लोगो
यूनियनपीडिया
संचार
Google Play पर पाएं
नई! अपने एंड्रॉयड डिवाइस पर डाउनलोड यूनियनपीडिया!
डाउनलोड
ब्राउज़र की तुलना में तेजी से पहुँच!
 

नई दिल्ली

सूची नई दिल्ली

नई दिल्ली भारत की राजधानी है। यह भारत सरकार और राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र दिल्ली सरकार के केंद्र के रूप में कार्य करता है। नई दिल्ली दिल्ली महानगर के भीतर स्थित है, और यह दिल्ली संघ राज्य क्षेत्र के ग्यारह ज़िलों में से एक है। भारत पर अंग्रेज शासनकाल के दौरान सन् 1911 तक भारत की राजधानी कलकत्ता (अब कोलकाता) था। अंग्रेज शासकों ने यह महसूस किया कि देश का शासन बेहतर तरीके से चलाने के लिए कलकत्ता की जगह यदि दिल्‍ली को राजधानी बनाया जाए तो बेहतर होगा क्‍योंकि य‍ह देश के उत्तर में है और यहां से शासन का संचालन अधिक प्रभावी होगा। इस पर विचार करने के बाद अंग्रेज महाराजा जॉर्ज पंचम ने देश की राजधानी को दिल्‍ली ले जाने के आदेश दे दिए। वर्ष 2011 में दिल्ली महानगर की जनसंख्या 22 लाख थी। दिल्ली की जनसंख्या उसे दुनिया में पाँचवीं सबसे अधिक आबादी वाला, और भारत का सबसे बड़ा महानगर बनाती है। क्षेत्रफल के अनुसार भी, दिल्ली दुनिया के बड़े महानगरों में से एक है। मुम्बई के बाद, वह देश का दूसरा सबसे अमीर शहर है, और दिल्ली का सकल घरेलू उत्पाद दक्षिण, पश्चिम और मध्य एशिया के शहरों में दूसरे नम्बर पर आता है। नई दिल्ली अपनी चौड़ी सड़कों, वृक्ष-अच्छादित मार्गों और देश के कई शीर्ष संस्थानो और स्थलचिह्नों के लिए जानी जाती है। 1911 के दिल्ली दरबार के दौरान, 15 दिसम्बर को शहर की नींव भारत के सम्राट, जॉर्ज पंचम ने रखी, और प्रमुख ब्रिटिश वास्तुकार सर एड्विन लुट्यन्स और सर हर्बर्ट बेकर ने इसकी रूपरेखा तैयार की। ब्रिटिश भारत के गवर्नर जनरल लॉर्ड इर्विन द्वारा 13 फ़रवरी 1931 को नई दिल्ली का उद्घाटन हुआ। बोलचाल की भाषा में हालाँकि दिल्ली और नयी दिल्ली यह दोनों नाम राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र दिल्ली के अधिकार क्षेत्र को संदर्भित करने के लिए के प्रयोग किये जाते हैं, मगर यह दो अलग-अलग संस्था हैं और नयी दिल्ली, दिल्ली महानगर का छोटा सा हिस्सा है। .

972 संबंधों: चन्दर, चन्द्रशेखर, चन्द्रशेखर आजाद, चन्द्रकान्त राजू, चम्पावत का इतिहास, चाणक्य पुरी, चारा घोटाला, चारुसीता चक्रवर्ती, चिटफंड, चित्तरंजन पार्क ,नईदिल्ली, चंपक (बाल पत्रिका), चुन्ने मियाँ का मन्दिर, चौधरी दिगम्बर सिंह, चौधरी प्रेम सिंह, चौलाई, चेतन भगत, चेन्नई ओपन, टाटा डोकोमो, टाटानगर जंक्शन रेलवे स्टेशन, टेरी - ऊर्जा और संसाधन संस्थान, टेरी विश्वविद्यालय, टी-सीरीज़, टी.एस.आर. सुब्रमण्यन, टीम सिंधु, टीकमगढ़, एटा जिला, एड्विन लैंडसियर लूट्यन्स, एम टी एस इंडिया, एयरटेल भुगतान बैंक लिमिटेड, एशियाई बैडमिंटन प्रतियोगिता, एशियाई राजमार्ग १, एशियाई खेल, एस॰ चंद ग्रुप, एंजेलिना जोली, एक ननद की खुशियो की चाबी-मेरी भाभी, झण्डा गीत, झुमरी तिलैया, झेलम एक्स्प्रेस १०७७, डा. ए. पी. जे. अब्दुल कलाम रोड, डिफेन्स कालोनी, डिब्रूगढ़ राजधानी एक्सप्रेस, डिब्रूगढ़ राजधानी एक्स्प्रेस डाउन, डिब्रूगढ़ राजधानी एक्स्प्रेस अप, डिजिटल कला, डैटसन गो (कार), डैन नेटवर्क्स, डेनमार्क–भारत संबंध, डेंगू बुख़ार, डॉ. बी. सी. रॉय राष्ट्रीय पुरस्कार, डॉ॰ नगेन्द्र, ..., डोला बेनर्जी, डीएलएफ़ यूनिवर्सल लिमिटेड, डीडी न्यूज़, डीडी फ्री डिश, डीडी भारती, डीडी इंडिया, डीडी उर्दू, डी॰ के॰ रवि, ढिंचक पूजा, तरुण तेजपाल, तरुणा मदन गुप्ता, तानसेन सम्मान, तिब्बिया कॉलेज, तवलीन सिंह, तुम्हारी पाखी, त्यागराज पार्क, नई दिल्ली, त्रिभुवन नेपाल, तेज पी० सिंह, तीन मूर्ति भवन, द ट्रिब्यून (चंडीगढ़), द रॉयल प्लाजा, नई दिल्ली, द इम्पीरियल, नई दिल्ली, दया प्रकाश सिन्हा, दयानतपुर, दशरथ माँझी, दामोदर स्वरूप 'विद्रोही', दारा सिंह, दाराशा नौशेरवां वाडिया, दिनेश त्रिवेदी, दिलबाग सिंह, दिल्ली, दिल्ली दरवाजा, दिल्ली, दिल्ली में रूसी दूतावास विद्यालय, दिल्ली राज्य विधानसभा चुनाव, २०१३, दिल्ली सफ़दरजंग, दिल्ली हाट, दिल्ली जंक्शन रेलवे स्टेशन, दिल्ली विश्‍वविद्यालय, दिल्ली का भूगोल, दिल्ली काव्य महोत्सव, दिल्ली के शिक्षा संस्थानों की सूची, दिल्ली के संग्रहालय, दिल्ली के जिले और उपमंडल, दिल्ली की संस्कृति, दिल्ली उच्च न्यायालय, दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस वे, दक्षिण एशियाई खेल, दक्षिण एशियाई क्षेत्रीय सहयोग संगठन, दक्षिण पूर्वी एशियाई राष्ट्रों का संगठन, दक्षिण पूर्वी एशियाई राष्ट्रों का संगठन के सदस्य राष्ट्र, दक्षिण अफ्रीका क्रिकेट टीम का भारत दौरा 1991-92, दु:स्वप्न भी आते हैं, दुर्गा लाल, दैनिक ट्रिब्यून, दूरदर्शन नेशनल, दूरशिक्षा परिषद, देशी भाषाओं में देशों और राजधानियों की सूची, देवयानी खोब्रागड़े, दोस्त भालुओं का सम्मेलन, दीपक पुरी, धौलपुर हाउस, नथुराम विनायक गोडसे, नदियों पर बसे भारतीय शहर, नमस्ते सदा वत्सले, नयी दिल्ली गुवाहाटी राजधानी स्पेशल डाउन, नयी दिल्ली गुवाहाटी राजधानी स्पेशल अप, नरेन्द्र मोदी, नादानियाँ, नानाजी देशमुख, नाभिकीय चिकित्सा, नाभिकीय कमान प्राधिकरण (भारत), नारद पुराण, नागर विमानन महानिदेशालय (भारत), नागरी लिपि परिषद्, निरन्तर (अशासकीय संस्था), निरुपमा राव, निर्भया, निर्मल चंद्र विज, निर्मला देशपांडे, निर्मला सीतारमन, निविया स्पोर्ट्स, निक्षेप बीमा और प्रत्यय गारंटी निगम, नजमा हेपतुल्ला, नई दिल्ली नगरपालिका परिषद, नई दिल्ली रेलवे स्टेशन, नई दिल्ली आदि राजधानी स्पेशल अप, नई दिल्ली काली बाड़ी मंदिर, नई विमान यातायात सेवा इमारत, नई दिल्ली, नवदीप सिंह सूरी, नवीन चावला, न्यू डेवलपमेंट बैंक, न्यू दिल्ली राजधानी स्पेशल डाउन, न्यूज़ २४ (इंडिया), नैरोबी के शॉपिंग मॉल में गोलाबारी, नूर अंतर्राष्ट्रीय माइक्रोफिल्म केन्द्र, नेट4, नेहरु स्मारक संग्रहालय एवं पुस्तकालय, नेहरू कप अंतरराष्ट्रीय फ़ुटबॉल प्रतियोगिता, नेहरू–गांधी परिवार, नेहा शर्मा, नॉलेज ऐण्ड न्यूज नेटवर्क, नोआम चाम्सकी, नीति आयोग, नीरव मोदी, नीलम धवन, नीला गुम्बद, दिल्ली, नीलांचल एक्सप्रेस, पटना राजधानी एक्स्प्रेस डाउन, पटना राजधानी एक्स्प्रेस अप, पटना जंक्शन रेलवे स्टेशन, पथ के साथी, पद्म सम्मान, पद्मा सचदेव, परमाणु ऊर्जा विभाग (भारत), परमेश्वर नारायण हक्सर, परमीत सेठी, परिकल्पना सम्मान, पाटलिपुत्र जंक्शन रेलवे स्टेशन, पाठक संख्या के अनुसार भारत में समाचार पत्रों की सूची, पार्क होटल नई दिल्ली, पालिका बाजार, पंजाब एण्ड सिंध बैंक, पंजाब नैशनल बैंक, पंकज पचौरी, पंकज भदौरिया, पुराना किला, दिल्ली, पुरुषोत्तम एक्सप्रेस, पुलिस अनुसंधान एवं विकास ब्यूरो, पुष्प विहार, नई दिल्ली, प्रणब मुखर्जी, प्रधानमन्त्री कार्यालय (भारत), प्रधानमंत्री मुद्रा योजना, प्रधानमंत्री ग्रामीण विकास अध्येतावृत्ति योजना, प्रभा साक्षी, प्रभात खबर, प्रभुवाला, प्रशांत राज सचदेव, प्राची तेहलान, प्राण नाथ थापर, प्राण कुमार शर्मा, प्रिया राय, प्रियंवदा मोहंती हेजमादी, प्रियंका गांधी, प्रवर्तन निदेशालय, प्रवासी भारतीय दिवस, प्रकाश करात, प्रेम चौधरी, प्रेम लाल जोशी, प्रेमकृष्ण खन्ना, प्रो रेस्लिंग लीग, प्रो कबड्डी लीग, प्रोद्दटूरू, पृथ्वी नाथ धर, पृथ्वी गान, पृथ्वीराज मार्ग, पूर्णिया, पूर्व एक्स्प्रेस २३०४, पूजा शर्मा, पूजा गुप्ता, पॉण्टी चड्ढा, पीयूष गोयल (लेखक), पी॰ चिदंबरम, पी॰ टी॰ उषा, फतेहपुर जिला, फ़िराक़ गोरखपुरी, फिरोज़ गांधी, फिजी आर्य प्रतिनिधि सभा, फ्रीडा पिंटो, बड़वानी ज़िला, बनवारी लाल, बरखा दत्त, बलि राम भगत, बसव, बहुजन समाज पार्टी, बाँसुरी, बादशाह (गायक), बासमती चावल, बावड़ी, बागेश्वर, बाङ्ला भाषा, बिपिन चंद्र जोशी, बिप्लब कुमार देब, बिबेक देबराय, बिरजू महाराज, बिलासपुर राजधानी एक्स्प्रेस डाउन, बिलासपुर राजधानी एक्स्प्रेस अप, बिग मैजिक, बजरंगी भाईजान, बंगाल का विभाजन (1905), बुलन्द दरवाज़ा, ब्रिटिश राज, ब्रिटिश राज का इतिहास, ब्रिक्स, बृजेश सिंह, बैडमिंटन विश्व कप, बैरेटा (छोटी पिस्तौल), बेकल उत्साही, बी पी ओ, बीमा लोकपाल, भारत, भारत तिब्बत सीमा पुलिस, भारत भूषण (योगी), भारत में ऊष्मा लहर २०१५, भारत में धर्म, भारत में पर्यटन, भारत में पर्यावरणीय समस्याएं, भारत में प्रकाशित होने वाले समाचार पत्रों की सूची, भारत में फिलिस्तीन का दूतावास, भारत में मानवाधिकार, भारत में रेलवे स्टेशनों की सूची, भारत में संचार, भारत में विमानक्षेत्रों की सूची, भारत में आतंकवाद, भारत में इस्लाम, भारत में कॉफी उत्पादन, भारत रत्‍न, भारत सरकार, भारत सारावली, भारत संचार निगम लिमिटेड, भारत स्थित संस्कृत विश्वविद्यालयों की सूची, भारत हेवी इलेक्ट्रिकल्स लिमिटेड, भारत कला मेला, भारत का प्रधानमन्त्री, भारत का भूगोल, भारत का विभाजन, भारत का उच्चतम न्यायालय, भारत के नियन्त्रक एवं महालेखापरीक्षक, भारत के प्रस्तावित राज्य तथा क्षेत्र, भारत के मानित विश्वविद्यालय, भारत के राष्ट्रपति, भारत के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार, भारत के राजनीतिक दलों की सूची, भारत के राज्य तथा केन्द्र-शासित प्रदेश, भारत के राज्यों और संघ क्षेत्रों की राजधानियाँ, भारत के लिए बराक ओबामा की यात्रा, भारत के सर्वाधिक जनसंख्या वाले शहरों की सूची, भारत के सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रम, भारत के हवाई अड्डे, भारत के विदेश सचिव, भारत के वीर, भारत के गृह सचिव, भारत के कैबिनेट सचिव, भारत की न्यायपालिका, भारत की घरेलू विमान सेवा कंपनियाँ, भारत २०१०, भारतमाला परियोजना, भारती एयरटेल, भारती इंटरप्राइजेज, भारती कॉलेज कृषि इंजीनियरिंग और कृषि प्रौद्योगिकी, दुर्ग छत्तीसगढ़, भारतीय चिकित्सा परिषद, भारतीय डाक भुगतान बैंक, भारतीय थलसेना, भारतीय दंत परिषद, भारतीय दूरसंचार विनियामक प्राधिकरण, भारतीय धातुकर्म का इतिहास, भारतीय नर्सिंग परिषद, भारतीय पर्यटन और यात्रा प्रबंधन संस्थान, भारतीय पुनर्नामकरण विवाद, भारतीय पुनर्वास परिषद, भारतीय पुरातत्त्व सर्वेक्षण विभाग, भारतीय प्रतिभूति और विनिमय बोर्ड, भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान दिल्ली, भारतीय फार्मेसी परिषद, भारतीय मानक समय, भारतीय मौसम विज्ञान विभाग, भारतीय राष्ट्रीय विज्ञान अकादमी, भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस, भारतीय राष्ट्रीय अभिलेखागार, भारतीय रिज़र्व बैंक, भारतीय सब्जी अनुसंधान संस्थान, वाराणसी, भारतीय सशस्‍त्र सेनाएँ, भारतीय सामाजिक विज्ञान अनुसंधान परिषद, भारतीय साहित्य अकादमी, भारतीय सांस्कृतिक संबंध परिषद, भारतीय संसद, भारतीय सौर ऊर्जा निगम, भारतीय जनता पार्टी, भारतीय वाणिज्य एवं उद्योग महासंघ (फिक्की), भारतीय वायुसेना, भारतीय विदेश सेवा, भारतीय विदेश व्यापार संस्थान, भारतीय विधिज्ञ परिषद, भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण, भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण, भारतीय विषविज्ञान अनुसंधान संस्थान, भारतीय खाद्य संरक्षा एवं मानक प्राधिकरण, भारतीय गैस प्राधिकार लिमिटेड, भारतीय ओलम्पिक संघ, भारतीय आम चुनाव, 2014, भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद, भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी, भारतीय कवियों की सूची, भारतीय कृषि सांख्यिकी अनुसंधान संस्थान, भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद, भारतीय अधिराज्य, भाषा (पत्रिका), भगत सिंह, भुबनेश्वर राजधानी एक्स्प्रेस डाउन, भुबनेश्वर राजधानी एक्स्प्रेस अप, भुबनेश्वर राजधानी एक्स्प्रेस २४२१ अप, भुबनेश्वर राजधानी एक्स्प्रेस २४२२ डाउन, भुवनेश्वर राजधानी एक्सप्रेस, भूपेन्द्र यादव, भूमिका चावला, भूषण इस्पात, भीनमाल, भीमराव आम्बेडकर, मणीन्द्र अग्रवाल, मदन लाल, मदनलाल पाहवा, मदनलाल वर्मा 'क्रान्त', मधुबाला, मधुमक्खी, मनाली, हिमाचल प्रदेश, मनित जौरा, मनिंदर सिंह धीर, मनजोत कालरा, मन्मथनाथ गुप्त, मनोज टिबड़ेवाल आकाश, मनोज कुमार (मुक्केबाज़), मनीष सिसोदिया, मनीष अरोड़ा, मसूद हुसैन ख़ान, महात्मा गांधी, महात्मा गांधी सम्मान, महात्मा गांधी की हत्या, महानगर टेलीफोन निगम लिमिटेड, महापरियोजना, महाराजा अग्रसेन प्रौद्योगिकी संस्थान, महाराजा अग्रसेन अस्पताल, नई दिल्ली, महंत चांदनाथ, महेन्द्रा कुमारी, मानुषी छिल्लर, मानेसर, मायावती, मारुति सुज़ुकी सिलैरियो, मारुति सुजुकी, मार्क टली, माउज़र पिस्तौल, मिताली मुखर्जी, मिरांडा हाउस, मिर्ज़ा नजफ खां, मक़बूल भट्ट, मुन्नालाल गर्ल्स कॉलेज, सहारनपुर, मुफ़्ती मोहम्मद सईद, मुर्दहिया, मुरैना ज़िला, मुखम्मस, मुग़ल उद्यान, दिल्ली, मुंबई राजधानी एक्स्प्रेस डाउन, मुंबई समाचार, मुंबई-नई दिल्ली दुरोंतो एक्सप्रेस, मुंबई-अहमदाबाद हाई-स्पीड रेल कॉरिडोर, मुकेश्वर चुन्नी, मौलिक समतल (गोलीय निर्देशांक), मृदुला सिन्हा, मैथिलीशरण गुप्त सम्मान, मेट्टुपालयम, कोयंबटूर, मेनका गांधी, मेरी इक्यावन कविताएँ, मेहदी ख्वाजा पीरी, मेक माई ट्रिप, मेक इन इंडिया, मॉडर्न स्कूल, नई दिल्ली, मोटरवाहन, मोनटेक सिंह आहलूवालिया, मोनिका शर्मा, मोहनलाल (अभिनेता), मोहम्मद अली जिन्नाह, मोहम्‍मद उस्मान, मोईन आज़म ख़ान, मीरा कुमार, यशपाल शर्मा, यशवंतराव चव्हाण, यामिनी रेड्डी, याशिका दत्त, यास्मीन मोडसीर, युद्धवीर सिंह, युकी भांबरी, यूनाइटेड न्यूज आफ इंडिया, योगेन्द्र नारायण, रतिका रामस्वामी, रब्बी शेरगिल, रमाबाई नगर जिला, राधा कुमार, राधिका मदन, राम दुलारी सिन्हा, राम प्रसाद 'बिस्मिल', राम मनोहर लोहिया अस्पताल, राम शरण शर्मा, राम सुतार, राम कपूर, रामभद्राचार्य, रामलीला मैदान, रामस्वामी वेंकटरमण, रामकृष्ण खत्री, रायसीना की पहाड़ी, राशी खन्ना, राष्ट्रपति निलयम, राष्ट्रपति भवन, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी, राष्ट्रीय डाक टिकट संग्रहालय, नई दिल्ली, राष्ट्रीय पादप आनुवंशिक संसाधन ब्यूरो, राष्ट्रीय पुरातात्विक संग्रहालय, नई दिल्ली, राष्ट्रीय प्रतिरक्षा विज्ञान सस्थान, नई दिल्‍ली, राष्ट्रीय प्रतिरक्षा विज्ञान संस्थान, नई दिल्ली, राष्ट्रीय प्राकृतिक इतिहास संग्रहालय, नई दिल्ली, राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान, दिल्ली, राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार २००७, राष्ट्रीय फैशन टेक्नालॉजी संस्थान, राष्ट्रीय बाल श्री सम्मान, राष्ट्रीय बीज निगम, राष्ट्रीय भौतिक प्रयोगशाला, भारत, राष्ट्रीय मानसिक विकलांग संस्थान, राष्ट्रीय मीडिया केन्द्र (नयी दिल्ली), राष्ट्रीय राजधानियों की सूची, राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र दिल्ली के सर्वाधिक जनसंख्या वाले शहरों की सूची, राष्ट्रीय राजमार्ग ४४ (भारत), राष्ट्रीय रेल संग्रहालय, नई दिल्ली, राष्ट्रीय शिक्षक शिक्षा परिषद, राष्ट्रीय शैक्षिक योजना एवं प्रशासन विश्‍वविद्यालय, राष्ट्रीय शैक्षिक अनुसंधान और प्रशिक्षण परिषद, राष्ट्रीय सांख्यिकी आयोग, राष्ट्रीय सिन्धी भाषा संवर्धन परिषद, राष्ट्रीय सिख संगत, राष्ट्रीय संस्कृत संस्थान, नई दिल्ली, राष्ट्रीय सूचना-विज्ञान केन्द्र, राष्ट्रीय हरित प्राधिकरण अधिनियम, 2010, राष्ट्रीय हिमालयी पर्यावरण एवं सतत विकास संस्थान, राष्ट्रीय जनता दल, राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन के सदस्यों की सूची, राष्ट्रीय जीन बैंक, नई दिल्ली, राष्ट्रीय ई-शासन योजना, राष्ट्रीय विद्युत प्रशिक्षण प्रतिष्ठान, राष्ट्रीय आधुनिक कला संग्रहालय, राष्ट्रीय आधुनिक कला संग्रहालय, दिल्ली, राष्ट्रीय इलेक्ट्रॉनिकी एवं सूचना प्रौद्योगिकी संस्थान, राष्ट्रीय कैडेट कोर, राष्ट्रीय अन्वेषण अभिकरण, राष्ट्रीय उत्पादकता परिषद, राज कॉमिक्स, राजधानी एक्स्प्रेस, राजमोहन गांधी, राजलक्ष्मी इंजीनियरिंग कॉलेज, राजस्थान पत्रिका, राजा मोहन, राजकमल प्रकाशन, राज्य सभा टीवी, राजेन्द्र पाल गौतम, राजेन्द्र यादव, राजेन्द्र शाह, राजेन्द्र सिंह (रज्जू भैया), राजेन्द्र कृषि विश्वविद्यालय, पूसा, राजेन्द्र अवस्थी, राजेन्द्रनाथ लाहिड़ी, राजेश शर्मा, राजेश खन्ना, राजीव मल्होत्रा, रांची राजधानी एक्स्प्रेस २४३९ अप, रांची राजधानी एक्स्प्रेस २४४० डाउन, रांची राजधानी एक्स्प्रेस २४५३ अप, रांची राजधानी एक्स्प्रेस २४५४ डाउन, रितु बेरी, रिसर्च एंड एनालिसिस विंग, रजत टोकस, रजत गुप्ता, रवीन्द्र प्रभात, रकुल प्रीत सिंह, रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन, रूपा प्रकाशन, रेडियो मिर्ची, रेल मंत्रालय, भारत, रेलवे सूचना प्रणाली केन्द्र, भारत, रेसकोर्स मार्ग, रोमन सैनी, रोशन सिंह, रीमा मल्होत्रा, लतिका सरकार, ललित मोदी, ललितेश्वर प्रसाद शाही, लालबहादुर शास्त्री, लालू प्रसाद यादव, लखनऊ, लखनऊ में यातायात, लखनऊ समझौता, लक्ष्मी चंद गुप्ता, लक्ष्मी नारायण मंदिर, दिल्ली, लक्ष्मीबाई नगर, लुईस माउंटबेटन, बर्मा के पहले अर्ल माउंटबेटन, लूई वीटॉन, लेडी श्रीराम महिला महाविद्यालय, लेडी इरविन कॉलेज, लेकर हम दीवाना दिल, शचीन्द्रनाथ बख्शी, शताब्दी एक्स्प्रेस, शमा जैन, शशि वाधवा, शहाणा गोस्वामी, शहीद (1965 फ़िल्म), शहीद सुखदेव कॉलेज ऑफ़ बिजनेस स्टडीज़, शान्ति स्वरूप भटनागर, शाहरुख़ ख़ान, शाहिद कपूर, शाहजहाँ मार्ग, शाहजहाँपुर जिला, शांतनु अरोड़ा, शिल्प संग्रहालय, नई दिल्ली, शिव गंगा एक्सप्रेस, शिवचरण माथुर, शिवदान सिंह चौहान, शिवरामकृष्ण अय्यर पद्मावती, शिवानी, शिविन नारंग, शंकर दयाल सिंह, शंकर अन्तर्राष्ट्रीय गुड़िया संग्रहालय, नई दिल्ली, शंकरदयाल शर्मा, श्याम बहादुर वर्मा, श्रद्धा आर्या, श्रम दक्षता संबंधी विज्ञान, श्री राम कॉलेज ऑफ कॉमर्स, श्री गोविन्दराम सेकसरिया प्रौद्योगिकी एवं विज्ञान संस्थान, श्रीसीतारामसुप्रभातम्, श्वेता त्रिपाठी, श्वेता बासु प्रसाद, शेखर गुरेरा, सचिन पायलट, सचिवालय इमारत, दिल्ली, सत्यभूषण वर्मा, सनी देओल, सफदरजंग, सफदरजंग विमानक्षेत्र, सफ़ेद बाघ, सभ्यता द्वार, समाचार भारती, सर एड्विन लुट्यन्स, सर सोराबजी पोचखानवाला, सर गंगाराम अस्पताल, दिल्ली, सरथ कुमार, सरदार चुटकुले, सरदार पटेल विद्यालय, सरदार वल्लभभाई पटेल राष्ट्रीय पुलिस अकादमी, सरदार उज्जल सिंह, सरफरोशी की तमन्ना, सरला बिड़ला, सरस्वती विद्या मंदिर, बोकारो, सशस्त्र सीमा बल, ससुराल सिमर का, सहारा वन, साबरी खान, सारिका, सार्क शिखर सम्मेलन की सूची, साहित्य संगीत कला २०१०, साहित्‍य अमृत, सांस्‍कृतिक स्रोत एवं प्रशिक्षण केन्‍द्र, साइना नेहवाल, सिद्धि कुमारी, सियाल्दा राजधानी एक्स्प्रेस डाउन, सियाल्दा राजधानी एक्स्प्रेस अप, सिरसा, सिंहाचलम मंदिर, विशाखापट्टनम, सविता कोविन्द, संदीप नाथ, संयुक्त रोजगार परीक्षा, संसद भवन, संसद मार्ग, संस्कृत भाषा, संस्कृत आयोग, संस्‍कृति, संजीव कपूर, सक्षम धर्मार्थ ट्रस्ट, सुधीर चौधरी (पत्रकार), सुनन्दा पुष्कर, सुनिधि चौहान, सुनील मुखी, सुब्रह्मण्यम जयशंकर, सुभाष कपूर, सुलभ इंटरनेशनल शौचालय संग्रहालय, सुज़ुकी, स्त्री शक्ति पुरस्कार, स्नैपडील, स्मारक, स्मृति ईरानी, स्वर्ण जयंती राजधानी डाउन, स्वर्ण जयंती राजधानी अप, स्वामी रामतीर्थ, स्‍वतंत्रता दिवस (भारत), सौम्या स्वामीनाथन, सूर्यवंश, सेठ एम आर जयपुरिया स्कूल, सेन्टर फॉर सिविल सोसायटी, सेंटर फॉर डवलेपमेंट ऑफ टेलीमैटिक्स, सेंट्रल काटेज इंडस्ट्रीज एम्पोरियम्, दिल्ली, सोनिया गांधी, सोभा सिंह, सोहा अली खान, सीताराम केसरी, हत्या की गई भारतीय राजनीतिज्ञों की सूची, हनुमान मंदिर, कनॉट प्लेस, हमदर्द लैबोरेटरीज, हरदोई, हरमन बावेजा, हरि ठाकुर, हरियाल, हर्बर्ट बेकर, हल्द्वानी का इतिहास, हल्दीराम, हिण्डौन, हिन्दी पत्रिकाएँ, हिन्दी भवन, नई दिल्ली, हिन्दी साहित्य का इतिहास, हिन्दी वर्तनी मानकीकरण, हिसार, हकीम अब्दुल मजीद, हकीम अजमल ख़ान, हुमायूँ का मकबरा, हेमलता गुप्ता, हॉकी विश्वकप, हीरो मोटोकॉर्प, जनता दल (यूनाइटेड), जनता दल (सेक्युलर), जनपथ, जबलपुर अभियांत्रिकी महाविद्यालय, जबलपुर, जम्मू राजधानी एक्स्प्रेस डाउन, जम्मू राजधानी एक्स्प्रेस अप, जम्मू और कश्मीर में विद्रोह, जय नारायण व्यास, जयदेव वेदालंकार, जयंती नटराजन, जर्मन स्कूल नई दिल्ली, जलालाबाद (शाहजहाँपुर), जहाँआरा बेग़म, ज़ाकिर हुसैन (राजनीतिज्ञ), ज़ी स्माइल, जामिया हमदर्द, जिन्दल स्टील एण्ड पॉवर लिमिटेड, जवाहर नवोदय विद्यालय, जवाहरलाल नेहरू स्टेडियम, दिल्ली, जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय, जगदीश टाइटलर, जगन्नाथ मंदिर, त्यागराजनगर, दिल्ली, जगन्नाथ मंदिर, हौज खास, दिल्ली, जगमोहन सिंह राजपूत, जैनेन्द्र कुमार, जैश-ए-मोहम्मद, जैस्मिन भसीन, जेसिका लाल, जोर बाग, ईश्वरी प्रसाद गुप्ता, घरौंडा, वरुण गांधी, वाराणसी, वासिफुद्दीन डागर, विटीफीड, वित्त आयोग, वित्तीय आसूचना एकक (भारत), विद्यानंद, विदेश मंत्रालय (भारत), विधान सभा, विनायक दामोदर सावरकर, विनोद दुआ, विमानक्षेत्रों की सूची IATA कोड अनुसार: I, विमानक्षेत्रों की सूची ICAO कोड अनुसार: V, विलवणन, विल्स विश्व सीरीज 1994-95, विशिष्ट संस्कृत अध्ययन केंद्र, ज.ने.वि., विश्व पर्यावरण दिवस, विश्व पुस्तक मेला २०१०, विश्व हिन्दी सम्मेलन, विश्व हिंदू परिषद, विश्‍वविद्यालय अनुदान आयोग (भारत), विष्णु प्रभाकर, विजय हजारे ट्रॉफी 2017 ग्रुप ए, विजया राजे सिंधिया, विज्ञान भारती, विज्ञान भवन, नई दिल्ली, विव रिचर्ड्स, विवांता, ताज होटल सूरजकुंड, विवेकानन्द अन्तरराष्ट्रीय फाउण्डेशन, विक्रमशिला का इतिहास, व्यंग्य यात्रा, वृन्दावन शोध संस्थान, वैज्ञानिक एवं औद्योगिक अनुसंधान परिषद, वेलकम होटल, द्वारका, वेस्ट एंड, दिल्ली, वेस्ट इंडीज क्रिकेट टीम का भारत दौरा 1983-84, वेस्ट इंडीज क्रिकेट टीम का भारत दौरा 2014-15, वी के कृष्ण मेनन, वीर फाउंडेशन, वीर बाला रस्तोगी, वी॰ एस॰ संपत, वी॰ नारायणसामी, खिलाड़ी लाल बैरवा, खुदीराम बोस, खुशवन्त सिंह, खेल जगत २०१०, गणतन्त्र दिवस (भारत), गणेश, गतिमान एक्सप्रेस, गया, गल्फ़ एयर, गाँधी (फ़िल्म), गाँधी स्मृति, गालिब संग्रहालय, नई दिल्ली, गिरिराज किशोर (राजनीतिज्ञ), गिरीश नागराजेगौड़ा, गंगोली राज्य, गुरु हनुमान, गुरुद्वारा बंगला साहिब, गुरुग्राम, गुलशन कुमार, गुलाम मोहम्मद शेख, गुवाहाटी नयी दिल्ली राजधानी स्पेशल डाउन, गुवाहाटी नयी दिल्ली राजधानी स्पेशल अप, गुवाहाटी राजधानी एक्स्प्रेस डाउन, गुवाहाटी राजधानी एक्स्प्रेस अप, ग्रेटर नोएडा, गौतम रोड़े, गौतम गंभीर, गेल (इंडिया) लिमिटेड, गोदरेज समूह, गोपालदास नीरज, गोमती एक्स्प्रेस, गोमती नदी (उत्तराखण्ड), गोविन्द बल्लभ पन्त, गोविंद पुरुषोत्तम देशपांडे, गोआ एक्स्प्रेस २७७९, गीता और संजय चोपड़ा अपहरण मामला, ऑटो एक्सपो, ऑपरेशन राहत, ओबेरॉय होटल एंड रिसॉर्ट्स, ओरिएण्टल इंश्योरेंस कम्पनी, ओरिएंटल इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड, आचार्य नरेन्द्र देव कालेज, आधिकारिक आवास, आनंद बाजार पत्रिका, आनंद विहार टर्मिनल रेलवे स्टेशन, आन्ध्र प्रदेश एक्सप्रेस, आर्मी एविएशन कोर (भारत), आशारानी व्होरा, आशीष टोकस, आसाराम, आज तक, आविष्कार (पत्रिका), आंग सान सू की, आकाशवाणी, इण्डियन ऑयल कॉर्पोरेशन लिमिटेड, इण्डिया हाउस, इण्डिया गेट, इन्दिरा नाथ, इन्दिरा गांधी, इन्दिरा गांधी राष्ट्रीय मुक्त विश्‍वविद्यालय, इन्द्र कुमार गुजराल, इश्केदारियां, इस प्यार को क्या नाम दूं?, इंटेलिजेंस ब्यूरो, इंदर मल्होत्रा, इंदिरा गांधी प्रियदर्शिनी पुरस्कार, इंदिरा गांधी स्मारक, नई दिल्ली, इंदिरा गांधी अन्तर्राष्ट्रीय विमानक्षेत्र, इंदु मल्होत्रा, इंद्रप्रस्थ सूचना प्रौद्योगिकी संस्थान, इक्टोपिया कॉर्डिस, कड़कड़ डूमा मेट्रो स्टेशन, कन्नड़ फिल्मों की सूची, कपकोट, कमल, कमल मंदिर (बहाई उपासना मंदिर), कमला भसीन, करण कपूर, करणी सिंह, कर्तार सिंह सराभा, कर्नाटक एक्स्प्रेस, कर्मचारी भविष्य निधि, कादम्बिनी, काशीपुर का भूगोल, काशीपुर, उत्तराखण्ड, कांशीराम, काकोरी काण्ड, काउंसिल ऑफ इंडियन स्कूल सर्टिफिकेट एग्ज़ामिनेशंस, किरण देसाई, किरण राव, किरेन रिजीजू, कविता कौशिक, कविता कृष्णमूर्ति, कुणाल नय्यर, कुब्ज विष्णुवर्धन, कुमाऊँ राज्य, कुमार गन्धर्व सम्मान, कुमारी शैलजा, कुरुक्षेत्र, कुशीनगर, कुंडेसर, कृति सैनॉन, कृति खरबंदा, कृष्ण कान्त, कृष्णास्वामी सुंदरजी, कैलाश सत्यार्थी, कैल्टन पहाड़ी, के पी सक्सेना, के. के. अग्रवाल, केदारनाथ सिंह, केन्द्र-शासित प्रदेश, केन्द्रीय भारतीय औषधि परिषद, केन्द्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड, केन्द्रीय मृदा एवं सामग्री अनुसंधानशाला, केन्द्रीय सचिवालय, केन्द्रीय सांख्यिकीय संगठन, केन्द्रीय हिन्दी निदेशालय, केन्द्रीय होम्योपैथी परिषद, केन्द्रीय वक्फ परिषद, केन्द्रीय खाद्य प्रौद्योगिकी अनुसंधान संस्थान, केन्द्रीय अन्वेषण ब्यूरो, केन्‍द्रीय कांच एवं सिरामिक अनुसन्धान संस्‍थान, केरला एक्सप्रेस, केशव बलिराम हेडगेवार, केवलादेव राष्ट्रीय उद्यान, केंद्रीय सचिवालय, हिंदी परिषद, नई दिल्ली, केंद्रीय वैज्ञानिक उपकरण संगठन, केंद्रीय आर्थिक आसूचना ब्यूरो, कॉनराड संगमा, कॉन्फेडरेशन ऑफ इंडियन इंडस्ट्री, कॉल्विन तालुकेदार्स कालेज, कोच्चि, कोच्चेरील रामन नारायणन, कोणार्क सूर्य मंदिर, कोलकाता राजधानी एक्स्प्रेस डाउन, कोलकाता राजधानी एक्स्प्रेस अप, कोलकाता राजधानी एक्स्प्रेस २३०१ अप, कोलकाता राजधानी एक्स्प्रेस २३०२ डाउन, कोशी नदी (उत्तराखण्ड), अचंत शरत कमल, अटल बिहारी वाजपेयी, अदा जाफ़री, अदिति महाविद्यालय, अनलजीत सिंह, अनिता बोस फाफ, अनिल विश्वास (संगीतकार), अनिल कुमार त्यागी, अनुप्रिया गोयनका, अनुभव सिन्हा, अन्तरराष्‍ट्रीय अध्ययन संस्थान (जे. एन. यू.), अनीसा सैयद, अप्रैल 2015 नेपाल भूकम्प, अपूर्वा अरोड़ा, अभय कुमार, अभिषेक बच्चन, अभिषेक मनु सिंघवी, अभिषेक मलिक, अमर बोस, अमरनाथ विद्यालंकार, अमिता सहगल, अमृता प्रीतम, अमेरिकन एम्बेसी स्कूल, अमेरिकन एक्सप्रेस, अरविन्द मार्ग, अरविंद केजरीवाल, अरुण सुभाषचन्द्र यादव, अरुण जेटली, अरुणा धथाथरेयन, अर्चना भार्गव, अर्पिता सिंह, अर्जुनदेव चारण, अर्गला, अलायंस फ़्रांसे द देली, अलका बेओत्रा, अलका क्रिप्लानी, अल्मोड़ा का इतिहास, अशफ़ाक़ुल्लाह ख़ाँ, अशोक चक्रधर, अशोक तंवर, अशोक सेन, अशोक वाजपेयी, असद अली खान, अजमल क़साब, अजितनाथ, अजीतगढ़, अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद, अखिल भारतीय साहित्य परिषद, अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान, अखिल भारतीय आयुर्वेद संस्थान, अगस्त २०१०, अग्रसेन की बावली, अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट 2015-16, अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस, अंशुमान तिवारी, अंजलि शर्मा, अंजुमन ए तरक्क़ी ए उर्दू, अंजू शर्मा, अंजू जैन, अइज़ोल, अकबर मार्ग, नई दिल्ली, अकाल तख़्त, अक्टूबर २०१०, अक्टूबर २०१५ हिन्दू कुश भूकंप, अक्षरधाम मंदिर, दिल्ली, अङ्कित फ़ादिया, उड़ान (2014 टीवी धारावाहिक), उत्तर प्रदेश में पर्यटन, उत्तर भारत, उत्तराखण्ड, उत्तराखण्ड राज्य आन्दोलन, उदय फाउंडेशन, उबर कप, उमराव सिंह यादव, १६ दिसम्बर, २००१ संसद भवन हमला, २००६ एशियाई खेल, २०१०, २०११ क्रिकेट विश्व कप, २०१६ आईसीसी विश्व ट्वेन्टी २०, २२ जुलाई २००९ का सूर्यग्रहण, ६ जनवरी, ७, लोक कल्याण मार्ग, 1951 एशियाई खेल, 1982 एशियाई खेल, 2010 राष्ट्रमण्डल खेल, 2010 हॉकी विश्वकप (पुरुष), 2012 दिल्ली सामूहिक बलात्कार मामला, 2012 ब्रिक्स शिखर सम्मेलन, 2016 ब्रिक्स शिखर सम्मेलन, 2017 हरियाणा दंगे सूचकांक विस्तार (922 अधिक) »

चन्दर

तारा चन्दर एक कार्टूनकार हैं। .

नई!!: नई दिल्ली और चन्दर · और देखें »

चन्द्रशेखर

चन्द्रशेखर सिंह (जन्म १७ अप्रैल, १९२७ - मृत्यु 8 जुलाई, २००७) भारत के नौवें प्रधानमन्त्री थे। .

नई!!: नई दिल्ली और चन्द्रशेखर · और देखें »

चन्द्रशेखर आजाद

पण्डित चन्द्रशेखर 'आजाद' (२३ जुलाई १९०६ - २७ फ़रवरी १९३१) ऐतिहासिक दृष्टि से भारतीय स्वतन्त्रता संग्राम के स्वतंत्रता सेनानी थे। वे पण्डित राम प्रसाद बिस्मिल व सरदार भगत सिंह सरीखे क्रान्तिकारियों के अनन्यतम साथियों में से थे। सन् १९२२ में गाँधीजी द्वारा असहयोग आन्दोलन को अचानक बन्द कर देने के कारण उनकी विचारधारा में बदलाव आया और वे क्रान्तिकारी गतिविधियों से जुड़ कर हिन्दुस्तान रिपब्लिकन एसोसियेशन के सक्रिय सदस्य बन गये। इस संस्था के माध्यम से उन्होंने राम प्रसाद बिस्मिल के नेतृत्व में पहले ९ अगस्त १९२५ को काकोरी काण्ड किया और फरार हो गये। इसके पश्चात् सन् १९२७ में 'बिस्मिल' के साथ ४ प्रमुख साथियों के बलिदान के बाद उन्होंने उत्तर भारत की सभी क्रान्तिकारी पार्टियों को मिलाकर एक करते हुए हिन्दुस्तान सोशलिस्ट रिपब्लिकन ऐसोसियेशन का गठन किया तथा भगत सिंह के साथ लाहौर में लाला लाजपत राय की मौत का बदला सॉण्डर्स का हत्या करके लिया एवं दिल्ली पहुँच कर असेम्बली बम काण्ड को अंजाम दिया। .

नई!!: नई दिल्ली और चन्द्रशेखर आजाद · और देखें »

चन्द्रकान्त राजू

चन्द्रकान्त राजू (जन्म 7 मार्च 1954) भारत के कम्प्यूटर विज्ञानी, गणितज्ञ, भौतिकशास्त्री, शिक्षाशास्त्री, दार्शनिक एवं बहुज्ञ अनुसंधानकर्ता हैं। सम्प्रति वे नयी दिल्ली के सभ्यता अध्ययन केन्द्र (Centre for Studies in Civilizations) से जुड़े हुए हैं। भारत के प्रथम सुपरकम्प्यूटर 'परम' (1988-91) में उनका उल्लेखनीय एवं प्रमुख योगदान रहा। .

नई!!: नई दिल्ली और चन्द्रकान्त राजू · और देखें »

चम्पावत का इतिहास

चम्पावत नगर का एक दृश्य चम्पावत उत्तराखण्ड राज्य के पूर्वी भाग में स्थित चम्पावत जनपद का मुख्यालय तथा एक प्रमुख नगर है। चम्पावत कई वर्षों तक कुमाऊँ के शासकों की राजधानी रहा है। चन्द शासकों के किले के अवशेष आज भी चम्पावत में देखे जा सकते हैं। .

नई!!: नई दिल्ली और चम्पावत का इतिहास · और देखें »

चाणक्य पुरी

यह मध्य दिल्ली का पश्चिमी क्षेत्र है। यहाँ अनेक देशों के दूतावास स्थित हैं। यह प्रशासनिक दृष्टि से अत्यंत महत्वपूर्ण क्षेत्र है। यहाँ सरकारी आवास भी हैं।.

नई!!: नई दिल्ली और चाणक्य पुरी · और देखें »

चारा घोटाला

पशुओं को खिलाये जाने वाले चारे के नाम से सरकारी खजाने का पैसा निकाल कर तथाकथित नेता खा गये। चारा घोटाला स्वतन्त्र भारत के बिहार प्रान्त का सबसे बड़ा भ्रष्टाचार घोटाला था जिसमें पशुओं को खिलाये जाने वाले चारे के नाम पर 950 करोड़ रुपये सरकारी खजाने से फर्जीवाड़ा करके निकाल लिये गये।, दि न्यू यॉर्क टाइम्स, 1997-07-02.

नई!!: नई दिल्ली और चारा घोटाला · और देखें »

चारुसीता चक्रवर्ती

चारुसीता चक्रवर्ती एक भारतीय शैक्षिक और वैज्ञानिक थी। १९९९ से वह दिल्ली में भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान में रसायन विज्ञान के प्रोफेसर थी। २००९ में उन्हें रसायन विज्ञान के क्षेत्र में विज्ञान और प्रौद्योगिकी के लिए शांति स्वरूप भटनागर पुरस्कार से सम्मानित किया गया था। १९९९ में, उन्हें बी एम बिड़ला विज्ञान पुरस्कार प्राप्त हुआ। वह एडवांस्ड साइंटिफिक रिसर्च, बंगलौर कम्प्यूटेशनल सामग्री विज्ञान, जवाहर लाल नेहरू सेंटर के केंद्र में एक एसोसिएट सदस्य थी। .

नई!!: नई दिल्ली और चारुसीता चक्रवर्ती · और देखें »

चिटफंड

चिट फंड का अभ्यास भारत में एक बचत योजना के रूप में किया जाता है। एक कंपनी जो चिटफंड का प्रबंधन, आयोजिन और पर्यवेक्षण करता है, इस तरह के कंपनी को, चिट फंड अधिनियम की धारा १९८२ के द्वारा चिट फंड कंपनी के नाम से परिभाषित किया जाता है। चिट फंड अधिनियम, १०८२ की धारा २ (ख) के अनुसार: "चिट का मतलब लेन-देन है जो चाहे चिट, चिट फंड, चिट्टि, कुरी या किसी अन्य नाम से, जिस्के द्वारा या जिसके तहत एक व्यक्ति, व्यक्तियों के एक निर्धारित संख्या के साथ एक समझौते में प्रवेश करता है कि उनमें से हर एक पैसे की एक निश्चित राशि का सदस्यता करेगा (या अनाज की एक निश्चित मात्रा), समय-समय पर किश्तों के माध्यम से एक निश्चित अवधि तक और ऐसे प्रत्येक ग्राहक को अपनी बारी के दौरान बेतरतीब ढंग से चुनाव, या नीलामी से, या निविदा द्वारा या इस तरह के अन्य तरीकों के रूप में जो चिट समझौते में निर्दिष्ट किया गया हो, पुरस्कार राशि के हकदार बनेंगे।" इस तरह के चिट फंड योजनाओं संगठित वित्तीय संस्थाओं द्वारा आयोजित किया जा सकता है, या दोस्तों या रिश्तेदारों के बीच आयोजित असंगठित योजनाओं से भी हो सकता है।चिट फंड के कुछ रूपों में, बचत विशिष्ट प्रयोजनों के लिए किया जाता है।चिट फंड, ऋण सुविधा के लिए आसान पहुँच प्रदान करके दक्षिण भारतीय राज्य केरल के लोगों की वित्तीय विकास में भी एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। केरल में चिट्टि (चिट फंड) एक आम घटना समाज के सभी वर्गों द्वारा अभ्यास किया जाता है।केरल राज्य वित्तीय उद्यम नामक एक कंपनी है जो केरल सरकार द्वारा चलाया जाता है जिसका मुख्य कारोबारी कार्यकलाप चिट्टि है। चिट फंड की अवधारणा १८०० में लोगों की आँखों के सामने आयी जब राजा राम वर्मा- तत्कालीन कोचीन राज्य के शासक, एक सीरियाई ईसाई व्यापारी को एक ऋण दिया था, जिसमें खुद के अन्य खर्चों के लिए उस में का एक निश्चित भाग रख कर और बाद में वह समानता के सिद्धांत के आधार पर बाकी पैसे भी ले लिय। राजा राम वर्मा .

नई!!: नई दिल्ली और चिटफंड · और देखें »

चित्तरंजन पार्क ,नईदिल्ली

चित्तरंजन पार्क,   (Bengali: চিত্তরঞ্জন পার্ক), भारत का राजधानी नई दिल्ली महानगर का एक संभ्रांत बस्ती इलाका है। स्वाधीनता के दौरान पुर्ब बंग पाकिस्तान का हिस्ता बनने के कारण उधर से बहुत हिन्दू भारत को चले आए थे। उनमे से एक बड़े हिसते दिल्ली सहर मे बसे। उनके लिए १९६० सदी में दक्षिण दिल्ली के खाली इलाका में एक बस्ती स्थापन किए गए। उसे पहले UPDP नाम से कहा जाता था। १९८० सदी में उसे प्रसिद्ध बंगाली स्वाधीनता संग्रामी और समाज सेबी चित्तरंजन दास के नाम के अनुसार " चित्तरंजन पार्क " नामित किया गया। यहाँ बहुत सारे बंगाली संप्रदाय के लोग रहते है और यहाँ कालिकता सहर जैसे दुकाने, मछली का बाजार, मंदीरें, सांस्कृतिक केंद्र है।   .

नई!!: नई दिल्ली और चित्तरंजन पार्क ,नईदिल्ली · और देखें »

चंपक (बाल पत्रिका)

चंपक बच्चों की एक हिन्दी पत्रिका है जो पाक्षिक है। .

नई!!: नई दिल्ली और चंपक (बाल पत्रिका) · और देखें »

चुन्ने मियाँ का मन्दिर

चुन्ने मियाँ का मन्दिर बरेली शहर में एक मुस्लिम व्यवसायी फजलुर्रहमान खां का बनबाया हुआ हिन्दू मन्दिर है जिसे चुन्ने मियाँ के नाम से ठीक उसी प्रकार जाना जाता है जैसे नई दिल्ली का बिरला मन्दिर। यह स्वतन्त्र भारत में हिन्दू-मुस्लिम एकता का अनुपम उदाहरण है। बरेली शहर में बड़ा बाजार के पास कोहाड़ापीर क्षेत्र में स्थित इस मन्दिर में लक्ष्मीनारायण की भव्य मूर्तियाँ स्थापित की गयीं हैं। 16 मई 1960 को भारत के प्रथम राष्ट्रपति डॉ॰ राजेन्द्र प्रसाद ने इसका विधिवत उद्घाटन किया था। .

नई!!: नई दिल्ली और चुन्ने मियाँ का मन्दिर · और देखें »

चौधरी दिगम्बर सिंह

चौधरी दिगम्बर सिंह (9 जून, 1913 - 10 दिसम्बर, 1995) एक स्वतंत्रता सेनानी थे और मथुरा लोक सभा निर्वाचन क्षेत्र से तीन बार तथा एटा से एकबार लोकसभा के सांसद रहे। इन्होंने सहकारिता के क्षेत्र में उल्लेखनीय योगदान दिया। किसानों की 'भूमि अधिग्रहण अधिनियम' में संशोधन का सबसे पहला प्रयास इनका ही था। लगभग 25 वर्ष ये 'मथुरा ज़िला सहकारी बैंक' के अध्यक्ष रहे। मथुरा में 'आकाशवाणी' की स्थापना करवाने का श्रेय इन्हें ही जाता है। .

नई!!: नई दिल्ली और चौधरी दिगम्बर सिंह · और देखें »

चौधरी प्रेम सिंह

चौधरी प्रेम सिंह (1932-2017) दिल्ली के एक भारतीय राजनीतिज्ञ थे। वे तीन बार दिल्ली कांग्रेस के अध्यक्ष रहे।* उनका वर्ष 1956 से लेकर वर्ष 2008 के बीच कोई चुनाव नहीं हारने का रिकॉर्ड रहा है। उन्होने लगातार किसी भी चुनाव में 55 सालों तक अजेय रहने का रिकॉर्ड दर्ज कराते हुये 'लिम्का बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड' में जगह बनाई थी। उन्होंने केंद्र, राज्य और एमसीडी में भी राजनीति की, लेकिन राजनीतिक जीवन में कभी दक्षिणी दिल्ली और अंबेडकर नगर का साथ नहीं छोड़ा.

नई!!: नई दिल्ली और चौधरी प्रेम सिंह · और देखें »

चौलाई

चौलाई (अंग्रेज़ी: आमारान्थूस्), पौधों की एक जाति है जो पूरे विश्व में पायी जाती है। bhiअब तक इसकी लगभग ६० प्रजातियां पाई व पहचानी गई हैं, जिनके पुष्प पर्पल एवं लाल से सुनहरे होते हैं। गर्मी और बरसात के मौसम के लिए चौलाई बहुत ही उपयोगी पत्तेदार सब्जी होती है। अधिकांश साग और पत्तेदार सब्जियां शित ऋतु में उगाई जाती हैं, किन्तु चौलाई को गर्मी और वर्षा दोनों ऋतुओं में उगाया जा सकता है। इसे अर्ध-शुष्क वातावरण में भी उगाया जा सकता है पर गर्म वातावरण में अधिक उपज मिलती है। इसकी खेती के लिए बिना कंकड़-पत्थर वाली मिट्टी सहित रेतीली दोमट भूमि उपयुक्त रहती है। इसकी खेती सीमांत भूमियों में भी की जा सकती है। .

नई!!: नई दिल्ली और चौलाई · और देखें »

चेतन भगत

चेतन भगत (जन्म २२ अप्रैल १९७४), मशहूर उपन्यास लेखक हैं। उनके पहले दोनों उपन्यास बहुत कामयाब रहे थे। उनकी पहली उपन्यास 'फाइव पोइंट समवन' जहाँ आई.आई.टी.

नई!!: नई दिल्ली और चेतन भगत · और देखें »

चेन्नई ओपन

कार्लोस मोया, खेल का सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी; जिसे बैक-टु-बैक २००४ और २००५ में मिले थे, २००६ में भी फाइनल में पहुंचा महेश भूपतिइ और लियेंडर पायस, भारतीय खिलाड़ी जोड़ी को युगल उपाधि १९९७ और २००२ में दो बार मिली चेन्नई ओपन (जिसे गोल्ड फ्लेक ओपन और टाटा ओपन भी कहते हैं) आउटडोर टेनिस की व्यावसायिक प्रतियोगिता है। यह वार्षिक चेन्नई के एस डि ए टी स्टेडियम में आयोजित होती है। .

नई!!: नई दिल्ली और चेन्नई ओपन · और देखें »

टाटा डोकोमो

टाटा डोकोमो, टाटा टेलिसर्विसेज लिमिटेड (TTSL) की एक दूरसंचार सेवा है जो जीएसएम प्लेटफॉर्म पर उपलब्ध है। इसकी शुरुआत नवंबर 2008 में प्रमुख जापानी दूरसंचार कंपनी एनटीटी डोकोमो और टाटा समूह के बीच हुये एक रणनीतिक गठबंधन के फलस्वरूप हुई है। डोकोमो (DoCoMo) शब्द, "Doing the Communications over Mobile network" से जुड़ कर बना है, वैसे जापानी भाषा में डोकोमो का अर्थ "सर्वत्र" होता है। टाटा टेली सर्विसेज को जीएसएम सेवाओं के लिए अखिल भारतीय लाईसेंस मिला है और इन सेवाओं का परिचालन उसे टाटा डोकोमो के ब्रांड नाम के तहत करना है, इसके अलावा कंपनी को 18 दूरसंचार सर्किलों में भी स्पेक्ट्रम आवंटित किया गया है। टाटा टेलिसर्विसेज लिमिटेड ने इन सेवाओं की शुरुआत विभिन्न क्षेत्रों में कर भी दी है। यह मोबाइल सेवा दोनों, प्रीपेड और पोस्टपैड जीएसएम मोबाइल के सेवा उपलब्ध कराती है और अन्य सेवाए जैसे की जीपीआरएस आदि भी निवेदन पर चालू की जा सकती है। श्रेणी:टाटा समूह.

नई!!: नई दिल्ली और टाटा डोकोमो · और देखें »

टाटानगर जंक्शन रेलवे स्टेशन

टाटानगर जमशेदपुर शहर के रेलवे-स्टेशन का नाम है जो झारखंड प्रांत में स्थित है। पहले यह बिहार का हिस्सा हुआ करता था। टाटानगर दक्षिणपूर्व रेलवे का एक प्रमुख एवं व्यस्त स्टेशन है जो हावडा मुंबई मुख्य लाईन पर स्थित है। .

नई!!: नई दिल्ली और टाटानगर जंक्शन रेलवे स्टेशन · और देखें »

टेरी - ऊर्जा और संसाधन संस्थान

ऊर्जा एवं संसाधन संस्थान, जो आमतौर पर टेरी के नाम से जाना जाता है (पूर्व में टाटा ऊर्जा अनुसंधान संस्थान), १९७४ में स्थापित, ऊर्जा, पर्यावरण और टिकाऊ विकास के क्षेत्रों में अनुसंधान गतिविधियों पर केंद्रित नई दिल्ली में आधारित शोध संस्थान है। .

नई!!: नई दिल्ली और टेरी - ऊर्जा और संसाधन संस्थान · और देखें »

टेरी विश्वविद्यालय

टेरी विश्वविद्यालय, को १९ अगस्त १९९८ को नई दिल्ली में स्थापित किया गया था और एक विश्वविद्यालय के रूप में इसे १९९९ में विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी) द्वारा मान्यता प्रदान की गई। १९९८ में टेरी विस्तृत अध्ययन स्कूल के रूप में स्थापित, संस्था को बाद में टेरी विश्वविद्यालय नाम दिया गया था। टेरी विश्वविद्यालय भारत में अपनी तरह का पहला संस्थान है जो स्थायी विकास के लिए पर्यावरण, ऊर्जा और प्राकृतिक विज्ञान के अध्ययन के लिए समर्पित है। विश्वविद्यालय जैव प्रौद्योगिकी नियामक और नीति पहलुओं, ऊर्जा और पर्यावरण और प्राकृतिक संसाधन में पीएचडी कार्यक्रम प्रदान करता है। परास्नातक कार्यक्रम सार्वजनिक नीति एवं सतत विकास, पर्यावरण अध्ययन, प्राकृतिक संसाधन प्रबंधन, संसाधन और पर्यावरण अर्थशास्त्र, जलवायु परिवर्तन विज्ञान और नीति, नवीकरणीय ऊर्जा प्रौद्योगिकियों और प्रबंधन, जल संसाधन प्रबंधन, जियोइन्फारमैटिक्स, पादप जैव प्रौद्योगिकी, व्यापार स्थिरता में और इन्फ्रास्ट्रक्चर मैनेजमेंट मे उपलब्ध हैं। टेरी विश्वविद्यालय की नींव टेरी जो एक प्रमुख गैर लाभ पर्यावरणीय कारणों के लिए समर्पित संगठन के अनुसंधान परामर्श और पर्यावरण संबंधी गतिविधियों द्वारा किये गए एक विस्तार के रूप में पडी थी। .

नई!!: नई दिल्ली और टेरी विश्वविद्यालय · और देखें »

टी-सीरीज़

सुपर कैसेट्स इंडस्ट्रीज लिमिटेड (Super Cassettes Industries Limited; SCIL एससीआयएल), भारत की एक संगीत कम्पनी है। इसका संगीत बिल्ला टी-सीरीज़ (T-Series) है। यह फ़िल्म निर्माता एवं वितरक कम्पनी भी है। बाद में इस कम्पनी ने अगरबत्ती और वाशिंग पाउडर के रूप में अन्य उपभोक्ता उत्पादों को निकालना भी आरम्भ किया॥ सुपर कैसेट्स, गोपाल कैसेट्स (वाशिंग पाउडर निर्माता) & रजनी इंडस्ट्रीज (अगरबत्ती निर्माता) टी-सीरीज़ के भाग हैं। .

नई!!: नई दिल्ली और टी-सीरीज़ · और देखें »

टी.एस.आर. सुब्रमण्यन

तिरुमनीलायूर सितपति रामन सुब्रमण्यम (11 दिसंबर 1938 – 26 फरवरी 2018) एक भारतीय राजनीतिज्ञ थे, जो अगस्त 1996 से मार्च 1998 तक भारत के कैबिनेट सचिव के के पद पर कार्यरत थे। वे 1961 बैच के भारतीय प्रशासनिक सेवा अधिकारी उत्तर प्रदेश केडर से थे। .

नई!!: नई दिल्ली और टी.एस.आर. सुब्रमण्यन · और देखें »

टीम सिंधु

टीम सिंधु (Team Indus) एक लाभ के लिए संगठन है। जिसका मुख्यालय नई दिल्ली, भारत में स्थित है। यह टीम राहुल नारायण, दिल्ली स्थित आईटी पेशेवर के नेतृत्व में है। विभिन्न पृष्ठभूमि विज्ञान, प्रौद्योगिकी, वित्त और मीडिया से पेशेवरों की टीम भारत के प्रभारी प्रमुख गूगल चंद्र एक्स पुरस्कार मिशन को जीतने के लिए प्रयत्न करने वाली केवल एक भारतीय टीम है। .

