लोगो
यूनियनपीडिया
संचार
Google Play पर पाएं
नई! अपने एंड्रॉयड डिवाइस पर डाउनलोड यूनियनपीडिया!
डाउनलोड
ब्राउज़र की तुलना में तेजी से पहुँच!
 

कुर्द लोग

सूची कुर्द लोग

कुर्द लोग मुख्य रूप से उत्तरी इराक़, दक्षिणपूर्वी तुर्की तथा उत्तरी सीरिया में पाए जाते हैं। कुर्द लोगों से सम्बन्धित चीज़ों को भी कुर्द कहा जाता है। इनकी भाषा को कुर्द भाषा कहा जाता है। से लोग शिया बाहुल्य हैं किंतु अंकुर आनंद मिश्रा के अनुसार यें अब आधुनिक हो रहे हैं और सूफी शाखा का भी प्रवेश हो रहा है !!! .

29 संबंधों: एलन कुर्दी की मृत्यु, तुर्की, दियाला प्रान्त, दोहूक प्रान्त, नीनवा प्रान्त, बिस्मिल, मोसुल, यज़ीदी, रासायनिक शस्त्र, रोजावा, सलाउद्दीन, सिंजार, सुलयमानियाह प्रान्त, सीरिया, सीरिया में इस्लाम, हमादान, हलाब्जा, खाड़ी युद्ध, इराक़, इराकी कुर्दिस्तान, करकूक प्रान्त, क़ुर्दिस्तान, कुर्दिस्तान प्रांत (ईरान), कुर्दी भाषा, अब्दुसमेट यिगीत, अरबील, अरबील प्रान्त, अल अजीज उथमान, अल-जज़ीरा (मेसोपोटामिया)

एलन कुर्दी की मृत्यु

एलन कुर्दी तीन वर्ष का कुर्दी मूल का सीरियाई बच्चा था जिसके शव का चित्र पूरे विश्व में सुर्ख़ियों में आया था। कुर्दी का परिवार सीरियाई गृहयुद्ध से बचने के लिए 2 सितंबर 2015 को एक नौका में तुर्की से ग्रीस जाने की कोशिश कर रहा था, पर नौका के डूबने से कुर्दी की मौत हो गई। .

नई!!: कुर्द लोग और एलन कुर्दी की मृत्यु · और देखें »

तुर्की

तुर्की (तुर्क भाषा: Türkiye उच्चारण: तुर्किया) यूरेशिया में स्थित एक देश है। इसकी राजधानी अंकारा है। इसकी मुख्य- और राजभाषा तुर्की भाषा है। ये दुनिया का अकेला मुस्लिम बहुमत वाला देश है जो कि धर्मनिर्पेक्ष है। ये एक लोकतान्त्रिक गणराज्य है। इसके एशियाई हिस्से को अनातोलिया और यूरोपीय हिस्से को थ्रेस कहते हैं। स्थिति: 39 डिग्री उत्तरी अक्षांश तथा 36 डिग्री पूर्वी देशान्तर। इसका कुछ भाग यूरोप में तथा अधिकांश भाग एशिया में पड़ता है अत: इसे यूरोप एवं एशिया के बीच का 'पुल' कहा जाता है। इजीयन सागर (Aegean sea) के पतले जलखंड के बीच में आ जाने से इस पुल के दो भाग हो जाते हैं, जिन्हें साधारणतया यूरोपीय टर्की तथा एशियाई टर्की कहते हैं। टर्की के ये दोनों भाग बॉसपोरस के जलडमरूमध्य, मारमारा सागर तथा डारडनेल्ज द्वारा एक दूसरे से अलग होते हैं। टर्की गणतंत्र का कुल क्षेत्रफल 2,96,185 वर्ग मील है जिसमें यूरोपीय टर्की (पूर्वी थ्रैस) का क्षेत्रफल 9,068 वर्ग मील तथा एशियाई टर्की (ऐनाटोलिआ) का क्षेत्रफल 2,87,117 वर्ग मील है। इसके अंतर्गत 451 दलदली स्थल तथा 3,256 खारे पानी की झीलें हैं। पूर्व में रूस और ईरान, दक्षिण की ओर इराक, सीरिया तथा भूमध्यसागर, पश्चिम में ग्रीस और बुल्गारिया और उत्तर में कालासागर इसकी राजनीतिक सीमा निर्धारित करते हैं। यूरोपीय टर्की - त्रिभुजाकर प्रायद्वीपी प्रदेश है जिसका शीर्षक पूर्व में बॉसपोरस के मुहाने पर है। उसके उत्तर तथा दक्षिण दोनों ओर पर्वतश्रेणियाँ फैली हुई हैं। मध्य में निचला मैदान मिलता है जिसमें होकर मारीत्सा और इरजिन नदियाँ बहती हैं। इसी भाग से होकर इस्तैस्म्यूल का संबंध पश्चिमी देशों से है। एशियाई टर्की - इसको हम तीन प्राकृतिक भागों में विभाजित कर सकते हैं: 1.

