लोगो
यूनियनपीडिया
संचार
Google Play पर पाएं
नई! अपने एंड्रॉयड डिवाइस पर डाउनलोड यूनियनपीडिया!
इंस्टॉल करें
ब्राउज़र की तुलना में तेजी से पहुँच!
 

कैथोलिक धर्म

सूची कैथोलिक धर्म

"बिशप" नामक उच्च पद पर नियुक्त एक कैथोलिक पादरी स्पेन में चलती दो ननें कैथोलिक धर्म या रोमन कैथोलिक धर्म ईसाई धर्म की एक मुख्य शाखा है जिसके अनुयायी रोम के वैटिकन नगर में स्थित पोप को अपना धर्माध्यक्ष मानते हैं। ईसाई धर्म की दूसरी मुख्य शाखा प्रोटेस्टैंट कहलाती है और उसके अनुयायी पोप के धार्मिक नेतृत्व को नहीं स्वीकारते। कैथोलिकों और प्रोटेस्टैंटों की धार्मिक मान्यताओं में और भी बड़े अंतर हैं। .

234 संबंधों: ऊरेंसे बड़ा गिरजाघर, चार्ल्स द्वितीय, चीन में धर्म, ट्रिनिटी कॉलेज, डबलिन, टेम्पल फ़ॉर्ट्यून, टॉम हार्डी, ऍडरेड, ऍक्ट ऑफ़ सेटलमेंट, १७०१, एडवर्ड बालियोल, एनरीक प्रात दा ला रीबा, एरागॉन की कैथरीन, एलिज़ाबेथ प्रथम, एंजल्स एंड डीमन्स (फ़िल्म), ऐन, ग्रेट ब्रिटेन की महारानी, ऐनी बोलिन, ऐनी हैथवे, ऐंग्लिकन समुदाय, ठूरगाउ कैन्टन, डिएगो माराडोना, डैनी बॉयल, डेनमार्क, डेवाओ शहर, डेविड सी. लेन, तोलेदो गिरजाघर, तीसवर्षीय युद्ध, द डा विंची कोड (फ़िल्म), दक्षिण कोरिया, दक्षिण अमेरिका, दूसरा फ्रांसीसी साम्राज्य, धर्ममीमांसा, धर्मसुधार-विरोधी आंदोलन, धार्मिक भाषा, नटाल कॉलोनी, निर्मला जोशी, निकोल किडमैन, निकोलस स्पार्क्स, निकोलस केज, नुएस्त्रा सेन्योरा दे ग्राशिया का पैरिश गिरजाघर, नोआम चाम्सकी, नीदरलैण्ड का इतिहास, परिसंघ (प्रशासन), पालमा गिरजाघर, पियर ट्रूडो, पुरेपेचा लोग, प्रशिया, प्रोटेस्टैंट, पैलेस ऑफ़ वेस्ट्मिन्स्टर, पूर्वी नुसा तेंगारा, पूर्वी समस्या, पेनेलोपे क्रूज़, ..., पॉल न्युमैन, पोप, पोप फ़्रांसिस, पोप बेनेडिक्ट XVI, पोप कॅलिक्स्टस तृतीय, पीटर ग्रूनबर्ग, पीसा की मीनार, फ़िलीपीन्स, फ़्रान्स, फ़्लोरिडा, फिदेल कास्त्रो, फिदेल कास्त्रो के धार्मिक विचार, फ्रांस की द्वितीय क्रांति (१८३०), बपतिस्मा, बर्तोल्त ब्रेख्त, बादाखोस बड़ा गिरजाघर, बायज़ीद द्वितीय, बार्सिलोना गिरजाघर, बिस्मार्क, बिग बैंग सिद्धांत, बुर्गोस गिरजाघर, ब्रह्मबान्धव उपाध्याय, ब्राज़ील, ब्रिटिश राजतंत्र, ब्रैडली कूपर, ब्रूस ली, ब्रूस स्प्रिंगस्टीन, ब्लेज़ पास्कल, बैप्टिस्ट चर्च, बेन जॉन्सन, बेल्जियम, बेंजामिन फ्रैंकलिन, बेक़आ वादी, बॉबी जिंदल, बोरिस बेकर, बोलिविया, भक्ति (इसाई), भूत-प्रेत का अपसारण, मदर टेरेसा, महानतम भारतीय (सर्वेक्षण), मातृ दिवस, मार्दी ग्रा, मार्गा फॉलस्टिच, माल्टा, मिलानो, मिशनरीज़ ऑफ चैरिटीज़, मिशेल जीन, मिज़ूरी, मई दिवस, मंगलोरियन कैथोलिक, मुठ्ठी भर मिट्टी, मुठ्ठी भर ज़मीन, मुण्डा, मैनहटन, मैरी ट्यूडर, फ्रांस की रानी, मैरी १ (स्कॉटलैंड की रानी), मैरी १, इंग्लैंड की रानी, मैरीलिन मैनसन, मैरीलैंड, मेटिस लोग, कनाडा, मेल गिब्सन, मेस्टिज़ो, मेघालय, मॉनमाउथ हेरिटेज ट्रेल, यूरोपीय धर्मसुधार, योग, राजकुमारी अमृत कौर, रूसी पारम्परिक ईसाई, रेचल वाइज़, रोम, ला लागुना बड़ा गिरजाघर, ला सालवादोर गिरजाघर, लातिन भाषा, लातविया, लिओन पनेटा, लक्ज़मबर्ग, लुईस हैमिल्टन, लुगो बड़ा गिरजाघर, लेओन बड़ा गिरजाघर, लेक केजिंसकी, शहबाज़ भट्टी, शांतिदूत एडगर, शीला केये-स्मिथ, समाजशास्त्र, सम्प्रदाय, सात घातक पाप, सान पेद्रो दे नोरा गिरजाघर, सान पेद्रो दे खाका बड़ा गिरजाघर, सामूहिक पूजन, सारा पॉलिन, साल, केप वर्दे, सांता मारिया देल नारांको, सांता क्रिस्तीना दे लेना, सांतीआगो दे कोमपोसतेला बड़ा गिरजाघर, संत मिछैल बासिलिसका, संततिनिरोध, संतनदेर बड़ा गिरजाघर, संत्यागो गिरजाघर, संयुक्त राजशाही का शाही कुलांक, संयुक्त राज्य के राष्ट्रपतियों की सूची, स्वामी कन्नू पिल्लै, सैन होज़े, कैलिफोर्निया, सेबिया गिरजाघर, सेंट मैरी रोमन कैथोलिक चर्च, सेंट जेवियर्स हाई स्कूल, लोयोला हॉल, अहमदाबाद, सोफ़िया, हॅनोवर की निर्वाचिका, हर्मैनो पेड्रो, हैन्रिख़ हिम्म्लर, हैरी पॉटर श्रृंखला पर धार्मिक बहस, हैलोवीन, हेनरी बैकेरल, हेनरी स्टुअर्ट, लॉर्ड डार्न्ले, जबल लिबनान प्रान्त, जर्मनी, जस्टिन ट्रूडो, ज़ामोरा बड़ा गिरजाघर, जिब्राल्टेरियन लोग, जुआन मैनुअल सैंटोस, जूरा कैन्टन, जेनेलिया डिसूज़ा, जेम्स डीन, जॉन एफ॰ केनेडी, जॉन वोइट, जॉर्ज कार्लिन, जॉहान मार्टिन स्कैलियेर, जोन बायज़, जोन ऑफ़ आर्क, जोसे डी एंचिएटा, ईसाई, ईसाई धर्म, ईसाई धर्म का इतिहास, ईस्टर, विन्स मॅकमहन, विवाह, विवाह उत्सव, वैटिकन सिटी, वैलेंटाइन दिवस, वेनेसा हजेंस, वोल्टेयर, गाम्बिया, गुड फ़्राइडे, गुयुक ख़ान, ग्रेनाडा अमीरात, ग्रीस के ओट्टो, गौरवशाली क्रांति, गैलीलियो गैलिली, ऑर्डर ऑफ़ चिवैलरी, ऑस्ट्रिया-हंगरी, ओवीएदो बड़ा गिरजाघर, आएता लोग, आती लोग, आयरलैंड राजशाही, आयरलैंड की जागीरदारी, आइज़क न्यूटन, इयान सोमरहॅल्डर, इराक में ईसाई धर्म, इग्लिअस दे ला कोंसेप्सिओ, इग्लेसिया दे सान आन्द्रेस (बेद्रिन्याना), इंग्लैंड के हेनरी अष्टम्, कलीसिया, कामारा सांता, कालाहोरा बड़ा गिरजाघर, किम डे-जुंग, किलियन मर्फ़ी, कु क्लुल्स क्लान, कैथरीन दे ब्रागान्ज़ा, कैथोलिक वीकली हेराल्ड, कैसियानो बेलिगत्ती, कैंटरबरी कैथेड्रल, कैंटरबरी के आर्चबिशप, कैंडेलेरिया का बैसिलिका, केथेड्रल डि सेगोविआ, कॅण्टकी, कोमोरोस, कोरदोबा की मस्जिद-गिरजा, कोर्सिका, अन्तोनी मारिया अलकुवे ई सुरेदा, अन्तोनी गौदी, अन्जेल्स एंड डेमन्स (देवदूत और शैतान), अर्नोल्ड श्वार्ज़नेगर, अलमूदेना बड़ा गिरजाघर, अल्बानिया, असिन, उत्तर प्रदेश में पर्यटन सूचकांक विस्तार (184 अधिक) »

ऊरेंसे बड़ा गिरजाघर

ऊरेंसे बड़ा गिरजाघर (Catedral de Ourense or Catedral do San Martiño) स्पेन के ऊरेंसो शहर में स्थित है। ये संत मार्टिन को समरपित है। इसकी नीव 550ई.

नई!!: कैथोलिक धर्म और ऊरेंसे बड़ा गिरजाघर · और देखें »

चार्ल्स द्वितीय

चार्ल्स द्वितीय (29 मई 1630 - 6 फरवरी 1685) स्कॉट्स, इंग्लैण्ड और आयरलैण्ड का राजा था 30 जनवरी 1649 (वैधानिक रूप से) या 29 मई 1660 (वास्तविक रूप से) से अपनी मृत्यु तक। अंग्रेजी गृहयुद्ध के पश्चात इनके पिता चार्ल्स प्रथम को प्राणदण्ड दे दिया गया था, जिसके बाद कुछ साल तक राजशाही समाप्त करके इंग्लैण्ड, स्कॉटलैण्ड और आयरलैण्ड में आलिवर क्रामवेल के नेतृत्व में गणतन्त्र की स्थापना हुई। क्रामवेल की मृत्यु के शीघ्र बाद ही राजशाही फ़िर से शुरू हुई और चार्ल्स द्वितीय का राज्याभिषेक हुआ। इनके राजा बनने की ठीक तारीख़ तय करना मुश्किल है, क्योंकि उस समय ब्रिटेन में काफ़ी राजनैतिक उथल-पुथल हो रही थी। चार्ल्स प्रथम की मृत्यु के पश्चात चार्ल्स द्वितीय ने अधिकांश समय फ्रांस में निर्वासन में काटा, जब तक राजशाही फ़िर से शुरू नहीं हुई। अपने पिता की तरह ही इंग्लैण्ड की संसद के साथ चार्ल्स द्वितीय के सम्बन्ध काफ़ी मुश्किल रहे। राज के अन्तिम वर्षों में इन्हें संसद को हटाकर खुद राज करने में सफलता मिली। लेकिन पिता की तरह इन्हें लोगों के विरोध का सामना नहीं करना पड़ा, जिसका प्रमुख कारण है कि इन्होंने जनता पर कोई नए कर नहीं लगाए। यूरोप में हो रहे कैथोलिक और प्रोटेस्टैण्ट संप्रदायों के बीच हो रहे संघर्ष की वजह से चार्ल्स द्वितीय का अधिकतर समय घरेलू और विदेशी नीतियों को संभालने में लगा। साथ ही इनके दरबार में कूटनीति और साजिशों का बोलबाला रहा। इसी समय इंग्लैण्ड में विग और टोरी राजनैतिक पार्टियाँ पहली बार उभर कर सामने आईं। चार्ल्स द्वितीय को मैरी मोनार्क (अंग्रेजी: Merry Monarch, खुशदिल राजा) कहा जाता है, क्योंकि इनके दरबार में ज़िन्दादिली और इच्छावाद का बोलबाला था। इनकी बहुत सी अवैधानिक संताने हुईं लेकिन कोई वैधानिक सन्तान नहीं हुई। ये ललित कलाओं के संरक्षक थे, जिनको प्रोटेक्टेरेट में लगे निषेध के बाद इनके दरबार में बहुत प्रोत्साहन मिला। चार्ल्स द्वितीय ने मृत्यु से पहले रोमन कैथोलिक सम्प्रदाय को अपना लिया था। श्रेणी:व्यक्तिगत जीवन श्रेणी:इंग्लैण्ड के शासक श्रेणी:स्काटलैण्ड के शासक श्रेणी:स्टुआर्ट राजघराना.

नई!!: कैथोलिक धर्म और चार्ल्स द्वितीय · और देखें »

चीन में धर्म

चीन में धर्म और संस्कृति का दीर्घकालीन इतिहास यह प्रदर्शित करता है कि यहाँ की संस्कृति और जनचेतना को कन्फ़्यूशियवाद, ताओवाद और बौद्ध धर्म ने मिलकर वर्तमान स्वारूप में साकार किया है। इन तीनों धर्मों में आपस में बहुतेरी समानतायें हैं और एक एक दूसरे से अलग होने का दावा करने के बजाय अपने विचारों और रिवाजों से चीनी लोक धर्म को समृद्ध बनाने का कार्य करते रहे हैं। चीन, 1949 से साम्यवादी शासन के अंतर्गत है, जिसमें पार्टी के सदस्यों को धर्म से परहेज रखने को कहा जाता है। वर्ष 1966-76 के दौरान चीनी सांस्कृतिक क्रान्ति के दौरान यह शासन द्वारा धर्मों पर विविध निर्बन्ध भी लगाए गए। वर्तमान सरकार आधिकारिक तौर पर पाँच धर्मों को पहचान देती है: बौद्ध, ताओ, इस्लाम, प्रोटेस्टैंट और (कुछ बन्धनों के साथ) कैथोलिक धर्म। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और चीन में धर्म · और देखें »

ट्रिनिटी कॉलेज, डबलिन

सर्दियों में ट्रिनिटी कॉलेज के क्रिकॅट और रग्बी मैदानों के बीच का मार्ग ट्रिनिटी कॉलेज यूरोप के देश आयरलैण्ड की राजधानी डबलिन में स्थित एक प्रसिद्ध कॉलेज है जो डबलिन विश्वविद्यालय का एकमात्र कॉलेज है। इसकी स्थापना १५९२ में हुई थी। उन दिनों में आयरलैण्ड पर ब्रिटिश साम्राज्य था और ब्रिटेन की नीति थी के आयरलैण्ड के समाज में वहाँ की अधिकाँश कैथोलिक-धर्मी आबादी के ऊपर एक प्रोटॅस्टॅन्ट-धर्मी उच्च वर्ग बन जाए, क्योंकि ब्रिटेन स्वयं प्रोटॅस्टॅन्ट-मत का था। १७९३ तक यहाँ कैथोलिकों को दाख़िला नहीं मिलता था लेकिन उसके बाद धीरे-धीरे उन्हें आने दिया गया। १८७३ के बाद इस कॉलेज ने उन्हें अध्यापक बनाने की भी छूट दे दी। कैथोलिक समुदाय को प्रोटॅस्टॅन्ट प्रभाव फैलने का डर था इसलिए १९७० तक अगर कोई कैथोलिक इस कॉलेज में भरती होना चाहता तो उसे अपने पादरी से अनुमति लेने की ज़रुरत थी। १९०४ तक महिलायों को यहाँ दाख़िला लेने में छूट नहीं थी, लेकिन १९०४ के बाद उन्हें दाख़िल करने लगा। ट्रिनिटी कॉलेज डबलिन के प्रसिद्ध कॉलेज ग्रीन (जिसका हिंदी अर्थ है "कॉलेज उद्यान") इलाक़े में स्थित है जो आयरलैण्ड की पुरानी संसद की इमारतों के पास पड़ता है। अब आयरलैण्ड की संसद डबलिन के किसी और क्षेत्र में है। कॉलेज में एक संग्राहलय है जहाँ ४५ लाख किताबे हैं, जिनमें से एक ८०० ईसवी में सम्पादित "बुक ऑफ़ कॅल्ज़" नामक इसाई-धर्म सम्बन्धी ग्रन्थ है। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और ट्रिनिटी कॉलेज, डबलिन · और देखें »

टेम्पल फ़ॉर्ट्यून

टेम्पल फ़ॉर्ट्यून (अंग्रेज़ी: Temple Fortune) एक उत्तर लंदन में बार्नेट बरो का जिला है। मंदिर फ़ॉर्च्यून बार्नेट के लंदन बरो में गोल्डर्स ग्रीन के उत्तर में एक स्थान हैं। यह हैम्पस्टेड गार्डन उपनगर के निवासियों द्वारा इस्तेमाल किया जाने वाला एक शॉपिंग जिला हैं। यहां और गोल्डर्स ग्रीन के बीच, हौप लेन में दो महत्त्वपूर्ण कब्रिस्तान हैं-गोल्डर्स ग्रीन यहूदी कब्रिस्तान और गोल्डर्स ग्रीन क्रीमेटोरियम। एक पुलिस स्टेशन हैं। पश्चिन मे एक छोटी कारमेल मठ हैं। धार्मिक इमारतों में कैथोलिक चर्च ऑफ सेंट एडवर्ड कन्फोडर, सेंट बर्नबास के एंग्लिकन चर्च, और उत्तर पश्चिमी रिफॉर्म सिनेगॉग(जिसे एलीथ शूल भी कहा जाता हैं) शामिल हैं। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और टेम्पल फ़ॉर्ट्यून · और देखें »

टॉम हार्डी

एडवर्ड थॉमस "टॉम" हार्डी (Edward Thomas "Tom" Hardy) (जन्म 15 सितंबर 1977) एक अंग्रेज़ अभिनेता होने के साथ पटलेखक और निर्माता भी है। उनकी पहली नवांगुतक के रूप में रिड्ली स्काॅट की 2001 में रिलिज खाड़ी युद्ध आधारित फ़िल्म ब्लैक हाॅक डाउन से हुई थी। हार्डी की अन्य चर्चित अभिनीत फ़िल्में जो रही, उनमें शामिल है; विज्ञान-फंतासी फ़िल्म स्टार ट्रेक: नेमेसिस (2002), अपराध फ़िल्म राॅकएनराॅला (2008), बायोग्राफिक्ल सायकोलाॅजिक्ल ड्रामा ब्रोनसन (2008), विज्ञान-फंतासी थ्रिलर इंसेप्शन (2010), खेल ड्रामा वाॅरियर (2011), शीत युद्ध आधारित फ़िल्म टिंकर टेलर साॅल्जर स्पाई (2011), अपराध ड्रामा लाॅलेस़ (2012), ड्रामा लाॅके (2013), माफिया आधारित द ड्राॅप (2014), और बायोग्राफिक्ल वेस्टर्न थ्रिलर द रेवेनैंट (2015), जिनके लिए अकादमी अवार्ड में बतौर उन्हें सर्वश्रेष्ठ सह-अभिनेता से नामांकित किया गया। उनकी कुछ सर्वाधिक लोकप्रिय किरदार बेन का था, जिसमें उन्होंने सूपरहीरो फ़िल्म द डार्क नाईट राइसेस (2012) में मुख्य खलनायक की भूमिका की थी, फिर भविष्यकालीन एक्शनपैक्ड फ़िल्म मैड मैक्स: फ्युरी राॅड (2015) के नायक "मैड" मैक्स राॅकटेनस्की के बाद, अपराध थ्रिलर लेजेण्ड (2015) में उन्होंने क्रैय ट्विन की अदाकारी भी की। वहीं टेलीविजन पर हार्डी की बतौर अभिनेता की शुरुआत एचबीओ चैनल की युद्ध ड्रामा धारावाहिक बैण्ड ऑफ ब्रदर्स (2001) से की, फिर बीबीसी की ऐतिहासिक ड्रामा धारावाहिक द वर्जिन क्वीन (2005), आईटीवी की वुदरिंग हाइट्स (2008), द स्काई 1 के ड्रामा धारावाहिक द टेक (2009), और फिर बीबीसी की ब्रिटिश हिस्ट्रीकल अपराध ड्रामा की टेलीविजन धारावाहिक पिकी ब्लायंडर्स (2013) इसमें शामिल है। हार्डी अक्सर ब्रिटिश एवं अमेरिकी स्टेज पर अपनी परफाॅर्मेंस देते रहे हैं। उन्हें 2003 मे निर्मित अरेबिया वी वुड ऑल बी किंग्स में निभाए किरदार स्कैंक के लिए द लाॅरेंस ऑलिवर अवार्ड से बतौर सर्वश्रेष्ठ समर्पित नव-अभिनेता के रूप में नामांकित के लिए गया, और फिर 2003 में उन्हें "अरेबिया वी वुड बी किंग्स" और "लुका इन ब्लड" के लिए लंदन इवनिंग स्टैंडर्ड थियेटर अवार्ड की ओर से बतंर बेहतरीन नव-अभिनेता के खिताब से नवाजा गया। उनकी पहली बतौर नाटक निर्माता 2007 "द मैन ऑफ मोड" और 2010 में नाट्य निर्देशक फिलिप सेमाॅर हाॅफमैन की "द लांग रेड रोड" में अदाकारी के लिए समीक्षकों की ओर से भरपूर प्रशंसा मिली। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और टॉम हार्डी · और देखें »

ऍडरेड

ईडरेड या (ऍडरेड) (923 – 23 नवंबर 955) 946 से 955 तक अंग्रेजों का राजा था। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और ऍडरेड · और देखें »

ऍक्ट ऑफ़ सेटलमेंट, १७०१

ऍक्ट ऑफ़ सेटलमेंट(Act of Settlement) अर्थात् समाधान का अधिनियम, इंग्लैंड की संसद द्वारा सन् १७०१ में पारित एक अधिनियम था, जिसे अंग्रेजी और आयरिश राजमुकुटों पर उत्तराधिकार की समस्या का समाधान करने हेतु पारित किया गया था। इस अधिनियम को ब्रिटिश राजतंत्र के इतिहास के सबसे महत्वपूर्ण विधानों में से एक माना जाता है। इस अधिनियम द्वारा, उत्तराधिकार के समाधान के रूप में, अंग्रेजी राजसत्ता के वारिस होने के हक़ को, हनोवर की निर्वाचिता, सोफ़िया(स्कॉटलैंड के जेम्स सष्टम की पौत्री) और उनके वंश की पुरुष-रेखा के जायज़, ग़ैर-रोमन कैथोलिक वंशजों को सौंप दिया था। इस अधिनियम के मौलिक दस्तावेज़ हनोवर के लोअर सैक्सन स्टेट पुरालेखागार में संरक्षित हैं। इस अधिनियम को विलियम तृतीय और रानी मैरी द्वितीय, और मैरी की बहन रानी ऐनी के कोई जीवित संतान उत्पन्न नहीं कर पाने, तथा स्टुअर्ट घराने के सभी सदस्यों के कैथोलिक धर्म होने के कारण किया गया था। सोफ़िया की वंशरेखा, स्टुअर्ट घराने की अवर्तम् रेखा थी, परंतु उसके सरे सदस्य वश्वास्पात्र प्रोटेस्टेंट थे। सोफ़िय का निधन, 8 जून 1714 को, 1 अगस्त 1714 को रानी ऐनी के देहांत से पहले ही होगई, जिसके पश्चात्, ज्याॅर्ज प्रथम ने सिंहासन पर विराज कर हनोवर वंश की शुरूआत की। इस अधिनियम ने स्काटलैंड और इंग्लैंड के विलय कर यय ग्रेट ब्रिटेन की स्थापना करने में अहम भूमिका निभाई थी। सन 1603 से ही दोनों देशों ने एक ही शासक को साझा किया था, परंतु दो भिन्न सारकारें थीं और ये दो वभक्त रूप से शासित देश थे। अंग्रेज़ी संसद के मुकाबले, स्काॅटियाई संसद, स्टुअर्ट घराने को, जरने स्काॅटलैंड पर इंग्लैण्ड पर हुकूमत करने से कहीं पहले से स्काॅटलैंड पर शासन करते आ रही थी, का त्याग करने का अधिक पक्ष में नहीं थी। एॅक्ट ऑफ़ सेटलमेंट को मंजूरी देने हेतु अंग्रेजी संसद का स्काॅटियाई संसद पर दबाव, इन दोनों देशों के संसदीय विलय का एक अतिमहत्वपूर्ण कारणों में से एक था। इस एॅक्ट के अंतर्गत, हर वो व्यक्ति, जो कि कैथलिक था, या किसी कैथोलिक व्यक्ति के संग विवाहित था, सिंहासन पर अधिकार से आजीवन वंजित होता है। साथ ही यह अधिनियम, विदेशियों का ब्रिटिश सर्कार में हस्तक्षेप तथा शासक का संसदीय कार्यों में हस्तक्षेप पर काफी रोक व सीमाएँ लगता है। हालांकि, इन विधानों में, बाद में, आवश्यक संशोधन भी लाए गए हैं। बिल ऑफ़ राइट्स, 1689 समेत, एॅक्ट ऑफ सेटलमेंट, ब्रिटेन और अन्य राष्ट्रमंडल प्रदेशों के साझा सिंहासन पर उत्तराधिकार के क्रम को अनुशासित करनेवाले मुख्यतम् विधानों में से एक है। इसे साँझा सिंहासन रखनेवाले देश की संसद द्वारा किसी अन्य संसद द्वारा पलटा नहीं जा सकता है, और रीतिनुसार, साआरे राष्ट्रमंडल प्रदेशों की स्वीकृति से ही इसे पलटा जा सकता है। पर्थ समझौते के पश्चात्‌, इसे संशोधित करने के विधानों को साथे प्रदेशों में 26 मार्च 2015 को पारित किया गया, जिसके बाद, कैथोलिक व्यक्ति के संग विवाहित व्यक्ति, उत्तराधिकार के लिए सक्षम हैं। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और ऍक्ट ऑफ़ सेटलमेंट, १७०१ · और देखें »

एडवर्ड बालियोल

एडवर्ड बैलियोल (c. 1283 – 1367) स्कॉटिश सिंहासन का दावेदार था और अंग्रेजों की मदद से उसने लगभग 1332 से 1336 तक स्कॉटलैंड पर शासन किया था। उनके पिता का नाम जॉन बैलियोल था जो पहले स्कॉटलैंड का राजा रह चुके थे। अंग्रेजी भाषा को बचाने के लिए उनका योगदान उल्लेखनीय है। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और एडवर्ड बालियोल · और देखें »

एनरीक प्रात दा ला रीबा

एनरीक प्रात दा ला रीबा ई सर्रा (Enric Prat de la Riba i Sarrà; 29 नवम्बर 1870 – 1 अगस्त 1917) स्पेनी कातालोन्याई वकील, पत्रकार और राजनीतिज्ञ थे। ये सेंटर एस्कोलार कातालानिस्ता (कैटलन: Centre Escolar Catalanista) के सदस्य बन गए थे, जहाँ कैटलन राष्ट्रवाद की नीव बोई गई थी। इन्हें उन्नीसवीं शताब्दी के अंत में कैटलन राष्ट्रवाद से जुडी भावनाओं के पुनरुत्थान के लिए जाना जाता है। ये 6 अप्रैल 1914 को गठित हुए कातालोन्या राष्ट्रमंडल के प्रथम राष्ट्रपति थे। एनरीक प्रात दा ला रीबा ई सर्रा का जन्म कातालोन्या के कास्तेलतेर्सोल ग्रामीण कस्बे में एक समृद्ध रूढ़िवादी कैथोलिक परिवार में हुआ था। इन्होंने कानून की शिक्षा बार्सिलोना विश्वविद्यालय से प्राप्त की, जहाँ इन्होंने पढ़ाई 1893 में खत्म करी और इसके पश्चात डिग्री मैड्रिड केन्द्रीय विश्वविद्यालय से ली। पढ़ाई के समय से ही ये कैटलन राष्ट्रवाद के प्रति आकर्षित होने लगे थे। 1887 में ये कातालिनिस्त विद्यालय शिक्षा केंद्र से जुड़े। 1891 में ये कातालिनिस्त यूनियन के सचिव चुने गए। यूनियन में रहते हुए इन्होंने एक वर्ष पश्चात 1892 में मनरेज़ा माँग सभा के आयोजन में अहम भूमिका निभाई। 1899 में एक गुट की अगुवाई करते हुए ये यूनियन से अलग हो गए। यह गुट यूनियन से इसलिए अलग हुआ था क्योंकि इसके सदस्य चुनावों में हिस्सा और कैटलन राष्ट्रवादी केंद्र का गठन चाहते थे। अगले दो वर्ष प्रात दा ला रीबा ने दक्षिणपंथी 'क्षेत्रवादी दल' के गठन में बड़ी भूमिका अदा की। इस दल ने कातालोन्या के रुढ़िवादियो, ग्रामीण कैथोलिक परम्परावादियो और शहरी मध्य वर्ग के एक हिस्से को एक राजनितिक मुहैया कराया। 1905 में प्रात दा ला रीबा बार्सिलोना प्रांतीय परिषद के लिए चुने गए। दो वर्ष पश्चात ये परिषद के अध्यक्ष बन गए और कातालोन्या की चार प्रांतीय परिषदों का विलय कर एक बड़ी इकाई 'राष्ट्रमंडल' के निर्माण में जुट गए। दिसम्बर 1913 में इनकी मांगो को काफ़ी हद तक स्पेनी संसद ने स्वीकृति प्रदान कर दी थी। प्रात दा ला रीबा को 5 अप्रैल 1914 को कातालोन्या राष्ट्रमंडल के राष्ट्रपति चुने गए। अपनी मृत्यु तक ये इस पद पर काबिज रहे। प्रात दा ला रीबा ने ला नासियोनालितात कातालान नाम की किताब व राजनीतिक घोषणापत्र की रचना की थी। मई 1906 में प्रकाशित हुई इस किताब में कातालोन्या में स्वशासन पर जोर दिया गया है। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और एनरीक प्रात दा ला रीबा · और देखें »

एरागॉन की कैथरीन

एरागॉन की कैथरीन (कैस्टिलियाई: कैटालीना; ऐसे भी लिखते हैं Katherine of Aragon, 16 दिसम्बर 1485 – 7 जनवरी 1536) जून १५०९ से मई १५३३ ई॰ तक हेनरी अष्टम की पहली पत्नी के तौर पर इंग्लैंड की पटरानी थीं। रानी बनने से पहले वह हेनरी के बड़े भाई आर्थर की पत्नी के तौर पर वेल्स की राजकुमारी रह चुकी थीं। कैस्टिले की इसाबेल प्रथम और एरागॉन के राजा फर्डीनंड द्वितीय की बेटी कैथरीन का तीन वर्ष की उम्र में अंग्रेजी सिंहासन के उत्तराधिकारी व हेनरी सप्तम के पुत्र आर्थर के साथ विवाह तय कर दिया गया था। उनकी शादी सन 1501 में हुई और आर्थर पांच महीने बाद ही मर गया। यूरोपीय इतिहास में पहली महिला राजदूत बनने वाली कैथरीन को 1507 ई॰ में इंग्लैंड में स्पेन के राजदूत का दर्ज़ा मिला। इसके बाद कैथरीन ने आर्थर के छोटे भाई और 1509 में राजा बने हेनरी सप्तम से विवाह कर लिया। 1513 ई॰ में छ: महीनों के लिये जब हेनरी फ्रांस की यात्रा पर थे तब उन्होंने इंग्लैंड का शासन भी संभाला था। उस वक्त इंग्लैंड ने फ्लॉडॅन का युद्ध जीता जिसमें कैथरीन ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। 1525 तक हेनरी रानी की परिचारिका ऐनी बोलिन के प्रति आसक्त हो चुका था और कोई जीवित पुरूष संतान ना पैदा कर पाने की वजह से कैथरीन से अलग होना चाहता था। आरंभ में तो दोनों का दांपत्य जीवन सुखद रहा, पर शीघ्र ही राजनीति उसके आड़े आई। हेनरी व ऐन द्वारा उसके विवाहविच्छेद के अनेक प्रयास किए गए और २३ मई १५३३ को अंतत: आर्कविशप थॉमस क्रैनमर ने उसके विवाह को अवैध घोषित किया और १० अगस्त को वह रानी के पद से वंचित कर दी गई। हेनरी अष्टम ने एनी बोलेन से विवाह कर लिया था। फलत: कैथरीन धार्मिक जीवन व्यतीत करने लगी। साथ ही आजीवन वह अपने विवाह की अवैधता तथा एनी बोलेन के शिशु के राज्याधिकार की वैधता स्वीकार कर लेने से इनकार करती रही। फलत: उसे मार डालने की धमकी दी जाने लगी और उससे उसकी बेटी मेरी छीन ली गई और उसे किमबोल्टन के किले में नज़रबंद कर दिए गया। एक रानी को मिलने वाले सभी अधिकार उससे छीन लिये गये, एकाकी जीवन व्यतीत करते हुए फलत: उसका स्वास्थ्य खराब हो गया और ८ जनवरी १५३६ को उसकी मृत्यु हुई। वह अपनी प्रजा के बीच एक बेहद लोकप्रिय रानी थी और उसकी दुखद परिस्थियों में हुई मृत्य ने अंग्रेजी प्रज़ा को घोर निराशा और दुख में डाल दिया। जुआन लुईस वाइव्स द्वारा लिखित विवादास्पद पुस्तक द एज़ुकेशन ऑफ़ क्रिस्चियन वूमेन, जो महिला के शिक्षा अधिकारों की वकालत करती है कैथरीन को ही समर्पित थी और उन्होंने ही उसका विमोचन किया था। कैथरीन के व्यक्तित्व का प्रभाव आमजन पर इतना गहरा था कि उनके दुश्मन थॉमस क्रॉमवेल ने एक बार कहा कि अगर महिला होने की बात छोड़ दी जाए तो वो इतिहास के सभी नायकों से श्रेष्ठ साबित होंगी। उन्होंने सफलतापूर्वक शैतानी मई दिवस (एविल मे डे) में भाग लेने वालों के लिये उनके परिवारों की खातिर क्षमा याचना की। गरीबों के लिये जनसेवा के विभिन्न नि:शुल्क कार्यक्रम शुरु करने के लिये उन्हें पूरे साम्राज्य में बहुत ख्याति मिली। वह मानवतावाद की प्रमुख पक्षधर और प्रख्यात विद्वानों तोटेरडम का इरासमस और थॉमस मोर की मित्र भी थीं। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और एरागॉन की कैथरीन · और देखें »

एलिज़ाबेथ प्रथम

एलिज़ाबेथ प्रथम (Elizabeth I, जन्म: ७ सितम्बर १५३३, मृत्यु: २४ मार्च १६०३) इंग्लैंड और आयरलैंड की महारानी थीं, जिनका शासनकाल १७ नवम्बर १५५८ से उनकी मौत तक चला। यह ब्रिटेन के ट्युडर राजवंश की पाँचवी और आख़री सम्राट थीं। इन्होनें कभी शादी नहीं की और न ही इनकी कोई संतान हुई इसलिए इन्हें "कुंवारी रानी" (virgin queen, वर्जिन क्वीन) के नाम से भी जाना जाता था। यह ब्रिटेन के सम्राट हेनरी अष्टम की बेटी होने के नाते जन्म पर एक राजकुमारी थीं, लेकिन इनके जन्म के ढाई साल बाद ही इनकी माता, ऐन बोलिन (Anne Boleyn) को मार दिया गया और इन्हें नाजायज़ घोषित कर दिया गया। १५५३ तक इनके सौतेले भाई एडवर्ड ६ के शासनकाल के बाद इनकी बहन मैरी १ ने शासन संभाला। मैरी के संतानरहित होने के बाद एलिज़ाबेथ ने १७ नवंबर १५५८ को अंग्रेजी सिंहासन की बागडोर संभाली। इन्होने अपने इर्द-गिर्द बहुत से समझदार व्यक्तियों को मंत्री-परिषद में रखा जिस से ब्रिटेन सुव्यवस्थित हुआ। इन्होनें इंग्लैंड में "इंग्लिश प्रोटेस्टैंट चर्च" की नींव रखी और स्वयं को उसका अध्यक्ष बना लिया। इस से वे ब्रिटेन की राजनैतिक नेता और धार्मिक नेता दोनों बन गई। इस से रोमन कैथोलिक शाखा का पोप नाराज़ हो गया। वह ब्रिटेन को धार्मिक मामलों में अपने अधीन एक कैथोलिक राष्ट्र मानता था। उसने १५७० में यह आदेश दिया की ब्रिटेन के नागरिकों को एलिज़ाबेथ से वफ़ादारी करने की कोई आवश्यकता नहीं है। इस से ब्रिटेन के कैथोलिक समुदाय से एलिज़ाबेथ के ख़िलाफ़ बहुत से हमले हुए और कई विद्रोह भड़के, लेकिन एलिज़ाबेथ अपने मंत्रियों की गुप्तचर सेवा की मदद से सत्ता पर बनी रहीं। १५८८ में पोप के आग्रह पर स्पेन (जो एक कैथोलिक राष्ट्र था) ने ब्रिटेन पर एक समुद्री जहाज़ों का बड़ा लेकर आक्रमण करने की कोशिश करी। इस आक्रमण को "स्पेनी अर्माडा" कहा जाता है। एलिज़ाबेथ की नौसेना ने उसे हरा दिया और यह जीत इंग्लैण्ड की सब से ऐतिहासिक जीतों में से एक मानी जाती है। एलिज़ाबेथ के शासनकाल को एलिज़ाबेथेन एरा यानी एलिज़ाबेथ का युग के नाम से भी जाना जाता है। वो अपने शासन में अपने पिता व भाई बहन के मुकाबले ज्यादा उदार थीं। उनकी बहन मैरी ने सैकणों प्रोटेस्टैंटों को मरवा दिया था जिसकी वजह से उसे खूनी मैरी के नाम से भी जाना जाता है। एलिज़ाबेथ ने ऐसा कोई काम नहीं किया। वह लोकप्रिय शासक के रूप में जानी जाती थीं। एलिज़ाबेथ के काल में ब्रिटिश साहित्य और नाटककार फले-फूले, जिनमें विलियम शेक्सपीयर और क्रिस्टोफ़र मार्लोवे के नाम सब से नुमाया हैं। उनके दौर में ब्रिटेन के नौसैनिक दूर-दूर खोज-यात्राओं में निकले। फ़्रांसिस ड्रेक ने उत्तर अमेरिका की यात्रा करी। माना जाता है कि उनके ४४ साल के राज से ब्रिटेन में एक शक्तिशाली राष्ट्रीय भावना फैल गई जिसने आगे चलकर ब्रिटेन को विश्व का सब से शक्तिशाली देश बनने में योगदान दिया। वह ऐसे समय में अपना सिंहासन बचाते हुए लंबे समय तक एक सफल शासन दे सकीं जब पड़ोसी राज्यों के शासक अंदरूनी विवादों में उलझे रहे और अपनी सत्ता गंवाते रहे, जैसे कि उनकी भतीजी व स्कॉटलैंड की रानी मैरी जिसे उन्होंने अपने खिलाफ षडयंत्र रचने के अपराध में १५६८ में मृत्युदंड दे दिया। कुछ इतिहासकार उन्हें चिड़चिड़ा व जल्द कोई फैसला ना ले पाने वाला शासक मानते हैं और उन्हें उनकी काबिलियत से ज्यादा भाग्यशाली बताते हैं। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और एलिज़ाबेथ प्रथम · और देखें »

एंजल्स एंड डीमन्स (फ़िल्म)

एंजल्स एंड डीमन्स डैन ब्राउन के इसी नाम के उपन्यास का अमेरिकी फ़िल्म रूपांतरण है। यह दा विंची कोड की अगली कड़ी है, हालांकि उपन्यास एंजल्स एंड डीमन्स पहले प्रकाशित हुआ था और दा विंची कोड से पहले घटित होता है। इसका फ़िल्मांकन रोम, इटली और कल्वर सिटी, कैलिफ़ोर्निया के सोनी पिक्चर्स स्टूडियो में किया गया। टॉम हैंक्स ने रॉबर्ट लैंगडन की मुख्य भूमिका दोहराई है, जबकि निर्देशक रॉन हावर्ड, निर्माता ब्रायन ग्रेज़र, संगीतकार हैन्स ज़िम्मर और पटकथा लेखक अकिवा गोल्ड्समैन की भी वापसी हुई है। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और एंजल्स एंड डीमन्स (फ़िल्म) · और देखें »

ऐन, ग्रेट ब्रिटेन की महारानी

ऐन (Anne, 6 फरवरी 1665 – 1 अगस्त 1714) इंग्लैंड के राजा जेम्स २ की दूसरी बेटी थी जो ०८ मार्च १७०२ को इंग्लैण्ड, स्कॉटलैण्ड तथा आयरलैण्ड की महारानी बनी। इन्हीं के शासनकाल में १७०७ में विलय के कानून के तहत इंग्लैण्ड और स्कॉटलैण्ड मिलकर ग्रेट ब्रिटेन बने। वह मृत्युपर्यन्त ग्रेट ब्रिटेन और आयरलैण्ड की राष्ट्राध्यक्ष बनी रही। इनकी कोई जीवित संतान नहीं थी और इसलिये कोई उत्तराधिकारी ना होने की वजह से ऐन स्टुअर्ट राजवंश की अंतिम शासक थीं। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और ऐन, ग्रेट ब्रिटेन की महारानी · और देखें »

ऐनी बोलिन

ऐनी बोलिन या (c.1501/1507 - 19 मई 1536) 1533 से 1536 तक इंग्लैंड के हेनरी अष्टम की दूसरी पत्नी और अपने आप में स्वंय और अपने वंशजों के लिए प्रथम मारकेस ऑफ़ पेमब्रोक थी। ऐनी के साथ हेनरी की शादी और उसके बाद उसके वध ने उसे धार्मिक और राजनीतिक उथल-पुथल जो अंग्रेज़ी सुधारान्दोलन का प्रारम्भ था, का महत्वपूर्ण व्यक्तित्व बना दिया.

नई!!: कैथोलिक धर्म और ऐनी बोलिन · और देखें »

ऐनी हैथवे

एन जैक्विलिन हैथवे (जन्म 12 नवम्बर 1982) एक अमेरिकी अभिनेत्री हैं। उन्होंने 1999 में अपने अभिनय की शुरूआत टेलीविज़न श्रृंखला गेट रियल से की, लेकिन उनकी पहली प्रमुख भूमिका डिज़नी की पारिवारिक कॉमेडी द प्रिंसेस डायरीज़ में (बतौर जूली एंड्रयूज़ की नायिका) थी, जिसने उनके कैरियर को जमाया.

नई!!: कैथोलिक धर्म और ऐनी हैथवे · और देखें »

ऐंग्लिकन समुदाय

ईसाई संप्रदायों में ऐंग्लिगन समुदाय (Anglican Communion) का विशेष स्थान है। इसका इतिहास एक प्रकार से इंग्लैंड में ईसाई धर्म के प्रवेश के साथ-साथ प्रारंभ होता है, किंतु १६वीं शताब्दी में ही वह रोमन काथलिक गिरजे से अलग होकर चर्च ऑव इंग्लैंड का अपनाने लगा। १७वीं शताब्दी में इसके लिए 'ऐंग्लिकन चचर्' का प्रयोग चल पड़ा। आजकल संसार भर के ऐंग्लिकन ईसाइयों का संगठन 'ऐंग्लिकन समुदाय' कहलाता है। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और ऐंग्लिकन समुदाय · और देखें »

ठूरगाउ कैन्टन

ठूरगाउ कैन्टन (जर्मन व अंग्रेज़ी: Thurgau) स्विट्ज़रलैंड के पूर्वोत्तर में स्थित एक् कैन्टन (प्रान्त से मिलता-जुलता प्रशासनिक विभाग) है। इस कैन्टन को सन् १८०३ में नेपोलियन बोनापार्ट ने स्विट्ज़रलैंड में हस्तक्षेप करते हुए अपने 'मध्यस्थता विधेयक' (Act of Mediation) के तहत स्विस परिसंघ का हिस्सा बना दिया था। इस का नाम यहाँ से गुज़रने वाली 'ठूर नदी' (Thur) पर पड़ा है (जर्मन में 'ठूरगाउ' का मतलब 'ठूर-ज़िला' होता है)।, Let's Go Inc., Macmillan, 2004, ISBN 9780312335427, Random House Digital, Inc., 2007, ISBN 9781400017829 .

