता के पास के तराई इलाके में दुबारा खोजी गई और इसे उनका नाम मिला। ओट्स ने सन् १८८९ में इसे पूर्वी बया नाम दिया जबकि स्टुअर्ट बेकर ने सन् १९२५ में इसे फ़िन की बया नाम दिया। .

नई!!: नेपाल और फ़िन की बया · और देखें »

फापरथुम

फापरथुम नेपाल के पश्चिमांचल विकास क्षेत्र के गण्डकी अंचल के स्यांजा जिला में स्थित एक अत्याधिक उर्वर एवं घना बस्ती वाली ग्राम समिति है। .

नई!!: नेपाल और फापरथुम · और देखें »

फारबिसगंज

फारबिसगंज भारत के बिहार राज्य के अररिया जिला का एक गाव है (जो की 1990 से पहले पूर्णिया जिला का हिस्सा था) । इस गाव की सीमा नेपाल से लगती हैं । इस के विधायक का नाम श्री विद्या सागर केशरी हैं ।। .

नई!!: नेपाल और फारबिसगंज · और देखें »

फालूदा

फालूदा भारतीय उपमहाद्वीप में एक ठंडी मिठाई के रूप में बहुत लोकप्रिय है। परंपरागत रूप से यह गुलाब सिरप, सेवई, मीठी तुलसी के बीज और दूध के साथ जेली के टुकड़ों को मिलाकर बनाया जाता है, जो अक्सर आइसक्रीम के एक स्कूप के साथ सबसे ऊपर रहता है। फालूदा की उत्पत्ति पारस में हुई थी और यह भारतीय उपमहाद्वीप में लोकप्रिय है। वहीं कहा जाता है कि यह मिठाई 16 वीं से 18 वीं शताब्दी में भारत में बसने वाले कई मुस्लिम व्यापारियों और राजवंशों के साथ भारत आई थी। इसे मुगल साम्राज्य ने काफी बढ़ावा दिया। .

नई!!: नेपाल और फालूदा · और देखें »

फाकफोक

फाकफोक नेपालके मेची अंचलके इलाम जिलाकी एक गाँव विकास समिति है। .

नई!!: नेपाल और फाकफोक · और देखें »

फिरफिरे गाविस

नेपाल के पश्चिमांचल विकास क्षेत्र के गण्डकी अंचल के तनहुँ जिल्ला में स्थित एक अत्याधिक उर्वर एवं घना वस्ती समेटा हुआ गाँउ विकास समिति हैं। .

नई!!: नेपाल और फिरफिरे गाविस · और देखें »

फुँएतप्पा

फुँएतप्पा नेपालके मेची अंचलके इलाम जिलाकी एक गाँव विकास समिति है। .

नई!!: नेपाल और फुँएतप्पा · और देखें »

फूलबारी, ओखलढुङ्गा

फूलबारी, ओखलढुंगा नेपाल के पूर्वांचल विकास क्षेत्र के सगरमाथा अंचल, ओखलढुंगा जिला में स्थित गाँव विकास समिति है। .

नई!!: नेपाल और फूलबारी, ओखलढुङ्गा · और देखें »

फेदीखोला

फेदीखोला नेपाल के पश्चिमांचल विकास क्षेत्र के गण्डकी अंचल के स्यांजा जिला में स्थित एक अत्याधिक उर्वर एवं घना बस्ती वाली ग्राम समिति है। .

नई!!: नेपाल और फेदीखोला · और देखें »

फेदीगुठ

फेदीगुठ नेपाल के पूर्वांचल विकास क्षेत्र के सगरमाथा अंचल, ओखलढुंगा जिला में स्थित गाँव विकास समिति है। .

नई!!: नेपाल और फेदीगुठ · और देखें »

फेक

नेपाल देशके पश्चिमांचल विकास क्षेत्र के लुम्बिनी अंचल में अवस्थित पाल्पा जिल्ला का यें जगा एक अत्याधिक उर्वर एवं घना वस्ती सें भरा हुआ सुन्दर गाँव हैं। नेपाल में इसे गाँउ विकास समिति और गाविस के रूपमें जानाजाता हैं। .

नई!!: नेपाल और फेक · और देखें »

फोला गंगचेन

फोला गंगचेन (Phola Gangchen), जिसका चीनी भाषा में रूपांतर मोलामेनचिंग (Molamenqing) है, हिमालय के जुगल हिमाल नामक खण्ड में स्थित शिशापांगमा पर्वत का एक पूर्वी शिखर है। प्रशासनिक रूप से यह दक्षिणी तिब्बत में नेपाल की सीमा के पास खड़ा हुआ है। .

नई!!: नेपाल और फोला गंगचेन · और देखें »

फोक्सिङकोट

नेपाल देशके पश्चिमांचल विकास क्षेत्र के लुम्बिनी अंचल में अवस्थित पाल्पा जिल्ला का यें जगा एक अत्याधिक उर्वर एवं घना वस्ती सें भरा हुआ सुन्दर गाँव हैं। नेपाल में इसे गाँउ विकास समिति और गाविस के रूपमें जानाजाता हैं। .

नई!!: नेपाल और फोक्सिङकोट · और देखें »

बझांग जिला

नेपाल के सेती प्रान्त का जिला। श्रेणी:नेपाल के जिले.

नई!!: नेपाल और बझांग जिला · और देखें »

बड़ी गंडक

बड़ी गंडक या केवल गंडक हिमालय से निकलकर दक्षिण-पश्चिम बहती हुई भारत में प्रवेश करनेवाली नदी है। नेपाल में इसे 'सालग्रामी' तथा उत्तर प्रदेश में नारायणी और सप्तगंडकी कहते हैं। यह ग्रीस के भूगोलबेत्ताओं की कोंडोचेट्स (Kondochates) तथा महाकाव्यों में उल्लिखित सदानीरा है। त्रिवेणी पर्वत के पहले इसमें एक सहायक नदी त्रिशूलगंगा मिलती है। गंडक नदी काफी दूर तक उत्तर प्रदेश तथा बिहार राज्यों के बीच सीमा निर्धारित करती है। इसकी सीमा पर उत्तर प्रदेश का केवल गोरखपुर जिला पड़ता है। बिहार में यह चंपारन, सारन और मुजफ्फरपुर जिलों से होकर बहती हुई 192 मील के मार्ग के बाद पटना के संमुख गंगा में पर मिल जाती है। विगलित हिम द्वारा वर्ष भर पानी मिलते रहने से यह सदावाही बनी रहती है। वर्षा ऋतु में इसकी बाढ़ समीपवर्ती मैदानों को खतरे में डाल देती है क्योंकि उस समय इसका पाट 2-3 मील चौड़ा हो जाता है। बाढ़ से बचने के लिए इसके किनारे बाँध बनाए गए हैं। यह नदी मार्ग-परिवर्तन के लिए भी प्रसिद्ध है। इस नदी द्वारा नेपाल तथा गोरखपुर के जंगलों से लकड़ी के लट्ठों का तैरता हुआ गट्ठा निचले भागों में लाया जाता है और उसी मार्ग से अनाज और चीनी भेजी जाती है। त्रिवेणी तथा सारन जिले की नहरें इससे निकाली गई हैं जिसे चंपारन और सारन जिले में सिंचाई होती है। बूढ़ी गंडक या सिकराना इस नदी की प्राचीन धारा है जो मुंगेर के संमुख गंगा में मिलती है। श्रेणी:नदी.