नई!!: कुर्द लोग और तुर्की · और देखें »

दियाला प्रान्त

दियाला प्रान्त, जिसे अरबी में मुहाफ़ज़ात​ दियाला कहते हैं इराक़ का एक प्रान्त है। यह राष्ट्रीय राजधानी बग़दाद से पूर्वोत्तर में शुरू होकर ईरान की सीमा तक विस्तृत है। .

नई!!: कुर्द लोग और दियाला प्रान्त · और देखें »

दोहूक प्रान्त

दोहूक प्रान्त (अरबी) या दिहोक प्रान्त (कुर्दी) या दुहोक प्रान्त इराक़ का एक प्रान्त है। अरबील प्रान्त और सुलयमानियाह प्रान्त के साथ यह प्रान्त भी इराक़ के स्वशासित कुर्दिस्तान क्षेत्र में आता है जहाँ कुर्दी लोगों की अपनी कुर्दिस्तान क्षेत्रीय सरकार चलती है। सन् १९७६ से पहले दोहूक प्रान्त और नीनवा प्रान्त दोनों एक साथ भूतपूर्व 'मोसुल प्रान्त' का हिस्सा थे। दोहूक प्रान्त की तुर्की के साथ अंतर्राष्ट्रीय सीमा है और इराक़-तुर्की सरहद पर स्थित ज़ाख़ो शहर इसी प्रान्त में आता है। .

नई!!: कुर्द लोग और दोहूक प्रान्त · और देखें »

नीनवा प्रान्त

नीनवा प्रान्त, जिसे अरबी में मुहाफ़ज़ात​ नीनवा कहते हैं, इराक़ का एक प्रान्त है। इस प्रान्त की राजधानी मोसुल शहर है। प्राचीन अश्शूर (असीरिया) संस्कृति का नीनवा शहर (Nineveh) इसी प्रान्त में स्थित है और मोसूल से दजला नदी (टिगरिस) के पार इसके खँडहर आज भी मिलते हैं। सन् १९७६ से पहले इस प्रान्त को 'मोसूल प्रान्त' कहा जाता था और आधुनिक दोहूक प्रान्त भी इसमें सम्मिलित था। .

नई!!: कुर्द लोग और नीनवा प्रान्त · और देखें »

बिस्मिल

भारतीय क्रान्तिकारी बिस्मिल के बारे में जानने के लिये कृपया रामप्रसाद 'बिस्मिल' देखें। बिस्मिल (तुर्क: Bismil) तुर्की के दियारबाकिर राज्य का एक जिला है। 2012 की जनगणना के मुताबिक इसकी कुल जनसंख्या (ग्रामीण व शहरी क्षेत्र को मिलाकर)1,11,746 है। यहाँ के अधिकांश निवासी कुर्द लोग हैं। इस जिले के मुख्यालय का नाम भी बिस्मिल के ही नाम पर रखा गया है। ठीक उसी तरह जैसे भारत में शाहजहाँपुर जिला व उसके मुख्यालय दोनों का ही नाम शाहजहाँपुर है। बिस्मिल शहर की जनसंख्या 60,150 है। इस शहर के मेयर केमिले एमिनोग्लू हैं जो पीस एण्ड डिमोक्रेसी पार्टी से ताल्लुक रखते हैं। .