नई!!: कैथोलिक धर्म और ठूरगाउ कैन्टन · और देखें »

डिएगो माराडोना

डिएगो आर्मैन्ड़ो माराडोना (30 अक्टूबर 1960 को लानुस, ब्यूनस आयर्स में जन्म) अर्जेन्टीना के एक पूर्व फ़ुटबॉल खिलाड़ी और अर्जेन्टीना के राष्ट्रीय टीम के वर्तमान प्रबंधक हैं। उन्हें व्यापक रूप से आज तक का सबसे बेहतरीन फ़ुटबॉल खिलाड़ी माना जाता है। FIFA प्लेयर ऑफ़ दी सेंचुरी पुरस्कार के लिए उन्हें इंटरनेट मतदान में सर्वप्रथम स्थान मिला और उन्होंने पेले के साथ पुरस्कार में साझेदारी की। अंतिम बार 30 मई 2006 को पुनः प्राप्त अपने पेशेवर क्लब कॅरियर के दौरान माराडोना ने अर्जेंटिनोस जूनियर, बोका जूनियर्स, बार्सिलोना, सेविला, नेवेल्स ओल्ड बॉय और नापोली के लिए खेलते हुए अनुबंध शुल्क लेने में विश्व रिकोर्ड कायम किया। अपने अंतर्राष्ट्रीय कॅरियर में, अर्जेन्टीना के लिए खेलते हुए, उन्होंने 91 कैप्स अर्जित किए और 34 गोल किए। उन्होंने चार FIFA विश्व कप टूर्नामेंटों में खेला, जिसमें 1986 का विश्व कप शामिल था, इसमें उन्होंने अर्जेन्टीना की कप्तानी की और टूर्नामेंट का सर्वश्रेष्ट खिलाड़ी होने का गोल्डन बॉल पुरस्कार जीता और निर्णायक मुकाबले में वेस्ट जर्मनी पर जीत हासिल की। उसी टूर्नामेंट के क्वार्टर-फाइनल दौर में उन्होंने इंग्लैंड के खिलाफ़ 2-1 की जीत में 2 गोल दागे, जो फ़ुटबॉल के इतिहास में दर्ज हो गए, हालांकि दो बिल्कुल ही अलग कारणों के लिए। पहला गोल एक दंड मुक्त हैंडबॉल था जिसे "हैंड ऑफ़ गॉड" के नाम से जाना जाता है, जबकि दूसरा गोल एक शानदार 6 मीटर की दूरी से और छह इंग्लैंड के खिलाड़ियों के बीच से निकाला गया एक गोल था, जो आम तौर पर "दी गोल ऑफ़ दी सेंचुरी" के नाम से जाना जाता है। विभिन्न कारणों से, माराडोना को खेल जगत का एक सर्वाधिक विवादास्पद और समाचार-योग्य व्यक्तित्व माना जाता है। इटली में कोकीन के लिए डोपिंग परीक्षण में विफल होने के कारण 1991 में उन्हें 15 महीनों के लिए निलंबित कर दिया गया और USA में चल रहे 1994 के वर्ल्ड कप के दौरान एफेड्रीन का उपयोग करने के कारण उन्हें घर भेज दिया गया। 1997 में अपने 37वें जन्मदिन पर खेल से रिटायर होने के बाद www.vivadiego.com.

नई!!: कैथोलिक धर्म और डिएगो माराडोना · और देखें »

डैनी बॉयल

डैनी बॉयल (जन्म- 20 अक्टूबर 1956) एक ब्रिटिश फ़िल्ममेकर और निर्माता हैं। वे शैलो ग्रेव, ट्रेनस्पॉटिंग, 28 डेज़ लेटर औरस्लमडॉग मिलियनेयर आदि फ़िल्मों में अपने काम के लिए जाने जाते हैं। बाद में बॉयल ने 2009 में कई पुरस्कार जीते जिसमेंएकेडमी अवार्ड बेस्ट फॉर डायरेक्टरभी शामिल है। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और डैनी बॉयल · और देखें »

डेनमार्क

डेनमार्क या डेनमार्क राजशाही (डैनिश: Danmark या Kongeriget Danmark) स्कैंडिनेविया, उत्तरी यूरोप में स्थित एक देश है। इसकी भूसीमा केवल जर्मनी से मिलती है, जबकी उत्तरी सागर और बाल्टिक सागर इसे स्वीडन से अलग करते हैं। यह देश जूटलैंड प्रायद्वीप पर हज़ारों द्वीपों में फैला हुआ है। डेनमार्क ने लंबे समय तक बाल्टिक सागर को जाने वाले मार्गों को नियंत्रित किया है और इस जलराशी को डैनिश खाड़ी के नाम से जाना जाता है। इसके छोटे आकार के विपरीत इसकी समुद्री सीमा बहुत लम्बी है लगभग ७,३१४ किमी। डेनमार्क अधिकांशतः एक समतल देश है और समुद्र तल से अधिकतम ऊँचाई वाला स्थान केवल १७० मीटर ऊँचा है। फ़रो द्वीप समूह और ग्रीनलैंड डेनमार्क के अधीनस्थ है। २००८ के वैश्विक शांति सूचकांक के अनुसार डेनमार्क, आइसलैंड के बाद विश्व का सबसे शांत देश है। २००८ के ही भ्रष्टाचार दृष्टिकोण सूचकांक के अनुसार यह विश्व के सबसे कम भ्रष्ट देशों में से है और न्यूज़ीलैंड और स्वीडन के साथ पहले स्थान पर है। मोनोक्ल पत्रिका के २००८ के एक सर्वेक्षण के अनुसार इसकी राजधानी कॉपनहेगन रहने योग्य सर्वाधिक उपयुक्त नगर है। वर्ष २००९ में देश की अनुमानित जनसंख्या ५५,१९,२५९ है। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और डेनमार्क · और देखें »

डेवाओ शहर

डेवाओ शहर या दावाओ शहर, फिलीपींस के सबसे अधिक जनसंख्या वाले शहरों में से एक है। यह भौगोलिक रूप से दावाओ देल सूर प्रान्त में स्थित है और इस प्रांत के तहत फिलीपीन सांख्यिकी प्राधिकरण द्वारा समूहीकृत है। लेकिन यह एक बेहद शहरीकृत शहर है। और इसे राजनीतिक रूप से स्वतंत्र शासित और प्रशासित किया जाता है। शहर का क्षेत्रफल 2,443.61 किमी2 (943.48 वर्ग मील) है, और 2015 की जनगणना के आधार पर 1,632,991 लोगों की आबादी है। इसके अनुसार यह फिलीपींस में तीसरा सबसे अधिक जनसंख्या वाला शहर और मिंडानाओ में सबसे ज्यादा आबादी वाला शहर है। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और डेवाओ शहर · और देखें »

डेविड सी. लेन

डेविड क्रिस्टोफर लेन का जन्म 29 अप्रैल 1956 में, बर्बैंक, कैलीफोर्निया में हुआ और वे वाल्नेट, कैलीफोर्निया के माऊंट सैन एंटोनियो कालेज में दर्शनशास्त्र और समाजशास्त्र के प्रोफेसर हैं। इन्हें अपनी पुस्तक 'द मेकिंग ऑफ अ स्पिरीचुअल मूवमेंट: द अनटोल्ड स्टोरी ऑफ पॉल ट्विचटेल एंड एकंकार' में एकंकार (En-Eckankar) को संप्रदाय के तौर पर और उसके संस्थापक को साहित्यिक चोरी के लिए पहचानने के लिए सबसे अधिक जाना जाता है। भारत में इन्हें नए धार्मिक आंदोलनों विशेषकर राधास्वामी मत पर उनके शोध और भारत के आमूलपरिवर्तनवादी और सुरत शब्द योग के साधक और खोजी फकीर बाबा फकीर चंद को पाश्चात्य जगत में परिचित कराने के लिए भी जाना जाता है। लेन ने एक पुस्तक 'द अननोइंग सेज:लाइफ एंड वर्क ऑफ बाबा फकीर चंद' का संपादन और प्रकाशन किया। इस पुस्तक की भूमिका जो लेन ने लिखी है वह सुरत शब्द अभ्यासियों (योगियों) के आंतरिक अनुभवों के वैज्ञानिक पक्षों का वर्णन करती है और फकीर की बेबाक उक्तियों को समेटे हुए हैं। लेन ने सैन डीगो में यूनीवर्सिटी ऑफ कैलीफोर्निया से डॉक्टरेट (पीएच. डी) और 'सोशियॉलॉजी ऑफ नॉलेज' में स्नात्कोत्तर डिग्री (एम ए) किया हुआ है। इसके अतिरिक्त इन्होंने 'धार्मिक घटना-क्रिया-विज्ञान (दृश्यप्रपंचशास्त्र) और उसका इतिहास' में भी 'एम ए' किया हुआ है। इस समय ये कैलीफोर्निया स्टेट यूनीवर्सिटी में 'धार्मिक अध्ययन' के प्राध्यापक हैं और संप्रदायों सहित नए धार्मिक आंदोलनों के अध्ययन के विशेषज्ञ हैं। जन्म से रोमन कैथोलिक हैं। 1978 में राधास्वामी सत्संग ब्यास के बाबा सत्गुरु चरण सिंह से नामदान लिया। बाद में इनका हृदय परिवर्तन हुआ और इन्होंने सभी तो नहीं परंतु कुछ शिक्षाओं को त्याग दिया। अपने एक इंटरव्यू में लेन ने कई धार्मिक आंदोलनों के समर्थकों से मिल रही हत्या की धमकियों की भी बात की है। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और डेविड सी. लेन · और देखें »

तोलेदो गिरजाघर

तोलेदो गिरजाघर (स्पैनिश: Catedral Primada Santa María de Toledo) तोलेदो स्पेन में स्थित एक रोमन कैथोलिक गिरजाघर है। तोलेदो गिरजाघर 13वीं सदी का गिरजाघर है। स्पेन की कुछ संस्थाओं का कहना है कि ये गिरजाघर गोथिक वस्तुकला का स्पेन में शाहकार नमूना है। इसका निर्माण 1226 ई में फर्दिनाद तृतीय ने शुरू करवाया था। इसमें आख़री गोथिक योगदान 15वीं सदी (1493 में) में कैथोलिक राजाओं के समय में हुआ। इसमें मुदेजान शैली की खास खुबिया मौजूद हैं, खास कर इसका मठ.

नई!!: कैथोलिक धर्म और तोलेदो गिरजाघर · और देखें »

तीसवर्षीय युद्ध

तीसवर्षीय युद्ध के बारे में जैकुअस कैलोट की '''फाँसी वाला पेड़''' नामक कृति सन् 1618 से 1648 तक कैथोलिकों और प्रोटेसटेटों के बीच युद्धों की जो परंपरा चली थी उसे ही साधारणतया तीस वर्षीय युद्ध कहा जाता है। इसका आरंभ बोहेमिया के राजसिंहासन पर पैलेटाइन के इलेक्टर फ्रेडरिक के दावे से हुआ और अंत वेस्टफे लिया की संधि से। धार्मिक युद्ध होते हुए भी इसमें राजनीतिक झगड़े उलझे हुए थे। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और तीसवर्षीय युद्ध · और देखें »

द डा विंची कोड (फ़िल्म)

द डा विंची कोड, रॉन हावर्ड द्वारा निर्देशित, 2006 की एक अमेरिकी रहस्य-रोमांच वाली फ़िल्म है। पटकथा को अकिवा गोल्ड्समैन द्वारा लिखा गया और यह डैन ब्राउन के दुनिया भर में सर्वोच्च बिक्री वाले 2003 के उपन्यास द डा विंची कोड पर आधारित है। हावर्ड ने जॉन कैले और ब्रायन ग्रेज़र के साथ इसका निर्माण किया और कोलंबिया पिक्चर्स ने इसे संयुक्त राज्य अमेरिका में 9 मई 2006 को जारी किया। द डा विंची कोड में टॉम हैंक्स ने हार्वर्ड विश्वविद्यालय के प्रतीकविज्ञानी रॉबर्ट लेंग्डन का किरदार निभाया है, ऑड्रे तौटो ने फ्रांस के Centrale de la Police Judiciaire के कूट-विशेषज्ञ सोफी नेवू का, सर इयान मेकेलन ने ब्रिटिश ग्रेल इतिहासकार सर ले टीबिंग का, अल्फ्रेड मोलिना ने बिशप मैनुएल अरिंगारोसा का, जीन रेनो ने Direction Centrale de la Police Judiciaire के कैप्टेन बेजु फाक का और पॉल बेट्टेनी ने ओपस डे भिक्षु सीलास का किरदार निभाया.

नई!!: कैथोलिक धर्म और द डा विंची कोड (फ़िल्म) · और देखें »

दक्षिण कोरिया

दक्षिण कोरिया (कोरियाई: 대한민국 (देहान् मिन्गुक), 大韩民国 (हंजा)), पूर्वी एशिया में स्थित एक देश है जो कोरियाई प्रायद्वीप के दक्षिणी अर्धभाग को घेरे हुए है। 'शान्त सुबह की भूमि' के रूप में ख्यात इस देश के पश्चिम में चीन, पूर्व में जापान और उत्तर में उत्तर कोरिया स्थित है। देश की राजधानी सियोल दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा महानगरीय क्षेत्र और एक प्रमुख वैश्विक नगर है। यहां की आधिकारिक भाषा कोरियाई है जो हंगुल और हंजा दोनो लिपियों में लिखी जाती है। राष्ट्रीय मुद्रा वॉन है। उत्तर कोरिया, इस देश की सीमा से लगता एकमात्र देश है, जिसकी दक्षिण कोरिया के साथ २३८ किलिमीटर लम्बी सीमा है। दोनो कोरियाओं की सीमा विश्व की सबसे अधिक सैन्य जमावड़े वाली सीमा है। साथ ही दोनों देशों के बीच एक असैन्य क्षेत्र भी है। कोरियाई युद्ध की विभीषिका झेल चुका दक्षिण कोरिया वर्तमान में एक विकसित देश है और सकल घरेलू उत्पाद (क्रय शक्ति) के आधार पर विश्व की तेरहवीं और सकल घरेलू उत्पाद (संज्ञात्मक) के आधार पर पन्द्रहवीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था है।कोरिया मे १५ अंतराष्ट्रीय बिमानस्थल है और करीब ५०० विश्वविद्यालय है लोग बिदेशो यहा अध्ययन करने आते है। यहा औद्योगिक विकास बहुत हुऐ है और कोरिया मे चीन सहित १५ देशो के लोग रोजगार अनुमति प्रणाली(EPS) के माध्यम से यहा काम करते है। जिसमे दक्षिण एशिया के ४ देशो नेपाल बांग्लादेश श्रीलंका पाकिस्तान है। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और दक्षिण कोरिया · और देखें »

दक्षिण अमेरिका

दक्षिण अमेरिका (स्पेनी: América del Sur; पुर्तगाली: América do Sul) उत्तर अमेरिका के दक्षिण पूर्व में स्थित पश्चिमी गोलार्द्ध का एक महाद्वीप है। दक्षिणी अमेरिका उत्तर में १३० उत्तरी अक्षांश (गैलिनस अन्तरीप) से दक्षिण में ५६० दक्षिणी अक्षांश (हार्न अन्तरीप) तक एवं पूर्व में ३५० पश्चिमी देशान्तर (रेशिको अन्तरीप) से पश्चिम में ८१० पश्चिमी देशान्तर (पारिना अन्तरीप) तक विस्तृत है। इसके उत्तर में कैरीबियन सागर तथा पनामा नहर, पूर्व तथा उत्तर-पूर्व में अन्ध महासागर, पश्चिम में प्रशान्त महासागर तथा दक्षिण में अण्टार्कटिक महासागर स्थित हैं। भूमध्य रेखा इस महाद्वीप के उत्तरी भाग से एवं मकर रेखा मध्य से गुजरती है जिसके कारण इसका अधिकांश भाग उष्ण कटिबन्ध में पड़ता है। दक्षिणी अमेरिका की उत्तर से दक्षिण लम्बाई लगभग ७,२०० किलोमीटर तथा पश्चिम से पूर्व चौड़ाई ५,१२० किलोमीटर है। विश्व का यह चौथा बड़ा महाद्वीप है, जो आकार में भारत से लगभग ६ गुना बड़ा है। पनामा नहर इसे पनामा भूडमरुमध्य पर उत्तरी अमरीका महाद्वीप से अलग करती है। किंतु पनामा देश उत्तरी अमरीका में आता है। ३२,००० किलोमीटर लम्बे समुद्रतट वाले इस महाद्वीप का समुद्री किनारा सीधा एवं सपाट है, तट पर द्वीप, प्रायद्वीप तथा खाड़ियाँ कम हैं जिससे अच्छे बन्दरगाहों का अभाव है। खनिज तथा प्राकृतिक सम्पदा में धनी यह महाद्वीप गर्म एवं नम जलवायु, पर्वतों, पठारों घने जंगलों तथा मरुस्थलों की उपस्थिति के कारण विकसित नहीं हो सका है। यहाँ विश्व की सबसे लम्बी पर्वत-श्रेणी एण्डीज पर्वतमाला एवं सबसे ऊँची टीटीकाका झील हैं। भूमध्यरेखा के समीप पेरू देश में चिम्बोरेजो तथा कोटोपैक्सी नामक विश्व के सबसे ऊँचे ज्वालामुखी पर्वत हैं जो लगभग ६,०९६ मीटर ऊँचे हैं। अमेजन, ओरीनिको, रियो डि ला प्लाटा यहाँ की प्रमुख नदियाँ हैं। दक्षिण अमेरिका की अन्य नदियाँ ब्राज़ील की साओ फ्रांसिस्को, कोलम्बिया की मैगडालेना तथा अर्जेण्टाइना की रायो कोलोरेडो हैं। इस महाद्वीप में ब्राज़ील, अर्जेंटीना, चिली, उरुग्वे, पैराग्वे, बोलिविया, पेरू, ईक्वाडोर, कोलोंबिया, वेनेज़ुएला, गुयाना (ब्रिटिश, डच, फ्रेंच) और फ़ाकलैंड द्वीप-समूह आदि देश हैं। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और दक्षिण अमेरिका · और देखें »

दूसरा फ्रांसीसी साम्राज्य

द्वितीय फ्रांसीसी साम्राज्य (French: Second Empire) फ्रांस में, दूसरे गणराज्य और तीसरें गणराज्य के बीच, 1852 से 1870 तक नैपोलियन तृतीय का शाही बोनापार्टिस्ट शासन था। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और दूसरा फ्रांसीसी साम्राज्य · और देखें »

धर्ममीमांसा

किसी धार्मिक संप्रदाय के द्वारा स्वीकृत विश्वासों का क्रमबद्ध संग्रह उस संप्रदाय की धर्ममीमांसा है। धर्ममीमांसा में विज्ञान और दर्शन के दृष्टिकोण की सार्वभौमता नहीं होती, इसकी पद्धति भी उनकी पद्धति से भिन्न होती है। विज्ञान प्रत्यक्ष पर आधारित है, दर्शन में बुद्धि की प्रमुखता है और धर्ममीमांसा में, आप्त वचन की प्रधानता स्वीकृत होती है। जब तक विश्वास का अधिकार प्रश्नरहित था, धर्ममीमांसकों को इस बात की चिंता न थी कि उनके मंतव्य विज्ञान के आविष्कारों और दर्शन के निष्कर्षों के अनुकूल हैं या नहीं। परंतु अब स्थिति बदल गई है और धर्ममीमांसा को विज्ञान तथा दर्शन के मेल में रहना होता है। धर्ममीमांसा किसी धार्मिक संप्रदाय के स्वीकृत सिद्धांतों का संग्रह है। इस प्रकार की सामग्री का स्रोत कहाँ है? इन सिद्धांतों का सर्वोपरि स्रोत तो ऐसी पुस्तक है, जिसे उस संप्रदाय में ईश्वरीय ज्ञान समझा जाता है। इससे उतरकर उन विशेष पुरुषों का स्थान है जिन्हें ईश्वर की ओर से धर्म के संबंध में निर्भ्रांत ज्ञान प्राप्त हुआ है। रोमन कैथोलिक चर्च में पोप को ऐसा पद प्राप्त है। विवाद के विषयों पर आचार्यों की परिषदों के निश्चय भी प्रामाणिक सिद्धांत समझे जाते हैं। धर्ममीमांसा के विचार विषयों में ईश्वर की सत्ता और स्वरूप प्रमुख हैं। इनके अतिरिक्त जगत्‌ और जीवात्मा के स्वरूप पर भी विचार होता है। ईश्वर के संबंध में प्रमुख प्रश्न यह है कि वह जगत्‌ में अंतरात्मा के रूप में विद्यमान है, या इससे परे, ऊपर भी है। जगत्‌ के विषय मं पूछा जाता है कि यह ईश्वर का उत्पादन है, उसका उद्गार है, या निर्माण मात्र है। उत्पादनवाद, उद्गारवाद और निर्माणवाद की जाँच की जाती है। जीवात्मा के संबंध में, स्वाधीनता और मोक्षसाधन चिरकाल के विवाद के विषय बने रहे हैं। संत आगस्तिन ने पूर्व निर्धारणवाद का समर्थन किया और कहा कि कोई मनुष्य अपने कर्मों से दोषमुक्त नहीं हो सकता, दोषमुक्ति ईश्वरीय करुणा पर निर्भर है। इसके विपरीत भारत की विचारधारा में जीवात्मा स्वतंत्र है और मनुष्य का भाग्य उसके कर्मों से निर्णीत होता है। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और धर्ममीमांसा · और देखें »

धर्मसुधार-विरोधी आंदोलन

यूरोप में धर्म सुधार आंदोलन के कारण नवीन प्रोटेस्टेंट धर्म के प्रसार से चिंतित होकर कैथोलिक धर्म के अनुयायियों ने कैथोलिक चर्च व पोपशाही की शक्ति व अधिकारों को सुरक्षित करने और उनकी सत्ता को पुनः सुदृढ़ बनाने के लिए कैथोलिक चर्च और पोपशाही में अनके सुधार किये। यह सुधार आंदोलन, कैथोलिकों की दृष्टि से उनके पुनरुत्थान का आंदोलन है और प्रोटेस्टेंट विरोधी होने से इसे धर्म-सुधार-विरोधी आंदोलन (Counter-Reformation), या प्रतिवादी अथवा प्रतिवादात्मक धर्म-सुधार आंदोलन कहा गया। यह आंदोलन सोलहवीं सदी के मध्य से प्रारंभ हुआ और सत्रहवीं शताब्दी के मध्य तक चला। (ट्रेण्ट काउंसिल (1545–1563) से आरम्भ होकर तीसवर्षीय युद्ध की समाप्ति तक (1648)) इस धर्मसुधार-विरोधी आंदोलन का उद्देश्य कैथोलिक चर्च में पवित्रता और ऊँचे आदर्शों को स्थापित करना था, चर्च और पोपशाही में व्याप्त दोषों को दूर कर उसके स्वरूप को पवित्र बनाना था। इस युग के नये पोप जैसे पॉल तृतीय, पॉल चतुर्थ, पायस चतुर्थ, पायस पंचम आदि पूर्व पोपों की अपेक्षा अधिक सदाचारी, धर्मनिष्ठ, कर्तव्यपरायण और सुधारवादी थे। इनके प्रयासों से कैथोलिक धर्म में नवीन शक्ति, स्फूर्ति और प्रेरणा आई और कई सुधार किये गये। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और धर्मसुधार-विरोधी आंदोलन · और देखें »

धार्मिक भाषा

धार्मिक भाषा एक ऐसी भाषा होती है जिसे धार्मिक प्रयोगों के लिये इस्तेमाल किया जाता है। किसी धार्मिक भाषा का प्रयोग करने वाले अपने दैनिक जीवन में किसी अन्य भाषा का प्रयोग करते हैं और वह धार्मिक भाषा उनकी मातृभाषा नहीं होती। अक्सर श्रद्धालुओं की दृष्टि में धार्मिक भाषा को मातृभाषा से अधिक शुद्ध, आध्यात्मिक, या अन्य गुणों से भरपूर माना जाता है। हिन्दुओं के लिये संस्कृत, कैथोलिक ईसाईयों के लिये लातीनी, इथोयोपियाई पारम्परिक ईसाईयों के लिये गिइज़, सीरियाई ईसाईयों के लिये सीरियाई, मुसलमानों के लिये शास्त्रीय अरबी (जो आधुनिक अरबी भाषा से काफ़ी भिन्न है) और बौद्ध धर्मियों के लिये पालि धार्मिक भाषाओं की भूमिका निभातीं हैं। इनमें से कोई भी आधुनिक युग में दैनिक प्रयोग की भाषा नहीं है। समाज में अक्सर किसी धार्मिक भाषा को लिखने-पढ़ने वालों को अन्य लोग मान्यता देते हैं, क्योंकि वे धर्मग्रंथ समझने-समझाने और धार्मिक समारोहों में सही भाषा प्रयोग व उच्चारण द्वारा धार्मिक नियमों का पालन करने में सक्षम माने जाते हैं। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और धार्मिक भाषा · और देखें »

नटाल कॉलोनी

नटाल कॉलोनी यानि नटाल उपनिवेश, दक्षिणी अफ्रीका के पूर्वी तट पर स्थित एक ब्रिटिश उपनिवेश था। इसे मई १८४५ में एक ब्रिटिश उपनिवेश के रूप में घोषित किया गया था, जब अंग्रेजों ने नतालिया के बोअर गण पर कब्ज़ा कर बफैलो नदी के दक्षिण के पूरे क्षेत्र पर अपना अधिकार जमा लिया था। जिसके उत्तेर की ओर ज़ूलू लोगों का कब्ज़ा था। १९१० में इस उपनिवेश का अन्य तीन ब्रिटिश उपनिवेशोंन के साथ विलय होकर दक्षिण अफ़्रीकी संघ की स्थापना हुई। आज यह दक्षिण अफ़्रीका के प्रांत क्वाज़ूलू-नटाल का हिस्सा है। इस कॉलोनी का ज़ुलु गण के साथ भीषण झड़प और युद्ध होते रहते थे, एक बार तो ऐसा भी हुआ था की ज़ुलु हमले के कारण, पूरे डरबन शहर को खली करवाना पड़ा था। इस कॉलोनी का मुख्य आर्थिक संसाधन थी यहाँ की गन्ना खेती का व्यापर। नटाल में इन गन्ना खेतों पर काम करने के लिए, भारी मात्र में भारतीय प्रवासी भी आया कतरे थे, जिनके अप्रवासन के कारण, डरबन शहर, भारत के बहार स्थित, भारतीय लोगों के सबसे बड़े समाज का निवास-स्थान बना। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और नटाल कॉलोनी · और देखें »

निर्मला जोशी

निर्मला जोशी _ कवियत्रि निर्मला जोशी जन्म: पर्वतीय नगरी - अल्मोड़ा (उ प़्रं) के पंत परिवार में। निवास: भोपाल, म.प्र.

नई!!: कैथोलिक धर्म और निर्मला जोशी · और देखें »

निकोल किडमैन

निकोल मेरी किडमैन, ए.सी.

नई!!: कैथोलिक धर्म और निकोल किडमैन · और देखें »

निकोलस स्पार्क्स

निकोलस चार्ल्स स्पार्क्स (Nicholas Charles Sparks; जन्म ३१ दिसम्बर १९६५) एक अंतर्राष्ट्रीय बढ़िया बिक्री वाले अमेरिकी लेखन व कथानककार है। उन्होंने १६ उपन्यास प्रकाशित किया है जिनमे कैंसर, मृत्य, लुटेरों और प्यार पर आधारित तथ्यों का सहारा लिया गया है। उनके सात उपन्यासों को फ़िल्मों में रूपांतरित किया जा चूका है जिनमे मेसेज इन अ बोटल, अ वाक टू रिमेम्बर, द नोटबुक, द लास्ट साँग और हालही में द लकी वन शामिल है। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और निकोलस स्पार्क्स · और देखें »

निकोलस केज

निकोलस केज' (Nicolas Cage) एक अमरिकी फ़िल्म अभिनेता, निर्माता व निर्देशक। यह गोस्ट राइडर में मुख्य भुमिका निभाने के लिए जाने जाते है। निकोलस किम कोप्पोला (७ जनवरी १९६४), निकोलस केज पेशेवर के रूप में जाना जाता है, एक अमेरिकी अभिनेता, निर्माता और निर्देशक है। वह रोमांटिक हास्य और नाटक से विज्ञान कथा और एक्शन फिल्मों से लेकर फिल्मों की एक किस्म में प्रमुख भूमिकाओं में प्रदर्शन किया गया है। केज प्रति वर्ष कम से कम एक फिल्म में प्रदर्शित होने के लिए जाना जाता है। १९८०के बाद से (१९८५ और १९९१ को छोड़कर) लगभग हर वर्ष फिल्म में प्रदर्शित होने, उसकी पैदावार के लिए जाना जाता है। अपने कैरियर के प्रारंभिक वर्षों में, केज ने वैली गर्ल, रेसिंग विथ दी मून, बर्डी, पेग्गी सुए गोट मैरिड (१९८६), रेसिंग एरिज़ोना (१९८७), मून्स स्ट्ऱाक्क् (१९८७) वेंपाइर किस्स (१९८९), वाइल्ड अत हार्ट (१९९०), हनीमून इन वेगास (१९९२), एंड रेड रॉक वेस्ट (१९९३) जैसे समीक्षकों बहुप्रशंसित फिल्मों में अभिनय किया। मुख्यधारा की फिल्मों जैसे की रॉक (१९९६), सिटी ऑफ़ एंगेल्स (१९९८), के साथ व्यापक दर्शकों के ध्यान में आने से पहले केज ने एक अकादमी पुरस्कार प्राप्त किया, गोल्डन ग्लोब, स्क्रीन एक्टर्स गिल्ड अवार्ड प्राप्त किया। २००२ में, उन्होंने फिल्म सोनि का निर्देशन किया जिसके लिए उन्हें ग्रांड विशेष पुरस्कार के लिए नामित किया था। केज एक उत्पादन कंपनी सैटर्न फिल्म्स के मालिक है और शैडो ऑफ़ थे वैम्पायर (२०००), थे लाइफ ऑफ़ डेविड गले (२००३) जैसे फिल्मों का निर्माण भी किया। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और निकोलस केज · और देखें »

नुएस्त्रा सेन्योरा दे ग्राशिया का पैरिश गिरजाघर

पैरिश गिरजाघर नुएस्त्रा सेन्योरा दे ग्राशिया का पैरिश गिरजाघर (Iglesia de Nuestra Señora de Gracia) एक रोमन कैथलिक गिरजाघर है। यह पालामोज़, बादाजोज़, एक्स्त्रेमदुरा, पश्चिमी स्पेन में स्थित है। इसे बिएन दे इंतेरेस कल्चरल के रूप में 12 नवम्बर 2013 को गोषित किया गया था। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और नुएस्त्रा सेन्योरा दे ग्राशिया का पैरिश गिरजाघर · और देखें »

नोआम चाम्सकी

एवरम नोम चोम्स्की (हीब्रू: אברם נועם חומסקי) (जन्म 7 दिसंबर, 1928) एक प्रमुख भाषावैज्ञानिक, दार्शनिक, by Zoltán Gendler Szabó, in Dictionary of Modern American Philosophers, 1860–1960, ed.

नई!!: कैथोलिक धर्म और नोआम चाम्सकी · और देखें »

नीदरलैण्ड का इतिहास

राइन (Rhine) और म्यूज (Meuse) नदियों के मुहानों के इलाके जूलियस सीजर ने ५५ ई. पू.

नई!!: कैथोलिक धर्म और नीदरलैण्ड का इतिहास · और देखें »

परिसंघ (प्रशासन)

२००३ में सर्बिया और मोण्टेनेग्रो का परिसंघ बना लेकिन २००६ में मोण्टेनेग्रो (नीला रंग) के निकल जाने पर परिसंघ बिखर गया परिसंघ ऐसी राजनैतिक व्यवस्था को कहा जाता है जिसमें दो या उस से अधिक लगभग पूर्णतः स्वतन्त्र राष्ट्र समझौता कर लें के बाक़ी विश्व के साथ वे एक ही राष्ट्र की तरह सम्बन्ध रखेंगे। संघों की तुलना में परिसंघों के सदस्यों को अधिक स्वतंत्रता होती है। परिसंघों में कभी-कभी केवल नाम मात्र की केन्द्रीय सरकार होती है जिसके पास कोई असली शक्तियां नहीं होती। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और परिसंघ (प्रशासन) · और देखें »

पालमा गिरजाघर

पालमा गिरजाघर जिसे अंग्रेज़ी में Cathedral of Santa Maria of Palma या साधारणतः "ला सेउ" कहा जाता है (एक शीर्षक जो कई अन्य गिरजाघरों के द्वारा भी प्रयोग किया जाता है), एक गोथिक शैली में बनी रोमन कैथलिक गिरजाघर को कहते हैं जो पालमा दे मलोरका, मयोरका, स्पेन में मौजूद है। इसे उसी स्थान पर बनाया गया है जहाँ कभी अरबों ने एक मस्जिद बनाई थी। यह 121 मीटर लम्बा, 55 मीटर चौड़ा और इसके मीनार 44 मीटर लम्बे हैं। यह कातालान के गोथिक वास्तुकला शैली में बना है मगर इसमें कई और उत्तरी यूरोपी प्रभाव साफ़ छलकते हैं। इसका निर्माण आरागोन के जेम्स प्रथम द्वारा 1229 में शुरू हुआ था मगर इसे केवल 1601 में पूरा किया जा सका था। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और पालमा गिरजाघर · और देखें »

पियर ट्रूडो

जोसेफ फ़िलिप पियरे येव्स एलियट ट्रूडो, (अक्टूबर 18, 1919 – सितम्बर 28, 2000), को सामान्यत: पियरे ट्रूडो या पियरे एलियट ट्रूडो, अप्रैल २०, १९६८ से ४ जून १९७९ तक और फिर ३ मार्च १९८० से ३० जून १९८४ तक कनाडा के 15वें प्रधानमंत्री थे। टूडो ने अपने राजनीतिक जीवन की शुरुवात अधिवक्ता, बुद्धिजीवी और कार्यकर्ता के तौर पर क़्युबेक की राजनीति में शुरुवात की। १९६० में वो कनाडा की लिबरल पार्टी के जरिये राष्ट्रीय राजनीति में शामिल हुए। उन्हें लेस्टर बी.

नई!!: कैथोलिक धर्म और पियर ट्रूडो · और देखें »

पुरेपेचा लोग

पुरेपेचा (Purépecha या P'urhépecha), जिन्हें तारास्काई (Tarascan) भी कहते हैं, पश्चिमोत्तरी मेक्सिको के मिचोआकान राज्य की एक आदिवासी जनजाति है। उत्तर और मध्य अमेरिका में यूरोपीयों के आने से पहले मिचोआकान इलाक़े में मुख्यतः पुरेपेचा लोग ही रहते थे। आज भी इस राज्य में स्पेनी भाषा के अतिरिक्त लगभग 2 लाख लोग पारंपरिक पुरेपेचा भाषा बोलते-समझते हैं। इनके कुछ रीति-रिवाज भी जीवित हैं, मसलन हर साल फ़रवरी प्रथम को यह अपना 'जिम्बानी उएख़ुरीना' (Jimbani Uexurhina) नामक नववर्ष मानते हैं जिसमें इनकी पारंपरिक और कैथोलिक धर्म की प्रथाओं का मिश्रण होता है।, David Baird, Shane Christensen, Christine Delsol, Joy Hepp, pp.

नई!!: कैथोलिक धर्म और पुरेपेचा लोग · और देखें »

प्रशिया

अपने चरम पर प्रशा प्रशिया, प्रुशिया या प्रशा, (Preußen), उत्तरी यूरोप का एक जर्मन ऐतिहासिक राज्य था। प्रशिया, अपनी राजधानी कोइनिजबर्ग और 1701 से बर्लिन के साथ, जर्मनी के इतिहास को निर्णायक रूप से आकार दिया है। 18वीं और 19वीं शताब्दियों में यह राज्य अपने चरम पर था। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और प्रशिया · और देखें »

प्रोटेस्टैंट

प्रोटेस्टैंट ईसाई धर्म की एक शाखा है। इसका उदय सोलहवीं शताब्दी में प्रोटेस्टैंट सुधारवादी आन्दोलन के फलस्वरूप हुआ। यह धर्म रोमन कैथोलिक धर्म का घोर विरोधी है। इसकी प्रमुख मान्यता यह है कि धर्मशास्त्र (बाइबल) ही उद्घाटित सत्य (revealed truth.) का असली स्रोत है न कि परम्पराएं आदि। प्रोटेस्टैंट के विषय में यह प्राय: सुनने में आता है कि वह असंख्य संप्रदायों में विभक्त है किंतु वास्तव में समस्त प्रोटेस्टैंट के 94 प्रतिशत पाँच ही संप्रदायों में सम्मिलित हैं, अर्थात: लूथरन, कैलविनिस्ट, एंग्लिकन, बैप्टिस्ट और मेथोडिस्ट। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और प्रोटेस्टैंट · और देखें »

पैलेस ऑफ़ वेस्ट्मिन्स्टर

पैलेस ऑफ वेस्टमिन्स्टर, जिसका अर्थ है वेस्टमिंस्टर का महल और जिसे हाउस ऑफ पार्लियामेंट या वेस्टमिन्स्टर पैलेस के नाम से भी जाना जाता है, ब्रिटेन की संसद के दो सदनों का सभा स्थल है। इनमें से एक है ''हाउस ऑफ लॉर्ड्स'' और दूसरा है ''हाउस ऑफ कॉमन्स''। यह लंदन शहर के हृदय माने जाने वाले वेस्टमिन्स्टर शहर में थेम्स नदी के उत्तरी किनारे पर स्थित है। यह सरकारी भवन वाइटहॉल और डाउन स्ट्रीट तथा ऐतिहासिक स्थल वेस्टमिन्स्टर ऐबी के करीब है। यह नाम निम्न दो में से किसी एक संरचना को संदर्भित कर सकता है, द ओल्ड पैलेस, जो एक मध्यकालीन इमारत है जो कि 1834 में ही नष्ट हो गई थी और उसके स्थान पर बनने वाला न्यू पैलेस जो आज भी मौजूद है। लेकिन इसकी मूल शैली और शाही ठाठबाट पूर्ववत बनी हुई है। इस जगह पर पहला शाही महल ग्यारहवीं शताब्दी में बनाया गया था और 1512 में इस इमारत के नष्ट होने से पहले वेस्टमिन्स्टर ही लंदन के राजा का प्राथमिक लंदन निवास था। इसके बाद से ही यह संसद भवन के रूप में कार्य कर रहा है। 13 वीं शताब्दी से यहां संसद की सभाएं होती हैं और शाही न्याय पीठ एवं वेस्टमिन्स्टर हॉल भी यहीं पर है। पुनः पूरी भव्यता से बनाये गये इस संसद भवन में 1834 में भयानक आग लग गई। इस आग से जो इमारते बच गईं उनमें शामिल हैं वेस्टमिन्स्टर हॉल, द क्लॉइस्टर्स ऑफ सेंट स्टीफन्स, चैपल ऑफ सेंट मैरी अंडरक्राफ्ट और जूअल टॉवर.

नई!!: कैथोलिक धर्म और पैलेस ऑफ़ वेस्ट्मिन्स्टर · और देखें »

पूर्वी नुसा तेंगारा

पूर्वी नुसा तेंगारा (इंडोनेशियाई:Nusa Tenggara Timur; नुसा तेंगारा तैमूर) इंडोनेशिया का एक प्रांत है जो, छोटा सुन्दा द्वीप समूह के पूर्वी भाग में स्थित है और तिमोर द्वीप का पश्चिमी भाग, पश्चिमी तिमोर इसका एक हिस्सा है। प्रांत की राजधानी पश्चिमी तिमोर पर स्थित शहर कुपांग है। प्रांत का सबसे ऊँचा स्थल तिमोर तेंगाह सेलातन का मुटिस पर्वत है, जिसकी ऊँचाई समुद्र तल से 2427 मीटर है। प्रांत 550 द्वीपों से मिलकर बना है, लेकिन फ्लोरेस, सुंबा और पश्चिमी तिमोर (तिमोर द्वीप का पश्चिमी भाग) नामक तीन द्वीप ही प्रमुख हैं। अन्य द्वीपों में अदोनारा, अलोर, कोमोडो, लेम्बाटा, मेनिपो, रायजुआ, रिंकाह, रोटे द्वीप (इंडोनेशिया का सबसे दक्षिणी द्वीप), सावु, सेमाउ और सोलोर शामिल हैं। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और पूर्वी नुसा तेंगारा · और देखें »

पूर्वी समस्या

राजनय के इतिहास में पूर्वी समस्या या प्राच्य समस्या (Eastern Question) से आशय उस्मानी साम्राज्य के कमजोर होने पर यूरोप की महाशक्तियों के बीच उपजे रणनीतिक स्पर्धा एवं राजनैतिक स्थिति से है। १८वीं शताब्दी के अन्त से लेकर २०वीं शताब्दी के अन्त तक उस्मानी साम्राज्य राजनैतिक एवं आर्थिक अस्थिरता से जूझ रहा था। इसे 'यूरोप का रोगी' (sick man of Europe) कहते थे। 'पूर्वी समस्या' के अन्तर्गत एक-दूसरे से जुड़ी अनेकों समस्याएँ थीं, जैसे उस्मानी साम्राज्य की सैनिक पराजय, संस्थानों का दिवाला, उस्मानी साम्राज्य के राजनैतिक एवं आर्थिक आधुनीकरण का अभाव, प्रान्तों में सामाजिक-धार्मिक राष्ट्रीयता का उदय, तथा महाशक्तियों की आपसी प्रतिद्वन्द्विता। पूर्वी समस्या यूरोप के दक्षिण-पूर्वी भाग में स्थित तुर्की साम्राज्य की ईसाई जनता की आजादी की समस्या थी। वस्तुतः पतनोन्मुख तुर्की साम्राज्य ने यूरोप के इतिहास में 19वीं शताब्दी में जिस समस्या को जन्म दिया उसे पूर्वी समस्या कहते हैं। यह बहुत ही जटिल, उलझी हुई तथा विभिन्न देशों के परस्पर विरोधी हितों से सम्बन्धित थी। इस समस्या ने प्रथम युद्ध की पृष्ठभूमि का कार्य किया। इतिहासकार सी.डी.

नई!!: कैथोलिक धर्म और पूर्वी समस्या · और देखें »

पेनेलोपे क्रूज़

पेनेलोपे क्रूज़ सांचेज़ (अप्रैल 28, 1974 में जन्मीं), जिन्हें पेनेलोपे क्रूज़ के नाम से जाना जाता है, एक स्पैनिश अभिनेत्री हैं। उन्हें जैमों जैमों, द गर्ल ऑफ योर ड्रीम एवं ''बेल इपोक'' जैसी कई फ़िल्मों के लिए युवा अभिनेत्री के तौर पर काफी आलोचनात्मक सराहना मिली है। उन्होंने ''ब्लो'', वनिला स्काई, विक्की क्रिस्टीना बार्सेलोना एवं नाइन जैसी कई अमेरिकी फ़िल्मों में भी अभिनय किया है। वह संभवतः, प्रसिद्ध स्पैनिश निर्देशक पेड्रो अल्मोडोवर द्वारा बनाई गयी फ़िल्में ब्रोकेन एम्ब्रेसेज़, वॉलवर एवं ऑल अबाउट माई मदर आदि में अपने अभिनय के लिए सबसे अधिक जानी जाती हैं। क्रूज़ को तीन गोया, दो यूरोपीय फ़िल्म अवॉर्ड तथा कान फ़िल्म समारोह में सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री के अवॉर्ड से सम्मानित किया गया है। 2009 में, उन्होंने विक्की क्रिस्टीना बार्सेलोना में अपनी भूमिका के लिए सर्वश्रेष्ठ सह-अभिनेत्री का एक अकादमी पुरस्कार, एक गोया तथा एक बीएएफटीए (BAFTA) पुरस्कार जीता.

नई!!: कैथोलिक धर्म और पेनेलोपे क्रूज़ · और देखें »

पॉल न्युमैन

पॉल लियोनार्ड न्युमैन (26 जनवरी 1925 - 26 सितंबर 2008) एक अमेरिकी अभिनेता, फिल्म निर्देशक, उद्यमी, मानवतावादी और ऑटो रेसिंग के शौक़ीन व्यक्ति थे। उन्होंने कई पुरस्कार जीते, जिनमें 1986 की मार्टिन स्कौर्सेसे की फिल्म द कलर ऑफ मनी में उनके अभिनय के लिए दिया गया सर्वश्रेष्ठ अभिनेता का अकादमी पुरस्कार और आठ अन्य नामांकन, तीन गोल्डन ग्लोब पुरस्कार, एक बाफ्टा (BAFTA) पुरस्कार, एक स्क्रीन एक्टर्स गिल्ड पुरस्कार, एक कान फिल्म समारोह पुरस्कार, एक एमी पुरस्कार और कई मानद पुरस्कार शामिल थे। उन्होंने स्पोर्ट्स कार क्लब ऑफ अमेरिका की रोड रेसिंग में एक ड्राइवर के रूप में कई राष्ट्रीय चैंपियनशिप भी जीते और उनकी रेसिंग टीमों ने ओपन व्हील इंडीकार रेसिंग में कई प्रतियोगिताओं में जीत हासिल की। न्युमैन अपनी खुद की एक फ़ूड कंपनी के सह-संस्थापक भी थे, जहां से उन्होंने अपने समस्त कर पश्चात लाभ एवं रॉयल्टी चैरिटी को दान कर दिया। Newman's Own.com.

