लोगो
यूनियनपीडिया
संचार
Google Play पर पाएं
नई! अपने एंड्रॉयड डिवाइस पर डाउनलोड यूनियनपीडिया!
डाउनलोड
ब्राउज़र की तुलना में तेजी से पहुँच!
 

दूरदर्शन (चैनल)

सूची दूरदर्शन (चैनल)

अंगूठाकार दूरदर्शन नाम से संबोधित अन्य लेखों को देखने के लिये दूरदर्शन (बहुविकल्पी) पर जायें। दूरदर्शन (अंग्रेज़ी: Doordarshan) भारत का सरकारी दूरदर्शन प्रणाल (चैनल) है। यह भारत सरकार द्वारा नामित पर्षद् प्रसार भारती के अंतर्गत चलाया जाता है। दूरदर्शन के प्रसारण की शुरूआत भारत में दिल्ली सितंबर, १९५९ को हुई। प्रसार-कक्ष तथा प्रेषित्रो की आधारभूत सेवाओं के लिहाज़ से यह विश्व का दूसरा सबसे विशाल प्रसारक है। हाल ही मे इसने अंकीय पार्थिव प्रेषित्रो (डिजिटल स्थलचर संचारी (Digital Terrestrial Transmitters)) सेवा शुरु की। दूरदर्शन के राष्‍ट्रीय नेटवर्क में 64 दूरदर्शन केन्‍द्र / निर्माण केन्‍द्र, 24 क्षेत्रीय समाचार एकक, 126 दूरदर्शन रखरखाव केन्द्र, 202 उच्‍च शक्ति ट्रांसमीटर, 828 लो पावर ट्रांसमीटर, 351 अल्‍पशक्ति ट्रांसमीटर, 18 ट्रांसपोंडर, 30 चैनल तथा डीटीएच सेवा भी शामिल है। .

31 संबंधों: चित्रहार, एपीएन लाइव हिन्दी, डिफरेंट स्ट्रोक्स, डक टेल्स, तुम देना साथ मेरा (दूरदर्शन), तू तू मैं मैं, द टेरिबल थंडरलिज़ार्डस, दूरदर्शन, दूरदर्शन (बहुविकल्पी), दूरदर्शन का इतिहास, ध्रुव सहगल, भारत में संचार, भारत की संस्कृति, भारतीय राष्ट्रीय उपग्रह प्रणाली, महाभारत (टीवी धारावाहिक), मंदार देवस्थली, रामदास पाध्ये, रामायण (टीवी धारावाहिक), शंकर नाग, शक्तिमान, सफ़दर हाशमी, समीर सोनी, स्‍वतंत्रता दिवस (भारत), सीआईडी (धारावाहिक), हिंदी टेलीविजन चैनलों की सूची, विवेक मुशरान, आज तक, करमचंद, काक (कार्टूनिस्ट), किटू गिडवानी, कृष्णा (टीवी धारावाहिक)

चित्रहार

चित्रहार दूरदर्शन (चैनल) के सबसे पुराने कार्यक्रमों में से एक है। इस कार्यक्रम में चुनिन्दा फ़िल्मी गीत दिखाए जाते हैं। 15 अगस्त 1982 को शुरू हुआ यह कार्यक्रम आजतक अनवरत चल रहा है। इसी कारण से यह दूरदर्शन या भारतीय टेलीविजन के इतिहास में सबसे लम्बा चलने वाला कार्यक्रम है। इसकी दर्शक संख्या लगभग 15 करोड़ है। .

नई!!: दूरदर्शन (चैनल) और चित्रहार · और देखें »

एपीएन लाइव हिन्दी

एपीएन एक हिंदी समाचार टी वी चैनल है। इसका स्वामित्व ईएनसी नेटवर्क’ प्राइवेट लिमिटेड के पास है। एपीएन भारत के सर्वाधिक देखे जाने वाले हिन्दी समाचार चैनलों में से एक है। एपीएन का मुख्यालय नई दिल्ली, भारत में स्थित है एपीएन लाइव चैनल की शुरुआत सन: २०१४ में हुई थी भारत के तमाम समाचार चैनलों में चुनिंदा ही है, जिन की खबरें विश्वसनीयता की कसौटी पर खरी उतरती हैं। एपीएन न्यूज चैनल  ऐसे कुछ चुनिंदा समाचार चैनलों में से एक है। एपीएन न्यूज आज भारत में सर्वाधिक देखा जाने वाला और सबसे विश्वसनीय और सम्मानित समाचार चैनल है। एपीएन न्यूज एक प्रकार से समाचार क्रांति का अगुआ रहा है। एपीएन न्यूज  को गहनता, विश्लेषणात्मक रिपोर्टिंग और ज्वलंत मुद्दों पर मुश्किल और गंभीर चर्चाओं के लिए भी जाना जाता है। एपीएन न्यूज का अपना स्टूडियो है, जो नोएडा सेक्टर 68 में स्थित 10 एकड़ के परिसर में स्थापित है। एपीएन के पास देश भर में कार्यालय और स्टूडियो हैं, जिनके साथ रचनात्मक टीमों का जुड़ाव है। कई बड़े और विश्वसनीय राष्ट्रव्यापी सर्वेक्षण और निगरानी रिपोर्टों से पता चला है कि एपीएन न्यूज के पास सभी हिंदी राज्यों में सबसे ज्यादा दर्शकों की संख्या है। बीएआरसी ने एपीएन को सबसे ज्यादा विश्वसनीय विश्वसनीय चैनल बताया है।। एपीएन न्यूज देश की जनता की नब्ज पहचानने का दावा करता है। हम खबर देने में 'सबसे पहले और सबसे सही' होने का प्रयास करते हैं, जिसकी खबरें निष्पक्ष और बिना डर के तय होती हैं। क्यों कि हमारी टैग लाईन ही है…खबर है तो दिखेगी। हिन्दी हिन्दी.