नई!!: नेपाल और बड़ी गंडक · और देखें »

बड़ी इलायची

बड़ी इलायची के सुखाये हुए फल और बीज भारतीय तथा अन्य देशों के व्यंजनों में मसाले के रूप में इस्तेमाल की जाती है। इसे 'काली इलायची', 'भूरी इलायची', 'लाल इलायची', 'नेपाली इलायची' या 'बंगाल इलायची' भी कहते हैं। इसके बीजों में से कपूर की तरह की खुशबू आती है और थोड़ा धूंये का सा स्वाद आता है जो उसके सुखाने के तरीके से आता है। बड़ी इलायची का नाम संस्कृत में एला, काता इत्यादि, मराठी में वेलदोड़े, गुजराती में मोटी एलची तथा लैटिन में ऐमोमम कार्डामोमम है। इसके वृक्ष से पाँच फुट तक ऊँचे भारत तथा नेपाल के पहाड़ी प्रदेशों में होते हैं। फल तिकोने, गहरे कत्थई रंग के और लगभग आधा इंच लंबे तथा बीज छोटी इलायची से कुछ बड़े होते हैं। आयुर्वेद तथा यूनानी उपचार में इसके बीजों के लगभग वे ही गुण कहे गए हैं जो छोटी इलायची के बीजों के। परंतु बड़ी इलायची छोटी से कम स्वादिष्ट होती है। .

नई!!: नेपाल और बड़ी इलायची · और देखें »

बनियानी

बनियानी नेपालके मेची अंचलके झापा जिला का एक गाँव विकास समिति है। .

नई!!: नेपाल और बनियानी · और देखें »

बन्द

बंद मूलतः एक संस्कृत का शब्द है जिसका अर्थ होता है किसी चीज़ का बंद हो जाना या ठप पड़ जाना। राजनीति की भाषा में यह एक तरह का विरोध प्रदर्शन होता है। जिसे राजनीतिक एक्टिविस्टों के द्वारा इस्तेमाल किया जाता है। यह भारत के अलावा नेपाल में भी प्रचलित है। भारत बंद, पूरे भारत को बंद करने के लिए बुलाया जाता है। .

नई!!: नेपाल और बन्द · और देखें »

बन्दीपुर नगरपालिका

नेपाल के पश्चिमांचल विकास क्षेत्र के गण्डकी अंचल के तनहुँ जिल्ला में स्थित एक अत्याधिक उर्वर एवं घना वस्ती समेटा हुआ नगरपालिका हैं। .

नई!!: नेपाल और बन्दीपुर नगरपालिका · और देखें »

बन्दीपोखरा

नेपाल देशके पश्चिमांचल विकास क्षेत्र के लुम्बिनी अंचल में अवस्थित पाल्पा जिल्ला का यें जगा एक अत्याधिक उर्वर एवं घना वस्ती सें भरा हुआ सुन्दर गाँव हैं। नेपाल में इसे गाँउ विकास समिति और गाविस के रूपमें जानाजाता हैं। .

नई!!: नेपाल और बन्दीपोखरा · और देखें »

बनेपा

बनेपा नेपाल के नगर पालिका शहर है, जो काठमांडू २६ किमी पूर्व स्थित है। १९९१ की नेपाल जनगणना के समय यहाँकी आबादी १२५३७ थी और यह १९५६ में घरों की थी बनेपा का मुख्य आकर्षण चण्डेश्वरी का मंदिर है, रुद्रमती नदी के साथ शहर के लगभग 1 किमी उत्तर पूर्व स्थित है। धनेश्वर मंदिर एक शहर से किमी दक्षिण है। बनेपा भी अपनी भगवान गणेश, नारायणथान, प्रभु नारायण, भिमसेनस्थान, भगवान भिमसेन के आठ विभिन्न मंदिरों और आठ विभिन्न तालाबों के लिए अच्छी तरह से जाना जाता है। बनेपा में बहुत त्योहारों मनाया जाता है, यसमा चण्डेश्वरी जात्रा, कन्या, पूजा (युवा लड़कियों की पूजा), नवदुर्गा जात्रा (मछली पकड़ने त्योहार), गणेश जात्रा और भिमसेन जात्रा भी शामिल है। बनेपा एक शीर मेमोरियल अस्पताल अस्पताल है, जो १९५७ में स्थापित किया गया है। इस अस्पतालको विश्वविद्यालय, संयुक्त राज्य अमेरिका और काठमांडू विश्वविद्यालय से संबद्ध करके चिकित्सा कॉलेज के रूप में विस्तारित किया गया है। इस अस्पताल में कई छात्रोंने एमबीबीएस और बीएससी नर्सिंग कार्यक्रम में दाखिला लिया है। बनेपा विकलांग बच्चों के लिए अस्पताल और पुनर्वास केंद्र (HRDC) का भी स्थान है। HRDC एक गैर सरकारी संगठन के एक कार्यक्रम है, विकलांग के मित्र। यह देश में एक ही अस्पताल है, जो तृतीयक स्तर देखभाल प्रदान करता है और यह उम्र के १६ साल के कम उम्र के बच्चों के लिए सबसे अच्छा पुनर्निर्माण सर्जरी और पुनर्वास प्रदान करता है। अपनी सेवाओं के तहत विशेषाधिकार प्राप्त नेपाल में सुबिधा बिहिन और शारीरिक रूप से विकलांग बच्चों के तरफ उसके सेवा केन्द्रीत है। काभ्रेपलांचोक के तीन नगर पालिकाओं बनेपा, धुलिखेल और पनौती की सीमा पर सूचना प्रौद्योगिकी पार्क बनाया जा रहा है। वहाँ सरकारी नियुक्ति के बारे में बहस चल रही है। सभी तीन शहरों साइबर शहर के रूप में नामित कर रहे हैं। अर्निको राजमार्ग, केवल राजमार्ग कि नेपाल और चीन (तिब्बत) जोड़ता है, इस शहर के माध्यम से चलाने कारण बनेपा भी साथ तिब्बत के लिए एक प्रमुख व्यापार मार्ग है। इसके अलावा, एक और नव निर्मित राजमार्ग, बी.पी.

नई!!: नेपाल और बनेपा · और देखें »

बयाला

बयाला नेपाल के सेती अंचल के अछाम जिला के एक गाँव है। .

नई!!: नेपाल और बयाला · और देखें »

बरबोटे

बरबोटे नेपालके मेची अंचलके इलाम जिलाकी एक गाँव विकास समिति है। .

नई!!: नेपाल और बरबोटे · और देखें »

बराङ्दी

नेपाल देशके पश्चिमांचल विकास क्षेत्र के लुम्बिनी अंचल में अवस्थित पाल्पा जिल्ला का यें जगा एक अत्याधिक उर्वर एवं घना वस्ती सें भरा हुआ सुन्दर गाँव हैं। नेपाल में इसे गाँउ विकास समिति और गाविस के रूपमें जानाजाता हैं। .

नई!!: नेपाल और बराङ्दी · और देखें »

बरुणेश्वर

बरुणेश्वर नेपाल के पूर्वांचल विकास क्षेत्र के सगरमाथा अंचल, ओखलढुंगा जिला में स्थित गाँव विकास समिति है। .

नई!!: नेपाल और बरुणेश्वर · और देखें »

बर्दादेबी

बर्दादेबी नेपाल के सेती अंचल के अछाम जिला के एक गाँव है। .

नई!!: नेपाल और बर्दादेबी · और देखें »

बर्दिया जिला

नेपाल के भेरी प्रान्त का जिला। श्रेणी:नेपाल के जिले.

नई!!: नेपाल और बर्दिया जिला · और देखें »

बर्रे

बर्रे नेपालके पुर्वांचल विकास क्षेत्रके सगरमाथा अंचलके उदयपुर जिलाकी एक गाँव विकास समिति है। .

नई!!: नेपाल और बर्रे · और देखें »

बलभद्र कुंवर

बलभद्र कुंवर बलभद्र कुंवर (सन् १७८९ - सन् १८२२) एक नेपाली स्वतंत्रता सेनानी एवं जनरल थे। वे नेपाल के राष्ट्रीय नायक हैं। वे अंग्रेज-नेपाल युद्ध (१८१४ से १८१६) में अपने महान सेवाओं के लिये विख्यात हैं। वे शाही नेपाली सेना (गोरखाली सेना) के एक कैप्टेन थे तथा १८१४ के नालपानी के युद्ध में सेनानायक के रूप में उनको प्रसिद्धि मिली। नालपानी, देहरादून के पास स्थित है। .

