लोगो
यूनियनपीडिया
संचार
Google Play पर पाएं
नई! अपने एंड्रॉयड डिवाइस पर डाउनलोड यूनियनपीडिया!
मुक्त
ब्राउज़र की तुलना में तेजी से पहुँच!
 

ऐक्टिनाइड

सूची ऐक्टिनाइड

एक्टिनॉएड ((आईयूपीएसी नामकरण) या एक्टिनाइड (परंपरागत वृहत प्रयोगनीय नामकरण) एक १५ रासायनिक तत्त्वओं की श्रेणी होती है, जो एक्टिनियम से लेकर लॉरेन्शियम तक आवर्त सारणी में पाये जाते हैं। इनके परमाणु संख्या ८९ - १०३ तक होते हैं। इस श्रेणी का नाम इसके प्रथम सदस्य एक्टीनियम के नाम पर रखा गया है। .

19 संबंधों: ऐक्टिनियम, थोरियम, नेप्टूनियम, नोबेलियम, परमाणु क्रमांक, प्रोटैक्टीनियम, प्लूटोनियम, फर्मीयम, बर्केलियम, मेण्डेलीवियम, यूरेनियम, रासायनिक तत्व, लोरेनसियम, शुद्ध और अनुप्रयोगिक रसायन का अंतरराष्ट्रीय संघ, आवर्त सारणी, आइंस्टीनियम, क्यूरियम, कैलीफोर्नियम, अमेरिशियम

ऐक्टिनियम

ऐक्टिनियम एक रासायनिक तत्व है। श्रेणी:रासायनिक तत्व श्रेणी:ऐक्टिनाइड.

नई!!: ऐक्टिनाइड और ऐक्टिनियम · और देखें »

थोरियम

'''मोनाजाइट''' नामक खनिज थोरियम का प्रमुख स्रोत है। यह एक विरल मृदा एवं थोरियम फॉस्फेट है। थोरियम (Thorium) आवर्त सारणी के ऐक्टिनाइड श्रेणी (actinide series) का प्रथम तत्व है। पहले यह चतुर्थ अंतर्वर्ती समूह (fourth transition group) का अंतिम तत्व माना जाता था, परंतु अब यह ज्ञात है कि जिस प्रकार लैथेनम (La) तत्व के पश्चात् 14 तत्वों की लैथेनाइड शृंखला (lanthanide series) प्रांरभ होती है, उसी प्रकार ऐक्टिनियम (Ac) के पश्चात् 14 तत्वों की दूसरी शृंखला आरंभ होती है, जिसे एक्टिनाइड शृंखला कहते हैं। थोरियम के अयस्क में केवल एक समस्थानिक(द्रव्यमान संख्या 232) पाया जाता है, जो इसका सबसे स्थिर समस्थानिक (अर्ध जीवन अवधि 1.4 x 1010 वर्ष) है। परंतु यूरेनियम, रेडियम तथा ऐक्टिनियम अयस्कों में इसके कुछ समस्थानिक सदैव वर्तमान रहते हैं, जिनकी द्रव्यमान संख्याएँ 227, 228, 230, 231 तथा 234 हैं। इनके अतिरिक्त 224, 225, 226, 229 एवं 233 द्रव्यमान वाले समस्थानिक कृत्रिम उपायों द्वारा निर्मित हुए हैं। थोरियम धातु की खोज 1828 ई में बर्ज़ीलियस ने थोराइट अयस्क में की थी। यद्यपि इसके अनेक अयस्क ज्ञात हैं, परंतु मोनेज़ाइट (monazite) इसका सबसे महत्वपूर्ण स्रोत हैं, जिसमें थोरियम तथा अन्य विरल मृदाओं के फॉस्फेट रहते हैं। संसार में मोनेज़ाइट का सबसे बड़ा भंडार भारत के केरल राज्य में हैं। बिहार प्रदेश में भी थोरियम अयस्क की उपस्थिति ज्ञात हुई है। इनके अतिरिक्त मोनेज़ाइट अमरीका, आस्ट्रलिया, ब्राज़िल और मलाया में भी प्राप्त है। मौनेज़ाइट को सांद्र सल्फ्यूरिक अम्ल की प्रक्रिया कर आंशिक क्षारीय विलयन मिलाने से थोरियम फॉस्फेट का अवक्षेप बनता है। इसको सल्फ्यूरिक या हाइड्रोक्लोरिक अम्ल में घुला कर फिर फॉस्फेट अवक्षिप्त करते हैं। इस क्रिया को दोहराने पर थोरियम का शुद्ध फॉस्फेट मिलता है। थोरियम क्लोराइड को सोडियम के साथ निर्वात में गरम करने से थोरियम धातु मिलती है। थोरियम आयोडाइड (Th I4) के वाष्प को गरम टंग्स्टन तंतु (filament) पर प्रवाहित करने से, या थोरियम ऑक्साइड (ThO2) पर कैल्सियम की प्रक्रिया द्वारा भी, थोरियम धातु प्राप्त हो सकती है। थोरियम का निष्कर्षण .