नई!!: कैथोलिक धर्म और पॉल न्युमैन · और देखें »

पोप

बेनेडिक्ट सोलहवें - २६५वें तथा वर्तमान पोप रोमन कैथोलिक चर्च के सर्वोच्च धर्म गुरु, रोम के बिशप एवं वैटिकन के राज्याध्यक्ष को पोप कहते हैं। 'पोप' का शाब्दिक अर्थ 'पिता' होता है। यह लैटिन के "पापा" (papa) से व्युत्पन्न हा है जो स्वयं ग्रीक के पापास् (πάπας, pápas) से व्युत्पन्न है। इस समय (फरवरी, २००९) बेनेडिक्ट सोलहवें (Benedict XVI) इस पद पर आसीन हैं जिन्हें १९ अप्रैल २००५ को चुना गया था। वे २६५वें पोप हैं। रोमन काथलिक चर्च के परमाधिकारी को संत पापा (पिता) 'होली फादर' अथवा पोप कहते हैं। ईसा से अपने महाशिरूय संत पीटर को अपने चर्च का आधार तथा प्रधान 'चरवाहा' नियुक्त किया था और उनको यह भी सुस्पष्ट आश्वासन दिया था कि उनपर आधारित चर्च शताब्दियों तक बना रहेगा। अत: ईसा के विधान से संत पीटर का देहांत रोम में हुआ था, इसलिये प्रारंभ ही से संत पीटर के उत्तराधिकारी होने के कारण रोम के बिशप समूचे चर्च के अध्यक्ष तथा पृथ्वी पर ईसा के प्रतिनिधि माने गए थे। इतिहास इसका साक्षी है कि रोम के बिशप के अतिरिक्त किसी ने कभी संत पीटर का उत्तराधिकारी होने का दावा नहीं किया। किंतु प्राच्य चर्च के अलग होते जाने से तथा प्रोटेस्टैंट धर्म के उद्भव से पोप के अधिकारी के विषय में शताब्दियों तक वाद विवाद होता रहा, अंततोगत्वा वैटिकन की प्रथम अधिकार रखते हैं। वे ईसा की शिक्षा के सर्वोच्च व्याख्याता हैं और चर्च के परमाधिकारी की हैसियत से धर्मशिक्षा की व्याख्या करते समय भ्रमातीत अर्थात्‌ अचूक हैं। पोप वैटिकन राज्य के अध्यक्ष हैं तथा उनके देहांत पर कार्डिनल उनके उत्तराधिकारी को चुनते हैं .

नई!!: कैथोलिक धर्म और पोप · और देखें »

पोप फ़्रांसिस

फ्रांसिस (Franciscus; जन्म: जॉर्ज मारियो बार्गोग्लियो; १७ दिसम्बर १९३६, ब्यूनस आयर्स) कैथोलिक समुदाय के २६६वें पोप चुने गये हैं। पोप फ्रांसिस प्रथम को १३ मर्च २०१३ को पोंटिफ़ के रूप में चुना गया। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और पोप फ़्रांसिस · और देखें »

पोप बेनेडिक्ट XVI

योज़ेफ़ रात्सिंगर:पोप बेनेडिक्ट XVI left पोप बेनेडिक्ट XVI जिनका असली नाम युसॅफ़ आलिओस रात्सिंगर है, कैथोलिक समुदाय के 265वें पोप चुने गये हैं। 16 अप्रैल 1927 को जर्मनी में जन्मे पोप बेनेडिक्ट को 24 अप्रैल 2005 को पोंटिफ़ के रूप में चुना जाएगा। पिछले 275 सालों में चुने गए ये पोप सबसे उम्रदार हैं, इस समय बेनेडिक्ट की उम्र 80 वर्ष है। श्रेणी:व्यक्तिगत जीवन श्रेणी:पोप.

नई!!: कैथोलिक धर्म और पोप बेनेडिक्ट XVI · और देखें »

पोप कॅलिक्स्टस तृतीय

पोप कॅलिक्स्टस तृतीय या कॅलिक्स्टस तृतीय (Pope Callixtus III; 31 दिसम्बर 1378 – 6 अगस्त 1458) 8 अप्रैल 1455 से 1458 में अपनी मृत्यु तक पोप थे, जो कि रोमन कैथोलिक गिरजाघर के राजाध्यक्ष होता है। ये ऐसे अंतिम पोप थे जिन्होंने चुनाव के पश्चात 'कॅलिक्स्टस' नाम ग्रहण किया। चुनाव से पूर्व इनका नाम अल्फोंस डी बोर्हा था। पश्चिमी मतभेद के दौरान कॅलिक्स्टस ने प्रतिपोप बेनेडिक्ट तृतीय का समर्थन किया था और 1429 में प्रतिपोप क्लेमेंट अष्टम को पोप मार्टिन पंचम के आधीन करने में ये प्रेरक शक्ति थे। अपने कैरियर की शुरुआती इन्होंने येइडा विश्विद्यालय में कानून के प्राध्यापक के रूप में गुजरा। इसके पश्चात ये आरागोन के महाराज की सेवा में राजनयिक बन गए। पोप यूजीन चतुर्थ की आरागोन के महाराज अल्फोंसो पंचम के साथ संधि कराने के पश्चात ये कार्डिनल बने व 1455 के पापल सम्मेलन में पोप चुने गए। धार्मिक रूप से ये बहुत कट्टर थे। पोप के पद पर रहते हुए इन्होंने कई विवादित व नवीन आदेश जारी किए थे, जिनमें से अफ्रीकियो और काफ़िरो को गुलाम बनाने का बुल जारी करना व दोपहर को गिरजाघर के घंटे बजाना कुछ प्रमुख हैं। कैथोलिक गिरजाघर की गतिविधियों में इन्होंने अपने परिवार के सदस्यों को काफ़ी समर्थन किया व उन्हें लाभ भी पहुँचाया और शायद इन्ही की वजह से इनके एक भतीजे आगे चल कर पोप अलेक्जेंडर छठे बने। जोन ऑफ़ आर्क की मृत्यु के 24 साल बाद एक मुकदमे के पश्चात कॅलिक्स्टस ने उन्हें निर्दोष घोषित किया था। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और पोप कॅलिक्स्टस तृतीय · और देखें »

पीटर ग्रूनबर्ग

पीटर एंड्रियास ग्रूनबर्ग (जन्म: १८ मई १९३९) एक जर्मन भौतिक विज्ञानी हैं। उन्हें भौतिक विज्ञान के क्षेत्र में २००७ में अल्बर्ट फर्ट के साथ नोबेल पुरस्कार से सम्मानित किया गया। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और पीटर ग्रूनबर्ग · और देखें »

पीसा की मीनार

इटली में ‘लीनिंग टावर ऑफ़ पीसा’ को वास्तुशिल्प का अदभुत नमूना माना जाता है| अपने निर्माण के बाद से ही मीनार लगातार नीचे की ओर झुकती रही है और इसी झुकने की वजह से वह दुनिया भर में भी मशहूर रही है| इस वजह से ख़तरा बना हुआ था कि ये एक दिन गिर जाएगी| .

नई!!: कैथोलिक धर्म और पीसा की मीनार · और देखें »

फ़िलीपीन्स

फिलीपींस के प्रमुख नगर फ़िलीपीन्स दक्षिण-पूर्व एशिया में स्थित एक देश है। इसका आधिकारिक नाम 'फिलीपीन्स गणतंत्र' है और राजधानी मनीला है। पश्चिमी प्रशांत महासागर में स्थित ७१०७ द्वीपों से मिलकर यह देश बना है। फिलीपीन द्वीप-समूह पूर्व में फिलीपीन्स महासागर से, पश्चिम में दक्षिण चीन सागर से और दक्षिण में सेलेबस सागर से घिरा हुआ है। इस द्वीप-समूह से दक्षिण पश्चिम में देश बोर्नियो द्वीप के करीबन सौ किलोमीटर की दूरी पर बोर्नियो द्वीप और सीधे उत्तर की ओर ताइवान है। फिलीपींस महासागर के पूर्वी हिस्से पर पलाऊ है। पूर्वी एशिया में दक्षिण कोरिया और पूर्वी तिमोर के बाद फिलीपीन्स ही ऐसा देश है, जहां ज्यादातर लोग बौद्ध धर्म के अनुयायी हैं। ९ करोड़ से अधिक की आबादी वाला यह विश्व की 12 वीं सबसे अधिक जनसंख्या वाला देश है। यह देश स्पेन (१५२१ - १८९८) और संयुक्त राज्य अमरीका (१८९८ - १९४६) का उपनिवेश रहा और फिलीपीन्स एशिया में दूसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था है। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और फ़िलीपीन्स · और देखें »

फ़्रान्स

फ़्रान्स,या फ्रांस (आधिकारिक तौर पर फ़्रान्स गणराज्य; फ़्रान्सीसी: République française) पश्चिम यूरोप में स्थित एक देश है किन्तु इसका कुछ भूभाग संसार के अन्य भागों में भी हैं। पेरिस इसकी राजधानी है। यह यूरोपीय संघ का सदस्य है। क्षेत्रफल की दृष्टि से यह यूरोप महाद्वीप का सबसे बड़ा देश है, जो उत्तर में बेल्जियम, लक्ज़मबर्ग, पूर्व में जर्मनी, स्विट्ज़रलैण्ड, इटली, दक्षिण-पश्चिम में स्पेन, पश्चिम में अटलांटिक महासागर, दक्षिण में भूमध्यसागर तथा उत्तर पश्चिम में इंग्लिश चैनल द्वारा घिरा है। इस प्रकार यह तीन ओर सागरों से घिरा है। सुरक्षा की दृष्टि से इसकी स्थिति उत्तम नहीं है। लौह युग के दौरान, अभी के महानगरीय फ्रांस को कैटलिक से आये गॉल्स ने अपना निवास स्थान बनाया। रोम ने 51 ईसा पूर्व में इस क्षेत्र पर कब्जा कर लिया गया। फ्रांस, गत मध्य युग में सौ वर्ष के युद्ध (1337 से 1453) में अपनी जीत के साथ राज्य निर्माण और राजनीतिक केंद्रीकरण को मजबूत करने के बाद एक प्रमुख यूरोपीय शक्ति के रूप में उभरा। पुनर्जागरण के दौरान, फ्रांसीसी संस्कृति विकसित हुई और एक वैश्विक औपनिवेशिक साम्राज्य स्थापित हुआ, जो 20 वीं सदी तक दुनिया की दूसरी सबसे बड़ी थी। 16 वीं शताब्दी में यहाँ कैथोलिक और प्रोटेस्टैंट (ह्यूजेनॉट्स) के बीच धार्मिक नागरिक युद्धों का वर्चस्व रहा। फ्रांस, लुई चौदहवें के शासन में यूरोप की प्रमुख सांस्कृतिक, राजनीतिक और सैन्य शक्ति बन कर उभरा। 18 वीं शताब्दी के अंत में, फ्रेंच क्रांति ने पूर्ण राजशाही को उखाड़ दिया, और आधुनिक इतिहास के सबसे पुराने गणराज्यों में से एक को स्थापित किया, साथ ही मानव और नागरिकों के अधिकारों की घोषणा के प्रारूप का मसौदा तैयार किया, जोकि आज तक राष्ट्र के आदर्शों को व्यक्त करता है। 19वीं शताब्दी में नेपोलियन ने वहाँ की सत्ता हथियाँ कर पहले फ्रांसीसी साम्राज्य की स्थापना की, इसके बाद के नेपोलियन युद्धों ने ही वर्तमान यूरोप महाद्वीपीय के स्वरुप को आकार दिया। साम्राज्य के पतन के बाद, फ्रांस में 1870 में तृतीय फ्रांसीसी गणतंत्र की स्थापना हुई, हलाकि आने वाली सभी सरकार लचर अवस्था में ही रही। फ्रांस प्रथम विश्व युद्ध में एक प्रमुख भागीदार था, जहां वह विजयी हुआ, और द्वितीय विश्व युद्ध में मित्र राष्ट्र में से एक था, लेकिन 1940 में धुरी शक्तियों के कब्जे में आ गया। 1944 में अपनी मुक्ति के बाद, चौथे फ्रांसीसी गणतंत्र की स्थापना हुई जिसे बाद में अल्जीरिया युद्ध के दौरान पुनः भंग कर दिया गया। पांचवां फ्रांसीसी गणतंत्र, चार्ल्स डी गॉल के नेतृत्व में, 1958 में बनाई गई और आज भी यह कार्यरत है। अल्जीरिया और लगभग सभी अन्य उपनिवेश 1960 के दशक में स्वतंत्र हो गए पर फ्रांस के साथ इसके घनिष्ठ आर्थिक और सैन्य संबंध आज भी कायम हैं। फ्रांस लंबे समय से कला, विज्ञान और दर्शन का एक वैश्विक केंद्र रहा है। यहाँ पर यूरोप की चौथी सबसे ज्यादा सांस्कृतिक यूनेस्को विश्व धरोहर स्थल मौजूद है, और दुनिया में सबसे अधिक, सालाना लगभग 83 मिलियन विदेशी पर्यटकों की मेजबानी करता है। फ्रांस एक विकसित देश है जोकि जीडीपी में दुनिया की छठी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था तथा क्रय शक्ति समता में नौवीं सबसे बड़ा है। कुल घरेलू संपदा के संदर्भ में, यह दुनिया में चौथे स्थान पर है। फ्रांस का शिक्षा, स्वास्थ्य देखभाल, जीवन प्रत्याशा और मानव विकास की अंतरराष्ट्रीय रैंकिंग में अच्छा प्रदर्शन है। फ्रांस, विश्व की महाशक्तियों में से एक है, वीटो का अधिकार और एक आधिकारिक परमाणु हथियार संपन्न देश के साथ ही यह संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के पांच स्थायी सदस्यों में से एक है। यह यूरोपीय संघ और यूरोजोन का एक प्रमुख सदस्यीय राज्य है। यह समूह-8, उत्तरी अटलांटिक संधि संगठन (नाटो), आर्थिक सहयोग और विकास संगठन (ओईसीडी), विश्व व्यापार संगठन (डब्ल्यूटीओ) और ला फ्रैंकोफ़ोनी का भी सदस्य है। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और फ़्रान्स · और देखें »

फ़्लोरिडा

फ्लोरिडा संयुक्त राज्य के दक्षिणपूर्वी क्षेत्र में स्थित एक राज्य है, जिसके उत्तर-पश्चिमी सीमा पर अलाबामा और उत्तरी सीमा पर जॉर्जिया स्थित है।संयुक्त राज्य में शामिल होने वाला यह 27वां राज्य था। इस राज्य के भूस्थल का अधिकांश भाग एक बड़ा प्रायद्वीप है जिसके पश्चिम में मैक्सिको की खाड़ी और पूर्व में अटलांटिक महासागर है। साधारणतया इसकी गर्म जलवायु की वजह से इसे "सनशाइन स्टेट" के रूप में उपनामित किया गया है। इसके उत्तरी और मध्य क्षेत्रों में उपोष्णकटिबंधीय एवं दक्षिणी भाग में उष्णकटिबंधीय जलवायु पाई जाती है। इस राज्य में चार बड़े शहरी क्षेत्र, कई छोटे-छोटे औद्योगिक नगर और बहुत से छोटे कस्बें हैं।संयुक्त राज्य के जनगणना विभाग (यूनाइटेड स्टेट्स सेंसस ब्यूरो) का अनुमान है कि 2008 में इस राज्य की जनसंख्या 18,328,340 थी और फ्लोरिडा, U.S. के चौथे सर्वाधिक आबादी वाले राज्य के रूप में श्रेणीत था। टलहसी, इस राज्य की राजधानी और मियामी सबसे बड़ा महानगरीय क्षेत्र है। फ्लोरिडा के निवासियों को सटीक तौर पर "फ्लोरिडियन्स" के रूप में जाना जाता है। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और फ़्लोरिडा · और देखें »

फिदेल कास्त्रो

फिदेल ऐलेजैंड्रो कास्त्रो रूज़ (जन्म: 13 अगस्त 1926 - मृत्यु: 25 नवंबर 2016) क्यूबा के एक राजनीतिज्ञ और क्यूबा की क्रांति के प्राथमिक नेताओं में से एक थे, जो फ़रवरी 1959 से दिसम्बर 1976 तक क्यूबा के प्रधानमंत्री और फिर क्यूबा की राज्य परिषद के अध्यक्ष (राष्ट्रपति) रहे, उन्होंने फरवरी 2008 में अपने पद से इस्तीफा दिया। फ़िलहाल वे क्यूबा की कम्युनिस्ट पार्टी के प्रथम सचिव थे। 25 नवंबर 2016 को उनका निधन हो गया। वे एक अमीर परिवार में पैदा हुए और कानून की डिग्री प्राप्त की। जबकि हवाना विश्वविद्यालय में अध्ययन करते हुए उन्होंने अपने राजनीतिक जीवन की शुरूआत की और क्यूबा की राजनीति में एक मान्यता प्राप्त व्यक्ति बन गए। उनका राजनीतिक जीवन फुल्गेंकियो बतिस्ता शासन और संयुक्त राज्य अमेरिका का क्यूबा के राष्ट्रहित में राजनीतिक और कारपोरेट कंपनियों के प्रभाव के आलोचक रहा है। उन्हें एक उत्साही, लेकिन सीमित, समर्थक मिले और उन्होंने अधिकारियों का ध्यान आकर्षित किया। उन्होंने मोंकाडा बैरकों पर 1953 में असफल हमले का नेतृत्व किया जिसके बाद वे गिरफ्तार हो गए, उन पर मुकदमा चला, वे जेल में रहे और बाद में रिहा कर दिए गए। इसके बाद बतिस्ता के क्यूबा पर हमले के लिए लोगों को संगठित और प्रशिक्षित करने के लिए वे मैक्सिको के लिए रवाना हुए.

नई!!: कैथोलिक धर्म और फिदेल कास्त्रो · और देखें »

फिदेल कास्त्रो के धार्मिक विचार

फिदेल कास्त्रो के धार्मिक विचार सार्वजनिक चर्चा का विषय बने हुए हैं। वॉशिंगटन पोस्ट के अनुसार, क्यूबा के पूर्व राष्ट्रपति फिदेल कास्त्रो के कारावास से भेजे गए पत्र यह दिखाते हैं कि वह एक अद्भुत आध्यात्मिक चिन्तन वाले पुरुष थे और भगवान में सच्ची आस्था रखते थे। कास्त्रो ने एक दिवंगत कॉमरेड को श्रद्धाँजलि देते हुए कहते है: ""मैं उसके बारे में एक अनुपस्थित व्यक्ति के रूप में कुछ नहीं कह सकता क्योंकि ऐसा कभी हुआ ही नहीं। ये केवल तसल्ली के शब्द नहीं। हम में से सिर्फ़ वही इस बात को सच्चे तौर पर और स्थाई रूप से अपनी अत्मा की गहराई में उतरने वाला ही महसूस कर सकता है। शारिरिक जीवन अल्पकालिक है जो तेज़ी से गुज़र जाता है.

नई!!: कैथोलिक धर्म और फिदेल कास्त्रो के धार्मिक विचार · और देखें »

फ्रांस की द्वितीय क्रांति (१८३०)

सन १८३० की फ्रांसीसी क्रान्ति के परिणामस्वरूप वहाँ के राजा चार्ल्स दशम को पदच्युत कर दिया गया और उसका चचेरा भाई लुई फिलिप गद्दी पर बैठा। इस क्रांति का प्रभाव यूरोप के अन्य राज्यों पर भी पड़ा और यूरोप का राजनैतिक वातावरण पुनः क्रांतिकारी हो गया। बेल्जियम, जर्मनी, इटली और पौलैण्ड आदि देशों में क्रांतियों भड़क उठीं। १८ वर्ष बाद १८४८ में लुई फिलिप भी गद्दी से हटा दिया गया। इसे 'जुलाई क्रान्ति' भी कहते हैं। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और फ्रांस की द्वितीय क्रांति (१८३०) · और देखें »

बपतिस्मा

ईसाईयत में, बपतिस्मा (ग्रीक शब्द βαπτίζω baptizo से: "डुबोना", "प्रक्षालन करना", अर्थात् "धार्मिक स्नान") जल के प्रयोग के साथ किया जाने वाला एक धार्मिक कृत्य है, जिसके द्वारा किसी व्यक्ति को चर्च की सदस्यता प्रदान की जाती है। स्वयं ईसा मसीह का बपतिस्मा किया गया था। प्रारंभिक ईसाईयों में उम्मीदवार (अथवा "बपतिस्माधारी (Baptizand)") को पूरी तरह या आंशिक रूप से डुबोना बपतिस्मा का सामान्य रूप था। हालांकि बपतिस्मा-दाता जॉन (John the Baptist) द्वारा अपने बपतिस्मा के लिये एक गहरी नदी का प्रयोग निमज्जन का सुझाव दिया गया है, लेकिन ईसाई बपतिस्मा के संबंध में तीसरी शताब्दी और उसके बाद के चित्रात्मक तथा पुरातात्विक प्रमाण यह सूचित करते हैं कि सामान्य रूप से उम्मीदवार को पानी में खड़ा रखा जाता था और उसके शरीर के ऊपरी भाग पर जल छिड़का जाता था। बपतिस्मा के अब प्रयोग किये जाने वाले अन्य सामान्य रूपों में माथे पर तीन बार जल छिड़कना शामिल है। सोलहवीं सदी में हल्द्रिच ज़्विंगली (Huldrych Zwingli) द्वारा इसकी आवश्यकता को नकारे जाने तक बपतिस्मा को मोक्ष-प्राप्ति के लिये कुछ हद तक आवश्यक समझा जाता था। चर्च के प्रारंभिक इतिहास में शहादत को "खून से बपतिस्मा" के रूप में पहचाना जाता था, ताकि जिन शहीदों का बपतिस्मा जल के द्वारा न किया गया हो, उन्हें बचाया जा सके.

नई!!: कैथोलिक धर्म और बपतिस्मा · और देखें »

बर्तोल्त ब्रेख्त

बर्तोल्त ब्रेख्त बीसवीं सदी के एक प्रसिद्ध जर्मन कवि, नाटककार और नाट्य निर्देशक थे। द्वितीय विश्व-युद्ध के बाद ब्रेख्त ने अपनी पत्नी हेलेन विगेल के साथ मिलकर बर्लिन एन्सेंबल नाम से एक नाट्य मंडली का गठन किया और यूरोप के विभिन्न देशों में अपने नाटकों का प्रदर्शन किया। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और बर्तोल्त ब्रेख्त · और देखें »

बादाखोस बड़ा गिरजाघर

बादाखोस बड़ा गिरजाघर (Catedral metropolitana de San Juan Bautista de Badajoz) बादाखोस, ऐक्स्त्रेमादुरा, पक्ष्मी स्पेन में स्थित एक बड़ा गिरजाघर है। 1994 से यह मेरिदा के संत मेरी मेखोर बड़े गिरजाघर के साथ साँझा गिरजाघर। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और बादाखोस बड़ा गिरजाघर · और देखें »

बायज़ीद द्वितीय

बायज़ीद द्वितीय (3 दिसम्बर 1447 – 26 मई 1512) (उस्मानी तुर्कीयाई: بايزيد ثانى बायज़ीद-इ सानी, तुर्कीयाई: II. Bayezid या II. Beyazıt) महमद द्वितीय के ज्येष्ठ पुत्र तथा उनके उत्तराधिकारी थे। वे 1481 से 1512 तक उस्मानिया के सुल्तान रहे। इनके शासनकाल के दौरान, बायज़ीद द्वितीय ने साम्राज्य को संयुक्त व सशक्त बनाया और साथ-ही-साथ उन्होंने सफ़वी राजवंश की तरफ़ से एक विद्रोह को ख़त्म कर दिया था। जब यूरोप के कैथोलिक राजाओं ने संपूर्ण यूरोप और ख़ास करके स्पेन से सभी सेपहार्दी यहूदियों को निकालने की घोषणा, अलहम्बरा फ़रमान, जारी किया, बायज़ीद द्वितीय ने इन यहूदियों को सहायता दिया और उन्होंने उस्मानिया साम्राज्य के इलाक़ों में इनके घर पुनः बसाने की योजना बनाई। अतः बायज़ीद द्वितीय यूरोपीय यहूदियों को बचाने के लिए उल्लेखनीय हैं। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और बायज़ीद द्वितीय · और देखें »

बार्सिलोना गिरजाघर

बार्सिलोना गिरजाघर (कैटलन भाषा: Catedral de la Santa Creu i Santa Eulàlia, स्पैनिश: Catedral de la Santa Cruz y Santa Eulalia) स्पेन दे बार्सिलोना शहर में स्थित एक गिरजाघर है। ये गोथिक शैली में बना हुआ है। ये आर्कबिशप की सीट है। इसे 13वीं से 15वीं सदी के दौरान बनाया गया। लेकिन इसका मुख्य काम 14वीं सदी में हुआ था। इसका मठ 1448ई.

नई!!: कैथोलिक धर्म और बार्सिलोना गिरजाघर · और देखें »

बिस्मार्क

250px ओटो एडुअर्ड लिओपोल्ड बिस्मार्क (1 अप्रैल 1815 - 30 जुलाई 1898), जर्मन साम्राज्य का प्रथम चांसलर तथा तत्कालीन यूरोप का प्रभावी राजनेता था। वह 'ओटो फॉन बिस्मार्क' के नाम से अधिक प्रसिद्ध है। उसने अनेक जर्मनभाषी राज्यों का एकीकरण करके शक्तिशाली जर्मन साम्राज्य स्थापित किया। वह द्वितीय जर्मन साम्राज्य का प्रथम चांसलर बना। वह "रीअलपालिटिक" की नीति के लिये प्रसिद्ध है जिसके कारण उसे "लौह चांसलर" के उपनाम से जाना जाता है। वह अपने युग का बहुत बड़ा कूटनीतिज्ञ था। अपने कूटनीतिक सन्धियों के तहत फ्रांस को मित्रविहीन कर जर्मनी को यूरोप की सर्वप्रमुख शक्ति बना दिया। बिस्मार्क ने एक नवीन वैदेशिक नीति का सूत्रपात किया जिसके तहत शान्तिकाल में युद्ध को रोकने और शान्ति को बनाए रखने के लिए गुटों का निर्माण किया। उसकी इस 'सन्धि प्रणाली' ने समस्त यूरोप को दो गुटों में बांट दिया। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और बिस्मार्क · और देखें »

बिग बैंग सिद्धांत

महाविस्फोट प्रतिरूप के अनुसार, यह ब्रह्मांड अति सघन और ऊष्म अवस्था से विस्तृत हुआ है और अब तक इसका विस्तार चालू है। एक सामान्य धारणा के अनुसार अंतरिक्ष स्वयं भी अपनी आकाशगंगाओं सहित विस्तृत होता जा रहा है। ऊपर दर्शित चित्र ब्रह्माण्ड के एक सपाट भाग के विस्तार का कलात्मक दृश्य है। ब्रह्मांड का जन्म एक महाविस्फोट के परिणामस्वरूप हुआ। इसी को महाविस्फोट सिद्धान्त या बिग बैंग सिद्धान्त कहते हैं।।अमर उजाला।। श्य़ामरत्न पाठक, तारा भौतिकविद, जिसके अनुसार से लगभग बारह से चौदह अरब वर्ष पूर्व संपूर्ण ब्रह्मांड एक परमाण्विक इकाई के रूप में था।।बीबीसी हिन्दी।। बीबीसी संवाददाता, लंदन:ममता गुप्ता और महबूब ख़ान उस समय मानवीय समय और स्थान जैसी कोई अवधारणा अस्तित्व में नहीं थी।।हिन्दुस्तान लाइव।।२७ अक्टूबर, २००९ महाविस्फोट सिद्धांत के अनुसार लगभग १३.७ अरब वर्ष पूर्व इस धमाके में अत्यधिक ऊर्जा का उत्सजर्न हुआ। यह ऊर्जा इतनी अधिक थी जिसके प्रभाव से आज तक ब्रह्मांड फैलता ही जा रहा है। सारी भौतिक मान्यताएं इस एक ही घटना से परिभाषित होती हैं जिसे महाविस्फोट सिद्धांत कहा जाता है। महाविस्फोट नामक इस महाविस्फोट के धमाके के मात्र १.४३ सेकेंड अंतराल के बाद समय, अंतरिक्ष की वर्तमान मान्यताएं अस्तित्व में आ चुकी थीं। भौतिकी के नियम लागू होने लग गये थे। १.३४वें सेकेंड में ब्रह्मांड १०३० गुणा फैल चुका था और क्वार्क, लैप्टान और फोटोन का गर्म द्रव्य बन चुका था। १.४ सेकेंड पर क्वार्क मिलकर प्रोटॉन और न्यूट्रॉन बनाने लगे और ब्रह्मांड अब कुछ ठंडा हो चुका था। हाइड्रोजन, हीलियम आदि के अस्तित्त्व का आरंभ होने लगा था और अन्य भौतिक तत्व बनने लगे थे। महाविस्फोट सिद्धान्त के आरंभ का इतिहास आधुनिक भौतिकी में जॉर्ज लिमेत्री ने लिखा हुआ है। लिमेत्री एक रोमन कैथोलिक पादरी थे और साथ ही वैज्ञानिक भी। उनका यह सिद्धान्त अल्बर्ट आइंसटीन के प्रसिद्ध सामान्य सापेक्षवाद के सिद्धांत पर आधारित था। महाविस्फोट सिद्धांत दो मुख्य धारणाओं पर आधारित होता है। पहला भौतिक नियम और दूसरा ब्रह्माण्डीय सिद्धांत। ब्रह्माण्डीय सिद्वांत के मुताबिक ब्रह्मांड सजातीय और समदैशिक (आइसोट्रॉपिक) होता है। १९६४ में ब्रिटिश वैज्ञानिक पीटर हिग्गस ने महाविस्फोट के बाद एक सेकेंड के अरबें भाग में ब्रह्मांड के द्रव्यों को मिलने वाले भार का सिद्धांत प्रतिपादित किया था, जो भारतीय वैज्ञानिक सत्येन्द्र नाथ बोस के बोसोन सिद्धांत पर ही आधारित था। इसे बाद में 'हिग्गस-बोसोन' के नाम से जाना गया। इस सिद्धांत ने जहां ब्रह्मांड की उत्पत्ति के रहस्यों पर से पर्दा उठाया, वहीं उसके स्वरूप को परिभाषित करने में भी मदद की।। दैट्स हिन्दी॥।१० सितंबर, २००८। इंडो-एशियन न्यूज सर्विस। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और बिग बैंग सिद्धांत · और देखें »

बुर्गोस गिरजाघर

बुर्गोस गिरजाघर (स्पेनी: Catedral de Santa María) बुर्गोस, स्पेन में सथित एक गिरजाघर है। 8 अप्रैल 1885 को इसको बीएन दे इन्तेरेस कुल्तूराल (सांस्कृतिक एवं राष्ट्रीय स्मारक) घोषित किया गया। यह वर्जन मेरी को समर्पित है और इसके विशाल आकार और अनखी निर्माण कला के लिय मशहूर है। इसका निर्माण 1221 में शरू हुआ था और 9 साल बाद इसका गिरजाघर के तौर पर उपयोग होना शरू हो गया था। पर इसका निर्माण कर्य संपूर्ण रूप में 1567 में खत्म हुआ। मुख्य तौर पर यह फ़्रांसिसी गौथिक स्टाइल में बनाई गई थी चाहे 15वीं-16वीं सदी में इसमें पुनर-जागरण संबंधित किरतें भी शामिल की गई। 31 अक्टूबर 1984 को यूनेस्को द्वारा इसको विश्व विरासत स्थान घोषित किया गया। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और बुर्गोस गिरजाघर · और देखें »

ब्रह्मबान्धव उपाध्याय

ब्रह्मबान्धव उपाध्याय (बांग्ला: ব্রহ্মবান্ধব উপাধ্যায় ब्रॉह्मोबान्धॉब् उपाद्धैय) (1861-1907) बंगाली राष्ट्रवादी, धर्मसुधारक, पत्रकार, कैथोलिक सन्यासी। ईसाई एवं हिन्दू सम्वाद के प्रणेता एवं पूर्ण स्वराज का आह्वान करने वाले प्रारम्भिक नेताओं में से एक। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और ब्रह्मबान्धव उपाध्याय · और देखें »

ब्राज़ील

ब्रास़ील (ब्राज़ील) दक्षिण अमरीका का सबसे विशाल एवं महत्त्वपूर्ण देश है। यह देश ५० उत्तरी अक्षांश से ३३० दक्षिणी अक्षांश एवँ ३५० पश्चिमी देशान्तर से ७४० पश्चिमी देशान्तरों के मध्य विस्तृत है। दक्षिण अमरीका के मध्य से लेकर अटलांटिक महासागर तक फैले हुए इस संघीय गणराज्य की तट रेखा ७४९१ किलोमीटर की है। यहाँ की अमेज़न नदी, विश्व की सबसे बड़ी नदियों मे से एक है। इसका मुहाना (डेल्टा) क्षेत्र अत्यंत उष्ण तथा आर्द्र क्षेत्र है जो एक विषुवतीय प्रदेश है। इस क्षेत्र में जन्तुओं और वनस्पतियों की अतिविविध प्रजातियाँ वास करती हैं। ब्राज़ील का पठार विश्व के प्राचीनतम स्थलखण्ड का अंग है। अतः यहाँ पर विभिन्न भूवैज्ञानिक कालों में अनेक प्रकार के भूवैज्ञानिक संरचना सम्बंधी परिवर्तन दिखाई देते हैं। ब्राज़ील के अधिकांश पूर्वी तट एवं मध्य अमेरिका की खोज अमेरिगो वाससक्की ने की एवं इसी के नाम से नई दुनिया अमेरिका कहलाई। सन् १५०० के बाद यहाँ उपनिवेश बनने आरंभ हुए। यहाँ की अधिकांश पुर्तगाली बस्तियों का विकास १५५० से १६४० के मध्य हुआ। २४ जनवरी १९६४ को इसका नया संविधान बना। इसकी प्रमुख भाषा पुर्तगाली है। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और ब्राज़ील · और देखें »

ब्रिटिश राजतंत्र

ब्रिटिश एकराट्तंत्र अथवा ब्रिटिश राजतंत्र(British Monarchy, ब्रिटिश मोनार्की, ब्रिटिश उच्चारण:ब्रिठिश मॉंनाऱ्क़़ी), वृहत् ब्रिटेन और उत्तरी आयरलैंड की संयुक्त राजशाही की संवैधानिक राजतंत्र है। ब्रिटिश एकाधिदारुक को संयुक्त राजशाही समेत कुल १५ राष्ट्रमण्डल प्रदेशों, मुकुटिया निर्भर्ताओं और समुद्रपार प्रदेशों के राजमुकुटों सत्ताधारक एकराजीय संप्रभु होने का गौरव प्राप्त है। वर्तमान सत्ता-विद्यमान शासक, ६ फरवरी वर्ष १९५२ से महारानी एलिजाबेथ द्वितीय हैं जब उन्होंने अपने पिता जॉर्ज षष्ठम् से राजगद्दी उत्तराधिकृत की थी। संप्रभु और उसके तत्काल परिवार के सदस्य देश के विभिन्न आधिकारिक, औपचारिक और प्रतिनिधि कार्यों का निर्वाह करते हैं। सत्ताधारी रानी/राजा पर सैद्धांतिक रूप से एक संवैधानिक शासक के अधिकार निहित है, परंतु सदियों पुराने आम कानून के कारण संप्रभु अपने अधिकतर शक्तियों का अभ्यास केवल संसद और सरकार के विनिर्देशों के अनुसार ही कार्यान्वित करने के लिए बाध्य हैं। इस कारण से, इसे वास्तविक तौर पर एक संसदीय सम्राज्ञता मानी जाता है। संसदीय शासक होने के नाते, शासक के अधिकतर अधिकार, निष्पक्ष तथा गैर-राजनैतिक कार्यों तक सीमित हैं। सम्राट, शासक और राष्ट्रप्रमुख होने के नाते उनके अधिकतर संवैधानिक शासन तथा राजनैतिक-शक्तियों का अभ्यय वे सरकार और अपने मंत्रियों की सलाह और विनिर्देशों पर ही करते हैं। परंपरानुसार शासक, ब्रिटेन के सशस्त्र बाल के अधिपति होते हैं। हालाँकि, संप्रभु के समस्त कार्य-अधिकारों का अभ्यय शासक के राज-परमाधिकार द्वारा होता है। वर्ष १००० के आसपास, इंग्लैंड और स्कॉटलैंड के राज्यों में कई छोटे प्रारंभिक मध्ययुगीन राज्य विकसित हुए थे। इस क्षेत्र में आंग्ल-सैक्सन लोगों का वर्चस्व इंग्लैंड पर नॉर्मन विजय के दौरान १०६६ में समाप्त हो गया, जब अंतिम आंग्ल-सैक्सन राजा हैरल्ड द्वितीय की मृतु हो गयी थी और अंग्रेज़ी सत्ता विजई सेना के नेता, विलियम द कॉंकरर और उनके वंशजों के हाथों में चली गयी। १३वीं सदी में इंग्लैंड ने वेल्स की रियासत को अवशोषित किया तथा मैग्ना कार्टा द्वारा संप्रभु के क्रमिक निःशक्तकरण की प्रक्रिया शुरू हुई। १६०३ में स्कॉटलैंड के राजा जेम्स चतुर्थ, अंग्रेजी सिंहासन पर जेम्स प्रथम के नाम से विराजमान होकर जो दोनों राज्यों को एक व्यक्तिगत संघ की स्थिति में ला खड़ा किया। १६४९ से १६६० के लिए अंग्रेज़ी राष्ट्रमंडल के नाम से एक क्षणिक गणतांत्रिक काल चला, जो तीन राज्यों के युद्ध के बाद अस्तिव में आया, परंतु १६६० के बाद राजशाही को पुनर्स्थापित कर दिया गया। १७०७ में परवर्तित एक्ट ऑफ़ सेटलमेंट, १७०१, जो आज भी परवर्तित है, कॅथॉलिक व्यक्तियों तथा कैथोलिक व्यक्ति संग विवाहित व्यक्तियों को अंग्रज़ी राजसत्ता पर काबिज़ होने से निष्कर्षित करता है। १७०७ में अंग्रेज़ी और स्कॉटियाई राजशाहियों के विलय से ग्रेट ब्रिटेन राजशही की साथपना हुई और इसी के साथ अंग्रज़ी और स्कोटिश मुकुटों का भी विलय हो गया और संयुक्त "ब्रिटिश एकराट्तंत्र" स्थापित हुई। आयरिश राजशही ने १८०१ में ग्रेट ब्रिटेन राजशाही के साथ जुड़ कर ग्रेट ब्रिटेन और आयरलैंड की संयुक्त राजशाही की स्थापना की। ब्रिटिश एकराट्, विशाल ब्रिटिश साम्राज्य के नाममात्र प्रमुख थे, जो १९२१ में अपने वृहत्तम् विस्तार के समय विष के चौथाई भू-भाग पर राज करता था। १९२२ में आयरलैंड का पाँच-छ्याई हिस्सा आयरिश मुक्त राज्य के नाम से, संघ से बहार निकल गया। बॅल्फोर घोषणा, १९२६ ने ब्रिटिश डोमिनिओनों के औपनिवेशिक पद से राष्ट्रमंडल के भीतर ही विभक्त, स्वशासित, सार्वभौमिक देशों के रूप में परिवर्तन को मान्य करार दिया। द्वितीय विश्व युद्ध के बाद ब्रिटिश साम्राज्य सिमटता गया, और ब्रिटिश साम्राज्य के अधिकतर पूर्व उपनिवेश व प्रदेश स्वतंत्र हो गए। जो पूर्व उपनिवेश, ब्रिटिश शासक को अपना शासक मानते है, उन देशों को ब्रिटिश राष्ट्रमण्डल प्रमंडल या राष्ट्रमण्डल प्रदेश कहा जाता है। इन अनेक राष्ट्रों के चिन्हात्मक समानांतर प्रमुख होने के नाते, ब्रिटिश एकराट् स्वयं को राष्ट्रमण्डल के प्रमुख के ख़िताब से भी नवाज़ते हैं। हालांकि की शासक को ब्रिटिश शासक के नाम से ही संबोधित किया जाता है, परंतु सैद्धान्तिक तौर पर सारे राष्ट्रों का संप्रभु पर सामान अधिकार है, तथा राष्ट्रमण्डल के तमाम देश एक-दुसरे से पूर्णतः स्वतंत्र और स्वायत्त हैं। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और ब्रिटिश राजतंत्र · और देखें »

ब्रैडली कूपर

ब्रैडली चार्ल्स कूपर (जन्म 5 जनवरी, 1975) एक अमेरिकी फिल्म अभिनेता है। वह तीन साल तक दुनिया के सबसे अधिक भुगतान किये जाने वाले अभिनेता रहें, और चार अकादमी पुरस्कार, दो बाफ्टा पुरस्कार, और दो गोल्डन ग्लोब पुरस्कार समैत कई विभिन्न पुरस्कारों के लिये नामित किये जा चुके है। कूपर "फ़ोर्ब्स की वार्षिक सेलिब्रिटी 100" पर दो बार और 2015 के "दुनिया के 100 सबसे प्रभावशाली लोगों" के टाईम्स सूची में शामिल हो चुके है। 2000 में कूपर ने न्यूयॉर्क शहर में स्थित अभिनेता स्टूडियो के कला स्नातकोत्तर कार्यक्रम में दाखिला ले लिया। कूपर ने अपने अभिनय की शुरूआत 1999 में एक टेलीविजन श्रृंखला सेक्स और शहर में एक अतिथि भूमिका के साथ की और उनकी फिल्म कैरियर की शुरुआत दो साल बाद वेट हॉट अमेरिकन समर से हुई। उन्हें पहली बार पहचान एक जासूसी-एक्सन टीवी शो एलियश (2001-2006), और थोडी सफलता कॉमेडी फिल्म शादी क्रैशर (2005) से मिली, जिसमें उन्होने एक सहायक अभिनेता का किरदार निभाया था। कूपर को पहली सफलता 2009 में हैंगओवर, फिल्म से मिली। जिसके दो और संस्करण 2011 और 2013 में आये। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और ब्रैडली कूपर · और देखें »

ब्रूस ली

ब्रूस ली (जून फान,李振藩,李小龙; पिनयिन: Lǐ Zhènfān, Lǐ Xiăolóng; 27 नवंबर, 1940 - 20 जुलाई, 1973) अमेरिका में जन्मे, चीनी हांगकांग अभिनेता, मार्शल कलाकार, दार्शनिक, फ़िल्म निर्देशक, पटकथा लेखक, विंग चुन के अभ्यासकर्ता और जीत कुन डो अवधारणा के संस्थापक थे। कई लोग उन्हें 20वीं सदी के सबसे प्रभावशाली मार्शल कलाकार और एक सांस्कृतिक प्रतीक के रूप में मानते हैं। वे अभिनेता ब्रैनडन ली और अभिनेत्री शैनन ली के पिता भी थे। उनका छोटा भाई रॉबर्ट एक संगीतकार और द थंडरबर्ड्स नामक हांगकांग के एक लोकप्रिय बीट बैंड का सदस्य था। ली सैन फ्रांसिस्को, कैलिफ़ोर्निया में पैदा हुए थे और किशोर वय के अंत से कुछ पहले तक हांगकांग में पले-बढ़े. उनकी हांगकांग और हॉलीवुड निर्मित फ़िल्मों ने, परंपरागत हांगकांग मार्शल आर्ट फ़िल्मों को लोकप्रियता और ख्याति के एक नए स्तर पर पहुंचा दिया और पश्चिम में चीनी मार्शल आर्ट के प्रति दिलचस्पी की दूसरी प्रमुख लहर छेड़ दी। उनकी फ़िल्मों की दिशा और लहजे ने मार्शल आर्ट तथा हांगकांग के साथ-साथ बाक़ी दुनिया में मार्शल आर्ट फ़िल्मों को परिवर्तित और प्रभावित किया। वे मुख्य रूप से पांच फ़ीचर फ़िल्मों में अपने अभिनय के लिए जाने जाते हैं, लो वाई की द बिग बॉस (1971) और फ़िस्ट ऑफ़ फ़्यूरी (1972); ब्रूस ली द्वारा निर्देशित और लिखित वे ऑफ़ द ड्रैगन (1972); वार्नर ब्रदर्स की एंटर द ड्रैगन (1973), रॉबर्ट क्लाउस द्वारा निर्देशित और द गेम ऑफ़ डेथ (1978). ली एक अनुकरणीय व्यक्तित्व बन गए, विशेष रूप से चीनियों में, क्योंकि उन्होंने अपनी फिल्मों में चीनी राष्ट्रीय गौरव और चीनी राष्ट्रवाद का चित्रण किया। वे मुख्यतः चीनी मार्शल आर्ट, विशेषकर विंग चुन, का अभ्यास करते थे (लोकप्रिय पाश्चात्यीकृत शब्दावली में "कुंग फू, ") .

नई!!: कैथोलिक धर्म और ब्रूस ली · और देखें »

ब्रूस स्प्रिंगस्टीन

ब्रूस फ्रेडरिक जोसेफ स्प्रिंगस्टीन (जन्म 23 सितंबर 1949), उपनाम "दी बॉस ", एक अमेरिकी गायक-गीतकार हैं। वे ई स्ट्रीट बैंड (E Street Band) के साथ रिकॉर्डिंग किया करते हैं और दौरे पर जाया करते हैं। पॉप हुक से सराबोर अपने हार्टलैंड रॉक ब्रांड, काव्यात्मक गीत और अपनी मातृभूमि न्यू जर्सी पर केंद्रित अमेरिकाना भावनाओं के लिए स्प्रिंगस्टीन व्यापक रूप से जाने जाते हैं। स्प्रिंगस्टीन की रिकॉर्डिंग वाणिज्यिक अभिगम्य एलबमों और उदास लोक-संगीत उन्मुखता के बीच वैकल्पिक रूप से ढली हुई है। उनका रूतबा बड़े हद तक संगीत-समारोह और मैराथन कार्यक्रमों से उपजा है, जिनमें उन्होंने और ई स्ट्रीट बैंड ने तीव्र प्रेम गीतों, उत्साहवर्धक स्तुति गान और पार्टी रॉक एंड रोल गीतों के प्रदीर्शन किये; जिनमें बीच-बीच में वे सनकीपन या गहरी भावनात्मक कहानियां बिखेर दिया करते.