नई!!: नेपाल और बलभद्र कुंवर · और देखें »

बलम्ता

बलम्ता नेपालके पुर्वांचल विकास क्षेत्रके सगरमाथा अंचलके उदयपुर जिलाकी एक गाँव विकास समिति है। .

नई!!: नेपाल और बलम्ता · और देखें »

बलाँता

बलाँता नेपाल के सेती अंचल के अछाम जिला के एक गाँव है। .

नई!!: नेपाल और बलाँता · और देखें »

बलि प्रथा

बलि प्रथा मानव जाति में वंशानुगत चली आ रही एक सामाजिक प्रथा अर्थात सामाजिक व्यवस्था है। इस पारम्परिक व्यवस्था में मानव जाति द्वारा मानव समेत कई निर्दोष प्राणियों की हत्या यानि कत्ल कर दिया जाता है। विश्व में अनेक धर्म ऐसे हैं, जिनमें इस प्रथा का प्रचलन पाया जाता है। यह मनुष्य जाति द्वारा मात्र स्वार्थसिद्ध की व्यवस्था है, जिसे बलि-प्रथा कहते है। .

नई!!: नेपाल और बलि प्रथा · और देखें »

बलखू

बलखू नेपाल के पूर्वांचल विकास क्षेत्र के सगरमाथा अंचल, ओखलढुंगा जिला में स्थित गाँव विकास समिति है। .

नई!!: नेपाल और बलखू · और देखें »

बल्डेङगढी

नेपाल देशके पश्चिमांचल विकास क्षेत्र के लुम्बिनी अंचल में अवस्थित पाल्पा जिल्ला का यें जगा एक अत्याधिक उर्वर एवं घना वस्ती सें भरा हुआ सुन्दर गाँव हैं। नेपाल में इसे गाँउ विकास समिति और गाविस के रूपमें जानाजाता हैं। .

नई!!: नेपाल और बल्डेङगढी · और देखें »

बल्कोट

बल्कोट नेपालके लुम्बिनी अंचलके अर्घाखाँची जिलाकी एक गाँव विकास समिति है। .

नई!!: नेपाल और बल्कोट · और देखें »

बसन्त रेग्मी

बसन्त रेग्मी (Basant Regmi) (जन्म ६ अप्रैल १९८६) नेपाली राष्ट्रीय क्रिकेट टीम से खेलने खिलाड़ी हैं। ऑलराउंडर बसन्त बांए हाथ बल्लेबाज तथा बांए हाथ अर्थोडक्स स्पिन गेंदबाज है। उन्होंने सन् २००६ मार्च में नेपाल के ओर से नामिबिया विरुद्ध अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट जगत में पदार्पण किया था। बसन्त रेग्मी ने विश्व क्रिकेट लीग खेल में १०० विकेट लेने पहले खिलाड़ी बन चुके हैं। उन्होंने यह कीर्तिमान बनाने के लिए ४८ खेल खेले थे। .

नई!!: नेपाल और बसन्त रेग्मी · और देखें »

बसन्तपुर

विराटनगर नेपालमें स्थित कोशी प्रान्त का एक प्रमुख शहर है। श्रेणी:कोशी प्रान्त श्रेणी:नेपाल के शहर.

नई!!: नेपाल और बसन्तपुर · और देखें »

बसन्तपुर-रुपाकोट

नेपाल के पश्चिमांचल विकास क्षेत्र के गण्डकी अंचल के तनहुँ जिल्ला में स्थित एक अत्याधिक उर्वर एवं घना वस्ती समेटा हुआ गाँउ विकास समिति हैं। .

नई!!: नेपाल और बसन्तपुर-रुपाकोट · और देखें »

बस्ती, अछाम

बस्ती, अछाम नेपाल के सेती अंचल के अछाम जिला के एक गाँव है। .

नई!!: नेपाल और बस्ती, अछाम · और देखें »

बहराइच

बहराइच नगर और ज़िला उत्तरी भारत के पूर्व-मध्य उत्तर प्रदेश राज्य और नेपाल के नेपालगंज व लखनऊ के बीच रेलमार्ग पर स्थित है। .

नई!!: नेपाल और बहराइच · और देखें »

बहादुरपुर

नेपाल देशके पश्चिमांचल विकास क्षेत्र के लुम्बिनी अंचल में अवस्थित पाल्पा जिल्ला का यें जगा एक अत्याधिक उर्वर एवं घना वस्ती सें भरा हुआ सुन्दर गाँव हैं। नेपाल में इसे गाँउ विकास समिति और गाविस के रूपमें जानाजाता हैं। .

नई!!: नेपाल और बहादुरपुर · और देखें »

बहाकोट

बहाकोट नेपाल के पश्चिमांचल विकास क्षेत्र के गण्डकी अंचल के स्यांजा जिला में स्थित एक अत्याधिक उर्वर एवं घना बस्ती वाली ग्राम समिति है। .

नई!!: नेपाल और बहाकोट · और देखें »

बाटुलासैन

बाटुलासैन नेपाल के सेती अंचल के अछाम जिला के एक गाँव है। .

नई!!: नेपाल और बाटुलासैन · और देखें »

बाँझो

बाँझो नेपालके मेची अंचलके इलाम जिलाकी एक गाँव विकास समिति है। .

नई!!: नेपाल और बाँझो · और देखें »

बाँगी

बाँगी नेपालके लुम्बिनी अंचलके अर्घाखाँची जिलाकी एक गाँव विकास समिति है। .

नई!!: नेपाल और बाँगी · और देखें »

बान्नातोली

बान्नातोली नेपाल के सेती अंचल के अछाम जिला के एक गाँव है। .

नई!!: नेपाल और बान्नातोली · और देखें »

बानेथोक देउराली

बानेथोक देउराली नेपाल के पश्चिमांचल विकास क्षेत्र के गण्डकी अंचल के स्यांजा जिला में स्थित एक अत्याधिक उर्वर एवं घना बस्ती वाली ग्राम समिति है। .

नई!!: नेपाल और बानेथोक देउराली · और देखें »

बाबला

बाबला नेपाल के सेती अंचल के अछाम जिला के एक गाँव है। .

नई!!: नेपाल और बाबला · और देखें »

बाबुराम भट्टराई

डॉ॰ बाबुराम भट्टराई नेपाल के ३५वें प्रधानमन्त्री रह चुके हैं। नेपालमे गणतन्त्र आनेके बाद हुई संविधान सभाकि चुनावमे सबसे ज्यादा मत और मतान्तरसे विजयी होनेवाले माओवादी सभासद् डॉ॰बाबुराम भट्टराई हैं। उन्होने ४६ हजार २ सौ ७२ मत पाकर कांग्रेसके नेता चन्द्रप्रसाद न्यौपानेको ४० हजार मतकि अन्तरसे पराजित किया था। उनका जन्म नेपाल के गोर्खा जिले में 26 मई 1954 में हुआ था। बाबूराम भट्टराई राजनीतिक बुलंदियों पर पहुंचने के साथ ही शिक्षा के क्षेत्र में शानदार उपलब्धियां हासिल की हैं। वामपंथी राजनीति में शामिल होने से पहले वे अपने प्रतिभा का लोहा मनवा चुके हैं। प्रधानमंत्री पद के लिए २८ अगस्त को हुए मतदान में वे चुनाव जीत गए। 57वर्षिय वे नेपाल के 35वें प्रधानमंत्री बने। .

नई!!: नेपाल और बाबुराम भट्टराई · और देखें »

बारला

बारला नेपाल के सेती अंचल के अछाम जिला के एक गाँव है। .