नई!!: कुर्द लोग और बिस्मिल · और देखें »

मोसुल

मोसुल में दजला नदी पर एक पुल मोसुल (अरबी:, अल-मोसुल; अंग्रेज़ी: Mosul) उत्तरी इराक़ का एक शहर है और उस देश के नीनवा प्रान्त की राजधानी है। बग़दाद से ४०० किमी पश्चिमोत्तर में स्थित यह शहर दजला नदी के किनारे बसा हुआ है। नदी की पश्चिमी तरफ़ प्राचीन असीरियाई साम्राज्य के नीनवा शहर के खँडहर मौजूद हैं। आधुनिक मोसुल शहर नदी के दोनों तरफ़ विस्तृत है और पाँच पुलों से जुड़ा हुआ है। आबादी के हिसाब से बग़दाद के बाद यह इराक़ का दूसरा सबसे बड़ा नगर है।, Ali Aldosari, pp.

नई!!: कुर्द लोग और मोसुल · और देखें »

यज़ीदी

लालिश स्थित शेख आदि इब्न मुसाफिर की दरगाह यज़ीदी या येज़ीदी (कुर्दी: या Êzidî, अंग्रेज़ी: Yazidi) कुर्दी लोगों का एक उपसमुदाय है जिनका अपना अलग यज़ीदी धर्म है। इस धर्म में वह पारसी धर्म के बहुत से तत्व, इस्लामी सूफ़ी मान्यताओं और कुछ ईसाई विश्वासों के मिश्रण को मानते हैं। इस धर्म की शुरुआत १२वीं सदी ईसवी में शेख़ अदी इब्न मुसाफ़िर ने की और इसके अनुसार ईश्वर ने दुनिया का सृजन करने के बाद इसके देख-रेख सात फरिश्तों के सुपुर्द करी जिनमें से प्रमुख को 'मेलेक ताऊस', यानि 'मोर (पक्षी) फ़रिश्ता' है। अधिकतर यज़ीदी लोग पश्चिमोत्तरी इराक़ के नीनवा प्रान्त में बसते हैं, विशेषकर इसके सिंजार क्षेत्र में। इसके अलावा यज़ीदी समुदाय दक्षिणी कॉकस, आर्मेनिया, तुर्की और सीरिया में भी मिलते हैं। .

नई!!: कुर्द लोग और यज़ीदी · और देखें »

रासायनिक शस्त्र

रासायनिक शस्त्र का प्रतीक उन शस्त्रों को रासायनिक शस्त्र (chemical weapon (CW)) कहते हैं जिसमें किसी ऐसे रसायन का उपयोग किया जाता है जो मानव को मार सकता है या उन्हें किसी प्रकार का नुकसान पहुँचा सकता है। अपनी मारक क्षमता के कारण ये जनसंहार करने वाले शस्त्रों की श्रेणी में आते हैं। रासायनिक शस्त्र, जनसंहार करने वाले शस्त्रों का एक प्रकार है। अन्य जनसंहारक शस्त्र हैं - जैविक शस्त्र (रोग), रासायनिक शस्त्र, तथा रेडियोसक्रिय अस्त्र (radiological weapons)। तंत्रिका गैस, अश्रु गैस, कालीमिर्च स्प्रे ये तीन आधुनिक रासायनिक शत्र के उदाहरण हैं। .

नई!!: कुर्द लोग और रासायनिक शस्त्र · और देखें »

रोजावा

रोजावा: उत्तरी पूर्वी सीरिया में स्थित तथा इसे पश्चिमी कुर्दीस्तान भी कहते रोजवा के अंतर्गत तीन प्रांत आते है जजीरा, कोबोन, और आफरीन जो एक स्वायंत्तशासी क्षेत्र है ओर रोजवा एक कुर्द बहुल क्षेत्र है अनुमानित 30 से 35 लाख की अबादी है रोजवा क्षेत्र में बहुमत कुर्दो का है लेकिन ईराकी मुस्लमानो के साथ साथ यह ईसाई व यजीदी अल्पसंख्यक सामुदाय भी रहता है। .