नई!!: दूरदर्शन (चैनल) और एपीएन लाइव हिन्दी · और देखें »

डिफरेंट स्ट्रोक्स

डिफरेंट स्ट्रोक्स (अंग्रेजी: Diff'rent Strokes) पर प्रसारित कि एक अमेरिकी टेलीविजन सिटकॉम है एनबीसी से ३ नवंबर १९७८, को ४ मई, १९८५ और पर एबीसी से २७ सितम्बर, १९८५, को ७ मार्च, १९८६। यह १९९५ से १९९९ के माध्यम से सोनी एंटरटेनमेंट चैनल और दूरदर्शन पर भारत में प्रसारित किया गया है, हिंदी में डब की गई। .

नई!!: दूरदर्शन (चैनल) और डिफरेंट स्ट्रोक्स · और देखें »

डक टेल्स

डक टेल्स एक अमेरिकी एनिमेटेड टेलीविजन श्रृंखला है जिसे वॉल्ट डिज़्नी टेलीविजन एनीमेशन के द्वारा बनाया गया है। कार्ल बार्क की कॉमिक पुस्तक श्रृंखला अंकल स्क्रूज पर आधारित इस श्रृंखला का पहला प्रदर्शन 18 सितंबर 1987 को हुआ तथा कुल 4 सत्रों और 100 कड़ियों के साथ 28 नवम्बर 1990 को समाप्त हो गया। श्रृंखला पर आधारित एक एनिमेटेड नाट्य फिल्म, DuckTales the Movie: Treasure of the Lost Lamp 3 अगस्त 1990 में संयुक्त राज्य अमेरिका में व्यापक रूप से लोकार्पित की गयी जो टी वी श्रृंखला का अतिरिक्त उत्पाद थी। यह महत्वपूर्ण रूप से और वित्तीय रूप से सफल थी और श्रृंखला के मूल कलाकारों ने फिल्म में अपनी पार्श्व आवाज़ का प्रतिदान किया। .

नई!!: दूरदर्शन (चैनल) और डक टेल्स · और देखें »

तुम देना साथ मेरा (दूरदर्शन)

तुम देना साथ मेरा भारतीय हिन्दी धारावाहिक है। जिसका प्रसारण दूरदर्शन पर 23 नवम्बर 2009 से शुरू हुआ। इसका निर्माण राहुल भट्ट ने किया है। .

नई!!: दूरदर्शन (चैनल) और तुम देना साथ मेरा (दूरदर्शन) · और देखें »

तू तू मैं मैं

तू तू मैं मैं एक भारतीय हास्य धारावाहिक है। जिसका प्रसारण दूरदर्शन में और 1996 के बाद स्टार प्लस में हुआ था। इसके निर्देशक सचिन पिल्गऔंकर हैं। इसका पहला प्रसारण डीडी मेट्रो में हुआ। .

नई!!: दूरदर्शन (चैनल) और तू तू मैं मैं · और देखें »

द टेरिबल थंडरलिज़ार्डस

द तेर्रिब्ले थंडरलिजार्डस (अंग्रेज़ी: The Terrible Thunderlizards) एक सेगमेंट है उस पर कनाडा में प्रसारित वाई टी वी और भाग के रूप में संयुक्त राज्य अमेरिका में की इक! स्रवगंजा फॉक्स किड्स प्रोग्रामिंग ब्लॉक पर। श्रृंखला मूल रूप से से बंद स्पिन के रूप में इरादा था इक! द कैट। सेगमेंट सितम्बर १९९३ में इक के दूसरे सत्र के शुरू में हवा के लिए माना जाता है, लेकिन कारण उत्पादन में देरी करने के लिए, यह नवंबर में शुरू किया गया था। तरह इक!, सेगमेंट भी सैवेज स्टूडियोज लिमिटेड के सहयोग से नेलवाना और फॉक्स किड्स के एक सह उत्पादन किया गया था। यह कार्टून हिंदी में डब और भारत में दूरदर्शन के दूरदर्शन नेशनल पर प्रसारित किया गया, साथ साथ इक! द कैट। .