नई!!: नेपाल और बारला · और देखें »

बारहसिंगा

बारहसिंगा या दलदल का मृग (Rucervus duvaucelii) हिरन, या हरिण, या हिरण की एक जाति है जो कि उत्तरी और मध्य भारत में, दक्षिणी-पश्चिम नेपाल में पाया जाता है। यह पाकिस्तान तथा बांग्लादेश में विलुप्त हो गया है। बारहसिंगा का सबसे विलक्षण अंग है उसके सींग। वयस्क नर में इसकी सींग की १०-१४ शाखाएँ होती हैं, हालांकि कुछ की तो २० तक की शाखाएँ पायी गई हैं। इसका नाम इन्ही शाखाओं की वजह से पड़ा है जिसका अर्थ होता है बारह सींग वाला।Prater, S. H. (1948) The book of Indian animals.

नई!!: नेपाल और बारहसिंगा · और देखें »

बारा जिला

नेपाल के नारायणी प्रान्त का जिला। श्रेणी:नेपाल के जिले.

नई!!: नेपाल और बारा जिला · और देखें »

बाराहा, सगरमाथा

बाराहा, सगरमाथा नेपालके पुर्वांचल विकास क्षेत्रके सगरमाथा अंचलके उदयपुर जिलाकी एक गाँव विकास समिति है। .

नई!!: नेपाल और बाराहा, सगरमाथा · और देखें »

बार्हस्पत्य सूत्र

बार्हस्पत्य सूत्र देवगुरु बृहस्पति का ग्रन्थ है। बृहस्पति चार्वाक दर्शन के प्रणेता माने जाते हैं। यह ग्रंथ अप्राप्य माना जाता है। सर्व दर्शन संग्रह के पहले अध्याय में चार्वाक मत के सिद्धांतों का सार मिलता है। इसे लोकायत दर्शन के नाम से भी जाना जाता है। भूमि, जल, अग्नि, वायु जिनका प्रत्यक्ष अनुभव हो सकता है, इनके अतिरिक्त संसार में कुछ भी नहीं है। इन चार तत्वों के समिश्रण से ही चेतना शक्ति और बुद्धि का प्रादुर्भाव होता है। चार्वाक के अनुसार यावज्जीवेत सुखं जीवेत, ऋणं कृत्वा घृतं पिबेत। अर्थात जब तक जीवन है सुखों का उपभोग कर लेना चाहिए। भौतिक सुख को त्याज्य समझने की परंपरा को चार्वाक ने चुनौती दी। चूंकि इस लोक के अलावा और कोई दूसरा लोक नहीं है, इसलिए इस लोक का भरपूर आनंद लेना चाहिए, खूब ऐश-आराम करना चाहिए। शरीर के एक बार भस्म हो जाने पर वह पुन: वापिस लौट कर नहीं आता। नास्तिक दर्शनों में चार्वाक, जैन और बौद्ध दर्शन आते हैं। ये वेदों के प्रमाण में विश्वास नहीं रखते, इसलिए नास्तिक दर्शन के अंतर्गत रखे गए हैं। ये ग्रन्थ ईसा पूर्व अंतिम शताब्दियों में, लगभग मौर्य काल में धीरे -धीरे गायब होता गया। इसके बाद इसे मात्र कुछ बचे व बोले गये सूत्रों के रूप में ही सहेजा जा सका। १९२८ में दक्षिणरंजन शास्त्री ने ऐसे ६० श्लोकों को प्रकाशित किया। १९५९ में उन्होंने ५४ चुने हुए श्लोक बार्हस्पत्य सूत्रम नाम से प्रकाशित किये। शास्त्री जी का मत था कि इसी प्रकार शेष अन्य श्लोकों को भी ढूंढा और प्रकाशित किया जा सकता है। २००२ में भट्टाचार्य ने कुछ और श्लोक ढूंढ कर निकाले, किन्तु इनमें विदेशी पाठ्य के मिले होने या अशुद्धता होने की बड़ी संभावना है। इन संकलनों में अधिकांश कार्य भारतीय मध्य कालीन हैं, मोटे तौर पर लगभग ८वीं से १२वीं शताब्दी के बीच के। सायण द्वारा भारतीय दर्शन पर विशिष्ट टीका १४वीं शताब्दी में सर्वदर्शनसंग्रह नाम से निकली जिसमें चार्वाक के बारे में विस्तृत जानकारी मिलती है। किन्तु ये चार्वाक के पाठ सीधे मूल रूप में नहीं दिखाती है वरन १४वीं शताब्दी के एक शिक्षित वेदांतज्ञ के पढ़े और समझे सिद्धांतों के रूप में देती है। भट्टाचार्य ने ६८ श्लोक ९ पृष्ठों में पृष्ठ पर दिये हैं। बार्हस्पत्यसूत्रम अर्थात बार्हस्पत्य अर्थशास्त्रम भी इनसे प्रभावित किन्तु पारदर्शी और भ्रष्टरूप है। .

नई!!: नेपाल और बार्हस्पत्य सूत्र · और देखें »

बाल मिठाई

बाल मिठाई भारत के उत्तराखंड राज्य की एक लोकप्रिय मिठाई है। यह भुने हुए खोये पर चीनी की सफेद गेंदों के लेप द्वारा बनायी जाती है, और दिखने में भूरे चॉकलेट जैसी होती है। यह विशेष रूप से अल्मोड़ा के आसपास के क्षेत्रों में प्रसिद्ध है। श्रेणी:ग़ैर हिन्दी भाषा पाठ वाले लेख .

नई!!: नेपाल और बाल मिठाई · और देखें »

बाल-श्रम

बाल-श्रम का मतलब ऐसे कार्य से है जिसमे की कार्य करने वाला व्यक्ति कानून द्वारा निर्धारित आयु सीमा से छोटा होता है। इस प्रथा को कई देशों और अंतर्राष्ट्रीय संघटनों ने शोषित करने वाली प्रथा माना है। अतीत में बाल श्रम का कई प्रकार से उपयोग किया जाता था, लेकिन सार्वभौमिक स्कूली शिक्षा के साथ औद्योगीकरण, काम करने की स्थिति में परिवर्तन तथा कामगारों श्रम अधिकार और बच्चों अधिकार की अवधारणाओं के चलते इसमे जनविवाद प्रवेश कर गया। बाल श्रम अभी भी कुछ देशों में आम है। .

नई!!: नेपाल और बाल-श्रम · और देखें »

बालुवाडी

बालुवाडी नेपालके मेची अंचलके झापा जिला का एक गाँव विकास समिति है। .

नई!!: नेपाल और बालुवाडी · और देखें »

बासबोटे

बासबोटे नेपालके पुर्वांचल विकास क्षेत्रके सगरमाथा अंचलके उदयपुर जिलाकी एक गाँव विकास समिति है। .

नई!!: नेपाल और बासबोटे · और देखें »

बासमती चावल

लाल बासमती चावल बासमती (Basmati,, باسمتى) भारत की लम्बे चावल की एक उत्कृष्ट किस्म है। इसका वैज्ञानिक नाम है ओराय्ज़ा सैटिवा। यह अपने खास स्वाद और मोहक खुशबू के लिये प्रसिद्ध है। इसका नाम बासमती अर्थात खुशबू वाली किस्म होता है। इसका दूसरा अर्थ कोमल या मुलायम चावल भी होता है। भारत इस किस्म का सबसे बड़ा उत्पादक है, जिसके बाद पाकिस्तान, नेपाल और बांग्लादेश आते हैं। पारंपरिक बासमती पौधे लम्बे और पतले होते हैं। इनका तना तेज हवाएं भी सह नहीं सकता है। इनमें अपेक्षाकृत कम, परंतु उच्च श्रेणी की पैदावार होती है। यह अन्तर्राष्ट्रीय और भारतीय दोनों ही बाजारों में ऊँचे दामों पर बिकता है। बासमती के दाने अन्य दानों से काफी लम्बे होते हैं। पकने के बाद, ये आपस में लेसदार होकर चिपकते नहीं, बल्कि बिखरे हुए रहते हैं। यह चावल दो प्रकार का होता है:- श्वेत और भूरा। के अनुसार, बासमती चावल में मध्यम ग्लाइसेमिक सूचकांक ५६ से ६९ के बीच होता है, जो कि इसे मधुमेह रोगियों के लिये अन्य अनाजों और श्वेत आटे की अपेक्षा अधिक श्रेयस्कर बनाता है। .