नई!!: कुर्द लोग और रोजावा · और देखें »

सलाउद्दीन

सलाउद्दीन: अंग्रेजी An-Nasir Salah ad-Din Yusuf ibn Ayyub (अरबी सलाउद्दीन युसुफ इब्न अय्युब) जन्म: 1138, निधन 4 मार्च 1193 बारहवीं शताब्दी का एक कुर्द मुस्लिम योद्धा था, जो समकालीन उतरी इराक का रहने वाला था।उस समय के देश (शाम) सीरिया और मिस्त्र का शासक था सीरिया और मिस्त्र के सुल्तान नुरुद्दीन जंगी की मृत्यु के बाद उसके दो भाई शासन करने लगे,लेकिन जब एक के बाद दोनों भाइयो की मृत्यु हो गई तो अब नुरुद्दीन जंगी का सबसे बफादार और करीबी सलाउद्दीन को शासक बनाया गया। सलाउद्दीन ने ११८७ में जब येरुशलम पर विजय प्राप्त करी तो पोप के आह्वाहन पर इंग्लैंड का बादशाह रिचर्ड दा लाइन हार्ट (Richard the Lionheart) फ्रांस का बादशाह और जर्मनी का बादशाह फेडरिक (Frederick Barbarossa) की सेना ने हमला किया लेकिन सलुद्दीन ने अलग अलग युध्दो में फेडरिक की सेनाओ को पराजित किया। वह जितना बड़ा योद्धा था, उतना ही बड़ा और कुशल शासक था।इसके साथ ही न्यायप्रिय और रहम दिल भी था।यही कारण है कि यूरोप के इतिहासकार भी उसके सम्मान और महानता में प्रसंशा करते है।एक बार जब इंग्लैंड के शासक रिचर्ड ने मुसलमानों से अकरा का किला जीत लिया और मुस्लिम सेना ने किले को घेर लिया और युद्ध आरंभ हो गया,उसी समय रिचर्ड बीमार पड़ गया और कोई अच्छा हकीम (वेध)नहीं मिल रहा था,तब सलाउद्दीन ने अपना हकीम को दवाइयों के साथ रिचर्ड के पास भेजा और उसका इलाज करवाया। इस्लामी इतिहासकार तो यह तक कह देते हैं कि इस्लामी रशीदुन खलीफाओँ के बाद इतना कुशल शासक चरित्रवान और योद्धा कोई नहीं हूआ। बारहवीं सदी के अंत में उसके अभियानों के बाद ईसाई-मुस्लिम द्वंद्व में एक निर्णायक मोड़ आया और जेरुशलम के आसपास कब्जा करने आए यूरोपी ईसाईयों का सफाया हो गया। क्रूसेड युध्दो में ईसाईयों को हराने के बावजूद उसकी यूरोप में छवि एक कुशल योद्धा तथा विनम्र सैनिक की तरह है। सन् १८९८ में जर्मनी के राजा विलहेल्म द्वितीय ने सलाउद्दीन की कब्र को सजाने के लिए पैसे भी दिए थे। उसकी मृत्यु के समय उसके पास कुछ दिरहम मात्र ही थे,क्योंकि वह अपनी आय को लोगो की भलाई के लिए खर्च कर देता था। उसकी मृत्यु के समय क्रिया-कर्म भी उसके मित्रो ने मिलके करबाया। सलाउद्दीन की प्रसिद्धी इस बात से की जा सकती है कि फिलिस्तीन में बच्चे उसके शोर्य का गान करते हूए कहते हैं - " नाह नू उल मुसलमीन,कुल्लू नस सलाउद्दीन" इसका अर्थ है कि हम मुसलमानों के बेटे है और हममे सब सलाउद्दीन है। .

