लोगो
यूनियनपीडिया
संचार
Google Play पर पाएं
नई! अपने एंड्रॉयड डिवाइस पर डाउनलोड यूनियनपीडिया!
डाउनलोड
ब्राउज़र की तुलना में तेजी से पहुँच!
 

द महाभारत (नारायण)

सूची द महाभारत (नारायण)

द महाभारत आर के नारायण द्वारा रचित पौराणिक कथाओं पर आधारित पुस्तक है। यह महाभारत का आधुनिकीकृत, छोटा और अनुवादित एवं पुनर्लिखित पुस्तक है। इसका प्रथम प्रकाशन हाइनमैन, लंदन में १९७८ में हुआ। पुस्तक का विमोचन हिन्दू पौराणिक कथाओं पर नारायण के किये गये कार्य- गोड्स, डेमन्स एण्ड अदर्स, द रामायण की सफलता के परिणामस्वरूप प्रकाशन किया गया। .

4 संबंधों: द पेंटर ऑफ़ साइन्ज़, पौराणिक कथाएँ, महाभारत, आर के नारायण

द पेंटर ऑफ़ साइन्ज़

द पेंटर ऑफ़ साइन्ज़ आर के नारायण द्वारा लिखित एक अंग्रेजी उपन्यास है। मूलतः अंग्रेजी में इसका प्रकाशन 1976 ई० में हुआ था। श्रेणी:आर के नारायण के उपन्यास श्रेणी:अंग्रेजी उपन्यास.

नई!!: द महाभारत (नारायण) और द पेंटर ऑफ़ साइन्ज़ · और देखें »

पौराणिक कथाएँ

पुराण में लिखी कथाएँ। * श्रेणी:पारम्परिक कथाएँ.

नई!!: द महाभारत (नारायण) और पौराणिक कथाएँ · और देखें »

महाभारत

महाभारत हिन्दुओं का एक प्रमुख काव्य ग्रंथ है, जो स्मृति वर्ग में आता है। कभी कभी केवल "भारत" कहा जाने वाला यह काव्यग्रंथ भारत का अनुपम धार्मिक, पौराणिक, ऐतिहासिक और दार्शनिक ग्रंथ हैं। विश्व का सबसे लंबा यह साहित्यिक ग्रंथ और महाकाव्य, हिन्दू धर्म के मुख्यतम ग्रंथों में से एक है। इस ग्रन्थ को हिन्दू धर्म में पंचम वेद माना जाता है। यद्यपि इसे साहित्य की सबसे अनुपम कृतियों में से एक माना जाता है, किन्तु आज भी यह ग्रंथ प्रत्येक भारतीय के लिये एक अनुकरणीय स्रोत है। यह कृति प्राचीन भारत के इतिहास की एक गाथा है। इसी में हिन्दू धर्म का पवित्रतम ग्रंथ भगवद्गीता सन्निहित है। पूरे महाभारत में लगभग १,१०,००० श्लोक हैं, जो यूनानी काव्यों इलियड और ओडिसी से परिमाण में दस गुणा अधिक हैं। हिन्दू मान्यताओं, पौराणिक संदर्भो एवं स्वयं महाभारत के अनुसार इस काव्य का रचनाकार वेदव्यास जी को माना जाता है। इस काव्य के रचयिता वेदव्यास जी ने अपने इस अनुपम काव्य में वेदों, वेदांगों और उपनिषदों के गुह्यतम रहस्यों का निरुपण किया हैं। इसके अतिरिक्त इस काव्य में न्याय, शिक्षा, चिकित्सा, ज्योतिष, युद्धनीति, योगशास्त्र, अर्थशास्त्र, वास्तुशास्त्र, शिल्पशास्त्र, कामशास्त्र, खगोलविद्या तथा धर्मशास्त्र का भी विस्तार से वर्णन किया गया हैं। .

नई!!: द महाभारत (नारायण) और महाभारत · और देखें »

आर के नारायण

आर के नारायण (अक्टूबर 10, 1906- मई 13, 2001) का पूरा नाम रासीपुरम कृष्णस्वामी अय्यर नारायणस्वामी था। नारायण अंग्रेजी साहित्य के भारतीय लेखकों में तीन सबसे महान् उपन्यासकारों में गिने जाते हैं। मुल्कराज आनंद तथा राजा राव के साथ उनका नाम भारतीय अंग्रेजी लेखन के आरंभिक समय में 'बृहत्त्रयी' के रूप में प्रसिद्ध है। मुख्यतः उपन्यास तथा कहानी विधा को अपनाते हुए उन्होंने विभिन्न स्तरों तथा रूपों में मानवीय उत्थान-पतन की गाथा को अभिव्यक्त करते हुए अपने गंभीर यथार्थवाद के माध्यम से रचनात्मक कीर्तिमान स्थापित किया है। .

नई!!: द महाभारत (नारायण) और आर के नारायण · और देखें »

निवर्तमानआने वाली
अरे! अब हम फेसबुक पर हैं! »