नई!!: दूरदर्शन (चैनल) और द टेरिबल थंडरलिज़ार्डस · और देखें »

दूरदर्शन

दूरदर्शन या टेलीविजन (या संक्षेप में, टीवी) एक ऐसी दूरसंचार प्रणाली है जिसके द्वारा चलचित्र व ध्वनि को दो स्थानों के बीच प्रसारित व प्राप्त किया जा सके। यह शब्द दूरदर्शन सेट, दूरदर्शन कार्यक्रम तथा प्रसारण के लिये भी प्रयुक्त होता है। दूरदर्शन का अंग्रेजी शब्द 'टेलिविज़न' लैटिन तथा यूनानी शब्दों से बनाया गया है जिसका अर्थ होता है दूर दृष्टि (यूनानी - टेली .

नई!!: दूरदर्शन (चैनल) और दूरदर्शन · और देखें »

दूरदर्शन (बहुविकल्पी)

दूरदर्शन के कई अर्थ हो सकते हैं -.

नई!!: दूरदर्शन (चैनल) और दूरदर्शन (बहुविकल्पी) · और देखें »

दूरदर्शन का इतिहास

दूरदर्शन का पहला प्रसारण 15 सितंबर, 1959 को प्रयोगात्‍मक आधार पर आधे घण्‍टे के लिए शैक्षिक और विकास कार्यक्रमों के रूप में शुरू किया गया। उस समय दूरदर्शन का प्रसारण सप्ताह में सिर्फ तीन दिन आधा-आधा घंटे होता था। तब इसको ‘टेलीविजन इंडिया’ नाम दिया गया था बाद में 1975 में इसका हिन्दी नामकरण ‘दूरदर्शन’ नाम से किया गया। यह दूरदर्शन नाम इतना लोकप्रिय हुआ कि टीवी का हिंदी पर्याय बन गया। शुरुआती दिनों में दिल्ली भर में 18 टेलीविजन सेट लगे थे और एक बड़ा ट्रांसमीटर लगा था। तब दिल्ली में लोग इसको कुतुहल और आश्चर्य के साथ देखते थे। इसके बाद दूरदर्शन ने धीरे धीरेअपने पैर पसारे और दिल्‍ली (1965); मुम्‍बई (1972); कोलकाता (1975), चेन्‍नई (1975) में इसके प्रसारण की शुरुआत हुई। शुरुआत में तो दूरदर्शन यानी टीवी दिल्ली और आसपास के कुछ क्षेत्रों में ही देखा जाता था। दूरदर्शन को देश भर के शहरों में पहुँचाने की शुरुआत 80 के दशक में हुई और इसकी वजह थी 1982 में दिल्ली में आयोजित किए जाने वाले एशियाई खेल थे। एशियाई खेलों के दिल्ली में होने का एक लाभ यह भी मिला कि श्वेत और श्याम दिखने वाला दूरदर्शन रंगीन हो गया था। फिर दूरदर्शन पर शुरु हुआ पारिवारिक कार्यक्रम हम लोग जिसने लोकप्रियता के तमाम रेकॉर्ड तोड़ दिए। 1984 में देश के गाँव-गाँव में दूरदर्शन पहुँचानेके लिए देश में लगभग हर दिन एक ट्रांसमीटर लगाया गया। इसके बाद आया भारत और पाकिस्तान के विभाजन की कहानी पर बना बुनियाद जिसने विभाजन की त्रासदी को उस दौर की पीढ़ी से परिचित कराया। इस धारावाहिक के सभी किरदार आलोक नाथ (मास्टर जी), अनीता कंवर (लाजो जी), विनोद नागपाल, दिव्या सेठ घर घर में लोकप्रिय हो चुके थे। फिर तो एक के बाद एक बेहतरीन और शानदार धारवाहिकों ने दूरदर्शन को घर घर में पहचान दे दी। दूरदर्शन पर 1980 के दशक में प्रसारित होने वाले मालगुडी डेज़, ये जो है जिन्दगी, रजनी, ही मैन, वाहः जनाब, तमस, बुधवार और शुक्रवार को 8 बजे दिखाया जाने वाला फिल्मी गानों पर आधारित चित्रहार, भारत एक खोज, व्योमकेश बक्शी, विक्रम बैताल, टर्निंग प्वाइंट, अलिफ लैला, शाहरुख़ खान की फौजी, रामायण, महाभारत, देख भाई देख ने देश भर में अपना एक खास दर्शक वर्ग ही नहीं तैयार कर लिया था बल्कि गैर हिन्दी भाषी राज्यों में भी इन धारवाहिकों को ज़बर्दस्त लोकप्रियता मिली। रामायण और महाभारत जैसे धार्मिक धारावाहिकों ने तो सफलता के तमाम कीर्तिमान ध्वस्त कर दिए थे, 1986 में शुरु हुए रामायण और इसके बाद शुरु हुए महाभारत के प्रसारण के दौरान रविवार को सुबह देश भर की सड़कों पर कर्फ्यू जैसा सन्नाटा पसर जाता था और लोग अपने महत्वपूर्ण कार्यक्रमों से लेकर अपनी यात्रा तक इस समय पर नहीं करते थे। रामायण की लोकप्रियता का आलम तो ये था कि लोग अपने घरों को साफ-सुथरा करके अगरबत्ती और दीपक जलाकर रामायण का इंतजार करते थे और एपिसोड के खत्म होने पर बकायदा प्रसाद बाँटी जाती थी। .

