लोगो
यूनियनपीडिया
संचार
Google Play पर पाएं
नई! अपने एंड्रॉयड डिवाइस पर डाउनलोड यूनियनपीडिया!
इंस्टॉल करें
ब्राउज़र की तुलना में तेजी से पहुँच!
 

लवासा

सूची लवासा

लवासा (मराठी: लवासा) एक योजनाबद्ध शहर है जिसे स्वतंत्रता के बाद से भारत के प्रथम पहाड़ी शहर के रूप में विज्ञापित किया जाता है, जिसे वर्ष 2000 में महाराष्ट्र सरकार द्वारा पारित विवादास्पद हिल स्टेशन नीति के अनुसार विकसित किया जा रहा है। इस परियोजना को मुख्य रूप से पुणे और मुंबई के पास एचसीसी इंडिया (HCC India) द्वारा विकसित किया जा रहा है और यह क्षेत्र में फैला हुआ है।लवासा (दास्वे) के प्रथम चरण के कलाकारों की छाप .

7 संबंधों: पुणे, ब्रांडिंग, भारत, महाराष्ट्र सरकार, मुम्बई, स्वतन्त्रता, क्राइस्ट विश्वविद्यालय

पुणे

पुणे भारत के महाराष्ट्र राज्य का एक महत्त्वपूर्ण शहर है। यह शहर महाराष्ट्र के पश्चिम भाग, मुला व मूठा इन दो नदियों के किनारे बसा है और पुणे जिला का प्रशासकीय मुख्यालय है। पुणे भारत का छठवां सबसे बड़ा शहर व महाराष्ट्र का दूसरा सबसे बड़ा शहर है। सार्वजनिक सुखसुविधा व विकास के हिसाब से पुणे महाराष्ट्र मे मुंबई के बाद अग्रसर है। अनेक नामांकित शिक्षणसंस्थायें होने के कारण इस शहर को 'पूरब का ऑक्सफोर्ड' भी कहा जाता है। पुणे में अनेक प्रौद्योगिकी और ऑटोमोबाईल उपक्रम हैं, इसलिए पुणे भारत का ”डेट्राइट” जैसा लगता है। काफी प्राचीन ज्ञात इतिहास से पुणे शहर महाराष्ट्र की 'सांस्कृतिक राजधानी' माना जाता है। मराठी भाषा इस शहर की मुख्य भाषा है। पुणे शहर मे लगभग सभी विषयों के उच्च शिक्षण की सुविधा उपलब्ध है। पुणे विद्यापीठ, राष्ट्रीय रासायनिक प्रयोगशाला, आयुका, आगरकर संशोधन संस्था, सी-डैक जैसी आंतरराष्ट्रीय स्तर के शिक्षण संस्थान यहाँ है। पुणे फिल्म इन्स्टिट्युट भी काफी प्रसिद्ध है। पुणे महाराष्ट्र व भारत का एक महत्त्वपूर्ण औद्योगिक केंद्र है। टाटा मोटर्स, बजाज ऑटो, भारत फोर्ज जैसे उत्पादनक्षेत्र के अनेक बड़े उद्योग यहाँ है। 1990 के दशक मे इन्फोसिस, टाटा कंसल्टंसी सर्विसे, विप्रो, सिमैंटेक, आइ.बी.एम जैसे प्रसिद्ध सॉफ्टवेअर कंपनियों ने पुणे मे अपने केंन्द्र खोले और यह शहर भारत का एक प्रमुख सूचना प्रौद्योगिकी उद्योगकेंद्र के रूप मे विकसित हुआ। .

नई!!: लवासा और पुणे · और देखें »