नई!!: नई दिल्ली और टीम सिंधु · और देखें »

टीकमगढ़

टीकमगढ़जिला मुख्यालय टीकमगढ़ है। शहर का मूल नाम 'टेहरी' था, जो अब पुरानी टेहरी के नाम से जाना जाता है। 1783 ई विक्रमजीत (1776 - 1817 CE के शासक) ने ओरछा से अपनी राजधानी टेहरी जिला टीकमगढ़ में स्थानांतरित कर दी थी। टीकमगढ़ टीकम (श्री कृष्ण का एक नाम)से टीकमगढ़ पड़ा। टीकमगढ़ जिला बुंदेलखंड क्षेत्र का एक हिस्सा है। यह और की एक सहायक नदी के बीच बुंदेलखंड पठार पर है। इस जिले के अंतर्गत क्षेत्र ओरछा के सामंती राज्य के भारतीय संघ के साथ अपने विलय तक हिस्सा था। ओरछा राज्य रुद्र प्रताप द्वारा 1501 में स्थापित किया गया था। विलय के बाद, यह 1948 में विंध्य प्रदेश के आठ जिलों में से एक बन गया। 1 नवम्बर को राज्यों के पुनर्गठन के बाद, 1956 यह नए नक्काशीदार मध्य प्रदेश राज्य के एक जिले में बन गया। मध्य प्रदेश के टीकमगढ़ जिले में स्थित एक गाँव है। इस गाँव का नाम यहां स्थित प्रसिद्ध दुर्ग (या गढ़) के नाम पर गढ़-कुंडार पढ़ा है। गढ कुण्डार का प्राचीन नाम गढ कुरार है। गढ़-कुंडार किला उस काल की न केवल बेजोड़ शिल्पकला का नमूना है बल्कि ऐतिहासिक समृद्धि का प्रतीक भी है। गढ़कुंडार किले का सम्बन्ध चंदेल और खंगार नरेशों से रहा है, परंतु इसके पुनर्निर्माण और इसे नई पहचान देने का श्रेय खंगारों को जाता है। वर्तमान में खंगार क्षत्रिय समाज के परिवार गुजरात, महाराष्ट्र के अलावा उत्तर प्रदेश में निवास करते हैं। 12वीं शताब्दी में पृथ्वीराज चौहान के प्रमुख सामंत खेतसिंह खंगार ने परमार वंश के गढ़पति शिवा को हराकर इस दुर्ग पर कब्जा करने के बाद खंगार राज्य की नींव डाली थी। छोटी देवी जी(नन्ही भुवानी) टीकमगढ़। शहर के बीचों बीच श्री श्री 1008 श्री जानकी रमण मंदिर(श्री ठाकुर गोविंद जू विराजमान) छोटी देवी के अंदर टीकमगढ़ में स्थित हैं। यह मंदिर टीकमगढ़ में पपौरा चौराहा के समीप बुख़ारिया जी की गली में है। छोटी देवी मंदिर में प्रत्येक नवरात्रि में नो दिनों के लिये भव्य मेला लगाया जाता हैं। .

नई!!: नई दिल्ली और टीकमगढ़ · और देखें »

एटा जिला

एटा ज़िला भारतीय राज्य उत्तर प्रदेश का एक ज़िला है। इसका ज़िला मुख्यालय एटा है। एटा ज़िला अलीगढ़ मंडल का एक भाग है। भारतीय राजमार्ग दूरी के आधार पर यह नई दिल्ली से 207 किमी दूर है।कानपुर से 215 किमी आगरा से 85 किमी अलीगढ से 70 किमी मैंनपुरी से 56 किमी फिरोजाबाद से 72 किमी इटावा से 100 किमी बरेली से 120 किमी है। .

नई!!: नई दिल्ली और एटा जिला · और देखें »

एड्विन लैंडसियर लूट्यन्स

सर एड्विन्स लैंडसीयर लूट्यन्स, OM, KCIE,PRA,FRIBA,LLD (29 मार्च 1869 – 1 जनवरी 1944) बीसवीं शताब्दी के एक प्रसिद्ध ब्रिटिश वास्तुकार थे, जिन्हें अपने युग की आवश्यकताओं के अनुसार परंपरागत शैली को कल्पनापूर्वक अपनाने के लिये याद किया जाता है। इन्होंने कई इंग्लिश भवन बनाये, व मुख्यतः इन्हें भारत की तत्कालीन राजधानी नई दिल्ली की अभिकल्पना के लिये जाना जाता है। इनका जन्म व मृत्यु लंदन में ही हुई। इनका नाम इनके पिता के एक मित्र, एक शिल्पकार, एड्विन लैण्डसियर के नाम पर रखा गया था। इन्हें महानतम ब्रिटिश वास्तुकार कहा जाता है। .

नई!!: नई दिल्ली और एड्विन लैंडसियर लूट्यन्स · और देखें »

एम टी एस इंडिया

एम टी एस इंडिया भारत की एक दूरसंचार कंपनी है। श्रेणी:भारत की दूरसंचार कम्पनियाँ.

नई!!: नई दिल्ली और एम टी एस इंडिया · और देखें »

एयरटेल भुगतान बैंक लिमिटेड

एयरटेल भुगतान बैंक लिमिटेड पब्लिक लिमिटेड कंपनी है जो भारती एयरटेल की सहायक है। इसे ११ अप्रैल २०१६ को भारतीय रिज़र्व बैंक द्वारा बैंकिंग व्यवसाय के लिए लाइसेंस प्रदान किया गया। .

नई!!: नई दिल्ली और एयरटेल भुगतान बैंक लिमिटेड · और देखें »

एशियाई बैडमिंटन प्रतियोगिता

बैडमिंटन एशिया प्रतियोगिता (2007 के संस्करण के बाद से यह नया नाम है, पहले इसे एशियाई बैडमिंटन प्रतियोगिताएँ के नाम से जान जाता था) बैडमिंटन एशिया परिसंघ द्वारा आयोजित एक बैडमिंटन प्रतियोगिता है जिसका लक्ष्य एशिया के सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ियों को पहचानना व पुरस्कृत करना है। प्रतियोगिता की शुरुवात १९६२ से हुई और १९९१ से यह हर वर्ष आयोजित की जाती रही है। इसमें व्यक्तिगत और टीम स्तरीय प्रतिस्पर्धाएँ होती रहे और १९९४ के बाद से टीम प्रतिस्पर्धाओं को बंद कर दिया गया। हालांकि २००३ के आयोजन में कुछ समस्या आ गयी जब चीन ने अंतिम समय में भाग लेने से इंकार कर दिया। शीर्ष प्रशिक्षक ली योंग्बो ने कहा कि यह प्रतियोगिता खिलाड़ियों को २००४ में होने वाले ओलम्पिक के लिये कोई वरीयता अंक नहीं दे रही है और इसलिए खिलाड़ियों को आराम का और समय मिलना चाहिए। प्रतिद्वंदिता कम होने की वजह से कुछ शीर्ष खिलाड़ी भी इसमें हिस्सा नहीं लेना चाहते थे। .

नई!!: नई दिल्ली और एशियाई बैडमिंटन प्रतियोगिता · और देखें »

एशियाई राजमार्ग १

एशियाई राजमार्ग १ (ए एच १) एशियाई राजमार्ग जाल में सबसे लम्बा राजमार्ग है। इसकी कुल लम्बाई २०,५५७ किलोमीटर (१२,७७४ मील) है। यह टोक्यो, जापान से शुरू होकर कोरिया, चीन, हांगकांग, दक्षिण पूर्व एशिया, बांग्लादेश, भारत, पाकिस्तान, अफ़ग़ानिस्तान और ईरान से होता हुआ तुर्की और बुल्गारिया तक जाता है। इस्तांबुल के पश्चिम में यह यूरोपीय ई८० मार्ग से मिल जाता है। .

नई!!: नई दिल्ली और एशियाई राजमार्ग १ · और देखें »

एशियाई खेल

एशियाई खेलों को एशियाड के नाम से भी जाना जाता है। यह प्रत्येक चार वर्ष बाद आयोजित होने वाली बहु-खेल प्रतियोगिता है जिसमें केवल एशिया के विभिन्न देशों के खिलाडी भाग लेते हैं। इन खेलों का नियामन एशियाई ओलम्पिक परिषद द्वारा अन्तर्राष्ट्रीय ओलम्पिक परिषद के पर्यवेक्षण में किया जाता है। प्रत्येक प्रतियोगिता में प्रथम स्थान के लिए स्वर्ण, दूसरे के लिए रजत और तीसरे के लिए कांस्य पदक दिए जाते हैं, जिस परम्परा का शुभारम्भ १९५१ में हुआ था। प्रथम एशियाई खेलों का आयोजन दिल्ली, भारत में किया गया था, जिसने १९८२ में पुनः इन खेलों की मेज़बानी की। १५वें एशियाई खेल १ दिसंबर से १५ दिसंबर, २००६ के बीच दोहा, कतर में आयोजित हुए थे। सोलहवें एशियाई खेलों का आयिजन १२ नवंबर से २७ नवंबर, २०१० के बीच किया गया, जिनकी मेज़बानी ग्वांगझोउ, चीन ने की। १७वें एशियाई खेलों का आयोजन २०१४ में दक्षिण कोरिया के इंचेयान में होगा। .

नई!!: नई दिल्ली और एशियाई खेल · और देखें »

एस॰ चंद ग्रुप

कोई विवरण नहीं।

नई!!: नई दिल्ली और एस॰ चंद ग्रुप · और देखें »

एंजेलिना जोली

एंजेलीना जोली (Angelina Jolie) (जन्म एंजेलीना जोली वॉइट; जून 4, 1975) एक अमेरिकी अभिनेत्री और संयुक्त राष्ट्र की शरणार्थी एजेंसी के लिए सद्भावना राजदूत हैं। इन्होंने तीन गोल्डन ग्लोब पुरस्कार, दो स्क्रीन एक्टर्स गिल्ड अवार्ड्स और एक अकादमी पुरस्कार प्राप्त किए हैं। जोली दुनिया भर में मानवीय मामलों को बढ़ावा देने और शरणार्थियों के लिए संयुक्त राष्ट्र उच्चायुक्त (यूएनएचसीआर) के माध्यम से शरणार्थियों के साथ अपने काम के लिए विख्यात हैं। वे दुनिया की "सबसे सुंदर" महिलाओं में से एक मानी जाती हैं और उनकी परदे के पीछे की ज़िंदगी को मीडिया ने व्यापक रूप से उद्धृत किया गया है। हालांकि वे अपने पिता जॉन वोइट के साथ 1982 की फ़िल्म लूकिंग टु गेट आउट में बतौर बाल कलाकार परदे पर पहली बार नज़र आईं, तथापि वास्तविक रूप से एक दशक बाद जोली का अभिनय कैरियर कम बजट के निर्माण साइबोर्ग 2 (1993) के साथ शुरू हुआ। किसी बड़ी फ़िल्म में उनकी पहली मुख्य भूमिका साइबर-थ्रिलर हैकर (फ़िल्म) (1995) में थी। उन्होंने समीक्षकों की प्रशंसा पाने वाली जीवनीक टेलीविजन फिल्मों जॉर्ज वालेस (1997) और जिया (1998) में अभिनय किया और ड्रामा गर्ल, इंटरप्टेड (1999) में अपने अभिनय के लिए सर्वश्रेष्ठ सहायक अभिनेत्री के लिए अकादमी पुरस्कार जीता। जोली ने लारा क्राफ्ट: टूम्ब रैडर (2001) में अपनी वीडियो गेम नायिका लारा क्राफ्ट की भूमिका के लिए व्यापक प्रसिद्धि प्राप्त की और इसकी उत्तरकथा लारा क्राफ्ट टूम्ब रैडर: द क्रेडल आँफ लाइफ (2003) के साथ ख़ुद को प्रख्यात और अत्यधिक पारिश्रमिक पाने वाली हॉलीवुड की अभिनेत्रियों के बीच स्थापित किया। इन्होने एक्शन कॉमेडी मिस्टर एंड मिसेज़ स्मित (2005) और वांटेड (2008) में निभाई गई भूमिकाओं से अपनी एक अग्रणी एक्शन स्टार के रूप में प्रतिष्ठा प्रबलित की है, ये दो इनकी अबतक कि सर्वाधिक गैर एनिमेटेड व्यावसायिक रूप से सफल फिल्में भी हैं। जोली ने पुनः ड्रामा फ़िल्मों अ माइटी हार्ट (2007) और चेंजलिंग (2008) में अपने अभिनय के लिए आलोचकों की प्रशंसा और चेंजलिंग के लिए सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री के लिए अकादमी पुरस्कार का नामांकन अर्जित किया।.

नई!!: नई दिल्ली और एंजेलिना जोली · और देखें »

एक ननद की खुशियो की चाबी-मेरी भाभी

एक ननद की खुशियों की चाबी – मेरी भाभी एक भारतीय हिन्दी धारावाहिक है, जिसका प्रसारण स्टार प्लस पर 17 जून 2013 से 12 अप्रैल 2014 तक हुआ। यह धारावाहिक शेरगिल परिवार की एक ननद एवं भाभी के प्यार भरे रिश्ते पर आधारित है। इस धारावाहिक का शीर्षक पहले शेर दिल शेरगिल रखा गया था जिसे बाद में बदल दिया। .

नई!!: नई दिल्ली और एक ननद की खुशियो की चाबी-मेरी भाभी · और देखें »

झण्डा गीत

भारत के झण्डा गीत की रचना श्यामलाल गुप्त 'पार्षद' ने की थी। 7 पद वाले इस मूल गीत से बाद में कांग्रेस नें तीन पद (पद संख्या 1, 6 व 7) को संशोधित करके ‘झण्डागीत’ के रूप में मान्यता दी। यह गीत न केवल राष्ट्रीय गीत घोषित हुआ बल्कि अनेक नौजवानों और नवयुवतियों के लिये देश पर मर मिटने हेतु प्रेरणा का स्रोत भी बना। .

नई!!: नई दिल्ली और झण्डा गीत · और देखें »

झुमरी तिलैया

झुमरी तिलैया भारत के पूर्वांचल में स्थित झारखंड प्रांत के कोडरमा जिले का एक छोटा लेकिन मशहूर कस्‍बा है। झुमरी तिलैया को झुमरी तलैया के नाम से भी जाना जाता है। यहां की आबादी करीब 70 हजार है और स्‍थानीय निवासी मूलत: मगही बोलते हैं। झुमरी तलैया कोडरमा जिला मुख्‍यालय से करीब छ: किमी दूर स्थित है। झुमरी तलैया में करीब दो दर्जन स्‍कूल और कॉलेज हैं। इनमें से एक तलैया सैनिक स्‍कूल भी है। दामोदर नदी में आने वाली विनाशकारी बाढ़ को रोकने के लिए बनाए गए तलैया बांध के कारण इसके नाम के साथ तलैया जुड़ा है। इस बांध की ऊंचाई करीब 100 फीट और लंबाई 1200 फीट है। इसका रिजरवायर करीब 36 वर्ग किमी क्षेत्र में फैला हुआ है। काफी हरा-भरा क्षेत्र होने के कारण यह एक अच्‍छे पिकनिक स्‍थल के रूप में भी जाना जाता है। झरना कुंड, तलैया बांध और ध्‍वजाधारी पर्वत सहित यहां कई पर्यटन स्‍थल भी हैं। इसके अलावा राजगिर, नालंदा और हजारीबाग राष्‍ट्रीय पार्क अन्‍य नजदीकी पर्यटन स्‍थल हैं। झुमरी तलैया पहुंचने के लिए नजदीकी रेलवे स्‍टेशन कोडरमा है जो नई दिल्‍ली-कोलकाता रेलमार्ग पर स्थित है। झुमरी तलैया को अक्‍सर एक काल्‍पनिक स्‍थान समझने की भूल कर दी जाती है लेकिन इसकी ख्‍याति की प्रमुख वजह एक जमाने में यहां की अभ्रक खदानों के अलावा यहां के रेडियो प्रेमी श्रोताओं की बड़ी संख्‍या भी है। झुमरी तलैया के रेडियो प्रेमी श्रोता विविध भारती के फरमाइशी कार्यक्रमों में सबसे ज्‍यादा चिट्ठियां लिखने के लिए जाने जाते हैं। .

नई!!: नई दिल्ली और झुमरी तिलैया · और देखें »

झेलम एक्स्प्रेस १०७७

झेलम एक्स्प्रेस झेलम एक्स्प्रेस १०७७ भारतीय रेल द्वारा संचालित एक मेल एक्स्प्रेस ट्रेन है। यह ट्रेन पुणे जंक्शन रेलवे स्टेशन (स्टेशन कोड:PUNE) से ०५:२०PM बजे छूटती है और जम्मू तवी रेलवे स्टेशन (स्टेशन कोड:JAT) पर ०८:५५AM बजे पहुंचती है। इसकी यात्रा अवधि है ३९ घंटे ३५ मिनट। झेलम एक्सप्रेस भारतीय रेल पर एक दैनिक ट्रेन है। यह पुणे से, जो महाराष्ट्र की सांस्कृतिक राजधानी है से लेकर जम्मू तवी, जम्मू-कश्मीर की शीतकालीन राजधानी से उत्तर भारत मे चलती है। इसके अलावा, यह ट्रेन सामरिक रूप से महत्वपूर्ण है; क्युंकि यह भारतीय सेना के मुख्यालय के दक्षिण कमान, पुणे को एक महत्त्वपूर्ण सीमा स्थित शहर से जोड़ता है। यह ट्रेन कुल मिलाकर ६५ स्टेशनों पर रूकती हैl यह ट्रैन कुल मिलाकर जम्मू तवी और पुणे के बीच २१७३ किलोमीटर का फासला तय करती हैl .

नई!!: नई दिल्ली और झेलम एक्स्प्रेस १०७७ · और देखें »

डा. ए. पी. जे. अब्दुल कलाम रोड

यह नई दिल्ली का एक मुख्य मार्ग है। .

नई!!: नई दिल्ली और डा. ए. पी. जे. अब्दुल कलाम रोड · और देखें »

डिफेन्स कालोनी

डिफेंस कॉलोनी दक्षिण दिल्ली, भारत में स्थित एक रिहायशी क्षेत्र है। इसकी दिल्ली शहर के अधिकांश भागों से निकटता के अलावा, इलाके मे अनेक किस्मों के विदेशी व्यंजन मिलते है जिस के लिए यह सभी दिल्ली वालो के बीच लोकप्रिय है। इसमे सागर रत्ना, मोएट्स, केन्ट्स जैसे मशहूर रेस्त्राँ है। यहाँ पर दिल्ली की कई जानी मानी हस्तिया रहती है जिसमे बडे उद्योगपति, अभिनेता, राजनीतिज्ञ इत्यादि शामिल है। .

नई!!: नई दिल्ली और डिफेन्स कालोनी · और देखें »

डिब्रूगढ़ राजधानी एक्सप्रेस

डिब्रूगढ़ राजधानी एक्सप्रेस भारतीय रेल की राजधानी एक्सप्रेस की विशेष बेड़े में प्रीमियर रेलगाड़ी में से एक हैl वर्तमान में राजधानी एक्सप्रेस के तीन सेट है जो नई दिल्ली (भारत की राजधानी) से गुवाहाटी और डिब्रूगढ़ को जोड़ती हैl .

नई!!: नई दिल्ली और डिब्रूगढ़ राजधानी एक्सप्रेस · और देखें »

डिब्रूगढ़ राजधानी एक्स्प्रेस डाउन

डिब्रूगढ़ राजधानी एक्स्प्रेस (ट्रेन संख्या: 2436) भारतीय रेल की एक राजधानी एक्स्प्रेस रेलगाड़ी है। यह नई दिल्ली (स्टेशन कोड: NDLS) से 09:30AM बजे छूटती है। यह ट्रेन डिब्रूगढ़ टाउन (स्टेशन कोड: DBRT) पर 05:00AM बजे पहुंचती है। यह ट्रेन रविवार, गुरुवार, के दिन चलती है। इसका कुल यात्रा का समय 43 घंटे 30 मिनट है। श्रेणी:राजधानी रेल.

नई!!: नई दिल्ली और डिब्रूगढ़ राजधानी एक्स्प्रेस डाउन · और देखें »

डिब्रूगढ़ राजधानी एक्स्प्रेस अप

डिब्रूगढ़ राजधानी एक्स्प्रेस (ट्रेन संख्या: 2424) भारतीय रेल की एक राजधानी एक्स्प्रेस रेलगाड़ी है। यह नई दिल्ली (स्टेशन कोड: NDLS) से 02:00PM बजे छूटती है। यह ट्रेन डिब्रूगढ़ टाउन (स्टेशन कोड: DBRT) पर 05:00AM बजे पहुंचती है। यह ट्रेन सोमवार, मंगलवार, बुधवार, शुक्रवार, शनिवार, के दिन चलती है। इसका कुल यात्रा का समय 39 घंटे 0 मिनट है। श्रेणी:राजधानी रेल.

नई!!: नई दिल्ली और डिब्रूगढ़ राजधानी एक्स्प्रेस अप · और देखें »

डिजिटल कला

डिजिटल कलाकृति का एक नमूना डिजिटल कला, (डिजिटल आर्ट), कला का वह नया रूप है, जिसमें कोई कृति तैयार करने के लिए डिजिटल प्रौद्योगिकी का प्रयोग किया जाता है। इसमें कंप्यूटर आधारित प्रौद्योगिकी का प्रयोग कर असंख्य तरह के डिजाइन तैयार किये जा सकते हैं। इसीलिये इसे मीडिया आर्ट भी कहते हैं। डिजिटल आर्ट में किसी कृति को तैयार करने के लिए पहले चले आ रहे पारंपरिक तरीकों की बजाय आधुनिक प्रौद्योगिकी का सहारा लिया जाता है। इसके प्रमुख अंगों में कंप्यूटर ग्राफिक्स, एनिमेशन, वर्चुअल और इंटरएक्टिव आर्ट जैसे नए क्षेत्र आते हैं।। हिन्दुस्तान लाइव। १९ मई २०१० आज डिजिटल आर्ट की सीमाओं और अर्थ का तेजी से बदलाव और विस्तार हो रहा है। १९६० के दशक में कंप्यूटर के आगमन के साथ ही कला के क्षेत्र में प्रौद्योगिकी के प्रयोग में विस्तार हुआ था। उसके बाद जैसे-जैसे प्रौद्योगिकी और तकनीकें उन्नत और आधुनिक होती गई, कलाकारों ने इसके प्रयोग से नए डिजाइन बनाने आरंभ किए और कला को नये आयाम दिए। इंटरनेट के आने के बाद इस दिशा में विशेष उन्नती हुई। आज इंटरनेट पर अनेक जालस्थलों पर देखते हैं, कितने ही तरह के डिजाइन और नमूने दिखाई देते हैं। इनमें एनीमेशन आदि का प्रयोग भी किया जाता है। इसके संग यह सुविधा भी होती है कि उन्हें संगीतबद्ध किया जा सके। दोहरा घूर्णन करते दिखाया गया है। डिजिटल आर्ट के प्रयोग से कला को लेकर अनंत नमूने और कृतियां सृजित की जा सकती हैं। इसके बढ़ते प्रभाव और उपयोग का परिणाम है कि इस विषय को मीडिया के पाठय़क्रम में शामिल किया जा रहा है। आज के युवा वर्ग में यह विधा तेजी से अपनी पकड़ बना रही है। कला के पुराने और नए रूपों का संगम होने के कारण हर वर्ग डिजिटल आर्ट के ज्ञान का उत्सुक होता है और इसको समझना चाहता है। इससे तैयार होने वाली कृतियों के लिए अलग से संग्रहालय तैयार किये जाने लगे हैं। इसका एक उदाहरण है नई दिल्ली स्थित राष्ट्रीय आधुनिक कला संग्रहालय का डिजिटल आर्ट अनुभाग। डिजिटल आर्ट ने कला को पहले से अधिक लोकप्रिय बनाने में भरपूर सहयोग दिया है। इसमें तकनीक की मदद का विशेष योगदान है। इससे पुरानी कला या डिजिटल आर्ट से तैयार कृति को इंटरनेट के माध्यम से संसार में कहीं भी देखा जा सकता है। .

नई!!: नई दिल्ली और डिजिटल कला · और देखें »

डैटसन गो (कार)

डैटसन गो (अंग्रेजी:Datsun Go) भारत में जापानी कार निर्माता कम्पनी निस्सान मोटर कम्पनी द्वारा डैटसन ब्राण्ड के नाम से पुनर्जीवित की जाने वाली नयी छोटी कार का नाम है। बीसवीं सदी के प्रारम्भ में जापान में बनी इस कार का उत्पादन 27 वर्ष पूर्व सन् 1986 में बन्द हो गया था। डैटसन की गो मॉडल की यह कार भारत के अलावा दक्षिण अफ्रीका, इण्डोनेशिया और रूस में भी लॉन्च की जायेगी। भारत में निस्सान कारों की लोकप्रियता को देखते हुए सभी सुविधाओं से युक्त छोटे आकार की इस कार को भी यहाँ के बाजार में उतारने का निर्णय लिया गया है। भारत में यह कार अगले साल 2014 की शुरुआत में ग्राहकों को उपलब्ध होगी। छोटी कार के वर्तमान सभी मॉडलों के मुकाबले इसकी कीमत भारत में 4 लाख रुपये के आसपास होगी जबकि विदेशों में 10,055 यूएस डॉलर तथा 10,970 आस्ट्रेलियायी डॉलर रहने की सम्भावना है। इण्डोनेशिया में इसका मॉडल डैटसन गो प्लस के नाम से उतारा जायेगा। वहाँ पर 7 सीटों वाली यह मल्टी परपज वेहिकिल (एमपीवी) 100 मिलियन इण्डोनेशियायी मुद्रा (आईडीआर) के अन्दर उपलब्ध होगी। निसान मोटर्स द्वारा जारी एक विज्ञप्ति के अनुसार नई दिल्ली, मुम्बई व चेन्नई (मद्रास) सहित सम्पूर्ण भारत के 90 शहरों में इस कार को प्रदर्शित किया जायेगा। .

नई!!: नई दिल्ली और डैटसन गो (कार) · और देखें »

डैन नेटवर्क्स

डैन नेटवर्क्स एक भारतीय केबल डिश कंपनी है। .

नई!!: नई दिल्ली और डैन नेटवर्क्स · और देखें »

डेनमार्क–भारत संबंध

right डेनमार्क-भारत संबंध डेनमार्क और भारत के बीच विदेश संबंध हैं। डेनमार्क नई दिल्ली में एक दूतावास है, और भारत कोपेनहेगन में एक दूतावास है। श्रेणी:भारत के द्विपक्षीय संबंध श्रेणी:डेनमार्क .

नई!!: नई दिल्ली और डेनमार्क–भारत संबंध · और देखें »

डेंगू बुख़ार

डेंगू बुख़ार एक संक्रमण है जो डेंगू वायरस के कारण होता है। समय पर करना बहुत जरुरी होता हैं. मच्छर डेंगू वायरस को संचरित करते (या फैलाते) हैं। डेंगू बुख़ार को "हड्डीतोड़ बुख़ार" के नाम से भी जाना जाता है, क्योंकि इससे पीड़ित लोगों को इतना अधिक दर्द हो सकता है कि जैसे उनकी हड्डियां टूट गयी हों। डेंगू बुख़ार के कुछ लक्षणों में बुखार; सिरदर्द; त्वचा पर चेचक जैसे लाल चकत्ते तथा मांसपेशियों और जोड़ों में दर्द शामिल हैं। कुछ लोगों में, डेंगू बुख़ार एक या दो ऐसे रूपों में हो सकता है जो जीवन के लिये खतरा हो सकते हैं। पहला, डेंगू रक्तस्रावी बुख़ार है, जिसके कारण रक्त वाहिकाओं (रक्त ले जाने वाली नलिकाएं), में रक्तस्राव या रिसाव होता है तथा रक्त प्लेटलेट्स  (जिनके कारण रक्त जमता है) का स्तर कम होता है। दूसरा डेंगू शॉक सिंड्रोम है, जिससे खतरनाक रूप से निम्न रक्तचाप होता है। डेंगू वायरस चार भिन्न-भिन्न प्रकारों के होते हैं। यदि किसी व्यक्ति को इनमें से किसी एक प्रकार के वायरस का संक्रमण हो जाये तो आमतौर पर उसके पूरे जीवन में वह उस प्रकार के डेंगू वायरस से सुरक्षित रहता है। हलांकि बाकी के तीन प्रकारों से वह कुछ समय के लिये ही सुरक्षित रहता है। यदि उसको इन तीन में से किसी एक प्रकार के वायरस से संक्रमण हो तो उसे गंभीर समस्याएं होने की संभावना काफी अधिक होती है।  लोगों को डेंगू वायरस से बचाने के लिये कोई वैक्सीन उपलब्ध नहीं है। डेंगू बुख़ार से लोगों को बचाने के लिये कुछ उपाय हैं, जो किये जाने चाहिये। लोग अपने को मच्छरों से बचा सकते हैं तथा उनसे काटे जाने की संख्या को सीमित कर सकते हैं। वैज्ञानिक मच्छरों के पनपने की जगहों को छोटा तथा कम करने को कहते हैं। यदि किसी को डेंगू बुख़ार हो जाय तो वह आमतौर पर अपनी बीमारी के कम या सीमित होने तक पर्याप्त तरल पीकर ठीक हो सकता है। यदि व्यक्ति की स्थिति अधिक गंभीर है तो, उसे अंतः शिरा द्रव्य (सुई या नलिका का उपयोग करते हुये शिराओं में दिया जाने वाला द्रव्य) या रक्त आधान (किसी अन्य व्यक्ति द्वारा रक्त देना) की जरूरत हो सकती है। 1960 से, काफी लोग डेंगू बुख़ार से पीड़ित हो रहे हैं। द्वितीय विश्व युद्ध के बाद से यह बीमारी एक विश्वव्यापी समस्या हो गयी है। यह 110 देशों में आम है। प्रत्येक वर्ष लगभग 50-100 मिलियन लोग डेंगू बुख़ार से पीड़ित होते हैं। वायरस का प्रत्यक्ष उपचार करने के लिये लोग वैक्सीन तथा दवाओं पर काम कर रहे हैं। मच्छरों से मुक्ति पाने के लिये लोग, कई सारे अलग-अलग उपाय भी करते हैं।  डेंगू बुख़ार का पहला वर्णन 1779 में लिखा गया था। 20वीं शताब्दी की शुरुआत में वैज्ञानिकों ने यह जाना कि बीमारी डेंगू वायरस के कारण होती है तथा यह मच्छरों के माध्यम से संचरित होती (या फैलती) है। .

नई!!: नई दिल्ली और डेंगू बुख़ार · और देखें »

डॉ. बी. सी. रॉय राष्ट्रीय पुरस्कार

डॉ.

नई!!: नई दिल्ली और डॉ. बी. सी. रॉय राष्ट्रीय पुरस्कार · और देखें »

डॉ॰ नगेन्द्र

डॉ॰ नगेन्द्र (जन्म: 9 मार्च 1915 अलीगढ़, मृत्यु: 27 अक्टूबर 1999 नई दिल्ली) हिन्दी के प्रमुख आधुनिक आलोचकों में थे। वे एक सुलझे हुए विचारक और गहरे विश्लेषक थे। अपनी सूझ-बूझ तथा पकड़ के कारण वे गहराई में पैठकर केवल विश्लेषण ही नहीं करते, बल्कि नयी उद्भावनाओं से अपने विवेचन को विचारोत्तेजक भी बना देते थे। उलझन उनमें कहीं नहीं थी। 'साधारणीकरण' सम्बन्धी उनकी उद्भावनाओं से लोग असहमत भले ही रहे हों, पर उसके कारण लोगों को उस सम्बन्ध में नये ढंग से विचार अवश्य करना पड़ा है। 'भारतीय काव्य-शास्त्र' (1955ई.) की विद्वत्तापूर्ण भूमिका प्रस्तुत करके उन्होंने हिन्दी में एक बड़े अभाव की पूर्ति की। उन्होंने 'पाश्चात्य काव्यशास्त्र: सिद्धांत और वाद' नामक आलोचनात्मक कृति में अपनी सूक्ष्म विवेचन-क्षमता का परिचय भी दिया। अरस्तू के काव्यशास्त्र की भूमिका-अंश उनका सूक्ष्म पकड़, बारीक विश्लेषण और अध्यवसाय का परिचायक है। बीच-बीच में भारतीय काव्य-शास्त्र से तुलना करके उन्होंने उसे और भी उपयोगी बना दिया है। उन्होंने हिंदी मिथक को भी परिभाषित किया है। .

नई!!: नई दिल्ली और डॉ॰ नगेन्द्र · और देखें »

डोला बेनर्जी

डोला बेनर्जी एक भारतीय महिला खिलाड़ी है जो तीरंदाजी में प्रतिस्पर्धा करती है। उनका जन्म २ जून १९८० में कोलकाता के पास बारानगर में हुआ था। उनके माता-पिता अशोक बनर्जी और कल्पना बॅनर्जी है। उनके छोटे भाई राहुल बेनर्जी भी एक आर्चर हैं और वह मशहुर गायक शान और सागरिका की चचेरी बहन है।उन्होंने बारानगर राजकुमारी मेमोरियल गर्ल्स हाई स्कूल से पढ़ाई की। और नौ वर्ष की उम्र में, वह बारानगर तीरंदाजी क्लब में शामिल हुई। .

नई!!: नई दिल्ली और डोला बेनर्जी · और देखें »

डीएलएफ़ यूनिवर्सल लिमिटेड

डीएलएफ सेंटर, डीएलएफ मुख्यालय, नई दिल्ली डीएलएफ लिमिटेड (DLF Limited) या डीएलएफ (मूल रूप से जिसका नाम दिल्ली लैंड एण्ड फाइनेंस था), भारत की राजधानी नई दिल्ली में स्थित सबसे बड़ी भारतीय अचल संपत्ति विकासक (रीयल एस्टेट डेवेलपर) कंपनी है। डीएलएफ ग्रुप की स्थापना 1946 में रघुवेंद्र सिंह द्वारा की गई थी। डीएलएफ ने दिल्ली में शिवाजी पार्क (जो वास्तव में इसका पहला निर्माण था), राजौरी गार्डन, कृष्णा नगर, साउथ एक्सटेंशन, ग्रेटर कैलाश, कैलाश कॉलोनी और हौज़ खास जैसी आवासीय कॉलोनियों का विकास किया। 1957 में दिल्ली विकास अधिनियम के पारित होने के साथ स्थानीय सरकार ने दिल्ली में अचल संपत्ति के विकास को अपने हाथ में ले लिया और निजी अचल संपत्ति विकासक कंपनियों को ऐसा करने से प्रतिबंधित कर दिया। परिणामस्वरूप डीएलएफ ने दिल्ली विकास प्राधिकरण के नियंत्रण क्षेत्र से बाहर और इससे सटे हरियाणा राज्य के गुड़गांव जिले में अपेक्षाकृत कम लागत वाली जमीन पर कब्ज़ा करना शुरू कर दिया। 1970 के दशक के मध्य में कंपनी ने गुड़गांव में डीएलएफ सिटी परियोजना को विकसित करना शुरू किया। इसकी आगामी योजनाओं में होटल, बुनियादी ढांचे और विशेष आर्थिक क्षेत्र संबंधी विकास परियोजनाएं शामिल हैं। फ़िलहाल इस कंपनी का नेतृत्व बुलंद शहर के एक जाट और भारतीय अरबपति कुशल पाल सिंह द्वारा किया जा रहा है। फोर्ब्स की 2009 की सबसे अमीर अरबपतियों की सूची के अनुसार कुशल पाल सिंह अब दुनिया के 98वें सबसे अमीर व्यक्ति और दुनिया के सबसे अमीर संपत्ति विकासक हैं। जुलाई 2007 में कंपनी का 2 बिलियन अमेरिकी डॉलर वाला आईपीओ भारत का अब तक का सबसे बड़ा आईपीओ रहा है। जुलाई 2007 में डीएलएफ ने 30 जून 2007 को समाप्त होने वाले अपने पहले तिमाही परिणामों की घोषणा की। कंपनी ने 3,120.98 करोड़ रूपए के कारोबार और 1,515.48 करोड़ रूपए के पीएटी (PAT) की घोषणा की। .

नई!!: नई दिल्ली और डीएलएफ़ यूनिवर्सल लिमिटेड · और देखें »

डीडी न्यूज़

दूरदर्शन समाचार, आमतौर पर डीडी न्यूज के रूप में अपने संक्षिप्त नाम द्वारा जाना जाता है। यह भारत का एकमात्र 24 घंटे का स्थलीय(बिना उपग्रह के प्रसारित) टीवी समाचार चैनल है। प्रसार भारती कंपनी बोर्ड ने प्रस्ताव दिया कि डीडी मेट्रो, जो बंद होने वाला था के स्थान पर एक 24-घंटे के समाचार चैनल शुरू करने के लिए मंजूरी दे दी। इसे बाद में 3 अक्टूबर 2003 की बैठक में केंद्रीय मंत्रिमंडल ने मंजूरी दी थी। .

नई!!: नई दिल्ली और डीडी न्यूज़ · और देखें »

डीडी फ्री डिश

डीडी फ्री डिश प्रसार भारती के स्वामित्व में निःशुल्क उपग्रह टेलीविजन सेवा प्रदान करने वाली भारत की पहली उपग्रह सेवा है। डीडी फ्री डिश को पहले डीडी डायरेक्ट+ के नाम से भी जाना जाता था। यह सुविधा भारत के सभी राज्यों में उपलब्ध है और इसने ग्रामीण इलाकों में मनोरंजन की एक बाढ़ सी ला दी है, जिससे लोगों में एक नई जिज्ञासा जगी है। .

नई!!: नई दिल्ली और डीडी फ्री डिश · और देखें »

डीडी भारती

डीडी भारती एक राज्य के स्वामित्व वाला टीवी चैनल है जो दूरदर्शन केन्द्र दिल्ली प्रसारित होता है। .

नई!!: नई दिल्ली और डीडी भारती · और देखें »

डीडी इंडिया

डीडी इंडिया: एक भारतीय उपग्रह टेलीविजन चैनल है जो विदेशों में रहने वाले भारतीय दर्शकों को लक्ष्य करके बनाया गया है, और भारत के सामाजिक, सांस्कृतिक और राजनीतिक पहलुओं पर एक अद्यतन प्रदान करता है। .

नई!!: नई दिल्ली और डीडी इंडिया · और देखें »

डीडी उर्दू

डीडी उर्दू एक राज्य के स्वामित्व वाला टीवी चैनल है जो दिल्ली में दूरदर्शन केन्द्र से प्रसारित होता है। डीडी उर्दू चैनल का मुख्य उद्देश्य भारतीय नागरिकों के बीच उर्दू भाषा का प्रसार करने से है। डीडी उर्दू के प्रमुख कार्यालय मंडी हाउस मेट्रो स्टेशन के पास नई दिल्ली में है। डीडी उर्दू का प्रसारण की उपलब्धता भारत और एशिया, चीन और खाड़ी देशों के कुछ हिस्सों में है। .

नई!!: नई दिल्ली और डीडी उर्दू · और देखें »

डी॰ के॰ रवि

डी॰ के॰ रवि (पूरा नाम दोड्डकोप्पलू करियप्पा रवि, १० जून १९७९ - १६ मार्च २०१५) भारतीय प्रशासनिक सेवा के एक अधिकारी थे। वे भारतीय प्रशासनिक सेवा के कर्नाटक कैडर के २००९ समूह के अधिकारी थे। ज़ी न्यूज़ (Zee News), १७ मार्च २०१५ एक कर्मठ और ईमानदार प्रशासक के रूप में उन्हें तब जनता के बीच में पहचान मिली जब कोलार ज़िले के उपायुक्त के रूप में कार्य करते हुए उन्होंने ज़िले में सरकारी भूमि पर किये गए अतिक्रमण और बेरोकटोक रूप से चल रहे अवैध रेत खनन के विरुद्ध अभियान चलाया। कोलार ज़िले में लगभग चौदह माह के कार्यकाल के बाद अक्टूबर २०१४ में कर्नाटक सरकार द्वारा उन्हें बंगलौर में वाणिज्य कर (प्रवर्तन) के अतिरिक्त आयुक्त के पद पर स्थानान्तरित कर दिया गया। राजस्थान पत्रिका, १७ मार्च २०१५ अतिरिक्त आयुक्त के रूप में पांच माह तक कार्य करते हुए वे १६ मार्च २०१५ को अपने आवास पर संदिग्ध परिस्थितियों में मृत पाए गए। अपने पांच माह के इस छोटे कार्यकाल में ही उनके द्वारा बीस से अधिक कर चोरी कर रही कम्पनियों, फर्मों और बिल्डरों पर की गयी छापेमारी, और इनसे की गयी करोड़ों रूपये की कर उगाही ने उनकी अचानक मृत्यु को संदेहास्पद बना दिया। राजस्थान पत्रिका, १८ मार्च २०१५ .

नई!!: नई दिल्ली और डी॰ के॰ रवि · और देखें »

ढिंचक पूजा

पूजा जैन जो ढिंचक पूजा के नाम से जानी जाती है, एक इन्टरनेट गायिका, गीतकार और इन्टरनेट सेलेब्रिटी है। उनके काम को कई सोशल मीडिया आलोचकों, मीडिया, यूट्यूबर्स और दर्शकों द्वारा लगातार मजाक उड़ाया गया, जिन्होंने अक्सर "सबसे खराब गायिका" कहा। वह वर्तमान में रियलिटी टीवी शो बिग बॉस 11 पर एक प्रतियोगी हैं। .

नई!!: नई दिल्ली और ढिंचक पूजा · और देखें »

तरुण तेजपाल

तरुण तेजपाल (पंजाबी: ਤਰੁਣ ਤੇਜਪਾਲ, जन्म; 15 मार्च 1963) एक भारतीय पत्रकार, प्रकाशक और उपन्यासकार हैं। तेजपाल मार्च 2000 में शुरू हुई तहलका नामक पत्रिका का प्रकाशक और प्रधान संपादक हैं, लेकिन नवम्बर 2013 की शुरुआत के छह महीने के लिए इन्होने अपना पद छोड़ दिया है। तेजपाल ने इससे पहले इंडिया टुडे और इंडियन एक्सप्रेस समूह में संपादक के तौर पर और आउटलुक में प्रबंध संपादक के तौर पर काम किया है। .

नई!!: नई दिल्ली और तरुण तेजपाल · और देखें »

तरुणा मदन गुप्ता

तरुणा मदन गुप्ता वैज्ञानिक "डी" के रूप में नेशनल इंस्टीट्यूट फॉर रिसर्च इन प्रॉडक्टिव हेल्थ (एनआईआरआरएच), मुंबई, भारत में काम करती है। उन्होंने बड़े पैमाने पर एस्परगिलोसिस और फेफड़ों के सर्फटेक्ट प्रोटीन पर काम किया है। .

नई!!: नई दिल्ली और तरुणा मदन गुप्ता · और देखें »

तानसेन सम्मान

तानसेन सम्मान मध्य प्रदेश शासन द्वारा प्रदान किया जाता है। यह पुरस्कार वर्ष 1980 में स्थापित किया गया था। मध्य प्रदेश शासन द्वारा हिन्दुस्तानी शास्त्रीय संगीत के क्षेत्र में उल्लेखनीय योगदान के लिए यह पुरस्कार प्रदान किया जाता है। .

नई!!: नई दिल्ली और तानसेन सम्मान · और देखें »

तिब्बिया कॉलेज

तिब्बिया कॉलेज, जिसे आयुर्वेदिक एवं यूनानी तिब्बिया कॉलेज के नाम से भी जाना जाता है, एक सार्वजनिक विश्वविद्यालय है जो भारत की राजधानी नई दिल्ली में स्थित है। 19 वी सदी में स्थापित यह कॉलेज आयुर्वेदिक और यूनानी चिकित्सा पद्धति के अध्ययन की सुविधा प्रदान करता है। इस कॉलेज का उद्घाटन महात्मा गाँधी ने सन 1921 में किया था। यह कॉलेज आयुर्वेदिक आयुर्विज्ञान और शल्य चिकित्सा और यूनानी आयुर्विज्ञान और शल्य चिकित्सा में स्नातक उपाधि प्रदान करता है। 15 फ़रवरी 2008 को एक 60 बिस्तर वाला जच्चा-बच्चा खंड कॉलेज में शुरु किया गया है, साथ ही दिल्ली सरकार नें कॉलेज के आयुर्वेदिक और यूनानी चिकित्सा में योगदान के देखते हुए इसे एक विश्वविद्यालय के रूप में विकसित करने की घोषणा की है। .

नई!!: नई दिल्ली और तिब्बिया कॉलेज · और देखें »

तवलीन सिंह

तवलीन सिंह तवलीन सिंह (जन्म १९५०) भारत की प्रसिद्ध स्तम्भकार, राजनैतिक लेखिका एवं साहित्यकार हैं। .

नई!!: नई दिल्ली और तवलीन सिंह · और देखें »

तुम्हारी पाखी

तुम्हारी पाखी एक भारतीय टेलीविजन धारावाहिक है जो लाइफ ओके पर प्रसारित होता है। 11 नवम्बर 2013 को इसका प्रथम प्रसारण किया गया। यह धारावाहिक शरतचन्द्र चट्टोपाध्याय के उपन्यास नवा विधान पर आधारित है। धारावाहिक के कुछ प्रकरणों का रक्षण नई दिल्ली में भी हुआ है। .

नई!!: नई दिल्ली और तुम्हारी पाखी · और देखें »

त्यागराज पार्क, नई दिल्ली

यह अति सुन्दर उद्यान दक्षिण नई दिल्ली में आई एन ए कालोनी के पूर्व में स्थित है। इस उद्यान दिल्ली विकास प्राधिकरण द्वारा विकसित एवं अनुरक्षित है। .

नई!!: नई दिल्ली और त्यागराज पार्क, नई दिल्ली · और देखें »

त्रिभुवन नेपाल

नेपाल के त्रिभुवन त्रिभुवन बीर बिक्रम शाह (23 जून 1930 से 13 मार्च 1955) 11 दिसंबर सन 1911 से उनकी (7 नवंबर 1950 से 18 फरवरी 1951 तक के निर्वासन काल को छोड़ कर) मृत्यु तक नेपाल के राजा थे। इनका जन्म काठमांडू में हुआ था जो की वर्तमान में नेपाल की राजधानी है। 5 वर्ष की अल्प आयु में ही अपने पिता पृथ्वी वीर विक्रम शाह की मृत्यु के पश्चात राजगद्दी पर आसीन, हुए उन्हें हनुमान धोखा पैलेस काठमांडू में 20 फरवरी सन 1983 राजगद्दी सौंपी गई .

नई!!: नई दिल्ली और त्रिभुवन नेपाल · और देखें »

तेज पी० सिंह

तेज पी सिंह (जन्म: १९४४) भारत के जैवभौतिकविज्ञानी हैं जो रेशनल स्ट्रक्चर पर आधारित दवाओं के निर्माण, प्रोटीन संरचना जीवविज्ञान, तथा एक्स-किरण क्रिस्टलिकी पर किये गये अपने कार्यों के लिये प्रसिद्ध हैं। .

नई!!: नई दिल्ली और तेज पी० सिंह · और देखें »

तीन मूर्ति भवन

तीन मूर्ति भवन में भारत के प्रथम प्रधानमंत्री पं.

नई!!: नई दिल्ली और तीन मूर्ति भवन · और देखें »

द ट्रिब्यून (चंडीगढ़)

द ट्रिब्यून एक अंग्रेजी भाषा का भारतीय दैनिक समाचार पत्र है जो चंडीगढ़, नई दिल्ली, जालंधर, देहरादून और बठिंडा से प्रकाशित होता है। यह २ फ़रवरी १८८१ को, लाहौर (अब पाकिस्तान में) में एक परोपकारी सरदार दयाल सिंह मजीठिया द्वारा स्थापित किया गया था। यह ट्रस्ट पांच न्यासियों द्वारा चलाया जाता है.

नई!!: नई दिल्ली और द ट्रिब्यून (चंडीगढ़) · और देखें »

द रॉयल प्लाजा, नई दिल्ली

द रॉयल प्लाजा, भारत के न्यू दिल्ली के कनौट प्लेस स्थित एक होटल हैं। यह नई दिल्ली लुटीएंस जोन में स्थित हैं एवं इस होटल से राष्ट्रपति हाउस, संसद भवन, भारत का सर्वोच्च न्यायालय, दिल्ली उच्च न्यायालय, उत्तर और दक्षिण ब्लॉक, कैबिनेट मंत्रालयों, व्यापार मेला मैदान, जनपथ और कनॉट प्लेस बहुत नजदीक है। .

नई!!: नई दिल्ली और द रॉयल प्लाजा, नई दिल्ली · और देखें »

द इम्पीरियल, नई दिल्ली

दि इम्पीरियल, नयी दिल्ली में बना हुआ एक विलासिता वाला होटल है। यह क्वीन्सवे में पड़ता है जिसे कि आज कल जनपथ कहा जाने लगा है तथा यह दिल्ली में कनाट प्लेस के निकट ही पड़ता है। तथ्यों की मानें तो यह नयी दिल्ली का पहला ग्रैंड विलासिता वाला होटल है। इस होटल में एक बेजोड़ स्वतंत्र कलाकृतियों का संग्रह भी है। .

नई!!: नई दिल्ली और द इम्पीरियल, नई दिल्ली · और देखें »

दया प्रकाश सिन्हा

दया प्रकाश सिन्हा (जन्म: २ मई १९३५, कासगंज, जिला एटा, उत्तर प्रदेश) एक अवकाशप्राप्त आई०ए०एस० अधिकारी होने के साथ-साथ हिन्दी भाषा के प्रतिष्ठित लेखक, नाटककार, नाट्यकर्मी, निर्देशक व चर्चित इतिहासकार हैं। प्राच्य इतिहास, पुरातत्व व संस्कृति में एम० ए० की डिग्री तथा लोक प्रशासन में मास्टर्स डिप्लोमा प्राप्त सिन्हा जी विभिन्न राज्यों की प्रशासनिक सेवाओं में रहे। साहित्य कला परिषद, दिल्ली प्रशासन के सचिव, भारतीय उच्चायुक्त, फिजी के प्रथम सांस्कृतिक सचिव, उत्तर प्रदेश संगीत नाटक अकादमी व ललित कला अकादमी के अध्यक्ष, उत्तर प्रदेश हिन्दी संस्थान, लखनऊ के निदेशक जैसे अनेकानेक उच्च पदों पर रहने के पश्चात सन् १९९३ में भारत भवन, भोपाल के निदेशक पद से सेवानिवृत्त हुए। नाट्य-लेखन के साथ-साथ रंगमंच पर अभिनय एवं नाट्य-निर्देशन के क्षेत्र में लगभग ५० वर्षों तक सक्रिय रहे सिन्हा जी की नाट्य कृतियाँ निरन्तर प्रकाशित, प्रसारित व मंचित होती रही हैं। अनेक देशों में भारत के सांस्कृतिक प्रतिनिधि के रूप में भ्रमण कर चुके श्री सिन्हा को कई पुरस्कार व सम्मान भी मिल चुके हैं। .

नई!!: नई दिल्ली और दया प्रकाश सिन्हा · और देखें »

दयानतपुर

दयानतपुर  एक गाँव का नाम है, जो उत्तर प्रदेश के ग़ाज़ियाबाद ज़िले में स्थित है, जो कि भारत गणराज्य का हिस्सा है। यह ग्राम गंगा नदी की ओर नई दिल्ली अर्थात् पश्चिम की ओर से पड़ने वाले कुछ आखिरी स्थानों में से एक है। इसी गाँव के निकट ऐतिहासिक 'कुचेसर का किला' भी मौजूद है, जो कि कुल डेढ़ मील दूर है।  .

नई!!: नई दिल्ली और दयानतपुर · और देखें »

दशरथ माँझी

दशरथ मांझी (जन्म: 1934 – 17 अगस्त 2007) जिन्हें "माउंटेन मैन"के रूप में भी जाना जाता है, बिहार में गया के करीब गहलौर गांव के एक गरीब मजदूर थे। केवल एक हथौड़ा और छेनी लेकर इन्होंने अकेले ही 360 फुट लंबी 30 फुट चौड़ी और 25 फुट ऊँचे पहाड़ को काट के एक सड़क बना डाली। 22 वर्षों परिश्रम के बाद, दशरथ के बनायी सड़क ने अतरी और वजीरगंज ब्लाक की दूरी को 55 किमी से 15 किलोमीटर कर दिया। .

नई!!: नई दिल्ली और दशरथ माँझी · और देखें »

दामोदर स्वरूप 'विद्रोही'

दामोदर स्वरूप 'विद्रोही' (जन्म:2 अक्टूबर 1928 - मृत्यु: 11 मई 2008) अमर शहीदों की धरती के लिये विख्यात शाहजहाँपुर जनपद के चहेते कवियों में थे। यहाँ के बच्चे-बच्चे की जुबान पर विद्रोही जी का नाम आज भी उतना ही है जितना कि तब था जब वे जीवित थे। विद्रोही की अग्निधर्मा कविताओं ने उन्हें कवि सम्मेलन के अखिल भारतीय मंचों पर स्थापित ही नहीं किया अपितु अपार लोकप्रियता भी प्रदान की। उनका एक मुक्तक तो सर्वाधिक लोकप्रिय हुआ: सम्पूर्ण हिन्दुस्तान में उनकी पहचान वीर रस के सिद्धहस्त कवि के रूप में भले ही हुई हो परन्तु यह भी एक सच्चाई है कि उनके हृदय में एक सुमधुर गीतकार भी छुपा हुआ था। गीत, गजल, मुक्तक और छन्द के विधान पर उनकी जबर्दस्त पकड़ थी। भ्रष्टाचार, शोषण, अत्याचार, छल और प्रवचन के समूल नाश के लिये वे ओजस्वी कविताओं का निरन्तर शंखनाद करते रहे। उन्होंने चीन व पाकिस्तान युद्ध और आपातकाल के दिनों में अपनी आग्नेय कविताओं की मेघ गर्जना से देशवासियों में अदम्य साहस का संचार किया। हिन्दी साहित्य के आकाश में स्वयं को सूर्य-पुत्र घोषित करने वाले यशस्वी वाणी के धनी विद्रोही जी भौतिक रूप से भले ही इस नश्वर संसार को छोड़ गये हों परन्तु अपनी कालजयी कविताओं के लिये उन्हें सदैव याद किया जायेगा। .

नई!!: नई दिल्ली और दामोदर स्वरूप 'विद्रोही' · और देखें »

दारा सिंह

दारा सिंह (पूरा नाम: दारा सिंह रन्धावा, अंग्रेजी: Dara Singh, जन्म: 19 नवम्बर, 1928 पंजाब, मृत्यु: 12 जुलाई 2012 मुम्बई) अपने जमाने के विश्व प्रसिद्ध फ्रीस्टाइल पहलवान रहे हैं। उन्होंने 1959 में पूर्व विश्व चैम्पियन जार्ज गारडियान्का को पराजित करके कामनवेल्थ की विश्व चैम्पियनशिप जीती थी। 1968 में वे अमरीका के विश्व चैम्पियन लाऊ थेज को पराजित कर फ्रीस्टाइल कुश्ती के विश्व चैम्पियन बन गये। उन्होंने पचपन वर्ष की आयु तक पहलवानी की और पाँच सौ मुकाबलों में किसी एक में भी पराजय का मुँह नहीं देखा। 1983 में उन्होंने अपने जीवन का अन्तिम मुकाबला जीतने के पश्चात कुश्ती से सम्मानपूर्वक संन्यास ले लिया। उन्नीस सौ साठ के दशक में पूरे भारत में उनकी फ्री स्टाइल कुश्तियों का बोलबाला रहा। बाद में उन्होंने अपने समय की मशहूर अदाकारा मुमताज के साथ हिन्दी की स्टंट फ़िल्मों में प्रवेश किया। दारा सिंह ने कई फ़िल्मों में अभिनय के अतिरिक्त निर्देशन व लेखन भी किया। उन्हें टी० वी० धारावाहिक रामायण में हनुमान के अभिनय से अपार लोकप्रियता मिली। उन्होंने अपनी आत्मकथा मूलत: पंजाबी में लिखी थी जो 1993 में हिन्दी में भी प्रकाशित हुई। उन्हें अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार ने राज्य सभा का सदस्य मनोनीत किया। वे अगस्त 2003 से अगस्त 2009 तक पूरे छ: वर्ष राज्य सभा के सांसद रहे। 7 जुलाई 2012 को दिल का दौरा पड़ने के बाद उन्हें कोकिलाबेन धीरूभाई अम्बानी अस्पताल मुम्बई में भर्ती कराया गया किन्तु पाँच दिनों तक कोई लाभ न होता देख उन्हें उनके मुम्बई स्थित निवास पर वापस ले आया गया जहाँ उन्होंने 12 जुलाई 2012 को सुबह साढ़े सात बजे दम तोड़ दिया। .

नई!!: नई दिल्ली और दारा सिंह · और देखें »

दाराशा नौशेरवां वाडिया

प्रोफेसर दाराशा नौशेरवां वाडिया (Darashaw Nosherwan Wadia FRS; 25 अक्तूबर 1883 – 15 जून 1969) भारत के अग्रगण्य भूवैज्ञानिक थे। वे भारतीय भूवैज्ञानिक सर्वेक्षण में कार्य करने वाले पहले कुछ वैज्ञानिकों में शामिल थे। वे हिमालय की स्तरिकी पर विशेष कार्य के लिये प्रसिद्ध हैं। उन्होने भारत में भूवैज्ञानिक अध्ययन तथा अनुसंधान स्थापित करने में सहायता की। उनकी स्मृति में 'हिमालयी भूविज्ञान संस्थान' का नाम बदलकर १९७६ में 'वाडिया हिमालय भूविज्ञान संस्‍थान' कर दिया गया। उनके द्वारा रचित १९१९ में पहली बार प्रकाशित 'भारत का भूविज्ञान' (Geology of India) अब भी प्रयोग में बना हुआ है। .

नई!!: नई दिल्ली और दाराशा नौशेरवां वाडिया · और देखें »

दिनेश त्रिवेदी

दिनेश त्रिवेदी; (जन्म- ४ जून १९५०) तृणमूल कांग्रेस से एक भारतीय राजनेता हैं, जो पश्चिम बंगाल के बैरकपुर से सांसद हैं। त्रिवेदी इंडो-यूरोपीय संघ संसदीय मंच के अध्यक्ष भी हैं। वे पूर्व में भारत के रेल मंत्री रह चुके हैं। .

नई!!: नई दिल्ली और दिनेश त्रिवेदी · और देखें »

दिलबाग सिंह

एयर चीफ मार्शल दिलबाग सिंह पीवीएसएम, एवीएसएम, वीएम (10 मार्च 1 9 26 - 9 फरवरी, 2001) 1 9 81 से 1 9 84 तक भारतीय वायु सेना के प्रमुख थे। वे दुसरे सिख थे जो भारतीय वायुसेनाध्यक्ष बने। दिलबाग सिंह को 1 9 44 में एक पायलट के रूप में नियुक्त किया गया था। उनके उड़ान परिचालन अनुभव, स्पिटफ़ायर वायुयान से लेकर मिग -21 को उड़ने तक था। उन्होंने सबसे पहले नई दिल्ली में भारत का पहला आधिकारिक "सुपरसोनिक बैंग" का रिकॉर्ड बनाया था जब मैस्टेर IV-A वायुयान को सार्वजनिक प्रदर्शन में उड़ाया गया था। उन्होंने 1985 से 1987 तक ब्राजील में भारत के राजदूत के रूप में सेवा की। .

नई!!: नई दिल्ली और दिलबाग सिंह · और देखें »

दिल्ली

दिल्ली (IPA), आधिकारिक तौर पर राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र दिल्ली (अंग्रेज़ी: National Capital Territory of Delhi) भारत का एक केंद्र-शासित प्रदेश और महानगर है। इसमें नई दिल्ली सम्मिलित है जो भारत की राजधानी है। दिल्ली राजधानी होने के नाते केंद्र सरकार की तीनों इकाइयों - कार्यपालिका, संसद और न्यायपालिका के मुख्यालय नई दिल्ली और दिल्ली में स्थापित हैं १४८३ वर्ग किलोमीटर में फैला दिल्ली जनसंख्या के तौर पर भारत का दूसरा सबसे बड़ा महानगर है। यहाँ की जनसंख्या लगभग १ करोड़ ७० लाख है। यहाँ बोली जाने वाली मुख्य भाषाएँ हैं: हिन्दी, पंजाबी, उर्दू और अंग्रेज़ी। भारत में दिल्ली का ऐतिहासिक महत्त्व है। इसके दक्षिण पश्चिम में अरावली पहाड़ियां और पूर्व में यमुना नदी है, जिसके किनारे यह बसा है। यह प्राचीन समय में गंगा के मैदान से होकर जाने वाले वाणिज्य पथों के रास्ते में पड़ने वाला मुख्य पड़ाव था। यमुना नदी के किनारे स्थित इस नगर का गौरवशाली पौराणिक इतिहास है। यह भारत का अति प्राचीन नगर है। इसके इतिहास का प्रारम्भ सिन्धु घाटी सभ्यता से जुड़ा हुआ है। हरियाणा के आसपास के क्षेत्रों में हुई खुदाई से इस बात के प्रमाण मिले हैं। महाभारत काल में इसका नाम इन्द्रप्रस्थ था। दिल्ली सल्तनत के उत्थान के साथ ही दिल्ली एक प्रमुख राजनैतिक, सांस्कृतिक एवं वाणिज्यिक शहर के रूप में उभरी। यहाँ कई प्राचीन एवं मध्यकालीन इमारतों तथा उनके अवशेषों को देखा जा सकता हैं। १६३९ में मुगल बादशाह शाहजहाँ ने दिल्ली में ही एक चारदीवारी से घिरे शहर का निर्माण करवाया जो १६७९ से १८५७ तक मुगल साम्राज्य की राजधानी रही। १८वीं एवं १९वीं शताब्दी में ब्रिटिश ईस्ट इंडिया कंपनी ने लगभग पूरे भारत को अपने कब्जे में ले लिया। इन लोगों ने कोलकाता को अपनी राजधानी बनाया। १९११ में अंग्रेजी सरकार ने फैसला किया कि राजधानी को वापस दिल्ली लाया जाए। इसके लिए पुरानी दिल्ली के दक्षिण में एक नए नगर नई दिल्ली का निर्माण प्रारम्भ हुआ। अंग्रेजों से १९४७ में स्वतंत्रता प्राप्त कर नई दिल्ली को भारत की राजधानी घोषित किया गया। स्वतंत्रता प्राप्ति के पश्चात् दिल्ली में विभिन्न क्षेत्रों से लोगों का प्रवासन हुआ, इससे दिल्ली के स्वरूप में आमूल परिवर्तन हुआ। विभिन्न प्रान्तो, धर्मों एवं जातियों के लोगों के दिल्ली में बसने के कारण दिल्ली का शहरीकरण तो हुआ ही साथ ही यहाँ एक मिश्रित संस्कृति ने भी जन्म लिया। आज दिल्ली भारत का एक प्रमुख राजनैतिक, सांस्कृतिक एवं वाणिज्यिक केन्द्र है। .

नई!!: नई दिल्ली और दिल्ली · और देखें »

दिल्ली दरवाजा, दिल्ली

दिल्ली दरवाजा (जिसे दिल्ली गेट भी कहा जाता है) दिल्ली शहर के दक्षिणी ओर का नगर रक्षक द्वार था। यह द्वार पुरानी दिल्ली क्षेत्र (शाहजहानाबाद) और नई दिल्ली क्षेत्र के बीच स्थित है। पुरानी दिल्ली क्षेत्र के नेताजी सुभाष मार्ग एवं नई दिल्ली क्षेत्र के बहादुर शाह ज़फ़र मार्ग के बीच यह दरयागंज के छोर पर स्थित है। इस दरवाजे का निर्माण मुगल बादशाह शाहजहां ने १६३८ में दिल्ली के सातवे शहर तथा तत्कालीन राजधानी शहर शाहजहानाबाद की घेराबन्दी करती रक्षक दीवार के प्रवेशद्वार के रूप में करवाया था। बादशाह इस द्वार का उपयोग नमाज करने हेतु जामा मस्जिद जाने के ल्लिये किया करता था। यह द्वार नगर के तत्कालीन उत्तरी द्वार कश्मीरी दरवाजे (१८३८) से मिलता जुलता था एवं इसे हाथी-पोल भी कहा जाता थाआ। यह लाल बलुआ पत्थर एवं अन्य पत्थरों से बड़े आकार का करवाया गया था। द्वार के निकट ही दो बड़े बड़े हाथी की मूर्तियां भी बनी थीं। इसे पहले हाथी पोल भी कहा जाता था। इस दरवाजे से निकलती सड़क उत्तरी ओर मुख्य शहर से गुजरती हुई उत्तरी द्वार, कश्मीरी दरवाजे तक जाती थी, एवं दरियागंज से निकलती है। वहाम की दीवार का कुछ भाग दिल्ली जंक्शन रेलवे स्टेशन के निर्माण हेतु ध्वस्त कर दिया गया था। वर्तमान में इस इमारत को ऐतिहासिक स्मारक रूप में संरक्षित किया गया है, तथा इसका रखरखाव भारतीय पुरातात्त्विक सर्वेक्षण विभाग द्वारा किया जा रहा है। .