नई!!: दूरदर्शन (चैनल) और दूरदर्शन का इतिहास · और देखें »

ध्रुव सहगल

ध्रुव सहगल (जन्म: 17 जून 1980) एक भारतीय एनीमेशन एवं चलचित्र निर्माता निर्देशक और पटकथा लेखक हैं। ध्रुव सहगल ने पहला भारितीय उर्दू एनीमेशन कार्यक्रम राजगुरु और तेनालीराम बनाया। उनका दूसरा उर्दू एनीमेशन कार्यक्रम स्कूल डेज रहा। इसके इलावा वो आकाशवाणी और दूरदर्शन के लिए निरंतर काम करते रहें है।.

नई!!: दूरदर्शन (चैनल) और ध्रुव सहगल · और देखें »

भारत में संचार

भारतीय दूरसंचार उद्योग दुनिया का सबसे तेजी से बढ़ता दूरसंचार उद्योग है, जिसके पास अगस्त 2010http://www.trai.gov.in/WriteReadData/trai/upload/PressReleases/767/August_Press_release.pdf तक 706.37 मिलियन टेलीफोन (लैंडलाइन्स और मोबाइल) ग्राहक तथा 670.60 मिलियन मोबाइल फोन कनेक्शन्स हैं। वायरलेस कनेक्शन्स की संख्या के आधार पर यह दूरसंचार नेटवर्क मुहैया करने वाले देशों में चीन के बाद दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा देश है। भारतीय मोबाइल ग्राहक आधार आकार में कारक के रूप में एक सौ से अधिक बढ़ी है, 2001 में देश में ग्राहकों की संख्या लगभग 5 मिलियन थी, जो अगस्त 2010 में बढ़कर 670.60 मिलियन हो गयी है। चूंकि दूरसंचार उद्योग दुनिया में तेजी से बढ़ रहा है, इसलिए यह अनुमान लगाया जा रहा है कि 2013 तक भारत में 1.159 बिलियन मोबाइल उपभोक्ता हो जायेंगे.

नई!!: दूरदर्शन (चैनल) और भारत में संचार · और देखें »

भारत की संस्कृति

कृष्णा के रूप में नृत्य करते है भारत उपमहाद्वीप की क्षेत्रीय सांस्कृतिक सीमाओं और क्षेत्रों की स्थिरता और ऐतिहासिक स्थायित्व को प्रदर्शित करता हुआ मानचित्र भारत की संस्कृति बहुआयामी है जिसमें भारत का महान इतिहास, विलक्षण भूगोल और सिन्धु घाटी की सभ्यता के दौरान बनी और आगे चलकर वैदिक युग में विकसित हुई, बौद्ध धर्म एवं स्वर्ण युग की शुरुआत और उसके अस्तगमन के साथ फली-फूली अपनी खुद की प्राचीन विरासत शामिल हैं। इसके साथ ही पड़ोसी देशों के रिवाज़, परम्पराओं और विचारों का भी इसमें समावेश है। पिछली पाँच सहस्राब्दियों से अधिक समय से भारत के रीति-रिवाज़, भाषाएँ, प्रथाएँ और परंपराएँ इसके एक-दूसरे से परस्पर संबंधों में महान विविधताओं का एक अद्वितीय उदाहरण देती हैं। भारत कई धार्मिक प्रणालियों, जैसे कि हिन्दू धर्म, जैन धर्म, बौद्ध धर्म और सिख धर्म जैसे धर्मों का जनक है। इस मिश्रण से भारत में उत्पन्न हुए विभिन्न धर्म और परम्पराओं ने विश्व के अलग-अलग हिस्सों को भी बहुत प्रभावित किया है। .

