लोगो
यूनियनपीडिया
संचार
Google Play पर पाएं
नई! अपने एंड्रॉयड डिवाइस पर डाउनलोड यूनियनपीडिया!
डाउनलोड
ब्राउज़र की तुलना में तेजी से पहुँच!
 

जीवनचरित

सूची जीवनचरित

प्रसिद्ध इतिहासज्ञ और जीवनी-लेखक टामस कारलाइल ने अत्यंत सीधी सादी और संक्षिप्त परिभाषा में इसे "एक व्यक्ति का जीवन" कहा है। इस तरह किसी व्यक्ति के जीवन वृत्तांतों को सचेत और कलात्मक ढंग से लिख डालना जीवनचरित कहा जा सकता है। यद्यपि इतिहास कुछ हद तक, कुछ लोगों की राय में, महापुरुषों का जीवनवृत्त है तथापि जीवनचरित उससे एक अर्थ में भिन्न हो जाता है। जीवनचरित में किसी एक व्यक्ति के यथार्थ जीवन के इतिहास का आलेखन होता है, अनेक व्यक्तियों के जीवन का नहीं। फिर भी जीवनचरित का लेखक इतिहासकार और कलाकार के कर्त्तव्य के कुछ समीप आए बिना नहीं रह सकता। जीवनचरितकार एक ओर तो व्यक्ति के जीवन की घटनाओं की यथार्थता इतिहासकार की भाँति स्थापित करता है; दूसरी ओर वह साहित्यकार की प्रतिभा और रागात्मकता का तथ्यनिरूपण में उपयोग करता है। उसकी यह स्थिति संभवत: उसे उपन्यासकार के निकट भी ला देती है। जीवनचरित की सीमा का यदि विस्तार किया जाय तो उसके अंतर्गत आत्मकथा भी आ जायगी। यद्यपि दोनों के लेखक पारस्परिक रुचि और संबद्ध विषय की भिन्नता के कारण घटनाओं के यथार्थ आलेखन में सत्य का निर्वाह समान रूप से नहीं कर पाते। आत्मकथा के लेखक में सतर्कता के बावजूद वह आलोचनात्मक तर्कना चरित्र विश्लेषण और स्पष्टचारिता नहीं आ पाती जो जीवनचरित के लेखक विशिष्टता होती है। इस भिन्नता के लिये किसी को दोषी नहीं माना जा सकता। ऐसा होना पूर्णत: स्वाभाविक है। .

97 संबंधों: चिरंतनानंद स्वामी, चीता, टैको ब्राहे, एम.के. सानू, एमा गोल्डमन, एरन एकहार्ट, एस. एन. बनहट्टी, एस. गोपाल, झवेरचन्द मेघाणी, डॉ. पारसमणिको जीवनयात्रा, डॉ. केतकर, डी. एन. गोखले, डीप थ्रोट, तज़किरा, तज़किरा–इ–मुआसिरीन, तीर्थ वसंत, तीर्थनाथ शर्मा, द डर्टी पिक्चर, द मॉन्क हू बिकेम चीफ मिनिस्टर, दीनानाथ गोपाल तेंदुलकर, नाट्याचार्य देवल, निराला की साहित्य साधना, नगेन्द्रमणि प्रधान, नीरद चंद्र चौधरी, पावेल शेरेन्कोव, पंढरीनाथाचार्य गलगली, प्रेमचंद : क़लम का सिपाही, पी. श्रीआचार्य, बशीर : एकांत वीधिपिले अवधूतन, बॉब मार्ले, भारतेन्दु युग, म. पो. शिवज्ञानम, मरे गेलमन, महर्षी विट्ठल रामजी शिंदे : जीवन व कार्य, महारानी विक्टोरिया, मायकल केन, मार्टिन राइल, मालिक राम, मोहन लाल ज़ुत्शी, रामचंद्र मुर्मू, राजमोहन गाँधी, राजा जी : ए लाइफ़, रुडोल्फ मोसबेउर, रोबर्ट वूड्रो विल्सन, लक्ष्मण माने, लक्ष्मीनंदन बोरा, शरत कुमार मोहांती, श्री रामानुजर, श्री शंबुलिंगेश्वर विजयचंपू, श्रीरामकृष्णानि जीवित चरित्र, ..., शेल्डन ग्लास्हौ, स्वामी सोमदेव, स्कॉलर एक्स्ट्राऑर्डिनरी, सैयद शहाबुद्दीन सल्फ़ी फिरदौसी, हरि ठाकुर, हाइके कामरलिंघ ऑन्स, हिन्दी पत्रिकाएँ, हिन्दी की साहित्यिक पत्रिकायें, हु जिन्ताओ, जवाहर लाल नेहरू (1889–1947), जेम्स रेनवाटर, जॉर्ज पेजेट थॉमसन, जोहन्नेस स्टार्क, वल्ललार कण्ड ओरुमैप्पाडु, वाजिद अली शाह, विधा, विल्हेल्म वियेन, विक्टोरिया, वैरामुत्तु, वेटिंग फ़ॉर गोडोट, वेणुधर शर्मा, गाँधी मनिष, गुरु गोमके पंडित रघुनाथ मुर्मू, गेरार्डस 'टी हूफ्ट, गेरी ओल्डमन, गो. मा. पवार, ऑन द मदर, आर्थर एच काम्पटन, आर्नो पेन्जियस, इसिडोर ऐज़क रबि, इगोर वाइ टाम, कँवर, कर्ट कोबेन, क्रिस्टोफ़र नोलन, क्लिन्टन डविसन, के. आर. श्रीनिवास आयंगर, केनेथ जी विल्सन, अनवर अल-सदात, अर्नेस्ट टी एस वाल्टन, अर्नेस्ट लारेन्स, अर्विन श्रोडिन्गर, अलेक्सान्द्र एम प्रोखोरोफ, अश्विनी कुमार पंकज, अग्निकुंडमां उगेलुं गुलाब, उपरा, 2010 की बॉलीवुड फिल्में, 2011 की बॉलीवुड फ़िल्में सूचकांक विस्तार (47 अधिक) »

चिरंतनानंद स्वामी

चिरंतनानंद स्वामी तेलुगू भाषा के विख्यात साहित्यकार हैं। इनके द्वारा रचित एक जीवनी श्रीरामकृष्णानि जीवित चरित्र के लिये उन्हें सन् 1957 में साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित किया गया। .

नई!!: जीवनचरित और चिरंतनानंद स्वामी · और देखें »

चीता

बिल्ली के कुल (विडाल) में आने वाला चीता (एसीनोनिक्स जुबेटस) अपनी अदभुत फूर्ती और रफ्तार के लिए पहचाना जाता है। यह एसीनोनिक्स प्रजाति के अंतर्गत रहने वाला एकमात्र जीवित सदस्य है, जो कि अपने पंजों की बनावट के रूपांतरण के कारण पहचाने जाते हैं। इसी कारण, यह इकलौता विडाल वंशी है जिसके पंजे बंद नहीं होते हैं और जिसकी वजह से इसकी पकड़ कमज़ोर रहती है (अतः वृक्षों में नहीं चढ़ सकता है हालांकि अपनी फुर्ती के कारण नीची टहनियों में चला जाता है)। ज़मीन पर रहने वाला ये सबसे तेज़ जानवर है जो एक छोटी सी छलांग में १२० कि॰मी॰ प्रति घंटे ऑलदो एकोर्डिंग टू चीता, ल्यूक हंटर और डेव हम्मन (स्ट्रुइक प्रकाशक, 2003), pp.

