लोगो
यूनियनपीडिया
संचार
Google Play पर पाएं
नई! अपने एंड्रॉयड डिवाइस पर डाउनलोड यूनियनपीडिया!
इंस्टॉल करें
ब्राउज़र की तुलना में तेजी से पहुँच!
 

मण्डप

सूची मण्डप

हम्पी के पट्टाभिराम मंदिर का मण्डप थाइलैण्ड के नान स्थित वाट फ्रा थाट छे का मण्डप भारतीय स्थापत्यकला के सन्दर्भ में, स्तम्भों पर खड़े बाहरी हाल को मण्डप कहते हैं जिसमें लोग विभिन्न प्रकार के क्रियाकर्म करते हैं। .

3 संबंधों: नान(समाचार संस्था), भारतीय स्थापत्यकला, स्तम्भ

नान(समाचार संस्था)

न्यूज़ एजेंसी ऑफ नाइजीरिया (नान/NAN) नाइजीरिया की एक प्रमुख समाचार संस्था है। .

नई!!: मण्डप और नान(समाचार संस्था) · और देखें »

भारतीय स्थापत्यकला

सांची का स्तूप अजन्ता गुफा २६ का चैत्य भारत के स्थापत्य की जड़ें यहाँ के इतिहास, दर्शन एवं संस्कृति में निहित हैं। भारत की वास्तुकला यहाँ की परम्परागत एवं बाहरी प्रभावों का मिश्रण है। भारतीय वास्तु की विशेषता यहाँ की दीवारों के उत्कृष्ट और प्रचुर अलंकरण में है। भित्तिचित्रों और मूर्तियों की योजना, जिसमें अलंकरण के अतिरिक्त अपने विषय के गंभीर भाव भी व्यक्त होते हैं, भवन को बाहर से कभी कभी पूर्णतया लपेट लेती है। इनमें वास्तु का जीवन से संबंध क्या, वास्तव में आध्यात्मिक जीवन ही अंकित है। न्यूनाधिक उभार में उत्कीर्ण अपने अलौकिक कृत्यों में लगे हुए देश भर के देवी देवता, तथा युगों पुराना पौराणिक गाथाएँ, मूर्तिकला को प्रतीक बनाकर दर्शकों के सम्मुख अत्यंत रोचक कथाओं और मनोहर चित्रों की एक पुस्तक सी खोल देती हैं। 'वास्तु' शब्द की व्युत्पत्ति संस्कृत के 'वस्' धातु से हुई है जिसका अर्थ 'बसना' होता है। चूंकि बसने के लिये भवन की आवश्यकता होती है अतः 'वास्तु' का अर्थ 'रहने हेतु भवन' है। 'वस्' धातु से ही वास, आवास, निवास, बसति, बस्ती आदि शब्द बने हैं। .

नई!!: मण्डप और भारतीय स्थापत्यकला · और देखें »

स्तम्भ

सीरिया के भग्नावशिष्ट बेल मन्दिर के स्तम्भ वास्तु (आर्किटेक्चर) तथा संरचना इंजीनियरी में स्तम्भ (Column या pillar) वह संरचनात्मक अवयव है जो स्वयं संपीडित (कम्प्रेस) होकर अपने ऊपर आने वाले छत आदि का भार अपने नीचे के अवयवों (जैसे धरती) पर ट्रांसफर कर देता है। अतः स्तम्भ एक संपीडन अवयव (compression member) है जो उर्ध्वाधर (वर्टिकल) खड़ा रहता है। किन्तु भूकम्प इंजीनियरी की दृष्टि से स्तम्भ की डिजाइन करते समय पार्श्व बलों (lateral forces) को सहने की क्षमता भी दी जा सकती है। स्तम्भों का उपयोग प्रायः धरनों एवं चापों (arches) को अवलम्ब (सपोर्ट) करने के लिए किया जाता है। स्तम्भों का प्राचीन क्रम विभिन्न प्रकार के स्तम्भों के उदाहरण श्रेणी:वास्तु के अवयव श्रेणी:भूकम्प इंजीनियरी.

नई!!: मण्डप और स्तम्भ · और देखें »

निवर्तमानआने वाली
अरे! अब हम फेसबुक पर हैं! »