नई!!: कुर्द लोग और सलाउद्दीन · और देखें »

सिंजार

सिंजार (अरबी:, कुर्दी: Şengal, सीरियाई: ܫܝܓܪ, अंग्रेज़ी: Sinjar) पश्चिमोत्तरी इराक़ के नीनवा प्रान्त का एक शहर है। यह सीरिया की सरहद के बहुत पास स्थित है। सिंजार में अधिकतर यज़ीदी लोग रहते हैं, हालांकि कुछ कुर्द, अरब और असीरियाई लोग भी हैं। इस शहर के आसपास के क्षेत्र को 'सिंजार मैदान' बुलाया जाता है और यहाँ के नज़दीक स्थित पहाड़ों को भी 'सिंजार पहाड़', या अरबी भाषा में 'जबल सिंजार', कहा जाता है। आधुनिक काल में सिंजार का इलाक़ा ही यज़ीदी समुदाय का प्रमुख केंद्र है।, Gabor Agoston, Bruce Alan Masters, pp.

नई!!: कुर्द लोग और सिंजार · और देखें »

सुलयमानियाह प्रान्त

सुलयमानियाह प्रान्त के ज़िले और उपज़िले (पुराना नक़्शा - ज़िलों का पुनर्संगठन हुआ है) सुलयमानियाह प्रान्त, जिसे अस-सुलयमानियाह (अरबी) और सुलेमानी (कुर्दी) भी कहा जाता है, इराक़ का एक प्रान्त है। दोहूक प्रान्त और अरबील प्रान्त के साथ यह प्रान्त भी इराक़ के स्वशासित कुर्दिस्तान क्षेत्र में आता है जहाँ कुर्दी लोगों की अपनी कुर्दिस्तान क्षेत्रीय सरकार चलती है। सुलयमानियाह प्रान्त की पूर्व में ईरान के साथ अंतर्राष्ट्रीय सीमा है। .

नई!!: कुर्द लोग और सुलयमानियाह प्रान्त · और देखें »

सीरिया

सीरिया ('''سوريّة'''. or), आधिकारिक रूप से सीरियाई अरब गणराज्य (अरबी: الجمهورية العربية السورية), दक्षिण-पश्चिम एशिया का एक राष्ट्र है। इसके पश्चिम में लेबनॉन तथा भूमध्यसागर, दक्षिण-पश्चिम में इजराइल, दक्षिण में ज़ॉर्डन, पूरब में इराक़ तथा उत्तर में तुर्की है। इसराइल तथा इराक़ के बीच स्थित होने के कारण यह मध्य-पूर्व का एक महत्वपूर्ण देश है। इसकी राजधानी दमास्कस है जो उमय्यद ख़िलाफ़त तथा मामलुक साम्राज्य की राजधानी रह चुका है। अप्रैल 1946 में फ्रांस से स्वाधीनता मिलने के बाद यहाँ के शासन में बाथ पार्टी का प्रभुत्व रहा है। 1963 से यहाँ आपातकाल लागू है जिसके कारण 1970 के बाद से यहाँ के शासक असद परिवार के लोग होते हैं। .

नई!!: कुर्द लोग और सीरिया · और देखें »

सीरिया में इस्लाम

सीरिया में इस्लाम; Islam in Syria:सीरिया की 90 प्रतिशत आबादी मुस्लिम है और। सुन्नी मुस्लिम कुल जनसंख्या के 74 प्रतिशत हैं जबकि शिया क़रीब 13 प्रतिशत जिसमें 10 प्रतिशत जनसंख्या ईसाइयो की। और कुछ यहूदी भी रहते हैं। जाति के रूप में सीरिया में कुर्द लोग तुर्कमेन लोग भी निवास करते है। .

नई!!: कुर्द लोग और सीरिया में इस्लाम · और देखें »

हमादान

ईरान के प्रांत हमादान (फारसी: همدان) ईरान का शहर है। श्रेणी:ईरान के नगर श्रेणी:ईरान के प्रांत.