नई!!: ऐक्टिनाइड और थोरियम · और देखें »

नेप्टूनियम

नेप्टूनियम एक रासायनिक तत्व है। श्रेणी:रासायनिक तत्व श्रेणी:ऐक्टिनाइड श्रेणी:कृत्रिम तत्व.

नई!!: ऐक्टिनाइड और नेप्टूनियम · और देखें »

नोबेलियम

नोबेलियम एक रासायनिक तत्व है। श्रेणी:रासायनिक तत्व श्रेणी:ऐक्टिनाइड श्रेणी:कृत्रिम तत्व.

नई!!: ऐक्टिनाइड और नोबेलियम · और देखें »

परमाणु क्रमांक

रसायन विज्ञान एवं भौतिकी में सभी तत्वों का अलग-अलग परमाणु क्रमांक (atomic number) है जो एक तत्व को दूसरे तत्व से अलग करता है। किसी तत्व का परमाणु क्रमांक उसके तत्व के नाभिक में स्थित प्रोटॉनों की संख्या के बराबर होता है। इसे Z प्रतीक से प्रदर्शित किया जाता है। किसी आवेशरहित परमाणु पर एलेक्ट्रॉनों की संख्या भी परमाणु क्रमांक के बराबर होती है। रासायनिक तत्वों को उनके बढते हुए परमाणु क्रमांक के क्रम में विशेष रीति से सजाने से आवर्त सारणी का निर्माण होता है जिससे अनेक रासायनिक एवं भौतिक गुण स्वयं स्पष्ट हो जाते हैं।, American Institute of Physics .

नई!!: ऐक्टिनाइड और परमाणु क्रमांक · और देखें »

प्रोटैक्टीनियम

प्रोटैक्टीनियम एक रासायनिक तत्व है। श्रेणी:रासायनिक तत्व श्रेणी:ऐक्टिनाइड.

नई!!: ऐक्टिनाइड और प्रोटैक्टीनियम · और देखें »

प्लूटोनियम

प्लूटोनियम एक दुर्लभ ट्रांसयूरेनिक रेडियोधर्मी तत्त्व है। इसका रासायनिक प्रतीक Pu और परमाणु भार ९४ होता है। प्लूटोनियम के छः अपरूप होते हैं। यह एक ऐक्टिनाइड तत्त्व है जो दिखने में रुपहले श्वेत (सिल्वर व्हाइट) रंग का होता है। प्लूटोनियम-२३८ का अर्धायु काल ८७.७४ वर्ष होता है।। हिन्दुस्तान लाइव। १० दिसम्बर २००९ प्लूटोनियम-२३९, प्लूटोनियम का एक महत्वपूर्ण समस्थानिक है जिसकी अर्धायु काल २४,१०० वर्ष होता है। प्लूटोनियम-२४४, प्लूटोनियम का सर्वाधिक स्थाई समस्थानिक होता है। इसका अर्धायु काल ८ करोड़ वर्ष होता है। .

नई!!: ऐक्टिनाइड और प्लूटोनियम · और देखें »

फर्मीयम

फर्मीयम एक रासायनिक तत्व है। श्रेणी:रासायनिक तत्व श्रेणी:ऐक्टिनाइड श्रेणी:कृत्रिम तत्व.

नई!!: ऐक्टिनाइड और फर्मीयम · और देखें »

बर्केलियम

बर्केलियम एक रासायनिक तत्व है। श्रेणी:रासायनिक तत्व श्रेणी:ऐक्टिनाइड श्रेणी:कृत्रिम तत्व.

नई!!: ऐक्टिनाइड और बर्केलियम · और देखें »

मेण्डेलीवियम

मेण्डेलीवियम एक रासायनिक तत्व है। श्रेणी:रासायनिक तत्व श्रेणी:ऐक्टिनाइड श्रेणी:कृत्रिम तत्व.