नई!!: नेपाल और बासमती चावल · और देखें »

बासा

बासा नेपाल के पूर्वांचल विकास क्षेत्र के सगरमाथा अंचल, सोलुखुम्बु जिला में स्थित गाँव विकास समिति है। .

नई!!: नेपाल और बासा · और देखें »

बाहुनडाँगी

बाहुनडाँगी नेपालके मेची अंचलके झापा जिला का एक गाँव विकास समिति है। .

नई!!: नेपाल और बाहुनडाँगी · और देखें »

बाजार विभाजन,लक्ष्य निर्धारण, और स्थिति निर्धारण

भौगोलिक विभाजन निर्माता बाजार को भौगोलिक तरह से विभाजित कर सकता है जैसे राष्ट्र,राज्य,जलवायु,देश,शहर आदि। भौगोलिक विभाजन जनसांख्यिकीय और भौगोलिक दोनों की सुचना रखता जिससे कंपनी की रुरेखा अच्छी कर सकें। जैसे मौसम का हम उदहारण ले सकते है निर्माता बारिश के मौसम में छाता और बारिश से सुरक्षित होने योग्य वस्तुऐं बेच सकता है राज्य हर राज्य का रेहन सहन अलग होता है इसलिए उत्पादक को भी उनके जरुरत को नजर में रखतें हुए ही विभाजन करना चाहिए।.

नई!!: नेपाल और बाजार विभाजन,लक्ष्य निर्धारण, और स्थिति निर्धारण · और देखें »

बाजुरा जिला

नेपाल के सेती प्रान्त का जिला। श्रेणी:नेपाल के जिले.

नई!!: नेपाल और बाजुरा जिला · और देखें »

बाघ

बाघ जंगल में रहने वाला मांसाहारी स्तनपायी पशु है। यह अपनी प्रजाति में सबसे बड़ा और ताकतवर पशु है। यह तिब्बत, श्रीलंका और अंडमान निकोबार द्वीप-समूह को छोड़कर एशिया के अन्य सभी भागों में पाया जाता है। यह भारत, नेपाल, भूटान, कोरिया, अफगानिस्तान और इंडोनेशिया में अधिक संख्या में पाया जाता है। इसके शरीर का रंग लाल और पीला का मिश्रण है। इस पर काले रंग की पट्टी पायी जाती है। वक्ष के भीतरी भाग और पाँव का रंग सफेद होता है। बाघ १३ फीट लम्बा और ३०० किलो वजनी हो सकता है। बाघ का वैज्ञानिक नाम पेंथेरा टिग्रिस है। यह भारत का राष्ट्रीय पशु भी है। बाघ शब्द संस्कृत के व्याघ्र का तदभव रूप है। .

नई!!: नेपाल और बाघ · और देखें »

बागमती

बागमती (नेपाल भाषा:बागमती खुसी, बागमती नदी) नेपाल और भारत की एक बहुत महत्त्वपूर्ण नदी है। इस नदी के तट पर काठमांडू अवस्थित है। नेपाल का सबसे पवित्र तीर्थ स्थल पशुपतिनाथ मंदिर भी इसी नदी के तट पर अवस्थित है। इस नदी का उद्गम स्थान बागद्वार है। काटमाण्डौ के टेकु दोभान मैं विष्णुमति नदी इसमें समाहित होती है। नेपाली सभ्यता में इस नदी का बहुत महत्त्वपूर्ण स्थान है। इस नदी के किनारे में अवस्थित आर्य घाटौं पर राजा से लेकर रंक तक सभी का अन्तिम संस्कार किया जाता है। .

नई!!: नेपाल और बागमती · और देखें »

बागमती प्रान्त

बागमती अंचल Bagmati Zone नेपाल के मध्यमांचल विकास क्षेत्र का एक अंचल है। नेपालकी राजधानी काठमांडौ इसी अंचल में स्थित है। .

नई!!: नेपाल और बागमती प्रान्त · और देखें »

बागलुंग जिला

नेपाल के धवलागिरी प्रान्त का जिला। श्रेणी:नेपाल के जिले.

नई!!: नेपाल और बागलुंग जिला · और देखें »

बागलुङ

बागलुङ नेपाल के ७५ जिलों में से एक जिला है। यह धवलगिरि क्षेत्र का भाग है। इसका मुख्यालय बागलुङ है। इस जिले का क्षेत्रफल 1,784 वर्ग किमी तथा जनसंख्या (सन् 2011) 268,613 है। श्रेणी: नेपाल का भूगोल.

नई!!: नेपाल और बागलुङ · और देखें »

बागेश्वर जिला

बागेश्वर भारत के उत्तराखण्ड राज्य का एक जिला है, जिसके मुख्यालय बागेश्वर नगर में स्थित हैं। इस जिले के उत्तर तथा पूर्व में पिथौरागढ़ जिला, पश्चिम में चमोली जिला, तथा दक्षिण में अल्मोड़ा जिला है। बागेश्वर जिले की स्थापना १५ सितंबर १९९७ को अल्मोड़ा के उत्तरी क्षेत्रों से की गयी थी। २०११ की जनगणना के अनुसार रुद्रप्रयाग तथा चम्पावत के बाद यह उत्तराखण्ड का तीसरा सबसे कम जनसंख्या वाला जिला है। यह जिला धार्मिक गाथाओं, पर्व आयोजनों और अत्याकर्षक प्राकृतिक दृश्यों के कारण प्रसिद्ध है। प्राचीन प्रमाणों के आधार पर बागेश्वर शब्द को ब्याघ्रेश्वर से विकसित माना गया है। यह शब्द प्राचीन भारतीय साहित्य में अधिक प्रसिद्ध है। बागनाथ मंदिर, कौसानी, बैजनाथ, विजयपुर आदि जिले के प्रमुख पर्यटन स्थल हैं। जिले में ही स्थित पिण्डारी, काफनी, सुन्दरढूंगा इत्यादि हिमनदों से पिण्डर तथा सरयू नदियों का उद्गम होता है। .

नई!!: नेपाल और बागेश्वर जिला · और देखें »

बांसी नदी

कोई विवरण नहीं।

नई!!: नेपाल और बांसी नदी · और देखें »

बांके जिला

नेपाल के भेरी प्रान्त का जिला। भारतकि सीमावर्ती जिला। श्रेणी:नेपाल के जिले.

नई!!: नेपाल और बांके जिला · और देखें »

बाक्सा

बाक्सा नेपाल के पूर्वांचल विकास क्षेत्र के सगरमाथा अंचल, ओखलढुंगा जिला में स्थित गाँव विकास समिति है। .

नई!!: नेपाल और बाक्सा · और देखें »

बाङ्ला भाषा

बाङ्ला भाषा अथवा बंगाली भाषा (बाङ्ला लिपि में: বাংলা ভাষা / बाङ्ला), बांग्लादेश और भारत के पश्चिम बंगाल और उत्तर-पूर्वी भारत के त्रिपुरा तथा असम राज्यों के कुछ प्रान्तों में बोली जानेवाली एक प्रमुख भाषा है। भाषाई परिवार की दृष्टि से यह हिन्द यूरोपीय भाषा परिवार का सदस्य है। इस परिवार की अन्य प्रमुख भाषाओं में हिन्दी, नेपाली, पंजाबी, गुजराती, असमिया, ओड़िया, मैथिली इत्यादी भाषाएँ हैं। बंगाली बोलने वालों की सँख्या लगभग २३ करोड़ है और यह विश्व की छठी सबसे बड़ी भाषा है। इसके बोलने वाले बांग्लादेश और भारत के अलावा विश्व के बहुत से अन्य देशों में भी फ़ैले हैं। .

नई!!: नेपाल और बाङ्ला भाषा · और देखें »

बाङ्गेफड्के

नेपाल के पश्चिमांचल विकास क्षेत्र के गण्डकी अंचल के स्यांजा जिल्ला में स्थित एक अत्याधिक उर्वर एवं घना वस्ती समेटा हुआ गाँउ विकास समिति हैं। .