नई!!: जीवनचरित और चीता · और देखें »

टैको ब्राहे

टैको ब्राहे विख्यात वैज्ञानिक।.

नई!!: जीवनचरित और टैको ब्राहे · और देखें »

एम.के. सानू

एम.के.

नई!!: जीवनचरित और एम.के. सानू · और देखें »

एमा गोल्डमन

एमा गोल्डमन एमा गोल्डमन विख्यात विज्ञानिक।.

नई!!: जीवनचरित और एमा गोल्डमन · और देखें »

एरन एकहार्ट

एक प्रसिद्ध अभिनेता.

नई!!: जीवनचरित और एरन एकहार्ट · और देखें »

एस. एन. बनहट्टी

एस.

नई!!: जीवनचरित और एस. एन. बनहट्टी · और देखें »

एस. गोपाल

एस.

नई!!: जीवनचरित और एस. गोपाल · और देखें »

झवेरचन्द मेघाणी

झवेरचंद मेघाणी (१८९६ - १९४७) गुजराती साहित्यकार तथा पत्रकार थे। गुजराती-लोकसाहित्य के क्षेत्र में मेघाणी का स्थान सर्वोपरि है। वे सफल कवि ही नहीं, उपन्यासकार, कहानीकार, नाटककार, निबंधकार, जीवनीलेखक तथा अनुवादक भी थे। .

नई!!: जीवनचरित और झवेरचन्द मेघाणी · और देखें »

डॉ. पारसमणिको जीवनयात्रा

डॉ॰ पारसमणिको जीवनयात्रा नेपाली भाषा के विख्यात साहित्यकार नगेन्द्रमणि प्रधान द्वारा रचित एक जीवनी है जिसके लिये उन्हें सन् 1995 में नेपाली भाषा के लिए साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित किया गया। .

नई!!: जीवनचरित और डॉ. पारसमणिको जीवनयात्रा · और देखें »

डॉ. केतकर

डॉ॰ केतकर मराठी भाषा के विख्यात साहित्यकार डी. एन. गोखले द्वारा रचित एक जीवनी है जिसके लिये उन्हें सन् 1961 में मराठी भाषा के लिए साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित किया गया। .

नई!!: जीवनचरित और डॉ. केतकर · और देखें »

डी. एन. गोखले

डी.

नई!!: जीवनचरित और डी. एन. गोखले · और देखें »

डीप थ्रोट

डीप थ्रोट उस मुखबिर को दिया गया छद्म नाम है जिसने 1972 में द वाशिंगटन पोस्ट के बॉब वुडवार्ड को संयुक्त राज्य अमेरिका के राष्ट्रपति रिचर्ड निक्सन के प्रशासन के वाटरगेट स्कैंडल नामक घोटाले में शामिल होने के बारे में सूचना प्रदान की थी। निक्सन के इस्तीफे के इकतीस साल बाद यह खुलासा हुआ कि डीप थ्रोट असल में फेडरल ब्यूरो ऑफ इन्वेस्टिगेशन के पूर्व एसोसियेट डायरेक्टर मार्क फेल्ट थे। .

नई!!: जीवनचरित और डीप थ्रोट · और देखें »

तज़किरा

तज़किरा (फ़ारसी) भारतीय उपमहाद्वीप, ईरान और मध्य एशिया की बहुत-सी भाषाओँ में (जैसे कि उर्दू, फ़ारसी, उज़बेकी, पंजाबी) के साहित्य में किसी लेखक कि जीवनी को दर्शाने वाले उसकी कृतियों के एक संग्रह (यानि कुसुमावली) को कहते हैं। तज़किरे अधिकतर कवियों-शायरों के बनाए जाते हैं, हालांकि गद्य-लेखक का भी तज़किरा बनाना संभव है। कभी-कभी किसी व्यक्ति कि जीवनी या जीवन-सम्बन्धी कहानियों को भी 'तज़किरा' कह दिया जाता है।, Muzaffar Alam, Françoise Delvoye Nalini, Marc Gaborieau, Manohar Publishers & Distributors, 2000, ISBN 978-81-7304-210-2,...

नई!!: जीवनचरित और तज़किरा · और देखें »

तज़किरा–इ–मुआसिरीन

तज़किरा–इ–मुआसिरीन उर्दू भाषा के विख्यात साहित्यकार मालिक राम द्वारा रचित एक जीवनी है जिसके लिये उन्हें सन् 1983 में उर्दू भाषा के लिए साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित किया गया। .

नई!!: जीवनचरित और तज़किरा–इ–मुआसिरीन · और देखें »

तीर्थ वसंत

तीर्थ वसंत सिन्धी भाषा के विख्यात साहित्यकार हैं। इनके द्वारा रचित एक जीवनी कँवर के लिये उन्हें सन् 1959 में साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित किया गया। .

नई!!: जीवनचरित और तीर्थ वसंत · और देखें »

तीर्थनाथ शर्मा

तीर्थनाथ शर्मा असमिया भाषा के विख्यात साहित्यकार हैं। इनके द्वारा रचित एक जीवनी वेणुधर शर्मा के लिये उन्हें सन् 1986 में साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित(मरणोपरांत) किया गया। .

नई!!: जीवनचरित और तीर्थनाथ शर्मा · और देखें »

द डर्टी पिक्चर

द डर्टी पिक्चर (The Dirty Picture) 2011 में बनी सिल्क स्मिता की जीवनी पर आधारित हिन्दी फ़िल्म है। फ़िल्म निर्माताओं ने हालांकि यह साफ़ किया है कि फ़िल्म कि कहानी पूरी तरह स्मिता पर आधारित नहीं है परन्तु उन्ही की तरह अन्य दक्षिणात्य अभिनेत्रियों, जैसे नायलोन नलिनी और डिस्को शांती से भी प्रभावित है और लोकप्रिय संस्क्रती में एक स्त्री के निजी जीवन और उसके संघर्ष की कहानी बयां करती है जिसमें हॉलीवुड अभिनेत्री और सेक्स सिम्बल मर्लिन मुनरो भी शामिल है। फ़िल्म का निर्देशन मिलन लुथरिया ने किया है और इसकी सह-निर्माता शोभा कपूर और एकता कपूर है। एकता कपूर को जब इस फ़िल्म का खयाल आया तब उन्होंने कथानक-कर रजत अरोडा को कहानी लिखने को कहा। द डर्टी पिक्चर को विश्वभर में हिन्दी, तमिल और तेलगु भाषओं में 2 दिसम्बर 2011 को रिलीज़ किया गया (स्मिता की जन्म तारीख पर)। विद्या बालन, नसीरुद्दीन शाह और इमरान हाशमी ने फ़िल्म में मुख्य किरदारों की भुमिका निभाई है। रिलीज़ के पश्च्यात फ़िल्म को समीक्षकों द्वारा काफ़ी सराहा गया और व्यावसाइक दृष्टी से यह एक सफल फ़िल्म रही। .

