लोगो
यूनियनपीडिया
संचार
Google Play पर पाएं
नई! अपने एंड्रॉयड डिवाइस पर डाउनलोड यूनियनपीडिया!
मुक्त
ब्राउज़र की तुलना में तेजी से पहुँच!
 

निकोबारी भाषाएँ

सूची निकोबारी भाषाएँ

निकोबारी भाषाएँ (Nicobarese languages) भारत के निकोबार द्वीपसमूह में बोली जाने वाली कुछ ऑस्ट्रो-एशियाई भाषाओं का परिवार है। इन्हें लगभग ३०,००० लोग बोलते हैं, जिनमें से अधिकतर कार भाषा के मातृभाषी हैं। .

17 संबंधों: चौरा भाषा, तेरेस्सा द्वीप, तेरेस्सा भाषा, दक्षिण निकोबारी भाषा, नन्कोव्री भाषा, निकोबार द्वीपसमूह, निकोबारी लोग, मध्य निकोबारी भाषाएँ, मुण्डा भाषाएँ, खसिक भाषाएँ, ख्मेर भाषा, आठवीं अनुसूची, आग्नेय भाषापरिवार, कत्चल द्वीप, कत्चल भाषा, कमोर्ता भाषा, कार भाषा

चौरा भाषा

चौरा या तुतेत भारत के निकोबार द्वीपसमूह में बोली जाने वाली एक भाषा है जो ऑस्ट्रो-एशियाई भाषाओं की निकोबारी शाखा की सदस्य है। इसके मातृभाषी चौरा द्वीप पर केन्द्रित हैं। .

नई!!: निकोबारी भाषाएँ और चौरा भाषा · और देखें »

तेरेस्सा द्वीप

तेरेस्सा (Teressa), जिसे निकोबारी भाषाओं में लुरू (Luroo) कहते हैं, भारत के निकोबार द्वीपसमूह का एक द्वीप है। यह पड़ोसी कमोर्ता द्वीप से पश्चिम में और कत्चल द्वीप से पश्चिमोत्तर में स्थित है। तेरेस्सा से छोटा चौरा द्वीप इस से उत्तर में और बोमपोका द्वीप पूर्व में स्थित है। तेरेस्सा द्वीप के उत्तरी भाग में ८७ मीटर तक की ऊँचाई वाली भूमि है। सन् २००१ की भारतीय जनगणना के अनुसार यहाँ २०४३ लोग रह रहे थे। यहाँ की चार सबसे बड़ी बस्तियाँ बंगाली, कलासी, मिनयुक और अलूरंग हैं। .

नई!!: निकोबारी भाषाएँ और तेरेस्सा द्वीप · और देखें »

तेरेस्सा भाषा

तेरेस्सा (Teressa) या ताइह-लोंग (Taih-Long) भारत के निकोबार द्वीपसमूह में बोली जाने वाली एक भाषा है जो ऑस्ट्रो-एशियाई भाषाओं की निकोबारी शाखा की सदस्य है। इसके मातृभाषी तेरेस्सा द्वीप पर केन्द्रित हैं। .

नई!!: निकोबारी भाषाएँ और तेरेस्सा भाषा · और देखें »

दक्षिण निकोबारी भाषा

दक्षिण निकोबारी भाषा (Southern Nicobarese language) भारत के निकोबार द्वीपसमूह में बोली जाने वाली एक भाषा है जो ऑस्ट्रो-एशियाई भाषाओं की निकोबारी शाखा की सदस्य है। इसके मातृभाषी छोटे निकोबार द्वीप (ओंग) और बड़े निकोबार द्वीप (लोओंग) पर केन्द्रित हैं। कोन्डुल और पुलो मिलो द्वीपों के रहने वाले भी यही भाषा बोलते हैं। हर द्वीप पर इसकी भिन्न उपभाषा बोली जाती है। .

नई!!: निकोबारी भाषाएँ और दक्षिण निकोबारी भाषा · और देखें »

नन्कोव्री भाषा

नन्कोव्री (Nancowry) भारत के निकोबार द्वीपसमूह में बोली जाने वाली एक भाषा है जो ऑस्ट्रो-एशियाई भाषाओं की निकोबारी शाखा की सदस्य है। इसके मातृभाषी नन्कोव्री द्वीप और उसके पास स्थित कुछ द्वीपों पर केन्द्रित हैं। .