नई!!: दूरदर्शन (चैनल) और भारत की संस्कृति · और देखें »

भारतीय राष्ट्रीय उपग्रह प्रणाली

भारतीय राष्ट्रीय उपग्रह प्रणाली (इन्सैट) का पहला उपग्रह अप्रैल 1982 में छोड़ा गया था। भारतीय राष्ट्रीय उपग्रह प्रणाली (इन्सैट) इसरो द्वारा शुरू बहुउद्देशीय भू स्थिर उपग्रहों की एक श्रृंखला है जो दूरसंचार, प्रसारण, मौसम विज्ञान और खोज और बचाव कार्य के लिए उपयोग होता है। 1983 में शुरु किया हुआ इनसैट, एशिया-प्रशांत क्षेत्र में सबसे बड़ी देशीय संचार प्रणाली है। यह भारत सरकार के अंतरिक्ष विभाग, दूरसंचार विभाग, भारतीय मौसम विज्ञान विभाग, आकाशवाणी और दूरदर्शन चैनल के एक संयुक्त उद्यम है। सचिव-स्तर इनसैट समन्वय समिति के ऊपर इनसैट प्रणाली के समग्र समन्वय और प्रबंधन टिकी हुई है। इनसैट उपग्रहों भारत के टीवी और संचार आवश्यकताओं की सेवा करने के लिए विभिन्न बैंड में ट्रांसपोंडर (सी, एस, विस्तारित सी और यू) प्रदान करते हैं। इसरो अंतर्राष्ट्रीय कोसपस-सारसट (Cospas-Sarsat) कार्यक्रम के एक सदस्य के रूप में दक्षिण एशियाई और हिंद महासागर क्षेत्र में खोज और बचाव अभियान के लिए संकट चेतावनी संकेतों को प्राप्त करने के लिए उपग्रहों के ट्रांसपोंडर (ओं) का इस्तेमाल करते है। .

नई!!: दूरदर्शन (चैनल) और भारतीय राष्ट्रीय उपग्रह प्रणाली · और देखें »

महाभारत (टीवी धारावाहिक)

महाभारत एक टीवी धारावाहिक का नाम है जो बी आर चोपड़ा द्वारा निर्मित और उनके पुत्र रवि चोपड़ा द्वारा निर्देशित था। यह महाभारत नामक एक भारतीय पौराणिक काव्य पर आधारित धारावाहिक था और विश्व के सर्वाधिक देखे जाने वाले धारावाहिकों में से एक था। ९४-कड़ियों के इस धारावाहिक का प्रथम प्रसारण १९८८ से १९९० तक दूरदर्शन के राष्ट्रीय चैनल पर किया गया था। प्रत्येक धारावाहिक ४५ मिनट का था। इसका प्रसारण एक अन्य सफ़ल पौराणिक धारावाहिक रामायण के बाद किया गया था जो १९८७-१९८८ में प्रसारित किया गया था। ब्रिटेन में इस धारावाहिक का प्रसारण बीबीसी द्वारा किया गया था जहाँ इसकी दर्शक संख्या ५० लाख के आँकड़े को भी पार कर गई, जो दोपहर के समय प्रसारित किए जाने वाले किसी भी धारावाहिक के लिए एक बहुत बड़ी बात थी। .

नई!!: दूरदर्शन (चैनल) और महाभारत (टीवी धारावाहिक) · और देखें »

मंदार देवस्थली

मंदार देवस्थली एक भारतीय टीवी धारावाहिक निदेशक-लेखक हैं जो मुख्यतः मराठी उद्योग में काम कर रहे हैं। उन्होंने २०११ में कुछ तो लोग कहेंगे के साथ पहली हिन्दी धारावाहिक का निदेशन किया, जो सोनी टीवी पे पेश होती थी। .

नई!!: दूरदर्शन (चैनल) और मंदार देवस्थली · और देखें »

रामदास पाध्ये

250x250पिक्सेल रामदास पाध्ये एक बोलती कठपुतलीकार और कठपुतली निर्माता है। इन्होंने पिछले 40 वर्षों में, भारत में और विदेशों में,9000 से अधिक बोलती कठपुतली कार्यक्रमो का प्रदर्शन किया है।कठपुतली एवं बोलती कठपुतली कला पर,इनकी वेबसाइट पहली भारतीय वेबसाइट है। १९७२ के बाद से ये नियमित रूप से भारत की' राष्ट्रीय चैनल दूरदर्शन पर प्रस्तुति देते आ रहे है.

नई!!: दूरदर्शन (चैनल) और रामदास पाध्ये · और देखें »

रामायण (टीवी धारावाहिक)

रामायण एक बहुत ही सफ़ल भारतीय टीवी श्रृंखला है, जिसका निर्माण, लेखन और निर्देशन रामानन्द सागर के द्वारा किया गया था। ७८-कड़ियों के इस धारावाहिक का मूल प्रसारण दूरदर्शन पर २५ जनवरी, १९८७ से ३१ जुलाई, १९८८ तक रविवार के दिन सुबह ९:३० किया जाता था। यह एक प्राचीन भारतीय धर्मग्रन्थ रामायण का टीवी रूपांतरण है और मुख्यतः वाल्मीकि रामायण और तुलसीदासजी की रामचरितमानस पर आधारित है। इसका कुछ भाग कम्बन की कम्बरामायण और अन्य कार्यों से लिया गया है। .