नई!!: नई दिल्ली और दिल्ली दरवाजा, दिल्ली · और देखें »

दिल्ली में रूसी दूतावास विद्यालय

दिल्ली में रूसी दूतावास विद्यालय अथवा रसियन एम्बेसी स्कूल इन न्यू डेल्ही (Средняя общеобразовательная школа при Посольстве России в Индии) चाणक्य पुरी, नई दिल्ली में स्थित रूसी अन्तर्राष्ट्रीय विद्यालय है।"".

नई!!: नई दिल्ली और दिल्ली में रूसी दूतावास विद्यालय · और देखें »

दिल्ली राज्य विधानसभा चुनाव, २०१३

वर्ष 2013 में दिल्ली विधानसभा के चुनाव के लिए 4 दिसम्बर को मतदान हुआ। जिसके परिणाम 8 दिसम्बर 2013 को घोषित किये गए। ये उन प्रथम पाँच चुनावों में से थे जिनमें भारत निर्वाचन आयोग द्वारा "उपरोक्त में से कोई नहीं का विकल्प" उपलब्ध करवाया गया जिसके तहत चुनाव में उतरे सभी उम्मीदवारों को अस्वीकार करने का अधिकार भी पहली बार मतदाताओं को मिल गया। चुनाव के समय यहाँ की कुल जनसंख्या 16,787,941 थी जिसमें से 1,15,07113 मतदाता थे। .

नई!!: नई दिल्ली और दिल्ली राज्य विधानसभा चुनाव, २०१३ · और देखें »

दिल्ली सफ़दरजंग

सफ़दरजंग का मकबरा, दिल्ली; जिसके नाम पर इस क्षेत्र का नाम पड़ा है। नई दिल्ली का एक क्षेत्र है। इसके नाम से कई स्थान आते हैं, अतः यह एक बहुविकल्पी शब्द है.

नई!!: नई दिल्ली और दिल्ली सफ़दरजंग · और देखें »

दिल्ली हाट

Dilli Haat, Delhi नई दिल्ली में सफदरजंग अस्पताल व आई एन ए कालोनी के पास स्थित एक प्रमुख पर्यटन क्षेत्र, जहां बुनकर एवं काश्तकार लोग, बिचोलियों के बिना सीधे ही ग्राहकों को अपनें हस्तशिल्प बेचते हें। दिल्ली हाट एम्स से थोड़ी ही दूरी पर स्थित है। यहां पर आकर संपूर्ण भारत के एक साथ दर्शन हो जाते हैं। यहां पर भारत के विभिन्नप प्रांतों के हस्तपशिल्प् को प्रदर्शित करती दुकानें हैं। दक्षिण भारतीय व्यं। जन से लेकर सुदूर उत्ततर पूर्व के खाने के स्टॉेल भी यहां मिल जाते हैं। यहां समय समय पर सांस्कृहतिक कार्यक्रमों का आयोजन भी किया जाता है। यहां आप नृत्यि और संगीत का भी आनंद उठा सकते हैं। .

नई!!: नई दिल्ली और दिल्ली हाट · और देखें »

दिल्ली जंक्शन रेलवे स्टेशन

दिल्ली जंक्शन रेलवे स्टेशन दिल्ली जंक्शन (पुरानी दिल्ली) दिल्ली शहर के सबसे बड़े और पुराने स्टेशनों में से एक है। ब्रिटिश हुक्मारानों ने इसे बनवाया था। यह देश के व्यस्ततम रेलवे स्टेशनों में से है। यहां दिल्ली मेट्रो यलो लाइनका भी स्टेशन है। यह चांदनी चौक की ओर है। यहां परिक्रमा सेवा का भी हॉल्ट होता है। .

नई!!: नई दिल्ली और दिल्ली जंक्शन रेलवे स्टेशन · और देखें »

दिल्ली विश्‍वविद्यालय

दिल्ली विश्वविद्यालय (अंग्रेजी:University of Delhi), भारत सरकार द्वारा वित्तपोषित एक केन्द्रीय विश्वविद्यालय है। भारत की राजधानी दिल्ली स्थित यह विश्वविद्यालय 1922 में स्थापित हुआ था। यह स्नातक और स्नातकोत्तर स्तर पर पाठ्यक्रम उपलब्ध कराता है। भारत के उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू विश्वविद्यालय के वर्तमान कुलाधिपति हैं। THES-QS की विश्व के विश्वविद्यालयों की रैंकिंग के अनुसार यह भारत का शीर्ष गैर-आईआईटी विश्वविद्यालय है। दिल्ली विश्वविद्यालय के दो परिसर हैं जो दिल्ली के उत्तरी और दक्षिणी भाग में स्थित हैं। इन्हें क्रमश: उत्तरी परिसर और दक्षिणी परिसर कहा जाता है। दिल्ली विश्वविद्यालय का उत्तरी परिसर में दिल्ली मेट्रो की पीली लाइन के साथ सुनियोजित ढंग से जुड़ा हुआ है और मेट्रो स्टेशन का नाम 'विश्वविद्यालय' है। उत्तरी परिसर दिल्ली विधान सभा से 2.5 किमी और अंतरराज्यीय बस अड्डे से 7.0 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है।तो वहीं इसका दक्षिणी परिसर गुलाबी (पिंक)लाइन से जुड़ा है और मेट्रो स्टेशन का नाम 'दुर्गाबाई देशमुख साउथ केम्पस 'है| .

नई!!: नई दिल्ली और दिल्ली विश्‍वविद्यालय · और देखें »

दिल्ली का भूगोल

दिल्ली समुद्रतल से ७०० से १००० फीट की ऊँचाई पर हिमालय से १६० किलोमीटर दक्षिण में यमुना नदी के किनारे पर बसा है। दिल्ली २८ डिग्री ६१' उत्तरी अक्षांश तथा ७७ डिग्री २३' पूर्वी देशांतर पर स्थित है। यह उत्तर, पश्चिम एवं दक्षिण तीन तरफं से हरियाणा राज्य तथा पूरब में उत्तर प्रदेश राज्य द्वारा घिरा हुआ है। राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र १,४८४ वर्ग किलोमीटर में फैला हुआ है, जिसमें शहरी क्षेत्र ७८३ वर्ग किलोमीटर तथा ग्रामीण क्षेत्र ७०० किलोमीटर है। इसकी अधिकतम लम्बाई ५१ किलोमीटर तथा अधिकतम चौड़ाई ४८.४८ किलोमीटर है। दिल्ली में यमुना नदी राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र दिल्ली में विस्तृत है, जिसमें से भाग ग्रामीण और भाग शहरी घोषित है। दिल्ली उत्तर-दक्षिण में अधिकतम है और पूर्व-पश्चिम में अधिकतम चौढ़ाई है। दिल्ली के अनुरक्षण हेतु तीन संस्थाएं कार्यरत है:-.

नई!!: नई दिल्ली और दिल्ली का भूगोल · और देखें »

दिल्ली काव्य महोत्सव

दिल्ली काव्य महोत्सव (दिल्ली पोएट्री फेस्टिव) पोएट्स कॉर्नर ग्रुप की एक पहल है। दिल्ली में प्रथम दिल्ली काव्य महोत्सव १९ जनवरी, २०१३ को आयोजित किया गया था। .

नई!!: नई दिल्ली और दिल्ली काव्य महोत्सव · और देखें »

दिल्ली के शिक्षा संस्थानों की सूची

यह दिल्ली में स्थित शिक्षण संस्थानों की सूची है। .

नई!!: नई दिल्ली और दिल्ली के शिक्षा संस्थानों की सूची · और देखें »

दिल्ली के संग्रहालय

राष्ट्रीय आधुनिक कला संग्रहालय की दिल्ली में इंडिया गेट के निकट स्थित इमारत। यह दिल्ली के संग्रहालयों की सूची है। .

नई!!: नई दिल्ली और दिल्ली के संग्रहालय · और देखें »

दिल्ली के जिले और उपमंडल

राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र दिल्ली को कुल नौ जिले में बांटा हुआ है। हरेक जिले का एक उपायुक्त नियुक्त है और जिले के तीन उपजिले हैं। प्रत्येक उप जिले का एक उप जिलाधीश नियुक्त है। सभी उपायुक्त मंडलीय अधिकारी के अधीन होते हैं। दिल्ली का जिला प्रशासन सभी प्रकार की राज्य एवं केन्द्रीय नीतियों और का प्रवर्तन विभाग होता है। यही विभिन्न अन्य सरकारी कार्यकर्तृयों पर आधिकारिक नियंत्रण रखता है। निम्न लिखित दिल्ली के जिलों और उपजिलों की सूची है:- दिल्ली के जिले मध्य दिल्ली विहंगम दृश्य साउथ ब्लॉक, नई दिल्ली में भारत सरकार का रक्षा मंत्रालय और वित्त मंत्रालय है.

नई!!: नई दिल्ली और दिल्ली के जिले और उपमंडल · और देखें »

दिल्ली की संस्कृति

दिल्ली हाट में प्रदर्शित परंपरागत पॉटरी उत्पाद। दिल्ली की संस्कृति यहां के लंबे इतिहास और भारत की राजधानी रूप में ऐतिहासिक स्थिति से पूर्ण प्रभावित रहा है। यह शहर में बने कई महत्वपूर्ण ऐतिहासिक स्मारकों से विदित है। भारतीय पुरातात्विक सर्वेक्षण विभाग ने दिल्ली शहर में लगभग १२०० धरोहर स्थल घोषित किए हैं, जो कि विश्व में किसी भी शहर से कहीं अधिक है। और इनमें से १७५ स्थल राष्ट्रीय धरोहर स्थल घोषित किए हैं। पुराना शहर वह स्थान है, जहां मुगलों और तुर्क शासकों ने कई स्थापत्य के नमूने खडए किए हैं, जैसे जामा मस्जिद (भारत की सबसे बड़ी मस्जिद) और लाल किला। दिल्ली में फिल्हाल तीन विश्व धरोहर स्थल हैं – लाल किला, कुतुब मीनार और हुमायुं का मकबरा। अन्य स्मारकों में इंडिया गेट, जंतर मंतर (१८वीं सदी की खगोलशास्त्रीय वेधशाला), पुराना किला (१६वीं सदी का किला).

नई!!: नई दिल्ली और दिल्ली की संस्कृति · और देखें »

दिल्ली उच्च न्यायालय

दिल्ली उच्च न्यायालय दिल्ली राज्य का न्यायालय हैं। इसे ३१ अक्टूबर, १९६६ को स्थापित किया गया था। दिल्ली उच्च न्यायालय को चार न्यायाधीशों के साथ स्थापित किया गया था। वे मुख्य न्यायाधीश थे - के एस हेगड़े, न्यायमूर्ति आईडी दुआ, न्यायाधीश एचआर खन्ना और न्यायमूर्ति एस के कपूर। .

नई!!: नई दिल्ली और दिल्ली उच्च न्यायालय · और देखें »

दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस वे

दिल्ली मेरठ एक्सप्रेसवे एक 90 किलोमीटर लम्बा निर्माणाधीन द्रुतगामी मार्ग है  | जो की दिल्ली से प्रारम्भ हो कर मेरठ पर ख़त्म होता है। यह राजमार्ग अभिगम नियंत्रण द्रुतगामी मार्ग होगा। इस द्रुतगामी मार्ग पर १४ लेन दिल्ली से डासना तक होंगी तथा ६ लेन डासना से मेरठ तक होंगी | भारत के प्रधान मंत्री श्री नरेन्द्रमोदी जी ने ३१ दिसंबर २०१५ को इस मार्ग का उद्घाटन किया था | इस मार्ग की कुल लागत 7,855.87  करोड़ भारतीय रूपये हैं | .

नई!!: नई दिल्ली और दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस वे · और देखें »

दक्षिण एशियाई खेल

दक्षिण एशिया ओलम्पिक परिषद चिह्न दक्षिण एशियाई खेल (जिन्हें सैफ़ खेल या सैग और पूर्व में दक्षिण एशियाई संघ खेलों के नाम से भी जाना जाता था) द्वि-वार्षिक बहु-क्रीड़ा प्रतियोगिता है, जिसमें दक्षिण एशियाई खिलाड़ी प्रतिभागी होते हैं। इन खेलों का शासी निकाय दक्षिण एशियाई खेल परिषद है, जिसकी स्थापना १९८३ में हुई थी। वर्तमान में सैग के आठ सदस्य हैं अफ़्गानिस्तान, नेपाल, पाकिस्तान, बांग्लादेश, भारत, भूटान, मालदीव और श्रीलंका। प्रथम सैफ़ खेल १९८४ में काठमांडु, नेपाल में आयोजित हुए थे और तबसे ये खेल प्रति दो वर्षों के अन्तराल पर आयोजित होते हैं, केवल कुछ अवसरों को छोड़कर। २००४ में दक्षिण एशियाई खेल परिषद की ३२वीं बैठक में यह निर्णय लिया गया की इन खेलों का नाम दक्षिण एशियाई संघ खेलों से बदलकर दक्षिण एशियाई खेल कर दिया जाए क्योंकि अधिकारियों का मानना था की संघ शब्द प्रतियोगिता पर कम बल दे रहा है और भीड़ आकर्षित करने में बाधक बन रहा है। इस खेलों को बहुधा दक्षिण एशिया ओलम्पिक खेलों के रूपान्तर के रूप में बढ़ाचढ़ा कर प्रस्तुत किया जाता है। .

नई!!: नई दिल्ली और दक्षिण एशियाई खेल · और देखें »

दक्षिण एशियाई क्षेत्रीय सहयोग संगठन

दक्षिण एशियाई क्षेत्रीय सहयोग संगठन (सार्क) दक्षिण एशिया के आठ देशों का आर्थिक और राजनीतिक संगठन है। संगठन के सदस्य देशों की जनसंख्या (लगभग 1.5 अरब) को देखा जाए तो यह किसी भी क्षेत्रीय संगठन की तुलना में ज्यादा प्रभावशाली है। इसकी स्थापना ८ दिसम्बर १९८५ को भारत, पाकिस्तान, बांग्लादेश, श्रीलंका, नेपाल, मालदीव और भूटान द्वारा मिलकर की गई थी। अप्रैल २००७ में संघ के 14 वें शिखर सम्मेलन में अफ़ग़ानिस्तान इसका आठवा सदस्य बन गया। .

नई!!: नई दिल्ली और दक्षिण एशियाई क्षेत्रीय सहयोग संगठन · और देखें »

दक्षिण पूर्वी एशियाई राष्ट्रों का संगठन

दक्षिण पूर्वी एशियाई राष्ट्रों का संगठन (अंग्रेज़ी:एसोसिएशन ऑफ साउथ ईस्ट एशियन नेशंस, लघु:आसियान) दस दक्षिण-पूर्व एशियाई देशों का समूह है, जो आपस में आर्थिक विकास और समृद्धि को बढ़ावा देने और क्षेत्र में शांति और स्थिरता कायम करने के लिए भी कार्य करते हैं। इसका मुख्यालय इंडोनेशिया की राजधानी जकार्ता में है। आसियान की स्थापना ८ अगस्त, १९६७ को थाईलैंड की राजधानी बैंकॉक में की गई थी। इसके संस्थापक सदस्य थाईलैंड, इंडोनेशिया, मलेशिया, फिलिपींस और सिंगापुर थे। ब्रूनेई इस संगठन में १९८४ में शामिल हुआ और १९९५ में वियतनाम। इनके बाद १९९७ में लाओस और बर्मा इसके सदस्य बने। १९७६ में आसियान की पहली बैठक में बंधुत्व और सहयोग की संधि पर हस्ताक्षर किए गए। १९९४ में आसियान ने एशियाई क्षेत्रीय फोरम (एशियन रीजनल फोरम) (एआरएफ) की स्थापना की गई, जिसका उद्देश्य सुरक्षा को बढ़ावा देना था। अमेरिका, रूस, भारत, चीन, जापान और उत्तरी कोरिया सहित एआरएफ के २३ सदस्य हैं। अपने चार्टर में आसियान के उद्देश्य के बारे में बताया गया है। पहला उद्देश्य सदस्य देशों की संप्रभुता, क्षेत्रीय अखंडता और स्वतंत्रता को कायम रखा जाए, इसके साथ ही झगड़ों का शांतिपूर्ण निपटारा हो। सेक्रेट्री जनरल, आसियान द्वारा पारित किए प्रस्तावों को लागू करवाने और कार्य में सहयोग प्रदान करने का काम करता है। इसका कार्यकाल पांच वर्ष का होता है। वर्तमान में थाईलैंड के सूरिन पिट्स्वान इसके सेक्रेट्री जनरल है। आसियान की निर्णायक बॉडी में राज्यों के प्रमुख होते हैं, इसकी वर्ष में एक बार बैठक होती है। भारत आसियान देशों से सहयोग करने और संपर्क रखने का सदा ही इच्छुक रहा है। हाल ही में १३ अगस्त,२००९को भारत ने आसियन के संग बैंगकॉक में सम्मेलन किया, जिसमें कई महत्त्वपूर्ण समझौते हुए थे। भारतीय अन्तर्राष्ट्रीय व्यापार मेला 2008, नई दिल्ली में आसियान मुख्य केन्द्र बिन्दु रहा था। नई व्यापार ब्लॉक के तहत दस देशों की कंपनियों और कारोबारियों ने मेले में भाग लिया था। थाइलैंड, इंडोनेशिया, मलेशिया, म्यांमार, वियतनाम, फिलिपींस, ब्रुनेई, कंबोडिया और लाओस आसियान के सदस्य देश हैं, जिनके उत्पाद व्यापार मेले में खूब दिखे थे। आसियान भारत का चौथा सबसे बडा व्यापारिक भागीदार है। दोनों पक्षों के बीच २००८ में ४७ अरब डॉलर का व्यापार हुआ था। फिक्की के महासचिव अमित मित्रा के अनुसार भारत और आसियान के बीच हुआ समझौता दोनों पक्षों के लिए उत्तम होगा। समझौता जनवरी २००९ से लागू हुआ था। .

नई!!: नई दिल्ली और दक्षिण पूर्वी एशियाई राष्ट्रों का संगठन · और देखें »

दक्षिण पूर्वी एशियाई राष्ट्रों का संगठन के सदस्य राष्ट्र

दक्षिण पूर्वी एशियाई राष्ट्रों का संगठन (Association of Southeast Asian Nations) दक्षिण पूर्व एशिया क्षेत्र का संगठन है जिसका लक्ष्य सदस्य राष्ट्रों के मध्य आर्थिक विकास, सामाजिक प्रगति, सांस्कृतिक विकास तथा क्षेत्रीय शांति को बढ़ावा देना है। आसियान के 10 सदस्य राष्ट्र, एक उम्मीद्वार राष्ट्र तथा एक पर्यवेक्षक राष्ट्र है। आसियान की स्थापना 8 अगस्त 1967 में पाँच सदस्यों के साथ की गयी थी: इंडोनेशिया, मलेशिया, फिलिपीन्स, सिंगापुर तथा थाईलैंड। .

नई!!: नई दिल्ली और दक्षिण पूर्वी एशियाई राष्ट्रों का संगठन के सदस्य राष्ट्र · और देखें »

दक्षिण अफ्रीका क्रिकेट टीम का भारत दौरा 1991-92

1991-92 के मौसम में दक्षिण अफ्रीका क्रिकेट टीम ने भारत का दौरा किया। यह दौरा महत्वपूर्ण था क्योंकि यह दक्षिण अफ्रीका की पहली आधिकारिक अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट श्रृंखला है क्योंकि 1970 में रंगभेद नीति के चलते खेल से निलंबन के बाद से उनका निलंबन था। इस दौरे में भारतीय राष्ट्रीय टीम के खिलाफ तीन एक दिवसीय अंतर्राष्ट्रीय वनडे मैचों की श्रृंखला शामिल थी और दक्षिण अफ्रीका द्वारा खेली गई पहली आधिकारिक एकदिवसीय श्रृंखला थी। भारत ने श्रृंखला 2-1 से जीती, और श्रृंखला के पुरुष संजय मांजरेकर और दक्षिण अफ्रीका के केप्लर वेसल्स थे। .

नई!!: नई दिल्ली और दक्षिण अफ्रीका क्रिकेट टीम का भारत दौरा 1991-92 · और देखें »

दु:स्वप्न भी आते हैं

दु:स्वप्न भी आते हैं अष्टभुजा शुक्ल का कविता संग्रह हैं। इस कृति के लिए उन्हें 2009 में केदार सम्मान से सम्मानित किया गया है। रचनाकार.

नई!!: नई दिल्ली और दु:स्वप्न भी आते हैं · और देखें »

दुर्गा लाल

पंडित दुर्गा लाल (1948 - 21 जनवरी 1990) जयपुर घर के प्रसिद्ध कथक नर्तक थे। उनका जन्म महेंद्रगढ़, राजस्थान में हुआ था। 1989 के नृत्य नाटक घनश्याम में उन्हें मुख्य भूमिका निभाने के लिए जाना जाता है; जिसमें संगीतज्ञ पंडित रवि शंकर द्वारा निर्मित था और इसे बर्मिंघम ओपेरा कंपनी द्वारा निर्मित किया गया था। कथक रूप के क्षेत्र में उनके योगदान के लिए उन्हें भारत सरकार द्वारा पद्म श्री, चौथा सबसे बड़ा नागरिक सम्मान, सम्मानित किया गया था। 1984 में उन्हें संगीत नाटक अकादमी पुरस्कार भी मिला था। ये लाल सुंदर प्रसादजी के शिष्य था। कथक नर्तक होने के साथ ही वे एक गायक भी थे और पखवाज खेलते थे। उन्होंने कथक नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ कथक नृत्य (कथक केंद्र), नई दिल्ली में पढ़ाया करते थे। निघट चौधरी पाकिस्तान में पंडित लाल के उल्लेखनीय छात्र हैं। लाल के भाई पंडित देवीलाल भी एक प्रसिद्ध कथक नर्तक थे। देवीलाल की पत्नी गीतांजली लाल भी एक संगीत नाटक अकादमी पुरस्कार विजेता (2007) हैं। दुर्गा लाल की मृत्यु के बाद उनके बच्चों और अन्य आर्ट बिरादरी सदस्य पंडित दुर्गा लाल मेमोरियल महोत्सव नामक वार्षिक त्यौहार का आयोजन कर रहे हैं। उनके दो बच्चे हैं, बड़ी बेटी नूपुर और छोटे बेटे मोहित नूपुर कथक कलाकार और गायक हैं और मोहित एक पर्सियन लेखक हैं।उनके शिष्यों में प्रसिद्ध नर्तक उमा डोगरा और जयंत कास्त्रुआर शामिल हैं। लाल की स्मृति में, डोगरा ने "पंडित दुर्गा लाल समरोह" का आयोजन 2005 तक 15 वर्षों से किया था। .

नई!!: नई दिल्ली और दुर्गा लाल · और देखें »

दैनिक ट्रिब्यून

दैनिक ट्रिब्यून ट्रिब्यून ट्रस्ट द्वारा चंडीगढ़, नई दिल्ली, जालंधर, देहरादून और बठिंडा से प्रकाशित एक भारतीय हिन्दी भाषा का दैनिक समाचार पत्र है। संतोष तिवारी दैनिक ट्रिब्यून के संपादक है। राज चेंगप्पा समाचारपत्र ट्रिब्यून ट्रस्ट के संपादक इन चीफ है। दैनिक ट्रिब्यून का इंटरनेट संस्करण 16 अगस्त 2010 को शुरू किया और पर उपलब्ध है। .

नई!!: नई दिल्ली और दैनिक ट्रिब्यून · और देखें »

दूरदर्शन नेशनल

दूरदर्शन नेशनल भारत में एक केन्द्र शासित हिन्दी टीवी चैनल है तथा इस चैनल की पहुँच भारत के लगभग हर हिस्से तक है। यह विभिन्न आयोजनों जैसे गणतंत्र दिवस समारोह, स्वतंत्रता दिवस समारोह, राष्ट्रीय पुरस्कार प्रस्तुति समारोह, राष्ट्रपति और देश के प्रधानमंत्री के भाषण, संसद के संयुक्त सत्र में राष्ट्रपति के अभिभाषण, महत्वपूर्ण संसदीय बहसों, रेलवे और सामान्य बजट प्रस्तुतियों, लोक सभा और राज्य सभा में प्रश्न काल, चुनाव परिणाम और विश्लेषण, शपथ ग्रहण समारोह, राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री की विदेश यात्राओं और भारत के लिए महत्वपूर्ण विदेशी गणमान्य व्यक्तियों की यात्राओं डीडी नेशनल पर सीधा प्रसारण होता है। यह विभिन्न शिक्षा से संबधित कार्यक्रमों जैसे इंदिरा गांधी राष्ट्रीय मुक्त विश्वविद्यालय (इग्नू) विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी), शैक्षिक प्रौद्योगिकी के केन्द्रीय संस्थान (सीआईईटी) और शिक्षा प्रौद्योगिकी के राज्य संस्थान (एस आई इ टी) के साथ-साथ मनोरंजक कार्यक्रमों का भी प्रसारण करता है। .

नई!!: नई दिल्ली और दूरदर्शन नेशनल · और देखें »

दूरशिक्षा परिषद

दूरशिक्षा परिषद (DEC) (अंग्रेज़ी:डिस्टेन्स एड्युकेशन काउन्सिल) नई दिल्ली, भारत में स्थित संगठन है, जो मुक्त विश्वविद्यालयों एवं दूरशिक्षा प्रणाली के समन्वय एवं विकास के लिये तथा उनके मानकों की स्थापना के लिये उत्तरदायी है। इस परिषद की स्थापना इंदिरा गांधी राष्ट्रीय मुक्त विश्वविद्यालय अधिनियम (१९८५) के अन्तर्गत की गई थी। इसके वर्तमान अध्यक्ष प्रो॰वी एन राजशेखरन पिल्लै हैं। .

नई!!: नई दिल्ली और दूरशिक्षा परिषद · और देखें »

देशी भाषाओं में देशों और राजधानियों की सूची

निम्न चार्ट विश्व के देशों को सूचीबद्ध करता है (जैसा की यहां परिभाषित किया गया है), इसमें उनके राजधानीयों के नाम भी शामिल है, यह अंग्रेजी के साथ साथ उस देश की मूल भाषा और/या सरकारी भाषा में दी गयी है। ज टी की कोण नॉन en .

नई!!: नई दिल्ली और देशी भाषाओं में देशों और राजधानियों की सूची · और देखें »

देवयानी खोब्रागड़े

देवयानी खोब्रागड़े (जन्म: 1974, मुंबई, महाराष्ट्र) अमेरिका स्थित न्यूयॉर्क में नियुक्त भारतीय उप महावाणिज्य दूत रह चुकी हैं। वे 1999 बैच की आईएफएस अधिकारी हैं तथा वर्तमान में न्यूयॉर्क में ही संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थायी मिशन में कार्यरत हैं। .

नई!!: नई दिल्ली और देवयानी खोब्रागड़े · और देखें »

दोस्त भालुओं का सम्मेलन

भालू मेरा साथी नई दिल्ली राजीव चौक 2012 नई दिल्ली 2012 भालू मेरा साथी (Buddy Bear.) एक जीवत भालू के आकार की रंगीन मूर्ति है। इसे 2001 में ईवा और क्लाऊस हेरिलट्स के द्वारा ऑस्ट्रिया के मूर्तिकार रोमन स्टौर्बल के निकट सहयोग से विकसित किया गया था। भालू की लोकिप्रयता को विश्व भर के लोगों में एक बेहतर समझ को प्रेरित करने के लिए प्रयोग किया जाता है। यह आधार के रूप में अन्य देशों की जीवन स्थितियों में शांतिपूर्ण सह-अस्तित्व औरविभिन्न संस्कृतियोंं पर विचार के लिए एक प्रतीक हैै। इस बुिनयादी विचार से, दोस्त भालूओं का सम्मेलन (United Buddy Bears.) का आदर्श वाक्य: जब हम एक दूसरे को बेहतर जानेंगे, तब हम एक दूसरे को बेहतर समझेंगे, अधिक विश्वास और बेहतर सह-अस्तित्व विकिसत किया गया था। इस आदर्श वाक्य के साथ, दोस्त भालुओं का सम्मेलन अपने विश्व दौरे पर लोगों, संस्कृतियोंं और धर्मों के बीच सिहष्णुता और समझ को विज्ञापित करता है। लगभग 140 के आसपास भालू मेरा साथी (प्रत्येक 2 मीटर लंबा) संयुक्त राष्ट्र द्वारा मान्यता प्राप्त लगभग उतने ही देशों का प्रितिनिधत्व करते हैं। 2002 में बर्लिन में अपनी पहली प्रदर्शनी के बाद अब तक दुनिया भर में 30 लाख से अिधक आगंतुक भालुओं को सरहाने में सक्षम रहे हैं। .

नई!!: नई दिल्ली और दोस्त भालुओं का सम्मेलन · और देखें »

दीपक पुरी

दीपक पुरी (Deepak Puri) मोजर बेयर के संस्थापक, अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक हैं। मोजर बेयर दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा ऑप्टिकल स्टोरेज मीडिया निर्माता कंपनी हैं। पुरी ने शुरू में तेल कंपनी ईएसएसओ के साथ जूनियर कार्यकारी के रूप में काम किया था - 1962 में कोलकाता में, और बाद में शालीमार पेंट्स के साथ। 1964 में, पुरी ने अपनी पहली कंपनी, कलकत्ता में धातु उद्योग, एल्यूमीनियम के तारों और फर्नीचर के कारोबार शुरू किया था। दो साल बाद, उन्होने कारोबार को विनिर्माण के रूप का रूप दे दिया। कलकत्ता में श्रम मुद्दों के कारण, उन्होंने 1983 में नई दिल्ली में स्थानांतरित करने का निर्णय लिया। जहां उन्होंने स्विटज़रलैंड स्थित मोजर बेयर के साथ मोजर बेयर इंडिया के संयुक्त उपक्रम को शुरू किया था। पुरी ने वरिष्ठ कांग्रेस नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री कमलनाथ की बहन नीता पुरी से शादी की है और उनका एक बेटा रातुल है। नीता और रतुल दोनों ही मोजर बेयर का हिस्सा हैं। .

नई!!: नई दिल्ली और दीपक पुरी · और देखें »

धौलपुर हाउस

धौलपुर हाउस का सामने का ओसारा धौलपुर हाउस, भारत के संघ लोक सेवा आयोग का कार्यालय स्थल है। कुंडलाकार की यह सुन्दर इमारत नई दिल्ली में इंडिया गेट के बगल में शाहजहां रोड पर स्थित है। पहले यह धौलपुर राजघराने का निवास हुआ करता था और इसका निर्माण भी नई दिल्ली के निर्माण के दौरान 1920 के दशक में किया गया था। अखिल भारतीय सेवाओं में भर्ती के लिए यहां उम्मीदवारों की साक्षात्कार परीक्षायें आयोजित की जाती हैं। यहाँ साक्षात्कार परीक्षा पर उन्हीं उम्मीदवारों को आमंत्रित किया जाता है जिन्होनें परीक्षा के पहले दो चरण पार कर लिए हों। .

नई!!: नई दिल्ली और धौलपुर हाउस · और देखें »

नथुराम विनायक गोडसे

नथुराम विनायक गोडसे, या नथुराम गोडसे(१९ मई १९१० - १५ नवंबर १९४९) एक कट्टर हिन्दू राष्ट्रवादी समर्थक थे, जिसने ३० जनवरी १९४८ को नई दिल्ली में गोली मारकर मोहनदास करमचंद गांधी की हत्या कर दी थी। गोडसे, राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के पुणे से पूर्व सदस्य थे। गोडसे का मानना था कि भारत विभाजन के समय गांधी ने भारत और पाकिस्तान के मुसलमानों के पक्ष का समर्थन किया था। जबकि हिंदुओं पर हो रहे अत्याचार पर अपनी आंखें मूंद ली थी। गोडसे ने नारायण आप्टे और ६ लोगों के साथ मिल कर इस हत्याकाण्ड की योजना बनाई थी। एक वर्ष से अधिक चले मुकद्दमे के बाद ८ नवम्बर १९४९ को उन्हें मृत्युदंड प्रदान किया गया। हालाँकि गांधी के पुत्र, मणिलाल गांधी और रामदास गांधी द्वारा विनिमय की दलीलें पेश की गई थीं, परंतु उन दलीलों को तत्कालीन प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू, महाराज्यपाल चक्रवर्ती राजगोपालाचारी एवं उपप्रधानमंत्री वल्लभभाई पटेल, तीनों द्वारा ठुकरा दिया गया था। १५ नवम्बर १९४९ को गोडसे को अम्बाला जेल में फाँसी दे दी गई। .

नई!!: नई दिल्ली और नथुराम विनायक गोडसे · और देखें »

नदियों पर बसे भारतीय शहर

नदियों के तट पर बसे भारतीय शहरों की सूची श्रेणी:भारत के नगर.

नई!!: नई दिल्ली और नदियों पर बसे भारतीय शहर · और देखें »

नमस्ते सदा वत्सले

नमस्ते सदा वत्सले राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की प्रार्थना है। सम्पूर्ण प्रार्थना संस्कृत में है केवल इसकी अन्तिम पंक्ति (भारत माता की जय!) हिन्दी में है। इस प्रार्थना की रचना नरहरि नारायण भिड़े ने फरवरी १९३९ में की थी। इसे सर्वप्रथम २३ अप्रैल १९४० को पुणे के संघ शिक्षा वर्ग में गाया गया था। यादव राव जोशी ने इसे सुर प्रदान किया था। लड़कियों/स्त्रियों की शाखा राष्ट्र सेविका समिति और विदेशों में लगने वाली हिन्दू स्वयंसेवक संघ की प्रार्थना अलग है। संघ की शाखा या अन्य कार्यक्रमों में इस प्रार्थना को अनिवार्यतः गाया जाता है और ध्वज के सम्मुख नमन किया जाता है। .

नई!!: नई दिल्ली और नमस्ते सदा वत्सले · और देखें »

नयी दिल्ली गुवाहाटी राजधानी स्पेशल डाउन

नयी दिल्ली गुवाहाटी राजधानी स्पेशल (ट्रेन संख्या: 456) भारतीय रेल की एक राजधानी एक्स्प्रेस रेलगाड़ी है। यह नई दिल्ली (स्टेशन कोड: NDLS) से 02:00PM बजे छूटती है। यह ट्रेन गुवाहाटी (स्टेशन कोड: GHY) पर 08:15PM बजे पहुंचती है। यह ट्रेन रविवार, गुरुवार, के दिन चलती है। इसका कुल यात्रा का समय 30 घंटे 15 मिनट है। श्रेणी:राजधानी रेल.

नई!!: नई दिल्ली और नयी दिल्ली गुवाहाटी राजधानी स्पेशल डाउन · और देखें »

नयी दिल्ली गुवाहाटी राजधानी स्पेशल अप

नयी दिल्ली गुवाहाटी राजधानी स्पेशल (ट्रेन संख्या: 476) भारतीय रेल की एक राजधानी एक्स्प्रेस रेलगाड़ी है। यह नई दिल्ली (स्टेशन कोड: NDLS) से 09:30AM बजे छूटती है। यह ट्रेन गुवाहाटी (स्टेशन कोड: GHY) पर 08:15PM बजे पहुंचती है। यह ट्रेन मंगलवार, के दिन चलती है। इसका कुल यात्रा का समय 34 घंटे 45 मिनट है। श्रेणी:राजधानी रेल.

नई!!: नई दिल्ली और नयी दिल्ली गुवाहाटी राजधानी स्पेशल अप · और देखें »

नरेन्द्र मोदी

नरेन्द्र दामोदरदास मोदी (નરેંદ્ર દામોદરદાસ મોદી Narendra Damodardas Modi; जन्म: 17 सितम्बर 1950) भारत के वर्तमान प्रधानमन्त्री हैं। भारत के राष्‍ट्रपति प्रणव मुखर्जी ने उन्हें 26 मई 2014 को भारत के प्रधानमन्त्री पद की शपथ दिलायी। वे स्वतन्त्र भारत के 15वें प्रधानमन्त्री हैं तथा इस पद पर आसीन होने वाले स्वतंत्र भारत में जन्मे प्रथम व्यक्ति हैं। वडनगर के एक गुजराती परिवार में पैदा हुए, मोदी ने अपने बचपन में चाय बेचने में अपने पिता की मदद की, और बाद में अपना खुद का स्टाल चलाया। आठ साल की उम्र में वे आरएसएस से  जुड़े, जिसके साथ एक लंबे समय तक सम्बंधित रहे । स्नातक होने के बाद उन्होंने अपने घर छोड़ दिया। मोदी ने दो साल तक भारत भर में यात्रा की, और कई धार्मिक केंद्रों का दौरा किया। गुजरात लौटने के बाद और 1969 या 1970 में अहमदाबाद चले गए। 1971 में वह आरएसएस के लिए पूर्णकालिक कार्यकर्ता बन गए। 1975  में देश भर में आपातकाल की स्थिति के दौरान उन्हें कुछ समय के लिए छिपना पड़ा। 1985 में वे बीजेपी से जुड़े और 2001 तक पार्टी पदानुक्रम के भीतर कई पदों पर कार्य किया, जहाँ से वे धीरे धीरे वे सचिव के पद पर पहुंचे।   गुजरात भूकंप २००१, (भुज में भूकंप) के बाद गुजरात के तत्कालीन मुख्यमंत्री केशुभाई पटेल के असफल स्वास्थ्य और ख़राब सार्वजनिक छवि के कारण नरेंद्र मोदी को 2001 में गुजरात के मुख्यमंत्री नियुक्त किया गया। मोदी जल्द ही विधायी विधानसभा के लिए चुने गए। 2002 के गुजरात दंगों में उनके प्रशासन को कठोर माना गया है, की आलोचना भी हुई।  हालांकि सुप्रीम कोर्ट द्वारा नियुक्त विशेष जांच दल (एसआईटी) को अभियोजन पक्ष की कार्यवाही शुरू करने के लिए कोई है। मुख्यमंत्री के तौर पर उनकी नीतियों को आर्थिक विकास को प्रोत्साहित करने के लिए । उनके नेतृत्व में भारत की प्रमुख विपक्षी पार्टी भारतीय जनता पार्टी ने 2014 का लोकसभा चुनाव लड़ा और 282 सीटें जीतकर अभूतपूर्व सफलता प्राप्त की। एक सांसद के रूप में उन्होंने उत्तर प्रदेश की सांस्कृतिक नगरी वाराणसी एवं अपने गृहराज्य गुजरात के वडोदरा संसदीय क्षेत्र से चुनाव लड़ा और दोनों जगह से जीत दर्ज़ की। इससे पूर्व वे गुजरात राज्य के 14वें मुख्यमन्त्री रहे। उन्हें उनके काम के कारण गुजरात की जनता ने लगातार 4 बार (2001 से 2014 तक) मुख्यमन्त्री चुना। गुजरात विश्वविद्यालय से राजनीति विज्ञान में स्नातकोत्तर डिग्री प्राप्त नरेन्द्र मोदी विकास पुरुष के नाम से जाने जाते हैं और वर्तमान समय में देश के सबसे लोकप्रिय नेताओं में से हैं।। माइक्रो-ब्लॉगिंग साइट ट्विटर पर भी वे सबसे ज्यादा फॉलोअर वाले भारतीय नेता हैं। उन्हें 'नमो' नाम से भी जाना जाता है। टाइम पत्रिका ने मोदी को पर्सन ऑफ़ द ईयर 2013 के 42 उम्मीदवारों की सूची में शामिल किया है। अटल बिहारी वाजपेयी की तरह नरेन्द्र मोदी एक राजनेता और कवि हैं। वे गुजराती भाषा के अलावा हिन्दी में भी देशप्रेम से ओतप्रोत कविताएँ लिखते हैं। .

नई!!: नई दिल्ली और नरेन्द्र मोदी · और देखें »

नादानियाँ

नादानियाँ एक टीवी कार्यक्रम हैं। श्रेणी:बिग मैजिक चैनल के कार्यक्रम.

नई!!: नई दिल्ली और नादानियाँ · और देखें »

नानाजी देशमुख

नानाजी देशमुख (जन्म: ११ अक्टूबर १९१६, चंडिकादास अमृतराव देशमुख - मृत्यु: २७ फ़रवरी २०१०) एक भारतीय समाजसेवी थे। वे पूर्व में भारतीय जनसंघ के नेता थे। १९७७ में जब जनता पार्टी की सरकार बनी, तो उन्हें मोरारजी-मन्त्रिमण्डल में शामिल किया गया परन्तु उन्होंने यह कहकर कि ६० वर्ष से अधिक आयु के लोग सरकार से बाहर रहकर समाज सेवा का कार्य करें, मन्त्री-पद ठुकरा दिया। वे जीवन पर्यन्त दीनदयाल शोध संस्थान के अन्तर्गत चलने वाले विविध प्रकल्पों के विस्तार हेतु कार्य करते रहे। अटल बिहारी वाजपेयी सरकार ने उन्हें राज्यसभा का सदस्य मनोनीत किया। अटलजी के कार्यकाल में ही भारत सरकार ने उन्हें शिक्षा, स्वास्थ्य व ग्रामीण स्वालम्बन के क्षेत्र में अनुकरणीय योगदान के लिये पद्म विभूषण भी प्रदान किया। .

नई!!: नई दिल्ली और नानाजी देशमुख · और देखें »

नाभिकीय चिकित्सा

सामान्य पूर्ण शरीर स्कैन, कैंसरhttp://navbharattimes.indiatimes.com/articleshow/2641976.cms कैंसर के खिलाफ जंग में नई मशीन कारगर।हिन्दी चिह्न।नवभारत टाइम्स।२१ दिसंबर, २००७।लखनऊ आदि में उपयोगी नाभिकीय चिकित्सा (अंग्रेज़ी:न्यूक्लियर मेडिसिन) एक प्रकार की चिकित्सकीय जाँच तकनीक होती है। इसमें रोग चाहे आरंभिक अवस्था में हों या गंभीर अवस्था में, उनकी गहन जाँच और उपचार संभव है।। याहू जागरण।१४ मई, २००८ कोशिका की संरचना और जैविक रचना में हो रहे परिवर्तनों पर आधारित इस तकनीक से चिकित्सा की जाती है। इस पद्धति को न्यूक्लियर मेडिसिन भी कहा जाता है। वर्तमान प्रचलित चिकित्सा पद्धति में रोगों का मात्र अंदाजा या अनुमान ही लगाते हैं और उपचार करते हैं, जबकि नाभिकीय चिकित्सा में न केवल रोग को बहुत आरंभिक अवस्था में पकड़ा जाता है, वरन यह प्रभावशाली ईलाज और दवाइयों के बारे में भी स्पष्टता से बहुत कुछ बता पाने में सक्षम है। इससे किसी भी बीमारी की विस्तृत जानकारी, उसके प्रभाव और उसके उपचार निपटने के प्रभावशाली उपायों आदि के बारे में पता चलता है। इतना ही नहीं, इससे बीमारी के आगे बढ़ने के बारे में यानी भविष्य में इसके फैलने की गति, दिशा और तरीके का भी ज्ञान हो जाता है।।। हिन्दी मिलाप।६ अप्रैल, २००८ यह तकनीक सुरक्षित, कम खर्चीली और दर्द रहित चिकित्सा तकनीक है।।। याहू जागरण।१२ मार्च, २००८। डॉ॰मुकेश जैन:डी.एन.बी, न्यूक्लियर मेडिसिन) सामान्यतः किसी प्रकार का रोग होने के बाद ही सी. टी. स्कैन, एम.आर.आई और एक्स-रे आदि से परीक्षण करने से प्रभावित अंगो की स्थिति का पता चल पाता है। इस पद्धति में रोगी को एक रेडियोधर्मी समस्थानिक को दवाई के रूप में इंजेक्शन के रास्ते शरीर में दिया जाता है। फिर उसके रास्ते को स्कैनिंग के जरिये देख्कर पता लगाय़ा जाता है, कि शरीर के किस भाग में कौन सा रोग हो रहा है। इसके साथ ही इनकी स्कैनिंग के कुछ दुष्प्रभाव (साइड इफैक्ट) की भी संभावना होती है। हाइपरथायरॉएडिज़्म आकलन हेतु आयोडीन-१२३ स्कैन नाभिकीय चिकित्सा में रोगी के शरीर में इंजेक्शन द्वारा बहुत ही कम मात्रा में रेडियोधर्मी तत्व प्रविष्ट करा दिये जाते हैं, जिसे शरीर में संक्रमित या प्रभावित कोशिका इसे अवशोषित कर लेती है। इससे होने वाले विकिरण को एक विशेष प्रकार के गामा कैमरे में उतार कर रोग की सटीक और विस्तृत जाँच की जाती है। न्यूक्लियर मेडिसिन स्कैनिंग से मिले अलग फिल्म में प्रभावित अंग की विस्तृत जानकारी मिलती है। नाभिकीय चिकित्सा तकनीक में रेडियो धर्मी तत्व का प्रयोग इतनी कम मात्र में किया जाता है कि इससे होने वाले विकिरण का प्रभाव कोशिकाओं पर नहीं पड़ता है। नाभिकीय चिकित्सा द्वारा कैंसर।। छत्तीसगढ़ न्यूज़।, हृदय, मस्तिष्क, फेफड़ा, थायरॉइड अपटेक स्कैन और बोन स्कैन किए जाते हैं। इसके अलावा अन्य रोगों का ईलाज भी नाभिकीय चिकित्सा द्वारा किया जाता है। अवटु ग्रंथि में आई खराबी और हड्डी में लगातार हो रहे दर्द का इलाज इसी तकनीक से होता है। .

नई!!: नई दिल्ली और नाभिकीय चिकित्सा · और देखें »

नाभिकीय कमान प्राधिकरण (भारत)

भारत की नाभिकीय कमान प्राधिकरण (Nuclear Command Authority (NCA)) भारत के परमाणु हथियारों के कमान, नियंत्रण एवं संचालन से सम्बन्धित निर्णयों के लिये निर्मित प्राधिकरण है। .

नई!!: नई दिल्ली और नाभिकीय कमान प्राधिकरण (भारत) · और देखें »

नारद पुराण

नारद पुराण या 'नारदीय पुराण' अट्ठारह महुराणों में से एक पुराण है। यह स्वयं महर्षि नारद के मुख से कहा गया एक वैष्णव पुराण है। महर्षि व्यास द्वारा लिपिबद्ध किए गए १८ पुराणों में से एक है। नारदपुराण में शिक्षा, कल्प, व्याकरण, ज्योतिष, और छन्द-शास्त्रोंका विशद वर्णन तथा भगवान की उपासना का विस्तृत वर्णन है। यह पुराण इस दृष्टि से काफी महत्त्वपूर्ण है कि इसमें अठारह पुराणों की अनुक्रमणिका दी गई है। इस पुराण के विषय में कहा जाता है कि इसका श्रवण करने से पापी व्यक्ति भी पापमुक्त हो जाते हैं। पापियों का उल्लेख करते हुए कहा गया है कि जो व्यक्ति ब्रह्महत्या का दोषी है, मदिरापान करता है, मांस भक्षण करता है, वेश्यागमन करता हे, तामसिक भोजन खाता है तथा चोरी करता है; वह पापी है। इस पुराण का प्रतिपाद्य विषय विष्णुभक्ति है। .

नई!!: नई दिल्ली और नारद पुराण · और देखें »

नागर विमानन महानिदेशालय (भारत)

नागर विमानन महानिदेशलय (डी.जी.सी.ए) भारत सरकार की नागर विमानन मंत्रालय के अधीनस्थ नागर विमानन की एक नियामक संस्था है। यह निदेशालय विमानन दुर्घटनाओं तथा अन्य संबंधित घटनाओं के बारे में जाँच करता है। इसका मुख्यालय सफ़दरजंग विमानक्षेत्र, नई दिल्ली में स्थित है। .

नई!!: नई दिल्ली और नागर विमानन महानिदेशालय (भारत) · और देखें »

नागरी लिपि परिषद्

नागरी लिपि परिषद् नई दिल्ली में स्थित एक नागरी लिपि के प्रचार और उपयोगिता को लोगों को बताने के लिए बनी एक परिषद है। जिसकी स्थापना वर्ष १९७५ में की गई थी। .

नई!!: नई दिल्ली और नागरी लिपि परिषद् · और देखें »

निरन्तर (अशासकीय संस्था)

निरन्तर एक अशासकीय संस्था है। यह शिक्षा के द्वारा महिलाओं के सशक्तीकरण की दिशा में कार्य करती है। यह संस्था सीधे हस्तक्षेप द्वारा काम करती है; शैक्षिक सामग्री तैयार करती है; अनुसंधान करती है व प्रशिणण देती है। इसके प्रयत्नों से निकलने वाले खबर लहरिया नामक आंचलिक समाचार पत्र को सन् २००९ का यूनेस्को सक्षरता पुरस्कार के लिये चुना गया है। इसकी स्थापना सन् १९९३ में हुई। इसके कार्यालय नयी दिल्ली के अलावा उत्तर प्रदेश के तीन जिलों में हैं। .

नई!!: नई दिल्ली और निरन्तर (अशासकीय संस्था) · और देखें »

निरुपमा राव

निरुपमा मेनन राव (जन्म 6 दिसम्बर 1950) भारतीय विदेश सेवा (आईएफएस) की एक अधिकारी हैं, जिन्होने 31 जुलाई 2009 से 31 जुलाई 2011 तक विदेश मंत्रालय में भारतीय विदेश सचिव के रूप में कार्य कर चुकी हैं। भारतीय विदेश सेवा का इस सर्वोच्च पद पर पहुँचने वाली चोकिला अय्यर के बाद वे दूसरी महिला हैं। वे 1 अगस्त 2011 से 5 नवम्बर 2013 तक संयुक्त राज्य अमेरिका में भारत की राजदूत रह चुकी हैं। अपने करियर में वे कई पदों पर कार्य कर चुकी हैं जिनमे शामिल हैं - वॉशिंगटन में प्रेस मामलों की मंत्री, मास्को में मिशन की उप प्रमुख, विदेश मंत्रालय में संयुक्त सचिव (पूर्व एशिया), (बाहरी प्रचार) जिसने उन्हें विदेश मंत्रालय की पहली महिला प्रवक्ता बनाया, कार्मिक प्रमुख, पेरू और चीन की राजदूत और श्रीलंका की उच्चायुक्त.

नई!!: नई दिल्ली और निरुपमा राव · और देखें »

निर्भया

निर्भया (अंग्रेजी:Nirbhaya) दिल्ली में 16 दिसम्बर 2012 के बहुचर्चित बलात्कार और हत्या की आपराधिक घटना की पीड़िता को समाज व मीडिया द्वारा दिया गया नाम है। भारतीय कानून व मानवीय सद्भावना के अनुसार एसे मामले में पीड़ित की पहचान को उजागर नहीं किया जाता। कोई नाम ना होने का ही शायद यह असर था कि भारत भर की जनता ने बिना किसी धर्म, जाति-पाति के चश्मों से देखने की बजाय निर्भया को सव्यं से जुड़ा हुआ महसूस किया और भारतीय नारी के सम्मान मात्र की रक्षा के लिए एक अभूतपूर्व आंदोलन खड़ा कर दिया। मीडिया ने पूरे जोर शोर से जनता की वकालत की और सरकार को कटघरे में खड़ा किया। सरकार को भी अपनी जिम्मेवारी का अहसास हुआ और उसने व्यवस्था में परिवर्तन का संकल्प लिया। निर्भया ने साहस के साथ जिदंगी की जंग लड़ी और हमेशा के लिए सोने से पहले सबको जगा कर चली गई। इस घटना के बाद जब देश जगा तो सिस्टम को भी बदलना पड़ा। .

नई!!: नई दिल्ली और निर्भया · और देखें »

निर्मल चंद्र विज

जनरल निर्मल चंद्र विज पीवीएसएम, यूवाईएसएम, एवीएसएम (जन्म ३ जनवरी १९४३, जम्मू) भारतीय सेना के 21 वें सेना प्रमुख थे। वे १ जनवरी २००३ से ३१ जनवरी २००५ तक सेनाध्यक्ष रहे । .

नई!!: नई दिल्ली और निर्मल चंद्र विज · और देखें »

निर्मला देशपांडे

निर्मला देशपांडे (१९ अक्टूबर १९२९ - १ मई २००८) गांधीवादी विचारधारा से जुड़ी हुईं प्रसिद्ध सामाजिक कार्यकर्ता थीं। उन्होंने अपना जीवन साम्प्रदायिक सौहार्द को बढ़ावा देने के साथ-साथ महिलाओं, आदिवासियों और अवसर से वंचित लोगों की सेवा में अर्पण कर दिया। उन्हें पद्म विभूषण से सम्मानित किया गया। निर्मला का जन्म नागपुर में विमला और पुरुषोत्तम यशवंत देशपांडे के घर १९ अक्टूबर १९२९ को हुआ था। इनके पिता को मराठी साहित्य (अनामिकाची चिंतनिका) में उत्कृष्ट काम के लिए 1962 में साहित्य अकादमी पुरस्कार प्रदान किया गया था। .

नई!!: नई दिल्ली और निर्मला देशपांडे · और देखें »

निर्मला सीतारमन

निर्मला सीतारमन (Nirmala Seetharaman, நிர்மலா சீதாராமன்.) भारत की रक्षामंत्री हैं। सितंबर २०१७ में रक्षा मंत्री बनने से पहले वे भारत की वाणिज्य और उद्योग (स्वतंत्र प्रभार) तथा वित्त व कारपोरेट मामलों की राज्य मंत्री रह चुकी हैं। वे भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) से संबद्ध हैं तथा पार्टी की राष्ट्रीय प्रवक्ता भी रह चुकी हैं। निर्मला सीतारमन भारत की पहली पूर्णकालिक महिला रक्षा मंत्री हैं; हालांकि इंदिरा गांधी ने प्रधानमंत्री पद पर रहते हुए अतिरिक्त कार्यभार के रूप में यह मंत्रालय संभाला था। .

नई!!: नई दिल्ली और निर्मला सीतारमन · और देखें »

निविया स्पोर्ट्स

निवीया स्पोर्ट्स, फ्री विल स्पोर्ट्स प्राइवेट लिमिटेड के बैनर के तहत जालंधर, पंजाब में स्थित एक भारतीय खेल उपकरण निर्माता है।  यह फर्म फुटबॉल, क्रिकेट, हॉकी, बैडमिंटन, बास्केटबॉल, टेनिस आदि खेल के लिए जूते, परिधान, उपकरण और सामान बनाती है। यह भारत में कई राष्ट्रीय खेल आयोजनों के लिए भागीदारी की है।.

नई!!: नई दिल्ली और निविया स्पोर्ट्स · और देखें »

निक्षेप बीमा और प्रत्यय गारंटी निगम

निक्षेप बीमा और प्रत्यय गारंटी निगम (निबीप्रगानि / Deposit Insurance and Credit Guarantee Corporation) भारत का एक सार्वजनिक प्राधिकरण है। यह भारतीय रिज़र्व बैंक की सम्पूर्ण स्वामित्व वाला सहयोगी संगठन है। यह परिसमापनाधीन बीमाकृत बैंकों के जमाकर्तांओं के दावों के निपटान से संबंधित कार्यपध्दति में अतिरिक्त आशोधन करता है। निगम का प्रधान कार्याल मुंबई में है। एक कार्यपालक निदेशक/मुख्य महाप्रबंधक इसके वरिष्ठ अधिकारियों के समग्र दैनंदिन कार्यों के लिए प्रभारी अधिकारी है। निगम की चार शाखाएं हैं - कोलकाता, चेन्नई, नागपुर और नई दिल्ली। इनमें से कोलकाता, चेन्नई और नागपुर स्थित शाखाएं 30 नवम्बर 2006 से बंद कर दी गयी है चूंकि लगभग सभी बैंकों ने ऋण गारंटी योजना से बाहर निकल गए और कई लंबित दावों का निपटान कर दिया गया। जबकि, इन तीनों शखाओं के प्रमुख कार्य मदों को निगम के मुख्य कार्यालय द्वारा किया जा रहा है कुछ अवशेष कार्य मद निबीप्रगानि के कक्ष के पास हैं जिन्हें विशेष रूप से भारत्यी रिज़र्व बैंक के ग्रामीण आयोजना और ऋण गारंटी निगम के संबंधित केंद्रों में स्थापित किया गया है। .

नई!!: नई दिल्ली और निक्षेप बीमा और प्रत्यय गारंटी निगम · और देखें »

नजमा हेपतुल्ला

डॉ॰ नजमा हेपतुल्ला (Najma Heptulla, نجمہ ہیپت اللہ) एक राजनीतिज्ञ, लेखिका और नरेन्द्र मोदी सरकार के अंतर्गत अल्पसंख्यक मामलों की मंत्री थी। वह फिलहाल मणिपुर राज्य की राज्यपाल है।वे मुंबई कांग्रेस कमेटी की महासचिव और उपाध्यक्ष रह चुकी हैं। वे 1985 से 1986 तथा 1988 से जुलाई 2007 तक भारतीय लोकतंत्र की उपरी प्रतिनिधि सभा राज्यसभा की पूर्व उपसभापति रही हैं। 1980 से राज्यसभा की सदस्य हैं। और अभी उनका दिल्ली के जमियामालिया युनिव्हर्सिटी मी कुलगुरू किया हैं। .

नई!!: नई दिल्ली और नजमा हेपतुल्ला · और देखें »

नई दिल्ली नगरपालिका परिषद

नई दिल्ली नगरपालिका परिषद (एन डी एम सी) भारत की राजधानी नई दिल्ली की नगरपालिका परिषद का नाम है। इसके अधीन आने वाला कार्यक्षेत्र एन डी एम सी क्षेत्र कहलाता है। नई दिल्ली, दिल्ली शहर के बीचोंबीच स्थित है। .

नई!!: नई दिल्ली और नई दिल्ली नगरपालिका परिषद · और देखें »

नई दिल्ली रेलवे स्टेशन

यह नई दिल्ली शहर का मुख्य रेलवे स्टेशन है। यह दिल्ली मेट्रो रेल की येलो लाइन शाखा का एक स्टेशन भी है। यह अजमेरी गेट की तरफ है। यहां दिल्ली की परिक्रमा सेवा का भी हॉल्ट होता है। नई दिल्ली रेलवे स्टेशन की गगनरेखा मुंबई जाती अगस्त क्रांति राजधानी एक्स्प्रेस .

नई!!: नई दिल्ली और नई दिल्ली रेलवे स्टेशन · और देखें »

नई दिल्ली आदि राजधानी स्पेशल अप

न्यू दिल्ली आदि राजधानी स्पेशल (ट्रेन संख्या: 915) भारतीय रेल की एक राजधानी एक्स्प्रेस रेलगाड़ी है। यह अहमदाबाद जंक्शन (स्टेशन कोड: ADI) से 05:25PM बजे छूटती है। यह ट्रेन नई दिल्ली (स्टेशन कोड: NDLS) पर 07:25AM बजे पहुंचती है। यह ट्रेन सोमवार, के दिन चलती है। इसका कुल यात्रा का समय 14 घंटे 0 मिनट है। श्रेणी:राजधानी रेल.

नई!!: नई दिल्ली और नई दिल्ली आदि राजधानी स्पेशल अप · और देखें »

नई दिल्ली काली बाड़ी मंदिर

काली बाड़ी मंदिर दिल्ली के बिड़ला मंदिर के निकट स्थित एक हिन्दू बंगाली समुदाय का मन्दिर है। यह छोटा-सा मंदिर काली मां को समर्पित है। नवरात्रि के दौरान यहां भव्य समारोह आयोजित किया जाता है। काली मां को देवी दुर्गा का ही रौद्र रूप माना जाता है। इस मंदिर में देवी को शराब का चढ़ावा चढ़ाया जाता है। काली बाड़ी मंदिर दिखने में छोटा और साधारण अवश्य है लेकिन इसकी मान्यता बहुत अधिक है। मंदिर के अंदर ही एक विशाल पीपल का पेड़ है। भक्तगण इस पेड को पवित्र मानते हैं और इस पर लाल धागा बांध कर मनोकामनाएं पूर्ण होने की कामना करते हैं। मंदिर में देवी काली की मूर्ति कोलकाता के बड़े प्रधान कालीघाट काली मंदिर की प्रतिमा से मिलती जुलती बनाई गई है। मंदिर की समिति को १९३५ में सुभाष चंद्र बोस ने औपचारिक रूप दिया था, और प्रथम मंदिर भवन का उद्घाटन सर जस्टिस मनमाथा नाथ मुखर्जी के कर-कमलों से हुआ था। इसके बाद समिति ने आगंतुकों के लिए एक अन्य इमारत की स्थापना भी की। बंगाली पर्यटकों को यहां रहने के लिए कमरे व छात्रावास की सुविधा भी उपलब्ध है। यहां एक पुराना और समृद्ध पुस्तकालय भी है।- द डिवाइन इण्डिया। १८ सितम्बर, २०१७।अभिगमन तिथि- २८ सितम्बर २०१७ .

नई!!: नई दिल्ली और नई दिल्ली काली बाड़ी मंदिर · और देखें »

नई विमान यातायात सेवा इमारत, नई दिल्ली

नई विमान यातायात सेवा इमारत इन्दिरा गाँधी अन्तर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा, नई दिल्ली के विमान यातायात सेवाओं के संचालन हेतु बनाई गई है। ये इमारत भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण द्वारा प्रयोग एवं अनुरक्षित की जाती है। यह एक पांच मंजिला इमारत है, जिसके पीछे काफी ऊंचा टॉवर है। चित्र:NATS building, new delhi.jpg|विमान यातायात सेवा इमारत चित्र:NATS building-side, new delhi.jpg|विमान यातायात सेवा इमारत श्रेणी:विमानन श्रेणी:भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण.

नई!!: नई दिल्ली और नई विमान यातायात सेवा इमारत, नई दिल्ली · और देखें »

नवदीप सिंह सूरी

नवदीप सिंह सूरी एक भारतीय विदेश सेवा के अधिकारी और भारतीय राजनयिक हैं। वे वर्तमान में ऑस्ट्रेलिया में भारत के उच्चायुक्त के रूप में सेवारत है। 17 अक्टूबर, 2016 को विदेश मंत्रालय द्वारा जारी विज्ञप्ति के अनुसार उन्हें संयुक्त अरब अमीरात (UAE) में भारत का अगला राजदूत नियुक्त किया गया। वे वर्ष 1983 बैच के आईएफएस अधिकारी हैं। .