नई!!: कैथोलिक धर्म और ब्रूस स्प्रिंगस्टीन · और देखें »

ब्लेज़ पास्कल

ब्लेज़ पास्कल (फ्रांसीसी: Blaise Pascal), (19 जून १६२३, क्लेरमों-फर्रां – १९ अगस्त १६६२, पैरिस) फ्रांसीसी गणितज्ञ, भौतिकज्ञ और धार्मिक दार्शनिक थे। पास्कल ने व्यावहारिक विज्ञान पर काम करते हुए मशीनी गणक बनाए, द्रव्यों के गुणों को समझा और टॉरिसैली के काम को आगे बढ़ाते हुए दबाव और निर्वात की अवधारणाओं को स्पष्ट किया। इन्होंने वैज्ञानिक विधि के समर्थन में भी लेख लिखे। साथ ही धार्मिक दर्शन में भी इनकी कृतियों ने बहुत असर छोड़ा। ३ वर्ष की आयु में इनकी माँ चल बसीं और इन्हें इनके पिता ने ही पाला-पोसा। ये बचपन से ही बहुत मेधावी थे। इनकी प्रतिभा को देखकर इनके पिता ने इन्हें स्वयं पढ़ाने-लिखाने का निर्णय लिया। बारह वर्ष की आयु से ये प्रसिद्ध गणितज्ञों की सभाओं में बैठने लगे। पास्कल बहुत माने हुए गणितज्ञ थे। इन्होंने वैज्ञानिक शोध के दो मुख्य क्षेत्रों में सर्वप्रथम कार्य शुरु किया- प्रक्षेपण ज्यामिति, जिस पर इन्होंने १६ साल की आयु में आलेख लिखा और संभाव्यता सिद्धान्त, जिसपर आधुनिक अर्थशास्त्र और समाज विज्ञान आधारित हैं। गैलीलियो और टॉरिसैली की तरह ही इन्होंने अरस्तू के कथन "प्रकृति को निर्वात से घृणा है" का जमकर विरोध किया। इनके कई निष्कर्षों पर बहुत समय विवाद हुआ, लेकिन अन्त में स्वीकार कर लिए गए। १६४२ में इन्होंने अपने पिता का गणना का काम आसान करने के लिए एक मशीनी गणक बनाया, जिसे आज "पास्कल गणक" कहा जाता है। द्रव्य विज्ञान के जरिये इन्होंने हाइड्रॉलिक प्रेस और सिरिंज का आविष्कार किया। १६४६ में इन्होंने अपनी बहन के साथ कैथोलिक संप्रदाय की जैन्सनवाद धारा को अपना लिया। इनके पिता १६५१ में चल बसे। १६५४ में एक आध्यात्मिक अनुभूति हुई, जिसके बाद इन्होंने वैज्ञानिक शोध छोड़कर अपना ध्यान धर्मशास्त्र और दर्शन में लगाना शुरु किया। इनकी दो सबसे प्रसिद्ध कृतियाँ इस काल की हैं। लैथ्र प्रोविन्सियाल (Lettres provinciales, प्रांतीय पत्र) में पास्कल ने पाप के प्रति कैथोलिक चर्च के नरम रुख की जमकर निन्दा की। इन पत्रों की शैली से वॉल्टेयर और ज़ां ज़ाक रूसो जैसे लेखक प्रभावित हुए। प्रकाशन के शीघ्र बाद ही इस पर चर्च ने प्रतिबन्ध लगा दिया, लेकिन फिर पोप एलेक्सैण्डर ने इसमें दिये तर्कों को माना और खुद चर्च के नरम रुख की निन्दा की। दूसरी रचना थी पौंसे (Pensées, विचार), जिसे इनकी मृत्यु के पश्चात इनके बिखरे कागज़ों को इकट्ठा करके प्रकाशित किया गया। इस रचना में इन्होंने कई दार्शनिक विरोधाभासों पर विचार किया-असीमता और शून्यता, विश्वास और तर्क, आत्मा और पदार्थ, मृत्यु और जीवन, उद्देश्य और अभिमान-और अन्त में ऐसा प्रतीत होता है कि ये किसी ठोस परिणाम पर नहीं पहुँचते, बस नम्रता, अज्ञानता और कृपा को मिलाते हुए एक दार्शनिक निष्कर्ष निकालते हैं, जिसे आजकल "पास्कल का दांव" कहा जाता है। इसी दौरान इन्होंने त्रिकोणों के अंकगणित पर और ठोस वस्तुओं का घनफल निकालने के लिए चक्रज के उपयोग पर भी प्रपत्र लिखे। १८ साल की उम्र से ही पास्कल की सेहत खराब रहने लगी थी और ३९ वर्ष की आयु में इनकी मृत्यु हो गई। दबाव की SI इकाई एवं एक कम्प्यूटर भाषा का नाम इनके सम्मान में पास्कल रखा गया है। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और ब्लेज़ पास्कल · और देखें »

बैप्टिस्ट चर्च

बैप्टिस्ट चर्च उन इसाइयों के मत को कहते हैं जो यह मानते हैं कि "विश्वासी लोगों" का बपतिस्मा (बिलीभर्स बैप्टिज्म) होना चाहिये न कि अबोध बच्चों का (इन्फैन्त बैप्टिज्म)। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और बैप्टिस्ट चर्च · और देखें »

बेन जॉन्सन

बेंजामिन जॉन्सन (बेन जॉन्सन; १५७२ - १६३७) अंग्रेजी के प्रसिद्ध नाटककार, कवि तथा समीक्षक थे। वे अपने काल के अत्यंत प्रतिष्ठित एवं प्रतिनिधि साहित्यकार थे। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और बेन जॉन्सन · और देखें »

बेल्जियम

किंगडम ऑफ़ बेल्जियम उत्तर-पश्चिमी यूरोप में एक देश है। यह यूरोपीय संघ का संस्थापक सदस्य है और उसके मुख्यालय का मेज़बान है, साथ ही, अन्य प्रमुख अंतरराष्ट्रीय संगठनों का, जिसमें NATO भी शामिल है। 10.7 मीलियन की जनसंख्या वाले बेल्जियम का क्षेत्रफल है। जर्मनिक और लैटिन यूरोप के मध्य अपनी सांस्कृतिक सीमा को विस्तृत किये हुए बेल्जियम, दो मुख्य भाषाई समूहों, फ्लेमिश और फ्रेंच-भाषी, मुख्यतः वलून्स सहित जर्मन भाषियों के एक छोटे समूह का आवास है। बेल्जियम के दो सबसे बड़े क्षेत्र हैं, उत्तर में 59% जनसंख्या सहित फ्लेंडर्स का डच भाषी क्षेत्र और वालोनिया का फ्रेंच भाषी दक्षिणी क्षेत्र, जहाँ 31% लोग बसे हैं। ब्रुसेल्स-राजधानी क्षेत्र, जो आधिकारिक तौर पर द्विभाषी है, मुख्यतः फ्लेमिश क्षेत्र के अंतर्गत एक फ्रेंच भाषी एन्क्लेव है और यहाँ 10% जनसंख्या बसी है। * * * * पूर्वी वालोनिया में एक छोटा जर्मन भाषी समुदाय मौजूद है। मूल (पहले ही) 71,500 निवासियों के बजाय 73,000 का उल्लेख करता है। बेल्जियम की भाषाई विविधता और संबंधित राजनीतिक तथा सांस्कृतिक संघर्ष, राजनीतिक इतिहास और एक जटिल शासन प्रणाली में प्रतिबिंबित होता है। बेल्जियम नाम, गॉल के उत्तरी भाग में एक रोमन प्रान्त, गैलिया बेल्जिका से लिया गया है, जो केल्टिक और जर्मन लोगों के एक मिश्रण बेल्जी का निवास स्थान था। ऐतिहासिक रूप से, बेल्जियम, नीदरलैंड और लक्ज़मबर्ग, निचले देश के रूप में जाने जाते थे, जो राज्यों के मौजूदा बेनेलक्स समूह की तुलना में अपेक्षाकृत कुछ बड़े क्षेत्र को आवृत किया करते थे। मध्य युग की समाप्ति से लेकर 17 वीं सदी तक, यह वाणिज्य और संस्कृति का एक समृद्ध केन्द्र था। 16वीं शताब्दी से लेकर 1830 में बेल्जियम की क्रांति तक, यूरोपीय शक्तियों के बीच बेल्जियम के क्षेत्र में कई लड़ाइयाँ लड़ी गईं, जिससे इसे यूरोप के युद्ध मैदान का तमगा मिला - एक छवि जिसे दोनों विश्व युद्ध ने और पुष्ट किया। अपनी स्वतंत्रता पर, बेल्जियम ने उत्सुकता के साथ औद्योगिक क्रांति में भाग लिया और उन्नीसवीं सदी के अंत में, अफ्रीका में कई उपनिवेशों पर अधिकार जमाया। 20वीं सदी के उत्तरार्ध को फ्लेमिंग्स और फ्रैंकोफ़ोन के बीच साँप्रदायिक संघर्ष की वृद्धि के लिए जाना जाता है, जिसे एक तरफ तो सांस्कृतिक मतभेद ने भड़काया, तो दूसरी तरफ फ्लेनडर्स और वालोनिया के विषम आर्थिक विकास ने. अब भी सक्रिय इन संघर्षों ने पूर्व में एक एकात्मक राज्य बेल्जियम को संघीय राज्य बनाने के दूरगामी सुधारों को प्रेरित किया। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और बेल्जियम · और देखें »

बेंजामिन फ्रैंकलिन

बेंजामिन फ्रैंकलिन (17 अप्रैल 1790) संयुक्त राज्य अमेरिका के संस्थापक जनकों में से एक थे। एक प्रसिद्ध बहुश्रुत, फ्रैंकलिन एक प्रमुख लेखक और मुद्रक, व्यंग्यकार, राजनीतिक विचारक, राजनीतिज्ञ, वैज्ञानिक, आविष्कारक, नागरिक कार्यकर्ता, राजमर्मज्ञ, सैनिक, और राजनयिक थे। एक वैज्ञानिक के रूप में, बिजली के सम्बन्ध में अपनी खोजों और सिद्धांतों के लिए वे प्रबोधन और भौतिक विज्ञान के इतिहास में एक प्रमुख शख्सियत रहे। उन्होंने बिजली की छड़, बाईफोकल्स, फ्रैंकलिन स्टोव, एक गाड़ी के ओडोमीटर और ग्लास 'आर्मोनिका' का आविष्कार किया। उन्होंने अमेरिका में पहला सार्वजनिक ऋण पुस्तकालय और पेंसिल्वेनिया में पहले अग्नि विभाग की स्थापना की। वे औपनिवेशिक एकता के शीघ्र प्रस्तावक थे और एक लेखक और राजनीतिक कार्यकर्ता के रूप में, उन्होंने एक अमेरिकी राष्ट्र के विचार का समर्थन किया। अमेरिकी क्रांति के दौरान एक राजनयिक के रूप में, उन्होंने फ्रेंच गठबंधन हासिल किया, जिसने अमेरिका की स्वतंत्रता को संभव बनाने में मदद की। फ्रेंकलिन को अमेरिकी मूल्यों और चरित्र के आधार निर्माता के रूप में श्रेय दिया जाता है, जिसमें बचत के व्यावहारिक और लोकतांत्रिक अतिनैतिक मूल्यों, कठिन परिश्रम, शिक्षा, सामुदायिक भावना, स्व-शासित संस्थानों और राजनीतिक और धार्मिक स्वैच्छाचारिता के विरोध करने के संग, प्रबोधन के वैज्ञानिक और सहिष्णु मूल्यों का समागम था। हेनरी स्टील कोमगेर के शब्दों में, "फ्रैंकलिन में प्यूरिटनवाद के गुणों को बिना इसके दोषों के और इन्लाईटेनमेंट की प्रदीप्ति को बिना उसकी तपिश के समाहित किया जा सकता है।" वाल्टर आईज़ेकसन के अनुसार, यह बात फ्रेंकलिन को, "उस काल के सबसे निष्णात अमेरिकी और उस समाज की खोज करने वाले लोगों में सबसे प्रभावशाली बनाती है, जैसे समाज के रूप में बाद में अमेरिका विकसित हुआ।" फ्रेंकलिन, एक अखबार के संपादक, मुद्रक और फिलाडेल्फिया में व्यापारी बन गए, जहां पुअर रिचार्ड्स ऑल्मनैक और द पेन्सिलवेनिया गजेट के लेखन और प्रकाशन से वे बहुत अमीर हो गए। फ्रेंकलिन की विज्ञान और प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में दिलचस्पी थी और अपने प्रसिद्ध प्रयोगों के लिए उन्होंने अंतर्राष्ट्रीय ख्याति प्राप्त की.

नई!!: कैथोलिक धर्म और बेंजामिन फ्रैंकलिन · और देखें »

बेक़आ वादी

बेक़आ वादी में क़राऊन​ झील ज़हले शहर, जो बेक़आ प्रान्त की राजधानी और बेक़आ वादी का सबसे बड़ा नगर है रोमन काल में बना बालबेक में बाकस का मंदिर बेक़आ वादी (अरबी:, वादी अल-बिक़आ; अंग्रेज़ी: Beqaa Valley) पूर्वी लेबनान में स्थित एक उपजाऊ घाटी है। रोमन काल में यह एक महत्वपूर्ण कृषि क्षेत्र था और आधुनिक लेबनान का भी सबसे अहम कृषि इलाक़ा है।, Laura S. Etheredge, pp.

नई!!: कैथोलिक धर्म और बेक़आ वादी · और देखें »

बॉबी जिंदल

बॉबी और सुप्रिया राष्ट्रपति जॉर्ज बुश क साथ पीयूष " बॉबी " जिंदल (जन्म: 10 जून 1971) अमेरिकी राज्य लुईज़ियाना के वर्तमान रिपब्लिकन गवर्नर हैं। अपने गवर्नर के रूप में चुने जाने से, वो अमरीकी राज्य लुईज़ियाना की प्रतिनिधि सभा के एक सदस्य थे। प्रतिनिधि सभा के लिए वो 2004 के चुनाव में चुने गये थे। जिंदल फिर से 2006 के चुनाव में 88 के साथ वोट प्रतिशत के साथ चयनित हुये थे। 20 अक्टूबर 2007 को जिंदल 54 % वोट के साथ लुईज़ियाना के गवर्नर चुने गए। 36 वर्ष की आयु में जिंदल, संयुक्त राज्य अमेरिका के सबसे कम उम्र के मौजूदा गवर्नर बने। वह लुईज़ियाना के पहले अश्वेत और अमेरिकी इतिहास में अमेरिका के प्रथम भारतीय अमेरिकी गवर्नर चुने गये हैं। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और बॉबी जिंदल · और देखें »

बोरिस बेकर

बोरिस बेकर 1990 के दशक के एक प्रमुख टेनिस खिलाड़ी थे। जर्मनी में जन्मे बेकर ने टेनिस जगत की चार सबसे बड़ी सालाना स्पर्धाओं (ग्रैंड स्लेम) में कुल 6 विजय प्राप्त की और अपने करिअर में कुल 49 प्रतियोगिताओं का फाइनल जीता। बेकर ने अपना पहला विंबलडन ख़िताब 1985 में 17 वर्ष की उम्र में जीता और इस तरह ये ख़िताब जीतने वाले वे सबसे युवा खिलाड़ी बने। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और बोरिस बेकर · और देखें »

बोलिविया

बोलीविया (/bəlɪviə/; स्पेनिश:बोलीविया; अंग्रेजी: Bolivia), जिसे आधिकारिक तौर पर बोलीविया बहुराष्ट्रीय देश के रूप में जाना जाता है, पश्चिमी-मध्य दक्षिण अमेरिका में स्थित एक स्थलरुद्ध देश है। इसकी राजधानी सूक्रे है जबकि सरकारी परिसर ला पाज में स्थित है। सबसे बड़ा शहर और प्रमुख आर्थिक और वित्तीय केंद्र सांता क्रूज़ डी ला सिएरा है, जो ल्लोनोस ओरिएंटलस (उष्णकटिबंधीय निचले इलाकों) पर स्थित है, जो बोलीविया के पूर्व में स्थित अधिकांश सपाट क्षेत्र है। यह संवैधानिक रूप से एकतापूर्ण राज्य है, जो नौ प्रांतों में विभाजित है। इसकी भूगोल पश्चिम में एंडीज़ की चोटी से, पूर्वी निचले इलाके में, अमेज़ॅन बेसिन के भीतर स्थित है। यह उत्तर और पूर्व में ब्राजील द्वारा, दक्षिण-पूर्व में पैराग्वे द्वारा, दक्षिण में अर्जेंटीना द्वारा, दक्षिण-पश्चिम में चिली द्वारा और उत्तर-पश्चिम में पेरू द्वारा सीमाबद्ध है। देश का एक-तिहाई हिस्सा एंडीज़ पर्वत श्रृंखला पर स्थित है।1,098,581 किमी2 (424,164 वर्ग मील) के क्षेत्रफल के साथ, बोलीविया दक्षिण अमेरिका का 5वाँ सबसे बड़ा देश और दुनिया का 27वाँ सबसे बड़ा देश है। 1.1 करोड़ की अनुमानित देश की आबादी, बहु जातिय है, जिसमें इंडियन, मेस्टिज़ो, युरोपीयन, एशियाई और अफ्रीकी शामिल हैं। स्पेनिश उपनिवेशवाद से उत्पन्न नस्लीय और सामाजिक अलगाव आधुनिक युग तक जारी है। स्पेनिश आधिकारिक और प्रमुख भाषा है, हालांकि 36 स्वदेशी भाषाओं को भी आधिकारिक स्थिति प्राप्त है, जिनमें से सबसे अधिक बोली जाने वाली गुआरानी, ​​आयमारा और क्वेचुआ भाषाएं हैं। स्पेनिश उपनिवेशीकरण से पहले, बोलीविया का पर्वतीय क्षेत्र इंका साम्राज्य का हिस्सा था, जबकि उत्तरी और पूर्वी निचले इलाकों में स्वतंत्र जनजातियों का निवास था। कुज़्को और असुन्सियोन से आये स्पेनिश विजयविदों ने 16वीं शताब्दी में इस क्षेत्र पर नियंत्रण कर लिया। स्पेनिश औपनिवेशिक काल के दौरान बोलीविया को चार्कास के शाही दरबार द्वारा प्रशासित किया जाता था। स्पेन ने बोलीविया की खानों से निकाले गए चांदी पर अपने साम्राज्य का एक बड़ा हिस्सा बनाया। 1809 में आजादी के लिए पहली बार आवाहन के बाद, 16 साल तक चले युद्ध के बाद गणतंत्र की स्थापना की गई, और इसे सिमोन बोलिवर नाम दिया गया। 19वीं और 20वीं शताब्दी की शुरुआत में बोलिविया ने पड़ोसी देशों को कई परिधीय क्षेत्रों पर नियंत्रण खो दिया, जिसमें 1879 में चिली द्वारा अपनी तटरेखा का कब्जा शामिल है। 1971 तक बोलिविया अपेक्षाकृत राजनीतिक रूप से स्थिर रहा, इसके बाद ह्यूगो बेंजर ने तख्ता पलट कर जुआन जोसे टोरेस की अस्थिर सरकार को गिरा कर सैन्य तानाशाही स्थापित की; 1976 में अर्जेंटीना के ब्यूनस आयर्स में टॉरेस की हत्या कर दी गई थी। राष्ट्रपति बेंजर ने देश की तेजी से आर्थिक विकास की अगुवाई की, जिसने देश को स्थिर करने का काम किया, हालांकि उनका शासन वामपंथी और समाजवादी विपक्षी और असंतोष के अन्य रूपों पर टूट गया, जिसके परिणामस्वरूप कई बोलीवियन नागरिकों को यातना और मौत के घाट उतरना पड़ा। 1978 में बेंजर को हटा दिया गया और बाद में 1997 से 2001 तक बोलिविया में लोकतांत्रिक ढंग से निर्वाचित राष्ट्रपति का शासन लौट आया। 2006 से एवो मोरालेस देश के राष्ट्रपति है। आधुनिक बोलीविया संयुक्त राष्ट्र, आईएमएफ, एनएएम, ओएएस, एक्टो, बैंक ऑफ द साउथ, एएलबीए और यूएसएएन का प्रमुख सदस्य है। एक दशक से अधिक तक बोलीविया लैटिन अमेरिका में सबसे तेजी से आर्थिक विकास करने वाले देशों में से एक था, हालांकि यह दक्षिण अमेरिका के सबसे गरीब देशों में से एक बना हुआ है। यह एक विकासशील देश है, जिसकी मानव विकास सूचकांक में मध्यम श्रेणी है। यहाँ गरीबी का स्तर 38.6 प्रतिशत है, और यह लैटिन अमेरिका में सबसे कम अपराध दरों में से एक है। इसकी मुख्य आर्थिक गतिविधियों में कृषि, वानिकी, मछली पकड़ना, खनन, और कपड़ा, कपड़े, परिष्कृत धातुओं और परिष्कृत पेट्रोलियम जैसे विनिर्माण सामान शामिल हैं। बोलीविया खनिज, विशेष रूप से टिन में बहुत समृद्ध है। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और बोलिविया · और देखें »

भक्ति (इसाई)

ईसाई विश्वास के अनुसार ईश्वर ने प्रेम से प्रेरित होकर मनुष्य को अपने परमानंद का भागी बनाने के उद्देश्य से उसकी सृष्टि की है। प्रथम मनुष्य ने ईश्वर की इस योजना को ठुकरा दिया और इस प्रकार संसार में पाप का प्रवेश हुआ (देखिए, आदिपाप)। मनुष्यों को पाप से छुटकारा दिलाने और उनके लिए मुक्ति का मार्ग प्रशस्त करने के उद्देश्य से ईश्वर ने अवतार लिया और ईसा के रूप में प्रकट होकर मनुष्य के लिए धर्म का तत्व स्पष्ट कर दिया। ईसा ने सिखलाया कि ईश्वर का वास्तविक स्वरूप प्रेम में हैं; वह एक दयालु पिता है जो सभी मनुष्यों को अपनी संतान मानकर उन्हें अपने पास बुलाना चाहता है। मनुष्य को ईश्वर की यह योजना स्वीकार करनी चाहिए और अपने पापों के लिए पश्चात्ताप करना चाहिए, क्योंकि पाप ईश्वर के प्रति विद्रोह है। धर्म का सार इसमें है कि मनुष्य ईश्वर पर विश्वास करे, उसपर भरोसा रखे और उसके प्रति प्रेमपूर्ण आत्मसमर्पण करे। इस प्रकार हम देखते हैं कि ईसाई धर्म भक्तिभावप्रधान धर्म है, यद्यपि इसमें कर्मकांड की अपेक्षा नहीं होती। ईसाइयों की भक्तिभावना निर्गुण ईश्वर की भक्ति तक सीमित नहीं होती है। वे ईसा को ईश्वर मानते हैं और ईसा के जीवन की घटनाओं पर, विशेषकर उनके दु:खभोग तथा उनकी क्रूस की मृत्यु पर, मनन और ध्यान करते हुए अपने हृदय में कोमल भक्तिभाव उत्पन्न करते हैं और जीवन की कठिनाइयों पर विजय प्राप्त करने के लिए ईसा के उदाहरण से प्रेरणा लेते हैं। रोमन काथलिक और प्राच्य चर्च में ईसा की माता मरियम तथा संतों से भी प्रार्थना की जाती है क्योंकि विश्वास किया जाता है कि वे भी मनुष्यों की बिनतियाँ सुनते हैं और ईश्वर के विधान के अनुसार उनकी सहायता करते हैं। श्रेणी:ईसाई धर्म.

नई!!: कैथोलिक धर्म और भक्ति (इसाई) · और देखें »

भूत-प्रेत का अपसारण

सेंट फ्रांसिस ने अरेज्जो में राक्षसों का भूत-अपसारण किया; गिओटो द्वारा एक फ्रेस्को पर एक चित्रण में. भूत-प्रेत का अपसारण अर्थात एक्सॉसिज़्म (प्राचीन लैटिन शब्द exorcismus, ग्रीक शब्द exorkizein – शपथ देकर बांधना) किसी ऐसे व्यक्ति अथवा स्थान से भूतों या अन्य आत्मिक तत्त्वों को निकालने की प्रथा है। जिसके बारे में विश्वास किया जाता है कि भूत ने उसे शपथ दिलाकर अपने वश में कर लिया है। यह प्रथा अत्यंत प्राचीन है तथा अनेक संस्कृतियों की मान्यताओं का अंग रही है। प्राचीन काल से माना जाता है कि इस दुनिया से परे एक और दुनिया होती है और इस दुनियाँ को मौत कि दुनिया के नाम से जाना जाता हे। जैसे हम सब को पता हे कि मौत कि दुनिया मे मृत लोगो कि आत्माएं होती है लेकिन इसके परे इस मौत कि दुनिया मे राक्षस और आध्यत्मिक संस्था का साया भी होता है। लोग जब मरते है तब उनकी आत्मा का उध्धार नहीं होता या इसके विपरीत बहुत सारी शर्ते होती है। जैसे कि अगर कोइ इन्सान एक ऐसी मौत मरा है जिसमें उसको बहुत तक्लीफ हुई हो या फिर बे मौत मारा गया हो तो इस के कारण उस इन्सान का आत्मा उस जगह पर ही रह जाती है और आसानी से उस आत्मा का उद्धर नहि होता, कोइ ऐसे स्थान भी होते हे जिधर से मृत लोगो कि आत्मा उध्दार होता हैं, यह जगह कोइ घना जंगल मे होता हे यातो फिर कोइ सुन्सान जगह में। ऐसे ही जगह से मृत दुनिया से राक्षस और आध्यात्मिक सन्स्था हमारी दुनिया मे प्रवेश करते है, और जीवित इन्सानो कि आत्मा पर शिकार करते हैं और इसी अवस्था मे झाङ-फूँक कि सन्कल्पना आती हैं। झाड़-फूँक राक्षस और आध्यात्मिक सन्स्थाओ का हटाना उत्ना का अभ्यास होता हे। झाड़-फूँक ऐसे लोग या जगह या चीज़ों पर किया जाता हे जो राक्शस या किसी आध्याथ्मिक सन्स्थाओ के अधीन होते हे। झाड़-फूँक ओझा के आध्याथ्मिक विश्वासो के आधार पर किया जाता हे। धर्म के आधार पर झाड़-फूँक के अन्य तरीके होते हे। कुछ ऐसे दर्वाज़े होते हे जो खुल्ने पर बुरे सप्ने हकीकत मे बदल जाते हे। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और भूत-प्रेत का अपसारण · और देखें »

मदर टेरेसा

मदर टेरेसा (२६ अगस्त १९१० - ५ सितम्बर १९९७) जिन्हें रोमन कैथोलिक चर्च द्वारा कलकत्ता की संत टेरेसा के नाम से नवाज़ा गया है, का जन्म अग्नेसे गोंकशे बोजशियु के नाम से एक अल्बेनीयाई परिवार में उस्कुब, उस्मान साम्राज्य (वर्त्तमान सोप्जे, मेसेडोनिया गणराज्य) में हुआ था। मदर टेरसा रोमन कैथोलिक नन थीं, जिन्होंने १९४८ में स्वेच्छा से भारतीय नागरिकता ले ली थी। इन्होंने १९५० में कोलकाता में मिशनरीज़ ऑफ चैरिटी की स्थापना की। ४५ सालों तक गरीब, बीमार, अनाथ और मरते हुए लोगों की इन्होंने मदद की और साथ ही मिशनरीज ऑफ़ चैरिटी के प्रसार का भी मार्ग प्रशस्त किया। १९७० तक वे गरीबों और असहायों के लिए अपने मानवीय कार्यों के लिए प्रसिद्द हो गयीं, माल्कोम मुगेरिज के कई वृत्तचित्र और पुस्तक जैसे समथिंग ब्यूटीफुल फॉर गॉड में इसका उल्लेख किया गया। इन्हें १९७९ में नोबेल शांति पुरस्कार और १९८० में भारत का सर्वोच्च नागरिक सम्मान भारत रत्न प्रदान किया गया। मदर टेरेसा के जीवनकाल में मिशनरीज़ ऑफ चैरिटी का कार्य लगातार विस्तृत होता रहा और उनकी मृत्यु के समय तक यह १२३ देशों में ६१० मिशन नियंत्रित कर रही थीं। इसमें एचआईवी/एड्स, कुष्ठ और तपेदिक के रोगियों के लिए धर्मशालाएं/ घर शामिल थे और साथ ही सूप, रसोई, बच्चों और परिवार के लिए परामर्श कार्यक्रम, अनाथालय और विद्यालय भी थे। मदर टेरसा की मृत्यु के बाद इन्हें पोप जॉन पॉल द्वितीय ने धन्य घोषित किया और इन्हें कोलकाता की धन्य की उपाधि प्रदान की। दिल के दौरे के कारण 5 सितंबर 1997 के दिन मदर टैरेसा की मृत्यु हुई थी। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और मदर टेरेसा · और देखें »

महानतम भारतीय (सर्वेक्षण)

सबसे महान भारतीय या महानतम भारतीय (अंग्रेजी:The Greatest Indian) एक सर्वेक्षण जो रिलायंस मोबाइल द्वारा प्रायोजित है और सीएनएन आईबीएन और हिस्ट्री चैनल के साथ साझेदारी में, आउटलुक पत्रिका द्वारा आयोजित किया गया था। आधुनिक भारत के विभिन्न क्षेत्रों में महत्त्वपुर्ण योगदान और भारतीयों के जीवन में अद्वितीय असाधारन बदलाव लाने वाला महानतम शख्सियत खोजने के लिए भारत में दि ग्रेटेस्ट इंडियन या सबसे महानतम भारतीय इस कार्यक्रम का जनमत सर्वेक्षण जून 2012 से अगस्त 2012 दौरान आयोजित किया गया था, इसके विजेता, डॉ॰ भीमराव आंबेडकर हैं, 11 अगस्त को इसकी घोषणा हुई थी। इस सर्वेक्षण में करीब 2 करोड़ वोटिंग डॉ॰ आंबेडकर को हुई थी। इस सर्वेक्षण में पहले भारत के विभिन्न छेत्रों (जैसे, कला, राजनिती, अर्थशास्त्र, समाज सेवा, खेल, उद्योग, संगीत आदी) के 100 महान हस्तियों में से ज्यूरी के जरीये उनमें से 50 महान भारतीयों को चूना गया। बाद में 50 नामों में से वोटिंग के जरीये जवाहरलाल नेहरू से ए.पी.जे. अब्दुल कलाम तक के 10 नाम रखे गये और एक बार फिर सभी नागरिकों द्वारा की गई अंतरराष्ट्रीय ऑनलाईन वोटिंग ओपन की गई, इसमें सर्वाधिक मतदान या मतदान डॉ॰ भीमराव आंबेडकर को मिले, वे दस में नंबर वन पर ही चुने गयें। भारत की स्वतंत्रता के बाद सबसे महान या महानतम भारतीय डॉ॰ भीमराव आंबेडकर हैं। वे स्वतंत्र्यता पूर्व के भी महानतम भारतीय है। महानतम ब्रिटेन स्पिन (Greatest Britons spin-offs) नापसंद के अन्य संस्करणों के विपरीत, महानतम भारतीय इतिहास के सभी समय अवधि से लोगों को शामिल नहीं किया था। दो कारणों से इस चुनाव के लिए दिए गए थे। इसमें महात्मा गांधी को नहीं लिया गया, उन्हें बिना सर्वेक्षण के महान बना दिया, नहीं तो विशेष रूप से डॉ.

नई!!: कैथोलिक धर्म और महानतम भारतीय (सर्वेक्षण) · और देखें »

मातृ दिवस

आधुनिक मातृ दिवस का अवकाश ग्राफटन वेस्ट वर्जिनिया में एना जार्विस के द्वारा समस्त माताओं तथा मातृत्व के लिए खास तौर पर पारिवारिक एवं उनके आपसी संबंधों को सम्मान देने के लिए आरम्भ किया गया था। यह दिवस अब दुनिया के हर कोने में अलग-अलग दिनों में मनाया जाता हैं। जैसे कि पिताओं को सम्मान देने के लिए पितृ दिवस की छुट्टी मनाई जाती हैं। यह छुट्टी अंततः इतनी व्यवसायिक बन गई कि इसकी संस्थापक, एना जार्विस, तथा कई लोग इसे एक "होलमार्क होलीडे", अर्थात् एक प्रचुर वाणिज्यिक प्रयोजन के रूप में समझने लगे। एना ने जिस छुट्टी के निर्माण में सहयोग किया उसी का विरोध करते हुए इसे समाप्त करना चाहा। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और मातृ दिवस · और देखें »

मार्दी ग्रा

अंग्रेज़ी के "मार्दी ग्रा ", "मार्दी ग्रा सीज़न " एवं "कार्निवल सीज़न " अंग्रेज़ी में आदि शब्दों का अभिप्राय कार्निवल समारोहों के कार्यक्रमों से है जो क्रिसमस के बारह दिन बाद एपीफैनी को या उसके बाद शुरू होते हैं और ईस्टर से पहले सातवें बुधवार, ऐश वेन्ज़्डे को समाप्त होते हैं। मार्दी ग्रा "फैट ट्यूजडे" के लिए एक फ़्रांसिसी शब्द है (सामुदायिक अंग्रेज़ी परंपरा में श्रोव ट्यूजडे शब्द), जो ऐश वेन्ज़्डे को शुरू होने वाले लेनटेन मौसम के रिवाज़ी उपवास के पहले आखिरी रात को मसालेदार, वसायुक्त भोजन करने की परंपरा को सन्दर्भित करता है। संबंधित लोकप्रिय प्रथाएं उपवास के पहले होने वाले उत्सवों से एवं धार्मिक दायित्व लेंट के शोकसूचक मौसम से संबद्ध थे। लोकप्रिय प्रथाओं में मुखौटे और परिधान पहनना, सामाजिक सम्मेलनों में बढ़-चढ़ कर भाग लेना, नाचना, खेल प्रतियोगिताएं, परेड वगैरह शामिल हैं। मार्दी ग्रा के प्रति इसी तरह की अभिव्यक्ति ईसाई परम्पराओं को मानने वाली अन्यान्य यूरोपीय भाषाओं में भी देखने को मिलती है। अंग्रेजी में इस दिन को श्रोव ट्यूजडे कहा जाता है, जो लेंट के शुरू होने से पहले स्वीकारोक्ति की धार्मिक अपेक्षा से जुड़ा हुआ है। कई क्षेत्रों में "मार्दी ग्रा" शब्द का तात्पर्य उत्सव से संबंधित कार्यक्रमों से जुड़ी क्रियाकलापों की पूरी अवधि से होता है, न कि केवल एक दिन से.

नई!!: कैथोलिक धर्म और मार्दी ग्रा · और देखें »

मार्गा फॉलस्टिच

मार्गा फॉलस्टिच (१६ जून १९१५ - १ फरवरी १९९८) जर्मन काँच रसायनज्ञ थी। उन्होंने ४४ साल तक स्कॉट एजी के लिए काम किया। वे स्कॉट एजी में पहली महिला कार्यकारी थीं। इस दौरान उन्होंने ३०० से अधिक प्रकार के दृश्य (ऑप्टिकल) चश्मों पर काम किया। ४० पेटेंट उनके नाम पंजीकृत थे। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और मार्गा फॉलस्टिच · और देखें »

माल्टा

माल्टा (en:Malta, माल्टीस: Repubblika ta' Malta (Republic of Malta)) यूरोपीय महाद्वीप में स्थित एक विकसित द्वीप देश है। इसकी राजधानी वलेत्ता है। इसकी मुख्य- और राजभाषाएँ माल्टाई भाषा और अंग्रेज़ी भाषा हैं। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और माल्टा · और देखें »

मिलानो

मिलान (Milano,; पश्चिमी लोम्बार्ड: मिलान) इटली का एक शहर और लोम्बार्डी क्षेत्र और मिलान प्रान्त की राजधानी है। मूल शहर की जनसंख्या लगभग 1,300,000 है, जबकि शहरी क्षेत्र 4,300,000 की अनुमानित जनसंख्या के साथ यूरोपीय संघ में पांचवा सबसे बड़ा है। इटली में सबसे बड़े, मिलान महानगरीय क्षेत्र की आबादी, OECD द्वारा अनुमानित तौर पर 7,400,000 है। शहर की स्थापना मीडियोलेनम नाम के तहत केल्टिक लोग इनसबरेस द्वारा की गई थी। इसे बाद में ई.पू.

नई!!: कैथोलिक धर्म और मिलानो · और देखें »

मिशनरीज़ ऑफ चैरिटीज़

मिशनरीज़ ऑफ़ चैरिटी, एक रोमन कैथोलिक स्वयंसेवी धार्मिक संगठन है, जो विश्व-भर में मानवीय कार्यों में संमग्न है। इसकीकी शुरुआत एवं स्थापना, कलकत्ता की संत टेरेसा, जिन्हें मदर टेरेसा के नाम से जाना जाता है, ने १९५० में की थी। आज यह विश्व के 120 से भी अधिक देशों में विभिन्न मानवीय कार्यों में संमग्न 4500 से भी अधिक ईसाई मिशनरियों की मंडली है। इस मंडल में शामिल होने के लिए एक इच्छुक व्यक्ति को नौ वर्षों की सेवा और परिक्षण के बाद, सारे ईसाई धार्मिक मूल्यों पर खरा उतार कर इस अंगठं के विभिन्न कार्यों में अपनी सेवा देने के बाद ही शामिल किया जाता है। सदस्यों को चार प्रणों के प्रति इग्नोष्ट रहना हॉट है:पवित्रता, दरिद्रता, आज्ञाकारिता और चौथा प्रण यह की वे "तहे दिल से गरिब से गरिब इंसान की सेवा" में अपना जीवन व्यतीत करेंगे। इस मंडली के मिशनरी विश्व भर में, गरीब, बीमार, शोषित और वंचित लोगों की सेवा और सहायता में अपना योगदान देते हैं, तथा शरणार्थियों, अनाथों, दिव्यांजनों, युद्धपीड़ितों, वयस्कों और एड्स तथा अन्य घातक रोगों से पीड़ित लोगों की सेवा करते हैं। इसके अलावा वे अनाथ और बेघर बच्चों को शिक्षा एयर भोजन भी प्रदान करते हैं। साथ ही वे अनेक अनाथआश्रम, वृद्धाश्रम और अस्पताल भी प्रबंधित करते हैं। यह साडी सेवाएँ, निःशुल्क, और लाभार्थी के धर्म से बेपरवाह किया जाता है। इस संहाथन का मुख्यालय कोलकाता है। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और मिशनरीज़ ऑफ चैरिटीज़ · और देखें »

मिशेल जीन

मिशेल जीन कनाडा की सत्ताईसवीं गवर्नर जनरल थीं। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और मिशेल जीन · और देखें »

मिज़ूरी

अमेरिका के मानचित्र पर मिज़ूरी (Missouri) आयोवा, इलिनॉय, केन्टकी, टेनेसी, अर्कन्सास, ओक्लाहोमा, केन्सास और नेब्रास्का से घिरा संयुक्त राज्य अमेरिका के मध्य-पश्चिम क्षेत्र का एक राज्य है। मिसौरी सबसे अधिक जनसंख्या वाला 18वां राज्य है जिसकी 2009 में अनुमानित जनसंख्या 5,987,580 थी। यह 114 प्रान्तों और एक स्वतंत्र शहर से मिलकर बना है। मिसौरी की राजधानी जेफ़रसन शहर है। तीन सबसे बड़े शहरी क्षेत्र सेंट लुई, कन्सास शहर और स्प्रिंगफील्ड हैं। मिसौरी को मूल रूप से लुइसियाना खरीद के भाग के रूप में फ्रांस से अधिग्रहण किया गया था। मिसौरी राज्य क्षेत्र के भाग को 10 अगस्त 1821 में 24वें राज्य के रूप में संघ में शामिल कर लिया गया। मिसौरी में राष्ट्र के जनसांख्यिकीय, आर्थिक और राजनैतिक क्षेत्र में शहरी और ग्रामीण संस्कृति का मिश्रण देखने को मिलता है। इसे लंबे समय से एक राजनीतिक कसौटी राज्य माना जाता रहा है। 1956 और 2008 को छोड़कर, मिसौरी के U.S. राष्ट्रपति के पद के चुनाव के परिणाम ने 1904 से प्रत्येक चुनाव में संयुक्त राज्य अमेरिका के अगले राष्ट्रपति की सही-सही भविष्यवाणी की है। यह मध्य पश्चिमी और दक्षिणी दोनों संस्कृतियों से प्रभावित है और अपने इतिहास में एक सीमा राज्य के रूप में प्रदर्शित है। यह पूर्वी और पश्चिमी संयुक्त राज्य अमेरिका के बीच एक अवस्थांतर भी है क्योंकि सेंट लुई को अक्सर "सुदूर-पश्चिमी पूर्वी शहर" और कन्सास शहर को "सुदूर-पूर्वी पश्चिमी शहर" कहते हैं। मिसौरी के भूगोल में अत्यधिक विविधता है। राज्य का उत्तरी भाग विच्छेदित गोल मैदानों में पड़ता है जबकि दक्षिणी भाग ओज़ार्क पर्वतों (विच्छेदित पठार) में पड़ता है जिसे मिसोरी नदी दो भागों में बांटती है। मिसिसिपी और मिसौरी नदियों का संगम सेंट लुई के पास स्थित है। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और मिज़ूरी · और देखें »

मई दिवस

मई दिवस, 1 मई को होता है और कई सार्वजनिक अवकाशों को संदर्भित करता है। कई देशों में मई दिवस, अंतर्राष्ट्रीय श्रमिक दिवस, या श्रम दिवस का पर्यायवाची है, तथा राजनीतिक प्रदर्शनों और यूनियनों व समाजवादी समूहों द्वारा आयोजित समारोह का एक दिन.

नई!!: कैथोलिक धर्म और मई दिवस · और देखें »

मंगलोरियन कैथोलिक

दक्षिण केनरा में ईसाइयों के शुरुआती अस्तित्व के सभी अभिलेखों को १७८४ में टीपू सुल्तान ने अपने निर्वासन के समय खो दिया था। इसलिए, यह बिल्कुल नहीं पता है कि ईसाई धर्म दक्षिण केनरा में पेश किया गया था, हालांकि यह संभव है कि सीरियाई ईसाई दक्षिण में बस गए केनरा, जैसा कि केरल में, केनरा के दक्षिण में एक राज्य में किया था। इतालवी यात्री मार्को पोलो ने लिखा कि १३वीं शताब्दी में लाल सागर और केनारा तट के बीच काफी व्यापारिक गतिविधियां थीं। यह अनुमान लगाया जा सकता है कि विदेशी ईसाई व्यापारियों ने वाणिज्य के लिए उस समय दक्षिण केनरा के तटीय शहरों का दौरा किया था; संभव है कि कुछ ईसाई पुजारी उनके साथ सुसमाचार का काम करने के लिए हो सकते थे। अप्रैल १३२१ में फ़्रैंक डोमिनिकन शुक्रवार सेवेरैक (दक्षिणी-पश्चिमी फ़्रांस में) के जॉर्डनस कटानानी चार अन्य फ्रायार्स् के साथ थाना पर उतरे। फिर उन्होंने उत्तरी केनरा में भटकल की यात्रा की, जो थाना से क्विलोन तक के तटीय मार्ग पर एक बंदरगाह था। भारत के प्रथम बिशप और क्विलोन सूबा के होने के नाते, उन्हें पोल ​​जॉन XXII द्वारा मैंगलोर और भारत के अन्य हिस्सों में ईसाई समुदाय का आध्यात्मिक पोषण सौंपा गया था। इतिहासकार सेवरिन सिल्वा के अनुसार, कोई ठोस सबूत अभी तक नहीं मिला है कि १६ वीं सदी से पहले दक्षिण कैनरा में ईसाइयों के किसी भी स्थायी बस्तियां थीं। यह क्षेत्र में पुर्तगालियों के आगमन के बाद ही था कि ईसाइयत फैलती हुई। श्रेणी:रोमन कैथोलिक.

