लोगो
यूनियनपीडिया
संचार
Google Play पर पाएं
नई! अपने एंड्रॉयड डिवाइस पर डाउनलोड यूनियनपीडिया!
मुक्त
ब्राउज़र की तुलना में तेजी से पहुँच!
 

लुम्बिनी अंचल

सूची लुम्बिनी अंचल

लुम्बिनी अंचल पश्चिमांचल नेपाल में पड़ता है। इस अंचल के पूर्व में नारायणी अंचल, उत्तर में गण्डकी अंचल, उत्तर पश्चिम में धवलागिरी अंचल, पश्चिम में राप्ती अंचल तथा दक्षीण में भारतीय राज्य उत्तरप्रदेश पड़ता है। भगवान बुद्ध का जन्मस्थल लुम्विनी इसी अन्चल में पड़ता है। इस अंचल का नाम भगवान बुद्ध का जन्मस्थल का नाम से ही रखा गया है। इस अंचल के पहाड़ी क्षेत्र में पाल्पा, अर्गाखांची, व गुल्मी जिले पड़ते हैं नवलपरासी जिला का कुछ हिस्सा पहाड़ी व भित्री मधेस के चितवन उपत्यका में पड़ता है कुछ ही हिस्सा वाहरी तराइ में पड़ता है, रुपन्देही व कपिलवस्तु जिला पुरी तरह समथर तराइ में पड़ते हैं। मुख्य स्थान १, बुटवल २, सिदार्थनगर (भैरहवा) ४, लुम्विनी ५, तानसिँग (तानसेन) ६, तोलीहवा ७, गोरू सिंगे ८, चन्द्रोटा ९, मणीग्राम १०, परासी (रामग्राम) ११, बर्दघाट १२, कावासोती १३, तम्घाँस १४, सन्धीखर्क १५ ठाडा श्रेणी:नेपाल के पूर्व शासन प्रणाली श्रेणी:पश्चिमांचल विकास क्षेत्र.

15 संबंधों: धवलागिरी अंचल, नारायणी अंचल, नवलपरासी जिला, नेपाल, बुटवल, भारतीय, भैरहवा, राप्ती अंचल, राज्य, लुम्बिनी अंचल, गंडकी अंचल, गौतम बुद्ध, कपिलवस्तु जिला, अर्गाखांची जिला, उत्तर प्रदेश

धवलागिरी अंचल

श्रेणी:नेपाल के पूर्व शासन प्रणाली श्रेणी:पश्चिमांचल विकास क्षेत्र.

नई!!: लुम्बिनी अंचल और धवलागिरी अंचल · और देखें »

नारायणी अंचल

मध्य दक्षीण नेपाल में पडनेवाला नारायणी अन्चल में पाँच जीले, चितवन, मकवानपुर, बारा, पर्सा, व रोतहट पडते हैं, यह अन्चल के दो जिले चितवन व मकवानपुर अधिकांस हिस्सा चितवन उपत्यका व पाहाडी क्षेत्रमे है लेकिन बाकी के तिन जिले बारा पर्सा व रोतहट बाहारी तराइमे पडते हैं। मुख्य स्थान १ भरतपुर, नेपाल २, वीरगंज ३,हेटौडा ४, रत्ननगर ५, कलैया ६, गौर ७, चन्द्रनिगाहपुर ८, पथलैया ९, मुग्लीगं १०, निजगढ ११, भिमफेदी १२, चिसापानी गढी १३, मकवानपुरगढी १४, उपरदांगगढी १५, सोमेस्वरगढी १६, दामन १७, टिस्टुङ १८, पालुङ १९, कुलेखानी २०, चितवन राष्ट्रीय निकुन्ज २१, देवघाट धाम श्रेणी:नेपाल के पूर्व शासन प्रणाली श्रेणी:मध्यमांचल विकास क्षेत्र.

नई!!: लुम्बिनी अंचल और नारायणी अंचल · और देखें »

नवलपरासी जिला

नेपाल के लुम्बिनी प्रान्त का जिला। श्रेणी:नेपाल के जिले.