नई!!: नई दिल्ली और नवदीप सिंह सूरी · और देखें »

नवीन चावला

नवीन चावला (जन्म: ३० जुलाई, १९४५) भारत के चुनाव आयुक्त थे। इनका कार्यकाल ३० जुलाई २०१० को पूर्ण हुआ। इनका जन्म नई दिल्ली मे हुआ। .

नई!!: नई दिल्ली और नवीन चावला · और देखें »

न्यू डेवलपमेंट बैंक

न्यू डेवलपमेंट बैंक जिसे पहले ब्रिक्स बैंक के अनौपचारिक नाम से भी जाना जाता था ब्रिक्स समूह के देशों द्वारा स्थापित किए गए एक नए विकास बैंक का आधिकारिक नाम है। 2014 के ब्रिक्स सम्मेलन में 100 अरब डॉलर की शुरुआती अधिकृत पूंजी के साथ नए विकास बैंक की स्थापना का निर्णय किया गया। माना जा रहा है कि इस बैंक और फंड को पश्चिमी देशों के वर्चस्व वाले विश्व बैंक और आईएमएफ जैसी संस्थाओं के टक्कर में खड़ा किया जा रहा है। बैंक पांच उभरते बाजारों के बीच अधिक से अधिक वित्तीय और विकास सहयोग को बढ़ावा के लिए बनाया गया है। साथ में, 2014 की गणनानुसार चार मूल ब्रिक देशों में 3 अरब लोग या दुनिया की आबादी का 41.4 प्रतिशत शामिल है, तीन महाद्वीपों में दुनिया की भूमि क्षेत्र के एक चौथाई से अधिक को घेरते हैं, और वैश्विक सकल घरेलू उत्पाद का 25 प्रतिशत से अधिक के लिए उत्तरदायी हैं। बैंक का मुख्यालय शंघाई, चीन में है। विश्व बैंक के विपरीत जिसमे पूंजी शेयर के आधार पर वोट प्रदान करता है ब्रिक्स बैंक में प्रत्येक भागीदार देश को एक वोट आवंटित किया जाएगा, और भागीदार देशों में से किसी के पास वीटो का अधिकार नहीं होगा। .

नई!!: नई दिल्ली और न्यू डेवलपमेंट बैंक · और देखें »

न्यू दिल्ली राजधानी स्पेशल डाउन

नई दिल्ली आदि राजधानी स्पेशल (ट्रेन संख्या: 916) भारतीय रेल की एक राजधानी एक्स्प्रेस रेलगाड़ी है। यह नई दिल्ली (स्टेशन कोड: NDLS) से 07:55PM बजे छूटती है। यह ट्रेन अहमदाबाद जंक्शन (स्टेशन कोड: ADI) पर 10:05AM बजे पहुंचती है। यह ट्रेन मंगलवार, के दिन चलती है। इसका कुल यात्रा का समय 14 घंटे 10 मिनट है। श्रेणी:राजधानी रेल.

नई!!: नई दिल्ली और न्यू दिल्ली राजधानी स्पेशल डाउन · और देखें »

न्यूज़ २४ (इंडिया)

न्यूज़ २४ (इंडिया) एक हिन्दी टी वी चैनल है। यह एक समाचार चैनल है। न्यूज 24 24 घंटे हिंदी समाचार टीवी B.A.G. के स्वामित्व वाले चैनल है फिल्म्स एंड मीडिया लिमिटेड सुश्री अनुराधा प्रसाद न्यूज 24 से प्रचारित बीएजी नेटवर्क है, जो उत्पादन में विविध हितों के साथ एक मीडिया समूह, टेलीविजन प्रसारण, एफएम रेडियो, न्यू मीडिया वेंचर्स और शिक्षा का हिस्सा है .

नई!!: नई दिल्ली और न्यूज़ २४ (इंडिया) · और देखें »

नैरोबी के शॉपिंग मॉल में गोलाबारी

नैरोबी के शॉपिंग मॉल में गोलाबारी वो आतंकवादी घटना है जिसमें कीनिया की राजधानी नैरोबी के वैस्टगेट शॉपिंग मॉल में 21 सितम्बर 2013 की दोपहर (स्थानीय समय अनुसार) को कम से कम 59 लोगों को इस्लामिक आतंकवादियों ने गोलीबारी द्वारा मार दिया था। .

नई!!: नई दिल्ली और नैरोबी के शॉपिंग मॉल में गोलाबारी · और देखें »

नूर अंतर्राष्ट्रीय माइक्रोफिल्म केन्द्र

नूर अंतर्राष्ट्रीय माइक्रोफिल्म केन्द्र, इस्लामिक गणराज्य ईरान नई दिल्ली, के कल्चर हाउस में स्थित है। नूर अंतर्राष्ट्रीय माइक्रोफिल्म केन्द्र पुरानी पाण्डुलिपि की मरम्मत, उनकी माइक्रोफिल्म व तस्वीर तैयार करना व मुद्रित पृष्ठों को प्रकाशित करना, जैसे कार्यो में लिप्त रहा है। मेहदी ख्वाजा पीरी द्वारा किये गए प्रयासों के परिणाम स्वरूप 1985 में इस सेंटर को स्थापित किया गया था। केन्द्र की शैक्षिक व सांस्कृतिक गतिविधियों की शुरुआत अल्लामा क़ाज़ी नूरुल्लाह शुस्तरी की पुण्यतिथि (बरसी) के साथ हुई। वह अपने समय के विधिवेत्ता होने के साथ-साथ एक विद्वान, मोहद्दिस, धर्मशास्त्री, कवि व साहित्यिक व्यक्ति भी थे। उन्हें शहीद-ए-सालिस से भी जाना जाता है। इस महान व्यक्ति की याद में नूर अंतर्राष्ट्रीय माइक्रोफिल्म केन्द्र का नाम रखा गया। .

नई!!: नई दिल्ली और नूर अंतर्राष्ट्रीय माइक्रोफिल्म केन्द्र · और देखें »

नेट4

नेट4 एक भारतीय कंपनी है, जो 29 नवम्बर 1985 में नई दिल्ली में बनी थी। .

नई!!: नई दिल्ली और नेट4 · और देखें »

नेहरु स्मारक संग्रहालय एवं पुस्तकालय

तीन मूर्ति भवन नेहरु स्मारक संग्रहालय एवं पुस्तकालय (Nehru Memorial Museum & Library (NMML)) नयी दिल्ली स्थित एक संग्रहालय एवं पुस्तकालय है। इसका लक्ष्य भारत के स्वतंत्रता संग्राम संजोना तथा उसका पुनर्निर्माण अकरना है। यह तीन मूर्ति भवन के प्रांगण में स्थित है। इसकी स्थापना १९६४ में जवाहरलाल नेहरू के देहान्त के उपरान्त किया गया। यह भारत सरकार के संस्कृति मंत्रालय के अन्तर्गत एक स्वायत्त संस्था है। मूलतः यह भारत के प्रथम प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरु का सरकारी आवास था। इसके चार स्कन्ध हैं- स्मारक संग्रहालय, आधुनिक भारत से संबंधित पुस्तकालय, समसामयिक अध्ययन केन्द्र और नेहरु तारामण्डल। .

नई!!: नई दिल्ली और नेहरु स्मारक संग्रहालय एवं पुस्तकालय · और देखें »

नेहरू कप अंतरराष्ट्रीय फ़ुटबॉल प्रतियोगिता

नेहरू कप अंतरराष्ट्रीय फ़ुटबॉल प्रतियोगिता अखिल भारतीय फ़ुटबॉल महासंघ द्वारा आयोजित फ़ुटबॉल प्रतियोगिता हैं। इसका आयोजन 1982 में शुरू किया गया था, मगर 1998 से 2007 तक इसका आयोजन रोक दिया गया था। .

नई!!: नई दिल्ली और नेहरू कप अंतरराष्ट्रीय फ़ुटबॉल प्रतियोगिता · और देखें »

नेहरू–गांधी परिवार

नेहरू परिवार का सन् 1927 का चित्र खड़े हुए (बायें से दायें) जवाहरलाल नेहरू, विजयलक्ष्मी पण्डित, कृष्णा हठीसिंह, इंदिरा गांधी और रंजीत पण्डित; बैठे हुए: स्वरूप रानी, मोतीलाल नेहरू और कमला नेहरू नेहरू–गांधी परिवार भारत का एक प्रमुख राजनीतिक परिवार है, जिसका देश की स्वतन्त्रता के बाद भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस पर करीब-करीब वर्चस्व रहा है। नेहरू परिवार के साथ गान्धी नाम फिरोज गान्धी से लिया गया है, जो इन्दिरा गान्धी के पति थे। गान्धी नेहरू परिवार में गान्धी शब्द महात्मा गान्धी से जुड़ा हुआ नहीं है। इस परिवार के तीन सदस्य - पण्डित जवाहर लाल नेहरू, इंन्दिरा गान्धी और राजीव गान्धी देश के प्रधानमन्त्री रह चुके थे, जिनमें से दो - इन्दिरा गान्धी और राजीव गान्धी की हत्या कर दी गयी। नेहरू–गांधी परिवार के चौथे सदस्य राजीव गान्धी के पुत्र राहुल गान्धी कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष हैं। राहुल गान्धी ने 2004 और 2009 में लोकसभा चुनाव जीता। राजीव गान्धी के छोटे भाई संजय गांधी की विधवा पत्नी मेनका गान्धी व उनके पुत्र वरुण गांधी को परिवार की सम्पत्ति में कोई हिस्सा न मिलने के कारण वे माँ-बेटे भारतीय जनता पार्टी में चले गये जो देश का कांग्रेस के बाद एक प्रमुख राजनीतिक दल है। .

नई!!: नई दिल्ली और नेहरू–गांधी परिवार · और देखें »

नेहा शर्मा

नेहा शर्मा भारतीय सिनेमा की एक अभिनेत्री हैं। ये मूल रूप से बिहार की हैं | इन्होंने अपनी स्कूली शिक्षा माउंट कारमेल स्कूल, भागलपुर से पूर्ण की| और नेशनल इंस्टीटयूट ऑफ़ फैशन टेक्नोलॉजी, नई दिल्ली से फ़ैशन डिज़ाइन में शिक्षा प्राप्त की। .

नई!!: नई दिल्ली और नेहा शर्मा · और देखें »

नॉलेज ऐण्ड न्यूज नेटवर्क

नॉलेज ऐण्ड न्यूज नेटवर्क (Knowledge & News Network (KNN)) समुदायिक स्वामित्व वाली एक लाभ-निरपेक्ष (not-for-profit) वैकल्पिक मिडिया प्लेटफॉर्म है। इसके प्रवर्तक GIZ हैं .

नई!!: नई दिल्ली और नॉलेज ऐण्ड न्यूज नेटवर्क · और देखें »

नोआम चाम्सकी

एवरम नोम चोम्स्की (हीब्रू: אברם נועם חומסקי) (जन्म 7 दिसंबर, 1928) एक प्रमुख भाषावैज्ञानिक, दार्शनिक, by Zoltán Gendler Szabó, in Dictionary of Modern American Philosophers, 1860–1960, ed.

नई!!: नई दिल्ली और नोआम चाम्सकी · और देखें »

नीति आयोग

नीति आयोग (राष्‍ट्रीय भारत परिवर्तन संस्‍थान) भारत सरकार द्वारा गठित एक नया संस्‍थान है जिसे योजना आयोग के स्‍थान पर बनाया गया है। 1 जनवरी 2015 को इस नए संस्‍थान के संबंध में जानकारी देने वाला मंत्रिमंडल का प्रस्‍ताव जारी किया गया।http://pib.nic.in/newsite/hindirelease.aspx?relid.

नई!!: नई दिल्ली और नीति आयोग · और देखें »

नीरव मोदी

नीरव मोदी एक भारतीय व्यापारी है, जो २०१० में स्थापित 'नीरव मोदी ग्लोबल डायमंड जेवेलरी हाउस' का संस्थापक है। उसकी इस कंपनी का मुख्यालय मुंबई में है। नीरव मोदी 'क्रिस्टी' और 'सोथेबीस कैटलॉग' पत्रिकाओं के कवर पर प्रदर्शित होने वाला पहला भारतीय जोहरी हैं। पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) में $१.८ बिलियन के एक धोखाधड़ी मामले में फिलहाल उस पर जांच चल रही है।नीरव मोदी को भारत सरकार ने 11000 करोड रु फ़्रॉड केस में भगोड़ा घोषित किया है।सीबीआई ने अहमदनगर की फैक्ट्री जप्त करली है .

नई!!: नई दिल्ली और नीरव मोदी · और देखें »

नीलम धवन

नीलम धवन एक भारतीय महिला उद्यमी हैं। वे वर्तमान में आईटी कंपनी हेवलेट पैकार्ड इंडिया की प्रबंध निदेशक हैं। वे उसके पहले माइक्रोसॉफ्ट इंडिया की प्रबंध निदेशक रह चुकी हैं। एचसीएल और आईबीएम जैसी आईटी कंपनियों में भी उन्होने काम किया है। फॉर्चून पत्रिका ने उन्हें साल 2009 में दुनिया की 50 सबसे प्रभावशाली महिला उद्यमियों में शामिल किया था। नीलम नई दिल्ली के 'सेंट स्टीफेंस कॉलेज' से अर्थशास्त्र में स्नातक और फैकल्टी ऑफ मैनेजमेंट स्टडीज से एमबीए हैं। .

नई!!: नई दिल्ली और नीलम धवन · और देखें »

नीला गुम्बद, दिल्ली

नीला गुम्बद (उर्दु:نیلا گنبد) नई दिल्ली के दीनापनाह यानि पुराना किला के निकट निज़ामुद्दीन पूर्व क्षेत्र में मथुरा रोड के निकट स्थित एक ऐतिहासिक स्मारक है। एक मुगलकालीन इमारत है। गुलाम वंश के समय में यह भूमि किलोकरी किले में स्थित थी, जो कि नसीरुद्दीन (१२६८-१२८७) के पुत्र तत्कालीन सुल्तान केकूबाद की राजधानी हुआ करती थी। .

नई!!: नई दिल्ली और नीला गुम्बद, दिल्ली · और देखें »

नीलांचल एक्सप्रेस

नीलांचल एक्सप्रेस भारतीय रेलवे द्वारा संचालित एक प्रमुख रेलगाडी है जो पुरी से नयी दिल्ली तक चलती है। पूरी यात्रा तय करने में यह रेल लगभग ३६ घंटे का समय लेती है एवं अपनी यात्रा के दौरान तीन बरास्ता बोकारो तथा तीन दिन गया होकर चलती है। .

नई!!: नई दिल्ली और नीलांचल एक्सप्रेस · और देखें »

पटना राजधानी एक्स्प्रेस डाउन

पटना राजधानी एक्स्प्रेस (ट्रेन संख्या: 2310) भारतीय रेल की एक राजधानी एक्स्प्रेस रेलगाड़ी है। यह नई दिल्ली (स्टेशन कोड: NDLS) से 05:10PM बजे छूटती है। यह ट्रेन राजेंद्र नगर बिहार (स्टेशन कोड: RJPB) पर 06:00AM बजे पहुंचती है। यह ट्रेन रविवार, सोमवार, मंगलवार, बुधवार, गुरुवार, शुक्रवार, शनिवार, के दिन चलती है। इसका कुल यात्रा का समय 12 घंटे 50 मिनट है। श्रेणी:राजधानी रेल.

नई!!: नई दिल्ली और पटना राजधानी एक्स्प्रेस डाउन · और देखें »

पटना राजधानी एक्स्प्रेस अप

पटना राजधानी एक्स्प्रेस (ट्रेन संख्या: 2309) भारतीय रेल की एक राजधानी एक्स्प्रेस रेलगाड़ी है। यह राजेंद्र नगर बिहार (स्टेशन कोड: RJPB) से 07:00PM बजे छूटती है। यह ट्रेन नई दिल्ली (स्टेशन कोड: NDLS) पर 07:35AM बजे पहुंचती है। यह ट्रेन रविवार, सोमवार, मंगलवार, बुधवार, गुरुवार, शुक्रवार, शनिवार, के दिन चलती है। इसका कुल यात्रा का समय 12 घंटे 35 मिनट है। श्रेणी:राजधानी रेल.

नई!!: नई दिल्ली और पटना राजधानी एक्स्प्रेस अप · और देखें »

पटना जंक्शन रेलवे स्टेशन

पटना जंक्शन, स्टेशन कोड PNBE, भारतीय राज्य बिहार के पटना की राजधानी शहर का एक प्रमुख रेलवे स्टेशन है। यह कानपुर सेंट्रल, विजयवाडा जंक्शन, दिल्ली जंक्शन, नई दिल्ली, अम्बाला कैंट और हावड़ा के बाद ट्रेनों की आवृत्ति के मामले में भारत का सातवें सबसे व्यस्त रेलवे स्टेशन है। लगभग 173 रेलगाड़ियां स्टेशन के माध्यम से शुरू होती हैं, समाप्त होती हैं या पास होती हैं। शहर के केंद्र में स्थित, यह मुख्य रेलवे स्टेशन पटना में स्थित है। यह भारतीय रेलवे के पूर्व मध्य रेलवे क्षेत्र के दानापुर डिवीजन के अंतर्गत आता है। पटना जंक्शन रेलवे स्टेशन रेलवे नेटवर्क द्वारा भारत के अधिकांश प्रमुख शहरों से जुड़ा हुआ है। पटना नई दिल्ली और कोलकाता के बीच स्थित है जो भारत में सबसे व्यस्त रेल मार्गों में से एक है। पटना में दिल्ली और कोलकाता के लिए चलने वाली सभी ट्रेनों का ठहराव हैं, शहर एक प्रमुख रेलवे हब है और छह प्रमुख स्टेशन हैं: पटना जंक्शन, राजेंद्रनगर टर्मिनल, गुलजारबाग स्टेशन, दानापुर रेलवे स्टेशन,पाटलिपुत्र जंक्शन रेलवे स्टेशन और पटना साहिब स्टेशन। पटना अच्छी तरह से गया, जेहानाबाद, बिहारशरीफ, राजगीर, इस्लामपुर से दैनिक यात्री और एक्सप्रेस ट्रेन सेवाओं के माध्यम से जुड़ा हुआ है। वर्तमान में, भारतीय रेलवे ने पटना जंक्शन के आधुनिकीकरण के लिए निविदाएं जारी की हैं। .

नई!!: नई दिल्ली और पटना जंक्शन रेलवे स्टेशन · और देखें »

पथ के साथी

पथ के साथी महादेवी वर्मा द्वारा लिखे गए संस्मरणों का संग्रह हैं, जिसमे उन्होंने अपने समकालीन रचनाकारों का चित्रण किया है। जिस सम्मान और आत्मीयतापूर्ण ढंग से उन्होंने इन साहित्यकारों का जीवन-दर्शन और स्वभावगत महानता को स्थापित किया है वह अपने आप में बड़ी उपलब्धि है। 'पथ के साथी' में संस्मरण भी हैं और महादेवी द्वारा पढ़े गए कवियों के जीवन पृष्ठ भी। उन्होंने एक ओर साहित्यकारों की निकटता, आत्मीयता और प्रभाव का काव्यात्मक उल्लेख किया है और दूसरी ओर उनके समग्र जीवन दर्शन को परखने का प्रयत्न किया है। 'पथ के साथी' में निम्नलिखित 11 संस्मरणों का संग्रह किया गया है-.

नई!!: नई दिल्ली और पथ के साथी · और देखें »

पद्म सम्मान

विशिष्ट सेवा के लिए दिया हुआ प्र्धान पुरस्कारे पद्म सम्मान भारत सरकार द्वारा शासकीय सेवकों व अन्य भारतीयों को किसी भी क्षेत्र में असाधारण और विशिष्ट सेवा के लिए पद्म विभूषण, पद्म भूषण और पद्म श्री नामक पद्म सम्मान (पुरस्कार) प्रदान किए जाते हैं। पद्म पुरस्कारों की सिफारिशें राज्य सरकारों/संघ राज्य प्रशासनों, केन्द्रीय मंत्रालयों/विभागों, उत्कृष्टता संस्थानों आदि से प्राप्त की जाती हैं, जिन पर पुरस्कार समिति द्वारा विचार किया जाता है। पुरस्कार समिति की सिफारिश के आधार पर और प्रधानमंत्री, गृहमंत्री तथा राष्ट्रपति के अनुमोदन के बाद गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर इन पद्म सम्मानों की घोषणा की जाती है। परन्तु इस बार सामान्य नागरिकों को ये सम्मान देने की प्रक्रिया में कुछ बदलाव किया गया है। प्रकार: नागरिकश्रेणी: सामान्यस्थापना: 1954 |- | पद्म भूषण | चित्र: pb1.jpg | चित्र: pb2.jpg | प्रदाता: भारत सरकारप्रकार: नागरिकश्रेणी: सामान्यस्थापना: 1954 |- | पद्म श्री | चित्र: ps2n.jpg | चित्र: ps1n.jpg | प्रदाता: भारत सरकारप्रकार: नागरिकश्रेणी: सामान्यस्थापना: 1954 |- |--> .

नई!!: नई दिल्ली और पद्म सम्मान · और देखें »

पद्मा सचदेव

पद्मा सचदेव (जन्म: 17 अप्रैल 1940) एक भारतीय कवयित्री और उपन्यासकार हैं। वे डोगरी भाषा की पहली आधुनिक कवयित्री है।वे हिन्दी में भी लिखती हैं। उनके कतिपय कविता संग्रह प्रकाशित है, किन्तु "मेरी कविता मेरे गीत" के लिए उन्हें 1971 में साहित्य अकादमी पुरस्कार प्राप्त हुआ।उन्हें वर्ष 2001 में पद्म श्री और वर्ष 2007-08 में मध्य प्रदेश सरकार द्वारा कबीर सम्मान प्रदान किया गया। .

नई!!: नई दिल्ली और पद्मा सचदेव · और देखें »

परमाणु ऊर्जा विभाग (भारत)

भारत का परमाणु ऊर्जा विभाग (पऊवि) एक महत्वपूर्ण विभाग है जो सीधे प्रधानमंत्री के आधीन है। इसका मुख्यालय मुंबई में है। यह विभाग नाभिकीय विद्युत ऊर्जा की प्रौद्योगिकी के विकास, विकिरण प्रौद्योगिकी के विभिन्न क्षेत्रों (कृषि, चिकित्सा, उद्योग, मूलभूत अनुसन्धान आदि) में उपयोग तथा मूलभूत अनुसंधान में संलग्न है। इस विभाग के अन्तर्गत ५ अनुसन्धान केन्द्र, ३ औद्योगिक संगठन, ५ सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रम, तथा ३ सेवा संगठन हैं। इसके अलावा इसके अन्दर दो बोर्ड भी हैं जो नाभिकीय क्षेत्र एवं इससे सम्बन्धित क्षेत्रों में मूलभूत अनुसन्धान को प्रोत्साहित करते हैं एवं उसके लिए फण्ड प्रदान करते हैं। परमाणु ऊर्जा विभाग ८ संस्थानों को भी सहायता देता है जो अन्तरराष्ट्रीय स्तर पर सम्मानित हैं। परमाणु ऊर्जा विभाग (पऊवि) की स्थापना राष्ट्रपति के आदेश के माध्यम से दिनांक 3 अगस्त 1954 को की गई थी। .

नई!!: नई दिल्ली और परमाणु ऊर्जा विभाग (भारत) · और देखें »

परमेश्वर नारायण हक्सर

परमेश्वर नारायण हक्सर (1913–1998) स्वतंत्र भारत के राजनीतिक लोकतंत्र को प्राप्त करने की प्रक्रिया में एक रणनीतिकार थे। उनक महत्वपूर्ण कार्य इन्दिरा गांधी के राजनीतिक सलाहकार के रूप में था। वो केंद्रीकरण और समाजवाद के समर्थक थे। हक्सर ऑस्ट्रिया और नाइजीरिया में भारतीय राजनयिक थे जिन्होंने राजदूत के रूप में काम किया। .

नई!!: नई दिल्ली और परमेश्वर नारायण हक्सर · और देखें »

परमीत सेठी

परमीत सेठी हिन्दी फ़िल्मों के एक अभिनेता हैं। .

नई!!: नई दिल्ली और परमीत सेठी · और देखें »

परिकल्पना सम्मान

परिकल्पना सम्मान हिन्दी ब्लॉगिंग का एक ऐसा वृहद सम्मान है, जिसे बहुचर्चित तकनीकी ब्लॉगर रवि रतलामी ने हिन्दी ब्लॉगिंग का ऑस्कर कहा है। यह सम्मान प्रत्येक वर्ष आयोजित अंतर्राष्ट्रीय हिन्दी ब्लॉगर सम्मेलन में देशविदेश से आए हिन्दी के चिरपरिचित ब्लॉगर्स की उपस्थिति में प्रदान किया जाता है। .

नई!!: नई दिल्ली और परिकल्पना सम्मान · और देखें »

पाटलिपुत्र जंक्शन रेलवे स्टेशन

पाटलिपुत्र जंक्शन, स्टेशन कोड PPTA, बिहार के पटना के पश्चिम अंत में रुकानपुरा क्षेत्र में एक रेलवे स्टेशन है। स्टेशन, जो पूर्वमध्य रेलवे द्वारा संचालित है और दानापुर रेलवे डिवीजन द्वारा प्रबंधित है, पटना-सोनपुर-हाजीपुर खंड पर है। पटना जंक्शन के 12 किलोमीटर उत्तर-पश्चिम में स्थित, मुख्य रूप से शहर के अन्य दो रेलवे स्टेशनों पर दबाव कम करने के लिए विकसित किया गया है, जिसके माध्यम से लगभग 350 ट्रेनें रोजाना गुजरती हैं। यह बेली रोड के निकट स्थित है, पटना में एक महत्वपूर्ण पश्चिमी मार्ग। पटना नई दिल्ली और कोलकाता के बीच स्थित है, जो भारत में सबसे व्यस्त रेल मार्गों में से एक है। शहर एक प्रमुख रेलवे हब है और छह प्रमुख स्टेशन हैं: पाटलिपुत्र जंक्शन, पटना जंक्शन रेलवे स्टेशन, राजेंद्रनगर टर्मिनल, गुलजारबाग स्टेशन, दानापुर स्टेशन, और पटना साहिब स्टेशन। जनवरी 2016 में, भारत का सबसे लंबा सड़क-सह-रेल पुल का निर्माण, दीघा-सोनपुर रेल-सह-सड़क पुल, गंगा के तट पर पूरा हुआ और पटना से भरपुरा पहलेजा घाट (सोनपुर) तक पहुंच गया। यह पुल 4.55 किलोमीटर (2.83 मील) लंबा है और इसलिए, भारत में सबसे लंबा सड़क-सह-रेल पुल और साथ ही दुनिया में सबसे लंबे समय तक एक है। .

नई!!: नई दिल्ली और पाटलिपुत्र जंक्शन रेलवे स्टेशन · और देखें »

पाठक संख्या के अनुसार भारत में समाचार पत्रों की सूची

यह भारतीय पाठक सर्वेक्षण (आई॰आर॰एस॰) पर आधारित पाठक संख्या के अनुसार भारत में समाचार पत्रों की एक सूची है। .

नई!!: नई दिल्ली और पाठक संख्या के अनुसार भारत में समाचार पत्रों की सूची · और देखें »

पार्क होटल नई दिल्ली

होटल पार्क नई दिल्ली, शहर के सबसे प्रसिद्ध लग्ज़री 5 सितारा होटलों में से एक है। इस होटल का स्वामित्व एपीजे सुरेंद्र ग्रुप के पास हैं जिसका मुख्यालय कोलकाता मे हैं। इस समूह के अन्य होटल बैंगलोर, चेन्नई, हैदराबाद, कोलकाता, मुंबई, विशाखापट्टनम और गोवा में स्थित हैं। भारत की राजधानी नई दिल्ली में स्थित होने के चलते इस होटल का एक अपना अलग ही महत्व हैं। .

नई!!: नई दिल्ली और पार्क होटल नई दिल्ली · और देखें »

पालिका बाजार

पालिका बाजार नई दिल्ली का एक मुख्य व प्रसिद्ध बाजार है। यहाँ नई दिल्ली के मध्य में स्थित राजीव चौक या कनॉट प्लेस में स्थित है। यहाँ भूमिगत स्थित है। .

नई!!: नई दिल्ली और पालिका बाजार · और देखें »

पंजाब एण्ड सिंध बैंक

पंजाब एवं सिंध बैंक (Punjab & Sind Bank) उत्तर भारत का प्रमुख बैंक है। इसके लगभग ९०० शाखाओं में से ४०० पंजाब में हैं। इस बैंक का मुख्यालय नयी दिल्ली में है। वर्ष 1908 में जब भाई वीर सिंह, सर सुंदर सिंह मजीठिया तथा सरदार तिरलोचन सिंह जैसे दूरदर्शी तथा विद्वान व्यक्तियों के मन मे देश के गरीब से गरीब व्यक्ति का जीवन स्तर उठाने का विचार आया तब पंजाब एण्ड सिंध बैंक का जन्म जन्म हुआ। बैंक की स्थापना समाज के कमजोर वर्ग के लोगों के आर्थिक उत्थान द्वारा उनके जीवन स्तर को उंचा उठाने हेतु सामाजिक वचनबद्घता के सिद्धान्तों पर की गई। .

नई!!: नई दिल्ली और पंजाब एण्ड सिंध बैंक · और देखें »

पंजाब नैशनल बैंक

पंजाब नैशनल बैंक भारत का एक प्रमुख और पुराना बैंक है। यह एक अनुसूचित बैंक है। पंजाब नैशनल बैंक (पीएनबी) को १९ मई, १८९४ को भारतीय कंपनी अधिनियम के तहत अनारकली बाज़ार लाहौर में इसके कार्यालय के साथ पंजीकृत किया गया था। पंजाब नैशनल बैंक भारत का दूसरा सबसे बड़ा सरकारी वाणिज्यिक बैंक है और भारत के ७६४ शहरों में इसकी लगभग ४,५०० शाखायें हैं। इसके लगभग ३७ लाख ग्राहक हैं। बैंकर अल्मानेक लंदन के अनुसार यह बैंक दुनिया के सबसे बड़े बैंकों में २४८वें स्थान पर है। वित्तीय वर्ष २००७ में, बैंक की कुल आस्तियां ६० अरब अमेरिकी डॉलर थीं। पंजाब नैशनल बैंक का ब्रिटेन में एक बैंकिंग सहायक उपक्रम है, साथ ही हांगकांग और काबुल में शाखाएं और अल्माटी, शंघाई और दुबई में प्रतिनिधि कार्यालय है। .

नई!!: नई दिल्ली और पंजाब नैशनल बैंक · और देखें »

पंकज पचौरी

पंकज पचौरी (जन्म: २४ सितंबर १९६३) एक वरिष्ठ भारतीय टेलीविज़न पत्रकार एवं भारत के प्रधानमन्त्री के वर्तमान संचार सलाहकार है। पचौरी मुख्यतः एनडीटीवी के साथ जुड़े हुए है। इससे पहले वह ब्रिटिश ब्रॉडकास्टिंग कॉर्पोंरेशन और इंडिया टुडे जैसे अंतरराष्ट्रीय मीडिया घरानों एवं बर्कले स्थित कैलिफोर्निया विश्वविद्यालय के पत्रकारिता विभाग में भी अपनी सेवाएँ दे चुके हैं। .

नई!!: नई दिल्ली और पंकज पचौरी · और देखें »

पंकज भदौरिया

पंकज भदौरिया खाना बनाने के एक शो की विजेता है  जिसका नाम मास्टरशेफ इंडिया सीजन १ (२०१०) है। वह एक स्कूल में अध्यापिका थी जिन्होने अपने १६ वर्ष पुरानी नौकरी को मास्टरशेफ इंडिया के पहले सत्र में भाग लेने के लिए छोड़ दिया। उन्होंने टीवी शो जैसे 30em श्रेणी:1972 में जन्मे लोग श्रेणी:जीवित लोग श्रेणी:बावर्ची श्रेणी:पाककला श्रेणी:लखनऊ.

नई!!: नई दिल्ली और पंकज भदौरिया · और देखें »

पुराना किला, दिल्ली

पुराने किले, दिल्ली का बड़ा दरवाज़ा पुराना किला नई दिल्ली में यमुना नदी के किनारे स्थित प्राचीन दीना-पनाह नगर का आंतरिक किला है। इस किले का निर्माण शेर शाह सूरी ने अपने शासन काल में १५३८ से १५४५ के बीच करवाया था। किले के तीन बड़े द्वार हैं तथा इसकी विशाल दीवारें हैं। इसके अंदर एक मस्जिद है जिसमें दो तलीय अष्टभुजी स्तंभ है। हिन्दू साहित्य के अनुसार यह किला इंद्रप्रस्थ के स्थल‍ पर है जो पांडवों की विशाल राजधानी होती थी। जबकि इसका निर्माण अफ़गानी शासक शेर शाह सूरी ने १५३८ से १५४५ के बीच कराया गया, जिसने मुगल बादशाह हुमायूँ से दिल्ली का सिंहासन छीन लिया था। ऐसा कहा जाता है कि मुगल बादशाह हुमायूँ की इस किले के एक से नीचे गिरने के कारण दुर्घटनावश मृत्यु हो गई। .

नई!!: नई दिल्ली और पुराना किला, दिल्ली · और देखें »

पुरुषोत्तम एक्सप्रेस

पुरुषोत्तम एक्सप्रेस भारतीय रेलवे द्वारा संचालित एक प्रमुख रेलगाडी है जो पुरी से नयी दिल्ली तक चलती है। पूरी यात्रा तय करने में यह रेल लगभग ३२ घंटे का समय लेती है एवं अपनी यात्रा के दौरान गाजियाबाद, अलीगढ, कानपुर, गोमो, पुरुलिया, टाटानगर खरगपुर, बालासोर, भद्रक, एवं भुवनेश्वर स्टेशनों से होकर गुजरती है। .

नई!!: नई दिल्ली और पुरुषोत्तम एक्सप्रेस · और देखें »

पुलिस अनुसंधान एवं विकास ब्यूरो

पुलिस अनुसंधान एवं विकास ब्यूरो (अंग्रेज़ी:ब्यूरो ऑफ पुलिस रिसर्च एण्ड डवलपमेंट, लघु:बी.पी.आर एण्ड डी) की स्थापना पुलिस बलों के आधुनिकीकरण के बारे में भारत सरकार के उद्देश्य को पूरा करने के लिए २८ अगस्त, १९७० को की गई थी।- पुलिस अनुसंधान एवं विकास ब्यूरो अब यह बहुआयामी एवं परामर्शदाता संगठन है और इसके चार प्रभाग हैं। मूल रूप से संस्थान में दो प्रभाग होते थे: अनुसंधान एवं विकास प्रभाग। बाद में १९७३ में प्रशिक्षण प्रभाग जोड़ा गया। इसके बाद १९८३ में फॉरेन्ज़िक विज्ञान प्रभाग और १९९५ में दिष-सुधार प्रशासन प्रभाग जुड़े। इसके साथ साथ कुछ अन्य विभागों ने संस्थान के कुछ कार्य संभाले, जैसे १९७६ में अपराध विज्ञान एवं फॉरेन्ज़िक विज्ञान ने कुछ संबंधित कार्य संभाला। इस विभाग को बाद में लोक नायक जय प्रकाश नारायण राष्ट्रीय अपराध विज्ञान एवं फॉरेन्ज़िक विज्ञान नाम दिया गया। १९८६ में राष्ट्रीय अपराध अभिलेख ब्यूरो और २००२ में फॉरेन्ज़िक विज्ञान निदेशालय ने संभाला। .

नई!!: नई दिल्ली और पुलिस अनुसंधान एवं विकास ब्यूरो · और देखें »

पुष्प विहार, नई दिल्ली

पुष्प विहार भारत की राजधानी नई दिल्ली के दक्षिणी भाग में स्थित एक सरकारी आवासीय कालोनी है। इसके निकटवर्ती क्षेत्र हैं खानपुर, मदनगीर, शेख सराय और साकेत। यह मुख्यतः एक सरकारी कालोनी है और यहाँ अलग-अलग श्रेणी के मकान है जो केंद्रीय सरकार के कर्मचारियों को दिए जाते है। कमरों की संख्या की दृष्टि से इन मकानों को टाइप या श्रेणी १, श्रेणी २ और श्रेणी ३ में विभाजित किया गया है। पुष्प विहार ७ खंडों या सेक्टरों में बँटा है, हालांकि सेक्टर २ और ६ इसमें नहीं है। अन्य सेक्टर हैं सेक्टर १, ३, ४, ५ और ७। सेक्टर १ इनमें सबसे बड़ा है और सेक्टर ५ सबसे छोटा। सभी सेक्टर आपस में जुड़े हुए हैं। .

नई!!: नई दिल्ली और पुष्प विहार, नई दिल्ली · और देखें »

प्रणब मुखर्जी

प्रणव कुमार मुखर्जी (প্রণবকুমার মুখোপাধ্যায়, जन्म: 11 दिसम्बर 1935, पश्चिम बंगाल) भारत के तेरहवें वें व पूर्व राष्ट्रपति रह चुके हैं। वे भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के वरिष्ठ नेता रहे हैं। भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के नेतृत्व वाले संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन ने उन्हें अपना उम्मीदवार घोषित किया। सीधे मुकाबले में उन्होंने अपने प्रतिपक्षी प्रत्याशी पी.ए. संगमा को हराया। उन्होंने 25 जुलाई 2012 को भारत के तेरहवें राष्ट्रपति के रूप में पद और गोपनीयता की शपथ ली। प्रणब मुखर्जी ने किताब 'द कोलिएशन ईयर्स: 1996-2012' लिखा है। .

नई!!: नई दिल्ली और प्रणब मुखर्जी · और देखें »

प्रधानमन्त्री कार्यालय (भारत)

भारत के प्रधानमंत्री का कार्यालय (पी एम ओ) से आशय भारत के प्रधानमंत्री के सीधे नीचे आने वाले नजदीकी अधिकारियों और कर्मचारियों के समूह से है। प्रमुख सचिव इसके सर्वोच्च अधिकारी हैं। सम्प्रति नृपेन्द्र मिश्र प्रधान सचिव हैं। १९७७ तक 'प्रधानमंत्री कार्यालय' को 'प्रधानमन्त्री सचिवालय' कहा जाता था जिसे मोरारजी देसाई के प्रधानमंत्रित्वकाल में बदलकर 'प्रधानमन्त्री कार्यालय' कर दिया गया। प्रधानमन्त्री कार्यालय, भारत सरकार का एक भाग है। यह सचिवालय के दक्षिणी ब्लॉक में स्थित है। .

नई!!: नई दिल्ली और प्रधानमन्त्री कार्यालय (भारत) · और देखें »

प्रधानमंत्री मुद्रा योजना

प्रधानमंत्री मुद्रा योजना मुद्रा बैंक के तहत एक भारतीय योजना है जिसकी शुरुआत भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने ८ अप्रैल २०१५ को नई दिल्ली में की थी। .

नई!!: नई दिल्ली और प्रधानमंत्री मुद्रा योजना · और देखें »

प्रधानमंत्री ग्रामीण विकास अध्येतावृत्ति योजना

प्रधानमंत्री ग्रामीण विकास अध्येतावृत्ति योजना गृह मंत्रालय ने देश के 60 जिलों की पहचान वामपंथी चरमपंथ (LWE) से प्रभावित जिलों के रूप में की है। भारत सरकार ने इन जिलों में एक विशेष कार्यक्रम चलाया है जिसे समेकित कार्य योजना (IAP) का नाम दिया गया है। सभी समेकित कार्य योजना जिलों में जिला अधीक्षक की मदद करने के लिए युवा पेशेवरों की तैनाती हेतु 13 सितम्बर,2011 को तत्कालीन केंद्रीय ग्रामीण विकास मंत्री जयराम रमेश ने प्रधानमंत्री के ग्रामीण विकास फेलोज़ नामक योजना की घोषणा की थी।मिशन मूल रूप से प्रधानमंत्री ग्रामीण विकास अध्येतावृत्ति प्राप्त लोग विकास को सुगम बनाने वाली एक योजना के रूप में कार्य करेंगे, वे समेकित कार्य योजना के जिलों के कलेक्टरों तथा उन्के सहकर्मियों को मदद देंगे और उन्हें परिस्थितियों का आवश्यक विश्लेषण प्रदान करेंगे कि उनसे कैसे निपटा जाए' फेलोज़ सक्रिय रूप से एक जिला कार्यक्रम का संचालन करेंगे, जिसमें निम्नांकित तीन महत्वपूर्ण रणनीतियां शामिल होंगी 'सभी नियोजित गतिविधियों तथा उचित बजट प्रक्रिया के संचालन द्वारा प्रोग्रामिंग हेतु जिला संसाधन बेस को मजबूत करना।अतिवंचित समुदायों तक सेवाओं की पहुंच स्थापित करने के लिए वैकल्पिक तरीकों को खोजकर इस प्रणाली को सुस्थापित तथा सुदृढ़ बनाना।ऐसी प्रक्रियाओं को चालू करना जो इस विधि (अर्थात ग्राम नियोजन) में शामिल किए गए परिवर्तनों को बढ़ावा देती हो।यह पूर्ण रूप से सहायक कार्यों के एक समूह द्वारा पूरा किया जाएगा, जैसे जिला तथा ब्लॉक स्तर के अधिकारियों की क्षमता का निर्माण करना, जिले में सामाजिक लामबंदी प्रक्रिया को आगे बढ़ाना, खासकर युवाओं के बीच; जमीनी समर्थन हासिल करना तथा पंचायतों के साथ मजबूत संबंध बनाना' .

नई!!: नई दिल्ली और प्रधानमंत्री ग्रामीण विकास अध्येतावृत्ति योजना · और देखें »

प्रभा साक्षी

प्रभा साक्षी भारत का हिन्दी भाषा का एक समाचार वेबसाइट है। इसके पाठक उत्तरी भारत के राज्यों जैसे बिहार, चण्डीगढ़, छत्तीसगढ़, दिल्ली, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश, झारखण्ड, मध्य प्रदेश, राजस्थान, उत्तराखण्ड और उत्तर प्रदेश आदि के हिदीभाषी हैं। द्वारिकेश इन्फार्मेटिक्स लिमिटेड इसके स्वामी है। .

नई!!: नई दिल्ली और प्रभा साक्षी · और देखें »

प्रभात खबर

प्रभात खबर राँची, जमशेदपुर, कोलकाता और देवघर से प्रकाशित होने वाला हिन्दी भाषा का एक दैनिक है। .

नई!!: नई दिल्ली और प्रभात खबर · और देखें »

प्रभुवाला

प्रभुवाला भारत के उत्तर पश्चिम में स्थित हरियाणा प्रान्त के हिसार जिले का गाँव है। यह भारत की राजधानी नई दिल्ली के १९४ किमी पश्चिम में राष्ट्रीय राजमार्ग क्रमांक ६५ पर उकलाना मंडल के पास पड़ता है। भुतपूर्व केन्द्रीय मन्त्री और वर्तमान राज्यसभा सांसद कुमारी शैलजा इसी गाँव से संबद्ध रखती हैं। भूतपूर्व बरवाला विधायक (१९९६) स्वर्गीय रेलू राम पूनियां और भूतपूर्व केंद्रीय मन्त्री चौधरी दलबीर सिंह भी इसी गांव से थे। .

नई!!: नई दिल्ली और प्रभुवाला · और देखें »

प्रशांत राज सचदेव

प्रशान्त राज सचदेव मुम्बई से एक अभिनेता एवं मॉडल हैं जिन्होंने रामगोपाल वर्मा की फ़िल्म रामगोपाल वर्मा की 'आग' (जो रमेश शिप्पी की फ़िल्म शोले की पुनर्कृत्ति है) से अपना फ़िल्मी जीवन आरम्भ किया। उनकी दूसरी फ़िल्म टॉस है जो 28 अगस्त 2009 को जारी की गयी। .

नई!!: नई दिल्ली और प्रशांत राज सचदेव · और देखें »

प्राची तेहलान

प्राची तेहलान एक भारतीय नेटबॉल और बास्केटबॉल खिलाड़ी और एक अभिनेत्री है। प्राची भारतीय नेटबॉल टीम के पूर्व कप्तान हैं जो 2010 के राष्ट्रमंडल खेलों में और 2010-11 में अन्य प्रमुख एशियाई चैंपियनशिप में भारत का प्रतिनिधित्व करते थे। उनकी कप्तानी में, 2011 में भारतीय टीम ने दक्षिण एशियाई बीच खेलों में अपना पहला पदक जीता था। द इंडियन एक्सप्रेस द्वारा द टाइम्स ऑफ इंडिया और "लेस ऑफ़ द रिंग्स" द्वारा उन्हें "कोर्ट ऑफ रानी" का खिताब दिया गया है। वह 2011-2017 के लिए नेटबॉल डेवलपमेंट ट्रस्ट- इंडिया का ब्रांड एंबेसडर है जनवरी 2016 में उन्होंने टीवी श्रृंखला दीया और बाती हम पर स्टार प्लस में अभिनय की शुरुआत की। उसने मंडीप सिंह द्वारा निर्देशित रोशन प्रिंस के सामने फिल्म 'अर्मन' के रूप में "निमी" के रूप में अपनी पॉलीवुड की शुरुआत की। यह फिल्म 31 मार्च 2017 को जारी करती है। .

नई!!: नई दिल्ली और प्राची तेहलान · और देखें »

प्राण नाथ थापर

जनरल प्राण नाथ थापर (२३ मई, १९०६ - २३ जून, १९७५)भारतीय सेना के पांचवे सेना प्रमुख थे । .

नई!!: नई दिल्ली और प्राण नाथ थापर · और देखें »

प्राण कुमार शर्मा

प्राण द्वारा रचित कॉमिक पात्र चाचा चौधरी कार्टूनिस्ट प्राण कुमार शर्मा (१५ अगस्त १९३८ – ६ अगस्त २०१४) जिन्हें प्राण के नाम से भी जाना जाता है। भारतीय कॉमिक जगत के सबसे सफल और लोकप्रिय कार्टूनिस्ट प्राण ने १९६० से कार्टून बनाने की शुरुआत की। प्राण को सबसे ज्यादा लोकप्रिय उनके पात्र चाचा चौधरी और साबू ने बनाया। सर्वप्रथम लोटपोट के लिए बनाये उनके ये कार्टून पात्र बेहद लोकप्रिय हुए और आगे चलकर प्राण ने चाचा चौधरी और साबू को केन्द्र में रखकर स्वतंत्र कॉमिक पत्रिकाएं प्रकाशित की। उन्होंने दिल्ली से प्रकाशित होने वाले समाचार पत्र मिलाप से कार्टून बनाने की शुरुआत की थी। ६ अगस्त २०१४ को उनका कैंसर से निधन हो गया। .

नई!!: नई दिल्ली और प्राण कुमार शर्मा · और देखें »

प्रिया राय

प्रिया राय (जन्म दिसंबर 25, 1977) एक भारतीय-अमेरिकी मूल की अश्लील फिल्म अभिनेत्री हैं, जो कि अपने अन्य नामों प्रिया राय अंजलि और प्रिया अंजलि राय से भी जानी जातीं हैं। .

नई!!: नई दिल्ली और प्रिया राय · और देखें »

प्रियंवदा मोहंती हेजमादी

प्रियंवदा मोहंती हेजमादी ओडिसी की एक भारतीय शास्त्रीय नर्तकी, कला लेखिका अवं एक जीवविज्ञानी और संबलपुर विश्वविद्यालय में पूर्व वाइस चांसलर रह चुकी हैं। उनका जन्म 18 नवम्बर 1939 में हुआ, उन्होंने मास्टर की डिग्री और उसके बाद डॉक्टरेट की डिग्री में जीव विज्ञान में की। उन्होंने ओडिसी कम उम्र से ही सीखना शुरू करदी और नई दिल्ली में 1954 में इंटर यूनिवर्सिटी युवा महोत्सव में उनके 'ओडिसी' नृत्य के प्रदर्शन ने इस नृत्य कला को चार्ल्स फब्री, जो कि सभा में मौजूद थे, उनके सहयोग से अन्तर्राष्ट्रीय समुदाय का ध्यान आकर्षित किया। प्रियंवदा भारतीय विज्ञान अकादमी की एक खोजकार हैं। उन्होंने कई लेख  और एक किताब, ओडिसी: एक भारतीय शास्त्रीय नृत्य रूप, जिसमें नृत्य के इतिहास और विकास का ब्यौरा दिया है, लिखे हैं। 2013 में उन्हें ''ओडिसी नृत्य सम्मान'' से सम्मानित किया गया। विज्ञान और प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में उनके योगदान के लिए, भारत सरकार ने उन्हें चौथे सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार, पद्म श्री से 1998 में सम्मानित किया। .

नई!!: नई दिल्ली और प्रियंवदा मोहंती हेजमादी · और देखें »

प्रियंका गांधी

प्रियंका गाँधी वाड्रा या प्रियंका गांधी वढेरा (जन्म: जनवरी 12,1972, दिल्ली) एक भारतीय राजनितिज्ञ हैं। वे गांधी-नेहरू परिवार से है और फिरोज़ गाँधी तथा इंदिरा गाँधी की पोती हैं। .

नई!!: नई दिल्ली और प्रियंका गांधी · और देखें »

प्रवर्तन निदेशालय

प्रवर्तन निदेशालय (Directorate General of Economic Enforcement), भारत सरकार के वित्त मंत्रालय के राजस्व् विभाग के अधीन एक विशेष वित्तीय जांच ऐजेंसी है, जो निम्न‍लिखित विधियों को प्रवर्तित करता है:- विदेशी मुद्रा प्रबंधन अधिनियम, 1999(फेमा) – विदेशी विनिमय नियंत्रण विधियों एवं विनियमों के संदिग्‍ध उल्‍लंघनों की जांच करने के साथ-साथ उन आरोपियों पर, जिनके विरूद्ध निर्णय दिया गया है शास्तियां लगाने के अधिकार के लिए एक सिविल विधि जो अर्द्ध न्‍यायिक अधिकार से युक्‍त है। 'धनशोधन निवारण अधिनियम, 2002(पीएमएलए) – अपराधिक गतिविधियों से व्‍युत्‍पन्‍न की गई परिसंपत्तियों का पता लगाने के लिए जॉंच करने और उस संपत्ति को अनंतिम रूप से जब्‍त करने/कुर्क करने एवं धन शोधन में लिप्‍त पाए जाने वाले अपराधियों पर मुकदमा चलाए जाने के लिए अधिकारियों को अधिकार देने वाली एक विधि। प्रवर्तन निदेशालय का मुख्यालय नयी दिल्ली में है। प्रवर्तन निदेशक, इसके प्रमुख है। पाँच क्षेत्रीय कार्यालय मुंबई, चेन्नै, चंडीगढ़, कोलकाता तथा दिल्‍ली हैं जिनके विशेष निदेशक प्रवर्तन प्रमुख हैं। निदेशालय में क्षेत्रीय कार्यालय अर्थात अहमदाबाद, बंगलौर, चंडीगढ़, चेन्नई, कोच्ची, दिल्ली, पणजी, गुवाहाटी, हैदराबाद, जयपुर, जालंधर, कोलकाता, लखनऊ, मुंबई, पटना तथा श्रीनगर हैं। जिनके प्रमुख संयुक्‍त निदेशक है। निदेशालय में उप क्षेत्रीय कार्यालय अर्थात भुवनेश्वर, कोझीकोड, इंदौर, मदुरै, नागपुर, इलाहाबाद, रायपुर, देहरादून, रांची, सूरत, शिमला हैं। जिनके प्रमुख उप निदेशक है। .

नई!!: नई दिल्ली और प्रवर्तन निदेशालय · और देखें »

प्रवासी भारतीय दिवस

प्रवासी भारतीय दिवस भारत सरकार द्वारा प्रतिवर्ष ९ जनवरी को मनाया जाता है। इसी दिन महात्मा गांधी दक्षिण अफ्रीका से स्वदेश वापस आये थे। इस दिवस को मनाने की शुरुवात सन २००३ से हुई थी। प्रवासी भारतीय दिवस मनाने की संकल्पना स्वर्गीय लक्ष्मीमल सिंघवी के दिमाग की उपज थी। प्रवासी भारतीय दिवस ८-९ जनवरी २००८ को नयी दिल्ली में आयोजित हुआ" इस साल २०११ में यह सम्मलेन जयपुर में आयोजित किया जा रहा है जयपुर में होटलों में बुकींग हो चुकी है और करीब १५०० प्रवासी जयपुर पधारेंगे। इस सम्मेलन ·क लिए कई बड़े-बड़े उद्योगपति और कई राज्यों क मुख्यमंत्री भी जयपुर पहुंच चुक हैं। शनिवार को माननीय प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह भी आ चुके हैं। इस अवसर पर प्रायः तीन दिवसीय कार्यक्रम आयोजित किया जाता है। इसमें अपने क्षेत्र में विशेष उपलब्धि प्राप्त करने वाले भारतवंशियों का सम्मान किया जाता है तथा उन्हे प्रवासी भारतीय सम्मान प्रदान किया जाता है। यह आयोजन भारतवंशियों से सम्बन्धित विषयों और उनकी समस्यायों के चर्चा का मंच भी है। .

नई!!: नई दिल्ली और प्रवासी भारतीय दिवस · और देखें »

प्रकाश करात

प्रकाश करात भारतीय वामपंथ की राजनीतिक के एक महत्वपूर्ण राजनेता हैं। वे 2005 से 2015 तक भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (मार्क्सवादी), संक्षेप में माकपा, के महासचिव रहे। करात हरिकिशन सिंह सुरजीत के बाद २००५ में पार्टी के महासचिव बने। प्रकाश करात केरल राज्य से संबंधित हैं। .

नई!!: नई दिल्ली और प्रकाश करात · और देखें »

प्रेम चौधरी

प्रेम चौधरी एक भारतीय सामाजिक वैज्ञानिका, इतिहासकार, और भारतीय ऐतिहासिक अनुसंधान परिषद, नई दिल्ली में वरिष्ठ शैक्षणिक फेलो हैं। She is a feminist वह एक नारीवादी है और शादीशुदा विवाह से इनकार करते हुए जोड़ों के खिलाफ हिंसा की आलोचक करती है। वह लैंगिक अध्ययनों के एक प्रसिद्ध विद्वान, राजनीतिक अर्थव्यवस्था पर अधिकार और भारत में हरियाणा राज्य के सामाजिक इतिहास और हरिद्वारी के लिए संसद के प्रतिष्ठित शिक्षाविद् और भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के सदस्य हैं। चौधरी महिला अध्ययन केंद्र के एक जीवन सदस्य है। उन्होंने भारतीय सामाजिक विज्ञान अनुसंधान परिषद, समकालीन अध्ययन, नई दिल्ली के लिए समर्थित केंद्र में भी काम किया है; नेहरू मेमोरियल संग्रहालय और पुस्तकालय की एक उन्नत अध्ययन इकाई की है। चौधरी जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय का एक हिस्सा है, और विश्वविद्यालय अनुदान आयोग के प्राध्यापक साथी भी। .

नई!!: नई दिल्ली और प्रेम चौधरी · और देखें »

प्रेम लाल जोशी

डॉ॰ प्रेम लाल जोशी (जन्म: ४ फरवरी, १९५२) एक प्रख्यात भारतीय शिक्षकविद, विद्वान, लेखक एवं मल्टीमीडिया विश्वविद्यालय, मलेशिया में एकाउंटिंग के प्रोफ़ेसर हैं। वें सेण्टर फॉर एक्सीलेंस इन बिज़नेस परफॉरमेंस (CEBP) के अध्यक्ष हैं। वें इंटरनेशनल जर्नल ऑफ एकाउंटिंग ऑडिटिंग एंड परफॉरमेंस इवैल्यूएशन (IJAAPE) के संस्थापक एवं मानद सम्पादक, एफ्रो एशियन जर्नल ऑफ फाइनेंस एंड एकाउंटिंग (AAJFA) के प्रबंध सम्पादक तथा इंटरनेशनल जर्नल ऑफ फाइनेंस एंड एकाउंटिंग स्टडीज़, ऑस्ट्रेलिया के सहयोगी सम्पादक हैं। वें बजट और वित्तीय लेखा पर छह पुस्तकों के लेखक हैं। अपनी पुस्तकों के अतिरिक्त, इनके १०० से अधिक शोध पत्र विश्व के कई मान्यता प्राप्त अंतरराष्ट्रीय पत्रिकाओं में प्रकाशित हो चुके हैं। .

नई!!: नई दिल्ली और प्रेम लाल जोशी · और देखें »

प्रेमकृष्ण खन्ना

प्रेमकृष्ण खन्ना (अंग्रेजी: Prem Krishna Khanna, जन्म: २ फ़रवरी १८९४ मृत्यु:३ अगस्त १९९३) हिन्दुस्तान रिपब्लिकन ऐसोसिएशन के एक प्रमुख सदस्य थे। शाहजहाँपुर के रेल विभाग में ठेकेदार (काण्ट्रेक्टर) थे। इन्हें ब्रिटिश सरकार ने माउजर पिस्तौल का लाइसेन्स दे रखा था। सुप्रसिद्ध क्रान्तिकारी राम प्रसाद 'बिस्मिल' से इनकी घनिष्ठ मित्रता थी। क्रान्तिकारी कार्यों के लिये वे इनका माउजर प्राय: माँग कर ले जाया करते थे। यही नहीं, आवश्यकता पडने पर कभी कभी इनके लाइसेन्स पर कारतूस भी खरीद लिया करते थे। काकोरी काण्ड में प्रयुक्त माउजर पिस्तौल के कारतूस इन्हीं के शस्त्र-लाइसेन्स पर खरीदे गये थे जिसके पर्याप्त साक्ष्य मिल जाने के कारण इन्हें ५ वर्ष की कठोर कैद की सजाभुगतनी पडी थी। २ वर्ष तक काकोरी-काण्ड का मुकदमा चला अत: कुल मिलाकर सन १९२५ से १९३२ तक ७ वर्ष कारागार में बिताये। छूटकर आये तो आजीवन अविवाहित रहकर देश-सेवा का व्रत ले लिया। ४० वर्षाँ तक कांग्रेस की कार्यकारिणी के सदस्य रहे। कांग्रेस के टिकट पर कई वर्ष (१९६२ से १९७१ तक) लोकसभा के सांसद भी रहे। ३ अगस्त १९९३ को शाहजहाँपुर के जिला अस्पताल में उस समय प्राणान्त हुआ जब जीवन का शतक पूर्ण करने में मात्र ६ महीने शेष रह गये थे। बडे ही जीवट के व्यक्ति थे। .

नई!!: नई दिल्ली और प्रेमकृष्ण खन्ना · और देखें »

प्रो रेस्लिंग लीग

प्रो रेस्लिंग लीग (PWL) कार्तिकेय शर्मा की प्रो स्पोर्टिफाई द्वारा शुरु की गई एक पेशेवर कुश्ती प्रतियोगिता है जिसका आयोजन दिसम्बर २०१५ में भारत में हुआ। इस श्रृंखला का पहला संस्करण १०-२७ दिसम्बर २०१५ तक भारत के ६ शहरों की टीमों के बीच खेला गया। इन ६ टीमों से दुनिया भर के ६६ पहलवानों ने भाग लिया। तीन बार की महिला विश्व विजेता अमेरिका की ऐडेलिन ग्रे ने कहा की "अंतरराष्ट्रीय कुश्ती में इतना ज्यादा पुरस्कार राशि दांव पर लगाकर इस खेल को दुनिया में प्रसिद्ध बनाने का यह एक ऐतिहासिक और हिम्मत भरा कदम है।" डाबर च्यवनप्राश इस प्रतियोगिता का प्रमुख और शीर्षक का प्रायोजक है। इस प्रतियोगिता का पहला संस्करण भारत में बहुत लोकप्रिय हुआ। पहले संस्करण का विजेता मुम्बई गरुड़ा की टीम रही। .

नई!!: नई दिल्ली और प्रो रेस्लिंग लीग · और देखें »

प्रो कबड्डी लीग

प्रो कबड्डी लीग (पीकेएल) भारत में एक पेशेवर कबड्डी लीग, इंडियन प्रीमियर लीग टी -20 क्रिकेट टूर्नामेंट के प्रारूप पर आधारित है। यह प्रायोजन कारणों के लिए के रूप में स्टार स्पोर्ट्स प्रो कबड्डी में जाना जाता है। टूर्नामेंट के पहले संस्करण में भारत के विभिन्न शहरों का प्रतिनिधित्व करने वाले आठ फ्रेंचाइजी के साथ 2014 में खेला गया था। यह वर्तमान में मशाल स्पोर्ट्स द्वारा प्रबंधित किया जाता है। .

नई!!: नई दिल्ली और प्रो कबड्डी लीग · और देखें »

प्रोद्दटूरू

प्रोद्दटूरू आंध्र प्रदेश राज्य के कडपा जिला में एक शहर है। यह पेन्ना नदी के तट पर स्थित है। यह शहर एक नगर पालिका है और प्रोद्दटूरू मंडल का मंडल मुख्यालय भी है । यह क्षेत्र के एतेबार से सबसे छोटा नगरपालिका है, लेकिन जनसंख्या के मामले में राज्य में 14 वें स्थान पर है। .

नई!!: नई दिल्ली और प्रोद्दटूरू · और देखें »

पृथ्वी नाथ धर

पृथ्वी नाथ धर (1 मार्च 1919 – 19 जुलाई 2012) जिन्हें सामान्यतः पी एन धर के नाम से जाना जाता है, अर्थशास्त्री थे और इन्दिरा गान्धी के निजि सलाहकार एवं सचिव थे। .

नई!!: नई दिल्ली और पृथ्वी नाथ धर · और देखें »

पृथ्वी गान

The Earth seen from Apollo 17 पृथ्वी गान (Earth Anthem) एक अधिकारिक गान हैं, जो पृथ्वी को समर्पित हैं। पृथ्वी गान के रचनाकार भारतीय राजनयिक और कवि अभय कुमार हैं। पृथ्वी गान में हिंदुस्तानी, अंग्रेजी, नेपाली, बंगाली, उर्दू, सिंहल, जोंगखा और धीवेही भाषा की पंक्तियों का इस्तेमाल किया गया है, जो दक्षेस के आठ सदस्य देशों में बोली जाती है। इसे संयुक्त राष्ट्र के आठ अधिकारिक भाषाओ में अनुवादित किया गया, जिस मे अरबी, चीनी, अंग्रेजी, फ्रेंच, रशियन, स्पेनिश भाषा भी सामिल हैं। हिंदी और नेपाली भषा में भी इसका अनुवाद हुआ है। .

नई!!: नई दिल्ली और पृथ्वी गान · और देखें »

पृथ्वीराज मार्ग

पृथ्वीराज मार्ग नई दिल्ली का एक मुख्य मार्ग है। श्रेणी:दिल्ली के सड़क मार्ग.