नई!!: जीवनचरित और द डर्टी पिक्चर · और देखें »

द मॉन्क हू बिकेम चीफ मिनिस्टर

द मॉन्क हू बिकेम चीफ मिनिस्टर शांतनु गुप्ता द्वारा रचित तथा ब्लूम्सबरी प्रकशन संस्था द्वारा प्रकाशित एक् पुस्तक है। इसमें उत्तर प्रदेश के वर्तमान मुख्यमंत्री आदित्यनाथ की जीवनी है। किताब में एक संन्यासी के मुख्यमंत्री बनने के सफ़र का उल्लेख है। इस किताब में उत्तराखंड की पहाड़ियों से आने वाले एक शर्मीले और अंतर्मुखी लड़के की जीवन यात्रा का वर्णन है जिसने पौड़ी जिले के कोटद्वार नगर से विज्ञान संकाय में आधुनिक शिक्षा ग्रहण किया व बाद में संन्यासी बन गया और वैदिक शिक्षा का प्रशिक्षण प्राप्त किया। यह किताब इस बात की पड़ताल करती है कि कैसे एक संन्यासी ने अपने गुरु अवैदनाथ से राजनीतिक बारीकियों को सीखा और उत्तर प्रदेश की राजनीति में सर्वोच्च स्थान प्राप्त किया। इस जीवनी के लेखक शांतनु गुप्ता ने यह दावा किया है कि उन्होंने किताब में व्यापक रिसर्च करके योगी आदित्यनाथ की अनदेखी तस्वीरें, अनसुने दृष्टांत, प्रथम साक्षात्कार आदि को भी को पाठकों के समक्ष प्रस्तुत किया है। लेखक का दावा है कि यह आदित्यनाथ की प्रथम, स्पष्ट और नियत जीवनी है और इसे आदित्यनाथ की पहली सुनिश्चित जीवनी (फर्स्ट डेफिनेटिव बायोग्राफी) कहा गया है। .

नई!!: जीवनचरित और द मॉन्क हू बिकेम चीफ मिनिस्टर · और देखें »

दीनानाथ गोपाल तेंदुलकर

दीनानाथ गोपाल तेंदुलकर (1909–1971) एक भारतीय लेखक और वृत्तचित्र निर्माता थे। उन्हें मुख्यतः महात्मा: लाइफ़ ऑफ़ मोहनदास कर्मचन्द गाँधी (अंग्रेज़ी में) नाम से महात्मा गाँधी की आठ खण्डों में लिखी जीवनी के लिए जाना जाता है। .

नई!!: जीवनचरित और दीनानाथ गोपाल तेंदुलकर · और देखें »

नाट्याचार्य देवल

नाट्याचार्य देवल मराठी भाषा के विख्यात साहित्यकार एस. एन. बनहट्टी द्वारा रचित एक जीवनी है जिसके लिये उन्हें सन् 1969 में मराठी भाषा के लिए साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित किया गया। .

नई!!: जीवनचरित और नाट्याचार्य देवल · और देखें »

निराला की साहित्य साधना

निराला की साहित्य साधना हिन्दी के विख्यात साहित्यकार रामविलास शर्मा द्वारा रचित एक जीवनी है जिसके लिये उन्हें सन् 1970 में साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित किया गया। .

नई!!: जीवनचरित और निराला की साहित्य साधना · और देखें »

नगेन्द्रमणि प्रधान

नगेन्द्रमणि प्रधान नेपाली भाषा के विख्यात साहित्यकार हैं। इनके द्वारा रचित एक जीवनी डॉ॰ पारसमणिको जीवनयात्रा के लिये उन्हें सन् 1995 में साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित किया गया। .

नई!!: जीवनचरित और नगेन्द्रमणि प्रधान · और देखें »

नीरद चंद्र चौधरी

नीरद चंद्र चौधुरी (बंगला: নীরদ চন্দ্র চৌধুরী नीरदचन्द्र चौधुरी; 23 नवम्बर 1897 – 1 अगस्त 1999) बंगाल के एक विद्वान एवं अंग्रेजी-लेखक थे। इनके द्वारा रचित एक जीवनी स्कॉलर एक्स्ट्राऑर्डिनरी के लिये उन्हें सन् 1975 में साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित किया गया। .

नई!!: जीवनचरित और नीरद चंद्र चौधरी · और देखें »

पावेल शेरेन्कोव

विख्यात वैज्ञानिक।.

नई!!: जीवनचरित और पावेल शेरेन्कोव · और देखें »

पंढरीनाथाचार्य गलगली

पंढरीनाथाचार्य गलगली संस्कृत भाषा के प्रतिष्ठित साहित्यकार हैं। इनके द्वारा रचित एक जीवनी श्री शंबुलिंगेश्वर विजयचंपू के लिये उन्हें सन् 1983 में साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित किया गया। .

नई!!: जीवनचरित और पंढरीनाथाचार्य गलगली · और देखें »

प्रेमचंद : क़लम का सिपाही

प्रेमचंद: क़लम का सिपाही हिन्दी के विख्यात साहित्यकार अमृत राय द्वारा रचित एक जीवनी है जिसके लिये उन्हें सन् 1963 में साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित किया गया। .

नई!!: जीवनचरित और प्रेमचंद : क़लम का सिपाही · और देखें »

पी. श्रीआचार्य

पी.

नई!!: जीवनचरित और पी. श्रीआचार्य · और देखें »

बशीर : एकांत वीधिपिले अवधूतन

बशीर: एकांत वीधिपिले अवधूतन मलयालम भाषा के विख्यात साहित्यकार एम.के. सानू द्वारा रचित एक जीवनी है जिसके लिये उन्हें सन् 2011 में मलयालम भाषा के लिए साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित किया गया। .

नई!!: जीवनचरित और बशीर : एकांत वीधिपिले अवधूतन · और देखें »

बॉब मार्ले

रॉबर्ट नेस्टा "बॉब" मार्ले (6 फ़रवरी 1945 - 11 मई 1981) जमैका के एक गायक-गीतकार और संगीतकार थे। वे स्का, रॉकस्टेडी और रेगे बैंड यथा द वेलर्स (1964-1974) और बॉब मार्ले एंड द वेलर्स (1974-1981) के लिए मुख्य गायक, गीतकार और गिटार वादक थे। मार्ले रेगे म्यूज़िक के सुविख्यात और सम्मानित कलाकार रहे हैं और इन्हें दुनिया भर के श्रोताओं के बीच जमैकन संगीत और रस्ताफ़री आंदोलन, दोनों के प्रसार में मदद का श्रेय दिया जाता है। मार्ले के सर्वश्रेष्ठ हिट गानों में शामिल हैं "आई शॉट द शेरिफ़", "नो वुमन, नो क्राई", "कुड यू बी लव्ड", "स्टर इट अप", "जैमिंग", "रिडेम्पशन सॉन्ग", "वन लव" और, द वेलर्स के साथ, "थ्री लिटल बर्ड्स", और साथ ही, मरणोपरांत जारी "बफ़ेलो सोल्जर" और "आयरन लायन ज़ियॉन".