ब्रांडिंग

ब्रांडिंग Bairroserrinha-01 Advertising Consultant Camaal Mustafa Sikander aka Lens Naayak from Mumbai Bombay India 3 ब्रांडिंग किसी भी व्यापार, बड़े या छोटे, खुदरा या बी 2 बी के सर्वाधिक महत्वपूर्ण पहलुओं में से एक है। एक प्रभावी ब्रांड रणनीति आप तेजी से प्रतिस्पर्धी बाजार में एक प्रमुख बढ़त देता है। लेकिन वास्तव में "ब्रांडिंग" क्या मतलब है? यह कैसे तुम्हारी तरह एक छोटे से व्यवसाय प्रभावित करता है? सीधे शब्दों में कहें, अपने ब्रांड अपने ग्राहकों के लिए अपना वादा है। यह वे अपने उत्पादों और सेवाओं से क्या उम्मीद कर सकते उन्हें बताता है, और यह अपने प्रतियोगियों 'से अपनी भेंट differentiates। अपने ब्रांड को आप बनना चाहते हैं और लोगों को आप बनना मानता कौन है, आप जो कर रहे हैं से ली गई है। आप अपने उद्योग में नवीन मनमौजी हैं? या अनुभवी, विश्वसनीय एक? अपने उत्पाद उच्च लागत, उच्च गुणवत्ता वाले विकल्प हैं, या कम लागत, उच्च मूल्य विकल्प है? आप दोनों नहीं हो सकता है, और आप सभी लोगों को सब कुछ नहीं हो सकता। तुम कौन हो अपने लक्षित ग्राहकों को चाहते हैं और आप की जरूरत है, जो इस पर कुछ हद तक आधारित होना चाहिए। अपने ब्रांड की नींव अपने लोगो है। अपने लोगो को एकीकृत करना चाहिए जो सभी के लिए - - अपने ब्रांड संवाद अपनी वेबसाइट, पैकेजिंग और प्रचार सामग्री। ब्रांड रणनीति और इक्विटी अपने ब्रांड की रणनीति है, तुम कैसे संवाद स्थापित करने और अपने ब्रांड के संदेशों पर पहुंचाने पर योजना क्या, कहां, कब और किसके लिए। जहां आप विज्ञापन के लिए अपने ब्रांड की रणनीति का हिस्सा है। आपका वितरण चैनलों को भी अपने ब्रांड की रणनीति का हिस्सा हैं। और भी, आप नेत्रहीन क्या संवाद और मौखिक रूप से अपने ब्रांड रणनीति का हिस्सा हैं। संगत, सामरिक ब्रांडिंग आप क्या समान, गैर ब्रांडेड उत्पादों आदेश से अपने ब्रांड के लिए और अधिक चार्ज करने की अनुमति देता है कि आपकी कंपनी के उत्पादों या सेवाओं के लिए लाया जोड़ा मूल्य का मतलब है एक मजबूत ब्रांड इक्विटी की ओर जाता है। इस का सबसे स्पष्ट उदाहरण कोक बनाम एक सामान्य सोडा है। कोका कोला एक शक्तिशाली ब्रांड इक्विटी का निर्माण किया गया है, क्योंकि यह अपने उत्पाद के लिए अधिक चार्ज कर सकते हैं - और ग्राहकों है कि उच्च कीमत चुकानी होगी। ब्रांड इक्विटी के लिए आंतरिक कहा कि मूल्य अक्सर कथित गुणवत्ता या भावनात्मक लगाव के रूप में आता है। उदाहरण के लिए, नाइके ग्राहकों को उत्पाद के लिए एथलीट से उनके भावनात्मक लगाव हस्तांतरण होगा, उम्मीद स्टार एथलीटों के साथ अपने उत्पादों को एकत्रित करती है। नाइके के लिए, यह जूता बेचने कि सिर्फ जूते की सुविधाओं नहीं है। अपने ब्रांड की परिभाषा अपने ब्रांड को परिभाषित व्यापार स्वयं की खोज की एक यात्रा की तरह है। यह मुश्किल है, समय लेने वाली और असहज हो सकता है। यह आप नीचे दिए गए सवालों का जवाब है कि बहुत कम से कम, की आवश्यकता है: क्या तुम खोज करते हो। जरूरत है, आदतों और अपने वर्तमान और भावी ग्राहकों की इच्छाओं को जानें। और तुम उन्हें लगता है कि क्या सोचते हैं पर भरोसा नहीं है। वे क्या सोचते हैं। एक ब्रांड रणनीति अपने ब्रांड को परिभाषित करने और विकसित करने के लिए जटिल हो सकता है, क्योंकि एक गैरलाभकारी छोटे व्यापार सलाहकार समूह या एक लघु व्यवसाय विकास केंद्र की विशेषज्ञता का लाभ पर विचार करें। आप अपने ब्रांड परिभाषित करने के बाद, आप कैसे बाहर शब्द मिलता है? यहाँ कुछ सरल, समय परीक्षण सुझाव दिए गए हैं: श्रेणी:विपणन अनुसंधान.