नई!!: दूरदर्शन (चैनल) और रामायण (टीवी धारावाहिक) · और देखें »

शंकर नाग

शंकर नाग (ಶಂಕರ್ ನಾಗ್) (9 नवम्बर 1954 - 30 सितम्बर 1990) जिनका वास्तविक नाम शंकर नागरकट्टे (ಶಂಕರ್ ನಾಗರಕಟ್ಟೆ) था, एवं उनके बड़े भाई अनंत नाग (ಅನಂತ್ ನಾಗ್) कन्नड़ सिनेमा के प्रसिद्द कलाकार एवं निर्देशक थे। उन्होंने प्रसिद्द उपन्यासकार आर.

नई!!: दूरदर्शन (चैनल) और शंकर नाग · और देखें »

शक्तिमान

शक्तिमान का भूमिका निभाने वाले अभिनेता मुकेश खन्ना शक्तिमान (Shaktimaan) एक भारतीय काल्पनिक सुपरहीरो पर आधारित टेलिविज़न धारावाहिक है। इसे प्रस्तुत मुकेश खन्ना तथा निर्देशित दिनकर जानी ने किया। इसके 400 से अधिक एपिसोड दूरदर्शन नेशनल पर दिखाये गये। .

नई!!: दूरदर्शन (चैनल) और शक्तिमान · और देखें »

सफ़दर हाशमी

सफदर हाशमी एक कम्युनिस्ट नाटककार, कलाकार, निर्देशक, गीतकार और कलाविद थे। उन्हे नुक्कड़ नाटक के साथ उनके जुड़ाव के लिए जाना जाता है। भारत के राजनैतिक थिएटर में आज भी वे एक महत्वपूर्ण स्थान रखते हैं। सफदर जन नाट्य मंच और दिल्ली में स्टूडेंट्स फेडरेशन ऑफ इंडिया (एसएफआई) के स्थापक-सदस्य थे। जन नाट्य मंच की नींव १९७३ में रखी गई थी, जनम ने इप्टा से अलग हटकर आकार लिया था। सफदर की जनवरी १९८९ में साहिबाबाद में एक नुक्कड़ नाटक 'हल्ला बोल' खेलते हुए हत्या कर दी गई थी। .

नई!!: दूरदर्शन (चैनल) और सफ़दर हाशमी · और देखें »

समीर सोनी

समीर सोनी (जन्म: लंदन, इंग्लैण्ड में) ब्रितानी फ़िल्म एवं टेलीविजन अभिनेता तथा पूर्व मॉडल हैं। भारतीय मूल के सोनी ने नेवी अधिकारी पर आधारित धारावाहिक समंदर से अभिनय की शुरूआत की थी। वर्ष १९९६ में उन्होंने दूरदर्शन धारावाहिक ए माउथफुल ऑफ़ स्काई में अभिनय किया। उन्होंने फ़िल्मों में पदार्पण फ़िल्म चाइना गेट से किया जिसमें उन्होंने कैमियो भूमिका निभाई है। वर्ष २००३ में सोनी बाग़बान फ़िल्म में अभिनय किया। इसी वर्ष उन्होंने टेलीविजन धारावाहिक जस्सी जैसी कोई नहीं में भी अभिनय किया। सोनी २०१० में बिग बॉस के चतुर्थ संस्करण में एक प्रतिभागी के रूप में चुने गये।http://entertainment.oneindia.in/celebs/sameer-soni/biography.html .

नई!!: दूरदर्शन (चैनल) और समीर सोनी · और देखें »

स्‍वतंत्रता दिवस (भारत)

भारत का स्वतंत्रता दिवस (अंग्रेज़ी: Independence Day of India, हिंदी:इंडिपेंडेंस डे ऑफ़ इंडिया) हर वर्ष 15 अगस्त को मनाया जाता है। सन् 1947 में इसी दिन भारत के निवासियों ने ब्रिटिश शासन से स्‍वतंत्रता प्राप्त की थी। यह भारत का राष्ट्रीय त्यौहार है। प्रतिवर्ष इस दिन भारत के प्रधानमंत्री लाल किले की प्राचीर से देश को सम्बोधित करते हैं। 15 अगस्त 1947 के दिन भारत के प्रथम प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू ने, दिल्ली में लाल किले के लाहौरी गेट के ऊपर, भारतीय राष्ट्रीय ध्वज फहराया था। महात्मा गाँधी के नेतृत्व में भारतीय स्वतंत्रता संग्राम में लोगों ने काफी हद तक अहिंसक प्रतिरोध और सविनय अवज्ञा आंदोलनों में हिस्सा लिया। स्वतंत्रता के बाद ब्रिटिश भारत को धार्मिक आधार पर विभाजित किया गया, जिसमें भारत और पाकिस्तान का उदय हुआ। विभाजन के बाद दोनों देशों में हिंसक दंगे भड़क गए और सांप्रदायिक हिंसा की अनेक घटनाएं हुईं। विभाजन के कारण मनुष्य जाति के इतिहास में इतनी ज्यादा संख्या में लोगों का विस्थापन कभी नहीं हुआ। यह संख्या तकरीबन 1.45 करोड़ थी। 1951 की विस्थापित जनगणना के अनुसार विभाजन के एकदम बाद 72,26,000 मुसलमान भारत छोड़कर पाकिस्तान गये और 72,49,000 हिन्दू और सिख पाकिस्तान छोड़कर भारत आए। इस दिन को झंडा फहराने के समारोह, परेड और सांस्कृतिक आयोजनों के साथ पूरे भारत में मनाया जाता है। भारतीय इस दिन अपनी पोशाक, सामान, घरों और वाहनों पर राष्ट्रीय ध्वज प्रदर्शित कर इस उत्सव को मनाते हैं और परिवार व दोस्तों के साथ देशभक्ति फिल्में देखते हैं, देशभक्ति के गीत सुनते हैं। - archive.india.gov.in .