नई!!: जीवनचरित और बॉब मार्ले · और देखें »

भारतेन्दु युग

जिस समय खड़ी बोली गद्य अपने प्रारिम्भक रूप में थी, उस समय हिन्दी के सौभाग्य से भारतेन्दु हरिश्चन्द्र ने साहित्य के क्षेत्र में प्रवेश किया। उन्होंने राजा शिवप्रसाद तथा राजा लक्ष्मण सिंह की आपस में विरोधी शैलियों में समन्वय स्थापित किया और मध्यम मार्ग अपनाया। इस काल में हिन्दी के प्रचार में जिन पत्र-पत्रिकाओं ने विशेष योग दिया, उनमें उदन्त मार्तण्ड, कवि वचन सुधा, हरिश्चन्द्र मैगजीन अग्रणी हैं। इस समय हिन्दी गद्य की सर्वांगीण प्रगति हुई और उसमें उपन्यास, कहानी, नाटक, निबन्ध, आलोचना, जीवनी आदि विधाओं में अनूदित तथा मौलिक रचनाएं लिखी गयीं। .

नई!!: जीवनचरित और भारतेन्दु युग · और देखें »

म. पो. शिवज्ञानम

म. पो.

नई!!: जीवनचरित और म. पो. शिवज्ञानम · और देखें »

मरे गेलमन

मरे गेलमन विख्यात वैज्ञानिक।.

नई!!: जीवनचरित और मरे गेलमन · और देखें »

महर्षी विट्ठल रामजी शिंदे : जीवन व कार्य

महर्षी विट्ठल रामजी शिंदे: जीवन व कार्य मराठी भाषा के विख्यात साहित्यकार गो. मा. पवार द्वारा रचित एक जीवनी है जिसके लिये उन्हें सन् 2007 में मराठी भाषा के लिए साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित किया गया। .

नई!!: जीवनचरित और महर्षी विट्ठल रामजी शिंदे : जीवन व कार्य · और देखें »

महारानी विक्टोरिया

महारानी विक्टोरिया, संयुक्त राजशाही की महारानी थीं| .

नई!!: जीवनचरित और महारानी विक्टोरिया · और देखें »

मायकल केन

एक प्रसिद्ध अभिनेता.

नई!!: जीवनचरित और मायकल केन · और देखें »

मार्टिन राइल

विख्यात वैज्ञानिक।.

नई!!: जीवनचरित और मार्टिन राइल · और देखें »

मालिक राम

मालिक राम उर्दू भाषा के विख्यात साहित्यकार हैं। इनके द्वारा रचित एक जीवनी तज़किरा–इ–मुआसिरीन के लिये उन्हें सन् 1983 में साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित किया गया। .

नई!!: जीवनचरित और मालिक राम · और देखें »

मोहन लाल ज़ुत्शी

मोहन लाल ज़ुत्शी (Mohan Lal Zutshi), जिन्हें मोहन लाल कश्मीरी भी कहते थे, 19वीं शताब्दी में एक यात्री, राजनयिक और लेखक थे। उन्होंने 1838–1842 के प्रथम आंग्ल-अफ़ग़ान युद्ध में एक अहम भूमिका निभाई थी। उनके द्वारा लिखी काबुल के अमीर दोस्त मुहम्मद ख़ान की जीवनी उस युद्ध का प्राथमिक वर्णन स्रोत है। इसके अलावा उन्होंने भारत से लेकर कैस्पियन सागर तक के कई क्षेत्रों का भ्रमण करा और जानकारी एकत्रित कर के ब्रिटिश राज की सरकार को उपलब्ध करी। इन क्षेत्रों में अफ़्ग़ानिस्तान, बल्ख़, बुख़ारा और ख़ोरासान शामिल थे। प्रसिद्ध ब्रिटिश यात्री व जासूस अलेक्ज़ेंडर बर्न्स का मार्गदर्शन उन्होंने ही करा था। .

नई!!: जीवनचरित और मोहन लाल ज़ुत्शी · और देखें »

रामचंद्र मुर्मू

रामचंद्र मुर्मू संताली भाषा के विख्यात साहित्यकार हैं। इनके द्वारा रचित एक जीवनी गुरु गोमके पंडित रघुनाथ मुर्मू के लिये उन्हें सन् 2006 में साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित किया गया। .

नई!!: जीवनचरित और रामचंद्र मुर्मू · और देखें »

राजमोहन गाँधी

राजमोहन गाँधी अंग्रेज़ी भाषा के विख्यात साहित्यकार हैं। इनके द्वारा रचित एक जीवनी राजा जी: ए लाइफ़ के लिये उन्हें सन् 2001 में साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित किया गया। .

नई!!: जीवनचरित और राजमोहन गाँधी · और देखें »

राजा जी : ए लाइफ़

राजा जी: ए लाइफ़ अंग्रेज़ी भाषा के विख्यात साहित्यकार राजमोहन गाँधी द्वारा रचित एक जीवनी है जिसके लिये उन्हें सन् 2001 में अंग्रेज़ी भाषा के लिए साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित किया गया। .

नई!!: जीवनचरित और राजा जी : ए लाइफ़ · और देखें »

रुडोल्फ मोसबेउर

रुडोल्फ मोसबेउर विख्यात वैज्ञानिक।.

नई!!: जीवनचरित और रुडोल्फ मोसबेउर · और देखें »

रोबर्ट वूड्रो विल्सन

विख्यात शासक।.

नई!!: जीवनचरित और रोबर्ट वूड्रो विल्सन · और देखें »

लक्ष्मण माने

लक्ष्मण माने मराठी भाषा के विख्यात साहित्यकार हैं। इनके द्वारा रचित एक जीवनी उपरा के लिये उन्हें सन् 1981 में साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित किया गया। .

नई!!: जीवनचरित और लक्ष्मण माने · और देखें »

लक्ष्मीनंदन बोरा

लक्ष्मीनंदन बोरा (जन्म १ मार्च १९३२) असमिया भाषा के सुप्रसिद्ध साहित्यकार हैं। भारत के असम राज्य में स्थित नौगाँव जिले के कुजिदह गाँव में जन्में लक्ष्मीनंदन बोरा जोरहाट के असम कृषि विश्वविद्यालय में कृषि एवं मौसम विज्ञान विभाग के विभागाध्यक्ष हैं। उनकी कृति पाताल भैरवी को १९८८ में साहित्य अकादमी पुरस्कार प्रदान किया जा चुका है। उन्हें बिरला फाउंडेशन द्वारा २००८ के सरस्वती सम्मान से भी सम्मानित किया गया है। यह सम्मान उन्हें २००२ में प्रकाशित उपन्यास कायाकल्प के लिए दिया गया। वे अब तक ५६ पुस्तकें लिख चुके हैं, जिसमें उपन्यास, कहानी संग्रह, एकांकी, यात्रा वृत्तांत और जीवनी शामिल है। सरस्वती सम्मान से अलंकृत होने वाले वे पहले असमिया साहित्यकार हैं। .