नई!!: ऐक्टिनाइड और मेण्डेलीवियम · और देखें »

यूरेनियम

यूरेनियम आवर्त सारणी की एक अंतर्वर्ती श्रेणी, ऐक्टिनाइड श्रेणी (actinide series), का तृतीय तत्व है। इस श्रेणी में आंतरिक इलेक्ट्रॉनीय परिकक्षा (5 परिकक्षा) के इलेक्ट्रॉन स्थान लेते हैं। प्रकृति में पाए गए तत्वों में यह सबसे भारी तत्व है। कुछ समय पहले तक इस तत्व को छठे अंतर्वर्ती समूह का अंतिम तत्व माना जाता था। .

नई!!: ऐक्टिनाइड और यूरेनियम · और देखें »

रासायनिक तत्व

रासायनिक तत्वों की आवर्त सारणी रासायनिक तत्व (या केवल तत्व) ऐसे उन शुद्ध पदार्थों को कहते हैं जो केवल एक ही तरह के परमाणुओं से बने होते हैं। या जो ऐसे परमाणुओं से बने होते हैं जिनके नाभिक में समान संख्या में प्रोटॉन होते हैं। सभी रासायनिक पदार्थ तत्वों से ही मिलकर बने होते हैं। हाइड्रोजन, नाइट्रोजन, आक्सीजन, तथा सिलिकॉन आदि कुछ तत्व हैं। सन २००७ तक कुल ११७ तत्व खोजे या पाये जा चुके हैं जिसमें से ९४ तत्व धरती पर प्राकृतिक रूप से विद्यमान हैं। कृत्रिम नाभिकीय अभिक्रियाओं के परिणामस्वरूप उच्च परमाणु क्रमांक वाले तत्व समय-समय पर खोजे जाते रहे हैं। .

नई!!: ऐक्टिनाइड और रासायनिक तत्व · और देखें »

लोरेनसियम

लोरेनसियम एक रासायनिक तत्व है। श्रेणी:रासायनिक तत्व श्रेणी:ऐक्टिनाइड श्रेणी:संक्रमण धातु श्रेणी:कृत्रिम तत्व.

नई!!: ऐक्टिनाइड और लोरेनसियम · और देखें »

शुद्ध और अनुप्रयोगिक रसायन का अंतरराष्ट्रीय संघ

IUPAC प्रतीक चिन्ह शुद्ध और अनुप्रयोगिक रसायन का अन्तरराष्ट्रीय संघ ((IUPAC: इंटरनैशनल यूनियन फॉर प्योर एंड एप्लाइड केमिस्ट्री) उच्चारणः आइ-यू-पैक)) एक गैर सरकारी संगठन है जिसकी स्थापना 1919 में रसायन शास्त्र की उन्नति के लिए की गयी थी। इसके सदस्य राष्ट्रीय रसायन समितियाँ हैं। यह संगठन रासायनिक तत्वों और उनके यौगिकों के नामकरण के लिए मानक विकसित करने के लिए अधिकृत है, जो यह इसकी नाम और चिह्न की अन्तर्विभागीय समिति (आइ यू पी ए सी नॉमेनक्लॅचर) के माध्यम से करता है। यह अन्तरराष्ट्रीय विज्ञान परिषद (आई सी एस यू) का भी एक सदस्य है। .

नई!!: ऐक्टिनाइड और शुद्ध और अनुप्रयोगिक रसायन का अंतरराष्ट्रीय संघ · और देखें »