नई!!: नेपाल और बाङ्गेफड्के · और देखें »

बिचारीचौतारा

बिचारीचौतारा नेपाल के पश्चिमांचल विकास क्षेत्र के गण्डकी अंचल के स्यांजा जिला में स्थित एक अत्याधिक उर्वर एवं घना बस्ती वाली ग्राम समिति है। .

नई!!: नेपाल और बिचारीचौतारा · और देखें »

बिद्या देवी भंडारी

विद्या देवी भंडारी (विद्यादेवी भण्डारी) नेपाल की दूसरी तथा देश के लोकतांत्रिक इतिहास में पहली महिला राष्ट्रपति हैं।वे भूतपूर्व नेपाली राजनीतिज्ञ तथा कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ़ नेपाल की नेता रह चुकी हैं। इन्हें 549 में से 327 वोट प्राप्त कर कुल बहादुर गुरुंग को हराते हुए राष्ट्रपति चुना गया। ये नेपाल रक्षा मंत्रालय में पूर्व रक्षा मंत्री भी रह चुकी हैं। .

नई!!: नेपाल और बिद्या देवी भंडारी · और देखें »

बिनायक

बिनायक नेपाल के सेती अंचल के अछाम जिला के एक गाँव है। .

नई!!: नेपाल और बिनायक · और देखें »

बिन्ध्यावासीनी, अछाम

बिन्ध्यावासीनी, अछाम नेपाल के सेती अंचल के अछाम जिला के एक गाँव है। .

नई!!: नेपाल और बिन्ध्यावासीनी, अछाम · और देखें »

बिम्सटेक

बिम्सटेक (BIMSTEC), जिसका पूरा रूप बंगाल की खाड़ी बहु-क्षेत्रीय तकनीकी और आर्थिक सहयोग उपक्रम (Bay of Bengal Initiative for Multi-Sectoral Technical and Economic Cooperation) है, बंगाल की खाड़ी से तटवर्ती या समीपी देशों का एक अंतर्राष्ट्रीय आर्थिक सहयोग संगठन है। इसमें नवम्बर २०१६ में बांग्लादेश, भारत, बर्मा, श्रीलंका, थाईलैण्ड, भूटान और नेपाल सदस्य थे। .

नई!!: नेपाल और बिम्सटेक · और देखें »

बियर

सीधे पीपा से 'श्लेंकेरला राउख़बियर' नामक बियर परोसी जा रही है​ बियर संसार का सबसे पुराना और सर्वाधिक व्यापक रूप से खुलकर सेवन किया जाने वाला मादक पेय है।Origin and History of Beer and Brewing: From Prehistoric Times to the Beginning of Brewing Science and Technology, John P Arnold, BeerBooks, Cleveland, Ohio, 2005, ISBN 0-9662084-1-2 सभी पेयों के बाद यह चाय और जल के बाद तीसरा सर्वाधिक लोकप्रिय पेय है।, European Beer Guide, Accessed 2006-10-17 क्योंकि बियर अधिकतर जौ के किण्वन (फ़र्मेन्टेशन​) से बनती है, इसलिए इसे भारतीय उपमहाद्वीप में जौ की शराब या आब-जौ के नाम से बुलाया जाता है। संस्कृत में जौ को 'यव' कहते हैं इसलिए बियर का एक अन्य नाम यवसुरा भी है। ध्यान दें कि जौ के अलावा बियर बनाने के लिए गेहूं, मक्का और चावल का भी व्यापक रूप से उपयोग किया जाता है। अधिकतर बियर को राज़क (हॉप्स) से सुवासित एवं स्वादिष्ट कर दिया जाता है, जिसमें कडवाहट बढ़ जाती है और जो प्राकृतिक संरक्षक के रूप में भी कार्य करता है, हालांकि दूसरी सुवासित जड़ी बूटियां अथवा फल भी यदाकदा मिला दिए जाते हैं।, Max Nelson, Routledge, Page 1, Pages 1, 2005, ISBN 0-415-31121-7, Accessed 2009-11-19 लिखित साक्ष्यों से यह पता चलता है कि मान्यता के आरंभ से बियर के उत्पादन एवं वितरण को कोड ऑफ़ हम्मुराबी के रूप में सन्दर्भित किया गया है जिसमें बियर और बियर पार्लर्स से संबंधित विनियमन कानून तथा "निन्कासी के स्रुति गीत", जो बियर की मेसोपोटेमिया देवी के लिए प्रार्थना एवं किंचित शिक्षित लोगों की संस्कृति के लिए नुस्खे के रूप में बियर का उपयोग किया जाता था। आज, किण्वासवन उद्योग एक वैश्विक व्यापार बन गया है, जिसमें कई प्रभावी बहुराष्ट्रीय कंपनियां और हजारों की संख्या में छोटे-छोटे किण्वन कर्म शालाओं से लेकर आंचलिक शराब की भट्टियां शामिल हैं। बियर के किण्वासन की मूल बातें राष्ट्रीय और सांस्कृतिक सीमाओं से परे भी एक साझे में हैं। आमतौर पर बियर को दो प्रकारों में वर्गीकृत किया गया है - दुनिया भर में लोकप्रिय हल्का पीला यवसुरा और आंचलिक तौर पर अलग किस्म के बियर, जिन्हें और भी कई किस्मों जैसे कि हल्का पीला बियर, घने और भूरे बियर में वर्गीकृत किया गया है। आयतन के दृष्टीकोण से बियर में शराब की मात्रा (सामान्य) 4% से 6% तक रहती है हालांकि कुछ मामलों में यह सीमा 1% से भी कम से आरंभ कर 20% से भी अधिक हो सकती है। बियर पान करने वाले राष्ट्रों के लिए बियर उनकी संस्कृति का एक अंग है और यह उनकी सामजिक परंपराओं जैसे कि बियर त्योहारों, साथ ही साथ मदिरालयी सांस्कृतिक गतिविधियों जैसे कि मदिरालय रेंगना तथा मदिरालय में खेले जाने वाले खेल जैसे कि बार बिलियर्ड्स शामिल हैं। .

नई!!: नेपाल और बियर · और देखें »

बिरपथ

बिरपथ नेपाल के सेती अंचल के अछाम जिला के एक गाँव है। .

नई!!: नेपाल और बिरपथ · और देखें »

बिल्व

बिल्व, बेल या बेलपत्थर, भारत में होने वाला एक फल का पेड़ है। इसे रोगों को नष्ट करने की क्षमता के कारण बेल को बिल्व कहा गया है। इसके अन्य नाम हैं-शाण्डिल्रू (पीड़ा निवारक), श्री फल, सदाफल इत्यादि। इसका गूदा या मज्जा बल्वकर्कटी कहलाता है तथा सूखा गूदा बेलगिरी। बेल के वृक्ष सारे भारत में, विशेषतः हिमालय की तराई में, सूखे पहाड़ी क्षेत्रों में ४००० फीट की ऊँचाई तक पाये जाते हैं।।अभिव्यक्ति पर। दीपिका जोशी मध्य व दक्षिण भारत में बेल जंगल के रूप में फैला पाया जाता है। इसके पेड़ प्राकृतिक रूप से भारत के अलावा दक्षिणी नेपाल, श्रीलंका, म्यांमार, पाकिस्तान, बांग्लादेश, वियतनाम, लाओस, कंबोडिया एवं थाईलैंड में उगते हैं। इसके अलाव इसकी खेती पूरे भारत के साथ श्रीलंका, उत्तरी मलय प्रायद्वीप, जावा एवं फिलीपींस तथा फीजी द्वीपसमूह में की जाती है।। वेबग्रीन पर धार्मिक दृष्टि से महत्त्वपूर्ण होने के कारण इसे मंदिरों के पास लगाया जाता है। हिन्दू धर्म में इसे भगवान शिव का रूप ही माना जाता है व मान्यता है कि इसके मूल यानि जड़ में महादेव का वास है तथा इनके तीन पत्तों को जो एक साथ होते हैं उन्हे त्रिदेव का स्वरूप मानते हैं परंतु पाँच पत्तों के समूह वाले को अधिक शुभ माना जाता है, अतः पूज्य होता है। धर्मग्रंथों में भी इसका उल्लेख मिलता है।।अखिल विश्व गायत्री परिवार इसके वृक्ष १५-३० फीट ऊँचे कँटीले एवं मौसम में फलों से लदे रहते हैं। इसके पत्ते संयुक्त विपत्रक व गंध युक्त होते हैं तथा स्वाद में तीखे होते हैं। गर्मियों में पत्ते गिर जाते हैं तथा मई में नए पुष्प आ जाते हैं। फल मार्च से मई के बीच आ जाते हैं। बेल के फूल हरी आभा लिए सफेद रंग के होते हैं व इनकी सुगंध भीनी व मनभावनी होती है। .