नई!!: कैथोलिक धर्म और मंगलोरियन कैथोलिक · और देखें »

मुठ्ठी भर मिट्टी

मुठ्ठी भर मिट्टी ब्रिटिश लेखक एवलिन वॉ द्वारा लिखी गयी एक उपन्यास है। यह पहली बार १९३४ में प्रकाशित हुई थी । इसे अक्सर लेखक के शुरुआती, व्यंग्यात्मक हास्य उपन्यासों के साथ समूहीकृत किया गया था जिसके लिए वह द्वितीय विश्व युद्ध के पहले प्रसिद्ध हो गए थे। हालांकि, टिप्पणीकारों ने अपने गंभीर उपक्रमों पर ध्यान दिया है, और इसे एक संक्रमणकालीन कार्य के रूप में माना है जो वॉ के कैथोलिक पोस्टवर फिक्शन की तरफ इशारा करता है। नायक टोनी लास्ट, एक संतुष्ट लेकिन उथले अंग्रेजी देश जमीदार, जिनको अपनी पत्नी ने धोखा दिया है और अपने भ्रम को एक-एक करके बिखरे हुए देखा है, वह ब्राजील के जंगल में एक अभियान में शामिल हो गया है, ताके खुद को दूरदराज के चौकी में एक पागल कैदी की तरह फंसा पाए। वॉ ने साजिश में कई आत्मकथात्मक तत्वों को शामिल किया, जिसमें उनकी पत्नी ने हाल ही में अपने विवेक को शामिल किया। १९३३-३४ में उन्होंने दक्षिण अमेरिकी भीतरी भाग में यात्रा की, और यात्रा से कई घटनाएं उपन्यास में शामिल की गईं। जंगल में टोनी के एकवचन भाग्य का इस्तेमाल पहली बार वॉ द्वारा एक स्वतंत्र लघु कहानी के विषय के रूप में किया गया था, जिसे १९३३ में "द मैन हू लाइकड डिकेंस" शीर्षक के तहत प्रकाशित किया गया था। पुस्तक का प्रारंभिक महत्वपूर्ण स्वागत मामूली था, लेकिन यह जनता में लोकप्रिय था और कभी छपाई से बाहर नहीं हुआ है। प्रकाशन के बाद के वर्षों में, पुस्तक की प्रतिष्ठा बढ़ी है; इसे आम तौर पर वॉ के सर्वोत्तम कार्यों में से एक माना जाता है और २० वीं शताब्दी के सर्वश्रेष्ठ उपन्यासों की अनौपचारिक सूचियों पर एक से अधिक बार लगाया गया है। वॉ १९३० में रोमन कैथोलिक धर्म में परिवर्तित हो गए थे, जिसके बाद उनके व्यंग्यात्मक, धर्मनिरपेक्ष लेखन ने कुछ कैथोलिक तिमाहियों से शत्रुता प्राप्त की। उन्होंने व्यापक रूप से धार्मिक विषयों को मुठ्ठी भर मिट्टी  में पेश नहीं किया, लेकिन बाद में समझाया कि उन्होंने धार्मिकता, विशेष रूप से कैथोलिक, मूल्यों से अलग मानवता की व्यर्थता का प्रदर्शन करने के लिए पुस्तक का इरादा किया था। रेडियो, मंच और परदे के लिए पुस्तक नाटकीय रूप से बनाई गई है। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और मुठ्ठी भर मिट्टी · और देखें »

मुठ्ठी भर ज़मीन

मुठ्ठी भर ज़मीन ब्रिटिश लेखक एवलिन वॉ द्वारा लिखी गयी एक उपन्यास है। यह पहली बार १९३४ में प्रकाशित हुई थी । इसे अक्सर लेखक के शुरुआती, व्यंग्यात्मक हास्य उपन्यासों के साथ समूहीकृत किया गया था जिसके लिए वह द्वितीय विश्व युद्ध के पहले प्रसिद्ध हो गए थे। हालांकि, टिप्पणीकारों ने अपने गंभीर उपक्रमों पर ध्यान दिया है, और इसे एक संक्रमणकालीन कार्य के रूप में माना है जो वॉ के कैथोलिक पोस्टवर फिक्शन की तरफ इशारा करता है। नायक टोनी लास्ट, एक संतुष्ट लेकिन उथले अंग्रेजी देश जमीदार, जिनको अपनी पत्नी ने धोखा दिया है और अपने भ्रम को एक-एक करके बिखरे हुए देखा है, वह ब्राजील के जंगल में एक अभियान में शामिल हो गया है, ताके खुद को दूरदराज के चौकी में एक पागल कैदी की तरह फंसा पाए। वॉ ने साजिश में कई आत्मकथात्मक तत्वों को शामिल किया, जिसमें उनकी पत्नी ने हाल ही में अपने विवेक को शामिल किया। १९३३-३४ में उन्होंने दक्षिण अमेरिकी भीतरी भाग में यात्रा की, और यात्रा से कई घटनाएं उपन्यास में शामिल की गईं। जंगल में टोनी के एकवचन भाग्य का इस्तेमाल पहली बार वॉ द्वारा एक स्वतंत्र लघु कहानी के विषय के रूप में किया गया था, जिसे १९३३ में "द मैन हू लाइकड डिकेंस" शीर्षक के तहत प्रकाशित किया गया था। पुस्तक का प्रारंभिक महत्वपूर्ण स्वागत मामूली था, लेकिन यह जनता में लोकप्रिय था और कभी छपाई से बाहर नहीं हुआ है। प्रकाशन के बाद के वर्षों में, पुस्तक की प्रतिष्ठा बढ़ी है; इसे आम तौर पर वॉ के सर्वोत्तम कार्यों में से एक माना जाता है और २० वीं शताब्दी के सर्वश्रेष्ठ उपन्यासों की अनौपचारिक सूचियों पर एक से अधिक बार लगाया गया है। वॉ १९३० में रोमन कैथोलिक धर्म में परिवर्तित हो गए थे, जिसके बाद उनके व्यंग्यात्मक, धर्मनिरपेक्ष लेखन ने कुछ कैथोलिक तिमाहियों से शत्रुता प्राप्त की। उन्होंने व्यापक रूप से धार्मिक विषयों को मुठ्ठी भर जमीन  में पेश नहीं किया, लेकिन बाद में समझाया कि उन्होंने धार्मिकता, विशेष रूप से कैथोलिक, मूल्यों से अलग मानवता की व्यर्थता का प्रदर्शन करने के लिए पुस्तक का इरादा किया था। रेडियो, मंच और परदे के लिए पुस्तक नाटकीय रूप से बनाई गई है। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और मुठ्ठी भर ज़मीन · और देखें »

मुण्डा

मुंडा एक भारतीय आदिवासी समुदाय है, जो मुख्य रूप से झारखण्ड के छोटा नागपुर क्षेत्र में निवास करता है| झारखण्ड के अलावा ये बिहार, पश्चिम बंगाल, ओड़िसा आदि भारतीय राज्यों में भी रहते हैं| इनकी भाषा मुंडारी आस्ट्रो-एशियाटिक भाषा परिवार की एक प्रमुख भाषा है| उनका भोजन मुख्य रूप से धान, मड़ूआ, मक्का, जंगल के फल-फूल और कंध-मूल हैं | वे सूत्ती वस्त्र पहनते हैं | महिलाओं के लिए विशेष प्रकार की साड़ी होती है, जिसे बारह हथिया (बारकी लिजा) कहते हैं | पुरुष साधारण-सा धोती का प्रयोग करते हैं, जिसे तोलोंग कहते हैं | मुण्डा, भारत की एक प्रमुख जनजाति हैं | २० वीं सदी के अनुसार उनकी संख्या लगभग ९,०००,००० थी |Munda http://global.britannica.com/EBchecked/topic/397427/Munda .

नई!!: कैथोलिक धर्म और मुण्डा · और देखें »

मैनहटन

न्यू जर्सी के हैमिल्टन पार्क से मैनहटन. मैनहटन न्यूयॉर्क शहर के नगरों में से एक है। हडसन नदी के मुंहाने पर मुख्य रूप से मैनहटन द्वीप पर स्थित, इस नगर की सीमाएं न्यूयॉर्क राज्य के न्यूयॉर्क प्रान्त नामक एक मूल प्रान्त की सीमाओं के समान हैं। इसमें मैनहटन द्वीप और कई छोटे-छोटे समीपवर्ती द्वीप: रूज़वेल्ट द्वीप, रंडाल्स द्वीप, वार्ड्स द्वीप, गवर्नर्स द्वीप, लिबर्टी द्वीप, एलिस द्वीप, 523 यू.एस.

नई!!: कैथोलिक धर्म और मैनहटन · और देखें »

मैरी ट्यूडर, फ्रांस की रानी

मैरी ट्यूडर (18 मार्च 1496 – 25 जून 1533), 1514 में 3 महीने के लिये फ्रांस की रानी थी। वह इंग्लैंड के राजा हेनरी अष्टम की बहन थी। मैरी फ्रांस के लुई बारहवें की, जो उनसे 30 वर्ष से अधिक वरिष्ठ थे, तीसरी पत्नी बन गई। उनकी मृत्यु के बाद उन्होनें चार्ल्स ब्रैंडन, सफ़ोल्क के पहले ड्यूक से शादी कर ली। मैरी की दूसरी शादी से चार बच्चे हुए। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और मैरी ट्यूडर, फ्रांस की रानी · और देखें »

मैरी १ (स्कॉटलैंड की रानी)

कोई विवरण नहीं।

नई!!: कैथोलिक धर्म और मैरी १ (स्कॉटलैंड की रानी) · और देखें »

मैरी १, इंग्लैंड की रानी

मैरी प्रथम (18 फरवरी 1516 – 17 नवंबर 1558), इंग्लैंड और आयरलैंड की जुलाई 1553 से अपनी मृत्यु तक रानी थीं। अपने शासनकाल में प्रोटेस्टैंटों को दी गई मौत की जघन्य सजाओं ने उन्हें खूनी मैरी यानि "Bloody Mary" के नाम से भी बदनाम कर दिया। बचपन पार कर युवा होने वाली मैरी हेनरी अष्टम और उनकी पहली पत्नी एरागॉन की कैथरीन की एकमात्र संतान थीं। उनसे छोटे सौतेले भाई एडवर्ड ६ (हेनरी और जेन सेमोर के पुत्र) अपने पिता के बाद 1547 में अंग्रेजी सिंहासन के उत्तराधिकारी बने। 1553 में एडवर्ड के बीमार पड़ने पर उसने मैरी को धार्मिक मतभिन्नता की वजह से सिंहासन के उत्तराधिकार सूची से हटाने की कोशिश की। उसकी मृत्यु पर पहले उसकी बुआ लेडी जेन ग्रे को सर्वप्रथम रानी घोषित किया गया। मैरी ने पूर्वी एंग्लिया में एक सैन्य बल इकट्ठा किया और जेन को सफलतापूर्वक हटा दिया और जिसे अंतत: मौत की सजा दे दी गई। जेन के शासन के विवादत दावों साम्राज्ञी मटिल्डा के अलावा— इंग्लैंड की पहली रानी शासक थीं। 1554 में मैरी ने स्पेन के फिलिप २ से शादी करके 1556 में हैब्स्बर्ग स्पेन की पटरानी भी बनीं। ट्यूडर राजवंश के चौथे शासक के रूप में मैरी को इंग्लैंड में अपने सौतेले भाई और प्रोटेस्टैंट विचारों वाले एडवर्ड ६ के छोटे से शासनकाल के खत्म होने के बाद रोमन कैथोलिक धर्म की पुनर्स्थापना के लिये जाना जाता है। अपने पांच वर्षों के कार्यकाल के दौरान मैरी ने 280 प्रोटेस्टैंटों को जिंदा जलवा दिया। रोमन कैथोलिक धर्म का उनका पुनर्स्थापन उनकी सौतेली बहन और 1558 में उनकी मृत्यु के बाद इंग्लैंड पर राज करने वाली हेनरी व एन बोलिन की संतान एलिज़ाबेथ प्रथम ने पलट दिया। Waller, p. 16; Whitelock, p. 9 before Mary's birth, four previous pregnancies had resulted in a stillborn daughter and three short-lived or stillborn sons, including Henry, Duke of Cornwall.

नई!!: कैथोलिक धर्म और मैरी १, इंग्लैंड की रानी · और देखें »

मैरीलिन मैनसन

मैरीलिन मैनसन (पैदायशी नाम ब्रायन ह्यू वॉर्नर; जन्म 5 जनवरी 1969) एक अमेरिकी संगीतकार और कलाकार हैं जो कि अपने विवादास्पद स्टेज छवि और 'इपौनिमस' (विशिष्ट व्यक्ति विषयक) बैंड मैरीलिन मैनसन के मुख्य गायक के रूप में जाने जाते हैं। उनका स्टेज नाम अभिनेत्री मैरीलिन मनरो और अभिशस्त हत्यारे चार्ल्स मैनसन के नाम पर रखा गया था। बच्चों पर एक बुरे प्रभाव के रूप में मीडिया में दर्शाए जा रहे उनके चिरकालिक विरासत, इसके साथ-साथ उनकी प्रकटनीय उपद्रवी अंदाज़ों जिसके लिए वह मॉडलिंग करते हैं और उनके प्रगीत से जुड़े विवाद, सभी ने उनके अति सुस्पष्ट सार्वजनिक आकर्षण का मार्ग प्रशस्त कर दिया है। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और मैरीलिन मैनसन · और देखें »

मैरीलैंड

मैरीलैंड राज्य एक अमेरिकी राज्य है, जो संयुक्त राज्य अमेरिका के मध्य अटलांटिक क्षेत्र में स्थि‍त है, यह वर्जीनिया, पश्चिम वर्जीनिया की सीमा से लगा है और इसके दक्षिण और पश्चिम में कोलंबिया जिला, इसके उत्तर में पेंसिल्वेनिया और पूर्व में डेलावेयर है। कुल क्षेत्र के मामले में मैरीलैंड यूरोप के बेल्जियम देश के समकक्ष है। अमेरिकी सेंसस ब्यूरो के अनुसार अन्य राज्यों की तुलना में मैरीलैंड की घरेलू औसत आय सबसे अधिक है, 2006 में इसने नई जर्सी को पीछे छोड़ दिया; मैरीलैंड की औसत घरेलू आय 2007 में 68,080 डॉलर थी। 2009 में, मैरीलैंड ने 2008 के अपने 70,545 डॉलर की सबसे अधिक औसत आय के कारण अमेरिकी राज्यों में तीसरी बार लगातार प्रथम स्थान प्राप्त किया। मैरीलैंड ऐसा सातवां राज्य है जिसने संयुक्त राज्य अमेरिका के संविधान को अंगीकार किया और इसके तीन उपनाम पड़े, ओल्ड लाइन स्टेट, फ्री स्टेट और चेसापिक बे स्टेट नाम का भी कभी-कभी इस्तेमाल होता है। मैरीलैंड जीवन विज्ञान अनुसंधान और विकास का एक गठजोड़ है, जहां 350 से अधिक जैव प्रौद्योगिकी कंपनियां स्थित हैं, जो संयुक्त राज्य में इस क्षेत्र में मैरीलैंड को तीसरा सबसे बड़ा गठजोड़ बनाती हैं। जॉन्स हॉपकिंस यूनिवर्सिटी, जॉन्स हॉपकिन्स एप्लाइड फिजिक्स लेबोरेटरी, यूनिवर्सिटी सिस्टम ऑफ मैरीलैंड एक से अधिक परिसर, नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ हेल्थ (NIH), नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ स्टैंडर्ड्स एंड टेक्नोलॉजी(NIST), नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ मेंटल हेल्थ (NIMH), फेडरल फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन (FDA), हावर्ड हजेज मेडिकल इंस्टीट्यूट, केलेरा जीनोमिक्स कंपनी, ह्यूमन जीनोम साइंसेस (HGS), जे. क्रेग वेंटर इंस्टीट्यूट और हाल ही में अस्ट्रज़ेनेका द्वारा खरीदी गयी मेडीम्यून सहित अनुसंधान और विकास में दिलचस्पी रखने वाले संस्थान और एजेंसियां मैरीलैंड में स्थित हैं। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और मैरीलैंड · और देखें »

मेटिस लोग, कनाडा

मेटीस लोग, Métis अमेरिकी महाद्वीप के मूल निवासी हैं। वे ब्रिटिश-फ्राँसीसी पुरुषों व मूल आदिवासी महिलाओं से जन्में मिश्रित जाति के लोगों के वंशज हैं। पहले यह शब्द मेटीस सभी फर्स्ट नेशन्स और अन्य पूर्वजों की सभी मिश्रित जातियों के लिये उपयोग किया जाता था। पीढी दर पीढी पूरे कनाडा में ये फैले और इनकी संस्कृति फली फूली। बीसवीं सदी के अंत तक मेटीस लोगों को कनाडा की सरकार के द्वारा कनाडा के मूल निवासीयों के रूप में मान्यता मिली जो कि इनुईट और फर्स्ट नेशन्स के बराबर है। इनकी शुरुवाती माएँ मीक्मैक़, ऐल्गोन्क़ुइन, सॉल्टिउक्स, क्री, ओजीब्वे, मेनोमिनी या मालीसीट के मिश्रण की थीं। यूरोपीय पुरुषों से इनका संगम मैरेज एला फैकोन डुपेज यानि देशी रीति-रिवाजों के हिसाब से माना जाता था। नया फ्रांस जब ब्रिटेन के नियंत्रण में आने के बाद इन्हें अलग-२ नामों व श्रेणियों, फ्रेंच मेटीस जो कि फ्रैंकोफोन वोयेगुर पिताओं द्वारा जन्में थे और आंग्ल-मेटीस ("देशी"') जो अंग्रेजों या स्कॉट पिताओं की संताने थे, से जाना जाता था। अंग्रेज वंशजों को आधी नस्ल (हॉफ़ ब्रीड्स) और फ्रांसीसी आदिवासी वंशजों को मेटीस कहा गया। आज ये दोनों संस्कृतियाँ एक मेटीस संस्कृति में बदल चुकी हैं, जो अन्यत्र कनाडियाई मेटीस संस्कृतियों से अलग हैं। इन मिश्रित नस्ल के लोगों को विभिन्न नामों से पुकारा जाता था जिसमें से कई अब आपत्तिजनक शब्द माने जाते हैं। जैसे मिश्रित खून वाले, आधी नस्ल वाले, बोईस ब्रुलेस, बुंगी, काले स्कॉट्स और जैकेटार्स। जबकि मेटीस लोग पूरे कनाडा में पाए जाते हैं, इनके भी मूल मेटीस कनाडा के मैदानी कनाडियाई प्रेयरी क्षेत्रों में पाए जाते हैं जो कि मैनीटोबा के दक्षिणी हिस्से में पडता है।। सीमाई अमेरिकी मेटीस लोग इनके रिश्तेदार हैं। उत्तरी मिशिगन, लाल नदी घाटी और पूर्वी मोन्टाना वो इलाके हैं जहाँ उन्नीसवीं सदी के उत्तर अमेरिकी फर व्यापार की वजह से यूरोपीय लोगों और मूल आदिवासियों के बीच सबसे ज्यादा संपर्क हुआ था, इसलिये यहाँ मेटीसों की संख्या भी ज्यादा है। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और मेटिस लोग, कनाडा · और देखें »

मेल गिब्सन

मेल जेराड गिब्सन (जन्म:3 जनवरी 1956) एक अमेरिकी अभिनेता, फिल्म निर्देशक, निर्माता और पटकथा लेखक है। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और मेल गिब्सन · और देखें »

मेस्टिज़ो

मेस्टिज़ो एक स्पैनिश और पुर्तगाली (Mestiço) परिभाषिक शब्द है जिसे दक्षिण अमेरिका के पूर्व स्पैनिश साम्राज्य और पुर्तगाली साम्राज्य में स्पेनी या पुर्तगाली उपनिवेशकों और मूल अमेरिकी निवासियों की मिश्रित संतानों का उल्लेख करने के लिए प्रयोग किया जाता है। लैटिन अमेरिका की आबादी का एक बहुत बड़ा हिस्सा इस विशेष जातीय मिश्रण से उत्पन्न मेस्टिज़ो लोगों से बनता है।हिन्दी में इस प्रकार की दो भिन्न नस्ल के मिलन से उत्पन्न संतान वर्णसंकर कहलाती है। इस शब्द को कई बार गलत रूप में एशिया-प्रशान्त इलाकों के उन लोगों के लिए प्रयोग किया जाता है जो यूरोपीय और मूल निवसियों की संताने हैं। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और मेस्टिज़ो · और देखें »

मेघालय

मेघालय पूर्वोत्तर भारत का एक राज्य है। इसका अर्थ है बादलों का घर। २०१६ के अनुसार यहां की जनसंख्या ३२,११,४७४ है। मेघालय का विस्तार २२,४३० वर्ग किलोमीटर के क्षेत्र में है, जिसका लम्बाई से चौडाई अनुपात लगभग ३:१ का है। IBEF, India (2013) राज्य का दक्षिणी छोर मयमनसिंह एवं सिलहट बांग्लादेशी विभागों से लगता है, पश्चिमी ओर रंगपुर बांग्लादेशी भाग तथा उत्तर एवं पूर्वी ओर भारतीय राज्य असम से घिरा हुआ है। राज्य की राजधानी शिलांग है। भारत में ब्रिटिश राज के समय तत्कालीन ब्रिटिश शाही अधिकारियों द्वारा इसे "पूर्व का स्काटलैण्ड" की संज्ञा दी थी।Arnold P. Kaminsky and Roger D. Long (2011), India Today: An Encyclopedia of Life in the Republic,, pp.

नई!!: कैथोलिक धर्म और मेघालय · और देखें »

मॉनमाउथ हेरिटेज ट्रेल

मॉनमाउथ हेरिटेज ट्रेल (Monmouth Heritage Trail), (Llwybr Treftadaeth Trefynwy) एक पैदल मार्ग है जो दक्षिण-पूर्वी वेल्स के काउंटी नगर मॉनमाउथ के विभिन्न चयनित एतिहासिक और पारंपरिक स्थलों को आपस में जोड़ता है। वर्ष 2009 में मॉनमाउथ सिविक सोसायटी ने शहर में 24 ऐतिहासिक और दिलचस्प इमारतों व स्थलों की पहचान की। इन इमारतों में से मुख्यतः इमारत पहले से ही संयुक्त राजशाही की सूचीबद्ध इमारत थीं। 24 में से केवल तीन स्थलों—ब्लॅस्टियम (रोमन किला), डिस्पेंसरी और हेमस् मिनरल वॉटर वर्क्स—को छोड़ के सभी सूचीबद्ध हैं। इन स्थलों में से रोमन किला असल में मौजूद नहीं है परन्तु एक स्थानीय बैंक में लगी पट्टिका किले के यहाँ होने की जानकारी व उसकी स्थिति का विवरण देती है। इसके आलावा एक और स्थल, नेल्सन गार्डन, कोई इमारत नहीं अपितु एक उन्नीसवीं सदी का बागीचा है। ट्रेल पे चार इमारतें गिरजाघर हैं, जिनमें से दो एंग्लिकन सम्प्रदाय व एक-एक मेथोडिज़्म और रोमन कैथोलिक सम्प्रदायों के हैं। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और मॉनमाउथ हेरिटेज ट्रेल · और देखें »

यूरोपीय धर्मसुधार

16वीं शताब्दी के प्रारंभ में समस्त पश्चिमी यूरोप धार्मिक दृष्टि से एक था - सभी ईसाई थे; सभी रोमन काथलिक चर्च के सदस्य थे; उसकी परंपरगत शिक्षा मानते थे और धार्मिक मामलों में उसके अध्यक्ष अर्थात् रोम के पोप का शासन स्वीकार करते थे। यूरोपीय धर्मसुधार अथवा रिफॉरमेशन 16वीं शताब्दी के उस महान आंदोलन को कहते हैं जिसके फलस्वरूप पाश्चात्य ईसाइयों की यह एकता छिन्न-भिन्न हुई और प्रोटेस्टैंट धर्म का उदय हुआ। चर्च के इतिहस में समय-समय पर सुधारवादी आंदोलन होते रहे किंतु वे चर्च के धार्मिक सिद्धातों अथवा उसके शासकों को चुनौती न देकर उनके निर्देश के अनुसार ही नैतिक बुराइयों का उन्मूलन तथा धार्मिक शिक्षा का प्रचार अपना उद्देश्य मानते थे। 16वीं शताब्दी में जो सुधार का आंदोलन प्रवर्तित हुआ वह शीघ्र ही चर्च की परंपरागत शिक्षा और उसके शासकों के अधिकार, दोनों का विरोध करने लगा। धर्मसुधार आंदोलन के परिणामस्वरूप यूरोप में कैथोलिक सम्प्रदाय के साथ-साथ लूथर सम्प्रदाय, कैल्विन सम्प्रदाय, एंग्लिकन सम्प्रदाय और प्रेसबिटेरियन संप्रदाय प्रचलित हो गये। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और यूरोपीय धर्मसुधार · और देखें »

योग

पद्मासन मुद्रा में यौगिक ध्यानस्थ शिव-मूर्ति योग भारत और नेपाल में एक आध्यात्मिक प्रकिया को कहते हैं जिसमें शरीर, मन और आत्मा को एक साथ लाने (योग) का काम होता है। यह शब्द, प्रक्रिया और धारणा बौद्ध धर्म,जैन धर्म और हिंदू धर्म में ध्यान प्रक्रिया से सम्बंधित है। योग शब्द भारत से बौद्ध धर्म के साथ चीन, जापान, तिब्बत, दक्षिण पूर्व एशिया और श्री लंका में भी फैल गया है और इस समय सारे सभ्य जगत्‌ में लोग इससे परिचित हैं। इतनी प्रसिद्धि के बाद पहली बार ११ दिसंबर २०१४ को संयुक्त राष्ट्र महासभा ने प्रत्येक वर्ष २१ जून को विश्व योग दिवस के रूप में मान्यता दी है। भगवद्गीता प्रतिष्ठित ग्रंथ माना जाता है। उसमें योग शब्द का कई बार प्रयोग हुआ है, कभी अकेले और कभी सविशेषण, जैसे बुद्धियोग, संन्यासयोग, कर्मयोग। वेदोत्तर काल में भक्तियोग और हठयोग नाम भी प्रचलित हो गए हैं पतंजलि योगदर्शन में क्रियायोग शब्द देखने में आता है। पाशुपत योग और माहेश्वर योग जैसे शब्दों के भी प्रसंग मिलते है। इन सब स्थलों में योग शब्द के जो अर्थ हैं वह एक दूसरे के विरोधी हैं परंतु इस प्रकार के विभिन्न प्रयोगों को देखने से यह तो स्पष्ट हो जाता है, कि योग की परिभाषा करना कठिन कार्य है। परिभाषा ऐसी होनी चाहिए जो अव्याप्ति और अतिव्याप्ति दोषों से मुक्त हो, योग शब्द के वाच्यार्थ का ऐसा लक्षण बतला सके जो प्रत्येक प्रसंग के लिये उपयुक्त हो और योग के सिवाय किसी अन्य वस्तु के लिये उपयुक्त न हो। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और योग · और देखें »

राजकुमारी अमृत कौर

राजकुमारी अमृत कौर (२ फ़रवरी १८८९ - २ अक्टूबर १९६४) स्वतंत्र भारत की दस वर्षों तक स्वास्थ्य मंत्री थीं। वे स्वतंत्रता संग्राम सेनानी तथा सामाजिक कार्यकर्ता थीं। वे महात्मा गांधी की अनुयायी तथा १६ वर्ष तक उनकी सचिव रहीं। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और राजकुमारी अमृत कौर · और देखें »

रूसी पारम्परिक ईसाई

मोस्को का ख़्राम ख़्रिस्ता गिरजा रूसी पारम्परिक ईसाई (रूसी: Русская Православная Церковь, अंग्रेज़ी: Russian Orthodox Church) एक ईसाई समुदाय का नाम है। अधिकतर रूसी ईसाई लोग इसी सम्प्रदाय के सदस्य हैं। इसका सर्वोच्च धार्मिक नेता मोस्को का मुख्य पादरी है। यह सम्प्रदाय अन्य पूर्वी पारम्परिक ईसाई सम्प्रदायों को अपना सम्बन्धी मानती है। यह पोप के नेतृत्व वाले कैथोलिक सम्प्रदाय से बिलकुल अलग है। रूस के लगभग ६५% लोग स्वयं को इसका अनुयायी कहते हैं।, Interfax.ru, 2 मार्च 2011 Religare.ru June 6, 2007 .

नई!!: कैथोलिक धर्म और रूसी पारम्परिक ईसाई · और देखें »

रेचल वाइज़

राचेल हन्ना वेस्ज़ (" "; जन्म - 7 मार्च 1970)वेस्ज़ के जन्म के साल को लेकर परस्पर विरोधी स्रोत हैं। ब्रिटिश फ़िल्म इंस्टीट्यूट और अन्य सन् 1970 बताते हैं; गार्जियन के एक लेख में सन् 1971 बताया गया है। उनके जन्म को वेस्टमिंस्टर में सन् 1970 के मार्च के तिहाई में पंजीकृत किया गया एक अंग्रेज़ अभिनेत्री और मॉडल हैं। द ममी और द ममी रिटर्न्स फ़िल्मों में ईवलीन "ईवी" कार्नाहन-ओ'कॉनल की भूमिका निभाने के बाद उन्हें व्यापक सार्वजनिक मान्यता मिली.

नई!!: कैथोलिक धर्म और रेचल वाइज़ · और देखें »

रोम

यह लेख इटली की राजधानी एवं प्राचीन नगर 'रोम' के बारे में है। इसी नाम के अन्य नगर संयुक्त राज्य अमरीका में भी है। स्तनधारियों की त्वचा पर पाए जाने वाले कोमल बाल (en:hair) के लिये बाल देखें। इसका पर्यायवाची शब्द रोयाँ या रोआँ (बहुवचन - रोएँ) है। ---- '''रोम''' नगर की स्थिति रोम (Rome) इटली देश की राजधानी है। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और रोम · और देखें »

ला लागुना बड़ा गिरजाघर

ला लागुना बड़ा गिरजाघर (स्पैनिश: Santa Iglesia Catedral de San Cristóbal de La Laguna) स्पेन के तेनरीफ़ प्रान्त में स्थित एक रोमन कैथोलिक गिरजाघर है। ये 1904ई.

नई!!: कैथोलिक धर्म और ला लागुना बड़ा गिरजाघर · और देखें »

ला सालवादोर गिरजाघर

ला सालवादोर (स्पेनी: Catedral del Salvador) आरागोन, स्पेन में सथित एक गिरजाघर है। 8 जून 1931 को इसको बीएन दे इन्तेरेस कुल्तूराल (सांस्कृतिक एवं राष्ट्रीय स्मारक) घोषित किया गया। इह विश्व विरासत स्थान आरागोन की मुदेखार निर्माण कला का एक हिस्सा है। यह गिरजाघर पलासा दे ला सिओ में सथित है और इसको आम तौर पे ला सिओ भी कहा जाता है। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और ला सालवादोर गिरजाघर · और देखें »

लातिन भाषा

लातीना (Latina लातीना) प्राचीन रोमन साम्राज्य और प्राचीन रोमन धर्म की राजभाषा थी। आज ये एक मृत भाषा है, लेकिन फिर भी रोमन कैथोलिक चर्च की धर्मभाषा और वैटिकन सिटी शहर की राजभाषा है। ये एक शास्त्रीय भाषा है, संस्कृत की ही तरह, जिससे ये बहुत ज़्यादा मेल खाती है। लातीना हिन्द-यूरोपीय भाषा-परिवार की रोमांस शाखा में आती है। इसी से फ़्रांसिसी, इतालवी, स्पैनिश, रोमानियाई और पुर्तगाली भाषाओं का उद्गम हुआ है (पर अंग्रेज़ी का नहीं)। यूरोप में ईसाई धर्म के प्रभुत्व की वजह से लातीना मध्ययुगीन और पूर्व-आधुनिक कालों में लगभग सारे यूरोप की अंतर्राष्ट्रीय भाषा थी, जिसमें समस्त धर्म, विज्ञान, उच्च साहित्य, दर्शन और गणित की किताबें लिखी जाती थीं। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और लातिन भाषा · और देखें »

लातविया

लातविया या लातविया गणराज्य (लातवियाई: Latvijas Republika) उत्तरपूर्वी यूरोप में स्थित एक देश है और उन तीन बाल्टिक गणराज्यों में से एक है जिनका द्वितीय विश्व युद्ध के बाद भूतपूर्व सोवियत संघ में विलय कर दिया गया। इसकी सीमाएं लिथुआनिया, एस्टोनिया, बेलारूस और रूस से मिलती हैं। यह आकार की दृष्टि से एक छोटा देश है और इसका कुल क्षेत्रफल ६४,५८९ वर्ग किमी और जनसंख्या २२,३१,५० (२००९) है। लातविया की राजधानी है रीगा जिसकी अनुमानित जनसंख्या है ८,२६,०००। कुल जनसंख्या का ६०% लातवियाई मूल के नागरिक है और लगभग ३०% लोग रूसी मूल के हैं। यहाँ की आधिकारिक भाषा है लातवियाई, जो बाल्टिक भाषा परिवार से है। यहाँ की आधिकारिक मुद्रा है लात्स। लात्विया को १९९१ में सोवियत संघ से स्वतंत्रता मिली थी। १ मई, २००४ को लातविया यूरोपीय संघ का सदस्य बना। यहाँ के वर्तमान राष्ट्रपति हैं - वाल्डिस ज़ाट्लर्स। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और लातविया · और देखें »

लिओन पनेटा

लिओन एडवर्ड पनेटा (जन्म जून 28, 1938) एक अमेरिकी राजनीतिज्ञ, वकील और प्रोफेसर हैं। इन्होंने राष्ट्रपति बराक ओबामा के कार्यकाल में २००९ से २०११ तक अमेरिकी खुफिया संस्था सेंट्रल इंटेलीजेंस एजेंसी के निदेशक और २०११ से २०१३ तक रक्षा सचिव की बेहद महत्वपूर्ण भूमिकाएँ निभाईं। पनेटा १९७७ से १९९३ तक संयुक्त राज्य अमेरिका की संसद (हाउस ऑफ़ रिप्रज़ेन्टेटिव्स) के सदस्य रहे। १९९३-९४ बजट प्रबंधन कार्यालय के निदेशक और १९९४ से ९७ तक तत्कालीन राष्ट्रपति बिल क्लिंटन के कार्यालय के अध्यक्ष (चीफ़ ऑफ़ स्टॉफ़) रहे। वह पनेटा स्कूल ऑफ़ पब्लिक पॉलिसी (जन नीति विद्यालय) के संस्थापक हैं और सांता क्लारा विश्वविद्यालय में जन नीति के प्रोफेसर हैं। जनवरी 2009 में, तत्कालीन राष्ट्रपति बराक ओबामा ने पनेटा को सीआईए निदेशक के पद पर नियुक्त करने की घोषणा की। अमेरिकी सीनेट ने पनेटा के नियुक्ति को फरवरी २००९ में मंजूरी दी। निदेशक पद पर अपने कार्यकाल के दौरान पनेटा ने पाकिस्तान में ओसामा बिन लादेन को मारने के लिये चलाये गये सैन्य अभियान का सफल संचालन किया। रॉबर्ट गेट्स के पदच्युत होने के बाद 28 अप्रैल, 2011 को ओबाम ने पनेटा के रक्षा मंत्री पद पर नियुक्ति की घोषणा की। जून में सीनेट ने पनेटा को एकमत से रक्षामंत्री का पदभार दे दिया जिसे उन्होंने 1 जुलाई, 2011 को ग्रहण किया। उनके बाद ६ सितंबर, २०११ को डेविड पेट्रियस सेंट्रल इंटीलिजेंस एजेंसी के अगले निदेशक चुने गये। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और लिओन पनेटा · और देखें »

लक्ज़मबर्ग

लक्सेम्बर्ग (लक्सेम्बर्गी: Groussherzogtum Lëtzebuerg, फ़्राँसिसी: Grand-Duché de Luxembourg, जर्मन: Großherzogtum Luxemburg) यूरोप महाद्वीप में स्थित एक देश है। इसकी राजधानी है लक्सेम्बर्ग शहर। इसकी मुख्य- और राजभाषाएँ हैं जर्मन भाषा, फ़्राँसिसी भाषा और लक्सेम्बर्गी भाषा। इसके शासक एक राजा-समान ग्रैंड ड्यूक हैं। लक्जमबर्ग पश्चिम यूरोप का एक छोटा सा देश है। यह बेल्जियम, फ्रांस और जर्मनी से घिरा हुआ है। लक्जमबर्ग का क्षेत्रफल 2586 वर्ग किलोमीटर है, जबकि जनसंख्या पांच लाख के करीब है। लक्जमबर्ग में संसदीय लोकतांत्रिक व्यवस्था है, जबकि संवैधानिक रूप से राजा सर्वोच्च होता है। लक्जमबर्ग एक विकसित देश है, जहां प्रतिव्यक्ति सकल घरेलू उत्पाद यानी जीडीपी सबसे ज्यादा है। लक्जमबर्ग यूरोपीय संघ, नाटो, संयुक्त राष्ट्र संघ, यूरोपीय संघ और ओईसीडी का संस्थापक सदस्य है, जो देश में आर्थिक, राजनीतिक और सैन्य एकीकरण पर सर्वसम्मति को दर्शाता है। सांस्कृति रूप से लक्जमबर्ग ने रोमन यूरोप और जर्मन यूरोप की सांस्कृतिक विशेषताओं को अपनाया है। यहां जर्मन, फ्रेंच और लक्जमबर्गीस भाषाएं बोली जाती है और ये तीनों ही इसकी आधिकारिक भाषा है। धर्मनिरपेक्ष होने के बावजूद, लक्जमबर्ग रोमन कैथोलिक का प्रभाववाला देश है। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और लक्ज़मबर्ग · और देखें »

लुईस हैमिल्टन

लुईस कार्ल डेविडसन हैमिल्टन MBE (इंग्लैंड के हर्टफोर्डशायर के स्टेवेनेज में 7 जनवरी 1985 में जन्म) फॉर्मूला वन रेसिंग के ब्रिटिश ड्राइवर हैं, जो वर्तमान में मैकलेरन मर्सिडीज टीम के लिए रेसिंग करते हैं और फार्मुला वन के आज तक के सबसे युवा विश्व चैम्पियन हैं। दस वर्ष की उम्र में हैमिल्टन ने ऑटोस्पोर्ट पुरस्कार समारोह में मैकलेरन टीम के प्रमुख रोन डेनिस से संपर्क किया और उनसे कहा कि, "एक दिन मैं आपके लिए रेस करना चाहता हूं...मैं मैकलेरन के लिए रेस करना चाहता हूं.

नई!!: कैथोलिक धर्म और लुईस हैमिल्टन · और देखें »

लुगो बड़ा गिरजाघर

View with the bell tower and the Gothic-style rear, featuring buttresses. Rear view. सेंट मेरी गिरजाघर (गैलिशियन भाषा: Catedral de Santa María), जिसे लुगो बड़ा गिरजाघर भी कहा जाता है, एक रोमन कैथोलिक गिरजाघर है। ये स्पेन में गालीसीआ के लुगो शहर में स्थित है। इसे 12सदी में बनाना शुरू किया गया। इसे रोमानिस्किऊ शैली में बनाना शुरू किया गया था लेकिन इसके निर्माण के दौरान इसमें बारोक, नवीन-कल्सिकी और पुनर्जागरण शैली के भी अध्याय मिलते हैं। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और लुगो बड़ा गिरजाघर · और देखें »

लेओन बड़ा गिरजाघर

लेओन बड़ा गिरजाघर (The House of Light or the Pulchra Leonina) को सांता मारीआ दे लेओन भी कहा जाता है। ये स्पेन के लीओन शहर में स्थित है। इस से पहिले यहाँ रोमन इशनानघर स्थित थे। राजा ओरदोने दुसरे ने इसे महिल में तब्दील कर दिया। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और लेओन बड़ा गिरजाघर · और देखें »

लेक केजिंसकी

लेक अलेकसांदर कैज़िंस्की (पोलिश: Lech Kaczyński,; १८ जून १९४९ – १० अप्रैल २०१०) २००५ से २०१० तक पोलैंड के राष्ट्रपति रहे। इसके अलावा ये २००२ से २२ दिसम्बर २००५ को राष्ट्रपति बनने से एक दिन पूर्व तक लॉ एण्ड जस्टिस पार्टी के राजनैतिक नेता रहे। इनकी १० अप्रैल, २०१० को रूस में एक विमान दुर्घटना में मृत्यु हो गयी थी। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और लेक केजिंसकी · और देखें »

शहबाज़ भट्टी

शहबाज़ भट्टी (9 सितंबर 1968 - 2 मार्च 2011), पाकिस्तानी रोमन कैथोलिक, जो पाकिस्तान पीपल्ज़ पार्टी से जुड़े एवं अल्पसंख्यक मामलों के संघीय मंत्री थे। निन्दा क़ानून के विरोध करने के वजह से उसकी इस्लामाबाद नगर में हत्या की गई थी। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और शहबाज़ भट्टी · और देखें »

शांतिदूत एडगर

एडगर प्रथम (Ēadgār; 943 – 8 जुलाई 975), जिसे शांतिदूत एडगर (Edgar the Peaceful or the Peaceable), के नाम से भी जाना जाता है, सन ९५९ से ९७५ ई.पू.

नई!!: कैथोलिक धर्म और शांतिदूत एडगर · और देखें »

शीला केये-स्मिथ

200px शीला केये-स्मिथ (४ फरवरी १८८७- १४ जनवरी १९५६) एक अंग्रेज़ी लेखिका थी। क्शेत्रीय परंपरा में ससेक्स और केंट की सीमाओं पर रचित उनके उपन्यास केलिये वे जाने जाते हैं। १९२३ में लिखित "दी एंड ऑफ द हाउस ऑफ अलार्ड" पुस्तक ने उनको प्रसिद्धी दी। इसके बाद उसको बहुत सफलताएँ मिली और इनकी पुस्तकों ने दुनिया भर में बिक्री का आनंद लिया। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और शीला केये-स्मिथ · और देखें »

समाजशास्त्र

समाजशास्त्र मानव समाज का अध्ययन है। यह सामाजिक विज्ञान की एक शाखा है, जो मानवीय सामाजिक संरचना और गतिविधियों से संबंधित जानकारी को परिष्कृत करने और उनका विकास करने के लिए, अनुभवजन्य विवेचनगिडेंस, एंथोनी, डनेर, मिशेल, एप्पल बाम, रिचर्ड.

नई!!: कैथोलिक धर्म और समाजशास्त्र · और देखें »

सम्प्रदाय

एक ही धर्म की अलग अलग परम्परा या विचारधारा मानने वालें वर्गों को सम्प्रदाय कहते है। सम्प्रदाय हिंदू, बौद्ध, ईसाई, जैन, इस्लाम आदी धर्मों में मौजूद है। सम्प्रदाय के अन्तर्गत गुरु-शिष्य परम्परा चलती है जो गुरु द्वारा प्रतिपादित परम्परा को पुष्ट करती है। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और सम्प्रदाय · और देखें »

सात घातक पाप

हैरोनिमस बॉश कि द सेवेन डेडली सिंस ऐंड फोर लास्ट थिंग्स "जीव हत्या" सबसे बड़ा पाप हैं, अनावश्यक हरे पेड़ों को काटना भी पाप हैं। इसके बाद इन्सान की मानसिकता के सात घातक पाप जो प्रधान पापाचरणों या कार्डिनल पापों के रूप में भी जाने जाते हैं, सर्वाधिक आपत्तिजनक बुराइयों का एक वर्गीकरण है जो मानवता की पाप के प्रति (अनैतिक) झुकाव की प्रकृति से संबंधित अनुयायियों को शिक्षित करने तथा उपदेश देने के लिए क्रिश्चियन समय से ही प्रयुक्त होता रहा है। सूची के अंतिम संस्करण में क्रोध, लोभ, आलस, अभिमान, वासना, ईर्ष्या एवं लालच निहित हैं। कैथोलिक चर्च ने पाप को दो प्रमुख वर्गों में विभक्त किया है: "क्षम्य पाप", जो अपेक्षाकृत क्षुद्र होते हैं और किसी भी प्रकार के संस्कारिक नियमों अथवा चर्च के परम प्रसाद संस्कार ग्रहण के माध्यम से क्षमा किए जा सकते हैं एवं जितने अधिक "घातक" या नश्वर पाप होंगे उतने ही अधिक संगीन होंगे.

नई!!: कैथोलिक धर्म और सात घातक पाप · और देखें »

सान पेद्रो दे नोरा गिरजाघर

सान पेद्रो दे नोरा गिरजाघर (स्पैनिश: Iglesia de San Pedro de Nora) एक रोमन कैथोलिक गिरजाघर है। ये पूर्व रोमानिस्किऊ शैली में बनी हुई है। ये स्पेन में रास रेगुलास खुदमुख्तिआर समुदय में स्थित है। ये स्पेन में नोरा नदी के पास स्थित है जो ओविएदो शहर से 12 किलोमीटर दूर स्थित है। इस गिरजाघर का पता पहिली बार अलफोंसो तीसरे के दस्तावेजों से लगा। ये गिरजाघर सान जूलिया दे लोस प्रादोस गिरजाघर से समरूपता रखता है। माना जाता है कि इसे अलफोंसो दुसरे के समय में बनाया गया। इसे 1931ई.