नई!!: कुर्द लोग और हमादान · और देखें »

हलाब्जा

हलाब्जा (कुर्द: ههڵهبجه हेल्बसे) इराकी कुर्दिस्तान में एक शहर है, जो इराक की राजधानी बगदाद से 240 किमी (150 मील) पूर्वोत्तर और ईरानी सीमा से 14 किमी (9 मील) दूरी पर स्थित है। यह शहर ईरान-इराक सीमा में फैले बड़े हेवरमन क्षेत्र रूप में जाना जाता है। हलाब्जा पूर्वोत्तर में हवरामन और श्रार्वे रेंज से क्षेत्र से हुआ है, दक्षिण में बालाम्बो क्षेत्र और पश्चिम में सरवान नदी है। हलाब्जा शहर में तौर पर कुर्द लोग कुर्दी बोली बोलते हैं, लेकिन आसपास के गांवों के कुछ निवासी हेवामी बोली बोलते हैं। .

नई!!: कुर्द लोग और हलाब्जा · और देखें »

खाड़ी युद्ध

कोई विवरण नहीं।

नई!!: कुर्द लोग और खाड़ी युद्ध · और देखें »

इराक़

इराक़ पश्चिमी एशिया में स्थित एक जनतांत्रिक देश है जहाँ के लोग मुख्यतः मुस्लिम हैं। इसके दक्षिण में सउदी अरब और कुवैत, पश्चिम में जोर्डन और सीरिया, उत्तर में तुर्की और पूर्व में ईरान अवस्थित है। दक्षिण पश्चिम की दिशा में यह फ़ारस की खाड़ी से भी जुड़ा है। दजला नदी और फरात इसकी दो प्रमुख नदियाँ हैं जो इसके इतिहास को ५००० साल पीछे ले जाती हैं। इसके दोआबे में ही मेसोपोटामिया की सभ्यता का उदय हुआ था। इराक़ के इतिहास में असीरिया के पतन के बाद विदेशी शक्तियों का प्रभुत्व रहा है। ईसापूर्व छठी सदी के बाद से फ़ारसी शासन में रहने के बाद (सातवीं सदी तक) इसपर अरबों का प्रभुत्व बना। अरब शासन के समय यहाँ इस्लाम धर्म आया और बगदाद अब्बासी खिलाफत की राजधानी रहा। तेरहवीं सदी में मंगोल आक्रमण से बगदाद का पतन हो गया और उसके बाद की अराजकता के सालों बाद तुर्कों (उस्मानी साम्राज्य) का प्रभुत्व यहाँ पर बन गया २००३ से दिसम्बर २०११ तक अमेरिका के नेतृत्व में नैटो की सेना की यहाँ उपस्थिति बनी हुई थी जिसके बाद से यहाँ एक जनतांत्रिक सरकार का शासन है। राजधानी बगदाद के अलावा करबला, बसरा, किर्कुक तथा नजफ़ अन्य प्रमुख शहर हैं। यहाँ की मुख्य बोलचाल की भाषा अरबी और कुर्दी भाषा है और दोनों को सांवैधानिक दर्जा मिला है। .

नई!!: कुर्द लोग और इराक़ · और देखें »

इराकी कुर्दिस्तान

इराकी कुर्दिस्तान, जिसे इराकी संविधान में आधिकारिक रूप से कुर्दिस्तान क्षेत्र (Herêmî Kurdistan; ܩܠܝܡܵܐ ܕܟܘ̣ܪܕܸܣܬܵܢ, Iqlīm Kurdistān) कहते हैं, इराक के उत्तर में स्थित क्षेत्र है जो इराक का एकमात्र स्वायत्त क्षेत्र है। प्रायः इसे दक्षिणी कुर्दिस्तान कहते हैं। (باشووری کوردستان; Başûrê Kurdistanê), क्योंकि कुर्द लोग इसे बृहद कुर्दिस्तान के चार भागों में से एक मानते हैं। .

नई!!: कुर्द लोग और इराकी कुर्दिस्तान · और देखें »

करकूक प्रान्त

करकूक प्रान्त के ज़िलों का नक़्शा (पुराना) करकूक​ प्रान्त (अरबी:, कुर्दी:, आशूरी: ܟܪܟ ܣܠܘܟ), जिसे किरकुक प्रान्त या केरकूक प्रान्त भी उच्चारित किया जाता है, इराक़ का एक प्रान्त है। .