नई!!: दूरदर्शन (चैनल) और स्‍वतंत्रता दिवस (भारत) · और देखें »

सीआईडी (धारावाहिक)

सीआईडी सोनी चैनल पर प्रसारित होने वाला हिन्दी भाषा का एक धारावाहिक है, जिसे भारत का सबसे लंबा चलने वाला धारावाहिक होने का श्रेय प्राप्त है। अपराध व जासूसी शैली पर आधारित इस धारावाहिक में शिवाजी साटम, दयानन्द शेट्टी और आदित्य श्रीवास्तव मुख्य किरदार निभा रहे हैं। इसके सर्जक, निर्देशक और लेखक बृजेन्द्र पाल सिंह हैं। इसका निर्माण फायरवर्क्स नामक कंपनी ने किया है जिसके संस्थापक बृजेन्द्र पाल सिंह और प्रदीप उपूर हैं। २१ जनवरी १९९८ से शुरु होकर यह धारावाहिक अब तक लगातार चल रहा है। इसका प्रसारण प्रत्येक शनिवार और रविवार को रात १० बजे होता है। इसका पुनः प्रसारण सोनी पल चैनल पर रात ९ बजे होता है जिसमें इसके पुराने प्रकरण दिखाये जाते हैं। इस धारावाहिक ने २१ जनवरी २०१८ को अपने प्रसारण के २० वर्ष पूर्ण किये और २१वें वर्ष में प्रवेश किया। इससे पहले, २७ सितम्बर २०१३ को इस धारावाहिक ने अपनी १०००वीं कड़ी पूरी की। इस धारावाहिक को कई अन्य भाषाओं में भी भाषांतरित किया गया है। .

नई!!: दूरदर्शन (चैनल) और सीआईडी (धारावाहिक) · और देखें »

हिंदी टेलीविजन चैनलों की सूची

हिंदी भाषा में प्रसारण करने वाले टेलीविजन चैनल .

नई!!: दूरदर्शन (चैनल) और हिंदी टेलीविजन चैनलों की सूची · और देखें »

विवेक मुशरान

विवेक मुशरान भारतीय हिन्दी फ़िल्म अभिनेता हैं। इन्होंने अपने अभिनय के सफर की शुरुआत 1991 में की थी। इनकी पहली हिन्दी फ़िल्म सौदागर थी, जो लोगों द्वारा काफी पसंद की गई थी। इसके बाद यह कई सारे फ़िल्मों में नजर आने लगे, जिसमें राम जाने, सातवाँ आसमान आदि फ़िल्में हैं। इनमें सचिन द्वारा निर्देशित फ़िल्में भी हैं, जैसे ऐसी भी क्या जल्दी है, फ़र्स्ट लव लेटर और अंजाने आदि। इन्होंने कई फ़िल्मों में कार्य किया है, पर साथ ही साथ कई टीवी चैनलों में भी दिखाई देते रहते हैं। इनमें स्टार प्लस पर प्रसारित होने वाला धारावाहिक सोनपरी, ज़ी टीवी में "किट्टी पार्टी", सोनी में "भास्कर भारती" और दूरदर्शन में "दिल-ए-नादान" आदि है। .

नई!!: दूरदर्शन (चैनल) और विवेक मुशरान · और देखें »

आज तक

आज तक एक हिन्दी समाचार टी वी चैनल है। इसका स्वामित्व टीवी टुडे नेटवर्क लिमिटेड के पास है। आज तक भारत के सर्वाधिक देखे जाने वाले हिन्दी समाचार चैनलों में से एक है। आज तक का मुख्यालय नई दिल्ली, भारत में स्थित है। आज तक को लिम्का बुक ऑफ़ रिकॉर्ड्स द्वारा भी सर्वश्रेष्ठ समाचार चैनल के रूप में सम्मनित किया जा चुका है। .