नई!!: कैथोलिक धर्म और सान पेद्रो दे नोरा गिरजाघर · और देखें »

सान पेद्रो दे खाका बड़ा गिरजाघर

सान पेद्रो दे खाका बड़ा गिरजाघर (स्पैनिश: Catedral de San Pedro Apóstol) स्पेन के हुएसका प्रान्त में खाका शहर में स्थित है। ये एक रोमन कैथोलिक गिरजाघर है। ये अरगोन में रोमानिस्किऊ शैली में बना पहला गिरजाघर है। ये इबेरिया प्रायद्वीप का सबसे पुराना गिरजाघर है। इसकी वर्तमान हालत इसमें धीरे धीरे सुधार करने के बाद बनी। ये गिरजाघर राजा सांको रमीरेज़ की इछा पे बनाया गया था। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और सान पेद्रो दे खाका बड़ा गिरजाघर · और देखें »

सामूहिक पूजन

सामूहिक पूजन (अंग्रेज़ी: liturgy) किसी धार्मिक समुदाय के लोगों द्वारा अपनी मान्यताओं के अनुसार पारम्परिक व औपचारिक रूप से मंदिर या किसी अन्य सार्वजनिक स्थान पर एकत्रित होकर पूजा समारोह में भाग लेने की क्रिया को कहते हैं। कई धार्मिक सम्प्रदायों में इसका बहुत महत्व होता है। मसलन कैथोलिक ईसाई मत में "मॉस" (mass) प्रचलित है जिसमें अनुयायी किसी गिरजे में सभा बनाकर एक पादरी के नेतृत्व में पूजा करते हैं। इसी तरह आर्य समाज में हवन और अन्य हिन्दू समुदायों में सामूहिक पूजा, भजन व कीर्तन होता है। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और सामूहिक पूजन · और देखें »

सारा पॉलिन

सारा लुईस पॉलिन (पूर्वकुलनाम - हीथ; जन्म - 11 फ़रवरी 1964) एक अमेरिकी राजनेत्री, लेखिका, वक्ता और राजनीतिक समाचारों की भाष्यकार हैं जो अलास्का की गवर्नर निर्वाचित होने वाली अब तक की सबसे युवा व्यक्ति और पहली महिला थी। उन्होंने 2006 से 2009 में इस्तीफ़ा देने तक गवर्नर के रूप में अपनी सेवा प्रदान की। अगस्त 2008 के राष्ट्रपति चुनाव में रिपब्लिकन पार्टी के राष्ट्रपति पद के प्रार्थी जॉन मैककेन द्वारा उसी वर्ष के राष्ट्रपति पद के चुनाव में उनके साथी उम्मीदवार के रूप में चुनी जाने वाली पॉलिन एक बहुमत पार्टी के राष्ट्रीय टिकट की पहली अलास्कन उमीदवार के साथ-साथ रिपब्लिकन पार्टी की तरफ से उप-राष्ट्रपति पद की पहली महिला उम्मीदवार थी। 3 जुलाई 2009 को पॉलिन ने घोषणा की कि वह गवर्नर के रूप में फिर से निर्वाचित होने की मांग नहीं करेगी और साथ में यह भी कहा कि अपने कार्यकाल के पूरे होने से अठारह महीने पहले 26 जुलाई 2009 को प्रभावी रूप से इस्तीफ़ा देने वाली है। उन्होंने नैतिकता की शिकायतों का उदाहरण प्रस्तुत किया जिसे जॉन मैककेन की साथी उम्मीदवार के रूप में उनके चुने जाने के बाद दायर किया गया था जो उनकी इस्तीफ़ा के कई कारणों में से एक कारण था, उन्होंने कहा कि राज्य का शासन-कार्य करने की उनकी क्षमता पर इस परिणामी जांच-पड़ताल का काफी असर पड़ा था। 2008 में मैककेन-पॉलिन टिकट की हार से पहले यह अटकलबाज़ी शुरू हो गई थी कि वह रिपब्लिकन पार्टी की तरफ से 2012 में राष्ट्रपति पद के नामांकन के लिए खड़ी होगी। फरवरी 2010 में उन्होंने अपने बयान में कहा कि वह इसकी सम्भावना का विकल्प खुला रखेंगी.

नई!!: कैथोलिक धर्म और सारा पॉलिन · और देखें »

साल, केप वर्दे

साल (Sal) अटलांटिक महासागर में स्थित केप वर्दे द्वीपसमूह के उत्तरी बारलावेन्तो (Barlavento) उपसमूह में स्थित एक द्वीप है। इसका नाम पुर्तगाली भाषा के 'साल' शब्द से आया है जिसका अर्थ नमक है। साल द्वीप के पूर्वी तट के समीप पेदरा दे लूमे (Pedra de Lume) कई सौ वर्षों से एक नमक की खान चल रही है जिसपर द्वीप का नाम पड़ा है। साल द्वीप के मध्य में अमिलकार काबराल अंतरराष्ट्रीय विमानक्षेत्र (Amílcar Cabral International Airport) है जो केप वर्दे का मुख्य हवाई अड्डा है। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और साल, केप वर्दे · और देखें »

सांता मारिया देल नारांको

सांता मारिया देल नारांको गिरजाघर (Iglesia de Santa María del Naranco; Ilesia de Santa María'l Narancu) ओविएदो, स्पेन से 3 किलोमीटर की दूरी पर नारांको पहाड़ी के ऊपर स्थित एक रोमन कैथोलिक पूर्व-रोमांस्क गिरजाघर है। आस्तूरियास के रामीरो पहिले ने इसको एक शाही महिल के तौर पर बनवाने का हुक्म दिया था जिसमें 100 मीटर की दूरी पर स्थित सान मिगुएल दे लियो गिरजाघर भी शामिल था। इसका निर्माण 848 में पूरी हूई थी। दसंबर 1985 में इसको यूनेस्को द्वारा विश्व विरासत स्थान घोषित किया गया। इसको 1885 में बीएन दे इन्तेरेस कुल्तूराल घोषित किया गया। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और सांता मारिया देल नारांको · और देखें »

सांता क्रिस्तीना दे लेना

सांता क्रिस्तीना दे लेना (Santa Cristina de Lena) एक रोमन कैथोलिक पूर्व-रोमांस्क गिरजाघर है जो लेना नगरपालिका में स्थित है। यह ओविएदो, स्पेन से पुराणी सड़क के ऊपर 25 किलोमीटर की दूरी पर है। में बिएन दे इंतेरेस कल्चरल की सूची में लाया गया था।.

नई!!: कैथोलिक धर्म और सांता क्रिस्तीना दे लेना · और देखें »

सांतीआगो दे कोमपोसतेला बड़ा गिरजाघर

सांतीआगो दे कोमपोस्तेला बड़ा गिरजाघर (गालिसियन: Catedral de Santiago de Compostela) विश्व विरासत स्थान सांतीआगो दे कोमपोसतेला में स्थित एक बड़ा गिरजाघर है। यहाँ संत जेम्स को दफनाया गया था जो ईसा मसीह के प्रचारकों में से एक थे। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और सांतीआगो दे कोमपोसतेला बड़ा गिरजाघर · और देखें »

संत मिछैल बासिलिसका

संत मिछैल बासिलिसका (Basílica Pontificia de San Miguel) एक बारोक रोमन कैथोलिक गिरजाघर और छोटी बासिलिसका है जो केंद्री माद्रीद, स्पेन में स्थित है। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और संत मिछैल बासिलिसका · और देखें »

संततिनिरोध

जन्म नियंत्रण को गर्भनिरोध और प्रजनन क्षमता नियंत्रण के नाम से भी जाना है ये गर्भधारण को रोकने के लिए विधियां या उपकरण हैं। जन्म नियंत्रण की योजना, प्रावधान और उपयोग को परिवार नियोजन कहा जाता है। सुरक्षित यौन संबंध, जैसे पुरुष या महिला निरोध का उपयोग भीयौन संचरित संक्रमण को रोकने में भी मदद कर सकता है। जन्म नियंत्रण विधियों का इस्तेमाल प्राचीन काल से किया जा रहा है, लेकिन प्रभावी और सुरक्षित तरीके केवल 20 वीं शताब्दी में उपलब्ध हुए। कुछ संस्कृतियां जान-बूझकर गर्भनिरोधक का उपयोग सीमित कर देती हैं क्योंकि वे इसे नैतिक या राजनीतिक रूप से अनुपयुक्त मानती हैं। जन्म नियंत्रण की प्रभावशाली विधियां पुरूषों मेंपुरूष नसबंदी के माध्यम से नसबंदी और महिलाओं में ट्यूबल लिंगेशन, अंतर्गर्भाशयी युक्ति (आईयूडी) और प्रत्यारोपण योग्य गर्भ निरोधकहैं। -->इसे मौखिक गोलियों, पैचों, योनिक रिंग और इंजेक्शनों सहित अनेकोंहार्मोनल गर्भनिरोधकोंद्वारा इसे अपनाया जाता है। --> कम प्रभावी विधियों में बाधा जैसे कि निरोध, डायाफ्रामऔर गर्भनिरोधक स्पंज और प्रजनन जागरूकता विधियां शामिल हैं। --> बहुत कम प्रभावी विधियां स्पर्मीसाइडऔर स्खलन से पहले निकासी। --> नसबंदी के अत्यधिक प्रभावी होने पर भी यह आम तौर पर प्रतिवर्ती नहीं है; बाकी सभी तरीके प्रतिवर्ती हैं, उन्हें जल्दी से रोका जा सकता हैं। आपातकालीन जन्म नियंत्रण असुरक्षित यौन संबंधों के कुछ दिन बाद की गर्भावस्था से बचा सकता है। नए मामलों में जन्म नियंत्रण के रूप में यौन संबंध से परहेज लेकिन जब इसे गर्भनिरोध शिक्षा के बिना दिया जाता है तो यहकेवल-परहेज़ यौन शिक्षा किशोरियों में गर्भावस्थाएँ बढ़ा सकती है। किशोरोंमें गर्भावस्था में खराब नतीजों के खतरे होते हैं। --> व्यापक यौन शिक्षा और जन्म नियंत्रण विधियों का प्रयोग इस आयु समूह में अनचाही गर्भावस्थाओं को कम करता है। जबकि जन्म नियंत्रण के सभी रूपों युवा लोगों द्वारा प्रयोग किया जा सकता है, दीर्घकालीन क्रियाशील प्रतिवर्ती जन्म नियंत्रण जैसे प्रत्यारोपण, आईयूडी, या योनि रिंग्स का किशोर गर्भावस्था की दरों को कम करने में विशेष रूप से फायदा मिलता हैं। प्रसव के बाद, एक औरत जो विशेष रूप से स्तनपान नहीं करवा रही है, वह चार से छह सप्ताह के भीतर दोबारा गर्भवती हो सकती है।--> जन्म नियंत्रण की कुछ विधियों को जन्म के तुरंत बाद शुरू किया जा सकता है, जबकि अन्य के लिए छह महीनों तक की देरी जरूरी होती है।--> केवल स्तनपान करवाने वाली प्रोजैस्टिन महिलाओं में ही संयुक्त मौखिक गर्भनिरोधकों के प्रयोग को ज्यादा पसंद किया जाता हैं।--> वे सहिलाएं जिन्हे रजोनिवृत्ति हो गई है, उन्हे अंतिम मासिक धर्म से लगातार एक साल तक जन्म नियंत्रण विधियां अपनाने की सिफारिश की जाती है। विकासशील देशों में लगभग 222 मिलियन महिलाएं ऐसी हैं जो गर्भावस्था से बचना चाहती हैं लेकिन आधुनिक जन्म नियंत्रण विधि का प्रयोग नहीं कर रही हैं। विकासशील देशों में गर्भनिरोध के प्रयोग से मातृत्व मृत्यु में 40% (2008 में लगभग 270,000 लोगों को मौत से बचाया गया) की कमी आयी है और यदि गर्भनिरोध की मांग को पूरा किया जाए तो 70% तक मौतों को रोका जा सकता है। गर्भधारण के बीच लम्बी अवधि से जन्म नियंत्रण व्यस्क महिलाओं के प्रसव के परिणामों और उनके बच्चों उत्तरजीविता में सुधार करेगा। जन्म नियंत्रण के ज्यादा से ज्यादा उपयोग से विकासशील देशों में महिलाओं की आय, संपत्तियों, वजन और उनके बच्चों की स्कूली शिक्षा और स्वास्थ्य सभी में सुधार होगा। कम आश्रित बच्चों, कार्य में महिलाओं की ज्यादा भागीदारी और दुर्लभ संसाधनों की कम खपत के कारण जन्म नियंत्रण, आर्थिक विकास को बढ़ाता है। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और संततिनिरोध · और देखें »

संतनदेर बड़ा गिरजाघर

संतनदेर बड़ा गिरजाघर (स्पैनिश: Catedral de Nuestra Señora de la Asunción de Santander, or "Cathedral Basilica of the Assumption of the Virgin Mary of Santander") स्पेन में संतनदेर शहर में स्थित है। इसे गोथिक शैली में बनाया गया है। हालांकि इसमें बाद में सुधार होता रहा है। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और संतनदेर बड़ा गिरजाघर · और देखें »

संत्यागो गिरजाघर

संत्यागो गिरजाघर (Catedral de Santiago; Donejakue Katedrala) बिलबाओ शहर में एक कैथलिक गिरजाघर जिसे 1950 से और भी महत्वपूर्ण माना गया है। इसका सबसे पूर्व निर्माण 1300 में हुआ था जब बिलबाओ केवल मछवारों के लिए निवास स्थान का दर्जा रखता था। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और संत्यागो गिरजाघर · और देखें »

संयुक्त राजशाही का शाही कुलांक

250px यूनाइटेड किंगडम का शाही कुल-चिन्ह (Royal coat of arms of the United Kingdom) ब्रिटिश सम्राट, वर्तमान समय में एलिज़ाबेथ द्वितीय, का आधिकारिक कुल-चिन्ह है। यह चिन्ह महारानी द्वारा यूनाइटेड किंगडम सभी आधिकारिक प्रयोजनों में प्रयोग में लाया जाता है, तथा इसे आधिकारिक तौर पर आर्म्स ऑफ़ डोमिनियन (Arms of Dominion) के नाम से जाना जाता है। इस चिन्ह से प्रेरित कई प्रकार के चिन्ह शाही परिवार के अन्य सदस्य और ब्रिटिश सरकार देश से सम्बन्धित अपने प्रशासनिक कार्यो में इस्तेमाल करती है। स्कॉटलैंड में इसका एक अलग संस्करण इस्तेमाल किया जाता है तथा उस से प्रेरित एक अन्य चिन्ह को स्कॉटिश सरकार इस्तेमाल करती है। शाही चिन्ह की ढाल चार भागों में बटी हुई है, जिस के पहले व चौथे भाग में इंग्लैंड का प्रतिनिधित्व करते हुए तीन अंग्रेज़ी शेर हैं, दूसरे भाग में फूलों की मेंड़ के साथ स्कॉटलैंड का प्रतिनिधित्व करता हुआ अनियंत्रित शेर है तथा तीसरे भाग में उत्तरी आयरलैंड का प्रतिनिधित्व करता हुआ क्लैरसच (हार्प) है। ढाल को शाही मुकुट पहने हुए अंग्रेज़ी शेर और जंजीर से बंधे स्कॉटिश यूनिकॉर्न ने संभाला हुआ है। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और संयुक्त राजशाही का शाही कुलांक · और देखें »

संयुक्त राज्य के राष्ट्रपतियों की सूची

संयुक्त राज्य के संविधान के मुताबिक, राष्ट्रपति देश और सरकार दोनों का प्रमुख है। देश की कार्यकारिणी शाखा और संघीय सरकार के मुखिया के रूप में राष्ट्रपति पद प्रभाव और मान्यता द्वारा संयुक्त राज्य अमेरिका में सर्वोच्च राजनीतिक पद है। राष्ट्रपति संयुक्त राज्य अमेरिका के सशस्त्र बलों का प्रमुख भी है। राष्ट्रपति परोक्ष रूप से एक निर्वाचक मंडल द्वारा चार साल के कार्यकाल के लिए चुना जाता है (या प्रतिनिधि सभा द्वारा अगर निर्वाचक मंडल किसी भी व्यक्ति को बहुमत नहीं देता है)। १९५१ में संयुक्त राज्य अमेरिका के संविधान में बाईसवें (22) संशोधन के बाद से कोई भी व्यक्ति दो बार से अधिक राष्ट्रपति निर्वाचित नहीं किया जा सकता है और कोई भी जिसने दो साल से ज़्यादा राष्ट्रपति का कार्यभार संभाला है जब कोई और निर्वाचित हुआ था (हत्या, मृत्यु या पद त्याग के कारण), एक से अधिक बार चुने नहीं जा सकते हैं। अगर कोई अवलंबी राष्ट्रपति कार्यालय के बीच में पद त्याग देता है या उन्हें हटा दिया जाता है या उनकी मृत्यु हो जा जाती है, इस परिस्थिति में उपराष्ट्रपति उनका पद संभाल लेता है। किसी व्यक्ति को राष्ट्रपति बनने के लिये 35 या उससे अधिक वर्ष का होना जरूरी है, न्यूनतम 14 साल वो संयुक्त राज्य अमेरिका में रहे हों और वो "प्राकृतिक रूप से जन्मे" अमेरिका के नागरिक हो। आज तक 43 व्यक्ति राष्ट्रपति पद पर आसीन हुये हैं और 44 कार्यकाल हुये हैं, चूंकि ग्रोवर क्लीवलाण्ड गैरलगातार दो बार राष्ट्रपति बने थे। राष्ट्रपति के रूप में निर्वाचित व्यक्तियों में से चार लोगो की कार्यालय अवधि में मृत्यु हो गयी थी (विलियम हेनरी हैरिसन, ज़ेकरी टेलर, वारेन हार्डिंग, और फ्रेंकलिन रोज़वेल्ट), चार की हत्या कर दी गयी (अब्राहम लिंकन,Martin, Paul, Smithsonian Magazine, April 8, 2010, Retrieved November 15, 2010 जेम्स गार्फील्ड, विलियम मकिन्ली, और जाह्न केनेडी) और एक ने इस्तीफ़ा दे दिया (रिचर्ड निक्सन)। जार्ज वाशिंगटन 1789 में निर्वाचन मंडल के सर्वसम्मत वोट के बाद सबसे पहले राष्ट्रपति बने थे। विलियम हेनरी हैरिसन 1841 में केवल 32 दिन इस पद पर रहे थे, जो किसी भी राष्ट्रपति का सबसे छोटा कार्यकाल है। फ्रेंकलिन रोज़वेल्ट बारह से अधिक वर्षो तक इस पद पर रहे जो सबसे बड़ा कार्यकाल है, पर जल्द ही उनकी अपने चौथे कार्यकाल में मृत्यु हो गयी; वो अकेले राष्ट्रपति है जो इस पद पर दो बार से ज़्यादा चुने गये हैं। जाह्न केनेडी अकेले राष्ट्रपति रहे हैं जिनका धर्म रोमन कैथोलिक था (दूसरे या तो प्रोटेस्टैंट थे या नास्तिक) और निवर्तमान राष्ट्रपति बराक ओबामा, अफ्रीकी मूल के पहले राष्ट्रपति थे, अमेरिका के वर्तमान राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प हैं। इस सूची में अमेरिका की मौजूदा सरकार के राष्ट्रपति के नाम है जो 1789 में अस्तित्व में आयी थी, हालांकि इससे पहले भी संयुक्त राज्य में सरकार रही है। इसके अलावा गृहयुद्ध के दौरान एक और राष्ट्रपति नामक पद था जो अपने अस्तित्व के दौरान केवल एक व्यक्ति के पास रहा। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और संयुक्त राज्य के राष्ट्रपतियों की सूची · और देखें »

स्वामी कन्नू पिल्लै

दीवान बहादुर लेविस डोमिनिक स्वामी कन्नू पिळ्ळै (L.D. SWAMIKANNU PILLAI) भारतीय राजनीतिज्ञ, इतिहासज्ञ, भाषाशास्त्री, गणितज्योतिषी एवं प्रशासक थे। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और स्वामी कन्नू पिल्लै · और देखें »

सैन होज़े, कैलिफोर्निया

सैन होज़े (जिसका स्पेनिश में अर्थ है - सेंट जोसफ) कैलिफोर्निया का तीसरा सबसे बड़ा शहर, संयुक्त राज्य अमेरिका का दसवां सबसे बड़ा शहर और सांता क्लारा काउंटी का काउंटी सीट है। यह देश के 31वें सबसे बड़े महानगरीय क्षेत्र का एक ऐंकर है जो सैन फ्रांसिस्को खाड़ी के दक्षिणी छोर पर स्थित है। सैन होज़े कभी एक छोटा सा कृषि शहर था जहां 1950 के दशक से अब तक बड़ी तेज़ी से विकास हुआ है। जनसंख्या, भूमि क्षेत्र, एवं औद्योगिक विकास की दृष्टि से सैन होज़े खाड़ी क्षेत्र का सबसे बड़ा शहर है। 1 जनवरी 2010 तक इसकी अनुमानित जनसंख्या 1,023,083 थी। सैन होज़े की नींव 29 नवम्बर 1777 को नुएवा कैलिफोर्निया के स्पेनिश कॉलोनी के पहले कस्बे, एल पुएब्लो डी सैन होज़े डी ग्वाडालूप (El पुएब्लो de San José de Guadalupe), के रूप में रखी गई, जो बाद में अल्टा कैलिफोर्निया बना.

नई!!: कैथोलिक धर्म और सैन होज़े, कैलिफोर्निया · और देखें »

सेबिया गिरजाघर

सेबिया गिरजाघर (अंग्रेज़ीCathedral of Saint Mary of the See, स्पैनिश: Catedral de Santa María de la Sede) एक रोमन कैथोलिक गिरजाघर है। ये सेबिया आंदालुसिया स्पेन में स्थित है। ये गोथिक अंदाज़ का सबसे बड़ा और संसार का तीसरा बड़ा गिरजाघर है। विश्व में यह तीसरा सबसे बड़ा गिरजाघर है। इसे 1987 में यूनेस्को ने विशव विरासत के स्थानों में शामिल किया था। चूँकि बैसेलिका ऑफ़ द नैश्नल श्राइन ऑफ़ अवर लेडी ऑफ़ अपारेसिडा (Basilica of the National Shrine of Our Lady of Aparecida) और सेन्ट पीटर्स बैसेलिका (St Peter's Basilica) बिशपों के निवास स्थान नहीं है, इसलिए इस गिरजाघर को शायद विश्व का सबसे बड़ा कैथेडरल शैली का गिरजाघर मान लिया गया है। इस जगह पर क्रिस्टोफ़र कोलम्बस को दफ़नाया गया था। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और सेबिया गिरजाघर · और देखें »

सेंट मैरी रोमन कैथोलिक चर्च

सेंट मैरी रोमन कैथोलिक चर्च (St Mary's Roman Catholic Church) एक ईसाई धर्म के रोमन कैथोलिक सम्प्रदाय का गिरजाघर है जो सेंट मैरी स्ट्रीट, मॉनमाउथ, वेल्स, के केंद्र के नजदीक मौजूद है। यह गिरजाघर यूरोपीय धर्मसुधार के बाद वेल्स में अनुमित पहला रोमन कैथोलिक पूजा का सार्वजनिक स्थल था। चर्च का स्थापत्य बाद के जॉर्जियाई रोमन कैथोलिक गिरजाघरों का है, जिसमें बाद में कैथोलिक धर्मांतरित वास्तुकार बेंजामिन ब्कनोल द्वारा विक्टोरियन परिवर्धन भी किए।न्यूमैन, जॉन, The Buildings of Wales: Gwent/Monmouthshire, पेंगुइन बुक्स, 2000, ISBN 0-14-071053-1, प॰ 398 गिरजाघर 15 अगस्त 1974 से ग्रेड द्वितीय सूचीबद्ध इमारत है तथा मॉनमाउथ हेरिटेज ट्रेल के 24 स्थलों में से एक है। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और सेंट मैरी रोमन कैथोलिक चर्च · और देखें »

सेंट जेवियर्स हाई स्कूल, लोयोला हॉल, अहमदाबाद

सेंट जेवियर्स हाई स्कूल, लोयोला हॉल, अहमदाबाद, भारत की स्थापना 1956 में सोसाइटी ऑफ जीसस ने की थी। इसमें बारहवीं कक्षा के माध्यम से किंडरगार्टन शामिल है और 2006 में सह-शैक्षिक बन गया.

नई!!: कैथोलिक धर्म और सेंट जेवियर्स हाई स्कूल, लोयोला हॉल, अहमदाबाद · और देखें »

सोफ़िया, हॅनोवर की निर्वाचिका

फ़ाल्ज़ की राजकुमारी, सोफ़िया(जर्मन:Sophie, Prinzessin von der Pfalz) जिन्हें अधिक प्रचलित रूप से सोफ़िया ऑफ़ हॅनोवर अर्थात् "हनोवर की सोफ़िया" के नाम से जाना जाता है, का जन्म १७ अक्टूबर १६३० को हेग, नीदरलैण्ड में हुआ था। वे फ़्रेडरिक पंचम, निर्वाचक फ़ाल्ज़ तथा स्कॉटलैंड और इंग्लैंड के राजा, जेम्स (षष्टम् और प्रथम) की पुत्री, एलिज़ाबेथ स्टुअर्ट, की सबसे छोटी पुत्री थी। उनकी पर्वरिश डच गणराज्य में हुई थी। १६५८ में उनका विवाह बर्नस्विक-लूनबर्ग के ड्यूक, अर्नेस्ट ऑगस्टस के साथ हुआ, जिन्हें बाद में पवित्र रोमन साम्राज्य में निर्वाचक का दर्ज प्राप्त हुआ, जिसके कारण सोफ़िया को हनोवर की निर्वाचिका की उपादि प्राप्त हुई। एक ऐसा ख़िताब, जिसके नाम से उन्हें बेहतर जाना जाता है। इंग्लैण्ड में गौरवशाली क्रांति के पश्चात पारित हुए ऍक्ट ऑफ़ सेटलमेंट, १७०१ के अंतर्गत उन्हें, जेम्स प्रथम की पोती होने के नाते, अंग्रेज़ी सिंघासन का एकमात्र वैध वारिस तथा उन्हें और उनके आगामी प्रोटोस्टेंट वंश को इंग्लैंड की राजगद्दी का उत्तराधिकारी घोषित कर दिया गया था। हालाँकि उनके सिंघासन विराजने से दो महीने पूर्व ही मृत्यु हो गयी; अतः सिंघासन पर उनका अधिकार, विधि द्वारा उनके ज्येष्ठ पुत्र, जॉर्ज लुइस, हनोवर के निर्वाचक के पास चला गया, जिन्होंने १ अगस्त १७१४ को इंग्लैंड के राजा जॉर्ज प्रथम के रूप में सिंघासन पर विराजमान होकर, इंग्लैंड और स्कॉटलैंड में हनोवर वंश के राज को शुरू किया। ऐसा, तत्कालीन राजा विलियम तृतीय और रानी मैरी द्वितीय, और मैरी की बहन रानी ऐनी के कोई जीवित संतान उत्पन्न नहीं कर पाने, तथा स्टुअर्ट घराने के अन्य सभी सदस्यों के कैथोलिक धर्म होने के कारण किया गया था। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और सोफ़िया, हॅनोवर की निर्वाचिका · और देखें »

हर्मैनो पेड्रो

अपने गृहनगर में स्थित संत की प्रतिमा। संत हर्मैनो पेड्रो (Pedro de San José de Betancur y Gonzáles) (जन्म: 21 मार्च 1626 - मृत्यु: 25 अप्रैल 1667) या सेंट जोज़फ़ डी बेटनकोर्ट यी गोंज़ालस के संत पीटर एक स्पेनियाइ मूल के ईसाई धर्मप्रचारक और मिशनरी थे जिनकी कर्मभूमि ग्वाटेमाला थी। वे आर्डर ऑफ़ आवर लेडी ऑफ़ बेथेलेम("बेथेलेम की हमारी पवित्र देवी का क्रम") के संस्थापक थे। (स्पेनी भाषा) तथा वे न सिर्फ कैनरी द्वीपसमूह के पहले मूलनिवासी संत थे, बल्कि उन्हें ग्वाटेमाला और पूरे मध्य अमेरिका का पहला संत माना जाता है। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और हर्मैनो पेड्रो · और देखें »

हैन्रिख़ हिम्म्लर

हैन्रिख़ लुइटपोल्ड हिम्म्लर (जर्मन: Heinrich Himmler;; 7 अक्टूबर 1900 - 23 मई 1945) एस एस के राइखफ्यूहरर, एक सैन्य कमांडर और नाज़ी पार्टी के एक अगुवा सदस्य थे। जर्मन पुलिस के प्रमुख और बाद में आतंरिक मंत्री, हिमलर गेस्टापो सहित सभी आतंरिक व बाह्य पुलिस तथा सुरक्षा बलों के काम देखा करते.

नई!!: कैथोलिक धर्म और हैन्रिख़ हिम्म्लर · और देखें »

हैरी पॉटर श्रृंखला पर धार्मिक बहस

जे॰ के॰ रोलिंग की हैरी पॉटर श्रृंखला की किताबों पर धार्मिक बहस इन दावों पर आधारित हैं कि उपन्यासों में ऑकल्ट या शैतानी उप-भाग हैं। कई प्रोटेस्टैंट, कैथोलिक और परम्परानिष्ट ईसाईयों ने श्रृंखला के खिलाफ तर्क दिया है, जैसा कि कुछ शिया और सुन्नी मुसलमानों ने भी दिया हैं। सीरीज़ के समर्थकों ने कहा है कि हैरी पॉटर में जादू की ऑकल्टवाद से ज़रा सी समानता है। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और हैरी पॉटर श्रृंखला पर धार्मिक बहस · और देखें »

हैलोवीन

हैलोवीन या Hollowe'en एक अवकाश है, जो 31 अक्टूबर की रात को मनाया जाता है। (October 31).

नई!!: कैथोलिक धर्म और हैलोवीन · और देखें »

हेनरी बैकेरल

अंटोइन हेनरी बैकेरल (१५ दिसम्बर १८५२ - २५ अगस्त १९०८) एक फ्रांसीसी भौतिकशास्त्री, नोबेल पुरस्कार विजेता और मैरी क्यूरी तथा पियरे क्यूरी के साथ रेडियोधर्मिता के अनवेष्क थे, जिसके लिए तीनों को १९०३ में भौतिकी में नोबेल पुरस्कार दिया गया। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और हेनरी बैकेरल · और देखें »

हेनरी स्टुअर्ट, लॉर्ड डार्न्ले

हेनरी स्टुअर्ट या स्टुअर्ट, अल्बानी का ड्यूक (7 दिसम्बर 1545 – 10 फरवरी 1567), जिसकी १५६५ से पहले नाम की शैली लॉर्ड डॉर्न्ले थी, कर्को-फील्ड में १५६७ में अपनी हत्या से पहले तक स्कॉटलैंड का पटराजा था। वह मैथ्यु स्टीवर्ट, लेनॉक्स का चौथा अर्ल व उसकी पत्नी मार्गरेट डगलस का दूसरा बेटा था। डार्न्ले के नाना आर्किबाल्ड डगलस और नानी हेनरी सप्तम की बेटी मार्गरेट टुडोर थीं जो स्कॉटलैंड के जेम्स चतुर्थ की विधवा भी थीं। ऐसा माना जाता है कि हेनरी स्टुअर्ट का जन्म ७ दिसम्बर को हुआ था। वह स्कॉटलैंड की रानी मैरी १ का फुफेरा भाई व दूसरा पति और इंग्लैंड के राजा जेम्स १ का पिता था। जेम्स, एलिज़ाबेथ प्रथम के बाद इंग्लैंड व स्कॉटलैंड का संयुक्त राजा बना था।एलैने फिनी ग्रेग, 'Stewart, Henry, duke of Albany (1545/6–1567)', Oxford Dictionary of National Biography, ऑक्स्फोर्ड विश्वविद्यालय प्रेस, 2004; online edn, Jan 2008 .

नई!!: कैथोलिक धर्म और हेनरी स्टुअर्ट, लॉर्ड डार्न्ले · और देखें »

जबल लिबनान प्रान्त

जबल लिबनान​​ प्रान्त (अरबी:, अंग्रेज़ी: Mount Lebanon) लेबनान का एक प्रान्त है।, Paul Doyle, Bradt Travel Guides, 2012, ISBN 978-1-84162-370-2 इसके नाम का मतलब 'लेबनान पर्वत' है (अरबी भाषा में 'जबल' का अर्थ 'पहाड़' होता है), लेकिन वास्तव में लेबनान पर्वतमाला का मुख्य भाग इस प्रान्त से नहीं गुज़रता और उत्तर प्रान्त में स्थित है। इस प्रान्त में ईसाई बहुसंख्यक हैं और मरोनाई, यूनानी पारम्परिक और मलिकीयीन यूनानी कैथोलिक सम्प्रदायों में बंटे हैं। इनके अलावा यहाँ मुस्लिम और द्रूज़ लोग भी बसते हैं। ८७.३% लोग ईसाई हैं, ८.५% द्रूज़ हैं, २.३% सुन्नी मुस्लिम हैं और १.९% शिया मुस्लिम हैं। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और जबल लिबनान प्रान्त · और देखें »

जर्मनी

कोई विवरण नहीं।

नई!!: कैथोलिक धर्म और जर्मनी · और देखें »

जस्टिन ट्रूडो

जस्टिन ट्रूडो (Justin Pierre James Trudeau) (जन्म: २५ दिसम्बर, 1971) कनाडा के एक राजनेता, लिबरल पार्टी के नेता और कनाडा के प्रधानमंत्री हैं। जस्टिन कनाडा के पंद्रहवें प्रधानमंत्री पियर ट्रूडो और मार्गरेट ट्रूडो के ज्येष्ठ पुत्र हैं। वह पहली बार पैपिनेउ के चुनावी क्षेत्र से 2008 में और फिर 2011 और 2015 में दुबारा चुने गये। उन्होंने लिबरल पार्टी से आलोचक के तौर पर युवा व बहुसंस्कृतिवाद, नागरिकता और प्रवासी मामले, स्नातक शिक्षा और युवा व पेशेवर खेल मंत्रालयों के कार्यो की समीक्षा की। अप्रैल 14, 2013 को जस्टिन कनाडा की लिबरल पार्टी के नेता चुने गये। जस्टिन ट्रुडेउ अक्टूबर 19, 2015, के संघीय चुनावों में अपने दल को बहुमत की जीत दिलाने के बाद प्रधानमंत्री नामित हुए हैं। उन्होंने 4 नवंबर, 2015 को प्रधानमंत्री पद का कार्यभार संभाला। उसी समय उन्हें जीवन भर के लिये सम्मानसूचक नाम शैली द राइट ऑनरेबल से भी नवाजा गया। शपथ लेने पर वह कनाडा के प्रधानमंत्री बनने वाले दूसरे सबसे युवा व्यक्ति हो जायेंगे। सबसे युवा (जो क्लॉर्क) हैं। साथ ही वो पहले ऐसे व्यक्ति बन जायेंगे जिनके पिता भी कनाडा के प्रधानमंत्री रह चुके हैं। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और जस्टिन ट्रूडो · और देखें »

ज़ामोरा बड़ा गिरजाघर

ज़ामोरा बड़ा गिरजाघर ज़ामोरा, स्पेन में सथित एक बड़ा गिरजाघर है। यह दुएरो नदी की दायीं और दक्ष्ण में शहर के पुराने इलाके में सथित है। अभी भी इसकी पुरानी दीवारें और दरवाज़ा मौजूद है। इसका निर्माण 1151 से 1174 के बीच हूया और यह स्पेनी रोमानैस्क निर्माण कला के सभ से शानदार नमूनों में से एक है। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और ज़ामोरा बड़ा गिरजाघर · और देखें »

जिब्राल्टेरियन लोग

जिब्राल्टेरियन (Gibraltarian) उन लोगों के सांस्कृतिक समूह का नाम है जो ब्रिटिश विदेशी प्रदेश जिब्राल्टर के मूल निवासी हैं। जिब्राल्टर औबेरियन प्रायद्वीप और यूरोप के दक्षिणी छोर पर भूमध्य सागर के प्रवेश द्वार पर स्थित है। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और जिब्राल्टेरियन लोग · और देखें »

जुआन मैनुअल सैंटोस

जुआन मैनुअल सैंटोस (जन्म १० अगस्त १९५१) कोलंबिया के राष्ट्रपती है जो २०१० से पदग्राही है। इन्हें २०१६ में नोबेल शांति पुरस्कार से सम्मानित किया है। १९६० के दशक से चल रहे कोलंबियाई संघर्ष को खतम करने के उनके प्रयास हेतू ये पुरस्कार उन्हे प्रादान किया है। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और जुआन मैनुअल सैंटोस · और देखें »

जूरा कैन्टन

जूरा कैन्टन (फ़्रान्सीसी: Jura) स्विट्ज़रलैंड के पश्चिमोत्तर में स्थित एक कैन्टन (प्रान्त से मिलता-जुलता प्रशासनिक विभाग) है। इस कैन्टन का इलाक़ा १९७९ तक बर्न कैन्टन का हिस्सा हुआ करता था, लेकिन उस साल में इसे एक नए कैन्टन के रूप में गठित किया गया। यह स्विट्ज़रलैंड का सबसे नया कैन्टन है। जूरा कैन्टन में फ़्रान्सीसी भाषा प्रचलित हैं।, Let's Go Inc., Macmillan, 2004, ISBN 9780312335427, Random House Digital, Inc., 2007, ISBN 9781400017829 .

नई!!: कैथोलिक धर्म और जूरा कैन्टन · और देखें »

जेनेलिया डिसूज़ा

जेनेलिया डिसूज़ा (Genelia D'Souza, जन्म ५ अगस्त १९८७), एक भारतीय फ़िल्म अभिनेत्री है। उन्होंने कई तेलगु, हिन्दी, तमिल, कन्नड़ व मलयालम फ़िल्मों में अभिनय किया है। पार्कर पेन के विज्ञापन में अमिताभ बच्चन के साथ अभिनय के चलते मिली प्रसिद्धि के बाद उन्होंने अपने फ़िल्मी करियर की शुरुआत तुझे मेरी कसम (२००३) से की थी। उसके बाद उन्हें अपनी फ़िल्म बॉयज़ के ज़रिए लोकप्रियता हासिल हुई और उन्होंने तेलगु सिनेमा में अपने कदम बढ़ाए। जेनेलिया ने अपना पहला फ़िल्मफ़ेयर पुरस्कार (तेलगु) २००६ में बनी रोमांस फ़िल्म बोमरिलू में अपने अभिनय से प्राप्त किया और उनकी इस भूमिका को समीक्षकों ने भी काफ़ी सराहा। २००८ में उन्होंने संतोष सुब्रमनियम जो बोमरिलू की तमिल पुनार्निर्मिति थी और बॉलीवुड फ़िल्म जाने तू या जाने ना में भूमिका अदा की। अभिनय के साथ ही उन्होंने टेलिविज़न शो बिग स्विच की भी मेज़बानी की है व साथ ही साथ वे फैंटा, वर्जिन मोबाइल इण्डिया, फास्टट्रैक, एलजी मोबाइल, गार्नियर लाइट, मार्गो व पर्क इण्डिया की ब्रैंड अम्बैसिडर भी है। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और जेनेलिया डिसूज़ा · और देखें »

जेम्स डीन

जेम्स बायरन डीन (8 फ़रवरी 1931 - 30 सितंबर 1955) एक अमेरिकी फिल्म अभिनेता और एक सांस्कृतिक आइकन थे। उन्हें अपने सबसे प्रसिद्ध फ़िल्म के शीर्षक, रेबेल विदाउट ए कॉज में सबसे अच्छे ढंग से प्रस्तुत किया गया, जिसमें उन्होंने परेशानी में फंसे लॉस एंजिल्स के किशोर जिम स्टार्क के रूप में अभिनय किया। उनके अभिनय को परिभाषित करने वाली अन्य दो भूमिकाएं ईस्ट ऑफ़ ईडन में लोनर कैल ट्रास्क के रूप में, एवं जाइंट में एक चिड़चिड़े किसान जेट रिंक के रूप में थी। डीन की चिरस्थायी प्रसिद्धि और लोकप्रियता इन तीन फिल्मों पर ही आधारित है, उनका संपूर्ण आउटपुट एक प्रमुख भूमिका में थी। कम उम्र में उनकी मृत्यु ने उनकी पौराणिक स्थिति को पुख्ता किया। सर्वश्रेष्ठ अभिनेता के लिए मरणोपरांत अकादमी पुरस्कार के लिए नामांकन प्राप्त करने वाले वे प्रथम अभिनेता थे और मरणोपरांत अभिनय के लिए दो नामांकन प्राप्त करने वाले वे अभी भी एक मात्र व्यक्ति बने हुए हैं। 1999 में, अमेरिकी फिल्म संस्थान ने अपने एएफआई (AFI's) के 100 वर्षों के सितारों की सूची में डीन को सर्वश्रेष्ठ पुरुष कलाकार के रूप में 18 वां स्थान प्रदान किया।<ref>5 ^ 4</ref> .

नई!!: कैथोलिक धर्म और जेम्स डीन · और देखें »

जॉन एफ॰ केनेडी

जॉन फ़िट्ज़गेराल्ड "जैक" केनेडी (John Fitzgerald "Jack" Kennedy) अमेरिका के 35वें राष्ट्रपति थे जिन्होने 1961 से शासन सम्भाला था जिसके दौरान 1963 में उनकी हत्या कर दी गई। सेना में द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान मोटर तॉरपिडो जहाज़ों के कमांडर पद के बाद केनेडी ने 1947-1953 के बिच मैसेचुसेट के 11वें जिले के प्रतिनिधी की भूमिका संभाली। इसके बाद उन्होने अमरिकी सेनेट में 1953-1960 तक कार्य किया। बाद में केनेडी ने उस वक्त के उप-राष्ट्रपति रिचर्ड निक्सन को 1960 के राष्ट्रपति चुनाव में हरा दिया और थियोडोर रूज़वेल्ट के बाद 43 की उम्र में दुसरे सबसे कम उम्र के राष्ट्रपति बन गए। वे 20वी सदी के सबसे पहले राष्ट्रपति भी थे। केनेडी एकमात्र ऐसे कैथोलिक राष्ट्रपति है जिन्हे पुलित्ज़र पुरस्कार से नवाज़ा गया है। उनके शासन के दौरान हुई घटनाओं में पिग्स की खाड़ी का अधिग्रहण, क्यूबा प्रक्षेपास्त्र की मुश्किलें, बर्लिन की दीवार का निर्माण, अन्तरिक्ष होड़, अफ़्रीकी अमरीकी मानव अधिकारों की हलचल व वियतनाम युद्ध की शुरुआत प्रमुख है। 22 नवम्बर 1963 को डैलस, टेक्सास में केनेडी की हत्या कर दी गई थी। इस जुर्म के लिए ली हार्वी ऑस्वाल्ड पर आरोप लगाया गया था परन्तु इससे पहले की उस पर मुकदमा चलाया जा सके, आरोप लगने के दो दिन बाद ही जैक रूबी ने उसकी गोली मार कर हत्या कर दी। एफ बी आई, वॉरेन कमीशन और हाउस सिलेक्ट कमिटी ऑन असैसिनेशन ने आधिकारिक तौर पर यह निष्कर्ष पेश किया की ऑस्वाल्ड एकमेव हत्यारा था। आज केनेडी जनता के विचारों की रेटिंग में पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपतियों में सबसे ऊँचे क्रमांक पर है। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और जॉन एफ॰ केनेडी · और देखें »

जॉन वोइट

जोनाथन विन्सेन्ट "जॉन" वोइट (जन्म दिसम्बर 29, 1938) एक अमेरिकी अभिनेता हैं। यह चार अकेडेमी पुरस्कारों नामांकनों में से एक जीत चुके हैं और नौ गोल्डन ग्लोब अवार्ड्स में से इन्हें तीन प्राप्त हुए हैं। वोइट अभिनेत्री एंजेलिना जोली के पिता हैं। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और जॉन वोइट · और देखें »

जॉर्ज कार्लिन

जॉर्ज डेनिस पैट्रिक कार्लिन (12 मई 1937 - 22 जून 2008) एक अमेरिकी मान्य हास्य अभिनेता, सामाजिक आलोचक, अभिनेता और लेखक थे, जिन्होंने अपने हास्य एल्बमों के लिए पांच ग्रैमी अवार्ड्स जीते.