नई!!: लवासा और ब्रांडिंग · और देखें »

भारत

भारत (आधिकारिक नाम: भारत गणराज्य, Republic of India) दक्षिण एशिया में स्थित भारतीय उपमहाद्वीप का सबसे बड़ा देश है। पूर्ण रूप से उत्तरी गोलार्ध में स्थित भारत, भौगोलिक दृष्टि से विश्व में सातवाँ सबसे बड़ा और जनसंख्या के दृष्टिकोण से दूसरा सबसे बड़ा देश है। भारत के पश्चिम में पाकिस्तान, उत्तर-पूर्व में चीन, नेपाल और भूटान, पूर्व में बांग्लादेश और म्यान्मार स्थित हैं। हिन्द महासागर में इसके दक्षिण पश्चिम में मालदीव, दक्षिण में श्रीलंका और दक्षिण-पूर्व में इंडोनेशिया से भारत की सामुद्रिक सीमा लगती है। इसके उत्तर की भौतिक सीमा हिमालय पर्वत से और दक्षिण में हिन्द महासागर से लगी हुई है। पूर्व में बंगाल की खाड़ी है तथा पश्चिम में अरब सागर हैं। प्राचीन सिन्धु घाटी सभ्यता, व्यापार मार्गों और बड़े-बड़े साम्राज्यों का विकास-स्थान रहे भारतीय उपमहाद्वीप को इसके सांस्कृतिक और आर्थिक सफलता के लंबे इतिहास के लिये जाना जाता रहा है। चार प्रमुख संप्रदायों: हिंदू, बौद्ध, जैन और सिख धर्मों का यहां उदय हुआ, पारसी, यहूदी, ईसाई, और मुस्लिम धर्म प्रथम सहस्राब्दी में यहां पहुचे और यहां की विविध संस्कृति को नया रूप दिया। क्रमिक विजयों के परिणामस्वरूप ब्रिटिश ईस्ट इण्डिया कंपनी ने १८वीं और १९वीं सदी में भारत के ज़्यादतर हिस्सों को अपने राज्य में मिला लिया। १८५७ के विफल विद्रोह के बाद भारत के प्रशासन का भार ब्रिटिश सरकार ने अपने ऊपर ले लिया। ब्रिटिश भारत के रूप में ब्रिटिश साम्राज्य के प्रमुख अंग भारत ने महात्मा गांधी के नेतृत्व में एक लम्बे और मुख्य रूप से अहिंसक स्वतन्त्रता संग्राम के बाद १५ अगस्त १९४७ को आज़ादी पाई। १९५० में लागू हुए नये संविधान में इसे सार्वजनिक वयस्क मताधिकार के आधार पर स्थापित संवैधानिक लोकतांत्रिक गणराज्य घोषित कर दिया गया और युनाईटेड किंगडम की तर्ज़ पर वेस्टमिंस्टर शैली की संसदीय सरकार स्थापित की गयी। एक संघीय राष्ट्र, भारत को २९ राज्यों और ७ संघ शासित प्रदेशों में गठित किया गया है। लम्बे समय तक समाजवादी आर्थिक नीतियों का पालन करने के बाद 1991 के पश्चात् भारत ने उदारीकरण और वैश्वीकरण की नयी नीतियों के आधार पर सार्थक आर्थिक और सामाजिक प्रगति की है। ३३ लाख वर्ग किलोमीटर क्षेत्रफल के साथ भारत भौगोलिक क्षेत्रफल के आधार पर विश्व का सातवाँ सबसे बड़ा राष्ट्र है। वर्तमान में भारतीय अर्थव्यवस्था क्रय शक्ति समता के आधार पर विश्व की तीसरी और मानक मूल्यों के आधार पर विश्व की दसवीं सबसे बडी अर्थव्यवस्था है। १९९१ के बाज़ार-आधारित सुधारों के बाद भारत विश्व की सबसे तेज़ विकसित होती बड़ी अर्थ-व्यवस्थाओं में से एक हो गया है और इसे एक नव-औद्योगिकृत राष्ट्र माना जाता है। परंतु भारत के सामने अभी भी गरीबी, भ्रष्टाचार, कुपोषण, अपर्याप्त सार्वजनिक स्वास्थ्य-सेवा और आतंकवाद की चुनौतियां हैं। आज भारत एक विविध, बहुभाषी, और बहु-जातीय समाज है और भारतीय सेना एक क्षेत्रीय शक्ति है। .