नई!!: लुम्बिनी अंचल और नवलपरासी जिला · और देखें »

नेपाल

नेपाल, (आधिकारिक रूप में, संघीय लोकतान्त्रिक गणराज्य नेपाल) भारतीय उपमहाद्वीप में स्थित एक दक्षिण एशियाई स्थलरुद्ध हिमालयी राष्ट्र है। नेपाल के उत्तर मे चीन का स्वायत्तशासी प्रदेश तिब्बत है और दक्षिण, पूर्व व पश्चिम में भारत अवस्थित है। नेपाल के ८१ प्रतिशत नागरिक हिन्दू धर्मावलम्बी हैं। नेपाल विश्व का प्रतिशत आधार पर सबसे बड़ा हिन्दू धर्मावलम्बी राष्ट्र है। नेपाल की राजभाषा नेपाली है और नेपाल के लोगों को भी नेपाली कहा जाता है। एक छोटे से क्षेत्र के लिए नेपाल की भौगोलिक विविधता बहुत उल्लेखनीय है। यहाँ तराई के उष्ण फाँट से लेकर ठण्डे हिमालय की श्रृंखलाएं अवस्थित हैं। संसार का सबसे ऊँची १४ हिम श्रृंखलाओं में से आठ नेपाल में हैं जिसमें संसार का सर्वोच्च शिखर सागरमाथा एवरेस्ट (नेपाल और चीन की सीमा पर) भी एक है। नेपाल की राजधानी और सबसे बड़ा नगर काठमांडू है। काठमांडू उपत्यका के अन्दर ललीतपुर (पाटन), भक्तपुर, मध्यपुर और किर्तीपुर नाम के नगर भी हैं अन्य प्रमुख नगरों में पोखरा, विराटनगर, धरान, भरतपुर, वीरगंज, महेन्द्रनगर, बुटवल, हेटौडा, भैरहवा, जनकपुर, नेपालगंज, वीरेन्द्रनगर, त्रिभुवननगर आदि है। वर्तमान नेपाली भूभाग अठारहवीं सदी में गोरखा के शाह वंशीय राजा पृथ्वी नारायण शाह द्वारा संगठित नेपाल राज्य का एक अंश है। अंग्रेज़ों के साथ हुई संधियों में नेपाल को उस समय (१८१४ में) एक तिहाई नेपाली क्षेत्र ब्रिटिश इंडिया को देने पड़े, जो आज भारतीय राज्य हिमाचल प्रदेश, उत्तराखण्ड तथा पश्चिम बंगाल में विलय हो गये हैं। बींसवीं सदी में प्रारंभ हुए जनतांत्रिक आन्दोलनों में कई बार विराम आया जब राजशाही ने जनता और उनके प्रतिनिधियों को अधिकाधिक अधिकार दिए। अंततः २००८ में जनता द्वारा चुने गए प्रतिनिधि माओवादी नेता प्रचण्ड के प्रधानमंत्री बनने से यह आन्दोलन समाप्त हुआ। लेकिन सेना अध्यक्ष के निष्कासन को लेकर राष्ट्रपति से हुए मतभेद और टीवी पर सेना में माओवादियों की नियुक्ति को लेकर वीडियो फुटेज के प्रसारण के बाद सरकार से सहयोगी दलों द्वारा समर्थन वापस लेने के बाद प्रचण्ड को इस्तीफा देना पड़ा। गौरतलब है कि माओवादियों के सत्ता में आने से पहले सन् २००६ में राजा के अधिकारों को अत्यंत सीमित कर दिया गया था। दक्षिण एशिया में नेपाल की सेना पांचवीं सबसे बड़ी सेना है और विशेषकर विश्व युद्धों के दौरान, अपने गोरखा इतिहास के लिए उल्लेखनीय रहे हैं और संयुक्त राष्ट्र शांति अभियानों के लिए महत्वपूर्ण योगदानकर्ता रही है। .

नई!!: लुम्बिनी अंचल और नेपाल · और देखें »

बुटवल

बुटवल, दक्षिण-पश्चिम नेपाल के पहाड़ी व तराई क्षेत्र के बीच का प्रमुख शहर है। भारत की तरफ से सड़क मार्ग से नेपाल जाने के लिये इसी कस्बे से होकर प्रवेश करना पड़ता है। अत: इसे नेपाल के एक प्रवेशद्वार जैसा मान सकते हैं। यह शहर तिनाउ नदी के किनारे स्थित है। बुटवल, लुम्बिनी अंचल का मुकाम होने के के अलावा इस क्षेत्र का सबसे बड़ा वाणिज्य केन्द्र भी है। अंग्रजों के साथ नेपाल की लड़ाई में जीत का प्रतीक जितगढ़ी किला इस शहर के ऊपर की चोटी पर स्थित है। बुटवल, नेपाल के रूपनदेही जिले में आता है। यहाँ से भैरहवा २२ किमी तथा काठमाण्डू लगभग २५० किमी दूर है। बुटवल का दृष्य .