नई!!: कुर्द लोग और करकूक प्रान्त · और देखें »

क़ुर्दिस्तान

विस्तृत अर्थ में कुर्दिस्तान से अभिप्राय उस प्रदेश से है जहाँ कुर्द लोग निवास करते हैं। कुर्द कट्टर सुन्नी मुसलमान, योद्धा, कुशल घुड़सवार, बंजारा जाति के लोग हैं। यह प्रदेश एनातोलिया के दक्षिणपूर्व पहाड़ों तथा जागरूस श्रेणी के उत्तरपश्चिम स्थित है और तुर्की, ईरान और इराक तीन देशों में बँटा है। कुर्द लोग गर्मी में पशुओं के साथ पहाड़ी चरागाहों पर चले जाते हैं। जाड़े में घाटियों में रहते है। इनके खेमे गारे, मिट्टी, ईटं और लकड़ी के बने होते हैं। इनका अतिथिसत्कार प्रसिद्ध है। सीमित अर्थ में कुर्दिस्तान ईरान के एक उस्तान (प्रांत) का नाम है जो उत्तर में अजरबैजान, दक्षिण में किरमान शाह, पूर्व में ईराक की सीमा और पश्चिम में गेरूस और हमदान के उस्तानों से घिरा है। इसका मुख्य नगर सिनंदाज (सिन्नेह) है। यहाँ का मुख्य उद्योग गलीचा, ऊन और नमदा है। यहाँ कुर्द आबादी रहती है और यह तुर्की तथा इराक की सीमा के करीब है। क़ुर्दिस्तान.

नई!!: कुर्द लोग और क़ुर्दिस्तान · और देखें »

कुर्दिस्तान प्रांत (ईरान)

कूर्दिस्तान (फ़ारसी: استان کردستان, Ostâne Kordestân; कुर्द: پارێزگه ی کوردستان, Parêzgeha Kurdistanê) एक प्रांत हैं ईरान का पूर्व मैं। यह इराक़ से सटा है तथा यहाँ कुर्द आबादी रहती है। श्रेणी:ईरान के प्रांत.

नई!!: कुर्द लोग और कुर्दिस्तान प्रांत (ईरान) · और देखें »

कुर्दी भाषा

कुर्दी भाषा का फैलाव (लाल रंग में, बाएं तरफ़) कुर्दी (Kurdî,, Kurdish) ईरान, तुर्की, ईराक़, सीरिया और दक्षिणी कॉकस क्षेत्र में रहने वाले कुर्दी लोगों की भाषा है। यह हिन्द-यूरोपीय भाषा-परिवार की हिन्द-ईरानी शाखा की ईरानी उपशाखा की एक सदस्य है। यह आधुनिक फ़ारसी भाषा से काफ़ी मिलती-जुलती है। दुनिया भर में कुर्दी बोलने वालों की संख्या १.६ करोड़ अनुमानित की गई है। तुर्की में इसे मातृभाषा या दूसरी भाषा बोलने वाले उस देश की कुल आबादी के लगभग १२% अनुमानित किये गए हैं। वास्तव में कुर्दी एक भाषा नहीं बल्कि बहुत सी कुर्दी उपभाषाओं का गुट है।, Stavroula Chrisdoulaki, GRIN Verlag, 2010, ISBN 978-3-640-76700-7,...

नई!!: कुर्द लोग और कुर्दी भाषा · और देखें »

अब्दुसमेट यिगीत

अब्दुसमेट यिगीत (जन्म:1978), नॉर्वे में रहने वाले एक कुर्द लेखक है। वह उत्तरी कुर्दिस्तान प्रांत में पैदा हुए थे। उन्होनें इतिहास और दर्शन का अध्ययन किया और कुर्द महाकाव्य पर कई पुस्तकों का लेखन किया हैं। वह कुर्द कुर्मांजी बोली पर लिखते हैं। उनकी पुस्तकें कुर्द संस्कृति, इतिहास, धर्म, परंपरा और पौराणिक कथाओं के विवरण के साथ आधुनिक कुर्द साहित्य का हिस्सा है। .