नई!!: लवासा और भारत · और देखें »

महाराष्ट्र सरकार

महाराष्ट्र राज्य की राज्य व्यवस्था की जानकारी। श्रेणी:महाराष्ट्र.

नई!!: लवासा और महाराष्ट्र सरकार · और देखें »

मुम्बई

भारत के पश्चिमी तट पर स्थित मुंंबई (पूर्व नाम बम्बई), भारतीय राज्य महाराष्ट्र की राजधानी है। इसकी अनुमानित जनसंख्या ३ करोड़ २९ लाख है जो देश की पहली सर्वाधिक आबादी वाली नगरी है। इसका गठन लावा निर्मित सात छोटे-छोटे द्वीपों द्वारा हुआ है एवं यह पुल द्वारा प्रमुख भू-खंड के साथ जुड़ा हुआ है। मुम्बई बन्दरगाह भारतवर्ष का सर्वश्रेष्ठ सामुद्रिक बन्दरगाह है। मुम्बई का तट कटा-फटा है जिसके कारण इसका पोताश्रय प्राकृतिक एवं सुरक्षित है। यूरोप, अमेरिका, अफ़्रीका आदि पश्चिमी देशों से जलमार्ग या वायुमार्ग से आनेवाले जहाज यात्री एवं पर्यटक सर्वप्रथम मुम्बई ही आते हैं इसलिए मुम्बई को भारत का प्रवेशद्वार कहा जाता है। मुम्बई भारत का सर्ववृहत्तम वाणिज्यिक केन्द्र है। जिसकी भारत के सकल घरेलू उत्पाद में 5% की भागीदारी है। यह सम्पूर्ण भारत के औद्योगिक उत्पाद का 25%, नौवहन व्यापार का 40%, एवं भारतीय अर्थ व्यवस्था के पूंजी लेनदेन का 70% भागीदार है। मुंबई विश्व के सर्वोच्च दस वाणिज्यिक केन्द्रों में से एक है। भारत के अधिकांश बैंक एवं सौदागरी कार्यालयों के प्रमुख कार्यालय एवं कई महत्वपूर्ण आर्थिक संस्थान जैसे भारतीय रिज़र्व बैंक, बम्बई स्टॉक एक्स्चेंज, नेशनल स्टऑक एक्स्चेंज एवं अनेक भारतीय कम्पनियों के निगमित मुख्यालय तथा बहुराष्ट्रीय कंपनियां मुम्बई में अवस्थित हैं। इसलिए इसे भारत की आर्थिक राजधानी भी कहते हैं। नगर में भारत का हिन्दी चलचित्र एवं दूरदर्शन उद्योग भी है, जो बॉलीवुड नाम से प्रसिद्ध है। मुंबई की व्यवसायिक अपॊर्ट्युनिटी, व उच्च जीवन स्तर पूरे भारतवर्ष भर के लोगों को आकर्षित करती है, जिसके कारण यह नगर विभिन्न समाजों व संस्कृतियों का मिश्रण बन गया है। मुंबई पत्तन भारत के लगभग आधे समुद्री माल की आवाजाही करता है। .

नई!!: लवासा और मुम्बई · और देखें »

स्वतन्त्रता

स्वतंत्रता आधुनिक काल का प्रमुख राजनैतिक दर्शन है। यह उस दशा का बोध कराती है जिसमें कोई राष्ट्र, देश या राज्य द्वारा अपनी इच्छा के अनुसार कार्य करने पर किसी दूसरे व्यक्ति/ समाज/ देश का किसी प्रकार का प्रतिबन्ध या मनाही नहीं होती। अर्थात स्वतंत्र देश/ राष्ट्र/ राज्य के सदस्य स्वशासन (सेल्फ-गवर्नमेन्ट) से शासित होते हैं। स्वतंत्रता का विलोम शब्द 'परतंत्रता' है। जरूरी नहीं कि 'स्वतंत्रता' का अर्थ 'आजादी' (freedom) भी हो। .

नई!!: लवासा और स्वतन्त्रता · और देखें »

क्राइस्ट विश्वविद्यालय

क्राइस्ट विश्वविद्यालय भारत के कर्नाटक राज्य की राजधानी बंगलुरु में स्थित एक मानित विश्वविद्यालय है। यह बेंगलुरू के होसूर मार्ग पर स्थित है। .

नई!!: लवासा और क्राइस्ट विश्वविद्यालय · और देखें »

निवर्तमानआने वाली
अरे! अब हम फेसबुक पर हैं! »