नई!!: निकोबारी भाषाएँ और नन्कोव्री भाषा · और देखें »

निकोबार द्वीपसमूह

निकोबार द्वीपसमूह एशिया में निकोबार द्वीपसमूह का नक्शा निकोबार द्वीपसमूह है द्वीपसमूह भारत में। ये हिन्द महासागर में है और 150 किलोमीटर की दूरी आचेह, सुमात्रा से। अंडमान सागर है निकोबार द्वीपसमूह और थाईलैंड के बीच। ये 1,300 किलोमीटर की दूरी के बारे में स्थित भारत मुख्यभूमि से। राजनीतिक रूप से ये द्वीपसमूह अण्डमान और निकोबार द्वीपसमूह का हिस्सा है। यूनेस्को ने बड़ा निकोबार को घोषित किया एक बायोस्फियर भंडार के विश्व नेटवर्क। , The International Coordinating Council of UNESCO’s Man and the Biosphere Programme (MAB), added the following new sites to the World Network of Biosphere Reserves (WNBR) http://www.unesco.org/new/en/media-services/multimedia/photos/mab-2013/india/.

नई!!: निकोबारी भाषाएँ और निकोबार द्वीपसमूह · और देखें »

निकोबारी लोग

निकोबारी भारत के निकोबार द्वीपसमूह में रहने वाले ऑस्ट्रो-एशियाई भाषा-परिवार की निकोबारी भाषाएँ बोलने वाला एक समुदाय है। .

नई!!: निकोबारी भाषाएँ और निकोबारी लोग · और देखें »

मध्य निकोबारी भाषाएँ

मध्य निकोबारी भाषाएँ (Central Nicobarese languages) भारत के निकोबार द्वीपसमूह में बोली जाने वाली भाषाओं का एक समूह है जो ऑस्ट्रो-एशियाई भाषाओं की निकोबारी शाखा की उपशाखा है। इसकी भिन्न भाषाओं को बोलने वाले एक-दूसरे को समझ नहीं सकते। केवल कत्चल और ट्रिन्केट भाषाओं को बोलने बाले एक-दूसरे को समझ सकते हैं और ट्रिन्केट को कत्चल भाषा की उपभाषा समझा जाता है, जबकि अन्य सभी भिन्न भाषाएँ मानी जाती हैं.

नई!!: निकोबारी भाषाएँ और मध्य निकोबारी भाषाएँ · और देखें »

मुण्डा भाषाएँ

आस्ट्रेशियाई (Austro-Asiatic) भाषाएँ; इनमें मुण्डा भाषाएँ पीले रंग में दिखायी गयी हैं। मुण्डा एक भाषापरिवार है जिसे भारत तथा बांग्लादेश के लगभग १ करोड़ लोग बोलते हैं। यह ऑस्ट्रो-एशियाई भाषा-परिवार की एक शाखा है। इसका अर्थ है कि मुण्डा भाषा वियतनामी भाषा और खमेर भाषा से सम्बंधित है। हो, मुण्डारी और सन्ताली इस भाषासमूह की मुख्य भाषाएँ हैं। भारत में मुण्डा के अलावा ऑस्ट्रो-एशियाई परिवार की दो अन्य शाखाएँ मिलती हैं: निकोबारी भाषाएँ तथा खसिक भाषाएँ। .

नई!!: निकोबारी भाषाएँ और मुण्डा भाषाएँ · और देखें »

खसिक भाषाएँ

खसिक भाषाएँ (Khasic languages) भारत के पूर्वोत्तरी मेघालय राज्य व बांग्लादेश के कुछ पड़ोसी क्षेत्रों में बोली जाने वाली ऑस्ट्रो-एशियाई भाषाओं का एक भाषा-परिवार है। .

नई!!: निकोबारी भाषाएँ और खसिक भाषाएँ · और देखें »

ख्मेर भाषा

ख्मेर (ភាសាខ្មែរ) या कम्बोडियाई भाषा, खमेर जाति की भाषा है। यह कम्बोडिया की अधिकारिक भाषा भी है। वियतनामी भाषा के बाद यह सर्वाधिक बोली जाने वाली ऑस्ट्रो-एशियाई भाषा (Austroasiatic language) है। हिन्दू और बौद्ध धर्म के के कारण खमेर भाषा पर संस्कृत और पालि का गहरा प्रभाव है। .

नई!!: निकोबारी भाषाएँ और ख्मेर भाषा · और देखें »

आठवीं अनुसूची

भारतीय संविधान की आठवीं अनुसूची भारत की भाषाओं से संबंधित है। इस अनुसूची में २२ भारतीय भाषाओं को शामिल किया गया है। इनमें से १४ भाषाओं को संविधान में शामिल किया गया था। सन १९६७ में, सिन्धी भाषा को अनुसूची में जोड़ा गया। इसके बाद, कोंकणी भाषा, मणिपुरी भाषा, और नेपाली भाषा को १९९२ में जोड़ा गया। हाल में २००४ में बोड़ो भाषा, डोगरी भाषा, मैथिली भाषा, और संथाली भाषा शामिल किए गए। .

