लोगो
यूनियनपीडिया
संचार
Google Play पर पाएं
नई! अपने एंड्रॉयड डिवाइस पर डाउनलोड यूनियनपीडिया!
मुक्त
ब्राउज़र की तुलना में तेजी से पहुँच!
 

मलप्पुरम

सूची मलप्पुरम

पूर्व में नीलगिरी की पहाड़ियों, पश्चिम में अरब सागर और दक्षिण में पालक्काड एवं तृश्शूर जिले से घिरा मलप्पुरम (मलयालम:മലപ്പുറം, मलप्पुऱम्) कोषिक्कोड से 50 किलोमीटर दक्षिण पूर्व में स्थित है। यह मलप्पुरम जिला का मुख्यालय है। मलप्पुरम को 1969 में कालीकट और पलक्कड से अलग करके बनाया गया था। चेलियार, काडलकुंडी और भरतपुजा नामक तीन महान नदियां यहां से बहती हैं। इंडो-यूरोपियन शैली में बनी अनेक ऐतिहासिक इमारतें आज भी यहां देखी जा सकती हैं। मलप्पुरम के मंदिर-मस्जिद और वहां मनाए जाने वाले पर्व बहुत लोकप्रिय हैं। केरल के इस जिले का समृद्ध इतिहास रहा है। प्राचीन काल से यह नगर जमोरिन शासकों के सैनिक मुख्‍यालय के तौर पर जाना जाता रहा है। ब्रिटिश शासन के खिलाफ 1792 से 1921 के दौरान यहां कई बार मोप्पिला विद्रोह हुए थे। केरल की सांस्कृतिक विरासत में इस नगर का विशेष योगदान माना जाता है। हिन्दू वैदिक शिक्षा और इस्लामिक दर्शन का यह प्रमुख केन्द्र रहा है। .

6 संबंधों: तृश्शूर, नीलगिरी, मलप्पुरम जिला, मलयालम भाषा, कालीकट अंतर्राष्ट्रीय विमानक्षेत्र, अरब सागर

तृश्शूर

तृश्शूर (मलयालम: തൃശ്ശൂർ, तृश्शूर्) केरल के सांस्कृतिक राजधानी के नाम से भी जाना जाता है। इसे पहले 'त्रिचूर' के नाम से जाना जाता था। .

नई!!: मलप्पुरम और तृश्शूर · और देखें »

नीलगिरी

नीलगिरी के कई अर्थ हो सकते हैं:-.

नई!!: मलप्पुरम और नीलगिरी · और देखें »

मलप्पुरम जिला

मलप्पुरम (मलयालम:മലപ്പുറം, मलप्पुऱम्) भारतीय राज्य केरल का एक जिला है। इसका मुख्यालय मलप्पुरम शहर में है। क्षेत्रफल - 3550 वर्ग कि.मी.

नई!!: मलप्पुरम और मलप्पुरम जिला · और देखें »

मलयालम भाषा

मलयालं (മലയാളം, मलयालम्‌) या कैरली (കൈരളി, कैरलि) भारत के केरल प्रान्त में बोली जाने वाली प्रमुख भाषा है। ये द्रविड़ भाषा-परिवार में आती है। केरल के अलावा ये तमिलनाडु के कन्याकुमारी तथा उत्तर में कर्नाटक के दक्षिण कन्नड़ जिला, लक्षद्वीप तथा अन्य कई देशों में बसे मलयालियों द्वारा बोली जाती है। मलयालं, भाषा और लिपि के विचार से तमिल भाषा के काफी निकट है। इस पर संस्कृत का प्रभाव ईसा के पूर्व पहली सदी से हुआ है। संस्कृत शब्दों को मलयालम शैली के अनुकूल बनाने के लिए संस्कृत से अवतरित शब्दों को संशोधित किया गया है। अरबों के साथ सदियों से व्यापार संबंध अंग्रेजी तथा पुर्तगाली उपनिवेशवाद का असर भी भाषा पर पड़ा है। .

नई!!: मलप्पुरम और मलयालम भाषा · और देखें »

कालीकट अंतर्राष्ट्रीय विमानक्षेत्र

Cकालीकट अंतर्राष्ट्रीय विमानक्षेत्र, को करीपुर एयरपोर्ट के नाम से भी जाना जाता है। यह करीपुर, मल्लप्पुरम जिले, केरल में कोज़ीकोड (कालीकट) के निकट स्थित है। यह विमानक्षेत्र कालीकट रेलवे स्टेशन से दूर मंजेरी नामक कस्बे में स्थित है। इसका निकटतम रेलवे स्टेशन है फेरोक। यातायात के नज़र में यह भारत का बारहवां (१२वां) व्यस्ततम विमानक्षेत्र है। और कार्गो के हिसाब से ग्यारहवां व्यस्ततम विमानक्षेत्र है। कालीकट विमानक्षेत्र केरल में स्थित तीन में से एक अन्तर्राष्ट्रीय विमानक्षेत्र है। इसे अन्तर्राष्ट्रीय विमानक्षेत्र का स्तर २ फरवरी, २००६ को मिला था। उसके बाद से ही यहां की मूल अवसंरचना को अन्तर्राष्ट्रीय यातायात के लिए उपयुक्त करने की मुहिम जारी है। .

नई!!: मलप्पुरम और कालीकट अंतर्राष्ट्रीय विमानक्षेत्र · और देखें »

अरब सागर

अरब सागर जिसका भारतीय नाम सिंधु सागर है, भारतीय उपमहाद्वीप और अरब क्षेत्र के बीच स्थित हिंद महासागर का हिस्सा है। अरब सागर लगभग 38,62,000 किमी2 सतही क्षेत्र घेरते हुए स्थित है तथा इसकी अधिकतम चौड़ाई लगभग 2,400 किमी (1,500 मील) है। सिन्धु नदी सबसे महत्वपूर्ण नदी है जो अरब सागर में गिरती है, इसके आलावा भारत की नर्मदा और ताप्ती नदियाँ अरब सागर में गिरती हैं। यह एक त्रिभुजाकार सागर है जो दक्षिण से उत्तर की ओर क्रमश: संकरा होता जाता है और फ़ारस की खाड़ी से जाकर मिलता है। अरब सागर के तट पर भारत के अलावा जो महत्वपूर्ण देश स्थित हैं उनमें ईरान, ओमान, पाकिस्तान, यमन और संयुक्त अरब अमीरात सबसे प्रमुख हैं। .

नई!!: मलप्पुरम और अरब सागर · और देखें »

निवर्तमानआने वाली
अरे! अब हम फेसबुक पर हैं! »