आवर्त सारणी

आवर्त सारणी (अथवा, तत्वों की आवर्त सारणी) रासायनिक तत्वों को उनकी संगत विशेषताओं के साथ एक सारणी के रूप में दर्शाने की एक व्यवस्था है। आवर्त सारणी में रासायनिक तत्त्व परमाणु क्रमांक के बढ़ते क्रम में सजाये गये हैं तथा आवर्त (पिरियड), प्राथमिक समूह, द्वितीयक समूह में वर्गीकृत किया गया है। वर्तमान आवर्त सारणी मैं ११८ ज्ञात तत्व सम्मिलित हैं। सबसे पहले रूसी रसायन-शास्त्री मेंडलीफ (सही उच्चारण- मेन्देलेयेव) ने सन १८६९ में आवर्त नियम प्रस्तुत किया और तत्वों को एक सारणी के रूप में प्रस्तुत किया। इसके कुछ महीनों बाद जर्मन वैज्ञानिक लोथर मेयर (1830-1895) ने भी स्वतन्त्र रूप से आवर्त सारणी का निर्माण किया। मेन्देलेयेव की सारणी से अल्फ्रेड वर्नर (Alfred Werner) ने आवर्त सारणी का वर्तमान स्वरूप निर्मित किया। सन १९५२ में कोस्टा रिका के वैज्ञानिक गिल चावेरी (scientist Gil Chaverri) ने आवर्त सारणी का एक नया रूप प्रस्तुत किया जो तत्वों के इलेक्ट्रानिक संरचना पर आधारित था। रसायन शास्त्रियों के लिये आवर्त सारणी अत्यन्त महत्वपूर्ण एवं उपयोगी है। इसके कारण कम तत्वों के गुणधर्मों को ही याद रखने से काम चल जाता है क्योंकि आवर्त सारणी में किसी समूह (उर्ध्वाधर पंक्ति) या किसी आवर्त (क्षैतिज पंक्ति) में गुणधर्म एक निश्चित क्रम से एवं तर्कसम्मत तरीके से बदलते हैं। नीचे आवर्त सारणी का आधुनिक रूप दिखाया गया है जिसमें १८ वर्ग तथा ७ आवर्त हैं- .

नई!!: ऐक्टिनाइड और आवर्त सारणी · और देखें »

आइंस्टीनियम

आइंस्टीनियम तत्व अमरीका के ताप न्यूक्लीय विस्फोट के रेडियमधर्मी मलबे में पाया गया था। इसका नाम विश्वविख्यात वैज्ञानिक आइंस्टाइन के नाम पर रखा गया है। आंइस्टीनियम की खोज १९५२ ई. में ही हो गई थी लेकिन काफी समय तक यह प्रचुर मात्रा में तैयार नहीं किया जा सका। यूरेनियम द्वारा न्यूट्रान अवशोषित होने से इसका निर्माण हुआ था। उस ताप न्यूक्लीय विस्फोट में भारी मात्रा में न्यूट्रानों का द्रावक उत्पन्न हुआ जिसके कारण यूरेनियम नाभिक १७ न्यूट्रानों का अवशोषण कर पाया और फलस्वरूप यह तत्व बन सका। १९५४ ई. लगभग एक ही समय, कैलीफोर्निया विश्वविद्यालय, ओरेगन प्रयोगशाला (अमरीका) और स्टाकहोम प्रयोगशाला में तत्व ९९ का निर्माण किया गया। यूरेनियम-२३८ पर नाइट्रोजन नाभिक की अभिक्रिया द्वारा यह तत्व बनाया गया। १९६१ ई. में एक अधिक न्यूट्रान प्लक्स वाले रिएक्टर में प्लूटोनियम २३९ के विकिरणन द्वारा प्रचुर मात्रा में इसको तैयार किया गया। इसकी परमाणुसंख्या ९९ तथा अर्धआयु २० दिन है। यह ६.६ एम.ई. वोल्ट ऊर्जा के अल्फाकण उत्सर्जित करता है। इसका रासायनिक सूत्र Es है। अब तक इसके चार समस्थानिक पाए गए हैं। .

नई!!: ऐक्टिनाइड और आइंस्टीनियम · और देखें »

क्यूरियम

क्यूरियम एक रासायनिक तत्व है। श्रेणी:रासायनिक तत्व श्रेणी:ऐक्टिनाइड श्रेणी:कृत्रिम तत्व.

नई!!: ऐक्टिनाइड और क्यूरियम · और देखें »

कैलीफोर्नियम

कैलीफोर्नियम एक रासायनिक तत्व है। श्रेणी:रासायनिक तत्व श्रेणी:ऐक्टिनाइड श्रेणी:कृत्रिम तत्व.

नई!!: ऐक्टिनाइड और कैलीफोर्नियम · और देखें »

अमेरिशियम

अमेरिशियम एक रासायनिक तत्व है। श्रेणी:रासायनिक तत्व श्रेणी:ऐक्टिनाइड श्रेणी:कृत्रिम तत्व श्रेणी:कैंसरजनक श्रेणी:चित्र जोड़ें.

नई!!: ऐक्टिनाइड और अमेरिशियम · और देखें »

यहां पुनर्निर्देश करता है:

एक्टिनाइड, ऐक्टिनाइड श्रेणी

निवर्तमानआने वाली
अरे! अब हम फेसबुक पर हैं! »