नई!!: जीवनचरित और लक्ष्मीनंदन बोरा · और देखें »

शरत कुमार मोहांती

शरत कुमार मोहांती ओड़िया भाषा के विख्यात साहित्यकार हैं। इनके द्वारा रचित एक जीवनी गाँधी मनिष के लिये उन्हें सन् 2002 में साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित किया गया। .

नई!!: जीवनचरित और शरत कुमार मोहांती · और देखें »

श्री रामानुजर

श्री रामानुजर तमिल भाषा के विख्यात साहित्यकार पी. श्रीआचार्य द्वारा रचित एक जीवनी है जिसके लिये उन्हें सन् 1965 में तमिल भाषा के लिए साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित किया गया। .

नई!!: जीवनचरित और श्री रामानुजर · और देखें »

श्री शंबुलिंगेश्वर विजयचंपू

श्री शंबुलिंगेश्वर विजयचंपू विख्यात संस्कृत साहित्यकार पंढरीनाथाचार्य गलगली द्वारा रचित एक जीवनी है जिसके लिये उन्हें सन् 1983 में साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित किया गया। .

नई!!: जीवनचरित और श्री शंबुलिंगेश्वर विजयचंपू · और देखें »

श्रीरामकृष्णानि जीवित चरित्र

श्रीरामकृष्णानि जीवित चरित्र तेलुगू भाषा के विख्यात साहित्यकार चिरंतनानंद स्वामी द्वारा रचित एक जीवनी है जिसके लिये उन्हें सन् 1957 में तेलुगू भाषा के लिए साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित किया गया। .

नई!!: जीवनचरित और श्रीरामकृष्णानि जीवित चरित्र · और देखें »

शेल्डन ग्लास्हौ

शेल्डन ग्लास्हौ विख्यात वैज्ञानिक।.

नई!!: जीवनचरित और शेल्डन ग्लास्हौ · और देखें »

स्वामी सोमदेव

स्वामी सोमदेव आर्य समाज के एक विद्वान धर्मोपदेशक थे। ब्रिटिश राज के दौरान पंजाब प्रान्त के लाहौर शहर में जन्मे सोमदेव का वास्तविक नाम ब्रजलाल चोपड़ा था। सन १९१५ में जिन दिनों वे स्वास्थ्य लाभ के लिये आर्य समाज शाहजहाँपुर आये थे उन्हीं दिनों समाज की ओर से राम प्रसाद 'बिस्मिल' को उनकी सेवा-सुश्रूषा में नियुक्त किया गया था। किशोरावस्था में स्वामी सोमदेव की सत्संगति पाकर बालक रामप्रसाद आगे चलकर 'बिस्मिल' जैसा बेजोड़ क्रान्तिकारी बन सका। रामप्रसाद बिस्मिल ने अपनी आत्मकथा में मेरे गुरुदेव शीर्षक से उनकी संक्षिप्त किन्तु सारगर्भित जीवनी लिखी है। सोमदेव जी उच्चकोटि के वक्‍ता तो थे ही, बहुत अच्छे लेखक भी थे। उनके लिखे हुए कुछ लेख तथा पुस्तकें उनके ही एक भक्‍त के पास थीं जो उसकी लापरवाही से नष्‍ट हो गयीं। उनके कुछ लेख प्रकाशित भी हुए थे। लगभग 57 वर्ष की आयु में उनका निधन हुआ। .

नई!!: जीवनचरित और स्वामी सोमदेव · और देखें »

स्कॉलर एक्स्ट्राऑर्डिनरी

स्कॉलर एक्स्ट्राऑर्डिनरी अंग्रेज़ी भाषा के विख्यात साहित्यकार नीरद सी. चौधुरी द्वारा रचित एक जीवनी है जिसके लिये उन्हें सन् 1975 में अंग्रेज़ी भाषा के लिए साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित किया गया। .

नई!!: जीवनचरित और स्कॉलर एक्स्ट्राऑर्डिनरी · और देखें »

सैयद शहाबुद्दीन सल्फ़ी फिरदौसी

मौलाना सैयद शहाबुद्दीन सल्फ़ी फिरदौसी (जन्म: 1956) एक प्रसिद्ध इस्लामी विद्वान, लेखक और सामाज सेवक हैं। सोलापुर में स्थित अतहर ब्लड बैंक और मस्जिद अल-सलाम के संस्थापक अध्यक्ष हैं। आप ने उर्दू में पैगंबर मुहम्मद की जीवनी (सीरत) सहित कई पुस्तकें लिखीं हैं। .

नई!!: जीवनचरित और सैयद शहाबुद्दीन सल्फ़ी फिरदौसी · और देखें »

हरि ठाकुर

हरि_ठाकुर हरि ठाकुर का जन्मः १६ अगस्त १९२७, में रायपुर में हुआ उन्होंने बी.ए., एल एल.

नई!!: जीवनचरित और हरि ठाकुर · और देखें »

हाइके कामरलिंघ ऑन्स

हाइके कामरलिंघ ऑन्स विख्यात विज्ञानिक।.

नई!!: जीवनचरित और हाइके कामरलिंघ ऑन्स · और देखें »

हिन्दी पत्रिकाएँ

हिन्दी पत्रिकाएँ सामाजिक व्‍यवस्‍था के लिए चतुर्थ स्‍तम्‍भ का कार्य करती हैं और अपनी बात को मनवाने के लिए एवं अपने पक्ष में साफ-सूथरा वातावरण तैयार करने में सदैव अमोघ अस्‍त्र का कार्य करती है। हिन्दी के विविध आन्‍दोलन और साहित्‍यिक प्रवृत्तियाँ एवं अन्‍य सामाजिक गतिविधियों को सक्रिय करने में हिन्दी पत्रिकाओं की अग्रणी भूमिका रही है।; प्रमुख हिन्दी पत्रिकाएँ- .

नई!!: जीवनचरित और हिन्दी पत्रिकाएँ · और देखें »

हिन्दी की साहित्यिक पत्रिकायें

हिंदी की साहित्यिक पत्रिकाएँ, हिंदी साहित्य की विभिन्न विधाओं के विकास और संवर्द्धन में उल्लेखनीय भूमिका निभाती रहीं हैं। कविता, कहानी, उपन्यास, निबंध, नाटक, आलोचना, यात्रावृत्तांत, जीवनी, आत्मकथा तथा शोध से संबंधित आलेखों का नियमित तौर पर प्रकाशन इनका मूल उद्देश्य है। अधिकांश पत्रिकाओं का संपादन कार्य अवैतनिक होता है। भाषा, साहित्य तथा संस्कृति अध्ययन के क्षेत्र में साहित्यिक पत्रिकाओं का उल्लेखनीय योगदान रहा है। वर्तमान में प्रकाशित कुछ प्रमुख पत्रिकाओं की सूची निम्नवत है: .