नई!!: निकोबारी भाषाएँ और आठवीं अनुसूची · और देखें »

आग्नेय भाषापरिवार

ऑस्ट्रो-एशियाई भाषाएँ​ (Austro-Asiatic languages) या मोन-ख्मेर भाषाएँ या आग्नेय भाषाएँ दक्षिण-पूर्वी एशिया में विस्तृत एक भाषा परिवार है भाषाएँ भारत और बंगलादेश में जहाँ-तहाँ और चीन की कुछ दक्षिणी सीमावर्ती क्षेत्रों में भी बोलीं जाती हैं। इनमें केवल ख्मेर, वियतनामी और मोन का लम्बा लिखित इतिहास है और केवल ख्मेर और वियतनामी को अपने क्षेत्रों में सरकारी भाषा होने का दर्जा प्राप्त है। अन्य सभी भाषाएँ अल्पसंख्यक समुदायों द्वारा बोली जाती हैं। कुल मिलाकर ऍथनोलॉग भाषा सूची में इस परिवार की १६८ सदस्य भाषाएँ गिनी गई हैं। भारत में खासी और मुंडा भाषाएँ इस परिवार में आती हैं। .

नई!!: निकोबारी भाषाएँ और आग्नेय भाषापरिवार · और देखें »

कत्चल द्वीप

कत्चल (Katchal), जिसे निकोबारी भाषाओं में तिहन्यु (Tihnyu) कहा जाता है, भारत के निकोबार द्वीपसमूह का एक द्वीप है। .

नई!!: निकोबारी भाषाएँ और कत्चल द्वीप · और देखें »

कत्चल भाषा

कत्चल (Katchal) भारत के निकोबार द्वीपसमूह में बोली जाने वाली एक भाषा है जो ऑस्ट्रो-एशियाई भाषाओं की निकोबारी शाखा की सदस्य है। इसके मातृभाषी कत्चल द्वीप पर केन्द्रित हैं। इसके पड़ोसी ट्रिन्केट द्वीप पर इसकी एक उपभाषा बोली जाती है। कत्चल भाषा और ट्रिन्केट भाषा के बोलने वाले एक-दूसरे को समझ सकते हैं लेकिन वे किसी भी अन्य मध्य निकोबारी भाषा को नहीं समझ सकते। २००४ की सूनामी के बाद ट्रिन्केट के सभी लोगों को कत्चल और कमोर्ता द्वीप पर लाया गया और अनुमान है कि, जैसे वे स्थानीय आबादी में घुलमिल जाते हैं, ट्रिन्केट उपभाषा विलुप्त हो जायेगी। .

नई!!: निकोबारी भाषाएँ और कत्चल भाषा · और देखें »

कमोर्ता भाषा

कमोर्ता (Camorta) भारत के निकोबार द्वीपसमूह में बोली जाने वाली एक भाषा है जो ऑस्ट्रो-एशियाई भाषाओं की निकोबारी शाखा की सदस्य है। इसके मातृभाषी कमोर्ता द्वीप पर केन्द्रित हैं। .

नई!!: निकोबारी भाषाएँ और कमोर्ता भाषा · और देखें »

कार भाषा

कार (Car) भारत के निकोबार द्वीपसमूह में बोली जाने वाली एक भाषा है जो ऑस्ट्रो-एशियाई भाषाओं की निकोबारी शाखा की सदस्य है। यह सबसे अधिक बोली जाने वाली निकोबारी भाषा है और कार निकोबार द्वीप पर केन्द्रित है। कार भाषा में अभिश्लेषण देखा जाता है। यह वियतनामी भाषा और खमेर भाषा से सम्बन्धित है लेकिन इसकी सबसे निकटतम ग़ैर-निकोबारी भाषा पास में स्थित इण्डोनेशिया के सुमात्रा द्वीप के पश्चिमोत्तरी आचेह क्षेत्र में बोली जाने वाली आचेही भाषा है। .

नई!!: निकोबारी भाषाएँ और कार भाषा · और देखें »

यहां पुनर्निर्देश करता है:

निकोबारी भाषा, निकोबारी भाषाओं

निवर्तमानआने वाली
अरे! अब हम फेसबुक पर हैं! »