नई!!: नई दिल्ली और पृथ्वीराज मार्ग · और देखें »

पूर्णिया

पूर्णिया भारत के बिहार प्रान्त का एक जिला एवं जिला मुख्यालय है। यहाँ से नेपाल तथा पूर्वोत्तर भारत जाने का रास्ता है। एन एच 31 जो कि इस्ट-वेस्ट कोरीडर का हिस्सा है उत्तर भारत को आसाम, सिक्कीम, मेघालय, अरुणाचल, त्रिपुरा, नागालैंड, मणीपुर, मिजोरम तथा भुटान से जोड‍़ता है। पूर्णिया पूर्वोत्तर बिहार का सबसे बड़ा नगर है। यह नगर स्वास्थ्य सेवा, मोटर पार्ट, अनाज और किराना मंडी के कारण पूरे पूर्वी भारत में विख्यात है। मुगल काल से ही पूर्णिया प्रशासनिक दृष्टीकोण से महत्वपूर्ण स्थान रहा है, अंग्रजी हुकूमत के दौर में भी यहां से आस-पास के इलाकों पर नियंत्रण किया जाता था। वर्तमान में पूर्णिया प्रमंडलीय मुख्यालय है जिसके अंत्रगत पूर्णिया, कटीहार, अररिया और किशनगंज जिले आते हैं। पूर्णिया, सौरा नदी के पूर्वी किनारे पर स्थित नगर है। यहाँ कारागृह तथा कार्यालयों की इमारतें अच्छी हालत में हैं। कंबल, चटाइयाँ और सरसों के तेल पेरने आदि का काम होता है तथा यहाँ की उत्पादित वस्तुएँ यहीं खप जाती हैं। .

नई!!: नई दिल्ली और पूर्णिया · और देखें »

पूर्व एक्स्प्रेस २३०४

पूर्व एक्स्प्रेस 2304 भारतीय रेल द्वारा संचालित एक मेल एक्स्प्रेस ट्रेन है। यह ट्रेन नई दिल्ली रेलवे स्टेशन (स्टेशन कोड:NDLS) से 04:20PM बजे छूटती है और हावड़ा जंक्शन रेलवे स्टेशन (स्टेशन कोड:HWH) पर 04:45PM बजे पहुंचती है। इसकी यात्रा अवधि है 24 घंटे 25 मिनट। पूर्वा एक्स्प्रेस (बंगाली: পূর্ব এক্সপ্রেস, हिंदी: पूर्वा एक्स्प्रेस) भारतीय रेलवे की एक प्रतिदिन चलने वाली सुपरफास्ट एक्सप्रेस ट्रेन है, जो हावड़ा (पश्चिम बंगाल) और नई दिल्ली भारत की राजधानी के बीच चल रही है। पूर्वा नाम भारत के पूर्वी भाग का प्रतीक है। बिहार, झारखंड और पश्चिम बंगाल के यात्रियों के लिए यह राजधानी के बाद सबसे सुविधाजनक ट्रेन है। ट्रेन को एलएचबी कोच के 22 कोच रैक आवंटित किये गए हैं, जो कि 30 अप्रैल 2013 से आवंटन के आधार पर चलाना शुरू किया गया था। वर्तमान में यह ट्रेन 130.00 किमी प्रति घंटा की अधिकतम रफ़्तार से जा सकती है। .

नई!!: नई दिल्ली और पूर्व एक्स्प्रेस २३०४ · और देखें »

पूजा शर्मा

पूजा शर्मा (जन्म १९८९, नई दिल्ली एक भारतीय मॉडल और अभिनेत्री है।उन्हें सबसे ज्यादा पौराणिक धारावाहिक महाभारत में अपनी द्रौपदी की भुमिका के लिए जाना जाता है। .

नई!!: नई दिल्ली और पूजा शर्मा · और देखें »

पूजा गुप्ता

पूजा गुप्ता (अंग्रेजी: Puja Gupta) एक भारतीय मॉडल तथा अभिनेत्री है। इन्होंने २००७ में सिनेमाजगत में कदम रखा था तथा आते ही मिस इंडिया यूनिवर्स में जीती थीं। फिर ये २००७ में मिस यूनिवर्स कॉम्पिटिशन में २००७ में मैक्सिको में जाकर भाग लिया और शीर्ष १० में जगह बनाई। इसके बाद इन्होंने कई विज्ञापनों में कार्य किया। इन्होंने अपना फ़िल्मी कैरियर फालतू फ़िल्म से किया। इस कारण वो उनकी पहली फ़िल्म थी।.

नई!!: नई दिल्ली और पूजा गुप्ता · और देखें »

पॉण्टी चड्ढा

पॉण्टी चड्ढा जिसका असली नाम था गुरदीप सिंह चड्ढा (१९५७ - 17 नवम्बर २०१२) उत्तर प्रदेश, भारत से शराब व्यापारी था। चड्ढा ने लोकप्रियता हासिल की और करीब ६००० करोड़ रुपए (१.०९ अरब डॉलर) के अपने शराब के कारोबार का उत्तर भारत के ३ राज्यों उत्तर प्रदेश, पंजाब और नई दिल्ली में विस्तार किया। वह कंपनी वेव इंक का सह-स्वामित्व भी था। वह नई दिल्ली में छतरपुर क्षेत्र में अपने स्वयं के खेत पर एक हिंसक शूट आउट में २०१२ में मारा गया। .

नई!!: नई दिल्ली और पॉण्टी चड्ढा · और देखें »

पीयूष गोयल (लेखक)

डॉ॰ पीयूष गोयल (जन्म: १० फरवरी, १९६७, दादरी, उत्तर प्रदेश) एक भारतीय लेखक, साहित्यकार, विश्व रिकॉर्ड होल्डर, एवं कलाकार हैं। वें लिम्का बुक ऑफ़ रिकार्ड्स, इंडिया बुक ऑफ़ रिकार्ड्स और एवेरेस्ट वर्ल्डस रिकार्ड्स में नाम दर्ज करा चुके है। "पीयूषवाणी" नामक पुस्तक के रचयिता हैं। इन्हें वर्ल्ड रिकॉर्ड यूनिवर्सिटी, लन्दन द्वारा वर्ष २०१४ में डॉक्ट्रेट की मानद उपाधि प्राप्त है। .

नई!!: नई दिल्ली और पीयूष गोयल (लेखक) · और देखें »

पी॰ चिदंबरम

पलनिअप्पन चिदंबरम (பழனியப்பன் சிதம்பரம்; जन्म - 16 सितंबर 1945) भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस से संबद्ध एक भारतीय राजनीतिज्ञ एवं भारत गणराज्य के पूर्व केंद्रीय वित्त मंत्री है। इसके अलावा चिदंबरम एक स्थापित कंपनी मामलों के वकील है जिन्होंने अब दिवालिया हो चुकी एनरॉन सहित कई प्रसिद्ध संस्थाओं के लिए पैरवी की है। पी॰ चिदंबरम केंद्र में पिछली दो कांग्रेस नेतृत्व वाली सरकारों के एक महत्वपूर्ण सदस्य थे। पहले भी वह मई 2004 से नवंबर 2008 तक भारत के वित्त मंत्री रह चुके हैं। नवंबर 2008 में मुंबई पर हुए आतंकी हमलों के पश्चात् विवादों में घिरे शिवराज पाटिल के इस्तीफे की वज़ह से चिदंबरम को भारत के गृह मंत्री बनाया गया था। गृह मंत्री के रूप में साढ़े तीन साल के कार्यकाल के बाद इन्हें मनमोहन सिंह सरकार में पुनः वित्त मंत्री नियुक्त किया गया। .

नई!!: नई दिल्ली और पी॰ चिदंबरम · और देखें »

पी॰ टी॰ उषा

पिलावुळ्ळकण्टि तेक्केपरम्पिल् उषा (मलयालम: പിലാവുളളകണ്ടി തെക്കേപറമ്പില്‍ ഉഷ) (जन्म २७ जून १९६४), जो आमतौर पर पी॰ टी॰ उषा के नाम से जानी जाती हैं, भारत के केरल राज्य की एथलीट हैं। "भारतीय ट्रैक ऍण्ड फ़ील्ड की रानी" माने जानी वाली पी॰ टी॰ उषा भारतीय खेलकूद में १९७९ से हैं। वे भारत के अब तक के सबसे अच्छे खिलाड़ियों में से हैं। केरल के कई हिस्सों में परंपरा के अनुसार ही उनके नाम के पहले उनके परिवार/घर का नाम है। उन्हें "पय्योली एक्स्प्रेस" नामक उपनाम दिया गया था। पी॰ टी॰ उषा का जन्म केरल के कोज़िकोड जिले के पय्योली ग्राम में हुआ था। १९७६ में केरल राज्य सरकार ने महिलाओं के लिए एक खेल विद्यालय खोला और उषा को अपने जिले का प्रतिनिधि चुना गया। .

नई!!: नई दिल्ली और पी॰ टी॰ उषा · और देखें »

फतेहपुर जिला

फतेहपुर जिला उत्तर प्रदेश राज्य का एक जिला है जो कि पवित्र गंगा एवं यमुना नदी के बीच बसा हुआ है। फतेहपुर जिले में स्थित कई स्थानों का उल्लेख पुराणों में भी मिलता है जिनमें भिटौरा, असोथर अश्वस्थामा की नगरी) और असनि के घाट प्रमुख हैं। भिटौरा, भृगु ऋषि की तपोस्थली के रूप में मानी जाती है। फतेहपुर जिला इलाहाबाद मंडल का एक हिस्सा है और इसका मुख्यालय फतेहपुर शहर है। .

नई!!: नई दिल्ली और फतेहपुर जिला · और देखें »

फ़िराक़ गोरखपुरी

फिराक गोरखपुरी (मूल नाम रघुपति सहाय) (२८ अगस्त १८९६ - ३ मार्च १९८२) उर्दू भाषा के प्रसिद्ध रचनाकार है। उनका जन्म गोरखपुर, उत्तर प्रदेश में कायस्थ परिवार में हुआ। इनका मूल नाम रघुपति सहाय था। रामकृष्ण की कहानियों से शुरुआत के बाद की शिक्षा अरबी, फारसी और अंग्रेजी में हुई। .

नई!!: नई दिल्ली और फ़िराक़ गोरखपुरी · और देखें »

फिरोज़ गांधी

फिरोज और इन्दिरा का विवाह फिरोज गांधी फिरोज़ गांधी (12 अगस्त 1912 – 8 सितम्बर 1960) भारत के एक राजनेता तथा पत्रकार थे। वे लोकसभा के सदस्य भी रहे। सन् १९४२ में उनका इन्दिरा गांधी से विवाह हुआ जो बाद में भारत की प्रधानमंत्री बनीं। उनके दो पुत्र हुए - राजीव गांधी और संजय गांधी .

नई!!: नई दिल्ली और फिरोज़ गांधी · और देखें »

फिजी आर्य प्रतिनिधि सभा

फिजी की आर्य प्रतिनिधि सभा वहाँ के आर्यसमाजियों की प्रतिनिधि संस्था है। इसकी स्थापना १९१२ में मणिलाल डॉक्टर द्वारा की गयी थी। इसका पंजीयन एक धार्मिक संस्था के रूप में किया गया था। महात्मा गांधी ने फिजी में रह रहे भारतीयों को कानूनी सहायता देने मणिलाल डॉक्टर को फिजी भेजा था। वे १९१२ से १९२० तक वहाँ रहे थे। फिजी आर्य प्रतिनिधि सभा से प्रथम अध्यक्ष स्वामी मनोहरानन्द सरस्वती थे जो १९१३ में भारत से फिजी पहुँचे थे। यह सभा नयी दिल्ली स्थित सार्वदेशिक आर्य प्रतिनिधि सभा का अंग है। श्रेणी:आर्य समाज श्रेणी:फिजी में हिन्दू धर्म.

नई!!: नई दिल्ली और फिजी आर्य प्रतिनिधि सभा · और देखें »

फ्रीडा पिंटो

फ्रीडा पिंटो (जन्म 18 अक्टूबर 1984) एक भारतीय अभिनेत्री और व्यावसायिक मॉडल हैं, जो की अपनी पहली फिल्म स्लमडॉग मिलियनेयर, जिसने 2009 में सर्वोत्तम फिल्म के लिए एकेडमी पुरस्कार जीता है, में उनके लतिका के किरदार के लिए प्रसिद्ध हैं। पिंटो ने मोशन पिक्चर में कलाकार द्वारा उत्कृष्ट अभिनय के लिए स्क्रीन एक्टर्स गिल्ड अवार्ड जीता और उन्हें सर्वश्रेष्ठ सहायक अभिनेत्री की श्रेणी में BAFTA पुरस्कार के लिए नामांकन भी मिला। .

नई!!: नई दिल्ली और फ्रीडा पिंटो · और देखें »

बड़वानी ज़िला

बड़वानी ज़िला भारत के मध्य प्रदेश राज्य का एक ज़िला है। ज़िला मुख्यालय बड़वानी में है। ज़िले का क्षेत्रफल 5,427 किमी² तथा जनसंख्या 1,385,881 (2011 जनगणना) है। यह ज़िला मध्य प्रदेश के दक्षिण पश्चिम में स्थित है, नर्मदा नदी इसकी उत्तरी सीमा बनाती है। सेंधवा इसका प्रसिद्ध नगर है। यह कपास के लिये प्रसिद्ध है। यह एक तहसील भी है। जिले का सर्वाधिक जनसंख्या वाला नगर है यहाँ के किले का ऐतिहासिक महत्व है। बड़वानी नगर से 8 किलोमीटर दूर सतपुड़ा की पहाड़ियों में भगवान ऋषभदेव की 84 फ़ीट की एक पत्थर से निर्मित प्रतिमा पहाड़ों से निकली है। जो बावनगजा के नाम से प्रसिद्ध है। तथा यहाँ पर धान उद्यान केंद्र है बड़वानी ज़िले की तहसील:- 1.

नई!!: नई दिल्ली और बड़वानी ज़िला · और देखें »

बनवारी लाल

बनवारी लाल (अंग्रेजी: Banwari Lal, जन्म: ग्राम तिलोकपुर जिला शाहजहाँपुर) ब्रिटिश काल के दौरान उत्तर प्रदेश में गठित क्रान्तिकारी संगठन हिन्दुस्तान रिपब्लिकन ऐसोसिएशन का सक्रिय सदस्य ही नहीं अपितु रायबरेली का जिला संगठनकर्ता भी था। ९ अगस्त १९२५ को काकोरी के समीप हुई ऐतिहासिक डकैती में समूचे हिन्दुस्तान से ४० व्यक्तियों को गिरफ्तार किया गया था। बनवारी लाल की गिरफ्तारी रायबरेली से हुई थी। काकोरी काण्ड के मुकदमे के दौरान जब उस पर पुलिस ने दबाव डाला तो वह टूट गया और वायदा माफ गवाह (अंगेजी में अप्रूवर) बन गया। बनवारी लाल शाहजहाँपुर सदर तहसील के तिलोकपुर गाँव का रहने वाला था। अप्रूवर बन जाने के कारण काकोरी काण्ड में उसे एक अन्य अभियुक्त रामनाथ पाण्डेय से भी कम सजा हुई थी। जेल से छूटने के बाद वह अपने बाल-बच्चों के साथ अपने गाँव में रहने लगा। कुछ समय बाद जब उसे अपने गाँव के ब्राह्मणों से जान का खतरा महसूस हुआ तो उसने वह गाँव छोड़ दिया और पास के ही दूसरे गाँव केशवपुर में रहने लगा जहाँ उसकी कायस्थ बिरादरी के काफी लोग रहते थे। सन् २००० के आसपास उसकी मृत्यु हो गयी।.

नई!!: नई दिल्ली और बनवारी लाल · और देखें »

बरखा दत्त

बरखा दत्त (जन्म: १८ दिसंबर, १९७१) एक भारतीय टीवी पत्रकार हैं। .

नई!!: नई दिल्ली और बरखा दत्त · और देखें »

बलि राम भगत

बलि राम भगत (अंग्रेज़ी: Bali Ram Bhagat, जन्म: 7 अक्टूबर, 1922 – मृत्यु: 2 जनवरी, 2011) भारत के एक राजनेता तथा पाँचवीं लोकसभा के अध्यक्ष तथा भारत के विदेश मंत्री थे। वे राजस्थान के राज्यपाल भी रहे | लोकसभा के अध्यक्ष के रूप में भगत का चौदह मास से भी कम अवधि का कार्यकाल सबसे छोटा कार्यकाल था किन्तु इस संक्षिप्त अवधि में उन्होंने सदन की कार्यवाही पर अपनी अमिट छाप छोड़ी। अध्यक्ष पद पर रहने के बाद राज्यपाल के रूप में उन्होंने जिस प्रकार कार्य किया, उससे यह सिद्ध हो गया कि वे सहज रूप से एक योग्य और प्रतिभा सम्पन्न व्यक्ति हैं। विभिन्न राष्ट्रीय तथा अंतरराष्ट्रीय मंचों पर उन्होंने अपनी योग्यता का परिचय दिया। श्रेणी:लोकसभा अध्यक्ष.

नई!!: नई दिल्ली और बलि राम भगत · और देखें »

बसव

150px गुरु बसव अथवा गुरु बसव (ಬಸವಣ್ಣ) या बसवेश्वर (ಬಸವೇಶ್ವರ), (११३४-११९६)) एक दार्शनिक और सामाजिक सुधारक थे। उन्होने हिंदू धर्म में जाति व्यवस्था और अनुष्ठान के विरुद्ध संघर्ष किया। उन्हें विश्व गुरु और भक्ति भंडारी भी कहा जाता है। अपनी शिक्षाओं और preachings सभी सीमाओं से परे जाना और कर रहे हैं सार्वभौमिक और अनन्त है। वह एक महान मानवीय था। गुरु बसवन्नाजिसमें परमात्मा अनुभव जीवन लिंग, जाति और सामाजिक स्थिति की परवाह किए बिना सभी उम्मीदवारों को समान अवसर देने का केंद्र था जीवन की एक नई तरह की वकालत की। अपने आंदोलन के पीछे आधारशिला परमेश्वर के एक सार्वभौमिक अवधारणा में दृढ़ विश्वास था। गुरु बसवन्नाmonotheistic निराकार भगवान की अवधारणा के एक समर्थक है।M. R. Sakhare, History and Philosophy of the Lingayat Religion, Prasaranga, Karnataka University, Dharwad एक सच्चे दूरदर्शी अपने समय से आगे विचारों के साथ, वह एक है कि विकास के चरम पर एक और सब को समृद्ध समाज के अनुरूप। एक महान रहस्यवादी जा रहा है, के अलावा गुरु बसवन्नाप्रधानमंत्री ने दक्षिणी Kalachuri साम्राज्य दक्षिण भारत में गया था और एक साहित्यिक क्रांति Vachana साहित्य शुरू करने से उत्पन्न। गुरु बसवन्नास्वभाव, विकल्प, पेशे से एक राजनेता, स्वाद, सहानुभूति द्वारा एक मानवतावादी और सजा से एक सामाजिक सुधारक द्वारा पत्र की एक आदमी एक आदर्शवादी द्वारा एक फकीर किया गया है करने के लिए कहा जाता है। कई महान योगियों और समय के रहस्यवादी यह कि भगवान है और जीवन में देखने का एक नया तरीका को परिभाषित Vachanas (Lit.

नई!!: नई दिल्ली और बसव · और देखें »

बहुजन समाज पार्टी

बहुजन समाज पार्टी (अंग्रेजी: Bahujan Samaj Party) सार्वभौमिक न्याय, स्वतंत्रता, समानता और भाईचारे के सर्वोच्च सिद्धांतों की सोच वाला, भारत का एक राष्ट्रीय राजनीतिक दल है। इसका गठन मुख्यत: एक क्रांतिकारी सामाजिक और आर्थिक आंदोलन के रूप में काम करने के लिए किया गया है जो भारत को एक सम्पूर्ण प्रभुत्व सम्पन्न, समाजवादी, पंथनिरपेक्ष, लोकतंत्रात्मक गणराज्य बनाने के लिए तथा उसके समस्त नागरिकों को सामाजिक, आर्थिक और राजनीतिक न्याय, विचार, अभिव्यक्ति, विश्वास, धर्म और उपासना की स्वतन्त्रता, प्रतिष्ठा और अवसर की समानता दिलाने, उनमें व्यक्ति की गरिमा और राष्ट्र की एकता और अखण्डता सुनिश्चित करने वाली बंधुता बढाने के लिए कार्य करती है जैसा भारतीय संविधान की प्रस्तावना में वर्णित है। इसका गठन मुख्यत: भारतीय जाति व्यवस्था के अन्तर्गत सबसे नीचे माने जाने वाले बहुजन, जिसमें अन्य पिछड़ा वर्ग, अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति और अल्पसंख्यक शामिल हैं, ऐसे समाज का प्रतिनिधित्व करने के लिए किया गया था, जिनकी जनसंख्या भारत देश में 85% है। दल का दर्शन बाबा साहेब अम्बेडकर के मानवतावादी बौद्ध दर्शन से प्रेरित है। .

नई!!: नई दिल्ली और बहुजन समाज पार्टी · और देखें »

बाँसुरी

दुनिया भर से बांसुरियों का एक संकलन बांसुरी काष्ठ वाद्य परिवार का एक संगीत उपकरण है। नरकट वाले काष्ठ वाद्य उपकरणों के विपरीत, बांसुरी एक एरोफोन या बिना नरकट वाला वायु उपकरण है जो एक छिद्र के पार हवा के प्रवाह से ध्वनि उत्पन्न करता है। होर्नबोस्टल-सैश्स के उपकरण वर्गीकरण के अनुसार, बांसुरी को तीव्र-आघात एरोफोन के रूप में वर्गीकृत किया जाता है। बांसुरीवादक को एक फ्लूट प्लेयर, एक फ्लाउटिस्ट, एक फ्लूटिस्ट, या कभी कभी एक फ्लूटर के रूप में संदर्भित किया जाता है। बांसुरी पूर्वकालीन ज्ञात संगीत उपकरणों में से एक है। करीब 40,000 से 35,000 साल पहले की तिथि की कई बांसुरियां जर्मनी के स्वाबियन अल्ब क्षेत्र में पाई गई हैं। यह बांसुरियां दर्शाती हैं कि यूरोप में एक विकसित संगीत परंपरा आधुनिक मानव की उपस्थिति के प्रारंभिक काल से ही अस्तित्व में है। .

नई!!: नई दिल्ली और बाँसुरी · और देखें »

बादशाह (गायक)

बादशाह एक भारतीय पंजाबी गायक कलाकार है ' इनका जन्मनाम आदित्य प्रतीक सिंह सिसोदिया है ' इन्होंने अपने कैरियर की शुरूआत यो यो हनी सिंह के साथ २००६ में की थी ' इन्होंने कई फ़िल्मों में गाने गाये है, इन्होंने मुख्यत हिन्दी,पंजाबी और हरयाणवी भाषाओं में गाने गए है। उनके गाये हुए गाने कई बॉलीवुड फिल्मों में भी शामिल है जैसे की २०१४ की फिल्म हम्प्टी शर्मा की दुल्हनिया और खूबसूरत। .

नई!!: नई दिल्ली और बादशाह (गायक) · और देखें »

बासमती चावल

लाल बासमती चावल बासमती (Basmati,, باسمتى) भारत की लम्बे चावल की एक उत्कृष्ट किस्म है। इसका वैज्ञानिक नाम है ओराय्ज़ा सैटिवा। यह अपने खास स्वाद और मोहक खुशबू के लिये प्रसिद्ध है। इसका नाम बासमती अर्थात खुशबू वाली किस्म होता है। इसका दूसरा अर्थ कोमल या मुलायम चावल भी होता है। भारत इस किस्म का सबसे बड़ा उत्पादक है, जिसके बाद पाकिस्तान, नेपाल और बांग्लादेश आते हैं। पारंपरिक बासमती पौधे लम्बे और पतले होते हैं। इनका तना तेज हवाएं भी सह नहीं सकता है। इनमें अपेक्षाकृत कम, परंतु उच्च श्रेणी की पैदावार होती है। यह अन्तर्राष्ट्रीय और भारतीय दोनों ही बाजारों में ऊँचे दामों पर बिकता है। बासमती के दाने अन्य दानों से काफी लम्बे होते हैं। पकने के बाद, ये आपस में लेसदार होकर चिपकते नहीं, बल्कि बिखरे हुए रहते हैं। यह चावल दो प्रकार का होता है:- श्वेत और भूरा। के अनुसार, बासमती चावल में मध्यम ग्लाइसेमिक सूचकांक ५६ से ६९ के बीच होता है, जो कि इसे मधुमेह रोगियों के लिये अन्य अनाजों और श्वेत आटे की अपेक्षा अधिक श्रेयस्कर बनाता है। .

नई!!: नई दिल्ली और बासमती चावल · और देखें »

बावड़ी

बावड़ी श्रेणी:सिंचाई श्रेणी:भारतीय वास्तुशास्त्र श्रेणी:भारत में जल प्रबंधन श्रेणी:भारतीय स्थापत्य कला श्रेणी:बावड़ी.

नई!!: नई दिल्ली और बावड़ी · और देखें »

बागेश्वर

बागेश्वर उत्तराखण्ड राज्य में सरयू और गोमती नदियों के संगम पर स्थित एक तीर्थ है। यह बागेश्वर जनपद का प्रशासनिक मुख्यालय भी है। यहाँ बागेश्वर नाथ का प्राचीन मंदिर है, जिसे स्थानीय जनता "बागनाथ" या "बाघनाथ" के नाम से जानती है। मकर संक्रांति के दिन यहाँ उत्तराखण्ड का सबसे बड़ा मेला लगता है। स्वतंत्रता संग्राम में भी बागेश्वर का बड़ा योगदान है। कुली-बेगार प्रथा के रजिस्टरों को सरयू की धारा में बहाकर यहाँ के लोगों ने अपने अंचल में गाँधी जी के असहयोग आन्दोलन शुरवात सन १९२० ई. में की। सरयू एवं गोमती नदी के संगम पर स्थित बागेश्वर मूलतः एक ठेठ पहाड़ी कस्बा है। परगना दानपुर के 473, खरही के 66, कमस्यार के 166, पुँगराऊ के 87 गाँवों का समेकन केन्द्र होने के कारण यह प्रशासनिक केन्द्र बन गया। मकर संक्रान्ति के दौरान लगभग महीने भर चलने वाले उत्तरायणी मेले की व्यापारिक गतिविधियों, स्थानीय लकड़ी के उत्पाद, चटाइयाँ एवं शौका तथा भोटिया व्यापारियों द्वारा तिब्बती ऊन, सुहागा, खाल तथा अन्यान्य उत्पादों के विनिमय ने इसको एक बड़ी मण्डी के रूप में प्रतिष्ठापित किया। 1950-60 के दशक तक लाल इमली तथा धारीवाल जैसी प्रतिष्ठित वस्त्र कम्पनियों द्वारा बागेश्वर मण्डी से कच्चा ऊन क्रय किया जाता था। .

नई!!: नई दिल्ली और बागेश्वर · और देखें »

बाङ्ला भाषा

बाङ्ला भाषा अथवा बंगाली भाषा (बाङ्ला लिपि में: বাংলা ভাষা / बाङ्ला), बांग्लादेश और भारत के पश्चिम बंगाल और उत्तर-पूर्वी भारत के त्रिपुरा तथा असम राज्यों के कुछ प्रान्तों में बोली जानेवाली एक प्रमुख भाषा है। भाषाई परिवार की दृष्टि से यह हिन्द यूरोपीय भाषा परिवार का सदस्य है। इस परिवार की अन्य प्रमुख भाषाओं में हिन्दी, नेपाली, पंजाबी, गुजराती, असमिया, ओड़िया, मैथिली इत्यादी भाषाएँ हैं। बंगाली बोलने वालों की सँख्या लगभग २३ करोड़ है और यह विश्व की छठी सबसे बड़ी भाषा है। इसके बोलने वाले बांग्लादेश और भारत के अलावा विश्व के बहुत से अन्य देशों में भी फ़ैले हैं। .

नई!!: नई दिल्ली और बाङ्ला भाषा · और देखें »

बिपिन चंद्र जोशी

जनरल बिपीन चंद्र जोशी, पीवीएसएम, एवीएसएम, एडीसी (५ दिसंबर 1935 - 19 नवंबर १९९४) भारतीय सेना के १७ वें चीफ ऑफ आर्मी स्टाफ (सीओएएस) थे। उनका जन्म उत्तराखंड के पिथौरागढ़ में हुआ था। .

नई!!: नई दिल्ली और बिपिन चंद्र जोशी · और देखें »

बिप्लब कुमार देब

बिप्लब कुमार देब (जन्म 25 नवम्बर 1969) भारतीय राज्य त्रिपुरा के राजनीतिज्ञ हैं। वें 7 जनवरी 2016 से त्रिपुरा में भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष हैं। वे 2018 में हुए त्रिपुरा विधानसभा चुनाव में भाजपा के जीत के सूत्रधार हैं। उन्होंने 9 मार्च 2018 को त्रिपुरा के दसवें मुख्यमन्त्री के रूप में शपथ ली। .

नई!!: नई दिल्ली और बिप्लब कुमार देब · और देखें »

बिबेक देबराय

बिबेक देबराय (जन्म 25 जनवरी 1955) भारत के एक अर्थशास्त्री हैं। मार्च 2007 से जनवरी 2015 तक वे नीति अनुसंधान केन्द्र में प्राध्यापक थे। श्रेणी:भारत के अर्थशास्त्री.

नई!!: नई दिल्ली और बिबेक देबराय · और देखें »

बिरजू महाराज

पंडित बृजमोहन मिश्र (जिन्हें बिरजू महाराज भी कहा जाता है)(जन्म: ४ फ़रवरी १९३८) प्रसिद्ध भारतीय कथक नर्तक एवं शास्त्रीय गायक हैं। ये शास्त्रीय कथक नृत्य के लखनऊ कालिका-बिन्दादिन घराने के अग्रणी नर्तक हैं। पंडित जी कथक नर्तकों के महाराज परिवार के वंशज हैं जिसमें अन्य प्रमुख विभूतियों में इनके दो चाचा व ताऊ, शंभु महाराज एवं लच्छू महाराज; तथा इनके स्वयं के पिता एवं गुरु अच्छन महाराज भी आते हैं। हालांकि इनका प्रथम जुड़ाव नृत्य से ही है, फिर भी इनकी हिन्दुस्तानी शास्त्रीय गायन पर भी अच्छी पकड़ है, तथा ये एक अच्छे शास्त्रीय गायक भी हैं। इन्होंने कत्थक नृत्य में नये आयाम नृत्य-नाटिकाओं को जोड़कर उसे नई ऊंचाइयों तक पहुंचाया।।बीबीसी हिंदी। प्रीति मान, फ़ोटो पत्रकार।21 नवंबर 2015 इन्होंने कत्थक हेतु '''कलाश्रम''' की स्थापना भी की है। इसके अलावा इन्होंने विश्व पर्यन्त भ्रमण कर सहस्रों नृत्य कार्यक्रम करने के साथ-साथ कत्थक शिक्षार्थियों हेतु सैंकड़ों कार्यशालाएं भी आयोजित की हैं। अपने चाचा, शम्भू महाराज के साथ नई दिल्ली स्थित भारतीय कला केन्द्र, जिसे बाद में कत्थक केन्द्र कहा जाने लगा; उसमें काम करने के बाद इस केन्द्र के अध्यक्ष पर भी कई वर्षों तक आसीन रहे। तत्पश्चात १९९८ में वहां से सेवानिवृत्त होने पर अपना नृत्य विद्यालय कलाश्रम भी दिल्ली में ही खोला। .

नई!!: नई दिल्ली और बिरजू महाराज · और देखें »

बिलासपुर राजधानी एक्स्प्रेस डाउन

बिलासपुर राजधानी एक्स्प्रेस (ट्रेन संख्या: 2442) भारतीय रेल की एक राजधानी एक्स्प्रेस रेलगाड़ी है। यह नई दिल्ली (स्टेशन कोड: NDLS) से 08:40PM बजे छूटती है। यह ट्रेन हावड़ा जंक्शन (स्टेशन कोड: HWH) पर 04:30AM बजे पहुंचती है। यह ट्रेन बुधवार, गुरुवार, के दिन चलती है। इसका कुल यात्रा का समय 31 घंटे 50 मिनट है। श्रेणी:राजधानी रेल.

नई!!: नई दिल्ली और बिलासपुर राजधानी एक्स्प्रेस डाउन · और देखें »

बिलासपुर राजधानी एक्स्प्रेस अप

बिलासपुर राजधानी एक्स्प्रेस (ट्रेन संख्या: 2441) भारतीय रेल की एक राजधानी एक्स्प्रेस रेलगाड़ी है। यह हावड़ा जंक्शन (स्टेशन कोड: HWH) से 09:25PM बजे छूटती है। यह ट्रेन नई दिल्ली (स्टेशन कोड: NDLS) पर 06:05AM बजे पहुंचती है। यह ट्रेन शुक्रवार, शनिवार, के दिन चलती है। इसका कुल यात्रा का समय 32 घंटे 40 मिनट है। श्रेणी:राजधानी रेल.

नई!!: नई दिल्ली और बिलासपुर राजधानी एक्स्प्रेस अप · और देखें »

बिग मैजिक

बिग मैजिक एक हिन्दी हास्य प्रधान टीवी चैनल है। यह भारत के एक बड़े दर्शक वर्ग को अपनी ओर आकर्षित करने में सफल रहा है। दिसम्बर 2016 में ज़ी मनोरंजन उद्योग ने इस चैनल का अधिग्रहण कर लिया है जिस कारण अब बिग मैजिक ज़ी टीवी के कार्यक्रमों का पुनः प्रसारण भी करता है। .

नई!!: नई दिल्ली और बिग मैजिक · और देखें »

बजरंगी भाईजान

बजरंगी भाईजान भारतीय बॉलीवुड नाट्य फ़िल्म है जिसका निर्देशन कबीर खान ने व निर्माण सलमान खान और रॉकलिन वेंकटेश ने किया है। इसमें सलमान खान, करीना कपूर खान व नवाज़ुद्दीन सिद्दीकी मुख्य पत्रों के रूप में हैं। यह फ़िल्म 17 जुलाई 2015 को सिनेमाघरों में प्रदर्शित हुई। .

नई!!: नई दिल्ली और बजरंगी भाईजान · और देखें »

बंगाल का विभाजन (1905)

पूर्वी बंगाल और असम प्रांत के मानचित्र बंगाल विभाजन के निर्णय की घोषणा 19 जुलाई 1905 को भारत के तत्कालीन वाइसराय लॉर्ड कर्ज़न द्वारा की गयी थी। विभाजन 16 अक्टूबर 1905 से प्रभावी हुआ। विभाजन के कारण उत्पन्न उच्च स्तरीय राजनीतिक अशांति के कारण 1911 में दोनो तरफ की भारतीय जनता के दबाव की वजह से बंगाल के पूर्वी एवं पश्चिमी हिस्से पुनः एक हो गए। .

नई!!: नई दिल्ली और बंगाल का विभाजन (1905) · और देखें »

बुलन्द दरवाज़ा

बुलन्द दरवाजा़ आगरा शहर से ४३ किमी दूर फतेहपुर सीकरी नामक स्थान पर स्थित एक दर्शनीय स्मारक है। इसका निर्माण अकबर ने १६०२ में करवाया था। बुलन्द शब्द का अर्थ महान या ऊँचा है। अपने नाम को सार्थक करने वाला यह स्मारक विश्व का सबसे बडा़ प्रवेशद्वार है। हिन्दू और फारसी स्थापत्य कला का अद्भुत उदाहरण होने के कारण इसे "भव्यता के द्वार" नाम से भी जाना जाता है। sumanअकबर पर विजय प्राप्त करने की स्मृति में बनवाए गए इस प्रवेशद्वार के पूर्वी तोरण पर फारसी में शिलालेख अंकित हैं जो १६०१ में दक्कन पर अकबर की विजय के अभिलेख हैं। ४२ सीढ़ियों के ऊपर स्थित बुलन्द दरवाज़ा ५३.६३ मीटर ऊँचा और ३५ मीटर चौडा़ है। यह लाल बलुआ पत्थर से बना है जिसे सफेद संगमरमर से सजाया गया है। दरवाजे के आगे और स्‍तंभों पर कुरान की आयतें खुदी हुई हैं। यह दरवाजा एक बड़े आँगन और जामा मस्जिद की ओर खुलता है। समअष्टकोणीय आकार वाला यह दरवाज़ा गुम्बदों और मीनारों से सजा हुआ है। दरवाजे़ के तोरण पर ईसा मसीह से संबंधित कुछ पंक्तियाँ लिखी हैं जो इस प्रकार हैं: "मरियम के पुत्र यीशु ने कहा: यह संसार एक पुल के समान है, इस पर से गुज़रो अवश्य, लेकिन इस पर अपना घर मत बना लो। जो एक दिन की आशा रखता है वह चिरकाल तक आशा रख सकता है, जबकि यह संसार घंटे भर के लिये ही टिकता है, इसलिये अपना समय प्रार्थना में बिताओ क्योंकि उसके सिवा सब कुछ अदृश्य है" बुलंद दरवाज़े पर बाइबिल की इन पंक्तियों की उपस्थिति को अकबर को धार्मिक सहिष्णुता का प्रतीक माना जाता है। .

नई!!: नई दिल्ली और बुलन्द दरवाज़ा · और देखें »

ब्रिटिश राज

ब्रिटिश राज 1858 और 1947 के बीच भारतीय उपमहाद्वीप पर ब्रिटिश द्वारा शासन था। क्षेत्र जो सीधे ब्रिटेन के नियंत्रण में था जिसे आम तौर पर समकालीन उपयोग में "इंडिया" कहा जाता था‌- उसमें वो क्षेत्र शामिल थे जिन पर ब्रिटेन का सीधा प्रशासन था (समकालीन, "ब्रिटिश इंडिया") और वो रियासतें जिन पर व्यक्तिगत शासक राज करते थे पर उन पर ब्रिटिश क्राउन की सर्वोपरिता थी। .

नई!!: नई दिल्ली और ब्रिटिश राज · और देखें »

ब्रिटिश राज का इतिहास

ब्रिटिश राज का इतिहास, 1947 और 1858 के बीच भारतीय उपमहाद्वीप पर ब्रिटिश शासन की अवधि को संदर्भित करता है। शासन प्रणाली को 1858 में स्थापित किया गया था जब ब्रिटिश ईस्ट इंडिया कंपनी की सत्ता को महारानी विक्टोरिया के हाथों में सौंपते हुए राजशाही के अधीन कर दिया गया (और विक्टोरिया को 1876 में भारत की महारानी घोषित किया गया).

नई!!: नई दिल्ली और ब्रिटिश राज का इतिहास · और देखें »

ब्रिक्स

ब्रिक्स (BRICS) उभरती राष्ट्रीय अर्थव्यवस्थाओं के एक संघ का शीर्षक है। इसके घटक राष्ट्र ब्राज़ील, रूस, भारत, चीन और दक्षिण अफ्रीका हैं। इन्हीम देशों के अंग्रेज़ी में नाम के प्रथमाक्षरों B, R, I, C व S से मिलकर इस समूह का यह नामकरण हुआ है। मूलतः, २०१० में दक्षिण अफ्रीका के शामिल किए जाने से पहले इसे "ब्रिक" के नाम से जाना जाता था। रूस को छोडकर, ब्रिक्स के सभी सदस्य विकासशील या नव औद्योगीकृत देश हैं जिनकी अर्थव्यवस्था तेजी से बढ़ रही है। ये राष्ट्र क्षेत्रीय और वैश्विक मामलों पर महत्वपूर्ण प्रभाव डालते हैं। वर्ष २०१३ तक, पाँचों ब्रिक्स राष्ट्र दुनिया के लगभग 3 अरब लोगों का प्रतिनिधित्व करते हैं और एक अनुमान के अनुसार ये राष्ट्र संयुक्त विदेशी मुद्रा भंडार में ४ खरब अमेरिकी डॉलर का योगदान करते हैं। इन राष्ट्रों का संयुक्त सकल घरेलू उत्पाद १५ खरब अमेरिकी डॉलर का है। वर्तमान में, दक्षिण अफ्रीका ब्रिक्स समूह की अध्यक्षता करता है। .

नई!!: नई दिल्ली और ब्रिक्स · और देखें »

बृजेश सिंह

कुंवर बृजेश सिंह (म्रत्यु- ३१ अक्टूबर १९६६) कालाकांकर राजघराने से भारतीय कम्युनिस्ट नेता थे। वे भारत के भूतपूर्व विदेश मंत्री राजा दिनेश सिंह के चाचा थे। रूस के तानाशाह स्टालिन की बेटी स्वेतलाना एलिल्युयेवा और कालाकांकर के राजकुमार ब्रजेश सिंह के प्रेम प्रकरण ६० के दशक का चर्चित और विवादित मुद्दा रहा। अपनी बेटी स्वेतलाना एलिल्युयेवा को गोद में उठाये जोसेफ स्तालिन स्वेतलाना रूसी तानाशाह जोसेफ स्तालिन की सबसे छोटी बेटी थी और शायद स्तालिन की सबसे प्रिय संतान भी। बृजेश सिंह भारतीय कम्युनिस्ट नेता थे और इलाज करवाने रूस गए थे। बृजेश सिंह कालाकांकर के राजघराने से थे और उनके भतीजे दिनेश सिंह केंद्र सरकार में मंत्री रहे थे। बृजेश सिंह काफी पढ़े-लिखे, नफीस और सौम्य व्यक्ति थे और उनसे स्वेतलाना का प्रेम संबंध हो गया। लेकिन सोवियत सरकार ने उन्हें शादी की अनुमति नहीं दी। बृजेश सिंह की मृत्यु १९६७ में मास्को में हो गई और उनका शव लेकर स्वेतलाना भारत आईं। नई दिल्ली में वह सोवियत अधिकारियों और जासूसों को चकमा देकर अमेरिकी दूतावास पहुंच गईं। उन्होंने अमेरिका में राजनीतिक शरण मांगी और बाद में अमेरिका और इंग्लैंड में रहीं। यह शीत युद्ध के चरम का वह दौर था और तब स्तालिन की बेटी का अमेरिका से शरण मांगना और सोवियत व्यवस्था को नकार देना बहुत बड़ी खबर थी। भारत में यह संवेदनशील मुद्दा इसलिए था कि स्वेतलाना ने भारत आकर यह किया था और तब भारत के सोवियत संघ और अमेरिका दोनों से अच्छे रिश्ते थे। भारत पूरी तरह सोवियत कैंप में नहीं गया था, लेकिन भारतीय विदेश नीति का झुकाव सोवियत संघ की ओर था। अमेरिका भी इसे तूल नहीं देना चाहता था, क्योंकि तब अमेरिका-रूस संबंधों में थोड़ी बेहतरी आने लगी थी। ऐसे में स्वेतलाना को पहले स्विट्जरलैंड भेजा गया और वहां से कुछ समय बाद वह अमेरिका गईं। यह कहानी इस बात का भी प्रमाण है कि राजनीति और विचारधारा के झगड़े किसी की व्यक्तिगत जिंदगी को कितना प्रभावित करते हैं। बृजेश और स्वेतलाना के मामले में यह इसलिए भी महत्वपूर्ण था, क्योंकि वह २०वीं शताब्दी के सबसे विवादास्पद व्यक्तित्वों में से एक की संतान थी। तानाशाह स्टालिन की बेटी स्वेतलाना ने कालाकांकर के राजकुमार ब्रजेश सिंह से रिश्तों की पींगें बढ़ाई थीं, तब भूचाल उठ खड़ा हुआ था। भारत और सोवियत संघ की दोस्ती शुरुआती दौर में थी और उसके तन्तुओं को अभी मजबूत होना बाकी था। पर सियासत अपनी जगह, प्यार अपनी जगह। दोनों ने जिंदगी के अंतिम समय तक प्रेम की रीति को निभाया। ब्रजेश सिंह की मृत्यु के बाद स्वेतलाना उनकी अस्थियों को लेकर भारत आई थीं। उन्हें मालूम था कि हम हिन्दुस्तानियों की सबसे बड़ी इच्छा गंगा की गोद में विलीन हो जाना ही होती है। बाद में अप्रैल १९६७ में एक इंटरव्यू के दौरान उन्होंने कहा था कि मैं ब्रजेश सिंह की पत्नी हूँ। .

नई!!: नई दिल्ली और बृजेश सिंह · और देखें »

बैडमिंटन विश्व कप

बैडमिंटन का विश्व कप अंतरराष्ट्रीय प्रबंधन समूह द्वारा वार्षिक तौर पर आयोजित होने वाली एक विश्व स्तरीय प्रतियोगिता थी। यह 1981 से 1997 तक आयोजित हुई थी। इसके बाद यह प्रतियोगिता ७ वर्षों तक नहीं हुई। विश्व बैडमिंटन संघ ने इसे २००५ से फिर से सिर्फ़ आमंत्रण के आधार पर शुरू करने का निर्णय लिया। लेकिन २००६ के बाद यह भी खत्म हो गया। .

नई!!: नई दिल्ली और बैडमिंटन विश्व कप · और देखें »

बैरेटा (छोटी पिस्तौल)

बैरेटा (छोटी पिस्तौल) मूल रूप से यूएसए में बनी 20 कैलिबर की सबसे छोटी पिस्तौल थी जिसका अमेरिका के मेरीलैण्ड राज्य (उपनिवेश) के ऐकोकीक शहर में सन् 1985 तक उत्पादन हुआ। क्योंकि 1984 से इटली की बैरेटा कम्पनी ने इसके उन्नत मॉडल बैरेटा 21 A बॉबकैट (अं: Beretta 21 A Bobcat) के नाम से उत्पादन शुरू कर दिया था इसलिये अमरीका की यह सबसे छोटी पिस्तौल अब दुर्लभ शस्त्र की श्रेणी में आ गयी। आसानी से मनुष्य की हथेली में आ जाने वाली यह पिस्तौल जेब में भी आराम से रखी जा सकती थी। नाथूराम गोडसे ने इसी मॉडल की पिस्तौल से महात्मा गान्धी की हत्या की थी। मुकदमे के दौरान न्यायालय में नाथूराम गोडसे द्वारा दिये गये बयान के अनुसार इस प्रकार की पिस्तौल उसने नई दिल्ली में एक शरणार्थी से खरीदी थी। .

नई!!: नई दिल्ली और बैरेटा (छोटी पिस्तौल) · और देखें »

बेकल उत्साही

बेकल उत्साही (१९२८ – ३ दिसंबर २०१६) का वास्तविक नाम शफ़ी खाँ लोदी था। वे एक कवि, लेखक और राजीनीतिज्ञ थे। उत्साही हिंदी-उर्दू और अवधी भाषा से जुड़े थे। इन्ही भाषाओं करके उन्होंने कविताएँ और गीत लिखे हैं। इसके अलावा, उत्साही काँग्रेस पार्टी से जुड़े थे। वे राज्य सभा के सदस्य भी रहे। उत्साही को पद्मश्री और यश भारती सम्मान भी प्राप्त हुए। .

नई!!: नई दिल्ली और बेकल उत्साही · और देखें »

बी पी ओ

बिज़नेस प्रोसेस आउटसोर्सिंग (BPO) एक प्रकार की आउटसोर्सिंग (Outsourcing) प्रकिया है जिसमेंंं कि एक तीसरे पक्ष सेवा प्रदाता को संचालन और एक विशिष्ट व्यवसाय प्रक्रिया (या कार्य) की ज़िम्मेदारियों का करार दिया जाता है | मूलतः, इस प्रक्रिया का प्रयोग उत्पादन करने वाली कंपनियां जैसे कोका कोला (Coca Cola) करती थी जो की आउटसोर्सिंग (Outsourcing) का प्रयोग अपनी आपूर्ति श्रृंखला के बड़े वर्ग के लिए करती थी |. समकालीन संदर्भ में, यह प्रकिया मुख्य रूप से सेवाओं की आउटसोर्सिंग (outsourcing) के लिए प्रयोग की जाती है | बीपीओ (BPO) आमतौर पर बैक ऑफिस (Back Office) में वर्गीकृत आउटसोर्सिंग है - जिसमेंं आंतरिक व्यापार कार्य जैसे मानव संसाधन या वित्त और लेखांकन शामिल है और फ्रंट ऑफिस (front office) आउटसोर्सिंग (outsourcing) जिसमेंं ग्राहक सम्बंधित सेवा जैसे संपर्क सेवा केंद्र शामिल है | बीपीओ (BPO) जिसमेंं किसी कंपनी को देश के बाहर अनुबंधित किया उसे अपतटीय आउटसोर्सिंग (Offshore Outsourcing) कहते है | बीपीओ जिसमेंं किसी पड़ोसी देश (या आसपास) की कंपनी को अनुबंधित किया जाता है उसको नेअर्शोर आउटसोर्सिंग (Nearshore Outsourcing) कहते है | सूचना प्रौद्योगिकी उद्योग और बीपीओ की निकटता को देखते हुए इसे सूचना प्रौद्योगिकी समर्थित सेवा या आईटीईएस (ITES) के रूप में वर्गीकृत किया गया है | नॉलेज प्रोसेस आउटसोर्सिंग (Knowledge Process Outsourcing - KPO) औरलीगल प्रोसेस आउटसोर्सिंग (Legal Process Outsourcing - LPO) बिज़नेस प्रोसेस आउटसोर्सिंग (BPO) उद्योग के उपभाग है | .

नई!!: नई दिल्ली और बी पी ओ · और देखें »

बीमा लोकपाल

बीमा अनुबंध भारत सरकार .

नई!!: नई दिल्ली और बीमा लोकपाल · और देखें »

भारत

भारत (आधिकारिक नाम: भारत गणराज्य, Republic of India) दक्षिण एशिया में स्थित भारतीय उपमहाद्वीप का सबसे बड़ा देश है। पूर्ण रूप से उत्तरी गोलार्ध में स्थित भारत, भौगोलिक दृष्टि से विश्व में सातवाँ सबसे बड़ा और जनसंख्या के दृष्टिकोण से दूसरा सबसे बड़ा देश है। भारत के पश्चिम में पाकिस्तान, उत्तर-पूर्व में चीन, नेपाल और भूटान, पूर्व में बांग्लादेश और म्यान्मार स्थित हैं। हिन्द महासागर में इसके दक्षिण पश्चिम में मालदीव, दक्षिण में श्रीलंका और दक्षिण-पूर्व में इंडोनेशिया से भारत की सामुद्रिक सीमा लगती है। इसके उत्तर की भौतिक सीमा हिमालय पर्वत से और दक्षिण में हिन्द महासागर से लगी हुई है। पूर्व में बंगाल की खाड़ी है तथा पश्चिम में अरब सागर हैं। प्राचीन सिन्धु घाटी सभ्यता, व्यापार मार्गों और बड़े-बड़े साम्राज्यों का विकास-स्थान रहे भारतीय उपमहाद्वीप को इसके सांस्कृतिक और आर्थिक सफलता के लंबे इतिहास के लिये जाना जाता रहा है। चार प्रमुख संप्रदायों: हिंदू, बौद्ध, जैन और सिख धर्मों का यहां उदय हुआ, पारसी, यहूदी, ईसाई, और मुस्लिम धर्म प्रथम सहस्राब्दी में यहां पहुचे और यहां की विविध संस्कृति को नया रूप दिया। क्रमिक विजयों के परिणामस्वरूप ब्रिटिश ईस्ट इण्डिया कंपनी ने १८वीं और १९वीं सदी में भारत के ज़्यादतर हिस्सों को अपने राज्य में मिला लिया। १८५७ के विफल विद्रोह के बाद भारत के प्रशासन का भार ब्रिटिश सरकार ने अपने ऊपर ले लिया। ब्रिटिश भारत के रूप में ब्रिटिश साम्राज्य के प्रमुख अंग भारत ने महात्मा गांधी के नेतृत्व में एक लम्बे और मुख्य रूप से अहिंसक स्वतन्त्रता संग्राम के बाद १५ अगस्त १९४७ को आज़ादी पाई। १९५० में लागू हुए नये संविधान में इसे सार्वजनिक वयस्क मताधिकार के आधार पर स्थापित संवैधानिक लोकतांत्रिक गणराज्य घोषित कर दिया गया और युनाईटेड किंगडम की तर्ज़ पर वेस्टमिंस्टर शैली की संसदीय सरकार स्थापित की गयी। एक संघीय राष्ट्र, भारत को २९ राज्यों और ७ संघ शासित प्रदेशों में गठित किया गया है। लम्बे समय तक समाजवादी आर्थिक नीतियों का पालन करने के बाद 1991 के पश्चात् भारत ने उदारीकरण और वैश्वीकरण की नयी नीतियों के आधार पर सार्थक आर्थिक और सामाजिक प्रगति की है। ३३ लाख वर्ग किलोमीटर क्षेत्रफल के साथ भारत भौगोलिक क्षेत्रफल के आधार पर विश्व का सातवाँ सबसे बड़ा राष्ट्र है। वर्तमान में भारतीय अर्थव्यवस्था क्रय शक्ति समता के आधार पर विश्व की तीसरी और मानक मूल्यों के आधार पर विश्व की दसवीं सबसे बडी अर्थव्यवस्था है। १९९१ के बाज़ार-आधारित सुधारों के बाद भारत विश्व की सबसे तेज़ विकसित होती बड़ी अर्थ-व्यवस्थाओं में से एक हो गया है और इसे एक नव-औद्योगिकृत राष्ट्र माना जाता है। परंतु भारत के सामने अभी भी गरीबी, भ्रष्टाचार, कुपोषण, अपर्याप्त सार्वजनिक स्वास्थ्य-सेवा और आतंकवाद की चुनौतियां हैं। आज भारत एक विविध, बहुभाषी, और बहु-जातीय समाज है और भारतीय सेना एक क्षेत्रीय शक्ति है। .

नई!!: नई दिल्ली और भारत · और देखें »

भारत तिब्बत सीमा पुलिस

भारतीय तिब्बत सीमा पुलिस (Indo-Tibetan Border Police) भारतीय अर्ध-सैनिक बल है। इसकी स्थापना २४ अक्टूबर १९६२ में भारत-तिब्बत सीमा की चीन के तिब्बत स्वायत्त क्षेत्र से रक्षा हेतु की गई थी। ये बल इस सीमा पर काराकोरम दर्रा से लिपुलेख दर्रा और भारत-नेपाल-चीन त्रिसंगम तक २११५ कि॰मी॰ की लंबाई पर फैली सीमा की रक्षा करता है। आरंभ में इसकी मात्र चार बटालियन की अनुमत थीं, जिन्हें बाद में १९७६ में बल की कार्य-सीमा बढ़ाने पर १९७८ में बढोत्तरी की गई। .

नई!!: नई दिल्ली और भारत तिब्बत सीमा पुलिस · और देखें »

भारत भूषण (योगी)

भारत भूषण (योगी) (अंग्रेजी: Bharat Bhushan (Yogi), जन्म: 30 अप्रैल 1952) एक भारतीय योग शिक्षक हैं। गृहस्थ धर्म का पालन करते हुए उन्होंने पूर्णत: सन्यस्त भाव से देश-विदेश में योग को प्रचारित और प्रसारित करने का उल्लेखनीय कार्य किया। भारत सरकार ने सन १९९१ में उन्हें पद्म श्री की उपाधि से अलंकृत किया। योग एवं शिक्षा के क्षेत्र में राष्ट्रपति से पद्म श्री सम्मान प्राप्त करने वाले वे प्रथम भारतीय हैं। योग के साथ-साथ बॉडी बिल्डिंग में भी उन्हें भारतश्री का अतिविशिष्ट सम्मान मिल चुका है। उनका ऐसा मानना है कि योग में ही समस्त मनुष्य जाति की शारीरिक, मानसिक, सामाजिक, राष्ट्रीय और अन्तर्राष्ट्रीय समस्याओं का एकमात्र समाधान निहित है। .

नई!!: नई दिल्ली और भारत भूषण (योगी) · और देखें »

भारत में ऊष्मा लहर २०१५

भारत में अप्रैल/मई २०१५ ऊष्मा लहर २६ मई तक १००० से अधिक लोगों की मृत्यु हो गयी और विभिन्न क्षेत्र इससे प्रभावित हुये। भारतीय शुष्क मौसम में ऊष्मीय लहरें चलती हैं जिन्हें लू भी कहा जाता है। ये मुख्यतः मार्च से आरम्भ होकर मई तक चलती हैं। .

नई!!: नई दिल्ली और भारत में ऊष्मा लहर २०१५ · और देखें »

भारत में धर्म

तवांग में गौतम बुद्ध की एक प्रतिमा. बैंगलोर में शिव की एक प्रतिमा. कर्नाटक में जैन ईश्वरदूत (या जिन) बाहुबली की एक प्रतिमा. 2 में स्थित, भारत, दिल्ली में एक लोकप्रिय पूजा के बहाई हॉउस. भारत एक ऐसा देश है जहां धार्मिक विविधता और धार्मिक सहिष्णुता को कानून तथा समाज, दोनों द्वारा मान्यता प्रदान की गयी है। भारत के पूर्ण इतिहास के दौरान धर्म का यहां की संस्कृति में एक महत्त्वपूर्ण स्थान रहा है। भारत विश्व की चार प्रमुख धार्मिक परम्पराओं का जन्मस्थान है - हिंदू धर्म, जैन धर्म, बौद्ध धर्म तथा सिक्ख धर्म.

नई!!: नई दिल्ली और भारत में धर्म · और देखें »

भारत में पर्यटन

हर साल, 3 मिलियन से अधिक पर्यटक आगरा में ताज महल देखने आते हैं। भारत में पर्यटन सबसे बड़ा सेवा उद्योग है, जहां इसका राष्ट्रीय सकल घरेलू उत्पाद (GDP) में 6.23% और भारत के कुल रोज़गार में 8.78% योगदान है। भारत में वार्षिक तौर पर 5 मिलियन विदेशी पर्यटकों का आगमन और 562 मिलियन घरेलू पर्यटकों द्वारा भ्रमण परिलक्षित होता है। 2008 में भारत के पर्यटन उद्योग ने लगभग US$100 बिलियन जनित किया और 2018 तक 9.4% की वार्षिक वृद्धि दर के साथ, इसके US$275.5 बिलियन तक बढ़ने की उम्मीद है। भारत में पर्यटन के विकास और उसे बढ़ावा देने के लिए पर्यटन मंत्रालय नोडल एजेंसी है और "अतुल्य भारत" अभियान की देख-रेख करता है। विश्व यात्रा और पर्यटन परिषद के अनुसार, भारत, सर्वाधिक 10 वर्षीय विकास क्षमता के साथ, 2009-2018 से पर्यटन का आकर्षण केंद्र बन जाएगा.

नई!!: नई दिल्ली और भारत में पर्यटन · और देखें »

भारत में पर्यावरणीय समस्याएं

गंगा बेसिन के ऊपर मोटी धुंध और धुआं. तेजी से बढ़ती हुई जनसंख्या व आर्थिक विकास के कारण भारत में कई पर्यावरणीय समस्याएं उत्पन्न हो रही हैं और इसके पीछे शहरीकरण व औद्योगीकरण में अनियंत्रित वृद्धि, बड़े पैमाने पर कृषि का विस्तार तथा तीव्रीकरण, तथा जंगलों का नष्ट होना है। प्रमुख पर्यावरणीय मुद्दों में वन और कृषि-भूमिक्षरण, संसाधन रिक्तीकरण (पानी, खनिज, वन, रेत, पत्थर आदि), पर्यावरण क्षरण, सार्वजनिक स्वास्थ्य, जैव विविधता में कमी, पारिस्थितिकी प्रणालियों में लचीलेपन की कमी, गरीबों के लिए आजीविका सुरक्षा शामिल हैं। यह अनुमान है कि देश की जनसंख्या वर्ष 2018 तक 1.26 अरब तक बढ़ जाएगी.

नई!!: नई दिल्ली और भारत में पर्यावरणीय समस्याएं · और देखें »

भारत में प्रकाशित होने वाले समाचार पत्रों की सूची

भारत में प्रकाशित होने वाले समाचार पत्रों की सूची। भारत ने सर्वाधिक हिंदी भाषा के समाचार पत्र सर्कुलेट होते हैं उसके बाद इंग्लिश और उर्दू समाचारपत्रों का स्थान है। .

नई!!: नई दिल्ली और भारत में प्रकाशित होने वाले समाचार पत्रों की सूची · और देखें »

भारत में फिलिस्तीन का दूतावास

भारत में फिलिस्तीन राज्य का दूतावास: (अरबी: سفارة دولة فلسطين لدى الهند) भारत में फिलिस्तीन का दूतावास राजनयिक मिशन हेतु कार्य करता है यह दूतावास नई दिल्ली के चाणक्यपुरी में स्थित है।.

नई!!: नई दिल्ली और भारत में फिलिस्तीन का दूतावास · और देखें »

भारत में मानवाधिकार

देश के विशाल आकार और विविधता, विकसनशील तथा संप्रभुता संपन्न धर्म-निरपेक्ष, लोकतांत्रिक गणतंत्र के रूप में इसकी प्रतिष्ठा, तथा एक भूतपूर्व औपनिवेशिक राष्ट्र के रूप में इसके इतिहास के परिणामस्वरूप भारत में मानवाधिकारों की परिस्थिति एक प्रकार से जटिल हो गई है। भारत का संविधान मौलिक अधिकार प्रदान करता है, जिसमें धर्म की स्वतंत्रता भी अंतर्भूक्त है। संविधान की धाराओं में बोलने की आजादी के साथ-साथ कार्यपालिका और न्यायपालिका का विभाजन तथा देश के अन्दर एवं बाहर आने-जाने की भी आजादी दी गई है। यह अक्सर मान लिया जाता है, विशेषकर मानवाधिकार दलों और कार्यकर्ताओं के द्वारा कि दलित अथवा अछूत जाति के सदस्य पीड़ित हुए हैं एवं लगातार पर्याप्त भेदभाव झेलते रहे हैं। हालांकि मानवाधिकार की समस्याएं भारत में मौजूद हैं, फिर भी इस देश को दक्षिण एशिया के दूसरे देशों की तरह आमतौर पर मानवाधिकारों को लेकर चिंता का विषय नहीं माना जाता है। इन विचारों के आधार पर, फ्रीडम हाउस द्वारा फ्रीडम इन द वर्ल्ड 2006 को दिए गए रिपोर्ट में भारत को राजनीतिक अधिकारों के लिए दर्जा 2, एवं नागरिक अधिकारों के लिए दर्जा 3 दिया गया है, जिससे इसने स्वाधीन की संभतः उच्चतम दर्जा (रेटिंग) अर्जित की है। .

नई!!: नई दिल्ली और भारत में मानवाधिकार · और देखें »

भारत में रेलवे स्टेशनों की सूची

शिकोहाबाद तहसील के ग्राम नगला भाट में श्री मुकुट सिंह यादव जो ग्राम पंचायत रूपसपुर से प्रधान भी रहे हैं उनके तीन पुत्र हैं गजेंद्र यादव नगेन्द्र यादव पुष्पेंद्र यादव प्रधान जी का जन्म सन १९५० में हुआ था उन्होंने अपना सारा जीवन ग़रीबों के लिए क़ुर्बान कर दिया था और वो ५ भाईओ में सबसे छोटे थे और अपने परिवार को बाँधे रखा ११ मार्च २०१५ को उनका देहावसान हो गया ! वो आज भी हमारे दिलों में ज़िंदा हैं इस लेख में भारत में रेलवे स्टेशनों की सूची है। भारत में रेलवे स्टेशनों की कुल संख्या 7,000 और 8,500 के बीच अनुमानित है। भारतीय रेलवे एक लाख से अधिक लोगों को रोजगार देने के साथ दुनिया में चौथा सबसे बड़ा नियोक्ता है। सूची तस्वीर गैलरी निम्नानुसार है। .