नई!!: नेपाल और बिल्व · और देखें »

बिष्णु अधिकारी

नेपाल में काश्की जिले के रहने वाले २१ वर्षीय बिष्णु एक समलैंगिक सामाजिक कार्यकर्ता हैं। जिला प्राधिकरण द्वारा उन्हें सौंपे गए प्रमाणपत्र में सेक्स संबंधी कालम में बाकायदा 'थर्ड सेक्स' का उल्लेख किया गया है। बिष्णु कहते हैं, 'जैविक गुणों के अनुसार मैं लड़की हूं लेकिन सामाजिक रूप से लड़का हूं।' श्रेणी:नेपाल श्रेणी:समलैंगिक.

नई!!: नेपाल और बिष्णु अधिकारी · और देखें »

बिहार

बिहार भारत का एक राज्य है। बिहार की राजधानी पटना है। बिहार के उत्तर में नेपाल, पूर्व में पश्चिम बंगाल, पश्चिम में उत्तर प्रदेश और दक्षिण में झारखण्ड स्थित है। बिहार नाम का प्रादुर्भाव बौद्ध सन्यासियों के ठहरने के स्थान विहार शब्द से हुआ, जिसे विहार के स्थान पर इसके अपभ्रंश रूप बिहार से संबोधित किया जाता है। यह क्षेत्र गंगा नदी तथा उसकी सहायक नदियों के उपजाऊ मैदानों में बसा है। प्राचीन काल के विशाल साम्राज्यों का गढ़ रहा यह प्रदेश, वर्तमान में देश की अर्थव्यवस्था के सबसे पिछड़े योगदाताओं में से एक बनकर रह गया है। .

नई!!: नेपाल और बिहार · और देखें »

बिहार का भूगोल

बिहार 21°58'10" ~ 27°31'15" उत्तरी अक्षांश तथा 82°19'50" ~ 88°17'40" पूर्वी देशांतर के बीच स्थित भारतीय राज्य है। मुख्यतः यह एक हिंदी भाषी राज्य है लेकिन उर्दू, मैथिली, भोजपुरी, मगही, बज्जिका, अंगिका तथा एवं संथाली भी बोली जाती है। राज्य का कुल क्षेत्रफल 94,163 वर्ग किलोमीटर है जिसमें 92,257.51 वर्ग किलोमीटर ग्रामीण क्षेत्र है। 2001 की जनगणना के अनुसार बिहार राज्य की जनसंख्या 8,28,78,796 है जिनमें ६ वर्ष से कम आयु का प्रतिशत 19.59% है। 2002 में झारखंड के अलग हो जाने के बाद बिहार का भूभाग मुख्यतः नदियों के बाढमैदान एवं कृषियोग्य समतल भूमि है। गंगा तथा इसकी सहायक नदियों द्वारा लायी गयी मिट्टियों से बिहार का जलोढ मैदान बना है जिसकी औसत ऊँचाई १७३ फीट है। बिहार का उपग्रह द्वारा लिया गया चित्र .

नई!!: नेपाल और बिहार का भूगोल · और देखें »

बज्जिका

बज्जिका मैथिली भाषा की उपभाषा है, जो कि बिहार के तिरहुत प्रमंडल में बोली जाती है। इसे अभी तक भाषा का दर्जा नहीं मिला है, मुख्य रूप से यह बोली ही है| भारत में २००१ की जनगणना के अनुसार इन जिलों के लगभग १ करोड़ १५ लाख लोग बज्जिका बोलते हैं। नेपाल के रौतहट एवं सर्लाही जिला एवं उसके आस-पास के तराई क्षेत्रों में बसने वाले लोग भी बज्जिका बोलते हैं। वर्ष २००१ के जनगणना के अनुसार नेपाल में २,३८,००० लोग बज्जिका बोलते हैं। उत्तर बिहार में बोली जाने वाली दो अन्य भाषाएँ भोजपुरी एवं मैथिली के बीच के क्षेत्रों में बज्जिका सेतु रूप में बोली जाती है। .

नई!!: नेपाल और बज्जिका · और देखें »

बंगाल का गिद्ध

बंगाल का गिद्ध एक पुरानी दुनिया का गिद्ध है, जो कि यूरोपीय ग्रिफ़न गिद्ध का संबन्धी है। एक समय यह अफ़्रीका के सफ़ेद पीठ वाले गिद्ध का ज़्यादा करीबी समझा जाता था और इसे पूर्वी सफ़ेद पीठ वाला गिद्ध भी कहा जाता है। १९९० के दशक तक यह पूरे दक्षिणी तथा दक्षिण पूर्वी एशिया में व्यापक रूप से पाया जाता था और इसको विश्व का सबसे ज़्यादा आबादी वाला बड़ा परभक्षी पक्षी माना जाता था लेकिन १९९२ से २००७ तक इनकी संख्या ९९.९% तक घट गई और अब यह घोर संकटग्रस्त जाति की श्रेणी में पहुँच गया है और अब बहुत कम नज़र आता है। .

नई!!: नेपाल और बंगाल का गिद्ध · और देखें »

बंगाल की खाड़ी

बंगाल की खाड़ी विश्व की सबसे बड़ी खाड़ी है और हिंद महासागर का पूर्वोत्तर भाग है। यह मोटे रूप में त्रिभुजाकार खाड़ी है जो पश्चिमी ओर से अधिकांशतः भारत एवं शेष श्रीलंका, उत्तर से बांग्लादेश एवं पूर्वी ओर से बर्मा (म्यांमार) तथा अंडमान एवं निकोबार द्वीपसमूह से घिरी है। बंगाल की खाड़ी का क्षेत्रफल 2,172,000 किमी² है। प्राचीन हिन्दू ग्रन्थों के अन्सुआर इसे महोदधि कहा जाता था। बंगाल की खाड़ी 2,172,000 किमी² के क्षेत्रफ़ल में विस्तृत है, जिसमें सबसे बड़ी नदी गंगा तथा उसकी सहायक पद्मा एवं हुगली, ब्रह्मपुत्र एवं उसकी सहायक नदी जमुना एवं मेघना के अलावा अन्य नदियाँ जैसे इरावती, गोदावरी, महानदी, कृष्णा, कावेरी आदि नदियां सागर से संगम करती हैं। इसमें स्थित मुख्य बंदरगाहों में चेन्नई, चटगाँव, कोलकाता, मोंगला, पारादीप, तूतीकोरिन, विशाखापट्टनम एवं यानगॉन हैं। .

नई!!: नेपाल और बंगाल की खाड़ी · और देखें »

बछेंद्री पाल

बछेंद्री पाल (जन्म: 24 मई 1954) माउंट एवरेस्ट पर चढ़ने वाली प्रथम भारतीय महिला हैं। वे एवरेस्ट की ऊंचाई को छूने वाली दुनिया की 5वीं महिला पर्वतारोही हैं। वर्तमान में वे इस्पात कंपनी टाटा स्टील में कार्यरत हैं, जहां वह चुने हुए लोगो को रोमांचक अभियानों का प्रशिक्षण देती हैं। .