नई!!: जीवनचरित और हिन्दी की साहित्यिक पत्रिकायें · और देखें »

हु जिन्ताओ

हान्यू पिनयिनHú Jǐntāo साधारणीकृत चीनी胡锦涛 पारंपरिक चीनी胡錦濤 पारिवारिक नामHu क्रम:चौथा राष्ट्रपति सेवाकाल:15 मार्च 2003 - वर्तमान पूर्ववर्ती:जिंयाग जेमिन उत्तराधिकारी: --- जन्मतिथी:दिसंबर 21, 1942 जन्मस्थान: जियांगान, जियांग्सु, चीन पत्नी:लिऊ योंगुकिंग राजनैतिक दल:चीनी कम्यूनिस्ट पार्टी 15 दिसंबर 1942 को जन्मे श्री हु जिन्ताओ 15 नवम्बर 2002 को चीन के कम्यूनिस्ट पार्टी के महासचिव बने और 15 मार्च सन 2003 जियांग जेमिन के निधन के बाद से चीन के राष्ट्रपति हैं। .

नई!!: जीवनचरित और हु जिन्ताओ · और देखें »

जवाहर लाल नेहरू (1889–1947)

जवाहर लाल नेहरू (1889–1947) अंग्रेज़ी भाषा के विख्यात साहित्यकार एस. गोपाल द्वारा रचित एक जीवनी है जिसके लिये उन्हें सन् 1976 में अंग्रेज़ी भाषा के लिए साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित किया गया। .

नई!!: जीवनचरित और जवाहर लाल नेहरू (1889–1947) · और देखें »

जेम्स रेनवाटर

विख्यात वैज्ञानिक।.

नई!!: जीवनचरित और जेम्स रेनवाटर · और देखें »

जॉर्ज पेजेट थॉमसन

जार्ज पेजेट थामसन विख्यात वैज्ञानिक।.

नई!!: जीवनचरित और जॉर्ज पेजेट थॉमसन · और देखें »

जोहन्नेस स्टार्क

जोहन्नेस स्टार्क विख्यात वैज्ञानिक।.

नई!!: जीवनचरित और जोहन्नेस स्टार्क · और देखें »

वल्ललार कण्ड ओरुमैप्पाडु

वल्ललार कण्ड ओरुमैप्पाडु तमिल भाषा के विख्यात साहित्यकार म. पो. शिवज्ञानम द्वारा रचित एक जीवनी है जिसके लिये उन्हें सन् 1966 में तमिल भाषा के लिए साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित किया गया। .

नई!!: जीवनचरित और वल्ललार कण्ड ओरुमैप्पाडु · और देखें »

वाजिद अली शाह

वाजिद अली शाह लखनऊ और अवध के नवाब रहे। ये अमजद अली शाह के पुत्र थे। इनके बेटे बिरजिस क़द्र अवध के अंतिम नवाब थे। संगीत की दुनिया में नवाब वाजिद अली शाह का नाम अविस्मरणीय है। ये 'ठुमरी' इस संगीत विधा के जन्मदाता के रूप में जाने जाते हैं। इनके दरबार में हर दिन संगीत का जलसा हुआ करता था। इनके समय में ठुमरी को कत्थक नृत्य के साथ गाया जाता था। इन्होने कई बेहतरीन ठुमरियां रची। कहा जाता है कि जब अंग्रेजों ने अवध पर कब्जा कर लिया और नवाब वाजिद अली शाह को देश निकाला दे दिया, तब उन्होने 'बाबुल मोरा नैहर छूटो जाय्' यह प्रसिध्ह ठुमरी गाते हुए अपनी रैयत से अलविदा कहा। .

नई!!: जीवनचरित और वाजिद अली शाह · और देखें »

विधा

विधा (फ्रेंच: जीनर / genre) का साधारण अर्थ प्रकार, किस्म, वर्ग या श्रेणी है। यह शब्द विविध प्रकार की रचनाओं को वर्ग या श्रेणी में बांटने से उस विधा के गुणधर्मो को समझने में सुविधा होती है। यह वैसे ही है जैसे जीवविज्ञान में जीवों का वर्गीकरण किया जाता है। साहित्य एवं भाषण में विधा शब्द का प्रयोग एक वर्गकारक (CATEGORIZER) के रूप में किया जाता है। किन्तु सामान्य रूप से यह किसी भी कला के लिये प्रयुक्त किया जा सकता है। विधाओं की उपविधाएँ भी होती हैं। उदाहरण के लिये हम कहते हैं कि निबन्ध, गद्य की एक विधा है।. विधाएँ अस्पष्ट (vague) श्रेणीयाँ हैं और इनकी कोई निश्चित सीमा-रेखा नहीं होती। ये समय के साथ कुछ मान्यताओं के आधार पर इनकिइ पहचान निर्मित हो जाती है। .

नई!!: जीवनचरित और विधा · और देखें »

विल्हेल्म वियेन

विल्हेल्म वियेन विख्यात विज्ञानिक।.

नई!!: जीवनचरित और विल्हेल्म वियेन · और देखें »

विक्टोरिया

विक्टोरिया महारानी विक्टोरिया, संयुक्त राजशाही की महारानी थीं| .

नई!!: जीवनचरित और विक्टोरिया · और देखें »

वैरामुत्तु

वैरामुत्तु (வைரமுத்து) (जन्म: 13 1953 जुलाई) एक पुरस्कार विजेता तमिल कवि और गीतकार हैं। निड़लगल (1980) फिल्म से शुरूआत करते हुए तथा 'पोनमलई पोड़ुडु' के लिए बोल लिखते हुए, यथा जनवरी 2009 अब उनके नाम 5800 गीतों का श्रेय है।.

नई!!: जीवनचरित और वैरामुत्तु · और देखें »

वेटिंग फ़ॉर गोडोट

वेटिंग फॉर गोडोट शमूएल बेकेट द्वारा रचित एक बेतुका नाटक है, जिसमें दो मुख्य पात्र व्लादिमीर और एस्ट्रागन एक अन्य काल्पनिक पात्र गोडोट के आने की अंतहीन व निष्फल प्रतीक्षा करते हैं। इस नाटक के प्रीमियर से अब तक गोडोट की अनुपस्थिति व अन्य पहलुओं को लेकर अनेक व्याख्यायें की जा चुकी हैं। इसे "बीसवीं सदी का सबसे प्रभावशाली अंग्रेजी भाषा का नाटक" भी बुलाया जा चुका है। असल में वेटिंग फॉर गोडोट बेकेट के ही फ्रेंच नाटक एन अटेंडेंट गोडोट का उनके स्वयं के द्वारा ही किया गया अंग्रेजी अनुवाद है तथा अंग्रेजी में इसे दो भागों की त्रासदी-कॉमेडी का उप-शीर्षक दिया गया है".

नई!!: जीवनचरित और वेटिंग फ़ॉर गोडोट · और देखें »

वेणुधर शर्मा

वेणुधर शर्मा असमिया भाषा के विख्यात साहित्यकार तीर्थनाथ शर्मा द्वारा रचित एक जीवनी है जिसके लिये उन्हें सन् 1986 में असमिया भाषा के लिए मरणोपरांत साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित किया गया। .