नई!!: नई दिल्ली और भारत में रेलवे स्टेशनों की सूची · और देखें »

भारत में संचार

भारतीय दूरसंचार उद्योग दुनिया का सबसे तेजी से बढ़ता दूरसंचार उद्योग है, जिसके पास अगस्त 2010http://www.trai.gov.in/WriteReadData/trai/upload/PressReleases/767/August_Press_release.pdf तक 706.37 मिलियन टेलीफोन (लैंडलाइन्स और मोबाइल) ग्राहक तथा 670.60 मिलियन मोबाइल फोन कनेक्शन्स हैं। वायरलेस कनेक्शन्स की संख्या के आधार पर यह दूरसंचार नेटवर्क मुहैया करने वाले देशों में चीन के बाद दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा देश है। भारतीय मोबाइल ग्राहक आधार आकार में कारक के रूप में एक सौ से अधिक बढ़ी है, 2001 में देश में ग्राहकों की संख्या लगभग 5 मिलियन थी, जो अगस्त 2010 में बढ़कर 670.60 मिलियन हो गयी है। चूंकि दूरसंचार उद्योग दुनिया में तेजी से बढ़ रहा है, इसलिए यह अनुमान लगाया जा रहा है कि 2013 तक भारत में 1.159 बिलियन मोबाइल उपभोक्ता हो जायेंगे.

नई!!: नई दिल्ली और भारत में संचार · और देखें »

भारत में विमानक्षेत्रों की सूची

यह सूची भारत के विमानक्षेत्रों की है। भारत में विमानक्षेत्रों और बंदरगाहों को दर्शाता हुआ मानचित्र .

नई!!: नई दिल्ली और भारत में विमानक्षेत्रों की सूची · और देखें »

भारत में आतंकवाद

भारत बहुत समय से आतंकवाद का शिकार हो रहा है। भारत के काश्मीर, नागालैंड, पंजाब, असम, बिहार आदि विशेषरूप से आतंक से प्रभावित रहे हैं। यहाँ कई प्रकार के आतंकवादी जैसे पाकिस्तानी, इस्लामी, माओवादी, नक्सली, सिख, ईसाई आदि हैं। जो क्षेत्र आज आतंकवादी गतिविधियों से लम्बे समय से जुड़े हुए हैं उनमें जम्मू-कश्मीर, मुंबई, मध्य भारत (नक्सलवाद) और सात बहन राज्य (उत्तर पूर्व के सात राज्य) (स्वतंत्रता और स्वायत्तता के मामले में) शामिल हैं। अतीत में पंजाब में पनपे उग्रवाद में आंतकवादी गतिविधियां शामिल हो गयीं जो भारत देश के पंजाब राज्य और देश की राजधानी दिल्ली तक फैली हुई थीं। 2006 में देश के 608 जिलों में से कम से कम 232 जिले विभिन्न तीव्रता स्तर के विभिन्न विद्रोही और आतंकवादी गतिविधियों से पीड़ित थे। अगस्त 2008 में राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार एम.के.

नई!!: नई दिल्ली और भारत में आतंकवाद · और देखें »

भारत में इस्लाम

भारतीय गणतंत्र में हिन्दू धर्म के बाद इस्लाम दूसरा सर्वाधिक प्रचलित धर्म है, जो देश की जनसंख्या का 14.2% है (2011 की जनगणना के अनुसार 17.2 करोड़)। भारत में इस्लाम का आगमन करीब 7वीं शताब्दी में अरब के व्यापारियों के आने से हुआ था (629 ईसवी सन्‌) और तब से यह भारत की सांस्कृतिक और धार्मिक विरासत का एक अभिन्न अंग बन गया है। वर्षों से, सम्पूर्ण भारत में हिन्दू और मुस्लिम संस्कृतियों का एक अद्भुत मिलन होता आया है और भारत के आर्थिक उदय और सांस्कृतिक प्रभुत्व में मुसलमानों ने महती भूमिका निभाई है। हालांकि कुछ इतिहासकार ये दावा करते हैं कि मुसलमानों के शासनकाल में हिंदुओं पर क्रूरता किए गए। मंदिरों को तोड़ा गया। जबरन धर्मपरिवर्तन करा कर मुसलमान बनाया गया। ऐसा भी कहा जाता है कि एक मुसलमान शासक टीपू शुल्तान खुद ये दावा करता था कि उसने चार लाख हिंदुओं का धर्म परिवर्तन करवाया था। न्यूयॉर्क टाइम्स, प्रकाशित: 11 दिसम्बर 1992 विश्व में भारत एकमात्र ऐसा देश है जहां सरकार हज यात्रा के लिए विमान के किराया में सब्सिडी देती थी और २००७ के अनुसार प्रति यात्री 47454 खर्च करती थी। हालांकि 2018 से रियायत हटा ली गयी है। .

नई!!: नई दिल्ली और भारत में इस्लाम · और देखें »

भारत में कॉफी उत्पादन

भारत में कॉफी वन भारत में कॉफी बागान भारत में कॉफ़ी का उत्पादन मुख्य रूप से दक्षिण भारतीय राज्यों के पहाड़ी क्षेत्रों में होता है। यहां कुल 8200 टन कॉफ़ी का उत्पादन होता है जिसमें से कर्नाटक राज्य में अधिकतम 53 प्रतिशत, केरल में 28 प्रतिशत और तमिलनाडु में 11 प्रतिशत उत्पादन होता है। भारतीय कॉफी दुनिया भर की सबसे अच्छी गुणवत्ता की कॉफ़ी मानी जाती है, क्योंकि इसे छाया में उगाया जाता है, इसके बजाय दुनिया भर के अन्य स्थानों में कॉफ़ी को सीधे सूर्य के प्रकाश में उगाया जाता है। भारत में लगभग 250000 लोग कॉफ़ी उगाते हैं; इनमें से 98 प्रतिशत छोटे उत्पादक हैं। 2009 में, भारत का कॉफ़ी उत्पादन दुनिया के कुल उत्पादन का केवल 4.5% था। भारत में उत्पादन की जाने वाली कॉफ़ी का लगभग 80 प्रतिशत हिस्सा निर्यात कर दिया जाता है। निर्यात किये जाने वाले हिस्से का 70 प्रतिशत हिस्सा जर्मनी, रूस संघ, स्पेन, बेल्जियम, स्लोवेनिया, संयुक्त राज्य, जापान, ग्रीस, नीदरलैंड्स और फ्रांस को भेजा जाता है। इटली को कुल निर्यात का 29 प्रतिशत हिस्सा भेजा जाता है। अधिकांश निर्यात स्वेज़ नहर के माध्यम से किया जाता है। कॉफी भारत के तीन क्षेत्रों में उगाई जाती है। कर्नाटक, केरल और तमिलनाडु दक्षिणी भारत के पारम्परिक कॉफ़ी उत्पादक क्षेत्र हैं। इसके बाद देश के पूर्वी तट में उड़ीसा और आंध्र प्रदेश के गैर पारम्परिक क्षेत्रों में नए कॉफ़ी उत्पादक क्षेत्रों का विकास हुआ है। तीसरे क्षेत्र में उत्तर पूर्वी भारत के अरुणाचल प्रदेश, नागालैंड, त्रिपुरा, मिजोरम, मेघालय, मणिपुर और आसाम के राज्य शामिल हैं, इन्हें भारत के "सात बन्धु राज्यों" के रूप में जाना जाता है। भारतीय कॉफी, जिसे अधिकतर दक्षिणी भारत में मानसूनी वर्षा में उगाया जाता है, को "भारतीय मानसून कॉफ़ी" भी कहा जाता है। इसके स्वाद "सर्वश्रेष्ठ भारतीय कॉफ़ी के रूप में परिभाषित किया जाता है, पेसिफिक हाउस का फ्लेवर इसकी विशेषता है, लेकिन यह एक साधारण और नीरस ब्रांड है।" कॉफ़ी की चार ज्ञात किस्में हैं अरेबिका, रोबस्टा, पहली किस्म जिसे 17 वीं शताब्दी में कर्नाटक के बाबा बुदान पहाड़ी क्षेत्र में शुरू किया गया, का विपणन कई सालों से केंट और S.795 ब्रांड नामों के तहत किया जाता है। .

नई!!: नई दिल्ली और भारत में कॉफी उत्पादन · और देखें »

भारत रत्‍न

भारत रत्न भारत का सर्वोच्च नागरिक सम्मान है। यह सम्मान राष्ट्रीय सेवा के लिए दिया जाता है। इन सेवाओं में कला, साहित्य, विज्ञान, सार्वजनिक सेवा और खेल शामिल है। इस सम्मान की स्थापना 2 जनवरी 1954 में भारत के तत्कालीन राष्ट्रपति श्री राजेंद्र प्रसाद द्वारा की गई थी। अन्य अलंकरणों के समान इस सम्मान को भी नाम के साथ पदवी के रूप में प्रयुक्त नहीं किया जा सकता। प्रारम्भ में इस सम्मान को मरणोपरांत देने का प्रावधान नहीं था, यह प्रावधान 1955 में बाद में जोड़ा गया। तत्पश्चात् 13 व्यक्तियों को यह सम्मान मरणोपरांत प्रदान किया गया। सुभाष चन्द्र बोस को घोषित सम्मान वापस लिए जाने के उपरान्त मरणोपरान्त सम्मान पाने वालों की संख्या 12 मानी जा सकती है। एक वर्ष में अधिकतम तीन व्यक्तियों को ही भारत रत्न दिया जा सकता है। उल्लेखनीय योगदान के लिए भारत सरकार द्वारा दिए जाने वाले सम्मानों में भारत रत्न के पश्चात् क्रमशः पद्म विभूषण, पद्म भूषण और पद्मश्री हैं। .

नई!!: नई दिल्ली और भारत रत्‍न · और देखें »

भारत सरकार

भारत सरकार, जो आधिकारिक तौर से संघीय सरकार व आमतौर से केन्द्रीय सरकार के नाम से जाना जाता है, 29 राज्यों तथा सात केन्द्र शासित प्रदेशों के संघीय इकाई जो संयुक्त रूप से भारतीय गणराज्य कहलाता है, की नियंत्रक प्राधिकारी है। भारतीय संविधान द्वारा स्थापित भारत सरकार नई दिल्ली, दिल्ली से कार्य करती है। भारत के नागरिकों से संबंधित बुनियादी दीवानी और फौजदारी कानून जैसे नागरिक प्रक्रिया संहिता, भारतीय दंड संहिता, अपराध प्रक्रिया संहिता, आदि मुख्यतः संसद द्वारा बनाया जाता है। संघ और हरेक राज्य सरकार तीन अंगो कार्यपालिका, विधायिका व न्यायपालिका के अन्तर्गत काम करती है। संघीय और राज्य सरकारों पर लागू कानूनी प्रणाली मुख्यतः अंग्रेजी साझा और वैधानिक कानून (English Common and Statutory Law) पर आधारित है। भारत कुछ अपवादों के साथ अंतर्राष्ट्रीय न्यायालय के न्याय अधिकारिता को स्वीकार करता है। स्थानीय स्तर पर पंचायती राज प्रणाली द्वारा शासन का विकेन्द्रीकरण किया गया है। भारत का संविधान भारत को एक सार्वभौमिक, समाजवादी गणराज्य की उपाधि देता है। भारत एक लोकतांत्रिक गणराज्य है, जिसका द्विसदनात्मक संसद वेस्टमिन्स्टर शैली के संसदीय प्रणाली द्वारा संचालित है। इसके शासन में तीन मुख्य अंग हैं: न्यायपालिका, कार्यपालिका और व्यवस्थापिका। .

नई!!: नई दिल्ली और भारत सरकार · और देखें »

भारत सारावली

भुवन में भारत भारतीय गणतंत्र दक्षिण एशिया में स्थित स्वतंत्र राष्ट्र है। यह विश्व का सातवाँ सबसे बड़ देश है। भारत की संस्कृति एवं सभ्यता विश्व की सबसे पुरानी संस्कृति एवं सभ्यताओं में से है।भारत, चार विश्व धर्मों-हिंदू धर्म, सिख धर्म, बौद्ध धर्म, जैन धर्म के जन्मस्थान है और प्राचीन सिंधु घाटी सभ्यता का घर है। मध्य २० शताब्दी तक भारत अंग्रेजों के प्रशासन के अधीन एक औपनिवेशिक राज्य था। अहिंसा के माध्यम से महात्मा गांधी जैसे नेताओं ने भारत देश को १९४७ में स्वतंत्र राष्ट्र बनाया। भारत, १२० करोड़ लोगों के साथ दुनिया का दूसरे सबसे अधिक आबादी वाला देश और दुनिया में सबसे अधिक आबादी वाला लोकतंत्र है। .

नई!!: नई दिल्ली और भारत सारावली · और देखें »

भारत संचार निगम लिमिटेड

भारत संचार निगम लिमिटेड(बी एस एन एल के नाम से जाने जाने वाला भारतीय संचार निगम लिमिटेड भारत का एक सार्वजनिक क्षेत्र की संचार कंपनी है ३१ मार्च २००८ को २४% के बाजार पूँजी के साथ यह भारत की सबसे बड़ी, संचार कंपनी है.इसका मुख्यालय भारत संचार भवन, हरीश चन्द्र माथुर लेन, जनपथ, नई दिल्ली में है इसके पास मिनी - रत्ना का दर्जा है - भारत में सम्मानित सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनियों को दिया गया एक दर्जा बीएसएनएल भारत का सबसे पुराने संचार सेवा प्रदाता (CSP) है बीएसएनएल को वर्तमान में 72,34 लाख (बेसिक तथा मोबाइल टेलीफोनी) एक ग्राहक आधार है इसके पद चिह्न महानगरोंमुंबई और नै दिल्ली (नई दिल्ली) जो एम् टी एन एल (MTNL) के द्वारा प्रबंधित प्रबंधित है, को छोड़ कर पूरे भारत में है ३१ मार्च२००८ के अनुसार बी एस एन एल ३१.५५ मिलियन बेतार, ४.५८ मिलियन की दी एम् ऐ -डब्लू एल एल और ३६. २१ मिलियन जी एस एम् मोबाइल ग्राहकों का नियंत्रण था ३१ मार्च२००७ को समाप्त हुए वित्तीय साल में बी एस एन एल की कमाई ३९७.१५ बिलियन रुपये (९.६७ बी) थी आज बी एस एन एल भारत का सबसे बड़ा टेल्को और और १०० बिलियन अमेरिकी दुलार के अनुमान के साथ सबसे बड़े सरकारी क्षेत्र के उपक्रमों में से एक है कंपनी ६ महीनो में १० % सार्वजनिक शेयर की योजना बना रही है .

नई!!: नई दिल्ली और भारत संचार निगम लिमिटेड · और देखें »

भारत स्थित संस्कृत विश्वविद्यालयों की सूची

भारत तथा के संस्कृत विश्वविद्यालयों की सूची नीचे दी गयी है-.

नई!!: नई दिल्ली और भारत स्थित संस्कृत विश्वविद्यालयों की सूची · और देखें »

भारत हेवी इलेक्ट्रिकल्स लिमिटेड

भारत हेवी इलेक्ट्रिकल्स लिमिटेड (बीएचइएल या भेल) भारत में सार्वजनिक क्षेत्र की इंजीनियरिंग व विनिर्माण क्षेत्र की सबसे बड़ी कंपनी है। बीएचईएल आज भारत में ऊर्जा संबंधी मूलभूत संरचना क्षेत्र में विशालतम इंजीनियरिंग एवं विनिर्माण उद्यम है। बीएचईएल की स्थापना हुए 5० वर्ष से अधिक समय बीत चुके है, जिसने भारत में देशी भारी विद्युत उपस्कर उद्योग को जन्म दिया। यह एक ऐसा सपना था, जो निष्पादन के शानदार ट्रैक रिकॉर्ड के साथ कल्पना से अधिक पूरा हुआ। कम्पनी १९७१-७२ से निरन्तर लाभ अर्जित कर रही है और १९७६-७७ से लाभांश का भुगतान कर रही है। बीएचईएल उत्तर प्रदेश के झाँसी शहर और बबीना टाउन के बीचों बीच बसा हुआ है। बीएचईएल ३० प्रमुख उत्पाद समूहों के अंतर्गत १८० से अधिक उत्पादों का विनिर्माण करता है और विद्युत उत्पादन एवं पारेषण, उद्योग, परिवहन, दूरसंचार, नवीकरण योग्य ऊर्जा आदि जैसे भारती अर्थव्यवस्था के प्रमुख क्षेत्रों की पूर्ति करता है। बीएचईएल के १५ विनिर्माण प्रभागों, पावर सेक्टर के ४ क्षेत्रीय केन्द्रों, १५० से अधिक परियोजना साइटों, ८ सेवा केन्द्रों और १८ क्षेत्रीय कार्यालयों का व्यापक नेटवर्क कम्पनी को अपने ग्राहकों की शीघ्रता से सेवा करने और उन्हें दक्षता के साथ एवं प्रतिस्पर्धात्मक मूल्यों पर उपयुक्त उत्पाद, प्रणालियों और सेवाएं उपलब्ध कराने में समर्थ करता है। इसके उत्पादों की गुणवत्ता का उच्च स्तर और विश्वसनीयता, इसके अपने अनुसंधान और विकास केन्द्रों में विकसित प्रौद्योगिकियों के साथ विश्व की अग्रणी कम्पनियों से सर्वोत्तम प्रौद्योगिकियों में से कुछ को प्राप्त करके और अनुकूल बनाकर अंतर्राष्ट्रीय मानकों के अनुरूप डिजाइन, इंजीनियरिंग और विनिर्माण पर बल द्ने के कारण है। बीएचईएल ने गुणवत्ता प्रबंधन प्रणाली (आईएसओ-९००१), पर्यावरण प्रबंधन प्रणाली (आईएसओ-१४००१) और व्यावसायिक स्वास्थ्य एवं सुरक्षा प्रबंधन प्रणाली (ओएचएसएएस १८००१) के लिए प्रमाणन प्राप्त कर चुका है तथा समग्र गुणवत्ता प्रबंधन के मार्ग पर अग्रसर है। बीएचईएल ने कैप्टिव और औद्योगिक प्रयोगकर्ताओं के लिए ९०,००० मे.वा.यूटिलिटीज से अधिक विद्युत उत्पादन के लिए उपस्कर स्थापित किए हैं।.

नई!!: नई दिल्ली और भारत हेवी इलेक्ट्रिकल्स लिमिटेड · और देखें »

भारत कला मेला

भारत कला मेला २०१६ का प्रतीक चिह्न भारत कला मेला (India Art Fair), भारत का एक कला मेला है जो प्रतिवर्ष नयी दिल्ली में लगता है। इसे पहले 'इण्डिया आर्ट समिट' कह जाता था। इसमें समसामयिक तथा आधुनिक भारतीय कला का प्रदर्शन होता है। .

नई!!: नई दिल्ली और भारत कला मेला · और देखें »

भारत का प्रधानमन्त्री

भारत गणराज्य के प्रधानमन्त्री (सामान्य वर्तनी:प्रधानमंत्री) का पद भारतीय संघ के शासन प्रमुख का पद है। भारतीय संविधान के अनुसार, प्रधानमन्त्री केंद्र सरकार के मंत्रिपरिषद् का प्रमुख और राष्ट्रपति का मुख्य सलाहकार होता है। वह भारत सरकार के कार्यपालिका का प्रमुख होता है और सरकार के कार्यों के प्रति संसद को जवाबदेह होता है। भारत की संसदीय राजनैतिक प्रणाली में राष्ट्रप्रमुख और शासनप्रमुख के पद को पूर्णतः विभक्त रखा गया है। सैद्धांतिकरूप में संविधान भारत के राष्ट्रपति को देश का राष्ट्रप्रमुख घोषित करता है और सैद्धांतिकरूप में, शासनतंत्र की सारी शक्तियों को राष्ट्रपति पर निहित करता है। तथा संविधान यह भी निर्दिष्ट करता है कि राष्ट्रपति इन अधिकारों का प्रयोग अपने अधीनस्थ अधकारियों की सलाह पर करेगा। संविधान द्वारा राष्ट्रपति के सारे कार्यकारी अधिकारों को प्रयोग करने की शक्ति, लोकतांत्रिक रूप से निर्वाचित, प्रधानमन्त्री को दी गयी है। संविधान अपने भाग ५ के विभिन्न अनुच्छेदों में प्रधानमन्त्रीपद के संवैधानिक अधिकारों और कर्तव्यों को निर्धारित करता है। भारतीय संविधान के अनुच्छेद ७४ में स्पष्ट रूप से मंत्रिपरिषद की अध्यक्षता तथा संचालन हेतु प्रधानमन्त्री की उपस्थिति को आवश्यक माना गया है। उसकी मृत्यु या पदत्याग की दशा मे समस्त परिषद को पद छोडना पडता है। वह स्वेच्छा से ही मंत्रीपरिषद का गठन करता है। राष्ट्रपति मंत्रिगण की नियुक्ति उसकी सलाह से ही करते हैं। मंत्री गण के विभाग का निर्धारण भी वही करता है। कैबिनेट के कार्य का निर्धारण भी वही करता है। देश के प्रशासन को निर्देश भी वही देता है तथा सभी नीतिगत निर्णय भी वही लेता है। राष्ट्रपति तथा मंत्रीपरिषद के मध्य संपर्कसूत्र भी वही हैं। मंत्रिपरिषद का प्रधान प्रवक्ता भी वही है। वह सत्तापक्ष के नाम से लड़ी जाने वाली संसदीय बहसों का नेतृत्व करता है। संसद मे मंत्रिपरिषद के पक्ष मे लड़ी जा रही किसी भी बहस मे वह भाग ले सकता है। मन्त्रीगण के मध्य समन्वय भी वही करता है। वह किसी भी मंत्रालय से कोई भी सूचना आवश्यकतानुसार मंगवा सकता है। प्रधानमन्त्री, लोकसभा में बहुमत-धारी दल का नेता होता है, और उसकी नियुक्ति भारत के राष्ट्रपति द्वारा लोकसभा में बहुमत सिद्ध करने पर होती है। इस पद पर किसी प्रकार की समय-सीमा निर्धारित नहीं की गई है परंतु एक व्यक्ति इस पद पर केवल तब तक रह सकता है जबतक लोकसभा में बहुमत उसके पक्ष में हो। संविधान, विशेष रूप से, प्रधानमन्त्री को केंद्रीय मंत्रिमण्डल पर पूर्ण नियंत्रण प्रदान करता है। इस पद के पदाधिकारी को सरकारी तंत्र पर दी गयी अत्यधिक नियंत्रणात्मक शक्ति, प्रधानमन्त्री को भारतीय गणराज्य का सबसे शक्तिशाली और प्रभावशाली व्यक्ति बनाती है। विश्व की सातवीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था, दूसरी सबसे बड़ी जनसंख्या, सबसे बड़े लोकतंत्र और विश्व की तीसरी सबसे बड़ी सैन्य बलों समेत एक परमाणु-शस्त्र राज्य के नेता होने के कारण भारतीय प्रधानमन्त्री को विश्व के सबसे शक्तिशाली और प्रभावशाली व्यक्तियों में गिना जाता है। वर्ष २०१० में फ़ोर्ब्स पत्रिका ने अपनी, विश्व के सबसे शक्तिशाली लोगों की, सूची में तत्कालीन प्रधानमन्त्री मनमोहन सिंह को १८वीं स्थान पर रखा था तथा २०१२ और २०१३ में उन्हें क्रमशः १९वें और २८वें स्थान पर रखा था। उनके उत्तराधिकारी, नरेंद्र मोदी को वर्ष २०१४ में १५वें स्थान पर तथा वर्ष २०१५ में विश्व का ९वाँ सबसे शक्तिशाली व्यक्ति नामित किया था। इस पद की स्थापना, वर्त्तमान कर्तव्यों और शक्तियों के साथ, २६ जनवरी १९४७ में, संविधान के परवर्तन के साथ हुई थी। उस समय से वर्त्तमान समय तक, इस पद पर कुल १५ पदाधिकारियों ने अपनी सेवा दी है। इस पद पर नियुक्त होने वाले पहले पदाधिकारी जवाहरलाल नेहरू थे जबकि भारत के वर्तमान प्रधानमन्त्री नरेंद्र मोदी हैं, जिन्हें 26 मई 2014 को इस पद पर नियुक्त किया गया था। .

नई!!: नई दिल्ली और भारत का प्रधानमन्त्री · और देखें »

भारत का भूगोल

भारत का भूगोल या भारत का भौगोलिक स्वरूप से आशय भारत में भौगोलिक तत्वों के वितरण और इसके प्रतिरूप से है जो लगभग हर दृष्टि से काफ़ी विविधतापूर्ण है। दक्षिण एशिया के तीन प्रायद्वीपों में से मध्यवर्ती प्रायद्वीप पर स्थित यह देश अपने ३२,८७,२६३ वर्ग किमी क्षेत्रफल के साथ विश्व का सातवाँ सबसे बड़ा देश है। साथ ही लगभग १.३ अरब जनसंख्या के साथ यह पूरे विश्व में चीन के बाद दूसरा सबसे अधिक जनसंख्या वाला देश भी है। भारत की भौगोलिक संरचना में लगभग सभी प्रकार के स्थलरूप पाए जाते हैं। एक ओर इसके उत्तर में विशाल हिमालय की पर्वतमालायें हैं तो दूसरी ओर और दक्षिण में विस्तृत हिंद महासागर, एक ओर ऊँचा-नीचा और कटा-फटा दक्कन का पठार है तो वहीं विशाल और समतल सिन्धु-गंगा-ब्रह्मपुत्र का मैदान भी, थार के विस्तृत मरुस्थल में जहाँ विविध मरुस्थलीय स्थलरुप पाए जाते हैं तो दूसरी ओर समुद्र तटीय भाग भी हैं। कर्क रेखा इसके लगभग बीच से गुजरती है और यहाँ लगभग हर प्रकार की जलवायु भी पायी जाती है। मिट्टी, वनस्पति और प्राकृतिक संसाधनो की दृष्टि से भी भारत में काफ़ी भौगोलिक विविधता है। प्राकृतिक विविधता ने यहाँ की नृजातीय विविधता और जनसंख्या के असमान वितरण के साथ मिलकर इसे आर्थिक, सामजिक और सांस्कृतिक विविधता प्रदान की है। इन सबके बावजूद यहाँ की ऐतिहासिक-सांस्कृतिक एकता इसे एक राष्ट्र के रूप में परिभाषित करती है। हिमालय द्वारा उत्तर में सुरक्षित और लगभग ७ हज़ार किलोमीटर लम्बी समुद्री सीमा के साथ हिन्द महासागर के उत्तरी शीर्ष पर स्थित भारत का भू-राजनैतिक महत्व भी बहुत बढ़ जाता है और इसे एक प्रमुख क्षेत्रीय शक्ति के रूप में स्थापित करता है। .

नई!!: नई दिल्ली और भारत का भूगोल · और देखें »

भारत का विभाजन

माउण्टबैटन योजना * पाकिस्तान का विभाजन * कश्मीर समस्या .

नई!!: नई दिल्ली और भारत का विभाजन · और देखें »

भारत का उच्चतम न्यायालय

भारत का उच्चतम न्यायालय या भारत का सर्वोच्च न्यायालय भारत का शीर्ष न्यायिक प्राधिकरण है जिसे भारतीय संविधान के भाग 5 अध्याय 4 के तहत स्थापित किया गया है। भारतीय संघ की अधिकतम और व्यापक न्यायिक अधिकारिता उच्चतम न्यायालय को प्राप्त हैं। भारतीय संविधान के अनुसार उच्चतम न्यायालय की भूमिका संघीय न्यायालय और भारतीय संविधान के संरक्षक की है। भारतीय संविधान के अनुच्छेद 124 से 147 तक में वर्णित नियम उच्चतम न्यायालय की संरचना और अधिकार क्षेत्रों की नींव हैं। उच्चतम न्यायालय सबसे उच्च अपीलीय अदालत है जो राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के उच्च न्यायालयों के फैसलों के खिलाफ अपील सुनता है। इसके अलावा, राज्यों के बीच के विवादों या मौलिक अधिकारों और मानव अधिकारों के गंभीर उल्लंघन से सम्बन्धित याचिकाओं को आमतौर पर उच्च्तम न्यायालय के समक्ष सीधे रखा जाता है। भारत के उच्चतम न्यायालय का उद्घाटन 28 जनवरी 1950 को हुआ और उसके बाद से इसके द्वारा 24,000 से अधिक निर्णय दिए जा चुके हैं। .

नई!!: नई दिल्ली और भारत का उच्चतम न्यायालय · और देखें »

भारत के नियन्त्रक एवं महालेखापरीक्षक

भारत के नियन्त्रक एवं महालेखापरीक्षक (अंग्रेजी: Comptroller and Auditor General of India संक्षिप्त नाम: CAG) भारतीय संविधान के अध्याय ५ द्वारा स्थापित एक प्राधिकारी है जो भारत सरकार तथा सभी प्रादेशिक सरकारों के सभी तरह के लेखों का अंकेक्षण करता है। वह सरकार के स्वामित्व वाली कम्पनियों का भी अंकेक्षण करता है। उसकी रिपोर्ट पर सार्वजनिक लेखा समितियाँ ध्यान देती है। भारत के नियंत्रक और महालेखापरीक्षक एक सवतंत्र संस्था के रूप में कार्य करते हैं और इस पर सरकार का नियंत्रण नहीं होता| भारत के नियन्त्र और महालेखापरीक्षक की नियुक्ति राष्ट्रपति द्वारा की जाती हैं| नियन्त्रक एवं महालेखापरीक्षक ही भारतीय लेखा परीक्षा और लेखा सेवा का भी मुखिया होता है। इस समय पूरे भारत की इस सार्वजनिक संस्था में ५८ हजार से अधिक कर्मचारी काम करते हैं। भारत के नियन्त्रक एवं महालेखापरीक्षक का कार्यालय 10 बहादुर शाह जफर मार्ग पर नई दिल्ली में स्थित है। वर्तमान समय में इस संस्थान के मुखिया राजीव महर्षि हैं। वे भारत के 13वें नियन्त्रक एवं महालेखापरीक्षक हैं। इनका कार्यकाल 6 वर्ष या 65 वर्ष की उम्र, जो भी पहले होगा, की अवधि के लिए राष्टपति द्वारा नियुक्त किया जाता है।केन्द अथवा राज्य सरकार के अनुरोध पर किसी भी सरकारी विभाग की जाँच करता है। .

नई!!: नई दिल्ली और भारत के नियन्त्रक एवं महालेखापरीक्षक · और देखें »

भारत के प्रस्तावित राज्य तथा क्षेत्र

भारत के प्रस्तावित राज्य तथा क्षेत्र भारत में नए राज्यों और क्षेत्रों के निर्माण का अधिकार पूरी तरह से भारत की संसद के लिए आरक्षित है। संसद नए राज्यों की घोषणा करके, किसी मौजूदा राज्य से एक क्षेत्र को अलग करके, या दो या दो से अधिक राज्यों या उसके हिस्सों में विलय करके ऐसा कर सकती है। मौजूदा उनत्तीस राज्यों और सात केंद्र शासित प्रदेशों के अलावा समय के साथ भारत में कई नए राज्यों और क्षेत्रों को स्थापित करने का प्रस्ताव रखा जाता रहा है। .

नई!!: नई दिल्ली और भारत के प्रस्तावित राज्य तथा क्षेत्र · और देखें »

भारत के मानित विश्वविद्यालय

भारत में उच्च शिक्षा संस्थान निजी व सार्वजनिक दोनों क्षेत्रों में हैं। सार्वजनिक विश्वविद्यालयों को सरकार (केन्द्र सरकार तथा राज्य सरकारों द्वारा) द्वारा वित्तीय सहायता प्राप्त होती है जबकि निजी विश्वविद्यालय विभिन्न संस्थाओं या समितियों द्वारा संचालित होते हैं। .

नई!!: नई दिल्ली और भारत के मानित विश्वविद्यालय · और देखें »

भारत के राष्ट्रपति

भारत के राष्ट्रपति, भारत गणराज्य के कार्यपालक अध्यक्ष होते हैं। संघ के सभी कार्यपालक कार्य उनके नाम से किये जाते हैं। अनुच्छेद 53 के अनुसार संघ की कार्यपालक शक्ति उनमें निहित हैं। वह भारतीय सशस्त्र सेनाओं का सर्वोच्च सेनानायक भी हैं। सभी प्रकार के आपातकाल लगाने व हटाने वाला, युद्ध/शांति की घोषणा करने वाला होता है। वह देश के प्रथम नागरिक हैं। भारतीय राष्ट्रपति का भारतीय नागरिक होना आवश्यक है। सिद्धांततः राष्ट्रपति के पास पर्याप्त शक्ति होती है। पर कुछ अपवादों के अलावा राष्ट्रपति के पद में निहित अधिकांश अधिकार वास्तव में प्रधानमंत्री की अध्यक्षता वाले मंत्रिपरिषद् के द्वारा उपयोग किए जाते हैं। भारत के राष्ट्रपति नई दिल्ली स्थित राष्ट्रपति भवन में रहते हैं, जिसे रायसीना हिल के नाम से भी जाना जाता है। राष्ट्रपति अधिकतम कितनी भी बार पद पर रह सकते हैं इसकी कोई सीमा तय नहीं है। अब तक केवल पहले राष्ट्रपति राजेन्द्र प्रसाद ने ही इस पद पर दो बार अपना कार्यकाल पूरा किया है। प्रतिभा पाटिल भारत की 12वीं तथा इस पद को सुशोभीत करने वाली पहली महिला राष्ट्रपति हैं। उन्होंने 25 जुलाई 2007 को पद व गोपनीयता की शपथ ली थी। - Fadoo Post - 14 july 2017 वर्तमान में राम नाथ कोविन्द भारत के चौदहवें राष्ट्रपति हैं। .

नई!!: नई दिल्ली और भारत के राष्ट्रपति · और देखें »

भारत के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार

राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (एनएसए) राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद (एनएससी) के मुख्य कार्यकारी एवम् भारत के प्रधान मंत्री के राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय सुरक्षा के प्राथमिक सलाहकार होते है। .

नई!!: नई दिल्ली और भारत के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार · और देखें »

भारत के राजनीतिक दलों की सूची

भारत में बहुदलीय प्रणाली बहु-दलीय पार्टी व्यवस्था है जिसमें छोटे क्षेत्रीय दल अधिक प्रबल हैं। राष्ट्रीय पार्टियां वे हैं जो चार या अधिक राज्यों में मान्यता प्राप्त हैं। उन्हें यह अधिकार भारत के चुनाव आयोग द्वारा दिया जाता है, जो विभिन्न राज्यों में समय समय पर चुनाव परिणामों की समीक्षा करता है। इस मान्यता की सहायता से राजनीतिक दल कुछ पहचानों पर अपनी स्थिति की अगली समीक्षा तक विशिष्ट स्वामित्व का दावा कर सकते हैं जैसे की पार्टी चिन्ह.

नई!!: नई दिल्ली और भारत के राजनीतिक दलों की सूची · और देखें »

भारत के राज्य तथा केन्द्र-शासित प्रदेश

भारत राज्यों का एक संघ है। इसमें उन्तीस राज्य और सात केन्द्र शासित प्रदेश हैं। ये राज्य और केन्द्र शासित प्रदेश पुनः जिलों और अन्य क्षेत्रों में बांटे गए हैं।.

नई!!: नई दिल्ली और भारत के राज्य तथा केन्द्र-शासित प्रदेश · और देखें »

भारत के राज्यों और संघ क्षेत्रों की राजधानियाँ

यह सूची भारत के राज्यों और केन्द्र-शासित प्रदेशों की राजधानियों की है। भारत में कुल 29 राज्य और 7 केन्द्र-शासित प्रदेश हैं। सभी राज्यों और दो केन्द्र-शासित प्रदेशों, दिल्ली और पौण्डिचेरी, में चुनी हुई सरकारें और विधानसभाएँ होती हैं, जो वॅस्टमिन्स्टर प्रतिमान पर आधारित हैं। अन्य पाँच केन्द्र-शासित प्रदेशों पर देश की केन्द्र सरकार का शासन होता है। 1956 में राज्य पुनर्गठन अधिनियम के अन्तर्गत राज्यों का निर्माण भाषाई आधार पर किया गया था, और तबसे यह व्यवस्था लगभग अपरिवर्तित रही है। प्रत्येक राज्य और केन्द्र-शासित प्रदेश प्रशासनिक इकाईयों में बँटा होता है। नीचे दी गई सूची में राज्यों और केन्द्र-शासित प्रदेशों की विभिन्न प्रकार की राजधानियाँ सूचीबद्ध हैं। प्रशासनिक राजधानी वह होती है जहाँ कार्यकारी सरकार के कार्यालय स्थित होते हैं, वैधानिक राजधानी वह है जहाँ से राज्य विधानसभा संचालित होती है, और न्यायपालिका राजधानी वह है जहाँ उस राज्य या राज्यक्षेत्र का उच्च न्यायालय स्थित होता है। .

नई!!: नई दिल्ली और भारत के राज्यों और संघ क्षेत्रों की राजधानियाँ · और देखें »

भारत के लिए बराक ओबामा की यात्रा

राष्ट्रपति ओबामा भारत नवम्बर 6, 2010 पर पहुंचे। उन्होने 6 नवम्बर 2010 को मुंबई में भारत-अमेरिका व्यापार और उद्यमिता के शिखर सम्मेलन को संबोधित किया, जिसके बाद उन्होने  2008 के मुंबई हमलों के शिकार लोगों को श्रद्धांजलि अर्पित की।राष्ट्रपति ओबामा ने अपनी मुंबई यात्रा के दौरान  मणि भवन, महात्मा गाँधी के घर का दौरा किया। सेंट ज़ेवियर्स कॉलेज, मुंबई की यात्रा पर एक छात्र के  प्रश्न का जवाब देते हुए ओबामा ने  कहा कि संयुक्त राज्य अमेरिका देश के भीतर एक कैंसर पर विचार को समाप्त करने के लिए पाकिस्तानी सरकार के साथ काम करने के लिए प्रतिबद्ध है| उन्होने भारत और पाकिस्तान के बीच मध्यस्थता करने से खारिज कर दिया और कहा कि यह अपने संबंध सुधारने के लिए  दो पड़ोसियों पर निर्भर है। उन्होने आतंकवादियों के खिलाफ लड़ाई में धीमी गति से चलने के लिए पाकिस्तान की आलोचना की। दिल्ली में अपने प्रवास के दौरान उन्होने मुगल सम्राट हुमायूं के मकबरे का दौरा किया और राज घाट पर मोहनदास करमचंद गांधी को श्रद्धांजलि अर्पित की। फिर ओबामा परिवार का   नई दिल्ली में राष्ट्रपति भवन में एक औपचारिक स्वागत किया गया। .

नई!!: नई दिल्ली और भारत के लिए बराक ओबामा की यात्रा · और देखें »

भारत के सर्वाधिक जनसंख्या वाले शहरों की सूची

यह सूचियों भारत के सबसे बड़े शहरों पर है। .

नई!!: नई दिल्ली और भारत के सर्वाधिक जनसंख्या वाले शहरों की सूची · और देखें »

भारत के सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रम

कोई विवरण नहीं।

नई!!: नई दिल्ली और भारत के सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रम · और देखें »

भारत के हवाई अड्डे

यह सूची भारत के हवाई यातायात है। .

नई!!: नई दिल्ली और भारत के हवाई अड्डे · और देखें »

भारत के विदेश सचिव

भारतीय विदेश सचिव भारत के विदेशों से सम्बंध में विदेश मंत्रालय में नियुक्त के सर्वोच्च्य राजनयिक होते हैं। विदेश सचिव भारतीय विदेश सेवा के अनुभवी अफसर होते हैं जो विभिन्न देशों में राजदूत रह चुके हैं। .

नई!!: नई दिल्ली और भारत के विदेश सचिव · और देखें »

भारत के वीर

भारत के वीर फिल्म अभिनेता अक्षय कुमार द्वारा किया गया एक पहल है। यह भारतीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह को प्रस्तावित किया गया हे। देश और जनता की सुरक्षा के कर्तव्य पालन करते हुए मारे गए भारतीय अर्धसैनिक बलों और केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल (सीएपीएफ) के परिवारों को सहायता देने के लिए यह सुविधा प्रदान करता हे। शहीदों को सम्मान देने के लिए यह सेवा को प्रस्तुत किया गया है। .

नई!!: नई दिल्ली और भारत के वीर · और देखें »

भारत के गृह सचिव

भारत के गृह सचिव जो भारत के गृह मंत्रालय से संबंधित मामले को निपटाता हैं | .

नई!!: नई दिल्ली और भारत के गृह सचिव · और देखें »

भारत के कैबिनेट सचिव

भारत के कैबिनेट सचिव भारत के सर्वोच्च कार्यकारी अधिकारी और वरिष्ठ सरकारी अधिकारी हैं। कैबिनेट सचिव सिविल सेवा बोर्ड, कैबिनेट सचिवालय, भारतीय प्रशासनिक सेवा के अध्यक्ष और भारत सरकार के नियमों के तहत सभी सिविल सेवाओं के प्रमुख हैं। भारत के वरीयता क्रम में यह पद ११वें क्रमांक पर आता है। .

नई!!: नई दिल्ली और भारत के कैबिनेट सचिव · और देखें »

भारत की न्यायपालिका

भारतीय न्यायपालिका (Indian Judiciary) आम कानून (कॉमन लॉ) पर आधारित प्रणाली है। यह प्रणाली अंग्रेजों ने औपनिवेशिक शासन के समय बनाई थी। इस प्रणाली को 'आम कानून व्यवस्था' के नाम से जाना जाता है जिसमें न्यायाधीश अपने फैसलों, आदेशों और निर्णयों से कानून का विकास करते हैं। भारत में कई स्तर के तथा विभिन्न प्रकार के न्यायालय हैं। भारत का शीर्ष न्यायालय नई दिल्ली स्थित सर्वोच्च न्यायालय है और उसके नीचे विभिन्न राज्यों में उच्च न्यायालय हैं। उच्च न्यायालय के नीचे जिला न्यायालय और उसके अधीनस्थ न्यायालय हैं जिन्हें 'निचली अदालत' कहा जाता है। भारत मे चार महानगरों में अलग अलग उच्चतम न्यायालय बनाने पर विचार किया जा रहा है क्योंकि दिल्ली देश के अनेक भौगोलिक भाग से बहुत दूर है तथा उच्चतम न्यायालय में कार्य का भार ज्यादा है .

नई!!: नई दिल्ली और भारत की न्यायपालिका · और देखें »

भारत की घरेलू विमान सेवा कंपनियाँ

कोई विवरण नहीं।

नई!!: नई दिल्ली और भारत की घरेलू विमान सेवा कंपनियाँ · और देखें »

भारत २०१०

इन्हें भी देखें 2014 भारत 2014 विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी 2014 साहित्य संगीत कला 2014 खेल जगत 2014 .

नई!!: नई दिल्ली और भारत २०१० · और देखें »

भारतमाला परियोजना

भारतमाला परियोजना(Bharatmala Project) एक राष्ट्रीय राजमार्ग विकास परियोजना हैं। इसके तहत नए राजमार्ग के अलावा उन परियोजनाओं को भी पूरा किया जाएगा तो अब तक अधूरे हैं। इसमें सीमा और अंतर्राष्‍ट्रीय संयोजकता वाले विकास परियोजना को शामिल किया गया है। बंदरगाहों और सड़क, राष्ट्रीय गलियारों (नेशनल कॉरिडोर्स) को ज्यादा बेहतर बनाना और राष्ट्रीय गलियारों को विकसित करना भी इस परियोजना में शामिल है। इसके अलावा पिछडे इलाकों, धार्मिक और पर्यटक स्थल को जोड़ने वाले राष्ट्रीय राजमार्ग बनाए जाएंगे। चार धाम केदारनाथ, बद्रीनाथ, यमुनोत्री और गंगोत्री के बीच संयोजकता बेहतर की जाएगी। सड़कों के विस्तार एवं विकास के लिए बने, 10 लाख करोड़ रुपये के भारतमाला परियोजना, में कई प्रमुख राष्ट्रीय राजमार्ग विकास परियोजना (एनएचडीपी) जिसें 1998 में अटल बिहारी वाजपेयी सरकार द्वारा लॉन्च किया था, सहित सभी मौजूदा राजमार्ग परियोजनाओं को इसमें समाहित कर लिया जायेगा। यह परियोजना गुजरात और राजस्थान से शुरू होकर, पंजाब की ओर चलेगी और फिर पूरे हिमालयी राज्यों - जम्मू-कश्मीर, हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड - और तराई इलाकों के साथ उत्तर प्रदेश और बिहार की सीमाओं को कवर करेगी और पश्चिम बंगाल, सिक्किम, असम, अरुणाचल प्रदेश, मणिपुर और मिजोरम में भारत-म्यांमार की सीमा तक जायेगी। आदिवासी और पिछड़े क्षेत्रों सहित दूरदराज के ग्रामीण इलाकों में कनेक्टिविटी प्रदान करने पर विशेष जोर दिया जाएगा। सरकार के मुताबिक योजना के पूरा होने पर, भारतमाला के तहत राजमार्ग की कुल लंबाई 51,000 किलोमीटर होगी। इसके पहले चरण में 29,000 किलोमीटर का विकास 5,5 खरब के परिव्यय के साथ किया जाएगा। .

नई!!: नई दिल्ली और भारतमाला परियोजना · और देखें »

भारती एयरटेल

भारती एयरटेल, जिसे पहले भारती टेलीवंचर उद्यम लिमिटेड (BTVL) के नाम से जाना जाता था, अब भारत की दूरसंचार व्यवसाय आॅपरेटरों की सबसे बड़ी कंपनी है जिसके जुलाई २००८ तक ६९.४ करोड़ उपभोक्ता थे। यह फिक्स्ड लाइन सेवा तथा ब्रॉडबैंड सेवाएँ भी प्रदान करती हैं। यह अपनी दूरसंचार सेवाएँ एयरटेल के ब्रांड तले प्रदान करती है और इसका नेतृत्व सुनील मित्तल (Sunil Mittal) करते हैं। यह कंपनी १४ सर्किलों में डीएसएल पर टेलीफोन सेवा तथा इंटरनेट की पहुंच भी उपलब्ध कराती है। यह कंपनी लंबी दूरी वाली राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय सेवाओं के साथ अपने मोबाइल, ब्रॉडबैंड तथा टेलीफोन सेवाओं की पूरक सेवाएँ का कार्य करती है। कंपनी के पास चैन्नई में पनडुब्बी केबल लैंडिंग स्टेशन भी है जो चेन्नई और सिंगापुर को जोड़ने वाली पनडुब्बी केबल को जोड़ता है। कंपनी अपने कॉरपोरेट ग्राहकों को देश में फाइबर आप्टिक बैकबोन द्वारा अंत:दर अंत: आंकड़े तथा उद्यम सेवाएं प्रदान कराती है, इसके अलावा फिक्स्ड लाइन एवं मोबाइल सर्किलों, वीसेट, आईएसपी तथा गेटवे एवं लैंडिंग स्टेशनों के माध्यम से अंतरराष्ट्रीय बैंडविड्थ की पहुँच हेतु अंतिम मील तक संबंध जोड़ने का कार्य करती है। एयरटेल भारत में भारती एयरटेल द्वारा संचालित दूरसंचार सेवाओं की एक ब्रांड है। भारत में ग्राहकों की संख्या की दृष्टि से एयरटेल सेल्यूलर सेवा की सबसे बड़ी कंपनी है। भारती एयरटेल के पास एयरटेल ब्रांड का स्वामित्व है और अपने ब्रांड नाम एयरटेल मोबाइल सर्विसेज के नाम से जीएसएम (GSM) प्रौद्योगिकी का उपयोग करते हुए निम्नलिखित सेवाएं उपलब्ध कराती है: ब्राडबैंड तथा दूरसंचार सेवाएं, स्थिर लाइन इंटरनेट कनेक्टीविटी (डीएसएल तथा बंधक लाइन), लंबी दूरी की सेवाएं एवं उद्यम सेवाएं (कॉरपोरेट के दूरसंचार परामर्श).

नई!!: नई दिल्ली और भारती एयरटेल · और देखें »

भारती इंटरप्राइजेज

भारती इंटरप्राइजेज (Bharti Enterprises), एक विशाल भारतीय व्यापारिक समूह है जिसका मुख्यालय भारत के नई दिल्ली में स्थित है, जहाँ से इसका संचालन संपूर्ण भारत और कुछ अन्य देशों में भी किया जाता है, जैसे श्री लंका, बांग्लादेश, जर्सी, गर्नसी और सेशेल्स; और साथ ही अफ्रीका के बुर्किना फासो, चाड, कांगो ब्राज़ाविल, कांगो लोकतान्त्रिक गणराज्य, गबोन, घाना, केन्या, मेडागास्कर, मालावी, नाइजर, नाइजीरिया, सिएरा लेओन, तंज़ानिया, युगांडा और जाम्बिया में भी इसका विस्तार हो रहा है। इसकी स्थापना सुनील भारती मित्तल द्वारा की गयी थी। भारती एंटरप्राइजेज का व्यापार दूरसंचार, खुदरा, वित्तीय सेवाएं, उत्पादन और सॉफ्टवेयर क्षेत्रों में फ़ैल हुआ है। .

नई!!: नई दिल्ली और भारती इंटरप्राइजेज · और देखें »

भारती कॉलेज कृषि इंजीनियरिंग और कृषि प्रौद्योगिकी, दुर्ग छत्तीसगढ़

अंगूठाकार .

नई!!: नई दिल्ली और भारती कॉलेज कृषि इंजीनियरिंग और कृषि प्रौद्योगिकी, दुर्ग छत्तीसगढ़ · और देखें »

भारतीय चिकित्सा परिषद

भारतीय आयुर्विज्ञान परिषद (Medical Council of India) भारत में चिकित्सा के क्षेत्र में उच्च शिक्षा के समान मानक स्थापित करने तथा भारत एवं विदेश के महाविद्यालयों/विश्वविद्यालयों की चिकित्सकीय डिग्रियों को मान्यता देने का काम करती है। .

नई!!: नई दिल्ली और भारतीय चिकित्सा परिषद · और देखें »

भारतीय डाक भुगतान बैंक

भारतीय डाक भुगतान बैंक भारत सरकार की एक कंपनी है। भारतीय रिजर्व बैंक ने भारतीय डाक को भुगतान बैंक का व्यवसाय शुरू करने का लाइसेंस दे दिया है।http://www.jagran.com/business/biz-rbi-gives-india-post-payment-bank-licence-to-start-services-15444485.html?src.

नई!!: नई दिल्ली और भारतीय डाक भुगतान बैंक · और देखें »

भारतीय थलसेना

भारतीय थलसेना, सेना की भूमि-आधारित दल की शाखा है और यह भारतीय सशस्त्र बल का सबसे बड़ा अंग है। भारत का राष्ट्रपति, थलसेना का प्रधान सेनापति होता है, और इसकी कमान भारतीय थलसेनाध्यक्ष के हाथों में होती है जो कि चार-सितारा जनरल स्तर के अधिकारी होते हैं। पांच-सितारा रैंक के साथ फील्ड मार्शल की रैंक भारतीय सेना में श्रेष्ठतम सम्मान की औपचारिक स्थिति है, आजतक मात्र दो अधिकारियों को इससे सम्मानित किया गया है। भारतीय सेना का उद्भव ईस्ट इण्डिया कम्पनी, जो कि ब्रिटिश भारतीय सेना के रूप में परिवर्तित हुई थी, और भारतीय राज्यों की सेना से हुआ, जो स्वतंत्रता के पश्चात राष्ट्रीय सेना के रूप में परिणत हुई। भारतीय सेना की टुकड़ी और रेजिमेंट का विविध इतिहास रहा हैं इसने दुनिया भर में कई लड़ाई और अभियानों में हिस्सा लिया है, तथा आजादी से पहले और बाद में बड़ी संख्या में युद्ध सम्मान अर्जित किये। भारतीय सेना का प्राथमिक उद्देश्य राष्ट्रीय सुरक्षा और राष्ट्रवाद की एकता सुनिश्चित करना, राष्ट्र को बाहरी आक्रमण और आंतरिक खतरों से बचाव, और अपनी सीमाओं पर शांति और सुरक्षा को बनाए रखना हैं। यह प्राकृतिक आपदाओं और अन्य गड़बड़ी के दौरान मानवीय बचाव अभियान भी चलाते है, जैसे ऑपरेशन सूर्य आशा, और आंतरिक खतरों से निपटने के लिए सरकार द्वारा भी सहायता हेतु अनुरोध किया जा सकता है। यह भारतीय नौसेना और भारतीय वायुसेना के साथ राष्ट्रीय शक्ति का एक प्रमुख अंग है। सेना अब तक पड़ोसी देश पाकिस्तान के साथ चार युद्धों तथा चीन के साथ एक युद्ध लड़ चुकी है। सेना द्वारा किए गए अन्य प्रमुख अभियानों में ऑपरेशन विजय, ऑपरेशन मेघदूत और ऑपरेशन कैक्टस शामिल हैं। संघर्षों के अलावा, सेना ने शांति के समय कई बड़े अभियानों, जैसे ऑपरेशन ब्रासस्टैक्स और युद्ध-अभ्यास शूरवीर का संचालन किया है। सेना ने कई देशो में संयुक्त राष्ट्र के शांति मिशनों में एक सक्रिय प्रतिभागी भी रहा है जिनमे साइप्रस, लेबनान, कांगो, अंगोला, कंबोडिया, वियतनाम, नामीबिया, एल साल्वाडोर, लाइबेरिया, मोज़ाम्बिक और सोमालिया आदि सम्मलित हैं। भारतीय सेना में एक सैन्य-दल (रेजिमेंट) प्रणाली है, लेकिन यह बुनियादी क्षेत्र गठन विभाजन के साथ संचालन और भौगोलिक रूप से सात कमान में विभाजित है। यह एक सर्व-स्वयंसेवी बल है और इसमें देश के सक्रिय रक्षा कर्मियों का 80% से अधिक हिस्सा है। यह 1,200,255 सक्रिय सैनिकों और 909,60 आरक्षित सैनिकों के साथ दुनिया की दूसरी सबसे बड़ी स्थायी सेना है। सेना ने सैनिको के आधुनिकीकरण कार्यक्रम की शुरुआत की है, जिसे "फ्यूचरिस्टिक इन्फैंट्री सैनिक एक प्रणाली के रूप में" के नाम से जाना जाता है इसके साथ ही यह अपने बख़्तरबंद, तोपखाने और उड्डयन शाखाओं के लिए नए संसाधनों का संग्रह एवं सुधार भी कर रहा है।.

नई!!: नई दिल्ली और भारतीय थलसेना · और देखें »

भारतीय दंत परिषद

भारतीय दंतचिकित्सा परिषद भारत में दंतचिकित्सा के नियमन हेतु स्थापित की गई सांविधिक संस्था है। इसकी स्थापना १२ अप्रैल, १९४९ में भारतीय संसद के की धारा १६ के अंतर्गत की गई थी। बाद में २७ अगस्त १९९२ में इसमें भारत के राष्ट्रपति के अध्यादेश द्वारा संशोधन किए गये थे। इसके वर्तमान अध्यक्ष डॉ॰अनिल कोहली हैं। .

नई!!: नई दिल्ली और भारतीय दंत परिषद · और देखें »

भारतीय दूरसंचार विनियामक प्राधिकरण

भारतीय दूरसंचार विनियामक प्राधिकरण (अंग्रेज़ी: टेलीकॉम रेगुलेटरी अथॉरिटी ऑफ इंडिया, लघुरूप:ट्राई) भारत में दूरसंचार पर नियंत्रण हेतु एक स्वायत्त नियामक प्राधिकरण है। इसका गठन १९९७ में। भारत सरकार, दूरसंचार विभाग। भारत सरकार द्वारा किया गया था।। अभिगमन तिथि: १८ दिसम्बर २००९। हिन्दुस्तान लाइव। १७ दिसम्बर २००९ इसकी स्थापना, एवं बाद में इसी के द्वारा यथासंशोधित कर की गई थी, जिसका मिशन भारत में दूरसंचार संबंधित व्यापार को नियमित करना था। भारत का दूर संचार नेटवर्क एशिया की उभरती अर्थ व्‍यवस्‍थाओं में दूसरा सबसे और विश्‍व का तीसरा सबसे बड़ा नेटवर्क है।। बिज़नेस.गॉव.इन-व्यापार और संसाधन ऑनलाइन पर प्राधिकरण का लक्ष्य भारत में दूरसंचार के विकास के लिए ऐसी रीति तथा ऐसी गति से परिस्थितियां सृजित करना तथा उन्हें संपोषित करना है, जो भारत को उभरते हुए वैश्विक समाज में एक अग्रणी भूमिका निभाने में समर्थ बना सके। प्राधिकरण का उद्देश्य है एक ऐसा उचित और पारदर्शी परिवेश उपलब्ध कराना, जो समान अवसरों के लिए प्रोत्साहित करें। इसका मुख्यालय नई दिल्ली में स्थित है। .

नई!!: नई दिल्ली और भारतीय दूरसंचार विनियामक प्राधिकरण · और देखें »

भारतीय धातुकर्म का इतिहास

समुद्रगुप्त की स्वर्ण मुद्रा (350—375 ई. जिस पर गरुड़ स्तम्भ चित्रित है (ब्रिटिश संग्रहालय) दिल्ली का लौह स्तम्भ जयसिंह द्वितीय द्वारा निर्मित पहियों पर चलने वाली विश्व की सबसे बड़ी तोप (१७२०) भारत में धातुकर्म का इतिहास प्रागैतिहासिक काल (दूसरी तीसरी सहस्राब्दी ईसापूर्व) से आरम्भ होकर आधुनिक काल तक जारी है। .

नई!!: नई दिल्ली और भारतीय धातुकर्म का इतिहास · और देखें »

भारतीय नर्सिंग परिषद

भारतीय नर्सिंग परिषद भारत में नर्सों व उनकी शिक्षा की नियामक संस्था है। ये स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय, भारत सरकार के अधीन भारतीय नर्सिंग परिषद अधिनियम, १९४७ की धारा ३ के अन्तर्गत भारत में नर्सों के प्रशिक्षण के मानक तय करने व उनकी एक समान शिक्षा का प्रावधान करने हेतु की गई थी। .

नई!!: नई दिल्ली और भारतीय नर्सिंग परिषद · और देखें »

भारतीय पर्यटन और यात्रा प्रबंधन संस्थान

भारतीय पर्यटन संस्थान और यात्रा प्रबंधन (आईआईटीटीएम) एक संस्थान है, जो ग्वालियर, मध्य प्रदेश, भारत, के साथ भुवनेश्वर, नोएडा, नेल्लोर और गोवा आदि में भी स्थित है। यह पर्यटन, यात्रा और अन्य संबंधित क्षेत्रों के प्रबंधन में प्रशिक्षण, शिक्षा और अनुसंधान हेतु पाठ्यक्रम उपलब्ध कराता है। यह पर्यटन मंत्रालय, भारत सरकार के अन्तर्गत एक स्वायत्त संस्था है। इसे 1983 में स्थापित किया गया था। .

नई!!: नई दिल्ली और भारतीय पर्यटन और यात्रा प्रबंधन संस्थान · और देखें »

भारतीय पुनर्नामकरण विवाद

भारत के शहरों का पुनर्नामकरण, स्न 1947 में, अंग्रेज़ोंके भारत छोड़ कर जाने के बाद आरंभ हुआ था, जो आज तक जारी है। कई पुनर्नामकरणों में राजनैतिक विवाद भी हुए हैं। सभी प्रस्ताव लागू भी नहीं हुए हैं। प्रत्येक शहर पुनर्नामकरण को केन्द्रीय सरकार द्वारा अनुमोदित होना चाहिये। स्वतंत्रता प्राप्ति के बाद पुनर्नामांकित हुए, मुख्य शहरों में हैं: तिरुवनंतपुरम (पूर्व त्रिवेंद्रम), मुंबई (पूर्व बंबई, या बॉम्बे), चेन्नई (पूर्व मद्रास), कोलकाता (पूर्व कलकत्ता), पुणे (पूर्व पूना) एवं बेंगलुरु (पूर्व बंगलौर)। .

नई!!: नई दिल्ली और भारतीय पुनर्नामकरण विवाद · और देखें »

भारतीय पुनर्वास परिषद

भारतीय पुनर्वास परिषद (अंग्रेज़ी:रीहैबिलिटेशन काउन्सिल ऑफ इंडिय) को एक पंजीकृत सोसायटी के रूप मे १९८६ में स्थापित किया गया था। सितम्बर १९९२ को भारतीय पुनर्वास परिषद अधिनियम संसद द्वारा पारित किया गया और उस अधिनियम के द्वारा भारतीय पुनर्वास परिषद एक सांविधिक निकाय के रूप में २२ जून १९९३ को अस्तित्व मे आयी। अधिनियम को संसद द्वारा वर्ष २००० में इसे और अधिक व्यापक बनाने के लिए इसमे संसोधन किया गया। इस जनादेश के द्वारा भारतीय पुनर्वास परिषद के नीतियो व कार्यक्रमो को विनियमित करने, विकलांगता वाले व्यक्तियों के पुनर्वास एवं शिक्षा का दायित्व दिया गया, पाट्यक्रमो का मानकीकरण करना और एक केन्द्रिय पुनर्वास रजिस्टर सभी योग्य पेशेवरों और विशेष शिक्षा के क्षेत्र में काम करने वाले व्यवसायिको और कर्मिको को एक केन्द्रिय पुनर्वास पंजिका में पंजीकृत करने का कार्य सौपा गया। इस अधिनियम के तहत अयोग्य व्यक्तियों के द्वारा विक्लांगता वाले व्यक्तियों को सेवाएं देने के खिलाफ दंडात्मक कार्यवाई करने का अधिकार प्रदान किया गया है। इसके वर्तमान अध्यक्ष मेजर जेनरल (सेवा निवृत) इआन कार्डोजो हैं। संस्थान बी-२२, कुतुब इन्स्टीटयूशनल एरिया, नई दिल्ली ११० ०१६ में स्थित है। .

नई!!: नई दिल्ली और भारतीय पुनर्वास परिषद · और देखें »

भारतीय पुरातत्त्व सर्वेक्षण विभाग

भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण विभाग भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण विभाग, भारत सरकार के संस्कृति विभाग के अन्तर्गत एक सरकारी एजेंसी है, जो कि पुरातत्व अध्ययन और सांस्कृतिक स्मारकों के अनुरक्षण के लिये उत्तरदायी होती है। इसकी वेबसाइट के अनुसार, ए.एस.