नई!!: दूरदर्शन (चैनल) और आज तक · और देखें »

करमचंद

करमचंद 80 के दशक का एक मशहूर टीवी धारावाहिक है। 1985 में तैयार किया गया ये धारावाहिक, जो कि संभवतः भारत का पहला जासूसी धारावहिक भी था, दूरदर्शन पर ऐसे समय में प्रसारित होता था जब भारतीय दर्शक सैटेलाईट चैनलों से अनजान थे। पंकज पाराशर द्वारा निर्मित इस धारावाहिक में सुनील शर्मा के लगातार हिलते डुलते कैमरे से किये छायांकन और आनंद मिलिंद के संगीत के साथ करमचंद तथा उनकी सेक्रेटरी किटी द्वारा सुलझाये जाते जुर्म के मामले। यह एक तिलिस्मी प्रस्तुतिकरण रहा और काफी लोकप्रिय भी जिसका ज़िक्र दूरदर्शन के सुनहरे दिनों के रूप में किया जाता है। धारावाहिक में करमचंद की भूमिका पंकज कपूर ने और किटी का किरदार सुश्मिता मुखर्जी ने अदा किया था। इनके साथ एक और अहम किरदार था इंस्पेक्टर खान का जिसे दीपक काज़िर ने निभाया थी। धारावाहिक में करमचंद हमेशा गाजर चबाते दिखाये देते थे और लगभग हर किस्से के अंत पर किटी का संवाद होता था "यू आर रीयली अ जीनीयस सर!" जिसका करमचंद झिड़क कर जवाब देते थे "शट अप"। फरवरी 2007 में सोनी टेलीविजन चैनल ने इस धारावाहिक को पुनर्जीवित करने का प्रयास किया। पाराशर द्वारा ही निर्देशित सीरीयल के इस नये अवतार में करमचंद का किरदार तो पंकज ही निभा रहे हैं पर किटी की भूमिका सुचेता खन्ना निभा रही हैं। नये धारावाहिक की पहली कड़ी 10 फ़रवरी 2007 को रात 9 बजे प्रसारित हुई। .

नई!!: दूरदर्शन (चैनल) और करमचंद · और देखें »

काक (कार्टूनिस्ट)

कार्टूनिस्ट काक Kaak (मूल नाम: हरिश्चन्द्र शुक्ल) देश के उन दुर्लभ कार्टूनिस्टों में से हैं जो मूलतः हिंदी भाषी प्रमुख राष्ट्रीय समाचार पत्रों जनसत्ता, नवभारत टाइम्स, दैनिक जागरण, राजस्थान पत्रिका इत्यादि से ही जुड़ें रह कर कार्टून जगत में अपनी एक अलग पहचान बनाई हैं। व्यंग की अपनी अनोखी शैली के चलते काक राष्ट्रीय/अंतर्राष्ट्रीय और जटिल राजनीतिक विषयों को बहुत ही सरलता से आम आदमी से जोड़कर अपने व्यंगचित्रों में प्रस्तुत करते हैं। एक हिंदी कहावत के अनुसार काक अर्थात पक्षी कौवा जो किसी के झूठ पर अपनी कर्कश ध्वनि से आवाज़ उठाता है। .

नई!!: दूरदर्शन (चैनल) और काक (कार्टूनिस्ट) · और देखें »

किटू गिडवानी

किटू गिडवानी (22 अक्टूबर 1967 को जन्म) एक भारतीय अभिनेत्री और मॉडल हैं। वे हिन्दी फ़िल्मों की एक अभिनेत्री हैं। उन्होंने कुछ फिल्मों में और भारतीय टेलिविज़न के कई धारावाहिकों में अभिनय किया है। वे एक टीवी श्रृंखला, एयर होस्टेस के बाद लोकप्रिय हो गयीं, जिसका प्रसारण 1986 में दूरदर्शन पर किया गया था। डांस ऑफ़ द विंड (1997), दीपा मेहता की अर्थ (1998) और गोविन्द निहलानी की रुखमावती की हवेली (1991), कमल हसन की अभय और देहम (2001) में उनकी भूमिकाओं के लिए उनकी काफी प्रशंसा की गयी। .

नई!!: दूरदर्शन (चैनल) और किटू गिडवानी · और देखें »

कृष्णा (टीवी धारावाहिक)

कृष्णा (जिसे श्री कृष्णा के नाम से भी जाना जाता है) रामानंद सागर द्वारा निर्देशित एक भारतीय टेलीविजन धारावाहिक है। मूल रूप से इस श्रृंखला का दूरदर्शन पर साप्ताहिक प्रसारण किया जाता था। यह धारावाहिक कृष्ण के जीवन से सम्बंधित कहानियों पर आधारित है। .

नई!!: दूरदर्शन (चैनल) और कृष्णा (टीवी धारावाहिक) · और देखें »

यहां पुनर्निर्देश करता है:

दूरदर्शन चैनल

निवर्तमानआने वाली
अरे! अब हम फेसबुक पर हैं! »