नई!!: जीवनचरित और वेणुधर शर्मा · और देखें »

गाँधी मनिष

गाँधी मनिष ओड़िया भाषा के विख्यात साहित्यकार शरत कुमार मोहांती द्वारा रचित एक जीवनी है जिसके लिये उन्हें सन् 2002 में ओड़िया भाषा के लिए साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित किया गया। .

नई!!: जीवनचरित और गाँधी मनिष · और देखें »

गुरु गोमके पंडित रघुनाथ मुर्मू

गुरु गोमके पंडित रघुनाथ मुर्मू संताली भाषा के विख्यात साहित्यकार रामचंद्र मुर्मू द्वारा रचित एक जीवनी है जिसके लिये उन्हें सन् 2006 में संताली भाषा के लिए साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित किया गया। .

नई!!: जीवनचरित और गुरु गोमके पंडित रघुनाथ मुर्मू · और देखें »

गेरार्डस 'टी हूफ्ट

विख्यात विज्ञानिक।.

नई!!: जीवनचरित और गेरार्डस 'टी हूफ्ट · और देखें »

गेरी ओल्डमन

एक प्रसिद्ध अभिनेता.

नई!!: जीवनचरित और गेरी ओल्डमन · और देखें »

गो. मा. पवार

गो.

नई!!: जीवनचरित और गो. मा. पवार · और देखें »

ऑन द मदर

ऑन द मदर अंग्रेज़ी भाषा के विख्यात साहित्यकार के. आर. श्रीनिवास आयंगर द्वारा रचित एक जीवनी है जिसके लिये उन्हें सन् 1980 में अंग्रेज़ी भाषा के लिए साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित किया गया। .

नई!!: जीवनचरित और ऑन द मदर · और देखें »

आर्थर एच काम्पटन

आर्थर एच काम्पटन विख्यात व्यक्ति।.

नई!!: जीवनचरित और आर्थर एच काम्पटन · और देखें »

आर्नो पेन्जियस

आर्नो पेन्जियस विख्यात व्यक्ति।.

नई!!: जीवनचरित और आर्नो पेन्जियस · और देखें »

इसिडोर ऐज़क रबि

इसिडोर ऐज़क रबि विख्यात व्यक्ति।.

नई!!: जीवनचरित और इसिडोर ऐज़क रबि · और देखें »

इगोर वाइ टाम

इगोर वाइ टाम विख्यात व्यक्ति।.

नई!!: जीवनचरित और इगोर वाइ टाम · और देखें »

कँवर

कँवर सिन्धी भाषा के विख्यात साहित्यकार तीर्थ वसंत द्वारा रचित एक जीवनी है जिसके लिये उन्हें सन् 1959 में सिन्धी भाषा के लिए साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित किया गया। .

नई!!: जीवनचरित और कँवर · और देखें »

कर्ट कोबेन

कर्ट डोनाल्ड कोबेन (उच्चारण / koʊbeɪn /, / kʌbeɪn /; 20 फ़रवरी 1967 - सी 5 अप्रैल 1994) एक अमेरिकी गीतकार और संगीतकार और रॉक बैंड निर्वाण के मुख्य गायक और गिटारवादक थे। निर्वाण के दूसरे एलबम नेवरमाइंड (1991) के मुख्य सिंगल "स्‍मेल्‍स लाइक टीन स्पिरिट" के साथ निर्वाण ने मुख्यधारा में प्रवेश किया और वैकल्पिक रॉक की उपशैली को लोकप्रिय किया जिसे ग्रूंज कहते हैं। अन्य सिएटल ग्रूंज बैंड जैसे एलिस इन चैन्स, पर्ल जैम और साउंडगार्डन को भी व्यापक श्रोता प्राप्त हुए और परिणामस्वरूप वैकल्पिक रॉक 1990 के दशक के प्रारम्भ से मध्य के दौरान संयुक्त राज्य अमेरिका में रेडियो और संगीत टेलीविजन पर एक प्रमुख अंग बन गया। निर्वाण को "जनरेशन X" के "प्रमुख बैंड" के तौर पर देखा गया और कोबेन ने पाया कि उसका अग्रणी व्यक्ति होने के नाते मीडिया ने जनरेशन के प्रवक्ता के तौर पर नियुक्त किया है। कोबेन चौकसी से परेशान थे और उन्होंने बैंड के संगीत पर अपना ध्यान केंद्रित रखा और उनका मानना था कि बैंड के तीसरे स्टूडिओ एलबम इन उटेरो (1993) के श्रोताओं को चुनौती देकर बैंड के संदेश और कलात्मक दृष्टि की जनता द्वारा गलत व्याख्या की जा रही है। अपने जीवन के अंतिम वर्षों के दौरान कोबेन ने अपनी हेरोइन की लत, बीमारी और अवसाद, अपनी प्रसिद्धि और सार्वजनिक छवि के साथ ही पेशेवर और अपने तथा अपनी संगीतकार पत्नी कर्टनी लव के आसपास जीवन पर्यन्त व्यक्तिगत दबाव के साथ संघर्ष किया। 8 अप्रैल 1994 को कोबेन सिएटल में अपने घर पर मृत पाये गये, जो आधिकारिक तौर पर अपने सिर पर गोली मार कर की गयी आत्महत्या थी। उनकी मौत की परिस्थितियां कई बार आकर्षण और विवाद का विषय बन गयीं। निर्वाण में गीतकार के तौर पर कोबेन के पहले प्रयास के बाद से अकेले अमेरिका में पच्चीस मिलियन और दुनिया भर में पचास मिलिनय से अधिक एलबम बिके.

नई!!: जीवनचरित और कर्ट कोबेन · और देखें »

क्रिस्टोफ़र नोलन

क्रिस्टोफ़र "एडवर्ड" नोलेन (Christopher Edward Nolan) (उच्चारण; /ˈnoʊlən/; जन्मतिथि 30 जुलाई 1970) एक अंग्रेज-अमेरिकी फ़िल्म निर्देशक, लेखक और निर्माता हैं। उन्हें इतिहास में व्यावसायिक रूप सबसे कामयाब निर्देशक, तथा 21वीं सदी के बेहद सफल और प्रशंसनीय फ़िल्मकारों में से एक माना जाता है। उन्होंने अपनी पहली निर्देशकीय पारी फ़िल्म फाॅलोइंग (1998) से शुरूआत की, लेकिन नोलेन की दूसरी फ़िल्म मोमेन्टो (2000) ने, उनके प्रति ध्यानाकर्षण दिलाया। अपनी स्वतंत्र तौर पर निर्मित फ़िल्मों को मिली प्रशंसा ने अगली बार नोलेन को बड़े बजट की थ्रिलर फ़िल्म इन्सोमनिया (2002) और मिस्ट्री-ड्रामा प्रधान द प्रेस्टिज में फ़िल्मांकन का अवसर प्राप्त हुआ। हालाँकि उनकी प्रसिद्धि और समीक्षात्मक सफलता तब चरम पर आई जब उनकी द डार्क नाईट ट्रायलाॅजी (2005-2012), इंसेप्शन (2010), और इंटरस्टेलर (2014) रिलीज हुई। उनकी नौ फ़िल्मों ने वर्ल्डवाईड अमेरिकी $4.2 बिलियन डाॅलर से अधिक की कमाई बटोरी और ऑस्कर अवार्ड में 26 नामांकन और सात खिताबों के साथ कामयाब रही। नोलेन की अधिकांश फ़िल्मों के सह-लेखन में उनके छोटे भाई, जोनाथन नोलेन ने सहयोग दिया है और साथ उनकी निर्माता कंपनी सिनकाॅपी इनकाॅर्पेरेट के संचालन में उनकी पत्नी एमा थाॅमस भी भागीदारी निभाती है। नोलेन की फ़िल्मों में कई विषयों पर आधारित होते हैं जैसे दर्शनशास्त्र, समाजिक-विज्ञान और नीतिपरक अवधारणाओं, मानवीय सदाचार की खोज, काल-निर्माण तथा स्मृतियों का लचीला स्वभाव एवं निजी पहचान। उनके काम करने के ढंग में कई सारे अकाल्पनिक तत्वों जैसे लौकिक परिवर्तन, आत्मावादी दृष्टिकोण, अरेखित कहानियाँ, व्यवहारपूर्ण स्पेशल इफैक्टस, और दृश्यात्मक भाषाओं एवं भावात्मक वर्णनों के बीच उनके अनुरूप संबंध व्यक्त करना आदि का समावेश रहता है। .