नई!!: नई दिल्ली और भारतीय पुरातत्त्व सर्वेक्षण विभाग · और देखें »

भारतीय प्रतिभूति और विनिमय बोर्ड

भारतीय प्रतिभूति और विनिमय बोर्ड (सेबी) भारत में प्रतिभूति और वित्त का नियामक बोर्ड है। इसकी स्थापना सेबी अधिनियम 1992 के तहत 12 अप्रैल 1992 में हुई सेबी का मुख्यालय मुंबई में बांद्रा कुर्ला परिसर के व्यावसायिक जिले में हैं और क्रमश: नई दिल्ली, कोलकाता, चेन्नई और अहमदाबाद में उत्तरी, पूर्वी, दक्षिणी व पश्चिमी क्षेत्रीय कार्यालय हैं। .

नई!!: नई दिल्ली और भारतीय प्रतिभूति और विनिमय बोर्ड · और देखें »

भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान

भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान भारत के 23 तकनीकी शिक्षा संस्थान हैं। ये संस्थान भारत सरकार द्वारा स्थापित किये गये "राष्ट्रीय महत्व के संस्थान" हैं। 2018 तक, सभी 23 आईआईटी में स्नातक कार्यक्रमों के लिए सीटों की कुल संख्या 11,279 है। .

नई!!: नई दिल्ली और भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान · और देखें »

भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान दिल्ली

आई आई टी दिल्ली (भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान दिल्ली) भारत और विश्व का प्रमुख तकनीकी शिक्षा संस्थान हैं। यह संस्थान दिल्ली में स्थित है। .

नई!!: नई दिल्ली और भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान दिल्ली · और देखें »

भारतीय फार्मेसी परिषद

भारतीय फार्मेसी परिषद भारत में फार्मेसी शिक्षा एवं व्यवसाय को स्नातक स्तर तक पहुंचाने व नियमन का कार्य करती है। यह भारत सरकार के अधीन भारतीय फार्मेसी परिषद अधिनियम, १९४८ की धारा-३ के अन्तर्गत भारतीय संसद में पास होने पर इसकी स्थापना हुई थी। इसकी स्थापना ४ मार्च १९४८ में की गई थी। .

नई!!: नई दिल्ली और भारतीय फार्मेसी परिषद · और देखें »

भारतीय मानक समय

मिर्ज़ापुर और 82.5° पू के स्थान, जो भारतीय मानक समय के संदर्भ लम्बाई के लिए व्यवहार होता है भारतीय मानक समय (संक्षेप में आइएसटी) (अंग्रेज़ी: Indian Standard Time इंडियन् स्टैंडर्ड् टाइम्, IST) भारत का समय मंडल है, एक यूटीसी+5:30 समय ऑफ़सेट के साथ में। भारत में दिवालोक बचत समय (डीएसटी) या अन्य कोइ मौसमी समायोग नहीं है, यद्यपि डीएसटी 1962 भारत-चीन युद्ध, 1965 भारत-पाक युद्ध और 1971 भारत-पाक युद्ध में व्यवहार था। सामरिक और विमानन समय में, आइएसटी का E* ("गूंज-सितारा") के साथ में नामित होता है। --> .

नई!!: नई दिल्ली और भारतीय मानक समय · और देखें »

भारतीय मौसम विज्ञान विभाग

भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (भा॰मौ॰वि॰वि॰) भारत सरकार के पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय के अंतर्गत मौसम विज्ञान प्रक्षेण, मौसम पूर्वानुमान और भूकम्प विज्ञान का कार्यभार सँभालने वाली सर्वप्रमुख एजेंसी है। मौसम विज्ञान विभाग का मुख्यालय नई दिल्ली में स्थित है। इस विभाग के द्वारा भारत से लेकर अंटार्कटिका भर में सैकड़ों प्रक्षेण स्टेशन चलाये जाते हैं। .

नई!!: नई दिल्ली और भारतीय मौसम विज्ञान विभाग · और देखें »

भारतीय राष्ट्रीय विज्ञान अकादमी

भारतीय राष्ट्रीय विज्ञान अकादमी (अंग्रेज़ी:इण्डियन नेशनल साइंस अकादमी (आई.एन.एस.ए)), नई दिल्ली स्थित भारतीय वैज्ञानिकों की सर्वोच्च संस्था है, जो विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी की सभी शाखाओं का प्रतिनिधित्व करती है। इसका उद्देश्य भारत में विज्ञान व उसके प्रयोग को बढ़ावा देना है। इसके मूल रूप की स्थापना १९३५ में नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ साइंसेज़ ऑफ इण्डिया नाम से हुई थी, जिसे बाद में १९७० में वर्तमान स्वरूप दिया गया है। भारत सरकार ने इसे १९४५ में भारत में विज्ञान की सभी शाखाओं का प्रतिनिधित्व करने वाली संस्था के रूप में दी थी। १९६८ में इसे भारत सरकार की ओर से अन्तर्राष्ट्रीय विज्ञान परिषद में भेजा गया था। इसका मुख्यालय नई दिल्ली में स्थित है। .

नई!!: नई दिल्ली और भारतीय राष्ट्रीय विज्ञान अकादमी · और देखें »

भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस

भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस, अधिकतर कांग्रेस के नाम से प्रख्यात, भारत के दो प्रमुख राजनैतिक दलों में से एक हैं, जिन में अन्य भारतीय जनता पार्टी हैं। कांग्रेस की स्थापना ब्रिटिश राज में २८ दिसंबर १८८५ में हुई थी; इसके संस्थापकों में ए ओ ह्यूम (थियिसोफिकल सोसाइटी के प्रमुख सदस्य), दादा भाई नौरोजी और दिनशा वाचा शामिल थे। १९वी सदी के आखिर में और शुरूआती से लेकर मध्य २०वी सदी में, कांग्रेस भारतीय स्वतन्त्रता संग्राम में, अपने १.५ करोड़ से अधिक सदस्यों और ७ करोड़ से अधिक प्रतिभागियों के साथ, ब्रिटिश औपनिवेशिक शासन के विरोध में एक केन्द्रीय भागीदार बनी। १९४७ में आजादी के बाद, कांग्रेस भारत की प्रमुख राजनीतिक पार्टी बन गई। आज़ादी से लेकर २०१६ तक, १६ आम चुनावों में से, कांग्रेस ने ६ में पूर्ण बहुमत जीता हैं और ४ में सत्तारूढ़ गठबंधन का नेतृत्व किया; अतः, कुल ४९ वर्षों तक वह केन्द्र सरकार का हिस्सा रही। भारत में, कांग्रेस के सात प्रधानमंत्री रह चुके हैं; पहले जवाहरलाल नेहरू (१९४७-१९६५) थे और हाल ही में मनमोहन सिंह (२००४-२०१४) थे। २०१४ के आम चुनाव में, कांग्रेस ने आज़ादी से अब तक का सबसे ख़राब आम चुनावी प्रदर्शन किया और ५४३ सदस्यीय लोक सभा में केवल ४४ सीट जीती। तब से लेकर अब तक कोंग्रेस कई विवादों में घिरी हुई है, कोंग्रेस द्वारा भारतीय आर्मी का मनोबल गिराने का देश में विरोध किया जा रहा है । http://www.allianceofdemocrats.org/index.php?option.

नई!!: नई दिल्ली और भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस · और देखें »

भारतीय राष्ट्रीय अभिलेखागार

भारत के राष्ट्रीय अभिलेखागार में भारत सरकार के अप्रचलित अभिलेखों का भंडारण किया जाता है। इसका प्रयोग अधिकतर प्रशासकों और शोधार्थियों के द्वारा किया जाता है। यह भारत सरकार के पर्यटन और संस्कृति मंत्रालय से संबद्ध एक कार्यालय है। इसकी शुरुआत कलकत्ता (अब कोलकाता) में मार्च 1891 में इंपीरियल रिकॉर्ड डिपार्टमेंट की स्थापना के साथ हुई थी। 1911 में जब राष्ट्रीय राजधानी को कलकत्ता से बदलकर नई दिल्ली किया गया उस समय इस अभिलेखागार को भी नई दिल्ली स्थानानांतरित कर दिया गया। अपने वर्तमान भवन में यह सन 1926 में स्थानानांतरित हुआ। यह अभिलेखागार 'प्रथमोक्त' नाम से नई दिल्ली के जनपथ और राजपथ के चौक के पास लाल और सफ़ेद पत्थरों के एक भव्य भवन में स्थित है। प्राकृतिक कारकों से अभिलेखों की रक्षा के लिए आधुनिक वैज्ञानिक साधन उपलब्ध कराये गए हैं। .

नई!!: नई दिल्ली और भारतीय राष्ट्रीय अभिलेखागार · और देखें »

भारतीय रिज़र्व बैंक

भारतीय रिजर्व बैंक (Reserve Bank of India) भारत का केन्द्रीय बैंक है। यह भारत के सभी बैंकों का संचालक है। रिजर्व बैक भारत की अर्थव्यवस्था को नियन्त्रित करता है। इसकी स्थापना १ अप्रैल सन १९३५ को रिजर्व बैंक ऑफ इण्डिया ऐक्ट १९३४ के अनुसार हुई। बाबासाहेब डॉ॰ भीमराव आंबेडकर जी ने भारतीय रिजर्व बैंक की स्थापना में अहम भूमिका निभाई हैं, उनके द्वारा प्रदान किये गए दिशा-निर्देशों या निर्देशक सिद्धांत के आधार पर भारतीय रिजर्व बैंक बनाई गई थी। बैंक कि कार्यपद्धती या काम करने शैली और उसका दृष्टिकोण बाबासाहेब ने हिल्टन यंग कमीशन के सामने रखा था, जब 1926 में ये कमीशन भारत में रॉयल कमीशन ऑन इंडियन करेंसी एंड फिनांस के नाम से आया था तब इसके सभी सदस्यों ने बाबासाहेब ने लिखे हुए ग्रंथ दी प्राब्लम ऑफ दी रुपी - इट्स ओरीजन एंड इट्स सोल्यूशन (रुपया की समस्या - इसके मूल और इसके समाधान) की जोरदार वकालात की, उसकी पृष्टि की। ब्रिटिशों की वैधानिक सभा (लेसिजलेटिव असेम्बली) ने इसे कानून का स्वरूप देते हुए भारतीय रिजर्व बैंक अधिनियम 1934 का नाम दिया गया। प्रारम्भ में इसका केन्द्रीय कार्यालय कोलकाता में था जो सन १९३७ में मुम्बई आ गया। पहले यह एक निजी बैंक था किन्तु सन १९४९ से यह भारत सरकार का उपक्रम बन गया है। उर्जित पटेल भारतीय रिजर्व बैंक के वर्तमान गवर्नर हैं, जिन्होंने ४ सितम्बर २०१६ को पदभार ग्रहण किया। पूरे भारत में रिज़र्व बैंक के कुल 22 क्षेत्रीय कार्यालय हैं जिनमें से अधिकांश राज्यों की राजधानियों में स्थित हैं। मुद्रा परिचालन एवं काले धन की दोषपूर्ण अर्थव्यवस्था को नियन्त्रित करने के लिये रिज़र्व बैंक ऑफ इण्डिया ने ३१ मार्च २०१४ तक सन् २००५ से पूर्व जारी किये गये सभी सरकारी नोटों को वापस लेने का निर्णय लिया है। .

नई!!: नई दिल्ली और भारतीय रिज़र्व बैंक · और देखें »

भारतीय सब्जी अनुसंधान संस्थान, वाराणसी

भारतीय सब्जी अनुसंधान संस्थान, वाराणसी, भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद, नई दिल्ली का एक घटक संस्थान है। सब्जियों की महत्ता को देखते हुए वर्ष 1992 में सातवीं पंचवर्षीय योजना के अंतगर्त सब्जी अनुसंधान परियोजना निदेशालय के रूप में इसकी स्थापना वाराणसी में की गई। निदेशालय के वृहद कार्य क्षेत्र, उपलब्धियां एवं सब्जी पर अनुसंधान की आवश्यकता को ध्यान में रखते हुए, 17 अगस्त, 1999 को इसे राष्ट्रीय संस्थान “भारतीय सब्जी अनुसंधान संस्थान” के रूप में मान्यता प्रदान की गई। यह संस्थान, 150 एकड़ में वाराणसी से दक्षिण-पश्चिम दिशा में शहँशाह पुर (अदलपुरा के निकट) में वाराणसी स्टेशन से 20 तथा बाबतपुर हवाई अड्डे से लगभग 40 कि॰मी॰ की दूरी पर स्थित है। .

नई!!: नई दिल्ली और भारतीय सब्जी अनुसंधान संस्थान, वाराणसी · और देखें »

भारतीय सशस्‍त्र सेनाएँ

भारतीय सशस्‍त्र सेनाएँ भारत की तथा इसके प्रत्‍येक भाग की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए उत्तरदायी हैं। भारतीय शस्‍त्र सेनाओं की सर्वोच्‍च कमान भारत के राष्‍ट्रपति के पास है। राष्‍ट्र की रक्षा का दायित्‍व मंत्रिमंडल के पास होता है। इसका निर्वहन रक्षा मंत्रालय द्वारा किया जाता है, जो सशस्‍त्र बलों को देश की रक्षा के संदर्भ में उनके दायित्‍व के निर्वहन के लिए नीतिगत रूपरेखा और जानकारियां प्रदान करता है। भारतीय शस्‍त्र सेना में तीन प्रभाग हैं भारतीय थलसेना, भारतीय जलसेना, भारतीय वायुसेना और इसके अतिरिक्त, भारतीय सशस्त्र बलों भारतीय तटरक्षक बल और अर्धसैनिक संगठनों (असम राइफल्स, और स्पेशल फ्रंटियर फोर्स) और विभिन्न अंतर-सेवा आदेशों और संस्थानों में इस तरह के सामरिक बल कमान अंडमान निकोबार कमान और समन्वित रूप से समर्थन कर रहे हैं डिफेंस स्टाफ। भारत के राष्ट्रपति भारतीय सशस्त्र बलों के सर्वोच्च कमांडर है। भारतीय सशस्त्र बलों भारत सरकार के रक्षा मंत्रालय (रक्षा मंत्रालय) के प्रबंधन के तहत कर रहे हैं। 14 लाख से अधिक सक्रिय कर्मियों की ताकत के साथ,यह दुनिया का तीसरा सबसे बड़ा सैन्य बल है। अन्य कई स्वतंत्र और आनुषांगिक इकाइयाँ जैसे: भारतीय सीमा सुरक्षा बल, असम राइफल्स, राष्ट्रीय राइफल्स, राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड, भारत तिब्बत सीमा पुलिस इत्यादि। भारतीय सेना के प्रमुख कमांडर भारत के राष्ट्रपति श्री रामनाथ कोविन्द हैं। यह दुनिया के सबसे बड़ी और प्रमुख सेनाओं में से एक है। सँख्या की दृष्टि से भारतीय थलसेना के जवानों की सँख्या दुनिया में चीन के बाद सबसे अधिक है। जबसे भारतीय सेना का गठन हुआ है, भारत ने दोनों विश्वयुद्ध में भाग लिया है। भारत की आजादी के बाद भारतीय सेना ने पाकिस्तान के खिलाफ तीन युद्ध 1948, 1965, तथा 1971 में लड़े हैं जबकि एक बार चीन से 1962 में भी युद्ध हुआ है। इसके अलावा 1999 में एक छोटा युद्ध कारगिल युद्ध पाकिस्तान के साथ दुबारा लड़ा गया। भारतीय सेना परमाणु हथियार, उन्नत अस्त्र-शस्त्र से लैस है और उनके पास उचित मिसाइल तकनीक भी उपलब्ध है। हलांकि भारत ने पहले परमाणु हमले न करने का संकल्प लिया हुआ है। भारतीय सेना की ओर से दिया जाने वाला सर्वोच्च सम्मान परमवीर चक्र है। .

नई!!: नई दिल्ली और भारतीय सशस्‍त्र सेनाएँ · और देखें »

भारतीय सामाजिक विज्ञान अनुसंधान परिषद

भारतीय सामाजिक अनुसंधान परिषद (Indian Council of Social Science Research/आईसीएसएसआर) भारत कि एक परिषद है जो सामाजिक विज्ञान के क्षेत्र में अनुसंधान को बढ़ावा देती है। इसकी स्‍थापना सामाजिक विज्ञान अनुसंधान को विकसित करने, विभिन्‍न शाखाओं को सुदृढ़ करने, सामाजिक विज्ञान अनुसंधान की गुणवत्‍ता एवं मात्रा में सुधार लाने तथा राष्‍ट्रीय नीति निर्माण में इसका उपयोग करने के लिए वर्ष 1969 में की गयी थी। इन लक्ष्‍यों को साकार करने के लिए आईसीएसएसआर ने सांस्‍थानिक बुनियादी ढांचे के विकास, अनुसंधान प्रतिभाओं का पता लगाने, अनुसंधान कार्यक्रमों को तैयार करने, व्‍यावसायिक संगठनों को सहायता प्रदान करने तथा विदेशों में सामाजिक वैज्ञानिकों के साथ संपर्क स्‍थापित करने पर विचार किया था। आईसीएसएसआर देश भर के विभिन्‍न सामाजिक विज्ञान अनुसंधान संस्‍थानों तथा इसके क्षेत्रीय केन्‍द्रों को रखरखाव एवं विकास अनुदान मुहैया कराता है। स्‍थानीय प्रतिभाओं संबंधी शोध एवं विकास को समर्थन देने और विकेन्‍द्रीकृत तरीके से इसके कार्यक्रमों तथा कार्यकलापों को समर्थन देने के लिए क्षेत्रीय केन्‍द्रों की स्‍थापना आईसीएसएसआर की विस्‍तारित शाखाओं के रूप में की गई है। वर्ष 1976 से ही आईसीएसएसआर सामाजिक विज्ञान के विभिन्‍न विषयों में शोध संबंधी सर्वेक्षण करता रहा है। पूर्वोत्‍तर क्षेत्र में सामाजिक विज्ञान संबंधी शोध को बढ़ावा देने के लिए विशेष बल देने के मद्देनजर आईसीएसएसआर में कई पहलें की गई हैं ताकि शोध प्रस्‍तावों और अन्‍य कार्यकलापों को समर्थन दिया जा सके। .

नई!!: नई दिल्ली और भारतीय सामाजिक विज्ञान अनुसंधान परिषद · और देखें »

भारतीय साहित्य अकादमी

भारत की साहित्य अकादमी भारतीय साहित्य के विकास के लिये सक्रिय कार्य करने वाली राष्ट्रीय संस्था है। इसका गठन १२ मार्च १९५४ को भारत सरकार द्वारा किया गया था। इसका उद्देश्य उच्च साहित्यिक मानदंड स्थापित करना, भारतीय भाषाओं और भारत में होनेवाली साहित्यिक गतिविधियों का पोषण और समन्वय करना है। .

नई!!: नई दिल्ली और भारतीय साहित्य अकादमी · और देखें »

भारतीय सांस्कृतिक संबंध परिषद

भारतीय सांस्कृतिक संबंध परिषद का प्रतीक चिह्न भारतीय सांस्कृतिक संबंध परिषद (इंडियन काउंसिल फॉर कल्चरल रिलेशंस - आईसीसीआर) भारत सरकार का स्वतंत्र संगठन है जिसकी स्थापना १९५० में हुई थी। इस संस्था का मुख्यालय आजा भवन, नई दिल्ली में है। इस संगठन के क्षेत्रीय कार्यालय बंगलौर, कलकत्ता, चंडीगढ़, चेन्नई, जकार्ता, मॉस्को, बर्लिन, कैरो, लंदन, ताशकंद, अलमाटी, जोहान्सबर्ग, डरबन, पोर्ट ऑफ़ स्पेन और कोलंबो में हैं। यह संस्था भारत की संस्कृति और शिक्षा के विकास के अनेक कार्यों में संलग्न है। .

नई!!: नई दिल्ली और भारतीय सांस्कृतिक संबंध परिषद · और देखें »

भारतीय संसद

संसद भवन संसद (पार्लियामेंट) भारत का सर्वोच्च विधायी निकाय है। यह द्विसदनीय व्यवस्था है। भारतीय संसद में राष्ट्रपति तथा दो सदन- लोकसभा (लोगों का सदन) एवं राज्यसभा (राज्यों की परिषद) होते हैं। राष्ट्रपति के पास संसद के दोनों में से किसी भी सदन को बुलाने या स्थगित करने अथवा लोकसभा को भंग करने की शक्ति है। भारतीय संसद का संचालन 'संसद भवन' में होता है। जो कि नई दिल्ली में स्थित है। लोक सभा में राष्ट्र की जनता द्वारा चुने हुए प्रतिनिधि होते हैं जिनकी अधिकतम संख्या ५५२ है। राज्य सभा एक स्थायी सदन है जिसमें सदस्य संख्या २५० है। राज्य सभा के सदस्यों का निर्वाचन / मनोनयन ६ वर्ष के लिए होता है। जिसके १/३ सदस्य प्रत्येक २ वर्ष में सेवानिवृत्त होते है। .

नई!!: नई दिल्ली और भारतीय संसद · और देखें »

भारतीय सौर ऊर्जा निगम

भारतीय सौर ऊर्जा निगम (सेकी) भारत का सार्वजनिक क्षेत्र का एक निगम है। इसकी स्‍थापना कम्‍पनी अधिनियम, 1956 की धारा 25 के अन्‍तर्गत लाभ के लिए नहीं कम्‍पनी के रूप में 20 सितम्‍बर, 2011 को सौर ऊर्जा क्षेत्र को समर्पित एक कार्यान्‍वयन एवं सुविधा संस्‍थान के रूप में हुई थी। इसकी स्‍थापना नवीन एवं नवीकरणीय ऊर्जा मंत्रालय, भारत सरकार के प्रशासनिक नियंत्रणीधीन की गई है। इसको जवाहलाल नेहरू राष्‍ट्रीय सौर मिशन के कार्यान्‍वयन और इसके अन्‍तर्गत निर्धारित लक्ष्‍य को प्राप्‍त करने की सुविधा देने के समग्र दृष्टिकोण के साथ व्‍यापक कार्यकलाप करने का अधिदेश दिया गया है। इस निगम का उद्देश्‍य सम्‍पूर्ण भारत में सौर प्रौद्योगिकी का विकास करना और सौर विद्युत का पूर्ण विकास सुनिश्चित करना है। .

नई!!: नई दिल्ली और भारतीय सौर ऊर्जा निगम · और देखें »

भारतीय जनता पार्टी

भारतीय जनता पार्टी (संक्षेप में, भाजपा) भारत के दो प्रमुख राजनीतिक दलों में से एक हैं, जिसमें दूसरा दल भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस है। यह राष्ट्रीय संसद और राज्य विधानसभाओं में प्रतिनिधित्व के मामले में देश की सबसे बड़ी राजनीतिक पार्टी है और प्राथमिक सदस्यता के मामले में यह दुनिया का सबसे बड़ा दल है।.

नई!!: नई दिल्ली और भारतीय जनता पार्टी · और देखें »

भारतीय वाणिज्य एवं उद्योग महासंघ (फिक्की)

भारतीय वाणिज्य एवं उद्योग महासंघ (फिक्की) (Federation of Indian Chambers of Commerce and Industry / FICCI) भारत के व्यापारिक संगठनों का संघ है। इसकी स्थापना १९२७ में महात्मा गांधी की सलाह पर घनश्याम दास बिड़ला एवं पुरुषोत्तम ठक्कर द्वारा की गयी थी। इसका मुख्यालय नयी दिल्ली में है। दिसंबर २०१६ से पंकज पटेल अध्यक्ष हैं। .

नई!!: नई दिल्ली और भारतीय वाणिज्य एवं उद्योग महासंघ (फिक्की) · और देखें »

भारतीय वायुसेना

भारतीय वायुसेना (इंडियन एयरफोर्स) भारतीय सशस्त्र सेना का एक अंग है जो वायु युद्ध, वायु सुरक्षा, एवं वायु चौकसी का महत्वपूर्ण काम देश के लिए करती है। इसकी स्थापना ८ अक्टूबर १९३२ को की गयी थी। आजादी (१९५० में पूर्ण गणतंत्र घोषित होने) से पूर्व इसे रॉयल इंडियन एयरफोर्स के नाम से जाना जाता था और १९४५ के द्वितीय विश्वयुद्ध में इसने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। आजादी (१९५० में पूर्ण गणतंत्र घोषित होने) के पश्च्यात इसमें से "रॉयल" शब्द हटाकर सिर्फ "इंडियन एयरफोर्स" कर दिया गया। आज़ादी के बाद से ही भारतीय वायुसेना पडौसी मुल्क पाकिस्तान के साथ चार युद्धों व चीन के साथ एक युद्ध में अपना योगदान दे चुकी है। अब तक इसने कईं बड़े मिशनों को अंजाम दिया है जिनमें ऑपरेशन ''विजय'' - गोवा का अधिग्रहण, ऑपरेशन मेघदूत, ऑपरेशन कैक्टस व ऑपरेशन पुमलाई शामिल है। ऐसें कई विवादों के अलावा भारतीय वायुसेना संयुक्त राष्ट्र के शांति मिशन का भी सक्रिय हिसा रही है। भारत के राष्ट्रपति भारतीय वायु सेना के कमांडर इन चीफ के रूप में कार्य करते है। वायु सेनाध्यक्ष, एयर चीफ मार्शल (ACM), एक चार सितारा कमांडर है और वायु सेना का नेतृत्व करते है। भारतीय वायु सेना में किसी भी समय एक से अधिक एयर चीफ मार्शल सेवा में कभी नहीं होते। इसका मुख्यालय नयी दिल्ली में स्थित है एवं २००६ के आंकडों के अनुसार इसमें कुल मिलाकर १७०,००० जवान एवं १,३५० लडाकू विमान हैं जो इसे दुनिया की चौथी सबसे बडी वायुसेना होने का दर्जा दिलाती है। .

नई!!: नई दिल्ली और भारतीय वायुसेना · और देखें »

भारतीय विदेश सेवा

भारतीय विदेश मन्त्रालय के कार्य को चलाने के लिए एक विशेष सेवा वर्ग का निर्माण किया गया है जिसे भारतीय विदेश सेवा (Indian Foreign Service I.F.S.) कहते हैं। यह भारत के पेशेवर राजनयिकों का एक निकाय है। यह सेवा भारत सरकार की केंद्रीय सेवाओं का हिस्सा है। भारत के विदेश सचिव भारतीय विदेश सेवा के प्रशासनिक प्रमुख होते हैं। भारतीय राजनय अब संभ्रान्त परिवारों, राजा-रजवाड़ों, सैनिक अफसरों आदि तक ही सीमित न रहकर सभी के लिए खुल गया है। सामान्य नागरिक अपनी योग्यता और शिक्षा के आधार पर इस सेवा का सदस्य बन सकता है। सन 1947-1948 की विशेष संकटकालीन भरती के अलावा विदेश सेवा के लिये चुनाव एक विशेष परीक्षा व साक्षात्कार द्वारा किया जाता है। चुनाव हो जाने के पश्चात् इन्हें एक विशेष प्रशिक्षण के लिये भेजा जाता है, जो कई भागों में पूरा होता है। इसमें शैक्षणिक विषयों का ज्ञान, विदेश भाषा की शिक्षा, एक माह के लिये विदेश दूतावास में व्यापार की शिक्षा और राष्टंमण्डल के विदेश सेवा अधिकारी प्रशिक्षण केन्द्र में डेढ़ माह का प्रशिक्षण दिया जाता है। तत्पश्चात् ही इनकी किसी विदेश दूतावास में नियुक्ति होती है। इस प्रकार प्रशिक्षित व्यावसायिक राजदूतों के अलावा सरकार समय-समय पर गैर-व्यावसायिक राजनीतिज्ञों सैनिकों, खिलाड़ियों आदि को भी राजदूत नियुक्त करती है। दूतावास में अताशों की भी नियुक्ति की जाती है। प्रधानमन्त्री कभी-कभी विशेष परिस्थितियों में अपने व्यक्तिगत प्रतिनिधि विशेष दूत अथवा घूमने वाले राजदूत (Roving Ambassador) को भी भेज सकता है। विदेश सेवा बोर्ड राजनयिक, व्यापारी एवं वाणिज्य ओर दूतावासों में अधिकारियों की नियुक्ति, उनका स्थानान्तरण और पदोन्नति के कार्य करता है। .

नई!!: नई दिल्ली और भारतीय विदेश सेवा · और देखें »

भारतीय विदेश व्यापार संस्थान

भारततीय विदेश व्ययापार संस्थान (Indian Institute of Foreign Trade (IIFT)) की स्थापना भारत सरकार द्वारा 1963 में एक स्वशासी संस्था के रूप में की गई थी। इसकी स्थापना के पीछे विदेश व्यापार प्रबंधन को व्यावसायिक रूप देने का उद्द्देश्य था। इसके अलावा मानवीय संसाधानों के विकास, आंकड़ो के संकलन, विश्लेषण व वितरण व अनुसंधान के माध्यम से निर्यात को बढ़ावा देना था। संस्थान अपनी भूमिका निम्न रूप में दृष्टिगोचर करता है-.

नई!!: नई दिल्ली और भारतीय विदेश व्यापार संस्थान · और देखें »

भारतीय विधिज्ञ परिषद

भारतीय विधिज्ञ परिषद (Bar Council of India) भारत की एक व्यावसायिक विनियामक संस्था है जो भारत में विधिक व्यवसाय एवं विधिक शिक्षा का नियमन करती है। यह एक स्वायत्त संस्थान है। यही परिषद व्यावसायिक आचरण एवं शिष्टाचार एवं विधि शिक्षा के मानक तय करती है। इसकी स्थापना १९६१ में हुई थी। इसके पूर्व अध्यक्ष अशोक कुमार सेन रहे हैं, जो भारतीय विधि क्षेत्र के प्रख्यात थे। .

नई!!: नई दिल्ली और भारतीय विधिज्ञ परिषद · और देखें »

भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण

भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण एक संगठन / प्राधिकरण है, जो कि भारत सरकार के नागर विमानन मंत्रालय के अंतर्गत कार्यरत है। निगमित मुख्यालय राजीव गाँधी भवन सफदरजंग विमानक्षेत्र, नई दिल्ली में स्थित है। भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण (ए ए आई) कुल 125 विमानपत्तनों का प्रबंधन करता है जिसमें 11 अंतर्राष्ट्रीय विमानपत्तन, 8 सीमा शुल्क विमानपत्तन, 81 घरेलू विमानपत्तन तथा रक्षा वायु क्षेत्रों में 25 सिविल एंक्लेव शामिल हैं। सुरक्षित विमान प्रचालन हेतु भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण सभी विमानपत्तनों एवं 25 अन्य‍ स्थानों पर जमीनी अधिष्ठापनों के साथ संपूर्ण भारतीय वायु क्षेत्र एवं समीपवर्ती महासागरीय क्षेत्रों में वायु ट्रैफिक प्रबंधन सेवाएं (ए टी एम एस) भी प्रदान करता है। इलाहाबाद, अमृतसर, कालीकट, गुवाहाटी, जयपुर, त्रिवेंद्रम, कोलकाता एवं चेन्नई के विमानपत्तन, जो आज अंतर्राष्ट्रीय विमानपत्तन के रूप में स्थापित हैं, विदेशी अंतर्राष्ट्रीय एयरलाइनों द्धारा भी प्रचालन के लिए खुले हैं। कोयबंटूर, त्रिचुरापल्ली, वाराणसी एवं गया के हवाई अड्डों से अंतर्राष्ट्रीय उड़ानों के अलावा राष्ट्रीय ध्‍वज वाहक भी प्रचालन करते हैं। केवल इतना ही नहीं अपितु आज आगरा, कोयबंटूर, जयपुर, लखनऊ, पटना आदि के विमानपत्तनों तक टूरिस्‍ट चार्टर भी जाते हैं। भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण ने मुम्ब्ई, दिल्ली, हैदराबाद, बंगलौर एवं नागपुर के विमानपत्त्नों के उन्नयन के लिए तथा विश्वस्तरीय मानकों से बराबरी करने के लिए पर एक संयुक्त उद्यम भी स्थापित किया है। भारतीय भू क्षेत्र के ऊपर सभी प्रमुख वायुमार्ग वीओआर / डीवीओआर कवरेज (89 अधिष्ठापन) के साथ रडार द्धारा कवर्ड हैं (11 स्थानों पर 29 रडार अधिष्ठापन) जो दूरी मापन उपकरण के साथ सह-स्थित हैं (90 अधिष्ठापन)। 52 रनवे पर आईएलएस अधिष्ठापन की सुविधा है तथा इनमें से अधिकांश विमानपत्तनों पर नाइट लैंडिंग की सुविधाएं हैं और 15 विमानपत्तनों पर आटोमेटिक मैसेज स्विचिंग सिस्ट‍म लगा है। भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण द्धारा कोलकाता एवं चेन्नई के वायु ट्रैफिक नियंत्रण केंद्रों पर देशज प्रौद्योगिकी का प्रयोग करके आटोमेटिक डिपेंडेंस सर्विलांस सिस्टम (ए डी एस एस) के सफल कार्यान्‍वयन ने भारत को दक्षिण पूर्व एशियाई क्षेत्र में इस उन्‍नत प्रौद्योगिकी का प्रयोग करने वाला पहला देश होने का गौरव प्रदान किया जिससे उपग्रह आधारित संचार प्रणाली का प्रयोग करके महासागरीय क्षेत्रों के ऊपर वायु ट्रैफिक का प्रभावी नियंत्रण संभव हुआ है। उपग्रह संचार लिंक के साथ रिमोट कंट्रोल्ड वी एच एफ कवरेज के प्रयोग ने हमारे ए टी एम एस को और मजबूती प्रदान की है। वी-सैट अधिष्‍ठापनों द्धारा 80 स्थाननों को जोड़ने से बड़े पैमाने पर वायु ट्रैफिक प्रबंधन में वृद्धि होगी और बदले में एयरक्राफ्ट के प्रचालन की सुरक्षा में वृद्धि होगी। इसके अलावा, हमारे वृहद एयरपोर्ट नेटवर्क पर प्रशासनिक एवं प्रचालनात्मक नियंत्रण संभव होगा। मुम्‍बई, दिल्‍ली एवं इलाहाबाद के विमानपत्तनों पर निष्पादन आधारित नेविगेशन (पीएनबी) प्रक्रिया पहले ही कार्यान्वित की जा चुकी है तथा अन्य विमानपत्तनों पर चरणबद्ध ढंग से इसको लागू करने की संभावना है। भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण ने भारतीय अंतरिक्ष एवं अनुसंधान केंद्र (इसरो) के साथ प्रौद्योगिकीय सहयोग से गगन परियोजना शुरू की है जहां नेविगेशन के लिए उपग्रह आधारित प्रणाली का प्रयोग किया जाएगा। इस प्रकार जीपीएस से प्राप्‍त नेविगेशन के संकेतों को हवाई जहाजों की नेविगेशन संबंधी आवश्यकता को पूरा करने के लिए उन्नत किया जाएगा। प्रौद्योगिकी प्रदर्शन प्रणाली का पहला चरण फरवरी 2008 में पहले ही सफलतापूर्वक पूरा हो गया है। प्रचालनात्मक चरण में इस प्रणाली को स्‍तरोन्‍नत करने के लिए विकास टीम को सक्षम बनाया गया है। भारतीय विमानपत्त‍न प्राधिकरण ने दिल्ली एवं मुम्‍बई के विमानपत्‍तनों पर ग्राउंड बेस्ड ऑगमेंटेशन सिस्टम (जी बी ए एस) उपलब्ध् कराने की भी योजना बनाई है। यह जीबीएएस उपकरण हवाई जहाजों को श्रेणी-2 (वक्र एप्रोच) लैंडिंग सिगनल उपलब्ध कराने और इस प्रकार आगे चलकर लैंडिंग सिस्टम के विद्यमान उपकरण को प्रतिस्थापित करने में समर्थ होगा, जिसकी रनवे के प्रत्येक छोर पर जरूरत होती है। दिल्ली में अधिष्ठापित एडवांस्ड सर्फेस मूवमेंट गाइडेंस एंड कंट्रोल सिस्टम (ए एस एम जी सी एस) ने रनवे 28 के प्रचालन को कैट-3 ए स्तर से कैट-3 बी स्तर तक स्‍तरोन्‍नत किया है। कैट-3 ए सिस्‍टम 200 मीटर की विजिबिलिटी तक हवाई जहाजों की लैंडिंग को अनुमत करता है। तथापि, कैट-3 बी 200 मीटर से कम किंतु 50 मीटर से अधिक की विजिबिलिटी पर हवाई जहाजों की सुरक्षित लैंडिंग को अनुमत करेगा। ‘ग्राहकों की अपेक्षाएं’ पर अधिक बल के साथ भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण के प्रयास को उस स्वतंत्र एजेंसी से उत्‍साहवर्धक प्रत्युत्तर मिला है जिसने 30 व्‍यस्‍त विमानपत्तनों पर ग्राहक संतुष्टि सर्वेक्षण संचालित किया है। इन सर्वेक्षणों ने हमें विमानपत्तनों के प्रयोक्‍ताओं द्धारा सुझाए गए पहलुओं पर सुधार करने में समर्थ बनाया है। विमानपत्तनों पर हमारे ‘व्यवसाय उत्तर पत्र’ के लिए रिसेप्टुकल लोकप्रिय हुए हैं; इन प्रत्‍युत्‍तरों ने हमें विमानपत्तनों के प्रयोक्ताओं की बदलती महत्‍वाकांक्षाओं को समझने में समर्थ बनाया है। सहस्राब्दि के पहले वर्ष के दौरान, भारतीय विमानपत्‍तन प्राधिकरण अपने प्रचालन को अधिक पारदर्शी बनाने तथा अधुनातन सूचना प्रौद्योगिकी का उपयोग करके ग्राहकों को तत्काल सूचना उपलब्ध कराने के लिए प्रयास कर रहा है। विशिष्ट प्रशिक्षण, कर्मचारी प्रत्‍युत्‍तर में सुधार तथा व्यावसायिक कौशल के उन्नयन पर फोकस स्‍पष्‍ट रूप से दिखाई दे रहा है। भारतीय विमानपत्त‍न प्राधिकरण के चार प्रशिक्षण स्थापनाओं अर्थात नागरिक विमानन प्रशिक्षण कॉलेज (सी ए टी सी), इलाहाबाद; राष्ट्रीय विमानन प्रबंधन एवं अनुसंधान संस्‍थान (एन आई ए एम ए आर), दिल्ली और दिल्ली एवं कोलकाता स्थि‍त अग्नि प्रशिक्षण केंद्र (एफ टी सी) के बारे में ऐसी अपेक्षा है कि वे पहले से अधिक व्‍यस्‍त रहेंगे। भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण ने सीएटीसी, इलाहाबाद एवं हैदराबाद एयरपोर्ट पर प्रशिक्षण सुविधाओं को स्तरोन्नत करने की भी पहल की है। हाल ही में सीएटीसी पर एयरपोर्ट विजुअल सिमुलेटर (ए वी एस) उपलब्ध कराया गया है तथा सीएटीसी, इलाहाबाद एवं हैदराबाद एयरपोर्ट को गैर रडार प्रक्रियात्‍मक एटीसी सिमुलेटर उपकरण की आपूर्ति की जा रही है। भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण की एक समर्पित उड़ान निरीक्षण यूनिट (एफ आई यू) है तथा इसके बेड़े में तीन हवाई जहाज हैं जो निरीक्षण में समर्थ अधुनातन एवं पूर्णत: स्‍वचालित उड़ान निरीक्षण प्रणाली से सुसज्जित हैं।.

नई!!: नई दिल्ली और भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण · और देखें »

भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण

भारतीय विशिष्‍ट पहचान प्राधिकरण (Unique Identification Authority of India) सन २००९ में गठित भारत सरकार का एक प्राधिकरण है जिसका गठन भारत के प्रत्येक नागरिक को एक बहुउद्देश्यीय राष्ट्रीय पहचान पत्र उपलब्ध करवाने की भारत सरकार की एक महत्वाकांक्षी योजना के अन्तर्गत किया गया। भारत के प्रत्येक निवासियों को प्रारंभिक चरण में पहचान प्रदान करने एवं प्राथमिक तौर पर प्रभावशाली जनहित सेवाऐं उपलब्ध कराना इस परियोजना का प्रमुख उद्देश्य था। इस बहुउद्देश्यीय राष्ट्रीय पहचान पत्र (Multipurpose National Identity Card) का नाम "आधार" रखा गया। .

नई!!: नई दिल्ली और भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण · और देखें »

भारतीय विषविज्ञान अनुसंधान संस्थान

लखनऊ संम्स्थान् भारतीय विष विज्ञान अनुसंधान संस्थान (आईटीआरसी या आईआईटीआर) लखनऊ, उत्तर प्रदेश में स्थित विष विज्ञान से संबंधित अनुसंधान संस्थान है। वैज्ञानिक तथा औद्योगिक अनुसंधान परिषद की संघटक प्रयोगशाला है। यह पर घेरु गांव के निकट महात्मा गांधी मार्ग पर स्थित है। इसकी स्थापना १९६५ में हुई थी। इसके संस्थापक-निदेशक प्रो॰सिब्ते हुसैन ज़ैदी (१९६५-१९७४) मृत्यु-पर्यन्त थे। ये पद्मश्री एवं सर शांति स्वरूप भटनागर पुरस्कार के धारक थे। संसथान विषविज्ञान के विभिन्न क्षेत्रों में शोध संचालित करता है। इसमें औद्योगिक और पर्यावरण संबंधी रसायनों के मानव स्वास्थ्य और पारिस्थितिकी तंत्र पर प्रभाव एवं वायु, जल एवं मिट्टी में प्रदूषकों के पर्यावरण संबंधी अनुवीक्षण सम्मिलित हैं। संस्थान नियामक निकायों को रसायनों/उत्पादों के सुरक्षित उपयोग हेतु दिशा-निर्देश बनाने/संशोधित करने में भी सहायता प्रदान करता है एवं यह सुनिश्चित करता है कि जनसामान्य को इसका लाभ मिले। आई.आई.टी.आर.

नई!!: नई दिल्ली और भारतीय विषविज्ञान अनुसंधान संस्थान · और देखें »

भारतीय खाद्य संरक्षा एवं मानक प्राधिकरण

भारतीय खाद्य संरक्षा एवं मानक प्राधिकरण (Food Safety and Standards Authority of India (FSSAI)) की स्थापना खाद्य सुरक्षा तथा मानक अधिनियम, २००६ के अन्तर्गत किया गया है। इसका उद्देश्य खाद्य सामग्री के लिये विज्ञान पर आधारित मानकों का निर्माण करना तथा खाद्य पदार्थों के विनिर्माण, भण्डारण, वितरण, विक्री तथा आयात आदि को नियन्त्रित करना है ताकि मानव-उपभोग के लिये सुरक्षित तथा सम्पूर्ण आहार की उपलब्धि सुनिश्चित की जा सके। .

नई!!: नई दिल्ली और भारतीय खाद्य संरक्षा एवं मानक प्राधिकरण · और देखें »

भारतीय गैस प्राधिकार लिमिटेड

भारतीय गैस प्राधिकार लिमिटेड (संक्षेप में गेल GAIL) भारत में गैस उत्खनन करने वाली शीर्ष तकनीकी संस्था है। गेल की स्थापना १९८४ में हुई तथा इसका मुख्यालय नई दिल्ली में बनाया गया। गेल द्वारा भारत के साथ साथ विदेशों में भी कई परियोजनाएँ संचालित की जा रही हैं। म्यांमार, वेनेजुएला व ईरान में जारी परियोजनाएँ आर्थिक तथा सामरिक दृष्टिकोण से अत्यंत महत्वपूर्ण हैं। .

नई!!: नई दिल्ली और भारतीय गैस प्राधिकार लिमिटेड · और देखें »

भारतीय ओलम्पिक संघ

भारतीय ओलम्पिक संघ भारत की राष्ट्रीय ओलम्पिक समिति (एनओसी) है। संघ का कार्य ओलंपिक खेलों, एशियाई खेलों व अन्य अंतरराष्ट्रीय बहु-खेल प्रतियोगिताओं में भारत का प्रतिनिधित्व करने वाले एथलीटों का चयन करना और भारतीय दल का प्रबंधन करना है। यह भारतीय राष्ट्रमंडल खेल संघ कि तरह भी कार्य करता है, तथा राष्ट्रमंडल खेलों में भारत का प्रतिनिधित्व करने वाले एथलीटों का भी चयन करता है। .

नई!!: नई दिल्ली और भारतीय ओलम्पिक संघ · और देखें »

भारतीय आम चुनाव, 2014

भारत में सोलहवीं लोक सभा के लिए आम चुनाव ७ अप्रैल से १२ मई २०१४ तक ९ चरणों में हुए। मतगणना १६ मई को हुई। इसके लिए भारत की सभी संसदीय क्षेत्रों में वोट डाले गये। वर्तमान में पंद्रहवी लोक सभा का कार्यकाल ३१ मई २०१४ को ख़त्म हो रहा है। ये चुनाव अब तक के इतिहास में सबसे लंबा कार्यक्रम वाला चुनाव था। यह पहली बार होगा, जब देश में ९ चरणों में लोकसभा चुनाव हुए। निर्वाचन आयोग के अनुसार ८१.४५ करोड़ मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे। सभी नौ चरणों में औसत मतदान ६६.३८% के आसपास रहा जो भारतीय आम चुनाव के इतिहास में सबसे उच्चतम है। चुनाव के परिणाम १६ मई को घोषित किये गये। ३३६ सीटों के साथ राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन सबसे बड़ा दल और २८२ सीटों के साथ भारतीय जनता पार्टी सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी। संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन ने ५९ सीटों पर और कांग्रेस ने ४४ सीटों पर जीत हासिल की।, Election Commission of India बीजेपी ने केवल 31.0% वोट जीते, जो आजादी के बाद से भारत में बहुमत वाली सरकार बनाने के लिए पार्टी का सबसे कम हिस्सा है, जबकि राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) का संयुक्त वोट हिस्सा 38.5% था। 1984 के आम चुनाव के बाद बीजेपी और उसके सहयोगियों ने सबसे बड़ी बहुमत वाली सरकार बनाने का अधिकार जीता, और यह चुनाव पहली बार हुआ जब पार्टी ने अन्य पार्टियों के समर्थन के बिना शासन करने के लिए पर्याप्त सीटें जीती हैं। आम चुनाव में कांग्रेस पार्टी की सबसे खराब हार थी। भारत में आधिकारिक विपक्षी दल बनने के लिए, एक पार्टी को लोकसभा में 10% सीटें (54 सीटें) हासिल करनी होंगी; हालांकि, भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस इस नंबर को हासिल करने में असमर्थ थी। इस तथ्य के कारण, भारत एक आधिकारिक विपक्षी पार्टी के बिना बना हुआ है। .

नई!!: नई दिल्ली और भारतीय आम चुनाव, 2014 · और देखें »

भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद

भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (आई.सी.एम.आर), नई दिल्ली, भारत में जैव-चिकित्सा अनुसंधान हेतु निर्माण, समन्वय और प्रोत्साहन के लिए शीर्ष संस्था है। यह विश्व के सबसे पुराने आयुर्विज्ञान संस्थानों में से एक हैं। इस परिषद को भारत सरकार के स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा वित्तीय सहायता प्राप्त होती है। .

नई!!: नई दिल्ली और भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद · और देखें »

भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी

भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (भाकपा) (Communist Party of India) भारत का एक साम्यवादी दल है। इस दल की स्थापना 26 दिसम्बर 1925 को कानपुर नगर में हुई थी। भारतीय कम्युनिष्ट पार्टी की स्थापना एम एन राय ने की। 1928 ई. में कम्युनिस्ट इण्टरनेशनल ने ही भारत में कम्युनिस्ट पार्टी की कार्य प्रणाली निश्चित की। इस दल के महासचिव एस. सुधाकर रेड्डी है। यह भारत की सबसे पुरानी कम्युनिस्ट पार्टी है। चुनाव आयोग द्वारा इसे राष्ट्रीय दल के रूप में मान्यता प्राप्त है। यह दल 'न्यू एज' (New Age) का प्रकाशन करता है। इस दल का युवा संगठन 'आल इंडिया यूथ फेडरेशन' है। २००४ के संसदीय चुनाव में इस दल को ५ ४३४ ७३८ मत (१.४%, १० सीटें) मिले। २००९ के संसदीय चुनाव में इस दल को मात्र ४ सीटें मिली। 2014 के संसदीय चुनाव में दल को मात्र 1 सीटें मिली .

नई!!: नई दिल्ली और भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी · और देखें »

भारतीय कवियों की सूची

इस सूची में उन कवियों के नाम सम्मिलित किये गये हैं जो.

नई!!: नई दिल्ली और भारतीय कवियों की सूची · और देखें »

भारतीय कृषि सांख्यिकी अनुसंधान संस्थान

indian agriculture ' भारतीय कृषि सांख्यिकी अनुसंधान संस्थान (Indian Agricultural Statistics Research Institute / IASRI) भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद के अधीन एक संस्था है। यह कृषि प्रयोगों के लिए नई तकनीकों के विकास एवं कृषि से सम्बन्धित आंकड़ों के विश्लेषण का कार्य करती है। यह नई दिल्ली में भारतीय कृषि अनुसंधान संस्थान के प्रांगण में स्थित है। यह पशुओं एवं पादपों के प्रजनन से सम्बन्धित सांख्यिकीय तकनीकों में विशेषज्ञता रखती है। .

नई!!: नई दिल्ली और भारतीय कृषि सांख्यिकी अनुसंधान संस्थान · और देखें »

भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद

भाकृअनुप का प्रतीक चिन्ह। भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद (भाकृअनुप, Indian Council of Agricultural Research) भारत सरकार के कृषि मंत्रालय में कृषि अनुसंधान एवं शिक्षा विभाग के तहत एक स्वायत्तशासी संस्था है। रॉयल कमीशन की कृषि पर रिपोर्ट के अनुसरण में सोसाइटी रजिस्ट्रीकरण अधिनियम, 1860 के तहत पंजीकृत और 16 जुलाई 1929 को स्थापित इस सोसाइटी का पहले नाम इंपीरियल काउंसिल ऑफ एग्रीकल्चरल रिसर्च था। इसका मुख्यालय नयी दिल्ली में है। .

नई!!: नई दिल्ली और भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद · और देखें »

भारतीय अधिराज्य

भारत अधिराज्य, मौजूदा भारत(अर्थात् भारत गणराज्य) की संक्रमणकालीन अवस्था थी। यह ३ साल तक; १९४७ से १९५० में संविधान के प्रवर्तन तक, अस्तित्व में रही थी। रह मूल रूप से भारत में ब्रिटिश-उपनिवैषिक शासिन अवस्था से स्वतंत्र, स्वायत्त, लोकतांत्रिक, भारतिय गणराज्य के बीच की अस्थाई शासन अथ्वा राज्य थी। इसे आधिकारिक रूप से हिंदी में भारत अधिराज्य एवं अंग्रेज़ी में डोमीनियन ऑफ़ इंडिया(Dominion of India) कहा जाता था। सन १९४७ में ब्रितानियाई संसद में भारतिय स्वतंत्रता अधीनियम पारित होने के बाद, अधिकारिक तौर पर, यूनाईटेड किंगडम की सरकार ने भारत पर अपनी प्रभुता त्याग दी और भारत में स्वशासन अथवा स्वराज लागू कर दिया। इसके साथ ही ब्रिटिश भारत(ब्रिटिश-भारतिय उपनिवेष) का अंत हो गया और भारत कैनडा और ऑस्ट्रेलिया की हि तरह एक स्वायत्त्योपनिवेष(डोमीनियन) बन गय, (अर्थात ब्रिटिश साम्राज्य में ही स्वायत्त्य इकाई)। ब्रिटिश संसद के भारत-संबंधित सारे विधानाधिकारों को (1945 में गठित) भारत की संविधान सभा के अधिकार में सौंप दिया गया, भारत, ब्रिटिश-राष्ट्रमंडल प्रदेश का सहपद सदस्य भी बन गया साथ ही ब्रिटेन के राजा ने भारत के सम्राट का शाही ख़िताब त्याग दिया। ब्रिटिश स्वयत्तयोपनिवेष एवं रष्ट्रमंडल प्रदेश का हिस्सा होने के नाते इंगलैंड के राजा ज्यौर्ज (षष्ठम) को भारत का राष्ट्राध्यक्ष बनाया गया एवं आन्य राष्ट्रमंडल देशों की तरह ही भारतिय लैहज़े में उन्हें भारत के राजा की उपादी से नवाज़ा गया(यह पद केवल नाम-मात्र एवं शिश्टाचार के लिये था), भारत में उनका प्रतिनिधित्व भारत के महाराज्यपाल(गवरनर-जनरल) के द्वारा होता था। 1950 में संविधान के लागू होने के साथ ही भारत एक पूर्णतः स्वतंत्र गणराज्य बन गया और साथ ही भारत के राजा के पद को हमेशा के लिये स्थगित कर दिया गया, और भारत के संवंधान द्वरा स्थापित लोकतांत्रिक प्रकृया द्वारा चुने गए भारत के महामहिं राष्ट्रपति के पद से बदल दिया गया। इस बीच भारत में दो महाराज्यपालों को नियुक्त किया गया, महामहिं महाराज्यपाल लाॅर्ड माउण्टबैटन और महामहिं महाराज्यपाल चक्रवर्ती राजागोपालाचारी। .

नई!!: नई दिल्ली और भारतीय अधिराज्य · और देखें »

भाषा (पत्रिका)

भाषा हिन्दी की एक साहित्यिक पत्रिका है। इस पत्रिका का संचालन केन्‍द्रीय हिन्‍दी निदेशालय, नई दिल्‍ली द्वारा होती है। .

नई!!: नई दिल्ली और भाषा (पत्रिका) · और देखें »

भगत सिंह

भगत सिंह (जन्म: २८ सितम्बर या १९ अक्टूबर, १९०७, मृत्यु: २३ मार्च १९३१) भारत के एक प्रमुख स्वतंत्रता सेनानी थे। चन्द्रशेखर आजाद व पार्टी के अन्य सदस्यों के साथ मिलकर इन्होंने देश की आज़ादी के लिए अभूतपूर्व साहस के साथ शक्तिशाली ब्रिटिश सरकार का मुक़ाबला किया। पहले लाहौर में साण्डर्स की हत्या और उसके बाद दिल्ली की केन्द्रीय संसद (सेण्ट्रल असेम्बली) में बम-विस्फोट करके ब्रिटिश साम्राज्य के विरुद्ध खुले विद्रोह को बुलन्दी प्रदान की। इन्होंने असेम्बली में बम फेंककर भी भागने से मना कर दिया। जिसके फलस्वरूप इन्हें २३ मार्च १९३१ को इनके दो अन्य साथियों, राजगुरु तथा सुखदेव के साथ फाँसी पर लटका दिया गया। सारे देश ने उनके बलिदान को बड़ी गम्भीरता से याद किया। भगत सिंह को समाजवादी,वामपंथी और मार्क्सवादी विचारधारा में रुचि थी। सुखदेव, राजगुरु तथा भगत सिंह के लटकाये जाने की ख़बर - लाहौर से प्रकाशित ''द ट्रिब्युन'' के मुख्य पृष्ठ --> .

नई!!: नई दिल्ली और भगत सिंह · और देखें »

भुबनेश्वर राजधानी एक्स्प्रेस डाउन

भुबनेश्वर राजधानी एक्स्प्रेस (ट्रेन संख्या: 2444) भारतीय रेल की एक राजधानी एक्स्प्रेस रेलगाड़ी है। यह नई दिल्ली (स्टेशन कोड: NDLS) से 05:20PM बजे छूटती है। यह ट्रेन भुबनेश्वर (स्टेशन कोड: BBS) पर 05:35PM बजे पहुंचती है। यह ट्रेन बुधवार, शनिवार, के दिन चलती है। इसका कुल यात्रा का समय 24 घंटे 15 मिनट है। .

नई!!: नई दिल्ली और भुबनेश्वर राजधानी एक्स्प्रेस डाउन · और देखें »

भुबनेश्वर राजधानी एक्स्प्रेस अप

भुबनेश्वर राजधानी एक्स्प्रेस (ट्रेन संख्या: 2443) भारतीय रेल की एक राजधानी एक्स्प्रेस रेलगाड़ी है। यह भुबनेश्वर (स्टेशन कोड: BBS) से 09:05AM बजे छूटती है। यह ट्रेन नई दिल्ली (स्टेशन कोड: NDLS) पर 10:20AM बजे पहुंचती है। यह ट्रेन सोमवार, शुक्रवार, के दिन चलती है। इसका कुल यात्रा का समय 25 घंटे 15 मिनट है। .

नई!!: नई दिल्ली और भुबनेश्वर राजधानी एक्स्प्रेस अप · और देखें »

भुबनेश्वर राजधानी एक्स्प्रेस २४२१ अप

भुबनेश्वर राजधानी एक्स्प्रेस (ट्रेन संख्या: 2421) भारतीय रेल की एक राजधानी एक्स्प्रेस रेलगाड़ी है। यह भुबनेश्वर (स्टेशन कोड: BBS) से 11:25AM बजे छूटती है। यह ट्रेन नई दिल्ली (स्टेशन कोड: NDLS) पर 10:35AM बजे पहुंचती है। यह ट्रेन रविवार, बुधवार, शनिवार, के दिन चलती है। इसका कुल यात्रा का समय 23 घंटे 10 मिनट है। श्रेणी:राजधानी रेल.

नई!!: नई दिल्ली और भुबनेश्वर राजधानी एक्स्प्रेस २४२१ अप · और देखें »

भुबनेश्वर राजधानी एक्स्प्रेस २४२२ डाउन

भुबनेश्वर राजधानी एक्स्प्रेस (ट्रेन संख्या: 2422) भारतीय रेल की एक राजधानी एक्स्प्रेस रेलगाड़ी है। यह नई दिल्ली (स्टेशन कोड: NDLS) से 05:20PM बजे छूटती है। यह ट्रेन भुबनेश्वर (स्टेशन कोड: BBS) पर 04:00PM बजे पहुंचती है। यह ट्रेन रविवार, सोमवार, शुक्रवार, के दिन चलती है। इसका कुल यात्रा का समय 22 घंटे 40 मिनट है। श्रेणी:राजधानी रेल.

नई!!: नई दिल्ली और भुबनेश्वर राजधानी एक्स्प्रेस २४२२ डाउन · और देखें »

भुवनेश्वर राजधानी एक्सप्रेस

भुवनेश्वर राजधानी एक्सप्रेस एक राजधानी एक्सप्रेस ट्रेन है यह ट्रेन भुवनेश्वर,ओडिशा से शुरू है और नई दिल्ली तक चलती है। भुवनेश्वर राजधानी एक्सप्रेस आद्रा (22811/12) और बोकारो (22823/24) होते हुए नई दिल्ली चलती है?। इससे पहले यह ट्रेन हावड़ा होते हुए नई दिल्ली चलती थी। .

नई!!: नई दिल्ली और भुवनेश्वर राजधानी एक्सप्रेस · और देखें »

भूपेन्द्र यादव

भूपेन्द्र यादव भारत के वरिष्ठ सदन राज्यसभा के सदस्य हैं। वे भारतीय जनता पार्टी के राजनेता हैं। .

नई!!: नई दिल्ली और भूपेन्द्र यादव · और देखें »

भूमिका चावला

भूमिका चावला एक भारतीय अभिनेत्री हैं जो मुख्यत दक्षिण भारतीय फ़िल्मों में काम करती है। .

नई!!: नई दिल्ली और भूमिका चावला · और देखें »

भूषण इस्पात

श्रेणी:भारत की इस्पात कंपनियां.

नई!!: नई दिल्ली और भूषण इस्पात · और देखें »

भीनमाल

भीनमाल (English:Bhinmal) राजस्थान राज्य के जालौर जिलान्तर्गत भारत का एक ऐतिहसिक शहर है। यहाँ से आशापुरी माताजी तीर्थ स्थल मोदरान स्टेशन भीनमाल के पास स्थित है जिसकी यहां से दूरी 28 किलोमीटर है। शहर प्राचीनकाल में 'श्रीमाल' नगर के नाम से जाना जाता था। "श्रीमाल पुराण" व हिंदू मान्यताओ के अनुसार विष्णु भार्या महालक्ष्मी द्वारा इस नगर को बसाया गया था। इस प्रचलित जनश्रुति के कारण इसे 'श्री' का नगर अर्थात 'श्रीमाल' नगर कहा गया। प्राचीनकाल में गुजरात राज्य की राजधानी रहा भीनमाल संस्कृत साहित्य के प्रकाण्ड विद्वान महाकवि माघ एवँ खगोलविज्ञानी व गणीतज्ञ ब्रह्मगुप्त की जन्मभूमि है। यह शहर जैन धर्म का विख्यात तीर्थ है। .

नई!!: नई दिल्ली और भीनमाल · और देखें »

भीमराव आम्बेडकर

भीमराव रामजी आम्बेडकर (१४ अप्रैल, १८९१ – ६ दिसंबर, १९५६) बाबासाहब आम्बेडकर के नाम से लोकप्रिय, भारतीय विधिवेत्ता, अर्थशास्त्री, राजनीतिज्ञ और समाजसुधारक थे। उन्होंने दलित बौद्ध आंदोलन को प्रेरित किया और अछूतों (दलितों) के खिलाफ सामाजिक भेद भाव के विरुद्ध अभियान चलाया। श्रमिकों और महिलाओं के अधिकारों का समर्थन किया। वे स्वतंत्र भारत के प्रथम कानून मंत्री, भारतीय संविधान के प्रमुख वास्तुकार एवं भारत गणराज्य के निर्माताओं में से एक थे। आम्बेडकर विपुल प्रतिभा के छात्र थे। उन्होंने कोलंबिया विश्वविद्यालय और लंदन स्कूल ऑफ़ इकोनॉमिक्स दोनों ही विश्वविद्यालयों से अर्थशास्त्र में डॉक्टरेट की उपाधियाँ प्राप्त की। उन्होंने विधि, अर्थशास्त्र और राजनीति विज्ञान के शोध कार्य में ख्याति प्राप्त की। जीवन के प्रारम्भिक करियर में वह अर्थशास्त्र के प्रोफेसर रहे एवम वकालत की। बाद का जीवन राजनीतिक गतिविधियों में बीता; वह भारत की स्वतंत्रता के लिए प्रचार और बातचीत में शामिल हो गए, पत्रिकाओं को प्रकाशित करने, राजनीतिक अधिकारों की वकालत करने और दलितों के लिए सामाजिक स्वतंत्रता की वकालत और भारत की स्थापना में उनका महत्वपूर्ण योगदान था। 1956 में उन्होंने बौद्ध धर्म अपना लिया। 1990 में, उन्हें भारत रत्न, भारत के सर्वोच्च नागरिक सम्मान से मरणोपरांत सम्मानित किया गया था। आम्बेडकर की विरासत में लोकप्रिय संस्कृति में कई स्मारक और चित्रण शामिल हैं। .