नई!!: लुम्बिनी अंचल और बुटवल · और देखें »

भारतीय

भारत देश के निवासियों को भारतीय कहा जाता है। भारत को हिन्दुस्तान नाम से भी पुकारा जाता है और इसीलिये भारतीयों को हिन्दुस्तानी भी कहतें है।.

नई!!: लुम्बिनी अंचल और भारतीय · और देखें »

भैरहवा

भैरहवा, दक्षिण-पश्चिम नेपाल में भारतीय सीमा के पास स्थित एक कस्बा, नगरपालिका एवं रूपनदेही जिले का मुख्यालय है। यह भारत के साथ कारोवार का प्रमुख नाका है। यह पोखरा से करीव २०० किमी पड़ता है। भैरहवा, लुम्विनी अंचल के रूपन्देही जिल्ले मे बुटवल नगर से २० कि मि की दूरी पर है। इसका नया नाम सिद्धार्थनगर है। सन् १९९१ की नेपाली जनगणना के अनुसार इसकी जनसंख्या 39,473 थी। भैरहवा के स्थानीय निवासी अवधी और भोजपुरी बोलते हैं जबकि नेपाली यहाँ की राष्ट्रीय भाषा है। यह महात्मा बुद्ध की जन्मस्थली लुम्बिनी के लिये प्रवेशद्वार है। भारतीय सीमा के पास स्थित होने के कारण यह आयात-निर्यात व्यापार में प्रमुख भूमिका प्रदान करता है। इसी कारण भैरहवा को तराई क्षेत्र का वाणिज्य केन्द्र भी कहा जाता है। श्रेणी:नेपाल के शहर pt:Bhairahawa.

नई!!: लुम्बिनी अंचल और भैरहवा · और देखें »

राप्ती अंचल

राप्ती अंचल मध्यपस्चिमान्चल नेपाल में पड़ता है, इस अन्चल में दांग, रोल्पा रूकुम, प्युठान व सल्यान जिले पडते है, भित्री मधेस कहेजाने वाला दांग उपत्यका इसी अंचलमे पड़ता है, इस अंचलकी पुर्वमे लुंबिनी अंचल, उत्तर, पुर्वमे धवलागिरी अंचल व उत्तरमे कर्णाली अंचल पश्चिम में भेरी अंचल व दक्षिण में भारतीय राज्य उत्तरप्रदेश पडताहै। .

नई!!: लुम्बिनी अंचल और राप्ती अंचल · और देखें »

राज्य

विश्व के वर्तमान राज्य (विश्व राजनीतिक) पूँजीवादी राज्य व्यवस्था का पिरामिड राज्य उस संगठित इकाई को कहते हैं जो एक शासन (सरकार) के अधीन हो। राज्य संप्रभुतासम्पन्न हो सकते हैं। इसके अलावा किसी शासकीय इकाई या उसके किसी प्रभाग को भी 'राज्य' कहते हैं, जैसे भारत के प्रदेशों को भी 'राज्य' कहते हैं। राज्य आधुनिक विश्व की अनिवार्य सच्चाई है। दुनिया के अधिकांश लोग किसी-न-किसी राज्य के नागरिक हैं। जो लोग किसी राज्य के नागरिक नहीं हैं, उनके लिए वर्तमान विश्व व्यवस्था में अपना अस्तित्व बचाये रखना काफ़ी कठिन है। वास्तव में, 'राज्य' शब्द का उपयोग तीन अलग-अलग तरीके से किया जा सकता है। पहला, इसे एक ऐतिहासिक सत्ता माना जा सकता है; दूसरा इसे एक दार्शनिक विचार अर्थात् मानवीय समाज के स्थाई रूप के तौर पर देखा जा सकता है; और तीसरा, इसे एक आधुनिक परिघटना के रूप में देखा जा सकता है। यह आवश्यक नहीं है कि इन सभी अर्थों का एक-दूसरे से टकराव ही हो। असल में, इनके बीच का अंतर सावधानी से समझने की आवश्यकता है। वैचारिक स्तर पर राज्य को मार्क्सवाद, नारीवाद और अराजकतावाद आदि से चुनौती मिली है। लेकिन अभी राज्य से परे किसी अन्य मज़बूत इकाई की खोज नहीं हो पायी है। राज्य अभी भी प्रासंगिक है और दिनों-दिन मज़बूत होता जा रहा है। यूरोपीय चिंतन में राज्य के चार अंग बताये जाते हैं - निश्चित भूभाग, जनसँख्या, सरकार और संप्रभुता। भारतीय राजनीतिक चिन्तन में 'राज्य' के सात अंग गिनाये जाते हैं- राजा या स्वामी, मंत्री या अमात्य, सुहृद, देश, कोष, दुर्ग और सेना। (राज्य की भारतीय अवधारण देखें।) कौटिल्य ने राज्य के सात अंग बताये हैं और ये उनका "सप्तांग सिद्धांत " कहलाता है - राजा, आमात्य या मंत्री, पुर या दुर्ग, कोष, दण्ड, मित्र । .