नई!!: कैथोलिक धर्म और जॉर्ज कार्लिन · और देखें »

जॉहान मार्टिन स्कैलियेर

जॉहान मार्टिन स्कैलियेर जॉहान मार्टिन स्कैलियेर (१८ जुलाई १८३१ - १६ अगस्त १९१२) एक जर्मन रोमन कैथलिक पादरी थे जिन्होंने वोलापूक नामक कृत्रिम भाषा का निर्माण किया था। उनका आधिकारिक नाम "मार्टिन स्कैलियेर" था; जॉहान नाम उन्होंने अपने धर्मपिता के सम्मान में अपने नाम के आगे जोड़ा था। उनका जन्म ओबेरलौडा (बाडन) में हुआ था। उनके स्वयं के प्रतिवेदन के अनुसार, एक अन्तर्राष्ट्रीय भाषा बनाने का विचार उन्हें अपने एक यजमान (पैरिशनर) के साथ वार्ता के दौरान आया। उनका यह यजमान एक कम-पढ़ालिखा जर्मन किसान था जिसका बेटा अमेरिका चला गया था और वह अपने पुत्र तक अपना पत्र नहीं पहुँचा सकता था क्योंकि अमेरिकी डाक सेवा वाले उस किसान की लिखाई नहीं समझ सकते थे। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और जॉहान मार्टिन स्कैलियेर · और देखें »

जोन बायज़

जोन चंदोस बायज़  (/बीaɪz/; का जन्म 9 जनवरी, 1941) एक अमेरिकी लोक गायक, गीतकार, संगीतकार, और कार्यकर्ता है जिसके समकालीन लोक संगीत में अक्सर विरोध या सामाजिक न्याय के गाने शामिल होते हैं।  बाएज ने 59 से अधिक वर्षों के लिए सार्वजनिक रूप से प्रदर्शन किया, 30 से अधिक एल्बमों को जारी किया। वह स्पैनिश और अंग्रेजी में धाराप्रवाह है और उसने कम से कम छह अन्य भाषाओं में गाने दर्ज किए हैं। उन्हें लोक गायक माना जाता है, हालांकि उनके संगीत ने 1960 के दशक के प्रतिकूल दिवस के बाद से विविधता प्राप्त की है और अब लोक रॉक और पॉप से लेकर कंट्री और गास्प्ल संगीत तक सब कुछ शामिल है। यद्यपि वह खुद एक गीतकार है, वह आम तौर पर अन्य संगीतकारों के काम की व्याख्या करती हैं, जिन में ऑलमन ब्रदर्स बैंड, बीटल्स, जैक्सन ब्राउन, लियोनार्ड कोहेन, वुडी गुथरी, वायलेट पेरा, रोलिंग स्टोन्स, पीट सीगर, पॉल साइमन, स्टीव वेंडर, बॉब डिलन और कई अन्य के गीत उसने रिकार्ड किये हैं। हाल में, उन्हें आधुनिक गीतकारों जैसे रयान एडम्स, जोश रित्र, स्टीव अर्ल और नेटली मर्चेंट के गाने की व्याख्या में सफलता मिली है। उनकी रिकॉर्डिंग में कई सामयिक गीत और सामाजिक मुद्दों से संबंधित सामग्री शामिल है। 1960 में उन्होंने अपना रिकॉर्डिंग कैरियर शुरू किया और तुरंत सफलता हासिल की। उनकी पहली तीन एल्बम, जोन बायज़, जोन बायज़, वॉल्यूम। 2, और कॉन्सर्ट में जौन बायज़ सभी ने स्वर्ण रिकॉर्ड का दर्जा हासल किया है।  प्रशंसा पाने वाले गानों में "डायमंड्स एंड रस्ट" और फिल ओच्स के कवर  "देयर व्हाट फॉर फॉर्च्यून" और द बैंड के  "द नाइट दे ड्रोव ओवर ओल्ड डिकसी डाऊन" शामिल हैं। वह "फेयरवेल, एंजेलीना", "लव इज़ जस्ट ए फोर-लेटर वर्ड", "फॉरएवर यंग", "जो हिल", "स्वीट सर गलाहद" और "वी शैल्ल ओवरकम" के लिए भी जाना जाता है। वह 1960 के दशक के शुरुआती दिनों में बॉब डिलन के गाने रिकॉर्ड करने वाले पहले प्रमुख कलाकारों में से एक थी;बायज़ पहले से ही अंतरराष्ट्रीय स्तर पर मशहूर कलाकार थी और उस ने अपने शुरुआती गीतकार प्रयासों को लोकप्रिय बनाने के लिए बहुत कुछ किया। बायज़ ने 1969 में वुडस्टॉक महोत्सव में तीन गाने भी किए और अहिंसा, नागरिक अधिकार, मानवाधिकार और पर्यावरण के क्षेत्र में राजनीतिक और सामाजिक सक्रियता के प्रति आजीवन प्रतिबद्धता प्रदर्शित की। बायज़ को 7 अप्रैल, 2017 में  रॉक और रोल हॉल ऑफ फेम पर शामिल किया गया था। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और जोन बायज़ · और देखें »

जोन ऑफ़ आर्क

संत जोन ऑफ़ आर्क या ऑर्लियन्स की कन्या (फ्रांसीसी: Jeanne d'Arc, ज़ॉन द'आर्क); लगभग १४१२ – ३० मई १४३१) फ्रांस की वीरांगना थीं, जिन्हें रोमन कैथोलिक चर्च में संत माना जाता है। ये पूर्वी फ्रांस के एक किसान परिवार में जन्मी थीं। १२ वर्ष की आयु से इन्हें ईश्वरीय संदेश मिलने शुरु हुए कि किस तरह फ्रांस से अंग्रेजों को निकाल बाहर किया जाए। इन्हीं दिशा-निर्देशों का पालन करते हुए इन्होंने फ्रांस की सेना का नेतृत्व किया और कई महत्वपूर्ण लड़ाइयाँ जीतीं, जिनके चलते चार्ल्स सप्तम फ्रांस की राजगद्दी पर बैठ पाए। ये फ्रांस के संरक्षक संतों में से एक हैँ। जोन का कहना था कि इन्हें ईश्वर से आदेश मिले कि वे अपनी जन्मभूमि को अंग्रेजों से मुक्त कराएँ। सौ वर्षों के युद्ध के अंतिम वर्षों में इंग्लैण्ड ने फ्रांस के काफी भूभाग पर कब्जा कर लिया था। फ्रांस के वैध राजा चार्ल्स सप्तम का राज्याभिषेक भी नहीं हो पाया था। जोन ने जब चार्ल्स को बताया कि ईश्वरीय संदेश के अनुसार ऑर्लियन्स में फ्रांस की जीत निश्चित है, तो चार्ल्स ने जोन को ऑर्लियन्स की घेराबंदी तोड़ने के लिए भेज दिया। ऑर्लियन्स पहुँच कर जोन ने हतोत्साहित सेनापतियों को उत्साह दिलाया और नौ दिन के अंदर-अंदर घेराबंदी को तोड़ डाला। इसके बाद इन्होंने फ्रांस की सेना की सावधानी से काम लेने की नीति को बदल दिया और अपने स्फूर्त नेतृत्व से कई और लड़ाइयाँ जीतीं। अंततः इनके कहे अनुसार रैम में चार्ल्स सप्तम का राज्याभिषेक हुआ। कॉम्पियैन में इन्हें अंग्रेजों ने पकड़ लिया और चुड़ैल करार देते हुए जीवित जला दिया। उस समय ये केवल १९ साल की थीं। २४ साल बाद चार्ल्स सप्तम के अनुरोध पर पोप कॅलिक्स्टस तृतीय ने इन्हें निर्दोष ठहराया और शहीद की उपाधि से सम्मानित किया। १९०९ में इन्हें धन्य घोषित किया गया और १९२० में संत की उपाधि प्रदान की गई। पाश्चात्य संस्कृति में जोन ऑफ़ आर्क की बहुत महत्ता है। नेपोलियन से लेकर आधुनिक नेताओं तक, सब फ्रांसीसी राजनेता जोन का आह्वान करते आए हैं। बहुत से लेखकों ने इनके जीवन से प्रेरित हो साहित्य रचा है, जिनमें शामिल हैं- विलियम शेक्सपियर, वोल्टेयर, फ्रेडरिक शिलर, जिसेप वर्दी, प्योत्र ईलिच चाइकौव्स्की, मार्क ट्वेन, बर्तोल्त ब्रैच्त और जॉर्ज बर्नार्ड शॉ। इसके अलावा इनपर बहुत सी फिल्में, वृत्तचित्र, वीडियो गेम और नृत्य भी बने हैं। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और जोन ऑफ़ आर्क · और देखें »

जोसे डी एंचिएटा

जोसे डी एंचिएटा जोसे डी एंचिएटा (José de Anchieta) (जन्म: 19 मार्च 1534 - मृत्यु: 9 जून 1597) एक स्पेनियाइ मूल के ईसाई धर्मप्रचारक और मिशनरी थे जिनकी कर्मभूमि ब्राज़ील थी। वह साओ पाउलो और रियो डि जेनेरो शहर के संस्थापक थे। वह एक अग्रणी भाषाविद, लेखक, डॉक्टर, वास्तुकार, इंजीनियर, मानवतावादी और कवि भी थे। वह पहले नाटककार, पहले व्याकरणवादी और कैनरी द्वीपसमूह में पैदा हुए पहले कवि और ब्राजील के साहित्य के पिता हैं। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और जोसे डी एंचिएटा · और देखें »

ईसाई

ईसाई वो व्यक्ति है जो ईसाई धर्म को मानता है। ईसाइयों कई साम्प्रदायों में बटे हैं, जैसे रोमन कैथोलिक, प्रोटेस्टेंट और ऑर्थोडॉक्स। देखिये: ईसाई धर्म। श्रेणी:ईसाई धर्म.

नई!!: कैथोलिक धर्म और ईसाई · और देखें »

ईसाई धर्म

'''ईद्भास/क्रॉस''' - यह ईसाई धर्म का निशान है ईसाई धर्म (अन्य प्रचलित नाम:मसीही धर्म व क्रिश्चियन धर्म) एक इब्राहीमीChristianity's status as monotheistic is affirmed in, amongst other sources, the Catholic Encyclopedia (article ""); William F. Albright, From the Stone Age to Christianity; H. Richard Niebuhr; About.com,; Kirsch, God Against the Gods; Woodhead, An Introduction to Christianity; The Columbia Electronic Encyclopedia; The New Dictionary of Cultural Literacy,; New Dictionary of Theology,, pp.

नई!!: कैथोलिक धर्म और ईसाई धर्म · और देखें »

ईसाई धर्म का इतिहास

चर्च (Church) शब्द यूनानी विशेषण का अपभ्रंश है जिसका शाब्दिक अर्थ है "प्रभु का"। वास्तव में चर्च (और गिरजा भी) दो अर्थों में प्रयुक्त है; एक तो प्रभु का भवन अर्थात् गिरजाघर तथा दूसरा, ईसाइयों का संगठन। चर्च के अतिरिक्त 'कलीसिया' शब्द भी चलता है। यह यूनानी बाइबिल के 'एक्लेसिया' शब्द का विकृत रूप है; बाइबिल में इसका अर्थ है - किसी स्थानविशेष अथवा विश्व भर के ईसाइयों का समुदाय। बाद में यह शब्द गिरजाघर के लिये भी प्रयुक्त होने लगा। यहाँ पर संस्था के अर्थ में चर्च पर विचार किया जायगा। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और ईसाई धर्म का इतिहास · और देखें »

ईस्टर

ईस्टर, Πάσχα ईसाई पूजन-वर्ष में सबसे महत्वपूर्ण वार्षिक धार्मिक पर्व है। ईसाई धार्मिक ग्रन्थ के अनुसार, सूली पर लटकाए जाने के तीसरे दिन यीशु मरे हुओं में से पुनर्जीवित हो गए थे। इस मृतोत्थान को ईसाई ईस्टर दिवस या ईस्टर रविवार मानते हैं। (इसे वो मृतोत्थान दिवस या मृतोत्थान रविवार भी कहते हैं), ये दिन गुड फ्राईडे के दो दिन बाद और पुन्य बृहस्पतिवार या मौण्डी थर्सडे के तीन दिन बाद आता है। 26 और 36 ई.प. के बीच में हुई उनकी मृत्यु और उनके जी उठने के कालक्रम को अनेकों तरीके से बताया जाता है। ईस्टर को चर्च के वर्ष का काल या ईस्टर काल या द ईस्टर सीज़न भी कहा जाता है। परंपरागत रूप से ईस्टर काल चालीस दिनों का होता है। ये ईस्टर दिवस से लेकर स्वर्गारोहण दिवस तक होता आया है लेकिन आधिकारिक तौर पर अब ये पंचाशती तक पचास दिनों का होता है। ईस्टर सीज़न या ईस्टर काल के पहले सप्ताह को ईस्टर सप्ताह या ईस्टर अष्टक या ओक्टेव ऑफ़ ईस्टर कहते हैं। ईस्टर को चालीस सप्ताहों के काल या एक चालीसे के अंत के रूप में भी देखा जाता है, इस काल को उपवास, प्रार्थना और प्रायश्चित करने के लिए माना जाता है। ईस्टर एक गतिशील त्यौहार है, जिसका अर्थ है कि ये नागरिक कैलेंडर के अनुसार नहीं चलता.

नई!!: कैथोलिक धर्म और ईस्टर · और देखें »

विन्स मॅकमहन

विन्सेंट कैनेडी "विन्स" मॅकमहन जूनियर (जन्म 24 अगस्त 1945) एक अमेरिकी पेशेवर कुश्ती प्रवर्तक, उदघोषक, टीकाकार, फिल्म निर्माता और सामयिक पेशेवर पहलवान हैं। मॅकमहन वर्तमान में पेशेवर कुश्ती को बढ़ावा देनेवाले वर्ल्ड रेसलिंग इंटरटेनमेंट (डब्ल्यूडब्ल्यूई) (WWE) के सीईओ एवं चेयरमैन के रूप में कार्य कर रहे हैं और वे कंपनी के एक प्रमुख शेयरधारक भी हैं। डब्ल्यूसीडब्ल्यू (WCW) और ईसीडब्ल्यू (ECW) के अधिग्रहण के बाद, मैकमोहन की डब्ल्यूडब्ल्यूई (WWE) टीएनए (TNA) और आरओएच (ROH) के देशव्यापी विस्तार तक एकमात्र शेष प्रमुख अमेरिकी पेशेवर कुश्ती प्रचारक कंपनी बनी रही। कैमरे के सामने आनेवाले पात्र के रूप में, वे सभी डब्ल्यूडब्ल्यूई (WWE) ब्रांडों में दिखाई दे सकते है (हालांकि ज्यादातर समय तक, वे रॉ पर दिखाई देते हैं).

नई!!: कैथोलिक धर्म और विन्स मॅकमहन · और देखें »

विवाह

हिन्दू विवाह का सांकेतिक चित्रण विवाह, जिसे शादी भी कहा जाता है, दो लोगों के बीच एक सामाजिक या धार्मिक मान्यता प्राप्त मिलन है जो उन लोगों के बीच, साथ ही उनके और किसी भी परिणामी जैविक या दत्तक बच्चों तथा समधियों के बीच अधिकारों और दायित्वों को स्थापित करता है। विवाह की परिभाषा न केवल संस्कृतियों और धर्मों के बीच, बल्कि किसी भी संस्कृति और धर्म के इतिहास में भी दुनिया भर में बदलती है। आमतौर पर, यह मुख्य रूप से एक संस्थान है जिसमें पारस्परिक संबंध, आमतौर पर यौन, स्वीकार किए जाते हैं या संस्वीकृत होते हैं। एक विवाह के समारोह को विवाह उत्सव (वेडिंग) कहते है। विवाह मानव-समाज की अत्यंत महत्वपूर्ण प्रथा या समाजशास्त्रीय संस्था है। यह समाज का निर्माण करने वाली सबसे छोटी इकाई- परिवार-का मूल है। यह मानव प्रजाति के सातत्य को बनाए रखने का प्रधान जीवशास्त्री माध्यम भी है। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और विवाह · और देखें »

विवाह उत्सव

विवाह उत्सव या शादी (Wedding) वह समारोह है जहाँ दो लोग या एक युगल वैवाहिक सम्बन्ध में जुड़ते हैं। विवाह की परंपराएँ और प्रथाएँ संस्कृतियों, संजातीय समूहों, धर्मों, देशों और सामाजिक वर्गों के बीच बहुत भिन्न होती हैं। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और विवाह उत्सव · और देखें »

वैटिकन सिटी

वैटिकन शहर (Città del Vaticano; Civitas Vaticana) यूरोप महाद्वीप में स्थित एक देश है। पृथ्वी पर सबसे छोटा, स्वतंत्र राज्य है, जिसका क्षेत्रफल केवल ४४ हेक्टेयर (१०८.७ एकड़) है। यह इटली के शहर रोम के अन्दर स्थित है। इसकी राजभाषा है लातिनी। ईसाई धर्म के प्रमुख साम्प्रदाय रोमन कैथोलिक चर्च का यही केन्द्र है और इस सम्प्रदाय के सर्वोच्च धर्मगुरु पोप का यही निवास है। यह नगर, एक प्रकार से, रोम नगर का एक छोटा सा भाग है। इसमें सेंट पीटर गिरजाघर, वैटिकन प्रासादसमूह, वैटिकन बाग तथा कई अन्य गिरजाघर सम्मिलित हैं। सन् १९२९ में एक संधि के अनुसार इसे स्वतंत्र राज्य स्वीकार किया गया। इस राज्य के अधिकारी, ४५ करोड़ ६० लाख रोमन कैथोलिक धर्मावलंबियों से पूजित, पोप हैं। राज्य के राजनयिक संबंध संसार के लगभग सब देशों से हैं। सन् १९३० में पोप की मुद्रा पुन: जारी की गई और सन् १९३२ में इसके रेलवे स्टेशन का निर्माण हुआ। यहाँ की मुद्रा इटली में भी चलती है। आकर्षक गिरजाघरों, मकबरों तथा कलात्मक प्रासादों के अतिरिक्त वैटिकन के संग्रहालय तथा पुस्तकालय अमूल्य हैं। पोप के सरकारी निवास का नाम भी वैटिकन है। यह रोम नगर में, टाइबर नदी के किनारे, वैटिकन पहाड़ी पर स्थित है तथा ऐतिहासिक, सांस्कृतिक एवं धार्मिक कारणों से प्रसिद्ध है। यहाँ के प्रासादों का निर्माण तथा इनकी सजावट विश्वश्रुत कलाकारों द्वारा की गई है। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और वैटिकन सिटी · और देखें »

वैलेंटाइन दिवस

वैलेंटाइन दिवस या संत वैलेंटाइन दिवस (Valentine's Day), एक अवकाश दिवस है, जिसे 14 फ़रवरी को अनेकों लोगों द्वारा दुनिया भर में मनाया जाता है। अंग्रेजी बोलने वाले देशों में, ये एक पारंपरिक दिवस है, जिसमें प्रेमी एक दूसरे के प्रति अपने प्रेम का इजहार वैलेंटाइन कार्ड भेजकर, फूल देकर, या मिठाई आदि देकर करते हैं। ये छुट्टी शुरुआत के कई क्रिश्चियन शहीदों में से दो, जिनके नाम वैलेंटाइन थे, के नाम पर रखी गयी हैउच्च मध्य युग में, जब सभ्य प्रेम की परंपरा पनप रही थी, जेफ्री चौसर के आस पास इस दिवस का सम्बन्ध रूमानी प्रेम के साथ हो गया। ये दिन प्रेम पत्रों के "वैलेंटाइन" के रूप में पारस्परिक आदान प्रदान के साथ गहरे से जुड़ा हुआ है। आधुनिक वैलेंटाइन के प्रतीकों में शामिल हैं दिल के आकार का प्रारूप, कबूतर और पंख वाले क्यूपिड का चित्र.19वीं सदी के बाद से, हस्तलिखित नोट्स की जगह बड़े पैमाने पर बनाने वाले ग्रीटिंग कार्ड्स ने ले ली है। ग्रेट ब्रिटेन में उन्नीसवीं शताब्दी में वैलेंटाइन का भेजा जाना एक फैशन था और, 1847 में, एस्थर हौलैंड ने अपने वोर्सेस्टर, मैस्साचुसेट्स स्थित घर में ब्रिटिश मॉडलों पर आधारित घर में ही बने कार्ड्स द्वारा एक सफल व्यवसाय विकसित कर लिया था। 19 वीं सदी के अमेरिका में वैलेंटाइन कार्ड की लोकप्रियता जहां कई वैलेंटाइन कार्ड अब सामान्य ग्रीटिंग कार्ड प्यार की घोषणाओं के बजाय, संयुक्त राज्य अमेरिका में छुट्टियों के भविष्य व्यावसायीकरण के एक अग्रदूत था रहे हैं। अमेरिका ने ग्रीटिंग कार्ड एसोसिएशन का अनुमान है कि लगभग एक अरब वैलेंटाइन हर साल पूरी दुनिया में भेजे जाते हैं, जिसके कारण,क्रिसमस के बाद, इस छुट्टी को कार्ड भेजने वाले दूसरे सबसे बड़े दिवस के रूप में जाना जाता है। एसोसिएशन का अनुमान है कि औसतन अमरीका में पुरुष महिलाओं के मुकाबले दुगना पैसा खर्चा करते हैं। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और वैलेंटाइन दिवस · और देखें »

वेनेसा हजेंस

वेनेसा ऐनी हजेंस^ याहू! 06.12.09 को प्राप्त(जन्म 14 दिसम्बर,1988) एक अमेरिकी अभिनेत्री और गायिका हैं। बचपन में स्थानीय थियेटर के नाटकों और टीवी विज्ञापनों में काम करने के बाद हजेंस ने साल 2003 में ड्रामा फिल्म, थर्टीन में नोएल की भूमिका अदा करते हुए बड़े परदे पर अपनी शुरुआत की। साल 2004 में आई साइंस-फिक्शन-एडवेंचर फिल्म, थंडरबर्ड्स में हंजेस ने टिन-टिन का चरित्र निभाया। लेकिन हजेंस की सबसे प्रमुख भूमिका हाई स्कूल म्यूजिकल श्रृंखला^ आलम्यूजिक में गैब्रिएला मोंटेज़ की थी। इस फिल्म श्रृंखला में अभिनय के लिए हजेंस को इमैजेन फाउंडेशन पुरस्कार और युवा कलाकार पुरस्कार के लिए नामांकित किया गया। उनका पहला एल्बम वी, 26 सितंबर 2006 को जारी हुआ। यह एलबम अमेरिका में उस वक्त के सबसे लोकप्रिय गानों की सूची में चौबीसवें नंबर पर शुरू हुआ और बाद में इसे गोल्ड (एक ऐसा एल्बम जिसकी कम से कम 5 लाख प्रतियाँ बिकी हों, उसे RIAA द्वारा गोल्ड रिकॉर्ड के रूप में प्रमाणित किया जाता है) के रूप में प्रमाणित किया गया। 1 जुलाई 2008 को हजेंस का दूसरा एल्बम आइड़ेंटीफाइड अमेरीका में जारी किया गया। साल 2009 में आई फिल्म बैंडस्लैम के ज़रिये हजेंस को आलोचकों के बीच काफी सराहना मिली, यह फिल्म 14 अगस्त 2009 को प्रदर्शित हुई थी। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और वेनेसा हजेंस · और देखें »

वोल्टेयर

वोल्टेयर वोल्टेयर (21 नवम्बर 1694 30 मई 1778) फ्रांस का बौद्धिक जागरण (Enlightenment) के युग का महान लेखक, नाटककार एवं दार्शनिक था। उसका वास्तविक नाम "फ़्रांस्वा-मैरी आहुए" (François-Marie Arouet) था। वह अपनी प्रत्युत्पन्नमति (wit), दार्शनिक भावना तथा नागरिक स्वतंत्रता (धर्म की स्वतंत्रता एवं मुक्त व्यापार) के समर्थन के लिये भी विख्यात है वोल्टेयर ने साहित्य की लगभग हर विधा में लेखन किया। उसने नाटक, कविता, उपन्यास, निबन्ध, ऐतिहासिक एवं वैज्ञानिक लेखन और बीस हजार से अधिक पत्र और पत्रक (pamphlet) लिखे। यद्यपि उसके समय में फ्रांस में अभिव्यक्ति पर तरह-तरह की बंदिशे थीं फिर भी वह सामाजिक सुधारों के पक्ष में खुलकर बोलता था। अपनी रचनाओं के माध्यम से वह रोमन कैथोलिक चर्च के कठमुल्लापन एवं अन्य फ्रांसीसी संस्थाओं की खुलकर खिल्ली उड़ाता था। बौद्धिक जागरण युग के अन्य हस्तियों (मांटेस्क्यू, जॉन लॉक, थॉमस हॉब्स, रूसो आदि) के साथ-साथ वोल्टेयर के कृतियों एवं विचारों का अमेरिकी क्रान्ति तथा फ्रांसीसी क्रान्ति के प्रमुख विचारकों पर गहरा असर पड़ा था। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और वोल्टेयर · और देखें »

गाम्बिया

गाम्बिया (आधिकारिक रूप से इस्लामी गणराज्य गाम्बिया), पश्चिमी अफ्रीका में स्थित एक देश है। गाम्बिया अफ्रीकी मुख्य भूमि पर स्थित सबसे छोटा देश है, इसकी उत्तरी, पूर्वी और दक्षिणी सीमा सेनेगल से मिलती है, पश्चिम में अन्ध महासागर से लगा छोटा सा तटीय क्षेत्र है। देश का नाम गाम्बिया नदी पर से पड़ा है, जिसके प्रवाह के रास्ते इसकी सीमा लगी हुई है। नदी देश के मध्य से होते हुए अन्ध महासागर में जाकर मिल जाती है। लगभग १०,५०० वर्ग किमी क्षेत्रफल वाले इस देश की अनुमानित जनसंख्या १७,००,००० है। १८ फरवरी, १९६५ को गाम्बिया ब्रिटेन से स्वतन्त्र हुआ और राष्ट्रमण्डल में सम्मिलित हो गया। बांजुल गाम्बिया की राजधानी है, लेकिन सबसे बड़ा महानगर सेरीकुंदा है। गाम्बिया अन्य पश्चिम अफ़्रीकी देशों के साथ एतिहासिक दास व्यापार का एक भाग था, जो गाम्बिया नदी पर उपनिवेश स्थापित करने का एक प्रमुख कारण था, प्रथम पुर्तगालियों द्वारा और बाद में अंग्रेज़ों द्वारा। १९६५ में स्वतन्त्रता प्राप्त करने के बाद, गाम्बिया अपेक्षाकृत स्थिर देश रहा है, केवल १९९४ में सैन्य शासन की एक संक्षिप्त अवधि के अपवाद को छोड़कर। यह एक कृषि सम्पन्न देश है और देश की अर्थव्यस्था में खेती-बाड़ी, मत्स्य-ग्रहण और पर्यटन-उद्योग की प्रमुख भूमिका है। लगभग एक तिहाई जनसंख्या अन्तर्राष्ट्रीय गरीबी रेखा की सीमा १.२५ डॉलर प्रतिदिन से नीचे रहती है। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और गाम्बिया · और देखें »

गुड फ़्राइडे

गुड फ्राइडे को होली फ्राइडे, ब्लैक फ्राइडे या ग्रेट फ्राइडे भी कहते हैं। यह त्यौहार ईसाई धर्म के लोगों द्वारा कैलवरी में ईसा मसीह को सलीब पर चढ़ाने के कारण हुई मृत्यु के उपलक्ष्य में मनाया है। यह त्यौहार पवित्र सप्ताह के दौरान मनाया जाता है, जो ईस्टर सन्डे से पहले पड़नेवाले शुक्रवार को आता है और इसका पालन पाश्कल ट्रीडम के अंश के तौर पर किया जाता है और यह अक्सर यहूदियों के पासोवर के साथ पड़ता है। सन्हेद्रिन ट्रायल ऑफ़ जेसुस के आध्यात्मिक विवरणों के अनुसार यीशू का क्रुसिफिकेशन संभवतः किसी शुक्रवार को किया गया था। दो भिन्न वर्गों के अनुसार गुड फ्राइडे का अनुमानित वर्ष AD 33 है, जबकि आइजक न्यूटन ने बाइबिल और जूलियन कैलेंडर के बीच के अन्तर और चांद के आकार के आधार पर गणना की है कि वह वर्ष मूलतः AD 34 है। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और गुड फ़्राइडे · और देखें »

गुयुक ख़ान

गुयुक ख़ान या गोयोक ख़ान (मंगोल: Гүюг хаан, फ़ारसी:, अंग्रेजी: Güyük Khan;; १२०६ ई - १२४८ ई अनुमानित जीवनकाल) मंगोल साम्राज्य का तीसरा ख़ागान (सर्वोच्च ख़ान) था। वह चंगेज़ ख़ान का पोता और ओगताई ख़ान का सबसे बड़ा पुत्र था। सन् १२४८ में सफ़र करते हुए अज्ञात कारणों से उसकी मृत्यु हो जाने के बाद उसके चाचा तोलुइ ख़ान का पुत्र मोंगके ख़ान ख़ागान बना।, Robert Marshall, University of California Press, 1993, ISBN 978-0-520-08300-4,...

नई!!: कैथोलिक धर्म और गुयुक ख़ान · और देखें »

ग्रेनाडा अमीरात

ग्रेनाडा अमीरात (अरबी: إمارة غرناطة, ट्रांस इमरत घरनाह), जिसे ग्रेनाडा का नास्रिड साम्राज्य (स्पेनिश: रीनो नज़रि डी ग्रेनाडा) के नाम से भी जाना जाता है, 1230 में मुहम्मद इब्न अल-अहमर द्वारा स्थापित एक अमीरात था। जिसके बाद इब्न अल-अहमार ने इबेरियन प्रायद्वीप, नास्रिड्स पर आखिरी मुस्लिम राजवंश स्थापित किया। नास्रिड अमीर अलहंब्रा महल परिसर के निर्माण के लिए जिम्मेदार थे। 1250 ईस्वी तक यह अमीरात मुसलमानों द्वारा आयोजित इबेरियन प्रायद्वीप का आखिरी हिस्सा था। यह लगभग ग्रेनाडा, अल्मेरिया और मालागा के आधुनिक स्पेनिश प्रांतों से मेल खाता था। एंडलुसियन अरबी आबादी के बहुमत की मातृभाषा थी। दो और शताब्दियों तक, इस क्षेत्र में इस्लामी शासन के दौरान काफी सांस्कृतिक और आर्थिक समृद्धि का हुई थी। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और ग्रेनाडा अमीरात · और देखें »

ग्रीस के ओट्टो

ओट्टो, बवेरिया के राजकुमार, फिर ओथन, यूनान के राजा (Ὄθων, Βασιλεὺς τῆς Ἑλλάδος, 1 जून 1815 – 26 जुलाई 1867) आधुनिक समय में यूनान के सबसे पहले राजा बनाये गये थे। ओट्टो को यूनान का सम्राट् सन् 1832 में लंदन में आयोजित हुए सम्मेलन में घोषित किया गया, तथा इस प्रकार यूनान महान शक्तियों (संयुक्त राजशाही, फ्रांस और रूसी साम्राज्य) के संरक्षण के तहत एक नया स्वतंत्र साम्राज्य बन गया। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और ग्रीस के ओट्टो · और देखें »

गौरवशाली क्रांति

गौरवपूर्ण क्रान्ति (The Glorious Revolution) या सन् १६८८ की क्रान्ति के द्वारा इंग्लैण्ड का राजा जेम्स द्वितीय को राजसिंहासन गवांना पड़ा। 18वीं सदी में विश्व में तीन प्रमुख क्रांतियां हुईं। ये भिन्न-भिन्न देशों में अवश्य हुई किन्तु इनके परिणाम एवं प्रभाव विश्व पर दूरगामी हुए। इन क्रांतियों में सर्वप्रथम इंग्लैंड में घटित वैभवपूर्ण क्रांति (1688 ई.) है। इसे 'गौरवशाली क्रांति' अथवा 'रक्तहीन क्रांति' भी कहा जाता है क्योंकि इस क्रांति में किसी भी पक्ष के व्यक्ति के रक्त की एक बूंद भी नहीं निकली और केवल प्रदर्शन एवं वार्तालाप से ही क्रांति सफल हो गई। 1688 ई. में इंग्लैण्ड में हुई इस रक्तहीन क्रांति ने अमेरिका (इंग्लैंड का उपनिवेश) में भी स्वतंत्रता की मांग बुलंद की। अमेरिका में शासन ब्रिटिश संसद द्वारा चलाया जाता था जो अमेरिकावासियों को सहन न था। वे स्वतंत्र रूप से शासन करना चाहते थे। अतः अमेरिकी उपनिवेश ने अपनी स्वतंत्रता के लिए जो संघर्ष किया वही अमेरिकी क्रांति कहलाता है। ये क्रांति 1776 ई. में हुई। उपरोक्त दो क्रांतियों के परिणाम एवं प्रभाव स्वरूप यूरोप में भी क्रांति का दौर प्रारंभ हुआ। 18वीं सदी में यूरोपीय देशों में फ्रांस की सामाजिक एवं आर्थिक स्थिति अत्यंत जर-जर थी। शासक कुलीन तथा पादरी वर्ग केवल अपनी विलासिता पर ही ध्यान देते थे। जनता एवं जनहित के कार्यो तथा प्रशासन में उनकी कोई रूचि नहीं थी। वे केवल श्रमिकों एवं कृषकों का शोषण करते थे। ऐसी परिस्थिति में फ्रांस में बुद्धिजीवी वर्ग का उदय हुआ जिन्होंने जनता को उनके अधिकारों के परिचित कराया। इस प्रकार शासक, कुलीन तथा चर्च के विरूद्ध कृषकों, श्रमिकों तथा बुद्धिजीवियों के द्वारा फ्रांस में जो क्रांति हुई वही 1789 की फ्रांसीसी क्रांति कहलाती है। इसके प्रभाव दूरगामी हुए। यहां तक की भारतीय स्वतंत्रता आंदोलन में भी इस क्रांति का महत्व है। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और गौरवशाली क्रांति · और देखें »

गैलीलियो गैलिली

गैलीलियो गैलिली (१५ फरवरी, १५६५ - ८ जनवरी, १६४२) इटली के वैज्ञानिक थे। वे एक महान आविष्कारक थे तथा दूरदर्शी के विकास में उनका अतुलनीय सहयोग था। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और गैलीलियो गैलिली · और देखें »

ऑर्डर ऑफ़ चिवैलरी

होरेशियो नेलसन अपने सभी पदकों के साथ ऑर्डर ऑफ़ चिवैलरी या चिवैलरिक ऑर्डर यूरोपीय देशों में सम्मान, संस्था या नाइट का समाज होता है। यह ऐतिहासिक तौर पर क्रूसेड (लगभग 1099 -1291) के मूल कैथोलिक सैन्य ऑर्डर (समूह) के दौरान या उससे प्रेरणा लेकर स्थापित किये गए थे। यह शौर्य की मध्ययुगीन आदर्शों के ऊपर स्थापित अवधारणा थी। 15वीं शताब्दी के दौरान, चिवैलरिक ऑर्डर के वंशवादी ऑर्डर, एक अधिक रूढ़िवादी फैशन में बनने लगे। इन संस्थाओं ने बदले में ऑर्डर ऑफ़ मेरिट जैसे आधुनिक सम्मान को जन्म दिया। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और ऑर्डर ऑफ़ चिवैलरी · और देखें »

ऑस्ट्रिया-हंगरी

ऑस्ट्रिया-हंगरी (अथवा द्विराजतंत्र) मध्य यूरोप का एक देश होता था। यह देश 1867 से 1918 तक अस्तित्व था। 1867 ऑस्ट्रो-हंगेरियन समझौता से स्थापित हुआ था, और पहले विश्व युद्ध को हारने के बाद ढह गया। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और ऑस्ट्रिया-हंगरी · और देखें »

ओवीएदो बड़ा गिरजाघर

ओवीएदो बड़ा गिरजाघर यां सान सालवादोर बड़ा गिरजाघर ओवीएदो, आस्तूरिआस, स्पेन में सथित एक बड़ा गिरजाघर है। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और ओवीएदो बड़ा गिरजाघर · और देखें »

आएता लोग

आएता (Ati) एक नेग्रिटो मानव जाति है जो दक्षिणपूर्वी एशिया के फ़िलिपीन्ज़ देश के लूज़ोन द्वीप के कुछ दूर-दराज़ पहाड़ी इलाक़ों में रहती है। इनका फ़िलिपीन्ज़ की अन्य नेग्रिटो जातियों से - जैसे कि विसाया के आती लोग, पलावन के बतक लोग और मिन्दनाओ के ममनवा लोग - से आनुवांशिक (जेनेटिक) सम्बन्ध हैं। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और आएता लोग · और देखें »

आती लोग

आती (Ati) एक नेग्रिटो मानव जाति है जो दक्षिणपूर्वी एशिया के फ़िलिपीन्ज़ देश के विसाया प्रभाग के मूल निवासियों में से है। इनकी सर्वाधिक जनसंख्या बोराकाय, पनाय और नेग्रोस के द्वीपों पर है। फ़िलिपीन्ज़ में कई अन्य नेग्रिटो जातियाँ रहती हैं - जैसे कि लूज़ोन के आएता लोग, पलावन के बतक लोग और मिन्दनाओ के ममनवा लोग - जिनसे आती आनुवांशिक (जेनेटिक) रूप से सम्बन्धित हैं। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और आती लोग · और देखें »

आयरलैंड राजशाही

आयरलैंड राजशाही(शास्त्रीय आयरिश:Ríoghacht Éireann; आधुनिक आयरिश:Ríocht Éireann), आयरलैंड द्वीप पर १५४२ से १८०० के बीच विद्यमान अंग्रेज़ी राजशाही का एक कठपुतली राज्य था। यह तब अस्तित्व में आई जब १५४२ में आयरलैंड की संसद ने क्राउन ऑफ़ आयरलैंड ऍक्ट पारित कर इंग्लैंड के राजा हेनरी अष्टम् को आयरलैंड का राजा घोषित कर दिया। राजतंत्र घोषित होने से पहले, इस राज्य को इंग्लैण्ड रियासत की एक जागीर(लॉर्डशिप) होने का पद प्राप्त था। इस राज्य की स्थापन के प्रारंभिक वर्षों में आयरिश राजतन्त्र को अन्य यूरोपीय राज्यों द्वारा मान्यता प्राप्त नहीं थी। हालाँकि, कुछ प्रोटोस्टेंट राज्यों ने इसे मान्यता दी थी, परंतु किसी भी कैथोलिक राज्य ने आयरलैंड को एक वाजिब राजतंत्र और इंग्लैंड के शासक को आयरिश सिंघासन का वैधिक वारिस मानने से इनकार कर दिया था। वर्ष १९५५ में पोप पॉल चतुर्थ ने रजा हेनरी की बेटी और उत्तराधिकारी, रानी मैरी प्र॰ को आयरलैंड की रानी होने की मान्यता प्रदान की। वर्ष १८०० में ग्रेट ब्रिटेन और आयरलैंड की सांसदों में एक्ट्स ऑफ़ यूनियन के पारित होने के कारण इसका विलय ग्रेट ब्रिटेन राजशाही के साथ होगया, और आयरलैंड की सरकार, प्रशासन तथा राजमुकुट को ग्रेट ब्रिटेन के साथ मिला कर एक संयुक्त रियासत को स्थापित किया गया। इस संयुक्त राज्य का नाम ग्रेट ब्रिटेन और आयरलैंड की संयुक्त राजशाही(उनिदेत किंगडम ऑफ़ ग्रेट ब्रिटेन एण्ड आयरलैंड) रखा गया, जिसमे से आयरलैंड के पांच-छ्याई भाग १९२२ में ब्रिटेन से आयरिश मुक्त राज्य के रूप में स्वतंत्र होगया। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और आयरलैंड राजशाही · और देखें »

आयरलैंड की जागीरदारी

आयरलैंड की जागीरदारी(आयरिश:Tiarnas na hÉireann) ११७७ से १५४२ के बीच आयरलैंड में विद्यमान सामंतवादी काल था, जोकि आयरलैंड पर नोएमन आक्रमण के बाद इंग्लैण्ड के राजा के अंदर शुरू हुआ था। इस काल के दौरान इंग्लैण्ड के राजा को आयरलैंड के अधिपति का दर्ज प्राप्त था, और आयरलैंड की ज़मीन पर इंग्लैंड के राजा के अधीन अनेक नॉर्मन सामंतों और जागीरदारों का कब्ज़ा था। आधिकारिक रूप से इस जागीरदारी को एक पेपल संपदा के रूप में, इंग्लैंड के राजा के अंतर्गत आधिकारित किया गया था। हालाँकि, सैद्धान्तिक रूप से इस जागीर की भूमि पूरे आयरलैंड द्वीप पर थी, परंतु वास्तविक रूप से पूरे द्वीप पर राजा का संपूर्ण कब्ज़ा नहीं था, और ऐसे अनेक क्षेत्र थे, जिनपर स्थानीय गैलिक सरदारों और अधिपतिगण का कब्ज़ा था। अंग्रेज़ी हुकूमत के अधीन क्षेत्र का आकार अनेकों बार घटता-बढ़ता था, तथा कई क्षेत्र अंग्रेजों की पहुँच से पूर्णतः बहार थे। सामंतवाद की ढीली व्यवस्था के कारण नॉर्मन सामंतों को काफी कार्यकारी स्वतंत्रता प्राप्त थी, और कई सामंतों ने स्वयं के लिए ज़मींदारी सामान अधिकार जमा लिया था। और स्थानीय गैलिक राजाओं की सामान शक्ति हासिल कर ली थी। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और आयरलैंड की जागीरदारी · और देखें »

आइज़क न्यूटन

सर आइज़ैक न्यूटन इंग्लैंड के एक वैज्ञानिक थे। जिन्होंने गुरुत्वाकर्षण का नियम और गति के सिद्धांत की खोज की। वे एक महान गणितज्ञ, भौतिक वैज्ञानिक, ज्योतिष एवं दार्शनिक थे। इनका शोध प्रपत्र "प्राकृतिक दर्शन के गणितीय सिद्धांतों "" सन् १६८७ में प्रकाशित हुआ, जिसमें सार्वत्रिक गुर्त्वाकर्षण एवं गति के नियमों की व्याख्या की गई थी और इस प्रकार चिरसम्मत भौतिकी (क्लासिकल भौतिकी) की नींव रखी। उनकी फिलोसोफी नेचुरेलिस प्रिन्सिपिया मेथेमेटिका, 1687 में प्रकाशित हुई, यह विज्ञान के इतिहास में अपने आप में सबसे प्रभावशाली पुस्तक है, जो अधिकांश साहित्यिक यांत्रिकी के लिए आधारभूत कार्य की भूमिका निभाती है। इस कार्य में, न्यूटन ने सार्वत्रिक गुरुत्व और गति के तीन नियमों का वर्णन किया जिसने अगली तीन शताब्दियों के लिए भौतिक ब्रह्मांड के वैज्ञानिक दृष्टिकोण पर अपना वर्चस्व स्थापित कर लिया। न्यूटन ने दर्शाया कि पृथ्वी पर वस्तुओं की गति और आकाशीय पिंडों की गति का नियंत्रण प्राकृतिक नियमों के समान समुच्चय के द्वारा होता है, इसे दर्शाने के लिए उन्होंने ग्रहीय गति के केपलर के नियमों तथा अपने गुरुत्वाकर्षण के सिद्धांत के बीच निरंतरता स्थापित की, इस प्रकार से सूर्य केन्द्रीयता और वैज्ञानिक क्रांति के आधुनिकीकरण के बारे में पिछले संदेह को दूर किया। यांत्रिकी में, न्यूटन ने संवेग तथा कोणीय संवेग दोनों के संरक्षण के सिद्धांतों को स्थापित किया। प्रकाशिकी में, उन्होंने पहला व्यवहारिक परावर्ती दूरदर्शी बनाया और इस आधार पर रंग का सिद्धांत विकसित किया कि एक प्रिज्म श्वेत प्रकाश को कई रंगों में अपघटित कर देता है जो दृश्य स्पेक्ट्रम बनाते हैं। उन्होंने शीतलन का नियम दिया और ध्वनि की गति का अध्ययन किया। गणित में, अवकलन और समाकलन कलन के विकास का श्रेय गोटफ्राइड लीबनीज के साथ न्यूटन को जाता है। उन्होंने सामान्यीकृत द्विपद प्रमेय का भी प्रदर्शन किया और एक फलन के शून्यों के सन्निकटन के लिए तथाकथित "न्यूटन की विधि" का विकास किया और घात श्रृंखला के अध्ययन में योगदान दिया। वैज्ञानिकों के बीच न्यूटन की स्थिति बहुत शीर्ष पद पर है, ऐसा ब्रिटेन की रोयल सोसाइटी में 2005 में हुए वैज्ञानिकों के एक सर्वेक्षण के द्वारा प्रदर्शित होता है, जिसमें पूछा गया कि विज्ञान के इतिहास पर किसका प्रभाव अधिक गहरा है, न्यूटन का या एल्बर्ट आइंस्टीन का। इस सर्वेक्षण में न्यूटन को अधिक प्रभावी पाया गया।.

नई!!: कैथोलिक धर्म और आइज़क न्यूटन · और देखें »

इयान सोमरहॅल्डर

इयान जोसफ़ सोमरहॅल्डर (Ian Joseph Somerhalder) (जन्म: दिसंबर 8, 1978) अमेरिकी मॉडल, अभिनेता और निर्माता हैं। इन्हें सर्वाधिक लॉस्ट में बून कार्लाइल व द वैंपायर्स डायरीज़ में डेमन सेल्वाटोर के अपने किरदारों के लिए जाना जाता हैं। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और इयान सोमरहॅल्डर · और देखें »

इराक में ईसाई धर्म

इराक के ईसाईयों को दुनिया के सबसे पुराने ईसाई समुदायों में से एक माना जाता है। विशाल बहुमत स्वदेशी पूर्वी अरामी बोलने वाले जातीय कसदिया हैं। सिरीक, अश्शूरी, आर्मेनियन और कुर्द, अरब और आबादी का एक छोटा सा समुदाय भी है। इराकी तुर्कमेन्स। अधिकांश वर्तमान ईसाई कुर्दों से जातीय रूप से अलग हैं और वे स्वयं को अलग-अलग मूल, के अलग-अलग इतिहास के रूप में पहचानते हैं।http://www.hum.uu.nl/medewerkers/m.vanbruinessen/publications/Bruinessen_Religion_in_Kurdistan.pdf इराक में, ईसाइयों की 2003 में 1,500,000 की संख्या दर्ज की गई, जो 26 मिलियन की आबादी का 6% से अधिक (1.4 मिलियन से नीचे या 1987 में 16.5 मिलियन का 8.5%) का प्रतिनिधित्व करती है। तब से, यह अनुमान लगाया गया है कि इराक़ में ईसाइयों की संख्या 2013 तक 450,000 के रूप में कम हो गया। हालांकि, आधिकारिक जनगणना की कमी के कारण, संख्या का आकलन करना मुश्किल है। ईसाई मुख्य रूप से बगदाद, बसरा, अरबील, दोहुक, ज़खो और किर्कुक और अश्शूर कस्बों और उत्तर में निनवे मैदान जैसे क्षेत्रों में रहते हैं। इराकी ईसाई प्राथमिक रूप से कुर्दिस्तान क्षेत्र में रहते हैं; और पूर्वोत्तर सीरिया, उत्तर पश्चिमी ईरान और दक्षिण-पूर्वी तुर्की में सीमावर्ती इलाकों में, जो क्षेत्र लगभग प्राचीन अश्शूर से संबंधित है। इराक़ में ईसाइयों को विशेष रूप से मुसलमानों के लिए धर्मांतरण की अनुमति नहीं है। मुस्लिम जो ईसाई धर्म में परिवर्तित होते हैं, सामाजिक और आधिकारिक दबाव के अधीन हैं, जो मृत्युदंड का कारण बन सकता है। हालांकि, ऐसे मामले सामने आए हैं जिनमें मुसलमानों ने गुप्त रूप से ईसाई धर्म को अपनाया है, ईसाईयों का अभ्यास कर रहे हैं, लेकिन कानूनी तौर पर मुस्लिम हैं; इस प्रकार, इराकी ईसाइयों के आंकड़ों में ईसाई धर्म में मुस्लिम धर्म शामिल नहीं हैं। इराकी कुर्दिस्तान में, ईसाईयों को धर्मनिरपेक्षता की अनुमति है।.