नई!!: नेपाल और बछेंद्री पाल · और देखें »

बुटवल

बुटवल, दक्षिण-पश्चिम नेपाल के पहाड़ी व तराई क्षेत्र के बीच का प्रमुख शहर है। भारत की तरफ से सड़क मार्ग से नेपाल जाने के लिये इसी कस्बे से होकर प्रवेश करना पड़ता है। अत: इसे नेपाल के एक प्रवेशद्वार जैसा मान सकते हैं। यह शहर तिनाउ नदी के किनारे स्थित है। बुटवल, लुम्बिनी अंचल का मुकाम होने के के अलावा इस क्षेत्र का सबसे बड़ा वाणिज्य केन्द्र भी है। अंग्रजों के साथ नेपाल की लड़ाई में जीत का प्रतीक जितगढ़ी किला इस शहर के ऊपर की चोटी पर स्थित है। बुटवल, नेपाल के रूपनदेही जिले में आता है। यहाँ से भैरहवा २२ किमी तथा काठमाण्डू लगभग २५० किमी दूर है। बुटवल का दृष्य .

नई!!: नेपाल और बुटवल · और देखें »

बुढाकोट

बुढाकोट नेपाल के सेती अंचल के अछाम जिला के एक गाँव है। .

नई!!: नेपाल और बुढाकोट · और देखें »

बुद्ध पूर्णिमा

बुद्ध पूर्णिमा (वेसक या हनमतसूरी) बौद्ध धर्म में आस्था रखने वालों का एक प्रमुख त्यौहार है। यह बैसाख माह की पूर्णिमा को मनाया जाता है। बुद्ध पूर्णिमा के दिन ही गौतम बुद्ध का जन्म हुआ था, इसी दिन उन्हें ज्ञान की प्राप्ति हुई थी और इसी दिन उनका महानिर्वाण भी हुआ था। ५६३ ई.पू.

नई!!: नेपाल और बुद्ध पूर्णिमा · और देखें »

बुधबारे

बुधबारे नेपालके मेची अंचलके झापा जिला का एक गाँव विकास समिति है। .

नई!!: नेपाल और बुधबारे · और देखें »

बुरांस

बुरांस या बुरुंश (रोडोडेंड्रॉन / Rhododendron) सुन्दर फूलों वाला एक वृक्ष है। बुरांस का पेड़ उत्तराखंड का राज्य वृक्ष है, तथा नेपाल में बुरांस के फूल को राष्ट्रीय फूल घोषित किया गया है। गर्मियों के दिनों में ऊंची पहाड़ियों पर खिलने वाले बुरांस के सूर्ख फूलों से पहाड़ियां भर जाती हैं। हिमाचल प्रदेश में भी यह पैदा होता है। बुरांश हिमालयी क्षेत्रों में 1500 से 3600 मीटर की मध्यम ऊंचाई पर पाया जाने वाला सदाबहार वृक्ष है। बुरांस के पेड़ों पर मार्च-अप्रैल माह में लाल सूर्ख रंग के फूल खिलते हैं। बुरांस के फूलों का इस्तेमाल दवाइयों में किया जाता है, वहीं पर्वतीय क्षेत्रों में पेयजल स्रोतों को यथावत रखने में बुरांस महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। बुरांस के फूलों से बना शरबत हृदय-रोगियों के लिए बेहद लाभकारी माना जाता है। बुरांस के फूलों की चटनी और शरबत बनाया जाता है, वहीं इसकी लकड़ी काुपयोग कृषि यंत्रों के हैंडल बनाने में किया जाता है। ग्रामीण क्षेत्रों में आज भी वृद्ध लोग बुरांश के मौसम् के समय घरों में बुरांस की चटनी बनवाना नहीं भूलते। बुरांस की चटनी ग्रामीण क्षेत्रों में काफी पसंद की जाती है। .

नई!!: नेपाल और बुरांस · और देखें »

बुङ

बुङ नेपाल के पूर्वांचल विकास क्षेत्र के सगरमाथा अंचल, सोलुखुम्बु जिला में स्थित गाँव विकास समिति है। .

नई!!: नेपाल और बुङ · और देखें »

ब्रिटिश भारतीय सेना

भारतीय मुसलमान सैनिकों का एक समूह जिसे वॉली फायरिंग के आदेश दिए गए। ~1895 ब्रिटिश भारतीय सेना 1947 में भारत के विभाजन से पहले भारत में ब्रिटिश राज की प्रमुख सेना थी। इसे अक्सर ब्रिटिश भारतीय सेना के रूप में निर्दिष्ट नहीं किया जाता था बल्कि भारतीय सेना कहा जाता था और जब इस शब्द का उपयोग एक स्पष्ट ऐतिहासिक सन्दर्भ में किसी लेख या पुस्तक में किया जाता है, तो इसे अक्सर भारतीय सेना ही कहा जाता है। ब्रिटिश शासन के दिनों में, विशेष रूप से प्रथम और द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान, भारतीय सेना न केवल भारत में बल्कि अन्य स्थानों में भी ब्रिटिश बलों के लिए अत्यधिक सहायक सिद्ध हुई। भारत में, यह प्रत्यक्ष ब्रिटिश प्रशासन (भारतीय प्रान्त, अथवा, ब्रिटिश भारत) और ब्रिटिश आधिपत्य (सामंती राज्य) के अंतर्गत आने वाले क्षेत्रों की सुरक्षा के लिए उत्तरदायी थी। पहली सेना जिसे अधिकारिक रूप से "भारतीय सेना" कहा जाता था, उसे 1895 में भारत सरकार के द्वारा स्थापित किया गया था, इसके साथ ही ब्रिटिश भारत की प्रेसीडेंसियों की तीन प्रेसिडेंसी सेनाएं (बंगाल सेना, मद्रास सेना और बम्बई सेना) भी मौजूद थीं। हालांकि, 1903 में इन तीनों सेनाओं को भारतीय सेना में मिला दिया गया। शब्द "भारतीय सेना" का उपयोग कभी कभी अनौपचारिक रूप से पूर्व प्रेसिडेंसी सेनाओं के सामूहिक विवरण के लिए भी किया जाता था, विशेष रूप से भारतीय विद्रोह के बाद.

नई!!: नेपाल और ब्रिटिश भारतीय सेना · और देखें »

ब्रजबुलि

ब्रजबुलि उस काव्यभाषा का नाम है जिसका उपयोग उत्तर भारत के पूर्वी प्रदेशों अर्थात् मिथिला, बंगाल, आसाम तथा उड़ीसा के भक्त कवि प्रधान रूप से कृष्ण की लीलाओं के वर्णन के लिए करते रहे हैं। नेपाल में भी ब्रजबुलि में लिखे कुछ काव्य तथा नाटकग्रंथ मिले हैं। इस काव्यभाषा का उपयोग शताब्दियों तक होता रहा है। ईसवी सन् की 15वीं शताब्दी से लेकर 19वीं शताब्दी तक इस काव्यभाषा में लिखे पद मिलते हैं। यद्यपि "ब्रजबुलि साहित्य" की लंबी परंपरा रही हैं, फिर भी "ब्रजबुलि" शब्द का प्रयोग ईसवी सन् की 19वीं शताब्दी में मिलता है। इस शब्द का प्रयोग अभी तक केवल बंगाली कवि ईश्वरचंद्र गुप्त की रचना में ही मिला है। .

नई!!: नेपाल और ब्रजबुलि · और देखें »

ब्लॉगोत्सव

ब्लॉगोत्सव अंतर्जाल पर हुई साहित्योत्सव की परिकल्पना का मूर्तरूप है। परिकल्पना डॉट कॉम के संचालक-समन्वयक और हिंदी के मुख्य ब्लॉग विश्लेषक लखनऊ निवासी रवीन्द्र प्रभात ने अपने छ: सहयोगियों क्रमश: अविनाश वाचस्‍पति, रश्मि प्रभा, ज़ाक़िर अली