नई!!: लुम्बिनी अंचल और राज्य · और देखें »

लुम्बिनी अंचल

लुम्बिनी अंचल पश्चिमांचल नेपाल में पड़ता है। इस अंचल के पूर्व में नारायणी अंचल, उत्तर में गण्डकी अंचल, उत्तर पश्चिम में धवलागिरी अंचल, पश्चिम में राप्ती अंचल तथा दक्षीण में भारतीय राज्य उत्तरप्रदेश पड़ता है। भगवान बुद्ध का जन्मस्थल लुम्विनी इसी अन्चल में पड़ता है। इस अंचल का नाम भगवान बुद्ध का जन्मस्थल का नाम से ही रखा गया है। इस अंचल के पहाड़ी क्षेत्र में पाल्पा, अर्गाखांची, व गुल्मी जिले पड़ते हैं नवलपरासी जिला का कुछ हिस्सा पहाड़ी व भित्री मधेस के चितवन उपत्यका में पड़ता है कुछ ही हिस्सा वाहरी तराइ में पड़ता है, रुपन्देही व कपिलवस्तु जिला पुरी तरह समथर तराइ में पड़ते हैं। मुख्य स्थान १, बुटवल २, सिदार्थनगर (भैरहवा) ४, लुम्विनी ५, तानसिँग (तानसेन) ६, तोलीहवा ७, गोरू सिंगे ८, चन्द्रोटा ९, मणीग्राम १०, परासी (रामग्राम) ११, बर्दघाट १२, कावासोती १३, तम्घाँस १४, सन्धीखर्क १५ ठाडा श्रेणी:नेपाल के पूर्व शासन प्रणाली श्रेणी:पश्चिमांचल विकास क्षेत्र.

नई!!: लुम्बिनी अंचल और लुम्बिनी अंचल · और देखें »

गंडकी अंचल

गण्डकी अंचल Gandaki Zone नेपाल के madhya पश्चिमी भाग में स्थित है। नेपाल में प्रान्त को अंचल की संज्ञा दी गई है। गंडकी अंचल के पूर्व में बागमती, दक्षिण में नारायणी व लुम्बिनी तथा पश्चिम में धवलागिरी अंचल व उत्तर में चिनका स्वसासीत क्षेत्र तिब्बत स्थित है। इस अंचल में अति सुन्दर पोखरा उपत्यका है। उत्तर में हिमालय की अति सुन्दर चोटीयाँ माछापुर्छ, अन्नपूर्णा, गणेश हिमाल तथा हिमचुली लगायत हैं। इस प्रान्त में कास्की,लमजुंग, तनहऊ, गोरखा, स्यांगजा व मनांग जिले हैं। अंचल के अन्य प्रमुख स्थल हैं- पोखरा, गोरखा, ब्यास नगर (दमोली), पुतली बजार (स्यांगजा), वालीगं, लेखनाथ नगर, चामे, बेसींसहर, खैरहनीटार, अँवुखैरनी, मनकामना तथा बन्दीपुर। श्रेणी:नेपाल के पूर्व शासन प्रणाली श्रेणी:पश्चिमांचल विकास क्षेत्र.

नई!!: लुम्बिनी अंचल और गंडकी अंचल · और देखें »

गौतम बुद्ध

गौतम बुद्ध (जन्म 563 ईसा पूर्व – निर्वाण 483 ईसा पूर्व) एक श्रमण थे जिनकी शिक्षाओं पर बौद्ध धर्म का प्रचलन हुआ। उनका जन्म लुंबिनी में 563 ईसा पूर्व इक्ष्वाकु वंशीय क्षत्रिय शाक्य कुल के राजा शुद्धोधन के घर में हुआ था। उनकी माँ का नाम महामाया था जो कोलीय वंश से थी जिनका इनके जन्म के सात दिन बाद निधन हुआ, उनका पालन महारानी की छोटी सगी बहन महाप्रजापती गौतमी ने किया। सिद्धार्थ विवाहोपरांत एक मात्र प्रथम नवजात शिशु राहुल और पत्नी यशोधरा को त्यागकर संसार को जरा, मरण, दुखों से मुक्ति दिलाने के मार्ग की तलाश एवं सत्य दिव्य ज्ञान खोज में रात में राजपाठ छोड़कर जंगल चले गए। वर्षों की कठोर साधना के पश्चात बोध गया (बिहार) में बोधि वृक्ष के नीचे उन्हें ज्ञान की प्राप्ति हुई और वे सिद्धार्थ गौतम से बुद्ध बन गए। .