नई!!: कैथोलिक धर्म और इराक में ईसाई धर्म · और देखें »

इग्लिअस दे ला कोंसेप्सिओ

इग्लिअस दे ला कोंसेप्सिओ (स्पैनिश: Church of the Immaculate Conception) एक कैथोलिक गिरजाघर है। ये संता क्रूज़ दे तेनेरीफ़ में स्थित है। केनरी द्वीपसमूह का ये इक ही ऐसा गिरजाघर है जिसके पांच धुरे है। ये गिरजाघर यहाँ की पहिली चैपल पे बनाया गया था। स्पेनी विजेताओं ने यहाँ पहुंचने पर पहिले ये बनाया और इसके बाद शहर का निर्माण शुरू किया गया था। ये यहाँ का मुख्य गिरजाघर था जिस कारण किसे संता क्रूज़ का गिरजाघर भी कहा जाता है। लेकिन अब ये गिरजाघर मुख्य नहीं है अब ला लागुना का बड़ा गिरजाघर यहाँ का मुख्य गिरजाघर है। इग्लिअस दे ला कोंसेप्सिओ वेर्जिन मेरी को समरपित है। ये बारोक और टस्कन शैली में बना हुआ है। इसका घंटी टावर भे इसका हिस्सा है। इस जगह को कुल्तूरल इंटरेस घोषित किया गया है। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और इग्लिअस दे ला कोंसेप्सिओ · और देखें »

इग्लेसिया दे सान आन्द्रेस (बेद्रिन्याना)

इग्लेसिया दे सान आन्द्रेस (बेद्रिन्याना) बेद्रियाना, अस्तूरियास, स्पेन का एक गिरजाघर है। यह 9 वीं सदी का है और 1931 में एक राष्ट्रीय स्मारक घोषित किया गया था। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और इग्लेसिया दे सान आन्द्रेस (बेद्रिन्याना) · और देखें »

इंग्लैंड के हेनरी अष्टम्

हेनरी अष्टम (28 जून 1491-28 जनवरी 1547) 21 अप्रैल 1509 से अपनी मृत्यु तक इंग्लैंड के राजा थे। वे लॉर्ड ऑफ आयरलैंड (बाद में किंग ऑफ आयरलैंड) तथा फ्रांस के साम्राज्य के दावेदार थे। हेनरी ट्यूडर राजघराने के दूसरे राजा थे, जो कि अपने पिता हेनरी सप्तम के बाद इस पद पर आसीन हुए। अपने छः विवाहों के अलावा, हेनरी अष्टम चर्च ऑफ इंग्लैंड को रोमन कैथोलिक चर्च से पृथक करने में उनके द्वारा निभाई गई भूमिका के लिये भी जाने जाते हैं। रोम के साथ हेनरी के संघर्षों का परिणामस्वरूप पोप के प्रभुत्व से चर्च ऑफ इंग्लैंड का पृथक्करण हुआ और मठों का विघटन हो गया और उन्होंने स्वयं को चर्च ऑफ इंग्लैंड के सर्वोच्च प्रमुख (Supreme Head of the Church of England) के रूप में स्थापित कर लिया। उन्होंने धार्मिक आयोजनों व रस्मों को बदल दिया तथा मठों का दमन किया और साथ ही वे कैथलिक धर्मशास्त्र की मूल-शिक्षाओं के समर्थक बने रहे, यहां तक कि रोमन कैथलिक चर्च के साथ उनके निष्कासन के बाद भी। वेल्स ऐक्ट्स (Wales Acts) 1535-1542 के कानूनों के साथ हेनरी ने इंग्लैंड और वेल्स के वैधानिक मिलन का निर्देशन किया। अपनी युवावस्था में हेनरी एक आकर्षक और करिश्माई पुरुष थे, शिक्षित व परिपूर्ण.

नई!!: कैथोलिक धर्म और इंग्लैंड के हेनरी अष्टम् · और देखें »

कलीसिया

कलीसिया (लातिनी:Ecclesia, एक्क्लेसिया) अथवा चर्च का अर्थ ईसाई धर्म के अन्तर्गत आने वाले किसी भी धार्मिक संगठन या साम्प्रदाय को कहा जाता है। कलीसिया, का शाब्दिक अर्थ है लोगों का समूह या सभा। कलीसिया कुछ विशेष ईसाइ विश्वासियों का संगठन या समूह, को कहते हैं, जिन्हें ईसाई मान्यता के अनुसार, एकमात्र परमेश्वर में विस्वास हो तथा उनके पुत्र ईसा मसीह पर विश्वास हो। विश्वासियों के इस समुदाय के सदस्य इस तरह देश-काल से परे एक सार्वभौमिक कलीसिया के भाग होते हैं। यह सार्वभौमिक कलीसिया एक वैश्विक समुदाय के समान है जिसमें हर विश्वासी एक अंग का कार्य करता है। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और कलीसिया · और देखें »

कामारा सांता

ओलवीएदो का कामारा सांता (Cámara Santa de Oviedo) ओलवीएदो, स्पेन में स्थित एक रोमन कैथोलिक पूर्व रोमांस्क गिरजाघर है। इसकी इमारत का निर्माण 9वीं सदी में एक महल के तौर पर आस्तूरियास के राजा अलफोंसो द्वीतीय के लिए बनाया गया था। दसंबर 1998 में इसको यूनेस्को द्वारा विश्व विरासत स्थान घोषित किया गया। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और कामारा सांता · और देखें »

कालाहोरा बड़ा गिरजाघर

कालाहोरा बड़ा गिरजाघर (स्पैनिश: Catedral de Santa María) कालाहोरा स्पेन में स्थित एक गिरजाघर है। इसे 1931ई में बिएन दे इंतेरेस कल्चरल की सूची में शामिल किया गया। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और कालाहोरा बड़ा गिरजाघर · और देखें »

किम डे-जुंग

किम डे-जुंग (६ जनवरी १९२४ - १८ अगस्त २००९) दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति थे १९९८ से २००३ तक। उन्हे २००० में नोबेल शांति पुरस्कार से सम्मनित किया गया था। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और किम डे-जुंग · और देखें »

किलियन मर्फ़ी

किलियन मर्फ़ी (Cillian Murphy), एक आयरिश थियेटर एवं फ़िल्म अभिनेता हैं। उन्होंने अपनी व्यवसयिक जीवन का आरम्भ एक रॉक सङ्गीतकार के रूप में की थी। १९९० मे एक गाने के रिकॉर्दड के सौदे को ठुकराने के बाद, उन्होंने, थियेटर और मुक्त लघुचित्रों मे अभिनय कर्ना शुरु किया। सन २००० के दशक मे, ट्वेण्टी-एट डेज़ लेटर (२००२), कोळ्ड माउण्टेन (२००३), इण्टरमिशन (२००३), रॆड आइ (२००३) और ब्रेकफ़स्ट ऑन प्लूटो (२००५) जैसी फ़िल्मों में अपने प्रगर्शन के सहारे ख्यती प्रप्त की। ब्रेकफ़स्ट ऑन प्लूटो (२००५) के लिए उन्होंने गोल्डेन ग्लोब पुरस्कर कि श्रेष्ठ अभिनेत, म्यूज़िकल या हास्य किर्दार में के श्रेणि में नामांकन प्रप्त किया था। द डर्क नाइट ट्रिलॉजी (२००५-२०१२) कि अत्यन्त कामयाब फ़िल्मों मे उन्होंने डॉ॰ जॉनथन क्रेन का किरदार निभाया था। इसके अलावा, उन्होंने द विण्ड दैट शेक्स द बार्ली (२००६), सनशाइन (२००७), द ऎज ऑफ़ लव (२००८) और इन्सेप्शन (२०१०) जैसी कामयाब फ़िल्मों में भी मुख्य किरदार निभाए थे। २०११ में मर्फ़ी को सर्वश्रेष्ठ अभिनेत के लिये आइरिश टाइम्स थियेटर अवॉर्ड और मिस्टरमैन में उत्कृष्ट एकल प्रदर्शन के लिये ड्रामा डेस्क अवॉर्ड से भी पुरस्कृत किया गया। तथा आयरलैण्ड कि राष्ट्रीय विश्वविद्यलय में वे, युनेस्को शिशु एवं परिवार शोध केन्द्र के पोषक भी बने। वे, यूसीऍफ़आसी और यूनेस्को के शिशु, युवा एवं जन जुड़ाव चेयर के निर्देशक, प्रो० पैट डोलान से भी करीबी तौर्पर जुड़े हैं। इसके अलावा वे इन टाइम (२०११), रिट्रीट (२०११) और रेड लाइट्स जैसी फ़िल्मो में भी अभिनय किय है। सन २०१३ से वे बीबीसी की घारावाहिक पीकी ब्लाइण्डर्स का मुख्य पात्र, थॉम्स शॆल्बी का किरदार अदा कर रहे हैं। उन्होने, ट्रान्स्डेन्स (२०१४), इन द हार्ट ऑफ़ द सी (२०१५), ऍन्थ्रोपॉइड (२०१६) ऑर डंकर्क (२०१७) में भी अभिनय किया है। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और किलियन मर्फ़ी · और देखें »

कु क्लुल्स क्लान

कू क्लक्स क्लान, जिसे अक्सर संक्षिप्त रूप से KKK व अनौपचारिक रूप से द क्लान नाम से जाना जाता है, विभिन्न पूर्व तथा वर्तमान अति दक्षिणपंथी घृणा समूहों का नाम है जिसका घोषित उद्देश्य हिंसा और भय के द्वारा संयुक्त राज्य अमरीका में श्वेत अमरीकियों के अधिकारों और हितों की रक्षा करना है। ऐसे शुरुआती संगठनों का उदय दक्षिणी राज्यों में हुआ और अंततः उनका दायरा राष्ट्रीय स्तर तक फैल गया। उन्होंने आदर्श सफेद परिधान विकसित किया, जिसमें मुखौटे, पोशाक और शंक्वाकार टोप शामिल थे। KKK का रिकार्ड आतंकवाद का प्रयोग करने का रहा है, 1999 में, चार्ल्सटन, दक्षिण कैरोलिना की नगर परिषद ने एक प्रस्ताव पारित करके क्लान को एक आतंकवादी संगठन घोषित किया। ऐसा ही एक प्रयास 2004 में किया गया था जब लुईसविल विश्वविद्यालय के एक प्रोफ़ेसर ने क्लान को एक आतंकवादी संगठन घोषित करने के लिये अभियान चलाया ताकि उसे परिसर से प्रतिबंधित किया जा सके.

नई!!: कैथोलिक धर्म और कु क्लुल्स क्लान · और देखें »

कैथरीन दे ब्रागान्ज़ा

कैथरीन दे ब्रागान्ज़ा (25 नवंबर, 1638 - 31 दिसंबर, 1705), पुर्तगाली: Catarina Henriqueta de Bragança) पुर्तगाली राजकुमारी और इंग्लैण्ड के राजा चार्ल्स द्वितीय की रानी थी। इनका जन्म पुर्तगाल में विला विसोज़ा में हुआ था। इनके पिता जॉन चतुर्थ के राजा बनने पर हुआन होसे दे आस्ट्रिया, फ्रांस्वा दे वेन्दोम, लुई चौदहवें और चार्ल्स द्वितीय के साथ इनके विवाह की बात चली। पिरेनेज़ की संधि के बाद जब फ्रांस ने पुर्तगाल को छोड़ दिया तो इन्हें पुर्तगाल और इंग्लैण्ड के बीच सम्बन्ध स्थापित करने का साधन माना जाने लगा। 1660 में जब चार्ल्स द्वितीय को शासन की बागडोर फ़िर से मिली तो इन दोनों का विवाह तय कर दिया गया। इंग्लैण्ड आने पर दो विवाह समारोह हुए- पहला कैथोलिक तरीके से गुप्त रूप से और दूसरा 21 मई, 1661 को, एंग्लिकन तरीके से बहुत धूमधाम से। इनके दहेज में चार्ल्स को बम्बई और टैन्जियर बन्दरगाह मिले और चार्ल्स द्वितीय ने बंबई ईस्ट इंडिया कंपनी को वार्षिक किराए पर दे दिया। भाषा अवरोध, चार्ल्स की बेवफाई और कैथोलिकों और एंग्लिकनों के बीच हो रहे संघर्ष की वजह से शुरू में कैथरीन को बहुत कठिनाइयाँ आईं। कैथोलिक होने के कारण इनपर कई बार आरोप लगाए गए, जिनमें से चार्ल्स को जहर देने की साज़िश शामिल है। ये सभी आरोप बेबुनियाद साबित हुए और चार्ल्स ने खुद हर कदम पर कैथरीन का समर्थन किया। चार्ल्स की मृत्यु के बाद इनकी कठिनाइयाँ और बढ़ने लगीं और अंततः मार्च 1692 में ये पुर्तगाल लौट गईं। वहाँ रहते हुए उसने पुर्तगाल ओर इंग्लैंड के राजनीतिक संबंध दृढ़ करने का प्रयास किया। १७०४ ई. में जब उसके भाई पुर्तगाल नरेश पेडरो द्वितीय बीमार पड़े तो वह पुर्तगाल के शासन की संरक्षिका बनाई गई और उसके इस शासनकाल में पुर्तगाल को स्पेन के विरूद्ध अनेक सफलता मिली। ३१ दिसम्बर १७०५ को उसकी मृत्यु हुई। मरते समय उसने अपनी सारी अर्जित संपत्ति अपने भाई को वसीयत कर दी थी। लिस्बन, पुर्तगाल में कैथरीन की प्रतिमा कैथरीन बहुत बार गर्भवती हुईं लेकिन कभी जीवित उत्तराधिकारी को जन्म नही दे पाईं। कैथरीन ने इंग्लैण्ड में चाय पीने का रिवाज शुरु किया। कहा जाता है कि नये यार्क के क्वीन्स इलाके का नाम इनपर रखा गया, लेकिन इसके समर्थन में ऐतिहासिक स्रोत नहीं मिले हैं। ब्रागान्ज़ा, कैथरीन दे ब्रागान्ज़ा, कैथरीन दे ब्रागान्ज़ा, कैथरीन दे.

नई!!: कैथोलिक धर्म और कैथरीन दे ब्रागान्ज़ा · और देखें »

कैथोलिक वीकली हेराल्ड

यह मलेशिया में प्रायः कैथोलिक इसाइयों के लिए प्रकाशित होने वाला अंग्रेजी समाचार पत्र है। इसने इसा मसीह के लिए अल्लाह शब्द का इस्तेमाल किया था जिसपर मलेशिया की सरकार द्वारा प्रतिबंध लगा दिया गया। अखबार ने इस प्रतिबंध को मलेशिया की अदालत में चुनौति दी जहाँ निर्णय उसके पक्ष में आया। १ जनवरी, २०१० के अपने निर्णय में अदालत ने सरकार द्वारा देश के अल्पसंख्यकों के अल्लाह शब्द के प्रयोग पर लगाए प्रतिबंध को निरस्त करते हुए कहा कि ईसाई प्रकाशनों को भी ईश्वर के लिए 'अल्लाह' शब्द का इस्तेमाल करने का संवैधानिक अधिकार है। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और कैथोलिक वीकली हेराल्ड · और देखें »

कैसियानो बेलिगत्ती

कैसियानो बेलिगत्ती कैथलिक कैपूचिन मिशनरी इटली के मचेराता नगर के रहने वाले हिन्दी के विद्वान थे। आरम्भ में इन्होंने तिब्बत में कार्य किया था। बाद में नेपाल होकर बिहार के बेतिया नगर में आ बसे। इन्होंने पटना में भी धर्म प्रचार का कार्य किया। पटना में रहकर इन्होंने अल्फाबेतुम ब्रम्हानिकुम का लैटिन भाषा में प्रणयन किया। इसका प्रकाशन सन १७७१ ईस्वी में हुआ। इसकी विशेषता यह है कि इसमें नागरी के अक्षर एवं शब्द सुन्दर टाइपों में मुद्रित हैं। ग्रियर्सन के अनुसार यह हिन्दी वर्णमाला सम्बन्धी श्रेष्ठ रचना है। इस पुस्तक के अध्याय एक में स्वर, अध्याय दो में मूल व्यंजन, अध्याय तीन में व्यंजनों के उच्चारण के विशेष विवरण, अध्याय चार में व्यंजनों के साथ स्वरों का संयोग, अध्याय पाँच में स्वर-संयुक्त व्यंजन, अध्याय छह में संयुक्ताक्षर और उनके नाम, अध्याय सात में संयुक्ताक्षर की तालिका, अध्याय आठ में किस प्रकार हिन्दुस्तानी कुछ अक्षरों की कमी पूरी करते हैं, अध्याय नौ में नागरी या जनता की वर्णमाला, अध्याय दस में हिन्दुस्तानी वर्णमाला की लैटिन वर्णमाला के क्रम और उच्चारण के साथ तुलना, अध्याय ग्यारह में अरबी अंकों के साथ हिन्दुस्तानी अंकों और अक्षरों में संख्याएं तथा अध्याय बारह में अध्येताओं के अभ्यास के लिए कुछ प्रार्थनाएं भी हिन्दुस्तानी लिपि में दी गई हैं। इसमें लैटिन प्रार्थनाओं का हिन्दुस्तानी लिपि में केवल लिप्यंतरण मिलता है। अंत में हिन्दुस्तानी भाषा में हे पिता आदि प्रार्थनाएं अनूदित हैं। अध्याय नौ के अंतर्गत जनता की वर्णमाला पर प्रकाश डालते हुए लेखक ने लिखा है कि इस भाषा का नाम भाखा है और यह जन सामान्य के प्रयोग की भाषा है। इस रचना की भूमिका इटली की राजधानी रोम में क्रिश्चियन धर्म के प्रचारार्थ संस्था प्रोपगन्दा फीदे के अध्यक्ष योहन ख्रिस्तोफर अमादुसी ने लिखी। डॉ॰ जार्ज ग्रियर्सन ने इस भूमिका को बहुत महत्व दिया। भूमिका में हिन्दुस्तानी भाषा की सार्वदेशिक व्यवहार की भूमिका स्पष्ट रूप में प्रतिपादित है। इस भूमिका से यह स्पष्ट होता है कि सन १७७१ ईस्वी में भी नागरी लिपि में लिखी जनभाषा हिन्दी या हिन्दुस्तानी का राष्ट्रव्यापी प्रचार-प्रसार था। जो विदेशी उस समय भारत में व्यापार करने के लिए अथवा घूमने फिरने के लिए आते थे, वे भारत आने के पूर्व इसको सीखते थे तथा भारत के विभिन्न क्षेत्रों में इसके माध्यम से अपना कार्य सम्पन्न करते थे। इन तीन रचनाकृतियों का ऐतिहासिक महत्व बताते हुए इनके समेकित महत्व की डॉ॰ उदय नारायण तिवारी ने सारगर्भित विवेचना की है। इन तीनों रचनाओं को श्री मैथ्यु वेच्चुर ने लैटिन से हिन्दी में अनूदित किया है, जो स्वयं एक भाषाविद थे। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और कैसियानो बेलिगत्ती · और देखें »

कैंटरबरी कैथेड्रल

कैंटरबरी कैथेड्रल, इंग्लैंड का सबसे पुरातन एवं सबसे मशहूर ईसाई गिर्जाघर है। यह भवन, एक विश्व धरोहर स्थल का हिस्सा है। यह कैंटरबरी के आर्चबिशप का नीज-आसान है, और चर्च ऑफ़ इंग्लैंड तथा विश्वविस्तृत आंगलिकाइ संप्रदाय का मातृगिर्जा है। कैंटरबरी के आर्चबिशप, वैश्विक आंगलिकाइ ऐक्य के चिन्हात्मक प्रमुख होते हैं। इस चर्च का पूरा आधिकारिक नाम है "कैथेड्रल ऍण्ड मेट्रोपोलिटिकल चर्च ऑफ़ क्राइस्ट ऍट कैंटरबरी".

नई!!: कैथोलिक धर्म और कैंटरबरी कैथेड्रल · और देखें »

कैंटरबरी के आर्चबिशप

कैंटरबरी के आर्चबिशप, चर्च ऑफ़ इंग्लैण्ड के एक वरिष्ठ बिशप और प्रमुख होते हैं। वे विश्वविस्तृत आंगलिकाइ ऐक्य और आंगलिकाइ संप्रदाय के चिन्हनात्मक प्रमुख हैं(जैसे पोप रोमन कैथोलिक संप्रदाय के होते हैं)। तथा वे कैंटरबरी के बिशप-क्षेत्र के प्रदेशीय बिशप होते हैं। वर्त्तमान आर्चबिशप, परणपूज्य आर्चबिशप जस्टिन वेल्बी हैं, जिनका पदस्थापन २१ मार्च २०१३ को हुआ था। वेल्बी, १४०० वर्ष पुराने इस संसथान के १०५वें पदाधिकारी हैं। इस संसथान की शुरुआत कैंटरबरी के ऑगस्टीन के साथ हुई थी, जिन्हें ५९७ ई॰ में रोम से इंग्लैण्ड, ईसाइयत के प्रचार के लिए भेजा गया था। ६ठी शताब्दी में ऑगस्टीन से १६वीं शताब्दी तक, कैंटरबरी की आर्चबिशपी, रोम के गिर्जा के साथ एकमत की स्थिति में थी, परंतु अंग्रेज़ी सुधर के बाद, इंग्लैंड की चर्च ने, पोप और रोमन कैथोलिक चर्च के अधिकार से खुद को अलग कर लिया। सुधर से पहले तक, कैंटरबरी कैथेड्रल के बिशप के चुनाव की प्रक्रिया बदलते रहा करती थी:कभी चुनाव द्वारा या कभी पोप द्वारा, अन्यथा इंग्लैंड के शासक द्वारा। सुधरकाल के बाद से, चर्च ऑफ़ इंग्लैंड, मुख्यतः एक राजकीय गिर्जा की हैसियत रखता है, और तत्पश्चात्, आर्चबिशप के नामांकन का आधिकारिक अधिकार ब्रिटिश मुकुट के पास रहा है। वर्त्तमान समय में, कैंटरबरी के आर्चबिशप की नियुक्ति, ब्रिटिश संप्रभु द्वारा प्रधानमंत्री की सलाह पर होता है, जोकि दो नामों की अनुसूची में से अगले पदाधिकारी का चुनाव किया करते हैं। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और कैंटरबरी के आर्चबिशप · और देखें »

कैंडेलेरिया का बैसिलिका

कैंडेलेरिया का बैसिलिका (Basílica y Real Santuario Mariano de Nuestra Señora de la Candelaria या केवल '|बैसेलिका ला दे कैण्डेलेरिया') रोमन कैथोलिक समुदाय का माइनर बैसेलिका है। यह कैण्डेलेरिया शहर/नगरपालिका में स्थित है जो राजधानी सांता क्रूज़ दे टैनिरीफ़ से २० किमी दक्षिण में स्थित है। यह स्पेन के कैनेरी द्वीपसमूह के तेनरीफ़ का प्रथम तीर्थ है, यह बैसेलिका कैनेरी द्वीपसमूह की संरक्षिका 'वर्जिन ऑफ़ कैण्डेलेरिया' को समर्पित है। कैनेरी द्वीपसमूह सरकार द्वारा ने इसे 'सांस्कृतिक मूल्य वाला' घोषित है। इसके वास्तुकार जोज़ एनरीक मरेरो रिगैलेडो हैं। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और कैंडेलेरिया का बैसिलिका · और देखें »

केथेड्रल डि सेगोविआ

केथेड्रल डि सेगोविआ केथेड्रल डि सेगोविआ स्पेन के सेगोविआ नगर के मध्य प्लाज़ा मेयर के पास स्थित एक प्रसिद्ध रोमन कैथोलिक गिरजाघर है। नगर की सबसे ऊँची चोटी, समुद्रतल से १००६ मीटर की ऊँचाई पर स्थित स्थापत्य का यह शिल्प अत्यंत प्रभावशाली दिखाई देता है। यही कारण है कि इसको स्पेन के गिरजाघरों की रानी ('La dama de las catedrales españolas') कहा जाता है। स्टेन ग्लास की दस खिड़कियों, गायकों के लिए बारीक नक्काशी वाले क्वायर स्टालों और १६वी-१७वीं शती की चित्रों से सजे इस गिरजाघर की वेदी पर जुआन डि जूनी नामक प्रसिद्ध कलाकार द्वारा बनाई गई प्रसिद्ध कलाकृति है जिसमें ईसा मसीह को क्रास से उतारते हुए दिखाया गया है। मुख्य प्रतिमा वर्जिन मेरी की है जिसे संगमरमर के ऊँचे चबूतरे पर चौदहवीं शती के मूर्तिशिल्प वर्जिन डि ला पाज़ को स्थान मिला है। बारीक नक्काशी वाली दीवारों के १०० मीटर ऊँचे भवन की केंद्रीय मीनार पर छत्र और उसके ऊपर प्रकाशकक्ष की स्थापना की गई है। पीले पत्थरों से बने इस गिरजाघर के, १५२० में सांप्रदायिक युद्ध के अग्निकांड में नष्ट हो जाने के बाद, तत्कालीन शासक कार्लोस पंचम ने इसके पुनर्निमाण के आदेश दिए। उत्तर गॉथिक शैली में निर्मित यह गिरजाघर पहले रोमन शैली में बनाया गया था। वर्जिन मेरी को समर्पित इस गिरजाघर का निर्माण १५२५ से १५२७ के मध्य आर्किटेक्ट ट्रांसमेरन मेसन और जुवान गिल डि हॉनटेनॉन ने प्रारंभ किया पर हॉनटेनॉन की मृत्यु के बाद उसके पुत्र रॉड्रिओ गिल डि हॉनटेनॉन ने इस पर अपना काम जारी रखा। इसकी पहली मंजिल पर तीन मध्य भाग हैं, पार्श्व प्रार्थनालय, अर्थवृत्ताकार गर्भगृह और संलग्न आच्छादित मार्ग। प्रमुख भवन में तीन प्रवेशद्वार हैं। मुख्यद्वार के अतिरिक्त दो दक्षिण द्वार हैं। संपूर्ण भवन १०५ मीटरलंबा और ५० मीटर चौड़ा तथा मध्य भाग में ३३ मीटर ऊँचा है। मुख्यवेदी संगमरमर, जास्पर और ताँबे की बनी है। यह १७६८ में बनकर तैयार हुआ था। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और केथेड्रल डि सेगोविआ · और देखें »

कॅण्टकी

अमेरिका में स्थिति कॅण्टकी, आधिकारिक तौर पर कॅण्टकी राष्ट्रमंडल, संयुक्त राज्य के पूर्वी दक्षिण-मध्य क्षेत्र में स्थित एक राज्य है। कॅण्टकी चार अमेरिकी राज्यों में से एक है जिसे राष्ट्रमंडल के रूप में गठित किया गया है (दूसरे वर्जीनिया, पेंसिल्वेनिया और मैसाचुसेट्स है)। मूल रूप से कॅण्टकी वर्जीनिया का हिस्सा था। 1792 में इसे 15वें राज्य के रूप में संघ में शामिल किया गया। कॅण्टकी अमेरिका का क्षेत्र में 37वां और आबादी में 26वां सबसे सबसे बड़ा राज्य है। 2016 में कॅण्टकी की जनसंख्या 44,36,974 अनुमानित की गई है। अंग्रेज़ी अधिकारिक भाषा है जिसे 96% निवासी मातृभाषा के रूप में बोलते हैं। लगभग आधी जनता अपने को नास्तिक मानती हैं, 42% प्रोटेस्टैंट और 8% कैथोलिक। फ़्रैंकफ़ोर्ट राजधानी है। 2010 में इसका सकल राज्य उत्पाद 163.3 अरब डॉलर था, जिससे इसका देश में 28वां स्थान रहा। इसकी प्रति व्यक्ति व्यक्तिगत आय 28,513 अमेरिकी डॉलर थी, जो इसे देश में 43वां स्थान देती है। 2014 में, कॅण्टकी को यू.एस में रहने के लिये सबसे सस्ता राज्य पाया गया। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और कॅण्टकी · और देखें »

कोमोरोस

thumb कोमोरोस हिन्द महासागर में अफ़्रीका के पूर्वी छोर पर उत्तरी मैडागास्कर और उत्तर-पूर्व मोज़ाम्बिक के बीच स्थित एक द्वीपीय देश है। यह अफ़्रीका महाद्वीप में क्षेत्रफल की दृष्टि तीसरा सबसे छोटा और जनसंख्या की दृष्टि से छठा सबसे छोटा देश है लेकिन यहाँ जनसंख्या घनत्व बहुत अधिक है। अरब जगत से सम्बन्ध रखने वाले कोमोरोस देश का नाम अरबी भाषा के शब्द क्वामार (चान्द) से निकला है। चार बड़े और अन्य छोटे द्वीपों वाला यह देश पर्यावरण की विविधता के कारण दुनिया में अलग ही स्थान रखता है। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और कोमोरोस · और देखें »

कोरदोबा की मस्जिद-गिरजा

कोरदोबा की गिरजा-मस्जिद (Mezquita–catedral de Córdoba), ਜਾਂ कोरदोबा की मस्जिद (Mezquita de Córdoba), वर्जन मेरी को समर्पित एक गिरजा है जो आंदालूसिया, स्पेन में सथित है। यह विसिगोथ मूल के लोगों द्वारा एक गिरजा के रूप में बनाई गई थी पर बाद में मध काल के दौरान इसको इस्लामी मस्जिद में तब्दील कर दिया गया था। स्पेन पर दुबारा अधिकार के बाद इसको फिर से एक गिरजा में तब्दील किया गया। इस गिरजा को मूरी निर्माण कला की सभ से महान इमारतों में से एक माना जाता है। 2000 के बाद से स्पेनी मुसलमानों रोमन कैथोलिक चर्च से इस स्थान में प्रार्थना करने की इजाजत की मांग कर रहे हैं।Thomson, Muslims ask Pope to OK worship in ex-mosque, Reuters, (2011), मुसलमानों के इस माँग को स्पेनी गिरजा अधिकारियों और रोमन गिरजा अधिकारीयों ने कई बार ठुकरा दिया है। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और कोरदोबा की मस्जिद-गिरजा · और देखें »

कोर्सिका

कोर्सिका (Corse; Corsican and Italian: Corsica) भूमध्य सागर में स्थित एक द्वीप है। यह फ्रान्स के १३ क्षेत्रों में से एक है। यह दक्षिणी फ्रांस से 105 मील और उत्तर-पश्चिमी इटली से 56 मील की दूरी पर स्थित है। इस द्वीप का दो तिहाई भाग एक ही पर्वत-शृंखला से निर्मित है। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और कोर्सिका · और देखें »

अन्तोनी मारिया अलकुवे ई सुरेदा

अन्तोनी मारिया अलकुवे ई सुरेदा (Antoni Maria Alcover i Sureda; 2 फ़रवरी 1862 – 8 जनवरी 1932) स्पेनी कातालोन्याई पादरी, भाषावैज्ञानिक, लेखक और इतिहासकार थे। मायोर्का द्वीप के निवासी अलकुवे की लेखन शैली आधुनिकतावादी थी व इन्होंने कई विविध विषयों जैसे रोमन कैथलिक गिरजाघर, लोककथाओं और भाषाविज्ञान में रचनाएँ की थीं। मुख्य रूप से इन्हें कैटलन भाषा और उसकी उपभाषाओं में रुचि पुनर्जीवित करने के उद्देश्य से किए गए प्रयासों के लिए जाना जाता है तथा अपने इस कार्य के लिए ये इतने प्रसिद्ध हुए कि इन्हें 'भाषा का देवदूत' (कैटलन: apòstol de la llengua) कहा गया। इनके कुछ प्रमुख कार्यो में शामिल है कैटलन-वैलेंसियाई-बालेआरिक शब्दकोश। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और अन्तोनी मारिया अलकुवे ई सुरेदा · और देखें »

अन्तोनी गौदी

अन्तोनी गौदी ई कौर्नेत (Antoni Gaudí i Cornet; 25 जून 1852 – 10 जून 1926) स्पेनी कातालोन्याई वास्तुकार थे। गौदी रेउस के निवासी थे व कला और साहित्य आंदोलन कैटलन मोड्र्निज़्मे के कल्पित सरदार थे। गौदी का कार्य जो कि मुख्य रूप से बार्सिलोना में संकेन्द्रित है उनकी अत्यधिक व्यक्तिगत और विशिष्ट शैली को दर्शाता है। इनका सबसे उत्कृष्ट कार्य सग्रादा फमिलिया नाम का रोमन कैथलिक गिरजाघर है जो कि अपनी अपूर्ण स्थिति में भी युनेस्को विश्व विरासत स्थल है। गौदी का ज्यादातर कार्य उनके जीवन के तीन बड़े जुनून: वास्तुशास्त्र, प्रकृति और धर्म द्वारा चिह्नित किया गया। वे अपनी रचनाओं के हर विस्तार का अध्ययन करते थे, अपनी वास्तुकला में कारीगरी की उन श्रेणियों को एकीकृत करते थे जिन में वे कुशल थे: चीनी मिट्टी, दाग कांच, गढ़ा लौहकार्य फोर्जिंग और बढ़ईगीरी। इन्होने वास्तुकला सम्बन्धित माल के इस्तेमाल के लिए नई तकनीक विकसित की थीं, जिन में ट्रेनकादीस भी शामिल है जो बेकार चीनी मिट्टी के टुकड़े से बना मोज़ेक होता है। कुछ वर्षो के पश्चात नव-गॉथिक कला और प्राच्य तकनीको के प्रभाव में गौदी मोड्र्निज़्मे आंदोलन के हिस्सा बन गए, जो कि उन्नीसवीं सदी के अंत और बीसवीं सदी के शुरुआत में अपने शिखर पर पहुँच रहा थी। इनके कार्य ने मुख्यधारा मोड्र्निज़्मे को अलग आयाम तक पहुँचाया जिस में प्रकृति से प्रेरित जैविक शैली सम्मीलित थी। गौदी शायद ही कभी अपने कार्य की विस्तृत योजना तैयार करते थे, इसके बजाय वे तीन-आयामी पैमाने का मॉडल का निर्माण करना पसंद करते थे जिसे अपनी अवधारणा के साथ-साथ ढालते रहते थे। गौदी के कार्य को अन्तराष्ट्रीय अपील प्राप्त है तथा कई अध्ययन इनकी वास्तुकला को समझने के लिए समर्पित किए गए हैं। वर्तमान में इनके कार्य के वास्तुकारों और आम जनता के बीच समान रूप से प्रशंसक मिलते हैं। इनकी उत्कृष्ट कृति, अभी भी अपूर्ण सग्रादा फमिलिया, कातालोन्या के सबसे प्रसिद्ध और बड़े पर्यटकों के आकर्षण के केन्द्रों में से एक है। 1984 से 2005 के बीच यूनेस्को ने इनके सात कार्यो को विश्व विरासत स्थल घोषित किया। गौदी की रोमन कैथलिक आस्था जीवन के साथ-साथ और अधिक घनिष्ठ होती चली गई और धार्मिक चित्र इनके कार्य में व्याप्त हैं। इसके कारण इन्हें 'भगवान का वास्तुकार' का उपनाम मिला और इनके बीऐटफकेशन (धन्य-घोषणा) की मांग उठने लगी। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और अन्तोनी गौदी · और देखें »

अन्जेल्स एंड डेमन्स (देवदूत और शैतान)

अन्ज्लेस एंड डेमोंस 2000सबसे ज्यादा बिकने वाला एक रहस्यमय रोमांचकारी उपन्यास है; जो अमेरिकी लेखक डैन ब्राउन द्वारा लिखा गया है और पॉकेट बुक्स द्वारा प्रकाशित किया गया है। यह काल्पनिक हार्वर्ड यूंनिवेर्सिटी (विश्वविद्यालय) के सिम्बोलोजिस्ट रोबेर्ट लैंगडन की ilumi(illuminati) नामक गुप्त समाज के रहस्यों को उजागर करने और विनाशकारी इलुमिनटी एंटीमीटर का प्रयोग करके वेटिकन सिटी का विनाश करने वाली साजिश का पर्दाफाश करने की इच्छा के चारों और घूमता हैl यह उपन्यास विशेष रूप से धर्म और विज्ञान के बीच ऐतिहासिक संघर्ष को प्रकट करता हैl यह सघर्ष इलुमीनटी और रोमन कैथोलिक चर्च के बीच मे हैl यह उपन्यास राबर्ट लैंगडन (रोबेर्ट लैंगडन) नामक पात्र का परिचय देता हैl रॉबर्ट लैंगडन (Robert langdan) ब्राउन के बाद में आने वाले उपन्यास 2003 काविन्ची कोड और 2009 का उपन्यास लोस्ट सिम्बल के नायकभी हैl इसमें बहुत सारे शेलीगत तत्व हैं - जैसे गुप्त समाज की साजिशें, एक दिन की समय सीमा और केथोलिक चर्च प्राचीन इतिहास, वास्तुकला और प्रतीकों का भी भारी प्रयोग इस पुस्तक में हैंl एक फिल्म अनुकूलन 15 मई 2009 को जारी किया गया था; हालांकि यह दा विंची कोड (The Vinci Code) फिल्म की घटनाओं के बाद किया गया था;जो 2006 मैं दिखाई गयी थीl .

नई!!: कैथोलिक धर्म और अन्जेल्स एंड डेमन्स (देवदूत और शैतान) · और देखें »

अर्नोल्ड श्वार्ज़नेगर

अर्नोल्ड अलोइस श्वार्ज़नेगर (जन्म 30 जुलाई 1947) एक ऑस्ट्रियन अमेरिकी बॉडीबिल्डर, अभिनेता, मॉडेल, व्यवसायी और राजनेता, वर्तमान में कैलिफोर्निया राज्य के 38वें गवर्नर के रूप में सेवारत हैं। श्वार्ज़नेगर ने पंद्रह वर्ष की आयु में भारोत्तोलन का प्रशिक्षण लेना शुरू किया। 22 साल की उम्र में उन्हें मि. यूनिवर्स (Mr. Universe) की उपाधि से सम्मानित किया गया और उन्होंने मि. ओलम्पिया (Mr. Olympia) प्रतियोगिता में कुल सात बार जीत हासिल की। अपनी सेवानिवृत्ति के बहुत समय बाद भी श्वार्जनेगर बॉडीबिल्डिंग के खेल में एक प्रमुख चेहरा बने हुए हैं और उन्होंने खेल पर कई पुस्तकें और अनेक लेख लिखे हैं। कॉनन द बर्बरियन (Conan the Barbarian) और द टर्मिनेटर (The Terminator) जैसी फ़िल्मों में अपनी उल्लेखनीय मुख्य भूमिका के कारण श्वार्जनेगर ने हॉलीवुड की एक्शन फि़ल्म के प्रतीक के रूप में दुनिया भर में ख्याति प्राप्त की। अपने बॉडीबिल्डिंग के दिनों में उन्हें "ऑस्ट्रियन ओक" और "स्टायरियन ओक" उपनाम दिया गया था, अपने अभिनय कॅरियर के दौरान "अर्नोल्ड बलिष्ठ" और "फौलादी" हैं और एकदम हाल ही में "गवर्नेटर" - गवर्नर बने हैं (गवर्नर और टर्मिनेटर-उनकी एक फिल्म की भूमिका, दोनों शब्दों को मिलाकर बना नया शब्द).

नई!!: कैथोलिक धर्म और अर्नोल्ड श्वार्ज़नेगर · और देखें »

अलमूदेना बड़ा गिरजाघर

अलमूदेना बड़ा गिरजाघर (स्पेनी: Catedral de Almudena) मद्रिद, स्पेन के रोमन कैथोलिक का बड़ा गिरजाघर है। 1561 में स्पेन की राजधानी तोलेदो से बदल कर मद्रिद कर दी गई तो स्पेन का मुख्य गिरजा मद्रिद में ही रहा और नई राजधानी में कोई बड़ा गिरजाघर नहीं था। अलमूदेना का निर्माण 1879 में शुरू हुआ था। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और अलमूदेना बड़ा गिरजाघर · और देखें »

अल्बानिया

अल्बानिया गणराज्य (अल्बानियाई: Republika e Shqipërisë) उत्तरपूर्वी यूरोप में स्थित एक देश है। इसकी भूसीमाएं उत्तर में कोसोवो, उत्तरपश्चिम में मोन्टेनेग्रो, पूर्व में भूतपूर्व यूगोस्लाविया और दक्षिण में यूनान से मिलती हैं। तटीय सीमाएं दक्षिण पश्चिम में आड्रियाटिक सागर और आयोनियन सागर से मिलती हैं। अल्बानिया एक संसदीय लोकतंत्र और अवस्थांतर अर्थव्यवस्था है। अल्बानिया की राजधानी, तिराना, लगभग ८,९५,००० निवासियों वाला नगर है जो देश की ३६ लाख की जनसंख्या का चौथाई भाग है और यह नगर अल्बानिया का वित्तीय केन्द्र भी है। मुक्त बाजार सुधारों के कारण विदेशी निवेश के लिए देश की अर्थव्यस्था खोल दी गई है मुख्यतः ऊर्जा के विकास और परिवहन आधारभूत ढांचे में। अल्बानिया संयुक्त राष्ट्र, नाटो, यूरोपीय सुरक्षा और सहयोग संगठन, यूरोपीय परिषद, विश्व व्यापार संगठन, इस्लामिक सम्मेलन संगठन इत्यादि का सदस्य है और भूमध्य क्षेत्र संघ के संस्थापक सदस्यों में से एक था। अल्बानिया जनवरी २००३ से यूरोपीय संघ में विलय के लिए एक संभावित प्रत्याशी रहा है और इसने औपचारिक रूप से २८ अप्रैल, २००९ को यूरोपीय संघ की सदस्यता के लिए आवेदन किया। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और अल्बानिया · और देखें »

असिन

असिन थोट्टूमकल (जन्म 26 अक्टूबर 1985) केवल असिन नाम से लोकप्रिय पूर्व भारतीय फिल्म अभिनेत्री हैं जो कि केरल राज्य से हैं। सथ्यन अन्थिक्कड़ की 'नरेंद्र मकान जयकंथान वाका' फिल्म से उन्होंने अभिनय की शुरुआत की। असिन को अपनी पहली व्यावसायिक सफलता 2003 में 'अम्मा नन्ना ओ तमिल अम्मई' नामक फिल्म से मिली और उन्होंने इसी फिल्म के लिए दक्षिण फ़िल्मफ़ेयर पुरस्कार में सर्वश्रेष्ठ तेलुगू अभिनेत्री का पुरस्कार जीता। कई फ़िल्में प्रदर्शित होने के बाद उनकी दूसरी तमिल फिल्म, गजिनी (2005) आई। इसमें अपने प्रदर्शन के लिए उन्हें अपना दूसरा सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री का दक्षिण फ़िल्मफ़ेयर पुरस्कार मिला। उन्होंने कई सफल फिल्में की जैसे, रोमांचक फिल्म गजिनी (2005) और एक्शन कॉमेडी फिल्म वारालारू (2006) में प्रमुख महिला की भूमिका निभाई है। असिन ने गजिनी फिल्म से बॉलीवुड में पर्दार्पण किया, जो कि उन्हीं की इसी नाम की तमिल फिल्म की रीमेक हैं। इस फिल्म के लिए उन्होंने फ़िल्मफ़ेयर महिला प्रथम अभिनय पुरस्कार भी जीता। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और असिन · और देखें »

उत्तर प्रदेश में पर्यटन

उत्तर प्रदेश में पर्यटन भारत भर में सुविख्यात है एवं इसकी पश्चिमी सीमायें देश की राजधानी नई दिल्ली से लगी हुई हैं। उत्तर प्रदेश भारतीय एवं विदेशी पर्यटको के लिए एक महत्त्वपूर्ण स्थान है। इस प्रदेश में कई ऐतिहासिक एवं धार्मिक स्थल हैं। उत्तर प्रदेश की आबादी भारत के सभी राज्योँ में सबसे अधिक है। भूगौलिक रूप से भी उत्तर प्रदेश में विविधता देखने को मिलती है- उत्तर की ओर हिमालय पर्वत हैं और दक्षिण में सिन्धु-गंगा के मैदान हैं। भारत का सबसे लोकप्रिय ऐतिहासिक पर्यटन स्थल ताज महल यहां के आगरा शहर में स्थित है। वाराणसी, जो कि हिन्दुओं के लिए महत्वपूर्ण धार्मिक स्थल है जो इसी प्रदेश में है। .

नई!!: कैथोलिक धर्म और उत्तर प्रदेश में पर्यटन · और देखें »

यहां पुनर्निर्देश करता है:

Catholic, रोमन काथलिक चर्च, रोमन कैथलिक, रोमन कैथोलिक, रोमन कैथोलिक धर्म, रोमन कैथोलिक चर्च, कैथलिक, कैथोलिक, कैथोलिक ईसाई, कैथोलिक ईसाईयों

निवर्तमानआने वाली
अरे! अब हम फेसबुक पर हैं! »