नई!!: नई दिल्ली और भीमराव आम्बेडकर · और देखें »

मणीन्द्र अग्रवाल

मणीन्द्र अग्रवाल (जन्म: २० मई १९६६, इलाहाबाद) भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान कानपुर के संगणक विज्ञान एवं अभियान्त्रिकी विभाग में प्रोफेसर है। संगणक विज्ञान के क्षेत्र में उनके योगदान के लिए सन् २०१३ में भारत सरकार ने उन्हें पद्म श्री प्रदान किया। .

नई!!: नई दिल्ली और मणीन्द्र अग्रवाल · और देखें »

मदन लाल

मदन लाल (पूरा नाम मदनलाल ऊधौराम शर्मा) (अंग्रेजी: Madan Lal,गुरुमुखी: ਮਦਨ ਲਾਲ, उर्दू: مدن لال जन्म 20 मार्च 1951, अमृतसर, पंजाब, भारत) एक पूर्व भारतीय क्रिकेट खिलाड़ी (1974–1987) के अतिरिक्त क्रिकेट कोच भी रह चुके हैं। उन्होंने दिल्ली जाईन्ट्स व इण्डियन क्रिकेट लीग के लिये कोचिंग की है। मदन लाल ने प्रथम श्रेणी क्रिकेट में हरफनमौला (आलराउण्डर) खेल दिखाते हुए 42.87 के औसत से 10,204 रन बनाये जिनमें 22 शतक शामिल हैं। उन्होंने 25.50 के औसत से साइड ऑन बालिंग करते हुए 625 विकेट चटकाये। उन्होंने भारत की टीम में 39 टेस्ट मैच खेलते हुए 22.65 के औसत से 1,042 रन बनाये, 40.08 के औसत से 71 विकेट चटकाये और 15 कैच लपके। उन्हें हमेशा मध्य क्रम में बल्लेबाजी करने के लिये बाद में ही मैदान पर भेजा गया लेकिन हर बार वे भारतीय क्रिकेट के लिये मददगार ही साबित हुए। उनके प्रशंसक उन्हें मदनलाल के बजाय मदतलाल कहते थे। यही नहीं जब कभी वे गेंदबाजी करते हुए लगातार मेडन ओवर फेंकते तो अंग्रेज कमेण्टेटर उन्हें मेडनलाल कहकर प्रचारित करते थे। 1983 के क्रिकेट विश्व कप में मदनलाल के योगदान को कभी भी भुलाया नहीं जा सकता जब उन्होंने हरफनमौला खेल दिखाते हुए लगभग हारती जा रही बाजी को जीत में बदल दिया था। .

नई!!: नई दिल्ली और मदन लाल · और देखें »

मदनलाल पाहवा

गान्धी वध के अभियुक्तों का एक समूह चित्र'' खड़े हुए '': शंकर किस्तैया, गोपाल गोडसे, मदनलाल पाहवा, दिगम्बर बड़गे. ''बैठे हुए'': नारायण आप्टे, वीर सावरकर, नाथूराम गोडसे, विष्णु करकरे मदनलाल पाहवा (अंग्रेजी: Madan Lal Pahwa, पंजाबी: ਮਦਨ ਲਾਲ ਪਾਹਵਾ, तमिल: மதன்லால் பக்வா) हिन्दू महासभा के एक कार्यकर्ता थे जिन्होंने नई दिल्ली स्थित बिरला हाउस में गान्धी-वध की तिथि से दस दिन पूर्व २० जनवरी १९४८ को उनकी प्रार्थना सभा में हथगोला फेंका था। उपस्थित जन समुदाय ने उन्हें पुलिस के हवाले कर दिया था। उस घटना के ठीक १० दिन बाद जब नाथूराम गोडसे ने ३० जनवरी १९४८ को गोली मारकर गान्धी को मौत की नींद सुला दिया तो भारत सरकार ने फटाफट मुकद्दमा चलाकर गोडसे को फाँसी के साथ मदनलाल को भी गान्धी-वध के षड्यन्त्र में शामिल होने व हत्या के प्रयास के आरोप में आजीवन कारावास का दण्ड देकर मामला रफादफा कर दिया। .

नई!!: नई दिल्ली और मदनलाल पाहवा · और देखें »

मदनलाल वर्मा 'क्रान्त'

मदनलाल वर्मा 'क्रान्त' (जन्म: २० दिसम्बर १९४७, शाहजहाँपुर) मूलत: हिन्दी के कवि तथा लेखक हैं। इसके अतिरिक्त उन्होंने उर्दू, संस्कृत तथा अंग्रेजी में भी कविताएँ लिखी हैं। क्रान्तिकारी राम प्रसाद 'बिस्मिल' के व्यक्तित्व और कृतित्व पर प्रकाशित "सरफरोशी की तमन्ना" उनकी उल्लेखनीय पुस्तक है। "क्रान्तिकारी हिन्दी साहित्य में राष्ट्रीय चेतना" विषय पर अतिविशिष्ट अनुसन्धान के लिये उन्हें भारत सरकार ने वर्ष २००४ में हिन्दी साहित्य की "सीनियर फैलोशिप" प्रदान की। .

नई!!: नई दिल्ली और मदनलाल वर्मा 'क्रान्त' · और देखें »

मधुबाला

मधुबाला (مدھو بال; जन्म: 14 फ़रवरी 1933, दिल्ली - निधन: 23 फ़रवरी 1969, बंबई) भारतीय हिन्दी फ़िल्मों की एक अभिनेत्री थी। उनके अभिनय में एक आदर्श भारतीय नारी को देखा जा सकता है। चेहरे द्वारा`भावाभियक्ति तथा नज़ाक़त उनकी प्रमुख विशेषतायें थीं। उनके अभिनय, प्रतिभा, व्यक्तित्व और खूबसूरती को देख कर यही कहा जाता है कि वह भारतीय सिनेमा की अब तक की सबसे महान अभिनेत्री है। वास्तव मे हिन्दी फ़िल्मों के समीक्षक मधुबाला के अभिनय काल को स्वर्ण युग की संज्ञा से सम्मानित करते हैं। .

नई!!: नई दिल्ली और मधुबाला · और देखें »

मधुमक्खी

मधुमक्खी मधुमक्खी के छाते मधुमक्खी कीट वर्ग का प्राणी है। मधुमक्खी से मधु प्राप्त होता है जो अत्यन्त पौष्टिक भोजन है। यह संघ बनाकर रहती हैं। प्रत्येक संघ में एक रानी, कई सौ नर और शेष श्रमिक होते हैं। मधुमक्खियाँ छत्ते बनाकर रहती हैं। इनका यह घोसला (छत्ता) मोम से बनता है। इसके वंश एपिस में 7 जातियां एवं 44 उपजातियां हैं। .

नई!!: नई दिल्ली और मधुमक्खी · और देखें »

मनाली, हिमाचल प्रदेश

मनाली (ऊंचाई 1,950 मीटर या 6,398 फीट) कुल्लू घाटी के उत्तरी छोर के निकट व्यास नदी की घाटी में स्थित, भारत के हिमाचल प्रदेश राज्य की पहाड़ियों का एक महत्वपूर्ण पर्वतीय स्थल (हिल स्टेशन) है। प्रशासकीय तौर पर मनाली कुल्लू जिले का एक हिस्सा है, जिसकी जनसंख्या लगभग 30,000 है। यह छोटा सा शहर लद्दाख और वहां से होते हुए काराकोरम मार्ग के आगे तारीम बेसिन में यारकंद और ख़ोतान तक के एक अतिप्राचीन व्यापार मार्ग का शुरुआत था। मनाली और उसके आस-पास के क्षेत्र भारतीय संस्कृति और विरासत के लिए बहुत महत्वपूर्ण हैं क्योंकि इसे सप्तर्षि या सात ऋषियों का घर बताया गया है। .

नई!!: नई दिल्ली और मनाली, हिमाचल प्रदेश · और देखें »

मनित जौरा

मनित जौरा एक भारतीय अभिनेता है। जिसने फ़िल्म में अभिनय करने की शुरूआत यश राज फ़िल्म्स दूारा निर्मित फ़िल्म बैंड बाजा बारात से किया यह फ़िल्म 2010 में बनी है उसके बाद वह़ लव शगुन फ़िल्म में मुख्य भुमिका में निभाई। यह फ़िल्म 2016 में बनी है। उसके बाद वह बालाजी टेलीफ़िल्म्स के वेब सिरिज़ परीक्षण का मामला में नजर आए और वर्तमान में वह जी टीवी पर प्रसारित हो रहे कार्यक्रम कुंडली भाग्य में मुख्य भुमिका निभा रहे हैं। .

नई!!: नई दिल्ली और मनित जौरा · और देखें »

मनिंदर सिंह धीर

मनिंदर सिंह धीर (जिन्हें एम॰एस॰ धीर के नाम से भी जाना जाता है) एक भारतीय राजनीतिज्ञ और साल 2014 से दिल्ली विधानसभा के अध्यक्ष हैं। आम आदमी पार्टी के सदस्य, एमएस धीर दिसंबर 2013 में दिल्ली के जंगपुरा विधानसभा क्षेत्र से विधायक चुने गए। .

नई!!: नई दिल्ली और मनिंदर सिंह धीर · और देखें »

मनजोत कालरा

मनजोत कालरा (जन्म १५ जनवरी १९९९) एक भारतीय क्रिकेट खिलाड़ी है। ये 2018 आईसीसी अंडर-19 क्रिकेट विश्व कप में भारतीय अंडर-१९ क्रिकेट टीम का हिस्सा रहे। ये बाएं हाथ से बल्लेबाजी करते है। इन्होंने ३ फरवरी २०१८ को खेले गए अंडर-१९ क्रिकेट विश्व कप के फाइनल मैच में भारत के लिए मैच जीताऊ पारी खेलते हुआ नाबाद १०१ रन बनाये और भारतीय अंडर-१९ क्रिकेट टीम ने चौथी बार खिताब जीता है। ये एक सलामी बल्लेबाज है जो पारी की शुरुआत करते है। २७ और २८ जनवरी को बैंगलोर में हुई नीलामी में इन्हें दिल्ली डेयरडेविल्स ने बेस प्राइस २० लाख में खरीदा है। .

नई!!: नई दिल्ली और मनजोत कालरा · और देखें »

मन्मथनाथ गुप्त

मन्मथनाथ गुप्त (जन्म: ७ फ़रवरी १९०८ - मृत्यु: २६ अक्टूबर २०००) भारतीय स्वतन्त्रता संग्राम के एक प्रमुख क्रान्तिकारी तथा सिद्धहस्त लेखक थे। उन्होंने हिन्दी, अंग्रेजी तथा बांग्ला में आत्मकथात्मक, ऐतिहासिक एवं गल्प साहित्य की रचना की है। वे मात्र १३ वर्ष की आयु में ही स्वतन्त्रता संग्राम में कूद गये और जेल गये। बाद में वे हिन्दुस्तान रिपब्लिकन ऐसोसिएशन के सक्रिय सदस्य भी बने और १७ वर्ष की आयु में उन्होंने सन् १९२५ में हुए काकोरी काण्ड में सक्रिय रूप से भाग लिया। उनकी असावधानी से ही इस काण्ड में अहमद अली नाम का एक रेल-यात्री मारा गया जिसके कारण ४ लोगों को फाँसी की सजा मिली जबकि मन्मथ की आयु कम होने के कारण उन्हें मात्र १४ वर्ष की सख्त सजा दी गयी। १९३७ में जेल से छूटकर आये तो फिर क्रान्तिकारी लेख लिखने लगे जिसके कारण उन्हें १९३९ में फिर सजा हुई और वे भारत के स्वतन्त्र होने से एक वर्ष पूर्व १९४६ तक जेल में रहे । स्वतन्त्र भारत में वे योजना, बाल भारती और आजकल नामक हिन्दी पत्रिकाओं के सम्पादक भी रहे। नई दिल्ली स्थित निजामुद्दीन ईस्ट में अपने निवास पर २६ अक्टूबर २००० को दीपावली के दिन उनका जीवन-दीप बुझ गया। .

नई!!: नई दिल्ली और मन्मथनाथ गुप्त · और देखें »

मनोज टिबड़ेवाल आकाश

मनोज टिबड़ेवाल आकाश (जन्म ३० सितम्बर १९८०) एक भारतीय टीवी एंकर और पत्रकार है, जो दूरदर्शन समाचार से एक दशक तक टेलीविजन न्यूज़ एंकर और वरिष्ठ संवाददाता के रूप में जुड़े रहे। इन्होंने डीडी न्यूज़ पर प्रसारित होने वाले लोकप्रिय टॉक शो, एक मुलाक़ात की मेजबानी की। ये डाइनामाइट न्यूज़ के संस्थापक और प्रधान संपादक है। .

नई!!: नई दिल्ली और मनोज टिबड़ेवाल आकाश · और देखें »

मनोज कुमार (मुक्केबाज़)

मनोज कुमार भारत के हरियाणा प्रांत के एक मुक्केबाज हैं। 2007 व 2013 के एशियाई खेलों में उन्होंने काँस्य पदक प्राप्त किया था। .

नई!!: नई दिल्ली और मनोज कुमार (मुक्केबाज़) · और देखें »

मनीष सिसोदिया

मनीष सिसोदिया (जन्म: ५ जनवरी १९७२) दिल्ली की पटपड़गंज सीट से विधायक तथा राज्य सरकार में मंत्री है। वे शिक्षा, उच्च शिक्षा, जन निर्माण विभाग (पी डब्ल्यू डी), शहरी विकास, स्थानीय निकाय, भूमि एवं भवन तथा रेवेन्यू विभाग हैं। .

नई!!: नई दिल्ली और मनीष सिसोदिया · और देखें »

मनीष अरोड़ा

मुनीश अरोड़ा के फैशन डिजाइन प्रस्तुत करती मॉडल मनीष अरोड़ा एक भारतीय फैशन डिजाइनर है, जो नई दिल्ली में रहते हैं। .

नई!!: नई दिल्ली और मनीष अरोड़ा · और देखें »

मसूद हुसैन ख़ान

मसूद हुसैन ख़ान (28 जनवरी 1919 - 16 अक्टूबर 2010) एक प्रख्यात भारतीय शिक्षाविद, भाषाविद् और साहित्यकार थे। वे अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय में सामाजिक विज्ञान के पहले प्रोफेसर एमेरिटस थे और नई दिल्ली स्थित केन्द्रीय विश्वविद्यालय जामिया मिलिया इस्लामिया के पांचवें कुलपति थे। वर्ष-१९८४ में उनकी साहित्यिक आलोचना की पुस्तक इक़बाल की नज़री–ओ–अमली शेरियात के लिए उन्हें साहित्य अकादमी पुरस्कार प्रदान किया गया था। .

नई!!: नई दिल्ली और मसूद हुसैन ख़ान · और देखें »

महात्मा गांधी

मोहनदास करमचन्द गांधी (२ अक्टूबर १८६९ - ३० जनवरी १९४८) भारत एवं भारतीय स्वतंत्रता आंदोलन के एक प्रमुख राजनैतिक एवं आध्यात्मिक नेता थे। वे सत्याग्रह (व्यापक सविनय अवज्ञा) के माध्यम से अत्याचार के प्रतिकार के अग्रणी नेता थे, उनकी इस अवधारणा की नींव सम्पूर्ण अहिंसा के सिद्धान्त पर रखी गयी थी जिसने भारत को आजादी दिलाकर पूरी दुनिया में जनता के नागरिक अधिकारों एवं स्वतन्त्रता के प्रति आन्दोलन के लिये प्रेरित किया। उन्हें दुनिया में आम जनता महात्मा गांधी के नाम से जानती है। संस्कृत भाषा में महात्मा अथवा महान आत्मा एक सम्मान सूचक शब्द है। गांधी को महात्मा के नाम से सबसे पहले १९१५ में राजवैद्य जीवराम कालिदास ने संबोधित किया था।। उन्हें बापू (गुजराती भाषा में બાપુ बापू यानी पिता) के नाम से भी याद किया जाता है। सुभाष चन्द्र बोस ने ६ जुलाई १९४४ को रंगून रेडियो से गांधी जी के नाम जारी प्रसारण में उन्हें राष्ट्रपिता कहकर सम्बोधित करते हुए आज़ाद हिन्द फौज़ के सैनिकों के लिये उनका आशीर्वाद और शुभकामनाएँ माँगीं थीं। प्रति वर्ष २ अक्टूबर को उनका जन्म दिन भारत में गांधी जयंती के रूप में और पूरे विश्व में अन्तर्राष्ट्रीय अहिंसा दिवस के नाम से मनाया जाता है। सबसे पहले गान्धी ने प्रवासी वकील के रूप में दक्षिण अफ्रीका में भारतीय समुदाय के लोगों के नागरिक अधिकारों के लिये संघर्ष हेतु सत्याग्रह करना शुरू किया। १९१५ में उनकी भारत वापसी हुई। उसके बाद उन्होंने यहाँ के किसानों, मजदूरों और शहरी श्रमिकों को अत्यधिक भूमि कर और भेदभाव के विरुद्ध आवाज उठाने के लिये एकजुट किया। १९२१ में भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस की बागडोर संभालने के बाद उन्होंने देशभर में गरीबी से राहत दिलाने, महिलाओं के अधिकारों का विस्तार, धार्मिक एवं जातीय एकता का निर्माण व आत्मनिर्भरता के लिये अस्पृश्‍यता के विरोध में अनेकों कार्यक्रम चलाये। इन सबमें विदेशी राज से मुक्ति दिलाने वाला स्वराज की प्राप्ति वाला कार्यक्रम ही प्रमुख था। गाँधी जी ने ब्रिटिश सरकार द्वारा भारतीयों पर लगाये गये नमक कर के विरोध में १९३० में नमक सत्याग्रह और इसके बाद १९४२ में अंग्रेजो भारत छोड़ो आन्दोलन से खासी प्रसिद्धि प्राप्त की। दक्षिण अफ्रीका और भारत में विभिन्न अवसरों पर कई वर्षों तक उन्हें जेल में भी रहना पड़ा। गांधी जी ने सभी परिस्थितियों में अहिंसा और सत्य का पालन किया और सभी को इनका पालन करने के लिये वकालत भी की। उन्होंने साबरमती आश्रम में अपना जीवन गुजारा और परम्परागत भारतीय पोशाक धोती व सूत से बनी शाल पहनी जिसे वे स्वयं चरखे पर सूत कातकर हाथ से बनाते थे। उन्होंने सादा शाकाहारी भोजन खाया और आत्मशुद्धि के लिये लम्बे-लम्बे उपवास रखे। .

नई!!: नई दिल्ली और महात्मा गांधी · और देखें »

महात्मा गांधी सम्मान

महात्मा गांधी सम्मान, राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के 125वें जन्म वर्ष की पावन स्मृति में गांधी विचार दर्शन के अनुरूप समाज में रचनात्मक पहल, साम्प्रदायिक सद्भाव एवं सामाजिक समरसता को प्रोत्साहित करने के उद्देश्य से मध्यप्रदेश शासन ने वर्ष 1995 में स्थापित किया है। गांधी सम्मान का मूल प्रयोजन गांधी जी की विचारधारा के अनुसार अहिंसक उपायों द्वारा सामाजिक और आथिर्क क्रांति के क्षेत्र में संस्थागत साधना को सम्मानित और प्रोत्साहित करना है। .

नई!!: नई दिल्ली और महात्मा गांधी सम्मान · और देखें »

महात्मा गांधी की हत्या

मोहनदास करमचंद गांधी की हत्या 30 जनवरी 1948 की शाम को नई दिल्ली स्थित बिड़ला भवन में गोली मारकर की गयी थी। वे रोज शाम को प्रार्थना किया करते थे। 30 जनवरी 1948 की शाम को जब वे संध्याकालीन प्रार्थना के लिए जा रहे थे तभी नाथूराम गोडसे नाम के व्यक्ति ने पहले उनके पैर छुए और फिर सामने से उन पर बैरेटा पिस्तौल से तीन गोलियाँ दाग दीं। उस समय गान्धी अपने अनुचरों से घिरे हुए थे। इस मुकदमे में नाथूराम गोडसे सहित आठ लोगों को हत्या की साजिश में आरोपी बनाया गया था। इन आठ लोगों में से तीन आरोपियों शंकर किस्तैया, दिगम्बर बड़गे, वीर सावरकर, में से दिगम्बर बड़गे को सरकारी गवाह बनने के कारण बरी कर दिया गया। शंकर किस्तैया को उच्च न्यायालय में अपील करने पर माफ कर दिया गया। वीर सावरकर के खिलाफ़ कोई सबूत नहीं मिलने की वजह से अदालत ने जुर्म से मुक्त कर दिया। बाद में सावरकर के निधन पर भारत सरकार ने उनके सम्मान में एक डाक टिकट जारी किया।सावरकर पर सरकार द्वारा जारी डाक टिकट और अन्त में बचे पाँच अभियुक्तों में से तीन - गोपाल गोडसे, मदनलाल पाहवा और विष्णु रामकृष्ण करकरे को आजीवन कारावास हुआ तथा दो- नाथूराम गोडसे व नारायण आप्टे को फाँसी दे दी गयी। .

नई!!: नई दिल्ली और महात्मा गांधी की हत्या · और देखें »

महानगर टेलीफोन निगम लिमिटेड

महानगर टेलीफोन निगम लिमिटेड भारत सरकार के स्वामित्व वाली एक दूरसंचार कंपनी है। यह मुंबई, दिल्ली, ठाणे तथा नवी मुंबई क्षेत्रों में दूरसंचार सुविधाएं देती है। २००० तक इसका एकाधिकार भी था। इसके बाद दूरसंचार क्षेत्र को निजी ऑपरेटर कंपनियों के लिए भी खोल दिया गया। .

नई!!: नई दिल्ली और महानगर टेलीफोन निगम लिमिटेड · और देखें »

महापरियोजना

ऐसी परियोजना को महापरियोजना या मेगाप्रोजेक्ट (megaproject) कहते हैं जिसमें अत्यन्त बड़े स्तर निवेश (investment) करने की जरूरत पड़ती है। प्राय: एक बिलियन अमेरिकी डालर से भी अधिक खर्च वाले परियोजनाओं को महापरियोजना की श्रेणी में रखा जाता है। इन पर जनता का बहुत ध्यान भी आकर्षित होता है क्योंकि इनका आम जनता, पर्यावरण एवं देश की अर्थव्यवस्था पर बड़ा असर पड़ने की सम्भावना रहती है। दूसरे शब्दों में महापरियोजना उस पहल (इनिशिएटिव) को कहते हैं जिनमें कुछ भौतिक चीज बनने वाली हो, जो बहुत खर्चीली हो और जो सार्वजनिक हो। पुल, सुरंग, राजमार्ग, रेलपथ, हवाई अड्डे, समुद्री पत्तन, उर्जा संयंत्र, बांध, विशेष आर्थिक क्षेत्र (SEZ), तेल एवं प्राकृतिक गैस निकालना, वायु-अन्तरिक्ष परियोजना, अस्त्र-प्रणाली परियोजना आदि महापरियोजना की श्रेणी में आ सकतीं हैं। .

नई!!: नई दिल्ली और महापरियोजना · और देखें »

महाराजा अग्रसेन प्रौद्योगिकी संस्थान

महाराजा अग्रसेन प्रौद्योगिकी संस्थान नई दिल्ली, भारत में स्थित एक शासकीय इंजीनियरिंग महाविद्यालय है, जो गुरु गोबिन्द सिंह इन्द्रप्रस्थ विश्वविद्यालय से सम्बद्ध है। .

नई!!: नई दिल्ली और महाराजा अग्रसेन प्रौद्योगिकी संस्थान · और देखें »

महाराजा अग्रसेन अस्पताल, नई दिल्ली

महाराजा अग्रसेन अस्पताल नई दिल्ली में वेस्ट पंजाबी बाग़ में स्थित हैं। अस्पताल में ३०० बेड हैं। अस्पताल का नाम ऐतिहासिक एवं पौराणिक महापुरुष महाराजा अग्रसेन के नाम पर हैं। .

नई!!: नई दिल्ली और महाराजा अग्रसेन अस्पताल, नई दिल्ली · और देखें »

महंत चांदनाथ

महंत चांदनाथ (21 जून 1956 – 17 सितम्बर 2017) भारतीय राजनीतिज्ञ और धार्मिक नेता थे। वो हिन्दू धर्म में नाथ सम्प्रदाय के मुखिया थे। २००४ में राजस्थान विधान सभा के लिए भारतीय जनता पार्टी के बहरोड़ से विधायक निर्वाचित हुये। २०१४ में वो भाजपा के राजस्थान के अलवर लोकसभा क्षेत्र से सांसद चुने गये। .

नई!!: नई दिल्ली और महंत चांदनाथ · और देखें »

महेन्द्रा कुमारी

महेन्द्रा कुमारी लोकसभा की सदस्य थी। वह भारतीय जनता पार्टी के उम्मीदवार के रूप में राजस्थान में अलवर से लोकसभा के लिए चुनी गयी। उनका जन्म 1942 में बूंदी में एक शाही परिवार में हुआ था और ग्वालियर के सिंधिया गर्ल्स कॉलेज में उनकी शिक्षा हुई। वह अलवर के शासक प्रताप सिंह की पत्नी हैं। महेन्द्रा कुमारी 1991 से 1996 तक राजस्थान के अलवर संसदीय क्षेत्र का प्रतिनिधित्व करते हुए दसवीं लोकसभा की सदस्य थी। महेन्द्रा कुमारी 1993 से 1996 तक विज्ञान और प्रौद्योगिकी, पर्यावरण और वन पर समिति के सदस्य थे और 1993 से 1 995 तक हाउस कमेटी। एक गहन खेल उत्साही, महेन्द्रा कुमारी महिलाओं की पिस्टल शूटिंग की एक पूर्व चैंपियन थी और टेनिस, तैराकी और सवारी में विशेष रुचि थी। एक व्यापक रूप से यात्रा करने वाली, महेंद्र कुमारी 1995 में बीजिंग, चीन में महिलाओं की चौथी विश्व सम्मेलन के भारतीय संसदीय समूह के सदस्य थी। 27 जून 2002 को नई दिल्ली में एक संक्षिप्त बीमारी के बाद 60 साल की उम्र में उनका निधन हो गया। .

नई!!: नई दिल्ली और महेन्द्रा कुमारी · और देखें »

मानुषी छिल्लर

मानुषी छिल्लर (जन्म; १४ मई १९९७) एक भारतीय मॉडल व सौन्दर्य प्रतियोगिता की विजेता हैं जिन्हें विश्व सुन्दरी २०१७ के ताज से नवाज़ा गया हैं। इससे पहले २५ जून २०१७ को उन्हें फेमिना मिस इंडिया सम्मान से भी नवाजा गया था।इस प्रतियोगिता में उन्होंने दिल्ली सहित देश के अन्य राज्यों की 30 प्रतियोगियों के बीच हरियाणा का प्रतिनिधित्व किया। फेमिना मिस इंडिया २०१७ के फाइनल में मानुषी से अंतिम सवाल पूछा गया कि " ३० प्रतिभागियों के साथ एक महीने का वक्त बिताने के बाद वो क्या सबक लेकर वापस जाएंगी?" इसके जवाब में उन्होंने कहा कि प्रतियोगिता के दौरान उनके पास एक दृष्टिकोण था जिससे उन्हें ये विश्वास हासिल हुआ कि वो दुनिया में बदलाव ला सकती हैं। उनके इस जवाब ने निर्णायकों का दिल जीत लिया और इसी के साथ फेमिना मिस इंडिया 2017 के ताज पर उनका अधिकार हो गया। फेमिना मिस इंडिया होने के नाते इन्होंने नवम्बर २०१७ में चीन के सायना सिटी एरेना में सम्पन्न हुई "मिस वर्ल्ड २०१७" की प्रतियोगिता में भारत का प्रतिनिधित्व किया और विजेता बनीं। .

नई!!: नई दिल्ली और मानुषी छिल्लर · और देखें »

मानेसर

राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (NCR) का मानचित्र मानेसर भारत के हरियाणा राज्य के गुड़गांव जिले का एक तेजी से उभरता औद्योगिक शहर है, साथ ही यह दिल्ली के राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र एनसीआर (NCR) का एक हिस्सा भी है। यह एक सुशुप्त गाँव से भारत के एक सर्वाधिक तेजी से उभरते टाउनशिप में परिवर्तित हो चुका है। यह एनसीआर (NCR) से एक शीघ्र जुड़नेवाला क्षेत्र है। कुछ विकासकों ने मानेसर के साथ एक नया उपनाम जोड़कर इसे 'नया गुड़गांव' का नाम दिया है। राजनीतिक संवेदनशीलता के केन्द्र - दिल्ली से इसकी निकटता के कारण सरकार ने यहाँ राष्ट्रीय महत्त्व के कुछ संस्थानों जैसे राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड (और इसका प्रशिक्षण केंद्र), राष्ट्रीय बम डेटा केंद्र और राष्ट्रीय मस्तिष्क अनुसंधान केंद्र के मुख्यालयों की स्थापना की स्थापना की है। आसपास के स्थानों से 100,000 से अधिक लोग काम करने के लिए मानेसर जाते हैं। गुड़गांव-मानेसर मास्टर प्लान के अनुमान के अनुसार 2021 तक यहाँ की जनसंख्या 37,00,000 हो जाएगी.

नई!!: नई दिल्ली और मानेसर · और देखें »

मायावती

मायावती (जन्मः १५ जनवरी १९५६; पूरा नाम: मायावती प्रभू दास) भारतीय राजनीतिज्ञ एवं बहुजन समाज पार्टी (बीएसपी) की राष्ट्रीय अध्यक्ष है, जो भारतीय समाज के सबसे कमजोर वर्गों - बहुजनों या अनुसूचित जातियों और अनुसूचित जनजातियों, अन्य पिछड़ा वर्ग और धार्मिक अल्पसंख्यकों के जीवन में सुधार के लिए सामाजिक परिवर्तन के एक मंच पर केंद्रित है। दलित राजनीति की पुरोधा भारतीय राजनीति में अपना दखल रखने वाली इस दलित महिला ने चार बार उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री पद की बागडोर संभाली।https://web.archive.org/web/20080608020955/http://www.upgov.nic.in/upinfo/cm_profile_blue%20latest.htm .

नई!!: नई दिल्ली और मायावती · और देखें »

मारुति सुज़ुकी सिलैरियो

मारुति सुज़ुकी सिलैरियो (अंग्रेजी: Maruti Suzuki Celerio) सुज़ुकी कम्पनी द्वारा भारत में बनायी गयी पूर्णत: ऑटोमेटिक सिटी कार है। पहले यह कार भारत में सुज़ुकी के मानेसर (हरियाणा) स्थित प्लाण्ट में मारुति सुज़ुकी ए-स्टार के नाम से दिसम्बर 2008 में लॉन्च की गयी थी। अन्तर्राष्ट्रीय बाज़ार में यही कार मारुति सुज़ुकी सिलैरियो के नाम से जानी जाती है। ग्रेटर नोएडा में होने वाले ऑटो एक्सपो 2014 में लॉन्च होने वाली इस हैचबैक कार की एक्स शोरूम कीमत 3.0 से 5.5 लाख रुपये के बीच होने की सम्भावना व्यक्त की गयी थी। भारतीय ग्राहकों को ध्यान में रखकर बनायी गयी इस कार का औसत माइलेज एक लिटर पेट्रोल में 23.1 किलोमीटर का बताया जाता है। इज़ी ड्राइव नामक पूर्णत: भारतीय ऑटो गीयर शिफ्ट सिस्टम से युक्त इस कार में बार-बार गीयर बदलने का कोई झंझट नहीं रहेगा। शहरी यातायात के लिये इस छोटी कार का प्रयोग काफी सुगम होगा। मारुति सिलैरियो ग्रेटर नोएडा के ऑटो एक्सपो में 6 फरबरी 2014 को लॉन्च की गयी। इस कार की शुरुआती कीमत 3.90 लाख रुपये होगी। .

नई!!: नई दिल्ली और मारुति सुज़ुकी सिलैरियो · और देखें »

मारुति सुजुकी

मारुति सुजुकी इंडिया लिमिटेड सामान्यत: मारुति और इसके पूर्व में मारुति उद्योग लिमिटेड के नाम से जाना जाता था। यह संगठन भारत में मोटर निर्माता है। यह जापानी मोटरगाडी एवं मोटरसाईकिल निर्माता सुजुकी की एक सहायक कंपनी है। नवंबर २०१२ तक, भारतीय यात्री कार बाज़ार में इस कंपनी की हिस्सेदारी ३७% की थी। मारुति सुजुकी प्रवेश स्तर से कारों की पुरी शृंखलाओं के निर्माता एवं विक्रेता रह चुके हैं। प्रवेश स्तर ऑल्टो से हैचबैक रिट्ज़, ए स्टार, स्विफ्ट, वैगन आर, ज़ेन और सेडान वर्ग में डिज़ायर, किज़ाषी (Kizashi) तथा 'सी' वर्ग में ईको, ओम्नी एवं अन्य आवश्यकताओं वाले कार जैसे सुजुकी अरटीगा और स्पोर्टस यूटिलिटी वाहन ग्रांड विटारा के लिये मारुति सुजुकी देश भर में प्रसिध्द है। कंपनी का मुख्यालय नेलसन मंडेला रोड, नई दिल्ली में स्थित है। फरवरी २०१२ के अंत तक कंपनी अपनी एक करोड़ करें बेच चुकी है।http://archive.indianexpress.com/news/maruti-suzuki-sales-cross-1-cr-mark/909976/ .

नई!!: नई दिल्ली और मारुति सुजुकी · और देखें »

मार्क टली

सर विलियम "मार्क" टली, केबीई (जन्म 1936, कलकत्ता, भारत), बीबीसी के नई दिल्ली स्थित ब्यूरो के पूर्व अध्यक्ष हैं। जुलाई 1994 में इस्तीफे से पूर्व उन्होंने 30 वर्ष की अवधि तक बीबीसी के लिए कार्य किया। उन्होंने 20 वर्ष तक बीबीसी के दिल्ली स्थित ब्यूरो के अध्यक्ष पद को संभाला.

नई!!: नई दिल्ली और मार्क टली · और देखें »

माउज़र पिस्तौल

माउज़र पिस्तौल (अंग्रेजी: Mauser C96) मूल रूप से जर्मनी में बनी एक अर्द्ध स्वचालित पिस्तौल है। इस पिस्तौल का डिजाइन जर्मनी निवासी दो माउज़र बन्धुओं ने सन् 1895 में तैयार किया था। बाद में 1896 में जर्मनी की ही एक शस्त्र निर्माता कम्पनी माउज़र ने इसे माउज़र सी-96 के नाम से बनाना शुरू किया। 1896 से 1937 तक इसका निर्माण जर्मनी में हुआ। 20वीं शताब्दी में इसकी नकल करके स्पेन और चीन में भी माउज़र पिस्तौलें बनीं। इसकी मैगज़ीन ट्रिगर के आगे लगती थी जबकि सामान्यतया सभी पिस्तौलों में मैगज़ीन ट्रिगर के पीछे और बट के अन्दर होती है। इस पिस्तौल का एक अन्य मॉडल लकड़ी के कुन्दे के साथ सन 1916 में बनाया गया। इसमें बट के साथ लकड़ी का बड़ा कुन्दा अलग से जोड़ कर किसी रायफल या बन्दूक की तरह भी प्रयोग किया जा सकता था। विंस्टन चर्चिल को यह पिस्तौल बहुत पसन्द थी। भारतीय क्रान्तिकारी रामप्रसाद 'बिस्मिल' ने महज़ 4 माउज़र पिस्तौलों के दम पर 9 अगस्त 1925 को काकोरी के पास ट्रेन रोक कर सरकारी खजाना लूट लिया था। स्पेन ने सन् 1927 में इसी की नक़ल करते हुए अस्त्र मॉडल बनाया। रेलवे गार्डों की सुरक्षा हेतु सन् 1929 में चीन ने इसकी नकल करके.45 कैलिबर का माउज़र बनाया। .

नई!!: नई दिल्ली और माउज़र पिस्तौल · और देखें »

मिताली मुखर्जी

  मित्तीय मुखर्जी, मानव जीनोमिक्स के क्षेत्र में उल्लेखनीय उपलब्धि के साथ सीएसआईआर इंस्टीट्यूट ऑफ जीनोमिक्स और इंटिग्रेटिव बायोलॉजी में एक सीनियर प्रिंसिपल साइंटिस्ट हैं। वह "आयुरजीनोमिक्स" नामक एक अभिनव अध्ययन में भी शामिल है, जो कि जीनोमिक्स के साथ पारंपरिक भारतीय चिकित्सा प्रणाली आयुर्वेद का मिश्रण है। मेडिकल साइंसेज के क्षेत्र में उनके योगदान के लिए उन्हें 2010 में प्रतिष्ठित शांति स्वरूप भटनागर पुरस्कार प्राप्त हुआ। .

नई!!: नई दिल्ली और मिताली मुखर्जी · और देखें »

मिरांडा हाउस

मिराण्डा हाउस (महाविद्यालय और उसके सामने का मैदान) मिरांडा हाउस दिल्ली विश्वविद्यालय का एक प्रतिष्ठित महिला महाविद्यालय है। इसकी स्थापना सन् 1948 में की गई थी। इस महाविद्यालय से निकलीं अनेकों महिलाएं देश-विदेश में महत्वपूर्ण पदों पर काम कर रही हैं। यह महाविद्यालय 2500 से अधिक छात्राओं को कला (आर्ट्स) और विज्ञान के क्षेत्र में शिक्षा प्रदान करता है। इसकी शिक्षक भी भी अपनी प्रतिभा और समर्पण के लिए प्रसिद्ध हैं। इंडिया टुडे-नीलसन भारत के बेस्‍ट कॉलेज सर्वे 2016 में मिरांडा हाउस को टॉप आर्ट्स कॉलेज की सूची में पांचवां स्‍थान दिया गया था। सुविधाएँ: मिरांडा हाउस में मिलने वाली सुविधाएं इस प्रकार है:- पुस्तकालय, छात्रावास, कैफेटेरिया, खेलकूद, प्लेसमेंट सेल। .

नई!!: नई दिल्ली और मिरांडा हाउस · और देखें »

मिर्ज़ा नजफ खां

मिर्ज़ा नजफ़ खां मिर्ज़ा नजफ़ खां (१७२२-१७८२) मुगल बादशाह शाह आलम द्वितीय के दरबार में एक फारसी एडवेंचरर था। इसके सफ़ावी वंश को नादिर शाह ने १७३५ में पदच्युत कर दिया था। नजफ़ खां भारत १७४० में आया था। इसकी बहन का विवाह अवध के नवाब से हुआ था। इसे अवध के उप-वज़ीर का पद भी मिला था। मिर्ज़ा १७२२ से अपनी मृत्यु पर्यन्त मुगल सेना का सिपहसालार रहा था। अप्रैल, १७८२ में इसकी मृत्यु हुई। इसके बाद इसका मकबरा नई दिल्ली के लोधी रोड के निकट कर्बला क्षेत्र में स्थित है। दक्षिण-पश्चिमी दिल्ली में स्थित नजफगढ़ का नाम नजफ़ खां के नाम पर ही पड़ा है। इलाहाबाद के फौजदार मोहम्मद कुली खाँ का मामा। मोहम्मद कुली के समय में (1753-59) नजफ़ खाँ इलाहाबाद के किले का रक्षक था। .

नई!!: नई दिल्ली और मिर्ज़ा नजफ खां · और देखें »

मक़बूल भट्ट

मक़बूल भट्ट (कश्मीरी: (नस्तालीक़), 18 फ़रवरी 1938 – 11 फ़रवरी 1984) जम्मू कश्मीर लिबरेशन फ़्रंट के संस्थापकों में से एक था। Last Retrieved 9 February 2013 उसको 11 फ़रवरी 1984 में तिहाड़ जेल में उसके दो क़तल इलज़ाम क़ुबूलने के बाद फाँसी की सज़ा दी गई थी। .

नई!!: नई दिल्ली और मक़बूल भट्ट · और देखें »

मुन्नालाल गर्ल्स कॉलेज, सहारनपुर

मुन्नालाल एवं जयनारायण खेमका गर्ल्स कालेज भारत के उत्तर प्रदेश राज्य में स्थित सहारनपुर जिले का एक महिला विद्यालय है जिसमें स्नातकोत्तर शिक्षा तक की व्यवस्था है। इस विद्यालय की स्थापना पद्मश्री सेठ बद्री प्रसाद बाजोरिया की प्रेरणा से बृज ट्रांसपोर्ट कम्पनी, सहारनपुर के मालिक स्वर्गीय सेठ मुन्ना लाल द्वारा दान की गई एक लाख रुपये की धनराशि से हुआ था। स्थानीय जे.

नई!!: नई दिल्ली और मुन्नालाल गर्ल्स कॉलेज, सहारनपुर · और देखें »

मुफ़्ती मोहम्मद सईद

मुफ़्ती मोहम्मद सईद (12 जनवरी 1936 - 7 जनवरी 2016) भारत के जम्मू और कश्मीर राज्य के मुख्यमंत्री थे। वे जम्मू और कश्मीर पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी के अध्यक्ष थे। वे भारत के गृह मंत्री भी रहे। इस पद पर आसीन होने वाले वे पहले मुस्लिम भारतीय थे। ०७ जनवरी २०१६ को दिल्ली में उनका निधन हुआ। २०१४ के चुनावों में वे अनंतनाग विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र से कांग्रेस के उम्मीदवार हिलाल अहमद शाह को 6028 वोटों के अंतर से हराकर विधायक निर्वाचित हुए। साल १९८९ में इनकी बेटी रूबैया सईद का अपहरण कर लिया गया था। रुबैया के बदले में आतंकवादियों ने अपने पांच साथियों को मुक्त करवा दिया था। इस घटना का विरोध जम्मू कश्मीर के तत्कालीन मुख्यमंत्री फारूक अब्दुल्ला ने किया था। भारत के गृहमंत्री रहते हुए भी २४ दिसम्बर १९९९ को इन्डियन एयरलाइंस का विमान अपहृत कर लिया गया, परिणाम स्वरूप अजहर मसूद एवं अन्य दो आतंकियों को रिहा करना पड़ा। .

नई!!: नई दिल्ली और मुफ़्ती मोहम्मद सईद · और देखें »

मुर्दहिया

मुर्दहिया दलित साहित्यकार डॉ॰ तुलसीराम की आत्मकथा है, जिसके माध्यम से लेखक ने कई वर्षों से दलित आत्मकथाओं में साहित्य जगत के बंधे-बंधाये मानदण्डों को तोड़कर अपने जीवन से जुड़े उस सच्चे और कड़ुवे यथार्थ को सबके सामने उजागर करने का प्रयास किया है, जिसे उन्होंने स्वयं झेला। .

नई!!: नई दिल्ली और मुर्दहिया · और देखें »

मुरैना ज़िला

मुरैना मध्य प्रदेश राज्य का एक जिला है। इसका मुख्यालय मुरैना में है। जिले के कुल भौगोलिक क्षेत्र का 50 प्रतिशत भाग खेती योग्य है। जिले का 42.94 प्रतिशत क्षेत्र सिंचित हैं। नहर इस क्षेत्र की सिंचाई का मुख्य साधन है। जिले की मुख्य फसल गेहूँ है। सरसों का उत्पादन भी जिले में प्रचुर मात्रा में होता है। खरीफ की मुख्य फसल बाजरा है। यह जिला कच्ची घानी के सरसों के तेल के लिये पूरे मध्य प्रदेश में जाना जाता है। इस जिले में पानी की आपूर्ति चम्बल, कुँवारी, आसन और शंक नदियों द्वारा होती है। चम्बल नदी का उद्गम इन्दौर जिले से हुआ है। यह नदी राजस्थानी इलाके से लगती हुई उत्तर-पश्चिमी सीमा में बहती है। .

नई!!: नई दिल्ली और मुरैना ज़िला · और देखें »

मुखम्मस

मुखम्मस (अंग्रेजी: Mukhammas) (उर्दू:مخمس) उर्दू कविता का एक प्रारूप है। इसकी उत्पत्ति फ़ारसी भाषा से हुई है ऐसा माना जाता है। इसमें प्रत्येक बन्द या चरण 5-5 पंक्ति का होता है पहले चरण की सभी पंक्तियों में एक-सी लयबद्धता होती है। जबकि बाद के सभी बन्द अपनी अन्तिम पंक्ति में शुरुआती बन्द की आखिरी बन्दिश लय में आबद्ध होते रहते हैं। निम्न उद्धरण में दिये गये शुरुआती बन्द से यह बात एकदम स्पष्ठ हो जाती है। (शेष अंश नीचे उदाहरण वाले अनुभाग में देखें): .

नई!!: नई दिल्ली और मुखम्मस · और देखें »

मुग़ल उद्यान, दिल्ली

भारत की राजधानी नई दिल्ली में राष्ट्रपति भवन के पीछे के भाग में स्थित मुगल उद्यान अपने किस्म का अकेला ऐसा उद्यान है, जहां विश्वभर के रंग-बिरंगे फूलों की छटा देखने को मिलती है। यहां विविध प्रकार के फूलों और फलों के पेड़ों का संग्रह है। भारत के प्रथम राष्ट्रपति डॉ॰राजेंद्र प्रसाद ने इस उद्यान को जन साधारण के दर्शन हेतु खुलवाया था। इस उद्यान को देखने वालों की संख्या प्रतिवर्ष बढ़ती जा रही है। २३ जनवरी,०९ को यहां ९५,५३७ दर्शक आए थे। इसकी अभिकल्पना ब्रिटिश वास्तुकार सर एडविन लुटियंस ने लेडी हार्डिग के आदेश पर की थी। १३ एकड़ में फैले इस उद्यान में ब्रिटिश शैली के संग-संग औपचारिक मुगल शैली का मिश्रण दिखाई देता है।। भारत के बारे में जानें। राष्‍ट्रीय पोर्टल विषयवस्‍तु प्रबंधन दल यह उद्यान चार भागों में बंटा हुआ है और चारों एक दूसरे से भिन्न एवं अनुपम हैं। यहां कई छोटे-बड़े बगीचे हैं जैसे पर्ल गार्डन, बटरफ्लाई गार्डन और सकरुलर गार्डन, आदि। बटरफ्लाई गार्डन में फूलों के पौधों की बहुत सी पंक्तियां लगी हुई हैं। यह माना जाता है कि तितलियों को देखने के लिए यह जगह सर्वोत्तम है। मुगल उद्यान में अनेक प्रकार के फूल देखे जा सकते हैं जिसमें गुलाब, गेंदा, स्वीट विलियम आदि शामिल हैं। इस बाग में फूलों के साथ-साथ जड़ी-बूटियां और औषधियां भी उगाई जाती हैं। इनके लिये एक अलग भाग बना हुआ है, जिसे औषधि उद्यान कहते हैं। मुगल उद्यान वसंत ऋतु में एक माह के लिये पर्यटकों के लिए खुलता है। .

नई!!: नई दिल्ली और मुग़ल उद्यान, दिल्ली · और देखें »

मुंबई राजधानी एक्स्प्रेस डाउन

मुंबई राजधानी एक्स्प्रेस (ट्रेन संख्या: 2952) भारतीय रेल की एक राजधानी एक्स्प्रेस रेलगाड़ी है। यह नई दिल्ली (स्टेशन कोड: NDLS) से 04:30PM बजे छूटती है। यह ट्रेन मुंबई सेंट्रल (स्टेशन कोड: BCT) पर 08:35AM बजे पहुंचती है। यह ट्रेन रविवार, सोमवार, मंगलवार, बुधवार, गुरुवार, शुक्रवार, शनिवार, के दिन चलती है। इसका कुल यात्रा का समय 16 घंटे 5 मिनट है। श्रेणी:राजधानी रेल.

नई!!: नई दिल्ली और मुंबई राजधानी एक्स्प्रेस डाउन · और देखें »

मुंबई समाचार

मुंबई समाचार (Gujarati:મુંબઈ સમાચાર) भारत में प्रकाशित होने वाला गुजराती भाषा का एशिया के सब से पुराने वर्तमानपत्रों में से एक और गुजराती का प्रथम समाचार पत्र (अखबार) है। इसका मुख्यालय मुंबई में है। इस्वीसन १८२२ में इसके प्रकाशन की शरुआत हुई थी। अहमदाबाद, वड़ोदरा, बंगलौर और नयी दिल्ली में इसकी शाखाएँ हैं। ये भारत सरकार के समाचारपत्रों के पंजीयक कार्यालय द्वारा आरएनआई क्रमांक से पंजीकृत है। .

नई!!: नई दिल्ली और मुंबई समाचार · और देखें »

मुंबई-नई दिल्ली दुरोंतो एक्सप्रेस

दुरोंतो एक्सप्रेस मुंबई-नई दिल्ली दुरोंतो एक्सप्रेस को मुंबई एसी दुरोंतो एक्सप्रेस के नाम से भी जाना जाता हैं। मुंबई सेंट्रल और नई दिल्ली के बीच चलने वाली दुरोंतो का एक संस्करण है, जो पूरी तरह से वातानुकूलित, नॉन- स्टॉप संस्करण है। इस ट्रेन की देखभाल पश्चिम रेलवे (डब्ल्यू), मुंबई डिवीजन द्वारा की जाती है। इस ट्रेन का कोई भी व्यवसाईक स्टॉप नहीं हैं, एवं यह दुरोंतो एक्सप्रेस होने के चलते दुरोंतो एक्सप्रेस गाड़ियों की शर्तें एवं नियमों का पालन करता है। अपनी यात्रा के दौरान यह तकनीकी प्रयोजनों के लिए रुकती हैं,जिसमे मुख्य रूप से ट्रेन के चालक दल में एक परिवर्तन (इंजन चालक) शामिल है।नई दिल्ली से मुंबई के बीच चलने वाली गाड़ी का नंबर 22,209 है एवं मुंबई से नई दिल्ली, ट्रेन नंबर 22210 है। अपनी राजधानी समकक्षों की तुलना में अधिकांश दुरोंतो ट्रेनों यात्रा में कम समय लेती है। राजधानी एक्सप्रेस को मुंबई-दिल्ली मार्ग में सर्वोच्च प्राथमिकता दी जाती हैं एवं यह इसको मुंबई से दिल्ली के बीच चलने वाली सबसे तेज गति की ट्रेन हैं। लेकिन, राजधानी इस रूट की सबसे तेज चलने वाली गाड़ियों में से एक हैं क्योंकि दोनो ट्रेन्स समान दूरी तय करती हैं लेकिन नॉन-स्टॉप सेवा एवं कोई वाणिज्यिक स्टापें नहीं होने के बाद भी दुरोंतो राजधानी की तुलना में 40-70 मिनट समय अधिक लेता है। पटरियों पर सबसे पहली बार यह ट्रेन 18 मार्च 2012 को दौड़ी एवं यह ट्रेन 02209 मुबई सेंट्रल-नई दिल्ली दुरोंतो विशेष उद्घाटन एक्सप्रेस के नाम से जानी गयी। मुंबई के मेयर सुनील प्रभु ने झंडी दिखाकर रवाना किया गया था। इस ट्रेन का नियमित रूप से परिचालन 23 मार्च 2012 को शुरू किया गया था एवं इसका नंबर 22209 है। .

नई!!: नई दिल्ली और मुंबई-नई दिल्ली दुरोंतो एक्सप्रेस · और देखें »

मुंबई-अहमदाबाद हाई-स्पीड रेल कॉरिडोर

मुंबई-अहमदाबाद हाई-स्पीड रेल कॉरिडोर (Mumbai–Ahmedabad high-speed rail corridor) पश्चिमी भारत में मुंबई, महाराष्ट्र और अहमदाबाद, गुजरात के शहरों को जोड़ने वाली प्रस्तावित उच्च गति रेल लाइन है। यह भारत की पहली उच्च गति वाली रेल लाइन होगी। कॉरिडोर का निर्माण 2018 के अंत तक शुरू होगा और 2023 तक पूरा होने की उम्मीद है। | .

नई!!: नई दिल्ली और मुंबई-अहमदाबाद हाई-स्पीड रेल कॉरिडोर · और देखें »

मुकेश्वर चुन्नी

श्री मुकेश्वर चुन्नी हिन्दी भाषा के एक कवि हैं एवं मारीशस के सरकार में केन्द्रीय मंत्री हैं। वे हिन्दी के प्रचार प्रसार के लिए काफी जाने जाते हैं। वर्ष २००८ में उन्हें नयी दिल्ली में आयोजित अंतरराष्ट्रीय हिन्दी उत्सव में अक्षरम सम्मान से विभूषित किया गया है। उन्होंने मारीशस में चौथे विश्व हिन्दी सम्मेलन के आयोजन अहम भूमिका निभाई थी। श्रेणी:व्यक्तिगत जीवन श्रेणी:हिन्दी श्रेणी:मारीशस के हिन्दी विद्वान.

नई!!: नई दिल्ली और मुकेश्वर चुन्नी · और देखें »

मौलिक समतल (गोलीय निर्देशांक)

किसी गोलीय निर्देशांक प्रणाली में मौलिक समतल (fundamental plane) ऐसा एक काल्पनिक समतल होता है जो उस गोले को दो बराबर के गोलार्धों (हेमिस्फ़ीयरों) में विभाजित कर दे। फिर उस गोले पर स्थित किसी भी बिन्दु का अक्षांश (लैटिट्यूड) उस समतल और गोले के केन्द्र से बिन्दु को जोड़ने वाली रेखा के बीच का कोण होता है। पृथ्वी पर यह समतल भूमध्य रेखा द्वारा निर्धारित करा गया है। यदि पृथ्वी के ज्यामितीय केन्द्र से नई दिल्ली शहर के बीच के क्षेत्र तक एक काल्पनिक रेखा खींची जाये तो उसका इस समतल से बना कोण (ऐंगल) लगभग २८.६१३९° बनेगा और यह समतल से उत्तर में है। इसलिये भूगोलीय निर्देशांक प्रणाली के तहत नई दिल्ली का अक्षांश भी २८.६१३९° उत्तर (28.6139° N) माना जाता है। .

नई!!: नई दिल्ली और मौलिक समतल (गोलीय निर्देशांक) · और देखें »

मृदुला सिन्हा

मृदुला सिन्हा (27 नवम्बर 1942, ग्राम छपरा, जिला मुजफ्फरपुर बिहार) वर्तमान में गोवा के राज्यपाल पद पर हैं। वे एक सुविख्यात हिन्दी लेखिका के साथ-साथ भारतीय जनता पार्टी की केन्द्रीय कार्यसमिति की सदस्य भी हैं। इससे पूर्व वे पाँचवाँ स्तम्भ के नाम से एक सामाजिक पत्रिका निकालती रही हैं। श्रीमती सिन्हा अटल बिहारी वाजपेयी के प्रधानमन्त्रित्व-काल में केन्द्रीय समाज कल्याण बोर्ड की अध्यक्ष.

नई!!: नई दिल्ली और मृदुला सिन्हा · और देखें »

मैथिलीशरण गुप्त सम्मान

मैथिलीशरण गुप्त सम्मान मध्यप्रदेश शासन ने साहित्य और कलाओं को प्रोत्साहन देने की दृष्टि से अनेक राष्ट्रीय और राज्य स्तरीय सम्मानों की स्थापना की है। हिन्दी साहित्य के क्षेत्र में वार्षिक सम्मान का नाम खड़ी बोली के शीर्ष प्रवर्तक कवि श्री मैथिलीशरण गुप्त की स्मृति में रखा गया है। राष्ट्रीय मैथिलीशरण गुप्त सम्मान का उद्देश्य हिन्दी साहित्य में श्रेष्ठ उपलब्धि और सृजनात्मकता को सम्मानित करना है। सम्मान का निकष असाधारण उपलब्धि, रचनात्मकता, उत्कृष्टता और दीर्घ साहित्य साधना के निरपवाद सर्वोच्च मानदण्ड रखे गये हैं। .

नई!!: नई दिल्ली और मैथिलीशरण गुप्त सम्मान · और देखें »

मेट्टुपालयम, कोयंबटूर

मेट्टुपालयम, भारत के तमिल नाडु राज्य के कोयंबटूर जिले का एक शहर तथा नगरपालिका (म्युनिसिपैलिटी) है। .

नई!!: नई दिल्ली और मेट्टुपालयम, कोयंबटूर · और देखें »

मेनका गांधी

मेनका गांधी (२६ अगस्त १९५६ --) भारत की प्रसिद्ध राजनेत्री एवं पशु-अधिकारवादी हैं। पूर्व में वे पत्रकार भी रह चुकी हैं। किन्तु भारत की महिला प्रधान मंत्री इन्दिरा गांधी के छोटे पुत्र स्व॰ संजय गांधी की पत्नी के रूप में वे अधिक विख्यात हैं। उन्होने अनेकों पुस्तकों की रचना की है तथा उनके लेख विभिन्न पत्र-पत्रिकाओं में प्रायः आते रहते हैं। वे वर्तमान में भारत की महिला एवं बाल विकास मंत्री हैं। .

नई!!: नई दिल्ली और मेनका गांधी · और देखें »

मेरी इक्यावन कविताएँ

कविता का महत्व मेरी इक्यावन कविताएँ कवि व राजनेता अटल बिहारी वाजपेयी का बहुचर्चित काव्य-संग्रह है जिसका लोकार्पण १३ अक्टूबर १९९५ को नई दिल्ली में भारत के पूर्व प्रधानमन्त्री पी० वी० नरसिंहराव ने सुप्रसिद्ध कवि शिवमंगल सिंह 'सुमन' की उपस्थिति में किया था। कविताओं का चयन व सम्पादन डॉ॰ चन्द्रिकाप्रसाद शर्मा ने किया है। पुस्तक के नाम के अनुसार इसमें अटलजी की इक्यावन कविताएँ संकलित हैं जिनमें उनके बहुआयामी व्यक्तित्व के दर्शन होते हैं। बानगी के तौर पर यहाँ इस पुस्तक की कुछ कविताएँ भी दे दी गयीं हैं। .

नई!!: नई दिल्ली और मेरी इक्यावन कविताएँ · और देखें »

मेहदी ख्वाजा पीरी

मेहदी ख्वाजा पीरी (फ़ारसी), नूर अंतर्राष्ट्रीय माइक्रोफिल्म केन्द्र, नई दिल्ली के संस्थापक है। इनका जन्म (1955) में तेहरान में स्थित याहिया मज़ार (इमाम जादा) के पास एक धार्मिक परिवार में हुआ। मरम्मत, पेस्टिंग और एक ही पाण्डुलिपि (हस्तलिपि) की दूसरी प्रतिलिपियों के प्रिंट के नए तरीको का अविष्कार किया जो प्राचीन ग्रंथो के संरक्षण में एक अभिनव कदम है। उन्होंने भारत में पुस्तको के पुनरुद्धार (पुनर्जीवन) में अपने जीवन के 35 वर्ष बिताये। इस अवधि के दौरान वह भारत की विविध संस्कृतियों से परिचित हुए। और इसके अलावा हिंदी, अंग्रेजी, और अरबी में भी महारत हासिल की। .

नई!!: नई दिल्ली और मेहदी ख्वाजा पीरी · और देखें »

मेक माई ट्रिप

MakeMyTrip.com एक भारतीय ऑनलाइन ट्रैवल एजेंसी है जिसके पास बाजार का एक बड़ा हिस्सा है, जिसमें भारत में हर बारह घरेलू उड़ानों में से एक उड़ान की बुकिंग इसके माध्यम से की जाती है। MakeMyTrip.com अपने ग्राहकों को अंतर्राष्ट्रीय एवं घरेलू एयरलाइन टिकटें, भारतीय रेल की टिकटें, घरेलू बस टिकटें, अंतर्राष्ट्रीय एवं घरेलू होटल आरक्षणें, भाड़े पर कार, अंतर्राष्ट्रीय और घरेलू छुट्टी पैकेजों, एमआईसीई (MICE) (बैठकें, प्रोत्साहन, दूर सम्मलेन, प्रदर्शनियां), वीजा सेवाएं, बी2बी (B2B) सेवाएं एवं कई अन्य प्रकार वाले विभिन्न किस्म की यात्रा संबंधी सेवाएं एवं उत्पाद उपलब्ध कराता है। अप्रैल 2000 में स्थापित MakeMyTrip.com के आज विभिन्न विशेषाधिकार प्राप्त स्थलों के अतिरिक्त संपूर्ण भारत में 20 शहरों में कार्यालय एवं न्यूयॉर्क तथा सेन फ्रांसिस्को में अंतर्राष्ट्रीय कार्यालय हैं। .

नई!!: नई दिल्ली और मेक माई ट्रिप · और देखें »

मेक इन इंडिया

मेक इन इंडिया भारत सरकार द्वारा देशी और विदेशी कंपनियों द्वारा भारत में ही वस्तुओं के निर्माण पर बल देने के लिए बनाया गया है। इसका उद्घाटन प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 25 सितम्बर 2014 को किया था। .

नई!!: नई दिल्ली और मेक इन इंडिया · और देखें »

मॉडर्न स्कूल, नई दिल्ली

मॉडर्न स्कूल नई दिल्ली में स्थित एक पुराना विद्यालय है। इसकी स्थापना १९२० में लाला रघुबीर सिंह और सोभा सिंह ने किया था।.

नई!!: नई दिल्ली और मॉडर्न स्कूल, नई दिल्ली · और देखें »

मोटरवाहन

कार्ल बेन्ज़'स "वेलो"मॉडल (1894) -सबसे पहले गाड़ियों के होड़ में आई right विश्व मानचित्र प्रति 1000 लोग गाड़ी, मोटरवाहन, कार, मोटरकार या ऑटोमोबाइल एक पहियों वाला वाहन है, जो यात्रियों के परिवहन के काम आता है; और जो अपना इंजन या मोटर भी स्वयं उठाता है। इस शब्द की अधिकांश परिभाषाओं के अनुसार मोटरवाहन मुख्य रूप से सड़कों पर चलाने के लिए हैं, एक से आठ लोगों कों बैठाने के लिए हैं, आमतौर पर जिनके चार पहिये होते हैं, जिनका निर्माण मुख्य रूप से सामान के उपेक्षा लोगों के परिवहन के लिए किया जाता है। मोटरकार शब्द का प्रयोग विद्युतिकृत रेल प्रणाली के सन्दर्भ में, एक ऐसी कार के लिए प्रयुक्त होता है, जो एक छोटा लोकोमोटिव होने के साथ ही, इसमे लोगों और सामान के लिए जगह भी होती है। ये लोकोमोटिव कार उपनगरीय मार्गों में अंतर्नगरीय रेल प्रणालियों में इस्तेमाल की जाती हैं। 2002 तक, 590 मिलियन यात्री करें दुनिया भर में थी (मोटे तौर पर एक कार प्रति ग्यारह लोग).

नई!!: नई दिल्ली और मोटरवाहन · और देखें »

मोनटेक सिंह आहलूवालिया

मोनटेक सिंह आहलूवालिया (जन्म 24 नवंबर 1943) एक भारतीय अर्थशास्त्री हैं और पूर्व यूपीए सरकार के समय वे भारतीय योजना आयोग के उपाध्यक्ष थे, यह दर्जा मंत्रिमंडल के एक मंत्री के बराबर है। .

नई!!: नई दिल्ली और मो