नई!!: लुम्बिनी अंचल और गौतम बुद्ध · और देखें »

कपिलवस्तु जिला

नेपाल के पश्चिमांचल विकास क्षेत्रका लुम्बिनी प्रान्त का एक जिला है।ईस जिलाका सदरमुकाम तौलिहवा है। श्रेणी:नेपाल के जिले.

नई!!: लुम्बिनी अंचल और कपिलवस्तु जिला · और देखें »

अर्गाखांची जिला

नेपाल के लुम्बिनी प्रान्त का जिला। श्रेणी:चित्र जोड़ें श्रेणी:नेपाल के जिले.

नई!!: लुम्बिनी अंचल और अर्गाखांची जिला · और देखें »

उत्तर प्रदेश

आगरा और अवध संयुक्त प्रांत 1903 उत्तर प्रदेश सरकार का राजचिन्ह उत्तर प्रदेश भारत का सबसे बड़ा (जनसंख्या के आधार पर) राज्य है। लखनऊ प्रदेश की प्रशासनिक व विधायिक राजधानी है और इलाहाबाद न्यायिक राजधानी है। आगरा, अयोध्या, कानपुर, झाँसी, बरेली, मेरठ, वाराणसी, गोरखपुर, मथुरा, मुरादाबाद तथा आज़मगढ़ प्रदेश के अन्य महत्त्वपूर्ण शहर हैं। राज्य के उत्तर में उत्तराखण्ड तथा हिमाचल प्रदेश, पश्चिम में हरियाणा, दिल्ली तथा राजस्थान, दक्षिण में मध्य प्रदेश तथा छत्तीसगढ़ और पूर्व में बिहार तथा झारखंड राज्य स्थित हैं। इनके अतिरिक्त राज्य की की पूर्वोत्तर दिशा में नेपाल देश है। सन २००० में भारतीय संसद ने उत्तर प्रदेश के उत्तर पश्चिमी (मुख्यतः पहाड़ी) भाग से उत्तरांचल (वर्तमान में उत्तराखंड) राज्य का निर्माण किया। उत्तर प्रदेश का अधिकतर हिस्सा सघन आबादी वाले गंगा और यमुना। विश्व में केवल पाँच राष्ट्र चीन, स्वयं भारत, संयुक्त राज्य अमेरिका, इंडोनिशिया और ब्राज़ील की जनसंख्या उत्तर प्रदेश की जनसंख्या से अधिक है। उत्तर प्रदेश भारत के उत्तर में स्थित है। यह राज्य उत्तर में नेपाल व उत्तराखण्ड, दक्षिण में मध्य प्रदेश, पश्चिम में हरियाणा, दिल्ली, राजस्थान तथा पूर्व में बिहार तथा दक्षिण-पूर्व में झारखण्ड व छत्तीसगढ़ से घिरा हुआ है। उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ है। यह राज्य २,३८,५६६ वर्ग किलोमीटर के क्षेत्रफल में फैला हुआ है। यहाँ का मुख्य न्यायालय इलाहाबाद में है। कानपुर, झाँसी, बाँदा, हमीरपुर, चित्रकूट, जालौन, महोबा, ललितपुर, लखीमपुर खीरी, वाराणसी, इलाहाबाद, मेरठ, गोरखपुर, नोएडा, मथुरा, मुरादाबाद, गाजियाबाद, अलीगढ़, सुल्तानपुर, फैजाबाद, बरेली, आज़मगढ़, मुज़फ्फरनगर, सहारनपुर यहाँ के मुख्य शहर हैं। .

नई!!: लुम्बिनी अंचल और उत्तर प्रदेश · और देखें »

यहां पुनर्निर्देश करता है:

लुम्बिनी प्रान्त, लुम्बिनी अञ्चल, लुम्विनी

निवर्तमानआने वाली
अरे! अब हम फेसबुक पर हैं! »