नई!!: जीवनचरित और क्रिस्टोफ़र नोलन · और देखें »

क्लिन्टन डविसन

क्लिन्टन डविसन विख्यात विज्ञानिक।.

नई!!: जीवनचरित और क्लिन्टन डविसन · और देखें »

के. आर. श्रीनिवास आयंगर

के.

नई!!: जीवनचरित और के. आर. श्रीनिवास आयंगर · और देखें »

केनेथ जी विल्सन

(1936 -) विख्यात वैज्ञानिक।.

नई!!: जीवनचरित और केनेथ जी विल्सन · और देखें »

अनवर अल-सदात

अनवर अल-सदात विख्यात व्यक्ति।.

नई!!: जीवनचरित और अनवर अल-सदात · और देखें »

अर्नेस्ट टी एस वाल्टन

अर्नेस्ट टी एस वाल्टन विख्यात व्यक्ति।.

नई!!: जीवनचरित और अर्नेस्ट टी एस वाल्टन · और देखें »

अर्नेस्ट लारेन्स

अर्नेस्ट लारेन्स विख्यात व्यक्ति।.

नई!!: जीवनचरित और अर्नेस्ट लारेन्स · और देखें »

अर्विन श्रोडिन्गर

अर्विन श्रोडिन्गर अर्विन श्रोडिन्गर विख्यात वैज्ञानिक था। उसने क्वांटम मेकानिक्स की नींव डाली। उनकी वेदान्त में आस्था थी और उनके अनुसार इससे उन्हें बहुत प्रेरणा मिली। .

नई!!: जीवनचरित और अर्विन श्रोडिन्गर · और देखें »

अलेक्सान्द्र एम प्रोखोरोफ

अलेक्सान्द्र एम प्रोखोरोफ विख्यात व्यक्ति।.

नई!!: जीवनचरित और अलेक्सान्द्र एम प्रोखोरोफ · और देखें »

अश्विनी कुमार पंकज

अश्विनी कुमार पंकज (जन्मः 9 अगस्त 1965) एक भारतीय कवि, कथाकार, उपन्यासकार, पत्रकार, नाटककार, रंगकर्मी और आंदोलनकारी संस्कृतिकर्मी हैं। वे हिन्दी और झारखंड की देशज भाषा नागपुरी में लिखते हैं और रंगमंच एवं प्रदर्श्यकारी कलाओं की त्रैमासिक पत्रिका ‘रंगवार्ता’ और नागपुरी मासिक पत्रिका ‘जोहार सहिया’ का संपादन तथा बहुभाषिक आदिवासी-देशज समाचार पत्र पाक्षिक ‘जोहार दिसुम खबर’ के प्रकाशक-संपादक हैं। मूलतः बिहार के रहने वाले पंकज बचपन से रांची में रहते हैं और आरंभिक एवं माध्यमिक शिक्षा रांची में प्राप्त की है तथा रांची विश्वविद्यालय, रांची से ही हिन्दी में स्नातकोत्तर किया है। डॉ॰ एम.

नई!!: जीवनचरित और अश्विनी कुमार पंकज · और देखें »

अग्निकुंडमां उगेलुं गुलाब

अग्निकुंडमां उगेलुं गुलाब गुजराती भाषा के विख्यात साहित्यकार नारायण देसाई द्वारा रचित एक जीवनी है जिसके लिये उन्हें सन् 1993 में गुजराती भाषा के लिए साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित किया गया। .

नई!!: जीवनचरित और अग्निकुंडमां उगेलुं गुलाब · और देखें »

उपरा

उपरा मराठी भाषा के विख्यात साहित्यकार लक्ष्मण माने द्वारा रचित एक जीवनी है जिसके लिये उन्हें सन् 1981 में मराठी भाषा के लिए साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित किया गया। .

नई!!: जीवनचरित और उपरा · और देखें »

2010 की बॉलीवुड फिल्में

यह पृष्ठ २०१० में निर्मित बॉलीवुड फ़िल्मों की एक सूची है। टिकट खिड़की पर 30 उच्चतम अर्जक फ़िल्मों की सूची में छः फ़िल्में शामिल हुई। इस वर्ष की उच्चतम 10 फ़िल्मों द्वारा अर्जित राशी थी, जो 2009 में आर्जित राशी से तुलना करने पर इसमें प्रतिशत वृद्धि 11.71% हुई। 2010 में पहली बार यह आँकड़ा पार हुआ केवल उच्चतम अर्जक 10 फ़िल्में के अंक को पार कर गई। यह बॉलीवुड के इतिहास में पहली बार था कि दो फ़िल्में दबंग और गोलमाल 3 ने से अधिक धन अर्जित किया। निम्नलिखित 10 फ़िल्में बॉलीवुड की 2010 की सर्वश्रेष्ठ अर्जक फ़िल्में हैं। .

नई!!: जीवनचरित और 2010 की बॉलीवुड फिल्में · और देखें »

2011 की बॉलीवुड फ़िल्में

यह बॉलीवुड फ़िल्म इंडस्ट्री द्वारा २०११ में निर्मित फ़िल्मों की सूची है। वर्ष के दौरान व्यावसायिक तौर पर एवं समीक्षकों की दृष्टि से विभिन्न सफल फ़िल्में जारी की गई। आठ फिल्मों ने भारतीय बॉक्स ऑफिस पर सबसे अधिक कमाई करने वाली शीर्ष 30 हिन्दी फ़िल्मों की सूची में जगह बनाई। प्रमुख दर्शनीय फ़िल्मों का संक्षिप्त विश्लेषण निम्न प्रकार है.

नई!!: जीवनचरित और 2011 की बॉलीवुड फ़िल्में · और देखें »

यहां पुनर्निर्देश करता है:

जीवनियाँ, जीवनी

निवर्तमानआने वाली
अरे! अब हम फेसबुक पर हैं! »