नई!!: कुर्द लोग और अब्दुसमेट यिगीत · और देखें »

अरबील

अरबील जिसे स्थानीय रूप से हॉबलर कहा जाता है (कुर्द: ھەولێر Hewlrer; अरबी: आर्बेलिल, अरबील; सिरियाक: ܲܪܒܝܠ, अर्बेल), इराकी कुर्दिस्तान की राजधानी और उत्तरी इराक का सबसे बड़ा शहर है। यह बगदाद से लगभग 350 किलोमीटर (220 मील) उत्तर में स्थित है इसकी लगभग 850,000 अबादी है।.

नई!!: कुर्द लोग और अरबील · और देखें »

अरबील प्रान्त

अरबील प्रान्त के ज़िले और उपज़िले अरबील प्रान्त (अरबी), जिसे अरबेल प्रान्त (आशूरी: ܐܪܒܝܠ) और हावलेर प्रान्त (कुर्दी) भी कहा जाता है, इराक़ का एक प्रान्त है। दोहूक प्रान्त और सुलयमानियाह प्रान्त के साथ यह प्रान्त भी इराक़ के स्वशासित कुर्दिस्तान क्षेत्र में आता है जहाँ कुर्दी लोगों की अपनी कुर्दिस्तान क्षेत्रीय सरकार चलती है। अरबील प्रान्त की उत्तर में तुर्की के साथ और पूर्वोत्तर में ईरान के साथ अंतर्राष्ट्रीय सीमा है। .

नई!!: कुर्द लोग और अरबील प्रान्त · और देखें »

अल अजीज उथमान

अल मलिक अल अजीज उथमान इब्ने सलाउद्दीन; Al-Malik al-Aziz Uthman ibn Salah ad-Din Yusuf (1171-29 नवंबर 1198) एक कुर्द मुस्लिम शासक और मिस्र के दूसरे अय्यूबिद सुल्तान थे। वह सुल्तान सलाउदिन के दूसरे पुत्र थे म्रत्यु से पहले सुल्तान सालादिन ने अपने परिवार में अपने प्रभुत्व को विभाजित कर दिया था: अल-अफदल ने फिलिस्तीन और सीरिया प्राप्त किया, अल-अजीज को मिस्र का शासक बना दिया गया, अल-जहरीर ने अलेप्पो को प्राप्त किया, अल-आदिल को कराक और शॉबक मिला, और तुरान-शाह ने यमन को बरकरार रखा। हालांकि, अल-आदिल सीरिया, अपर मेसोपोटामिया, मिस्र और अरब के अविवादित शासक बनने के बीच भी विवाद फैल गया। अल-अजीज उथमान अपने पिता की सफल स्थिति में थे और 1193 और 1198 के बीच पूरे साम्राज्य पर शासन किया था। .

नई!!: कुर्द लोग और अल अजीज उथमान · और देखें »

अल-जज़ीरा (मेसोपोटामिया)

मध्य पूर्व में फ़ुरात नदी और दजला नदी के बीच का ऊपरी इलाक़ा 'अल-जज़ीरा' क्षेत्र कहलाता है (लाल रंग) अल-जज़ीरा (अरबी:, अंग्रेज़ी: Al Jazira या Djazirah) पारम्परिक मेसोपोटामिया क्षेत्र में पश्चिमोत्तरी इराक़, पूर्वोत्तरी सीरिया और दक्षिणपूर्वी तुर्की में विस्तृत एक इलाक़ा है। यह उत्तर में 2 श्रेणी:नीनवा प्रान्त श्रेणी:अल-हसकाह प्रान्त श्रेणी:इराक़ श्रेणी:तुर्की श्रेणी:सीरिया.

नई!!: कुर्द लोग और अल-जज़ीरा (मेसोपोटामिया) · और देखें »

यहां पुनर्निर्देश करता है:

कुर्द, कुर्द लोगों, कुर्दी लोग, कुर्दी लोगों

निवर्तमानआने वाली
अरे! अब हम फेसबुक पर हैं! »